सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म

छवि स्रोत,सेक्स गांव का वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ अंग्रेज का: सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म, कुछ ही देर में मैं भाबी की गांड में ही झड़ गया और भाबी मजे से अपनी गांड हिलाती हुई मेरे लंड का रस अपनी गांड में निचुड़वाने लगीं.

केदारनाथ ओपनिंग डेट २०२२

उससे एक तेज आवाज होने के कारण में घबरा गया और वहां से भाग आया कि घर में किसी को पता न चल जाए. मस्त जवानी तेरी पागल कर गई रेतब धीरज बोला- मादरचोदी दो क्यों बनाए … चारों के लिए बना न भोसड़ी वाली.

फिर मुझसे बोलीं- केक के अलावा पार्टी के लिए और क्या ले लूं?मैंने कहा- जो आपका मन करे, मुझे वेज नॉनवेज सब चलता है. लिली सेक्सफिर मैंने मां से कहा- मां भाभी की छाती में दर्द होने वाली बात तो चिंताजनक बात है.

मैं दूसरों के साथ शादी के कामों में लगा था और मन ही मन सपने भी देख रहा था कि मैं उस लड़की से बातें कर रहा हूँ.सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म: उसके मुँह से मस्ती भरी आवाजें निकलने लगीं- आह … उह … नो … यस आह और जोर से पेलो.

दोनों लंड मेरी चुत और गांड में चलना शुरू हुए तो मेरी चीख निकलनी शुरू ही गई- आह आह आज मर गई … ओओ ओहो … साले एक एक करके चोद लेते … आआह … आज तो मेरे दोनों छेद फट गए!मेरी दर्द भरी आवाजें सुनकर वो दोनों किसी सांड की पिल पड़े और मेरी चुत गांड का मलीदा बनाने लगे.मेरी एक कहानीमेरी पहली चुदाई सेक्सी पड़ोसन संगदो भागों में इस हिन्दी सेक्स स्टोरी साईट पर 19 जनवरी 2019 को प्रकाशित हो चुकी है.

राजस्थानी सैक्सी - सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म

दीदी और मैं छत पर चले गए, उन्होंने अपनी लड़की को रोटी बनाने को बोल दिया और लड़का मेरे फोन पर गेम खेलने लगा.तुम अपनी जवानी को उन मर्दों की आंखों से गर्म करो और यहां रेत पर बैठ कर मेरा वेट करो.

मैं सलईका के पास जाकर बैठ गया और सलईका की पीठ के पीछे दो तकिया रख दिए. सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म आंटी ने मुझसे पूछा- क्या हुआ बेटा?तो मैंने कहा- आंटी, मुझे आपकी चूत चाटना तो अच्छा लगता रहा है लेकिन चूत का पानी पीना अच्छा नहीं लगा.

दीदी के इस जल्दी शब्द से मैं इतना अंदाजा लगा चुका था कि दीदी की चूत को चुदाई का कीड़ा काटने लगा था.

सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म?

उसके बाद ऐसा हमने कई बार किया।एक बार मैंने रंडी का रूप लिया। सुनील ने मुझे रुपये दे दिए. उमैय्या- आंह करते रहो नील, बहुत मज़ा आ रहा है!शायद वो दुबारा गर्मा गई थी. दोस्तो, ये कहानी मेरी और मेरी एक टीचर के बीच की है जो मुझे कॉलेज में पढ़ाती थीं.

उसने मेरा चेहरा दोनों हाथों से पकड़कर माथे और आँखों को चूमा।मोहन ने मुझे प्यार से लिटा दिया। वह मेरे बाजू मे लेट गया, मुझे बांहों में भरकर मेरे होंठ चूमने और चूसने लगा. यह बात सुनकर मैं खुश हो गया कि सावी भाभी के घर में ही उनकी चुत चुदाई का अवसर मिल गया है. प्रीति भी अपनी जीभ को मेरी जीभ से लड़ाने लगी जिससे हम दोनों का थूक लार बन कर बहने लगा.

गगन ने नीतू के चूतड़ों को पकड़ कर मसल दिया और उन पर चांटे मारे।इसके बाद उसने नीतू को गोदी में उठाया और सोफ़े के ऊपर बैठ गया।उसके बाद वो नीतू को बहुत अच्छे से चूमने चाटने लगा. जब आंटी का दर्द कम हुआ तो मैं लंड गांड में आगे पीछे करके चोदने लगा. उसके आने से पहले मैंने ये सब सोचा था कि मुझे पहल करनी होगी तो कैसे करूंगा … और इमरान हाशमी के किसिंग सीन देख कर खुद को तैयार कर रहा था.

अपने मुँह से पान का स्वाद लेकर उसने मेरे होंठों से अपने होंठों को लगा दिया. इस वक्त मेरा लौड़ा नफीसा आंटी की गांड को ऐसे चोद रहा था, जैसे कोई पिस्टन सिस्टम को सैट करके छोड़ दिया हो.

उन्होंने मेरी शर्ट को ओपन करके अलग कर दिया और किस करते हुए मेरे सीने के बालों से खेलने लगीं.

हम दोनों अपनी अपनी कमर को तेजी से चलाने लगे और ताबड़तोड़ चुदाई की थप थप थप थप आवाज कमरे में भरने लगी.

आंटी एकदम से चीख पड़ीं- उउउईई माँआ … मर गयी, जरा रुक जा … आह बहुत बड़ा है तेरा!मुझे आंटी ने कुछ देर रुकने को कहा, तो मैं आधा लंड चुत में घुसेड़े हुए आंटी को चूमने लगा. मेरी बीवी अपनी छोटी बहन कविता और अपनी भाभी भारती के साथ रसोई का काम देखने लगी. मामीजी- थोड़ी देर रुक … मैं उसके घर पर जाकर मामला सैट करके आती हूं.

मुझे आज कंडोम तो नहीं मिले थे पर मैंने रात को अपनी वाइफ को बिना कंडोम से ही बहुत हचक कर चोदा. सावी ने कहा- मुझसे क्यों मिलना चाहते हो?मैंने कहा- मैं आपसे प्यार करता हूं इसलिए नजदीक से आपका अहसास करना चाहता हूँ. मैं- आह्ह यार … बस फोन पर ही ये सब करोगी … या मिलोगी भी?वो- कब … बोलो!मैं- संडे?वो- ओके, आई एम रेडी.

रात को हम दोनों जब कमरे में वापस आए तब मेरे मन में फिर से वही सवाल उठ रहा था कि मोनिका ने यदि बहुत सेक्स किया होगा तो वह लंड भी चूस लेती होगी.

एक बार मेरे दोस्त ने मुझे अपने घर बुलाया तो उसकी अम्मी संग तीनों घूमने गए. दोस्तो, मैं आपका नया दोस्त नया आपके लिए एक धांसू इंडियन गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी लेकर आया हूं जो आप लोगों को बहुत पसंद आएगी. इस बात का पता जब मेरी सासू मां को चला, वो मुझसे दूसरी शादी नहीं करने को बोलने लगीं.

मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके जवान जिस्म का अहसास करने लगा. जब भाभी घर में आईं, उस वक्त मैं अपने बाथरूम में नंगा था और भाभी को याद करके अपने लंड की मुठ मार रहा था. इस स्टोरी में जैसा भी हुआ, मैं हमेशा की तरह बिल्कुल वैसा ही लिखूंगा.

इधर हमारी किस और भी गर्म होती चली थी, उसके मुँह का स्वाद मुझे अलग क़िस्म का मज़ा दे रहा था.

दोस्तो, मैं राजेश एक बार फिर से अपनी देसी सेक्स कहानी के अगले भाग के साथ हाजिर हूँ. अगर आप अपनी जिंदगी का सही मजा लेना चाहती हो … तो आज रात 11 बजे मेरे रूम में अपनी लाल साड़ी में आ जाना.

सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म ऐसे ही पांच मिनट तक चुत चुदाई करने के बाद सावी भाभी ने अपने जिस्म को अकड़ाते हुए कहा- आह और जोर से करो राजा … आह मेरा होने वाला है. चुदाई की पोजीशन में बैठ कर राजेश जी ने अपना मोटा लंड दीदी की नाजुक छूट पर रगड़ना शुरू कर दिया.

सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म मैंने भी केवल चड्डी ही पहन रखी थी, बनियान तो मैं अपने कमरे में ही उतार आया था. इस तरह से पूरे 6 दिनों तक दिन रात लगातार हम दोनों ने जमकर सेक्स किया.

वो हर समय गहरे गले वाला कुर्ता पहनती थी, जिससे उसके आधे मम्मे बाहर दिखते थे.

सेक्सी लंड सेक्सी वीडियो

भैया बीच बीच में भाभी के मम्मों को पकड़कर ज़ोर से दबाकर मजा ले रहे थे. थोड़ी देर तक चाची के होंठ चूसने के बाद उन्होंने मुझे अलग किया और अपने सलवार कमीज को उतारने लगीं. मैंने उससे कहा- अबे यार तुझे कैसे पता कि मैं पीता हूँ?उसने कहा- मुझे मालूम है.

मेरी अम्मी ने उससे वीर्य चुत में नहीं छोड़ने का कहा तो पीयूष ने अपना लंड अम्मी की चूत में से निकाल कर उनके मम्मों के ऊपर सारा माल डाल दिया. फिर वो मुझसे बोलीं- अब बताओ क्या प्रोग्राम है?मैंने भाभी से कहा- मैं आपसे मिलना चाहता हूं. यह तो मेरा हक भी है कि मुझे जन्म देने वाले मम्मी पापा को नंगा देखूं.

क्या कहते हो आज चलें?मैंने बोला- ठीक है, मैं स्मिता से भी पूछ लेता हूँ.

मैंने कहा- क्यों दर्द हो रहा है मैडम? क्या अब तक लंड नहीं लिया!वो दर्द से कराहती हुई बोली- आह … इतना बड़ा लंड अब तक मैंने कभी नहीं लिया. मामी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने सारा पानी अपने मुँह में ले लिया. मैंने कहा- आंटी, इधर तो कई तरह के झूले लगे हैं … आप कौन से झूले में जाना चाहेंगी?वो बोलीं- दो तीन किस्म के झूले तो झूलूंगी ही.

ये देख कर प्रीति ने भी मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरे लन्ड को सहलाना शुरू कर दिया. अब हम उनके घर पहुंच गए, वो अपने घर में घुस गयीं और मैं अपने घर चला आया. मुझे अपनी चाची बहुत अच्छी लगती थीं, उनकी उम्र 22 साल के आस-पास की थी.

नफीसा आंटी अपने भारी भरकर शरीर में मुझे जकड़ने लगीं और मैं तेजी से लंड को अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. मैं- आप तो बड़ी अच्छी माँ निकलीं मां!मां- चल अब मस्का मत लगा … और रिया का दूध पीकर इसे राहत दे दे.

मैं उनके किसी एक चुम्बन का अपने होंठों पर होने का इंतजार कर रहा था मगर उन्होंने उस समय मेरे होंठों पर चुम्बन नहीं किया. राजेश जी दीदी के पीछे आ गए और पीछे से दीदी के दोनों मम्मों को पकड़ कर मसलने लगे. कुछ देर बाद स्वाति ने अपनी पैंटी भी निकाल दी और अपनी गुलाबी बुर के दर्शन करा दिए.

अब दीदी बोलीं- दो मिनट के लिए अपने कपड़े खोल कर मुझे अपने जिस्म की गर्मी दे जाओ.

उसके फूले हुए मम्मे और उठी हुई गांड ने मुझे एकदम से उत्तेजित कर दिया. मैंने सावी भाभी को फोन लगाया, तो उन्होंने कहा- रात 11:00 बजे आ जाना. ऐसे करते करते मैम मस्त होकर अपने हाथ से मेरा चेहरा नीचे की तरफ दबाने लगीं.

मैं अंधेरे में ही उस टुकड़े को ढूँढने के बहाने उसकी जांघें टटोल रहा था और उसकी चुत पर हाथ फेर फेर कर वो टुकड़ा ढूंढ रहा था. दोनों घुटने के बल बैठ कर अम्मी और बहन की गांड चाटने लगे थे और वे उनकी चूत में उंगली डाल रहे थे.

इंडियन भाभी सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं एक दूकान में बंद हो गया दूकान वाली के साथ. मैं मामी की गांड में अपने लंड को फंसाए हुए ही उन्हें उठाकर ले आया और जैसे ही लंड निकाला बाहर मामी की गांड से सारी टट्टी बाहर निकलने को हो गयी. रात में मैंने बेसमेंट में एक चिकने लड़के को एक मवाली टाइप आदमी के साथ देखा.

ट्रिपल सेक्सी डांस

दोस्तो, आपको मेरी सेक्सी चाची चुदाई स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा.

उसने मेरे करीब आकर मेरे सिर के बालों को सहलाते हुए कहा- आने में कोई परेशानी तो नहीं हुई?उसका हाथ मेरे बालों को सहला रहा था तो मेरा कलेजा हलक के बाहर आने लगा था. बड़ी मस्त चुदाई हुई उस दिन … फुल पर एसी चल रहा था मगर तब भी हम दोनों को पसीना आ गया था. मगर मैं अभी उससे कुछ पूछता, तभी उसने पलट कर सवाल दाग दिया कि क्या आप वर्जिन हैं?मैंने उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दिया और ना में सर हिला दिया.

‘अहो! आपसे न एक भी काम ठीक से नहीं होता! इतनी जल्दी क्यों झड़ गए?’ अभी मेरा तो हुआ ही नहीं. इंडियन गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी मुझे फेसबुक पर मिली एक लड़की से दोस्ती और उसके बाद चुदाई की है. सेक्सी देसी गर्ल्सआधा घंटे बाद मैंने अपनी एक टांग को भाभी की टांगों पर रख दिया और उनकी प्रतिक्रिया देखने लगा.

कुछ देर बाद उसने आंखें खोलीं तो मैंने उसके सिरहाने आकर उसके मुँह में अपना लंड दे दिया. उसी वक्त कार्लोस ने पूछा- मैडम, ये पैंटी बीच में आ रही है और मालिश ठीक से नहीं हो पा रही है.

दीदी एकदम सहज हो गई थीं मगर उनकी आंखों में चुदाई का नशा मुझे साफ़ समझ आ रहा था. उसके मुंह से मादक आवाजें आने लगीं- आह और जोर से … और जोर से चोदो … जल्दी जल्दी करो … आह मजा आ रहा है. फिर मैंने मेघा को गोद में उठाया और बेड पर ले गया; उसे चित लेटा दिया और उस पर चढ़ कर उसके होंठों को चूसने लगा.

ये सब देख वो जाने लगी और तब विक्रम ने कहा- रुक साली, कहाँ जा रही है?? तब वो डरकर वहीं रुक गयी. माधवी सोनू की ओर मुड़ी और उससे कहा- एक मिनट सोनू बेटा अपनी आंखें बंद करना तो!इस पर सोनू ने ‘जी आई …’ कहते हुए आंखें बंद कर लीं. वह हमेशा मुझे किसी सूनी गली में ले जाकर मेरे शरीर को सहलाता और मुझे अपनी बांहों में लेकर प्यार करता.

फिर मैं उनकी चुत के पास मुँह ले जाकर उनकी फूली हुई चुत को चाटने लगा.

मैं दूसरों के साथ शादी के कामों में लगा था और मन ही मन सपने भी देख रहा था कि मैं उस लड़की से बातें कर रहा हूँ. झड़ते समय मेरी आंखें बंद हो गई थीं और मैं मानो समाधि की मुद्रा में चला गया था.

बस फिर क्या था मैं एकदम से भिड़ गया और पूरे जोश से उसके होंठों को चूसने चूमने लगा. इस पोजीशन में लंड चूत के काफी अन्दर तक जाता है और औरत को भी ज्यादा मजा आता है. ये दोनों लड़कियां पूरी तरह शराब के नशे में धुत्त थी और मुझे इन्होंने इसलिए पकड़ लिया कि उस जगह पर मैं ही अकेला खड़ा था.

एक जगह अपार्टमेंट में मुझे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी मिल गयी थी और वहीं कैम्पस में रहने के लिए एक छोटा सा रूम भी दे दिया गया था. मैंने उसको उसके घर छोड़ दिया और घूमने जाने का प्रोग्राम कैंसल करके हम दोनों ने मूवी देखने का प्लान बनाया. जब वो उठने लगी तो उसे चूत और टांगों में बहुत दर्द हो रहा था, जिससे वो चल भी नहीं पा रही थी.

सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म तभी अनिल ने कहा- यार ये साक्षी और गरिमा तो कोई रेस्पांस ही नहीं दे रही. मैंने भी देर न लगाते हुए कहा- मेरी डार्लिंग सुमोना … आज मैं तुझे नहीं छोडूंगा.

व्हिडिओ सेक्सी नवीन

मैं हंस दिया- अरे भाभी वो तो …भाभी मेरी बात काटती हुई बोलीं- वो तो वो तो … कुछ नहीं, अभी तुम मेरी बात सुनो बस. मामी जी भी उसी समय चुत खोलने के मूड में थीं मगर मैं एक सील फाड़ कर आया था तो मैंने उन्हें बाद में पेलने का कहा. मैं भाबी को जी भर के गालियां देते हुए बहुत ही जोर जोर से अपनी कमर हिला रहा था.

अम्मी की योजना सुनकर मैं सोचने लगा कि मैं तो उन दोनों की चुदाई देखना चाहता हूँ. मकान मालिक के पास भी एक चाभी रहती थी तो उसने दूसरी चाभी लगा कर दरवाज़ा खोल लिया. सेक्सी मूवी हिंदी वालीवह दोनों तरफ अपनी टांगें रख कर उसे देखता हुआ सड़का मारने लगा।लण्ड ने सारा वीर्य उसकी चूचियों पर गिरा दिया।सबने बड़ी जोर से तालियां बजाईं।आठवीं पर्ची रूपेश ने निकाली.

देसी गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी नर्स गर्लफ्रेंड को चोद नहीं पाया था.

मैडम का फिगर 34-28-36 का था और वो दूध की तरह सफेद रंग की कामुक आइटम थीं. वो बोलीं- दूध वाली चाय बनाऊं या बिना दूध की!मैं उनकी चूचियां देखता हुआ बोला- दूध वाली.

वो अपने पति के सामने रंडियों की तरह मादक आवाज़ निकाल कर चुदेगी ओर मेरी तरफ देखेगी. बेड के पास गया तो मैंने देखा कि सासू मां ने मेरी बीवी की वो झीनी नाइटी पहनी हुई थी जो मैंने उसे हनीमून के लिए लाकर दी थी. फिर मैं नीचे लेट गया और फरीना मेरे लंड को अपनी भोदी में डाल कर मेरे ऊपर बैठ गई और अपनी भारी गांड हिला हिला कर चुदवाने लगी.

धीरे धीरे मैंने उसके बूब्स दबाने शुरू किए … बहुत ही सॉफ्ट दूध थे, आज दबाने में कुछ अलग ही मजा आ रहा था.

उसने मुझे धक्का देते हुए लिटा दिया और मेरे बदन से लिपट कर मुझे चूमने और काटने लगी. दस मिनट की चुदाई के बाद नफीसा आंटी चिल्लाने लगीं- आह राज और तेज चोदो मुझे … आह और तेज चोदो … आह फ़ाड़ दे मेरी चुत. लगभग 25 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैंने भाभी से कहा- मेरा होने वाला है.

सेक्स मूवीस पिक्चरदेर रात को अचानक से मेरी नींद खुली और मैंने देखा कि भाभी अपने मुँह से ‘अम्म्म आआहह …’ जैसी मादक आवाजें निकाल रही थीं और अपने मम्मों और चूत को सहला रही थीं. जेनी की चूत से रस का फव्वारा निकला और उससे मेरा चेहरा भीग गया।ये सब होने के बाद हम दोनों नंगी ही सो गयीं।अब हम दोनों खुल गयी थीं।मैंने जेनी की चिकनी चूत और बड़े स्तनों का राज पूछा।फिर नहाने समय उसने मेरी चूत के बाल साफ किये और उसको चिकनी कर दिया और बोली- ये है मेरी चिकनी चूत का राज!स्तनों के बारे में वो बोली- यह कुछ हद तक आनुवांशिक है.

ब्लैक सेक्सी कॉम

हल्के फुल्के जोक्स भी आने जाने लगे तो मैडम हंसने वाली स्माइली भी भेजने लगीं. वो मुझसे बोला- आपकी सीट यही है क्या?मैंने कहा- हां, गलती से ये मैंने बुक कर ली थी और जेंडर सिलेक्ट नहीं किया था. दस मिनट ऐसे ही चोदने के बाद वो लेट गए और मुझे अपने लंड पर बैठने को बोला.

विकी की नजरें मेरी मॉम के बूब्स पर टिकी हुई थीं क्योंकि मॉम के ब्लाउज में उनके बूब्स बहुत सेक्सी लग रहे थे. उसने फिर से लंड चुत में सैट किया और अम्मी ने भी अपनी टांगें पूरी तरह से फैला ली थीं. वो समझ गई और आंख नचाती हुई बोली- तो क्या करें?मैंने कहा- उतार देते हैं.

ट्रेवल सेक्स के बाद मैं थक गयी थी तो मुझे सीट पर बैठ के बहुत आराम मिला. हम बाद में चुदाई करेंगे।मैंने आंटी से कहा- आंटी, मेरा लंड तो खड़ा है. मेरा एक हाथ उसके चुचे पर था और दूसरा हाथ उसकी गांड की दरार में घुसने की कोशिश कर रहा था.

शायद उसे भरोसा ही नहीं हो रहा था कि मैं उससे ये सब करने के लिए कह रही हूँ. विडो आंट सेक्स कहानी ट्रेन में मिली एक आंटी की चूत और गांड चुदाई की है.

रोहित मेरे ऊपर लेट गया, उसका लंड मेरी चूत में घुसा था।हम दोनों एक-दूसरे को किस करने लगे।10 मिनट बाद रोहित का लंड बाहर निकल गया।मैंने उसे बताया कि मुझे बहुत मजा आया।उसने मुझे अपने सामने बैठा दिया और लंड को होंठों पर रख दिया।मैंने अपना मुंह खोला और उसका लंड चूसने लगी.

भाभी लंड मुँह में लिए हुए ‘गों … गों …’ कर रही थी और उसकी आंख से आंसू निकल रहे थे. पिंकी ईरानीवो- मैं जानती हूँ कि तुम भी कुकोल्ड हो इसीलिए मैं दूसरे मर्दों को अपनी जवानी दिखाती हूँ. राजस्थान की सेक्सी हिंदीतीसरे लड़के का नाम सोमू था, मेरे पुराने यार साई ने उसे मेरे बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया था. यह सुनकर वो खुश हुई और मेरा लन्ड दबा कर बोली- पर तुम्हारा ये तो आज प्यासा रह गया!पर मेरे कुछ बोलने से पहले वो चली गयी.

कुछ देर बाद प्रीति भी वहां आ गयी और मेरे ससुर से बोली- मामा जी, क्या मैं ही कर दूं फिश फ्राई?तो मैं बोला- हाँ प्रीति, आज तुम्हारे ही हाथ की फिश फ्राई खाते हैं.

रात को दो बजे मेरी नींद खुली तो मुझे लगा कि मेरे लंड को कुछ गीला गीला सा लग रहा है. मैंने उनकी मस्त गोल गोल चुचियों पर कसके दो चमाट मारे, जिससे वो कराह उठीं. मेरा लंड तना हुआ था, तो मैं दीदी से बोला- आप चलिए, मैं किराया देकर आता हूं.

मुझे इस बात से कोई आपत्ति नहीं थी कि उसने मुझे लंड हिलाते हुए देख लिया था क्योंकि थोड़ी देर पहले मेरी बहन भी अकेले कमरे में मुठ मार रही थी और मैंने भी उसे देख लिया था. मैंने उनकी कुर्ती को पीछे से खोल दिया और उनकी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगा. मैं उनके बूब्स सहलाने लगा, वो लंड को अपने हाथों में लेकर मसलने लगीं.

पुरण सेक्सी व्हिडिओ

दीदी इस बार भी उसी तरह से मुझसे चिपक कर बैठी थीं बल्कि इस बार तो दीदी मानो आग में घी डाल रही थीं. मां- ऐसे उल्लू की तरह क्या देख रहा है … क्या तू नहीं चाहता कि तेरी भाभी की दिक्कत ठीक हो जाए!मैं- पर मां, मैं भाभी का दूध कैसे पी सकता हूँ?मां- क्यों बचपन में मेरा नहीं पीता था क्या?मैं- मैं तो आपका बच्चा हूँ ना मां!इस पर भाभी बोलीं- तो तुम भी मेरे बच्चे समान ही हो ना देवर जी. मैंने जैसे बिस्तर को चाटा, चूत की मनमोहक खुशबू मेरे शरीर के प्रत्येक अंग में भर गई.

गोरे चेहरे पर बड़ी बड़ी झील सी गहरी काली आंखें, गुलाब की पंखुड़ियों से नाज़ुक पतले होंठ …और होंठों के नीचे दाईं तरफ ज़रा सा एक छोटा सा काला तिल था.

इतने में संचिता मेरे पास आयी, वह भी मेरी ही तरह नंगी थी।आते ही बोली- अरे यार, तेरे पास तो रोहित था.

उनकी इन ज्ञान भरी बातों से मैं सहज हो गया और भाभी के साथ फिर से सामान्य बातें करने लगा. मनीषा- अरे आप इतना क्यों परेशान हो रहे हो … आपको कंडोम ही लेना है ना?मैं उसकी तरफ हैरानी से देखने लगा. पॉज जुदाईमैं उठ कर बाहर जाने की सोच ही रहा था कि इतनी देर में मेरे शैतानी दिमाग़ ने कहा कि क्यों ना इस मौके का फ़ायदा उठाया जाए.

उमैय्या थोड़ा उछल पड़ी- हाय, ये क्या कर दिया … तुम मेरी गांड चाट रहे हो. पीने के बाद हम खाना खा कर बैठे ही थे कि तभी सब लोग भी पार्टी से वापिस आ गए. मैं चड्डी में ही फरीना के ऊपर चढ़ गया और उसके मोटे मोटे बोबे मसलने लगा.

फिर राजेश जी मेरी दीदी की दोनों टांगों को फैलाते हुए बीच में बैठ गए और उन्होंने दीदी की टांगों को फैलाकर हवा में उठा दिया. उसके चुचे को छूते ही मुझे एक अलग ही अहसास हुआ कि शायद यही ठोस और करारापन एक जवान लड़की और पकी पकाई औरत के जिस्म में बड़ा अंतर देता है.

उसकी चूचियों ने सख्त होना शुरू कर दिया था जिससे मैं समझ गया था कि लौंडिया गर्म होने लगी है.

क्या गजब लग रही थीं सावी भाभी!मैंने उन्हें धक्का देकर बिस्तर पर लिटा दिया और खुद उनके ऊपर चढ़ गया. कमर के नीचे दो गोल मटोल उभरे हुए नितम्ब, जिनकी लचक देख हर मर्द अपनी नियत से फिसल जाए. घर में क्या हुआ?दोस्तो, मैं हरीश कुमार आज आपको उस रात की बात बताने जा रहा हूं, जो कि मेरे लिए सही मायने में शराब की पूरी बोतल के नशे जैसी महसूस हो गई थी.

चाइनीस सेक्स एचडी फिर अचानक मुझे मेरे लंड का ध्यान आया तो मैंने मेघा को 69 पोज़ में आने को कहा. भैया के आउटऑफ़ स्टेशन जाते ही भाभी मेरे घर रहने आ जाती हैं और हम दोनों खूब चुदाई करते हैं.

फिर उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और खुद ही मेरी उंगली के साथ अपनी उंगली भी चुत में डाल दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी. मुझे अपनी आंटी की चुदाई का मौका अभी नहीं मिल सका था मगर उनकी बुर में लंड पेलते ही आपको आंटी के संग वाली सेक्स कहानी जरूर लिखूंगा. प्रीति- छी जीजू, कितनी गन्दी तरह बोल रहे हो!मैं- इसमें गन्दी बात कौनसी हुई? हमारे शरीर के हर अंग का एक नाम होता है, इसी तरह जो तुम्हारी टांगों के बीच है, उसे चूत कहते हैं और जो मेरी टांगों के बीच है उसे लन्ड कहते हैं.

सेक्सी पोर्न वीडियो सनी लियोन

मैंने उन्हें हैरत से देखा तो उन्होंने बोला- ये मेरे निकाह के वक्त का है. चुदाई की पोजीशन में बैठ कर राजेश जी ने अपना मोटा लंड दीदी की नाजुक छूट पर रगड़ना शुरू कर दिया. भाभी के मुंह से जोर से ‘आईई मम्मी मर गई …’ की मधुर आवाज निकली और चुत को मजा आ गया.

दीदी ने अभी एक चुस्त लैगी कुर्ती पहनी हुई थी और वो एकदम मस्त माल लग रही थीं. उनकी चूचियों में दूध इतना अधिक बनने लगा था जो बच्चे को पिलाने के बाद भी स्तनों में रह जाता था.

मैं जल्दी तयार होकर ऑफिस को निकलने लगा, तो सासू मां ने मुझे लंच बॉक्स पकड़ाया और मुस्कुरा कर मुझे चूम लिया.

उस दिन शनिवार था और हमारे यहां शनिवार को दुकानें बंद रहती हैं।मैंने कहा- रश्मि (मेरी बीवी) की ड्रेस आपके पास है और वो मंगवा रही थी।भाभी बोली- ठीक है, मैं लेकर आती हूं।उनके पीछे पीछे मैं रूम में गया, बच्चे हॉल में थे, रूम में जाते ही मैंने उनको पीछे से पकड़ लिया. सबसे पहले मैं बता देता हूँ कि मेरे परिवार में मेरे पिताजी माताजी और मेरी दो बहनें हैं, जिसमें मेरी बड़ी बहन का नाम पूर्णिमा है. उनकी सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं, रुक ही नहीं रही थीं, सांसों ने पूरी रफ्तार पकड़ी हुई थी.

मैंने कहा- कोई बात नहीं प्रीति, आज मैं तुम्हारी सारी प्यास बुझा दूंगा, बस तुम मेरा साथ देती रहना!तो वो मुझे मुंह चिढ़ाकर बोली- हुम्म … साथ देती रहना … बड़े आये!ये बोलकर वो रजाई से निकली और जाने लगी. वो मेरे नज़दीक आयी, उसने मेरी आंखों में देखा और मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चूत पर रख दिया. तभी अचानक दीदी अपनी काम निद्रा से जागती हुई उठ कर बैठ गईं; उनकी गुलाबी चिकनी चूत सिकुड़कर दोनों टांगों के बीच में फिर से कैद हो गई.

चुदाई की पोजीशन में बैठ कर राजेश जी ने अपना मोटा लंड दीदी की नाजुक छूट पर रगड़ना शुरू कर दिया.

सेक्स बीएफ सेक्सी फिल्म: मैं दीदी के मम्मों को देखते हुए उनकी चूत से टपके चूतामृत को चखने के लिए बिस्तर को चाटने लगा. पर मैं शादी से खुश नहीं था क्योंकि अब मुझे लड़कों और आदमियों में इंटरेस्ट आने लगा था.

और फिर हम चुदाई नहीं कर पाएंगे।तो मैंने आंटी से कहा- आंटी प्लीज कुछ करो. मैं धीरे धीरे उसकी नाभि से बने वलय की तारीफ करते हुए नीचे की जन्नत की बात करने लगा. मैं उनके बूब्स सहलाने लगा, वो लंड को अपने हाथों में लेकर मसलने लगीं.

मैं- हां मामीजी, मैं भी तो शिवानी को यही समझाने की कोशिश कर रहा हूँ.

फिर वो पल आ ही गया जब मेरे लंड के नसीब में आंटी की चुत मिलने वाली थी. राजेश जी ने तुरंत मेरी दीदी के एक दूध को अपने हाथ से पकड़ा और मसलने लगे. मैंने उससे कहा- हां मगर इतने टाइम से तेरा रूम खाली है … गंदा हो गया होगा.