बीएफ फिल्म नंगे

छवि स्रोत,হট সেক্সি ভিডিও

तस्वीर का शीर्षक ,

फोटो हिरोइन: बीएफ फिल्म नंगे, मैंने भी मौसी के ताल से ताल मिलाने के लिए, मेरे से जितना तेज़ हो सकता था उतना तेज़ धक्के लगाने लगा.

विलाज सेक्स

मैंने पूछा- क्या खाना हो गया?सरला जी- हां, तुम्हारा?मैंने जबाव दिया- हां!हम दोनों बात करने लगे और करीब 11 बज़े मेरे बेडरूम में ही सरला सो गई. भोजपुरी एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियोमैं दिलिया को बेकरारी से चूमने लगा और चूमते चूमते हम दोनों की जीभ आपस में टकरा रही थी और हमारे मुंह में एक दूसरे का स्वाद घुल रहा था।जब मैंने अपना मुँह हटाया तो दिलिया ने अपना सर ऊपर उठा लिया जैसे कह रहो हो रुक क्यों गए.

और इतना गद्देदार कि क्या बताऊँ … आज तक इतने अच्छे पलंग पर मैं कभी नहीं सोई. xxx बाप बेटीमैंने दीदी से पूछा- आपकी चड्डी उतार दूं?और दीदी के हां करने से पहले ही मैंने उसकी चड्डी खोल दी। दीदी की चूत बिल्कुल चिकनी थी.

अब तक मेरे मम्मों और चुत के मज़े ले रहे ससुर जी बोले- साली मेरी बहू तो मुझसे भी ज़्यादा तेज निकली.बीएफ फिल्म नंगे: मैंने उसकी मस्त सी चूत को अपने हाथों से प्यार से छुआ और फिर उसकी टांगों को फैलाते हुए अपने होंठ उसकी चूत पर रख दिये.

मगर उसके दूध जो मेरे मुंह लग चुके थे उनको भला अब मैं कहाँ छोड़ने वाला था.फिर पूजा उस लड़की से पूछा कि तुम क्यों चीखी थीं?उसने मेरी तरफ इशारा किया और बोली- इन जनाब से ही पूछ लो.

विदेशी बफ वीडियो - बीएफ फिल्म नंगे

मैं अपने लंड को मोनी के नितम्बों की दरार में घुसाकर अब उपर से नीचे की तरफ घिस ही रहा था कि तभी एक जगह पर अचानक से मोनी का पूरा बदन‌ कँपकँपा सा गया और वो कसमसाकर आगे की तरफ उकस गयी.वनिता की उम्र 26 साल की है और उसकी फिगर भी मेरे जैसे ही 34-26-36 की है.

इसका मतलब वह जागृति थी जो मुझे बाथरूम में लेकर गई थी? अंधेरे का फायदा उठा कर उसने अपनी चूत चुदवा ली मेरे लंड से? मैं उसकी चालाकी पर हैरान था. बीएफ फिल्म नंगे राजेश ने होंठों पे एक और चुम्बन लिया और इस बार चूचियाँ भी दबाईं।डॉक्टर- राजेश, तुम इसके मज़े लो मैं जा रही हूँ.

इस तरह की पॉर्न सामग्री में अधिकतर पुरुषों को सेक्स पिल्स देकर काम करवाया जाता है ताकि उनका लिंग लंबे समय तक योनि भेदन कर सके.

बीएफ फिल्म नंगे?

उसकी गर्दन पर किस करते हुए आँखों पर पट्टी बांध दी।यह वही ब्लैक रिबन था जो कल रात मैंने उसकी आँखों पे बांधा था। मैं उसके हाथ पकड़ के सीढ़ियाँ चढने लगा. जब हमारी चैट होती थी तो मैं डिलीट कर देता था ताकि किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो।आखिरकार हमने मिलने का एक प्लान बनाया. मैंने उसकी जांघों को अपने हाथों से पकड़ कर एक धक्का लगाया, वो सिहर सी गयी और मेरा लंड फिसल गया.

मैनेजर बोले- ये तो बस ट्रेलर हुआ, अगर कुछ जुगाड़ बना, तो बहुत कुछ करना पड़ेगा. हमने एक दूसरे को अपना फोन नंबर दिया और फिर धीरे धीरे लेट नाइट चैटिग चालू हो गई और फिर बाद में आगे बढ़ने लगी. ”उपिंदर ने अंशु की ब्रा खोल दी और चुचियाँ चूसने लगा।जोश आ गया है तुम्हें, मतलब शाम को कामिनी की माँ पहले चुदेगी उसके बाद जाएगी डॉक्टर के पास!”उपिंदर बस मुस्कुरा दिया।अरे हाँ, मेरे भाई राजेश की डॉक्टर शोभा से अच्छी जान पहचान है। मैं उसे बोल देती हूँ कि डॉक्टर से बात कर के रखे.

हम दोनों ने किसी तरह रात काटी और सुबह पांच बजे जब हम दोनों वेटिंग रूम में थे, तो दोस्त को किसी का कॉल आया और उसके थोड़ी देर बाद ही दो बहुत ही खूबसूरत सी लड़कियां वेटिंग रूम में आईं. पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था. रेस्टोरेंट पर खाने का आर्डर किया, बेड दुरुस्त किया और गुप्ताइन को फोन किया कि मैंने खाना मंगाया है.

आंटी इतनी गालियां दे रही थीं कि मैं खुद सोच रहा था कि क्या कोई औरत ऐसे भी गालियां दे सकती है. फिर तेल को उसकी चूचियों पर फैलाया, तो उसकी चूचियों के निप्पल तन गए.

लेकिन लंड में वासना का जोश भर हुआ था जो हर पल मुझे और आगे बढ़ने के लिए उकसा रहा था.

तो दादा जी ने उसे एक जड़ी-बूटी दी जो गंगा जल में पीस कर माथे पर लगानी थी.

प्रिया की शादी वाले दिन, 19 नवंबर वाली शाम को करीब 5 बजे सब घर-परिवार वाले होटल जाने को तैयार थे. कभी मैं उसकी चूत में उंगली डालते हुए उसके चूचों को दबा देता तो कभी उसकी गर्दन पर जाकर अपने होंठों से उसको किस कर लेता. अंकल जी तो मेरा ही इंतज़ार कर रहे थे तो उन्होंने झट से मुझे घर के भीतर कर लिया और मेरी साइकिल भी अन्दर रख दी.

कुछ ही पलों में मेरा मुँह उसकी एक चूची पर लग गया था और दूसरी चूची पर मेरा हाथ घुंडी मसलने में लगा था. अब मुझे उससे चुदवाने में डर भी नहीं लग रहा था और हम दोनों लोग आराम से सेक्स कर रहे थे. सायमा का पति किसी प्राइवेट कम्पनी में काम करता था।उसका घर कुछ ऐसे बना हुआ था कि सायमा का रूम मेरे रूम से साफ़ नज़र आता था। एक दिन सायमा के रूम का दरवाज़ा खुला था.

माँ बोलीं- क्या हुआ, आज नहीं चोदेंगे क्या?लेकिन मैंने फिर सोचा वैसे भी इनको कहां कुछ दिख रहा है … और मैंने मौके का फायदा उठाने का सोच लिया.

आस पास की सभी लड़कियां तो लड़कियां, औरतों पर भी नज़र लगाए रखता था लेकिन किसी से इश्क़ विश्क़ की पहल करने से डरता था. इस बार अपनी जीभ को मोड़ कर जीभ से चोदने लगा और एक उंगली को चाची की चूत में डाल दिया. वो मेरी चूत को चोदते-चोदते अपनी स्पीड बढ़ाने लगा और कुछ ही देर में हम दोनों का पानी निकल गया.

मैं उसकी मस्त चूचियों को देख कर इतना ही बोल पाया- वाओऊऊ क्या मस्त चूचियां हैं … लगता है ऊपर वाले ने बहुत प्यार से इनको बनाया है. उसके फ्री के गिफ्ट ने मेरा वो गुस्सा ठंडा कर दिया था, जो उसको लेकर था. जो कहानी मैं आप लोगों को सुनाने जा रहा हूं वह केवल एक कहानी नहीं है बल्कि एक सच्चाई है.

पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था.

जीजा जी मेरी बात पर कहते थे कि आप मेरी साली हो और साली आधी घरवाली होती है. पिछली बार जब मैं दिल्ली से घर आई थी, तो मुझे पहाड़ों में आकर बहुत सुकून मिला.

बीएफ फिल्म नंगे नजर उसकी छाती पर गई तो आसमानी रंग के नीले सूट में उसकी चूचिचों के उभार भी काफी सुडौल व गोल लग रहे थे. मैं बोली- तू जी भर के चोद बेटा … मैंने आपरेशन करा लिया है … डर मत बस अपनी आग शांत कर ले.

बीएफ फिल्म नंगे उसका लंड एकदम तन गया था जो मुझे उसकी पैंट के ऊपर से साफ़ दिख रहा था. लगता था वसुन्धरा के लिए वैक्सिंग तो जैसे अभी ईज़ाद ही नहीं हुई थी … रही-सही कसर बोरीनुमा कपड़े की ड्रैस पहन कर निकलती थी.

मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि इस आनंद का अंत दो पल में ही हो जायेगा.

कोठे वाली सेक्सी मूवी

’ (फिर से कहो)उसने एक झटके में जल्दी से बोला- वंस मोर मास्टर (एक और मास्टर). उनके अंदर गजब की ताकत थी, अपने मोटे सख्त बाजुओं से बॉस ने मुझे जकड़ रखा था. नम्रता बोली- क्या करने जा रहे हो?मैं- अब तुम्हारी गांड मारने का प्लान मेरे दिमाग में आ रहा है … बस उसी की तैयारी कर रहा हूं, क्रीम कहां रखी है बता दो.

जींस उतारते ही मुझे उसकी खूबसूरत टांगें और पेंटी में कैद रोती हुई फूली सी चूत दिखी. उसके गर्म गर्म होटों में जब मेरा लंड गया तो लगा जैसे दहकती भट्टी में डाल दिया हो. इस वजह से उसकी आवाज़ ही निकलनी बंद हो गई और वो अपना सिर ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी.

नम्रता- मैं तो चाहती हूं कि तुम उत्तेजित हो, जिससे मेरी चूत को तुम्हारा लंड मिले.

रीना ने कहा:जाने कहा मेरा जिगर गया जीअभी अभी यही किधर गया जी!मैंने कहा- उफ़ … तुम्हें तो सब मजाक ही सूझता है, जाओ बात नहीं करनी मुझे. जब मैं पेपर देकर रूम पर वापस आया तो अलका अभी अभी नहा के बाहर आई थी. मैं अपनी बहन के कमरे के नजदीक पहुंचा तो उसका दरवाजा हल्का सा खुला हुआ था.

” वो मेरी सबसे गुप्त चीज़ को ललचाई नज़रों से देख कर बोला।मैंने अपने हाथों से से अपनी फुद्दी को ढक लिया तो उसने मेरे दोनों हाथ खोल दिये और फिर मेरी दोनों टांगें भी खोल दी. अपनी बीवी बना या कुछ भी बना लेकिन मेरी चूत को चोद कर इसकी आग को बुझा साले हरामी. थोड़ी देर हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे और फिर एक बार हम लोगों ने जबरदस्त चुदाई का भरपूर मजा लिया.

तनने के बाद सो चुके लंड से कामरस की एक बूंद निकल कर अंदर ही अंदर अपने मुझे मेरे लंड के टोपे पर ठंडा-ठंडा अहसास करा रही थी. तो भाभी दर्द के मारे तड़पने लगीं और बोलीं- अब कितना बचा है?मैंने कहा- बस एक इंच.

दिशा- सोनल ठीक बोल रही है, अगर अभी आपको चोदने का मन कर रहा है, तो आप मेरी बहना को चोद लेना. उसके ऐसा करने से मेरी तो हालत ख़राब होने लगी, मेरे मुँह से सिसकरी निकलने लगी- आआआ अह्ह्ह् ऊऊऊ उह्ह्ह!और मेरे जिस्म अपने आप हिलौरें मारने लगा. इतने में उसने मेरी नाईटी निकाल दी और मुझे उठा कर पूल में फेंक दिया.

उसकी गोरी, नंगी पीठ, जो काले बालों के नीचे ढकी हुई थी, को देख लग रहा था जैसे किसी फिल्म की हिरोइन हॉट सीन देने के लिए तैयार खड़ी हो.

वो अपने हाथों से मेरी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर मेरे मुंह को ऊपर-नीचे करने लगा. मैंने जब उसकी चुत को देखा तो पाया कि मेरा लंड का सुपारा पूरी तरह से बहन की चुत में चला गया है. मैं- विक्की, क्या तुम निहारिका के साथ सेक्स करना चाहते हो?विक्की- हां दीदी.

जैसे ही मैंने आतिशा की चुत के ऊपर हाथ रखा, तो वो बोली- भैया, प्लीज़ ये मत कीजिए. उस दिन मैं दरवाजा बंद करना भूल गया। तभी अचानक दीदी बाथरूम में चली आई.

मेरे बदन का और धक्कों का सारा ज़ोर रानी के चूचुक पर आ रहा था, क्यूंकि मैंने उनमें अपने नाख़ून गाड़ के उन पर पंजे टिका के धक्के ठोक रहा था. अपनी मदमस्त फिगर के बाद मैं आप सभी को अपनी फैमिली के बारे में भी बता दूं कि मेरे घर में मैं, मेरी मम्मी और पापा रहते हैं. मैंने तुरन्त नम्रता को उठाकर उस टेबिल पर इस तरह लेटा दिया कि उसकी कमर टेबिल के बाहर थी और इस तरह से मेरे खड़े होने की सही पोजिशन बन पा रही थी.

सेक्सी वीडियो आदिवासी का वीडियो

भाबी दर्द से चीख उठीं- हाय मैं मर गई माँ …मैंने फ़ौरन से भाबी का मुँह दबा दिया और ताबड़तोड़ ऐसे कई झटके उनकी गांड पर लगाता चला गया, जिससे कि भाबी की गांड को गड्डा बन गया.

मैंने धीरे से उनके पैरों पर हाथ फिराना शुरू किया और बाद में तेजी से मसलने लगा. इस हवाई सफर के दौरान हम दोनों एक दूसरे के हाथ को हाथों में लिए बस कसमसाते रहे और अपनी भावनाओं को आंखों से ही व्यक्त करते रहे. अब उन्होंने पहली बार मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे बूब्स मसले और मेरी नंगी कमर और पीठ पर अपने हाथ फेरे.

उसने मेरे लंड को खा लिया था और टांगें उठा कर मुझसे पूरा अन्दर आने को कह रही थी. एक दृश्य में लड़का ठरक से पिज़्ज़ा में बने छेद को देख कर उत्तेजित हो कर उसी छेद में लंड डाल कर पिज़्ज़ा को चोदता है. એક્સ એક્સ એક્સ દેશી ગુજરાતીबातों ही बातों में मानसी ने हेतल से पूछ लिया- दीदी, तुम्हारे और राज भैया के बीच में क्या चल रहा है?अब मेरी गांड फट गई क्योंकि मैंने मानसी उस रात को झूठ ही कहा था हेतल के बारे में.

कुछ भी मुझे बड़ा मजा आ रहा था, शायद यही सब मुझे करने में मजा आता था, लेकिन ऐसा कभी हुआ ही नहीं था. मेरी बीवी नादान थी, उसे नहीं मालूम था कि गांड मारना क्या होता है, उसे तो बस इतना बताया गया था कि छेद में औजार घुसेगा, तो दर्द होता है, तुम थोड़ा सहन कर लेना.

और फिर उसने मेरी चुत पर थूक लगाया और कंडोम पहना और मेरी टाँगें ऊपर ले ली और चुत में अपना काला लोड़ा घुसा दिया और धक्के लगाने लगा. मेरा मानना है कि शादी के बाद भाभियों की गीली चुत चाटना, इनकी चूत को खोल खोल कर उसका प्रीकम चाटना, इनके बहते हुए झरने को पीना, इनकी चूत के दाने को कट्टू करना और मेरी पसंदीदा चीज़ ये कि इनके मस्त रसीले मम्मों से निकलते हुए दूध को पीना. फोन दोस्त का था लेकिन मैंने नाटक करते हुए मां से कहा- मां शायद, शालू घर पहुंच गई है और आपको पूछ रही है.

उसने पूछा- कितनों के लिए हैं?मैंने कहा- गिना नहीं!और उसने वापस धक्का लगा दिया और ज़ोर ज़ोर से मेरा मुंह चोदने लगा. वो लड़कियां के मामले में मुझ पर पूरा विश्वास करता था, तो उसने नम्बर उधर फेंक दिए. सो हम दोनों एक दूसरे को अपने हाथ दिखाकर अपनी-अपनी हथेलियों को चाटने लगे.

मैंने पूछा- क्या खाना हो गया?सरला जी- हां, तुम्हारा?मैंने जबाव दिया- हां!हम दोनों बात करने लगे और करीब 11 बज़े मेरे बेडरूम में ही सरला सो गई.

मैं हैरान था कि ताऊ जी इस उम्र में भी एक जवान प्यासी चूत की प्यास इतने अच्छे तरीके से बुझा रहे हैं. कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि रात को सोते समय मेरी वासना ने मुझे मोनी के बदन को छूने के लिये मजबूर कर दिया.

मोनी की चूची मुंह में भर कर मैंने उनको बेसब्री के साथ चूसना शुरू कर दिया. मैंने उसी वेटर को एक सौ का नोट और दिया, उसने मेरी चुदाई को देख कर हम दोनों को डिस्टर्ब नहीं किया था. मैं बिस्तर पे उल्टा लेट गया और वो बड़े ही प्यार से मेरी कमर दबाने लगे और मुझे गुदगुदी करने लगे.

सायमा ने बेसब्री दिखाते हुए मेरे अंडवियर को उतार दिया और मेरे तने हुए लौड़े को अपने गर्म मुंह में भर कर चूसने लगी. मैं हैरान रह गयी कि सबके लंड सांड के लंड जितने लम्बे और मोटे तगड़े थे. मैंने अपनी दोनों उंगलियां चुत में डाल दीं और चुत की मलाई चाटने लगा.

बीएफ फिल्म नंगे वहाँ मेरा कोई फ़्रेंड नहीं था। मैं समय काटने के लिए मैं फ़ेसबुक पर बहुत ऑनलाइन रहता हूँ और पहले भी कई लोगों से मुलाक़ात कर चुका हूँ। साथ में मैं ऑनलाइन सेक्स मूवीज़ भी देखता हूँ।फ़ेसबुक पर मैं बहुत सी लड़कियों और भाभियों को रिक्वेस्ट भेजता हूँ कि काश़ कोई मिले और मैं मज़े ले सकूँ. जैसे ही उसे समझ आया कि मैं भी तैयार हूँ, तो तुरंत ही उसने अपने हाथों से मेरी पेंटी को नीचे की ओर खींच दिया.

बहन की चुदाई वीडियो सेक्सी

मैंने अंडरवियर पहना हुआ था और उसके उभरे हुए चूचों के बीच में तने हुए उसके निप्पल देख कर मेरा लंड मेरे अंडवियर में फिर से खड़ा होना शुरू हो गया. मेरे भाई ने मेरी चूत पर अपनी जीभ लगा दी और मेरी चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक जीभ फेरते हुए चूत चाटने लगा. थोड़ी देर में मैं भी चाची के मुँह में झड़ गया और चाची किसी रंडी की तरह मेरे लंड का पूरा माल पी गईं.

बस इतना स्मरण है कि झड़ने के बाद मैं भी अर्धमूर्छित होकर रानी के ऊपर पड़ गया था. कुछ पलों बाद भाभी आईं और खुद तैयार होने की कह कर अपने रूम में चली गईं. बाप बेटी का बफमुझे तो पता ही नहीं था कि वो मेरी गांड फाड़ने के लिए ऐसा कर रहे हैं ताकि मेरी गांड पहले थोड़ा खुल जाए.

बाजार जा कर आना होता या और कोई सामान लाना होता, तो वह सब मुझे ही बोलती थीं.

”हां आओ ना … बल्कि मैं तो कहती हूँ कि आप ऐसा करो कि आज रात अपने फ्लैट को लॉक ही कर देना और यहीं सो जाना. इस पर काजल बोली- मुझे तो कुछ लेना नहीं है, इसलिए आप दोनों ही चले जाओ.

मैं बोली- वो कैसे?तो बोली- यार तुम जवान हो, खूबसूरत हो … और जब मैं चाभी लेने आई, तो दरवाजा खुला था, ससुर जी पानी का गिलास हाथ में ले रहे थे. हफ्ते भर में मुझे पता लग गया कि वो प्रिया की सहेलियों में से एक है. तुम अपनी दीदी की चिंता मत करो, बस इन पलों का मजा लो मेरी जान!कहकर जीजा ने मुझे फिर से चूसना शुरू कर दिया.

नम्रता भी अपनी कमर हिला-हिला कर चूत और गांड चटवा रही थी और मजे से मेरे लंड के साथ खेल रही थी.

पांच मिनट के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और उसका बदन ढीला पड़ गया. बुआ ने सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार को नीचे सरका कर अपनी कच्छी को भी नीचे कर लिया. मैंने उसके बाद धीरे से उसकी एक चूची पर चुम्बन दे दिया जिससे वो सिहर उठी.

एक्स वीडियो एचडी मेंमैं दिलिया को बेकरारी से चूमने लगा और चूमते चूमते हम दोनों की जीभ आपस में टकरा रही थी और हमारे मुंह में एक दूसरे का स्वाद घुल रहा था।जब मैंने अपना मुँह हटाया तो दिलिया ने अपना सर ऊपर उठा लिया जैसे कह रहो हो रुक क्यों गए. हैलो फ्रैंड्स, मेरा नाम राज (बदला हुआ नाम) है, मैं इलाहाबाद से हूँ, लेकिन मैं नोयडा में रहता हूं.

देसी औरत सेक्सी

मैंने उसके चूचों को सीधा मुंह में भर लिया और उसकी गांड को दबाते हुए मैं उसके चूचों को चूसने लगा. काजल की चूत मारते हुए मुझे करीबन पन्द्रह मिनट से ज्यादा टाइम हो चुका था. बस 5 मिनट किस करने के बाद वो रुकी और मेरे आंखों में आंखें डाल के बोली- पैसे दिए हैं … तो चोदेगा भी या बस खिलायेगा ही!(आपको याद होगा टेबल का वो दृश्य, जब मैंने उसके मुँह में नोट ठूँसा था.

मेरी टी-शर्ट इतनी टाइट थी कि उसमें से मेरे निप्पल साफ़ पता चल रहे थे और ज़रा सा झुकने पर मेरी आधी चूचियां दिखायी दे रही थीं. मुझे लगता था कि मम्मों के बड़े न हो पाने का कारण उसका पति था, जो एक शराबी था. मैं- भाबी, आपकी ये नटखट सी चुत कुछ मूसल जैसा बड़ा सा खाना चाह रही है.

धीरे धीरे मैंने उसकी दोनों चूचियों को छोड़कर उसके सपाट पेट पर चूमना चालू कर दिया. ये कहकर अपनी चूत द्वार से लेकर फांकों के बीच रगड़ते हुए दो बार ऊपर नीचे किया. बस फिर क्या था, मेरी लपलपाती जीभ उन रसभरे निप्पलों में बारी-बारी चलने लगी.

वीर्य की धारा छूटने को तैयार थी, लेकिन मैं लंड को चूत से निकालने को तैयार नहीं था और नम्रता भी नहीं चाह रही थी. जैसे ही उसकी जीभ की रगड़ मिली मैंने अपनी कमर ऊपर उछाल दी और उसको समझते देर नहीं लगी कि मैं चुदने के लिए तैयार हो चुकी हूं.

इससे पहले मैं कुछ सोच पाती वो मेरे ऊपर थे और मुझे अपनी बांहों जकड़ कर मेरे होंठों को चूसने लगे.

कई मिनट तक ऐसे ही किस करने के बाद वह बोली- मयंक, मेरे पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते. கல்லூரி மாணவி செக்ஸ் வீடியோदोस्त ने मुझे ये कह कर मना कर दिया कि रूम सुबह पांच बजे लिया जाएगा. एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो हिंदी एचडीहम लोग रोज ऑफिस के बाद मिलते और किस तो करते, लेकिन इससे आगे और कुछ करने का मौका नहीं मिल रहा था. चूतनिवास की पहली चुदाईमेरे प्रिय पाठको, यह किस्सा मेरी पहली पहली चुदाई का है.

उनका नाम मारव, लेकलान, जैक, ओकले थाउन सभी ने कहा कि उन्हें इंडियन कल्चर बहुत पसंद आया.

रानी ने तेज़ तेज़ सिर दाएं बाएं हिलाते हुए एक और चीख मारी और जल्दी जल्दी से चूत को कसा, फिर ढीला किया. आज मगर मोनी शायद गहरी नींद में थी इसलिये वो वैसे ही बिना रिएक्शन दिये पड़ी रही।मेरा लंड अब मोनी के नितम्बों पर तो था मगर मोनी ने उस रात साड़ी पहनी हुई थी इसलिये मुझे इतना मजा नहीं आ रहा था। मैं अब और कुछ तो कर नहीं सकता था, इसलिये मोनी से चिपक कर मैंने अपने पैर से ही उसके पैरों को सहलाना शरू कर दिया. बाहर चारों तरफ अँधेरा था। बस हमारे फ्लैट से हल्की रोशनी आ रही थी।मैं वर्तमान में आयी। चारों तरफ अँधेरा … चिर सन्नाटा। अंतिम आवाज मैंने अपने फ्लैट का गेट बन्द होने की सुनी थी। मेरे हाथ ऊपर मेरे ही ब्रा से बंधे हुए थे। मैं दीवार से अपनी नंगी पीठ और चूतड़ सटाये खड़ी थी.

प्रिया से सपनों के साकार होने जैसे हसीन मिलन की रात के बाद से तो दिन ऐसे पंख लगा कर उड़े कि कब प्रिया की शादी सर पर आन पहुंची … पता ही नहीं चला. वो थोड़ी शर्मा कर थोड़ा मुस्कुरा कर बोली- आपका!उसकी इस बात से मुझे जोश आ गया और मैंने एक जोर का झटका दे मारा. जब लंड पूरे तनाव में आ गया तो मैंने सायमा को अपनी वाली जगह पर बैठाया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत पर लगे केक को चाटते हुए उसकी चूत में जीभ घुसाने लगा.

जंगली आदमियों की सेक्सी

मैंने उसकी दोनों चूचियां बारी बारी से अपने मुँह में भर कर खूब चूसीं. थोड़ी देर में नैना पानी और नाश्ता लेकर आई, तो मैं उसे देखता ही रह गया. कुछ देर बाद मैंने अनुषी के सारे कपड़े उतार दिये और खुद के भी निकाल दिए.

उन दिनों मैं अपने नाना जी के यहां गया हुआ था। गांव में अधिकतर लोग जल्दी सो जाते हैं क्योंकि उनको सुबह जल्दी उठना पड़ता है.

सेक्स सम्बन्धी विषयों में डॉली के पास ज्ञान का असीमित भण्डार था, उसे हर सवाल का जवाब आता था जैसे कि हम लड़कियां पीरियड्स से क्यों होती हैं, चुदाई कैसे होती है, बच्चे कैसे पैदा होते हैं इत्यादि.

मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं. वो वाकया उस दिन का है जब एक दिन आंटी अपने घर में कपड़े धो रही थी। मैं किसी काम से आंटी के घर गया हुआ था, मैंने देखा कि बैठने के कारण आंटी की आधी चूची बाहर निकली हुई थी। बहनचोद … उसकी चूची जब मैंने इस हालत में देखी तो मेरा लौड़ा तो जैसे तनतना गया. হট সেক্সি পিকচারमैंने लंड को पैंट के अन्दर किया, अनुषी को दूसरे दरवाजे से बाहर किया और खुद मैं अन्दर मां के पास आ गया.

वो बोली- क्यूं, तुझे ऐसा क्यों लगता है?मैं- आपके ब्लाउज के साइज को देख कर लग रहा है. मेरे मुँह से सिसकारियां निकल रही थीं और मैं ज़ोर ज़ोर से भाई को सुनाने के लिए बोलने लगी- आऽऽऽह, फ़क मी बेबी, उफ़्फ़ मुझे तुम्हारा लंड चूसना है … आह मेरी चूत लंड के लिए तड़प रही है … मेरी चूचियों से खेलो … मेरी प्यास बुझा दो … चोद दो मुझे … आऽऽऽह!कुछ तो अपनी चूत से खेलने और कुछ ये सब अपने भाई को दिखाने की सोच कर मैं बहुत गर्म हो रही थी. फिर धीरे धीरे करके मैं उसकी चूत में उंगली डालने लगा, लेकिन चूत टाईट होने की वजह से उंगली अन्दर नहीं जा रही थी.

दोस्तो, मेरा नाम प्रिन्स है, मैं इंदौर का रहने वाला हूँ और यह मेरी इस पटल पर पहली सेक्स कहानी है. हम दोनों ने किसी तरह रात काटी और सुबह पांच बजे जब हम दोनों वेटिंग रूम में थे, तो दोस्त को किसी का कॉल आया और उसके थोड़ी देर बाद ही दो बहुत ही खूबसूरत सी लड़कियां वेटिंग रूम में आईं.

तोप सी तनी हुई गांड देख कर मुझसे बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हो रहा था.

’ बोल के चला गयाविशाल के शब्द:क्या हुआ जान?”मैंने उसे मुस्कुराते हुए पूछा. ‘आहह …’ क्या बताऊं दोस्तो … वो मेरी लाइफ की पहली चुम्मी थी, जो मेरे भाई ने ही मुझे की थी. फिर धीरे धीरे उसकी चूत की फांकों को टटोलते हुए मैंने सीधा ही अपनी बीच वाली उँगली को उसकी मखमली गहराई में घुसा दिया.

देशी भाभी चुदाई उन्होंने दीदी के चूचों के बीच में ले जाकर अपने लंड को रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने ऐसी माल, ऐेसी चुदक्कड़ लड़की अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी थी.

मैं भी अपनी कॉलेज लाइफ में बिजी हो गया था मगर काजल से फोन पर बात होती रहती थी. मेरी चूत से पानी बहना शुरू हो गया था जो उस लड़के के हाथ की हथेली को चिकना कर रहा था. भाई ने अपना आधा लंड बाहर निकला और फिर एक जोर के धक्के से पूरा मेरी चूत में अन्दर पेल दिया.

देसी हिंदी सेक्सी वीडियो हिंदी

सो मैं नम्रता के जांघों के बीच आ गया और लंड को चूत के मुहाने पर टिकाकर एक झटका दिया. मैं बैठा-बैठा बोर हो रहा था और मैंने सोचा कि मानसी को उठा देता हूं. मारे काम-हिलौर के, वसुन्धरा बिस्तर पर पीछे सीधी लेट गयी और बुरी तरह छटपटाने लगी.

बीवी ने अनमने मन से मुझे देखा, फिर गांड हिला कर पूरा लंड गांड में ले लिया. मैं पूरी मस्ती में उसकी चुत को चाट रहा था और वो कामुक सिसकारियाँ भर रही थी.

मैं उसका असली नाम नहीं बता सकती क्योंकि अगर कहीं किसी जानने वाले ने पढ़ लिया तो मुसीबत हो जायेगी.

उसके रूम में पहुंच कर जब मैंने उससे पूछा- ऐसे चोरी की तरह क्यों आए हम?उसने आंख मार के कहा- सब जग न जाएं. अंकल जी ने मुझे बेड पर बैठा दिया और मेरे सामने खड़े हो गए; उनका तना हुआ लण्ड मेरे मुंह के ठीक सामने तोप की तरह मुंह उठाये खड़ा था. मैंने देखा कि मेरा दोस्त सुमेर वहाँ नंगा खड़ा अपने चूतड़ आगे पीछे कर रहा था.

मैं रात को खाना खाने के बाद फेसबुक सर्फ कर रहा था, तो एक दोस्त मुझे ऑनलाइन देख कर मुझसे चैट करने लगा. आपकी प्रतिक्रिया को लेकर मैं बहुत उत्साहित हो जाती हूँ इसलिए जल्दी ही आपके लिए यह कहानी लेकर आई हूँ. अपना मोबाइल फोन मेरे हाथ में धीरे से देते हुए बोले- ज़रा बैटरी देखना.

पेपर देने में भी पापा मुझे बाहर तक छोड़ कर जाते थे और पेपर खत्म होने के बाद घर ले जाते थे.

बीएफ फिल्म नंगे: लम्बा लंड चूत में घुसा, तो वो चिल्लाने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने कहा- क्या हुआ हिना जी?तो बोली- जिस खेत पर 6-7 महीने में एक बार हल चलता है … तो वो जमीन प्यासी तो होगी. मगर उनको क्या पता था कि मैं आज अपने आप को बेच कर आई थी।2 दिन बाद हम दोनों वायुयान से गोवा चले गए.

मैं उसकी चूत के दाने को चूसने लगा, जिससे वो और ज्यादा चुदासी हो गई. वे बोले- तो आज फिर?मैं बोली- पति के आने तक आप रोज मेरे साथ ही रहोगे. पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था.

टेबल पर रखे सामान की तरफ इशारा करते हुए मुझे नाश्ता करने के लिए कहा.

कई बार तो वो एक ही सवाल को दो बार ले आती थी जिससे मुझे उसकी चोरी के बारे में पता लगने लगा था कि यह जान-बूझकर ऐसा करती है. और चुत भी टाइट होती है इसलिए आराम से घुसेड़ना और जितने प्यार से करोगे उतने दोनों को मजे आएंगे. बचपन में जब गांव में नंगे घूमा करते थे तो उसकी लुल्ली का नाप मुझे याद था.