नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्स के बारे मे जानकारी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी मौसी वाली: नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ, हमारा रिलेशन एक साल तक चला, फिर उसके पति की बदली हो गई और उसको उसके साथ जाना पड़ा.

सेक्सी वीडियो दीपिका पादुकोण

लेकिन शालू अभी इस बात से अनजान थी।ये बातें करते हुए हमें लगभग आधा घंटा हो गया था और सासू माँ अभी तक ऐसे ही मेरे सीने से चपकी हुई थी. बड़ा लैंड वाली सेक्सी वीडियोतब मैंने उसे हाइमन के बारे में आधुनिक सोच बताई और उससे कहा- कोई तनाव मत लो.

उसे गुस्सा आ गया और उसने मेरा हाथ पकड़ा और मेरे मम्मों को चूसने काटने लगा. बैंगन का भरता कैसे बनता हैवो मेरे पास आई और झट से मेरी गोद में बैठ गई, मेरे गाल पर किस करके बोली- आई लव यू शुभम! आज के बाद मुझे कभी अकेले में मम्मी मत कहना अब!मैंने कहा- तो क्या कहूं मेरी जान?मेरा नाम लिया करो मेघा … जैसे हर कोई पति अपनी पत्नी का लेता है.

इतने में अंग्रेज बोलने लगा कि मेरे साथी को नींद आ रही है उसको सोना है.नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ: मीनाक्षी ने अपने बेबी को एक कमरे में सुला दिया और मेरे लिए चाय बनाने किचन में जाने लगी.

मैंने वीडियो में देखा था कि पेलने के पहले चूत पर थूक लगा कर ही पेलते हैं.एक दिन हसित ने मुझे दिन में एक बजे फ़ोन किया और कहा- तुम ऑटो से मेरे स्कूल आ जाओ और मेरे ऑफिस में बिना किसी को बताए आ जाना.

सील कैसे टूट - नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ

आंटी पागल होने लगीं, उनकी सांसें तेज होने लगीं और उनके मुँह से आह आह की आवाज निकलने लगी.यह मेरी पहली सच्ची गरम सेक्स कहानी है, जो मैं आप सबको आज बताने जा रहा हूँ.

मैं- वो सब छोड़ो भाभी … आपको कैसी लगी?भाभी कुछ नहीं बोलीं, तो मैं समझ गया कि भाभी को अच्छा लगा होगा. नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ इसलिए मेरे माता-पिता ने मुझे एक महीने के लिए मौसी के घर भेज दिया क्योंकि उनका घर मेरे कॉलेज के पास था.

शिल्पा कुछ शर्मा रही थी क्योंकि वो पहली बार किसी और से चुदने वाली थी.

नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ?

दीदी- तूने मेरे बूब्स कब देख लिये?मैं- जब आप खाना परोस रही थी तो उस समय झुकते हुए मुझे आपकी चूची दिख गयी थी. मेरी सास ने मेरी साली को हमारे साथ रहने और अपने काम में रोजी की मदद के लिए भेजा. फिर धीरे धीरे उसने ही मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए और मैंने उसके उतारे.

मैंने लगभग आधे घंटे बाद भाभी को फोन किया और कहा- भाभी, आप मेरे घर आकर खाना खा लें. मैं बोला- साले बहनचोद, तू ये सब अब बता रहा है मुझे? मेरा लंड रोज अकड़ कर दर्द करता है. इस दौरान वह मेरे दोनों मम्मों को भी पकड़ पकड़ कर मसल रहे थे जिससे मुझे और अच्छा लग रहा था.

प्रिया- आआ आहह … मम्मी ऊउम्मययी … और तेज … और तेज भैया … और अन्दर … और कस कसके … और तेज तेज कीजिए … आआ अहह … और तेज … और … तेज … अहह …मैं प्रिया से एकदम लिपटा था और उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था. इतना सुनते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और मैंने पूछ लिया- क्या आप मेरे साथ करोगी?भाभी- किसी को पता चल गया तो बहुत बदनामी होगी. पांच मिनट गांड मारने के बाद सत्या ने अपना लंड बाहर निकाला और शनाया के मुँह में दे दिया और मुँह में ही झाड़ दिया.

सुबह किसी ने दरवाजे पर दस्तक दी तो एक उठा और बिना कपड़े पहने दरवाजे की तरफ चल दिया. एक ने कहा- भाभी, कल ही रिकार्डिंग ही आपका काम करने के लिए काफी है, पर ये तो हम अपने पर्सनल कलेक्शन के लिए कर रहे हैं.

मुझे भी अपने लंड पर चाची की कसी हुई चुत की जकड़न को रगड़ने में बहुत मजा आ रहा था.

मैंने भाभी को बेड पर पेट के बल लिटा दिया और उनके दोनों पैर को जमीन पर रख दिए.

अब नरपत नीचे उतर गया और उसका लंड मैं चूसता रहा और उसकी गोटियां सहलाता रहा. मैंने पहले चूत के होठों को हल्के से चूमा और चूत को चूसना शुरु किया. मैंने रास्ते में उससे पूछा- क्या खाओगी?वो बोली- कुछ नहीं, पहले ही इतना खिला दिया … जो कभी नहीं भूलूंगी.

मैंने 15 मिनट धकापेल चुदाई की और अपना रस भाभी की चूत में ही छोड़ दिया. इससे जिया दीदी की चुत ने पिघल कर लंड को रस से चूम लिया और चुत की गर्मी बढ़ गई. मैं अपने घर आकर बेड पर लेटकर सोचने लगा कि नियाज किस तरह का लड़का है जो अपनी अम्मी को चोद रहा है … और उसकी अम्मी भी आने बेटे के लंड से चुदवा रही थी.

प्रकाश बोला- मैंने तालाब में नहाने की तुम्हारी फोटो देखी थी, उसमें तुम्हारे स्तन छोटे थे, अब बड़े कैसे हो गए?तो सोनम ने ब्रेस्ट पंप के बारे में बताया.

फिर रात के सात बजे हम सब अलग हो गए और उस जगह पर पहुंच जाने की तैयारी करने लगे … जहां आज मेरी बर्थ-डे की पार्टी थी. अब तो वो अपनी उंगलियां मेरी गांड के छेद पर भी फिराने लगा था, तो मैं कामुकता से सीत्कार उठता था. अब हम दोनों अपने चरम पर आ गए थे; एक दूसरे के बदन को हमने कसके जकड़ लिया था.

मैंने पूछा- अंकल और बच्चे कहां हैं?वो बोलीं- तुम्हारे अंकल बाहर गए हैं. मैंने आगे बढ़ कर भाभी को बेड पर गिरा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर चूमने लगा. पर आफताब मुसकुराता हुए बोला- शायद कुदरत की यही मर्जी है।दोनों नंगे हो गए।रूपा ने शर्म से अपने हाथों से अपना चेहरा छिपा लिया.

अब आगे क्यूट भाभी सेक्स स्टोरी:हम दोनों उस प्यार के धीमे खेल को पूरी तरह से जी लेने की ज़िद में एक दूसरे को प्यार किए जा रहे थे.

मैं मामा के घर गया तो सभी से मिलने के बाद मैं सूरज के साथ बैठ गया और बातें करने लगा. उनकी गोरी गोरी जांघें मुझे मस्त करने लगीं और उनकी नशीली आंखों में एक अजीब सी मस्ती दिखने लगी.

नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ टीवी पर एक हॉट मूवी लगी हुई थी, उसे देखते हुए मैं अपनी गांड में उंगली करने लगा. उन्होंने फोन पर कहा- हां, एक रांड चोद रहा हूँ … हां हां तुम्हें भी मिलवा दूंगा … पहले मैं तो मजे ले लूं.

नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ रमेश- तुम मेरे लिए लक्की हो लैला, नहीं तो सोचता था कि इस गांव में मेरे लंड का क्या होगा … मैं इधर किसको चोदूंगा. फिर मैंने उसको बेड पर खड़ा करके उसका लोअर और पैंटी को एक साथ निकाल दिया.

भाभी ये बोल कर फिर से चारों तरफ देखने लगीं जैसे कोई और हमारी बात सुन ना ले.

पिक्चर सेक्सी फिल्में

इसी तरह से हम दोनों के बीच मौन प्यार से शुरुआत हुई … फिर धीरे धीरे बात आगे बढ़ी. सुबह मैं बाथरूम में गया और अपने लिंग को झटका देकर मौसी की रात जवानी को याद करके हस्तमैथुन करने लगा. वेदिका- तू अभी मुझे समझने के लिए बहुत छोटा है … और हां अब से तू मुझे वेदिका बोला कर, आंटी नहीं.

मैंने उनकी कमर दबानी आरम्भ की तो मेरे हाथों ने उनकी ब्रा का हुक महसूस किया. हमारा पुराना घर बहुत छोटा होने के कारण अब हम सब हमारे नए घर में रहने के लिए शिफ्ट हुए थे, जो कि कोटा शहर के बोरखेड़ा में स्थित है. हालांकि मैं उस दर्द को सह सकती थी तो उठकर बाथरूम में चली गई और फ्रेश हो गई.

आपको मेरी हॉट सेक्सी गर्ल Xxx चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा.

थोड़ी देर में जैसे ही शिल्पा गई, मैंने दरवाजा बंद किया और बेड पर आकर लेट गया. वो दिखने में किसी परी से कम नहीं लग रही थी।फिर मैं घुटनों पर खड़ा हो गया और भाभी ने मेरे अंडरवियर अचानक से उतार दिया जिससे मेरा लंड उनके लबों से टकरा गया. फिर मैं उठा और उसकी लैगी को उतारने लगा लेकिन उसने कस कर पकड़ ली और मना करने लगी.

उन्होंने आंख दबाते हुए कहा- मेरा कोई इरादा भी नहीं है अपने देवर से छूटने का … आ जाओ सब साफ़ सफाई मिलेगी. अब उनका एक हाथ मेरे बालों में चल रहा था और दूसरा हाथ पैंट के ऊपर से मेरे लंड को टटोलने लगा. थोड़ी देर बाद मैं आंटी के पास किचन में चला गया और उनसे बात करने लगा.

भाभी ने मेरे किस का साथ दिया और वो भी मेरे होंठों का मजा लेने लगीं. मैं उसे अपने सीने से चिपकाए हुए ही उसके बालों को सहलाने लगा और उसके माथे पर किस करने लगा.

फिर बिना देरी किए मैंने अपने होंठों को अम्मी के रसीले और गुलाबी होंठों पर रख दिए. अंधेरे में मैं उन दोनों की चुदाई देख तो नहीं पा रहा था, बस आवाज से अंदाज़ा लग रहा था. अब इस सब में मेरा हाल बहुत बुरा था … लंड एकदम से अकड़ गया था और मैं अपना लंड सहला ही रहा था कि तभी मेरा पानी निकल गया.

’लेकिन पति कहां कुछ सुनने वाले थे; उन्होंने फिर से एक और तगड़ा हमला मेरी बच्चेदानी पर कर दिया, तो मैं दर्द से चिल्ला उठी.

मैंने हिम्मत जुटाकर आंटी से पूछा- आप तो मुझे सज़ा देने वाली थीं, फिर ये सब क्या कर रही हैं?वेदिका- अरे गौरव, मैं तो तुमसे कब से चुदवाना चाहती थी. फिर मैं बोला- यार, मैंने भी कई भाभियों की चुदाई की है। मगर उन सब में तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया. जैसा कि वह ब्रा के साथ तौलिया में बैठी थीं और बैठते समय उनकी थोड़ी सी पैंटी मुझे दिखाई दे रही थी जो मुझे एक उत्तेजना दे रही थी.

मैंने भाभी की चूत को चाटना चालू कर दिया- आह … आह … राज … मैं बहुत प्यासी हूँ आहंह चाट लो मेरी चुत को आह!भाभी तेज तेज सिसकारियां भरने लगीं. पन्द्रह मिनट तक मुझे यूं ही चोदने के बाद पति देव ने मुझे पीठ के बल लेटने के लिए कहा.

फिर मैं दीदी के पैरों में बैठ गया, दीदी की चूत पर मुंह लगाकर उसकी चूत को चाटने लगा. मैं रिजॉर्ट के डिस्को में टिकट रिसीव कर लेता हूं कि हमें कोई परेशानी ना हो. लंड की कुछ ही रगड़ों में उसकी चूत ने गर्म लावा छोड़ दिया और अपने रज से मेरे पूरे लंड को नहला दिया था.

सेक्सी पिक्चर ब्लू वीडियो दिखाएं

उसको मैंने बहुत मनाया और उसको मना कर अपने घर रात को बुलाने का प्लान बना लिया.

भाई भाभी सेक्स कहानी उन दिनों की है, जब मैं भईया और भाभी के घर मैं अपनी छुट्टियां बिताने के लिए गया था. तभी सरिता ने आवाज दी- हर्षद ये क्या है?सरिता तकिया बाजू में रखकर मेरी ब्रीफ हाथ में लटकाकर मुझे दिखा रही थी. शाम तीन बजे जब मैं भाभी के घर गया तो भाभी बेड पर लेटी टीवी पर हिन्दी फिल्म देख रही थीं और उनके बच्चे खेलने के लिए पड़ोस गए हुए थे.

शनाया पहले भी मेरे दोस्त हार्दिक के बर्थडे पर उससे चुदी थी और हम दोनों कपल स्वैपिंग के अलावा कई और मौकों पर चुदाई का मजा ले चुके थे. रोजी ने मेरी इच्छा पूछी और कहा कि मैं किसी भी हालत में आपकी इच्छा पूरी करने के लिए तैयार हूँ. खरगोश फोटोसरिता पूरी तरह से कामवासना में डूबकर अपनी आंखें बंद करके आनन्द ले रही थी.

रमेश सर- इसमें जोर जोर से धक्का नहीं मारा जाता है मेरी लैला हज़ीरा, लंड को चुत में अन्दर तक महसूस किया जाता है … तुम बताओ … कैसा लग रहा है!हज़ीरा- ठीक कह रहे हैं मेरे सरताज … आप लंड एकदम से मेरी बच्चेदानी में टक्कर मार रहा है. मैंने कहा- क्यों, वो कहां चला गया है?वो बोली- मैंने उसे किसी सामान के लिए बाहर भेजा है.

मामी के पैर मैंने फैला दिए और झट से अपना लंड मामी की पनियाई हुई चूत के अन्दर पेल दिया. फिर मैंने उसको कस कर गले लगा लिया उसने भी मुझे बहुत जोर से अपने सीने से लगा लिया।मैंने उसको चाय-नाश्ता करवाया. कुछ देर के बाद भाभी रूम में आकर बेड पर बैठ गईं और बोलीं- अभी तुम्हारी पढ़ने की उम्र है.

सेक्सी दीदी की आवाजों को सुनकर मुझे एक बात का अहसास हो रहा था कि राहुल बड़े मजे से जिया दी को पेल रहे हैं. फिर मैं अपना हाथ उसके बालों में डालकर अपने होंठों को उसके होंठों के पास ले गया और फिर हल्के किस के साथ शुरुआत की. मैं बातों के दौरान धीरे से उन्हें गर्म भी कर देता, पर मैं ज्यादा सेक्स के बारे में जानता नहीं था कि लड़की को पटाते कैसे हैं.

उसकी जांघें ज्यादा मोटी नहीं थीं, तो उसकी चूत बिल्कुल बाहर दिख रही थी.

कुछ देर तक चूत चाटने के बाद मैंने अपनी लोअर उतार दी और अपने लंड को सहलाने लगा. हॉट वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि अपने दूसरे हनीमून पर जाने की खुशी में वासना से भरपूर बीवी ने कैसे अपने पति को चुदाई का मजा दिया.

जब तक मैं अपने पति का लंड चुत में लेकर चुदवा ना लूं, मुझे नींद आती ही नहीं थी. मैं सच में बहुत नसीब वाला था कि मुझे जवानी की शुरुआत में ही ऐसा मजा मिल रहा था. कुछ देर बाद वो आया और मुझसे बोला- हो गया … आज रीना कह रही थी एक बार ही करूंगी, सो उसने कर लिया.

इन सबमें मेरा लंड इतना पागल हुआ जा रहा था कि उसकी भूख मिटाने के लिए मैंने स्वीटी का हाथ मेरे लोअर में डाल दिया. एक दो फोटो देख कर चाची ने मेरी तरफ देखा और मुझे फोन देती हुई बोलीं- तू ये सब भी देखता है!मैं बिल्कुल चुप रहा. एक दिन मैं जब उसे श्वेता के यहां से घर ला रहा था, तो मैंने बीच रास्ते में एक ब्रिज पड़ता है, उस पर बाइक रोकी और उससे भी उतरने को कहा.

नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ मैंने प्यारे पति की पैंट निकालकर उनका सात इंच का मस्त लंड हाथ में ले लिया और उसे मसलने लगी थी. वो मुझसे बोली- ओके तुम्हें जैसा भी लगा हो, पर तुम ये बात किसी से मत कहना.

प्रिया मराठे

उसका हाथ रीना की गर्दन से होता हुआ पीठ और पैंटी के अन्दर तक जाने लगा था. तुम्हें बुरा नहीं लगेगा?जयदीप- यार अभी ही टाइम है जिंदगी के मजे लेने का … बूढ़े होकर तो बस कहीं पड़ा रहना है. मैं फटाफट चूड़ियाँ उतारने लगी तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- अरे मेरी रानी … रहने दो, मैं तुम्हारा पड़ोसी चाचा ही तो हूँ.

श्रुति कुछ देर बाद बेड के किनारे पर बैठ गई और मेरा सिर दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे होंठ पर किस करने लगी ‘मुआह्हह …’एक लंबे किस के बाद उसने ‘आई लव यू बेबी …’ बोला और मेरे सिर को अपने सीने पर दबा लिया. उनके घर में सब मिला कर 12 रूम थे और दो स्टोर रूम भी थे, जिनमें आसानी से चुदाई की जा सकती थी. गे के लक्षणसरिता की पैंटी गीली होने के कारण मेरे लंड का सुपारा पूरा गीला हो गया था.

मैंने अपनी उंगली उसकी गांड के छेद पर दबाते हुए कहा- अब दूसरा राऊंड हो जाए!उसने मेरे लंड को जोर जोर से रगड़ते हुए मुस्कुराकर कहा- हां हो जाए.

अब मैं सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले आपको इस नगर के रीतिरिवाज बता देता हूँ. तब मैंने उसे हाइमन के बारे में आधुनिक सोच बताई और उससे कहा- कोई तनाव मत लो.

एक हाथ से उसने मेरे लंड को पकड़ कर मुंह में लिया हुआ था और दूसरे हाथ से वो अब मेरे सिर को पकड़ कर चूत की ओर धकेलते हुए अपनी चूत पर दबा रही थी जिससे मेरी जीभ दीदी की चूत के अंदर और अंदर तक घुस जाती थी. बगल में पर्स देख कर मुझे ऐसा लगा कि भाभी कहीं काम से वापस आ रही है. मैंने सरिता की पैंटी अपने दोनों हाथों से घुटने तक नीचे सरका दी तो मेरे लंड का सुपारा चूत की दरार में रगड़ खाने लगा था.

मेरे हाथ उसके जिस्म को सहलाने लगे थे, उसकी कमर, गर्दन, मुलायम स्तनों पर घूमते जा रहे थे.

हसित बोला- ऐसा लग रहा है जैसे सूरज की तेज धूप के बाद कोई छाया मिल गई हो. मैंने कहा- हां यार ज्योति … उस दिन तुम्हारी गांड मारने का बड़ा दिल कर रहा था. जिया दीदी हमेशा मेरे बर्थ-डे सेलिब्रेशन पर होती हैं और वो मेरे लिए गिफ्ट भी लेकर आई थीं.

ई-मेल ओपन सेक्सीमैंने उसे शाम को कैसे भी करके थोड़ी देर के लिए मिलने को राज़ी किया. मैंने जल्दी से आंटी के बदन से पैंटी को भी अलग कर दिया और उनकी चूत पर अपना मुँह लगाया.

ड्रेस फॉर बॉयज

अभी दस मिनट पहले मेरी चूत में इसने तूफान मचाया हुआ था और अब फिर से तैयार हो गया है. जैसे ही मेरी गांड में का दर्द कम हुआ, मैं भी आह आह आस् आह उफ्फ्फ करकेगांड चुदवाने लगी. फिर पता नहीं उसकी आंखों में देखते ही मुझे क्या हो गया था कि मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था.

मैं रिजॉर्ट के डिस्को में टिकट रिसीव कर लेता हूं कि हमें कोई परेशानी ना हो. करीब दस मिनट लंड चूसने के बाद मैं झड़ने वाला हो गया था- आंटी मैं झड़ने वाला हूँ. मेरे लंड की खुजली कम हो रही है … आंह ऐसे लग रहा है कि तेल मालिश हो रही है.

तभी मेरी पत्नी वापस आ गई और उसने अपनी बहन से पूछा- क्या हुआ गुलाबो … तू अपने जीजा जी का लंड इतनी गंभीरता से क्यों देख रही है?गुलाब ने मेरी बीवी से कहा- दीदी यह बहुत बड़ा लंड है. वो भी गांड उछाल उछाल कर मेरा साथ दे रही थीवो मेरे लंड की बहुत तारीफ कर रही थी. फिर उस लड़के ने मुझे अपने दोस्त के साथ सेक्स करने के लिए कहा तो मैंने मना कर दिया.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम विजय है मैं मुजफ्फरनगर का निवासी हूँये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है. सासु जी का मुंह रोने जैसा हो रहा था और उनके मुँह से ससुर जी का गाढ़ा माल टपक रहा था.

विलियम का हाथ मेरे बूब्स की चारों तरफ गोलाइयों को अच्छी तरह नाप चुका था.

यहां मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैं लॉकडाउन में उसके ससुराल में फंस गया और मैंने फिर वहां क्या देखा. सेक्स कैसे करें सेक्सदूसरे दिन जब सुबह सुबह मैंने देखा कि दीदी नहाने जाने की तैयारी कर रही है. प्रेग्नेंट कैसे करेवो एक हाथ को मेरी गांड की दरार में डालकर अपनी एक उंगली मेरे गांड के छेद पर दबाने लगी. वीडियो खत्म होने से पहले मैंने भाभी के दोनों मम्मों को अपने हाथों से पकड़ लिया.

मैंने तो वैसे भी कुर्ता पजामा पहना हुआ था, जिसमें मेरे खड़े लंड का साफ़ पता लग रहा था.

उसने मुझसे इस सेक्स कहानी को लिखकर आपके समक्ष पेश करने को कहा है, तो आइए इस हॉट कॉलेज गर्ल Xxx कहानी का रस लेते हैं. मैंने उसकी कमर को कसके पकड़ अपनी कमर को आगे धकेला, मेरा लंड उसकी चूत की दीवारों में सरकता हुआ आगे बढ़ गया. उनकी चूत पहले ही गीली हो चुकी थी, मेरे चाटने से उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया.

उसने अपनी गांड उठा कर लंड अन्दर पेलने का इशारा किया तो मैंने एक ही झटके में ही पूरा लंड अन्दर घुसा दिया. मॉम हांफती हुई बोलीं- बेटा बहुत देर से मैं तुम्हें देख रही हूं, तूने जो आग लगाई है … अब तुम ही उसे बुझाओगे. लंड के नीचे लटकने वाली मेरी गोटियां प्राची की चूत पर जाकर टकरा रही थीं.

स्पेशल सेक्सी सेक्सी

इस पर कमेंट और लाइक करें।अगर कोई मुझसे अपना बीडीएसएम एक्सपीरियंस शेयर करना चाहता है या सिर्फ सेक्स चैट का मजा लेना चाहता है, जहां हम दोनों अपना पानी निकाल सकें, तोमेरा नम्बर पाने के लिए यहां क्लिक करें।. पर कमाल की बात ये थी कि भाभी ने इतना हो जाने पर भी जरा सा भी विरोध नहीं किया. मैं पूरे मज़े में आंखें बंद कर के लंड चुसवा रहा था और वो पूरे जोश में लंड को अपने गले की गहराई तक उतार कर चूसे जा रही थी.

वैसे तो मैं नॉर्मल लड़कों की तरह ही हूं, लेकिन पता नहीं मुझे लड़कों में बहुत इंटरेस्ट था.

उस समय छत पर किसी के देखने का डर नहीं था … क्योंकि वहां अंधेरा सा रहता है.

भैया की साली, जिसका नाम पारुल था, वो भी उसी स्कूल में मुझसे एक क्लास आगे थी. बीच-बीच में वो मेरे चेहरे को भी छू लेते थे और मेरी गर्दन पर अपना सर भी रखते थे लेकिन मुझे फूफाजी होने के कारण किसी प्रकार का कोई संदेह नहीं हुआ और मैं उनके साथ फ्री होकर बातचीत करने में लगी रही. सेक्सी ब्लू पिक्चर दिखाइसलिए मेरा निवेदन है कि आप, अपने जैसे व्यक्ति को मेरे पति के लिए खोजें.

गगन के लंड का रस उसकी मां की गांड में टपका था और दिनकर चाचा के लंड का पानी सुम्मी की चुत में छूट गया था. फिर जब आंटी का दर्द कम हो गया तो मैंने लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. जैसे ही उसने मुँह खोला, मैंने उसमें थूक दिया और मुँह से मुँह लगा कर चूसने लगा.

इस बार मुझे दर्द कम हुआ, पर मुझे लग रहा था कि उसका लंड मेरे पेट को छू रहा है. उसने मेरे लंड पर अपने हाथों से तेल लगाया और लंड पर बैठ कर उसे अपनी गांड के अन्दर ले लिया.

मैं बिना मैगी खाये अपने घर चला गया और भाभी को थोड़ी देर बाद मैसेज किया और कहा- भाभी, शाम को खाना मेरे घर ही लेकर आना!भाभी समझ गयी और सीधा बोली- कंडोम है या नहीं?मैं बोला- है … भैया की अलमारी से निकाल लूंगा.

अब सोनम घोड़ा गाड़ी में बैठी, उसने भी रवि को चला कर बरामदे का दो चक्कर लगाए. मैंने उससे पूछा- तुम हमारे बिस्तर से क्यों चली गई थीं? क्या तुम्हें नींद नहीं आई?उसने मुस्कुराते हुए कहा- मैं रात में तब आ गई थी, जब आप दोनों सो रहे थे. कोमल के सास और ससुर भी गांव गए हुए थे और वो साथ में अपने पोते को भी ले गए थे क्योंकि वो कोमल और उसके पति के साथ ज्यादा नहीं रहकर दादा दादी के पास ज्यादा रहता था.

सेक्सी योनि फिर मैंने उसको कस कर गले लगा लिया उसने भी मुझे बहुत जोर से अपने सीने से लगा लिया।मैंने उसको चाय-नाश्ता करवाया. मैंने उसके चेहरे पर मायूसी देखी तो मैं सोचने लगा कि कुछ तो बात है; सरिता से पूछना ही पड़ेगा.

अब चूंकि भैया तो टूर पर थे, वो परसों वापस आने वाले थे तो आज रात पंजाबी भाभी की चुदाई पक्की थी. भैया ने भाभी की टांगों से सर निकाला और लम्बी सांसें लेते हुए भाभी की उठती बैठती चूचियों को देखने लगे. उनकी बीवी यानि मेरी भाभी का नाम रूपाली है।उनकी उम्र लगभग 24 साल होगी.

ಕನ್ನಡ ಫುಲ್ ಸೆಕ್ಸ್

अब बारी थी स्नेहा के दोनों अंडरआर्म्स में लगी चॉकलेट खाने की, जिसमें उसके जिस्म का रस भी मिल चुका था. हसित रीना के दोनों पैरों को खोलते हुए कहने लगा- अब अपनी झील दिखा दे रीना रानी. मुझे सेक्स करते टाइम चमाट मारना, गाली देना, नौंचना बहुत अच्छा लगता है.

पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था क्योंकि धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है. हम चारों लोग के मन में यह था कि भैया कहीं मजा तो लेकर निकल ना जाएं.

इस बार वो कराहने लगीं- आह आह आह प्लीज़ आशु बस रुक जाओ … मेरी चुत फट रही है!मगर मैंने एक नहीं सुनी और भाभी को चोदता रहा.

उसकी बस को आने में अभी टाइम था तो हम दोनों ने वहीं पर एक दुकान के खोखे की आड़ में फिर से रोमांस करना शुरू कर दिया. कुछ देर चोदने के बाद मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदा … वो मस्त हो गई थी और मेरे लंड को मस्ती से अपनी चूत में अन्दर लेने लगी थी. अब महीने में एक दो बार मैं अपना कॉलेज बंक करता हूँ और उनके घर जाकर उनकी चुदाई कर लेता हूँ.

मैंने उससे कहा- अब तुम्हारे पति होने के कारण मेरा फर्ज बनता है सोनाली. जो घर पहले वाला था, वो किरायेदारों के लिए बना दिया गया था और नए घर का उपयोग हम सब करने लगे थे. और मेरे भाईजान का लौड़ा मुझे पकड़ा दो।वह अपने भाईजान का लौड़ा चूसने लगी और मैं उसके चचा जान का लौड़ा।फिर हम दोनों ने एक दूसरे के सामने एक दूसरे की चूत में लण्ड पेल पेल कर खूब मस्ती से चुदवाया।दोस्तो, आपको कैसी लगी यह Xxx फॅमिली चुदाई कहानी?[emailprotected].

मैंने उनकी नंगी और मोटी मोटी चूचियों को नंगा देखा तो ऐसा लगा जैसे मुझ पर कुछ नशा सा चढ़ गया हो.

नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी बीएफ: मगर दीदी भी देर तक सोती रही क्योंकि वो भी रात की चुदाई में काफी थक गयी थी. आंटी ने मुझे दो झापड़ और मारे और बोलीं- मैं अभी तुम्हारे पिताजी और पुलिस को फोन लगाती हूँ.

विलास थककर सोया था तो मैं उसे उठा नहीं सकता था और अपने लंड को काबू में ही नहीं रख सकता था. मेरे प्यारे पति ने मुझे धीरे से बेड पर लिटाया और मेरी पूरी मैक्सी उठाकर गले तक ला दिया. मैं नहीं झड़ा था तो उसने मेरे लंड का पानी निकाल कर मुँह में ले लिया.

नरपत ने मेरे मुँह पर आकर अपना लंड हिलाया, एकदम कड़क और शेव्ड लौड़ा था.

एक दिन मैंने सोचा कि आज अम्मी को इमोशनल करके उन्हें मुझसे चुदने को सैट करता हूँ. मेरे हाथ का दबाव उसके लण्ड पर बढ़ते ही विलियम के मुख से जोरदार आहह … निकल गई. ये कह कर उसने मेरे लंड का सुपारा अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.