सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी

छवि स्रोत,इंग्लिश सेक्सी ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

राजधानी एंड कल्याण: सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी, मैंने सोचा कि चलो मार्केट से सब्जी भी ले लूंगी और वहाँ से आते टाइम तबेले से दूध भी ले लूँगी.

छोटी छोटी मैया छोटे छोटे से

फिर मैंने अपनी जीभ उनकी गांड के छेद में डाल कर गांड को कुत्ते के तरह चाटने लगा. इंडियन रोमांस व्हिडिओअब वो मेरे सामने अपनी टांगों को पूरा खोल कर मतलब अपने गाउन को ऊपर करके मेरे सामने बैठ गई.

मैंने उनसे पूछा- क्या बात है भाभी, आज आप अभी तक नहाई नहीं हो?तो उन्होंने कहा- आज मैं ब्यूटी पार्लर जाने की सोच रही हूँ. सेकशी बिडीयोतो वो बोलीं- कम से कम एक दोस्त तो होना ही चाहिए!और उन्होंने मुझे अपना दोस्त बना लिया और मैं अपने घर आ गया.

फिर मैंने लंड को बाहर खींच कर फिर लंड को उसकी चूत के छेद पर रखा और एक झटका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया, उसके मुँह से आवाज निकली- ऊऊईई आआह्ह आआह्ह्ह आऔऊउ मर गई रे आआह्ह आआह्ह ईईआअ!मैं थोड़ा रुका और फिर एक झटका मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था.सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी: नीतू- सच दीदी, आईसक्रीम तो मुझे बहुत अच्छी लगती है मगर माँ मुझे खाने नहीं देतीं, कहती हैं पैसे नहीं हैं.

अचानक हुए इस हमले से मैं पूरी तरह से हिल गई और ‘आआईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… भोसड़ी के मार डाला मादरचोद आआह्ह ह्ह्ह…’ ही बोल पाई.जब मैं अंदर घुसा तो ऋतु दरवाजे के पीछे छुपी हुई थी और मुझे पीछे से पकड़ कर मेरी पीठ पर चढ़ गई और मुझे पीछे से चूमने लगी.

जेन यूट्यूब डाउनलोडिंग - सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी

पहले तो वो थोड़ा शर्माती रही, फिर नॉटी बातें करती… कभी कभी तो मुझे शर्म आने लगती.फिर हाथ से लंड को पकड़ कर सहलाते हुए बोली- बड़ा है लंड तुम्हारा बाबू.

मुझे फिर से दर्द हुआ मगर मैंने थोड़ा सा सहन कर लिया। अब भाई ने जोर का झटका मारा और अपना आधा लंड मेरी बुर में उतार दिया।मैं जोर से फिर से चीखी- अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह मर गई. सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी मैं जानता था कि पूजा पहली बार चुदाई करवाने जा रही थी इसलिए मैं आराम से पूजा को किस कर रहा था, क्योंकि अब मम्मी या बहन के आने का डर भी नहीं था औऱ हमारे पास सारी रात थी इसलिए मैं भी उसे प्यार से किस करने लगा और धीरे-धीरे दूसरे हाथ से उसकी गोल और बड़ी चूची को दबाने लगा जिससे उसको हल्का दर्द भी हो रहा था और मजा भी आ रहा था.

मैं कपड़े पहनने लगी, दूध वाले के दोस्त ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने ऊपर खींच कर बोला- कहाँ जा रही हो रानी, एक बार तो और चुदवा लो.

सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी?

सुमन ने अपनी नई ड्रेस नहीं पहनी थी मगर उसने एक रेड सलवार सूट पहना था, जिसमें वो खिल रही थी. ? क्यों राजू चुदवाएगा ना अपनी बीवी को मुझसे?राजू- हाँ काका ज़रूर आप ही तो मुझे बाप बनाओगे वरना लोगों को तो मेरे बारे में पता लग जाएगा।राधा- काका अपने मेरी चुत को अपने पानी से तृप्ति दी है. कुछ देर बाद उठकर वह बाथरूम जाने लगी तो मैंने ध्यान से उसके जिस्म को देखा.

वो ‘ऑक्…’ करके रह गई और मुस्कुराते हुए बोली- मजा आ गया।मुझे भी अब लगने लगा कि मेरा लंड से भी कुछ बाहर आने वाला है, इस चक्कर में सुधा को जोर-जोर से चोदने लगा, सुधा भी आह-ओह करती जा रही थी, हम दोनों के शोर से मरियम की आँखें खुल गई और वो हम दोनों की चुदाई देखने लगी. उनकी ब्रा बहुत मस्त थी बिल्कुल मुलायम!थोड़ी देर बाद मामा मामी आ गए, रात को खाना खाया और सो गए. मेरा लंड पूरे उफान पर था, मैं बार-बार उसकी चुत में उंगली कर रहा था.

कॉम पर यह मेरी पहली फैमिली सेक्स स्टोरी है जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने मामा की बेटी को उसकी शादी के कुछ दिन पहले चोदा. मुझे माफ़ कर दो कोई और देख लो!मेरी बात सुन कर वो बोला- आप मुझे गलत समझ रही हैं, मुझे एक मौका तो दो, मैं आपको गलत साबित कर दूँगा कि सब लोग एक जैसे नहीं होते. तत्पश्चात उसने चुचुक से ही मुझे उछाल उछाल के चोदना शुरू किया ‘धमाधम धम धमाधम धम्म धम्म धम्म! फच्च फच्च फच्च! राजे का लौड़ा पूरा सख्त होकर गर्म गर्म लोहे के मोटे से डंडे जैसा हो चुका था.

दस बजे रात को सभी स्टाफ को छुट्टी मिल जाती थी, मुझे पूरी रात रहना पड़ता था. मैं- ऐसा क्या खास है आज?जमीला- राजेश डार्लिंग, आज तेरे लिए एक सरप्राइज है, घर चलो तभी पता चलेगा.

जो हमारे ही ग्रुप में थी। महक हम दोनों के बारे में सब जानती थी। एक दिन हमारे टर्म एंड की छुट्टियों के दौरान महक ने मुझे और प्रिया को खाने पर उसके घर बुलाया। उसके घर वाले 2-3 दिन के लिए कहीं शहर से बाहर गए थे। इसी समय उसे मुझे राजेश से मिलवाना था, जिससे वो प्यार करती थी।राजेश किसी दूसरे कॉलेज से था, प्रिया उससे मिल चुकी थी, पर मैं नहीं मिला था।सो हम दोनों उस दिन शाम महक के घर मिले.

पूजा ने ऋतु के बालों में अपनी उंगलियाँ फंसा दी और बेड पर जल बिन मछली की तरह तड़पने लगी.

अब मुझसे बिल्कुल भी सहन नहीं हो रहा था तो मैं उसके आगे गिड़गिड़ाने लगी तो उसके चेहरे पर एक कमीनी हँसी आ गई, उसने एक झटके में अपना पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया. वैसे घर कब तक अपने अंडर में है?संजय- जब तक सारा काम नहीं निपट जाता तब तक तो है. मेरी बात को बीच में ही काटते हुए वो बोला- तो दूर क्यों खड़ा है आकर ले ले ना मुंह में!यह कह कर वो तीनों हंसने लगे.

टीना के साथ सब हंसने लगे और अजय चिढ़ गया और गुस्से में उसने लंड पेंट के बाहर निकाल लिया।अजय- क्या मूँगफली बोलती है साली. जब सन्नी और विकास ने भी मुझसे बात करने की कोशिश की तो उन्हें भी मैंने कहा- बाद में बात करेंगे. उस माह के दूसरे सप्ताह में अम्मा रोजाना की तरह सुबह छह जब बजे काम पर आई तब वह अपनी मंझली बहू माला को भी साथ लेकर आई.

’मैंने उसे एक पत्थर पर आधा लेटाया और चूत पर लंड लगा कर धक्का दे मारा… लंड थोड़ा सा अन्दर घुस गया.

पता नहीं मुझे कब नींद आई और रिया कब तक चुदती रही…कुल मिलकर वो रात एक यादगार रात साबित हुई. सुमित भी उसकी चुदाई में न थकने वाली ऊर्जा देखकर आश्चर्यचकित रह गया. आयेशा अभी भी सो रही थी, उसकी गांड ऊपर की तरफ थी तो रोहन ने उसकी गांड पर एक थप्पड़ मारा तो आयेशा उठ गई.

स्वान के किसी हैट जितने चौड़े टोपे को अपने मुंह में भरने की खातिर मेरी जान को अपना मुंह फाड़ कर खोलना पड़ रहा था! कुछ देर बाद मुझे बीवी की चूत में घुसने की इच्छा हुई, जहाँ पहले से ही एंड्रयू का लंड तबाही मचाये हुए था, और मैं बिना किसी शर्मो लिहाज के एंड्रयू के लंड की बगल में अपना लंड लगा कर अन्दर को ठूंसने लगा. मैं झिझकते हुए एक बार फिर बाथरूम में घुसा तो देखा की माला ने अपने शरीर को अपनी गीली साड़ी से ढक लिया था जो उसके जिस्म से बिल्कुल चिपकी हुई थी. उसका चेहरा देख मेरी हंसी छूट गई, मैंने फिर रिया को जोर जोर से चोदना शुरू किया.

जैसे तू मेरे लंड का दीवाना है… है न?मैंने कहा- हाँ भैया, लंड तो आपका बड़ा गज़ब का है, कोई भी लड़की आपसे चुदने के लिए तैयार हो जाएगी.

यकायक उसने मेरे नीचे से बाहें हटा के निप्पल अंगूठे और उंगली में जकड़ लिए. उसके बाद उसने मुझे नीचे उतारा और दीवार के सामने खड़ा करके मेरे पीछे आकर खड़ा हो गया और पीछे से मेरे चूत के अंदर अपना पहाड़ सा लंड डाल दिया और मेरी चुची पे हाथ रख कर उसको सहलाने लगा.

सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी मैंने कहा- हरामज़ादी चुदक्कड़ रांड, तू तो बाईस सालों से चोद रही है उसको और इससे ज़्यादा खुल के चुदाई क्या बहनचोद बीच बाजार में करेगी?तो रेखा ने कहा- नहीं मोना, अब तक तो मैं छिप छिप के चुदा करती थी. आप मेरे इतने करीब हैं कि आपके साँसें मेरी गर्दन पर मुझे महसूस हो रही हैं… उम्म्म स्स्स्स मुझे मदहोशी सी छा रही है…’‘उम्म्म उम्म्म्म तुम्हारी ये सुराहीदार गर्दन पर किस करके तो मजा आ गया.

सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी तभी उसने एक जोर का झटका दे मारा, मेरी बहन की चुत में लंड लगभद एक चौथाई चला गया था. जैसे ही मैंने उसका कुर्ता उतारा, अंदर का नजारा देख कर मैं पूरी तरह पागल हो गया.

उसकी चुची 34″ के आस पास थी और रंग गोरा चिट्टा दूध की तरह…उससे और बातचीत हुई तो पता चला कि उसका पति सुबह जल्दी जाता है और रात को ओवर टाइम करके तब आता है.

सेक्सी वीडियो इंसान और जानवर की

मैं वो सुन के हैरान हो गया।वो बोली- मोहित, क्या तुम मुझे अपना वीर्य दे सकते हो? इस शहर में मैं तुमसे ज़्यादा क़िसी पर भरोसा नहीं करती हूँ. रोहित बोला- साली, तेरी बहन तो एक नम्बर की रंडी है, मेरा भाई अभी उसे चोद कर आया है और तू सीधी होने का नाटक कर रही है. उसके जाने के बाद मैं उठी और दोस्त से सब के बारे में पूछा; तो हंसने लगी और बोली- कल सुबह बात करुँगी.

उसने लंड को अन्दर करने के लिए जैसे ही एक जोर का झटका मारा, मेरी बहन के मुँह से ‘आआह. वो लड़की जैसे ही शावर के नीचे जाकर गाना गुनगुनाते हुए साबुन धोकर घूमी तो उसकी चीख निकल गई. हमने 69 पोजीशन ली, मैं लगातार उनकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चूस रही थी.

काका आओ ना।राजू एक तरफ़ हो गया तो काका मोना के पास आए और उसकी गांड के छेद पर उंगली घुमाने लगे, जिससे मोना के जिस्म में करंट सा दौड़ गया।मोना- आह.

जो होगा उसको होने दे, उसी में सबकी भलाई है। आज पूरी कर ले अपनी इच्छा, नहीं तो जिंदगी भर पछताएगी।मोना ने काका के लंड को पकड़ लिया और धीरे-धीरे सहलाने लगी- काका, किसी को पता चल गया तो क्या होगा?काका- अरे रानी घर में कोई नहीं है. दो मिनट तक चूत को चाटने के बाद मुझे लगा कि अब मौके पर चौका मार ही देना चाहिए, मैं खड़ा हो गया, मैंने एक सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि पहली बार सेक्स करने वक्त कमर के नीचे तकिया लगा देना चाहिए, तो मैंने उनकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. मैं जब पार्किंग में आया तो वो अपनी एक्टिवा से मेरे पास आई और बोली- आपको नौकरी मिली या नहीं?मैंने कहा- नहीं जी शायद नौकरी इस जन्म में तो मिलेगी नहीं!वो बोली- नौकरी के पीछे क्यों भागते हो? कुछ हुनर सीखो तो काम आएगा.

मनोज ने हाथ उठाया और मैंने अपना एक हाथ उठाया और हमने हाथ से हाथ टकरा कर हाय फ़ाय किया. फ़िर जब वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने एक जोरदार झटका दिया और मेरा आधा लंड उनकी चूत में घुस गया. जब भी किसी को भी बड़ा स्टॉक चाहिए होता तो उसे मुझसे ही संपर्क करना होता था.

‘अंकल जी, आप मेरे मुहाँसे ठीक करने के लिये इतना कुछ कर रहे हैं मेरे लिये… मेरा भी तो आपके प्रति फ़र्ज़ बनता है अब! आप जो कहोगे वो मैं करूंगी. काफी समय लगा कर मेरे लंड की सफाई पूरी करने के बाद थक कर मेरी गुड़िया बेड पर लेट गई और फिर हँसते हुए हम तीनों ने उसके साने हुए चेहरे पर अपने झड़ चुके लंड रख दिए और देर तक मजाक करते रहे.

आज गोपाल को जब मैंने काम वाली का बताया तो उनका लंड खड़ा हो गया था यानि सुधीर वाली बात एकदम सही है. मैं जल्द ही इस वृत्तांत को आपके समक्ष प्रस्तुत करने की चेष्टा करूँगा. मैंने सिलसिला आगे बढ़ाते हुए पूछा- क्या पहना है तूने?मानसी- नाईट सूट.

हम तीनों में से रुचिका और मनोज ज्यादातर वटसएप पे ऑनलाइन ही रहते हैं.

और मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा हो रहा था। कुछ ही पलों में मेरा लंड मेरी चड्डी से बाहर आ गया।मैंने ऐसा दिखाया कि जैसे मुझे कुछ पता ही नहीं चला हो। मैंने देखा मेरी मामी की नजरें मेरे लंड को देख रही थीं।मामी ने मुझे मजाक में पूछा- ये क्या है. साथ में ही भैसों का भूसा पड़ा हुआ था और वो जगह इस तरह से बनी थी कि मेन गेट से सीधा कुछ दिखाई नहीं देता था. और अरमान ने अपना लंड नेहा की चूत से निकाल लिया और सिसकारियाँ लेते हुए उसके दोनों मम्मों के बीच में रख दिया.

शराब का सुरूर छा रहा था और पीटर की उंगलियाँ मेरी चुत और गांड में भूकंप मचा रही थी. जब हम दोनों अलग हुए तो मैंने देखा कि मेरी चुत से मेरा और मुरुगन का मिला-जुला वीर्य और रज बह रहा था.

मेरी चीखों से अनजान रिया पूरी ताकत से बोतल को चूत के अंदर बाहर कर रही थी. मैं गोवा से हूँ, अब यहाँ मुंबई शिफ्ट हो गए हैं, सो मैंने यहाँ एड्मिशन ले लिया।विक्की- फर्स्ट ईयर हो?फ्लॉरा- नो 3र्ड ईयर. चाची भी अपने एक हाथ से मेरे लिंग को पकड़ कर उसे हिलाने लगी और कभी कभी मेरे लिंग के ऊपर की त्वचा को पीछे खींच कर लिंग-मुंड को बाहर निकाल कर सहला देती.

हिंदी सेक्सी वीडियो खेतों वाली

इस वक्त उसने अंडरवियर भी नहीं पहना था तो बरमूडा तन के तंबू बन गया।संजय को पता था उसका लंड बेकाबू हो गया है.

उसके मुंह में जीभ देकर एक दूसरे की जीभ चूसने लगे और उसकी चूची भी दबाने लगा. वो बोली- पहले आप बताओ अपने बारे में?मैंने बोला- मैं दिल्ली एग्जाम देने जा रहा था। लेकिन आप इतनी खूबसूरत है कि एग्जाम को भूल गया और यहाँ आ गया।वो मुस्कुराई और बोली- मैं अध्यापिका हूँ. चुत अगर क्लीन हो तो आई लव टू लिक इट।मैंने एकदम भाभी की चुत के होंठ खोल दिए और अपनी जीभ को अन्दर-बाहर करने लगा। भाभी गर्म होने लगीं और मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबाने लगीं। भाभी जोर-जोर से कह रही थीं- खा जाओ मेरी फुद्दी.

लगभग दस मिनट चाची के ऊपर लेटे रहने के बाद जब मैंने उठ कर अपना लिंग चाची की योनि में से निकाला तब उसमें से मिश्रित रस की धारा बाहर निकल पड़ी. पति के दुबई जाने के बाद पहली बार इसमें कोई लिंग प्रवेश कर रहा है इसलिए. देसी ५२ कॉमयहाँ चोद अपनी साली को… अहह चोद… निकाल अपना रस…!अरमान के लंड से एक जोरदार पिचकारी निकली जिसने नेहा के दोनों मम्मों को भिगो दिया, नेहा अरमान का लंड तेज तेज हिलाए जा रही थी, अरमान एक के बाद एक पिचकारी नेहा पर छोड़े जा रहा था, नेहा का पूरा जिस्म अरमान के वीर्य से भर गया था.

मेरे लंड ने आजाद होकर खुश होते हुए हवा में उछाल मारी और मैं स्नेहा के सामने जा खड़ा हुआ. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि टीना अपने भाई मॉंटी के लंड की मालिश कर रही थी।अब आगे.

मैं भी यही चाहती थी क्योंकि मैंने कहीं पढ़ा था कि मर्दों में सुबह नींद खुलने के बाद सबसे ज़्यादा चुदाई की इच्छा होती है और बहुत ही प्यार और कामुकता भरी चुदाई करते हैं. अपने बन्दों की नुमाइश के लिए कभी गुलफाम कली उनके पास भी जाती तब वे लोग उसकी चूचियों को ऊपर से ही दबा कर आनन्द प्राप्त कर लेते थे. क्या सीन था मादरचोद… मैं रिया की चुत चूस रही थी… रिया पीटर का लंड चूस रही थी और पीटर जंगली जानवर की तरह गुर्रा रहा था, रिया को झंझोड़ रहा था.

मैंने उससे चलने का इशारा किया तो उसने भी सर हिला कर इशारा किया कि चलो. मेरी इस कमीनी चूत का चोद चोद कर कचूमर बना दो इसको फाड़ो साली को!जमीला- वो तो जब कहती हूँ जब ये बहन की लौड़ी चूत मुझे सोने नहीं देती, जब साली में चुदाई की खुजली होती है. मामा जी को समझ आ चुकी थी कि मुझे गांड का छेद चटवाने में मज़ा आ रही है.

सब चला जाएगा।मैंने लंड को अपने मुँह में लिया तो वो जा ही नहीं रहा था। उनके लंड का बस ऊपर का हिस्सा ही मेरे मुँह में गया और रुक गया।भाई ने कहा- क्या हुआ?मैंने भैया से कहा- भैया सच में आपका लंड बहुत बड़ा है.

लेकिन मैंने उसे जीने पर पीछे से पकड़ लिया।अब मैं फिर से उसकी गर्दन को चूमने लगा, वो छुड़ाने की कोशिश करने लगी. सच में राहुल भी एकदम मस्त था यार। अमन से किसी भी लिहाज से कम नहीं था।अब ना तो मेरे से कण्ट्रोल हो रहा था और ना ही उन दोनों से.

कंडक्टर ने आवाज़ लगाई कि जिसको भी पेशाब वगैरह करना है जाकर कर सकता है इसके बाद बस सीधी बहादुरगढ़ जाकर ही रुकेगी. थोड़ी देर रुकने के बाद मैं अपना लंड थोड़ा आगे-पीछे करने लगा और अब उनका दर्द भी कम हो ग्या था. अब यही आगे की पढ़ाई करेगी, तो उसके पापा उसको सरप्राइज देना चाहते हैं। बस उन्होंने मुझे ये काम सौंप दिया और मैं तुझे यहाँ ले आया हूँ।सुमन- पापा मेरी तो कुछ भी समझ नहीं आ रहा, आपके दोस्त की बेटी लन्दन से यहाँ आई तो मेरा उसमें क्या काम?गुलशन- अरे मेरी भोली सुमन.

आज मैं पहली बार चुद रही थी, वो भी दो लंड एक साथ चूत में!मुझे लगने लगा कि आज मेरी जान जाने वाली है. फिर मौसी ने अपना कमीज़ ऊपर उठा कर अपने दोनों बोबे बाहर निकाल दिये और मेरे हाथ पकड़ कर अपने बोबों रखे, मैंने उसके दोनों बोबे हल्के से दबाये तो मौसी ने अपने हाथ मेरे हाथों पर रख कर ज़ोर दबाये और मेरे कान में फुसफुसाई- ज़ोर से दबाओ इन्हें, मसल डालो. मैं आपका ‘ये’ नहीं सहला सकती।काका पर अब सेक्स चढ़ चुका था, वो मोना के मम्मों को दोनों हाथों से मसलने लगे थे और बीच-बीच में उसकी चुत को भी दबा देते।मोना- आह.

सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी फिर उन्होंने मेरे लंड को पकड़ कर कहा- अशोक, अब मत तड़पा, जल्दी से घुसा दे, अपने मोटा लंड मेरी चूत में. वह किचन से एक कटोरी में तेल भर लाया मैंने कोमल को पेट के बल लेटने को कहा, कोमल पेट के बल लेट गई उसकी गोल खरबूजे जैसी गान्ड ऊपर की तरफ हो गई.

फिल्म सेक्सी मारवाड़ी

! सीधे-सीधे अपने और विशाल के बारे में बता!तो प्रेरणा ने कहा… हम्म्म्म तो ये बात है. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। मेरे लंड की मुठ मारते-मारते भाभी की चूत गीली हो गई थी। मैं एक हाथ से उनकी चूचियों को मसल रहा था और दूसरे हाथ को चूत में डाल कर उंगली कर रहा था, उनके मुख से हल्की-हल्की आवाजें आ रही थीं।अब उनसे रहा नहीं गया. जो सच है वो बता?फिर वो चुप हो गया, तो मैंने उससे कहा- एक बात बताऊं.

नीतू- अच्छा जीजू मैं करती हूँ… मगर आप मुझे गुस्सा नहीं करोगे ना…!गोपाल- अरे मैं क्यों गुस्सा करूँगा… चल अब जल्दी से कर. फिर मैंने (शालु) उससे बोला- तुम अपने भाई से क्यों नहीं चुदवाती हो?वो बोली- पागल हो क्या?शालु ने बोला- मैं तो अपने भाई से खूब चुदवाती हूँ।मतलब कुल मिला कर मैंने सोनी का मन अपने भाई से चुदवाने की तरफ कर दिया।सोनी ने शालु से पूछा कि यदि मेरा भाई गुस्सा हो जाए तो?शालु बोली- कुछ नहीं होगा. सुबह की चुदाईराजे- पहली शर्त ये कि मेरे साथ इस सभ्यता वाली शरीफ भाषा में बात नहीं करनी है, तू तड़ाक से गालियाँ देकर बात करनी हैं.

मेरा नाम रजत है, मैं 25 साल का हूँ और मेरी बहन शालू 22 साल की है, अब उसकी शादी हो गई है.

मैंने सहमति में आँख हिला दी और बस वो आकर मेरे मुँह पर अपनी चूत रखकर बैठ गई और बोली- चलो अब उधार चुकाओ. थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद चाची मेरे ऊपर आ गईं और उन्होंने मेरा लंड चूस कर साफ कर दिया और मेरी छाती पे सर रख लिया.

अब आगे:नताशा ने अपनी पोजीशन को थोड़ा सा बदलते हुए अपनी गांड थोड़ी और फैला दी, और मेरा लंड अब थोड़ा आराम के साथ उसकी गांड में घुसना शुरू हो गया. क्योंकि इतने सालों जो शराफत का परदा ओढ़ रखा था, वो हट जाएगा और उसके अन्दर की रंडी बाहर आ जाएगी।टीना- इसका मतलब तुमने कुछ सोच लिया है. टीना- नहीं अभी मत पहन, जब मैं कहूँ, तब पहनना समझी! अब तुम घर जाओ मुझे भी थोड़ा काम है, कल मिलते हैं.

दूसरे दिन मेरे पास किसी मेडीसिन का स्टॉक लेने आई तो मैंने उससे उस बात के लिए सॉरी कहा.

हवस की आग में झुलसती हुई मैं ज़ोर से चिल्लाई- हरामी कुत्ते आज दम निकालेगा मेरा कमीने… चोद जल्दी से… उठ भोसड़ी वाले, चोद मेजर साहिब की बीवी को… हाय हाय हाय कोई बचाओ इस जंगली से… अहःअहःअहःअहः… चोद मादरचोद… फ़ौरन उठ जा साले!मैं तेज़ तेज़ अपनी टाँगें लहरा रही थी. अब तक की इस देसी चूत की कहानी में आपने पढ़ा था कि सुमन मॉंटी से अपनी चूत चटवाने के लिए नंगी हो रही थी. जब नंगा हो गया, तो उसने मुझे बेड पे लेटा कर मेरे पेट पर चढ़कर बैठ गई.

लोक सेक्सीएक बड़ा बेटा तो दिल्ली में जॉब करता था और छोटा बेटा विक्की यहीं घर में रहता था. फिर मैंने अपनी जीभ से उसकी टाँगें चाटना शुरू कर दिया तो वो पागल ही हो गई, उसे गुदगुदी भी हो रही थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो एचडी न्यू

मैंने भी देर ना करते हुए उसकी टी-शर्ट को उसके गले तक ऊपर कर दिया और मेरे सामने उसके दोनों कबूतर उछल कर निकल आए।अह. जब 2 मिनट बाद सब निकालने ही हैं, तो बदलने से क्या हो जाएगा हा हा हा हा. ऐसे फिगर वाली लड़की मैंने जिंदगी में पहली बार देखी थी और मैं बुत बना उसको देखता रहा.

तभी मैंने दूसरा झटका मारा और मेरा लंड उनकी बच्चेदानी से जाकर टकरा गया. मैं उन लोगों के बारे में एक बार आपको फिर से बता दूं, शौहर का नाम रफीक उम्र 27 साल और बीवी का नाम जमीला उम्र 25 साल. जबमैं अपने घर वापिस आया, तो मैंने सुमित से ब्रा या पेंटी में से एक चीज़ मांग ली.

दोस्तो, पाठकों द्वारा रवि के साथ मेरे रिश्ते के बारे में बार-बार पूछे जाने को लेकर मुझे यह गे सेक्स स्टोरी आगे बढ़ानी पढ़ रही है क्योंकि पाठकों की इच्छा है कि मैं रवि और मेरे रिश्ते का हर पहलू आप अंतर्वासना पर उजागर करूं इसलिए यह कहानी वहीं पर खत्म नहीं हुई थी… पाठकों की मांग पर मैं फिर से इसको बढा़ने जा रहा हूँ. सीमा ने शायद मेरी निगाह भाम्प ली, उसने नजर झुका ली और दवा लेकर मुझे दी. खाना खा कर मैं बेड पे लेट गया क्योंकि अब दो दिन बाद पेपर था तो मैं पेपर की तैयारी अगले दिन भी कर सकता था.

मेरा मस्ताना और कड़क हो गया वो फिर वापस मस्ताना के टोपा को चाटने लगा. तभी जग्गी ने अपने साथी से कहा- आ जा राजबीर, तू भी देख ले एक बार हाथ लगा कर इसके चूतड़!इतना सुनकर राजबीर हंसा और उसके पास आकर मेरी गांड को दोनों हाथों से दबाने लगा… वो बोला- हाय रे… मस्त माल है यो तो!वो दोनों अचानक खड़े हुए और मेरी आँखों के सामने उन्होंने अपनी लोअर नीचे गिरा दी.

डांस का अपना मज़ा है और टीना तुम कुछ नहीं बोल रही हो?टीना- क्या बोलूँ यार.

गुजराती कोमल भाभी से मस्ती के बाद मैं सोमवार को पहले अहमदाबाद आया जहाँ हिम्मत मुझे कार से लेने आया। हिम्मत ने मुझे एक होटल में रोका, बोला- अभी आप यहाँ रेस्ट करो रात को 9. बच्चा होने वाली सेक्सीऔर मुझे आज तक यह भी पता नहीं चला कि क्या संजय को इस चुदाई का पता चल गया था और क्या वही मुझे अपने बॉस और सी ए से उनकी डिमांड पर चुदवाने लाया था!मेरी सच्ची हिंदी सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]. कानपुर वाली भाभी की चुदाईमित्रो, यह कहानी मेरी हाल ही की पिछली कहानीललितपुर वाली गुड़िया के मुंहासेकी आगे की कड़ी है. अगले ही पल राजे ने एक ज़ोरदार हुंकार भरी और मेरे कटिप्रदेश को जकड़ के बीस पच्चीस इतने ज़बरदस्त पावर वाले शॉट ठोके कि मुझे लगा मेरे शरीर के भीतर सब अंग अस्त व्यस्त हो जायेंगे.

मैं तड़पता हुआ कहने लगा- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उई अहह सी बस बस साली बस करों बहनचोद सालियों, अब क्या जूस निकाल कर छोड़ोगी… हा अह अह उई…और मैंने अपना लंड उन दोनों से छुड़वा लिया.

साधारण सा सलवार कुर्ता पहन रखा था उसने, मम्में भी दुपट्टे से ढक रखे थे, बाल पोनी टेल स्टाइल में बंधे हुए थे. नहीं तो सारी रात परेशान होता रहेगा।मॉंटी ने कैप्री निकाल दी और टीना उसकी कमर पर तेल लगाने लगी। फिर उसके पैरों की अच्छे से मसाज की। जब टीना की नज़र उसकी जाँघ के काट पे गई, जहाँ वो खुजा रहा था, वहां दाने-दाने से हो रहे थे और वो जगह एकदम लाल हो गई थी।टीना- ओह जिसका डर था, वही हुआ। देख कैसे दाने निकल आए हैं। पागल ऐसे तो यहाँ दाद हो जाएगी, यहीं ऐसा है तो और अन्दर पता नहीं क्या हाल होगा? चल ये भी निकाल. पहले तो उसे गुस्सा किया- इतनी रात को आया और ऊपर से पीकर आया है। तेरे पापा को पता लग गया तो पता है ना क्या होगा।संजय ने अपनी मॉम को मीठी-मीठी बातों से फुसला लिया, झूठ कह दिया कि दोस्त की बर्थडे पार्टी थी.

काका आओ ना।राजू एक तरफ़ हो गया तो काका मोना के पास आए और उसकी गांड के छेद पर उंगली घुमाने लगे, जिससे मोना के जिस्म में करंट सा दौड़ गया।मोना- आह. मामू अपने भी चड्डी निकाली हुई है और आपकी फुन्नी कितनी बड़ी है।संजय इस हमले से बौखला गया मगर फ़ौरन उसने अपने आपको संभाल लिया।संजय- अरे तू उठ क्यों गई. स्मृति और मैं एक दूसरे को पहले से ही जानते थे, मैं उनके घर यदा कदा जाया करता था तो स्मृति से हैलो होती ही थी परन्तु कभी ख़ास वार्तालाप नहीं हुआ.

एक्स एक्स एक्स मराठी सेक्सी बीपी

मैं आप सभी से निवेदन करूँगी, खासकर नये पाठकों से कि आप मेरी इस कहानी का मजा लेने के लिये मेरी सभी कहानियाँ शुरू से पढ़ें क्योंकि मेरी अभी तक की सभी कहानियाँ आपस में जुड़ी हुई हैं. मैं झट से रूम में गया और वीडियो देखने लगा, जिसमें कि वो कपड़े चेंज करते दिख रही थी. तभी ये ऐसे बोल रही है।काका ने मोना को समझाया- तू पहले विस्तार से सब बात बता.

इसी कारण से उसने मुझे बीच में ही रोक दिया, इसलिए मैं उस दिन झड़ ही नहीं पाया.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो बहुत तेज़ी से बाहर जाता और एकदम रॉकेट की तरह अंदर तक आता.

मेरे माँ-बापू ने मुझे शहर में बाहर नहीं रहने दिया, बल्कि मुझे कॉलेज के हॉस्टल में दाखिला दिलवा दिया. किसी को पता लग गया तो सब मेरी जान निकाल देंगे।राजू- अरे मेरी प्यारी भाभी. साधुओं की चुदाई‘गुड़िया बेटा, अब मैं कोई अन्तर्यामी तो हूँ नहीं… जो कुछ देखा सुना है वही तुझे बताया है.

अब मैं उनके पेट पे किस करता हुआ नीचे पहुंचा और चाची की चूत पर होंठ रख कर एक जोरदार किस की, वो बुरी तरह तड़प उठीं और उन्होंने मेरे बालों को पकड़ लिया. टीना- क्यों मेरी जान, तुझे असली लंड से चुत रगड़वाने में मज़ा आया ना!सुमन- हाँ दीदी. पूरे 7 महीने पहले दारू के नशे में 2-4 झटके मार कर सो जाते हैं। अब तक 4 साल की शादी में मुश्किल से कोई 40 बार मेरे साथ सम्भोग किया होगा.

उसके बाद दोनों ने अच्छी तरह से लंच किया और टीवी के सामने बैठे एक-दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे।गोपाल- क्यों जानेमन, अब क्या इरादा है. पूजा तो ऐसे खुश हो रही थी कि ना जाने आज उसे कौन सा खजाना मिलने वाला है.

मैं बोला- क्या भाभी, चूत और लंड जब जवान हो जाए तो कोई शरीफ नहीं रहता.

मगर अबकी बार हम सब मिलकर ही मज़ा करेंगे।टीना की बात सुनकर सब खुश हो गए। अबकी बार तो दो चुत साथ होंगी. फिर एक दिन मैंने देखा कि तमन्ना के परिवार वाले कहीं जा रहे थे, उनके जाते ही मैंने झट से उसको मेसेज किया- क्या कर रही हो?वो बोली- कुछ भी नहीं… फ्री हूँ!मैंने सोचा कि क्यों ना इसको आज चोदने की कोशिश की जाए. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा और मेरे मस्ताने लंड का तड़कता फड़कता नमस्कार.

बोय सेक्स इस नज़ारे ने मेरे अंदर तूफान सा ला दिया, मैं बेशर्मों की तरह उनका खेल देखने लगा. बेगम जान का हुक्म बजाने अंजलि रानी का ये गुलाम कानपुर रीना रानी के घर जा पहुंचा.

चोदते चोदते मेरा लंड इतना चिकना हो गया था कि वह बाहर निकल कर कहीं भी जा लगता था. प्लीज़ मोना आप बताओ आप कौन हो और इसका कोई उपाय तो होगा?दोस्तो, सुधीर एक बाबाजी का पक्का भगत है और ये कुंडली वगैरह में बहुत ज़्यादा यकीन रखता है, तभी तो उसने मोना की बात एक झटके में मान ली. टीना- अगर तू मेरी बात माने तो तुझे मैं एक बहुत ज़्यादा मज़ा लेने का आइडिया दूँ?सुमन- हाँ दीदी बताओ, मैं आपकी बात कैसे नहीं मानूँगी.

सेक्सी गीत पिक्चर

मेरे उभार उसके सीने में गड़े हुए थे, उसके हाथ मेरे पीठ को सहला रहे थे। वो नीचे था, मैं ऊपर थी और हम ऐसे ही लेटे रहे, और फिर उसका सीना सहलाते हुए मैंने अपनी चुप्पी तोड़ी. मैंने चाची को पकड़ कर बेड पे गिरा लिया और उनके ऊपर आकर उनकी चूचियों को चूसने लगा. फिर इस कच्ची कली को मसलेगा। यही सोच कर वो नीचे गया और उसकी उम्मीद के मुताबिक खर्राटे जोरों पर चल रहे थे यानि सब सो गए। वो धीरे से वापस ऊपर आ गया।संजय ने जब दरवाजा लॉक किया तो पूजा पलट गई और एक क़ातिल मुस्कान देने लगी।संजय- क्या बात है.

प्रिया, उस रात महक के घर ही रुक गई।सो ऐसा था हमारे प्यार का पहला पड़ाव, अधूरा रहा, पर यादगार रहा। आपको कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल से आपके सुझाव भेजें।[emailprotected]. घोड़े बेच कर सो रहे हो!मैं बोला- हाँ यार, जमीला और मैं दोनों ही थक गए है.

मैं झट से रूम में गया और वीडियो देखने लगा, जिसमें कि वो कपड़े चेंज करते दिख रही थी.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम कुमार है, अम्बाला हरियाणा का रहने वाला हूँ और अन्तर्वासना का 10 साल से नियमित पाठक हूँ. थोड़ी देर पहले वो नशे में कह रही थी कि तुम्हें मुझसे भगा ले जाएगी, तेरे साथ जबरदस्ती करेगी, मगर अब लगता है कि तेरा लंड देखकर इसकी फट गयी है. एक दिन मेघा को चोद रहा था, उसी टाइम मेघा बोली- हम लोग किसी डिस्को में चलते हैं, वहां दोनों एक-दूसरे के सामने मस्ती करेंगे.

उसने अपनी जेब से कंडोम निकाला तो मैंने एक कंडोम रोहन और अमन को दिया. फिर उसने अचानक मेरी गर्दन पर से अपनी पकड़ ढीली कर दी और बोला- साले तू लड़की होता तुझे इतना चोदता… इतना चोदता कि हर महीने तेरे पेट से बच्चा बाहर निकलता!कह कर उसने मुझे पीछे कर दिया और फिर से बाइक आगे कच्चे रास्ते पर दौड़ा दी. इस ऑडियो के शुरूआती शब्द हैं- आज का कार्यक्रम शुरू करते हैं जिसका नाम है- बॉयफ्रेंड की तारीफ़नदी का पानी कड़वा हैसबका बॉयफ्रेंड भड़वा है!साले बहन चोद…साले हराम के लौड़ो… तुम्हारा तो लौड़ा भी हराम का है, जिसको चोदोगे तो उसके हराम की औलाद ही पैदा होगी.

मैडम भूखी शेरनी लग रही थी, उसके बाल खुले हुए थे और आगे चेहरे के ऊपर आ जाते थे.

सेक्सी बीएफ मां बेटे की हिंदी: बस सुधीर ने ये मंज़र देखा और उसके अन्दर के इंसान ने उसको आवाज़ दी कि खामखां बेचारी को रुला दिया, जो बात है बता दे इसको. जैसे ही उसके चूतड़ मेरी जाँघों पे लगे और मैंने उसे गोद में अच्छे से ले लिया और नीचे से झटके लगा कर पूरी तरह से लंड उसकी चूत में डाल दिया, मेरा लंड पूरा उसकी चूत में फिट हो चुका था और टट्टे उसकी चूत से सटे पड़े थे.

वो कभी उसको किस करता तो कभी कपड़ों के ऊपर से अनिता के मम्मों को दबाते. मुझे मज़ा आ रहा था, जब भी जाती, कभी सूट, कभी साड़ी, कभी कुछ तो कभी कुछ… मगर मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि वो इतने पैसे खर्च कर रहा है पर अब तक चुदाई कोई बात नहीं हुई. रयान ने नई ब्रांच ज्वाइन करी, शुरू के 15 दिन के लिए बैंक ने होटल मैं व्यवस्था कर दी.

‘हां अशोक ब ब्बब्ब बहुत!’‘जोर से लंड चाहिए अपनी गांड में?’‘हां… अशोक हाँ ये ये जोर अब मजा आ आ स आ रहा है.

कभी चुत को रगड़ती। ऐसे ही एक घंटा वो कहानी पढ़ती रही और गरम होती रही। अब उसकी बर्दाश्त की ताक़त खत्म हो गई, वो चुत को जोर-जोर से रगड़ने लगी।सुमन- आह. मैं थक तो चुकी थी मगर फूफा जी की बाहों में पड़ी अब भी उनसे चुद रही थी. मैंने फिर से ट्राइ किया और अबकी बार एक ही झटके में अपना आधा लण्ड उसकी बुर में पेल दिया.