सुहागरात वाली बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर ब्लू फिल्म एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

शिवानी के गाने: सुहागरात वाली बीएफ हिंदी, पहले साक्षी की गांड पर थोड़ा हिलाया और अपने लंड का सुपारा साक्षी की गांड में सटाक से घुसा दिया.

हिंदी सेक्सी वीडियो में चोदने वाली

कपड़े मशीन में डालकर मैंने वापस ट्रे उठाई और कमरे में दाखिल हुआ, तो देखा बेड पर आंटी मेरी टी-शर्ट और बाक्सर में क्या गजब लग रही थीं. सेक्सी हिंदी यूपीइस बार मैंने कोल्ड ड्रिंक के दोनों गिलास में थोड़ी सी ज्यादा व्हिस्की मिला दी और एक गिलास उसकी भतीजी के लिए दे दिया.

मैं थोड़ा काम में बिजी होने के कारण उस वक़्त बाहर जाकर उसे देख नहीं पा रहा था मतलब उसको स्माइल दे नहीं पा रहा था और न ही उसकी खूबसूरती की तारीफ कर पा रहा था. रिकॉर्डिंग चालूमेरी फर्स्ट चूत की पहली चुदाई मुझे मिली पड़ोस की एक जवान गर्म भाभी से! मैं किराए के घर में रहकर पढ़ाई कर रहा था.

लगभग 2 महीने बीतने के बाद भैया ने बोला- तेरी भाभी को मायके जाना है.सुहागरात वाली बीएफ हिंदी: उसमें मुझे एक मेल आई हुई थी और उस मेल में लिखा था- हाय राहुल, आपकी स्टोरी मुझे और मेरी वाइफ को बहुत ज़्यादा पसंद आई.

उसके बाद वो मुझसे और खुल कर बात करने लगी और उस दिन के बाद हम दोनों में सेक्स की बातें होने लगीं.कुछ देर बाद चाची ने अपनी रफ़्तार तेज़ कर दी और ज़ोर ज़ोर से लंड पर कूदने लगीं.

इंग्लिश भाषा सेक्सी वीडियो - सुहागरात वाली बीएफ हिंदी

मैं ऐसा इसलिए किया क्योंकि मैं जानती थी कि सुरेंद्र जी मुझसे मिलने किस लिए आ रहे हैं.मैंने साक्षी की पीठ पर किस किया और कहा- ठीक है अब मैं चलता हूँ तुम ऐसे ही कुछ देर आराम करो.

फिर उन्होंने मेरी गांड के छेद पर थोड़ा तेल लगाया और अपने लंड पर भी थोड़ा तेल लगा लिया. सुहागरात वाली बीएफ हिंदी लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर तेजी से होने लगा मैं बुआ की चूत को धकापेल चोदने लगा.

मेरे घर से सभी लोग वहीं गए थे और उसके दोनों भाइयों को भी शामिल होने जाना था.

सुहागरात वाली बीएफ हिंदी?

मेरे लिंग की बात करें तो मेरा लिंग 7″ लम्बा और 3″ मोटा है।आपको मैं अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताता हूं. मैं मीठे दर्द से जोर जोर से सिसिया रही थी- आह्ह अहह ओह ओह ओ … उन्ह … उफ़ …. कुछ ही देर में वो भी जान गई थी कि उसका भाई उसमें इंट्रेस्ट ले रहा है.

उसी समय मेरी हाथ मेरी चूत पर चला गया और मेरी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं. मैंने कहा- हां वो तो तुम हो ही, लेकिन ये मेरी इच्छा है कि तुम्हारी किसी सहेली को भी चोदूं. उनकी फ्लाइट बिल्कुल सही समय पर आ गई और मैं बाहर उनका इंतजार कर रही थी.

मैंने उसके बाल पकड़ कर उसके सर को लंड पर दबा दिया, जिससे मेरा लंड उसके मुँह में घुस गया. मैं और सोनी ने दोनों नौकरों के लिए फार्म हाउस से दूर दो मकान बना दिए थे. लगभग आधे घंटे तक उन्होंने मेरी चूत चोदी तो मेरा पानी छूटने की घडी आई.

मैं कहां रूकने वाला था, जोश में आकर कुछ झटके जोर से लगा दिए और उसकी बुर को फाड़ डाला. उसके स्तन इतने अच्छे आकार के हैं, जिन्हें देखकर कोई भी उन्हें हाथों में भरना चाहे.

मैं सोचता था कि चाची को मैं किस तरह से अपनी बात कहूँ कि चाची बस एक बार मेरे साथ सम्भोग कर लीजिए पर गांड में दम ही नहीं था.

हम लोग देर रात तक बातें करते और एक दूसरे को छूने और गुदगुदी करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे.

फिर बिल वगैरह चुका कर सामान बैग में डाले, तो बहुत सारा सामान हो गया था. अपने हाथों से उसकी जांघों को पकड़ कर थोड़ा खोला और उसके नीचे को आ गया. फिर जब मैं अपना मुँह उसकी टांगों के बीच लेकर आया तो वो एकदम से उछल पड़ी और बोली- ओह राहुल … मैं अब कहां पहुँच गयी?‘जानेमन तुम मेरी बांहों में ही हो.

लेकिन मुझे ख़ुशी थी कि एक भयानक लड़ाई में आलिम साहब ने जिन्न को मार डाला है. वह अपना पूरा लंड बाहर खींचता था और फिर फचाक से पूरा लंड अंदर ठेल देता था. !दोस्तो, मेरी मॉम नींद में किसी राहुल का नाम ले रही थीं जबकि मेरे डैड का नाम तो रमेश है.

मैं कभी उसकी चूत को चाटता तो कभी उसकी गांड के छेद में जीभ से कुरेदता.

लेकिन फिर जैसे जैसे मैं जवान हुआ और जब मैंने मॉम बेटे की सेक्स कहानियां पढ़ना शुरू किया तो मेरी नीयत मेरी मॉम पर ख़राब होने लगी. क्या कभी बियर नहीं पी है?और मैंने सही में कभी नहीं पी थी मगर भाभी के सामने मेरी हेटी ना हो जाए, इसलिए मैंने भाभी के हाथ से बियर कैन लेकर कहा- नहीं नहीं, वो मैंने आपके साथ पीने के बारे में यह सोचा ही नहीं था. गरिमा मेरी तरफ़ देख कर हंसने लगी और आंख मार कर इशारा करने लगी- लगे रहो तुम भी!मैं भी स्माइल देकर निशा पर अपना ध्यान लगाये हुए था.

जैसे ही मैं उनके कमरे में पहुंचा, अमन मुझे देख कर बहुत खुश हुआ और सिमरन की आंखों में एक अलग सी चमक आ गई थी. मैंने उससे पूछा- अब आगे क्या करना है?उसने मेरे लंड अपना हाथ रखा और बोली- अब मेरी बारी है. बाहर मूसलाधार बारिश शुरू हो चुकी थी जो रुकने का नाम ही नहीं‌ ले रही थी.

मन तो कर रहा था कि उसको अभी खा जाऊं!लेकिन अपने आप पर संयम रखा और दूध को चाटने व चूसने लगा.

मैं माँ की चूत का सारा माल पी गया और उनकी चूत को चाट कर साफ कर दिया. बाक्सर में उनकी गांड एकदम बाहर निकली हुई थी, इस उम्र में भी उनकी गांड में कसावट पूरी थी और जब वो अपने बाल सुखा रही थीं, तो टी-शर्ट बार बार ऊपर उठ रही थी, जिससे उनका गोरा गोरा पेट मुझे बार बार दिख रहा था.

सुहागरात वाली बीएफ हिंदी मगर अगले ही पल मैंने सोचा कि मामी ने उस समय कुछ नहीं कहा, तो इस बात की सम्भावना कम ही है कि वो मामले को आगे किसी से कहें. कुछ मिनट्स में ही वह और दूसरी औरतों के साथ बात करते करते वहां से मंदिर निकल गयी.

सुहागरात वाली बीएफ हिंदी पता नहीं मुझे क्या नशा हुआ कि मैंने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया और उसकी हरकतों का मजा लेने लगी. जब भी मैं बॉक्स देने के लिए हाथ बढ़ाता था, तो मैं ये सुनिश्चित करता था कि मेरे हाथ उसके स्तनों को छू लें.

अब जलालुद्दीन ने एक जोरदार झटका दिया और अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में ठेल दिया.

चोदा चोदी करने वाला सेक्सी

मेरे नथुनों में मेरी सबसे पसंदीदा छेद की महक मुझे उत्तेजित कर रही थी. मेरा लंड एकदम से आगे की तरफ आड़ा हो गया था, जिससे टॉवल आगे से 6 इंच उठ गया. उसके बाद मैं चाचा चाची के घर काफ़ी दिनों तक रहा और हम दोनों को हर 3-4 दिन में चुदाई करने का मौका मिल ही जाता था.

कोमल भाभी का कसा हुआ 36 नम्बर का ब्लाउज, होंठों पर सुर्ख लाल लिपस्टिक, उसके ऊपर गहरा लिपलाइनर एक अलग ही छटा बिखेर रहा था. जीजू बोले- अरे लंडखोर, अभी तो तुझे इससे भी ज्यादा मजा देना है, यह तो बस शुरुआत है. इस सबसे मुझे समझ आ गया कि कोमल भी मेरे साथ सहज है और मेरी उससे बात बन सकती है.

चुदाई के आधा घंटा बाद वो उठ कर बाथरूम में गयी, फ्रेश हुई और कपड़े पहन कर तैयार हो गयी.

मगर तब भी मैं बहुत खुश था कि चलो मोबाइल चार्जर की वजह से अब मेरा टांका माधुरी से भिड़ जाएगा और मेरे लंड को भी एक नयी चूत का स्वाद मिल पाएगा. उस वक़्त आंटी मेरे लिए बिल्कुल रसमलाई का 65 किलो का थाल जैसी थीं जिसे मुझे अकेले ही खाकर खत्म करना था. रचना की यह बात सुनकर तो मेरे भी रोंगटे खड़े हो गए और मैंने उससे पूछा कि उसे सबसे अच्छा तरीका कौन सा लगा?रचना- विकास तुम मुझे अब कुतिया बना कर मेरी चुदाई करो.

मेरा लंड जैसे ही मॉम की चूत में गया तो वो हल्की सी चीखीं और शांत पड़ गईं. मैं खुद भी नहीं बता सकती थी कि ये आंसू आज की भयानक गांड चुदाई के कारण निकले हैं या अपनी मुहब्बत से दूर जाने के गम में निकले हैं. उसी समय मैंने फिर से एक हल्की सी सीत्कार सुनी ‘आह …’उसके मुँह से ही ये आवाज निकली थी.

मैं भी तुम्हारे साथ आना चाहती हूँ … तुम जोर जोर से चोदो मुझे … आंह पूरा अन्दर मेरी बच्चेदानी तक लंड घुसाओ. फिर मैंने सामने से उसकी एक टांग अपने ऊपर रख कर लंच को चूत की फांकों पर रगड़ने लगा जिससे वो बिन पानी की मछली की तरह मचलने लगी.

मुझे बहुत ख़ुशी हुई, मुझे लगा कि अब मैं ठीक हो रही हूँ और जलालुद्दीन आलिम का इलाज काम कर रहा है. उसने तुरंत अपनी सेंडो बनियान निकाली और मेरी टॉवल के अन्दर दोनों हाथ डाल कर मेरी दोनों जांघों को सहलाया. जब मैं थक जाता तो अपने जिस्म का वजन उसकी गांड पर डाल कर रुक जाता जिससे मेरा लंड पूरी तरह से उसकी गांड में सीधा घुस जाता.

कहाँ वो दुबली पतली बुझी बुझी पिचकी हुई नगमा और किधर ये भरी भरी हंसती मुस्कुराती भरे बदन वाली मस्त सेक्सी नगमा.

अब तक ऐसा होता था कि मैं हरकत करता था और चाची चुप रह कर मेरी हरकतों को नजरअंदाज कर देती थीं. एक बार जब हम सब नशे में थे, तब किशन ने मुझसे पूछा कि कोई फंसाई?तो मैंने उसे अपनी सारी फीलिंग चाची के बारे में बता दी. मुझे अपने से अलग करते हुए उसने मेरे चेहरे को उठाया और अपने होंठों को मेरे होंठों के करीब ले आया.

अचानक से उसका हाथ मेरे लंड से टकरा गया और उसने हाथ बाहर निकाल लिया क्योंकि मैंने चड्डी नहीं पहनी हुई थी. मुझे बहुत मजा आ रहा था उन्हें जोर से चूमने में!हम अलग अलग पोजीशन में एक दूसरे को चूमने लगे।इसके बाद मैं उनके पूरे शरीर को चूमने लगा.

उस जमीन की मिट्टी के नमूने लेकर दोनों पुणे आए, मिट्टी की जांच फल प्रशिक्षण केंद में हुई. भाई की गर्लफ्रेंड के साथ एक और लड़की आई थी, उसको देख कर मेरा दिल धड़कने लगा था. चाची की गांड में लंड अन्दर बाहर होने लगा और उनकी चूचियां हवा में झूलने लगीं.

रोज रोज हिलाने से क्या होता है

उन दिनों मिष्टी और उसकी बड़ी बहन नैन्सी को होली पर मायके लाने के लिए उनके पिता जी उनकी ससुराल गए.

मुझे मतली आने लगी थी लेकिन मैं कुछ कर नहीं सकती थी इसलिए मैं उसका गन्दा लंड चूसने लगी. मैंने जमीन पर तकिया रखा, तकिये पर घुटनों के बल खड़ा होकर सोनी का बड़ा सा काला आधा खड़ा लंड प्यार से देखा. चूत खुल कर सामने आई तो मैंने उसकी चूत को अपनी उंगलियों से सहलाना शुरू कर दिया.

भाई ने अपना लंड निकाल कर मेरे मुँह में डाल दिया और अपना वीर्य मेरे मुँह में छोड़ दिया. थक जाने पर कोमल की टागें हवा में उठ गईं और वो लंड से अपनी चटनी बनवाने का सुख लेने लगी. आसामी सेक्सी फिल्मअब जलालुद्दीन साहब ने अपना लण्ड मेरे मुंह से बाहर निकाल लिया और थक कर बिस्तर पर लेट गए.

मैंने उनसे पूछा- तो क्या फिर आप सेक्स भी नहीं करती?उन्होंने मुझे बताया- हां … 6 महीने में एक या दो बार ये आते हैं, तभी हो पाता है. मैं कुछ भी विरोध नहीं कर पाई, बस जैसे उसके हाथों को कठपुतली बन गयी थी।उत्तेजना के मारे मेरी चूचियां कड़ी हो गयीं, उनके निप्पल कड़क होकर फूल गये.

मैंने कहा- सब आपका ही किया धरा है, एक मासूम लड़की को चोद चोद कर चुड़क्कड़ रांड बना दिया. उसके बूब्स को चूसने लगा और उसके ऊपर चढ़ कर उसे अपने जिस्म से रगड़ने लगा. जब 2 बहनें उस कॉलोनी में रहने आई तो क्या हुआ?मैं फेहमिना इकबाल एक बार फिर आप सबके सामने एक नई कहानी लेकर हाजिर हूँ.

कुछ देर बाद वो मेरे लौड़े के ऊपर आ गयी और गांड उछाल उछाल कर चुदने लगी. Xxx बाप बेटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मायके आई तो एक रात मैंने मम्मी पापा को सेक्स करते देखा. ये सुनकर तो मानो मेरे लिए खुलेआम चूत चुदाई का मौक़ा मिलने जैसा हो गया था.

कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी को गांड मरवाना सिखायामें आपने पढ़ा था कि सोनी, तापोश कॉलेज के समय मेरी गांड मारते थे.

हुआ यूं कि हल्की सर्दी के दिन थे, एक दिन मम्मी और दादी ऊपर छत पर थीं. मैंने दोस्त से धीरे से बोल दिया- मित्र, क्या हमारा जुगाड़ पक्का हो गया है?पहले मुझे लगा कि वह नाराज होगा लेकिन वह थोड़ी देर तक कुछ भी नहीं बोला.

कुछ लड़के रंग लगाने के बहाने से लड़कियों के बूब्स दबा रहे थे, कोई लड़कियों के चूतड़ सहला रहा था तो कोई चूतड़ दबा रहा था. तब तक हिना ने हमारे लिए नाश्ता बनाया था तो हम दोनों अपनी चुदाई पूरी करके फ्रेश होकर नाश्ता करने आ गए. मैंने मॉम के दोनों पैर अपने कंधों पर रख लिए थे और काफी मज़े से उनकी चूत चाट रहा था.

उनका सामान रख कर मैं जाने लगा तो आंटी बोलीं- रुको, मुझे तुमसे कुछ काम है. मैंने पहले कभी इतना अच्छे से नोटिस नहीं किया था और कभी उसके बारे में कुछ उल्टा सीधा नहीं सोचा था. आंटी ने अब अपना पूरा बदन ढीला छोड़ दिया था और मेरे ऊपर टेक लेकर टांगें आगे फैलाकर बेड पर बैठकर अपने बूब्स मसलवा रही थीं.

सुहागरात वाली बीएफ हिंदी उसका नाम कोमल था, जो मुझे उसके किसी से फ़ोन पर बात करने के दौरान मालूम चला था. अब मैंने अपना लंड उसके हाथ में थमाया तो वो अपने गोरे गोरे नर्म हाथों से उसे सहलाने लगी.

सभी जानवरों की सेक्सी फिल्म

माधुरी ने पहले मेरे लंड के टोपे को अपनी जीभ से चाटा, फिर मेरे लंड की गोटियों को भी अपने मुँह में लेकर चूस चूस कर खींचने लगी. दोस्तो, मेरा नाम अतुल वर्मा है, मैं प्रयागराज का रहने वाला एक इंजीनियरिंग फाइनल ईयर स्टूडेंट हूं।मेरे लंड का साइज़ करीब 6. मेरे आंसू देखकर वो मुझे प्यार से सहलाने लगा और मेरे गाल पर, माथे पर, होंठों पर किस करने लगा.

मैं साथ में बने बाथरूम में जाकर अपने चेहरे पर आंटी की लिपस्टिक के दाग छुटाने लगा. तो उसने बोला कि उसके पैर की नस खिंच गई है, इसलिए चल नहीं पा रही है. हिंदी पिक्चर सेक्सी 2020बीवी बोली- जी, शर्मिंदा तो मैं भी हुई थी लेकिन उसे मैंने समझाने की कोशिश की है.

तब मैंने कारण पूछा तो साक्षी ने बताया कि उसकी गांड का छेद दर्द कर रहा है.

मेरा Xxx बॉयफ्रेंड अब सीधा मेरी चूत के पास आया और मेरी पैंट व पैंटी एक साथ उतार कर साइड में रख दिए. उसकी जीभ और होंठ दोनों मेरे लंड के टोपे को जोर जोर से ऐसे चूस रहे थे मानो मेरे लंड से दूध निकलने वाला ही हो.

तब हिना ने कहा- मेरे सामने ढक ले बन्नो … पर समीर के सामने ऐसे मत कर … वर्ना वो तुझे कच्चा खा जाएगा. दोस्तो, आपको मेरी फर्स्ट चूत की पहली चुदाई अच्छी लगी हो मेल जरूर कीजिएगा. फिर अचानक से आधा पैग पीने के बाद सलीम ने मुझे गिलास पकड़ाते हुए पीने को कहा.

एड कर के घर पर बैठी थी।एक बार मेरे घर पर मैं और मेरी बहन ही अकेले थे और गर्मी का मौसम था इसलिए रात में हम छत पर सो रहे थे।बीच रात में जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि मेरी दीदी मेरे पास नहीं थी.

मैंने सोचा कि काश एक बार के लिए उसकी चूत का रस पीने मिल जाता, तो कितना मजा आता. सेक्स मैक्स चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि चार लड़कों और 4 जवान लड़कियों ने नंग धड़ंग होकर होली वाले दिन भरपूर चोदम चोद करके कैसे जश्न मनाया. अब तक मेरा आधा लंड कोमल गर्म चूत के अन्दर जा चुका था और कोमल की आंखों से निरंतर आंसू आ रहे थे.

सेक्सी वीडियो सेक्सी लड़कियों कीयह देखकर ड्राइवर को भी मेरी चुदाई में मजा आने लगा और वो और भी प्यार से मुझे चोदने लगा. चाची बोलीं- लो लंड खड़ा हो गया है … अब तो डाल दो इसे मेरी तीती में.

माधुरी दीक्षित का सेक्सी डांस

मेरे मुँह से ये सब सुनते ही उसने कहा- क्या … तुम ऐसे देखते हो मेरी तरफ?मैं कुछ कह पाता, इससे पहले वो जोर जोर से भड़कने लगी और बोली- मैं कोई ऐसी वैसी औरत लगती हूँ तुम्हें? तुमने मेरे बारे मैं ऐसा सोचा कैसे कि तुम मुझसे ऐसी बात करने लगे?अब मैं बोला- सॉरी गलती से मेरे मुँह से निकल गया प्लीज ऐसा कुछ नहीं है. मेरी मामी की शादी की 6 साल हो चुके हैं और उनको अभी तक कोई बच्चा नहीं है. उसी टाइम मैंने देखा कि मेरी बहन की चूत से भी कुछ निकल रहा था और उसकी हाफ पैंट गीली होने लगी थी.

मैंने उसका हाथ अपने शॉर्ट्स के अन्दर डाल दिया और उसने भी एक झटके में लंड को जकड़ लिया. मैंने कहा- आप भले न बताओ लेकिन मुझे ये अब मालूम है कि चुदाई कैसे होती है. मैंने उनकी टांगों को थोड़ा और ऊपर उठाया और अपनी एक उंगली को तेल से चिकना करके चाची की गांड के छेद में घुसा दी और धीरे से अन्दर बाहर करने लगा.

कुछ ही देर में उसकी चूत से रस निकलने लगा, मैं समझ गया कि मामी को लंड चाहिए. मगर एक बात बता, लड़कियों को गांड मराने में डर क्यों लगता है?मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- साली, तेरी गांड भी तो फट रही थी. वहीं सलीम ने मुझे कमर से पकड़कर घोड़ी बना डाला और मेरी गोरी चिकनी गांड पर थप्पड़ मारने लगा.

उसने मुझे देख कर कहा- क्यों कैसे लगी मेरी नयी दुकान … अभी सैट की है पूरी शॉप को. बापू- अच्छा मैं तुझे इतना अच्छा लगता हूँ?काकी- हां लल्लू, गांव की न जाने कितनी औरतों के लिए तू रामबाण औषधि है.

अगले ही पल उसने मेरे लंड को पकड़ कर टॉवल ऊपर कर दिया और मेरे लंड को मुँह में ले लिया.

जैसे ही उसने नीचे से अपने चूतड़ों को उठाया, तभी मैंने भी बराबरी से अपना लंड पेलते हुए दबाव बना दिया. mp3 में सेक्सी गानाकोमल मेरे करीब आई और बोली- मेरा ये ड्रेस कैसी लगी?शायद ये उसने जानबूझ कर पूछा था. बांग्लादेश की नंगी सेक्सीमैंने भाभी की चूत के दाने को अंगूठे से मसलते हुए अपनी मिडिल फिंगर को चूत में डाल दिया. फिर मैं अपना हाथ उसकी पैंटी के ऊपर ले गया, पैंटी के ऊपर से ही उसकी बुर को दबाने लगा.

लगभग 5 मिनट बाद उसके लंड ने पानी छोड़ दिया तो मैंने उसने लंड से निकला अमृत पी लिया.

चाची मेरे सीने पर हाथ फेरती हुई बोलने लगीं- राज, आज की रात तू अपनी चाची को जमकर चोदना, कितने दिन बाद आज तूने मेरा पानी निकाला है. जब भी चाची नीचे खाना बना रही होतीं, तो मैं ऊपर जाता और उनकी पैंटी और ब्रा उठाकर बाथरूम में आ जाता था और लंड से लगाकर मुठ मार लेता था और मजा ले लेता. मेरे आंसू निकल रहे थे, मैं दर्द के मारे चीखना चाहती थी और किसी भी तरह उनके लण्ड को मेरी गांड से बाहर निकालना चाहती थी लेकिन मैं कुछ कर नहीं पा रही थी.

वो नीचे झुक कर मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर सहलाने लगीं और उसे मुँह में लेकर आराम आराम से चूसने लगीं. तो आपका समय ना बर्बाद करते हुए मैं सीधा अपनी हॉट देसी गर्लफ्रेंड चुदाई कहानी पर आता हूं. तुम जैसे चाहो वैसे चूत को चोद दो, लेकिन गांड से निकालो ना … बहुत मोटा लंड है तुम्हारा … मुझे दर्द हो रहा है.

eiza gonzález sex video

तभी मेरे दिमाग में घंटी बजी कि मिताली को कोई ठीक से ध्यान में नहीं लेता, तो क्यों न इसे ही पटाया जाए. मिष्टी की चाहत उसकी शादी होने के बाद भी अपने जीजा प्रिंस से ही बनी रही. दूसरे दिन चाची ने मुझसे कहा- राकेश आज तुम आज मेरे साथ बाज़ार चलो, मुझे कुछ सामान लाना है.

मैं ब्रा नहीं खोल पा रहा था, तो मीना ने मेरी मदद करते हुए अपनी ब्रा खोल दी.

मैं उन कपल्स के बारे में सोच रहा था कि क्या मस्त लाइफ है उनकी और मैं साला झांटू प्रसाद बना लंड हिला रहा हूँ.

उसको पता था कि मैं उसके ऊपर गलत निगाह रखता हूँ क्योंकि कभी कभी मैं उसको अपनी बहन की बेबी पकड़ाने के बहाने से उसकी चूची को कुछ जोर से छू लेता था. जब मैं बिस्तर पर लेटी तो उन्होंने मेरी चूत पर हाथ फेरना शुरू किया और धीरे से मेरी चूत में एक उंगली डाल दी. सेक्सी वीडियो वीडियो एचडी मेंमेरी जांघें जब भी माधुरी की गांड को धक्के देतीं तो उसकी गांड ऐसे उछलती मानो हवा से भर गुब्बारे उछल रहे हों.

मामी और चाची की गोरी गोरी जांघें देख कर मेरा लंड फुंफकार मार रहा था. जाते वक़्त भी मेरी नजरें उसके बदन पर ही थीं क्योंकि आज पहली बार मैंने उसे साड़ी में देखा था. काकी ने भी टांगें पूरी फैला दी थीं और बापू ने अपनी जीभ काकी की चूत पर लगा दी थी.

अभी मैं टहल ही रहा था कि माधुरी की आवाज आयी- आर्यन कहां थे … तुम सुबह से दिखे ही नहीं. मेरे यूं देखने से Xxx चाची ने अपनी हरकत को गति दे दी और वो बिंदास मेरे लौड़े को सहलाने लगीं.

शर्म के मारे मेरी इतनी हिम्मत भी नहीं पड़ रही थी कि आँखें उठाकर अपने सरताज कि तरफ देख लूँ.

कहानी के पहले भागमॉम की चूत की प्यास पापा से नहीं बुझीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं मम्मी से टीवी का रिमोट छीनने के चलते उनके साथ मस्ती करने लगा था और उनकी चूचियों को मसलने लगा था. फिर सविता ने इसके लिए क्या क्या किया?क्या सविता इस काम में सफल हो पाई?शादी के बारे में आयुष का मन कैसे बदलेगी सविता? यह जानने के लिए सविता भाभी एपिसोड 35 का वीडियो देखें।. फिर वही हुआ, कोमल ने मेरे हाथ से वो गुलाब का फूल ले लिया और मेरा प्रणय निवेदन स्वीकार कर लिया.

सऊदी अरब की वीडियो सेक्सी मैंने उसकी तरफ हामी भरे अंदाज बल्कि यूं कहूँ कि कृतकृत्य हुए अंदाज से भाभी की तरफ देखा और कोमल भाभी मेरे बराबर बैठ गई. फिर उसने होली विश करने के बहाने से आयेशा को गले लगा लिया और उसकी पीठ पर रंग लगाने लगा.

रचना- मेरी जवानी आपके लिए है मेरी जान … जी भरकर इस जवानी के मज़े ले लो. पर मैं उनकी कहां कुछ सुनने वाला था … मैंने लंड के टोपे को भी बाहर निकाल लिया और चाची के बंधे हुए हाथ पकड़ कर एक हाथ से लंड को चूत पर सैट करके एक ज़ोरदार धक्का लगा दिया. मैंने पूछा- मजा आ रहा है?उसने कहा- हां अब मजा आ रहा है और तेज तेज चोदो.

आदिवासी व्हिडिओ सेक्सी

फिर मैंने कहा- पानी पियोगी?चूंकि उन दिनों गर्मियों का मौसम था और मुझे उसके पास पानी की बोतल आदि कुछ दिखाई नहीं दे रही थी. कुछ देर तक एक ही जैसे धक्के मारते मारते जलालुद्दीन ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उल्टा सीधा चिल्लाने लगे- ले मादरचोद रंडी, आज तेरी चूत का भोसड़ा बनाकर छोडूंगा. मैंने अपने दोनों हाथों से साक्षी की कमर को जोर से पकड़ा हुआ था और उसे समझाने में लगा था कि बस अब हो गया.

एक दिन में कई कई बार चुदाई की फ़िल्में देखता था और मैं अपना लंड पकड़ कर मुठ मारता रहता था. इसी पल मैंने अपने होंठ शबाना की नाभि पर चुम्बन के लिए सैट किया और हाथ से सलवार का नाड़ा खींच दिया.

फिर उन्होंने मेरी गांड के छेद पर थोड़ा तेल लगाया और अपने लंड पर भी थोड़ा तेल लगा लिया.

अचानक ही मेरे बदन में ऊँची ऊँची लहरें उठने लगीं, मेरा बदन अकड़ने लगा. फिर मैंने मोहित को रोका और उससे बोली- मुझे 2 लंड से एक साथ चुदना है. उसकी तरफ से साफ़ साफ़ चुदाई का निमन्त्रण पाते ही मेरा तो दिल बाग़ बाग़ हो गया, जो बात मैं कहना चाहता था, वो उसने ही कह दिया.

मैंने कहा- मजा आ रहा है चाची?चाची बोलीं- हां … पर थोड़ा और अन्दर डाल … पर ज़रा धीरे धीरे पेलना. फिर मोहित ने खड़े होकर मेरे दोनों चूतड़ों पर जोरदार 3-4 थप्पड़ मारे, जिससे मेरी अआह्ह निकल गयी. लेकिन पिछले लम्बे समय से जो लड़की किसी सड़कछाप रंडी की तरह भकाभक गांड मरवा रही थी उसे चूत में लण्ड डालने से भला क्या फर्क पड़ता, तो मैं चुपचाप लेटी रही और जलालुद्दीन साहब अपना लण्ड मेरी चूत में पेलते रहे.

मैंने कुछ देर पहले ही पेशाब किया था तो मेरी चूत में अभी भी पेशाब की खुशबू आ रही थी.

सुहागरात वाली बीएफ हिंदी: मैं भी उसे देख रहा था और उसका नाम लेकर मुठ मार रहा था- आह प्रीति आह जोर से … आह आह अच्छे से!ये सब सुन कर वह रह नहीं पाई और उसने मेरा लंड पकड़ लिया और हिलाने लगी. उस कांच के दरवाजे से बाहर से अन्दर का नहीं दिखता है लेकिन अन्दर से बाहर का साफ़ साफ़ देखा जा सकता था.

मेरे मुँह पर चूत मसल मसल कर मेरे पूरे चेहरे पर चूत लंड का माल लगा दिया था. कुछ देर बाद मैंने उनकी चूत में उंगली डाल दी और धीरे धीरे उंगली को चूत में आगे पीछे करने लगा. कुछ ही देर बाद मेरे लंड से एक जोर की पिचकारी साक्षी की गांड में छूट गयी.

मैंने धीरे धीरे अपना हाथ ब्लाउज के अन्दर डालने की कोशिश की तो चाची जाग गईं और उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया.

मैं- ये दर्द बस कुछ देर का है, कल तेरी चूत फिर से लंड की ऐसे प्यासी हो जाएगी, जैसे उसे कुछ हुआ ही न हो. मुझे उसके लंड के सुपारे की गर्मी से लहर सी उठने लगी और और मेरी गांड का छेद खुल बंद होने लगा. मैंने डरते डरते उनसे कहा- उस दिन मैंने कुछ ग़लत बोला था क्या?चाची ने कहा- तुम नशा करके आए हो न!मैंने पहले तो कुछ नहीं कहा.