ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ

छवि स्रोत,देहाती चुदाई सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

नहाते हुए लड़कियां: ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ, कुछ देर बाद मुझसे रहा न गया तो मैंने उसका मुँह पकड़ा और अपने लंड को उसके हलक तक उतार दिया.

नंगी वाली फिल्म

रुबिका के कॉलेज जाते ही मैंने अपने भाई को बुला लिया और उन दोनों को अपनी नानी के यहां भिजवा दिया. सेक्सी बीपी वीडियो ओपनसर ने चाची की चुत में लंड डालते हुए कहा- शबनम मादरचोद कुतिया तेरी चुत बड़ी मस्त है … इसमें लंड डालने में खूब मजा आता है.

मेरा माल अब छूटने ही वाला था, तो मैंने कहा- मेरा माल छूटने वाला है. सेक्स मुंबई सेक्सबिखरे हुए बाल, सपाट माथे पर पसीने की कुछ बूँदें, शांत आँखें, कुछ जोर से चूमने से लाल हो चुके गाल और होंठ पर मंद मुस्कान।उसके चहेरे पर सम्पूर्ण संतुष्टि के ऐसे भाव थे जो उसे अब अपने पति(मौसा जी) से कभी नहीं मिलने वाले थे।मैंने अपने लौड़े से चूत के अंदर खटखटा कर उसकी तन्द्रा भंग की.

दीदी के ब्वॉयफ्रेंड ने दीदी को किस किया और उन्हीं के बाजू में लेट गया.ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ: लेखक की पिछली कहानी:साली की चुदाई करके उसकी इज्जत बचाईहैलो फ्रेंड्स, मैं स्नेहा.

लेकिन दोस्तो, मेरी कमज़ोरी … उसकी गांड के वो दोनों खरबूजे मुझे ललचा रहे थे, मेरा लंड खड़ा था.मम्मी ने उनसे पूछा कि वो भला कैसे?तब चाची हल्के स्वर में बोलीं- मैं अपने बेटे वीरू से अपनी प्यास शांत करवा लेती हूँ.

हिंदी x video - ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ

मेरी मां रज्जी मुझे मना करती रहीं लेकिन मैंने लंड का पूरा पानी उनकी चुत में छोड़ दिया.कुछ देर आराम करने के बाद हम दोनों ने पूरा घर ठीक किया और उधर से निकल आए.

थोड़ी देर बाद जब उसे अच्छा लगने लगा, तो उसने अपनी गांड उठा कर मुझे इशारा किया. ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ अब तक मैं भी उनके कमरे के बिस्तर पर नंगा लेटा हुआ अपने लंड को सहला रहा था.

वैसे भी वो नेहा की चूत चाट चुकी थी, तो लंड चूसने में उसको ज्यादा परेशानी नहीं हुई.

ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ?

रात को खाना खाने के बाद मैं अपने रूम में चला गया और वहीं से छिप कर पड़ोस का नज़ारा देखने लगा. एक घंटे बाद वो शाम के 5 बजे का समय था जब मैंने गीत के घर की बेल बजा दी थी. ममता चुत से मूत की धार गिराते हुए सोचने लगी कि क्या मैंने भैया से चुदवा कर सही किया … वैसे भैया की बात भी सही है.

हम तुम्हारे दोस्त विजय से चुदवाने जा रहे हैं, जेन्टलमैन है यार, ऐसे जेन्टलमैन से सील तुड़वाना हमको अच्छा लगेगा. हम दोनों की आवाजें सुन कर हिना की नींद खुल गई और वो आकर देखने लगी कि मैं उसकी बहन की गांड मार रहा हूँ. थोड़ी ही देर में उन्होंने मेरे कपड़े उतार दिए और मुझे एक फ्रेंची में कर दिया.

ये देख कर बंगालिन भाभी अपने दूध मसलती हुई बोलीं- काश मेरा कोई देवर होता तो मैं भी इतनी मस्त चुदाई का मजा ले लेती. उसने जैसे ही अपनी जीभ बाहर निकाली, मेरे लन्ड से तेज पिचकारी निकली और शीना की जीभ, होंठ, माथा, नाक सब जगह मेरे माल से लबरेज हो गए. कृति- आह … मेरे सरताज … अब मत तड़पाओ … उम्मह … मेरी चूत चोद दो … आह … मेरी कुंवारी चूत की सील तोड़ दो … आह.

चाची हंसती हुई बोलीं- कमाल है, आज तक मैं मालिश न करने के बहाने बनाती थी और आज तू मना कर रहा है … क्या बात है?मैं- अरे चाची क्यों मज़े ले रही हो … पहले ही मेरी हालत बहुत पतली हो गयी है. मैंने उससे कहा कि मुझे क्यों नहीं बताया?वो बोली- उससे तुम्हारा मजा ख़राब हो जाता.

वो मेरा पूरा वीर्य पी गई और अपने मुँह में लेकर कुछ वीर्य उसने मुझे भी पिला दिया.

चाची बोलीं- साले मादरचोद … पी जा सारा दूध … जैसे बचपन में पीता है भोसड़ी वाले आज जमकर चूत मार मेरी!चाची के मुँह से गाली सुनकर मेरे साथ साथ मम्मी की तबियत भी हरी हो गई.

मैंने बोला- आप परेशान ना हो मां, मैं आपको ये सारा मजा दूंगा … इसी लिए तो मैं आपको यहां लाया हूं ताकि आप ये सब देखो … फिर हम ये सब घर पर करें. मेरा लौड़ा साहिल की रंडी छिनाल अम्मी शन्नो को गपागप गपागप चोद रहा था. मैंने भी अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और हम साथ में निढाल होकर बेड पर गिर पड़े.

मां बोलने लगीं- अरे बेटा ये क्या किया … तूने मेरे बदन को भी तेल लगा दिया. उसी पल ममता का शरीर झटके खाने लगा और उसकी चूत ने ढेर सारी मलाई अपने ही भाई के मुँह में छोड़ दी. इस देसी सेक्स कहानी के पिछले भागबहन ने भाई को मुठ मारते देखाhttps://www.

वो बहुत भावुक हो गया और नशे में उसने मुझे बताया कि जिस लड़की से उसका रिलेशनशिप था, उसके मां-बाप ने उसकी शादी कहीं और कर दी थी.

दोस्तो, मेरा नाम राज शर्मा है और मैं मूलत: दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैंने उससे पूछा कि तू कहां है?वो बोला- यार हम सब आगरा आए हुए हैं, बस उर्वशी ही घर पर है. मैं अभी बच्चा करना नहीं चाह रही थी क्योंकि मैं अभी अपनी जवानी के मज़े लूटना चाहती थी.

मैंने उसे ऐसे ही बिस्तर पर डाल दिया और बॉडी आयल की शीशी लेकर उसके सफेद गोरे जिस्म की मालिश करने लगा. फिर भी मैंने नाराजगी जताते हुए सवाल किया- आपने यहां हाथ क्यों लगाया?वे कुछ नहीं बोले. होंठों पर लाली, कानों में बालियां, सफेद रंग की टाइट कुर्ती, लाल दुपट्टा जो गले में लपेट रखा था.

जेठ जी की कहानी के पहले भागअपने जेठ जी से चुदाई का मजा लियामें आपने पढ़ा कि मेरी जेठानी की डिलीवरी के समय वो अस्पताल में अपनी अम्मी के साथ थी.

उसको दूध दबवाने में दर्द हो रहा था, इसलिए वह बोली- यार, जोर से मत दबाओ ना … दर्द हो रहा है. उसने मम्मी की सिगरेट को सुलगाया, तो मम्मी बड़े ही अनुभवी अंदाज से सिगरेट फूँकने लगी.

ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ कुछ देर ऐसे ही उसका लंड चूसने के बाद मैं सीधी लेट गई और उसने अपना लंड मेरी चुत की फांकों पर रगड़ना शुरू कर दिया. सर बोले- साले चल आ जा … आज तू भी अपनी चाची की जवानी का स्वाद चख ले.

ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ ये मेरा अपना गुस्सा दिखाने का तरीका था क्योंकि ये तो मुझे पता था कि आज चाहे जो हो जाए, पूनम बुआ मेरे लंड का पानी अपनी चुत में जरूर लेंगी. वो अपनी दोनों टांगें मेरे दोनों तरफ डालती हुई मेरे बुल्ले पर अपनी चूत सैट करके बैठ गईं और मुझे बांहों में कस लिया.

कुछ ही मिनटों में ममता थोड़ी शांत हुई, तो अभय ने एक और तगड़ा झटका लगा दिया ममता की चूत चीरते हुए, आधा लंड ममता की चूत में फंस गया.

न्यू हिंदी में सेक्सी

मैं तो मस्ती से पागल सी हुई जा रही थी, मैंने अपनी ब्रा का हुक खुद ही खोल दिया और अपने बाल भी खोल दिए. फैंटेसी सेक्स स्टोरी के अगले भाग में आपको मैं अपनी मॉम की चुदाई की कहानी लिखूंगा. हरीश उसकी चूचियों को दबा रहा था और बारी बारी से दोनों आम चूस रहा था.

कामिनी की चूचियां मसलते हुए चोदना तेज़ कर दिया और पूरे कमरे में थप थप आह और गालियां गूंजने लगी।अब मैंने उसे लंड मैं बैठने को कहा वो तुरंत मान गई।और मेरे लौड़े पर अपनी चूत रखकर बैठ गई, लंड सट्ट से अंदर चला गया. मैंने हिना के करीब जाकर उसके होंठों पर किस किया और बाहर आ कर बैठ गया. वो अपनी अम्मी को कैसे चोदेगा!मैंने कहा- मेरी शन्नो कुतिया छिनाल … किसी दिन उसे भी हमारी चुदाई की क्लास दिखा दे, फिर शाय़द कोई बात बन जाए.

फिर एक रात को जब मुकेश पूरे नशे में मुझसे लिपटने लगा तो मैंने अपनी अदाओं से उसको खूब रिझा लिया और उसके सीने पर हाथ फेरती हुई बोली- जान, ऊपर के पोर्शन का काम कितना बढ़िया हुआ है.

उन्होंने अपने होंठों को मम्मी के होंठों पर रख दिया और मम्मी के दूध दबाने लगे. उसने मेरे फोन का उत्तर न मिलने के कारण मेरे ऑफिस में मेरे कुलीग को फ़ोन करके पूछा कि मैं कहां हूँ. फिर उसी नंबर से दूसरा मैसेज आया- सॉरी, आपको गलती से मैसेज चला गया है.

अब मैं दीदी की चुत के पास मुँह करके लेटा था और मेरा लंड दीदी के मुँह के पास था. आज एक अनजाने डर के कारण मैं जल्दी झड़ गया था, उसको भी ज्यादा मजा नहीं आया था. मॉम सन हॉट सेक्स स्टोरी के पहले भागविधवा मां का नंगा जिस्म देखा तोमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी मां ने गर्मी लगने का बहाना करके अपने पेटीकोट को उतार दिया था और मैं उन्हें सिर्फ पैंटी में देख कर गर्मा गया था.

‘पुच … पुच … उंग … गूं गूं …’ जैसी आवाजें आ रही थी, जिससे अनुमान लगाया जा सकता था कि चूत और चूचियों के साथ लंड की भी चुसाई हो रही थी. फिर उसने अपने दोनों हाथ मेरे पैरों के बीच बेड पर टिका दिए और कमर को उठा उठा कर आगे पीछे करते हुए चुदाई करने लगी.

दो तीन धक्कों के बावजूद मेरा लण्ड अन्दर नहीं गया तो मैंने अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर जया की बुर में पेला और धक्के शुरू किये. फिर खाना खाकर मैं अपने कमरे में आ गया।शाम को जब भैया आए तो भाभी अपनी चूत चुदाई के लिए मरी जा रही थी. पापा जी, ये भी कोई कहने वाली बात है?” वो अचार का जार अपनी छाती लगा कर बोली.

उधर मेरा काम भी बढ़ने लगा।नवम्बर का महीना आ गया था और उसमें नीता के मामा की लड़की की शादी थी.

मैं लगातार सिसकार रही थी- आह्ह … जेठ जी … आह्ह … हाय … लंड … आह्ह … ऊई … मेरी चूत … आह्ह … ओह्ह … चुद गयी … आह्ह।इधर जेठ जी मेरे पुट्ठों को पीटने लगे और कमरे में मेरी चीखें और चट चट की आवाज सुनाई देने लगी।वे बोले- शबनम मादरचोद रंडी … साली तू बहुत चुदासी औरत है।मैंने अपने हाथों से अपने मम्मों को निचोड़ना शुरू कर दिया और बोली- और तेज जेठ जी … और तेजी से चुदाई करो, मजा आ रहा है. कुछ दूर आगे जाकर रास्ते में कच्चा रास्ता था और बीच में बालू पड़ी हुई थी, जिस पर सामान्य गति से गुजरने के कारण मेरी बाइक का संतुलन बिगड़ गया और हम लोग गिर गए. तू मेरी बुर चोदो साले मादरचोद भड़वे … आज चोद डाल अपनी मां चोद दे भोसड़ी वाले.

साली सामने नंगी बुर चुदने को तैयार पड़ी थी तो मैं भी लंड खड़ा करने के लिए उसके ऊपर चढ़ गया; उसके पूरे शरीर में चुम्बन किए और उसके मम्मे दबाने लगा. दादाजी- सुन री रंडी … ज़रा अपनी जवानी के रंडी वाले किस्से तो बता राजेश को.

मेरे पापा कहते थे कि जब बेटे का पैर पापा के जूते में आने लगे, तो बेटा पापा का दोस्त बन जाता है. डाल दो अपना लन्ड मेरी बुर में, अब बर्दाश्त से बाहर है!मैं- इतनी भी क्या जल्दी है मेरी जान, अभी और मजे लो चुदाई से पहले के!यह बोलकर मैं बेड से नीचे उतरा और शीना को घोड़ी बनने को कहा. इस बार मैं पिघल गया और मैंने मैसेज किया- गीत, मैं 15 मिनट में तुम्हारे घर आ रहा हूँ.

कोरोना सेक्सी

इस पर मैंने हैरानी जताते हुए उनसे कहा- भाभी मैं कुछ समझी नहीं!उन्होंने मुझसे कहा- अगर तुम किसी से जिक्र ना करो, तो मैं तुम्हें कुछ बताना चाहती हूँ.

मैं जब भी अपनी छत पर टहलने या हवाखोरी के लिए जाता तो गुप्ता जी की किरायेदार कॉलेज स्टूडेंट्स से सामना हो जाता. मैंने उन्हें गहरी नींद में सोते हुए देखा तो मैं थोड़ा ऊपर को खिसक गया था. अम्मी अभी 38 साल की ही तो है … तुझे मादरचोद बनने में भी बड़ा मज़ा आएगा.

एक दिन मैंने पड़ोस वाली भाभी को फोन किया और उनसे कहा- भाभी आप क्या कर रही हैं अभी?भाभी बोलीं- कुछ नहीं, फ़ालतू बैठी मोबाइल चला रही हूँ. मेरी गर्लफ्रेंड अपनी बहन के यार से भी चुदती थी तो मैंने उसकी बहन चोद दी. मराठी आंटी का सेक्स वीडियोइसलिए तुझे जितना उछलना है, उछल ले!शायद उसने शिलाजीत या कोई दवाई ली हुई थी और आज वो पहले से मेरी लेने के मूड में आया था.

वो मेरे ऊपर लेट गया और हाँफने लगा।हम दोनों ने चरमोत्कर्ष प्राप्त किया और मंजिल को पार कर गये।दस मिनट बाद भाई मेरे ऊपर से उठ गया और नीचे मेरी चूत को देखने लगा।चूत में से खून और वीर्य दोनों बह रहे थे।वो बोला- दीदी, आपकी चूत से खून निकल गया. अपनी बेटी के प्रेमी के लंड से चुदने के बाद मैंने अपने कपड़े पहने और चलने को तैयार हो गई.

मैंने शहज़ाद की मम्मी को फ़ोन करके बोला कि मेरे शौहर दो दिन के लिए बाहर चले गए हैं, तो हम लोग रात में अकेले हो जाते हैं. वो बोली- राज ऐसे ही चलो … बेडरूम में तो वैसे भी तुम नंगे बदन ही रहोगे. कुछ देर यूं ही चोदने के बाद मैंने लंड निकाल लिया और शन्नो को लिटा कर उसके ऊपर चढ़कर चोदने लगा.

उन्होंने मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया और ताबड़तोड़ चुदाई करने लगे. अब मुझे इंतज़ार था कि कब पूनम मेरे लंड रस को अपने मुँह में निगलेंगी. मॉम फोन पर बोलीं- अपने यार से चुदवाने आई हूँ, आप तो अब मुझे चोद ही नहीं सकते ना.

लेकिन भाभी जी को चुत पर मेरे लंड का स्पर्श हुआ, तो वो पीछे को खिसक गईं– आरुष, प्लीज डोन्ट डू दिस.

बुआ सेक्स स्टोरी में आगे बढ़ने से पहले दोस्तो से अनुरोध है कि अपने लंड को अपने-अपने हाथों में धारण करें और भाभियों से प्यार भरी गुज़ारिश है कि वे अपनी मुनिया को ज़रा मुट्ठी से मसल कर तैयार होने का इशारा जरूर कर दें क्योंकि आपका प्यारा देवर राहुल (यानि मैं) कभी भी आपकी चुत के होश उड़ाने आ सकता है. अब तो कुछ ना कुछ जुगाड़ लगा कर मां की भोसड़ी देखना पड़ेगी … चाहे जैसे भी.

फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुर में धक्का देना शुरू कर दिया. मैंने उसको समझाया, तो वो यही बोल रही थी कि कोई मुझे प्यार नहीं करता, सब लोग मुझे इग्नोर करते हैं. रात को खाना खाने के बाद मैं अपने रूम में चला गया और वहीं से छिप कर पड़ोस का नज़ारा देखने लगा.

मैं उनके पीछे से देख रहा था और मैंने पीछे से ही उनके कंधे पर सर रखा था. हम उस लड़की हुर्रेम को तो नहीं देख पा रहे थे, पर इतना तो समझ ही गए थे कि वो हुर्रेम राहुल का लंड निकाल कर चूस रही है. मेरे बेटे की अभी कम उम्र थी, सो मैंने उनके साथ नहीं जाने का फैसला किया था.

ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ फिर हम सुबह के समय सड़क पर अंधेरे का सहारा लेकर किसी कोने में भी सेक्स करने लगे. कुछ ही पलों में मैंने उसका ब्लाउज उतार दिया और उसके संतरे चूसने लगा.

सेक्सी सेक्सी फिल्में दिखाएं

जैसे ही मैं मामी जी के ऊपर आया, उन्होंने अपनी जांघों को फैला दिया, जिससे मेरा लंड मामी जी की चुत की फांकों से टकरा गया. सेक्स कहानी के अगले भाग में जमीला की चिकनी चुत में मेरा लंड किस तरह से घुस सका, ये लिखूंगा. इस तरह हम दोनों तैयार होकर कमरे से निकले और वहीँ होटल के रेस्टोरेंट में लंच कर टैक्सी लेकर ताजमहल देखने निकल लिए.

फिर एक जोर का धक्का दे दिया, जिससे दर्द के कारण उनके मुँह से आह की आवाज निकल पड़ी. अगले दिन मैंने शीना को कैसे चोदा और कितने दिन चोदा … ये सब आपको थोड़े दिन बाद बताऊंगा. দেওর বৌদির চূদাচূদিममता- क्या सोचने लगी मेरी जान?मैं- कुछ नहीं यार बस यूं ही, तो फिर ये इतने पपीते बड़े कैसे हो गए … बिना किसी के दबाये और मसले.

वो भी प्यार की सिसकारियां लेने लगी- आह आह उई ऊह हां हां ओह आआ!इसी के साथ ही अपनी चूत की फांक के ऊपर उंगली से दाने को रगड़ने लगी.

थोड़ी देर बाद मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आया. मुझे भी कृति चाहिए थी, तो मैं सूर्यभान से सहमत हो गया और हम दोनों रणनीति बनाने लगे.

होंठों पर लाली, कानों में बालियां, सफेद रंग की टाइट कुर्ती, लाल दुपट्टा जो गले में लपेट रखा था. यह बात तब की है, जब अमित ने बोला था कि चलो डॉक्टर से सलाह ले लेते हैं कि तुम अभी मां बनने के लिए तैयार हो या नहीं. वहां मेरा ये काम था कि उस बाहर वाले काउंटर से एक बार में दस पर्चे लाना और फिर एक एक को बुला कर डॉक्टर साहब से मिलवाना.

कितना दर्द हो रहा मां … हाय मां कितना मोटा लंड है भैया का … इतना बड़ा गदहे जैसा लंड और कहां मेरी कमसिन चूत … आह मर गई रे.

थोड़ी देर बाद मैं चाची से अलग हुआ और बोला- चाचीजान, आपकी चुदाई में मजा आ गया. यूं ही हाथ फिराते हुए मैं अपने हाथ मां की पैंटी के अन्दर ले गया उनकी गांड के छेद को टटोलते हुए उनकी गांड को उंगली से सहला दिया. दीदी की सफाचट चुत देख कर मुझे समझ आ गया कि दीदी ने आज ही अपनी चुत की झांटें साफ़ की थीं.

सेक्सी वीडियो हिंदी में ब्लू फिल्ममीरा किसी अनुभवी चुदक्कड़ रंडी की तरह रीमा की जवान चुत चूसने और चाटने लगी. मैंने उसकी साड़ी, पेटीकोट और पैन्टी उतारी और उसकी चिकनी चूत देखकर बावला हो गया.

सेक्सी वीडियो अमेरिकन सेक्सी वीडियो

अब वो बोलीं- क्या बोले आप?बस मां ने मेरे गले में हाथ डालकर मुझे अपने मम्मों से चिपका लिया. साथ ही उन्होंने शॉवर चालू कर दिया और गिरते पानी में गांड मारने लगे. वो दोनों बस दिखने में अच्छी थीं, हमें लग रहा था कि उसमें शायद एसी भी होगा.

लेखक की पिछली कहानी:साली की चुदाई करके उसकी इज्जत बचाईहैलो फ्रेंड्स, मैं स्नेहा. उन्होंने अपने होंठों को मेरे होंठों से हटाया और उनके मुँह से ‘अह्ह्ह …’ निकल गयी, उनके पैरों की जकड़ ढीली हो गई. फिर उसको साफ करने के लिए बाथरूम ले गया और वहां पर उसकी सफाई करते करते लंड एक बार फिर से खड़ा हो गया वो भी लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद वो झड़ गईं और उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया. उसकी मम्मी ने चौंक कर पूछा- क्या हुआ?मैं वहीं बैठा सभी बातें सुन रहा था क्योंकि फ़ोन स्पीकर पर था. इस बार मेरा आधे से ज्यादा लंड चुत के अन्दर पेवस्त हो गया था और उसकी सील फट गई थी, जिससे खून की गर्म धार मुझे मेरे लंड पर महसूस होने लगी.

मैंने उसका गाउन ऊपर किया और ब्रा का हुक खोल कर उसके दूध दबाने शुरू कर दिए, निप्पल दबाने लगा. अब मैं फिर से चाची के मम्मों को नजरें चुरा कर देखने लगा था; मैं पहले जैसा माहौल भी बनाने लगा था.

एक बहुत ही कामुक किस्म की औरत हूँ मैं! शादी के पहले मैंने अलग अलग तरीकों से बहुत मजे लूटे.

हम दोनों रोज सुबह अंधेरे में किसी कोने में कभी चूमाचाटी करते … तो कभी मैं उसके बूब्स दबाता, चुत को सहला देता या कभी वह मेरा लंड चूस देती. एचडी देसी सेक्सी वीडियोपन्द्रह मिनट तक इसी पोजीशन में सेक्स करने के बाद हम दोनों ने खड़े होकर सेक्स किया. रिकॉर्डर वीडियो सेक्समैंने मुख में डालकर उसका लंड चाटकर पूरा साफ किया।कुछ देर चूमते सहलाते हुए हम लेटे रहे. मैंने शीला आंटी के घर से कुछ दूरी पहले ही बाइक बन्द कर दी थी ताकि किसी को शक न हो.

पहले मैंने मीना की चुत से टपकते हुए योनिरस से अपने लंड को फिर से गीला किया.

सागर पूरा मर्द था, दूर दूर तक उसके झड़ने का नाम नहीं था।थोडी देर बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और एक हाथ मेरी पैंटी के ऊपर रख कर उसे सहलाने लगा और एक चूचे पर रख दिया. वो बेहाल हो गई, तो मैंने लंड निकाल कर चूत में घुसा दिया और उसकी चूचियों को दबाने मसलने लगा. कभी सोचा नहीं था कि सेक्स भी इतना रोचक, रोमांचक और कामुक हो सकता है.

मैंने पूछा- ऐसा क्यों?वो बोला- वो तुम्हारी जांच के लिए ऐसा कह रहा था. थोड़ी देर के बाद रमेश ने दीदी के दोनों दूध पर चांटे मारे और उन्हें लाल कर दिए. आंटी बोलीं- रात को इतना चोद लिया … फिर भी तेरा मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- आपको मजा आया?आंटी बोलीं- हां बहुत मजा आया.

सेक्सी मोटी गांड वाली आंटी

मैंने उसे थैंक्स कहा और बोली- अब तुम नहा आओ, फिर ड्रिंक एन्जॉय करते हैं. करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैं और मीना एक साथ में ही चिल्लाते हुए झड़ गए. वो फिर थोड़ा बन कर बोली कि अब तो मेरी मम्मी ने भी बोल दिया है कि मुझे जो चाहिए, वो तुम दे देना.

वो पागल हुई जा रही थी; उसकी मादक आवाजें पूरे कमरे में गूंज रही थीं.

नहीं तो मेरा लंड खड़ा हो गया, तो इस बार तेरी बुर का भुर्ता बना दूंगा … समझी!इतना कह कर अभय ने ममता को अपनी बांहों में भर लिया और कहा- गुड नाईट माय स्वीट डार्लिंग.

और उसने चुदाई की गति बढ़ा दी।वो धीरे धीरे आधे से ज्यादा लंड निकालता और फिर झटके से पूरा अंदर तक डाल देता।उसका हर झटका मुझे ऊपर को हिला देता और मेरे मुंह से आहह … अहह … आहह … आई … आई … स्सस्सी … स्सस्सी … स्सस्सी … आहह … अजय निकलने लगी।ऐसे ही वो मुझे 4-5 मिनट तक चोदता रहा और फिर थोड़ी देर बाद रुक गया और हांफते हुए सांस भरने लगा।अब तक मेरा दर्द भी काफी कम हो गया था और हल्का हल्का मजा भी आने लगा था. आप सभी लोग अपने प्यारे सन्देश मुझे[emailprotected]पर भेजें।अब आप सभी मुझसे अपने विचार फेसबुक पर भी साझा कर सकते हैं।माउथ सेक्स कहानी का अगला भाग:मौसी की जेठानी की प्यास बुझाई- 5. ब्लू सेक्सी नंगी सीनउन्होंने मुझे चूसते रहने के लिए बोला तो मैंने चूसना जारी रखा।10 मिनट चूसने के बाद वो फिर पहले की तरह सख्त हो गया।इस दौरान उन्होंने मेरी चूत चाट चाटकर एक बार और पानी निकलवा दिया।अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा था।मैंने उनसे कहा- प्लीज पापाजी, अब रहा नहीं जा रहा.

एक दिन मैंने उससे मिलने की इच्छा जाहिर की तो उसने मुझे हां बोल दिया. मैंने उसकी चैट खोली, तो राजू उसे मूड में होने पर अपने लंड का फोटो सेंड करता था. मैं नॉनवेज नहीं खाती हूँ इसलिये अगली बार मैं मना कर दूंगी और जीनिया तुम्हारे साथ अकेले जाने लगेगी, आगे तुम समझना.

अब तो मैं बाथरूम की जगह बिस्तर पर ही मुठ मारने लगा और सुबह जब मां उठ कर मेरा माल देखतीं, तो मुझसे नज़रें चुरा कर काम करती रहतीं. हम दोनों जैसे ही स्टोर रूम में पहुंचे, मैंने दीदी को कस कर पकड़ लिया और किस करने लगा, उनके मम्मों को दबाने लगा.

हालांकि मुझे भी यह बात अभी तक पता नहीं चल पायी है कि मैं किसके बच्चे की मां हूँ.

बाहर से ममता ने अपने होंठ गोल करके सीटी बजाई, तो मंजू पलट कर खिड़की की ओर देखा. मेरे होंठों को चूसते समय उसका सीना मेरे मम्मों पर आकर दबाव डाल रहा था, जिससे मेरी मस्ती दोगुनी हो गयी थी. भाभी का दोस्त मेरे साथ था और चुदाई से पहले की चूमा चाटी शुरू कर चुके थे.

ससुर ने बहु की चूत चोदी वो मेरी दीदी के बदन के साथ खेलने लगा और मेरी दीदी चुदने के लिए गर्म होने लगीं. वर्तमान में कोरोना के वजह से किसी अजनबी की मदद कोई भी नहीं करने को राजी था.

सुबह जब मैं उठी, तो मेरा गाउन मेरी जांघों पर चढ़ा हुआ था और गाउन के ऊपर के बटन खुले होने से मेरी चूचियां आजाद कबूतरों की भांति खुली हुई थीं. फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रखा, वो डर गई और बोली- इतना बड़ा और मोटा लंड मेरी छोटी सी चूत में कैसे जाएगा … मैं तो मर ही जाऊंगी. उसने मेरी तौलिया निकाल अलग फेंक दी और मेरी एक टांग उठा कर किचन की स्लैब पर रख कर मेरी चूत में लंड पेल दिया.

बी ए पास सेक्सी वीडियो

मेरी चुत का स्पर्श पाते ही अंकल ने अपने एक हाथ को मेरी गांड पर रख दिया और उसे मसल दिया. उसकी आंख से आसू निकल रहे थे, खून की कुछ बूंदें उसकी चूत से निकल कर मेरे लंड और वृषण से होते हुए नीचे टपकने लगी थीं. दादा जी ने मेरी मॉम को अपने पास बुलाया और उनसे कहा- सुनो बेटी रश्मि, यहां बैठो, हमें तुमसे कुछ बात करनी है.

उनका टोपा धीरे से मेरी गांड में घुस गया और मेरी हल्की सी चीख निकल गयी. कुछ देर बाद दीदी को आराम पड़ गया और अब वो मस्ती से मेरा साथ देने लगी थीं.

मैंने कहा- साली ले मेरा लौड़ा … तुझे बहुत चुदवाना था … आज चोदता हूं.

आपको यह ग्रुप में ओपन सेक्स की कहानी कैसी लग रही है?आपकी प्यारी मनीषा भाभी[emailprotected]ग्रुप में ओपन सेक्स की कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी ने मेरी अन्तर्वासना को समझा- 3. उसने सर हिलाया और पहले ने मेरी चुत पर अपना लंड लगाकर एक धक्के से उसे अन्दर डाल दिया. मैं समझ गया ये मुझे स्नैक्स ना देकर मुझसे अपनी चुत चटवाना चाहती हैं.

वो आगे बोली- तुम अपना लंड हिला कर खड़ा कर लो और आ जाओ बिस्तर में … मैं चुदने को तैयार हूं. मेरी यह सेक्स कहानी शत प्रतिशत सच है … और सारी बातें एकदम सही लिखी गयी हैं. वो हंसने लगीं और कहने लगीं- बेबी तुमको जैसे अच्छा लगे … तुम बस वैसे ही एन्जॉय करना.

उस दिन रात को मैंने रीना के नाम की दो बार मुठ मारी और रात को मेरी और रीना की मैसेज पर बहुत सारी बातें हुईं.

ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफ: मैंने उससे कहा- तुम चिंता न करो आज से वो तुम्हें परेशान तो क्या … तुम्हारे आस-पास दिखाई भी नहीं देगा. ममता- क्या कह रहे हो आप मतलब मौसी, मौसा, मामा, मामी बुआ, फूफा और मां पिताजी सब मिल कर चुदाई करते हैं.

मैं भी अब जोश में आ गया और बोला- तेरा तो कब से नहीं है … साली अब तो तू मेरी रखैल है … रंडी है … मादरचोद रंडी ले लंड खा … तेरी बड़ी गांड और चुचों को देखकर तो पहले भी चोदने का मन था … और उस पर साली मादरचोदी झुक झुक कर मुझे तू अपने बूब्स दिखाती थी … ले लौड़ा खा … रंडी साली. भाभी इस पोज में उन दोनों मर्दों को सैंडविच चुदाई का भरपूर मजा दे रही थीं और खुद भी बहुत मजा ले रही थीं. कुछ देर के रसमय चुम्बन के बाद जैसे ही पूनम बुआ को बच्चों की याद आयी, तो उन्होंने खुद को पीछे खींचते हुए मुझे बराबर के कमरे में पढ़ रहे बेटे की याद दिलाई.

धकापेल चुदाई होने लगी और अब उसकी सिसकारियां और थपाथप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था.

थोड़ी देर बाद चाची सिसयाने लगीं- आहहह इस्स आह आह ऊऊ आआ आअह्ह!मैंने चाची के मम्मों को निचोड़ना शुरू कर दिया और चुदाई की स्पीड बढ़ा दी. झड़ कर शहज़ाद ने अपना सारा वीर्य रुबिका को पिला दिया और दोनों थक कर लेट गए. दीदी- आआह साले बेदर्दी धीरे चोद हरामी … मार दिया कुत्ते ने उफ्फ!कुछ देर के दर्द के बाद दीदी को मजा आने लगा और वो रमेश का साथ देने लगीं.