इंडियन बीएफ आंटी

छवि स्रोत,बुधवार पेठ पुणे सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

मेरी लुल्ली से खेल: इंडियन बीएफ आंटी, मेरा बचा हुआ पूरा 5 इंच का लंड उसकी सील को तोड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

सीमा भाभी के सेक्सी वीडियो

अब स्नेहा रोने लगी थी और कह रही थी- मुझे दर्द हो रहा है सोनू, आज छोड़ दो, फिर कभी कर लेना!मगर मुझे पता था कि आज अगर छोड़ दिया तो दोबारा कभी मौका नहीं मिलने वाला मुझे… तो मैंने फिर उसे ज़मीन पे लेटने के लिए कहा और उसके ऊपर आ कर फिर अच्छे से अपना लन्ड सेट किया और जोर लगाया. सेक्सी वीडियो पनेहा दीदी ने मेरी बांह पर हाथ फेरते हुए कहा- क्यों नहीं है? तुम तो इतने हॉट लड़के हो.

और मैंने उनकी चूतड़ में लंड डाल कर ज़ोर ज़ोर से धक्का देने शुरू कर दिए, वो अपनी चूतड़ उठा उठा कर चुदने लगी. सेक्सी शॉर्ट वीडियो ओपनमम्मी लगातार सैंडल से बियर चाट रही थी!अब मैं उठा और शिवानी को अपनी गोदी में बिठा लिया और मम्मी को कहा- प्रभा रांड अब तू उठ के बैठ जा!मैंने अपनी बहन शिवानी की पैंटी उतर दी और मम्मी को कहा- तेरी जवान बेटी की पैंटी है, इसे सूंघ और चाट अच्छे से!इतना कहते ही शीतल ने अंजलि की चड्डी भी उतार दी और मम्मी को दे दी और दोनों चड्डी में बियर उड़ेल दी.

मैं बोला- आपने सॉरी क्यों कहा?तो वो कुछ देर कुछ नहीं बोली और फिर मुस्कुरा कर बोली- आपको कहाँ जाना है?मैंने बता दिया कि घर जा रहा हूँ.इंडियन बीएफ आंटी: फिर से मनोहर मेरे बालों को पकड़ कर जोर से जितनी ताकत थी, उस पूरी ताकत से मेरी चूत में अपना लंड घुसा दिया.

लेकिन असल में तो मैं जानती थी कि मैं अपनी मर्जी से यहा जीजा के साथ अपनी बुर चुदवाने ही आई हूँ.फिर हम लोगों ने गाड़ी पार्क की और जाकर दोनों से मिले, हेलो की और फिर बात को आगे बढ़ाया.

देशी सेक्सी विडियो डाउनलोड - इंडियन बीएफ आंटी

उसकी माँ की चुत को गीली देख कर मैं सीधा मुठ मारकेमाँ की चूतचाटने लगा.रात को खाना खा कर उनके घर गया और उस रूम में सोने गया, जिसमें आंटी और अंकल सोया करते थे.

जब दिल की धड़कनें और साँसें सामान्य हो गयीं तो मैंने उठ कर स्थिति का मुआयना किया. इंडियन बीएफ आंटी उन्होंने कसमसाते हुए मुझसे छूटने का ड्रामा किया और अंततः मेरा साथ देने लगीं.

तभी एक दिन मैंने राजेश को, घर के बाहर जो हमारे खेतों में मोटर है, उसको वहां नहाते हुए देखा.

इंडियन बीएफ आंटी?

मेरी तकलीफ असहनीय थी, मैं मन ही मन सोच रही थी कि मैं यहाँ क्यों आयी. दोस्तो ऐसे ही मैंने भाभी की कई बार चुदाई की और वो भी काफ़ी अवस्थाओं में चुदाई की. इधर एकता पूरा आठ इंच का अपनी गांड की टाईट घाटी में लेने में लगी हुई थी.

सोनिया की इन हरकतों की वजह से पापा मम्मी बहुत परेशान रहते थे और डरते थे कि कहीं छोटी लड़की भी उसके नक़्शे कदम पे न चल पड़े. अगले राउंड में कौन इसको सबसे पहले चोदेगा और कौन सा सबके बाद चुदाई करेगा. अब मैं ज़ोर ज़ोर से उनके मम्मों को दबाने लगा और उनके निप्पलों को चूसने लगा.

मैं जल्दी से बाथरूम के पास गया तो देखा वो थोड़ी भीगी हुई फर्श पे गिरी पड़ी थी और दर्द से कराह रही थी. और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी. उसका घर, न्यू फ्रेंड कॉलोनी में शानदार कोठी थी, मेरे लिए कॉफी वो खुद लायी और नौकरानी को भेज दिया कि हम आज बाहर खाएंगे.

उसके लंड में इतना दम न हो या उसका साइज़ इसके जैसा न हो तो फिर तुझे मजा नहीं आएगा. तभी अंकल मेरे पीछे गांड पर अपना लन्ड रगड़ने लगे और जैसे ही मेरे पीछे उनका लन्ड छुआ, जाने कैसे मैं मदहोश सी होने लगी.

अगर उसकी एक तरफ से तारीफ़ करने बैठ जाऊं तो सेक्स स्टोरी के लिए भी जगह नहीं बचेगी, इसलिए उस रूप की रानी कह कर आगे की दास्तान का मजा लेते हैं.

क्योंकि जब माल चुत में गिरता है, मज़ा तभी आता है और उसके बाद वो बाहर अपने आप ही आ जाएगा.

वो मुझसे बोली- ओह राज, कितने दिन से मैं इस खुशी के लिए तरस रही थी, जो मुझे आज तुमसे मिली है, क्या तुम आगे भी मुझसे मिल सकते हो?मैंने भी हाँ कर दी क्योंकि मुझे पहली बार किसी लड़की के साथ ये मौका मिला था तो उसे गँवाना नहीं चाहता था. करीब 3-4 मिनट तक आंटी ने मुझसे छूटने की कोशिश की पर मेरे लगातार होंठ चूसने चूचियां दबाने से शायद आंटी गर्म हो रही थी तो उन्होंने मेरा साथ देना तो शुरू नहीं किया पर विरोध बंद कर दिया. मैनेजर ने कहा- हमारे सैलून में तुमसे अच्छा बॉडी मसाज कोई नहीं कर पाता, तुम छोड़ दोगे तो बहुत नुकसान हो जाएगा.

मेरे दोस्त का तो पहले से सब सेट किया हुआ था, मैंने अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को भी चोदा था और मेरे लिए लाने के लिए बोला था तो वो अपनी सहेली को ले आई थी. मित्रो नमस्कार … मैं ज्ञान, 25 वर्षीय हाज़िर हूँ इलाहाबाद यू पी, से अपनी दूसरी कहानी ‘प्यासी भाभी को रफ सेक्स की चाहत’ लेकर … मेरी पहली कहानीदोस्त की भाभी ने चूत की पेशकश कीको आपने बहुत प्यार दिया,आशा और विश्वास है कि आपका स्नेह एवं प्यार यूँ ही मुझे मिलता रहेगा. मैंने कहा- फिर कपड़े उतारने में भी पहल करो मम्मी जी!इतना सुनते ही मेरी सासू माँ हंसने लगी और बेड से उठ कर लाइट जगा दी रूम की और अपने कपड़े उतारना शुरू किया.

कहानी के बारे में अपनी राय से मुझे अवश्य अवगत करायें। मेरी मेल आईडी है.

मैंने उसकी चुत में जरा सा तेल डाल दिया और एक उंगली चूत के अन्दर डाली. मैंने उन्हें नहीं छोड़ा, मैं उनके होंठ चूस रहा था और उनकी चूचियां भी दबाने लगा. जब मैं उनके रूम में वापस आया तो भाभी मुझसे चिपक गईं और ज़ोर से अपनी बांहों में मुझे भर लिया.

और वो लंड भी किस काम का जो इतनी छोटी उम्र की लड़की की चूत ना फाड़े. जब वो वापस कमरे में आयी तो काफी खूबसूरत लग रही थी, उसने गुलाबी कलर की टॉप और गुलाबी कलर की ही कैपरी पहनी हुई थी. क्योंकि जिसके बारे में लिखा हुआ होता है, उसकी गोपनीयता भंग हो जाती है.

क्या ज़बरदस्त चुदक्कड़ थी मेरी ये हरामज़ादी साली! क्या धक्के लगाती थी!! क्या सीत्कारें भरती थी!!! सुभानअल्लाह!!!!मित्रो, मुझे आशा है कि मेरी साली की चूत चुदाई का यह वृतांत आपको अच्छा लग रहा होगा.

तभी आंटी की आवाज आई- शब्बो बेटा, तुम्हारे अब्बू की दवा कहां पे है, आके जरा दे दो. उसने मेरी तरफ देख कर आँख बंद कर लीं और मुस्कुराते हुए अपना पैर मेरे पैर से सहलाने लगी.

इंडियन बीएफ आंटी लेकिन वायदा करो कि अब कभी दोबारा ऐसा नहीं होगा, तो ही मैं किसी को नहीं बताऊंगी. जैसे ही उसने मेरे चेहरे को हाथ लगाया वो समझ गयी कि मैं संजू नहीं हूँ, राज हूँ क्योंकि संजू ने दाढ़ी मूँछ रखी थी और मैं बिल्कुल चिकना बन कर गया था.

इंडियन बीएफ आंटी दस मिनट की चुदाई के बाद बड़ी चाची ने छोटी चाची को जोर जकड़ लिया और अपने दाँतों को भींचने लगीं. उसके मम्मों और चूतड़ों पर हाथ फिराया, उसे गोद में बैठा कर प्यार किया और उसके गालों पर हाथ रखकर पूछा- ज्यादा दर्द हुआ?उसने हाँ में सिर हिलाया.

कोमल भाभी ने मुझसे अपनी सहेलियों को भी चुदवाया, जिन्हें चोद चोद कर मैं जिगोलो (प्लेबाय) बन गया.

राजस्थानी छोटी लड़की सेक्सी वीडियो

’मैं- तूने ही तो कहा था कमीनी रंडी इनका कीमा बना दो… तो बजा दिया रानी का हुक्म. मैंने भी खुद को उसे सौंप दिया और अगले कुछ ही पलों में उसके सामने नंगी होकर बिछ गई. तब चाची बोलीं- अबे यार, कितने फट्टू हो तुम…तो मैं बोला- मतलब?मतलब ये कि तुम्हारी मामी ने तुमसे कुछ भी उल्टा सीधा झूठ बोला और तुम सच समझ बैठे?”तो मैं बोला- डिटेल में बताएंगीं?तब मामी बोली- अबे मूर्ख मैंने झूठ कहा था कि पिछले दरवाजी की चाबी मेरे पास है और तूने सच मानकर सब बक दिया.

चुम्बन करते समय मैं अपने दाएं हाथ से उनके बाएं मम्मे को जोर से दबा देता और एक घुटी हुई आवाज उनके मुँह से निकलती क्योंकि उनका मुँह मेरे मुँह से बंद था. मेरी चाची की चुदाई की कहानी के पहले भागमेरी सेक्सी चाची जी की चूत-1में आपने पढ़ा कि चाची और मैं घर में अकेले थे, चाची ने मुझे अपने साथ उनके कमरे में सोने को कहा. जैसे ही पैन्टी नीचे खिसकाने लगा, नीचे मेरी कुंवारी चूत दिखी तो लालजी ने सीधे मेरी चूत में अपने होंठ रख के चुम्मी ले ली.

उसके बाद दीदी ने अपने सूट को ऊपर की तरफ उठा दिया और इशारे से मुझे कमर पे तेल लगाने के लिए बोलने लगी.

क्योंकि जब माल चुत में गिरता है, मज़ा तभी आता है और उसके बाद वो बाहर अपने आप ही आ जाएगा. अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेहद खूबसूरत और हसीन कामवाली पिंकी मेरे साथ ही सोने लगी. अभी अगर रात के साढ़े दस न बज गए होते तो इसी वक़्तकोई होटल तलाश कर लेता.

होंठों को करीब 10 मिनट चूसने के बाद मैंने ग्लिसरीन उसकी गीली और बिल्कुल कुंवारी चूत में लगा दी. मैंने भी तेज़ी से धक्के मारता हुए पूछा- पानी कहां निकालूँ?तो बोली- यार, पहला पानी है, अन्दर ही डाल दो. और बाद में मैंने उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट कर ली तो वो मुझे रोज खूब मेसेज करता था और मैं भी उससे कभी कभी बातें कर लेती थी.

पूजा बड़ी खुश थी क्यूंकि उसे भी आज दमदार लंड मिल गया था और अंकुश की बेज़्ज़ती करने का मौका भी. फिर उसने अपने खड़े लंड को चूत के मुँह पर रखकर एक बहुत जोर का झटका मारा.

उसने मुझे अपने घर का पता दिया और कहा कि आने से पहले एक बार फोन जरूर कर लेना. मिस्री, सूडानी, चीनी, रशियन, फ्रेंच, अमेरिकन कोई बची नहीं है भाई से। हर वीक विजिट करते हैं लेकिन आपका क्या? आपको सब्र ही करना है. मैंने समझ लिया कि ये अब मुझसे कुछ चाहने लगी है लेकिन मैंने उसको और ज्यादा खुले का समय दिया.

फिर मैंने दाएँ तरफ वाली ड्रॉज खोली तो उसमें भी बहुत सी सीडी पड़ी थीं.

तब मैं अपने बैग में से क्रीम की शीशी लाया, दिनेश के लंड पर मली और लौंडे की गांड में अपनी ही क्रीम वाली उंगली डाल दी. उनके दोनों पैर टूट चुके थे, वो जमीन पर पड़े थे और आंटी मदद के लिए गुहार लगा रही थीं. जैसे ही मुझे लगा कि उनका दर्द कम हो गया, मैंने एक और झटका मारा और पूरा लंड चुत की गहराइयों में चला गया.

वो कार से बाहर निकली, सर्दी की वजह से ओवर कोट में थी। वो उस समय गज़ब की हूर लग रही थी … एक कुछ पल तो मैं उसे देखता ही रह गया. यह सब देख कर मेरा मन करता कि मैं अभी दीदी के दूध पी जाऊं लेकिन हिम्मत नहीं होती.

उसकी गाली सुनकर मैंने एक धक्का लगा कर आधा लंड उसकी चुत में डाल दिया. मगर इस सुबह को जब पद्मिनी की आखें खुली तो देखा कि बापू उसको उठाने के लिए नहीं आया था और रात की गुज़री हुई सेक्स की लज्जत को सोचकर बापू से आँख मिलाने को शरमा रही थी. जब उन्होंने मुझे देखा तो बोलीं- हाँ जी, कोई जगह मिली?तो मैंने कहा- हाँ, यहीं ऊपर कोई कमरा देख लेंगे जो ठीक हो! वैसे भी 70% मेहमान तो जा ही चुके हैं.

क्या आप सेक्सी वीडियो

अब वो मुझे गाली देने लगी और फिर मुझे उल्टा पटक कर मेरे ऊपर आ चढ़ गयी.

वो फिर स्माइल देने लगी तो मैंने भी पूछा कि आप कहाँ जा रही हैं?तो उसने बताया कि मेरी ख़ास सहेली की शादी है और मैं उसकी शादी अटेण्ड करने अपने मायके जा रही हूँ. मैंने उसकी ही सलवार से उसकी चूत और लंड को साफ किया और दोबारा उसकी चूत को चाटना शुरू किया. फिर उसने मुझे जबरदस्ती मेरे बेड पर भेज दिया।उसके कुछ देर बाद मैंने जीजा को जगाया और उनके साथ स्टेशन चला आया.

सभी हसीनाओं की ये सांझी आदत होती है कि लंड को उनकी चूत के छेद से छुला भर दो और ये ‘धीरे से करना जी, ऊई माँ … हाय राम हाय राम … मार डाला … फट गयी …’ जपना शुरू कर देंगी… नहीं तो इनकी चूतों की कैपेसिटी कितनी और कैसी होती है वो तो हम सब जानते ही हैं. मम्मों को पकड़ कर इतना दबाओ की लड़की के मम्मों पर दबाने वाले का हाथ छाप जाए. काली की सेक्सी पिक्चरउनमें से एक बोली- बात तो तुमने पते की कही है, चलो आ जाओ!चूंकि पकड़े जाने का खतरा था तो उन्होंने केवल आवश्यक कपड़े ही उतारे।मैं उनके पास गया और पतली वाली को कमर से पकड़कर उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर किस करने लगा.

मैंने ऐसा ही किया, उसी दिन रात को मैंने एफबी पर एक एकाउंट बनाया, जिसमें सारी जानकारी डाल दी. अतः मैं उसकी दोनों नंगी जांघें किसी चटोरे की तरह लप लप करते हुए चाटने लगा.

और बिमारी के कारण सुहागरात भी नहीं मनी और निकाह के कुछ दिन बाद ही वे चल बसे और तुम्हारी ये नूरी खाला शादी कर के भी कुंवारी रह गयी. सुकन्या- देखो, मैंने ज्यादा ट्राई तो नहीं किया है लेकिन वीडियो देखती हूँ तो उसमें डॉगी स्टाइल पसंद है. फिर मैंने लंड उसके अंडरवियर से निकाल कर पकड़ लिया, साथ ही दिनेश का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा, उसने भी मेरा लंड पकड़ लिया.

मेरी वाइफ भी मस्त हो कर दोनों के लंड एक साथ अपनी चुत में अन्दर बाहर करवा रही थी और मस्ती भरी आवाज़ भी निकाल रही थी- आआआअह… और तेज… बहुत मज़ा आ रहा है… आआह चोदो मुझे… फाड़ दो मेरी चुत को दोनों मिल कर… और तेज…तभी मेरा फ्रेंड लंड निकाल कर खड़ा हो गया और दोनों ने मेरी वाइफ को भी खड़ा कर दिया. सुपर! वाज द बेस्ट!! ये तो वाकई कुछ ऐसा शानदार था, जो मैंने आज से पहले जिन्दगी में कभी अनुभव नहीं किया… और अगर देखा जाए तो इन कम्पलीट, टुडे आइ हेव गोट फक्ड इन बेस्ट वे! अब तो चाहे मर भी जाऊं तो कुछ गम नहीं!!” नताशा चेहरे पर नशीली मुस्कान के साथ बोली. मैं नौकरी का मारा, मैंने तुरन्त उस नम्बर पर कॉल किया और पोस्टर में बताई गई जगह पर पहुंच गया.

सारी क्लिप्स मेमोरी कार्ड में हैं।”तुम आखिर चाहते क्या हो?” मैंने बेबसी से उसे देखते हुए कहा।तुम दोनों को चोदना और वह भी फुल इत्मीनान से। कुछ इंतजाम बनाता हूँ कि सुहैल को दिन भर के लिये बालागंज, लखनऊ या बाराबंकी भेज दूं.

मैंने उससे कहा कि माल अन्दर ही निकाल दूँ क्या?उसने कहा- नहीं मेरी जान. सुडौल मांसल उंगलियां, सुन्दर तराशे हुए नाख़ून!!! उम्मम्मम आआआआ… बहनचोद!!! मुंह में पानी भर आया.

ऐसे जवान मुस्टंडे मेरे से जाने कैसे तैयार हो गए और इस उमर के लौंडे इस जगह मिलेंगे, मैंने सोचा भी न था. मेरा कमरा फर्स्ट फ्लोर पे था और मेरे कमरे के बगल वाले कमरे में एक परिवार रहता था. मैंने अभिलाषा की पैंट के ऊपर से ही उसकी चूत को दबाना सहलाना शुरू किया.

तुम मेरे ऊपर आकर मेरे मुँह पर चुत रखो और मेरे ऊपर लेट कर मेरे लंड को प्यार करो. फिर भाभी ने मुझसे पूछा- स्टूडेंट हो?मैंने कहा- हां, मेडिकल की तैयारी कर रहा हूँ. आंटी ने मेरा सर पकड़ लिया और प्यार से मेरे बालों को सहलाते हुए बोली- ओह ह प्रशांत! यह सब करना जरूरी है क्या बस जल्दी से जो करना है कर के चोद दे.

इंडियन बीएफ आंटी मुझे मन में डर भी लग रहा था कि कहीं ये राजी न हुआ और किसी से बता न दे, पर मैंने सोचा कि जो होगा देखा जाएगा. कुछ देर यूं ही माहौल को हल्का करने जैसी बातें हुईं, फिर हमने केक काटा, एक दूसरे को खिलाया और थोड़ी वाइन भी पी.

नंगी सेक्सी फिल्म करते हुए

मुझे पता नहीं क्यों… लेकिन मुझे इस बात पर गुस्सा आ गया, मैंने कहा- मेरे रहते तुम्हें कभी कुछ नहीं होगा!उसने मेरी आँखों में देखते हुए पूछा- मुझसे इतना प्यार कब हुआ?मैंने कहा- ये तो मुझे भी नहीं पता… लेकिन तुम्हारे साथ कभी कुछ बुरा हो, ऐसा मैं सोच भी नहीं सकता!उसे मैंने वहाँ ही अपनी बांहों में भर लिया, उसके गुलाबी होंठों को चूमना चालू कर दिया. उसी तरह उंगलियां कमर पर फिराते हुए मैंने हाथ उसके पाजामे में डाल कर उसके नितम्ब हौले से दबाये. दो दिनों बाद भाई का फोन आया- तुम चिंता मत करो, अगर प्राब्लम है तो मेरे शहर में आ जाओ, मैं तुम्हारा रहने का प्रबंध कर दूँगा.

मैंने पूछा- तुम क्या बाहर नहीं आओगी?वो बोली- यार, मुझे सुसु करनी है. मैं तो उसे चोदने का चान्स ढूँढ रहा था, पर एक दिन अचानक खुद उसी ने मुझे अपने घर बुला लिया. ब्लू फिल्म वीडियो सेक्सी फिल्म वीडियोउस दिन से मैंने राजेश के बारे में सोचना शुरू कर दिया, वैसे मुझे घर मैं बहुत टाइम मिलता था, जब हम दोनों ही घर पर होते लेकिन फिर भी मन में डर रहता था.

मैंने तुरंत अपने होंठ नेहा दीदी के होंठों पर रख दिए और नेहा दीदी को किस करने लग गया.

जैसे ही मैंने उससे यह कहा, लालजी बोला- सच वन्द्या किसी से नहीं बताएगी, तू बहुत अच्छी है. उसी दिन को रात को लगभग आठ बजे जब मैं बाज़ार से अपने रूम पे आया, तो उन्होंने मुझे देखा और बुलाया.

मैंने उसकी शर्म समझ कर उससे आज के दिन की बात का जिक्र उस समय नहीं किया, बस इधर उधर की बातें की. मानसिक शारीरिक या फिर सिर्फ बातें करने के लिए, जिस तरह से तुम चाहो या सोचो, मैं तुम्हारे साथ हूं और वो भी जब तक तुम चाहो, बोलो तो लाइफ टाइम के लिए, बोलो तो सिर्फ आज के लिए. आहिस्ते से उसने अपने आपको स्थिति के अनुसार करके पद्मिनी के जिस्म की लम्बाई तक होकर सोने की कोशिश की.

जिस समय दीदी नहाती थी, उस समय हमें और पापा को बाहर आना पड़ता था या जब उसे कपड़े पहन बदलना होता था तो वो हमें बाहर जाने को कहती थी और दरवाजा बंद करके कपड़े बदलती थी.

अगले दिन सुबह ही वो मुझे घर पर वापिस ले आया और बोला- संभालो अपनी इस लाड़ली बहू को, मुझे नहीं रहना इस रंडी के साथ. वह भी उसकी पीठ की तरफ से आ कर सटा तो रज़िया ने मुझे छोड़ दिया और उसी अंदाज़ में नितिन से चिपक कर उसे रगड़ने लगी।कुछ देर बाद हाँफते हुए रुक कर मुझे देखने लगी- उस दिन की तरह कुछ मलाई वगैरह भी रखे हो क्या?हाँ-हाँ!” जवाब मेरी जगह नितिन ने दिया. फिर पूजा खुद बोली कि अमित आज तक मैंने इतनी सेक्सी सेक्स नहीं किया और तुम्हारी सबसे अच्छी बात ये है कि जो तुम सेक्स करने के बाद मुझसे चिपके रहे.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी गुजरातीमगर उसने कहा- मुझे सभी दोस्तो ने बता दिया था कि जब पहली बार चूत में लंड जाएगा तो उसमें से खून निकलेगा मगर थोड़ी देर बाद दोनों को पूरा मज़ा आएगा. अब तक की इस हिंदी में चुदाई की कहानी में आपने जाना था कि बाप अपनी बेटी से अपने लंड की मुठ मरवा रहा था, उसे मर्द के लंड की मुठ मारना सिखा रहा था.

मिर्जा की सेक्सी फिल्म

उन्हें कैसे चूसा चाटा जा सकता है।”गंदगी दिमाग में होती है, वर्ना पीने वाले तो गौमूत्र भी श्रद्धा से पीते हैं और कभी इंसान फंस जाये तो उसे भी पीना पड़ता है। ऊपर स्पेस में जो एस्ट्रोनाट रहते हैं, वे भी अपना पेशाब ही शुद्ध करके पीते हैं। जरूरत साफ सफाई की है। अगर दोनों के अंग साफ हैं तो चूसने चाटने में क्या बुराई?”पर लड़की की मुनिया से तो वह वाला खून भी…”तो क्या हुआ. बिंदु तुम देखती जाओ आज जब तक ये खुद नहीं कहेगी कि जगत मेरी चूत अब तुम्हारी गुलाम है, तब तक अपना लंड इसकी चूत से नहीं निकालूँगा. इस तरह से पूरी रात उससे अपनी चूत को चुदवाती रही और उसे पूरा खुश करती रही.

फिर मैंने कहा- ला मेरी जान पिला मुझे तेरा गरम पानी…ये कहते हुए मैंने भाभी के पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया, पेटीकोट ‘सररर. वो बोला- वन्द्या, तुम बहुत बड़ी सेक्सी आइटम हो, आज तक इतनी सेक्सी नाभि और ब्लाउज में इतने मस्त चूचे मैंने आज तक नहीं देखे, तुम्हारी कमर बहुत सेक्सी है. एक समय ऐसा आया कि उसने मेरा लन्ड पकड़ा और हिलाना चालू कर दिया और देखते ही देखते उसे चूसने लगी.

?मैंने उनके कान में दादा जी के लंड को सैट करने का मास्टर प्लान बताया तो मॉम की चुत खिल उठी. लेकिन अब क्या हो सकता था, मैंने सोचा कि जो हो रहा है होने दो… अभी मैं अपना मजा क्यों खराब करूं!मैंने अपना वीर्य अपनी बहन की चूत में ही छोड़ दिया और उसके ऊपर से हट कर उसकी बगल में लेट गया. वो सोच रहा था कि आज एक बार फिर से सुहागरात मनाये खुद अपनी बेटी के साथ.

यह कहते हुए उसने मेरे तौलिये को निकाल दिया और मैं उसके सामने एकदम नंगी हो गयी. दोस्तो, मेरा नाम सौरभ शर्मा है, मैं कानपुर का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 23 साल है। मैं एक जिम/ फिटनेस सेंटर चलाता हूँ, मैं एक गुड लुकिंग स्मार्ट बंदा हूँ, मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच और मैं एक जिम ट्रेनर हूँ तो आप जान ही गए होंगे कि मेरी हेल्थ अच्छी होगी।यह कहानी उस वक्त की है जब मैं बी.

अन्तर्वासना के सभी दोस्तो को मोहित का प्यार भरा नमस्कार, मैं नैनीताल का हूँ और दिल्ली यूनिवर्सिटी से से पढ़ाई कर रहा हूँ.

उसको भी बार बार चोदने के लिए मुझे जगाये रखना पड़ता है क्यूंकि मेरा लंड इतना हरामी है कि कमबख्त को जब तक तीन बार चूत में घुसकर उसकी खबर अच्छे से न मिले तब तक जान में आफत किये रखता है. भाभी की सेक्सी साड़ी वालीअदिति ने उन्हें फोन कर दिया था तो वे होने वाली बहू की पायल दूसरी खरीद लाये थे. हिंदी सेक्सी एक्स एक्स एक्स हिंदीऐसा बोलकर उसने मेरे हाथ को बहुत ज़ोर से पकड़ लिया और मेरे ऊपर सवार हो गई. सुन कर मुझे भी खुशी हुई और फ़िर मैंने वही दवाएं कंटिन्यू कर दीं एक और सप्ताह के लिए.

इतने में ही पता नहीं क्या इसमें जादू हुआ कि मेरा पूरा दर्द गायब होने लगा और धीरे-धीरे चूत और गांड दोनों जगह अजीब सी गुदगुदी लगने लगी.

मनोहर बोला- दिनेश, तू वन्द्या के मुँह में अपना लौड़ा डाल के मुँह की जबरदस्त चुदाई कर. उसने कहा- क्रिशु मैं तुम्हें कबसे कहना चाहती थी, पर रिश्ते की वजह से डरती थी, मैंने कभी नहीं सोचा था कि हम दोनों ऐसे करेंगे. फिर काजल ने तुरंत ही मुझे फोन किया कि तुमको माधुरी के घर पहुँचने में कितना टाइम लगेगा?मैंने कहा- बस समझ लो, लगभग एक घंटा लग जाएगा.

वैसे भी बहुत समय से मुझे भी चुत नहीं मिली थी और मुझे सबसे ज्यादा चुत की भूख रहती है. वापस आकर देखता हूँ कि उन्होंने अपने हाथों में मेरा सेक्स टॉय पकड़ रखा है. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी के चेहरे को अपने हाथों में लेकरभाभी के होंठ चूसने लगा.

वीडियो सेक्सी ठोका

अब आर्थर ने एक नए ही पोज़ में नताशा की गांड मारने का फैसला किया और उसने मेरी गुड़िया जैसी पत्नी को उसके पंजे पकड़ कर पेट के बल बिस्तर पर गिरा दिया और उसके पैरों को उसके घुटनों से ऊपर, जांघों से पकड़ कर अपने लंड के नीचे ले आया. पहली चुदाई के बाद जैसे ही उसको आंख लगी तो मैंने उसके घुटनों के पीछे जीभ फिराई. वो मुझे मस्त और नशीली निगाहों से देखते हुए बोली- अंगूर पसंद आए?मैंने कहा- हां बेहद.

उनके इतना कहते ही मैंने भाभी को बाँहों में भर लिया और स्मूच करने लगा.

5 मिनट के बाद उसने एक और झटके से पूरा लंड मेरी कुंवारी चूत में डाल दिया.

अब उससे और बर्दाश्त नहीं हो रहा था, वो उठी और उसने मेरा अंडरवियर निकाल कर फेंक दिया. करीब पौने दो साल बाद फिर हाज़िर हूँ आपके बीच। अगर भूलें न हों याद दिला दूँ और पढ़ी न हों तो पढ़ लें. हाथी लड़की की सेक्सी वीडियोमैं शायद कोई सपना देख रही थी इसीलिए मैंने अपना मुंह खोल दिया, पापा ने मेरे मुंह में अपना लंड घुसा दिया और पेलने लगे.

तंदरुस्त भी थे उनके चूतड़ व कमर मेरे से भारी थे, गांड के नीचे तकिया लगाना पड़ा तब गांड दिखी।ज्यादा मजा तो नहीं आया पर मार दी. मुझे इतना जोश आ गया था कि मैंने उनका फेस अपने हाथों से पकड़ लिया और लंड को उनके मुंह में ही दबाए रखा और जब लंड को पूरा उनके मुंह में डाल दिया. भाभी ने जीन्स और टी-शर्ट डाल रखी थी, आँखों पर काला चश्मा लगाया हुआ था.

मैं उस आदमी को पहचान नहीं पा रहा था क्योंकि उसकी पीठ किचन के दरवाज़े की ओर थी. मैंने उसके साथ 3 दिन लोनावला जाने का प्लान बनाया और वो भी मान गयी। दिसम्बर का महीना था, मैं पहले पुणे गया और उससे पहली बार मिला। यूँ तो हम रोजाना ही बात करते थे मगर सामने देखकर वो थोड़ा शर्मा रही थी।मैं ज्योति के बारे में बता दूँ आपको… वो दिखने में तो सामान्य थी मगर उसका फिगर ऐसा था कि देखने वाले देखते ही रह जाते। एकदम पतली कमर और उसकी हाइट 5.

धीरे धीरे हम एक दूसरे से सब कुछ शेयर करने लगे और हमारे बीच सेक्स की बातें भी होने लगीं.

वो सब मेरे बॉस ने किया था मगर क्योंकि नौकरी करनी है तो सब कुछ सहना पड़ता है. मैंने पूछा- सच बोल रही हो?वो ये सुनकर तुरंत ही मेरे होंठों पर टूट पड़ी और बोली- मेरी जान. लेकिन अब वो मना कर रही थी, तो मैंने कुछ नहीं देखा और अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और कहने लगा कि अच्छा चूस लो.

प्यार का सेक्सी फिल्म और 5-6 मिनट तक धक्के मारने के बाद मैंने कहा- मम्मी, मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है तो पानी का क्या करूँ? क्या पानी आपकी गांड की मोरी में डाल दूं?तो मम्मी जी कहती- आरव जी, तुम्हें जो करना है, करो… मैं अब तुम्हारे वश में हूँ, अपने नहीं!तो मैंने वैसे ही किया और अपना सारा पानी उनकी चूतड़ की मोरी में डाल दिया. मधु बोलती रह गई- ये क्या कर रहे हो राज… मेरी सलवार गन्दी कर दी।अब मैं बोली- चल यार मधु, देर हो गई है, जल्दी कर!फिर अचानक से मधु बोली- यार सुनीता, तू भी चुदाई करवा ले राज से… हम घर तो अभी जा नहीं पायेंगे… पानी तो गिर रहा है!मैं घबराती हुई बोली- नहीं बाबा… ये मेरे भाई का दोस्त है, भाई को पता लगा तो घर में मार पड़ेगी और बदनामी हो जाएगी.

हम दोनों लोग जोर जोर से चुदाई करने लगे और मुझे कभी कभी थोड़ा दर्द होने लगता था, तो वो मुझे किस करने में लग जाता था और मेरी चूची को चूसने लगता था. उसने ब्रा पहनी हुई थी, मैंने ब्रा के अंदर हाथ डालने की बहुत कोशिश की पर डाल न सका. ये कह कर वो एकदम से मुझसे लिपट गया और बोला- तुम बहुत अच्छी हो आई लव यू वन्द्या.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी वाली

जब वो अधिकारी आ गया तो देखा कि वो कोई 45-46 साल का आदमी था, बस फिर उसको फंसाने का पूरा इंतज़ाम कर लिया. वो मस्त होती गई, उसने आँखों को बंद कर लिया तो मैंने और जोर से उसकी चूचियों को तेजी से दबा दिया. पर मैंने उनकी दोनों कलाइयां कस के पकड़ीं और अपने लंड को जरा सा पीछे खींच के फिर से पूरे दम से बहू की चूत में पहना दिया.

मैं एक बार को तो डर गया कि क्या हुआ साला किसी गलत जगह तो लंड नहीं घुसेड़ दिया. यह देख वो एकदम घबरा गयी और मुझे उसने दूर झिड़क दिया और अपने होठों को हाथ से पोंछती हुए बोली- चूतिया हो का बे…मैंने उसके मुख से ये सुना तो सच बोलूं तो मेरी गांड फट गयी.

मैं जैसे ही आंगन में नहा कर आई, सुरेंद्र जीजा सामने आ गये और उस समय अगल बगल कोई नहीं था तो मुझे बोले- वन्द्या जी, तुम्हारा सब कुछ दिख रहा है, मेरी नियत मत खराब करो नहीं अच्छा नहीं होगा.

तो वो उठ कर मेरे पैरों के बीच में आ गई और उसने मेरे अंडरवियर पर हाथ फेर कर कहा- अरे ये तो तैयार है. हम एक छोटे गांव में रहते हैं जहाँ कुछ ज्यादा सुविधाएं नहीं थी, कोई बाजार नहीं था, इस लिए हमें किसी भी काम के लिए, अच्छी खरीददारी के लिए गांड से 48 किलो मीटर दूर के एक शहर में जाना पड़ता था. पहले दोस्त को बुलाएगा फिर साथ में दोस्त की लुगाई को खुद के लंड के लिए बुला लेगा.

मेरे लंड ने दो तीन बार और बची-खुची बूंदों से भाभी की चूत को अपना रसपान करा दिया. डायलाग तो सुनो कमीनी के: निवास जी यह गलत काम है… छोड़िये मुझे… मैं ऐसी वैसी लड़की नहीं हूँ… क्या कर रहे हैं… यहगलत है… आप जाइये अपने घर. सुकन्या जी नकली मुस्कराहट के साथ बोलीं- शादी के बाद की जिंदगी? मेरा बच्चा न होता तो शायद जीना मुश्किल होता.

बिंदु ने पूछा- तब बताओ कुत्ता सबसे पहले कुतिया से क्या करता है?वो बोला कि वो अपनी ज़ुबान से कुतिया की चुत चाटता है.

इंडियन बीएफ आंटी: [emailprotected][emailprotected]मेरा फेसबुक आईडी / लिंक है- https://www. उसने मेरी पत्नी को उसके नितम्बों से जकड़ लिया और अपनी तरफ खींचने लगा.

वर्ना हम दोनों की बदनामी होगी?मैं- तुम किसी से मत कहना, मैं भी नहीं कहूंगा तो किसे पता चलेगा?तब मेरी बहन मान गई. मैंने जब बैग दिया तो उसने उस बैग को अपनी और मेरी टांगों पर रख दिया. एक से ही हम दोनों पियें तो?सोनू का लौड़ा फनफना के खड़ा हो चुका था, उसने अंडरवियर नहीं पहना था तो मैं साफ़ देख के महसूस कर पा रही थी सोनू के लन्ड को!मैं समझ गयी कि बेटा अब गर्म हो रहा था.

मेरी बात सुन कर वो कुछ उदास सी हो गईं और उसी बीच आगे बात बढ़ती कि उनकी सास की आवाज आ गई तो भाभी को जाना पड़ा.

अब हमेशा ही उसका ध्यान मेरे पजामे पर रहता और वो मेरे खड़े लौड़े को देखती रहती. मैंने पीछे से पकड़कर उनको हग करते हुए चूमा और हम दोनों इसी अवस्था में खाना खाने लगे. तब उसने बताया कि कम्पनी लॉ बोर्ड ने किसी ऑफिसर को कुछ छानबीन करने के लिए कहा हुआ है.