बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली

छवि स्रोत,बंगाली बीएफ ओपन

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ व्हिडिओ बीएफ: बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली, नीलोफर मस्ती से बोली- आज का दिन मेरी लाइफ का सबसे ज़्यादा खुशनुमा दिन है, मुझे तुमसे इतना प्यार मिला है.

हिंदी फिल्म बीपी सेक्सी

जब मैंने उनकी पेंटी पर हाथ लगाया, तो मैंने महसूस किया कि वो अब तक पूरी तरह गीली हो चुकी थी. हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफरात में उन्होंने बेल बजाई, मैंने जाके दरवाजा खोला और उन्हें अन्दर ले आया.

मेरा नाम रिशु है मैं जब स्कूल में पढ़ता था, उस समय से ही मुझे देसी औरतों की सेक्स वीडियो और अन्तर्वासना पर उनकी चुदाई की कहानी पढ़ने का बड़ा शौक लग गया था. सनी लियोन बीएफ मूवी हिंदीप्रभा ने फटाफट ये कपड़े पहन लिए! ब्रा या पैंटी दोनों ही शीतल ने मम्मी को नहीं पहनने दिए.

हम तीनों सोने लगे लेकिन मुझे नींद कहाँ… मन में तो मंजू छाई हुई थी! कुछ देर के बाद मुझे लगा कि संजू सो चुका है तो मैं मंजू के बिस्तर में उसके पैरों के पास जाकर बैठ गया!एक तो जवानी का जोश, ऊपर से संजू को तो चाहता ही था कि मैं कुछ ऐसा करूँ! लिहाजा मुझे संजू से डरने की भी चिंता नहीं थी लेकिन मंजू का सहमति के बिना करने में मुझे डर भी सता रहा था.बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली: अचानक एकता ने स्पीड बढ़ा दी और अब वो जोर जोर से लंड के ऊपर कूद रही थी.

मेरी बात सुन कर भाभी भी बोलीं- हां, मैं भी बोर हो रही थी इसलिए तो आई थी.तो मैंने उसे नाम, जगह और संबंधित एक्टिविटीज बदल कर सुना दी, जिससे गौसिया की आइडेंटिटी कहीं से भी जाहिर न हो।वह मुतमइन हो गयी.

देहाती लड़की का ब्लू पिक्चर - बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली

मैंने अब तक कई लड़कियों को चोदा है, पर जो मज़ा अपनी बहन के साथ आ रहा है, ऐसा अब तक किसी के साथ नहीं आया.उसकी जवान कड़क चुची आह… कसम कोई हिज़ड़ा ही होगा जिसका लण्ड खड़ा ना हो जाए मेरी नंगी बहू को देख कर!मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसकी एक चुची क़ो चूसना चालू किया तो पूजा भी जाग गई- पापा क्या हुआ? आपका लंड तो फिर से मूसल जैसा कड़क हो गया.

आर्थर खुश होकर उसके कहे के अनुसार करने लगा लेकिन इस बार बहुत धीरे-धीरे… उसने अपने गर्दभ लंड को मेरी जीवनसंगिनी की गांड में घुसेड़ कर मशीन की सुई की तरह शार्ट धक्के लगाने शुरू कर दिए. बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली मेरी मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की मेरे लंड से चुदने की इच्छा.

फिर अपने लंड को उसकी चूत के मुँह पर रख कर हल्का सा धक्का दिया तो वो दर्द के कारण तड़प उठी और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली?

”फिर जोर लगाते हुए भाईजान ने अपना पूरा मूसल लंड मेरी चुत के अन्दर डाल दिया और मेरी चूचियों को एक मिनट तक चूसा. इस बार आपा मजे से मेरा लंड ले रही थीं और खूब गांड उठा उठा के चुत चुदवा रही थीं. मैंने जैसे ही उसकी नजरों से नजरें मिलाईं, वो बोली- अब पास आये तो मैं पापा से सब कह दूँगी.

बापू ने पद्मिनी की चूतड़ों की दरार में हाथ डाल दिया और उसकी गांड के छेद में साबुन लगाया. थोड़ी देर में एकता का पानी निकलने लगा और मेरे लंड से होते हुए मेरी गोटियों को भी गीला करने लगा. फिर मैंने कहा- आज तो चुदवा कर देख लो, फिर कल से मेरे इस लंड के लिए पागल हो जाएगी!वो किसी तरह मान गई, मैं उसके दूधों को बड़े प्यार से सहला कर चूस कर उसे मजा देने लगा, उसे पूरा गर्म किया तो वो खुश हो गयी, वो फटाक से मेरे लंड को अपने मुख में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी.

और तब वह नताशा को उसकी बगल पर लिटा कर उसकी कमर के पीछे चिपक कर लेट गया और अपने लंड से उसकी गांड के छेद को कुरेदने लगा. उसे इस झटके से करने के कारण मज़ा आ गया, उसकी हल्की सी आह भी निकल गई. उस दिन पति नहीं बचते तो मैं कैसे सुहागन की जिंदगी जीती और बच्चों की परवरिश कर पाती.

मैंने थंक्स के जवाब में अपने होंठ उसके होठों पर रख दिए और दोनों एक दूसरे को किस करने लगे. नहाने के बाद मैं बाहर निकला तो मुझे कुछ आवाज सुनाई दी, तो मैं देखने लगा कि आवाज कहां से आ रही है.

तभी मैंने देखा कि शीतल और अंजलि एकदम मदहोश होकर एक दूसरे को चूम रही हैं, मैंने तुरंत ही शीतल को कहा- जाकर अपने डिलडो ले आओ.

मैं लंड पर कंडोम चढ़ाने लगा तो वो बोलने लगी कि मुझे बिना कंडोम के करना है.

फिर मैंने उसके पैर ऊपर किये और उसके दोनों पैर ऊपर करके उसके अपने हाथों से पकड़ कर फिर एक बार शुरू हो गया. शराब के अन्दर जाते ही मैं भी खुद को तरोताजा महसूस करने लगी और मैं चुदवाने के लिए तैयार हो गई. नहाने के बाद मैं बाहर निकला तो मुझे कुछ आवाज सुनाई दी, तो मैं देखने लगा कि आवाज कहां से आ रही है.

तभी उसने अपनी बेटी शबाना को बुलाया- शबाना बेटा यहां आ जाओ, सीट मिल गयी है. मैंने फूफा जी की कमर को अपनी दोनों टाँगों से पकड़ लिया और अपनी बांहें भी उनके गले में कस के डाल दी ताकि वो अपना लंड हिला ना सकें. मैंने उनका नंबर लिया और फिर दीदी बोलीं कि उन्हें जाना है तुम्हें कभी समय मिले तो मिलना.

मैंने देखा पूजा अकेली है और यहाँ सही मौका है चौका मारने का।मैंने एक कोल्ड्रिंक ली और पूजा को ऑफर करने उसके पास बैठ गया और बात करने लगे.

मैं कसने लगी थी, मेरी जवानी एकदम उफान मार रही थी, मेरे मुँह से सिसकारियां निकलने लगी अपने आप! मुझसे सहन नहीं हुआ और मैंने आधा पटियाला खुद ही पी लिया और बाकी अपनी स्कर्ट के अंदर डालने लगी जो मेरी चूत तक पहुंच रहा था और वहां से मेरे बेटे के मुँह में!सोनू अब मेरी चूत से बहती हुई शराब और मेरी चूत के निकलते पानी का एक साथ मज़ा उठा रहा था. उस पर एक तौलिया बिछा कर पहले मैं पीठ के बल लेटा और डॉली को अपने मुँह के पास खींचा. उस दिन से मैंने राजेश के बारे में सोचना शुरू कर दिया, वैसे मुझे घर मैं बहुत टाइम मिलता था, जब हम दोनों ही घर पर होते लेकिन फिर भी मन में डर रहता था.

जीजा ने मेरे मुंह में अपनी उंगलियां डाल दी, मैं उन्हें चूसने लगी, तभी उन्होंने अपना लन्ड मेरे हाथ में पकड़ाया और बोला- अब तुम मेरे लन्ड को चूसो वन्द्या!मैं बोली- मुझे घिन आएगी!जीजा बोले- लड़कियां लन्ड को चूसने को पागल रहती हैं, वन्द्या चूसो!और मेरे मुंह में लन्ड डाल दिया. निशा बोली- क्या वो लड़का मेरी गांड भी चाटेगा?मैंने उसको बोला- हां वो सब करेगा, जो तुम कहोगी और उसकी फीस भी कुछ ज्यादा नहीं है. दरवाजे के बगल दीवार पे मैं उनको सटाके अपना मुँह उनके पास में ले जाकर उदासी भरे अंदाज में बोला- थोड़ी देर और रूक जाओ न शब्बो.

लेकिन उस मिंटू को पटा था कि मुझे दर्द होगा तो उसने पहले ही अपने होंठ मेरे होंठों पर रख कर मेरा मुंह दबा लिया था, तो मैं चीख नहीं पायी.

उसकी गांड में लंड पेलने के साथ ही मैं उसकी चूत में भी उंगली कर रहा था, जिससे उसको डबल मजा आ रहा था. वो ‘फक मी हार्ड… चोदो मुझे… फाड़ दो मुझे!’ बोल के सिकसकारियाँ भरने लगी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली आने के बाद पहले दारू पी, फिर खाना खाया और उसके बाद लैपटॉप पे रोमांटिक गाने सुनने लगा. तो बापू ने हौले से अपने एक हाथ को पद्मिनी की जाँघ पर फेरते हुए सहलाया और पद्मिनी ने एक छोटी सी सिसकारी छोड़ी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली तू बहुत ही बड़ा चोदू है कुत्ते!जीजा हंसते हुए बोला- साली रंडी सब जान जाती है. धकापेल चुदाई चलने लगी और अंत में दीदी के दो बार झड़ने के बाद मैं भी उसकी चुत में ही झड़ गया.

उसने मुझे देख लिया था हाथ हिला कर उसने इशारा किया, मैं उसके पास गया और हाथ मिलाया.

सेक्सी फुल मूवीज

दो पल बाद बापू उठ गया और उसने अपना लंड अपनी बेटी की चूत से बाहर निकाला. उन्हें थोड़ी असुविधा हो रही थी परंतु वह मजा लेती रही और अंत में 15-20 झटकों के बाद मैंने उनकी चूत में अपने लण्ड से वीर्य की पिचकारियाँ मारनी चालू कर दी. मैं उससे चुदवा कर खुश थी और उसने मुझे चोद कर मुझे खुश कर दिया था, मैं उससे चुदवा कर एकदम तृप्त हो गयी थी.

अब तो मेरी जानम मेरी दीपू जिसे मैं दिल की गहराई से सच्चा प्यार करता था, मेरे सामने मेरे ही कारण दर्द से तड़पने लगी और मुझे पीछे की ओर धकेलने लगी और मना करने लगी कि उसे आगे नहीं करना है।मेरा भी तो यह पहला ही अवसर था तो मैं भी उसकी बात मान कर उसकी बगल में लेट गया और उसको धीरे धीरे चूमने लगा. उसने अपने लण्ड का पानी मेरे मुंह में छोड़ दिया, मैं भी सारा पानी पी गई. मैं उसकी चूची की घुंडी को मसलने लगा और नीचे चूत में अपनी जीभ से उसकी चुत के दोनों होंठों के बीच में किस करने लगा.

बीच में उन्होंने थोड़ा परेशान होते हुए मुझसे पूछा भी कि टॉय अब तक आया क्यों नहीं, तो मैंने बोला कि टॉय वाले से फोन पे बात हुई थी तो उसने कहा कि स्टाक अभी खत्म है, जैसे ही नया स्टाक आएगा, वो भेज देंगे.

उसने उसे खींच कर बेड पर पटक दिया और बोला- कुतिया जाती कहाँ है?बिना कोई टाइम गंवाए उसने भी अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया और वो ही सब किया, जो पहले वाले ने किया था. अपनी 24 साल की बाली उम्र में शादीशुदा लाइफ, वो भी कॉलेज करते हुए ये सब हो रहा था. अपनी दो जवान बहनों को इस अधनंगी हालत में देख कर मेरा सात इंच का लंड पत्थर से भी ज्यादा कड़क और टाइट हो गया, उसे मैंने अपने हाथ से नीचे दबा लिया ताकि वो कुछ गलत न समझे.

मेरे इतना कहते ही भाईजान ने स्पीड तेज़ की तो मुझे असली चुदाई का मज़ा मिलने लगा. उसके आने के बाद भी जब भी हम दोनों को मौका मिलता है, हम चुदाई कर लेते हैं. काजल जब नार्मल हुई तो मैंने पूछा- क्या बाकी बचा भी अन्दर डाल दूँ?तो उसने हां में सर हिला दिया.

एक दिन मैंने उससे पूछा कि तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या?वो ‘नहीं. अपन तीनों गुड्डा गुड्डी के खेल को खेलेंगे, बता लालजी तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं है ना?लालजी बोला- नहीं वन्द्या मुझे बहुत पसंद है.

मैंने कहा- दीदी मैं जैसा कहता हूं वैसा करो, मैं तुम्हारी फोटो निकालता हूं, फिर देखना तुम कितनी सेक्सी लगती हो. मैं उनको देखने में इतना लीन हो गया था कि पहली बार में उनकी बात को ठीक से सुन ही नहीं पाया. बस थोड़ा सा ठीक?तब पद्मिनी अपने बापू की गोद में बैठी और बापू ने एक हाथ को उसकी कंधों पर रखा और एक हाथ को पद्मिनी की जाँघ पर.

मेरे ऐसा करने से वो तड़प रही थी और मुँह से आवाजें निकाल रही थी- आआह.

मेरा लंड सरसराता हुआ माधुरी की चूत में घुस गया और माधुरी के मुँह से इतनी तेज चीख निकली कि शायद पूरी कॉलोनी सुन लेती, अगर मैं उसका मुँह बंद न करता. मैंने उसकी तरफ देखा तो वो धीरे से मुस्कुराई और बोली- क्या नाराज हो गए?मेरी तो लॉटरी लग गई, मैं बोला- मैं किस लिए नाराज होऊंगा!वो बोली- आपकी कोहनी से मुझे प्रॉब्लम हो रही थी. चुदाई की कहानियां पढ़कर मुझे लगा कि मैं भी अपना अनुभव आप लोगों से शेयर करूँ.

जब मैं हाई स्कूल का पेपर खत्म करके अपने घर पर ही गर्मी की छुट्टी बिता रहा था. अंत में भाभी ने मेरे माथे पे किस किया और बोला- तुमने मुझे आज बहुत खुश किया.

रेखा रानी थोड़ी हिली डुली तो, लेकिन ‘क्यों तंग कर रहे हो?’ मुनमुना कर फिर सो गई. भाभी ने मेरी आँखों में झांकते हुए कहा- मुझे सिर्फ तुम्हारा प्यार चाहिए, बेहिसाब प्यार और हमारे बारे में किसी को पता नहीं चलेगा. जो मुझे चोदना चाहते हैं, उनसे कुछ भी कहना बेकार है क्योंकि उनकी सोच ऐसी ही रहेगी.

भोजपुरी साड़ी वाली सेक्सी फिल्म

”लड़की को भी मजा ही आता है, मजबूरी वाली क्या बात है। आखिर इसमें मजा ही आता है तभी एक लड़का, लड़का हो कर भी दूसरे लड़के के साथ इसी सेक्सुअल रिलेशन के लिये पूरी दुनिया का धिक्कार भी झेल लेता है।”पर फिर भी.

मैं समझ गया वो उतरने के लिए कह रहा है।मैं टैम्पो से नीचे उतर कर गांव में अंदर बढ़ गया. रात में 2-3 बजे तक भी फोन चैट हुआ करती, जिसमें कभी कभी सेक्सी बातें भी हुआ करती थीं. वो और तेज़ी सिसकारियाँ लेने लगी और उनकी साँसें बहुत तेज़ चलने लगी।ब्लाउज़ के नीचे गोरा सपाट पेट और गहरी नाभि देखकर मैं पागल हो गया, पूरे पेट पर जीभ फिराने लगा और नाभि में जीभ डाल दी.

हमारा घर बहुत बड़ा है, जिसकी वजह से हम अपने मकान का एक हिस्सा किराये पर दे देते हैं. मेरे लिये उसका इतना इशारा तो काफी था, मैं भी अब जोर से उसके रशीले होंठों को चूसने लगा, साथ ही मैं अपना एक हाथ अब उसकी कसी हुई गोलाइयों पर भी ले आया. लव मैरिज सेक्सउसके होंठों पर मुस्कराहट थी लेकिन मैं इस वक़्त सिर्फ अपने मज़े पर एकाग्र होना चाह रही थी।थप-थप का एक कर्णप्रिय संगीत कमरे में पंखे की आवाज़ के साथ मिक्स हो कर गूंजता रहा और मैं जन्नत की सैर करती रही। नशे से मेरी आँखें तक मुंद गयीं थीं।थोड़ी देर बाद यह सिलसिला फिर थमा और राशिद मुझसे अलग हो गया। वह बेड से नीचे उतर गया और अहाना को चित लिटा कर उसे एकदम किनारे खींच लिया, उस दिन की तरह.

मैंने झट से खड़की से अपने मोबाइल से 4 फोटो उनकी चुदाई की निकाल लीं. मैंने पूछा- वो क्या डाल दूं?उन्होंने नशीले अंदाज में कहा- मेरी चूत में अपना लंड डाल दो.

काजल ने अपनी चुत में पहली बार तुम्हारा पानी लिया था, मैं अपने मुँह में लूँगी. बापू अचानक चौंक गया और उसको पता चल गया कि उसकी बेटी अभी तक कुँवारी है… और यह जानकर उसको अच्छा लगा. अब हम दोनों उसके यहाँ करीब 9 बजे पहुँचे, उसने मुझे अपनी सहेली का भाई बताया.

उन्होंने कहा- विशाल प्लीज़ अब मत तड़पाओ और मेरे अन्दर अपना वो डाल दो. उसने मेरा नाम पूछा और फिर अपना नाम बताते हुए कहा- आपका नम्बर मुझे एक लेडी ने दिया है. इधर ज्योति मेरा लंड चूसती रही, तब तक काजल दीदी ने ज्योति की ब्रा का हुक खोल दिया, जिससे ज्योति के बूब्स एकदम से उछल कर बाहर आ गए.

मैंने देखा कि दरवाजे में जरा सी झिरी थी, उसमें से देखा तो मॉम एकदम नंगी होकर फव्वारे के नीचे बैठी हुई अपनी चूत में उंगली कर रही थीं.

मैंने सुबह ही बाइक धोई थी और प्लान के मुताबिक बाइक की सीट पर बाइक शाइनर लगाया था, जिससे जो भी बैठा हो, वो जरा से ब्रेक या धचके में आगे की तरफ फिसल जाता है. मगर जाने से पहले रात उसने मेरी जम कर चुदाई की और उस समय उसका लंड जो 15-20 मिनट में पानी छोड़ देता था, उस दिन 45 मिनट के बाद भी उसका पानी नहीं निकला.

उनकी बातों को मैंने समझते हुए कहा- ईदी के भी कोई पैसे लेता है क्या?उसके बाद उन्होंने मेरी कोई गर्लफ्रैंड न होने के बारे में पूछा. भाभी ने कुछ देर मुझको देखा और फिर मुझको देखते देखते ही उखड़े साँसों में बोलीं- आई अम्मी. जब वह खड़ी हुई तो वीर्य उसकी चूत से निकल कर उसकी जांघों से होता हुआ उसके घुटनों तक बहने लगा.

मैं उसके पास गया और पहले उसके गाल से बालों को हटाया और उसकी चूचियों को ऊपर से दबाने लगा. घर पर वो मुझसे बोलीं- हाँ भई, अब शांति से ये बता कल शाम को यहाँ क्या चल रहा था?तो मैं बोला- कहाँ?तो वो बोलीं- अब ज्यादा चालू मत बन…क्योंकि पिछले दरवाजे की चाबी उनके पास थी तो मैं इस वक्त झूठ नहीं बोल सकता था तो मैं बोला- अब मैं क्या करूँ… ये मानतीं ही नहीं है!तो उन्होंने पूछा- चल पूरी कहानी बता?तो मैंने चाची और अपनी पूरी कथा नमक मिर्च लगाकर जल्दी से सुना दी. उसने कुछ नीचे गिरा दिया और उठाने का बहाना करते हुए कुछ ज्यादा ही झुक कर मुझे अपनी लगभग आधे से अधिक चूचों की झलक दिखाई और कहा- मुझे खुद भी ज्यादा ध्यान रखना है ताकि आपके इलाज से मुझे चैन मिल जाए.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली जितनी जल्दी वो मेरे लंड को चूसतीं, उतने ही अन्दर में अपनी जीभ घुसेड़ देता. मैंने सोनिया की सलवार उतारी और उसकी पेंटी के ऊपर से ही चूत पे हाथ लगाया.

राजस्थानी महिला सेक्सी वीडियो

लेकिन इन सब बातों के बावजूद हम दोनों बात करते रहे, अब तक हमारी बातें पूरी तरह खुल गयी थीं।हम लोगों ने न्यू ईयर वाले दिन जीजा जी के घर पर ही मिलने का प्रोग्राम बनाया. वैसे शहर में मेरे रिश्तेदार रहते थे, पर पापा नहीं चाहते थे कि मैं वहां जाऊं, इसलिए हॉस्टल में ही रखा. मैं आंटी के गालों को चूमने लगा मैंने कहा- नहीं आंटी, मत जाओ प्लीज़, मत जाओ! मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, मैं आपको बहुत सारा प्यार करूंगा.

मैं भी उसके मूसल लंड से हिल हिल कर और चुत को उछाल उछाल कर चुदती थी. हम दोनों चुदाई की वासना में इतने मस्त थे कि हमें पता भी नहीं चला कि कोई हमें चुदाई करते देख रहा है और हमारी चुदाई की वीडियो भी बना रहा है. बीएफ बीएफ फिल्म बीएफलेकिन रानी इतनी मस्त थी कि वो खुद ही अपने मम्मे नाख़ून घुसा घुसा के निचोड़ रही थी और धक्के भी मारती जाती थी.

लेकिन राशिद ने उसे हाथ से सहलाया तो वह एकदम टाईट हो गया। डेढ़ इंच की मोटाई रही होगी और छः से सात इंच के करीब लंबाई थी।देखो.

फिर 4-5 जोरदार घस्से मारकर मैंने उसकी चूत में ही अपना माल निकाल दिया और उसके ऊपर निढाल होकर गिर गया।उसने मुझे किस किया और बोली- आज बहुत दिनों के बाद मजा दिया है तुमने… कब से तरस रही थी, अब जब तक ये वापिस नहीं आ जाते तब तक मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी ही हूँ. मुझे तुमने एक रंडी बना दिया है, अब देखना मैं तुम्हारे घर की सभी औरतों को कैसे रंडी बनाती हूँ.

मैंने कहा- इसकी कोई बात नहीं… यह देखेगा तो ट्रेन्ड हो जाएगा।जीजाजी- नहीं, मेरी वर्क शॉप में रहा तो ट्रेन्ड तो यारों ने कर दिया होगा। जैसी तुम्हारी इच्छा।उनका पैन्ट में से उचक रहा था, दिनेश ध्यान से देख रहा था, दिनेश किवाड़ लगाने लगा तो उन्होंने रोक दिया. मेरी चुदाई की सेक्सी कहानी के पहले भागनौकर के बेटे की वासना भरी निगाहें-1में आपने पढ़ा कि मेरे नौकर का बेटा छुट्टियों में अपने पिता के पास आया हुआ था तो वो हमार घर भी आ जाता और घर के काम में अपने पिता की मदद कर देता. मुझे ये स्थिति बहुत पसंद है जब झड़ी हुई योनि को पेलो तो!वो पहले तो चिल्लाएंगीं जिससे मेरा जोश बढ़ेगा.

फिर भाभी ने मुझसे पूछा- स्टूडेंट हो?मैंने कहा- हां, मेडिकल की तैयारी कर रहा हूँ.

भले ही मैं लड़कियों से शर्मीला हूँ लेकिन खुद में बहुत माडर्न हूँ और सेक्स को लेकर ढेर सारी फैंटेसी मेरे दिमाग में घूमती रहती हैं. कुछ देर बाद जैसे ही मेरे लंड का पानी निकलने लगा, तो मैंने लंड बाहर निकाल कर उनके पेट पर पिचकारी छोड़ दी और हम दोनों कुछ देर वहीं लेट गए. मैं चाचा के कमरे से गुजर रहा था, तभी बड़े चाचा ने आवाज दी- साहिल अभी हमारे साथ एयरपोर्ट छोड़ने चलना.

बीएफ दिजियेमैं सगाई में बोर होता रहा क्योंकि मेरे वहां कोई परिचित या दोस्त नहीं थे. दोस्तो, कैसे हो आप सब… मेरा नाम भूपेन्द्र है और मैं राजस्थान के भीम का रहने वाला हूँ.

बड़े बड़े लिंग वाली सेक्सी वीडियो

मैंने अंतर्वासना पर बहुत सारी कहानियां पढ़ी हैं और कहानियां पढ़कर कई बार लंड हिलाया भी है. अब वो कामुक सिसकारियां ले रही थीं और कह रही थीं- इसमें तो चुत से भी ज्यादा मजा आता है. जिस दौरान खून बहता है, उस दौरान न सेक्स करते हैं न ओरल। फारिग होने के बाद लड़की साफ सुथरी हो जाती है.

कुछ देर लंड से खेलने के बाद अब बारी आई चुदाई की, वो मेरे नीचे लेट गईं, मैंने उनकी चुत पर लंड सैट किया और धक्का दे मारा, पर लंड फिसल गया था. मैं अभी उसको और तड़पाना चाहता था तो मैं अपने लंड का टोपा हल्का सा अन्दर डालता, फिर निकाल कर उनकी चुत पे रगड़ने लगता, जिससे वो और पागल हो जा रही थी. मैंने जैसे ही उनके निप्पल को मुँह में लिया, भाबी की कामुक सिसकारी निकलने लगीं.

मुझे इस से क्या?उसने अपने लंड का पूरा माल चुत में डाल कर भी अपना लंड बाहर नहीं निकाला क्योंकि वो नहीं चाहता था कि चुत को टाइम मिल जाए, जिससे वो पूरा माल बाहर निकाल दे. ज्योति के दाखिले का काम करवाने के बाद मैं दिल्ली जाने की तैयारी कर रहा था. मैंने नीचे बैठ कर उनकी पेंटी के ऊपर से ही चुत पर जीभ से चाटा तो मॉम सिहर गईं.

भाभी को दर्द हो रहा था लेकिन फिर भी वो बोल रही थीं- डाल दो अपना लंड मेरी गांड में… फाड़ दो इसे भी. मैंने उनके कान के पीछे चूमना शुरू किया तो वो कामुकता से मदहोश होने लगी.

तब मैंने कहा- बेबी, इससे इससे ज्यादा मज़ा तब आएगा जब मैं तुमको चोदूंगा.

उसके बाद रेखा रानी की चूत, जांघों और झांट प्रदेश को चाट के साफ किया. बीएफ पिक्चर मराठी वीडियोमैंने नीचे गिरी साड़ी उठाकर उसके दोनों हाथों और दोनों टांगों को फैलाकर बेड में बाँध दिए. बीएफ पिक्चर वीडियो में दिखाएंउन्होंने ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर टिका दिया और बोलीं- प्लीज़ राज मुझे अब चोद दो. उन दोनों ने एक दूसरे की चूत और लंड को चूसना शुरू कर दिया और फिर उस आदमी ने भी मनोरमा के मम्मों का बुरा हाल करना शुरू कर दिया.

मैं जब वापस रूम पर आया तो मैंने देखा कि जागृति आंटी मेरे लैपटॉप पर पोर्न देख रही है जो गलती से मैं चालू छोड़कर ही चला गया था.

आख़िर मुझे सोचता देख कर वो बोला कुछ दिनों बाद तुम्हारी चुत की कीमत एक बार चुदने के लिए सिर्फ 2000 की रह जाएगी और पूरी रात को चुदवाने की कीमत बस 5000 से ज़्यादा नहीं मिलगी. फूफा जी मेरी गांड की तरफ़ आ गये और मेरी चूत को अपने हाथों से फैलाते हुए उसको चाटने लगे, उनके चाटने से मुझे बहुत मजा आ रहा था… मैं अपनी चूत उनके मुँह पर दबाने लगी और फिर फूफा जी ने मेरी चूत को चाट चाट कर अच्छे से साफ कर दिया. या खुदा !! उनका नर्म गर्म हाथ पकड़ते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा.

अब मैं ज़ोर ज़ोर से उनके मम्मों को दबाने लगा और उनके निप्पलों को चूसने लगा. क्योंकि अभी तक का मेरा अनुभव था कि सभी लोग जैसे ही कोई पराई लड़की देखते हैं, तो उनका ध्यान उस लड़की के मम्मों और चूत पर ही जाता है कि किस तरह से इसको हासिल करके चुदाई के लिए इस्तेमाल किया जाए. तब मैंने कहा- उंगली अंदर डाल कर तेल लगा!देवेश ने अपनी तेल से भी उंगली मेरी गांड में डाली, पहले एक फिर दो उंगली… वह बड़े धीरे धीरे उंगली चला रहा था।फिर सुमेर मेरे ऊपर चढ़ बैठा और उसने अपना लंड मेरी गांड पर टिकाया और अंदर कर दिया मुझे बहुत आनंद आया.

मां बेटे की सेक्सी गांव की

अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेहद खूबसूरत और हसीन कामवाली पिंकी मेरे साथ ही सोने लगी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या बोलूँ और क्या मांगूं!मैंने कुछ देर सोच कर कहा कि मैं एक रात आपके साथ बिताना चाहता हूँ. बुआ जंगली स्माइल देने लगीं, उनके चेहरे पर वासना एकदम से झलक रही थी.

पूरे कमरे में पट पट की आवाज आने लगी जो उसकी गांड और मेरी जांघों से टकरा कर निकल रही थी.

मुझे भी बड़ा सेक्स चढ़ता था, पर मैं परिवार की वजह से कुछ कर नहीं सकता था.

जिससे उनको भी कुछ होश आया और कहने लगीं कि अम्मी अब्बू जाग रहे हैं, मुझे अब जाना होगा. फिर कपड़े निकालना चालू किए तो वो बोली- इसको मत निकालो, कोई आ गया तो जल्दी नहीं पहन पाऊंगी. बीएफ सेक्सी पिक्चर दिखाएंइसी सास ने अपने लड़के को बहुत ही भड़काया था और मेरी एक ना सुनी कि उसने मेरे साथ क्या करवा दिया.

हवस की लगातार बढ़ती हुई तेज़ी धक्कों की रफ़्तार को और भी तेज़ किये जा रही थी. मैंने पिंकी से पूछा- फिर क्या हुआ?पिंकी अपने माँ बाप की चुदाई का आँखों देखा हाल सुनाने लगी:कुछ देर बाद मेरे बाप नेमाँ को नीचे लिटाया और उसके ऊपर चढ़ गया. कुछ ही देर में भाभी की चुत का पानी निकल गया और वे एकदम से ढीली पड़ गईं.

हाँ आपके लिए कुछ लाना हो तो बता दो?मैंने कहा- बेटी, मेरे लिए कुछ नहीं लाना, तुम अपने लिए सेक्सी सेक्सी नाइटी ब्रा चड्डी जरूर ले आना. इस तरह से पूरी रात बिता कर जब सुबह उन लड़कों ने कहा- अब चलो वरना कोई पहचान लेगा.

उसके चूचे पहले से काफी सॉफ्ट हो गए थे और उसने मेरे लिए ब्रा भी नहीं पहनी थी.

उसने आवाज़ दी- कहाँ खो गये?मैंने कहा- आपकी खूबसूरती में!उसने कहा- आप मज़ाक कर रहे हैं!मैंने कहा- नहीं… आप वाकयी बहुत खूबसूरत हैं. चूचुक दबाते हुए उसकी जांघें चाटते हीबहू की कामाग्निभड़क उठती है और उनकी चूत में रस की बाढ़ सी आ जाती है; यह राज मैंने उसे कई कई बार चोद कर जाना. अच्छा अब जाओ अपने कमरे में… और सुनो अपने डंडे के पास जो काली घास फूस है ना उसे भी साफ़ करके आना.

एचडी सेक्सी एक्स एक्स एक दिन उसने मनोरमा से कहा- मैडम, मुझे अब रात को नींद नहीं आती!और उसका कारण भी उसने बताया. उनकी सलवार समीज चुस्त थी, तो शरीर की सारी बनावट साफ साफ समझ में आ रही थी.

इस मिशनरी आसन में मैं मस्ती से उसे चोद रहा था और साथ में चुदाई देख भी रहा था. करीब 5 मिनट बाद उसका बदन अकड़ने लगा और अगले ही पल वो झड़ गई लेकिन फिर भी मैं उसे पेलता रहा और अगले कुछ मिनट तक अलग अलग पोजीशनों में चोदता रहा. दीदी की शादी हो चुकी थी लेकिन तीन साल पहले उनका डाइवोर्स हो गया था, तब से वो भी यहीं कानपुर में ही हमारे साथ रहती हैं.

ब्लू सेक्सी देसी हिंदी में

थोड़ी देर में वो झटके देने लगी और आआअ ह्ह्ह्हम्म अअह आअह की आवाज़ के साथ वो छुट गयी. इसमें उसका लिंग पक” करके मेरी योनि से निकल गया था।अब फिर अहाना अधलेटी सी हो कर मेरे एक दूध की घुंडी को होंठों से खींचती सीधे हाथ से मेरी गीली बही हुई योनि को सहलाने लगी।जबकि राशिद ने फिर अपनी मुनिया की टोपी अंदर धंसा कर मेरी जांघों को ऊपर की तरफ दबाते हुए अंदर ठेलने लगा. एक दिन की बात है, मैं कोचिंग में थोड़ा जल्दी पहुँच गया था क्योंकि मुझे रास्ते में कुछ काम था.

तो वे बिना देर किये उगल दिये- देखो भाई लोगो, यह प्लान मेरे दोस्त दिनेश का है, तो मेरी तरफ इस तरह से न देखें।पूरे मध्यावकाश में इसी पर चर्चा होते रही, तब जाकर दोनों मंदबुद्धि शिक्षक को समझ में आयी कि उन दोनों को सेमिनार में भाग लेने से क्यों रोका जा रहा था. भाबी ने हल्की सी आह निकाली और मस्त होकर बड़बड़ाने लगीं कि आह… कितने दिनों से तड़प रही थी… तेरा लंड लेने को… आज चुदने में मजा आएगा…भाबी न जाने क्या क्या बके जा रही थीं.

मेरी गीली चूत से अन्तर्वासना के सभी पाठको को आपकी प्रभा का सेक्स भरा नमस्कार!दोस्तो, अपने मेरी पिछली कहानीमाँ बेटा सेक्स: बेटे ने मेरी हवस मिटाईको इतना पसंद किया उसके लिए आप सभी का अपने जिस्म से शुक्रिया अदा करती हूँ.

दोनों के हाथ मेरे लंड पर थे और मुँह से बड़बड़ा रही थीं कि क्या मस्त लंड है साले का. उसका फोन आता रहा, मगर मैंने कोई जवाब नहीं दिया और फिर फोन का सिम ही तोड़ दिया. ”साले भेड़िये… बोलती हूँ न अब छोड़ भी दे… नहीं तो दर्द की गोली लेनी पड़ेगी… जिस दिन मैंने तुझे पहली बार देखा ना तुम्हारी शादी में उसी वक़्त जूसी से जल भुन के मैं तो फुंक गई थी.

”फिर जोर लगाते हुए भाईजान ने अपना पूरा मूसल लंड मेरी चुत के अन्दर डाल दिया और मेरी चूचियों को एक मिनट तक चूसा. मेरा भी मन करता था कि कोई मेरे बड़े बड़े मम्मों को दबाए, मेरे होंठों को चूमे, मुझे घोड़ी बना कर या कुतिया बना कर पटक पटक कर जी भर के चोदे. उनको न आता देखकर मैंने सेक्स टॉय का पैकेट खोला और उसे हाथ में लेकर देखने लगा, तभी अचानक डोर खुला और भाभी सामने हाजिर हो गईं.

मेरे ज़ोरदार झटकों से सोनिया ऊपर नीचे हिलने लगी, जिससे उसके मोटे मम्मे भी झूलने लगे.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी वाली: इसके बाद उसने किसी को बुलाया और बोला कि मेमसाहब को मेरे घर पर छोड़ कर आओ और साथ ही घर की चाबियां उसे दे दीं. एक स्पेशल बात ये पर्सनली मुझे बहुत पसंद है और हमारी क्लास टीचर भी यही हैं।मैं घर में अंदर गया उन्होंने मेरा स्वागत किया कुछ थोड़ी बहुत बात हुई.

3-4 मिनट चाटने के बाद मैं उठा और उसी पोज़िशन में ही अपना लंड सामने से ही मम्मी की चूत में डाल दिया और हल्का हल्का शावर भी चला दिया. वो किसी बड़ी बिल्डिंग में रहते थे, घर भी बहुत अच्छा था उनका!उन्होंने मुझे बैठने को कहा और मैं उनके सोफे पर बैठ गया. उस दिन जब मैं घर पहुंचा तो मैंने देखा के तीन बजे थे और भाभी के घर से एक आदमी बाहर निकला और चुपचाप चला गया.

मेरे जीजा ने मेरी दीदी को किस किया और बोला- ओह आज तो मज़ा आ गया… क्या लंड चूसती हो, पर रात को मैं तुझे जन्नत की सैर कराऊंगा.

हिमानी ने बहुत ही सुन्दर एक छोटी सी स्कर्ट पहन रखी थी जिसमें उसकी मांसल और चिकनी टाँगें साफ़ दिखाई दे रही थी. तभी मेरी छोटी मामी और बुआ मेरे पास आईं और बोलीं- अबे यहाँ क्यों बैठा है? भाई की शादी है, थोड़ा डांस-वान्स कर!तो मैं बोला- मुझे डांस नहीं आता!वो बोलीं- तो फिर सबको चाय पानी पिला… कुछ मदद कर!तो मैंने एक बड़ी ट्रे में पानी के गिलास रखे और सबको पिलाने लगा. उसकी आँखें बंद थी, कुर्ती टाइट होने की वजह से मैं उसे ऊपर नहीं कर पा रहा था तो मैंने मुन्नी को बोला- ये ऊपर होगी क्या?उसने मुस्कुराते हुए कुर्ती के साथ अपनी ब्रा भी ऊपर कर दी.