हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो सुहागरात

तस्वीर का शीर्षक ,

సెక్స్ వీడియోస్ ఇండియన్: हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ, जैसे ही मैं पहुँचा तो तुरंत मुस्कान का फ़ोन आया, वो बोली- घर वाले शादी में चले गए, कहाँ हो तुम? अब मेरे घर आओ!मैं बोला- दरवाज़ा तो खोलो, तुम्हारे घर के सामने खड़ा हूँ.

हिंदी ब्लू बीएफ एचडी

मैंने मंजू की सिसकारियां सुन उसके हाथों को ढीला छोड़ दिया और राज उसे अपनी गोद में बैठा कर फिर से चूमने लगा. हिंदी बीएफ ब्लू सेक्सी पिक्चरउंगली चोदन से करीब 10 मिनट में उन्होंने पानी छोड़ दिया और मुझे जोर से किस किया.

मैंने भी अपने अमृत की एक एक बंद उनकी चुत में डाल दी और मेरा लंड अपने आप छोटा होकर धीरे धीरे बाहर आ गया. सुहागरात वाली बीएफ वीडियो हिंदीजब आदमी ऊपर आता है, औरत के शरीर को मसलता है, तो मज़ा आ ही जाता है यार.

मैंने लंड के सुपारे को भाभी की चूत पे लगाया और उनको बैठने का इशारा किया.हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ: अरे कुछ नहीं आज थोड़ी ज्यादा ही ठंड है ना?”ऐसा कहकर मैंने उसका हाथ मेरे सीने पर रख दिया.

फिर मैंने धीरे से उसकी सलवार उतार दी और उसकी पेंटी पर किस करने लगा.इसके बाद सोनम ने अपना बैग अपनी फ्रेंड के रूम पर रखा और फिर उसने अपने फ्रेंड के रूम की एक चाबी मुझे रखने को दी.

देवर भाभी की सेक्सी बीएफ एचडी - हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ

मैं ऐसे ही आधे लंड को अन्दर बाहर कर के मामी जी की गांड मारने लगा और थोड़ा थोड़ा अन्दर घुसेड़ता भी जा रहा था, जिससे लंड का काफी हिस्सा गांड के अन्दर घुस गया था.लंड की मुठ मार कर बापू सिर्फ पद्मिनी की जाँघ और पेंटी देख कर और छूकर ही खुश हो गया था.

आप बस मेरी चूत चाटोगे और मुझे अपने लण्ड का माल पिलाओगे!” शाज़िया ने कहा।चाचा- हाँ … मगर अब मेरा इरादा बदल गया है, अब मैं तुझे चोदूँगा भी … तभी वीडियो डिलीट करूँगा, वरना नहीं।उसकी चूची से मुंह हटाकर चाचा उसका पेट चूमते चूमते चूत तक पहुंच गये और उसकी टाँगें फैलाकर चूत को देखने लगे और धीरे से उस पर चूम लिया. हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ मेरी बहन प्रीति मेरी तरफ अपनी गांड करके सोई हुई थी और मेरा लंड बैठने का नाम नहीं ले रहा था तो मैंने अपना पजामा थोड़ा नीचे किया और अपना अंडरवियर नीचे करके अपना लिंग हाथ में पकड़ लिया.

उसने जैसे ही उसको गोद में उठाया, उसने उस पर चुम्बनों की झड़ी लगा दी।और मेरे मुंह से एकदम से निकल गया कि काश मेरी भी ऐसी किस्मत होती और तुम मुझे भी ऐसे ही किस करती।उसने कुछ नहीं कहा, बस हंस दी।फिर मैं वहाँ से चला गया।फिर बहुत दिनों तक बस मैं सोचता रहा कि क्या किया जाए।और एक दिन मैंने मौका देखकर उसको प्रोपोज़ मार दिया कि वो मुझे पसंद है और मैं उससे प्यार करता हूँ।उसने कुछ नहीं कहा.

हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ?

करीब दस मिनट बाद जब मैं झड़ने वाला था, तो मैंने अपना लंड उसके स्तनों पर रख दिया. और अगले ही पल में उसने वो बोल दिया, जिसकी मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी. मैं पहली बार कहानी लिख रहा हूँ और वो भी मोबाईल से, तो कुछ शब्द सही से नहीं लिख पाया हूँ.

अभी तक आपने पहले भागोंमामी की चूत चुदाई का आनन्द-1मामी की चूत चुदाई का आनन्द-2मामी की चूत चुदाई का आनन्द-3में पढ़ा कि मामी की मैंने कैसे चुदाई की थी. आशा करता हूँ कि जैसे मेरी पिछली सेक्स स्टोरीलड़की की नंगी चुत चुदाई का मजा उसके घर मेंआपको पसन्द आई थीं, ये भी पसंद आएगी. उसका फिर खड़ा हो गया, सुमेर बोला- यार, आज तुम्हें मेरी मारनी पड़ेगी! तुम रिटर्न में कुछ लेते नहीं!देवेश बोला- दोस्ती में करवाई वरना बंगलोर में तो बहुत फीस है, मैं मांगता नहीं, यह हमारा आपका व्यव्हार है।सुमेर- तो आज दोस्ती में मारनी पड़ेगी, इक तरफा दोस्ती नहीं चलेगी।सुमेर ने उसका अंडरवियर उसके हाथ से छीन लिया, दूर फेंक दिया और लंड चूसने लगा.

इसके बाद हम एक दो बार और मिले, पर कभी समय नहीं मिल पाया कि उसके संग और चुदाई की जा सके. मैं उनकी तरफ रेंगते रेंगते ही पहुंच गया और अपना मुँह खोल के उनका मुरझाया सा लंड फिर से मुँह में ले कर चूसना शुरू कर दिया. उसके बाद हम जो प्रोजेक्ट बना रहे थे उसको एक तरफ छोड़ कर एक दूसरे के गले लग कर एक दूसरे को किस करने लगे.

क्या जादू कर दिया बेबी आज तो तू फोरप्ले करके ही मुझे पूरा सॅटिस्फाइ कर देगा. अचानक बाबा ने अपना लंड निकाल लिया और वल्लिका की गोरी चूचियों पे टूट पड़ा.

शाम को आंटी मेरे घर आई और हम दोनों साथ साथ ऑटो पकड़ कर चले गए शोरूम पर.

उसने भी मुझे पूरी ताकत से बांहों में अपने जकड़ लिया और मेरे दूध को भी अपने मुँह में भर लिया.

दोस्तो, अब मैं समझ गया था कि भाभी मुझसे चुदवाना चाहती थीं, पर मैं अपनी तरफ से पहल ना करके उन्हें तड़पाना चाहता था. उसने बड़े प्यार से उसको देखा फिर अपने दोनों हाथों से उसको छू कर एहसास करने लगी. मैंने उससे जवाब माँगा तो उसने कहा कि आप मेरी पहली ज़िन्दगी के बारे में नहीं जानते.

मैंने मेरे हाथ नीचे लाते उनकी भरी हुई मादक मस्त गदरायी गांड पर रोक दिए. इससे मेरी गांड ऊपर हो गई, तो दिनेश मेरी गांड में और जोर से धक्के मारने लगा. वो मेरे ऊपर आकर मेरी तरफ मुँह करके अपनी टांगें सीट पर फैला कर अपनी भारी गांड को मेरे लंड रख कर बैठने को हो गईं.

तुम साले मुझे मम्मी बोलते हो मगर दूध नहीं पियोगे… तो कैसे मैं तेरी मम्मी बनूँगी.

रितु की चूत फट गयी, वो दर्द के मारे जोर से चिल्लायी- मार दिया कुत्ते … क्या लंड है तेरा!और जेम्स ने जोर से धक्के लगाने शुरू किये. अब मेरे मुँह में ही दिनेश का लंड छोटा हो गया, मतलब कि दिनेश झड़ कर पूरा खाली हो गया. पद्मिनी बोली- आपने जब पेंटी उतारी थी, तो वहां कुछ इतना मोटा नहीं था.

फिर मैंने उसको अपना नम्बर दिया उसने मेरा नाम पूछा, तो मैंने कहा मेरा नाम यश है. तभी निक्की आ गयी और बोली- थोड़ा आराम से, इतनी सांसें तेज कर दीं?तो मैंने कहा- अभी तो हल्का सा चूमा है और यह पानी पानी हो गयी. सच में पुन्नी जान मेरा लंड तुमको हर समय याद करता रहा और मैं उसको तुम्हारा नाम ले ले कर हाथों से ठंडा करता रहा.

इसलिए डरती थी, वरना मैं तो चाहती थी कि मुझे पूरी नंगी कर के मेरी चूत को चाट चाट कर चाटा जाए.

मैंने उसको नीचे उतारा और अब मैं उसके सूट को उतार रहा था और साथ में ही उसके चूचों को भी सहला रहा था. इसके बाद उसने उस पकौड़े जैसी चूत के अन्दर अपना लंड पेल दिया और उसको दबा दबा कर चोदने लगा.

हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ मेरी प्यारी भाभी!”अगले दिन दीपक का फोन आया और बोला- मुझे आपसे सुनना है, जो मुझे मेरी बहन ने बताया है. दिनेश थोड़ा खिसका तो आकर मुझसे लिपट गया और बोला- तू एकदम गजब माल हो रखी है, बहुत-बहुत किस्मत वाली है तू जो तुझे मेरा मस्त लौड़ा मिलेगा.

हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ मैंने जैसे ही अपने लंड को ऊपर खींचा, तो मेरा लंड खून से लाल हुआ पड़ा था. फरवरी की मीठी मीठी सर्दी में रात को शादी के माहौल में सब लोग देर से ही सोये थे, इसलिए कोई भी जगा हुआ नहीं मिला.

दूसरे दिन शाम को मैं अपने घर आने को निकला, तो उसने मुझे 3000 रूपये दिये.

बीएफ सेक्सी वीडियो रेप

सोमवार को वादे के मुताबिक मैं सारिका को लेने उसकी बताई जगह पर पहुँच गया. बहुत सालों के बाद कोई जवान छोकरा हाथ आया है, वरना पांच सालों से पड़ोस के बुड्डे से ही काम चला रही हूं. फिर करीब आठ दस मिनट तक अपना लंड अपनी प्यारी-सी सेक्सी-सी अधनंगी बहिन के मुँह में चुसाने के बाद विक्रम मयूरी के मुँह में ही झड़ गया.

आप बोलिए तो मैं आपके आगे अपनी नाक रगड़ देता हूँ मगर प्लीज़ यह पिक्चर डिलीट कर दो. आज हमारी फर्स्ट नाईट है तो … वो बादाम वाला दूध तुमने लाकर रखा या नहीं?आयुषी- वो असल में कल रात से मैं ठीक से सोई नहीं थी ना … मेरे सर में दर्द हो रहा था तो मम्मी जी ने मुझे केटल में कॉफी दी थी, अभी तो मैंने बस वही पी है … आप भी लेंगे क्या कॉफ़ी?आयुषी उत्तर की प्रतीक्षा किये बिना एक मग में कॉफ़ी उड़ेलने लगी. दस मिनट किस करने के बाद मैं नीचे मौसी की झांटों से भरी चूत को मुंह में लेकर चाटने लगा। फिर मैंने अपना 6.

उत्तेजजना बढ़ने के साथ ही वह मेरे बाल पकड़ कर अपनी चूत पर जोर से दबा रही थी, उसकी चूत रस और मेरे जीभ से निकल रहे लार के कारण जोर जोर से चट चट की ध्वनि निकाल रही थी.

घर वालों ने राहुल को फोन करके बस कुछ बता दिया था, जिससे टाइम पर आकर राहुल ने मुझको नीचे उतारा और मुझको बहुत सारे चुम्बनों से नहला दिया. उसे देखते ही बस मन किया कि अभी इसको गोद में उठा कर इसकी चुदाई कर दूँ, पर जैसे तैसे अपने ऊपर कंट्रोल किया. अधनंगी पद्मिनी उसके सामने बिस्तर पर पड़ी थी, वो अपने बालों को सर के नीचे से फैलाने का प्रयत्न कर रही थी.

कुछ पल के लिए भाभी शिथिल हो गईं उनकी आँखें तृप्ति के नशे से बंद हो गईं. मैं बोली- ये टूट तो नहीं जाएगी?उन्होंने बोला- नहीं, ये नहीं टूटेगी जानेमन. उसकी आँखें हल्की गुलाबी हो चली थी, वह अपने पूरे शवाब पर थी, पता नहीं क्या क्या बोल रही थी।उसने नीचे झुक कर मेरी पैन्ट चड्डी एक साथ उतार दी और लंड को हाथ में लेते हुये कहने लगी- हाय मेरा मुन्ना कितना मुरझा गया है.

हम एक जंगली की तरह एक दूसरे को चूम रहे थे, जैसे अब कभी हमको यह मौका मिलेगा ही नहीं. फिर उन्होंने धीरे से कहा- देखो, तुमने मेरी मुनिया का क्या हाल करके रखा है!तो मैंने कहा- रेशमा मेरी जान, इस मुनिया की मैं अच्छे से सेवा करूंगा.

मैंने भाभी के कपड़े खींचते हुए उतारने शुरू किए, जिस कारण उसकी ब्रा फट गई लेकिन मैं रुका नहीं. आपको मेरी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है? मुझे मेल करके बतायें।मेरा मेल आई डी है[emailprotected]. मैं बोली- चाचा मुझे कोई दिक्कत नहीं है, बस ये आज की बात किसी को भी भी पता नहीं चले.

00 बज चुके थे और अभी भी हम दोनों नंगी ही थी, एक दूसरी को नंगी देख रही थी.

एक और बार चुदाई के दौर से गुजरने के बाद तीनों भाई बहन नहाने के लिए बाथरूम में गए और एक साथ ही नहाने लगे. मगर मेरा दिन नहीं मान रहा था कि इसको किसी कसाई के आगे बकरी की तरह कटने के लिए दे दूं. जब उसके नंगे मम्मे मेरी पीठ पर लगे तो मालूम हुआ कि ये मेरे पीछे है.

मैं अब अपने स्कूल में जो ससुराल के पास ही था वहाँ बारिश में खुले दरवाज़ों के अन्दर ज़मीन पर पट्टी बिछाकर चुद रही थी. फिर मैंने अपनी बड़ी बहन प्रीति का कमीज उसके चूतड़ों से ऊपर उठा दिया और उसके चूतड़ों पर उसकी सलवार के ऊपर से अपना लिंग रख दिया और मैं एक हाथ उसके पेट पर रख कर अपने लिंग को आगे पीछे करने लगा जिससे मुझको बहुत ही मजा आ रहा था.

उसके भैया बोले- टेन्शन ना ले भाई के होते… खानदानी परंपरा जारी रहेगी. फिर मैंने अपनी चुदास को शांत करने के लिए उससे मेरी मुठ मारने को कहा. अब हम दोनों ही रितु को चोद रहे थे, मैं मुँह को चोद रहा था और जेम्स चूत को!कुछ देर बाद मैं बोला- जेम्स, अब मुझे इसे चोदने दो और तुम आगे आ जाओ!अब रितु को हमने बेड पर ले लिया, वह घोड़ी बन गयी और जेम्स के लंड को चूसने लगी और मैंने पीछे से उसकी चूत पर लंड लगाया और चोदने लगा.

बीएफ आर्केस्ट्रा वीडियो

बात यूँ शुरू हुई कि इस साल मेरा 12वीं का रिजल्ट आया और उसमें मेरी बैक आई थी, जिसका एग्जाम जामनगर में 17 जुलाई को होना था.

मगर वो पढ़ी लिखी नहीं थी, इसलिए मैंने उसको कुछ किताबें लाकर दीं और उसको पढ़ना सीखना शुरू किया. अब मैं गाहे बगाहे सुधा भाभी को अपने लंड की सवारी का मजा देता रहता हूँ. मेरी इस कहानी की शुरुआत तो करीब एक साल पहले की है, लेकिन भाभी की चुदाई मैंने अभी गर्मी की छुट्टियों में की है.

मेरे पापा इंग्लैंड में रहते हैं, मेरे घर में मेरी मम्मी हाउसवाइफ है, हम तीन भाई बहन हैं, मुझसे बड़ी बहन का नाम प्रीति है, वह मुझ से 2 साल बड़ी है और मुझसे 3 साल छोटी बहन का नाम अमनदीप कौर है. अब मैंने उसको चोदना चालू किया और कुछ ही पलों बाद वो बोलने लगी- तेज चोदो. ब्लू बीएफ मूवी सेक्सीचाचा जी ने मुझे चोदने की शर्त पर किसी से न कहने की बात रख दी, जिसे पहले मैंने मान लिया, फिर मना करने लगी.

उसने पूछा- कहां पे?मैंने उसे अपनी शॉप का एड्रेस बताया, फिर उसने कहा कि मेरे मोबाइल में कुछ एरर आ रही है. पहले किसी गर्लफ्रेंड के साथ तो नहीं किया ना?मैंने मना किया और कहा कि तुम्हारे अलावा मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं है.

मैंने चूचियों को दांतों से काटा तो खाला कराह उठी और वो मादक आवाजें निकालने लगी, आह उह आह की आवाजें पूरे कमरे में गूंज रही थी, खाला कह रही थी- धीरे मेरे राजा, धीरे प्यार से चूसो सब तुम्हारा ही है!उनके बूब्स अब लाल हो चुके थे, उनके पूरे शरीर में एक आग सी लग गयी. कुछ देर बाद वो नार्मल हुई और अपने मुँह से कपड़ा निकल कर मादक सिस्कारियां निकालने लगी. मेरे एक दोस्त कैलाश ने मुझे एक लड़की पटवाई थी, उस लड़की का नाम प्रिया था.

मैंने उसको बताया कि जब वो गाड़ी धोकर अपने रूम में चले जाएं, तब तुम किसी भी तरह गाड़ी की चाभी लेकर उसकी टंकी को खोल कर उसमें आधा लीटर पानी डाल देना. रात को हम तीनों ने खाना खा कर लेटने का प्रोग्राम बनाया, क्यूंकि घर में वो, मैं और दादी ही थे. फिर मैंने अभिलाषा से पूछा- रिसेप्शन से जो घुंघराले बालों वाली लड़की मुझे आपके कमरे में लेकर आई थी, मुझे वह पसंद है.

चाचा सच बोल रहे थे कि जिसने तेरी गांड में लंड डाल लिया उसका जीवन धन्य हो जाएगा.

मैंने चैनल बदल दिया तो अनीता दीदी गुस्सा हो गईं और कहने लगीं- तुम अपने लैपटॉप में हीरोइनों की नंगी चुदाई वाली फोटो देखते हो तो कुछ नहीं. मैंने उनकी पसंद की सेक्स पोजीशन पूछी, तो वो बोलीं कि सेक्स बहुत कम हुआ है.

बुआ का लड़का बाहर से खाना लेकर आया और हम दोनों खाना खाने के बाद एक दूसरे से थोड़ी बातें करने लगे. यह बात लगभग 2 साल पहले की है जब मुझे कंपनी के काम से चेन्नई जाने का मौका मिला. इधर मल्होत्रा अंकल मेरी गांड पर थप्पड़ मारने लगे थे, वे मुझसे बदला ले रहे थे कि मैंने उनको शुरू में इंकार किया था इसीलिए वे पूरे गुस्से से मेरी गांड मार रहे थे, मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा था लेकिन मैं अपने पापा के लिए सब कुछ बर्दाश्त कर रही थी.

यह कह कर मैंने अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया ताकि वो यह ना समझे कि मैं उसके लंड को देख रही हूँ. मेरी कामुक बीवी कुतिया बन गई और मैं बीवी के पीछे आकर उसके दोनों पैरों के बीच घुटनों पर खड़ा हो गया. मैं चली तो गयी लेकिन इस बार बिना इन्फ़ॉर्म किए चली गयी थी, ग़लती मेरी ही थी.

हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ उन्होंने कहा- क्यों पहले खूबसूरत नहीं लगती थी?मैंने कहा- खूबसूरत तो आप पहले भी लगती थीं, लेकिन आज आपको पहली बार साड़ी में देखा न. मेरी पिछली कहानी थीपड़ोसन आंटी का अंगप्रदर्शन और धमाकेदार चुदाईयह सेक्सी स्टोरी मेरी और एक हाई प्रोफाइल भाभी की चुत की आग की है.

नई साल की सेक्सी बीएफ

अब में सिर्फ़ अपने सुपाड़े को ही धीरे-धीरे उनकी गांड में अन्दर बाहर करने लगा था. और यकीन मानिये यहाँ की कहानियाँ बेहद गर्म होती हैं!काफी दिनों बाद आज मैंने सोचा कि अभी 20 दिन पुरानी घटना को कहानी के माध्यम से आप लोगों के साथ शेयर करूँ!तो दोस्तो, आज मैं आपको एकदम सच्ची घटना बताने जा रही हूँ जिसमें मैं और बेटा बेटा सोनू है!मेरे पिताजी को दारू की लत थी, माँ बचपन में ही चल बसी थी तो मेरे पिताजी ने मेरी शादी किशोरावस्था में ही करवा दी. दीपक ने कहा- आपने मुझ पर बड़ी मेहरबानी की है, जिसके लिए मैं सारी जिंदगी आपका गुलाम बना रहूँगा.

कुछ ही दिनों बाद बरसात के मौसम में हम फिर नदी के किनारे घूम रहे थे, तभी मैं उससे कहा- हर्षा, मौसम कितना रोमांटिक है ना?उसने हां कहा. तो उसने मेरे को जबरदस्ती टाइट पकड़ लिया और मेरे लिंग को पूरा अपनी योनि में डाल दिया. वीडियो में सेक्सी फिल्म बीएफयूं लग रहा था कि जैसे बारिश हो रही है और सामने एक अप्सरा सज धज के अपने प्रेमी के इंतजार में खड़ी है.

उस रात मैंने पम्मी को 2 बार और चोदा, जिसमें से एक बार उसकी गांड भी मारी थी.

इसके साथ वो कभी मुझको किस करती, तो मैं कभी उसके चूचे चूसता और दबा देता. पता नहीं क्यों मुझे ऐसे लगा कि मैडम जी कुछ ज्यादा ही गौर से पेपर्स देख रही थीं.

नाश्ते के बाद मैंने जूसी रानी से कहा कि मेरठ में मेरा एक दोस्त रहता है प्रदीप, मैं उससे मिलने जा रहा हूँ. मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसे बैड पर फिर से घोड़ी बनाया और उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया, उसकी गांड और मेरी कमर की टकराहट से जोरदार आवाजें आने लगी।थोड़ी देर बाद मैं बेसब्र हो गया और अपना लिंग निकाल कर उसकी चूत में पेल कर जोरदार चुदाई करने लगा. मगर ना तो राहुल हटने को तैयार था और ना ही मैं मना करने के मूड में थी.

अब मैंने इसी बहाने उससे बात आगे बढ़ाई और सेक्स के बारे बातें करने लगा.

एक दिन जब वो किसी काम बिजी थी तो मैंने देखा कि उसकी मेल आईडी खुली रह गई थी. मैंने उसको पेट पर से पकड़ रखा था वह भी बहुत खुश थी पर शायद वह यह सब नहीं चाहती थी और मैं चाहता था. दोस्तो, मेरी पहली कहानीचुत चुदाई की चाहत में उसने मुझे घर बुलायाआप सबने पढ़ी और उसे सराहा.

रोमांस वाली बीएफउसने कहा- अभी मुझे कुछ नहीं चाहिए, पर हां जल्दी ही मैं तुमसे जो कुछ मांगूगी. वह महिला अंधेरे का फायदा उठाकर मेरे नजदीक आई और मेरे पैरों पर लेट गई मेरी लंड के नीचे अपना सर रख दिया और मेरे लंड को ऊपर से सहलाने लगी.

छोटी चूत की चुदाई बीएफ

पद्मिनी बोली- आपने जब पेंटी उतारी थी, तो वहां कुछ इतना मोटा नहीं था. नहाते समय रजत विक्रम का लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और तीनों फिर से नहाते-नहाते ही चुदाई करने लगे. भाभी- तो इसमें क्या है?अब मेरे पास कोई चारा था नहीं, तो मैंने उनको बता दिया कि उसमें ब्लू फिल्म है.

ये बात पिछले साल की है, मैं जहां जॉब करता था, वहीं पास में एक ब्यूटी पार्लर था. कुछ देर बाद मैंने थोड़ा सा हिलना शुरू किया और अपना लंड अन्दर बाहर किया, तो उसे फिर से दर्द हुआ. मैंने हाथ के स्पर्श से महसूस किया कि कोमल का निप्पल एकदम टाइट हो चुका था.

जो आपकी इस हॉट ड्रिंक में है मम्मी जी…”दो पल बाद ही उनकी चूत में से टॉयलेट की बूँद बूँद टपक रही थी. पर हां … उत्सुकतापूर्वक उन मॉडर्न छोरियों के हाव भाव उनके स्टाइल्स आत्मसात या सीखने की कोशिश में जरूर लगती थी. कई बार तो एक लड़की को एक से अधिक 3 या 4 मर्द मिलकर उसकी चुदाई करते हैं.

उसने पूछा- आपको ये सब किसने बताया है?मनोरमा ने कहा- तुम्हारी बहन और माँ ने. इसीलिए उनके कमरे में जो कुछ भी चलता था, मैं बड़ी आसानी से समझ जाता था.

जब मेरा झटका गांड में अन्दर जाने के लिए लगता तो वो भी बड़े ही मस्त अंदाज में अपनी गांड को मेरे लंड से लगा देती.

मैंने किसी से कोई सेक्स नहीं किया लेकिन मुझे मालूम है कि मेरी कौमार्य झिल्ली टूट चुकी है. हिंदी में ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी’मैं- भाभी मेरे लैपटॉप में एक से बढ़कर एक वीडियो है, उसमें से आपको जो भी पसंद है, ले लो. सेक्सी बीएफ भोजपुरी चाहिएफिर हम नहाने के लिए उठ गए, लेकिन उससे चला नहीं जा रहा था और बेड़ की चादर पर खून और वीर्य पड़ा था. साथ ही मैडम के चिकने पेट पर हाथ घुमाते हुए उंगली से नाभि को कुरेदने लगा.

मैं धीरे धीरे उसकी बुर पे हाथ रख कर मसलने लगा, जिससे वो और ज्यादा उत्तेजित हो गयी और मेरे हाथ को हटा खुद ही अपने हाथ की उंगली डालने लगी.

मेरे पति मेरी गांड बहुत मारते थे तो मुझे गांड मरवाने में कोई दिक्कत नहीं है. मैंने मम्मी को कहा कि आप लोग तो मुझसे बोली थीं कि आप लोग शाम को आ जाओगी?तो मम्मी बोली कि क्या करूँ बेटा शादी का घर है न. ऐसे जंगलियों की तरह क्यों कर रहे हो?मैं थोड़ा नशे में बोला- चुप कर साली.

उसने कहा- बात तो तुम्हारी सही है, ऐसा ही होना चाहिए, अबकी बार ऐसा ही करूँगी. मैंने जल्दी से उठ कर बाथरूम में जाकर बुर साफ की और ब्रा पैंटी पहन कर चूचियों को सही से ब्रा में सैट किया. फिर मैंने पूछा- कि तुम्हारे दिल में मेरे लिए क्या फीलिंग्स हैं?उसने कुछ सोचा फिर बताना शुरु किया- जब मैं आपसे बात करती हूं तो मैं सब कुछ भूल जाती हूं, ऐसा लगता है कि मुझे सब कुछ मिल गया, ज़िन्दगी में बस तुम पास हो तो मुझे ज़िन्दगी से कुछ नहीं चाहिए.

कुत्ता और लड़की का सेक्स वीडियो बीएफ

ये सुन कर वो बहुत खुश हुआ और उसने लंच का ऑर्डर कर दिया, जो थोड़ी देर बाद आ भी गया. अब जब मैंने एक बुड्डे की चुदाई की ताकत को महसूस कर लिया था तो मुझे विचार आया क्यों ना मैं इनको पटा लूँ. मेरी गे सेक्स स्टोरी के तीसरे भागजवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-3में अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपने ऑफिस के कलीग भूषण का लंड भी चूस लिया था, उस दिन मेरी हवस तो पूरी हो गई लेकिन मैं सिर्फ हवस पूरी करना तो नहीं चाहता था न। मैं भूषण को पसंद भी करता था, इसलिए सोचा कि सुबह उससे इस बारे में बात करने की कोशिश करूंगा.

जिस वक्त मैंने उसकी चूत पर अपना हाथ फेरा था, उस वक्त उसने भी एक पल मेरे हाथों पर ही अपना वजन रख कर अपनी चूत को मेरे हाथों से सहलवा लिया था.

फिर वो धीरे से मेरे गाल पर हाथ घुमाने लगा और मैं उसकी प्यारी सी गुड़िया बन कर उसकी बाँहों में खेलने लगी.

मेरे मोटे लंड के कारण उन्हें दर्द हो रहा था, उनकी आंखों में आंसू आने लगे थे. फिर अंकित मेरे ब्लाउज के बटन खोलने लगा और उसने मेरे ब्लाउज को उतार दिया. बीएफ भेज सेक्सीउसने अपने कई साथियों के काम करवाए, उसकी आमदनी भी बढ़ी, समाज में प्रतिष्ठा भी… वह समझदार था, जो अफसर दें, ले लेता था, कोई मोलभाव मांग नहीं!सब उससे प्रसन्न और सन्तुष्ट थे, सेवाएं बहुत अच्छी थी, वह एक्सपर्ट था, ट्रेन्ड था, कई बार तो तहसील के अफसरों की सिफरिश पर डाकबंगलें में दौरे पर आए जिले व संभाग के अफसरों की भी मालिश देवेश ने की.

तभी वो मेरे से बोली कि बाहर का गेट बंद कर दो, आज घर पर कोई नहीं है. लेकिन अब मेरी चुदक्कड़ भाभी मेरे पड़ोस से घर छोड़कर किसी दूसरी जगह रहने को चली गई हैं. वो बोली- हम वहां नहीं आएंगे, आप इस एरिया में एक रेस्टोरेंट है, वहाँ आइए.

ऐसे ही एक दिन में ऑफिस से जल्दी ही निकल गया था, क्योंकि मुझे कभी बदलापुर, कभी अंबरनाथ, कभी भिवंडी, तो कभी उल्हासनगर जाना होता था, तो मैं वापस घर आ रहा. मेरी पैंट और चड्डी को मेरी सेक्सी बीवी एक साथ घुटने तक खींचा और लंड को हाथ में लेकर हल्के हल्के से मसलने लगी.

क्या बात है?मैंने उसको बताया कि उसको अभी प्लेन से कहीं जाना था इसलिए छोड़ दिया.

बड़ी मुश्किल से मैंने उसको मनाया कि अब बाद में कर लेना, जो करना है. जब मेरी चूत का दर्द थोड़ा सा कम हुआ तो वो अपना लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगा. फिर भी मैंने चौंकते हुए कहा- मैं?तो वो बोलीं- अरे यार, यहां कोई और भी है क्या.

बीएफ एसएस बीएफ फिर मैं धीरे धीरे उंगलियों को दोनों तरफ घुमाना शुरू कर दिया, साथ ही साथ अन्दर बाहर भी कर रहा था, जिसके कारण गांड में थोड़ी सी जगह बन गई. इसी तरह के एक परेशान भक्त को शालीन के लिए नौकरी का इंतजाम करने के लिए कह कर उसने वल्लिका की चूत अपने लंड के लिए फिट कर ली थी.

उसने हैरत से पूछा- उससे क्या होगा?मैं बोला कि तब गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी, अगर हो भी गयी तो कुछ दूर आगे जाने के बाद बन्द हो जाएगी और तुम कहना कि आज मेरा बहुत इम्पोर्टेन्ट पेपर है, तो वो तुमको अकेले जाने देगा और तुम मेरे पास आ जाना. मैंने हाथ के स्पर्श से महसूस किया कि कोमल का निप्पल एकदम टाइट हो चुका था. मुझे तो पता था वही हैं, मैंने उनका हाथ पकड़ के जोर से अपने तरफ खींचा और अपनी बांहों में जकड़ लिया और जल्दी से उनके होंठों को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

मोटी लुगाई की बीएफ फिल्म

वो फड़फड़ा रही थी, मैंने उसकी गांड में धीरे धीरे धक्का देना चालू किया. मैंने पहली बार दो हट्टे कट्टे मसकुलर मर्दों को इस मस्ती से एक दूसरे की गांड मारते मरवाते देखा था. मेरा लंड एक बार फिर से उसकी बुर की गहराई को नापने के लिये मचलने लगा था.

और अकेले में होने के कारण मुठ मारने के लिए मेरा दिल बेचैन हो रहा था. मम्मी कुछ नहीं बोलीं तो फिर राम ने कह दिया कि इसलिए मैं इसे अपनी बाइक पर ले आया.

उसने पूछा कि रूम क्यों बुक कराया है?मैंने कहा- मैं थक गया हूँ, थोड़ा आराम करके चलेंगे.

मैंने उससे पूछा- तुम्हारा झड़ क्यों नहीं रहा, कोई दवाई खायी है क्या?उसने बताया कि नहीं ये उसका रियल स्टैमिना है. जहाँ भी जाता था, वहाँ पर वो मुझे अपनी गोद में बिठा कर मेरे मम्मों को दबा दबा कर मजा लेता रहता था. दूसरे दिन हमारी और निक्की की फोन पे बात चल रही थी और हमेशा की तरह पम्मी अन्दर से सुन रही थी.

रजत मायूसी से- ऐसे तो अब मजा ही नहीं आ रहा यार…मयूरी- ऐसे कैसे?रजत- अरे. 30 बजे शाम को फस्ट क्लास एसी में डी लोअर बर्थ में था और अपर बर्थ अभी खाली थी. फिर उसकी ब्रा पेंटी उतारी और चुदाई के एक राउंड ले लिए तैयार हो गया.

मेरी प्यास मिटा कर, मेरी गांड मारकर मेरे गांड में पानी छोड़े ताकि गांड में चल रही आग उस पानी से बुझ सके.

हार्ड हार्ड सेक्सी बीएफ: मैंने सोनू को पूछा- वहां सब आपका इंतजार नहीं कर रहे होंगे क्या?सोनू ने कहा- वो सब शालू संभाल लेगी और मैं ये वक़्त सिर्फ आप के साथ बिताना चाहती हूं। शालू को सब पता है और उसने सारी सेटिंग कर दी है।आसमान में चांद की हल्की हल्की रोशनी थी,और नीचे सोनू की आंखों मेंउस की आंखों में एक दर्द भी थाएक ऐसा दर्द जो इंसान को जीने के काबिल नहीं रहने देता लेकिन मरने भी नहीं देता. मैंने अपनी अंडरवियर भी निकाल दी और उसके सामने मेरा फ़न फनाता हुआ 8 इंच लंबा लौड़ा सामने तन कर खड़ा हो गया, जिसे देख कर वह डर गई और एकदम बोली- यह मुझसे नहीं होगा.

कामुकता से भरपूर जवान लड़की की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें. मेरी बीवी की मोटी गांड देखकर मेरा लंड खूब जोश में था और मैं उसकी गांड में थप्पड़ भी मार रहा था. तब एक सुरीली सी आवाज़ मेरे कानों में पड़ी- रॉबी कहाँ जा रहे हो?मैं- दोस्त के घर.

फिर मनोरमा ने एक ऑटो ले कर उसे किराए के पैसे देकर कहा- यह तुम्हें समय रहते हुए घर पहुँचा देगा.

तभी वो फिर से निकलीं और फिर मुझे ही देखते हुए गईं, इस तरह करीब दो तीन बार ऐसा हुआ. और फिर वो अकड़े, और करीब करीब अपना सारा लंड मेरे मुँह में ठूंस दिया- आह, मेरी जान, सविता, मादरचोद, खा जा मेरा लंड, कुतिया की बच्ची, साली रांड, खा खा खा इसे हरामज़ादी!और उन्होंने ढेर सारा माल गिराया, कितना तो मेरे गले में सीधा ही उतर गया, कितना मेरे चेहरे बालों पर बिखर गया. मैंने ध्यान से देखा तो वो तो शायद मेरी बहन निशा की चुदाई जैसा कुछ कर रहा था.