बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म वीडियो हद में

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली नव वर्ष: बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ, थोड़ा सम्भलते हुए मैंने भी साथ देना शुरू कर दिया, मगर दो मिनट के बाद ही हम दोनों अलग हो गए.

तमिळ सेक्सी सेक्सी

इतना सुनते मैं खुश हो गया और मैंने सीधा अपना लंड उसकी चूत में घुसा दिया. यूपी का सेक्सी डांसमैं शाम को जब दीदी से बात करने के लिए गया तो वो रसोई में खाना बना रही थी.

वो बोली- तुम इतना डरते क्यों हो? वैसे भी तुम्हारी उम्र में ये सब वीडियो, पॉर्न देखना तो सामान्य सी बात है. ममता भाभी की सेक्सी चुदाईसभी मर्द पहले से अधिक उत्साहित दिख रहे थे और जैसा मुझे लग रहा कि ये लोग फिर से संभोग के लिए तैयार होंगे.

मैंने वापस आ कर देखा कि ड्राइंग रूम में भाभी की दो सहेलियां अपने 4 बच्चों के साथ आई हुई थीं.बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ: तो मैं सुबह करीब आठ बजे तैयार होकर जाने के लिये सीढ़ियों से नीचे आ रहा था कि एकदम से मेरे पैर थम गये.

अन्दर दो लड़कियां थीं, उन्होंने मुझे कपड़े उतार कर एक जगह लेटने को कहा.तभी अमन ने मेरी बीवी के बोबे दबाते हुए कहा- रंडी बन जा हमारी … बहुत मज़े करेगी.

सेक्सी चाहिए खुला - बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ

उसी समय सोनाली ने मुझे रोक लिया और मुझसे पूछने लगी कि तुम मेरे लिए ही रोज मेरे पीछे आते हो ना!तो मैंने भी टाइम नहीं गंवाते हुए उससे बोला- हां … मैं तुम्हारे लिए ही आता हूं.जिससे वो गर्म हो गई और तरह तरह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … हह की आवाजें निकालने लगी.

बीवी बोली- क्या बात है … भाभी के आने की खुशी में मेरी चूत का भोसड़ा बना देने पर तुले हो क्या. बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ वो तो झड़ गई थी, पर मेरा लंड तो अभी खड़ा ही था और लोहे की तरह सख्त था.

’मैंने भी हाय बोला और पूछा- आप कौन?उधर से जबाव आया- आई एम गुड़िया और आप कौन?चूंकि मैं थोड़ा शरारती लड़का हूं, तो मैंने मजाक में बोल दिया- मैं गुड्डा.

बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ?

कमलनाथ इतना अधिक उत्तेजित था कि वो शुरूआत से ही गहरे और ताकतवर धक्के लगाने लगा था. मुझे बताइए कि मैं क्या करूं?गोपनीयता को बनाए रखने के लिए मैं अपनी इमेल आईडी नहीं दे पा रही हूँ. इतना कह कर जब मैं रूम से बाहर जाने लगा तो वो मुझे रोकते हुए बोली- अच्छा ठीक है.

मैंने भी समय की नजाकत को समझते हुए कहा- ओके … जान बस थोड़ा दर्द और होगा … फिर तो मज़ा ही मज़ा आएगा. मैंने उसे पूरा मुँह में भर उसे चूसते हुए जीभ से सुपारे को भी सहलाने लगी. फिर मैंने फुल स्पीड में धक्के मारते हुए उससे कहा- मेरा पानी निकलने वाला है.

अब मेरे मन में भी इस सम्भोग को कामुकता और रोमांच भरे अन्दाज में खत्म करने की इच्छा जागृत हो गई थी. मैंने उसके हाथ में अपना हाथ दिया और उसने मुझे उठाया और फिर दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया. पहले मैंने उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसके निप्पलों को अपने होंठों में दबा लिया और मम्मे मसलते हुए निप्पल चूसने लगा.

हम सभी ने एक दूसरे को देख मुस्कुराते हुए उनके इस प्रदर्शन पर सकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की. दोस्तो, मैं आपकी पीहू एक बार फिर अपने जीवन की एक सच्ची घटना, गोवा सेक्स की कहानी लेकर आई हूं.

दोस्तो, मैं एक फिटनेस ट्रेनर हूं और देश विदेश घूमते हुए अपना बिजनेस करता हूं.

हम दोनों कुछ देर ऐसे ही न्यूड पड़े हुए एक दूसरे के साथ चिपक कर लेटे रहे.

मैंने भी अपना हाथ उसकी कमर पे रखा, फिर धीरे-2 उसे नीचे लाते हुए उसकी गांड पे हाथ फिराया तो ऐसा लगा जैसे मक्खन पे हाथ चल रहा हो।उसके बाद मैं अपनी जीभ उसकी नंगी जांघ पे फिराने लगा. कुछ पोर्नसाइट्स और अंतर्वासना स्टोरीज पढ़कर मेरी कामोत्तेजना आज पूरी जवान है. उस पर उसने कहा- हां झड़ जाओ … यही तो मैं भी चाहता हूँ, मैं चाहता हूँ कि तुम आज इतनी बार झड़ो कि पूरा बिस्तर गीला हो जाए.

मैंने उसके बाद आंटी की सलवार भी निकाल दी और आंटी की जांघों को चाटने लगा. हालांकि स्कूल के समय बारहवीं क्लास में मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, लेकिन उसने मुझे धोखा दिया और वो मुझे छोड़ कर चली गयी. इसलिए आप इंडियन सेक्स रोमांस स्टोरी को ध्यान से पढ़ें और कोई सवाल या शंका हो तो मुझे ईमेल पर बतायें.

लौंडेबाज की कमर बार बार ऊपर नीचे हो रही थी। उसके चूतड़ों से उसकी जांघें टकरा रही थी, बार बार आवाज आ रही थीं ‘पच्च पच्च …’ जो मेरा दिमाग खराब कर रहीं थी.

जिसके वजह से उत्तेजना में उतार चढ़ाव बन जाता, तो चरम सीमा तक आसानी से नहीं पहुंचा जा सकता था. कुछ दिन में रोशनी और मेरी बहुत अच्छी दोस्ती हो गई और मेरे पति और उनके पति की भी अच्छी दोस्ती जमने लगी. उसने मुझे भी चिप्स खाने के लिये कहा तो मैंने भी दो-तीन चिप्स निकाल ली और उसके साथ बैठ कर ही खाने लगा.

चारों लड़कों ने कोई सैटिंग की हुई थी, जिसके कारण उनको एग्जाम में आने वाले प्रश्न उत्तर पहले ही मिल जाते थे. फिर एक हाथ से मैंने उनकी साड़ी भी निकाल दी और साथ ही साथ उनके पेटीकोट के नाड़े को भी खोल दिया. वो लड़की बहुत ही प्यारी थी इसलिए उसको रोते हुए देख कर मेरा मन भी दुखी हो गया था.

मैंने प्रिया का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया तो वो मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

मैं उससे माफी मांगने लगा- मुझे माफ़ कर दो बहन, आगे से ऐसा कभी नहीं होगा. चूंकि राज और रुचि कजिन थे, तो राज रुचि के मम्मों को ज्यादा नहीं देख सकता था.

बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ मैंने उसकी चूत को में लंड को डाल कर एक धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. हालांकि स्कूल के समय बारहवीं क्लास में मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, लेकिन उसने मुझे धोखा दिया और वो मुझे छोड़ कर चली गयी.

बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ उसके दोनों मम्मों को मैंने कस कस कर दबाया। मगर इससे ज़्यादा मैं उसके साथ और कुछ नहीं कर पा रहा था क्योंकि रूपा तो हमेशा ही घर में होती थी. मेरे पति मुझसे बहुत प्यार करते हैं और मैं भी इनसे बहुत प्यार करती हूँ.

मेरा काम में बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था इसलिए उस दिन मैं शाम को जल्दी घर आ गया.

रेगिस्तान की सेक्सी

मेरे जांघों में कम्पकपी सी होने लगी और मैं रवि के सीने से चिपक कर अपने भारी भरकम चूतड़ ऊपर नीचे करते हुए धक्के देने लगी. इस पर रमा बोली- सबकी बातों को बराबर ध्यान दिया जाएगा, पर आज जिसने पहले न्यौता दिया, पहला हक़ उसका बनता है. पर जब मैंने गौर से अपने पेट को देखा, तो सच में बहुत लज्जा सा महसूस हुई कि मेरा पेट इतना बड़ा दिख रहा है और दूसरी के मेरी योनि उस लेगिंग में उभर कर दिख रही थी.

पापा घर से बाहर रहते हैं तो मुझे लगता था कि उनकी प्यासी जवानी लंड के लिए तरसती होगी. उनका ये जवाब पढ़ कर मैं समझ गई कि मेरी पहली चुदाई का इंतजार अब खत्म होने वाला है। मैं अंकल के लंड के बारे में सोचने लगी थी क्योंकि मैंने अभी तक किसी भी मर्द के लंड के दर्शन अपनी आंखों के सामने नहीं किये थे. जैसे ही पेड़ के पीछे बैठती थी तो मैं समझ जाता था कि वो मूत कर रही है.

मैंने उसकी नाइटी में ऊपर से हाथ डाल दिया और उसकी चूचियों को भींचने लगा.

उस कामवाली की सहेली की चूत चुदाई की कहानी मैं आपको अगली कड़ी में बताऊंगा. जब मुझे आपके आने की आवाज सुनाई दी तो मैं जल्दी में अपनी चैन बंद करने लगा. तभी मुझसे राहुल बोला- आज तक तुम मुझे क्यों नहीं मिली … मुझे पहले ही मिल जाती, इतनी अच्छी चीज मेरे सामने थी और मैंने पहचाना नहीं.

मैंने कहा- क्या मैं अभी आपको नाम से बोल सकता हूँ?अम्मा ने कहा- हां … क्यों नहीं … लेकिन मैं अम्मा ही सुनना पसंद करूंगी, तू ऐसा समझ मेरा नाम अम्मा ही है, तुम मुझे अम्मा ही बोला करो. अब तक की इस हिंदी चुदाई कहानी के पिछले भागखेल वही भूमिका नयी-7में आपने पढ़ा था कि पूरे कमरे में चार मर्द पांच औरतों की चुदाई में लगे हुए थे. वो कहती थी कि सेक्स करने में बहुत मजा आता है और सच में सेक्स करने में बहुत मजा आता है.

वो बोलीं- हां अन्दर आ जा, प्रीति अन्दर है, वो तेरे आने की ही कह रही थी. लेकिन उनकी खूबसूरत जवानी को लेकर मैं इतना कह सकता हूँ कि उन्हें कोई एक बार देख ले, तो उनका दीवाना हो जाए.

काव्या ने बोला- अच्छा जी … मेरे साथ फ्लर्ट कर रहे हो, आप तो कुछ ज़्यादा ही एड्वान्स निकले. आज मैं अपनी अम्मा, मेरी सासु माँ और मेरी उनकी बेटी, जो मेरी पत्नी है, उसे खूब चोदता हूँ. इस पर भाभी ने बोला कि मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?मैं बोला- भाभी सब कुछ तो ख़ास है आपमें … सच में भैया बहुत किस्मत वाले हैं, जो उनको आप जैसी वाइफ मिली है.

फिर मैंने युक्ता को बाइक पर बैठाया और हम दोनों भी उनके पीछे निकल पड़े.

फिर चार पांच महीने बाद ही मेरा कम्पनी के एम डी से मेरे कमीशन को लेकर पंगा हो गया और मैंने जॉब छोड़ दी, लेकिन साराह मैम से मेरी बात होती रही. लेकिन अभी तक हम दोनों ने एक दूसरे से अपने प्रेम का इजहार नहीं किया था. जिससे मुझे न केवल ऊपर से बल्कि अन्दर से भी उनके पूरे हिमालय के दर्शन हो रहे थे.

कांतिलाल ने उसे चूमते हुए नंगा करना शुरू कर दिया और कुछ ही पलों में कविता बिलकुल नंगी बिस्तर पर थी. थोड़े इंतजार के बाद उसने मेरी योनि के मुख से सुपारा रगड़ा और फिर जोर के झटके के साथ लिंग फिसलता हुआ मेरी बच्चेदानी से जा टकराया.

वैसे तो उसने मुझे कई दिनों से परेशान कर रखा था लेकिन वो इस बात को नहीं जानती थी शायद कि चुदाई करवाने में दर्द भी झेलना पड़ता है. मैंने हंस कर आंख दबाई और कहा- हां फिर मैंने मलाई की चर्चा छेड़ दी थी. आप इतने सुंदर और स्मार्ट हो, ऐसा नहीं हो सकता कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड ना हो.

घोड़ा वाली सेक्सी फोटो

उसकी सील टूटने की बात उसने मुझे बताई थी, पर वो कहानी मैं बाद में बताऊंगा.

मैं- ठीक है … चलते हैं … क्या उन लोगों को भी बुला लें?राज- उन लोगों को क्यों … वो हमारे साथ क्या करेंगे … वो तो अभी भी सो रहे हो गए होंगे. आज से आप मेरे जीजा जी नहीं, मेरे पति हो! मेरे राजा और ज़ोर से चाटो मेरी चूत को! अपना लंड डाल के फाड़ दो मेरी चूत को! बहुत मज़ा आ रहा है. मैं उसे पहले की तरह देखने लगा, पर वो रोज की तरह अब मुझे नहीं दिखती.

जैसे मैंने बताया कि रुचि के बूब्स 34 इंच के हैं, जिससे उसके बूब्स टी-शर्ट के बाहर निकलने को होते हैं. फिर उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और मेरे चूचों को दबाने लगा. नया सेक्सी 2020 काअब बोलो, किसकी मारूं?यह कहते हुए मैंने अपनी पेंट और चड्डी दोनों उतार दीं.

अब उससे मेरा उसकी बुर को लगातार चाटना और चूसना सहा ही नहीं जा रहा था. दीदी ने कहा- मैंने तुझे हमारी सेक्स लाइफ के बारे में बात करने से मना किया था.

डॉक्टर साहब उठे और एक शीशी में से कोई जेल लेकर अपने लण्ड पर मला और मेरी बूर के लब खोलकर सटीक निशाना लगाया. हम दोनों के चेहरे आमने सामने थे और मेरे दूध उनके सीने पर दबे हुए थे। मैंने अपने दोनों हाथों से उनके गले को पकड़ा हुआ था। अंकल ने अपने दोनों हाथों से मेरी गांड थाम रखी थी।अब उन्होंने मेरी गांड को पकड़ कर मुझे आगे पीछे करना शुरू किया. वो मुझे किस करने लगा और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर कुछ देर के लिए रुक गया.

उसने मेरे पास आकर पूछा कि इस जिम में आप ही ट्रेनर हो?मैंने कहा- हां जी कहिए, मैं ही ट्रेनर हूं. उसने मेरी तरफ देखा, तो मैंने उसके मम्मों को दबाकर बोला- जा कपड़े पहन ले. फिर वो बस इतना बोले- जाओ, चाय बनाओ।मैं तुरंत ही किचन में गई और चाय बनाने लगी।वापस आकर उनको चाय दी और हम दोनों चाय पीने लगे।चाय पीने के बाद उन्होंने मुझे अपने बगल में बैठने के लिए बोला और मैं उनके बगल में बैठ गई। उसके बाद उन्होंने मुझसे जो कहा उसकी उम्मीद कभी नहीं की थी मैंने।उन्होनें मेरा हाथ पकड़ लिया और मैं सहम सी गयी.

मैं दोबारा से उठ कर रसोई में गई और बिस्किट खोल कर प्लेट में रखने लगी.

फिर वो मेरी तरफ देख कर बोला- क्या यार निहाल … कम से कम मेरे आने तक तो रुक जाते, मुझे भी तो मज़ा लेने देते. जब वो पानी लेने गयी थीं तो मैंने देखा था कि उनका पिछवाड़ा बहुत ही मादक लग रहा था.

पब्लिक बीच सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी सहेली के यार से दिन छिपने के बाद गोआ के बीच पर कैसे खुलेआम अपनी चूत चुदाई करवायी. नाइटी जरा चुस्त थी, तो भाभी के मोटे चुचे मानो जैसे अभी बाहर फट पड़ेंगे … ऐसा साफ़ दिख रहा था. कविता भी अब गर्म हो चुकी थी, पर अपने किरदार के वजह से वो केवल कसमसा रही थी.

मैंने कहा- सर, मुझे नहीं मालूम था कि आप लोग पैसे लेकर ये सब काम करते हो. मैंने मैडम को जांघें चौड़ी करने को कहा, उन्होंने अपने पैर दायें बायें फैला कर अपनी जांघें खोल दी और मेरे लंड का निशाना अपनी चूत के छेद में सेट कर लिया. बहुत ही जल्दी आपके सामने इस मसाज़ सेक्स कहानी का मैं दूसरा भाग प्रस्तुत करूंगा.

बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ मेरा लंड पूरा नपा तुला आठ इंच लंबा और इंची टेप से लंड की गोलाई नापी जाए, तो ये पांच इंच मोटा है. एक दिन ऐसे हुआ कि मेरी बीवी और बच्चे मेरी ससुराल में छुट्टियों में गए हुए थे.

घर की बनी हुई सेक्सी वीडियो

वो समय गर्मियों का था तो जैसा कि आप सभी लोग जानते ही होंगे कि गाँवों में लोग गर्मियों में घरों के बाहर खुले में सोते हैं. कुछ देर बाद जब वो चुप हुई, तो थोड़ा मेरी तरफ खिसकती हुई आयी और बोली- क्यों डर गए थे न तुम … सच बताना?उसकी इस बात से मुझे कुछ राहत मिली और मैंने कहा- हां मैं सच में डर गया था, चाहो तो अपने कान लगा कर मेरे दिल की धड़कन सुन लो … ये अभी भी तेजी से धड़क रहा है. मैं भी किसी वेश्या की भांति नखरे दिखाते हुए नेताजी के गले में हाथ डाल बैठ उनके मनोरंजन के लिए तैयार हो गई.

मेरे भीतर भी तो अब वासना की चिंगारी भड़क चुकी थी और जब चमड़ी की भूख हो, तो कोई भी इंसान निर्लज्ज हो ही जाता है. निकल गई।मैंने भाबी से आखिरकार बोल ही दिया- कैसा लग रहा है भाबी जान?भाबी बोली- हाय मेरे राजा. सेक्सी वीडियो20215 इंच लंबे और 3 इंच मोटे लंड से अपनी बुर की चुदाई का मज़ा ले रही थी.

मुझे पहले की भांति इस बार का लिंग कुछ अलग सा लगा, इससे मैं समझ गई ये राजशेखर नहीं है.

मेरा एक बेटा होने के बावजूद भी मैंने अपने आपको बहुत संवार कर रखा हुआ है. कुछ देर बाद जब उसका आधा लंड मेरी चुत में घुस गया, तो मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी चूत नीचे से फट गई हो.

आप ऐसे मुझे सुझाव दें, जिससे मैं आपको मेरी बहुत सी कहानियों को आप लोगों के साथ शेयर कर सकूं. उस समय उसकी सांसें बहुत तेज़ चल रही थीं और इसी वजह से उसकी चुचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं. साराह मैम अब मेरे से मिलने की जिद करने लगी थीं कि तुम अब जल्दी से मुम्बई आ जाओ और मुझ से मिल कर जाओ.

अम्मा ने फिर से खीरा बाहर निकाला और फिर से पूरा अन्दर अपने चुत में डाला … साथ में मुझे कामुक नजर से देखने लगीं.

मेरी क्लास में सहेलियां तो और भी कई थीं लेकिन हम पांच का बिंदास ग्रुप ऐसा था जो कुछ खास था. कुछ देर बाद उसने मेरी ब्रा को उतार दिया और मेरे एक दूध के निप्पल को किस करने लगा. इन दिनों मैं फेसबुक का काफी ज्यादा इस्तेमाल करता था और गर्लफ्रेंड बनाने के लिए तड़फ रहा था.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी विडियोजकभी योनि में नमी न होने की वजह से … या कभी मन न होने की वजह से … तो कभी गलत तरीके या अत्यधिक ताकत के धक्के से. उसने मेरे साथ किस किस तरह से सेक्स किया … वो मैं आप सबको अगली बार बताऊंगा.

सेक्सी फिल्म चोदते हुए दिखाएं

भाई ने देखा कि मैं जाग चुकी हूं तो अपने हाथ को हटाने लगा लेकिन मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और अपनी चूत पर रखवा लिया. शायद वस्त्रों का एक अलग प्रभाव पड़ता है और इसी वजह से मर्द स्त्रियों को कामुक वस्त्र में देखना पसंद करते हैं. नज़मा तड़फ कर बोली- चाटो न भाईजान … क्यों रोक दिया?मैं- साली रंडी, भाई मत बोल … और कुछ बोल ले … नाम ले ले या जान बोल ले.

दीदी के कहने पर मैंने नीचे आकर उसकी चिकनी चूत को चाटना शुरू कर दिया. जब मैं अय्याशी की दुनिया में उतरा तो कई लड़कियां मुझ पर फिदा रहती थी. उसकी कमर से उसके बालों को हटा कर मैंन उसकी ब्रा के सारे हुक खोल दिये.

ऐसे ही एक दो दिन भाभी से बात करते हुए हो गया तो हम दोनों में काफी कुछ बातें होने लगीं. मैंने देखा कि उनके मम्मे असल में बहुत बड़े थे, जिसके कारण ब्लाउज का एक बटन नहीं लगा था. मेरा बॉयफ्रेंड जगेश मुझे बिस्तर पर ले गया और मेरी चूची को चूसने लगा.

मैंने उससे पूछा- तुम्हारे घर वाले कब जा रहे हैं?तो उसने बताया- कल सुबह छह बजे की ट्रेन है. अब आगे:मेरा कांतिलाल के साथ पहले का भी सेक्स अनुभव था तो मैं जानती थी कि वो जल्दबाजी नहीं करेगा बल्कि मुझे पूर्ण रूप से उत्तेजित करके संभोग के लिए बाध्य कर देगा.

पर आंटी तो जब भी मुझसे सट कर निकलतीं, तो वे और भी जानबूझ कर मेरे सीने से अपने मम्मों को रगड़ने की कोशिश कर रही थीं.

मैं समझ गई थी कि हम जिस उम्र से गुजर रहे हैं, उस उम्र में योनि में नमी जल्दी नहीं आती है. prem सेक्सीउन्होंने अपने मुँह में भरे मेरे लौड़े के पानी को मेरे होंठों से लगा दिया और मैंने भी उनकी चूत का पानी जो मेरे मुँह में था, दोनों का पानी मिल गया और सारा पानी लौड़े का और चूत का, मेरे मुँह में था. चुदाई वीडियो सेक्सी ब्लू फिल्ममुझे उसकी कोई परवाह नहीं, वो तो बेशर्म है ही लेकिन तुम भी कम बेशर्म नहीं हो. कोई 15-20 झटके मारता हुआ वो अपना प्रेम रस कविता की योनि में छोड़ने लगा.

मैंने तुरंत ही बाथरूम का लाईट को बंद किया और नंगा होकर अम्मा के बाजू में सो गया.

दीवार के इस तरफ यानि हमारी तरफ ऊपर की मंजिल पर जाने के लिए सीढ़ियाँ बनी हुई हैं।मेरा कमरा घर की पहली मंजिल पर है यानि मैं और मेरी बीवी दिन में कई बार उन सीढ़ियों का प्रयोग करके ऊपर नीचे आते जाते रहते हैं।अब असली मुद्दे की बात बताता हूँ. हमने पूरा दिन सेक्स किया … वो भी बिना कंडोम के!क्योंकि ये मेरी ऐसी रांड थी जिसे मैं पहली बार से चोदना चाहता था।उसके बूब्स आह … रसीले उसकी जवानी मदहोश करने वाली, उसकी चूत कुएं से भी ज्यादा गहरी!तीसरा दिन भी हम दोनों ने पूरा सेक्स किया. मैं उससे काफी देर तक विनती करती रही, मगर वो कुछ सुनने के मूड में नहीं था.

मेरा लंड भाभी के मुंह से ये बातें सुनकर मेरे लोअर में तनना शुरू हो गया. अपनी सलवार व पैन्टी नीचे खिसकाकर मैंने एक खीरा अपनी बूर में ठोंक दिया, चार छह बार खीरा बूर के अन्दर बाहर किया और पैन्टी ऊपर खिसकाकर सलवार पहनकर बाहर आ गई. अंकल ने मुझे चुदाई के सारे आसन सिखा दिये थे क्योंकि उन्होंने मुझे हर आसन में पेला था.

10 साल की लड़की के सेक्सी पिक्चर

कई बार मैं इसकी गर्म और देसी बुर चोदन कहानी पढ़ कर लंड को भी हिला लेता हूं. फिर जैसे ही वो झड़ने वाली थी, उसकी अकड़न को महसूस करते ही मैं समझ गया था कि इसका दूसरी बार झड़ना होने वाला है. आगे बात करने पर पता चला कि वो अपने सास और ससुर के साथ यहां पर रहती है.

कहकर मैंने अपने लंड के टोपे पर थूक दिया और उसकी चूत की फांकों को अपने लंड के टोपे से फैलाने लगा.

वो भले कुछ नहीं कह रहा था, पर उसकी आंखों से लग रहा था मानो मुझसे कह रहा हो कि बस थोड़ी देर और साथ दो … मैं अपना प्रेम रस तुम्हें देने ही वाला हूँ.

उसकी गांड मेरे सामने थी मैंने उसके गांड पर एक कसके झापड़ मारा … तो उसकी गोरी गांड पर मेरे हाथ का निशान बन गया. मैं उसकी चूत में लंड को डालने लगा तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था. सुपर सेक्सी लड़कीअगले दिन जब हम सुबह उठे … तो मैंने मॉम से कहा- पापा मुझ पर बहुत गुस्सा करेंगे, अगर मैंने आपको अपने बच्चे की मॉम बना दिया.

थोड़ी देर में मैंने धीरे से अम्मा के कान में धीमे से कहा- मेरी नल्ली भर गयी है. मैंने भी उसे देखते हुए हाथ में थूक लगा कर अपनी योनि के मुख पर मल लिया और चुदाई के लिए तैयार हो गई. मुझे लड़कियों को चोदने में ज्यादा मजा नहीं आता बल्कि शादीशुदा भाभी या आंटी को चोदने में ज्यादा मजा आता है क्योंकि वो बिस्तर पर रिस्पॉन्स अच्छा करती हैं।अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए सीधे कहानी पर आते हैं.

कोई पाठक मुझसे चुदाई की और बात जानना चाहता है, या मुझसे बात करना चाहता है, तो मुझे ईमेल कर सकता है. लेकिन कभी-कभी मां भी चुद जाती है, अगर लन्ड मोटा हुआ और चूत का छेद छोटा होता है तो वहां गांड फटने में समय नहीं लगता.

वो चाह रही थी कि एक बार कांतिलाल और राजशेखर भी मेरे साथ संभोग कर लें.

फिर मैंने अपने हाथ को उसके गले के ऊपर से कमीज को थोड़ा खींचते हुए अंदर हाथ डाल दिया. मैं और कांतिलाल अब एक दूसरे के सीने से चिपक गए थे और वो मुझे हौले हौले से उत्तेजित करने का प्रयास करने लगा. आज से आप मेरे जीजा जी नहीं, मेरे पति हो! मेरे राजा और ज़ोर से चाटो मेरी चूत को! अपना लंड डाल के फाड़ दो मेरी चूत को! बहुत मज़ा आ रहा है.

ब्लू सेक्सी चाहिए सेक्सी भाभी ने लंड को चूत की फांकों में फंसाया और गांड उठा कर सुपारा फंसा लिया. वो गर्म होते हुए मेरे लंड पर तेजी से हाथ चलाते हुए उसके टोपे को ऊपर नीचे कर रही थी.

पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि किस तरह मैंने अनीता जी को जम कर चोदा औऱ अपनी बरसों की इच्छा पूरी कर ली थी. फिर टाइम पास करने के लिये मैंने अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ना शुरू किया. आंटी को भी अपनी गांड में लंड का सुकून मिलने लगा था, इसलिए वो भी मजा लेने लगी थीं.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो लड़की वाला

बस मैं बिना वक़्त गंवाए अपने मुँह से उसके पेट को चाटता हुआ उसकी बुर तक आ गया. मैंने उसकी चिकनी चूत में जीभ देने की सोची लेकिन कुछ सोच कर रुक गया और उसको वहीं बेड पर लिटा दिया. लेकिन क्या करूं दोस्त … सॉरी ये मेरी पहली और सच्ची कहानी थी, तो मुझसे जैसा लिखा गया … मैंने लिख दिया है.

वो बोलीं- आओ बैठो, चाय लोगे?मैं अब इस मौकै का फायदा उठाना चाहता था. आफिस मैं उसे देख कर कोई नहीं कह सकता कि वो सेक्स मैं इतनी वाइल्ड हो सकती है। वो एक अच्छी पत्नी थी पर उसकी अपनी भी कई इच्छाएं थी जो उसने अपने पति से शेयर की थी पर उसका पति अपने बिज़नेस अपने काम की वजह से उससे वक़्त नहीं दे पाया।जिसका परिणाम हमारे बीच यह सेक्स सम्बन्ध बना।दुनिया की नज़रों में यह सम्बन्ध अनैतिक या अवैध हो सकता है.

मां गेट की ओर गयी तो मैं चुपके से रूम से बाहर आ गया और मां को देखने लगा.

उधर मैंने देखा राजशेखर ने थोड़ी देर कविता को चूमने के बाद खड़े खड़े में ही उसकी स्कर्ट उठाकर उसकी पैंटी उतार दी और खुद घुटनों के बल खड़े होकर उसकी टांगें फैला उसकी योनि को चूमने लगा. मौसी कहने लगी कि जब से मैंने तुमको छुआ है तब से ही मैं तुमसे चुदने के लिए बेचैन हो गई थी. मैंने उसको आंख मारी और कहा- ठीक है, पहले खाना खा लेता हूँ, फिर हम दोनों मस्त वाला गेम खेलते हैं.

मैंने देखा कि अंगिका हाइट में मेरे कंधे से भी नीचे आ रही थी और जितनी सुन्दर वो विडियो कॉल और अपनी भेजी हुई पिक्चर में दिखाई दे रही थी, यकीन मानो उससे कहीं ज्यादा सुंदर वो सामने आने पर लग रही थी. मैंने उसकी आवाज को कम करने के लिए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. कोई 5 मिनट होते होते तो अब मेरी योनि के भीतर भी रस रिसने लगा और मेरी योनि गीली होने लगी.

काफी देर तक लिंग चूसने के बाद रवि ने रमा को बाजू पकड़ कर उठाया और बिस्तर पर एक किनारे पीठ के बल लिटा दिया.

बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफ: मैंने चाय पीते पीते ही जुबैदा (सलमा की अम्मी) को whatsapp पर मैसेज किया. मैंने बड़े ही कामुक अंदाज़ में राजशेखर की आंखों में आंखें डाल कर उसके गले को पकड़ा और उसे खींचते हुए अपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए.

दीदी भी जान गयी कि शायद मैं चरम पर पहुंचने के करीब हूं इसलिए उन्होंने भी दोबारा लंड को छूने की कोशिश नहीं की. मैंने कैसे उसे चोदा और जब चुदाई की, तब उसका पति आ गया और तब क्या हुआ … ये सब आपको अगले भाग में लिखूँगा. उधर कांतिलाल ने निर्मला को उठाया और मेरे बगल में सोफे पर एक टांग नीचे लटका कर पेट के बल झुका कर पीछे से अपना लिंग प्रवेश कराते हुए धक्के मारने लगा था.

यह देखकर उसने बुखार नापा, उसने मुझे दवा दी और कहा- मैं हूँ यहीं पर … तुम सो जाओ.

चूचे बाहर आते ही वो दोनों उन पर टूट पड़े और उसको दबाने और चूसने लगे. लेकिन वो ऐेसे बर्ताव कर रही थी जैसे वो नींद आने के चलते बड़बड़ा रही है ताकि उसको मां को इस बात का शक न हो जाये कि उसकी बेटी एक मोटे और लंबे लंड के साथ नीचे फर्श पर पड़ी हुई अपनी चूत की चुदाई करवा रही है. मैंने कंट्रोल खो कर उसके कंधे को सहलाते हुए कहा- तुम इसको पकड़ देख लो, तुम्हारे सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे तुम्हें.