सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी

छवि स्रोत,बरफ के पानी भोजपुरी

तस्वीर का शीर्षक ,

સ્કૂલ સેક્સ વીડિયો: सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी, मैं आंखें तरेरते हुए कहा- तुम मेरी गांड कैसे मारोगी?वो बोली- मूली में तेल लगा कर आपकी गांड में घुसेड़ दूँ क्या?मैं- अरे तुम तो काफी एडवांस्ड हो.

ब्लू फिल्म हिंदी चलने वाली

दरअसल समंदर के पानी में से निकलते हुए उसकी सेक्सी मस्क्यूलर बॉडी, स्पीडो को सरकाते हुए दिखने वाले उसके आंधे नंगे चूतड़ और आगे की ओर उसके लंड का उभार देखने के लिए ही मैं वो गाना बार-बार देखा करता था. सेक्सी भाभी की चुदाई बीएफमुझे बहुत अच्छा लग रहा था।अभी तक मैंने अपने कपड़े भी नहीं उतारे थे।उन्होंने मुझसे कहा- बेबी, तुम तो सेक्स से भरी हुई हो कुछ बातें भी नहीं करने दी और जोर से चूसो।मैं उनका लंड पूरा मुंह में लेने की कोशिश करने लगी.

मैंने उसका पल्लू नीचे गिरा दिया और उसके कन्धों को चूमते हुए उसको मेरी तरफ घुमा लिया. मराठी बीएफ फिल्ममुझे भी बहुत इच्छा थी तो मैंने उसके सोए हुए लंड को चूस चूस कर जगा दिया.

अगले दिन राजन सुबह योग कर रहा था तभी प्रकाश उससे मिलने आया, वो जा रहा था.सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी: उसने मेरी आंखों में पट्टी बांधी और बेड पर लेट कर मेरे दोनों हाथों को दोनों कोनों से बांध दिए.

कसम से इस वक्त क्या मजा आ रहा था, ऐसा लग रहा था कि मैं उसे नहीं … वो मुझे चोदना चाहती है.तब हम दोनों करीब 5 मिनट तक किस करते रहे और एक दूसरे को प्यार से सहलाते रहे.

पाकिस्तान की नंगी लड़की - सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी

लेकिन एक डर है कि कहीं मेरे पेट में बच्चा ठहर गया तो क्या होगा? मैं बदनाम हो जाऊँगी.मेरी भी बेताबी बढ़ चुकी थी, मेरे मुँह से सिसकारियां निकलनी तेज हो गईं और मैंने संदीप की मजबूत पकड़ से खुद को आजाद कर लिया.

पहली बार किसी मर्द का हाथ उसके मम्मों पर पड़ रहा था, तो वो सिसकारियां लेने लगी. सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी अगर खुल के करेंगे तो तुझे भी मजा आएगा, वरना केवल मुझे ही मजा आएगा।तो उसने मेरी ओर करवट बदल ली.

संजय ने फिर मुझे चूमना शुरू कर दिया और चूमते चूमते मेरी चूत तक आ गया.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी?

जैसे ही हम रूम में घुसे, हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर किस करने लगे. मैं टीवी ही देख रहा था कि तभी अचानक 2 से 3 मिनट बाद उसका मेसेज आया- सोये नहीं?मैं बोला- नींद नहीं आ रही!आप लोगो को बता दूं मैं कि अभी तक कोई भी ऐसी बात नहीं हुई जिससे कुछ गलत समझा जाये. मोनिका- क्यों?मैं- तुमको पता है … मैं क्यों अपने आपको रोक नहीं पाऊंगा.

कुछ ही देर में मैं भी काम से फ्री हो गयी … स्लैब के सहारे खड़ी होकर जेठजी की तरफ देखा, तो वो मुझे ऐसे देख रहे थे, जैसे पूछना चाह रहे हों कि और कौन सा काम बाकी है?जेठजी का चेहरा देख कर मेरे चेहरे पर अपने आप ही मुस्कुराहट आ गयी, जिसे जेठजी ने अपने लिए ग्रीन सिग्नल समझ लिया. अब हम दोनों लगभग नंगे थे क्यूंकि मैं अंडरवियर और वो ब्रा और पेंटी में थी।अब मैं फिर से उसके हाथ, गाल, गला, कान के पास किस करने लगा. मैंने चूत टटोलते हुए कहा- वाह क्या बात है जानेमन … आज तो चिकनी चमेली हूँन्ह … हन्ह.

इसके बाद चुचियों को मसलने के साथ ही दीदी की चुत में अपने लंड को अन्दर और अन्दर पेलने के लिए जोर जोर से झटके देने लगे. उसके कान के पास अपने होंठों को ले जाकर कहा- छुटकी, मेरी बहन इतनी गर्म हो गई क्या तेरी ये मुनिया?वो बोली- हां दीदी, बहुत मजा आ रहा था. थोड़ी देर बाद वो आ गया, विक्की बोला- क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं, मुझे डर लग रहा है.

मुझे अब बिस्तर में लिटा दो वरना मैं पागल हो जाऊंगी, गिर जाऊंगी। प्लीज जल्दी … मेरे साथ कुछ करो. सच में क्या मस्त चीज थी वो … आज भी उसकी याद आते ही लंड खड़ा हो जाता है.

ये सुनते ही मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी, जिससे उसकी चूत से ‘फच … फच.

कभी उनके पास से गुजरती जैसे गांव में पानी लाने या कभी खेत में जाते समय तो वे मजनूं मुझे बात मारते थे- क्या माल है … एक रात मिल जा तो कती फाड़ दयूँ।मतलब बुरी से बुरी बात करते पर मैंने किसी को भाव नहीं दिया।लेकिन 2019 में इस उम्र में मैं बहक ही गई.

मैं सोच रहा था कि जब वो खुद ही मेरे साथ सेक्स करने के लिए मरी जा रही है तो मेरे बाप का क्या जाता है. ये कहते हुए उसने मेरी चूचियों को सहलाना शुरू किया और मेरे होंठों पर होंठों को रख किस करने लगा. मैंने भी उसकी चूचियों की देख कर कहा- हां आज ही मैं तुम्हारा पूरा काम कर दूंगा.

तभी अचानक से प्रीत ने मुझे अपनी तरफ खींचा और आदी के सामने मुझे किस करके मेरे मम्मों को दबाने लगा. मेरी छाती से उसकी छाती, मेरे पेट से उसका पेट और मेरी जांघों से उसकी जांघें चिपक गईं उसकी चूत से कामरस इस तरह रिस रहा था कि मुझे ये पता भी नहीं लग रहा था कि मेरा लंड चूत की चमड़ी में रगड़ खा रहा है या कहीं मक्खन में घुसा जा रहा है. जीजा जी अपनी बहन आलिया के मम्मों को सहलाते हुए उसके गालों को चूमने लगे.

उनको भी अपनी चूत पर एक जवान लड़की की चूत के घर्षण में बहुत मजा आ रहा था.

घुड़सवारी करने वाले को रोज मालिश करानी चाहिये ताकि टांगें मजबूत रहें. ममता फुल मस्ती दे रही थी, मैंने उससे पेटीकोट उतारने को कहा तो बोली- साहब, गैर मर्द के सामने हम लोग सारे कपड़े नहीं उतारते. पहले तो एक अनाम सी प्रत्याशा में मैंने पीछे घूम कर वाशरूम के दरवाज़े की ओर देखा.

वो इतनी मॉडर्न है कि उन्हें कोई फर्क ही नहीं पड़ता है कि कौन उनके शरीर में क्या देख रहा है, लोग उनके बारे में क्या बात कर रहे हैं. एक तरफ मेरा लण्ड बावला हो रहा था तो दूसरी तरफ मनीषा की चूत भी बेहाल हो रही थी. जब वो नहीं माना, तो भाभी की मामी ने कहा कि तुम भी चली जाओ और जब ये सो जाए, तो आ जाना.

मैंने समय नहीं गंवाते हुए अपने लंड का सुपारा चाची की चुत पर रख दिया और धीरे से अन्दर पेल दिया.

नमस्कार दोस्तो, आपका अपना प्रकाश सिंह फिर एक नई कहानी के साथ आया हूँ।मेरी पिछली कहानीस्कूल की चाहत की कॉलेज में आकर चुदाईआपने पढ़ी होगी. तभी वसुंधरा ने अपने दोनों हाथ ऊपर उठा कर मेरे गले में डाल दिये और अपना जिस्म पीछे की ओर झुका कर अपने जिस्म का लगभग पूरा भार मुझ पर डाल दिया.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी फिगर को बहुत मेंटेन कर रखा है तुमने!तो उसने कहा- अच्छा जी!मैंने उससे कहा- हाँ बिल्कुल. वो रसोई में खड़े-खड़े ही एक टांग फर्श पर तथा एक टांग मेरे कंधे पर रखकर हो गई.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी मैंने डरते हुए उनसे कहा- आंटी अभी बाहर जो कुछ हुआ, मैं उसके लिए काफी शर्मिंदा हूँ. इसी का फायदा उठा कर मेरे जीजा ने उन सेठों को मेरे घर में चुदवाने के लिए बुला लिया था.

वो मुझे देख हड़बड़ा गयी और शर्म से हथेलियों से अपने मुँह छुपा लिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो लंड

दीदी भी उतनी ही प्यासी थी। शायद मुझसे कहीं ज्यादा। वो भी मेरा साथ देने लगी। उस आनंद में मैं इतना खो गया कि मुझे होश ही नहीं रहा कि हम दोनों भाई-बहन हैं. उसके बाद उसने मेरी छाती को चूमा चाटा और फिर वो नीचे की तरफ जाने लगी. एकदम से लंड घुसने से चाची की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’इधर मैं भी नहीं रुका, मैंने दूसरा धक्का दे दिया.

फिर दीदी चली गई … मैं फिर दीदी के कमरे में गया और दीदी का लिखा उस पत्र को पढ़ने लगा. इतने में श्वेता दीदी का एक मौसेरे बड़े भाई साकेत, जो श्वेता दीदी के यहां ही रहते हैं, वो वहां आ गए. तुम दोनों जिसके साथ चाहो, उसके साथ मजा कर सकते हो … और हां अब शर्म छोड़ देना.

मुझे दर्द हो रहा था, मैं छः रही थी कि अंकल अपना लंड मेरी चूत में से निकाल लें.

मैं निधि की इस समझदारी देख कर हैरान था और मेरा गुस्सा भी थोड़ा शांत हो गया था. वैसे मैंने पहले भी केले का उपयोग किया था, पर मैं हमेशा छोटा केला ही चुनती थी और चूत के दाने में ही रगड़ कर थोड़ा बहुत ही अन्दर डाल कर काम चला लेती थी. मीना के होठों पर अपने होंठ रखते हुए मैं उसके चूतड़ सहलाने लगा तो मीना ने मेरी जींस की चेन खोलकर मेरा लण्ड बाहर निकाल लिया और बेड पर बैठकर चूसने लगी.

आज तो मैं तेरी चूत को चोद कर ही दम लूंगा चाहे तू कितनी भी नौटंकी कर ले. अगले दो मिनट तक मैंने श्वेता की चूत को ऐसे ही उंगलियों से चोदा और फिर उसकी चूत को अपने दोनों हाथों से खोल कर अपनी जीभ की नोक उसकी चूत के द्वार पर हल्का हल्का फिराना शुरू कर दिया. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मेरी चुत लंड लंड पुकार रही थी तो मैंने उसे कहा- यार अब तू मेरे ऊपर आ जा.

मगर मुझे तो चाची की चुत चाटने का मन कर रहा था और मैंने उनको खींचकर चित्त की पोजीशन में लिटा दिया. ”इतना कहकर किचन से एक बाल्टी पानी लिया और बाथरूम के दरवाजे को खटखटाया.

अंकल बोले- जल्दी बोलो … मैं अपना रस कहां निकालूँ?मम्मी बोलीं- मेरे अन्दर ही डाल दो. फिर दोनों ने भी चरम सुख को पा लिया और हमने बिस्तर को घर को व्यवस्थित करके खुद भी नादान बन कर बातें करने बैठ गए. उसे भी लंड लेने में मजा आ रहा था और मुझे उसकी चुत चुदाई का मजा आ रहा था.

मामी खड़े हुए ही बोलीं- ऐसे क्यों देख रहे हो … कभी देखा नहीं है क्या मुझे?मैंने कहा कि आज आप बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही हो.

वो मुझसे बोली- क्या बात है जान … बड़ी बेकरारी हो रही है?मैं भी हंसकर बोला- हां याद है ना तुमको अपना वादा?वो बोली- हां बाबा, मैं पूरा प्रयास करूंगी. मैं भी उसका लंड चूसने के लिए उतावली थी और जाकर सीधा उसका लंड अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. मैंने फिर से उसे गर्म किया- मोबाइल की चार इंच की स्क्रीन पर तुम्हारा फिगर कैसे चैक किया जा सकता है.

उसकी छूट से मैं भी चरम पर पहुंच गया और मेरे लंड ने भी उसकी चूत में गर्म लावा छोड़ दिया. अब आगे:मैं- जीजा जी, दीदी को सेक्स के मामले में ऐसी कौन सी चीज है, जो पसंद नहीं है.

उसकी इस इमेजिनेशन को देखते हुए आज मैं भी संजू के साथ साथ उसकी चूत में झड़ने लगा. मैंने घूंघट उठा कर उसके चेहरे को देखा और मुँह दिखाई में गोल्ड की रिंग उसकी उंगली में पहना दी. मैंने कहा- भैया को अच्छा लगूँ … इसका क्या मतलब होता है?उन्होंने साड़ी अपने चूचों पर सैट करते हुए कहा- तुम नहीं समझोगे.

एक्स एक्स वीडियो सेक्सी न्यू

मैं भी अब इतना अधिक जोश में आ गया था कि आंटी की छाती पर अबीर रगड़ते रगड़ते मैंने अचानक स्वीटी आंटी के एक बूब को दबा दिया … आंटी चिहुंक उठीं.

मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि दीदी ऐसी है … और उसका भाई उसकी ये बातें सुन रहा है. खा पीकर अब सोने की बारी आई, तो मामी बोलीं- तुम मेरे कमरे मैं ही सो जाना. फिर उन्होंने मुझे एक तरफ पटका और मेरी टांगों को खोल कर मेरी चूत पर अपने होंठों को रख दिया.

मैं भी कुछ देर बाद सो गई फिर तो मेरी सुबह ही नींद खुली।सुबह मैंने देखा तो वह तैयार होकर जाने की तैयारी में था. शैली ने मेरी बात मानते हुए चाय एक तरफ रख दी और मेरे पाद आकर मेरे होंठों पे अपने होंठ रख दिए और मुझे चूमने लगी. एक्स एक्स एक्स बीएफ भेजिएमेरे घर के लोग मेरी खुशी के अनजान रहस्य को समझने की कोशिश में आखिर में पूछ ही बैठे कि क्यूँ रे गीत … आज इतनी खुश क्यों है.

ये पहला मौका था, जब मैं किसी लड़की के मुँह में उसे बिना चोदे झड़ गया. जीजा जी सिगरेट का धुंआ छोड़ते हुए वहां पर पड़ी कुर्सी पर बैठ गए और मैं खड़ा होकर उन दोनों को किस करते देखने लगा.

रगड़ने से मेरे लण्ड का सुपाड़ा फूल गया तो मीना ने अपनी चूत के मुहाने पर मेरा लण्ड रखा और बोली- डाल दो राजा, अब बर्दाश्त नहीं हो रहा. जब मुझे उन्होंने इस बारे में बताया तो पहले मुझे बहुत गुस्सा आया लेकिन एक बार चुद गयी तो फिर मुझे भी रोमांच पैदा होने लगा. तो मैंने देखा कि वो नीचे कमरे में खड़ा होकर लंड हिला रहा है और मुझे देखकर भी नहीं लंड अन्दर किया और एक हाथ में लंड पकड़कर दूसरे हाथ से मुझे अन्दर आने का इशारा करने लगा।लेकिन मैं बाहर जाने लगी और मुड़कर संजय को देखने लगी.

सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार, मैं निक (बदला हुआ नाम) अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ। मैंने यहां बहुत सी सेक्स कहानियां पढ़ीं, जिनको पढ़कर मेरा भी मन किया कि मैं मेरे साथ हुई घटना को आपके साथ साझा करूं. दरअसल मैं पैसे देने के बहाने से पूनम को अपना फोन नम्बर देना चाह रहा था. हम दोनों एक-दूसरे को देखकर मुस्कराने लगे और मैं अपने बैग के साथ उसके पास चला गया.

वसुंधरा के दायें हाथ की दो उंगलियां मेरे होंठों और दांतों के बीच आ गयी.

थोड़ी देर बाद डोली का दर्द गायब हो गया और वो भी नीचे से अपनी चुत को ऊपर उठाने लगी और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ सिसकारियाँ भरने लगी. मैं उसके पास गया, वो बिना कुछ कहे मेरी बांहों में समाते हुए मेरे गले लग गई.

वो बोली- ठीक है ऊपर चलो, यहां नहीं!मैंने उसको गोद में उठाया और सीढ़ियां चढ़ कर उसको उसके रूम में ले गया. लेकिन उसी पल दीदी ने मुझे रोक दिया- भाई पहले कंडोम तो लगा लो, अपनी दीदी को ही प्रेग्नेंट करोगे क्या?मैं- ओके. ध्यान से देखा, पिंकी ने सिर्फ साड़ी पहन रखी थी, नीचे ब्रा एवम् ब्लाउज भी नहीं था.

आप को देखकर मेरे मन में भी आया था कि हम दोनों एक दूसरे की जरूरतें पूरी कर सकते हैं लेकिन मैं दो बातें सोचकर रह गई. ‘प्रिया मैं तुम्हारी परेशानी को समझ सकता हूं … लेकिन मैं तुम्हें यकीन दिलाता हूं कि मेरी वजह से तुम्हें कभी कोई परेशानी नहीं होगी … हमारे बीच जो कुछ भी होगा, वो तुम्हारे, हमारे और श्वेता के बीच ही रहेगा … तुम्हारे मम्मी और पापा को कभी नहीं पता चलेगा. उसने आंखों से पट्टी हटा कर साइड से झांका तो मैंने उसके मुंह में अपनी चूत अड़ा दी.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी उसने मुझे थैंक्स कहा।मैं जानती हूं कि आज के समय में भरोसा करना मुश्किल है लेकिन कभी-कभी आपको वह मिल जाता है जो आप दिल से चाहते हैं।मुझे भी थोड़ा भरोसा करने लायक एक दोस्त मिल गया था. उसने कहा- यह कैसे करोगे?मैंने आजू बाजू देखा, बस में आगे की सीट पर कुछ लोग बैठे थे.

नंगे सेक्सी फिल्म वीडियो

मैं- ले लंड ले मेरी रानी … आज तेरी चुत का भर्ता नहीं, चबूतरा बनेगा आज तेरी चुत फटेगी … ले भैनचोद. दोस्तो, मेरी चूत चुदाई का पहला एक्सपीरियंस आपको पसंद आया? तो मुझे मेल करके या कमेन्ट ककरे बतायें. उसके बाद मनु ने अपना दिमाग लगाया और उसके भाई से मेमने को दिखाने के लिए कहने लगी.

तेल से भाभी की गांड को चिकनी करके पहले एक उंगली से गांड को ढीला किया, फिर दो उंगलियों से गांड को कुछ और फैलाया. घंटी ख़त्म होने के बाद विभा मुझे बोली- थोड़ा मुझे पानी लाकर देना!और अपनी बोतल मुझे दे दी।मैं भी बोतल में पानी भरकर देने गया तो सब टीचर बैठे हुए थे। मैंने बोतल दी और चल दिया. शकशी विडियोबड़े भैय्या का निधन तो लगभग बीस साल पहले हो गया था और उनका इकलौता बेटा कुलदीप भी दुर्भाग्यवश छह साल पहले भगवान को प्यारा हो गया था.

कभी होटल में, तो कभी दोस्त के फ्लैट पर चोद देता … तो कभी उसके ही घर पर चुदाई का मजा ले लेता.

कॉलब्वॉय टॉमी ने उसकी गांड पर हाथ से पकड़ लिया और वे दोनों किस करने लगे. मैंने उनसे पूछा- अंकल का क्या हुआ?उन्होंने कहा कि तुम्हारे अंकल को मैंने दूध में नींद की गोली डाल कर सुला दिया है और खुशी को सुला कर आई हूं.

आगे मैं आपको बताऊंगा कैसे प्रिया भाभी ने मुझसे उसकी बेस्ट फ्रेन्ड को चुदवा दिया. जीजा जी- बात तुम सही कह रहे हो, पता नहीं आगे और कितना परेशान करेंगी. फिर वो खड़ी हुई, कुछ देर मेरी ओर देख कर मुस्कुराई और फिर पेट के बल बेड पर अपनी टांगें खोल कर पसर गयी.

ज्योति भी हाँफने लगी थी लेकिन पता नहीं क्यों आज डिस्चार्ज ही नहीं हो रहा था तो मैं रुक गया.

उनकी चुचियों को मैंने अपने दोनों हाथों से पकड़ते हुए कहा- प्लीज़ एक बार फिर चुद जाओ न. फिर मेरे मन में जाने क्या आया कि मैंने उसके चूतड़ों पर काट खाया, वो दर्द से कुलबुला गयी और उठ कर बैठ गयी. उसका मायका बहुत पैसे वाला था और इंश्योरेंस कंपनी की कमाई वो अपने पास ही रखती थी.

मराठी देवर भाभीममता ने उससे कहा भी ‘डिनर भी साथ ही बना दूँगी’ पर राजन ने मन कर दिया. अब आगे:नीतू की बात पर मैंने कहा- जरूर मेरी जान … पर तुम पहले मेरे लंड को थोड़ा चूस तो दो.

सेक्सी वीडियो चलते हुए दिखाओ

ओह्ह आह आह्ह आअह आआह उफ्फ!”चूत का खट्टा रस मैं पी रहा था चूत को चाटते हुए और सिल्क ‘आय हिश स स उफ़ ओह्ह आह आअह आआह बस … बस … बस … संदीप लीव मी फ़क मी संदीप!’ कर रही थी. मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उससे कहा- ये क्या कर रही थी तुम मेरे लैपटॉप में?मैं जानता था कि वो भी सेक्स कहानियों का मजा ले रही थी. मैंने कहा- अगर यूं ही लिपटे रहे, तो प्रोजेक्ट पूरा कैसे होगा?वो बोली- यूं ही प्यार करते रहो … कुछ देर में अपने आप प्रोजेक्ट पूरा हो जाएगा.

तभी अचानक जेठजी ठीक मेरे बगल में आकर बेसिन के पास खड़े हो गए और मेरे द्वारा मले बर्तनों को धोने लगे. जैसे ही उसकी उंगली मेरी चूत में गई तो मेरे मुंह से आह निकल गई और मेरा मुंह खुलते ही विवेक ने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी. मैंने उसे कहा- मादरचोद, तू अब मेरी चूत में अपना लौड़ा घुसायेगा भी या बाहर ही माँ चुदवाता रहेगा?मेरी गालियाँ सुन कर उसे जोश आ गया और उसके मेरी चूत के छेद में लंड टिका कर एक धक्का मारा और एक बार में ही उसका पूरा लंड अंदर था.

उसने जींस और टॉप पहना था, बाल खुले और मैचिंग नेल पेंट, सन ग्लासेज!राजन तो उसे दखता रह गया और बोला- मैं तो आपको पहचान ही नहीं पाया. अब मुझे भी मज़ा आने लगा था उन दोनों आदमियों की हरकतों पर! और मैं भी उन दोनों की इन हरकतों को एंजाय करने लगी।अब सामने वाला मेरे थोड़ा साइड में हुआ और अपनी कोहनी से मेरे बूब्स को दबाने लगा. उसने जींस और टॉप पहना था, बाल खुले और मैचिंग नेल पेंट, सन ग्लासेज!राजन तो उसे दखता रह गया और बोला- मैं तो आपको पहचान ही नहीं पाया.

पर शायद दीदी को रफ्तार ना काफी लगा … तभी तो दीदी खुद ही डिल्डो की ओर कमर उछालने लगी थीं. मुझे लंड पेलते हुए ही समझ आ गया था कि स्नेहा भाभी की चूत अब भी बहुत टाइट है.

नीतू भी अपनी गांड को मेरे मुँह पर दबाने लगी और अपनी चूत को मेरे होंठों पर ऊपर नीचे रगड़ने लगी.

मैंने अपने कपड़े ठीक किये और थोड़ा सा मेकअप किया और फिर से नीचे आ गयी. ब्लू पिक्चर दिखाओ बढ़िया वालीजिसकी मदहोश कर देनें वाली महक के कारण मैं अपने आपको रोक नहीं सका और मैंने नीचे रुख करते हुए मामी की चूत को चूम लिया. सेक्स बीएफ चाइनाउधर भैया और भाभी अपनी सुहागरात की चुदाई के मजे लेते थे और इधर मैं अपने कमरे में भाभी चूत चुदाई के सपने देखने लगा था. वो भी मेरे होंठों पर जीभ फेर रही थी और बहुत बहिशयाना तरीके से मेरे होंठ काट रही थी.

उसकी पैंटी अब मुझे अच्छी नहीं लग रही थी तो मैंने उसको भी उतार कर फेंक दिया.

दोस्तो, इस मस्त सेक्स कहानी को अगले कई भागों में पूरे विस्तार से लिख कर आपके लंड चुत गर्म करूंगा. चाची मुझसे कहती थीं- जान, जल्दी से मेरे पास आ जाओ और मुझे चोद दो … मेरी चूत मार लो … मेरी गांड मार लो … मेरी चूत को भर दो … मैं बहुत प्यासी हूं … मुझे ऐसे चोदो कि मैं बस तुम्हारी हो जाऊं … तुम अपना लंड मेरे मुँह में दे दो. फिर मैं अपने आप को अड्जस्ट करने के बहाने से थोड़ी सी उठी और फिर वहीं बैठते हुए उसके लंड पर हाथ रख दिया और जल्दी से उठा लिया ताकि सासू माँ को कोई शक ना हो, वो मेरी फुदी और गांड को तो रगड़ ही रहा था.

जब तक हमारा मिलना नहीं हुआ, तब तक हम दोनों वीडियो कॉल करके एक दूसरे से खुल कर सेक्स की बात करने लगे थे. चाची को भी शक नहीं हो सकता था क्योंकि घर में कोई मर्द तो रहता ही नहीं था. मैं भी जवान हो रहा था इसलिए मेरा ध्यान कई बार सेक्सी लड़कियों की ओर चला जाता था.

इटावा सेक्सी

इसके साथ ही आंटी ब्लू ब्रा और पैन्टी में आंटी एक मस्त सेक्सी विदेशी एक्ट्रेस लगने लगी थीं. प्रीति मेरे सर में तेल डाल कर मालिश करने लगी, मैं नीचे बैठे गया और प्रीति से मालिश करवा रहा था. ये बात सुनकर मैंने विक्की को एक स्माइल दी और उससे पूछा- कौन सा फ्लेवर है?इस पर उसने भी एक स्माइल दी.

मैं अपने ख्वाबों के राजकुमार संदीप की जिंदगी में खुशियों की बहार मांगने गई थी.

मैं फ़िलहाल स्पर्धा परीक्षा की तैयारी कर रहा हूँ और साथ ही साथ फ्रीलांसर भी हूँ.

जिंदगी में पहली बार मैंने किसी की चूत देखी थी, वो भी 19 साल की गदराई हुई कली जैसे चुत मेरे लंड के मरी जा रही थी. जैसे तैसे सुबह हो गयी।अब मैं जल्दी ही दूध लेने चली गई क्योंकि संजय अकेला था तो सोचा कि शायद फिर से उसके लंड के दर्शन हो जायें. एक्शन बीएफहल्का सांवला चेहरा, काफी पतली कमर, थोड़ी सी उठी हुई गांड और छोटी-छोटी चूचियां कयामत ढा रही थीं.

मैंने उस पर भी हामी भर दी।दोस्तो, मेरी कहानी पर कमेंट कीजिये कि कैसे लगी मेरी कहानी … अब मेरे लण्ड को लड़कियों की आदत पड़ गयी है. मैंने जल्दी से खाना तैयार किया और पहले ड्राइवर और ससुर जी को खाना परोस दिया. तो मैंने देखा कि वो नीचे कमरे में खड़ा होकर लंड हिला रहा है और मुझे देखकर भी नहीं लंड अन्दर किया और एक हाथ में लंड पकड़कर दूसरे हाथ से मुझे अन्दर आने का इशारा करने लगा।लेकिन मैं बाहर जाने लगी और मुड़कर संजय को देखने लगी.

मैंने कहा- आहह अंकल … हां ऐसे ही डालो अपना लन्ड मेरी गांड में! और जोर से अंकल … मुझे बहुत मजा आ रहा है. पर उसके घर में कुछ अनहोनी हो जाने के कारण उसको सिल्क को अकेले छोड़ के जाना पड़ा और उस बुरे दिन में उसकी कार सॉरी टैक्सी भी ख़राब हो गई उसको सुनसान रास्ते में अकेले चलना पड़ा.

मेरा लेखक दिल नहीं माना और फिर उसकी अनुमति से उसकी दास्ताँ मैं आप तक पंहुचा रहा हूँ.

दीदी ने सिगरेट का कश खींचते हुए अपने मुँह का स्वाद ठीक किया और दारू का मजा लेने लगीं. जब दो तीन बार मेरा हाथ ऊपर को गया और मालकिन की तरफ से कोई आपत्ति नहीं हुई, तो मेरे मन में आने लगा कि अपना हाथ और ऊपर तक घुसेड़ दूँ. श्वेता- नहीं आंटी, मम्मी इंतज़ार कर रही होंगी, मैं उनसे बोल कर आई थी कि जल्दी आ जाऊंगी और एक घंटे से अधिक हो गया है.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ हिंदी वो एक हाथ से अपनी चूत तथा एक हाथ से अपनी चुची को ऊपर से ही मसल रही थी. आशा है आप सभी प्रिय पाठकों को पसन्द आयेगी।मेरी इससे पहली कहानी बॉडी मसाज और चूत की चुदास को लेकर आप लोगों के बहुत से सुझाव और मेल आये.

मैं बोला- तुमने घोड़े की सवारी तो कर ली है, अब जरा लौड़े की सवारी भी कर लो. मैंने अपने दोनों हाथों से आंटी के मम्मों को अपने हाथों में अच्छे से पकड़ लिए और उनकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. फिर मैंने देखा कि बालकनी वाला दरवाजा अन्दर से बंद नहीं था, सिर्फ सटा हुआ था.

पाटील सेक्सी व्हिडिओ

तेरे जीजा रात में मेरी ऐसे बजाते हैं कि उसकी झनझनाहट कई दिनों तक मेरी चूत में गूंजती रहती है. मगर वह बोला- क्या धीरे धीरे कर रही है? मैं तुझे तेजी से करने को बोल रहा हूं. मुझसे जितना अन्दर तक हो पा रहा था, मैं जेठ जी का लंड उतना अन्दर तक अपने मुँह में ले कर अपना मुँह ऊपर नीचे करने में लगी थी.

अब तो वाइन का नशा जम से सर चढ़ के बोल रहा था!बॉस बोले- आज तेरी जवानी की बून्द बून्द चूस लेना है हमको!उनका दोस्त मेरी चूत को सहलाते हुए बोला- यार, असली माल तो ये है. नीतू कोई 20-22 साल की लड़की है, जिसका रंग बिल्कुल दूध जैसा गोरा है, आंखों का रंग भूरा व बालों का रंग सुनहरा है, कोई भी उसे देख कर ये नहीं कह सकता कि वो भारतीय है.

बेडरूम में जाते ही उन्होंने मुझे पलंग पर धकेल दिया और मेरे तने हुए लंड पर टूट पड़ीं.

तभी करीब चार-पांच मिनट तक मेरी बात सुने बिना ही वो दोनों मेरी चूत और गांड को एक साथ चाटते ही रहे. आप सबको मेरी ये सच्ची कहानी कैसी लगी, या आपका मेरे लिए या संजू आर्यन के लिए कोई सुझाव या शिकायत हों, तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं. मोमबत्तियों की झिलमिलाती रोशनी में वसुंधरा की कज़रारी आँखें हीरों की तरह चमक रही थी.

मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उससे कहा- ये क्या कर रही थी तुम मेरे लैपटॉप में?मैं जानता था कि वो भी सेक्स कहानियों का मजा ले रही थी. करीब 5 मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मैं पीठ के बल लेट गया और भाभी मेरे लंड के ऊपर बैठने लगीं. फिर वो दीदी के ऊपर चढ़ गए और दीदी की गांड में अपने लंड से पम्पिंग करने लगे.

तभी मैंने दीदी की एक सहेली का कमेंट्स पढ़ा- हां यार, शिवम तो तेरा ही है.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी: भाभी- अच्छा … वो क्या नजरिया था?मैं- छोड़ो … मुझे ये दर्शन की बातें नहीं करनी. दीदी के चुम्बन से मेरा लंड एंटीना की तरह खड़ा हो गया और मैं भी दीदी का साथ देने लगा.

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।अभी तक मैंने अपने कपड़े भी नहीं उतारे थे।उन्होंने मुझसे कहा- बेबी, तुम तो सेक्स से भरी हुई हो कुछ बातें भी नहीं करने दी और जोर से चूसो।मैं उनका लंड पूरा मुंह में लेने की कोशिश करने लगी. उनके दोस्त ने अपना लंड मेरी गांड के छेद से लगाया और मेरी मोटी गांड को दोनों हाथ से थाम लिया और जोर से धक्का लगाया. काफी देर तक उनका लंड चूसने के बाद इस बीच उन्हें मज़ा आने लगा और वे मेरे मुंह में झड़ गए। उनका वीर्य मेरे होंठों से होता हुआ मेरी साड़ी पर गिर रहा था.

मैंने कहा- चलो कोई बात नहीं, मैं तुम्हारा नंबर सेव कर ले रहा हूं और हाल-चाल तुमसे लेता रहूंगा.

कुछ देर बाद चाची झड़ गईं, तो मैंने अपना लंड निकाल कर उनके मुँह में दे दिया और वो लंड चूसने लगीं. मैं ये सब इसलिए कह रही हूँ, क्योंकि मैंने भी संदीप को उसके लंड का साइज जाने बिना अपना दिल दे दिया था. तो उसने कहा- चल बे हरामन तू ज्यादा बन मत … हम लोगों ने तुझे मजे करते देखा है, तुम्हारे कमरे की भी कुंडी नहीं लगी थी.