बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए

छवि स्रोत,अभी शराबी

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी साड़ी वाली: बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए, उसके चूचे के दाने उभरे हुए दिख रहे थे और शॉर्ट्स के ऊपर चूत की छाप दिख रही थी.

ப்ளூ ஃபிலிம் எக்ஸ்

वो अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों को चूस रही थी. सेक्सी वीडियो2018घर में हम दोनों ही अकेले थे और मेरा चूत मारने का बहुत मन कर रहा था.

उसके होंठ अभी भी मेरे होंठों की गिरफ्त में थे। उसकी धड़कनों को मैं महसूस कर सकता था। मेरा लंड कामरस छोड़ छोड़कर मेरी चड्डी को गीला करने में लगा हुआ था. बहू और ससुर की सेक्सी कहानीसुमन- नहीं, अब सोएंगे बस, वैसे भी आपका लंड अब जल्दी खड़ा नहीं होगा.

अब अगले दिन मामाजी और भैया के खेत पर जाने के बाद बड़ी मामी, उर्मिला मामी और अर्चना भाभी भी खेत पर चली गईं। अब घर में मैं, सीमा मामी और पूजा भाभी ही थे। पूजा भाभी को चोदने का इससे अच्छा मौका नहीं मिल सकता था.बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए: छुट्टी के दौरान मेरी मुलाकत एक दोस्त से हुई, जो हमारे साथ वाले घर में रहता था.

मुझे चाची के साथ चलते हुए बड़ा फख्र होता था कि मेरी चाची इतनी सेक्सी है.उसने मीनू को सीधा खड़ा कर दिया और थोड़ा दूर जाकर उसके जिस्म को निहारने लगा.

मोटी औरतों की सेक्सी फिल्म - बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए

सिसकारते हुए वो बोले:बस यूं ही चूसती रह डार्लिंग!मेरा घोड़े जैसा लंबा मोटा लंड।जब जोर-जोर से हिलाऊंगा पलंग,दूर हो जाएगा तेरे यौवन का घमंड।”सुहानी तो लंड को चूसती ही रही.मेरे परिवार में कुल 4 सदस्य हैं- मैं, मेरी बीवी, मेरी अम्मी तथा मेरी भानजी जो कि घर पर रहकर पढ़ाई कर रही है.

तुम ख्याल करना हवेली में भले रहो, मगर तहख़ाने में जाने की कभी मत सोचना. बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए इसी को लेकर मैं अक्सर वीजा लेने के लिए चंडीगढ़ जाता रहता था … जिसके लिए मुझे कई चक्कर लगाने पड़ रहे थे.

बहुत दिन से भाबी को मर्द का प्यार नहीं मिला था इसलिए वो तड़प गयी थी.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए?

एक बिजनेसमैन की बेटी थी इसलिए उसका रहन-सहन और पहनावा भी हाइ-क्लास था. मगर उतारते हुए मेरा बनियान फंस गया क्योंकि बनियान पूरा गीला था और बदन से चिपक रहा था. यूरोप आने के बाद से मेरी प्रीत से बात होना एक तरह से खत्म सी हो गई थी.

लगातार चुदाई के कारण मेरी वाइफ प्रेग्नेंट हो गई थी, तो अब मेरे लंड का काम नहीं चल रहा था. तब अम्मी ने झुंझला कर धीरज का लंड हाथ में पकड़ा और अपनी चूत पर सैट करके कहा- अब डाल भी दे ना!धीरज ने धक्का देकर अपना लंड चुत में घुसा दिया. उनके लंड के आकार देख कर लग रहा था कि औजार 8 इंच का तो कम से कम होगा ही.

रविवार के दिन मैं बाथरूम में कपड़े धो रहा था कि किसी ने दरवाजा खटखटाया. सही है ना?सुमन की बात सुनकर कालू के चेहरे पर मुस्कान आ गई और शर्माते हुए उसने हां में सिर हिला दिया. जब मैंने सुमन भाभी से पूछा कि वो कौन है?तो भाभी ने उनका नाम बताया, जिसे सुनकर मेरी गांड ही फट गयी थी.

पहले धक्के में उसकी जोर से चीख निकली- आईई … मम्मी … मर गयी … ओफ्फो … ऊईई … आराम से डाल यार … इन्सान हूं मैं भी. मैंने उससे घोड़ी वाली पोजीशन में आने के लिए कहा और वो उठ कर बेड पर झुक गयी.

मैं भी देर ना करते हुए उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपना लंड उनकी चूत में लगाने लगा.

रुक्मणी- कुणाल, तुझे ऐसी बातें करते शर्म नहीं आती? तू आज मुझे जरूर मार खाएगा.

मैं भी उसको जोर जोर से चूसते हुए उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहला रहा था. मगर चाची को मैंने इस बारे में कभी ये महसूस नहीं होने दिया कि मैं उनके बारे में इस तरह के विचार रखता हूं. उसके गर्म गर्म मुंह में जब उसकी जीभ मेरे लंड पर लगती तो ऐसा लगता कि जैसे चूत खुद ही मेरे लंड पर आकर चुद रही है.

पहले सर तुम्हारी चूत मारेंगे और फिर उसके बाद मैं अपनी सेक्सी चुदक्कड़ बीवी की चुदाई करूंगा. मैंने तुरन्त टी-शर्ट उतार कर अपनी ब्रा उतार दी और एक निप्पल को बेरहमी से खींचने लगी. मैंने अपनी सास की चूचियां दबा दीं और कहा- अभी जब अन्दर लोगी मम्मी जी, तब मालूम पड़ेगा कि मेरे लंड की ताकत क्या है.

वो मुझे चोदते हुए मेरे मम्मों को काटने लगता, तो मैं ‘आआआह … साले दूध मत काट हरामी … प्यार से चोद ऊऊह … आआआह.

मैंने आंखों आंखों में ही बुआ को अपने लंड की तरफ इशारा किया और स्माइल कर दिया. उसकी स्पीड बहुत तेज थी और पूरा कमरा थप-थप की आवाज से गूंजने लगा था. बुआ- क्यों खाने में कुछ कमी है क्या?मैं- हां … इसमें आपके मुँह का टेस्ट ही नहीं है.

अब मैंने अपनी नाइट पैंट उतार दी और नंगा होकर उसकी गांड को सहलाने लगा. धीरज मेरे दूध देखते हुए बोला- इकबाल तू सही बोला था, साली एक नंबर का माल है बहन की लौड़ी बड़ी गर्म माल है. मैंने उसे अपने रूम का बाथरूम दिखाया और कहा- अगर फ्रेश होना और चेंज करना हो, तो ये रहा बाथरूम.

जबसे हम गांव से शहर आए थे, तब से मैंने गौर किया था कि मेरी अम्मी काफी बदल गयी थीं.

सुरेश और मीता की चुदाई के साथ उस लड़के के साथ किस तरह का इलाज हुआ और सुरेश ने मीता को किस तरह से चोदा. हरी- मैडम जी मज़ा नहीं आ रहा क्या?सुमन- मज़ा तो बहुत आ रहा है … तभी तो चुत टपक रही है.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए उन्होंने दूसरे हाथ से ब्लाउज को जिस्म से अलग कर दिया और दोनों स्तनों को निकाल कर पूरा नंगा कर दिया. रूम में लाकर मैं आंटी को नंगी कर लेता था और उसको पटक कर चोद देता था.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए अब मुझे सिर्फ मौका देख कर सबकी नज़रें बचा कर चुपचाप ऊपर कमरे में जाना था ताकि मुझे कोई टोके न!और फिर अपने पूरे कपड़े उतार के निर्वस्त्र होकर अपनी मनमानी करना था. ये बोल कर अम्मी ने कासिब को कहा- साले मादरचोद … अब जल्दी से अपनी बहन को चोद कर मादरचोद के साथ साथ बहनचोद भी बन जा.

मामी- ये कहां आ गये हम?मैं- वहीं, जहां कोई आता-जाता नहीं!सुनकर मामी हंसने लगी और हमने गाड़ी को अंदर से लॉक कर लिया.

लड़कियों की सेक्सी वीडियो

तब भी आप सब से निवेदन है कि मेरे हौसले को बढ़ाने के लिए इस सेक्स कहानी पर अपनी राय और कमेन्ट जरूर करें. उसकी स्पीड बहुत तेज थी और पूरा कमरा थप-थप की आवाज से गूंजने लगा था. वैसे अपने आप चुत रगड़ना कहां से सीखा?मीता- कहीं से नहीं … बस चुत में मीठी जलन होने लगी, तो हाथ अपने आप वहां पहुंच गया और काम बन गया.

मगर मां ने मुझे टोकते हुए रोक दिया था कि अब उनकी नजर मेरे ही जिस्म पर है. मुझे एक बात तो पूरी तरह से समझ आ चुकी थी कि वो बहुत सीधी और भोली थी. मैं कुछ करती, इससे पहले ही कासिब ने मेरे मुँह पर अपना हाथ रखा और मुझे उठाकर मेरे कमरे में ले जाने लगा.

अन्दर आते ही उसने दरवाजा लॉक किया और मुझसे पूछा- मैंने जो कहा था, वो किया?मैंने हां में मुंडी हिला दी.

तब तक मीता वापस नहीं आई थी, वो बाहर किसी से बातें करने खड़ी हो गई थी. मैंने भी चाचा को बोल दिया- यह भी कोई बोलने वाली बात है चाचा जी … मैं भाभी की पूरी हेल्प करूंगा. मुझे इतनी मस्ती चढ़ गयी कि मैं फिर से उसके लंड पर झुक गया और उसे हाथ में लेकर जोर जोर से चूसने लगा.

मैंने नीचे जाकर दीवार की छोटी भुरकी से देखा तो नजारा चौंकाने वाला था।ससुर पलंग पर बैठ अपनी बहू को जांघों पर बैठाकर उसकी गोरी कमर को पकड़े हुए थे।मैं समझ गया कि ससुर और बहू के बीच इस चांदनी रात में सेक्स करने का माहौल तैयार हो रहा है।उसको चाचा फिर लेटा दिए और एक जोर का चुम्बन कर दिये। चाचा तो अकेले-अकेले ही चोदने के मूड में थे. मधु गर्म होने लगी और ‘अअअह … उईईई …’ करते हुए मादक सिसकारियां लेने लगी. नीचे से पेटीकोट उठा कर पैंटी को निकाला और पेटीकोट को जांघों के ऊपर ही रहने दिया.

सन्नो भी कम नहीं थी, वो लंड चूसती हुई उसकी गोटियों को हाथ से सहला रही थी. राजेश का लंड हाथ में लेकर मैंने सहलाया और उसके टट्टों को भींच दिया.

मेरी आंखों के सामने मेरे पति मेरी चूत में लंड डाले हुए किसी गैर मर्द से मेरी चुदाई की प्लानिंग कर रहे थे. वो लड़की ये मीता ही है ना!रवि- आप बहुत समझदार हो साहब … हां मीता ही मेरी पसंद है. इकबाल भी बोला- और तेरा पति मेरे से जुआ में पहले ही काफी रकम हार चुका था.

अब समय खराब न करते हुए सीधी सेक्सी फैमिली चुदाई कहानी शुरू करते हैं.

भाभी कुछ देर तक तो इसे मेरा बचपना समझ कर बैठी रहीं और मेरा सर सहलाती रहीं. हो सकता है कि अगली बार वो किसी और को भी साथ ले आए और वो दोनों मेरी अम्मी और बहन की एक साथ चुदाई का मजा लें. सर ने सोनू को इशारा किया तो वो लेट गए और मैं उनके मुँह की तरफ मुँह करके लन्ड पर बैठ गयी.

उस पर मैंने इतना साउंड रखा कि मुझे पोर्न स्टार की तड़पने की आवाज़ सुनाई दे. वैसे भी मर्द जात बिस्तर पर औरत के ऊपर ही शोभा देते हैं, नीचे नहीं।आठ-दस मिनट के बाद मैंने सुहानी को हटने के लिए कहा। वह हटी और मेरे लन्ड को पकड़कर बोली- नहीं छोड़ूंगी, घोड़े के लंड को।इतना हक जताकर वह मेरे लंड पर लगे द्रव को चाटने लगी और उसने मेरे लंड को फिर से मुंह में भर लिया.

किसी लड़की को देखकर उसकी साइज सोचता, कभी किसी के हिलते हुए चूचों में अपने लंड को लेकर सोचने लगता, कभी कोई मस्त आंटी साड़ी में मुझे नंगी कैसी लगेगी, यही सब सोच रहा था. एक बार फिर से मैंने आंटी के होंठों को चूसते हुए दूसरा धक्का मारा और अबकी बार मेरा पूरा का पूरा लंड आंटी की चूत में उतर गया. पसंद आएगा उसको, बुला देते हैं उसको, हिला देगी तुम्हारा। नई नई शादी हुई है.

सेक्सी ब्रा नए डिजाइन की ब्रा

मुखिया- हरामखोर, तू यहां क्या लेने आया है … और क्या उल्टी सीधी बातें सुमन जी को बता रहा है.

मैंने भी गुस्से से कहा- साले बहनचोद … अभी तू अपनी बहन को चोद कर परिवार का बहुत बड़ा नाम कर रहा है. साइज़ के बारे में आप इसी से अन्दाज़ा लगा सकते हैं कि बुर्के के अन्दर भी अलग से उभर कर दिखती हैं. मैंने पूछा- आपके घर में और कौन कौन है?वो बोली- मेरे दो बच्चे और मेरे ससुरजी.

मैं बोला- ये किसलिये?सोनिया बोली- ये हमारे पहले मिलन की निशानी के लिए. तुम सब गौर से देखो और सीखो … समझे!रघु- हां बाबूजी, आप करके बताएंगे, तो जल्दी समझ आ जाएगा. घोडे का सेक्सी व्हिडिओमैं अपने लिए चाय बनाकर भाभी के पास सोफे पर जाकर बैठ गया और उनको ऐसे ही घूरने लगा.

[emailprotected]लस्ट एंड सेक्स स्टोरी का अगला भाग:होली की मस्ती में सेक्स का मजा- 2. मैंने उनसे कहा- जान आज तो पूरी रात तुमको चोदना है … इतने में ही थक गईं.

पहले अपने ईमेल भेजी कर मुझे ये बताइएगा कि मेरी ये भाभी नंगी नंगी चूत की कहानी आपको कैसी लगी?आपका अपना दोस्त कुणाल[emailprotected]. मैंने पूछा- क्या तुम थोड़ी देर के लिए मेरे घर में ऊपर मेरे रूम में आ सकती हो?वो बोली- इतनी रात को कैसे आऊंगी? तुम्हारे मम्मी-पापा सो चुके होंगे. कुछ ही धक्कों में कासिब का पूरा लंड मेरी चूत में समा गया और मुझे भी दर्द के साथ साथ मजा आने लगा.

नताशा ने मुझसे वायदा लिया कि हम अपनी सुहागरात अपने खुद के फ्लैट में मनाएंगे और पहला बच्चा 3-4 साल बाद करेंगे. वो पीछे से अपनी ब्रा के हुक खोलने लगी और कुछ ही पल के बाद उसकी ब्रा उसकी चूचियों से अलग हो गयी थी. भाभी मदहोश होने लगी और सिसकारियां भरने लगी। मैं फिर नीचे बैठ गया और उसकी चूत को चाटने लगा.

एक दिन मैंने पूछा- जानू क्या आपके पति आपसे प्यार करते हैं … और पूरा मज़ा देते हैं?वो बोलीं- वो मुझे प्यार तो करते हैं, लेकिन उनमें ज्यादा दम नहीं है.

मैं आंखें बंद किए अपनी गर्दन को कभी दांए, तो कभी बाएं तरफ घुमा रही थी. उन्होंने फिर से मुझे अपने मम्मों को देखते पकड़ लिया, पर बस एक स्माइल दे दी.

मैं पूरा लंड ले भी नहीं पा रही थी … मगर वे दोनों जबरदस्ती लंड पेले दे रहे थे. उसकी चूत की पंखुड़ियाँ मिली हुई रहती हैं जिनको अब मैं एक बार फिर से अलग करना चाहता था. आंटी के हाथ से मैंने कपड़े ले लिये और अपना नागराज उसके हाथ में पकड़ा दिया.

सुमन- आपका दिमाग़ तो सही है ना … मैं कोई रंडी नहीं हूँ, जो आप मुझे किसी से भी चुदवा दोगे. 10 बजे के करीब चाची किचन का सारा काम निबटा कर आई और काफी थकी हुई सी लग रही थी. देसी बुआ की चुत चोदी कहानी में पढ़ें कि मैं बुआ के घर गया तो वे अकेली थी.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए मुझे लड़की को देखते देख चाचा बोले- बड़ी सुंदर बहू है न? बहुत सेवा करती है मेरी. उनकी सुराही सी गर्दन को चाटते हुए मुझे उनके पसीने का स्वाद और भी उत्तेजित कर रहा था.

अरोड़ा की सेक्सी फोटो

फिर उसने बॉक्स में रखा केक बाहर निकाला और मेरी चूत पर अपने हाथ फिरा फिरा कर लगाने लगा. उसके बाद उसने क्या किया?दोस्तो, मैं राज सिंह उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले से हूँ. मुझे एक बात तो पूरी तरह से समझ आ चुकी थी कि वो बहुत सीधी और भोली थी.

ये सुनकर मैंने उसको दूसरी साइड आने का कहा और करवट लेकर लेटने को कहा. इकबाल ने मुझे घुटने के बल बिठा दिया और दोनों अपने खड़े लंड मुझे चुसवाने लगे. ಕನ್ನಡ ಲೋಕಲ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋसिमरन ने कहा कि आपने मेरी पूरी फैमिली की बातें सुनी!मैंने कहा- हां मगर तुमने झूठ क्यों बोला कि तुम किसी फैमिली में हो.

[emailprotected]माँ की चुदाई की कहानी का अगला भाग:कामुक अम्मी अब्बू की मस्त चुदाई- 3.

मैंने भी मौसी को जोर से चूसा और नीचे ही नीचे अपनी गांड को चूत की ओर धकेलते हुए लंड को उसकी चूत में हिलाने लगा. वो समझाते हुए बोले- इसको पहले मुंह में लो और थूक लगाओ, ये खड़ा हो जायेगा.

पिछले भागगाँव के मुखिया जी की वासना- 7में अब तक आपने पढ़ा था कि मुनिया अपनी भाभी सुलक्खी की बात सुनकर जल्दी से मुखिया के पास चली गई. जब मुझसे बर्दाश्त न हुआ तो मैंने उसको नीचे पटका और उसकी चूत से उसकी पैंटी को फाड़कर अलग कर दिया. वैसे ये सब कोई और भी करता है, मगर उस वक़्त मीता होश में नहीं होती थी.

धीरे धीरे हम सब क्लास में व्यस्त होने लगे और अपनी पुरानी मस्ती में लग गए.

फिर उन्होंने मुझे अपने से चिपटा लिया और झड़ने लगे साथ ही मेरी चूत ने भी रस की नदिया सी बहा दी. भाभी के चूतड़ भी बहुत बड़े बड़े थे। ये पूरा नजारा देखकर मेरा लन्ड भाभी की चूत के लिए बेकरार होने लग गया।अब मेरे लन्ड को उनकी चूत की प्यास लगने लगी और भाभी को चोदने का ख्याल आने लगा।आगे बढ़ने से पहले मैं आपको पूजा भाभी के जिस्म का अंदाजा दे देता हूं. देसी हिंदी कहानी लड़की का सेक्स की में पढ़ें कि मेरी बहन की ननद की सहेली को मैं बहुत पसंद आ गया था.

गदी शायरीभाभी ने पहले भी ऐसा किया हुआ था, पर उस वक़्त मेरे दिमाग में कोई ख्याल नहीं था. सुबह ही आ जाऊंगा, ये हॉस्पिटल वाले भी बोल रहे हैं कि मरीज के साथ सिर्फ कोई एक ही रुक सकता है.

बिल्ला सेक्सी

मैं बोला- दीदी, एक बात मान लो प्लीज।वो बोली- अब क्या है?मैं- मैं एक बार बस तुम्हें किस करना चाहता हूं. मैंने आते हुए ही सोच लिया था कि घर जाकर पहले तेरी जमकर चुदाई करूंगा, फिर ही आज सोऊंगा. चूंकि वो पहले से ही अपनी बुर में उंगली करती थी, तो उसे ज्यादा दिक्कत नहीं हुई.

उसके बूब्स को देखने के बाद मैं अपने आप को रोक नहीं पाया और उसके बायें बूब को अपने मुंह में भर लिया. चूचियां चूसने के साथ-साथ मैं उनकी दोनों बगलों को भी अपनी जीभ से बीच बीच में चाट रहा था. जब मेरा पूरा शरीर ठंडा हो गया तो मैंने मौसी से कहा- मौसी मुझे ठंड लग रही है.

अभी तू एक काम कर … वो डिब्बे यहां ला!सुरेश ने मीता को काम में लगा दिया. रियल आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मामी की वासना जगाकर मैं चूत तक पहुंचा ही था पर चोद नहीं पाया. शादी के लिए हमारे छत्तीसगढ़ में लड़के, लड़कियां ढूंढने के लिए सपरिवार जाते हैं, तो मैं अपने पिताजी और अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ गया था.

फिर नखरे दिखाते हुए आखिरकार भाभी चुदाई के लिए तैयार हो ही गई!दोस्तो, मैं रोहित अपनी देसी भाभी Xxx चुदाई स्टोरी का तीसरा और अंतिम भाग आपके लिए लेकर आ गया हूं. उनका मादक स्पर्श पाकर मेरे लंड में हलचल होने लगी, जिसे भाभी ने भी महसूस कर लिया था.

फिर वो अलग होकर बोली- मेरी पैंटी के साथ क्या क्या करते थे तुम, अभी करके बताओ.

अब आगे की कज़िन सिस्टर Xxx स्टोरी:मैंने पहले उनकी गर्दन और कंधे पर खूब मजबूती से मर्द वाला हाथ लगाया. தமிழ் அக்ட்ரேஸ் செஸ்आह ऐसे चुत में उंगली करोगे तो ये लंड मांगेगी … उहह फिर तुम मेरी चुदाई मजे से कर पाओगे क्या!साये ने अपना मुँह सुमन के कान के एकदम करीब किया और धीरे से कहा. सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो एचडी मेंखिड़की से आती रोशनी में उसके गोरे बदन को मैं कामुकता से निहार रहा था. मुखिया- कुत्ता है तू साला … अब ये मुसीबत तूने पाली है, इसका समाधान भी तू ही कर.

मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था और धीरे धीरे मामी की चूत को सहलाने लगा.

मगर अब्बू ने ब्लाउज से दूध बाहर नहीं निकाले बल्कि अम्मी की गांड और नंगी टांगों को हल्के हल्के से चूमने और काटने लगे. मुखिया- तुम अभी तक गए नहीं, यहीं खड़े हो!बिरजू- मालिक हम गरीबों पर थोड़ा रहम करो. मुझे सोनिया जैसी जवान लड़की की चुदाई करने का मौका उन्हीं की वजह से मिला था.

तो मैं डर गया कि कहीं मुझे झांकते हुए देख तो नहीं लिया गया, मैं जल्दी से आंख बंद करके सोने का ड्रामा करने लगा. गर्म सिसकारियां लेते हुए भाभी ने अपना एक हाथ मेरे लौड़े पर रख दिया और उसे दबाने लगीं. उसकी सिहरन से मुझे यकीन हो गया था कि इसकी कमसिन जवानी का रसपान अभी तक किसी ने किया ही नहीं है.

सेक्सी काले लोगों की

उन्होंने ये सुना, तो मानो पिल पड़े और दस बारह धक्के के बाद एक जोरदार धक्के से मेरी चुत को भर दिया. वो भी बेड पर आ कूदा और हम दोनों ने एक दूसरे की बांहों में लिपट कर एक दूसरे को चूमना शुरू कर दिया. अब मौसी से नहीं रहा गया तो उन्होंने अपनी रज़ाई को दूसरी तरफ कर दिया और मेरी रज़ाई में घुस गयी और मेरी बाँहों को कस कर पकड़ लिया.

मेरे लंड पर गोली का असर था इसलिए वो आंटी की गांड में जाकर पूरा फूल गया था.

फिर मैंने लंड को धीरे धीरे चूत में चलाना शुरू किया और दो-चार मिनट के बाद वो आराम से लंड को चूत में लेते हुए चुदने लगी.

अब तू मुखिया जी को खुश करेगी … तो ये झोपड़े की जगह हमें पक्का घर मिल जाएगा. अब मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था और उधर बाहर मेरे दोस्त अभि का लंड पैंट फाड़ने को हो रहा था. पंजाबी सेक्सी मूवी पिक्चरमेरे मन में बस यही चल रहा था कि आज की रात भाभी की चुदाई में बहुत मजा आने वाला है.

एक दिन मैंने उसको अपना लंड निकालकर दिखा दिया तो …हैलो मेरे सभी प्यारे दोस्तो, चुदासी आंटियो और सेक्सी लड़कियो! कैसी चल रही है सेक्स लाइफ? मुझे उम्मीद है कि सबकी चूतों को लंड और सभी लौड़ों को गर्म-गर्म चूतों का मजा मिल रहा होगा. [emailprotected]माँ बाप सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरे भाईजान और अब्बू ने मुझे चोदा- 2. वैसे भी मर्द जात बिस्तर पर औरत के ऊपर ही शोभा देते हैं, नीचे नहीं।आठ-दस मिनट के बाद मैंने सुहानी को हटने के लिए कहा। वह हटी और मेरे लन्ड को पकड़कर बोली- नहीं छोड़ूंगी, घोड़े के लंड को।इतना हक जताकर वह मेरे लंड पर लगे द्रव को चाटने लगी और उसने मेरे लंड को फिर से मुंह में भर लिया.

मैंने उसे बेड पर बिठाया और उसके सामने ही अपने शॉर्ट्स के ऊपर से लंड को सहला दिया. किसी तरह से मैं घर पहुंचा और फिर आते ही बाथरूम में घुसकर दो बार मुठ मारी.

मेरे दोनों छेद में ही लंड थे और दोनों में ही बराबर का मजा मिल रहा था.

अब आगे नंगी लेडी की मस्त चूत चुदाई कहानी:अब हम तीनों एकदम नंगे लेटे हुए थे. वह तेज-तेज सिसकारियां भरने लगी- उउउई … उउउई … मम्मा … आह्ह … चूसो मेरी चूत को मामूजान … आह्हह … बहुत अच्छा लग रहा है. एक दिन फ्री क्लास में हम दोनों अकेले बैठे थे, तो उसने नीचे बैठ कर मेरा हाथ पकड़ा और मुझे फिर से प्रपोज़ किया.

மலையாள செக்ஸ் வீடியோ படம் कुछ लड़कों ने अपना लंड पकड़ कर मुठ जरूर मारी होगी।चलिए दोस्तो, फिर मिलेंगे एक और नयी कहानी के साथ. लेकिन इस डर को कैसे निकालूं?मैंने कहा- आज रात हम एक रोमांटिक मूवी देखेंगे, वो भी स्पेशल चीज़ के साथ.

रात को सोते समय मेरी आदत थी कि मैं एक निक्कर और टीशर्ट पहन कर सोता था. ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो कोई गलती दिखी हो तो प्लीज़ नजरअंदाज कर दीजिएगा. वो भी चुत चुसवाते हुए गर्म सिसकारियां लेने लगीं- आह जान मजा आ गया तुमने तो आज मेरी दिली तमन्ना पूरी कर दी.

मधु शर्मा सेक्सी वीडियो वायरल

आपकी पिंकी सेन[emailprotected]छोटी चूत की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 6. इस बात को लेकर मेरी और भाभी की काफी खुली खुली बातें हुई थीं और हम दोनों सेक्स के मामले में चुदाई की बातों तक आ गए थे. मुझे मेल भेजते रहिये, इस सेक्स कहानी को आगे लिखने के लिए आपके मेल मुझे टॉनिक देते हैं.

मीनू- आह इसस्स बाबूजी … अब और मत तड़पाओ आह … मेरी चुत की आग आ जल्दी से ठंडी कर दो आप अपना लंड जल्दी से अन्दर घुसा दो आह … अपना लंड जल्दी से पेलो इसमें … उफ़फ्फ़ अब बहुत जलन होने लगी है. अम्मी को चुत चटवाने में मजा आने लगा था, वो अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरे दोस्त से अपनी चूत चटवा रही थीं.

उधर सुरेश क्लिनिक पहुंच गया था और जैसे कल तय हुआ था, मीता भी तैयार होकर पहुंच गई थी.

भाभी के खुले लंबे बाल भाभी के बड़े बड़े चूतड़ों को टच कर रहे थे। उसकी जांघें नारियल के पेड़ के तने के जैसी शेप लिये हुए थीं. मीता के साथ तुम्हारी रासलीला मुझसे छिपी नहीं है … और वो बेचारी भोली भली मीनू की चुदाई जो तुमने की, वो भी मैं जानता हूँ. मैंने उससे बात की तो पता चला कि उसको मेरा फ्रेंड बनना था, हमारे साथ शामिल होना था.

अब राहुल थोड़ा गाली की शुरूआत करते हुए बोला- बोल साली, लेगी मेरा लौड़ा!मैं तो पहले से ही भट्टी सी तप रही थी मैंने कहा- साले दे दे, जो देना है … क्यों मेरी फुद्दी को तड़पा कर पाप कर रहा है. लगभग 5 मिनट बाद मैं बुआ में पीछे लेट गया और पीछे से अपना लंड उनकी चूत में डाल कर धक्के मारने लगा. अशोक ने भी मेरा उपकार समझते हुए जल्दी ही निकिता की चुत दिलवाने का वादा किया.

ये पहली बार था जब मैं किसी लड़की को पटाकर उसकी चूत के साथ खेल रहा था.

बीएफ सेक्सी इंग्लिश में दिखाइए: शुरूआत के 1-2 साल तो हम दोनों बस ओरल सेक्स करके ही संतुष्ट हो जाते थे क्योंकि मैं नई नई जवान हुई थी. मेरा एक हाथ मेरी चूत को सहला रहा था, तो दूसरे हाथ से मैं पैंटी सूंघने लगी.

मैंने राजेश को रिक्वेस्ट करते हुए बोला- डार्लिंग … पानी पी लेते हैं, प्यास लगी है. वो जल्दी से हाथ छुड़ाकर बोलीं- बेशर्म …ये कह कर वो अपने कमरे में भाग गईं और वहां से मुस्कुराने लगीं. मेरे पास से गुजरते हुए उन्होंने अपना लंड मेरे हाथ से छुआ दिया और मेरे हाथ को दबाकर निकल गये.

मैंने उससे पूछा- आप कौन सा परफ्यूम लगाती हैं?उसने कहा- मैं परफ्यूम नहीं लगाती.

मुखिया- ओहो, जब तक ये नहीं खुलेगा, तो पानी बाहर नहीं जाएगा … और तू सफ़ाई कैसे करेगी. ऐसा आनंद मिल रहा था उसकी चूत में लंड देकर कि क्या बताऊं!फिर जब वो थोड़ी नॉर्मल हुई तो मैंने धीरे-धीरे लंड को आगे पीछे करना शुरू किया. फिर मैंने बहाना बनाते हुए कहा कि मेरे घर में दाल खत्म हो गयी है और मैं दाल लेने के लिए आया हूं.