डीजे में बीएफ

छवि स्रोत,ameno सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ तस्वीर: डीजे में बीएफ, उनके घर में कोई और था नहीं … तो आंटी शायद और भी खुल कर एन्जॉय क़र रही थीं.

बिपाशा सेक्सी फोटो

स्वरा की चूचियों से खेलते हुए मैं उसे धीरे धीरे चोद रहा था लेकिन जब मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आया तो मैंने स्पीड बढ़ा दी और समय आने पर मेरे लण्ड से पिचकारी छूटी और हिरणी का शिकार करके शेर मस्त हो गया. प्योर हिंदी सेक्सीक्योंकि मैं जहाँ जा रहा था, वो बहुत ही ज्यादा अमीर घराना था और उनके कायदे कुछ अलग ही होते हैं।तभी मन में एक बात आई कि यार मैं तो मेहमान हूँ.

”गंदी बातों का सिलसिला शुरू हुआ तो रुका नहीं और इसका लाभ यह हुआ कि मनजीत बेशर्म होकर चुदवाने लगी, उसने अपने चूतड़ उछालने शुरू कर दिये. ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो गानेजब साँड नीचे उतरा तो मैंने ध्यान से देखा कि उसका एक फुट से भी ज्यादा लंबा लण्ड धीरे- धीरे बाहर निकला और फिर गरल गरल कर ढेर सारा वीर्य चूत से बाहर गिरा.

आप जानो आपका काम जाने, अब जो करना हो आप खुद ही कर लो, थक गयी मैं तो बुरी तरह!” वो थोड़ा झुंझला कर बोली.डीजे में बीएफ: लेकिन अब भी वो एक हाथ से मेरी एक चूची को थामे थे और उन्होंने अपना दूसरा हाथ मेरी चूत पर लोअर के अन्दर से घुसा कर अपनी पूरी दो उंगलियां मेरी चूत में घुसा दीं.

थोड़ी ही देर में सरोज ने पीछे होकर अपने चूतड़ों को दीवार से लगा लिया.तो तुम अपनी चूत के बाल नियमित रूप से साफ करती हो ना?”उसने शरमाते हुए इन्कार कर दिया.

ब्लू सेक्सी फिल्में सेक्सी - डीजे में बीएफ

फिर मैंने एक गिलास में वोडका निकाल कर उसे चूमते हुए गिलास उसके होंठों से लगाया.उसका लंड पूरा तन गया और चुदाई करने को बिल्कुल तैयार हो गया।मैंने कहा- अब ठीक है, अब शुरू करो।सुनील ने कहा- रुको, मैं भी तो तुमको गीला कर दूँ.

गुड्डी रानी उसे चूम के, सहला के, थपका थपका के और पुचकार पुचकार के बहला रही थी- बस गुड़िया … बस … बस … सब ठीक हो जायेगा … एक बार तो ये पीड़ा हर लड़की को सहनी पड़ती है … चुप जा मेरी रानी … अब चुप हो जा … अभी देख कितना मज़ा आयेगा … बस … बस … बस!मैं लंड चूत में घुसाये बिल्कुल बिना हिले डुले पड़ा था. डीजे में बीएफ ओह्ह बेबी … क्या तुम ये देख पा रहे हो? देखो, ऐसे ही मैं अपनी बॉडी को क्लीन करती हूं.

”आह … मेला सु-सु निकल जाएगा … आह …”सानू जान अब मुझे मत रोको … प्लीज एक बार मुझे अपनी सु-सु … दिखा दो मेरी जान!”कहते हुए मैंने उसे जोर से अपनी बांहों में भींच लिया।अब तो मेरा लंड उसकी बुर पर ठोकर सी मारने लगा था। मैंने अपना हाथ आगे करके पहले तो उसके पेट और नाभि पर हाथ फिराया.

डीजे में बीएफ?

मैंने कहा- यार भला तुम्हारी सुराही जैसी गर्दन को, नाजुक फूल जैसे बदन को, दूध जैसी गोरी दमकती रंगत को, लचकती बलखाती कमर को, अप्सरा जैसी सुंदरता को, महकती सांसों को उड़ते रेश्मी गेसुओं को, गुलाब की पंखुड़ियों से लबों को, हिरणी जैसी आंखों को, कटार की भांति काजल लगीं धारदार पलकों को, लुभाते लालिम कपोलों को … किसी की प्रशंसा की कोई जरूरत भी है?वो मेरी तरफ मुँह बाए देख रही थी. कुछ ही देर में उसकी सिसकारियां निकलने लगीं – आह्ह … यस … ओह्ह … कमॉन … आह्ह … वाओ … फक मी … आह्ह … फक मी डिअर … चोदो … आह्ह!उसकी कामुक आवाजें सुनकर मैं भी उसको जमकर पेलता रहा. जब मैंने पूछा- टॉवल लेकर क्यों नहीं गई थीं?तो वो बोली- कपड़े धोने थे तो टॉवल टांगने की जगह नहीं थी.

मैं- अरे भाई साहब, हैंडसम तो अपना जावेद भी कम नहीं है … मुझे चने के झाड़ पर मत चढ़ाओ. मैं बड़ी ही शिद्दत से उसकी चुत चाट रहा था और वो मेरे बालों में अपने हाथ घुमा रही थी. हम दोनों ने एक दूसरे को इतनी जोर से जकड़ रखा था कि जैसे सिर्फ एक जिस्म का ढेर हो … सांसें इतने तेज थीं कि धड़कनें सुनाई दे रही थीं.

इस बार उसके मुँह से आवाज़ तो नहीं आई, मगर आंखें बंद करके मुँह को ‘एयेए. एक तो वो अनुभवी होती हैं, दूसरी बात ये कि वो किसी तरह की कोई नखरा नहीं करती हैं … और भरपूर प्यार भी देती हैं. जब बादलों की गड़गड़ाहट कुछ थमी तो लगा कि निष्ठा मुझे जीजू जीजू कहां हो कह कह के जोर जोर से पुकार रही थी.

वैसे भी छत पर जाना नहीं था क्यूंकि फाइव स्टार होटलों में छत पर काफी मशीनें जैसे कंप्रेसर, सेंट्रल एयर कंडीशनर के यूनिट, कूलिंग टावर इत्यादि होती हैं जो बहुत शोर करती हैं. नेहा ने टॉवेल संभाले रखा और मुस्कुराती हुई मेरी मस्ती का आनन्द लेती रही.

मैं फड़फड़ा गया … लंड चूसने की ऐसी कला बहुत कम लड़कियों में ही देखने को मिलती है.

पानी की हल्की पतली धार ने उसके टीशर्ट को भिगोना शुरू कर दिया जिससे उसके ऊभरे हुए वक्षों की बाहरी रेखा साफ साफ दिखाई देने लगी.

इसके अलावा मुझे नये दोस्त बनाना भी बहुत पसंद है इसलिए मैं घूमती ही रहती हूं. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागरिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-1में आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी रिश्तेदार की लड़की को अपने प्यार में जाल में फंसा लिया था. नेहा भी तुरंत बोली- कोई बात नहीं, उससे ज्यादा हम इन्हें तड़पा देंगी.

मैं आपकी आशना … मेरी पिछली कहानीटीचर से सेक्स मार्क्स के चक्कर मेंआपने पढ़ी और पसंद की थी. मैं भी अब शांत हो रही थी … लेकिन मेरा भाई तो अभी भी मेरी चुत फाड़ने में लगा हुआ था. भाभी साफ साफ मुझे अपने पास सुलाने का इशारा कर रही थी या यूं कहें कि मेरे से चुदवाने का इशारा था वो.

मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया कि प्रीति भी मेरे साथ आज रात खुलकर मजे लेना चाहती है।एक दो बार उसने मेरे लंड को बहाने से दबाया और मुझे दीवाना बना दिया.

” सानिया ने चिरपरिचित अंदाज़ में जवाब दिया।तुम्हारी कभी स्कूटी चलाने की नहीं इच्छा होती है क्या?”मेला तो बहुत मन करता है। मैंने एक बार अंगूर दीदी को बोला था कि मुझे भी अपनी फटफटी पर बैठाकर झूटा दे दो. उसने ढेर सारा थूक अपने लंड पर लगाया और फिर अपने लौड़े को बीवी की गांड पर सेट कर दिया. दोस्तो, पता नहीं उस वक्त मेरे मन में क्या आया कि मैंने अपने पैर के पंजे से विक्की की टांग पर सहलाना शुरू कर दिया और नीचे से सहलाते हुए मैंने ऊपर की ओर उसकी जांघों के बीच में उसके टट्टों तक सहलाते हुए उसकी गोलियों को जोर से दबा दिया.

शायद कमल को मेरी चूत के रस का स्वाद मिलने लगा था इसलिए वो मेरी पैंटी को ही खाये जा रहा था. उसने अपनी गांड की फाड़ों को हल्का सा फैलाया ताकि लंड दोनों चूतड़ों के बीच में फंसकर लंड का टोपा उसके छेद पर टिका रहे. उसने मेरे हाथ से बोतल छीन ली और ध्यान से देख कर एक दम से चौंकते हुए बोली- शराब!!मैंने मुस्कुराते हुए हाँ में सिर हिलाया.

कुछ देर चुचियों से खेलने के बाद सर ने मुझे उठा कर सोफे पर ही लिटा दिया.

तभी मैंने टोका- ये क्या हो रहा है यहां?जैसे ही मेरी आवाज़ उनके कानों में गयी तो वो दोनों हड़बड़ा कर यहां-वहां देखने लगे।तभी मैं बाहर उनके सामने आ गया और उनके होश सफेद हो गये. मुस्कुरा कर मैंने अपना सर हां में हिलाया और स्टेज पर प्रतिभा के साथ पहुंच गया.

डीजे में बीएफ ठीक है, तो फिर इतनी देर से पूछ क्यों रही थी? अभी कह रही थी कि आप बी. उसके घूमते ही उसकी नज़र सीधे मेरे मम्मों पर पड़ी … चूंकि चोली मोटे कपड़े की होने की वजह से मुझे ब्रा पहनने का मन नहीं था.

डीजे में बीएफ एक बार भाभी कह रही थी- देवर जी, मैं आपकी शादी अपनी एक सहेली से करवा देती हूँ. मैं उसे भावनात्मक रूप से पिघला रहा था कि वो मुझे सेक्स का मजा दे दे.

इस पर उसने बोला- उनको कैसे पता चलेगा? मैं बोलूँगा नहीं और तुम भी मत बताना.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश फुल एचडी

आह्ह … चूस … और जोर से चूस!मैंने भाभी की चूत में जीभ अंदर दे दी और जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा. मैं कुछ देर भाभी के ऊपर लेटा रहा, फिर नीचे उतर कर उनके साथ लेट गया. भाभी कहतीं हैं- देवर जी, आप भी शादी कर लीजिये तो आपकी मालिश भी वो कर दिया करेगी।हमारे यहाँ घी भाभी के गाँव से आता है जो बिल्कुल असली होता है।दोस्तो, आप आधा या एक चम्मच देसी घी ले लीजिये.

तो जब चुदाई के लिए चूत न मिली तो मैंने घर में पानी वाली एक बोतल उठा ली।आपके घर में भी होगी, प्लास्टिक की बोतल, चौड़े मुंह वाली, जिसमे पानी भरके फ्रिज में रखते हैं।मैंने तो थूक लगा कर उसमें ही अपना लंड घुसेड़ दिया। उस दिन पहली बार चुदाई का मज़ा आया. क्यों निशा!मेरी बीवी निशा भी बोली- हां चलो न … सब चलते हैं … राहुल और सुरभि भी कितना खुश होंगे. मैं समझ गया कि आज की रात मुझे उस बिस्तर पर शशि भाभी की जवानी का रस पीना है.

मैंने सरोज से पूछा बच्चे तो नहीं आ जाएंगे?सरोज कहने लगी- दोनों लड़कियाँ मुझसे बहुत डरती हैं.

मैं भी गांड मटकाते हुए उनकी गोद में उनके सीने से चूचियां सटा कर बैठ गई. जो मुझे बेहिसाब उत्तेजना से भर रहा था।अब किट्टू पुरे होश में आ चुकी थी और अब अपनी होती चुदाई का भरपूर आनंद ले रही थी।किट्टू के होंठों पर हल्की मुस्कान थी. उसने तुरंत रीना से बात की और ये तय हुआ कि मैं और रीना कल सुबह निकल जाएंगे.

हम सब पूरी तरह नंग धड़ंग होकर पीछे वाले कमरे में बैठे शराब और कवाब के मज़े ले रहे थे. थोड़ी देर यूं ही उसके मम्मों से खेलने के बाद मैंने उसकी साड़ी पैरों से ऊपर पेट तक सरका दी. जीजू, अब मैं कुछ नहीं करूंगी, कब से तो लगी हूं इसका कुछ हो ही नहीं रहा तो मैं ऐसे कब तक करूंगी?” वो थके स्वर में बोली.

2 मिनट मैंने बड़े अच्छे ढंग से चूसा।सुनील बस ‘आहह … अहह …’ करके आहें भरता रहा. इसके बाद उन्होंने मुझे घर पर छोड़ दिया और मैं घर पर जाकर सीधे अपने बिस्तर पर सो गई.

ये सुनकर नैना मेरे करीब आयी और मुझसे लिपट कर बोली- पागल हो तुम ज्यादा महान बनने के चक्कर में मेरा दिल दुखाया. उसने एक ही दिन में उस से दोस्ती कर ली बल्कि मेरी बीवी के आने के पहले दिन रात का खाना भी नैना ने अपने घर पर ही हमें खिलाया. उसकी आंखों में आंसू आ गये थे लेकिन बिना परवाह किये मैंने दूसरा धक्का भी दे मारा.

इस पर खुशी ने मुझे सुनाते हुए कहा- नहीं यार, यहां तो फिफ्टी परसेंट आफ चल रहा है.

और आज तुमसे बात करके मैं बता नहीं सकता कितना खुश हूं।”इस पर खुशी ने कहा- अरे हाँ यार, विडियो काल के बाद क्या हुआ मैं तो बताना ही भूल गई. कुछ देर बाद उसने मेरे शर्ट के नीचे से हाथ डाल कर पहले तो मेरे पेट को सहलाया. उसकी गहरी सांसों और लगातार निकल रहीं सिसकारियों ने मुझे उस बिंदु तक पहुंचा दिया जहां मैं एक तरह के परमानंद में डूब गया था.

दर्द से मैं चिल्ला रही थी … बिलबिला रही थी, लेकिन उन दोनों को कोई फर्क नहीं पड़ रहा था. वो बोली- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने मना करते हुए कहा- तलाश जारी है.

उसकी चूत के रस से गीली होकर उसकी सलवार उसकी जांघों से जैसे चिपक सी गयी थी. मेरा मन नहीं है, ले जाओ आप!जब मैंने देखा कि वो थोड़ा उदास है तो उससे उसकी उदासी की वजह पूछा. इस कहानी को पढ़ रहे सभी लंड और चूत को मेरे तरफ से नमस्कार!मेरी पिछली कहानी थीचुदाई की शुरूआतमेरा नाम आर्यन है ओर मैं जमशेदपुर से हूँ। यह वर्जिन लड़की की सेक्सी चुदाई स्टोरी एक सच्ची कहानी है, उम्मीद करता हूँ कि आपको पसंद आएगी।तो मुझे एक दिन एक लड़की का इंस्टाग्राम पर एक मैसेज आया। उसका नाम रितिका (बदला हुआ नाम) था।वो मेरे ही शहर की एक प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान की छात्रा है।धीरे धीरे बातें शुरू हुई.

सेक्सी बीएफ नंगी मूवी

फिर मैंने अपनी कमर को धीरे धीरे ऊपर नीचे करना शुरू किया तो निष्ठा की मुट्ठी में मेरा तेल से सना चिकना लंड अच्छे से सटासट अन्दर बाहर होने लगा.

वैसे नैना ये बात सुन कर खुश थी और बोल रही थी कि जब रब ही तुम्हें दूर नहीं भेजना चाहता है. गीतिका ने स्लीवलेस टॉप और नीचे पटों में फंसा हुआ प्लाजो पहन रखा था. मैंने एकदम अपने लंड को हाथ से पकड़ा और निक्कर के ऊपर से ही बिन्दू की उभरी हुई चूत पर रख दिया.

”ओह … क्या तोते दीदी भी साथ आ जायेगी?”ना … मधुर अकेले ही आएगी।”ओल तोते दीदी?”मधुर के ताउजी की तबियत अभी ठीक नहीं हुयी है तो घर के काम के लिए गौरी अभी वहीं रुकेगी।”फिर तो ठीक है।” सानिया ने एक लम्बी राहत भरी साँस ली।पता नहीं गौरी का मधुर के साथ में ना आना उसे क्यों अच्छा लगा था।वह बता रही थी कि गौरी तो अब कभी कभार बस मिलने के लिए ही आएगी. मुझे प्यास लगी तो मैं घर के पिछले दरवाजे से अंदर घुसा जो किचन में जाता था. हिंदी डबिंग सेक्सीवो अपनी चूत के दाने को मसलने लगी और मैं तेजी से लंड को पूरी ताकत लगा कर रगड़ने लगा.

दरवाज़े पर एक बला की खूबसूरत बिल्कुल अप्सरा सी एक लड़की खड़ी थी।रवि उसे देखता ही रह गया. तुम न मिलते तो मैं सच में जान ही न पाती कि सेक्स इतना मज़ेदार होता है?अभी तक तो ये एक सजा के जैसा लगता था क्योंकि हर बार में मैं बस या तो दर्द से कराहती थी, या फिर उसके झड़ने के बाद प्यास से सारी रात छटपटाती थी लेकिन संतुष्ट कभी नहीं होती थी.

तो अनीता ने कहा- ठीक है चलो! वैसे मुझ अपनी किस्मत पर नाज है कि तुमने मुझको चुना. शक होता है तो मुझे कुछ नहीं लेना लेकिन इसकी मेरे सामने मुंह खोलने की हिम्मत नहीं है. 10 मिनट में वो झड़ गई और उनका रस पी गया।मैंने अपने कपड़े उतार कर उनसे फिर लन्ड चूसने के लिए कहा.

आंटी ने मुस्करा कर मेरी तरफ बांहें फैला दीं, तो मैंने उन्हें हग कर लिया और उनको चूमने लगा. नीरजा- पागल हो क्या?मैं- पागल तो तुमने गांव में ही कर दिया था, जब मेरा पैर तुमने अपने पैरों के बीच में दबा लिया था. मेरी ओर से कोई प्रतिक्रिया न पाकर उसने मेरी पीठ में जोर से चिकोटी काट ली.

मां धीरे … उफ़ उफ़ आह।मैं उसके दूध ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था।पगली डरने की क्या बात है?”मैं उसके ऊपर से उतर कर उसकी बगल मैं लेट कर उसके होंठ चूम कर मुस्कुराते हुए बोला- लाओ मैं तुम्हारा परिचय इन मस्त चीजों से करा दूँ, फिर डर नहीं लगेगा.

उसी दो चार मिनट के बीच में ही एक-दो किस कर लिए या सीने को मसल दिया बस! चार झटके मार कर अपना माल खाली किया और मुंह घुमा कर सो गए. या सील तुड़वाने से पहले किसी अनुभवी आदमी की सलाह जरूर लें।चलिए सेक्सी चुदाई स्टोरी पर वापस आते हैं.

वो बोली- आप मुझसे गुस्सा क्यों हो गये हो? मैंने तो आपको कुछ बोला भी नहीं. विक्रम को देखने के बाद मैं सोच रही थी कि ये तो मेरी बेंड बजा देगा इतना पहलवान जैसा आदमी है ये!फिर मैंने सोचा कि अब जो होगा देखा जाएगा. सामने टीवी चल रहा था।भाभी मुझसे कहने लगी- देवर जी, क्या आप रात को बहुत देर से सोते हैं?तो मैंने कहा- नहीं भाभी, मैं तो जल्दी सो जाता हूँ.

धीरे धीरे उस पर खुमारी चढ़ने लगी। मैंने उसके स्तनों को धीरे से मसलते हुए उसकी गर्दन पर काटा और धीरे धीरे उसके ब्लाउज के हुक खोल कर उसका ब्लाउज उतार दिया. मैंने उसके हाथों को चूम लिया और फिर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. वैभव ने उसे बड़े गौर से देखा फिर अपनी उंगलियों को उसके होंठों पर फिराते हुए कहा- माल देखने में तो अच्छा है, पता नहीं परफार्मेंस कैसा देगी?सुरेश ने तुरंत कहा- सर एक बार मैंने भी इसकी टेस्ट ड्राइव की है.

डीजे में बीएफ मतलब मेरा वीर्य फ्रेंची में ही सोते समय निकल गया, मुझे पता ही नहीं चला. मुझे उनकी चुत में अपना लंड एक पिस्टन की तरह ऐसा फिट सा महसूस होने लगा था, जैसे वो किसी पेंच आदि से चुत में कस दिया गया हो और बिना नट बोल्ट खोले चुत से बाहर ही निकले.

बीएफ मूवी एचडी में हिंदी

कल तो वैसे भी संडे है इसलिए कोई जल्दी नहीं है, देर से उठेंगे, मैं भी आराम से ही उठूंगी. कोई पांच मिनट में ही वो फिर से गरमा गईं और बोलने लगीं कि ये सब बाद में तुम खूब कर लेना मेरी जान … मगर अभी एक बार प्लीज मुझे चोद दो. मैंने उसे जोर देकर कहा- जाते हुए तुम जो बोल कर गये थे उसका क्या मतलब था?वो बोला- मैं अपनी मैडम की इज्जत करता हूं और मुझे यह जताना था कि मैं उसके हर हुक्म का पालन करने के लिए तैयार हूं.

दोस्तो, मैंने इस सेक्स कहानी में एक शब्द चुना है मानुनी … जिसका मतलब होता है मदमस्त यौवना, जिसका बदन बहुत ही खूबसूरत हो और उसकी खुशबू आपको पागल कर दे. जीजा साली की जवानी की कहानी में पढ़ें कि मेरी साली मेरे साथ घर में अकेली थी. ब्लाउज सेक्सी वीडियोअब रवि ने झुक कर अपने दोनों हाथों से रिया की गांड को चौड़ी कर दिया और उसकी गांड और चूत में अपना मुंह देकर चाटने लगा.

डार्लिंग नाराज़ क्यों होते हो इतना?मैंने कहा- नाराज़ कौन हो रहा है साली! चलो आज फिर खुद ही उतार कर आ जाओ हमारे सामने, हम भी देखें खुद कपड़े उतार कर कैसे सामने आती हैं हमारी जानेमन!तभी डोर बेल बजी और चाय आ गयी.

मैं जोर से चिल्ला पड़ी- आह मर गई … छोड़ो मुझे … साले ने मेरी गांड फाड़ दी … हट जा कुत्ते छोड़ दे मुझे!मैं छटपटाने लगी. फिर आगे को अपना मुंह जितना झुका सकती है, उतना झुका ले तो लंड चूत में घुसता अच्छे से दिखाई देगा … खून अगर बाहर निकला तो वो भी दिख जायगा.

जब भी वो चलती थी तो उसकी गांड की शेप को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था. पायल ने कहा- चिंता ना करिए … वो मौका भी आपको दिया जाएगा किन्तु अभी वैभव जीजू आपका इंतजार कर रहे हैं … और मुझे भी बहुत काम हैं. उसके लंड से बहुत बुरी बदबू आ रही थी, लेकिन उसने मेरे बालों को पकड़ कर अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया और हिलने लगा.

और कहाँ अब मैं लंड चुसवाने के मज़े ले रहा था।साली ने बड़े मज़े मज़े ले ले कर लंड चूसा, ऐसा लग रहा था जैसे उसे खुद को लंड चूसने का शौक हो।जब वो चूस कर ऊपर को आई, मैंने पूछा- बहुत पसंद है लंड चूसना?वो बोली- अरे इसको चूसे बिना तो लगता ही नहीं कि सेक्स किया है।मैंने उसे नीचे लेटाकर खुद उसके ऊपर चढ़ गया.

खाना खाने के बाद हम तीनों सोफे पर बैठकर टीवी देखने लगे, तभी कोमल ने जिया को इशारा कर दिया. पानी की हल्की पतली धार ने उसके टीशर्ट को भिगोना शुरू कर दिया जिससे उसके ऊभरे हुए वक्षों की बाहरी रेखा साफ साफ दिखाई देने लगी. फिर सोचा कि ये बेचारी गुडफेथ में मेरी सेवा कर रही है कि मैं जल्दी स्वस्थ हो जाऊं और मैं हूं कि इसकी इज्जत से खेलने की फिराक में हूं?बेटा, मान लो कि तूने जबरदस्ती इसे कर ही दिया और ये भले ही किसी से कुछ न कहे पर ये तुझे अपनी नज़रों से तो जिंदगी भर के लिए गिरा ही देगी.

गांव का सेक्सी वीडियो मेंरुमित ने मुझे अपने हाथों से पकड़ा और मेरे सामने देखने लगा … उसकी मादक निगाहों को देख कर मैं सच में इतनी शर्मा गयी थी कि मैं कार की सीट पर उल्टा हो गयी. उसकी कामुक सांसें तेज हो रही थीं और वो मस्ती से बड़बड़ा रही थी ‘आह रणदीप चोद दे मुझे … तुम कितने मस्त चोद रहे हो आह … मेरी चुत में कितने अन्दर तक पेल रहे हो … आह … मेरी जान मैं बस जाने वाली हूँ.

रानी मुखर्जी की बीएफ मूवी

थोड़ी देर में मां नहाकर आ गईं और मुझसे बोलीं- हर्षद जाओ जल्दी से नहा लो. जल्दी ही मेरा माल निकलने को हो गया और मैंने उसके मुंह को जोर से अपने लंड पर दबा दिया. इसके बाद मैंने एक रिक्शा लिया और एक थ्री-स्टार होटल में पहुंच कर उसी रिक्शे से स्टाफ को वापिस भेज दिया.

उसके बूब्स में मीठा मीठा सा लग रहा था।उसके बाद उसका पल्लू नीचे की तरफ हटाया उसकी नाभि एकदम छोटी सी गोल सी है. ये बात आज से 5 साल पहले की है, जब मुझे पढ़ाई के लिए पंजाब भेज दिया गया. थोड़ी देर तक रानी किए गांड चूसने का लुत्फ़ उठाकर मैंने मुंह नीचे की तरफ करके रानी का नितम्ब चाटने शुरू किये.

शायद कमल को मेरी चूत के रस का स्वाद मिलने लगा था इसलिए वो मेरी पैंटी को ही खाये जा रहा था. मैंने उनको अपनी तरफ करके उनके होंठों पर किस की, तो भाभी जी ने भी मुझे किस किया. हमने रात के 10 बजे ट्रेन पकड़ ली और हम सभी बहुत मस्ती और मस्त बातें करते जा रहे थे और गीत के साथ बिताये पल याद कर करके हम गीत को छेड़ रहे थे.

उसको ब्रा लगती होगी मेरे अंदाज़ से 34 या 36 की! और यह अंदाज़ा बाद में सही भी निकला. वो बोली- मगर पढ़ी तो तुमने भी होगी!इस पर मैंने कहा- तो क्या तुमने नहीं पढ़ी?इस पर उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया और वो उठ कर जाने लगी.

रिंकी- डार्लिंग … तुम इस सेशन के दौरान अपनी सारी कामुक इच्छाओं की बात करना और मेरी चूत को भी अपनी बातों से गीली करना.

तो दोस्तो, मैं सैम आपसे विदा लेता हूं और राहुल श्रीवास्तव जी का एक बार फिर से शुक्रिया. भोजपुरी सेक्सी गाने भोजपुरी सेक्सी गानेचाचा गांठ खोलने में जुट गये, जब ऊंगलियों से नाड़े की गांठ नहीं खुली तो चाचा अपने दांतों से कोशिश करने लगे. वीडियो में सेक्सी भेजिए सेक्सीमालकिन और सेक्स गुलाम कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने कॉलेज के जूनियर लड़के को अपना गुलाम बना कर उसके साथ चूत चुदाई का खेल खेला. फिर कमल ने मेरे ब्लाउज को उतार दिया और मेरी मोटी मोटी गोरी चूचियां उन दोनों मर्दों के सामने नंगी हो गयीं.

”ओके … अच्छा तुम एक काम करो … धीरे-धीरे अपने पैर पसारकर सीधे कर लो.

उन दोनों ने मेरे जिस्म को अपने हाथों और अपने पैरों में दबा रखा था।कमल की स्पीड बढ़ती ही जा रही थी और मैं जैसे चुद चुद कर सातवें आसमान की सैर करने लगी थी. कविता बोली- पागल है? अगर नीचे नैन्सी आंटी को मालूम पड़ गया या आकाश ने देख लिया तो पंगा हो जाएगा. इसके बाद उन्होंने मुझे घर पर छोड़ दिया और मैं घर पर जाकर सीधे अपने बिस्तर पर सो गई.

सर ने मुझे अपनी गोद में बिठा लिया और बोले- कैसा लगा?मैं कुछ नहीं बोली. राहुल श्रीवास्तव- आशा है यह सेक्स स्टोरी आपको पसंद आई होगी, आप मुझे अपने अच्छे या बुरे विचार कमेंट्स बॉक्स में या ईमेल में बता सकते हैं. इसके साथ ही मैंने नेहा की नाइटी को थोड़ा आगे से उठाकर अपने दोनों हाथों से उसकी जांघों को पकड़ लिया और एक हाथ से उसकी चिकनी चूत को सहलाने लगा.

एचडी बीएफ जानवर वाला

उसकी जीभ को अपनी जीभ से टकराते हुए अपने होंठों और दांतों से दबाते हुए खूब चूसा. तुम्हें अपने लिए तेल, साबुन लिपस्टिक कुछ चाहिए हो तो जनरल स्टोर वाले को बता देना, वो भिजवा देगा. बीच बीच में लंड को पीछे लाता और जोर से गांड में पेल कर धक्का मारता.

सिसकारते हुए मैंने कहा- आहह्ह … हां ऐसे ही … मेरे लंड को ऐसे ही चोदो जैसे तुम उस दिन कार में उन लौड़ों के ऊपर चुद रही थी.

वो डीप नेक ब्लाउज के साथ ब्लू साड़ी में बेड पर टांगें क्रॉस करके बैठी हुई थी.

वो अपने हाथ से मेरी मिडी उठा कर मेरी चूत में उंगली कर रहा था, जिससे मैं गर्म होने लगी थी और दोनों का साथ दे रही थी. यह सब सोचकर मेरा लौड़ा खड़ा हो गया था और मेरी हालत बहुत खराब हो रही थी. भाई बहन का सेक्सी वीडियो 2021 कासारी रात तो हो गयी जागते जागते!” मैंने उससे प्यार से समझाते हुए कहा.

औरत का इस तरह से मर्द को चोदने की बात कहना अपने आप में ही बहुत कामुक लगता है. एक पल बाद मैंने ड्रावर से कंडोम का पैकेट निकाला और पैकेट फाड़ कर कंडोम अपने लंड पर पहन लिया. फिर उसने मेरे लंड को हाथ में लेकर अपनी गांड में सैट करके लंड को बड़ी आसानी से अन्दर ले लिया.

कुछ समय बाद जब मुझे समझ आया कि मैंने क्या पकड़ा है, तब मैंने तुरंत अपना हाथ हटा लिया. आहह … सुहानी … आहह।अब हम दोनों ऐसे ही 5-6 मिनट तक फुल स्पीड वाली चुदाई करते रहे.

तो मैंने अनीता को बांहों में जोरों से जकड़ लिया और कहा- साली कुतिया, तुझमें बहुत आग है, चल मुझे अपनी अगन से पिघला दे.

मधु जी आपका बहुत बढ़िया प्लान है … आपको इस तरह से खुले में चोदने में बड़ा मज़ा आएगा. नेहा बोली- थोड़ा सब्र करो, मौका आने दो, मैं कहीं भागी जा रही हूँ क्या?वो बाहर निकल गई. दोस्तो, मेरी इस कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी के बारे में आपकी क्या राय है मुझे अपने कमेंट्स में लिखें.

सेक्सी कहानी मजेदार पायल ने कहा- चिंता ना करिए … वो मौका भी आपको दिया जाएगा किन्तु अभी वैभव जीजू आपका इंतजार कर रहे हैं … और मुझे भी बहुत काम हैं. भाभी मुझे कमरे में ले आईं, मैं भी एक वफादार कुत्ते की तरह उनके पीछे पीछे आ गया.

माफ किजयेगा … मैं उसकी खूबसूरती में खो गया था।उसके चुचे 30 के होंगे, कमर 26 और चूतड़ 30. अच्छा जीजू बोलो खाना लाऊं? मैंने आलू के परांठें बनाये हैं साथ में टमाटर धनियां हरी मिर्च की चटपटी चटनी भी है, बोलो चलेगी?” साली जी कुछ इठला कर बोलीं. मेरा ईमेल है[emailprotected]भाभी सेक्स हिंदी कहानी का अगला भाग:जैसलमेर के रेत के टीले- 2.

रवीना टंडन हीरोइन के बीएफ

तभी उन्होंने एक झटके से मेरा लंड चड्डी से आजाद कर दिया और लगीं चूसने. तभी मुझे होश आया तो मैंने तुरंत उसका लंड मेरी चूत से बाहर निकाल दिया. मैंने खुद को फिर से ठीक किया और खुशी की भेजी हुई चेन पहन कर नीचे शादी की रस्मों में शामिल होने पहुंच गया.

मेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली. ग्रुप सेक्स स्टोरी के पिछले भागफुफेरी बहनों के साथ पड़ोसन को चोदामें आपने पढ़ा कि कैसे मेरी बुआ के घर में मेरी फुफेरी बहनों ने अपने पड़ोस की एक भाभी को दिन में अपने सगे भाई से चुदवाया.

उनके होंठों और जीभ में मेरी चूत के रस का स्वाद था, जिसे वे मुझे भी चखाने लगे.

अब अखिल भी नीचे आया और मुझे देखकर बोला- क्या लग रही हो आप!मैं बोली- अच्छा अब ज़्यादा तारीफ मत करो और चलो।हम दोनों बाहर आए और मालकिन के गाड़ी से हम लोग पार्टी में आ गये।वहाँ सबकी नज़र मुझ पर ही थी. मैं उठा और उसका हाथ पकड़ कर उसे अपने बिस्तर पर ले गया। बिस्तर पर लेटते ही मैंने उसकी टी शर्ट फिर से ऊपर उठाई और इस बार तो बड़े अधिकार से उसके मम्मे पकड़े और दोनों खूब कस कस के दबाये भी और चूसे भी। उसने भी झट से मेरा लंड पकड़ा लिया, और खूब हिलाया।मैंने कहा- लवी, अब तो डलवा ले, अब सब्र नहीं होता।वो बोली- एक मिनट रुको चाचू, एक बार मुझे चूस लेने दो. जब भी देखता कि हमारे आस पास कोई नहीं है, मैं भाभी को अपनी बांहों में पकड़ कर किस कर लेता, भाभी के स्तनों को भरपूर ताकत से दबा देता था, भाभी की चूत को भी सहला देता था.

मेरे सोफ्ट और गर्म हाथ उसकी गोटियों को सहलाने लगे और मैंने पीछे से उनको हाथ में भर लिया. दीपक रंजु की पहली बार गांड खोल कर मज़ा ले रहा था।मैं पीठ के बल लेट गया और रंजु उठकर मेरे लौड़े को चूत में गटक गई. उसके घने काले काले बाल उसके कंधों पर, कुछ चेहरे पर अठखेलियां कर रहे थे.

लेकिन शायद वो ये सोच कर मुझे चोद रहा था कि मैं पहली और आखिरी बार उसको मिली हूँ.

डीजे में बीएफ: इसी बीच कम्पनी ने मुझे 6 महीने और रुकने का आग्रह किया, जिसे मुझे मानना ही पड़ा क्योंकि कंपनी ने मुझे बोला था कि मैं रिजाइन ना करूं. मेरा लंड फनफना रहा था और उसके हाथ में मैंने अपना गर्म लौड़ा दे दिया.

मैंने अचानक से बोल दिया कि आज समय भी है … और आप फुर्सत भी हो … प्लीज़ बताइए न!तो वह थोड़ा खुलकर बोलने लगी. मेरे अन्तिम झटके के साथ ही नेहा बेड पर पेट के बल पसर गई और मैंने पसरने के बाद भी उसकी चूत में पीछे से चार पांच शॉट और मार कर उसे चरमसीमा पर पहुंचा दिया. उसने मेरे गले तक लंड को फंसा दिया और सारा वीर्य मुझे अंदर ही पिला दिया.

मैंने उसके माथे को चूमा और हथेलियों को सहलाने लगा। अँधेरे में पर्दे से हल्की-हल्की रोशनी आ रही थी.

आकाश अपने रूम के अंदर नहीं गया बल्कि लड़कियों के रूम की तरफ गया तो उसे बाहर से ही रवीना और कविता की खिलखिलाहट सुनाई दी. फिर चोदते हुए मैंने एकदम से पूरा जोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ पूरा घुस गया. अपने शरीर को उसके शरीर से रगड़ते हुए एक एक करके उसके स्तनों को चूसने लगा.