बीएफ साउथ बीएफ

छवि स्रोत,जीजा साली का चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

असली बीएफ: बीएफ साउथ बीएफ, दो दिन बीत जाने के उपरांत मैंने अपने मोबाइल फ़ोन से कोमल को कॉल किया.

एक्स वीडियो में सेक्सी

अब मैंने उसे घुटनों पर लाते हुए घोड़ी बना दिया और उसके चूतड़ों को पकड़ कर तेज तेज धक्के मारने लगा. वीडियो में सेक्सी दीजिएभैया ने भाभी की ठोड़ी को पकड़ा हुआ था और वो दोनों एक दूसरे की आंखों में झांक कर हल्के हल्के से मुस्कुरा रहे थे.

एक तरफ मैं सामान्य लड़का था, जिसकी गर्लफ्रेंड फातिमा थी और दूसरी तरफ मैं खुद फातिमा बन कर उसके भाई की गर्लफ्रेंड था. बुर की चुदाई का वीडियोपाटिल जी ने भी उसको अपनी बाजुओं में कस लिया और उसकी चूचियां चूसते हुए वो भी नीचे से धक्के लगाने लगे.

भाभी एकदम से डर गई और पलट कर मुझे देख कर बोली- अरे तुम इतनी जल्दी यहां भी आ गए.बीएफ साउथ बीएफ: मेरी सहेली ने बताया था कि उसका पति गांड मारता है, तो उसे बहुत ज्यादा दर्द होता है.

सुमैत्री कीगांड मारने की इच्छाथी मेरी फिर से … मगर उसने मुझे उस रात अपनी गांड को दुबारा नहीं चोदने दिया.मैं भी सोचने लगा कि यह अपनी तैयारी से आई है तो यह भी कुछ सोच कर ही आई होगी.

एक्स एक्स एक्स खुला वीडियो - बीएफ साउथ बीएफ

जब कभी भी मेरे पति मेरे निप्पल चूसते थे तो मैं बेकाबू हो जाती थी।आज भी वैसा ही कुछ हुआ.मैं आंटी की दोनों चूचियों को सहलाने लगा, दबाने लगा और गर्दन को चूमने लगा.

मैंने उसके होंठ चूमते हुए कहा- अब क्या इरादा है नीता?वो मुस्कुराकर बोली- कुछ नहीं … अब उठो और अपना लंड निकाल दो मेरी चूत से अब सोने दो. बीएफ साउथ बीएफ हल्के हल्के अन्दर बाहर करते हुए मैं उसकी गांड चोद रहा था और उसके एक मम्मे को दबाता जा रहा था.

मेघना वैसे भी काफी गोरी चिकनी है और बॉस बिल्कुल काले रंग का सांड जैसा था.

बीएफ साउथ बीएफ?

जब उसकी चूत का पानी निकलने को हुआ तो उसने मेरा लंड मुँह से बाहर निकाल दिया और जोर से अकड़ने लगी और आहें भरने लगी- आह … आह … आह … आशीष मेरा पानी निकाल दो … आह … माई … गॉड … याह जान आह … आहह … बहुत अच्छे मेरे राजा!बस यही सब कहती हुई वो झड़ने लगी. वो मेरे कान में कहने लगी- वो सर सही बोल रहे थे, आज मैं आपकी बीवी हूँ … सुहागरात मना लो और चोद दो अपनी बहन को. वहीं लेटे हुए मैंने गोपू को फोन लगाया और उसे शाम को आने के लिए मना कर दिया.

वो बोलीं- क्या मैं इतनी खूबसूरत हूँ?मैंने कहा- गांव में किसी से भी पूछ लो?भाभी हंस कर बोलीं- तो अब आगे का क्या विचार है मेरे देवर जी?मैंने कहा- विचार तो बहुत ही नेक हैं … पर आपका डर लग रहा है. मैं जानती थी कि ये लंबी रेस के घोड़े हैं और अब वो वैसा ही कर भी रहे थे. मैंने पीछे से लंड उसकी गांड में डाल दिया तो वो आह मम्मी की आवाज करने लगी.

मैं- आ जा मेरी रखैल की औलाद, चल कमीनी अपने मालिकों का लौड़ा चूस चूस कर फिर से गीला कर दे छिनाल. मैं अन्दर आकर अपना क्लास पूछती हुई आयी तो मालूम चला मेरे ट्रेड की टीचर लेडीज थी लेकिन वो प्रग्नेंसी के चलते छुट्टी पर थी. फिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी.

मैंने देखा तो पूछा- क्या हुआ, मुस्कुरा क्यों रही हो?उसने कहा- कुछ नहीं बस यूं ही. और हां … मेरा पति मुझसे प्यार जरूर करता है लेकिन उसको सेक्स करना नहीं आता.

मेरी क्लास में तो सब लड़कियां थीं लेकिन इस दूसरी क्लास में करीब 10 लड़के भी अब हमारे साथ थे.

तब आज से सिर्फ दूसरे का ही लन्ड पीने को चाहिए मुझे!मैं- लेकिन ऐसा तो तय नहीं था अपने बीच?प्रिया– लेकिन वेकिन कुछ नहीं … अब तुम मान लो.

मैं भी लगातार सोनी को चूमे जा रहा था और सोनी भी मेरा साथ दे रही थी. कभी वो अपनी चूचियां दिखाने के लिए नीचे झुक जाती, तो कभी पीछे घूम कर अपनी गांड दिखाने लगती. अब वो अपनी कमर को आगे पीछे करती हुई हिलाने लगी और लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर होने लगा.

मेरे बाथरूम में पानी नहीं आ रहा था इसलिए मैं बनियान और टावल पहने नीचे चला गया. मैंने आंटी की चूचियों को दबाते हुए झटके लगाने शुरू कर दिए और सटा सट सटा सट अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके चोदने लगा. वो मेरे सिर पर, कभी गाल पर, कभी सीने पर, तो कभी गर्दन में चूमती जा रही थीं.

उसने अपने लंड को आखिरी झटका मार कर लंड को मेरी बच्चेदानी के मुँह में फंसा दिया.

पति मेरे बिस्तर के सुख के लिए नहीं थे लेकिन वो मुझपे अंधविश्वास करते थे. जैसे ही उसके थूक से मेरा लौड़ा पूरा गीला हुआ, वैसे ही मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह से बाहर निकाला. इससे वह उत्तेजित होने लगी और आहउच … आहउच… आहउच … जैसी आवाज निकालने लगी।मौके का फायदा देखकर मैं उनके कान के पास गया और उनसे बोला- मैडम, आपका नाम क्या है?तो मैडम ने अपना नाम निधि बताया.

मैंने अपने एक हाथ में लंड पकड़कर गीता के एक दूध के निप्पल पर गोल गोल घुमाने लगा. चूत में उंगली करने के कारण मौसी बेकाबू हो गई थीं और मेरे होंठों को काटने लगी थीं. सर मुझे टोकते हुए कहने लगे- क्या हुआ राजीव, बार बार दरवाजे की ओर क्या देख रहे हो? सोनी का इंतजार कर रहे हो क्या?मैंने चौंकते हुए कहा- सोनी.

तभी ट्रेन आने की घोषणा हुई और हम दोनों अपना सामान लेकर ट्रेन में चढ़ने के लिए रेडी हो गई.

करीब दस मिनट बाद रूपा शांत हो गई और मेरा लंड बड़े प्यार से उसकी गांड में आने जाने लगा. अब वो फिर से कभी ऐसे नहीं करेगा इसकी जिम्मेदारी मेरी, पर आज उसको उसके किए की सज़ा जरूर मिलेगी.

बीएफ साउथ बीएफ मैंने उसके सर के बालों को इतनी बुरी तरह खींच लिया कि उसके कुछ बाल मेरे हाथों में आ गए. उसने अपने दोनों हाथ से लंड पकड़ा और नीचे झुककर अपने मुँह से ढेर सारा थूक मेरे लंड के सुपारे पर छोड़ दिया.

बीएफ साउथ बीएफ इतने लंड होने के बावजूद भी मैं कांटा डालने के मूड में रहती हूँ कि कहीं कोई नया मर्द मिल जाए जो मेरी हचक कर चूत चोद दे. हालांकि ये चुदाई केवल दो मिनट की थी लेकिन मुझे यकीन था कि ससुर जी आगे अपना जलवा जरूर दिखाएंगे.

उस क्लास में आने वाले सभी स्टूडेंट्स में उम्र में मैं ही सबसे बड़ा था.

tiwari सेक्सी

मैंने कमरे की कुंडी लगाई और उसे बांहों में कसके जकड़ लिया, उसे चूमने लगा. अब इस बात को सुनकर मैंने बनते हुए कहा- क्यों आज सुबह से कोई उल्लू बनाने के लिए मिला नहीं क्या?इस पर हम दोनों हंस पड़े. धीरे धीरे उनकी लंड लेने की स्पीड बढ़ती ही गई, मानो आज मेरा लंड तोड़ के रख देंगी.

मैं एक हाथ से चूचे को दबा रहा था और दूसरे हाथ की उंगली चूत में चल रही थी. [emailprotected]वर्जिन देसी चूत सेक्स कहानी का अगला भाग:गांडू लड़के ने अपनी बहन को चुदवाया- 4. मैंने पूछा- क्यों?तो मौसी ने ठंडी आह भरते हुए कहा- उनका काम ही कुछ ऐसा है कि वो कम बार आ पाते हैं.

कभी गर्दन, तो कभी गाल तो कभी होंठ … मैंने उसके चेहरे के किसी भी हिस्से को नहीं छोड़ा, हर जगह को जी भरके चूमा और चाटा.

तो मैंने अपनी एक उंगली निधि की सुलगती हुई चूत में डाल दी और गोल गोल घुमाने लगा. अब आगे फक़ फक़ स्टोरी:मैं जल्दी से नहाने चली गयी और आज मैंने नहा कर मिनी स्कर्ट बिना पैंटी के पहन ली. मेरी आग बुझा दो … अब मारोगे क्या … बस मुझसे और रुका नहीं जा रहा है.

मैंने कहा- जान मैं आने वाला हूँ आह आए उह्ह्ह्ह … कहां निकालूं?वो बिना कुछ बोले बस लंड चूसती गई और कोई एक मिनट बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया. घर से पापा का फोन आया कि मौसी की लड़की की शादी है, तो तुम दोनों घर आ जाओ. साइज भाभी ने जो बताया, उसे सुनकर मेरे तो होश उड़ गए; 38 साइज चेस्ट।मैंने मन ही मन सोचा कि इसी लिए इतने बड़े दिखते हैं.

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:दोस्त ने मेरी बहन सैट करके मुझसे चुदवायी. उसने एक हाथ मेरी गर्दन के पीछे डाल कर खींचा और अपना निप्पल मेरे मुँह में देकर बोली- आमोद, चूसो मेरी चूचियों को, काटो इन्हें.

मैंने उससे कहा- साड़ी निकाल दूँ क्या?तो उसने कहा- मत निकालो ऐसे ही करो. मैंने ऐसा इसलिए किया था ताकि मौसी उठ कर मेरा मोटा लंड देख लें और उन्हें ऐसा लगे कि मैंने नींद में ऐसा किया. मैंने उनको अपना सम्पर्क नंबर दे दिया और पेमेंट लेकर वहाँ से चला आया.

हालांकि उसकी उम्र ज्यादा नहीं थी लेकिन वो एक शादीशुदा भाभी थी तो मैं उसे लड़की की जगह महिला ही लिख रहा हूँ.

कुछ ही देर में आंटी का दर्द भी धीरे धीरे खत्म हो गया था और वो अपनी कमर चलाने लगी थीं. अब मुझसे भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था, इसलिए मैंने उसके मुँह से लंड निकाला और उसके ऊपर लेट गया. Xxx मॉम की गांड हिलाने की रफ्तार अचानक से काफी तेज हो गई और थप थप की आवाज़ आने लगी.

दस मिनट की इस चुम्माचाटी के बाद मैं गीता की नाईटी के ऊपर से ही उसके निप्पलों को अपने होंठों से बारी बारी चुभलाने लगा. मॉम की चूत ने अचानक से पानी छोड़ दिया और गप गप फच्च फच्च की आवाज आने लगी.

आंटी अपने भूरे बाल और पूरी पसीने में भीगी इतनी प्यारी लग रही थीं कि मुझसे रहा नहीं गया. उनकी आवाज नीचे नाना नानी के कमरे तक जा सकती थी इसलिए मैंने थोड़ा सा उठ कर मौसी को अपनी तरफ खींच लोया. भाभी- तो देर किस बात की है … आ जाओ रात में!मैंने कहा- मैं अभी आ जाता हूँ.

सेक्सी वीडियो छोडा छोड़ि हिंदी में

अभी तो पूरी रात बाकी थी और मेरे पास रूपा जैसी कमसिन कली थी, जिसकी सील मुझे तोड़नी थी.

उसको देख कर ऐसे लग रहा था, जैसे अभी अभी इस औरत पर दस लोग एक चढ़ चुके हैं. उसकी गर्दन को चूसते हुए मेरी तीनों उंगलियां धीरे धीरे उसकी चूत को चोदने लगी थीं. मेरी बुर ने पानी छोड़ दिया था और लंड तेजी से अन्दर बाहर होने लगा था.

सरिता ने अपने दोनों हाथों से अपनी चूत की दोनों फांकों को फैलाकर रखा. यह चाची Xxx अन्तर्वासना कहानी 3 साल पहले उस वक्त की है, जब मैं अपनी एक दिन की छुट्टी को बिताने के लिए अपने घर से थोड़ी दूर रहने वाले चाचा के घर गया था. फ्री पॉर्न वीडियोमेरा एक दोस्त था जिसके पापा और मम्मी दोनों सुबह सुबह काम पर चले जाते थे.

मेरी कहानी जारी रहेगी, अगर आपका कहानी से संबंधित कोई सुझाव या सलाह हो तो आप मुझे मेरे ईमेल आईडी पर बता सकते हैं. कुछ देर में ही दोनों चुदाई के लिए फिर से पूरी तरह गर्म हो गए थे और इस बार बॉस ने मेघना को उल्टा करके पेट के बल लिटा दिया.

हम तीनों बेड पर पहुंच गए तो मैंने भाभी से पूछा- क्या हमारे साथ आपके पति नहीं आएंगे?मैडम ने कहा- उनके साथ तो हमेशा ही होता रहता है. मूवी में वो लड़का औरत को जबरदस्त तरीके से चोद रहा था और औरत आहहह आहहह करके अपनी गांड आगे पीछे करके मस्ती से चुदवा रही थी. जिससे वो बिलबिला उठी और एक सीत्कार के साथ उसने गाली देना शुरू कर दिया- आंह कमीने … कहीं भाग नहीं रही … आराम से करो.

वो हंसने लगीं और बोलीं- सोच ले?मैंने कहा- हां सोच लिया, आप जो बोलोगी करूंगा. वो कराहने लगी तो सरिता ने पूछा- क्या हुआ मौसी?तो मौसी ने कहा- क्या कहूँ सरिता, मेरी चूत में बहुत दर्द हो रहा है और चूत भी फट गयी है. मैंने मम्मी की बात सुन कर एकदम से बोल दिया- हां जरूर भाभी जी, आपको कभी भी किसी भी चीज की जरूरत हो तो बेहिचक बोल दीजिएगा.

मैं- नीचे देखो रेशमा, लहू निकल गया तेरा, पहले निकाल कर साफ करने दो.

मैंने इसी तरह से मोहन बाबू के साथ कुछ देर खेल खेला और उनसे कहा- अरे मैं आपकी पड़ोसन बोल रही हूँ. मैंने बोला- मैं तुमको क्या बोलूं?वो बोलीं- तुम मुझे आयशा जी नहीं, सिर्फ आयशा बुलाओ.

पर वह मुझे ऐसे अनदेखा कर रही थी जैसे उसको पता ही न हो कि कोई उसको देख रहा है. अब मैंने अपना हाथ हल्के से उनके पेट से ले जाते हुए उनकी चूत के आस-पास फिराने लगा।मैंने चोर नजर से अनुराग की ओर देखा तो वह देख कर हल्के से मुस्कुरा रहा था. उसे उम्मीद थी कि इतनी ज़बरदस्त चुदायी के बाद शायद धारा उसपर भरोसा करके उसके सामने आ जाएगी और उनके बीच में कोई भी पर्दा नहीं रहेगा.

लंड लेते ही वो एकदम से चिल्लाने लगीं- आह कमीने … धीरे धीरे पेल मादरचोद … चूत में दर्द हो रहा है. रेशमा- वीरू जी, आपके प्यार के सामने रेशमा का दर्द कुछ भी नहीं है, आज मुझे मेरी जिंदगी जी लेने दो. पूनम आगे आकर घुटनों के बल बैठ गई और उसने मेरी पैंट को अंडरवियर के साथ ही उतार दिया.

बीएफ साउथ बीएफ पता नहीं कितना स्टेमिना था उसक अन्दर!वो तो झटके मारे जा रहा था, कमरे में फच फच की आवाजें आ रही थीं. साफ़ साफ कहो न?मैं- सुनो यार मैं सच्ची बताऊं, तो तुमको देखकर तुम्हें चोदने का मन करता है.

चोदने वाला सेक्सी वीडियो हिंदी में

कहानी शुरू करने से पहले बता दूँ कि ये सेक्स कहानी कोरी कल्पना है, इस कहानी के सभी किरदार भी केवल पसंद के नाम के अनुसार काल्पनिक चुने गए हैं. अब वो हंस दिया और फिर से एक बार मेरे कंधे से हाथ लेकर सीधे मेरी टी-शर्ट के अन्दर कर दिया. जैसे ही मैं सीधी हुई, ताड़ की आवाज़ मेरी गांड से आई और मेरी गांड पर एक पैडल आकर चिपक गया.

मेरा बेटा भी जवान हो गया है, तो एक बार वो अपनी गर्लफ्रेंड को घर लेकर आया था और चोद रहा था. दिल्ली की हॉट मॉडल अनुश्री की प्रोफाइल औरहॉट नंगी फोटोदेखने के लिए यहां क्लिक करें।https://www. सेक्सी पिक्चर नंगी वालीकुछ मिनट हम दोनों ऐसे ही लेटे रहे इसके बाद मैंने अपना सर उठाकर देविका के गुलाबी होंठों से लगा दिया और उसको चूमने लगा.

ऊपर एक सफेद टी-शर्ट पहनी जो कि बिना बांह की थी और इतनी ज्यादा चुस्त थी कि क्या बताऊं.

इस अचानक हमले से मैं तो घबरा ही गई और मुँह तकिए में दबा कर चीखने और रोने लगी. देविका सीत्कारने लगी- ओह हर्षद, जल्दी से कुछ करो, अब नहीं सहा जाता.

वह बहुत जोर से आह आह की आवाज निकालने लगी तो अनुराग ने मुझे कहा- इसके होंठों को चूसो!मैं अपने होंठ उनके होंठों से लगाकर जोर से चूसने लगा. अए हए … क्या दूध थे … एकदम पिंक निप्पल और बड़े बड़े चूचे देख कर मैं बौरा गया. इसी बीच मैंने अपनी मस्त गांड की फोटो भी एक इंडियन गे साइट्स पर भी पोस्ट कर दी.

मैं- काश आप …कोमल- क्या काश आप!मैं- काश आप कुंवारी होतीं, तो मैं आपसे शादी कर लेता.

उस क्लास में आने वाले सभी स्टूडेंट्स में उम्र में मैं ही सबसे बड़ा था. वो सर से बात करने में बिजी थी, पर बीच बीच में मेरी और उसकी नजरें मिल ही जाती थीं. मैंने अपने जीवन में अपने पति के साथ इतना सेक्स किया लेकिन ऐसा अहसास कभी नहीं किया था.

देहाती चुदाई वीडियो हिंदीअब मैंने उसके होंठों से अपने होंठ हटाए तो वो गालियां देने लगी- कुत्ते साले … धीरे करने का बोला था ना … हरामी साले तूने मेरी चूत फाड़ दी. दो और पैग वन्दना ने पिए और अचानक से उठ कर उसने भी अपनी ब्रा और पैंटी खोल दी.

सेक्सी पिक्चर भेजो मूवी

थोड़ी देर बाद गीता सामान्य हो गयी और आहिस्ता आहिस्ता अपनी गांड ऊपर नीचे करने लगी. जब मैं 12 वीं क्लास में था, तो मुझे पुरुषों के प्रति आकर्षण महसूस होने लगा था. मेरी आंखों में गुस्सा देख कर उसने चुपचाप मेरा लौड़ा अपने हाथ में लिया.

पिछले आधे घंटे में सर और उसके बीच में क्या बातें हुईं, ये तो मैं नहीं सुन सका क्योंकि मेरा पूरा ध्यान उस खूबसूरत परी को जी भरके देखने में ही लगा था. लेकिन जब ऊपर वाले को मिलाना होता तो वो कोई ना कोई घटना पैदा कर देता है. इस बीच धारा ने अपना एक हाथ नीचे ले जाकर अपने नितम्बों को हल्का सा उठा कर शेखर का लंड पकड़ लिया और अपनी गीले चूत पे रगड़ने लगी.

मेरी मॉम की सामने से खुलने वाली नाइटी के बटन खुले पड़े थे और मेरी मॉम के मस्त मम्मे मुझे दीवाना बना रहे थे. अगले दिन सुबह से ही मेरा ध्यान बार बार घड़ी पर ही जा रहा था, दिमाग में बस यही चल रहा था कि कितनी जल्दी ढाई बजे का समय हो … और मुझे उस हसीना का फिर से दीदार करने का मौका मिले. वो ‘आह … आह …’ करती हुई अपनी टांग उठा कर अपनी चूत में लंड लिए जा रही थी.

देसी हॉट आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन आंटी ने मुझे मकान मालकिन की चुदाई करते देख लिया और एक दिन मुझे रोक कर ब्लैकमेल करने लगी. पहले तो काफ़ी देर तक मॉम ने होंठ नहीं खोले, लेकिन मेरे हाथ उनकी चूत में चलने की वजह से अब मॉम की चूत का रस निकलने लगा था.

मैं इतना पागल हो गया था उसकी चूत चाटने में कि मुझे बिल्कुल भी घिन नहीं आ रही थी.

दोस्तो, मैं आप का अपना राहुल एक बार फिर से आप के सामने एक नई कहानी लेकर आया हूं। यह भाभी की फ्री पोर्न सेक्स कहानी 100% सही है।बात आज से 1 साल पहले की है। मैं घर पर बैठा बैठा बोर हो रहा था. सेक्स करना सिखाओमेरी आंखें फिर से खुल गईं और मैंने सर घुमा कर देखा कि अब मेरी मौसी की गांड मेरी तरफ हो गई थी. सेक्सी गर्ल्स इमेजअब मेरा लंड भी मंजिल पर पहुंच गया था और झटके के साथ लंड ने पिचकारी छोड़ दी. दोस्तो, वो भाभी एक जाने माने स्कूल की प्रिन्सिपल थीं जो उन्होंने बाद में मुझे बताया था और उनके पति जयपुर में ही एक इंजीनियर की जॉब करते थे.

दोस्त के फ्लैट की बालकनी वाला गेट खुला रहने से सामने का फ्लैट का नजारा साफ़ दिखता था.

ललिता ने देर न करते हुए मेरे लौड़े को चूसना शुरू कर दिया और गपागप गपागप लॉलीपॉप की तरह बड़ी मस्ती से चूसने लगी. कुछ देर के बाद बोली- भैया, आपने कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है और उनकी उम्र क्या थी?मैंने बताया- वो सब 22-23 साल की उम्र की लड़कियां थीं. पहली बार इतनी गर्म औरत से पाला पड़ा था, मैंने कहा- भाभी, भइया के साथ भी ऐसा ही करती हो?वो बोली- तेरे भइया के लंड में दम ही कहां, मेरे चूत में जैसे ही लंड डालते हैं दो झटके में झड़ जाते हैं.

वैसे मैंने कहानियों में पढ़ा था कि भाई बहन के बीच में भी चुदाई होती है पर तब तक मेरे मन में ऐसा कोई ख्याल नहीं आया था. वो तो अभी जवानी की शुरुआत कर रही थी और उसकी चूत में भी वासना के कीड़े रेंग रहे थे. दीदी ने जिज्ञासु टाइप में सीधे ही पूछ लिया- इसके साथ सेक्स कब किया?अब मेरे लिए ये भी मुसीबत थी तो बोल दिया कि इस बार जब आई थी, तब हुआ था.

नागडी बाई

अपने मालिक के इशारे पर नाचने वाली दो कौड़ी की रंडी किरण मेरे पास आ गयी और बिना हाथ लगाए उसने मेरा लौड़ा अपने मुँह में भर लिया. फिर अपने लंड को हिलाते हुए मेघना के ऊपर चढ़ गया और चूत में लंड सैट कर दियामेघना बॉस के भारी भरकम शरीर के नीचे बकरी सी दबी हुई थी. फिर मैं पड़ोस में माही और निकिता के घर गया तो वहां पर पता चला कि वो सब खेलने के लिए कल्लू के घर गई हैं.

ऐसे में धीरे-धीरे चुदायी को लगातार जारी रखते हुए जगह बनाते हुए आगे बढ़ना पड़ता है.

हम दोनों के बीच आज से एक नए रिश्ते की शुरूआत हो गई थी लेकिन इस रिश्ते को हम दोनों ही किसी के सामने नहीं ला सकते थे.

मेरा लौड़ा भी पड़ोसन आंटी की टाइट चूत गांड का स्वाद ले चुका था और अब लौड़ा आंटी की चूत का शैदाई हो गया था. उसके बाद मैंने उसका लौड़ा अपनी गांड में ले लिया और बड़े प्यार से गांड मरवाई. एक्स एक्स वीडियो इंग्लिशतभी बच्चे ने अपना हाथ कुछ इस तरह से फिराया कि मौसी की कुर्ती एक तरफ से पूरी उठ गई, जिससे मुझे उनकी पूरी चूची दिख गई.

मैंने आपको पहले भी बताया है कि जब से मेरा मेरे भाई के साथ चुदाई का सिलसिला शुरू हुआ है तबसे मैंने पैंटी पहनना बंद कर दिया है. बीच बीच में मैं अपनी कमर थोड़ी से ऊपर करके लौड़ा फिर से गांड के अन्दर दबाता जा रहा था. अभी कुछ देर पहले तक जिस हुस्न की मल्लिका के मख़मली जिस्म को वो भोग रहा था उसका हसीन चेहरा भी देखने को नसीब नहीं हो सका था.

मैंने अपने एक हाथ से देविका की चूत की फांकों को दोनों तरफ फैला दिया और दूसरे हाथ से अपना लंड पकड़ कर लंड का सुपारा उसकी फांकों में सैट कर दिया. चुदाई की वजह से बेड चरमराने लगा और वैसे ही साबिरा की सिसकारियां भी बढ़ने लगीं.

वो भी मजे से चुदने लगी और सिसकारियां भरने लगी- आह आह … भैया अब बहुत मजा आ रहा है … आंह चोदो मुझे … और जोर से चोदो … बहुत अच्छा लग रहा है.

ऐसे ही 2-3 दिन हम दोनों एक दूसरे से ईमेल के द्वारा ही बात करते रहे, फिर बात फेसबुक पर होने लगी और अगले 15 दिनों बाद ही व्हाट्सएप पर बात होने लगी. मेरी इस सेक्स कहानी में आपने शायद ये समझ लिया होगा कि मुझे कितने मर्द मिलने वाले हैं, जो मेरी चूत का भुर्ता बना देंगे. आंटी की चूत चोदते हुए मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं किसी 18 साल की लड़की को चोद रहा हूं.

घर में चुदाई मॉम ने मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसना शुरू किया और थोड़ी देर में वो गपागप गपागप लॉलीपॉप के जैसे मेरे लंड को चूसने लगीं और मौसी ने मॉम की चूत चाटना शुरू कर दी. अए हए … क्या दूध थे … एकदम पिंक निप्पल और बड़े बड़े चूचे देख कर मैं बौरा गया.

घर वालों ने शादी का शुभ दिन निकलवाने के लिए पंडित को बुलवाया और शादी अगले महीने की 19 तारीख को तय हुई. उनके नाज़ुक स्पर्श के आगे मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाया और मेरा पानी निकल गया. Xxx जीजा सेक्स कहानी में मैं एक बार अपनी छोटी बहन के पति से चुद कर मजा ले चुकी थी.

भाई बहन से

तो उन्होंने मुझसे कहा– मैं तुम्हें पीछे से करना चाहता हूं।मैं– मतलब?अमित जी– मतलब तुम्हारी चूतड़ को चोदना चाहता हूं।मैं– नहीं नहीं … मैंने कभी वहां नहीं किया और आपका इतना बड़ा है कि मैं झेल नहीं पाऊंगी।अनिल जी– ऐसा कुछ नहीं होगा. साबिरा को पीछे से चोदते हुए मैंने उसके बाल एक हाथ से पकड़ लिए और दूसरे हाथ से उसकी चूचियां मसलने लगा. भाभी की भी मादक आहें निकलने लगीं- अह अह आहह!मैंने भाभी की चूची पर हाथ लगाया तो मुझे लगा कि भाभी जी ने अपनी ब्रा में कुछ रखा है.

सुबह 8 बजे मेरी नींद खुली तो मैं जल्दी से तैयार होकर ड्यूटी चला गया. उनके साथ सेक्स करने का मौक़ा मुझे कैसे मिला?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आशीष है और मैं महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ.

उन्होंने मुझे बिस्तर पर बिठाया और बोलीं- तूने क्या सोचा?मैंने कहा- वही … जो आप बोलोगी मैं करूंगा, बस आप किसी को मत बताना.

सेक्स इन बस का मजा लिया मैंने स्लीपर बस में! मेरे केबिन में मेरे साथ एक लड़की थी. मैंने अपना माल भाभी की चूत में निकाल दिया और दोनों लोग एक दूसरे को जकड़ कर रजाई के अन्दर लेट गए. उसकी बातों को सुनकर पहले तो मैं थोड़ी घबरा गई, पर फिर मैंने उससे पूछा- तो क्या हुआ … तुम क्या चाहते हो, ये बताओ?उसने कहा- आप बुरा तो नहीं मानेंगी न?मैंने मन में सोचा कि साले तू मुझे चोदना चाहता है, इससे ज्यादा तू करेगा भी क्या.

अब वो दोनों अपने पैग पीते हुए मुझे चोदने के तरीके पर विचार कर रहे थे. थोड़ी देर बाद मैंने खुद ही पूछ लिया कि आपकी पत्नी कहां है?उन्होंने बोला कि वो बाथरूम में है, थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा. मैंने कहा- मेरे मम्मे कितना गजब माल हैं, जरा बताना तो?इस पर वो बोला- अगर ये मुझे मिल जाएं तो बस …इतना बोल कर वो शांत हो गया.

लेकिन आज तक जिससे भी मिली, उसने बस अपने मन की की और मुझे बस एक हाड़ मांस की चीज़ की तरह बर्ताव किया.

बीएफ साउथ बीएफ: मैंने फातिमा के बारे में सोचा और बिना कुछ बोले उसके साथ बाइक पर बैठ गया. मैंने उसकी चुचियां रगड़ते हुए कहा- बोलो देविका, तुम्हारी तमन्ना क्या है? मैं पूरी कर देता हूँ.

मैं बोला- आप क्या बोल रही हैं आंटी?वो हंसती हुई बोलीं- बेटा मैं सब जानती हूं. मैंने सही मौका देख कर शिराज से कहा- सुन गांडू, देख साले तेरी बहन के बोबे दर्द दे रहे है, चल अच्छे से मसल मसल कर मालिश कर दे. भैया ने तुरंत मुझे चुदाई की पोजीशन में लिटाया और मेरी चिकनी गुलाबी बुर में अपना मोटा काला लंड पेल दिया.

तभी भाभी भी छत पर आ गईं और मेरे पास आकर पूछने लगीं- क्या कर रहे हो सन्दीप?मैंने बोल दिया कि भाभी पढ़ रहा हूँ.

उस लड़की की किस्मत बहुत अच्छी है।उस रात मैंने और भाभी ने कुल तीन बार सेक्स किया।दोस्तो, बताइएगा जरूर मेरे साथ जैसी चुदाई हुई, वैसी ही आपके साथ हुई है क्या?इस 69 पोजीशन सेक्स कहानी में आपको कितना मजा आया?[emailprotected]. शाम को जब मैं ऑटो से घर आने लगी, तो 20 साल का एक लड़का मेरे बगल बैठा था जो भीड़ का फायदा उठा कर अपनी कोहनी से मेरे बूब्स पर टच करता रहा. मैं धीरे धीरे अब आंटी की गांड में हाथ फेरने लगा और कूल्हे को दबाने लगा.