खुदा भी बीएफ

छवि स्रोत,18 साल की लड़की की वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

गंदा फोटो: खुदा भी बीएफ, इसलिए मैं खुद ही राहुल को अपनी चुदाई करने के लिए बुला लेती हूँ। वह आता है और मेरी चुदाई करके चला जाता है.

जुदाई दिखाइए सेक्सी

मेरा दिल अन्दर से रो रहा था, पर शरीर बाहर से सन्नी के साथ चिपका था. पिल्लू सेक्सी पिक्चरसनी मेरी बॉडी को चूसते चूसते नीचे की तरफ आ गया और एकदम से उसने मेरे लंड को मुँह में भर लिया.

अरुणा ने जब मुझे मेरे रूम में देखा तो उसकी आंखें फटी रह गईं, वो बाथरूम से नंगी ही बाहर आ गई थी. सेक्सी व्हिडिओ मराठी सेक्सी पिक्चरमामा की इतनी सेक्सी गन्दी बातें सुनकर मैं अपने आपे से बाहर होने लगा और मैंने मामा के पेन्ट को खोलकर लंड को बाहर निकालने की कोशिश शुरू कर दी, लेकिन चलती बाइक में लंड निकलना मुश्किल था.

https://thumb-v3.xhcdn.com/a/BPyxHwWLLbT6v2qcAOXXaw/020/549/453/526x298.t.webm.खुदा भी बीएफ: सुमन की चूत को मैं चाटे जा रही थी, सुमन फिर एक बार चिल्लाई- भाभी … मैं फिर झड़ने वाली हूँ!और सुमन ने फच्च से अपनी चूत का पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया और हम दोनों ने एक-दूसरे की चूत को करीब 10 मिनट तक चाटाऔर साफ किया.

मैंने पॉंड्स क्रीम निकाली और सन्नी की गांड के गुलाबी छेद पर धीरे धीरे मलने लगा.मैंने बिना कंडोम के उसकी चूत मारी, लेकिन बाद में उसे गर्भनिरोधक गोली भी दे दी.

अमेरिकन सेक्सी शॉट - खुदा भी बीएफ

इधर मेरी काम वासना भी इतनी बढ़ती जा रही थी कि मैं सुखबीर के आगे झुकती जा रही थी.सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार! मैं अन्तर्वासना की कहानियाँ काफी लम्बे समय से पढ़ रहा हूं। आशा है कि आप भी इन कहानियों को पढ़कर मज़ा ले रहे होंगे.

सच बोलूं तो उनका रसीला लंड देख कर मेरे मुँह में और मेरी चुत में पानी आने लगा था. खुदा भी बीएफ मैं बोला- जी जी … बोलिये?तो उसने बताया कि उसने अपने पति से बात की है और वो आज शाम को पैसा मेरे पास भिजवा देंगे … तो मैं आपको कॉल करके बुला कर पैसा दे दूंगी.

जीभ से तो सूजन नहीं होगी न?इस बात पर अपने नैन कटार से वार करते हुए नीना बोली- ओह हो … तुम मुझे यह बात बता रहे हो.

खुदा भी बीएफ?

आवाज लगाते ही मेरी पत्नी तुरंत बेडरूम में आ गई, उसने हम तीनों को कहा- अरे बेशर्मों, तुम तीनों अंदर मजे कर रहे हो और मैं तुमको गेट के छेद से मजे करते हुए देख रही हूं. जब तुम्हारे लंड से चुदकर इतना मज़ा आता है तो 2 लंड के साथ चुदने के मज़े के बारे में सोचकर मुझसे रहा ही नहीं गया इसलिए मैं सारी तैयारी पहले से ही करके बैठी हूँ. नेहा बेड से उतरने वाली थी कि मैंने उसको बेड पर खींच लिया और सुबह से ही उसे चोदना शुरू कर दिया.

इसलिए मैं भी अब मजे से नेहा की चुत को चाट चाट कर उसके रस को पीने‌ लगा. उसके बाद मुझे और भी कई लंडों के साथ चुदने का अनुभव हो चुका है लेकिन अजय के लंड की बात ही अलग है. ये सब देविका मैडम के जीवन का भी पहला अनुभव था जब उसने किसी गैर मर्द को अपना आशिक बना लिया था.

मेरा एक हाथ उसके मम्मों को सहला रहा था, दूसरा हाथ उसकी मोटी गांड पर घूम रहा था. मैं उनकी मुस्कराहट का अर्थ तो नहीं समझ पाया लेकिन इतना जरूर समझ गया था कि सरोज चाची को मेरे लंड का स्पर्श या तो अच्छा लगा या फिर मैं अब भी कुछ गलत ही समझ रहा हूँ. उसकेकालेरंगकेबावजूदउसचेहरे मेंनिश्छलता औरमासूमियतथी,उसके काले रंग पर लाल-लाल होंठ उफ्फ्फ … क्या कहूं आपको … मैंअभीभीझिझकरहाथाऔरसलोनी भीइसबातकोसमझरहीथी.

मेरी चीखें इतनी तेज थीं कि अगर कोई भी खिड़की या दरवाजा जरा सा भी खुला हुआ होता तो बाहर से लोग अन्दर आ गए होते कि पता नहीं इस घर में क्या हुआ है. यह देखकर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा, लेकिन मैं क्या कर सकता था.

मैं- जेठ जी, आज से मैं आपकी भोग्या पत्नी हूँ, आपको जो करना है, वो करो और वैसे मुझे भी आपका लॉलीपॉप अच्छे से देखना है और चूसना है.

हमारा स्टाफ क्वॉर्टर हमारे स्कूल से लगभग दस किलोमीटर की दूरी पर है.

कुछ ही देर की मशक्कत से मेरे पति के लंड का सुपारा मेरी गांड में घुस गया था. एक बार मेरी सहेली के पति ने मेरे हाथ को अपने हाथ में लिया, तो मैंने कोई आपत्ति नहीं की. मैंने उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटकर साफ किया और मैं बोला- स्वीटी तुम्हारा काम हो गया, अब तुम मेरा भी रस निकाल दो.

मेरे गोरे गोरे गोल गोल स्तन उनके सामने नंगे हो गए, पूरा खजाना उनके सामने खुल ही गया था. फिर चुपचाप मैं उसको वहीं रख के चला आया, जहां से मैंने उसे उठाया था. भैया से पता चला कि लड़की सिर्फ 12 वीं तक पढ़ी है और उसका नाम अरुणा है.

तभी चाची का फोन आया, उन्होंने बोला- तू श्वेता के यहाँ खाना खा लेना, मैं सुबह आऊँगी.

उसकी जांघें मेरे चूतड़ों से टकराने लगीं, लंड तेज़ी से अन्दर बाहर होने लगा और फिर उसने मेरे अन्दर पानी छोड़ दिया. फिर मैंने अपना हाथ उसके दूध से हटा दिया और हाथ को उसकी बुर पर ले गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:लंड की प्यासी चूत गांड का मेला-2.

फिर मैंने पानी पीने का बहाना करके उनसे पानी लिया और वहीं खड़े रह कर भाभी से बातें करने लगा. इससे पहले भी मैंने बहुत सारे लंड देखे और चूसे थे लेकिन उसके लंड की बात ही मुझे निराली लगी. चुदाई के बाद कुछ देर रुक कर वहां से उठ कर ऊपर रूम में जा कर सो गया.

नेहा आंटी झट से वहीं नीचे जमीन में बैठ कर मेरा लंड चूसने लगीं और मैं उनके बूब्स मसलने लगा.

’नेहा आंटी के बूब्स बहुत ही टाइट और मजेदार थे, उनके निप्पल भी बहुत बड़े थे. वह थॉन्ग (अंडरगार्मेंट का एक प्रकार)वाली पैंटी थी जिसकी पीछे वाली पट्टी गांड में घुस जाती है.

खुदा भी बीएफ पर अंकल को कोई फर्क नहीं पड़ा, दर्द के बाद भी उन्होंने पूरी ताकत लगा कर अपना लौड़ा मेरी गांड में घुसेड़ दिया. मैं- भाभी आपकी किश्त 35000 की है आप 10000 दे रही हैं, 25000 के लिए आप 2 से 3 दिन का बोल रही हो और पहले की 3 किश्त बकाया हैं.

खुदा भी बीएफ फिर बिना जल्दबाजी किये पहले एक बार चुम्बन दिया और अपने होंठ को हटा लिया. अब तक इस मस्त मस्त कहानी में आपने पढ़ा कि सुलेखा भाभी अपने शरीर को‌ कड़ा सा करके मेरे लंड को अपनी चुत के मुँह पर लगाकर झटके से मेरे खड़े लंड पर बैठ गईं.

अभी टोपा ही अन्दर गया था कि मैम चिल्लाने लगीं और उनकी आंख से आंसू आने लगे.

इंडियन बीएफ पिक्चर भेजो

पर उस रात ऐसा नहीं हुआ, अगले दिन जब वो मेरे को छोड़ कर जाने लगी, तो मेरी मम्मी ने बुआ से वंदना को घर पर ही छोड़ने के लिए कहा. तो मैंने पूछा- तूने ऐतराज़ नहीं किया?वो बोली- मेरा शादी से पहले ऐसे घर से बाहर किसी से चुदवाने का बहुत मन था पर कभी मौका नहीं मिला, आज मिला तो क्यों छोड़ती और एक तुम हो कि कुछ कर ही नहीं रहे थे. मैंने फिर से कोशिश की तो पूजा बड़बड़ाने लगी- ऐसा मत करो … एक साथ दो नहीं जाएंगे.

इस मौके का मैं आज फायदा उठाऊंगा, आज मैं तुम्हें जबरदस्त चोदूंगा और तुम्हें मुझे सहन करना पड़ेगा. वह अब जोर से लंड चूस रही थी, मेरा हाथ भी उसके स्तन जोर से दबा रहा था. फिर उसको अचानक खांसी आने लगी तो मैंने लण्ड को बाहर निकाल लिया।मैंने देखा कि मेरा पूरा लण्ड ऊपर से नीचे तक उसकी लार में सन गया था।मैंने अब दोबारा से उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया.

बुर साफ करने के बाद वो मेरे पास आई और मेरे लंड को अच्छे से साफ किया.

मैं तो भाभी को देखता ही रह गया और फिर से भाभी ने अपना गिलास पूरा का पूरा केवल दारू से भर लिया. कार चल रही थी और सुनील मेरी चूत के अन्दर लंड डाले धक्के मारने में लगा रहा. मैंने उसकी पजामी के ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ना और मसलना शुरू कर दिया.

उन्होंने मुझे अपनी उसी छाती चौड़ी से चिपका लिया … वो भी एकदम कस के. मेरी इस हरकत से वो बहुत गर्म हो गयी और मुझे कहने लगी- साले मादरचोद … अगर प्यासी छोड़ दिया तो घर जाते ही तेरी गांड टूटेगी. में आपको कॉल करूँगी, तो आप आ जाना, फिर रात में हम लोग सुहागरात मनाएंगे.

तुम्हारे साथ यौवन का खेल खेलना तो मेरे बाँए हाथ का खेल था … किन्तु क्या ये उचित होगा, इस बात से मैं अनभिज्ञ था. मैंने हौले से अपनी आँखें खोली तो देखा कि घने बालों के बीच पल्लवी का चेहरा मेरे लंड की तरफ झुका हुआ है और वो मेरे लंड की चुसाई कर रही है।मैंने अपनी आँखें वापिस बन्द कर ली और पल्लवी जो मुझे मजा दे रही थी, उसका मैं आनन्द उठाने लगा।थोड़ी देर चूसने के बाद पल्लवी ने मेरे लंड को पकड़ा और अपने चूत से सेट करते हुए धीरे-धीरे लंड को अन्दर लेने लगी। अब उसकी उंगलियों के बीच मेरे दोनों निप्पल थे.

नेहा- कैसा लग रहा है मेरी जान?मैं- लगता है … तुम आज मुझे मार डालोगी. मैंने उसकी चिल्लपों पर ध्यान नहीं दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. रवि बोले- कितने साल की हो?मैं बोली- लड़की से उम्र नहीं पूछते, बस यह जान लीजिए कि अभी मैंने इसी साल जवानी की क्लास पास की है.

जवान कुंवारी लड़की की चूत चुदाई की यह कहानी आपको कैसी लगी आप मुझे अपने मैसेज के ज़रिए बताना ताकि जल्दी ही मैं आप सबके लिए अपनी अगली कहानी पेश कर सकूं.

उसकी गर्म चूत पर मैंने जैसे ही जीभ रखी तो वह तड़प उठी और उसके मुंह से सिसकारी निकल गई. उसको हम दोनों से फिर से चुदने का कहते हुए बताया कि एक साथ दो लंड चूत में लेने में बहुत मजा आया … जल्दी ही फिर से दोनों लंड एक साथ लूँगी. उसकी पीड़ा जान कर मैं कुछ देर रुक गया और उसके ऊपर लेटे रह कर फिर से उसके होंठों को चूसने लगा.

हाय राम राजू अब ऐसे क्या देख रहा है साले बदमाश इतना सब कुछ तो देख चुका है. मेरे बॉयफ्रेंड्स आज भी मुझसे सेक्स करने के लिए बोलते हैं, लेकिन मैं अपने पति की वजह से अपने बॉयफ्रेंड्स से नहीं चुदवाती हूँ.

अब मैं महीने में एक दो बार काम का बहाना करके जयपुर जाकर अपनी कविता रानी से मिल लेता हूँ. उसके आने के कुछ एक हफ्ते बाद मुझे हेड ऑफ़ डिपार्टमेंट से प्रमोशन लैटर आया कि वो मुझे टीचर से प्रिंसिपल बना रहे थे, लेकिन मुझे पोस्टिंग किसी दूसरे शहर के स्कूल में दी जा रही थी. उसने मेरी पैंट को खोल दिया और मैंने झट से अपनी पैंट को अपनी टांगों से नीचे खींचते हुए बिल्कुल अलग कर दिया.

सेक्सी बीएफ सोते समय

वो दूध सी गोरी और चिकने बदन की मालकिन थी, परंतु उसमें अपनी सुन्दरता पे बहुत घमण्ड था.

पता नहीं कब मेरी जान का चुदाई का मूड बन जाए और वे मुझ पर चढ़ने को आतुर हो जाएं. ठाकुर अंकल ने मेरे सर को फिर से दबाया और जबरदस्ती मेरे मुँह में लंड घुसाने लगे. मगर फिर भी वो ऐसे ही जोरों से अपनी चुत को मेरे लंड पर घिसते हुए धक्के लगाती रहीं जिससे कुछ ही देर बाद अचानक से‌ उनके‌ हाथ मेरे कंधों पर कस गए और उनकी सिसकारियां मदमस्त कराहों में बदल गईं.

मैं- मैं अकेला क्या करूँगा, करने को तो बहुत तरीके हैं, लेकिन अकेला कुछ नहीं कर पाउँगा. उसने मेरा पूरा मेनू किचन में लिखवा दिया और फिर शाम को बाहर जाने का प्लान बनाया. ब्लू पिक्चर चाहिए हिंदी में सेक्सीनमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप लोग! मेरा नाम समीर खान है, मैं उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर से हूँ.

उसके मम्मों को मैंने घूर कर देखा, तो वो भी शर्माई और साड़ी ठीक करके चली गयी. अंकल ने अपना मुँह सीधा उसकी चूत पे रख दिया, उनके मुँह रखते ही वो एकदम से उछल पड़ी और बोली- अंकल आपकी दाड़ी चुभ रही है.

कमरे की लाईट आफ थी नाईट लैंप की थोड़ी रोशनी में हम मम्मी पापा की चुदाई का खेल देख रही थी. जिससे प्रिया और भी जोरों से झुंझला उठी और गुस्से में उसने नाड़े को अपने दोनों हाथों से पकड़कर इतनी जोरों से खींच‌ दिया कि टक् …” की आवाज के साथ नाड़ा ही टूट गया. नमस्कार दोस्तो, मैं मेरी जिंदगी की पहली सेक्स स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ.

रात को खाना खाकर मैं अपनी सेक्सी चाची के घर पर सोने के लिए चला गया. वो चिल्ला दी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं रुक गया क्योंकि उसकी चूत टाइट थी और करीब 3-4 महीने से वो चुदी नहीं थी. अब मैं खड़ा हुआ और वंदना की पैंटी देख कर कहा- यह तो बहुत गीली हो गई है.

कुछ ही देर बाद उसका दर्द कुछ कम हुआ तो मैंने धीरे धीरे चुदाई शुरू कर दी.

मेरा तो क्या, सामने ऐसा सीन देख कर किसी का भी लंड सिर्फ हाथ से ही झड़ जाए, यहां तो नेहा आंटी इतनी सेक्सी मदमस्त तरीके से लंड अपने मुँह से चूस रही थीं. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज की लेखिका निशा … आप सब पाठक मेरी कामवासना से भरपूर कहानियों को पढ़ कर काफी मजा लेते हैं और सराहते हैं.

नीचे आनन्द की रफ़्तार बढ़ रही थी और पूजा ‘आह … आहआह …’ करके आवाजें निकाल कर हमारे सेक्स में और चार चांद लगा रही थी. मैंने घड़ी में देखा तो रात के साढ़े चार बजे थे, मैं भी दबे पांव वहां से निकल कर अपने रूम में आकर सो गई. उसने अपना लंड मेरी गांड के छेद में लंड टिकाया और जोर का धक्का मारा.

मैं तैयार थी, पर उसने अपना 8 इंच का लौड़ा सीधे मेरी चूत की जगह गांड में पेल दिया. मैंने उसके डांस करते चूतड़ पर एक चपत लगा कर, उसकी गांड पर उंगली दबा दी. तब मैंने वंदना को बताया और मैं और वंदना के बीच में बातचीत शुरू हुई.

खुदा भी बीएफ थोड़ी देर चिपके रहने के बाद रमीज का लौड़ा सिकुड़ कर छोटा हो गया और वह उठ कर मुझे छोड़ के कपड़े पहनने लगा. स्टेशन पर आकर मम्मी ने मुझसे कहा कि संभल कर रहना और वंदना का खूब अच्छे से ध्यान रखना.

मोटी औरतों की हिंदी बीएफ

अन्दर सोनल को दादाजी के सुपारे को मुँह में लेकर चूसते देख कर उत्तेजना से मेरी आंखें बंद होने लगी थीं. तभी हम दोनों को मस्ती सूझी कि आज मम्मी और पापा को सेक्स करते हुये देखेंगे. मेरी चूत लंड लेने के लिए तड़प रही थी और मेरी चूत में से फिर से पानी भी निकलने लगा था.

मेरे दोस्त ने उसकी बात का मतलब समझा कि वो चुदाई देखने के लिए पूछ रहा है. तभी मामी ने मेरे कान में लंड चूसने के लिए बोला और मैं उनका लंड अपने मुंह में भरकर चूसने लगी. जरीना खान सेक्सीहमें कसके पकड़ लेना अगर डर लगे तो!मानसी- ठीक है।मेरा लंड और खड़ा होकर धोती से उछलने लगा.

उसकी चुत के दाने को दादा जी ने उंगलियों से सिर्फ स्पर्श किया और अचानक ही सोनल की कमर उछल पड़ी.

मगर फिर भाभी ने मुझ पर तरस दिखाते हुए मेरे एक‌ होंठ को आजाद कर दिया, जिससे मेरे हिस्से भी उनका एक होंठ आ ही गया. मेरे लंड पर हल्का सा खून लगा हुआ था और थोड़ा खून पायल की चूत में दिखाई दिया.

वो पूरे मस्त हो कर मेरा सुपारा चाट रही थी और गले के अंतिम छोर तक लंड चूस रही थी. हम दोनों इस सकिंग से बहुत थक गए थे और फिर बेड पर नंगे ही साँसें लेते हुए लेट गए. नाड़े की गांठ उलझ चुकी थी, जिससे वो और भी झुंझला उठी और मेरी तरफ देखने लगी.

वो- मजाक ठीक है, लेकिन अगर ये सच हुआ, तो तेरी ऐसी की तैसी हो जाएगी जरा संभल के चलो, अभी बता रही हूँ.

लगभग 20 मिनट की चुदाई में स्वीटी 3 बार झड़ी और मैं एक झड़ कर उसके ऊपर ही निढाल होकर गिर गया. उसने मुझे बताया कि मेरी बहन का एक ब्वॉयफ्रेंड तो हमारे घर भी आता है और मेरी बहन मेरे घर वालों से बोलती है कि वो उसका दोस्त है. मेरे होश उड़ गए सफेद चिट्टी बुर की बीच की लकीर के आस पास हल्के हल्के बालों के रोयें थे, बाक़ी की जगह साफ़ थी, शायद आज ही बना कर आई थी उसकी चूत पर हल्का हल्का रोया आना शुरू हो गया था.

11 साल की लड़की की सेक्सी फिल्मयह सुन कर मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, किसी तरह 3 महीने तक मैं कन्ट्रोल कर ही लूँगी. वंदना ने मेरे पास आकर मुझसे पूछा- तुम परेशान क्यों देख रहे हो?तब मैंने उससे कहा- कल ही तो मिली हो और आज ऐसे छोड़ कर जा रही हो.

हिंदी सेक्सी नई बीएफ

एक दिन उसकी ब्लैक कलर की ब्रा नीचे पड़ी हुई थी, मैं अपनी कोचिंग क्लास से वापस आया, तो मेरी नजर उसपे पड़ी. ज़्यादा उम्र की औरतों को चोदने में मुझे अच्छा लगता है और मज़ा भी बहुत आता है. मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक लड़की का मेल भी आया है कि वह हमारे साथ सेक्स करना चाहती है.

चूँकि मैं एक अमीर घर का लौंडा हूँ इसलिए घर में कम रहता था और दोस्तों के साथ घूमता रहता था. हम दोनो के मुँह से सिसकारी निकलती मगर वो झूले के घूमने की आवाज की वजह से कोई नहीं सुन पाता था. जगत अंकल एक हाथ मेरे पीछे तरफ से कमर में डालकर मेरे कान में बोले- आई लव यू मेरी प्यारी बीवी … मेरी वन्द्या.

कंट्रोल, तुम तो भावनाओं में बह ही गये।मैं- हाँ, मैंने कहा था न तुम्हें बुरा लग जाएगा. वो छटपटायी और रोने लगी, पर मैंने सोचा अगर मैंने लंड निकाल लिया, तो ये दोबारा डालने नहीं देगी. जब मैं टॉयलेट से लंड को शांत करके बाहर आता तो वो मुझे मेरे मुरझाए हुए लंड को देखती और शायद ये अहसास करके अपने मन में खुश होती कि उसने अपनी मादक जवानी से मेरे लंड का पानी निकाल दिया है.

टॉप उतारते ही लाल ब्रा में कैद उसके मखमली दूध दिखाई दे गए। किस करते करते पहले तो थोड़ी देर ब्रा के ऊपर से ही धीरे धीरे उसके दूधों को सहलाने लगा फिर उसकी गर्दन को चूमता और चाटता रहा और रोजी मेरे बालों से खेल रही थी।थोड़ी देर बाद मैंने उसकी ब्रा खोलकर उतार दी. फिर पापा 69 की पोजीशन में आ गये और मॉम की चूत चाटने लगे और मॉम पापा का लण्ड चूसने लगी.

सलोनी सिर्फ मैरून कलर की ब्रा और पैंटी में थी जबकि मैं नीचे अभी भी कपड़ा पहने था.

गाड़ी चूंकि पूरी भर गई थी, अब मैं अपने आप को कोसने लगा कि प्रायवेट गाड़ी से जाता तो अच्छा होता. हिंदी सेक्सी कहानी सेक्सी कहानीपियू को अब थोड़ा अच्छा लग रहा था, वो बस में बैठने के बाद से ही आराम कर रही थी तो वो उठके मेरी आगे वाली सीट पे विंडो के साइड बैठ गयी. देशी इंडियन सेक्सी व्हिडिओमुझे मालूम था कि मेरी बहन की पहली चुदाई घर के नौकर ने की थी, जो 40 साल का था. शायद उसको भी ऐसे ही मौके का इन्तजार था और इसलिये ही वो गांव भी नहीं गयी थी.

उसमें से एक ने अपने साथी को इशारा किया और कहा कि उधर देख क्या मस्त माल जा रहा है.

मैंने हंस कर कहा- सच भाभी तेरी यह मस्त खड़ी चूची, चूतड़ बहुत सेक्सी और सुन्दर लग रहे हैं. सोनल की जीभ उसके होंठों से बाहर निकली और दादाजी के लंड के सुपारे पर घूमने लगी. फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और एक जोरदार धक्का लगाया जिससे उनका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया.

सारा परिवार घर की छत पे इकट्ठा हो गया था और पतंगबाजी का मज़ा लेने लगा. सुलेखा भाभी की उत्तेजना तो जोर मार रही थी … मगर शायद वो थकी हुई थी. मैंने ललिता को प्यार से उस पर लिटा दिया और उसके होंठों को किस करने लगा.

एक्सीडेंट बीएफ

तुम मेरी छोड़ो … अपनी बताओ कितनी गर्ल फ्रेंड हैं तुम्हारी?मदन ने कहा- सर मुझे लड़कियों में कुछ खास इंटरेस्ट नहीं है, पता नहीं क्यों पर मुझे परिपक्व आदमियों से बात करना अच्छा लगता है … जैसे आप! मैं एक होमोसेक्सुअल हूँ. पैन्ट नीचे करते ही चड्डी के नीचे से ही उनका लंड लग रहा था, जैसे एक हाथ का हो. यही वजह थी कि मेरा देवर जब भी रसोई में आता है, तो वो मुझे छूने की कोशिश करता है.

आज रात मेरी ड्यूटी है, नहीं तो तुम्हारी और एक बार चुदाई करता, पर कोई बात नहीं कल रात मैं छुट्टी ले लूंगा.

फिर मैंने मनीषा को ढूंढा और बोला- मामा जी ने एक काम करने को बोला है.

मैंने फिर से जोर लगाया और चुत को फाड़ते हुए पूरा लौड़ा चुत में घुसेड़ दिया. लंड आधा ही जा पाया, पर अरुणा के मुँह से चीख के साथ आंसू बहने लगे और वो लंड निकालने की रिक्वेस्ट करने लगी. देहाती सेक्सी खुलेआममेरे धक्कों के साथ साथ नेहा भी अब तेजी से अपने चूतड़ों को उठाते हुए अपनी कमर को चला रही थी.

भाभी तो उसको देखकर रोने ही लगी क्योंकि तीन साल बाद जो मिली थीं वो दोनों. तुम चिल्लाने को हुईं तो मैंने मेरे होंठों से तुम्हारा मुँह बंद कर दिया. धीरे धीरे वो हाथ अपने आप ही उसकी टी-शर्ट के अन्दर चले गए, फिर जब वहां पर पुलिस वाले ने सीटी बजाई, तब हमें अपना होश आया और हम अलग हो गए.

मेरी सहेली की एक भाभी भी है और उसके मुँह से ये सुनकर मुझे बहुत अजीब लग रहा था क्योंकि भाभी तो दिखने में बहुत सीधी शालीन लगती थी. अब उन्होंने अपने हाथ मेरे त्रिकोणीय क्षेत्र पे ले जाते हुए, मेरी चुत को छेड़ना शुरू कर दिया.

मैंने दोनों हाथों से जैसे ही उनका लंड छुआ और पकड़ा, तो एकदम से लगा, जैसे उसमें आग लगी हो.

मैं तो इतनी देर में तो आसमान में पहुंच गया था और उसकी लंड चुसाई का मजा ले रहा था. ”अरे नहीं की है बाबा … अब उसकी बातें मत करो प्लीज!”अच्छा नहीं करता हूँ मेरी रानी, पर तुम जरा अपनी पैर फैलाओ ना … जरा चख कर देखूं तेरी चूत की स्वाद. मैंने फिर से खिड़की को खोल लिया था और उसी के कमरे की तरफ बड़ी आशा भरी निगाहों से देखता हुआ लंड हिला रहा था.

चुत की चुदाई सेक्सी मैं अपने दोस्त के कमरे में सोया था और हिना भाभी का कमरा बगल में ही था. मैंने हल्के से तुम्हारे गालों को प्यार से छूकर अपने होंठों से चुम्बन लिया.

तेरे लिए ही तो तेरे साले इस पति के भागता फिर, इसे मनाया … इसे अपनी गाड़ी में घुमाया … सिर्फ तेरे लिए. मेरी तो किस्मत ही खुल गई थी कि इतनी सेक्सी लेडी को सेक्स सर्विस देने का मौका मिला है. पर उसके अंदाज में वो प्रतिरोध नहीं दिख रहा था और न ही वो चिल्लाने जैसी कोई हरकत कर रही थी.

हिंदी सेक्सी वाला बीएफ

मैं भी नेहा की तरफ देखकर हंस दिया मगर दोबारा से उसके होंठों चूमने की बजाए इस बार मैंने उसकी एक चूची को दबोच लिया. फिर शाम को 4 बजे फोन आया और उसने कहा कि मैं ट्रेन से आ रही हूँ … और मैं मिरज जंक्शन तक की ट्रेन से आऊंगी, आपको वहीं आना है … मैं वहां दस बजे तक पहुंच जाऊंगी. उतने में जेठ जी आये और मेरे पास बैठ गए- नीतू, कल रात के लिए मुझे माफ़ कर दो.

मेरे सास ससुर के जल्दी गुजर जाने के बाद मेरे जेठ ने अपनी पढ़ाई बीच में छोड़कर मिल में काम करने लगे थे. लिहाजा नीना ने खुद ही अपनी पैंटी नीचे सरका दी और शुरू हो गई खास चुदाई की अनोखी सेरेमनी.

नेहा अब भी अपना सिर मेरे पैरों की तरफ ही करके लेटी हुई थी, उसकी जांघें खुली हुई थीं, इसलिए उसकी फुली हुई चुत ने अब फिर से मेरा ध्यान अपनी तरफ खींच लिया.

फिर उसने अपना लहंगा निकाल कर मेरे सामने ही एक पतली सी चुन्नी बाँध ली और मुझसे थोड़ा गुस्से में बोली- पीठ ऊपर कर के लेट जाओ. स्टेशन पहुंचने पर देखा कि सुखबीर अपनी मोटर साईकल पर मेरा इन्तजार कर रहा था. मैम ने अपना मेरे लंड पे रख दिया और वे पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड मसलने लगीं.

मैंने जेठ जी की तरफ देखा, तो वह मेरी उस अवस्था पर मुस्कुरा रहे थे, मुझे बहुत शर्म महसूस हो रही थी. अन्तर्वासना के सभी पाठक और पाठिकाओं को मैं सुनीता चूत खोलकर नमस्ते करती हूँ। सभी लंडधारक तैयार हो जाओ अपना लण्ड हिलाने के लिए. उसके ख्वाब में मेरी मटकती हुयी मोटे चूतड़ों वाली गांड का गुलाबी छेद भी मचल रहा होगा.

वो हंसते हुए थोड़ा पीछे को खिसकी और मेरे मुँह पर अपनी चुत रख कर दबाते हुए बोली कि चुपचाप लेटे रहो, कुछ मत बोलो.

खुदा भी बीएफ: सोनू की इन बातों ने मेरे मन में एक नया जोश भर दिया और मैंने उसकी जांघें पकड़ कर एक शॉट दे मारा. अचानक सर मेरी तरफ लपके तो मेरे मुँह से घबराहट में निकल ही गया- पिंकी … प्लीज़!पिंकी ने मेरी तरफ घूर कर घृणा से देखा और फिर अपना चेहरा दीवार की तरफ कर लिया.

वो बोली- हां बात तो आपकी सही है लेकिन राज अभी थोड़ा कंट्रोल करो, घर आने ही वाला है. गदराया हुआ शरीर, बड़े-बड़े मम्मे और मोटी गांड लेकर जब चलती है तो लोगों का लंड खड़ा होने में देर नहीं लगती. लेकिन मैं कुछ भी नहीं कर सकता था, मैं बस बेबस सा खड़ा उसकी वो बातें याद कर रहा था कि उसे सिर्फ़ मसाज करनी है और कुछ नहीं करना है.

अब आगे:चल … टेबल पर झुक जा … पहले तेरा रस पी लूँ …” सर ने कहते हुए मेरी कमर पर हाथ रख कर आगे दबा दिया और ना चाहते हुए भी मुझे झुकना पड़ा.

अब कोई भी मेरी उम्र की लड़की के साथ ऐसे हरकत करें, तो भला वह कैसे अपने पर कंट्रोल रख सकती है. मैंने चुपके से उसके कान में कहा- जान! मुँह में ले लो ना!पहले तो वो नखरे करने लगी लेकिन जब मैंने उसको दोबारा कहा तो वो मान गई और मेरे लण्ड को अपने मुंह में लकर चूसने लगी। उसकी गर्म जीभ से टच होकर मेरे लण्ड को बहुत मज़ा आने लगा। मैं उसके मुंह को वहीं लेटा हुआ चोदने लगा. ये देख कर मैं रवि को उसके रूम तक छोड़ने जाने लगा, तो उसने मुझे पीछे से धक्का मारा और नेहा को बुलाने लगा.