बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ का वीडियो फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

प्योर सेक्सी हिंदी: बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ, मैंने उसे काल की तो उसने पूछा- घर पहुँच गए?मैंने जवाब दिया- हां जी!जो भी हम दोनों के बीच हुआ, उसके लिए उसने मुझे धन्यवाद दिया और कहा- मेरी लाइफ के बेहतरीन लम्हे थे वो! अमन कम्पनी काम से कभी बाहर जाएंगे तो मैं आपको बताऊंगी.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी बीएफ

उसके पूरे जिस्म में झटके लगने लगे और उसने कई पिचकारी अपने वीर्य की छोड़ते हुए रश्मि की गांड को अपने वीर्य से भर दिया. हिंदी बीएफ बीएफ एचडी बीएफउन्होंने मेरे कागजात देखे और कहा- आपका नाम?मैंने उन्होंने अपना नाम मन्नत बताया.

नीरा खुद ही मेरी तरफ पलट गई और मेरे मुँह में अपने स्तनों को बारी बारी डाल कर चुसवाने लगी. छेड़खानी बीएफअब तो मैडम इतनी तेज आवाज निकाल रही थीं कि अगर कोई आस पास होता, तो जरूर पूछने आ जाता कि मैडम क्या हो गया है.

मैंने अपनी ड्रेस पहले से एक नंबर छोटा लिया और उसको एकदम फिटिंग का करवा लिया.बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ: चुदाई करते करते मैंने अपने दोनों हाथों से भाभी की दोनों चूचियों को पकड़ लिया और लंड से चूत की ठुकाई करता रहा.

उसने मुझे घोड़ी बनाया और अपना लंड मेरी गांड के छेद पर रखकर एक झटके में अपना लंड अन्दर डाल दिया.फिर मुझे भरोसे का आदमी जानकर ही उसने रियल आई डी से बातचीत शुरू की है.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ - बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ

फनफनाते हुए लंड को देख कर मीता की एक तेज सिसकी निकल गई- उई मम्मी … ये क्या है?मैं- ये तुम्हारा खिलौना है … खेलो जी भर कर.मगर कोई आईडिया समझ ही नहीं आ रहा था।फिर एक दिन हम लोग कॉलेज जा रहे थे तो कॉलेज के सामने मेरी नज़र उस लड़के पर पड़ी.

इस समय हम रास्ते में थे, तो लाईट की वजह से मैं बस टोपे को चूस कर लंड की खाल को ऊपर नीचे करके फैंटे मार रही थी. बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ मैं बहुत उत्तेजित था क्योंकि करीब डेढ़ साल के बाद उसकी चूत चोदने को मिल रही थी.

प्राची भाभी के मुँह से चीख तो नहीं निकली पर चेहरे पर दर्द की लकीरें उभर आईं.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ?

वीना कुछ संभल पाती इससे पहले ही श्लोक बेड पर बैठ गया और उसने वीना को अपनी गोद में खींच लिया. उसकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था। मैंने उसे जल्दबाजी में पूरी बात समझायी. मेरी गर्लफ्रेंड को उधर काम करते हुए समय बीतता गया और मेरी गर्लफ्रेंड के उसके बॉस की हरकतें साथ शुरू हो गईं.

बिन्दू की बड़ी- बड़ी मस्त चूचियां और उन पर बिल्कुल छोटे छोटे गुलाबी निप्पल गजब ढा रहे थे. मैंने गुरजीत से फोन करके कहा- कल तुम कॉलेज के लिए निकलो तो मेरे घर आ जाना, मेरी पत्नी मायके गई है. मैं अब आहें भरने लगी थी- आह आह आह्ह आह्ह थॉमस फक मी बेबी!वो हब्शी मेरे नीचे आ गया.

मेरा साथी जोर से चिल्ला पड़ा- आ आ आ …पास ही में प्रकाश भाई पानी में खड़े थे. नेहा के कहते ही मैंने अपने लंड पर दबाव बढ़ाया, सुपारा अंदर जाने लगा, ऐसा लग रहा था जैसे लौड़ा कोरी चूत में जा रहा हो. अंशु और उपिंदर बाहर गए हुए थे। मैं अकेली थी। मम्मी और मेरी बहन शैली आये हुए थे।शाम को बातें कर रहे थे।शैली ने कहा- दीदी, राजेश कहाँ है?क्यों चुदवाने का मन कर रहा है?हाँ। जीजा जी भी नहीं हैं.

दोस्तो, ये थी वो सेक्स कहानी जो मैंने एक पाठक की रिक्वेस्ट पर उसकी आपबीती लिखी थी, उससे सम्पर्क करना सम्भव नहीं है, इसलिए अप मुझे मेल कीजिए और लिखिए कि ये सेक्स कहानी कैसी लगी. उसने अपने स्तनों को मेरे मुंह पर दबाया और अपने स्तनों को चुसवाने लगी.

उसने लंड को बुर के छेद पर रखा और मेरी आंखों में ऐसे देखा … जैसे मुझसे इजाजत मांग रहा हो.

जैसा कि आप जानते है मैं रायपुर छतीसगढ़ से हूँ, लेकिन मैं अभी कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली में रहता हूँ.

’ की मादक ध्वनि निकल पड़ी और वह स्वयं कमर को उछालने का प्रयत्न करने लगी. मुझे अंत में मौसी के कहे कुछ शब्द याद रहे, जो मैंने बेहोश होने से पहले सुने थे. मैं चीख रही थी- आह डार्लिंग … मेरी चुत फाड़ दो … आह अहह थॉमस फक मी बेबी … फक मी हार्ड जान.

तो उसके चूचों में कुछ आनंद नहीं था।ख़ैर, बात एक कदम आगे तो बढ़ी ही थी।कुछ समय बाद मुझे उसके घर जाने का मौक़ा मिला।उसका घर बहुत बड़ा महल सा है और दो मंज़िल बना है. उसने कुछ देर तक मेरी गर्लफ्रेंड की चूत को बड़ी शिद्दत से चाटा और चूसा. दोपहर के कोई तीन बजने वाले थे कि शर्मिष्ठा के पेट में दर्द शुरू हो गए और वो कराहने लगी.

मैंने तो आनन्दसागर में डूबकर आंखें मूंद लीं और उसकी कामुकता से लाल हो चुकी आंखें भी स्वतः मुंद गईं.

मैंने गलती से रात को सोते समय पम्प के बटन को ऑन ही रख दिया और पम्प रात भर चलता रहा. जब चुद पिट कर मैं कमरे से बाहर निकली तो मेरे बेटे का एक दोस्त बाहर खड़ा था. किसी से शिकायत का मतलब था कि तालाब में नहाने जाना बंद हो जाना, जो हम नहीं चाहते थे, इसलिए चुप रहते थे.

तो गुरजीत ने कहा- ज्यादा देर हो जायेगी?नहीं, तुम इण्टरवल के बाद निकल आना. मैंने थॉमस का लंड 15-20 मिनट तक चूसा और उसका लंड पूरी तरह से मेरी चुदाई करने के लिए तैयार हो गया था. जैसे अंजलि, नेहा, सोनम, प्रेरणा, खुशबू, कामिनी कुछ भी रख दो।मुझे उसकी बात सही लगी.

मैडम की कसी हुई चुत में मोटे लंड के सरक जाने से उनके मुँह से ‘आह्ह … मार दिया …’ निकल गया.

इस हिन्दी सेक्सी कहानिया में प्रतिभा के साथ गरम रासरंग को अगले भाग में पूरे विस्तार से लिखूंगा. इसलिए आप कहानी को उन्हीं की जुबानी सुनें ताकि आपको कहानी का असली मजा आये.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ वो- ऐसे सोते हो! कितना फोन किया मैंने, पता भी है!मैं- हां बोलो क्या हुआ?वो- क्या हुआ! जल्दी उठो और आ जाओ. तो सामान्य बातों से शुरू हुआ और उसने पूछा- नानी जी कैसी हैं? मैंने कहा थोड़ी तबियत ठीक नहीं है। ऊपर लेटी हैं.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ अब रवि भी झड़ने लगा और उसने एकदम से अपना लंड रश्मि के मुंह में दे दिया. उसने मोबाइल में झांका और अपनी कुहनी को मेरे हाथ से एक इशारे से रगड़ दिया.

मेरे चूतड़ों पर हुई आवाज सुनकर वो उठे और उन्होंने अपना गर्म सुपारा फिर से मेरे लम्बे कट पर घिसना शुरू कर दिया.

लड़की ने लड़की को

और चोदो … और तेज़ … मजा आ रहा है … और तेज़ और तेज़।सुनील मुझे आहह … आहह … हम्म … हम्म … ये ले साली रांड. बिस्तर पर धुली सफ़ेद चादर बिछा कर उस पर सफ़ेद गुलाब के फूलों से एक दिल का आकार बनाया. मैं मुस्कुराती हुई और अपनी गांड मटकाती हुई नीचे आयी और थॉमस के पास आकर खड़ी हो गयी.

आंटी ने मुझे सौ का नोट देते हुए कहा- टिकटें तो तुम ही रखो और यह टिकट के पैसे लो. फिर मैंने ही उसका लंड पकड़ कर अपनी गांड पर टिकाया और कहा- अब धक्का दे. ऊपर से मुझे अनिकेत पर गुस्सा आ रहा था कि ऐसे समय में ये किसी कच्चे रास्ते से ले जा रहा था.

जब मैं और भाभी घर पर अकेले होते हैं तो भाभी इस तरह के कपड़े पहन लेती हैं जैसे जींस, टापॅ, शाट्स, गाउन, मैक्सी, ब्लाउज पेटीकोट भी! क्योंकि अब वे मुझसे नहीं शरमाती।भाभी कहती हैं कि आप तो मेरे देवर यानी दूसरा वर हो तो आपसे कैसा शरमाना!लेकिन हाँ … अगर सास ससुर या कोई बड़ा है तो भाभी के सर पर पल्लू और घूँघट हमेशा रहता है।दोस्तो, बात कहाँ से कहाँ पहुँच गयी.

वे आश्चर्य करके बोले- किससे?मैं लखन की बात तो छिपा गया, पर उन्हें बताया कि सलीम से … उसने एक रात खलिहान में मेरी मार दी थी. उसने मुझे सीधा किया, मेरी टांगें चौड़ी कीं और अपने लंड को बिना कंडोम के चुत में घुसा दिया. मैं- नहीं पहले बोलो क्या देखना है?मीता- देखो अंकल … मैं गांव की लड़की हूं … मुझे सब नाम पता है.

मैं विनीता को नीचे लेटा कर चोदना चाहता था लेकिन विनीता चाहती थी कि वो मेरे ऊपर ऐसे बैठ कर ही सेक्स करे. रमेश- क्या हुआ होश उड़ गए ना? मेरा हाल भी ऐसे ही हुआ था इसको देख कर। रतन ने सच ही कहा था बहुत ही कड़क माल है. फिर मैं वापस आने लगा तो उसने कहा- अब कहां जा रहे हो? यहीं रुक जाओ यार … आज अकेली हूँ घर में कोई नहीं है.

अब आगे:प्रतिभा- फिर वैभव ने वैसा ही किया और खुशी ने मुझसे वैभव को अपना जिस्म सौंपने की प्रार्थना की. तुम लोगों ने रोहित के साथ मार पिटाई की है, इसने तुम्हारी पुलिस में कंप्लेंट की है.

उसने मेरी मसाज की उसके बाद मैंने शॉवर लिया और फिर अपने रूम में आ गयी. इतने में उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया. उसके निप्पल बाहर आ गए … तने हुए गुलाबी निप्पल बाहर निकलकर मुझे मानो मुँह चिढ़ा रहे थे.

वो बोली- और तुम्हारा क्या हाल है? जब से मैं तुम्हारे साथ यहां बैठने लगी हूं, तुम्हारा लंड ऐसे ही खड़ा रहता है.

मैंने नेहा से कहा- नेहा वैसे तो मुझे तुम्हारी हर ड्रेस अच्छी लगती है, क्योंकि इस पैंट में तुम्हारी चूत हर वक्त मुझे दिखाई देती रहती थी, लेकिन मुझे तुम्हारा स्लीवलैस टॉप और छोटी स्कर्ट भी अच्छी लगती है क्योंकि उसमें तुम्हारे पट भी दिखाई देते रहते हैं. भैया अंडरवियर फ्रेंची में थे और भाभी ब्रा पैंटी में थी।भैया बोले- मेरी जान आज दोनों साथ में नहायेंगे. तभी मेरा पानी निकल गया और मैं कटे हुए पेड़ की तरह उनके ऊपर ही छाने लगा.

इन सब के बारे में प्रिय पाठको याद करेंलिंगेश्वर की काल भैरवीhttps://www. पूरे मोहल्ले के लोग अपने घरों के बाहर खड़े होकर तमाशा देख रहे थे लेकिन कोई उनके घर नहीं जा रहा था.

डिनर के बाद हम लोग थोड़ा टहलने के लिए घर से बाहर निकल गए और आधा पौन घंटा यूं ही एक दूजे का हाथ पकड़े टहलते रहे. सच कहूं तो निष्ठा से ज्यादा असमंजस में तो मैं खुद था और जैसे तैसे होली खेलने की इस रस्म को निभा कर चलता बनने की इच्छा थी मेरी. लड़की इतने चाव से और अच्छी तरह से चुदवा रही थी मानों उसे कई महीनों से प्रैक्टिस हो?जैसे ही लण्ड की ठोक अंदर लगती, बिन्दू आई … आई … करने लगती.

इंडियन देहाती सेक्सी विडिओ

सर ने ये सब अपने मुँह से करना जारी रखा और अपने हाथों को मेरी चूचियों से हटा कर मेरी शर्ट के बटन को खोलने लगे.

यहां पर हरियाणा सरकार की तरफ से पुलिस वालों की तैनाती की गई, ताकि किसी तरह की कोई हिंसक घटना ना हो. मैं भी हैरान थी कि जिस औरत को 22 साल की लड़की 21 साल का लड़का और 19 साल की छोटी लड़की हो. अब अकेलापन खाने को दौड़ता है! आपकी कहानी पढ़-पढ़ कर कई बार खुद को सन्तुष्ट कर चुकी हूं.

बिन्दू- वो कैसे?मैंने थोड़ा नीचे झुक कर बिन्दू की वी शेप की पैंटी को उसकी चूत से साइड में किया और लौड़े के टोपे को चूत पर रख दिया. मैंने बिन्दू को फिर से अपनी बांहों में ले लिया और बैठे- बैठे उसकी चूचियों को सहलाने लगा. ससुर बहू की सेक्सी हिंदी बीएफनिष्ठा ने भी अब अपनी खुली चूत से अपने हाथ हटा लिए और बिस्तर पर रख कर अपनी चूत उठा उठा कर मुझे देने लगी.

मेरी गांड को फिर से गीला करके वह उठा और अपने गीले लण्ड को मेरी गांड के छेद पर टिका दिया। उसके लण्ड के आगे का हिस्सा मेरी गांड पर किसी गर्म लोहे के छूने का अहसास दे रहा था। मैं अपने निप्पलों को धीरे धीरे दबा रही थी और मैंने अपनी आंखें बंद कर रखी थी।उसने मेरा हाथ चूचियों से हटाया और अपने हाथों से निप्पल को मरोड़ते हुए एक जोरदार शॉट मारा. मैं- निकाला तो फिर डालते हुए जलन व दर्द होगा, यदि सह लिया तो 5 मिनट बाद अपने आप ठीक हो जायेगा.

और हां मुझे यह भी बताएं कि इस सेक्स कहानी पढ़ने के दौरान आपने अपने लंड को मेरे नाम से कितनी बार हिलाया. अगले दिन सुबह वो चारों लड़के मेरे पास आए और बोले कि आज रात की प्लानिंग करते हैं. मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि उसकी चूत में तुम्हारे लंड के नाम की खुजली हो रही है.

अर्पित मेरी जांघों के अंदर चूमता हुआ मेरी चूत के इर्द गिर्द चूम रहा था. मैं अपने पति के सामने एक गैर मर्द के सामने चुदने में काफी ज्यादा उत्तेजना महसूस कर रही थी और चिल्ला चिल्ला कर चुत में लंड ले रही थी. लड़की की जांघें चाटने में मुझे वैसे भी अपार हर्ष और आनंद होता ही है.

मैं- अभी तो कुछ नहीं चाहिए, फिर भी पता नहीं कि कब किस चीज की जरूरत आन पड़े.

अम्मी ने मेरे लंड पर आठ दस चुप्पे मारे और पूरा लंड मुँह में ले लिया. बाहर आकर अंकुश मुझसे बोला- कैसी लगी तुम्हें … मेरी ओर शेफाली की ये चुदाई … मजा आया देख कर! लगता है तुम्हारी चूत भी गीली हो गई होगी … हुई या नहीं … सच सच बताना.

तो क्यूँ ना आप मेरी मदद कर दो? और मैं आपकी।मैंने पूछा- कैसे?उसने कहा- देखो बुरा मत मानना, पर मेरी और मेरे दोस्तो की शर्त लगी है कि मैं आपको पटा के दिखाऊँ। अब मुझे शर्त हारना बिल्कुल बर्दाश्त नहीं है। तो जब तक हम सब यहाँ है तब तक के लिए आप मेरी असली न सही, नकली ही गर्लफ्रेंड बन जाइए. वैसे मेरी शादी कभी भी हो, तुम्हें जरूर बुलाऊँगी, तुम आओगे ना?मैंने कहा- तुम बुलाओ और मैं ना आऊं ऐसा सोचना भी नहीं, बुलाने के लिए धन्यवाद।अब खुशी और मैं एक दूसरे को समझने लगे थे. मेरे चूतड़ जो करीब 34 इंच चौड़े थे, उनकी मजबूत और जांघों के नीचे पिस गए.

रमेश- अच्छा इतना पसंद आया मेरा लंड तुम्हें?रश्मि- बिल्कुल अंकल।उस रात रमेश ने रश्मि को किसी गली की कुतिया की तरह रात 3 बजे तक अलग अलग पोजीशन में चोदा. मेरा मन किया कि अभी जाकर उनकी गांड मार दूँ, उन्हें घोड़ी बना कर गांड में लंड के शॉट लगा दूँ. मेरी जान, एक बार क्या लाख बार करने पर भी दिल नहीं भर सकता तुमसे तो, तुम हो ही ऐसी प्यारी प्यारी!” मैंने मक्खन लगाया.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ रॉन के साथ अब उसके कुछ दोस्त भी आने की बात कर रहे थे जो रॉन ने हमें फोन पर बताया था. दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आप सभी को मेरी गर्लफ्रेंड की बॉस के संग सील टूटने की चुदाई की कहानी अच्छी लगी होगी.

एचडी फिल्म सेक्सी

मैं मीठे मीठे दर्द के कारण मजे में कुतिया की तरह मद्धिम स्वर में चीखने लगी. फिर धीरे से मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चुत में फंसाया और चुत के दाने को रगड़ने लगा. मीता सरसराते हुए बोली- उफ्फ्फ … ये क्या चुभ रहा है?मैं- तेरी पसंद का केला है … खुद देख ले.

मैं- लेकिन बिन्दू यदि अब कभी भी उस लड़के से मिली या बात की तो मैं तुमसे बात नहीं करूंगा. फिर थोड़ी दूर चल कर मैंने एक रेस्टोरेंट से निष्ठा की पसंद का खाना और साथ में तले हुए काजू और फ्राइड पिस्ता के पैकेट्स ले लिए. बीएफ व्हिडिओ दाखवामामी ने मुस्कुराते हुए मेरे लंड को अंडरवियर से सहलाया और अगले ही मेरा अंडरवियर मेरे बदन से अलग नीचे फर्श पर पड़ा था.

मैं- मेरी वजह से क्यों?वो- और नहीं तो क्या! बस तुम तो चूमे जा रहे थे … मेरी चूचियों को कैसे चूस रहे थे तुम!मैं- अच्छा नहीं लगा क्या?वो- अच्छा तो बहुत लगा.

फिर मेरी गर्लफ्रेंड को एक बॉस ने अन्तर्वासना पर एक सेक्स स्टोरी ओपन करके दे दी. उसने अपने लंड पर तेल चुपड़ा, मेरी गांड पर भी लगाया और लंड टिका कर धक्का देने लगा.

दोस्तों मैं अंजलि शर्मा आपके सामने अपनी चुदाई की कहानी लिख कर आपसे जानना चाहती हूँ कि आपको मेरी यह दास्तान कैसी लगी. अब रवि भी झड़ने लगा और उसने एकदम से अपना लंड रश्मि के मुंह में दे दिया. ये कह कर भाभी ने मेरा लंड दबाया और मेरे होंठों पर जबरदस्त चुंबन देते हुए कहा- तुम्हारे इस लंड तो मेरी जन्मों की प्यास बुझा दी.

मैंने नेहा को खुद से दूर करते हुए रूखे स्वर में कहा- नेहा तुम अपनी सीमा लांघ रही हो.

हम तीनों रात को अपने कमरे में दरवाजा बंद नहीं किया करते थे, सिर्फ परदा खींच दिया करते थे. पर हमारे पॉइंट बिल्कुल बाहर होने के करीब थे। हालांकि मेरी टीम बहुत मेहनत कर रही थी पर फिर भी पिछड़ती जा रही थी।मैं हर दिन की रिपोर्ट अपने कॉलेज के सर को देती थी।उन्होंने कहा- चाहे कुछ भी हो जाए, कुछ भी करना पड़े. इतने में अमित मेरे होंठों को अपने होंठों से लॉक करके स्मूच करने लगा.

स्कूल गर्ल सेक्स वीडियो बीएफफिर आप बोलने लगीं कि ओह सॉरी मुझसे पानी का गिलास गिर गया … कहीं आपको लगी तो नहीं, मैं पानी साफ कर देती हूँ. मैंने मुस्कुराते हुए कहा- तो क्या देखा तुमने?तो प्रतिभा बिस्तर में उठ कर बैठ गई और उसने मेरा हाथ पकड़ कर खींच लिया.

सेक्सी मूवी वीडियो सेक्सी मूवी

मैंने नीचे देखा- हे भगवान अर्जुन … तुम्हारा लंड अभी भी खड़ा है?उसके लंड को पकड़ के मैंने हिलाया- कितना कड़क है अर्जुन!और वो हंसने लगा- अब जहाँ तुम्हारी जैसी चूत की मल्लिका हो, वहाँ लंड कैसे शांत बैठ सकता है?ह्म्म्म” मैंने बोला- लेकिन मेरे राजा, अभी मुझे एग्जाम के लिए जाना है. ऊउईइ आई ईईईई आहह उफ्फ्फ हिस्स्स उमम्म आह अंकल चाटो … इसे और चाटो … ह्म्म्म्म मम्म!”मेरा पूरा लंड फूल कर उसकी गांड के फूल में घुसा जा रहा था. अगली बार मैं इस प्यासी जवानी की कहानी को आगे और भी उत्तेजक तरीके से लिखूंगी.

फिर वो डिक्शनरी लेकर मेरे पास आ गए और मुझे देकर बोले- लो इसमें देखो. मैं आशा करता हूँ कि इस स्टोरी को अभी आप उतना ही प्यार देंगे, जैसे आपने मेरी पिछली कहानियों को दिया था. ’रॉबर्ट ने मेरी एक ना सुनी, उसने मेरे पूरे मम्मों को लाल कर दिए और मेरे दोनों मम्मों के निप्पलों को चूस चूस कर एकदम कड़क कर दिया था.

शादी के एक महीने बाद ही मैं प्रेग्नेंट हो गई थी और प्रेगनेंसी के 2 महीने बाद मैं यहां मम्मी के पास आ गई थी. हमारी लव मैरिज हुई थी और हम शादी के 2 साल पहले से ही रिलेशन में थे. यहाँ मैं सेक्सी ड्रेस में बालकनी या टेरिस पर पड़ोसियों को ललचाती थी.

कुछ देर बाद बॉस ने अपनी शर्ट उतार दी और मेरी गर्लफ्रेंड को उठा कर टेबल पर लिटा दिया. जैसे ही मैंने लण्ड को अंदर धकाना शुरू किया बिन्दू बोली- दर्द तो नहीं होगा?मैंने कहा- शुरू में एक बार होगा फिर सारी उम्र मजे ही मजे हैं, इसलिए थोड़ा बर्दाश्त कर लेना.

मेरी पिछली कहानीगीत मेरे होठों परकी तरह ही यह कहानी भी मेरे प्रशंसकों से ही जुड़ी हुई है।आप सबने मेरे द्वारा लिखित सभी कहानियों को भरपूर प्यार दिया है, आशा है आगे भी आप सबका ऐसा ही प्यार मिलता रहेगा.

पूजा ने कमरे की तरफ से ऊपर से नीचे की ओर खिसकाई और गांड ऊपर उठा कर पैंटी को जांघ तक खींच लिया. हिंदी बीएफ मराठी बीएफफिर मैंने उसके बाल लपेट कर चोटी सी बना कर खींच दी जिससे उसका मुंह ऊपर की ओर उठ गया और मैं उसकी चोटी खींचते हुए उसे बेरहमी से चोदने लगा. चेन्नई बीएफ वीडियोसेक्स स्टोरीज ऑफिस में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड ने मुझे उसकी पहली चुदाई की कहानी बतायी. वो झुक कर लंड सीधा मुँह में ऐसे भरने लगी, जैसे कि पूरा लंड खाना चाहती हो.

अब अपने बायें हाथ की पहली उंगली से उसने चूत के क्लिटोरिस को रगड़ा और जोर जोर से सिसकारने लगी.

संगमरमर की तरह तराशा हुआ गुरजीत का जिस्म देखकर मेरा लण्ड उछलने लगा. इसलिए मैंने लंड को चूत से बाहर निकाला और नेपकिन से अच्छे से पौंछ कर सुखा लिया. मैंने अपना दूसरा हाथ भी भाभी के हाथ पर रख लिया और उस हाथ को भाभी के हाथ पर फिराने लग गया.

वो जानता था कि रश्मि रवि की बेटी है और यही उसका मकसद था कि वो रवि की बेटी को रंडी बना कर उसके बाप के सामने ही पेले. विनीता ने दोनों हाथों को मेरी गर्दन में रख कर मुझे कस लिया और धीरे धीरे मेरे लन्ड पर बैठ गयी. मीता धीरे से बोली- पर अंकल ये अन्दर कैसे जाएगा … इतना मोटा है, मुझसे तो उंगली में ही बहुत दर्द होता है.

बेगराउड डाउनलोड

जो लोग पहले से घूमने आये हुए थे उनमें से एक दो को छोड़कर लगभग सभी ही जा चुके थे. फिर अंकल ने लंड मम्मी की गांड से बाहर निकाल कर चूत में डाल दिया और जोर से धक्के मारने शुरू कर दिए. मैं सभी शादीशुदा मर्दों से कहना चाहती हूं कि कभी आप ऐसा ही ट्राई करें.

दो दिन शादी से पहले और तीन दिन शादी के बाद।शादी की पहली रात को मैं काफी उत्साहित थी.

चूंकि मैं अब जाग रही थी, लेकिन आंखें मूंदे हुए थी, तो उसे ये बात नहीं पता थी.

मैंने एक बार फिर से जोर लगा कर झटका मारा और पूरा लौड़ा उसकी कोमल सी चूत में उतार दिया. माहौल बेहद खुशनुमा हो गया था; बियर का सुरूर और सावन महीने की मदमाती ठण्डी ठण्डी हवा और साली जी का साथ. इंसान और कुत्ते की बीएफखासकर कि जब खुद की ही बीवी किसी और के लंड से चुद रही हो तो उत्तेजना और ज्यादा बढ़ जाती है.

वो तुम्हें इस रूम में ही मिलेगा, वो कल तुम्हें चोदेगा और तुम उसे डील साइन करवा लेना. अक्सर सुंदर औरतों की चूत काली और पिटी हुई होती है क्योंकि आदमी उसको चोद चोद कर काला कर देता है. मैं नंगा ही अपने कपड़े उठाकर सीढ़ियों से होता हुआ अपने कमरे में चला गया.

लेकिन अंकल प्लीज़ आराम से करना।रमेश ने ज़ोर से अन्दर डाला तो उसका आधा लंड रश्मि के अन्दर जैसे कुछ चीरते हुए अन्दर घुसता चला गया. इसी दौरान उसके दांत रमेश के लंड पर गड़ गये और लंड पर काटे जाने से रमेश उछल कर एक तरफ जा पड़ा.

”हओ” कहकर सानिया फिर से रसोई में चली गई और एक प्लेट में बिस्किट्स और नमकीन लेकर आ गई।तुमने सुबह चाय पी या नहीं?”किच्च”तो ऐसा करो तुम भी साथ में पी लो.

आंटी ने मेरी तरफ एक सेक्सी सी स्माइल दी और कहने लगी- ठीक है, बैठो मैं अभी आती हूँ. मैं भी उनका साथ दे देता था … पर सांस सम्भालने के लिए मुझे अलग होना पड़ रहा था. उसने शर्मिष्ठा की लाल रंग की मैक्सी पहिन रखी थी जिसमें उसका हुस्न और भी खिला खिला खिले गुलाब की तरह लग रहा था.

बीएफ हिंदी चुदाई बीएफ हिंदी चुदाई मैं जोर-जोर से सांसें लेते हुए अपनी हालत अभी ठीक ही करने में लगी थी कि तभी उसने मेरी दोनों टांगें खोल दीं और मेरी चुत के पास आ गया. उसकी आवाज सुनकर जो आदमी मुझे अपना लंड चुसा रहा था, उसने उसे भी अन्दर बुला लिया.

मेरी बहन निकिता पापा के साथ दिल्ली में रहती है, भाई पंजाब में जॉब करते हैं. ‘ओह्ह रीता … आह्ह … यस्स आआ … आहह … यस्स ओह्ह’ करते हुए उसने सारा माल रीता की गांड में गिरा दिया. अब पूरी रात फिर चुदाई होनी थी, इस तरह से दो दिन पूरे हो गये।फिर अगले दिन मनाली जाना था और दो दिन मनाली घूमना था.

पंजाब डे सट्टा

मैंने उन्हें हग किया और प्रॉमिस किया कि कभी किसी को पता नहीं चलेगा और ये दुबारा भी नहीं होगा. चुदाई में दर्द तो बहुत हो रहा था लेकिन मजा उससे भी ज्यादा आ रहा था. रवि जोर जोर से उसकी चूचियों को मसलने लगा और उसके निप्पलों को काटने लगा.

मैं उसके सिर के दोनों ओर से टांगों को लपेट लिया और उसका सिर पूरा अपनी जांघों में दबा लिया. पिताजी के जाते ही मां आ गईं और पिताजी को न पाकर मुझसे पूछने लगीं- क्या हुआ? तेरे पिताजी किधर चले गए?मैंने मां को आते देख आकर उठ कर दरवाजे की कुंडी लगा दी और सब बताते हुए उनको अपनी गोद में खींच लिया.

उन्होंने बोला- एक कन्सट्रूक्शन कंपनी में बॉस को पीए की जरूरत है, अगर काम करना है … तो आ जाओ.

मैं पूरी तरह से संतुष्ट था और क्लेरिसा के साथ भी ऐसा ही करने के लिए तैयार था. मैंने एक बार फिर से जोर लगा कर झटका मारा और पूरा लौड़ा उसकी कोमल सी चूत में उतार दिया. मैंने अपने चूतड़ हिलाए, तो उसने लंड पर दबाव देते हुए एक धक्का लगा दिया.

मैं- लेकिन बिन्दू यदि अब कभी भी उस लड़के से मिली या बात की तो मैं तुमसे बात नहीं करूंगा. बेशक मैंने पिछले 6 साल की अपनी शादीशुदा ज़िंदगी में बहुत सेक्स किया है. थॉमस ने मेरे शूज की चैन खोल दी और उन्हें भी उतार दिया और फिर उसने मेरी स्किन भी उतार दी, जो मैंने पहनी थी.

मैं आशा करता हूँ कि इस स्टोरी को अभी आप उतना ही प्यार देंगे, जैसे आपने मेरी पिछली कहानियों को दिया था.

बीएफ पिक्चर इंग्लिश बीएफ: मैं तो यह सोच के डर रही थी कि ऐसी चुदाई मेरी गांड की होती तो शायद मैं मर ही जाती!हा हा हा!तो मेरे दोस्तो, कैसी लगी आपको अपनी प्यारी चाहत की चुदाई की दास्तान? आप सब अपने जज्बात मुझे मेल कर सकते हैं. मैंने नेहा के माथे को चूम लिया, माथे को चूमने के बाद मैं नेहा के नाक होंठ, ठुड्डी, उसकी गर्दन उसके मम्मों को चूमते हुए उसके पेट, धुन्नी और चूत तक आ गया.

उसे हड़बड़ी थी, पर इस बार भी उसका लंड खिसक कर मेरे नीचे दोनों जांघों के बीच घिस रहा था. यह देखकर मुझे सुरसुरी चढ़नी शुरू हो गई और अचानक कि मेरा हाथ अपने लंड पर चला गया. फिर मैंने एक साथ मां की चुत में दो उंगलियां डाल दीं और अन्दर बाहर करने लगा.

जो कोई भी पहले आए, मेरे लिए तो एक जैसा ही है।सोहन बोला- तू मुझसे 3 मिनट बड़ा है, पहले तू चढ़।रोहण ने मेरी टाँगें खोली, और अपना लंड मेरी फुद्दी पर सेट किया.

मैंने नेहा से कहा- लेकिन मैं यह चाहता हूं कि तुम एक बार यह बात अपनी मम्मी को बोल कर उन्हें खुश कर दो. मैंने कहा- तो आप गांव क्यों जा रहे हैं? वहां कोई दूसरी जगह काम नहीं मिल रहा है?उन्होंने कहा- मैंने बहुत कोशिश की, मगर अब मेरा इधर से मन हट गया है. अगर किसी पारखी लौंडेबाज की नजर पड़ गई, तो लौंडा गांड मराने का हुनर सीख ही गया समझो.