अनुष्का के बीएफ

छवि स्रोत,माँ की गाँड मारी

तस्वीर का शीर्षक ,

xxxसेक्सी वीडियो हिंदी: अनुष्का के बीएफ, तो उसने बताया कि शैलेंद्र नपुंसक है और मैं उसकी बेज्जती नहीं करना चाहती.

गांव की औरतों की चुदाई

सिम्मी ने मेरे लंड को अपने गोरे-गोरे हाथ से पकड़ा और उसे मुठियाने लगी. videoएक्सएक्सएक्सदिव्या ने एक फोल्डर में से कुछ फोटोकॉपी मुझे दीं और कहा- थोड़ा स्टाइलिश बनाइयेगा.

किसी लेखक की रसीली चोदाई की कहानी को पढ़ने के बाद उनका उस सेक्स कहानी के लिए मचल उठना स्वाभाविक ही था. बबीता के नंगे फोटोवो बोली- ये क्या कर रहे हो?मैं बोला कि तुम्हारा अमृत पीने जा रहा हूँ.

उसकी रूममेट ने हमारी चुदाई छिप कर देखी तो वो भी मुझसे अपनी चूत चुदाई करवाना चाहती थी.अनुष्का के बीएफ: उसकी गांड को मैंने कैसे चोदा और भाभी को अपनी गांड की चुदाई करवा कर कैसा फील हुआ वो सब एक्सपीरियंस मैं आपके साथ अपनी किसी अगली नयी कहानी में शेयर करूंगा.

जिस तरह से आसिफ फिजा के बदन को देखता था उसकी नजर सीधे फिजा के जिस्म में अंदर तक उतर जाती थी.मैंने जिद की तो वो हंसते हुए बोली कि मेरे दूध तो बड़े हैं … तुम उस छिनाल राधिका के नीबूओं को संतरे बनाना.

करीना सेक्स वीडियो - अनुष्का के बीएफ

हमारी अब तक कोई संतान नहीं हुई है, लेकिन हम दोनों अपनी सेक्स लाइफ से बहुत खुश हैं.इतने में ही चाची बोली- अच्छा एक बात बताओ, मैं तुम्हें सच में इतनी अच्छी लगती हूं क्या?मैंने कहा- मां कसम चाची, आप इतनी सेक्सी और क्यूट लगती हो मुझे कि मेरा तो मन करता है कि बस … आपके साथ …वो बोली- क्या, मेरे साथ क्या?फिर बात को घुमाते हुए मैंने कहा- कुछ नहीं.

लंड और चूत ये दो ऐसे अंग हैं जो एक दूसरे की झलक भर भी पा लें तो तुरंत मचलने लगते हैं. अनुष्का के बीएफ मैंने उसका टॉप खींच कर निकाल दिया और स्कर्ट फाड़ दी और अंदर उसने हॉफ ब्रा पहनी थी.

लेकिन मैं लड़की थी तो कैसे अपने दिल की बात कह सकती थी उसे जिसे मैं जानती भी नहीं थी।मेरी फ्रेंड सोना से मैंने बोला- यह लड़का कौन है, इसके बारे में कैसे पता चलेगा?तो उसने बोला- लड़का तो मस्त है.

अनुष्का के बीएफ?

बात तब की है, जब मुझे उनके घर में काम करते हुए 4 महीने से ज्यादा हो गए थे. मैंने राधिका के पास जाकर उसको कंधे से पकड़ कर उठाया और उसकी जींस में हाथ डाल कर उसकी चूत रगड़ने लगा. उसने मेरे लिए मेरी मां की चूत का जुगाड़ कर दिया और उसको मेरे लिए पटा दिया.

धीरे धीरे रोहित लंड को धकेलने लगा और अगले झटके में उसने लंड को लगभग पूरा उसकी चूत में धकेल दिया. फिर उसने झटके से मेरे अंडरवियर को नीचे कर दिया और मेरा मोटा लम्बा लंड बाहर आकर फड़फड़ाने लगा. तो साल में हमने सिर्फ 3 बार सेक्स किया।एक मैं जिसे साल के 365 में से 665 दिन सेक्स चाहिए.

चाहे वर्कशॉप हो, लैब हो या कोई भी काम हो, हर जगह हम दोनों साथ में ही होते थे. जब से उसको फिजा की कुंवारी चूत का दर्शन हुआ था तब से ही वो अपनी बहन की चुदाई के लिये बेताब था. अगर मैंने घर की इज्जत को घर में ही रखा तो मैंने क्या गलत किया?आप लोग मुझे इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें.

मेरे हां करते ही वो घुटनों के बल बैठ गया और मेरी पैंटी को नीचे करने लगा. उसने बोला- अच्छा जी … अगर मेरी जैसी मिल जाएगी, तो उसके साथ क्या करोगे?मैंने बोला- एन्जॉय … प्यार!वो बोली- मैं बुरी हूँ क्या?मैंने बोला- नहीं यार मैंने ऐसी बात कहां कही है.

मैंने कहा- तो वो लोवर के अन्दर क्या था … वो तो बताओ?दीदी बोलीं- अरे कपड़ा था वो.

पहले तो नॉर्मल बातें हुई और फिर मैंने उससे उसके पति के साथ संबंधों के बारे में पूछा.

सुबह से ही पूरे घर की साफ़ सफाई और खाना आदि का काम बड़ी निपुणता से करने लगी. उधर उसने मुझसे कहा- चल कुतिया आज हम दोनों अन्दर चल कर लेस्बो करती हैं. वो मुझे कभी वो खुशी नहीं दे पाते हैं जिसकी मेरी इच्छा शुरू से रही है.

जफर साहब अपनी मजबूत बांहों का प्रयोग करते हुए फिजा को उठा कर अपने कमरे में ले गये. सुधा, मेरी सासू मां ने मुझसे कहा- आशीष, तुम्हारी मां ये सब कुछ गुस्से में आकर कर रही है. मस्ती करते करते हमारे ग्रुप में ऐसा मान लिया था कि सनी सोना को लाइक करता है, उसकी बहुत केयर करता है.

उन्होंने झटके से अपनी साड़ी को नीचे किया और मेरी तरफ घूमी तो उनका हाथ गलती से मेरे खड़े हुए लंड पर जा लगा.

दीदी- नहीं … मैं वहां नहीं लूंगी … इसका इतना मोटा लंड है … मेरी तो सूज जाएगी. मेरा ध्यान मोनिका पर गया, तो वो पास में बैठ कर हम दोनों को देख रही थी. रिश्तों में चुदाई की इन घटनाओं को वर्तमान समय में गलत बताया जाता है लेकिन मैं तो कहता हूं कि आने वाले समय में प्रेम का यही सही रूप होगा और ऐसा होना भी चाहिए क्योंकि हम अपनी मां और बहन से ही सच्चा प्रेम करते हैं.

वो रंग में दिखने में इतनी ज्यादा अच्छी नहीं थी कि उसकी कोई ज्यादा तारीफ़ लिखी जाए. उस दिन जब मैंने उन दोनों को रंगे हाथ पकड़ा था तो उनको बहुत बुरा भला कहा. मनुषा की गांड सुराज की स्पोर्ट्स वाली शार्ट्स के बीच में उसके लंड पर थी.

इस वक्त मुझे जो आनन्द मिल रहा था, वो तो बता नहीं सकता भाई … सच में क्या गजब मजा आ रहा था … बस पूछो मत.

वो जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी और बोली- आह्ह हैप्पी… अब डाल दो प्लीज… मुझे मत तड़पाओ, मिटा दो मेरी सालों की प्यास, अपने मोटे लंड से चोद कर मेरी चूत को शांत कर दो. ये देख कर वो खुद समझ गईं और सीधे होकर उन्होंने मेरी जींस का बटन खोला और जींस उतार दी.

अनुष्का के बीएफ वो मेरे गोद में ऐसे थीं कि मेरा खड़ा लंड उनके एक चूतड़ के बाजू वाले हिस्से से टकरा रहा था और इसी के साथ मेरा एक हाथ साइड से उनके उसी तरफ वाले स्तन को दबा रहा था. मैं उसकी चूची दबा दबा कर उसकी चूत मारने लगा और मेरे लंड से चुद कर मां निहाल होने लगी.

अनुष्का के बीएफ बिना झांटों के पाव रोटी की तरह फूली हुई एकदम गर्म चुत मेरे सामने थी. मैंने ये सारी बातें श्रुति भाभी को बताईं कि ऐसा ऐसा हुआ था … और कोई सीमा सिंह करके औरत थी.

अब शर्म कहां गयी?बदले में मैंने चाची की गर्दन, उनके कान और होंठों पर किस करना शुरू कर दिया.

सनी लियॉन का सेक्सी

अब आप लोग मुझे बतायें कि रिश्तों में चुदाई का ये मजा लेना सही है या गलत. मैंने कहा- मगर दीदी आपने तो कपड़े पहन लिए, तो मैंने सोचा कि अब आप नहीं करेंगी. हवस में बह कर वो पैंटी को चाटने वाला था कि उसके मन में फिर से यही ख्याल आया कि आलिया उसकी बहन के जैसी है.

उनकी इस एक इंच की पट्टी में बड़े ही सलीके से ब्रा की स्ट्रिप को सैट किया गया था. अगले ही पल मैं भी अपना संयम खो बैठा और जेनिफर का साथ देते हुए उसके गुलाबी होंठों को चूमने लगा. अपने लण्ड का सुपारा रिशा की चूत पर रखकर मैंने रिशा की नाजुक कमर पकड़ी और लण्ड को अन्दर धकेला.

मैं उठ कर दीदी के पास गया, तो दीदी ने अपने कपड़े उतार दिए और मेरे लंड को पकड़ लिया.

इस पर भाभी बोली- क्या करोगे होटल जाकर?भाभी सब कुछ जानकर अनजान बनी रही. करीब दस मिनट ये सब करने के बाद कोमल दीदी शायद सो गईं, तो मैं भी उनके पास ही लेट गया. सोनिया बोली- मम्मी आप दुनिया में अकेली नहीं हैं जो अपने बेटे से चूत मरवा रही हैं.

उसने देर ना करते हुए मेरे कपड़े खीच के फाड़ दिए और मुझे अपनी गोद में बिठाकर चूसने लगा. फिर वो मुझसे छूटते हुए बोली- अरे मैंने तुमसे नाश्ता पानी पूछा ही नहीं … बोलो क्या खाओगे?तो मैंने भी तपाक से कह दिया- तुम्हें. सपना अभी तक यह सोचने में ही लगी थी कि उसकी चुदाई का वीडियो मेरे पास कैसे आ गया.

धीरे धीरे करके उसने पूरा लंड गांड के अन्दर डाल दिया और एक पल रुकने के बाद वो मेरी गांड चोदने लगा. फिर कोमल दीदी ने मोनिका के जाने के बाद मुझे आवाज लगाई, तो मैं कमरे से बाहर निकल आया.

प्रभा की चूत में अपना लण्ड ठोक कर मैं ठोकरें मारने लगा तो प्रभा रोने लगी- ऐसे कोई किसी के साथ करता है क्या? तुम तो मुझे जानवर समझ रहे हो. वो जैसे बचने का बहाना करते हुए बोली- आपके यहां पर कुछ कपड़े और होंगे शायद. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं और इधर प्रकाशित कई सारे लोगों की सेक्स कहानी पढ़ चुका हूं.

दीदी ने राधिका को कहा- राधिका, शिव से अपनी चूत चुसवा लो … खुजली तो तभी मिटेगी.

अभी मेरी चुदासी बहन ने सौरभ के लंड पर कूदना शुरू ही किया था कि पीछे से हसित मेरी बहन की गांड में लंड घुसेड़ने लगा. मैंने कहा- तो मैं भी कुछ नहीं बोल रहा हूँ … मुझे क्यों मना कर रही है … मैं भी किसी को ये फिल्म नहीं दिखाने वाला हूँ. वह मदद के बाद एक बार फिर सेजल के पास गया लेकिन सेजल ने उसको बहुत सुनाया और उसे बोला कि चुपचाप उसके पैसे वापस करें वरना बहुत बुरा हश्र होगा.

मेरे मामा की बेटी को ये करना बहुत अच्छा लगता था क्योंकि वो हम सब से थोड़ी बड़ी थी. मैंने राधिका के पास जाकर उसको कंधे से पकड़ कर उठाया और उसकी जींस में हाथ डाल कर उसकी चूत रगड़ने लगा.

मुझे मजा आ रहा था कहानी पढ़ते हुए मुठ मारने में और लंड को रगड़ते हुए हिलाने में, रूम में पूरा अंधेरा था. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी देवर के बीच की सेक्स कहानी-2. मेरे दोस्त ने ये देखा तो उसने जोर से लगभग चिल्लाते हुए क्लास से कहा- भाई कोई एक्स्ट्रा पेन लाया है, तो दे दो … रोहण का पेन काम नहीं कर रहा है.

ट्रिपल एक्स सेक्सी इंडियन

मैंने जल्दी से उसकी शर्ट और ब्रा को अलग किया और पहली बार एक जवान लड़की के दूध देखे.

अपने अगले भाग में।अगर आपको ये इंडियन सेक्स स्टोरी अच्छी लगी होगी? मुझे ज़रूर बतायें. मुझे बहुत दुख हुआ, मैं बहुत रोई अपनी फ्रेंड के गले लगकर!लेकिन साथ ही एक फीलिंग थी मुझमें कि मैं इसे पटा कर रहूंगी … कैसे भी!मैंने आपको पहले ही बताया कि मेरा फ़िगर बहुत कमाल का है. उसने बहन की चूत के नीचे लंड को सेट करके धक्का लगाया तो फिजा की चीख निकल गयी- बाप रे,,, मर गयी रे … ओह्ह नहीं भाईजान, प्लीज मत डालिये, बहुत दर्द हो रहा है.

हमने एक बिकनी खरीदी और एक नेट का सॉल्डरलेस नेट का मिडी या कहो नाइट ड्रेस जो सिर्फ पहनना था लेकिन वो कुछ छुपा नहीं सकता था. अंजलि- मेरे खोलते-खोलते तुम बिखर जाओगे … बिस्तर पर टें न बुलवा दी, तो कहना. राखी बांधजब मुझे उसका अहसास हुआ तो मैंने सोनिया से कहा- मुझे कुछ हो रहा है सोनिया.

थोड़ी देर के बाद दोनों उठे और टाइम देखा, तो उनको घर से निकले चार घंटे हो चुके थे. मेरा मन तो कर रहा था कि तुम दोनों को देखने कमरे में आऊं, लेकिन बाद में सोचा कि इससे तुम दोनों डिस्टर्ब हो जाओगे.

क्योंकि ऑलरेडी सेजल के पास बहुत सारे पैसे थे जिसकी वजह से वह घमंडी हो चुकी थी और यह घमंड उसके बच्चों में भी आ गया था. वो खाना खा कर अपने रूम में सोने की तैयारी कर रहे थे कि तभी उनके रूम में से कुछ आवाजें आने लगीं जैसे वो किसी को धमका रहे हों। मैंने उन पर ध्यान नहीं दिया और मुठ मार कर सो गया।मैं रोज की तरह सुबह 5 बजे उठा और सोचा कि ऊपर छत पर घूम लेता हूँ. इसके बाद मैंने अपने कपड़े उतारे और अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर मनीषा की टांगों के बीच आ गया.

मैंने उसकी बात समझ ली और सही मौका देख कर उसी समय उसको प्रपोज़ कर दिया. मैंने उसे दीवार से लगा दिया और एक हाथ से उसके एक कबूतर को दबाने लगा. मैंने रीना के पेटीकोट का नाड़ा खींचकर उतार दिया तो रीना ने अपना ब्लाउज़ खुद ही निकाल दिया.

मुझे उस औरत की बात पर यकीन नहीं हुआ और एक रात मैंने छिप कर ये सब देखने की सोची.

उनका गोरा बदन, तीखे नैन-नक्श, सुडौल स्तन और चूतड़ थोड़े उठे हुए थे और वे इतनी कशिश पैदा कर देते थे कि देखने वाले के लंड में झुरझुरी आए बिना ही रह पाए. मैं नहीं चाहता था कि माँ पिताजी की नज़रों में मैं गिर जाऊं और वे मेरी आजादी छीन लें.

मेरे कई बार कहने पर भी उसने लंड को मुंह में लेने के लिए हामी नहीं भरी. अपना लण्ड दिशा की चूत के अन्दर बाहर करते हुए मैंने जोर से धक्का मारा तो दिशा की चूत की झिल्ली फट गई. भाई ने घर आकर मुझे गले से लगाया और बोला- सच में तान्या बड़ी टेस्टी थी … आज उसकी चूत लेने में बड़ा मज़ा आया.

मैंने उसे अपने घर लाकर कैसे उसकी चूत चुदाई की?देसी सेक्स स्टोरी का पिछला भाग:वासना अंधी होती है-2वो मदमस्त मेरे बिस्तर पर बिछ गई।मैं दूसरी तरफ जाकर बेड पर टेक लगा कर बैठ गया और उसकी बाजू पकड़ कर अपनी ओर खींचा. अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने हरप्रीत की गांड मारी और उसके भाई की बेटी को भी चोदा. उसकी आंखों में आंसू आ गये थे और वो बोलने लगी- इसे एक बार बाहर निकालो प्लीज… इतना मोटा लंड नहीं बर्दाश्त हो रहा है चूत में, एक बार निकाल लो हैप्पी.

अनुष्का के बीएफ मेरा लौड़ा एकदम लोहे की रॉड बन चुका था, जो उसकी कुंवारी चूत को फाड़ने के लिए बेताब था. मालिक ने अपने कपड़े उतार दिए और अपने लौड़े को हाथ में पकड़ कर हिलाने लगे.

नई बीएफ हिंदी में

दीदी- यस ओह … ओह माई गॉड … येस शिव अन्दर तक करो आह करो …उनकी गर्म आवाजें मुझे पागल कर रही थीं. क्योंकि मैं उसे बहुत प्यार करता हूं और धोखा नहीं देना चाहता था।लेकिन ये कहानी जिस भाभी की है वो दिखने में ठीक हैं. वो चाहता तो कॉलेज की कोई भी लड़की पटा लेता लेकिन सनी बहुत सीरियस लड़का था और राजनीति में रुचि होने के कारण ज्यादा ध्यान कॉलेज के कामों में रहता था.

उसकी चूत भी अब शांत हो गयी और भाभी अब धीरे धीरे सिसकारियां ले रही थी. मुझे मूक होता देख भैया ने अपनी बात फिर से दोहराई- क्या तुम्हें स्वीकार है?मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. रंडी का मोबाइल नंबरवो समझ गया और धीरे से बोला- मैंने अब तक हाथ के अलावा किसी को भी अपनी मर्दानगी से नहीं खेलने दिया.

उस दिन रात को मैंने भाभी के नाम की मुठ मारी, तभी जा कर मुझे नींद आई.

अल्पना- हम्म … जैसे तू बहुत दूध की धुली है? तू भी तो अपने बॉयफ्रेंड का मजे से लेती है।मैं- अच्छा अच्छा सुन … तेरे बॉयफ्रेंड का लण्ड बहुत मस्त है. मेरी बहन की चीख भी सही से नहीं निकल पा रही थी क्योंकि अब उसके मुँह में भी लंड घुसा था.

सीमा जी से मेरी सेक्सी बातें होती रहती थीं और मुझे उनकी चुत मिलने की सम्भावना भी दिखने लगी थी. हमारी अब तक कोई संतान नहीं हुई है, लेकिन हम दोनों अपनी सेक्स लाइफ से बहुत खुश हैं. उनकी आंखें जैसे कह रही थीं कि देर किस बात की … दबाओ इन्हें, चूसो इन्हें.

मगर उनकी थिरकती गांड के कारण ब्रा की स्ट्रिप को बड़े ही मुश्किल से छिप पा रही थी.

लेटे लेटे ही केवल कमर को उचका कर अपना लिंग मेरे नितम्बों के मध्य गहराई पर रगड़ता. नाइटी उतरने के बाद जो नजारा मेरी आंखों के सामने आया, उसको मैं अपने शब्दों के माध्यम से बयां नहीं कर सकता हूं. उसने भी मेरा साथ दिया और हम दोनों एक दूसरे को बेतहाशा किस करने लगे.

लेडीज कंडोम कैसा होता हैमुश्किल से 5 मिनट भी नहीं लगे, अंदर निकाल कर वापस अब्बू कमरे में चले गए. वो सिसकारियां भरने लगी ‘आह्ह्ह उफ्फ’ और मेरा लन्ड पकड़ कर अपनी चूत में घुसाने लगी.

പൂർ video

तभी हम दोनों एक साथ स्खलित हो गए और वो मेरे पूरे वीर्य को पी गई।फिर वो उसे लगातार चूसती रही. मैं मानने लगी हूं कि इन्सान को सिर्फ जीना चाहिए और जीवन के आनंद को प्राप्त करना चाहिए. भाभी ने इसका कोई जबाव तो नहीं दिया मगर वो मेरे इधर उधर की बातें करने लगी.

मैं मोनिका के करीब गया, उसने मेरा लंड हाथ से पकड़ा और मुँह में डाल कर चूसने लगी. मैं हमेशा की तरह कोचिंग आता और जाता, लेकिन पढ़ाई के साथ अब साथ जैनब को देखता रहता. राधिका- तो उस गांडू का क्या होगा?मोनिका- उस साले का तो मैं नाम भी नहीं लूंगी … उसका तो छोटा सा लंड है.

अगले दिन जब वो आई, तो मैंने उसे रूम में आते ही दरवाज़े से टिका दिया और उसे किस करने लगा. हमारा संबंध 4 साल तक रहा। इस दौरान वह जयपुर से वापस उसके घर चली गई लेकिन कभी कबार वहां बहाना बनाकर मुझसे मिलने आती थी। और फोन पर सेक्स चैट भी किया करते थे. मैंने दिव्या को अपनी बांह़ों में भर लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये.

पर अब वो सोच रही हैं कि आज रात अंकल से बोल कर गांड में ही लंड डलवाएंगी. जेनिफर ने चुत चुसाई की मदहोशी की हालत में बेडशीट को पकड़ लिया और गांड उठाते हुए मजा लेने लगी.

मैंने भाभी को अपनी बांहों में जोर से जकड़ा और उनकी जीभ का रसपान करने लगा.

उनकी उठी हुई गांड के काफी नीचे तक उनके लम्बे काले व गीले बाल लटक रहे थे. हिंदी ब्लू पिकइतना सुनते ही चोपड़ा ने जोर का झटका दे दिया और अपना पूरा लंड अन्दर घुसा दिया. म से लड़कों के नाम हिन्दू 2022उस वक्त भूमिका को देखकर यह नहीं बोला जा सकता था कि उसने कभी भी चुदाई ना करवाई हो. उसका मुँह बना, तो मैंने उसके मुँह में एक नमकीन काजू का टुकड़ा दे दिया.

क्योंकि ऑलरेडी सेजल के पास बहुत सारे पैसे थे जिसकी वजह से वह घमंडी हो चुकी थी और यह घमंड उसके बच्चों में भी आ गया था.

(आज जब मैं इस घटना का स्मरण करता हूँ तो इस निष्कर्ष पर पहुंचता हूँ कि मस्तराम की पुस्तकें उत्तेजित तो कर देती हैं किन्तु न ही वो घटनाओं का उचित ब्यौरा देती हैं, न ही विधि का ज्ञान और न ही उनसे होने वाली समस्याओं की चेतावनी या सुझाव). मैं जानता था कि कुछ दिन बाद वो चला जायेगा और फिर मुझे उसकी याद आयेगी. और सिम्मी को मैं ये भी नहीं कह पाया कि सिम्मी इसे एक बार मुँह में ले लो।सिम्मी ने मेरे इच्छा को समझ लिया और मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया.

फ्लैट के दरवाजे के बाहर पहुंच कर आसिफ ने किसी तरह बहुत ही मुश्किल से फिजा को सहारा देकर खड़ी होने में मदद की. हमने फैसला कर लिया था कि हम दोनों कानूनी तौर पर और धार्मिक तौर पर भी अब पति पत्नी बन जायेंगे. और इसी डर से मैंने मम्मी से कहा कि मैं और भाई बाहर हो कर आते हैं।मैं अपने भाई के साथ बाहर घूमने निकल गयी। हम भाई बहन एक रेस्टोरेंट में गए और एक एक चाय ली। चाय पीते हुए मैंने भाई को पूरी बात बताई कि कैसे अंकल ने उस दिन मुझे फटे हुए कपड़ों में देखा था और आज भी मुझे घूर रहे थे।भाई बोला- दीदी आप हो ही इतनी सुंदर कि कोई आपको देखे बिना रह ही नहीं सकता.

सनी लियोन के हॉट बीएफ

उसको पतंगबाज़ी का बहुत शौक है, वो हमेशा जब भी पतंग उड़ाने छत पर आता, अधिकतर आसिफा भी आती।एक बार वो पतंग उड़ा रहे थे और मैं जैसे ही छत पर पहुँचा तो अय्यूब ने ललकारा. उसके घर जाने पर जब मैं सोनाली को चोद रहा था, तभी कमरे में उसकी बहन आ गई और मैंने सोनाली के साथ उसकीबहन को भी चोद दिया. मिस्त्री भी अब अपना लंड तीन इंच अन्दर बाहर हिलाते हिलाते बीच बीच में जोरदार धक्का मार देता.

मेरी चाची सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी मस्त चाची के साथ सेक्स किया.

राधिका कपड़े पहन कर बेड के किनारे पर बैठ गई और कोमल दीदी उसके पास बैठ कर उसको समझाने में लगी थीं.

टाइम काफी हो गया था तो रूम में सामान रख कर तुरंत खाना खाने निकल गए. अब कभी कभी ऐसा प्रतीत होता है कि सम्भवत: ग्रामीण लोगों के लिंग के बलिष्ठ होने का यह कारण भी हो सकता है कि वो नगर के बच्चों के विपरीत मुक्त रूप से सहज ही बढ़ते हैं. जेली एप्सजब मैं 19 साल का था, तब मुझे जैनब (काल्पनिक नाम) नाम की एक लड़की पसंद आ गयी.

फिर शैलेंद्र भी इस संबंध से काफी परेशान रहता था और दिव्या भी काफी परेशान रहती थी. जब वो थोड़ी नॉर्मल हुई तो मैंने एक झटका और दे दिया और मेरा लंड आधा उसकी चूत में घुस गया और एक बार उसकी चीख निकल गयी- आई मां … ओह्ह, उफ्फ सर, मत करिये प्लीज।अब मैंने उसके मुंह पर हाथ रखा और तीसरे झटके में अपना 7 इंची पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. उसके बाद उसने मेरे हाथ में फोन थमाते हुए कहा- आज से यह फोन आपके पास ही रहेगा.

पांच मिनट तक मैंने उसके होंठों को चूसा और फिर उसके ब्लाउज को खोलने लगा. मेरा लंड जब उस लड़की की चूत से बाहर आता, तो चूत पर लगा रस और मेरा लंड चाट देता.

मैं- अरे वही मैंने भी बोल दिया रात का टाइम मस्ती चढ़ रही थी तो वहाँ मतलब नीचेवह- अरे नहीं नहीं … केवल लिप्स गाल और बूब्स पर!मैं- ओह्ह तो अभी बूब्स तक पहुँचे हो.

19+ सेक्सी गर्ल सनी लियोनी ‘नंगी चूत दिखाओ’ वाली मांग आज पूरी हो रही है. मुझे जब ऐसा लगा कि वो सोना को पसंद करता है तो मैंने सोना से बोल दिया कि मैं सनी को पसंद करती हूं. जब उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो उसने मुझे बेड पर अपने नीचे पटक लिया और मेरे ऊपर चढ़ गयी.

নেপালি বফঁ अब मैं भी उसकी चूत में लंड पेलने के लिए और ज्यादा इंतजार नहीं कर सकता था. कुछ देर बाद भाभी ने लंड झेल लिया और कराहते हुए लंड को अन्दर बाहर करवाने लगीं.

मैंने आकाश से कहा- आप मुझे मम्मी न बोलिये, मेरा नाम मीरा है, मुझे मीरा ही कहा कीजिये. फिर उसके लंड को हिलाते हुए मैंने दूसरे हाथ की अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल दी. मैंने भी भाभी की टांग खींचते हुए बोला- क्यों भैया ज्यादा परेशान करते हैं क्या?इस पर वो थोड़ी देर तक तो कुछ नहीं बोलीं.

ब्लू फिल्म देखने ब्लू

मेरी बीवी की खुली चुत को वो मिस्त्री अपनी नाक से कुत्ते की तरह सूंघने लगा और अपनी जीभ से उसकी चुत का भगनासा चाटने लगा. उसके मोटे मोटे दूध जब मेरी छाती से लगे तो इतने ही इशारे में लंड महाराज भी खड़े हो गये. इस तरह मेरे करीबी दोस्त अविनाश ने अपनी बीवी ऋतु को गैर मर्द से चुदवा दिया था, लेकिन मैं अपनी बीवी कुसुम की उसकी मर्ज़ी से किसी गैर मर्द से चुदवाना चाहता हूँ.

उसके जिस्म में एक अलग ही झुरझुरी सी दौड़ने लगती थी जब आसिफ उसके सामने होता था. मिस्त्री ने मेरा इशारा पाते ही ऋतु की बगल में हाथ डाल कर उसे उठा लिया और सोफे पर पटक दिया.

करण नाम के उस मर्द ने मेरी बुर में अपने लंड की मर्दानगी कैसे दिखाई … ये मैं हॉट गर्ल की बुर चुदाई की कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

दोस्त की गर्लफ्रेंड होने के कारण मैं दिव्या से खुल कर बात कर लेता था. फिर कुछ मिनट के बाद भाभी वहीं लेट गई और मैं उसके ऊपर लेट गया और चोदने लगा। फिर हम खड़े हुए और उसे झुका के मैं ठोके जा रहा था. मैंने अपनी पहली सेक्स कहानीदोस्त की बहन मुझसे लव करती हैलिखी थी जिसके बाद बहुत से लोगों का मेल आया था.

मैंने उनसे नमस्ते की, तो उन्होंने कहा- तुम कल आ जाना … आज मेरी तबियत ठीक नहीं है. वो मस्ती में आवाज निकाल रही थी और नीचे से अपनी गांड उठाते हुए धक्के लगा रही थी. मैंने मिस्त्री से पूछा- क्या चाहिए तुम्हें?वो भी तुरंत समझ गया और बोला- मुझे भी तुम्हारी बीवी को चोदने दो … नहीं तो मैं ये वीडियो वायरल कर दूँगा.

यानि कि वह गहरी नींद में थी।उसके बाद मैंने उसकी चोली के हुक खोल दिये। उसकी चूचियाँ उछलकर बाहर आ गईं।अब मैंने दोनों हाथों से उसकी दोनों चूचियाँ दबाईं.

अनुष्का के बीएफ: मैं सुबह 9 बजे अपने ऑफिस में चला जाता था और शाम को करीब 7 बजे वापस लौट कर आता था. और उसे यह भी कहा- श्वेता की चूत चोदने के बाद मान्या को घर ले आओ।प्रिय पाठको, यह मेरी असली सेक्स कहानी है। आपको कैसी लगी? कमेंट लिखिए।अंजलि शाह[emailprotected].

क्या तू मुझे अपने घर मिलने देगी?उसका बॉयफ्रेंड भी हमारा क्लासमेट ही था इसलिए वो मेरा भी फ्रेंड था. मैंने उससे कहा- अब मुझ पर कोशिश करो।उसने मेरे माथे पर, फिर गाल, और फिर होंठ चूमने शुरू कर दिया।उसके बाद उसने मेरे शरीर को रगड़ना शुरु किया और फिर वह मेरे स्तन पर हाथ ले आया।मैंने उसे कहा- मेरे बूब्स दबाओ।मैं उत्तेजित हो रही थी. मैंने देखा कि उसके शरीर पर कई जगहों पर लव बाईट बने हुए हैं।मेरे इस प्रकार लव बाइट देखने से वो भी उन्हें देखने लगी.

उसने भी मेरी तरफ मुस्कुराते हुए देखा और गिलास को होंठों से लगा लिया.

उसकी ये स्थिति इतनी अधिक बेचैन कर देने वाली लग रही थी जैसे ये अभी मुझे अपनी चूत में ही घुसा लेगी. मेरी चूत का पानी किस तरह निकालना चाहोगे तुम? (अपनी चूत को रगड़ते हुए). मैंने हंसते हुए हां में सर हिलाते हुए कहा- भाभी, मुझे आपसे बहुत कुछ सीखना पड़ेगा.