सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी

छवि स्रोत,फूल वाला केक

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो मास्टर: सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी, शर्मीली सी रेणु को शेखर ने अपने प्रेम से इतना सराबोर कर रखा था कि अब वो खुलकर उसे उकसाने लगी थी.

भूत का बच्चा

मैं अपनी सेक्सी बहन को बार बार देखे जा रहा था और मेरे मन में गंदे गंदे ख्याल आ रहे थे. jiostore मटकादो पल बाद मैंने लंड को थोड़ा बाहर खींचा और उसकी गांड में जोर से धक्का दे मारा.

मेरे कमरे में आते ही वो मुझसे दूर हो जाती थीं और अपनी बातें खुसपुसा कर करने लगती थीं. कुत्ते वाली सेक्सीअब मेरे अन्दर जवानी आ रही थी, मेरा कद 5 फ़ीट 8 इंच, कंधे, छाती, हाथ पाँव की मांसपेशियां मजबूत बन रहीं थीं.

आप अन्तर्वासना की हिंदी देसी सेक्स कहानी की इस साईट से जुड़े रहिये और मुझे मेल जरूर कीजिएगा.सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी: मजा तो मुझे भी अब बहुत आ रहा था … मगर शायरा को मेरी चुदाई करने का तरीका दिखाने के लिए मैंने अब ममता जी के ऊपर से उठकर उन्हें घोड़ी बना लिया.

पापा कहने लगे- तू यहां क्या कर रहा है?मैंने कहा- क्या हुआ? मम्मी क्यों चीख रही थीं?गुस्से में पापा ने कहा- तू अपने पलंग पर जा कर लेट जा, मम्मी ठीक हैं.उसने एक और जोरदार धक्का मारा तो इस बार उसका पूरा लौड़ा मेरी गांड में घुस चुका था.

सेक्सी वीडियो हिंदी गांव - सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी

मैंने और ज्यादा जोर देने के लिए उसके कूल्हों को अपने हाथों से दबाना शुरू कर दिया.मैं चंडीगढ़ में रहकर अपनी पढ़ाई कर रहा हूं … देखने में और पढ़ने में मैं बिल्कुल ओके हूं और स्पोर्ट्स में भी मेरी काफी रुचि है.

भाभी भी असीम आनन्द में कमर झुलाते हुए चुदाई के आसमान में उड़ रही थीं. सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी मेरे प्यारे प्यारे पतियो, आपको मेरी पति के दोस्त से सेक्स की कहानी में मजा आ रहा है न.

उसने मुझे कई बार चोदा लेकिन शादी के बाद अपने पति से ही चुदवाती हूँ.

सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी?

इधर मैं आप सभी को उसके बारे में कुछ बता दूं ताकि आपको भी उस रेखा की जवानी का अंदाज हो जाए. भाभी जी- आर यू श्योर … क्या तुम्हारा इरादा पक्का है?मैं- जी भाभी जी. कभी मामी की चुचियों को चूस लेता, कभी उनकी गर्दन पर चुम्बन कर देता … कभी उनके होंठों को काटने लगता.

मेरी मोटी गांड उसके लंड से सटी थी लेकिन समीर एक इंच भी पीछे नहीं हटा।जब सब सामान लेकर हम दोनों मंडी से बाहर निकलने लगे तो वो गली एकदम पतली सी थी और उसमें खूब भीड़ थी. मुश्किल से 2 मिनट चाटी होगी कि उसकी चूत से फिर एक फव्वारा छूट पड़ा. उन्होंने अपनी आंख से पट्टी उतार दी और बोली- यह क्या कह रही हो?मैंने कहा- मैं यह करना चाहती हूं, यह मेरी बहुत बड़ी इच्छा है.

वे हंसने लगे बोले- स्मार्ट हो गए हो, बातें भी बनाने लगे … चलो देखेंगे. यामिना चुदते चुदते, हिलते हुए मेरी आँखों में देखकर मुस्कराई और आंखों के इशारे से सहमति दे दी और बोली- पहना … देना. ”जैसे ही वो ब्रा को उठाने के लिए फर्श पर लेटा, मैंने उसकी चुस्त गांड पर अपना पैर रख कर दबा दिया.

हम दोनों ने एक और राउंड लगाया और फिर सुबह की चहल पहल से पहले ही मैं बुआ के घर से निकल गया. च्चप्पड़ च्चप्पड़ करके मैंने चूत को चाटा, तो रोशना ने अपनी गांड उठा कर चुत मेरे मुँह में घुसेड़ दी.

मैंने कहा- देख लो, आ गया तो दिक्कत न हो जाए आपको!मोना भाभी बोलीं- आओ तो सही.

मैं लगातार अपनी कमर हिलाने लगा और धीरे धीरे चुदाई की अपनी गति बढ़ा देने से रंजू के गुदाज़ चूतड़ों से थप थप फट फट की धुन बजने लगी.

स्नेहा- दीदू ममता दी को शर्म नहीं आई होगी अपने भाई के सामने नंगी जाने … और उनसे अपनी चूत चुदवाने में … उनका लंड चूसने, चूत चटवाने में … कैसा लगा होगा उन्हें अपनी चूत में अपने भाई का लंड ले कर! मैं तो सोच कर कांप रही हूं … छी: कितनी बड़ी रांड है वो!नेहा- मेरी नजर में वो पहली लड़की नहीं है, जिसने अपने भाई से चुदवाया है. फर्स्ट फ्लोर पर हम लोग खुद रहते हैं और बाकी के दोनों फ्लोर हमने किराये पर दे रखे हैं. सेक्स कहानी के पिछले भागमुझे एक नया लंड मिल गयामें आपने पढ़ा था कि किस तरह से डॉक्टर ने मुझे जांच के बहाने से अन्दर किया और मेरी चूत चोद ली.

बल्कि हकीकत में इस ओर्गास्म के अहसास से बेहतर और कुछ भी नहीं। मैं इस अहसास को कभी नहीं भूल सकती. मैंने पूछा- तो आप इतनी रात को क्यों जा रही हो, कुछ काम था क्या आपको? या कहीं से आ रही हो?पहले तो वो बताने से मना करने लगी और बात को टालने लगी. कुछ देर बाद भाभी ने मेरे सर को सहलाया और अपने दूसरे निप्पल की तरफ किया.

तो मैंने हड़बड़ा कर लंड निकाला और मम्मी को झूठमूट का सहारा देते हुए आवाज दे दी थी कि कुछ नहीं हुआ पापा वो बिल्ली आ गई थी और मम्मी घबरा गई थीं.

पापा ने इशारा किया तो मैंने पापा के लंड पर थूक लगा कर मम्मी की चूत में डाल दिया. हम दोनों के रूम्स में एक दरवाजा था, जो दोनों तरफ से बंद किया हुआ था. उन सबके लंड का रंग हमेशा काला देखा है, लेकिन तुम्हारा लौड़ा एकदम गोरा है.

मैं लौटने लगा, तो प्लेटफॉर्म के कोने में एक छोटे कमरे के पास रुक कर प्रभात बोला- मेरे पास आपके लिए और मिठाई है. थोड़ी देर बाद जब मैं भाभी की नाइटी खोलने लगा … तो भाभी मना करने लगीं कि यहां नहीं … नीचे चलते हैं वरना यश बेटा जग जाएगा तो गड़बड़ हो जाएगी. कुछ ही देर में हम दोनों फिर से गर्म हो गए और अब 69 के पोज़ में आ गए.

कुछ देर अनुरोध करने के बाद दिव्या भी लूडो खेलने लगी।तो साथियो, करीब 2 साल बाद लिखी गई मेरी कहानी आपको कैसी लगी मुझे जरूर बताएं.

उसके बाद मुझे बाहर जाना पड़ा।पर अब भी मैं जब कभी कानपुर जाता हूँ तो उनसे जरूर मिलता हूँ।दोस्तो, मैं अर्णव अब आपसे विदा लेता हूँ।आपको मेरी फीमेल ओर्गास्म सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताइयेगा। मुझे आपके सुझाव और प्रतिक्रियाओं का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]. हमेशा की तरह मैं नंगी होकर अपनी चूत को उंगली से ही शांत करने की कोशिश करने लगी.

सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी अजय- हां मैंने भी सुना है … और तेरे बाप ने बताया है कि तुझे नंगी फिल्मों में काम मिलने लगा है. मैं प्रभात को दो साल से जानता था, पर आज तक ये नहीं जान पाया था कि वो भी साला गांडू है.

सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी उसकी ड्रेस को मैंने उसके चूचों तक उठा दी और उसके चुचो को ब्रा के ऊपर से ही चाटने लगा. कुछ ही देर में मामी का शरीर अकड़ने लगा और वो बोलने लगीं- आह और जोर से चोद … मैं गई.

उधर मेरे लंड के हर झटके पर अपनी गांड को पीछे धकेल कर पूरा लंड अन्दर लेने को बेताब रंजू मुझे नशे से गाफिल किये हुए थी.

सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियो देखने वाला

जब हम खाना खाने लगे तो मैंने पूछा- तुम्हारी बात हो गयी क्या तुम्हारे बॉस से?वो बोली- हां, सारी बात हो गयी. पीहू को लेकर मैं बाहर गॉर्डन में आ गई और उधर किचन में दोनों काम में लग गईं. वो रोज मेरी ट्रैक पैंट में उभरी गांड के पहाड़ों को देखकर मजा लेता था.

उसने मुझे 2 डब्बी ग्लिसरीन की देते हुए कहा- लो ये रखो, अब हम दोनों आगे भी मिलते रहेंगे. ममता जी की चीख इस बार कुछ ज्यादा ही तेज निकली थी और इस बार वो छटपटाई भी थीं. विदेशी आदमी बोल रहा था इंग्लिश में कि हमारी डील का क्या हुआ?मेरे बॉस ने मेरी बीवी की तरफ इशारा करके बोला- यह रही आपकी डील.

एक गेस्ट रूम था और एक बेड रूम।तो सर बाहर बैठे और मैं बेड रूम में आ गई.

जब उसे लम्बे समय के लिए अपनी पत्नी से दूर रहना पड़ा तो उसे अपनी तनहा रातें काटना दुश्वार हो गया. मैं नंगा तो था ही … उनके चूतड़ों पर बैठ कर उनकी पीठ की मालिश कर रहा था. मगर अब बहुत देर हो रही थी इसलिए प्रीति ने कहा कि अगले दिन करेंगे।हम बाथरूम में गई और एक दूसरे के बदन को साफ किया। फिर कपड़े पहन कर और तैयार होकर हॉट लेस्बियन्ज़ ने एक दूसरे को चूमकर विदा किया।मन बड़ा खुश लग रहा था और अंदर से इच्छा हो रही थी कि दिन बीत जाए और जल्दी ही वो दिन आये जब मैं उससे दोबारा मिलूंगी.

”ठीक है, बुलाओ उसे, हम समझें तो सही कि वो चाहता क्या है?”राबर्ट आया तो मैंने पूछा- तुम पायल को चोदने की बात कर रहे हो, पहले किसी को चोदा है?वो बताने लगा:हाँ, अपनी स्कूल प्रिंसिपल को. मैं अपने आपको देखती हुई बोली- अच्छा … ऐसे ही चली जाऊं! मेरे चेहरे की हालत तो देखो … तुमने मेरी हुलिया बिगाड़ दी है. जिस तरह से आपने मेरी पिछली कहानीदोस्त को दिलवाई सेक्सी लेडी की चूतको प्यार दिया, उसका मैं तहेदिल से शुक्रगुज़ार हूँ.

कल्पना मामी तड़पती हुई बोलीं- आह राहुउउल्ल छोड़ दे ना मुझे … क्यों तड़पा रहा जल्दी से चोद दे. दोस्तो, आप अनुमान नहीं लगा सकते कि मैं उस समय क्या महसूस कर रहा था, पर ये तय था कि मैं उत्तेजना के शिखर पर था.

मैंने उसको समझाया कि जब मेरे पति आएंगे तो उनसे ये मत बोलना कि मैं तुमको सड़क से उठाकर लायी हूं. मैं- बस थोड़ा और … अभी गांड न सिकोड़ना … थोड़ी देर ढीली रखें कॉपरेट करें … हल्की हल्की जल रही होगी. ये बात है सन 2007 की।लगभग पैंतीस छत्तीस साल की एक महिला रजनी एक सोफे पर बैठी किसी का इंतजार कर रही है।कुछ ही देर में एक लड़की आती है नाम है मानसी।वो आयी और बैठते हुये पूछा- आप ठीक हो?ओह हां, ठीक हूं, मैं बस कुछ सोच रही थी।” हड़बड़ाते हुये कहा उसने.

उस सुनसान ऑफिस के टॉयलेट में रंडी भाभी और चपरासी दोनों की चुदाई की दास्तान लिखी जा रही थी.

वहीं ज्योति ने ब्लैक जींस के साथ व्हाइट स्लीवलैस टी-शर्ट, खुले बाल … सिर पर गॉगल्स पहने थे. उतने में रंजू ने अनु दीदी के गाउन को खींच कर निकाला और दूर फेंक दिया. करीब हम 40 किलोमीटर पहुंच पाए थे कि अचानक ही काले बादल घिर आए और तेज़ बारिश शुरू हो गई.

वो जाने से पहले मुझसे कहकर गयी थी कि मैं उसके ससुराल में आकर उसकी चुदाई करूं. कुछ इतना काफी है ना?स्नेहा खुशी से उछलते हुए बोली- वाओ भैया … फिर तो मजा आ जाएगा.

दोस्तो, मेरी बॉस की हॉट बीवी सेक्स कहानी पसंद आई तो कमेन्ट जरूर करें।[emailprotected]. उसके मुंह से चीख निकल गयी- उफ्फ … उम्म!उसे दर्द हुआ था लेकिन उसने अपने आपको सम्भाले रखा. और फिर तुम लड़की होकर मेरी गांड कैसे मार सकती हो?तो मैंने बराबर में ड्रावर में रखा डिल्डो निकाला और अंकल को दिखाया.

भाभी की सेक्सी सुहागरात वीडियो

तभी प्राची अपने बच्ची को सुलाकर बाहर आयी और मुझसे पूछने लगी कि और दूध चाहिए हो तो मांग लेना.

फिर से मैंने उनके पैर अपने कंधों पर रखे और इस बार दो उंगलियां उनकी चूत में सरका दीं. मैं बिना किसी लिहाज के सबसे पहले अपने गीले कपड़े खोल कर बिल्कुल नंगा हो गया और बिना किसी हिचिचाहट के बेड पर चादर ओढ़ कर बैठ गया. नमस्कार मित्रो, जैसा कि डर्टी वाइल्ड सेक्स कहानी के पिछले पिछले भागभाभी ने दर्द देकर अपनी फैंटेसी पूरी कीमें मैंने बताया था कि उस जंगली भाभी ने मेरे साथ क्या किया.

वो इतने गुस्से में थी कि बस अपने पति को गालियां देकर ही उसकी बातें करती जा रही थी. निर्मला जी ने अपनी टांगों के बीच मुझे सैट किया और मैंने लंड उनकी झांटों वाली सांवली सी चुत में ठेल दिया. नाल ढोलक की कीमतजब खाने का समय हुआ तो मेरे ना आने के कारण भाभी मुझे आवाज लगाती हुई मेरे कमरे में आ गईं.

तभी अचानक से वो बाजू की अलमारी से दूसरी शॉर्टस निकालने के लिए झुकी, तो पीछे से उसका टॉवेल ऊपर हो गया और मुझे उसकी चूत के दर्शन हो गए. मगर प्यार मैं तुम्हीं से करता हूँ न कि उससे!कहते हुए मैं उसके होंठों पर उंगली फिराने लगा। वो फिर गर्म होने लगी।मृणालिनी- ठीक है, मगर अब से उसके साथ मत सोना.

एक बात और भी बता दूँ कि चमेली की बड़ी बहन आशा को भी मैंने ही चोद कर तैयार किया था. लेकिन चार साल से बिना चुदी हुई चुत, साढ़े चार इन्च मोटा लंड अन्दर कैसे लेती. मैंने उसकी कमर पर हाथ फिराते हुए पूछा- कैसा लगा?यामिना- बहुत ही अच्छा लगा, सच कहूँ तो ये शादी, रिश्ते सब कुछ बकवास है, यदि जिन्दगी की सच्चाई है तो वह है अपने मनपसंद आदमी से चुदना.

उसके चेहरे के भाव इतने कामुक थे कि मेरी अन्तर्वासना भड़की जा रही थी. मैंने एक नजर वेंटिलेशन पर डाली और वहां पड़ी एक टेबल उसके नीचे लगा कर ऊपर चढ़ कर देखा, तो मैं वहां तक पहुंच ही नहीं पाई थी. इस चुदाई से वो लड़की या भाभी अपने चोदू को एक रात के अच्छे पैसे दे देती हैं.

चाची ने जाली के दरवाजे पर नज़र डाली और जल्दी से अपना एक साइड का शर्ट थोड़ा सा ऊपर करके एक मम्मा बाहर निकाला और उसे एक हाथ से संभालते हुए मेरी तरफ कर दिया.

थोड़े से नम्बर ग्रेस मार्क्स के रूप में मिल जाते तो मैं पास हो जाता. प्रभात के साथ मेरी भी गांड लुकलुका रही थी, पर कुछ कह नहीं पा रहे थे.

ये जानकर मैंने अपने पर्स से 2000 के 2 नोट निकाल कर दे दिए जो उन्होंने लेने से मना कर दिया. किचन में खाना बनाते वक़्त अपनी साड़ी का पल्लू गिराकर या खिसका कर अपने उन्नत 34 साइज़ के उभारों को दिखाना और पीछे मुड़ कर अपने नितम्बों के दर्शन करवाना रेणु की आदत सी बन गयी थी. दीपक मस्त अनु दीदी को दोनों टांगों को चौड़ा कर हचक कर चोद रहा था और दीदी उसके हर झटके पर कराहती हुई चुत चुदाई के मज़े ले रही थीं.

तभी मेरे दिमाग में आया कि आज अपने मन की करने का अच्छा मौका है।फिर शाम लगभग 8. निधि ने मुझे खड़ा किया और मेरे होंठों से अपने होंठ लगा दिए … और चूसने लगी. कुछ काम बाकी है बस!इधर मैं फ़्रॉक पहनने लगी, तभी नीचे देखा, तो डॉक्टर का वीर्य मेरी चूत से निकल कर मेरी जांघों के बीच से टपक रहा था.

सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी कुछ मिनट की चुदाई के बाद जब चाची झड़ने की कगार पर आईं, तो वो मेरी पीठ पर हाथ लपेटकर मुझसे चिपक गईं. मैं ये क्रिया बार बार दोहराने लगी। मैं जितना कर रही थी प्रीति और अधिक गर्म और उत्तेजित हो रही थी।अब मैंने चूत की बड़ी भगोष्ठ को दो उंगलियों से फैला दिया और अपनी जुबान भिड़ा दी.

విజయవాడ సెక్స్ వీడియో

अमित … बहुत मज़ा आ रहा है, साले रुकना मत, वर्ना मां चोद दूंगी … भैन के लौड़े. उससे मुझे जो मजा आया, बस तभी से मुझे चुदाई करने का जुनून सवार हो गया. वो अपनी कुंवारी चुत में मोटा लंड एकदम से लेकर छटपटा उठी और चीखने लगी.

मैं- फ़लक, मुझे ब्रा और पैंटी से नफ़रत है, ये दोनों चीजें लड़की के हुस्न को छिपा लेती हैं. मुझे अकसर ऑफिस में देरी हो जाने के कारण में घर पहुंचने में कई बार देरी हो जाती थी. पुलाला सुगंध मातीचापीछे पैंटी में बस एक पतली पट्टी थी जो उसके नितंबों की दरार में छुप गयी थी.

अब आगे:शायद ममता जी को मेरे नीचे लेटकर ऐसे मज़े लेता देख शायरा को अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था, इसलिए वो नीचे से उठकर खिड़की पर खड़ी होकर लाइव ब्लू-फिल्म देखने लगी थी.

आज से मैं आपकी हूँ, जब मन करे आप मुझे बिना शर्त कभी भी चोद सकते हैं. यामिना चौड़ी टांगें करती हुई बेड से उतर कर बाथरूम गई और आकर चुपचाप कपड़े पहनने लगी.

एक मिनट से कम समय में मेरा लंड हिनहिना उठा और मैं बिना कुछ कहे उनके ऊपर चढ़ गया. लंड की लंबाई 7 इंच के आस पास ही है, लेकिन मोटा इतना है कि किसी भी चूत में आसानी से नहीं जाएगा … सामने वाली की आंखों में आंसू ला देगा. मुझे उस दिन अपने घर के लिए निकलना था और इसके लिए ही मैं कॉलेज से जल्दी आया था.

इथर मैंने पोजीशन बदलकर रोशना को घोड़ी बनाया और पीछे से लंड पेल लार उसे चोदने लगा.

उसके बाद मैंने उसकोघोड़ी बनाकर पीछे से चूत चुदाईकरने लगा।उसकी कमर का आकार बहुत कामुक लग रहा था तो मैंने उसकी कमर को पकड़ लिया. हम दोनों पसीने में भीगे थे और हमारे बदन किसी भट्टी की तरह तप रहे थे. मेरे पूरे गोटों को उन्होंने अपने मुँह में भर लिया और चाटने चूसने लगीं.

नोट एचडी सेक्समैंने रीना से पूछा- लंड कैसा लग रहा है जानू!रीना- बहुत ही मस्त लग रहा है … तुम्हारा लंड सच्ची में मज़े दे रहा रहा है. उसके कान को अपने मुंह में लेकर मैंने गीला कर दिया।मैं उसको पूरा मजा देना चाहता था क्योंकि उसका ये पहली बार था.

राजस्थानी स्कूल

वो ब्रा-पैंटी में थी।संजना शर्मा रही थी।मैंने मना भी किया तो विजय ने अपना लंड बाहर निकाल दिया और संजना से कहा कि चूसो इसे।संजना ने उसके लंड को चूसना शुरू किया तो विजय ने उसकी ब्रा निकाल दी और मुझसे कहा कि वो उसकी पैंटी निकाल कर उसकी चूत चूसे।होते होते सभी के कपड़े उतर गए. अब हालत ये थी कि एक तरफ पीहू उनका दूध पी रही थी और दूसरी तरफ से मैं चूची चूस रही थी. उसकी आंखों से अब आंसू निकलना तो बंद हो गए, मगर वो अब भी हैरानी से मुझे घूर घूर कर देख रही थी.

पेशेंट डॉक्टर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं डॉक्टर के पास अपनी जांच करवाने गयी तो डॉक्टर मुझे, मेरी जवानी को घूरने लगा. दोस्तो, मेरा नाम मनप्रीत है। मेरी उम्र 21 साल है और मैं खूबसूरत हुस्न की मालकिन हूं. जब मैं भारत देश जाता हूँ तो मौका निकालकर उसकी चुदाई ज़रूर करता हूँ।ये थी मेरी दोस्त की चुदाई की कहानी.

बुर पर लण्ड का स्पर्श पाते ही पायल बड़ी मादक आवाज में बोली- विजय मेरी जान!पायल के चूतड़ों को मैंने अपनी ओर दबाया तो मेरे लण्ड का सुपारा उसकी बुर के मुखद्वार में फंस गया. मैंने उससे बोला- दवा का नाम गूगल कर ले और किसी को पर्ची पर लिख कर दे देना वो दवा स्टोर से ले आएगा. नीचे दी गयी ईमेल पर अपने मैसेज भेजें।[emailprotected]मेरी प्यासी चुत की कहानी का अगला भाग:योग के बहाने भोग तक का सफर- 3.

कुछ समय में वो जैसे ही चुप हुई, तो मैंने लंड बाहर खींचा और एक तेज झटके से उसकी चुत में फिर से अपना पूरा लंड घुसा दिया. एक दिन जब मैं स्कूल से घर आया, तो घर का मेन गेट खुला था … अन्दर से बंद नहीं था.

लेकिन अब यही मौका था प्राची से खुलकर कर बात करने का … और मैं ये मौका गंवाना नहीं चाहता था.

इसी चुत से 1 बच्चे को निकाल चुकी है और अपने बॉयफ्रेंड से भी नियमित चुदवाती रही है, फिर भी वो मेरा लंड चुत में पूरा नहीं ले पा रही थी. सेक्सी फिल्म अंग्रेजउसकी इस टी-शर्ट का गला भी थोड़ा बड़ा था, जिससे भाभी के बूब के बीच की लाइन थोड़ी ज्यादा ही दिख रही थी. पुलिस वाली लड़की की सेक्सी वीडियोतू जल्दी जा और अस्पताल में दिखवा दे।मैंने कहा- ठीक है, मैं अभी जाता हूं. मेरे आते ही उसने अपना लौड़ा मेरे मुँह में डाल दिया और मैं उसके लंड को चूसने लगा.

उसकी गोरी गांड देखकर मेरा लंड कड़क होने लगा, जो मेरी शॉर्ट्स के ऊपर से दिख रहा था.

दीदी बोलीं- मेरा मन भी है … तेरे पास एक्स्ट्रा है क्या?मैं दीदी की बात सुनकर चौंका … फिर मैंने कहा- नहीं है … आप कहो तो लेकर आऊं?दीदी ने सौ का नोट दिया और बोलीं- हां एक डिब्बी ला दे. आपके स्नेह और प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा में।आप अपना स्नेह और प्रतिक्रिया कृपया निम्नलिखित ईमेल आईडी पर भेजें।धन्यवाद।[emailprotected]. अभी दो महीने पहले की बात है, हमारे फाइनल एग्जाम हुए तो मैं मैथ्स में फेल हो गया.

उन्होंने मुझे ऐसे दबा रखा था, जैसे वो मुझे अपने जिस्म के अन्दर समाना चाहते हों. स्नेहा- दीदू एक बात और?नेहा चाय की चुस्की लेते हुए- हां हां वो भी बोल दे?स्नेहा- आपने कितनी चूतें, भोसड़ी या भोसड़ा देखे हैं … सच सच बोलना!नेहा- हांआं ये तो याद तो नहीं … पर कई चूतें भी देखी हैं … और कई भोसड़ी और भोसड़े भी देखे हैं. Xxx बस सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक दिन मुझे सूझा कि मैं लोकल बस में सफर करके अपने जिस्म से मर्दों को ललचाऊँगी.

बिहार की सेक्सी वीडियो में

वो मादक स्वर में सिस्कारते हुए उसी प्रकार खड़ी रही और मैं उसकी चुत के खड़े होंठों पर अपनी जुबान फिराने लगा. वो हंस दीं और बोलीं- हां कई बार … तू आज मुझे सारी रात चोद दे … मेरी आग बुझा दे. इतने में प्रशांत बोला- आप जैसी भाभी के लिए हम लोग बीवी तो क्या, अपनी बहन भी शेयर कर सकते हैं.

डॉक्टर बोला- क्या!मैं बोली- तुम्हें अपना स्पर्म मेरी चूत में ही डालना होगा.

मेरा एक बार तो दिल किया कि लंड उनकी गांड में ही घुसा दूँ मगर ये सोचकर रह गया कि कहीं वो बुरा ना मान जाए.

मैंने जब उसका लौड़ा आगे पीछे किया, तो उसके सुपारे की चमड़ी से साफ़ महसूस कर लिया. मैंने हल्का सा धक्का उसकी बुर में दिया और वो दर्द के मारे तिलमिला उठी. घोड़े की घोड़े की सेक्सी[emailprotected]हॉट दीदी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:भाई के लंड से दीदी की चुत गांड चुदाई- 2.

उसकी ऊंची और कामुक सिसकारियां इस माहौल को और ज्यादा गर्म कर रही थीं और इस लाइव सेक्स चैट सेशन का मजा दोगुना हो गया था. प्राची की चूत फिर से पानी छोड़ने लगी थी और मेरे सात इंच के लंड को लेने के लिए तैयार थी. उसके इस तरह से झूठ बोलने के कारण मैं भी मन ही मन खुश हुआ और मैंने सोचा कि शायद इसके मन में भी कुछ है मेरे लिये.

मैं- मैं क्यों बताऊँगा?चाची- नहीं, तू बता देगा, पहले प्रॉमिस कर कि किसी को बताएगा नहीं. एक दिन मैंने हिम्मत करके पिंकी भाभी को एक लाइट सेक्स वीडियो देखने को दे दिया.

सुबह 5:00 बजे मम्मी की नींद खुली तो मुझे पास में नंगा लेटा देखकर घबरा गईं.

दीदी इस वजह से जाग गईं और बोली- ये क्या कर रहे हो तुम?मैंने अपने लंड से दीदी को झटका मारा और बोला- आज यही करना है. उनका माशूक लौंडों की गांड में मिसमिसा कर लंड पेलना बार बार मेरे चेहरे के आगे घूम रहा था. हमेशा की तरह मैं नंगी होकर अपनी चूत को उंगली से ही शांत करने की कोशिश करने लगी.

मैडम की सेक्सी वीडियो सीईई … इस्सस … आह्ह मेरी जान … मार मेरी चूत को! आज मिटा दे इसकी खुजली! साली बहुत खुजलाती है … तुझे बुलाया था अपनी चूत खुजली मिटाने के लिये … लेकिन ये साली हरामजादी नीतू कहाँ से आ गयी! लेकिन अब तू रुकना मत … चोद मुझे पूरा दम लगा कर।रूपाली न जाने क्या-क्या बोले जा रही थी।उधर मैं भी उसकी चूत में ताबड़तोड़ धक्के लगाये जा रहा था।मुझे रूपाली की चुदाई करते हुए अब पंद्रह मिनट से ऊपर हो गये थे. मेरा लंड देख कर वो बोली कि ये तो मेरे चुत में घुसेगा ही नहीं … या घुसेगा तो मेरी चूत फाड़ देगा.

फ़लक मुस्कराते हुए बोली- सर, आज तो बुरी तरह से दुख रही है, लगता है चूत सूज गई है, कल कर लेना?हम वाशरूम के शीशे के सामने खड़े थे. रेणु के पास तो हर्ष था जिसकी वजह से वो व्यस्त रहती लेकिन शेखर नोएडा में अकेला था और अपनी आदत से मजबूर रात भर सेक्स की आग में तड़पता रहता था. अमन ने इसी का फायदा उठाया और वो मेरे चूतड़ों पर अपने लंड को लगाकर दबाव बनाने लगा.

सेक्सी मराठी पिक्चर पाठवा

जीभ को अंदर-बाहर व ऊपर- नीचे उसकी चूत पर चलाते हुए सेक्सी बहन की चूत के रस को चाटने लगा. क्लासमेट सेक्स कहानी के पिछले भागक्लासमेट की चूचियों का दूध पीयामें अब तक आपने पढ़ा था कि प्राची मेरा लंड चूस कर वीर्य पी चुकी थी और मेरे साथ फिर से कामुक हरकतें करने लगी थी. तभी रिचर्ड मुझसे मुखातिब हुआ और बोला कि आप दोनों एक दूसरे को पसंद करते हो, यह जानकर मुझे अच्छा लगा.

उसके सामने ही मैंने उसकी चूत का रस लगे अंगूठे को मुंह में लेकर चूस लिया. वो बार बार मंद मंद मुस्करा रही थी जिससे मुझे पता लग रहा था कि ये मोहतरमा भी अपनी चूत देने के लिए तैयार हैं शायद।तभी थोड़ी दूर चलने पर महकशां ने मुझे दूसरे रास्ते पर मुड़ने के लिए कहा.

मैंने जानबूझ कर अपनी साड़ी का पल्लू इस तरह से गिराया कि जैसे वो अपने आप हो गया हो.

अगली बार मैं आपको इस सेक्स कहानी में अपनी चुत की न बुझने वाली प्यास का आगे का किस्सा लिखूंगी. उसका लण्ड किसी रेलवे इंजन के पिस्टन की तरह एक निश्चित रफ्तार से पायल की चूत में चल रहा था. नसीम भाईजान समझ रहे थे इसलिए मुझे पुचकार रहे थे- बस हो गया … मैं धीरे धीरे करूंगा.

मैंने कहा- एक बार फिर से कहना! तुम सेक्स के बारे में इतने बेबाक तरीके से कैसे बात कर लेती हो? मैं तो सोचता था कि ल़ड़कियां सेक्स के बारे में गुप्त तरीके से ही बातें करती होंगी. वो जोर से चिल्लाने ही वाली थी कि तभी मैंने उसका मुँह दबा लिया और रुक गया. इसी बीच एक बार बहुत तेज बिजली चमकी और ऐसा लगा कि आस-पास ही कहीं बिजली गिरी हो.

मैंने जल्दी से शॉवर लिया और खुद को आईने में देखने लगी कि कितनी सेक्सी लगती हूं मैं और अपनी चूत को छूने लगी.

सेक्सी वीडियो बीएफ राजस्थानी: मैंने भाभी की नाइटी को ऊपर उठा कर देखा तो भाभी की गांड पर वीर्य और खून की परत जम चुकी थी. मैं तुरंत जाकर उसके मुंह पर अपनी दोनों जाँघें फैला कर बैठ गयी। मैं खुद ही अपनी चूत उसके मुंह पर रख जल्दी जल्दी और जोरों से आगे पीछे कमर के सहारे रगड़ने लगी।उसने भी साथ देते हुए तुरंत हाथ उठाकर मेरे स्तनों को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया.

उसको ऐसे देख कर मेरी भी आंखों में आंसू आ गए, पर मुझे अब शायरा के आंसुओं को खुशियों में बदलना था. जब उनको पता लगा कि मैं इसी लड़के से शादी करने वाली हूँ, तो उन्होंने साफ़ कह दिया- जाओ तुम्हें जो करना है करो, मगर हमारे लिए हमारी बेटी आज से मर गई है. क्योंकि मेरी बहुत सारी सेक्स कहानी अन्तर्वासना पर पहले ही प्रकाशित हो चुकी हैं.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आपका प्रिय भोगू अपनी सेक्स कहानी में आप सभ का स्वागत करता हूँ.

फिर मैं थोड़ी इठलाते हुए बोली- अब आप इतनी मिन्नत कर रहे हो … तो मैं मना कैसे कर सकती हूँ. पांच मिनट बाद मैं पापा से अलग हो गई और फटाफट अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई. [emailprotected]पड़ोसी सेक्स की कहानी का अगला भाग:सेक्स की नगरी की रसीली चुदाई की कहानी- 3.