इंग्लिश बीएफ शॉर्ट

छवि स्रोत,ससुर पत्तों का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी विडीओ सेक्सी: इंग्लिश बीएफ शॉर्ट, अगले दो मिनट तक मैंने श्वेता की चूत को ऐसे ही उंगलियों से चोदा और फिर उसकी चूत को अपने दोनों हाथों से खोल कर अपनी जीभ की नोक उसकी चूत के द्वार पर हल्का हल्का फिराना शुरू कर दिया.

सेक्सी पिक्चर जंगली

मैं चाह रही थी कि आज मेरी चूत से लंड के घर्षण से उत्पन्न मादकता में मेरी चूत का पानी छूट जाये. देहाती लड़कियों की सेक्सी फिल्मधीरे से दरवाजे को खोलकर, बिना आवाज किये, दबे पांव मैं घर से बाहर निकल गया.

मेरी मालकिन आज मुझे बहुत ही गंदे तरीके से डाटेंगी, ऐसा मुझे लगने लगा. नेपाली सेक्सी वीडियो फुल एचडीउन्होंने कहा- अगर किसी ने हमें यहां अकेले बात करते देख लिया, तो ऐसी वैसी बातें होने लगेंगी.

आशू के साथ उसके चार दोस्त बैठे थे।मुझे उनकी तरफ आता देख एक ने बोला- वो देख आ गयी आशू की रंडी!फिर सब हँसने लगे।आशू- क्यों री … कल बुलाया तो क्यों नहीं आई?देखो मैं ऐसा वैसा कुछ नहीं करने वाली अब, वैसे भी हमारा ब्रेकअप हो चुका है.इंग्लिश बीएफ शॉर्ट: जेठजी का लंड शॉर्ट्स के अन्दर बेचैन हुआ जा रहा था और बार बार झटके पर झटके खाये जा रहा था.

जल्दी ही मेरी समझ में आ गया कि मैं एक स्पैशल पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी देख रहा था जिसमें गुज़री 20 जनवरी के दिन वसुंधरा ने मुझे … मुझे बोले तो, राजवीर को आइंदा के लिए अपने इस डगशई वाले कॉटेज के तमाम मालिकाना इख़्तियार अता कर दिये थे.उसके दोनों मोम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे, जिन्हें वो अपने हाथों से मसलने लगी.

सेक्स व्हिडिओ ओपन सेक्स व्हिडिओ - इंग्लिश बीएफ शॉर्ट

मेरे बेडरूम में पहुंचते ही उसने मेरी लुंगी खींचकर अलग कर दी और मुझे बेड पर लिटाकर मेरा लण्ड चूसने लगी.भाभी गुस्से में कहने लगीं- बहुत सारों के साथ किया है … मैं एक रंडी हूँ न.

उसने अपने दोनों हाथों से बेडशीट पकड़ ली और तकिये पर सर को इधर उधर करने लगी. इंग्लिश बीएफ शॉर्ट मेरा पूरा लंड भाभी के मुँह में ही था, तो आवाज उनके मुँह में ही दब कर रह जाती थीं.

दूसरे दिन के बाद मैं अपनी कार से लुधियाना के लिए निकला और रास्ते से हमेशा की तरह दो बोतल व्हिस्की ली और सीधा लोकेशन, जहां फ़ोटोशूट होना था, पहुंच गया.

इंग्लिश बीएफ शॉर्ट?

वो मेरे नंगे चूतड़ों पर हल्के से थप्पड़ मारता जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था।फिर उसने कहा- भाभी मुझे मजा आने वाला है. मेरे रोज रोज उनके घर जाने से मीना भी मेरी अच्छी खातिरदारी करने लगी थी. मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और मेरे लंड से निकले वीर्य ने भाभी की चुत को भर दिया.

पर क्या तुम जानते हो कि मुझे भी तुमसे चुदवाने का मन है?मैंने पूछा- कैसे? क्या बात कर रही हो?वो बोली- जैसे ही तुम कूपे में आए थे, मुझे लगा आज मेरी आग शांत हो जाएगी. नीचे से दीदी भी अपनी गांड उछाल कर चुदाई का मजा ले रही थीं और साथ में कामुक आवाजें कर रही थीं. उसको अब मजा आने लगा, प्रीति कहने लगी- संजय, और जोर जोर से चोदो, बहुत मज़ा आ रहा है.

” और मुस्कुरा कर बोली- इतनी छोटी सी फुद्दी है मेरी … देखो!”अपने अंगूठे से मेरे चूत के दाने को सहलाते हुए बोला- हाँ छोटी तो है. मैं अपनी सलहज को जब भी देखता, तो मेरी वाईफ आंखों से इशारा करती कि सब देख रही हूँ. उन्होंने अपने दांत भींचते हुए अपनी मुट्ठियां बंद कर लीं और ‘सीसीईईई … मर गई … इऊऊ … बहुत मोटा है … आआह्ह्ह … रुक जा.

दोपहर का खाना खाने के बाद आराम करने के लिए लेटा हुआ था कि मेरे कमरे में रेखा आ गई. और अंकल भी कुछ ही देर में ‘या बेबी … या बेबी …’ करते हुए मेरे मुंह में झड़ने लगे.

उसने 9 बजे के बाद मिलने का टाइम कहा था क्योंकि उसको बदनामी का भी डर था.

हम दोनों साथ में नहाए और नहाकर मै वापिस अपने घर आने के लिए तैयार हो गई.

मेरा विचार बना ही था कि मेरा लंड उनके बदन के स्पर्श से एकदम खड़ा हो चुका था और मेरी अंडरवियर आगे की तरफ बहुत ही फूल गई थी. तो मेरा भी मन केले रूपी संदीप के लंड को जड़ तक लेने का हुआ, लेकिन मेरी इस असफल कोशिश ने मुझे तड़पा कर रख दिया. अगर मैं ऐसे ही एकदम से चूत में लौड़े को घुसा देता तो वो दर्द के मारे मना कर देती.

मैं पीछे के गेट से गया और दरवाजे को हल्का सा धकेला, तो गेट खुल गया. भानुप्रताप अंकल ने अपना लन्ड मेरी चूत से निकाल कर मेरी गांड में डाल दिया. फिर अंकल मम्मी के ब्लाउज को खोलने लगे … कुछ ही पलों में ब्लाउज उतार दिया.

विवेक का लौड़ा सामने से मेरी नाइटी के ऊपर से इतना चुभने लगा जैसे लोहे का रॉड हो.

भाभी से बात करते हुए मैं एक हाथ उनके चूतड़ों पर फेरते हुए भाभी की गांड को सहलाने लगा. मुझे लगा अगर भाभी ने मम्मी को बता दिया, तो मैं तो समझो मारा ही गया. आपको मेरी स्टोरी के बारे में कुछ कहना हो तो मुझे नीचे दी गई मेल आइडी पर मैसेज करें.

हम दोनों अंदर रूम में चले गये, अंदर जाते ही सर मुझ पर टूट पड़े और मेरी जीन्स का बटन खोल दिया. लेकिन किसी तरह मैंने खुद को कंट्रोल कर लिया क्योंकि गलती मेरी ही थी. कोई बीस मिनट बाद मेरे लंड का पानी निकलने वाला था, पर इतनी जल्दी झड़ता, तो निधि नाराज़ हो जाती.

ऐसा लग रहा था जैसे कोई आसमान से परी उतर कर मेरे साथ उस कूपे में बैठ गई है।उसकी काली आंखें, तीखी नाक … मुस्कुराती थी तो ऐसा लग रहा था जैसे होंठों से फूल झड़ रहे हों.

वो बोला- अब कब आओगी?मैंने कहा- अब इतने मोटे लंड को छोड़ कर किसी और का लंड क्या काम करेगा. उसमें लड़कियों की ब्रा और पैंटी के इतने सारे डिजाइन होते थे कि मैं उनको देख कर हक्का बक्का रह जाता था.

इंग्लिश बीएफ शॉर्ट एक हसीन जवान औरत जो अंतरवासना से दोस्त बनी एक ऐसे इंसान के साथ जो उसे अंतर्वासना से मिला, उसके लिए हमेशा खड़ा रहा, आज एक बार फिर उसको अपना सब कुछ दे रही थी. एक दिन मैं और मोना मेरे कमरे में चुदाई का कार्यक्रम चला रहे थे कि हमसे एक गलती हो गयी.

इंग्लिश बीएफ शॉर्ट मैंने यह दिखाया उसके सामने कि जैसे मैं अपने जीवन में जिस बड़ी चीज का हकदार था, उससे वंचित रह गया उसके कारण. मैंने पूछा- कैसी लगी मेरे घोड़े की सवारी?उसने कुछ नहीं कहा और मेरे सीने से लिपट कर मेरे सोये हुए लंड को अपने हाथ से सहलाते हुए मेरे सीने पर चूमने लगी.

लगभग 30 साल की मीना की चूचियां 48 इंच और चूतड़ 60 इंच थे, दो शब्दों में कहूँ तो सफेद हाथी लग रही थी.

ब्लू फिल्में एक्सप्रेस टाइम टेबल

फिर उन्होंने मुझसे कहा- रूचि डियर, तुम्हारे जैसा मजा मुझे किसी लड़की ने नहीं दिया. ”आशू- सुबह-सुबह चढ़ा कर (दारू पीकर) आयी है क्या, तुझे पता है न मैं क्या कर सकता हूँ?वो मेरा वीडियो कॉलेज ग्रुप में डालने की धमकी देने लगा. पहली बार मैंने एक मर्द के वीर्य को अपने मुंह के अंदर लेकर उसका स्वाद चखा था.

अंदर जाते ही उसने दरवाजा बंद किया और मैंने जब उसको देखा तो देखता ही रह गया. नीतू ने टॉवल से अपना बदन सुखाया और मैंने भी फिर से शॉर्ट्स और टी-शर्ट डाल ली. मैंने जल्दी से अपना मुँह उनकी चूत पर लगाया और उनका सारा पानी पी गया.

फिर उन्होंने मुझे एक तरफ पटका और मेरी टांगों को खोल कर मेरी चूत पर अपने होंठों को रख दिया.

पैंटी की जाली के पीछे अपना हाथ रख कर बाहर से जाली को देखने से वसुंधरा की योनि के आस-पास की गोरी त्वचा का सा धोखा हो रहा था. पेंटी तो मेरी भी गीली हो चुकी थी, पर अभी तो मैं बस परमीत की चूत को छूना चूमना चाटना चाह रही थी. नौजवान नंगी लड़की ज्योति को बेड पर लिटा दिया, वो पेट के बल लेटी थी, उसके नंगे चूतड़ मेरे लण्ड को उकसा रहे थे.

वो आंखें मूंदे ही बोली- आप ही बता दीजिये … मैं किसको इमेजिन करूं?एकाएक मेरे मुँह से निकला- अपने भैया को. मम्मी कितनी गलत थीं, मैं उन्नीस साल का हो गया था और मेरा लंड भी बड़ा था. जेठजी मेरे पास आकर मुझे अपनी तरफ खींच लिया और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

पता नहीं था कि वो क्या करने वाला है।सुबह मुझे विशाल ने अपने साथ कॉलेज चलने को कहा; मैं चल पड़ी। जैसे-जैसे वो बोलता गया मैं करती गयी।उसने बाइक पार्किंग में रोकी। कुछ दूरी पर आशू और उसके दोस्त बैठे थे। उसने रास्ते भर से ही मुझे समझा रखा था। मैं आशू और उसके दोस्तों की ओर बढ़ी. मैं जानता हूँ कि तुम आज के बाद शायद ही मुझे मिलो और तुम्हारी जैसी माल मुझे दुबारा कहाँ मिलेगी.

हमारे यहां एक कहावत है ना चमड़े की जूती और चूत का कुछ नहीं बिगड़ता, जितनी घिसती है, उतनी लाल निकलती आती है. जैसे ही उसकी उंगली मेरी चूत में गई तो मेरे मुंह से आह निकल गई और मेरा मुंह खुलते ही विवेक ने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी. उन्होंने जल्दी करने को बोला, तो मैंने गद्दा मोड़ कर औंधा लेटा दिया और उनकी गांड को ऊपर की तरफ उठा कर उनकी कमर पर और गांड पर किस करने लगा.

फिर मैंने हिम्मत करके उसको बांहों में भर लिया और स्नेहा भी जैसे सब कुछ पहले से ही तय करके आई थी.

ये सब देख कर मुझे गुस्सा आ रहा था मगर पता नहीं क्यों मेरा लंड मेरी पैंट में अपने आप ही तन गया था. फिर तेरी दीदी ने भैया से एक ही शर्त रखी थी कि उसे बाहर जितने ब्वॉयफ्रेंड चाहे बनाने दो … भैया कुछ नहीं बोलेंगे. मैं बाहर के कमरे में पढ़ता था और अन्दर के कमरे में चाची सोई रहती थीं.

फिर उसने अपनी ब्रा भी उतार कर मेरी और फेंक दी- अब आप दोनों की महक लो!कहानी जारी रहेगी. उसने एक जोर से सिसकी ली और वो मेरे सिर को अपने मम्मों पर दबाने लगी.

साकेत भैया- तो मेरा नंबर ले लो, जब तुम्हें मौका मिले, तब तुम मुझे मिस कॉल कर देना. मुझे तो इतना मजा आ रहा था कि पूछो मत! मुझे लग रहा था कि दीदी के बॉस बस ऐसे ही मेरी फुदी को चाटते रहें. तो सचिन ने मुझसे पूछा- सुहानी दुबारा चुदवाओगी क्या?मैंने कहा- हाँ यार, एक बार और करते हैं ना।उसने बोला- ऐसे नहीं, खुल के बोलो साफ साफ।मैं हल्के से नीचे देखती हुई मुस्कुराई और फिर बोली- सचिन, एक बार और चोद दो ना मुझे प्लीज, बहुत मन कर रहा है फिर से चुदवाने का।सचिन खुश हो गया और उसने भी मेरे बूब्स को ज़ोर ज़ोर से मसलना शुरू कर दिया.

सुंदर लड़की की तस्वीर

मैं तेजी से उसके लंड पर मुंह को चला रही थी और वो भी मेरी चूत को मस्ती में जीभ से चोद रहा था.

मैं उसकी चूत चाटने लगा, उसके भगनासे को चाटता, कभी उसकी चूत में जीभ डालता. दस मिनट की धाकपेल चुदाई के बाद मैंने भाभी की चुत में ही सारा माल डाल दिया. मैं भी उनका पूरा साथ दे रही थी क्योंकि हम दोनों एक दूसरे को खा जाना चाहते थे.

अब तक की सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं रात को स्वीटी आंटी के ऊपर चढ़ गया था तभी उनके पति का फोन आ गया कि वो नीचे आ गए हैं. और फिर कुछ ही देर और लंड चुत की रगड़ाई के बाद मेरा प्यार अपने चरम पर जाकर पिंकी की चूत में किसी लावे की तरह फूट पड़ा। मैंने उसे कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया और मेरे लंड ने फुदक फुदक कर उसकी चूत को अपने रस से भरना शुरु कर दिया।मुझे महसूस हो रहा था जैसे आज मेरे लंड से रोज से दुगना वीर्य निकल रहा है. ऐ दिल है मुश्किल फुल मूवीतभी अभय ने अपने मोबाइल से ड्राइवर को फोन लगाया और बोला- नीचे गाड़ी ले आ.

लेखक की पिछली हिंदी सेक्स स्टोरी:सेक्सी भाभी ने मेरी चोरी पकड़ लीनमस्कार दोस्तो, मैं राज रोहतक से फिर हाजिर हूँ एक और कहानी लेकर ये कहानी मेरी एक महिला मित्र की है जिससे पहले मेरी फेसबुक पर बात हुई फिर उनको मुझ पर विश्वास हुआ तो हमने फोन पर बात की।तो उन्होंने अपने साथ हुई एक घटना बतायी. उसमें उसकी चूचियों के निप्पल कड़क हो रहे थे जो कि साफ नजर आ रहे थे। उसकी चूचियों को नंगी करके मैंने कसकर भींच दिया तो उसकी सिसकारी निकल गयी.

कक्क … कोई बात नहीं, इसे दिन में ऑफिस भेज दें और शाम को एक घंटे घर भी आप कहेंगी तो मैं हेल्प कर दूंगा पर … इसे मेहनत बहुत करनी पड़ेगी. मैंने जरा मूड में आकर पूछा थ, तो मालकिन फिर से सीधी होकर लेट गईं और साड़ी को नीचे लाते हुए झट से उठ कर बैठ गईं. अचानक ही कामविहिल वसुंधरा ने अपनी दोनों जांघों को थोड़ा और खोल दिया और वो कुर्सी पर अपने नितम्ब थोड़ा और आगे की ओर खिसका कर, नाईटी के ऊपर से ही, अपने दोनों हाथों से मेरा सर अपनी दोनों जांघों के ठीक बीच में जोर-जोर से दबाने लगी.

तभी संजय मेरे कान में बोला- आई लव यू!मैंने उसकी तरफ देखा और संजय ने फिर मुझे बेड पर लिटा लिया. दो चार लोगों से बात करने पर मुझे एक कामवाली मिल गई, लगभग 40 साल की थी और उसका नाम ममता था. मेघा के साथ भी ऐसा हुआ, मैंने अपना लंड उसकी चुत पर घिसा … तो उसने गांड उठाते हुए कहा- अब डाल भी दो … इतना क्यों तड़फा रहे हो.

भैया की अनुपस्थिति में मुझे भी भाभी के साथ चुदाई करने में बहुत मजा आता था.

मैं अपनी नौकरी की वजह से सम्पूर्ण भारत का भ्रमण करता हूँ, अनगिनत लोगों से मिलता हूँ, उनके किस्से सुनता हूँ. मैंने कहा- मैं जानती हूं चाची कि आप चाचा के लंड से चुदाई के बाद भी प्यासी रह जाती हो.

तभी एक कंपकंपी के साथ कामिनी ने मेरे मुँह को अपनी चुत में दबा लिया- आह राजा. मैं- तो आपने बर्दाश्त कैसे किया था?भाभी- तब तो तुम्हारे भाई ने जबरन पेल दिया था. मैंने कहा- क्या हुआ जीजू? आपको कुछ काम था क्या?वो बोले- नहीं, मैं तो अपने रूम में बोर हो रहा था इसलिए सोचा कि अपनी साली से जाकर बात कर लूं ताकि थोड़ा मन बहल जाये.

तभी मैं उसे चोदते हुए बोला- कैसा लगा रहा है मेरी प्यारी बहना … अपने भाई का लंड लेकर?वो कुछ नहीं बोली. जीजा जी ने खड़े होकर कंडोम को डस्टबिन में डाला और नंगे ही लंड हिलाते हुए मेज के पास जाकर एक पैग बनाने लगे. हमारा ड्रिंक और खाना दोनों साथ में चल रहा था, हम आपस में बातें कर रहे थे.

इंग्लिश बीएफ शॉर्ट कुछ देर के बद जब अंकल दीदी के पास आए, तो दीदी ने उनसे कहा- अब मुझे नींद आ रही है. इस पवित्र प्रेम के बीच ही मन में दबी वासना ने भी सर उठाना शुरू कर दिया.

चूत चुदाई फोटो

अगले दिन शिल्पा आंटी घर आईं, तो मम्मी ने उन्हें अंकल के बारे में बता दिया. मेरी हालत देख दीदी के बॉस समझ गए और फिर उन्होंने अपने लंड को हटा लिया, वे मेरे ऊपर लेट गए और होंठों को किस करते हुए बोले- बोल जान, चोद दू तुझे?हां!”पक्का?”ह्हा हाँ पक्का।”अगर तुम चिल्लाई तो?”नहीं चिल्लाऊँगी।”पेल दूँ तो फिर?”हां पेल दो!”और उन्होंने मेरे दोनों पैरों को फैला दिया और अपना गर्म मोटा लंड मेरी फुद्दी में टिका के लंड के सुपारे को मेरी चूत के छेद में मसलने लगे. ये सुन कर मेरी धड़कनें बढ़ गयीं। आज उनके इस अवतार को देख कर मुझे दीदी के करीब जाने में भय सा लग रहा था.

फिर अगले दिन, दुबारा बालकनी पर मैं चुटकी लेती हुई- क्यों, कल भाग गया इतना जल्दी। क्या हुआ था?रोहित- वो भाभी जी, क्लास का टाइम हो गया था ना! तो सॉरी!मैं- क्या जी जी लगा रखा है, सिर्फ रीना भाभी बोलो. अन्दर बाहर करते करते मैंने संगीता से कहा- अभी जैसे अपनी हथेली से तुमने अपना मुंह दबाया था, एक बार फिर दबाओ, देखूं कैसी लगती हो. নাঙ্গী সেক্সিमैं बार बार भाभी के चूचों के निप्पल दबा कर चूसता और हर बार भाभी का दूध मेरी पकड़ से छूट जाता.

उसकी स्पीड एक बार फिर कम हुई, मुझे समझ नहीं आ रहा था कि ये कर क्या रहा है.

पिंकी के लिए इतने दिनों की उत्ते =जना, नए बदन की लज़्ज़त, प्यार और सेक्स का मिश्रण इन सबके परिणाम स्वरूप मैं बहुत देर नहीं टिक पाया और पांच मिनट में ही स्खलित हो गया. आह्ह … मजा आ रहा है … ऊईई … मां!वो पूरी जीभ को मेरी चूत में घुसा कर उसे जीभ से ही चोदने लगा था.

वह अपने हाथ से मेरे सर को दबाकर अपना लंड पूरा मेरे मुंह में डाल देता जिससे बहुत सारा थूक आ जाता था. मैंने देखा कि संजू ने अपनी चूत के बालों को पूरी तरह से क्लीन शेव कर लिया था. उसके बाद मनु ने अपना दिमाग लगाया और उसके भाई से मेमने को दिखाने के लिए कहने लगी.

इधर नीचे से मनोज ने अपनी साली श्वेता की नंगी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया.

लेकिन अब ये एक नया रूटीन हो गया था कि लगभग हर रोज साकेत भैया कॉलेज में छुट्टी के बाद हम लोग के साथ ही आते थे. साथ ही मैंने अपने बाहुबल का आखिरी छोर तक उपयोग करते हुए डिल्डो से हचक कर चुत चोदने लगी. अभी उनका बच्चा बाहर कहीं खेल रहा था और भैया काम की वजह से बाहर कहीं गए हुए थे.

सेक्स पिक्चर वीडियो में दिखाएंएकदम से लंड घुसने से चाची की चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’इधर मैं भी नहीं रुका, मैंने दूसरा धक्का दे दिया. ज्योति से पूछताछ करते करते मेरा लण्ड खड़ा हो गया था और मैं उसको चोदने के बारे में सोचने लगा.

बच्चों के मसूड़े

तभी मैं उसे चोदते हुए बोला- कैसा लगा रहा है मेरी प्यारी बहना … अपने भाई का लंड लेकर?वो कुछ नहीं बोली. मैंने चाची से कहा- मैंने आपको चुत में उंगली करते देखा है और मुझे ये भी पता है कि बाजू वाले अंकल से आपका चक्कर चल रहा है. राजन ने दोपहर को ममता से फोन करके कहा- चलिए आज डिनर बाहर लेंगे, कल ऑफ है, कोई जल्दी नहीं है.

‘चल अब ज्यादा भाव मत खा … इसके बारे में पूरा बता, तुझे ये कैसे मिला, तूने इससे क्या किया, सब कुछ जल्दी बक दे. वहां उसका अपना दोस्तों का ग्रुप, पत्नी शोभा, जो एक स्कूल में टीचर है, और एक 5 वर्षीय बेटा था. उसने अपना डीपी व्हाट्सएप पर जो लगाया था, उसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी.

अगले ही पल दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाल दी, जिससे उनकी प्रिन्टेड ब्रा और 36 बी साइज के कातिलाना चुचे दिखने लगे. इस पर उसने हंसते हुए बहुत से रोमांटिक एंटीक पीस दिखाया और हर एक की खूबी बताते हुए प्रशंसा करने लगा. आलिया- कैसे हो मेरे राजा!मैं- एकदम बढ़िया … आप कैसी हो?आलिया- फर्स्टक्लास.

फिर उसने बोला- अगर तुम्हें सब मालूम है तो तुम ही क्यों नहीं मालिश कर देते. मैंने उसको दबी सी आवाज में कहा- सॉरी बाबू, आर यू ओके? तुम ठीक तो हो?उसने मेरी तरफ देखा और फिर से एक थप्पड़ मारा.

मुझे उन पर पूरा भरोसा हो गया था। वे हमेशा मेरी तारीफ करते थे, खासकर मेरे होंठों की तारीफ बहुत ज्यादा करते थे, वे कहते थे कि बस मैं इन्हें चूसते रहना चाहता हूं।उन्होंने मुझसे कहा- प्लीज एक बार दोबारा मिल लो।मैंने उनसे कहा- हाँ डियर, टाइम निकालती हूँ बहुत ही जल्दी … जैसे ही टाइम निकलता है, मैं पूरी रात के लिए आपके पास आ सकती हूं।वो टाइम भी जल्दी ही आ गया.

उसे मैं किसी रंडी की तरह अपनी चूत और गांड की साइज पूरी तरह से दिखाने लगी. योगा सेक्सी मूवीआलिया- कैसे हो मेरे राजा!मैं- एकदम बढ़िया … आप कैसी हो?आलिया- फर्स्टक्लास. लैला मजनू लैला मजनूतो ऐसा क्या हुआ कि सिर्फ दो साल के शादीशुदा जीवन में ही गुज्जू को शादी से बाहर किसी जिगोलो की ज़रूरत पड़ गई।मैंने फिर पूछा- तू यहाँ कैसे?वो बोली- जिस काम के लिए आप यहाँ आए हैं।मैं उसे लेकर बेड पर बैठ गया. वो बोली- सच, इतनी मस्ती से चोदते हैं क्या वो तु्म्हें?श्वेता का ध्यान अब उसके जीजा के लंड की तरफ ढाल दिया था मैंने.

सर मेरी गांड पर थप्पड़ मार रहे थे जिससे मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.

एक जवान लड़की के कोमल हाथों में जब लंड गया तो मैं खुद को रोक नहीं पाया. उस कमरे की बालकनी हमारी बालकनी से लगी हुई थी या ये कहिए कि दोनों कमरों के लिए एक ही बालकनी थी. आपको तो पता ही है कि शादी में बहुत सारे रिश्तेदार इकट्ठा हो जाते हैं और सबको कहीं न कहीं एडजस्ट करना होता है.

क्या वास्तविकता में, उनकी चुदाई उसी तरह से हो पाती है … या नहीं … या फिर शिखा मामी को मैं चोद भी पाता हूं कि नहीं. मेरी इस कातिलाना चूत पर संदीप की मेहरबानी ने गजब ढा दिया, शायद संदीप ने चूत को बहुत जोरों से सूंघा भी था. ओये सदके जावां …” उसकी शर्माने पर!और सच कहें तो यही शर्म एक स्त्री का गहना होता है.

सेक्स वीडियो दर्शन

जब लण्ड को अन्दर बाहर करना शुरू किया मैंने तो थोड़ी देर बाद रेखा बोली- मेरी टांग नीचे उतार दो, दर्द हो रही है. लेकिन मैं सोचती हूँ कि कब तक डिल्डो से ही काम चलाएंगे, हमें कोई लंड भी नसीब होगा या नहीं. मैंने उसकी चूचियों में मुंह दे दिया और उसकी चूत में लंड को धकेलने लगा.

नहीं तो किसी अनाड़ी से चूत का उद्घाटन करवाने में मुझे शांति ही नहीं मिल पाती.

जिंदगी में पहली बार मैंने किसी की चूत देखी थी, वो भी 19 साल की गदराई हुई कली जैसे चुत मेरे लंड के मरी जा रही थी.

जेठजी मुझे फिर से अपनी बांहों में जकड़ते हुए बोले- नहीं, इस बार मैं तुम्हें श्वेता नहीं, जस्सी ही समझ रहा हूं. मैंने बोला- क्या मैं तुम्हारे जांघिया को उतार दूं, अगर नहीं उतारा तो इस पर तेल के दाग लग जायेंगे. जंगल में का सेक्सी वीडियोकुछ ही धक्कों के बाद स्नेहा भाभी भी जोर जोर से अपनी गांड को पीछे करने लगी थीं.

उसने 9 बजे के बाद मिलने का टाइम कहा था क्योंकि उसको बदनामी का भी डर था. लेकिन वो मेरे और उषा के बारे में सब जानती थी कि मैंने उषा को चोदा है. सिल्क ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया मेरे 80 किलो का वज़न और चौड़ी छाती पे उसकी चूची दब गई जिस्म पे वासना का ज्वर चढ़ गया था.

मैं उसके पास गया, वो बिना कुछ कहे मेरी बांहों में समाते हुए मेरे गले लग गई. मेरे पापा मम्मी जब रंग लगाने के लिए गए, तो आंटी ने उन्हें यह कह कर रोक दिया कि उन्हें रंग लगाना पसंद नहीं, अबीर लगाइए.

मैं भी उसका लंड चूसने के लिए उतावली थी और जाकर सीधा उसका लंड अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

मेरे लिए इतना ही इशारा काफी था, तो मैं उसे एक बार फिर मजे से चूसने लगी. इस मंच पर लेखक लेखिकाएँ अपनी कहानियों को अपने अनुभव को आपके समक्ष प्रस्तुत करते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं होना चाहिए हम किसी की भी निजी जानकारी को आपके समक्ष रख दें. मैंने उसको कल ऑफिस जाने से मना कर दिया और बोला कि आप मेरे घर पर आ जाना.

চুদাভিডিও मैंने उसे कहा- मादरचोद, तू अब मेरी चूत में अपना लौड़ा घुसायेगा भी या बाहर ही माँ चुदवाता रहेगा?मेरी गालियाँ सुन कर उसे जोश आ गया और उसके मेरी चूत के छेद में लंड टिका कर एक धक्का मारा और एक बार में ही उसका पूरा लंड अंदर था. मोटे लंड के एकदम से घुसने से एक सिहरन सी उसके पूरे शरीर में दौड़ गई.

उस दिन घर पर हमने उस रात कैसे सेक्स किया … ये सब मैं आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में बताऊंगादोस्तो, किसी कारणवश मैं अपना ईमेल आईडी को चेंज कर रहा हूँ. मैं भी उसका साथ देने लगा और साथ ही साथ अपने दोनों हाथों से उसकी मस्त बड़ी-बड़ी गांड को मसलने लगा. मैंने जल्दी से परमीत के कपड़े उठाए और उसे खींचते हुए लेकर उसके रूम में घुस गई.

सेक्सी गाने गाने सेक्सी गाने

ये कह कर भाभी ने अपना ब्लाउज हटा दिया और वे पेट के बल बिस्तर पर लेट गईं. कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर से उतर कर मेरी बगल में लेट गए और मुझे उनके ऊपर आने का इशारा किया. उसकी रेशम सी मुलायम त्वचा को छूने का मजा ही कुछ और था, हाथ जैसे रुई पर घूम रहे थे.

मैं यहां थोड़ा अपनी पत्नी की भाभी और उसके भाई के विषय में बता दूँ … अर्थात मेरी सलहज और मेरा बड़ा साला. कोई पांच मिनट की चुत चुसाई में वो बुरी तरह से अकड़कर झड़ गयी और उसकी चुत से नमकीन अमृत निकलने लगा.

मैंने धीरे धीरे लंड को आगे सरकाना शुरू कर दिया और पूरा लंड उसकी चुत में उतार दिया.

वो बोला- ये वही पैंटी है क्या जिसमें तू तीन-चार महीने पहले ही एक लड़के के साथ पकड़ी गई थी?मैं बोली- हां वही है. ड्राइवर ने भी मुझे बांहों में लेकर अपनी ओर खींचते हुए कहा- क्या करता जानेमन, तेरी सास जो साथ में थी. उसकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे जैसे 4-5 दिन पहले शेव की हो या क्रीम से साफ़ किये हों.

मेरी गर्म सेक्स कहानी के पहले भागऑटो ड्राइवर ने सारी रात चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी स्कूटी खराब होने पर एक ऑटो में मैंने लिफ्ट ली. बेड के पास खड़े होकर मैंने ज्योति की दोनों टांगें पकड़कर अपने कंधों पर रख दीं और उसकी बुर पर अपना मुंह रख दिया. मैं बोला- नींद आ रही है क्या?वो बोली- नहीं, बच्चे के कपड़े प्रेस करने हैं.

एक दिन ऐसे ही घूमते घूमते उसने मुझे अपने कॉलेज के दोस्तों से मिलवाने के लिए कहा.

इंग्लिश बीएफ शॉर्ट: तभी विक्की ने मुझे सीधा करके मेरे गले पर किस करना चालू कर दिया और वो एक हाथ से मेरे मम्मों दबाने लगा. मैं अपना लण्ड उसकी चूत के पास ले तो गया लेकिन उससे उसकी चूत को रगड़ने लगा.

किताब मेरे हाथ में देखकर मीना बोली- क्या पढ़ रहे हो देवर जी?मैंने किताब बेड पर रखते हुए कहा- जो पढ़ना था, पढ़ लिया, अब मुझे अपने आंचल में छुपा लो. मैंने थोड़ा दरवाजा खोला, तो देखा कि स्वीटी आंटी पूरी नंगी होकर मनोज अंकल के लंड पर पर उछल-कूद कर रही थीं. इतने में श्वेता दीदी का एक मौसेरे बड़े भाई साकेत, जो श्वेता दीदी के यहां ही रहते हैं, वो वहां आ गए.

दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्सी कहानीपड़ोस की देसी सेक्सी लड़की की चूत की प्यासको पढ़ा, कैसी लगी बताइएगा जरूर.

राजन ने ममता से पूछकर सिगरेट जलाई और हँसते हुए उसकी ओर भी डिब्बी बढा दी तो ममता ने एक सिगरेट निकाल ली. लंड जब चूत में जा रहा था तो मुझे पच-पच की आवाज भी सुनाई देने लगी थी. मैं जानती थी कि मेरी दीदी भी शादी से पहले चुदाई करवा कर सेक्स के मजे ले चुकी थी.