यूक्रेन का बीएफ

छवि स्रोत,ससुर बहू की बीएफ सेक्सी हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

भाई के सेक्सी: यूक्रेन का बीएफ, इस बीच ओमार भी अपना लंड थामे किड की बगल में खड़ा हो गया, उसके खड़े होने के ढंग से लग रहा था कि वो रुसी वेश्या से बारी बारी किड का और अपना लंड चुसवाना चाहता था.

मराठीxxx v

मैं जब अमदाबाद में जॉब करता था, तब मैंने एक प्रोफ़ेशनल कोर्स में पार्ट टाइम एडमिशन लिया था, जिसकी क्लास शाम को होती थीं. बीएफ चोदा चोदी वीडियो सेक्सीदोनों जब बाहर आए तो दोनों एक दूसरे से लिपटे हुए थे और किस कर रहे थे.

और अभी तो भाभी का नौवाँ महीना बाकी था साथ ही अभी बच्चा भी होना था इसलिये हम किसी रिश्तेदार को बुलाने के लिये सोचने लगे. उत्तर प्रदेश की सेक्सी फिल्ममाया को लगने लगा था कि अमित को उसका जिस्म पसंद आ गया है और अमित उसको अपने लंड के नीचे लेटाना चाहता है.

वो चाय लेकर आई और चाय देने के लिए झुकी तो उसका पल्लू गिर गया, उसमें से उसके दोनों चुचे बाहर आने के लिए तड़प रहे थे.यूक्रेन का बीएफ: वो थोड़ा चीखी और बोलीं- अबे भोसड़ी के, थोड़ा धीरे से डाल, थोड़ा थोड़ा घुसा… मादरचोद, एक साथ ही पूरा मत घुसेड़… दर्द होता है.

वो फिर से मेरा लंड चूसने लगी जिससे वो दोबारा खड़ा हो गया, अब मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी, अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी, उसके बड़े बड़े मम्मे मुझे अपनी ओर खींच रहे थे कि हमें चूसो.वो मेरे सीने से चिपकी रही शायद उसे अच्छा लगा था इसलिए वो कुछ नहीं बोली.

देवर भाभी की सेक्सी बीएफ मूवी - यूक्रेन का बीएफ

इतना कहते ही मैंने पूनम को ज़बरदस्ती हग किया और उसके गालों की एक जम कर चुम्मी ले डाली.उनको परवाह करनी चाहिए थी कि अब मोहनलाल (इन भाई-बहन का पिता और मयूरी का ससुर) घर आ चुका था और वो हॉल में दरवाज़े के पास खड़ा, ये दृश्य देख रहा था.

धीरे धीरे भाभी की चुत में लंड के अन्दर बाहर करने का खेल चालू हुआ और फिर भाभी ने अपनी गांड उठा उठा कर झटके मारने शुरू किये और उनके मुझे से निकल रही वासना से भारी बातों ने मुझे और जोश दिला दिया. यूक्रेन का बीएफ इतने पर भी हम दोनों में इतनी हिम्मत नहीं थी कि एक दूसरे को बता सकें कि हम एक दूसरे को प्यार करते हैं.

सिर्फ एक 25-26 साल की लड़की के जो एक रेड कलर की साड़ी में थी, जो बहुत ही कमाल लग रही थी, जिसे देखकर मेरा लंड जीन्स में खड़ा हो गया, मतलब मेरा मन उसे चोदने को करने लगा.

यूक्रेन का बीएफ?

लंड टिका कर जीजाजी ने मेरी कमर में हाथ डाला और लताड़ लगाई- क्यों मरा जा रहा है? घबरा मत गांड ढीली कर, कुछ नहीं होगा. मेरा दोस्त शादी की तैयारी में काफी व्यस्त था इसलिए उसने मुझसे कहा- भाई तू खाना पीना खा और एन्जॉय कर. अब दूध पी कर मैं सीधा बाथरूम में गया और मीतू की पैंटी लेकर उसके नाम की मुठ मारने लगा और अपना पूरा माल उसकी पैंटी में छोड़ कर आ गया.

मुझ पर तो जुनून सवार था, मैं कस कस के काकी की चूत में धक्के मार रहा था. तभी ललित बोला- यार मुझे शायद ज्यादा दिन भी लग सकते हैं तो तू प्लीज इधर का ख्याल रखना. फिर उसे कुछ काम था तो वह बोली- अभी के लिए बाय! बाद में बात करते हैं!मैंने भी उसे बाय बोल दिया और मैं भी ऑफलाइन हो गया.

मैं भी डर गया पर उनकी ननद को देख मेरा लंड खड़ा हो गया और खड़ा लंड पैन्ट के ऊपर साफ़ दिख रहा था. इसी वजह से मैं उसके बूब्स चूसता रहा और सच कहूँ तो आज तक मैंने कई सुन्दर से सुन्दर लड़कियों की सील तोड़ी है लेकिन पता नहीं सिमरन में ऐसा क्या खास था जो मुझे उसकी तरफ आकर्षित कर गया. लेकिन ओर्क्य्त पर चैट कर करके हम फिर से बहुत करीब आ गये और बहुत अच्छे फ्रेंड हो गये.

मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी मेरा लंड अपने दोनों मम्मों के बीच में लेकर दोनों मम्में मेरे लंड पर दबायें. उसने मुझे सीधा किया और अपने लंड का जो वीर्य बचा था, वो उसने मेरी क्लीवेज में भर दिया.

मेरा रस निकलने वाला था, मैंने उसके मम्मों को ज़ोर से पकड़ा और सारा माल उसके हाथ और मम्मों पर गिरा दिया.

वे हम दोनों से कुछ बड़े थे, सत्ताइस अट्ठाइस के होंगे। हम दोनों उनके कमरे पर चले गए.

मैं भाभी से सॉरी सॉरी बोलने लगा, पर भाभी ने मेरी एक न सुनी और मुझे अपने कमरे से निकाल कर दरवाजा बंद कर लिया. फिर वो मेरे दोस्त अमित से बोली- छोड़ना शुरू करो यार… मेरी चूत में धक्के मारो! चोदो मुझे!अमित मेरी बीवी की चूत में अपना लंड पेलने लगा मेरी बीवी आनन्द विभोर हो कर आहें, सीत्कारें भरने लगी. मैं सुबह 3 बजे का अलार्म लगा कर सो गया, पर जिसको चूत के दीदार होने वाले हों, उसको नींद कहां से आएगी.

कॉलेज के पुराने टूटे क्लासों के पीछे वहां अन्दर का नज़ारा ही कुछ और था. फिर मैं मुड़ा तो देखा कि रश्मि भाभी एकदम नंगी बैठी थीं और अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. हालांकि वो अभी ये सोच ही नहीं पा रहे थे कि करना क्या है? मयूरी से बात क्या करनी है.

आखिरकार उसने एकदम झटका मारकर लंड को चूत के अन्दर सारा उतार लिया और मुझसे जकड़ कर चिपक गई.

सिर से लेकर पैरों तक मेरे बदन की कोई ऐसी जगह नहीं थी, जहाँ उसने मुझे किस ना किया हो. जब उसने बात खत्म कर ली तो मैंने उससे पूछा- तुम अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात कर रही थी?वो बोली- नहीं वो मेरा फ्रेंड है बस. ”बोलो बेटा क्या बात है?”पापाजी मैं भी चलूंगी शादी में… एक ही तो भाई है मेरा!”ठीक है बेटा, तू फ्लाइट से दिल्ली आ जाना, मैं यहाँ से ट्रेन से पहुंच जाऊँगा.

तब मैंने उसे आगे पढ़ने का सुझाव दिया जिससे मन लगा रहे और इधर उधर की बात में ध्यान ना लगे. मैंने अपनी तैयारी की और ट्रेवल एजेंसी में एक सीट बुक करा कर सुबह की बस से मैं जयपुर निकल गया. कुछ देर बाद मैं भी झड़ने लगा तो मैंने अपना लंड उनकी गांड से बाहर निकाला, उन्होंने तुरंत कंडोम उतार कर मेरे लंड को मुँह लगा कर मेरा सारा वीर्य अपने मुँह में ले लिया.

फिर दोपहर का टाईम हो गया और मैं खाना खाने घर चला गया और शॉप नौकर के सहारे छोड़ दी.

मैं बेबस महसूस कर रही थी पर मैंने पहली बार झड़ने का अनुभव किया तो उसके मज़े में बेबसी की भावना भी कहीं लुप्त हो गयी. वो चला गया और मैंने बाहर जाकर अंदर से दरवाजे की कुण्डी लगा दी, हालांकि वो दरवाज़ा भी कांच का ही है.

यूक्रेन का बीएफ आप अपनी रायमुझे मेरी ई मेल पर भेज सकते हैं।[emailprotected][emailprotected]. आंटी का एक लड़का और बेटी कुणाल की ऊपर वाली सीट पे सोया और दूसरी बेटी सामने वाली ऊपर बर्थ पर सो गई.

यूक्रेन का बीएफ फिर कुछ ही देर में उस किताब के ऊपर ही अपना सारा माल निकाल कर निढाल होकर बेड पर पड़ा रहा. फू! गन्दा काम!!लेकिन मेरी काफी समय की मिन्नतों के बाद उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया था, परन्तु ज्यादा देर तक नहीं चूस पाती थी… लंड बाहर निकाल अपने जबड़े चलते हुए शिकायती स्वर में कहने लगती- ओ गॉड! कितना बड़ा है तुम्हारा!! मैं इसे और अपने मुंह में नहीं रख सकती!!! और अब क्या हो रहा था.

और यह कह कर खड़े होकर अपने बाल अपने हाथों से उठा कर मस्त सा पोज़ बना कर मुझसे पूछा- बताओ हूँ न मैं सेक्सी!मैं आक्रमण कैसे करूँ, यही सोच रहा था और यहाँ पार्टी खुद सरेंडर करने को राजी थी.

हिंदी में वीडियो में सेक्सी पिक्चर

इस बार मैंने उसको घोड़ी बना कर चोदने का प्लान बनाया था, लेकिन वो थक गई थी बोली- कल घोड़ी बना कर चोद लेना. एक दिन जब मैं अपने दोस्त के ऑफिस की बिल्डिंग में घुसा तो वो बाहर जाती हुई नज़र आई, उसकी आँखें भरी हुई थीं और वो लगातार आँसू पोंछती हुई जा रही थी. अबकी बार मैंने बाइक के ब्रेक जानबूझ कर ज्यादा लगाए ताकि मैं उसकी चुचियों को ज्यादा अपनी पीठ पर रगड़वा सकूं.

मैंने उसे गले लगाया और बोला- आई लव यू जान!लेकिन मन ही मन मैंने कहा- ये तो तेरे ब्वॉयफ्रेंड की मेहरबानी है कि तू मेरे लंड के नीचे आ गई है. घोड़ी के स्टाइल में होने की वजह से दोनों की चूत थोड़ी और टाइट हो गई थी और उनको चोदने वाले लंड जल्दी ही लगभग 7-8 मिनट की चुदाई में ही झड़ गए. धीरे से मैंने अपना सुपारा उसकी चूत के अंदर किया तो उसकी सिसकी निकल गयी.

पूजा ने माला की ओर देख कर बाथरूम जाने का इशारा किया, लेकिन माला ने न का इशारा किया तो विकास उसे बाथरूम ले कर चला गया.

सोफे पर बैठा वह नीग्रो ब्रायन मम्मी की साड़ी से झांकती जांघ को सहलाते हुए चूम रहा था. कभी कभी नीचे झुक जाती और आँचल गिरा देती थी, जिससे उसके बड़े बड़े चुचे ब्लाउज में से दिखाई देते थे. मुझे बहुत बुरा लगा कि मेरी मम्मी को वह नीग्रो मेरे सामने ही चोदने जा रहा था.

भाभी बाहर होली के डांस में मस्ती से नाच रही थीं और अपना बदन चिपका चिपका कर सबसे रगड़ रही थीं और रंग लगवा रही थीं. इसके बाद उसने मेरी चुदाई शुरू की और करीब आधे घंटे तक वो मुझे चोदता रहा. दोस्तो आप यकीन नहीं करेंगे, जैसे ही मैंने उसकी चुत को मसलना शुरू किया, वो मुझसे ज़ोर से चिपक गई और कस कस के किस करने लगी.

उसके बाद मैं उसकी बाँहों में ही लेटा रहा उस रात मैंने उसकी 4 बार चूत की चुदाई की और मैं सुबह घर वापस आ गया. मैंने पहले एक उंगली उनकी चूत में डाली, फिर दो उंगलियाँ डाल दीं, इतने में तो सुष्मिता मेम ने अकड़ते हुए बिस्तर के तकिये को पकड़ लिया था.

मैं उससे बोला- मेरा लंड तो बार बार कहीं और जा रहा है, क्या करा जाए?तो वो बोली- अब जहाँ जा रहा है, इसे वहीं जाने दो. मेरे पास ओर कोई रास्ता नहीं था, जैसे ही इंडियन चुत में उंगली डाली तो वो सिहर उठी और तड़फ कर बोली- उफ्फ़ हमम्म्म… अरे ईई जीजा जी ये क्या कर दिया. जाते जाते मुस्कुरा कर वो बोली- कुछ गलतियां इंसान अक्सर करता रहता है.

ऐसा क्यों कर रहे हो?मैं बोला- मेरे पड़ोस में ये आंटी रहती थीं, इनके पति का देहांत हो गया और मैं इनसे प्यार करता था, मुझसे इनका दुःख देखा न गया.

हम दोनों बात करने लगे बात करते करते अचानक से राखी का दुपट्टा गिर गया. मैं भी डर गया पर उनकी ननद को देख मेरा लंड खड़ा हो गया और खड़ा लंड पैन्ट के ऊपर साफ़ दिख रहा था. फिर जैसे ही उसका दर्द कम हुआ, मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया.

कुछ देर बाद मैंने धीरे धीरे बर्फ को उनकी चूत के दाने पर रगड़ना शुरू किया. तुम नहीं जानती अक्सर टाइम्स ऑफ़ इंडिया में इसके बारे में आता रहता है.

ये भी ये समझ कर रिप्लाई कर देती थी कि कौन सा मिलना है, बात ही तो होती है बस. रिया का लंड मेरी सास ने दस मिनट तक चूसा और रिया मेरी चूत चाट रही थी, मुझे मजा आ रहा था कि तभी मैं चिल्लाई- आहहह… हहह… अहह… ओहहहह… मा मरर गई!और मेरी चूत ने बहुत तेजी से रिया के मुँह में चूत का गर्म गर्म पानी छोड़ दिया और रिया मेरी चूत कर सारा पानी पी गई. मैं तो अपनी सहेली और आपकी बहन के साथ मस्ती के मूड में थी, सोचा था कि वो अकेली रूम में होगी तो खोल के दिखाऊँगी और देखूंगी किसकी कितनी बड़ी है.

सेक्सी पिक्चर चोदा सेक्सी वीडियो

ससुर बहू की चुदाई की कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे मेल करें![emailprotected].

मेरा एक इंच लंड अन्दर घुस गया, उन्हें थोड़ा दर्द हुआ लेकिन वो सहन कर गए. वो बोली- बहुत बड़ा लंड है आपका? ऐसा लग रहा है कि कोई लकड़ी का टुकड़ा मेरे नीचे रखा हो!और उसने मुझे कस के जकड़ लिया, वो मुझे मेरे लबों पर किस करने लगी. और जैसे ही उसने मेरा व्यवसाय पूछा तो मैंने उसे बताया कि मैं पेशे से एक जिगोलो हूँ!उसे जिगोलो के बारे में पता नहीं था, वो रुक गई और उसने मुझसे पूछा- ये जिगोलो क्या होता है?तो मैंने कहा- आप जिगोलो नहीं जानती?वो बोली- नहीं!तो मैंने बताया कि जिगोलो एक मेल सेक्स वर्कर होता है जो असंतुष्ट स्त्रियों एवं लड़कियों को शारीरिक रूप से संतुष्ट करता है और औरतें और लड़कियाँ उसे फीस देती हैं.

मैं तुम्हारे पापा की उम्र का हूँ?”बेबी दिखती हूँ लेकिन मैं तो बेब हूँ… मस्त बेब… अंकल, आपसे पहले ले चुकी हूँ कई दोस्तों का. जब हम चिपक कर सो रहे थे, तो मैंने महसूस किया कि अंकल के दूध बहुत बड़े बड़े और एकदम मुलायम थे, जो मेरी छाती पर गुदगुदा रहे थे. सेक्सी नंगी चुदाई वालीअपने घर ला कर दरवाजा खोला और वो अन्दर आकर सोफे पर धम्म से जैसे कूद ही गई.

फिर उन्होंने साड़ी के ऊपर से मेरी चूत में अपनी उंगली को डाल दिया और चूत सहलाने लगे. तभी वो आई, मैंने देखा कि उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिए थे… और वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी.

फिर खाना खा कर मैं सो गई क्योंकि एक रात पहले मैं सही से नहीं सोई थी. लेकिन इस तरह की बातें कुछ करने की इजाजत दे दूँ, वो दिव्या के मोबाइल से ही अभी होता था और इसी लालच कि वजह से मैं अवी को भी अपना बॉयफ्रेंड बनाने को राजी हो गई और उससे बात करने लगी. मेरा व्यक्तित्व बहुत प्रभावशाली है तो 1-2 लड़कियाँ मेरे पर 2 हफ़्ते में ही लाइन मारने लगी थीं.

वो इस वक्त इतनी अधिक हॉट माल लग रही थीं कि वहां के सब बुड्ढे और लड़के मेरी मॉम को ही देख कर आँखें सेंक रहे थे और ऊपर से कुछ को ये लग रहा था कि इतना हॉट आइटम विडो है, इस पर चान्स मार लो. इस तरह मैंने अपने कपड़े खोलने का जुगाड़ तो कर लिया था और अब सोच रहा था कि उनके कपड़े कैसे उतारे जाएं. लेकिन मैं उससे जिद करता रहा कि सेक्स में उम्र का कोई मतलब नहीं होता है.

मैंने भाभी को बेड पर ठीक से लेटाया और उनकी टांगें चौड़ी करके चूत पर आ गया.

वो दर्द से थोड़ा सा चिल्लाई तो मैं रुक गया और उसके मम्मों को, जो कि बहुत बड़े और मस्त थे, चूसने लगा. फिर उन्होंने मेरी आने सर को नीचे की और मेरी गर्म चूत में अपनी जीभ को रख कर बड़ी बेताबी से चूत चाटने लगे.

मुझे उसकी बात पर बहुत गुस्सा आया कि आज तक ये बात मुझे किसी ने नहीं कही, इसकी क्या औकात!मैंने फ़िर कहा- वैसे भी तो तू बाहर मुँह मार रही है, मुझसे ही कर ले, क्यों मेरी बाहर बेइज्जती करा रही है?वो बोली- मैंने कहां मुँह मारा?तो मैंने कहा कि मेरे कजन के साथ तेरा क्या चक्कर है?वो बोली- मेरी किसी के साथ कुछ नहीं है. फिर मैं जल्दी से बाथरूम गया क्योंकि तब तक मेरा पजामा पूरा गंदा हो चुका था. दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी सच्ची गांड चुदाई की नोन वेज हिंदी गे स्टोरी, मुझे मेल करके बताएं.

कभी कभी जब नानी अपने कमरे में होती थीं और मॉम अकेले किचन में होती थीं, तब मैं मॉम के पास जाकर खड़ा हो जाता था और बहाने से मॉम की कमर को टच करके उनको हग करने की कोशिश करता था. कुछ यों ही इधर उधर की बातें हमने की और हम अपने गन्तव्य पर पहुँच गए. मुझे उसको उसी वक्त चोदने का मन कर रहा था पर रोमांस करना भी तो जरूरी है.

यूक्रेन का बीएफ मैंने गीतांजलि से पूछा- कैसी हो और यहाँ कैसे खड़ी हो?उसने कहा- मैं सिमरन के घर जा रही हूँ। क्या आप भी उसके घर जा रहे हो?मैंने बताया कि मैंने उसके इंस्टीट्यूट में इंगलिश बोलने का कोर्स करना था जिसके लिये एडमीशन फॉर्म फिल करना है, इसलिये उसने मुझे आज अपने घर बुलाया है, मैं वहीं जा रहा हूँ. मैं गया और झट से उसे पीछे से पकड़ लिया तो वो पहले तो डर गयी, फिर जब उसने मुझे देखा तो मुस्कुरा दी.

और लड़की के साथ सेक्सी वीडियो

मैंने उस की टांगों से उसकी पेंटी को अलग कर दिया तो जो गुलाबी नजारा सामने था. दूध पिलाते पिलाते उसका बच्चा सो गया था, लेकिन उसने ब्लाउज बंद नहीं किया था, वैसे ही खुला रखा था और वो ऐसे ही मेरे से बात कर रही थी. लड़का अपना प्यारा सा लंड लड़की की चूत में डालता है तो चूत एकदम शांत हो जाती है.

थोड़ी देर किस करने और बोबे दबाने दबाने के बाद मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और अपनी टी शर्ट खोल कर उसके ऊपर लेट गया. मैंने भैया को देखा तो मैंने उन्हें आवाज दी, वो आए तो मैंने उनको नमस्ते की. ओपन सेक्स वीडियो बांग्लामैं बड़े आहिस्ता से उसके पहलु से निकला और अपनी टी शर्ट और लोअर पहन लिया.

कविता का शरीर काफ़ी भरा पूरा है, चूचे बड़े बड़े लगभग 34 इंच के बिल्कुल पर्फेक्ट शेप के हैं। उनकी गांड चौड़ी और कमर पतली, जांघें मोटी गोल गोल, गाल गोरे गोरे, होंठ गुलाबी रंग के, बाल उसके घुंघराले हैं.

”हां संजू तुमने तो बूब्स पर काट काट के निशान बना दिए… नाख़ून मार दिए आआआह. फिर मैंने उससे बोला- पहले तो तेरी चुत मारने की सोची थी लेकिन पहले गांड मार दी.

मैं किचन में गई तो देखती हूँ कि किचन में दोनों नंगे हैं और मीना आँखें बंद करके सागर का लंड चूस रही है. मुझे कुछ ज्यादा नशा चढ़ चुका था और नशे में मैंने सरिता से कहा- सरिता तू बड़ी सेक्सी है. फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये जिससे वो हिल गयी, उसकी आँखें खुल गयी और मेरी आँखों से मिल गयी.

” मैंने ऐसे बहाने बना कर मम्मी को मना लिया।मम्मी बोली- ठीक है, तुम जाओ थोड़ा आराम कर लो, मैं बनाती हूं!उस समय से मुझे बिल्कुल होश नहीं था कि मैं क्या करूं… मेरा बहुत मन कर रहा था, मुझे लग रहा था कि अंकल लोग आएं और मुझे जम के चोदें.

दो दिन हस्तमैथुन न करते हुए मुझे मेरी वासना बचा कर मेरी भाभी को मेरा लंड चुसवाना है, तब मेरा वीर्य उसके चेहरे पर गिराना है. मैंने अपना लंड पजामे से बाहर निकाला और अपने लंड को निशाने पर रख कर फटाफट से एक धक्का मारा, मगर लंड फिसल गया नीचे की तरफ। सुल्ताना मेरा उतावलापन देख कर हंस पड़ी और उसने अपने हाथ में लंड पकड़ कर उसको निशाने पर यानि अपनी चूत के छेद पर लगाया और मुझे धक्का मारने को कहा. यह हरकत वो बर्दाश्त नहीं कर पाईं और ज़ोर से चीखते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गई.

हिंदी में ब्लू बीएफवहां गया तो देखा वो पहले ही उतर चुकी थी और अपने पेरेंट्स के साथ जा रही थी. रात के 5 बजे मेरी नींद खुली, मैं पेशाब करके आया तो देखा कि अंकल अपना पेंट नीचे करके सिर्फ चड्डी में थे.

नंगा सेक्सी वीडियो खुला

मैं तिरछी नज़रों से सरिता को निहार रहा था और ये बात सरिता ने भी नोटिस की थी, पर उसने हल्की स्माइल के साथ मुझे अनदेखा कर दिया. मैंने भी जल्दी करने के चक्कर में अपना लंड उसके मुँह में गीला करके उसकी चूत में रख दिया और रगड़ने लगा. ”मेघा आराम से मेरे लंड के ऊपर बैठ कर कूदने लगी और मैं नीचे से बिना मेहनत के चूत चुदाई का मजा ले रहा था साथ ही मेघा के उछलते मम्मों के निप्पलों को मसल रहा था.

उसकी चुत इतनी गीली हो चुकी थी कि बिना मेहनत के लंड सीधा उसकी बच्चेदानी से जा टकराया और उसके मुँह से आह निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने अब अपने लंड की पूरे छह इंच लम्बाई का और उसकी चुत की पूरी गहराई का इस्तमाल करना चालू कर दिया. अब मैंने रोहण की तरफ अपना फेस कर लिया और मैंने उसका हाथ अपने बूब्स पर रख दिया और रोहण को एक स्माइल दी. वो मुझसे बोली- भाई, आज मुझे तृप्त कर दे… तो मैं तुझसे हर रोज चुदा करूँगी.

’कुछ देर के बाद मैं अपना लंड उसकी चूत में से निकाल कर सोफे पर बैठ गया और उसे अपने लंड पर बैठने को कहा. (मुठ मारने के कारण मेरा लंड टेढ़ा हो गया है)मैंने भी कहा- होने दो भाभी. मैं तुरंत वहां से बहाना करके वापस चला आया और वो मुझे बाहर ही दूसरी लड़कियों के साथ मिल गई.

मैं उसके लंड को बहुत जोर से दबा कर नीचे ले जाने लगी, तो ऊपर की खाल हटने लगी. फिर भाभी बोलीं- मेरे पूरे बदन पर किस कर और मेरे दूध को दबा दबा कर पी, फिर मेरी चूत चाट.

संजय हफ्ते में एक दिन आता तो मैं दबे पाँव उसके पीछे चला जाता और भाभी की चुदाई देखने का मजा लेता.

मेरी इच्छा है कि मैं बाथटब में लेटा हुआ हूँ और मेरी भाभी मेरे शरीर पर पीठ करके लेटी हुई हो. गांड मारते हुए बीएफतो मैं देखना चाहता हूँ कि क्या वाकयी कमेंट आते हैं या सिर्फ बातें ही हैं, यही सोच कर मैं भी अपनी सेक्स स्टोरी लिख रहा हूं, कमेंट जरूर करना क्योंकि फ़िर आपको एक लेखक और मिल जाएगा. हिंदी देहाती बीएफजल्दी ही बहूरानी अच्छे से मस्ता गयीं और अपनी चूत उठा उठा के मेरे मुंह में देने लगीं. वो शांत लेटी रही और पुलकित उसे फिर किसी वहशी की तरह नोचे जा रहा था.

मैं उनसे कुछ पूछ रहा था और वो बोलते हुए अपने रूम में चली गईं मुझसे चेहरा नहीं मिलाया.

मैंने अपने दोनों हाथों से उन के दोनों मम्मों को एक दम कस के दबाया तो वो चिल्लाने की कोशिश करने लगीं, लेकिन मैं उन्हें किस करता रहा. उम्र तो मेरे जितनी ही है पर दिमाग बच्चों जैसा है बीमार है तो आप उस पर गुस्सा मत करना।रूपिका- ठीक है।रूपिका ने सोचते हुए जवाब दिया. वक़्त की नजाकत को समझते हुए मैंने अपना लंड बहूरानी की चूत की देहरी पर रख दिया और उसके दोनों दूध कसकर दबोचे और… इससे पहले कि मैं धक्का मारता, बहूरानी ने अपनी कमर पूरे दम से ऊपर उछाली और मेरा लंड लील लिया अपनी चूत में.

मैंने भाभी के दोनों गोल गोल चूतड़ों के बीच में अपना लंड टिकाया और पूरी गांड की दर्रा को सहलाते हुए चूत का छेड़ खोजने लगा. मैंने कई बार अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी साईट पर भाई बहन, जीजा साली की स्टोरी पढ़ी हैं. इस बातचीत में जहाँ अमित लिखा है, वो उसका बॉयफ्रेंड है और जिधर मैं लिखा है, वो मैं हूँ.

सेक्सी पिक्चर वीडियो भोजपुरी वीडियो

परन्तु एक दिन मेरी बीवी मेरी कार ले गई थी, तो जब वो मुझे लेने के लिए क्लास में आई तो सब को पता चल गया कि मैं शादीशुदा हूँ. मैं वहाँ गया, उन दोनों को देख कर थोड़ा हिचकिचाया, पर जैसे ही मेडिकल स्टोर वाली भाभी आईपिल की गोलियां लाईं और दूसरी भाभी को देने लगीं, तो मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने भी कंडोम मांग लिया. वो लड़का इस लिए हंस रहा होगा क्योंकि सपना देखते वक्त मेरे मुंह से अजीब अजीब आवाजें निकाल रही होगी और मेरा लंड भी तम्बू बनाए खड़ा था.

मैंने उससे बोला- मैं अब तुमको कभी नहीं मिलूँगा, अगर मिलना है तो मैं तुम्हारी चूचियों को टच करूंगा, मुँह में भी लूँगा.

मैं अपने देश की राजधानी दिल्ली का रहने वाला हूँ और इंजीनियरिंग कर रहा हूँ.

अब तक की इस हिंदी सेक्स कहानी में आपने जाना था कि मेरी शक्ल देख कर शायद मेरे भैया के बॉस का मन फिसल गया था तो उन्होंने भैया को एक बड़ी पोस्ट का ऑफर दे दिया था. मैं समझ गया कि आग दोनों तरफ बराबर की लगी है, तो मैंने उसकी टॉप उतार कर उसके मम्मों हल्के से चूसने लगा. भाई बहन सेक्स व्हिडीओअतः अपनी सेक्स कथा लिखते समय कोई भी हीन भावना मन में न रखें और पूरे आत्मविश्वास के साथ लिखें.

मैं एकदम से उछल पड़ी और चचा जान के बालों में हाथ डाल के उनके होंठों को जोर से काटने लगी. हम दोनों धीरे धीरे बातों में खुलने लगे और मैंने नशे में बोल दिया कि सरिता यार तू मेरी बहन है, पर क्या आज बहन के अलावा कुछ और बन जाएगी?सरिता बोली- बोलिए ना क्या बन जाऊं?मैंने कहा- यार तेरी भाभी को गए कई दिन हो गए और मुझे बहुत आग लगी है. हमारी सांसें तेज़ हो रही थीं और हमारे चूमने की रफ़्तार भी बढ़ रही थी, हम एक दूसरे को बस चूमे ही जा रहे थे.

हम दोनों वैसे ही चिपके एक दूसरे की गर्मी को शांत करने लगे।कुछ ही देर मे मैंने अपना गाऊन ठीक कर लिया. सजा… सजा तो मुझे मिली है… तो क्या मैं बुरी हूँ।मैं हड़बड़ा गया मेरे पास जवाब नहीं था, लेकिन एक विक्षिप्त इंसान से बात करते हुए उसे बच्चों जैसा बहलाने फुसलाने की कोशिश कर रहा था- नहीं छोटी, तुम तो बहुत अच्छी हो, उन दुष्टों को सजा मिलेगी जिन्होंने तुम्हारी ये हालत की है और वो भी बहुत भयंकर सजा मिलेगी।तो उसने अचानक ही रोते हुए कहा- कब मिलेगी सजा.

उसे तुम्हें सहन करना होगा, तुम्हारा वो दर्द ही आगे जाकर तुम्हारा मजा बन जाएगा.

वो ड्रेस मेरे ही नीचे थी और अवी मुझ पर उसी तरह पैर रख कर और हाथ रख कर लेटा था. अन्नू भाभी ने मेरे लंड को चूसना चालू किया और बोलीं- सनी तेरा लंड बहुत बड़ा हो गया है. मामी ने पूछा- कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- नहीं मामी, नहीं है.

हिंदी बीएफ सुपर मैं पूरा दिन घर में लेटा हुआ बार बार उनको याद करते हुए मुठ मारता रहा. मेरी गलतियों को बचपन की शैतानियों में ही गिन कर सब माफ़ कर दिया जाता.

तो मैं सुबह की ट्रेन से मम्मी पापा और दीदी को छोड़ने स्टेशन गया और वहीं से एग्जाम देकर मेरी प्यास बुझाने उषा काकी के घर जाने वाला था. जो कि छटी क्लास में पढ़ता था।रूप रानी आंटी बहुत ही सेक्सी थीं, उनका रंग सामान्य गोरा, कद पांच फीट तीन इंच, बदन गदराया हुआ करीब 34-32-36 का होगा. फिर मैंने धीरे से उनकी साड़ी निकाली और उनके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया.

मूवी पंजाबी सेक्सी

क्या मुझसे कोई खास काम है?)अवी- आपका नाम क्या है (मिनी है)अवी- आप करती क्या हैं? (पढ़ती हूँ)अवी- कहाँ? (यहीं पास में. चोदो मयंक चोदो मज़ा आ रहा है…’अब वो अपनी गांड को हिला हिला कर चुदवा रही थी. तो मेरी सास बोली- तुम कैसे जानती हो उसको और उसके गुप्तांगों के बारे में?तो मैंने उनको बताया कि मैं जब भी अपने मायके जाती हूँ तो उसके साथ सेक्स कर लेती हूँ, उसको मैं अपने ही घर पर बुला कर अपनी सहेली की तरह रखती हूँ, जब मन करे, तब उससे सेक्स कर लेती हूँ, जब तक मैं मायके वाले घर पर रहती हूँ, तब तक वो भी मेरे साथ घर पर ही रहती है, मेरे साथ सोती, लेटती और जब मौका मिलता था जम के सेक्स करती हैं.

सेक्सी स्टोरी का पिछला भाग :भाई बहन की चुदाई की सेक्सी स्टोरी-1इस चुदक्कड़ परिवार की हिंदी सेक्सी स्टोरी का अगला भाग आपके सामने है, फिर से मजा लीजिएगा. सेक्स की शुरुआत का वर्णन जैसे छेड़छाड़, चूमा चाटी, यौन पूर्व क्रीड़ा जिसे अंग्रेजी में फोरप्ले कहते हैं, इसका विस्तार से वर्णन करें क्योंकि किसी भी सेक्स कहानी में पूर्व क्रीड़ा का बहुत महत्त्व होता है.

वो शांत लेटी रही और पुलकित उसे फिर किसी वहशी की तरह नोचे जा रहा था.

मैंने अपना हाथ उसकी टी-शर्ट और ब्रा के अन्दर डाल कर उसके मम्मों को सहलाया और दबाने लगा. अब मुझे अमित से चैटिंग करना अच्छा लग रहा था, तो मैं करती जा रही थी बिना ये सोचे कि दिव्या क्या सोचेगी. अब मैं धीमी आवाज़ में बोली- मैं सहेली की मम्मी को देखने अस्पताल में आई हूँ.

उस लड़के के घर जाकर पूछा कि वो कहाँ है?उसके घर वालों ने कहा कि कहीं बाहर गया है. मैंने और तुम्हारे अंकल ने कुछ नहीं किया।मुझे लगा कि शायद आंटी चुदना चाहती हैं। मैंने आंटी से इसी टॉपिक पर कुछ बातें की. मेरे मुँह से सिसकारी निकल गई, पता नहीं क्यों आज मेरा शरीर मेरा साथ नहीं दे रहा था और चचा जान की हर हरकत का मजा लेना चाहता था.

अब तो ये उसके बस की बात नहीं रह गई थी, वो बोली- सैम, मेरी चुत में लंड डाल कर मेरी प्यास बुझा दो।मैंने उसकी एक ना सुनते हुए उसे बेड पर बैठने को कहा। रमन अपनी पत्नी के नीचे लेट गया और अनामिका की चुत चाटने लगा। अनामिका रमन के चेहरे पर बैठी चूत चुसवा रही थी और मैं अपना लंड चुसवा रहा था, वो रंडी की तरह गुर्राते हुए चुपड़ चुपड़ करके लोड़ा चूस रही थी.

यूक्रेन का बीएफ: हम सब एक कमरे में पहुँच गए जहाँ अमित पहले से था, वो किसी लड़की को किस कर रहा था. रात को मैंने फिर से किचन में कैप्सूल का पैकेट खोला, उसमें 8 कैप्सूल बचे थे, मैंने दो कैप्सूल को पावडर बना कर वर्षा की सब्जी में डालकर मिला दिया.

अमित- क्या कुछ ज़्यादा ही शरीफ लड़की है वो?सन्नी- जी अमित भाई… तभी तो डर लगता है… अगर चालू होती तो कब से सेट कर लेता उसको।अमित- साला यही पंगा होता है शरीफ लड़कियों का… पहले बात करने से डरती है और फिर खाने पीने में भी बहुत टाइम लग जाता है. मैंने कहा- भाभी अगर मेरी वाइफ को मैं ये सब पसंद करके दिलवाता तो मैं उसे भी पहन कर दिखाने को कहता. वो छटपटाने लगी थी और अपने पैर पटक रही थी, पर मैंने उसको कसके पकड़ रखा था.

उन्होंने थोड़ी देर हाथ को रोका लेकिन जब हाथ नहीं रुका तो उसने रज़ाई के अन्दर ही हाथ को फ्री कर दिया मतलब चुपके से अपनी स्वीकृति दे दी.

मॉम अपने रूम में थीं और ऑफिस जाने की तैयारी में बाथरूम में नहा रही थीं. दोस्तो, मेरा नाम निशा शर्मा है। मैं फिर से आपके समक्ष एक नई सेक्स स्टोरी लेकर आई हूँ।अपनी पहली स्टोरीसास के साथ सेक्स की रियल स्टोरीमें मैंने आप लोगों को बताया था कि मैंने अपनी सास के साथ कैसे लेस्बियन सेक्स किया. मैं कभी नहीं कहूँगा, अगर प्यार करती हो तो मेरा मुँह में लेकर चूसो अगर आगे इच्छा हो, तो लेना वरना कोई बात नहीं.