बीएफ दिखाइए मूवी

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी चुदाई वाली पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ पंजाबी एचडी: बीएफ दिखाइए मूवी, वहाँ उसने पेशाब किया और थूका भी और मैंने उसे वापिस उठा कर बिस्तर पर सुला दिया और मैं उसके ऊपर आ गया.

फिल्म दिखाइए सेक्सी में

मैं पूरी तरह से उसके ऊपर हावी था … उसकी चूचियां मेरे मुँह में थीं तथा मेरा एक हाथ उसकी चूत के ऊपर था. सेक्सी पिक्चर चुदाई वाला हिंदी मेंउसकी बगलें उसके गालों की तरह मुलायम और गोरी चिट्टी थीं, उनमें एक भी बाल या बाल के निशान नहीं थे.

जो उसने मेरी गांड को खोल कर डाल दी और कुछ अपने लंड के ऊपर ऊपर लगा ली. सेक्सी हिंदी की आवाज मेंउसके हाथ मेरे मम्मों को दबा रहे थे, जो पूरी तरह से नंगे किए हुए थे.

उनके लंड ने इतना अधिक वीर्य निकाला था कि मेरा पूरा मुँह भर गया और मुँह से बाहर निकल कर आने लगा.बीएफ दिखाइए मूवी: अब रजत अपनी एक उंगली मयूरी की गांड के छेद पर रखकर धीरे-धीरे घुसाने की कोशिश कर रहा था.

पर वो दो दिन तक दिखे नहीं, शायद जवाब न पाकर या फिर अपनी गलती पर शर्मिन्दा होकर हमारे घर नहीं आ रहे हो!पर मैंने उन्हें खोना नहीं चाहती थी इसलिए मैं उनके घर गयी, वो अपने रूम में पढ़ाई कर रहे थे, मैं चुपचाप अंदर चली गयी और कुर्सी पर बैठ गयी।बोली- घर क्यों नहीं आये?वो बोले- तुमने आने को नहीं कहा था।मैंने कहा- अब से मत आना.हम तीनों के मुँह से सेक्स की उत्तेजना से भरी अजीब अजीब आवाजें निकल रही थीं.

दरबार सेक्सी - बीएफ दिखाइए मूवी

यही सब देखते हुए मैंने तारा से पूछा कि मुनीर नहीं आई है क्या?तारा ने तुरंत जवाब दिया- माइक और मुनीर कभी अलग नहीं रह सकते.शायद यही वजह है कि अशोक अब भी शीतल से बहुत प्यार करते हैं और लगभग रोज़ ही शीतल की जबरदस्त चुदाई करते हैं.

संपत ने मम्मी की नाइटी की ऊपर की डोरी खोल दी और अपना हाथ मम्मी की मोटी चुचियों पर चलाने लगे. बीएफ दिखाइए मूवी राज अंकल बोले- यार इसे उधर कहीं ले चलें? क्या है कि यहाँ बहुत लोग सो रहे हैं, किसी ने देख लिया तो गड़बड़ हो जाएगी, इसलिए यहाँ ठीक नहीं है.

मैं इस घटना के बाद अब उन्हें घूर कर देखने लगा और मेरी इन हरकतों को भाभी ने भी नोटिस कर लिया.

बीएफ दिखाइए मूवी?

” नेहा ने खींच कर मुझे खड़ा कर दिया और पजामे के ऊपर से खड़ा लंड अपने हाथ में ले कर दबा दिया. उतरने के बाद मैं नीचे गया और उसके पास जाकर खड़ा हो गया, पर ज्यादा पास नहीं गया और बस उसे घूरने लगा. थोड़े उसके तथा मेरे प्रयास से मेरा लिंग मुंड धीरे धीरे उसके गांड में प्रवेश कर गया तथा मैंने उसकी गांड में धीरे-धीरे धक्का देना शुरू कर दिया।अब श्लोक के आने का समय हो गया था। श्लोक ने रीना के सामने आकर रीना की टांगें थोड़ी सी और चौड़ी करके उसकी गुलाबी चिकनी चूत में अपना लिंग ठेल दिया।शुरुआत में हम तीनों को सहज महसूस नहीं हुआ तथा दोनों को झटके मारने में परेशानी हुई.

यों तो कई बार मैंने उसकी चूत चूमी थी लेकिन आज एक अलग स्वाद आ रहा था और मैं उसकी चूत में मदहोश होने लगा और उसकी चूत के अंदर जीभ से कुरेदने लगा. भाभी बोलीं- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- भाभी ये इतनी खूबसूरत होती है… तभी तो सारी दुनिया के मर्द इसके पीछे पड़े रहते हैं. राज अंकल बोले- यार रिश्तेदारी में आती है, कहीं कुछ गड़बड़ ना हो जाए, किसी को पता चल गया तो बहुत बदनामी होगी.

कुछ देर बाद संपत जी ने बोला- कहां छोडूँ?मम्मी बोलीं- अपनी बीवी से क्यों पूछ रहे हो. तेरे पूरे सेक्सी खूबसूरत बदन में सबसे खूबसूरत सेक्सी तेरी यह प्यारी सी नाक है. मैंने 2-3 बार बोला, तो वो मान गईं और बोलीं- तुमको मुझे एक हफ्ते तक गोल गप्पे खिलाने पड़ेंगे.

फिर किस बात की कमी? और सबसे बड़ी बात आप किसके चक्कर में मुझे यहाँ खींच लाईं?तब वो बोलीं- छोड़ो उस मादरजात को. दोनों नियमित रूप से जिम जाते थे, देखने में बहुत ही आकर्षक व्यक्तित्व के मालिक लगते थे.

वो कभी मेरे लंड के सुपारे को अपनी जीभ से चटाती और उसके कोमल होंठों से जब मेरे लंड को चूसती, तो मैं तो स्वर्ग की सैर कर रहा था.

कोमल भाबी अपनी गांड मटकाते हुए चली गईं, मैंने कपड़े पहने और लिफ्ट से उनके घर आ गया, दरवाजा खुला था.

राज अंकल बोले- वाह मेरी जान सोनू, तूने तो हम सबका दिल जीत लिया है, तू मना भी करती तो भी हम एक साथ ही तुझे चोदते, पर तूने खुद से यह कहकर साबित कर दिया कि सच में तू बहुत सेक्सी, बहुत मस्त. मुझे माफ़ कर दो। लेकिन मुझे शौर्य के साथ चुदाई करने में बहुत मजा आया. बहूरानी के साथ मैंने बीसों बार संभोग किया था और हर बार हमें एक आत्मिक संतुष्टि और चरम सुख की अनुभूति ही हुई; कभी भी आत्मग्लानि या अपराधबोध से मन ग्रस्त नहीं हुआ.

इसके बाद उन्होंने उठ कर अपनी चूत को साफ किया और मेरे मुँह पर जोरदार किस करते हुए मुझे धन्यवाद बोला. तभी मम्मी मुझे लेकर शादी के 15 दिन पहले मौसी के गांव मनका चली गई, वहां शादी का माहौल था पर मेरे लिए वहां कई लोग अजनबी थे जिन्हें पहली बार देख रही थी. मैं- देखो सीमा! अपनी पत्नी को उसके भाई के साथ सुलाने का दुख मुझे भी है और शायद श्लोक को भी दुख होगा। लेकिन यह हमारे भविष्य की बात है। अगर सीमा मेरे साथ बच्चा पैदा करती है तो उस बच्चे से मुझे भी अपनापन होगा, मैं कभी उसका अहित नहीं चाहूंगा.

वहीं पास में कुछ लोग और खड़े थे, फिर भी अंकित पास आकर बोला- वन्द्या मान जा और चुदाई करवा ले! मुझसे अच्छा लन्ड और कहीं नहीं पायेगी.

मैं नंगी बेड पर अपनी बिना चुदी फ़ुद्दी लेकर रो रही थी पर कोई चोदने नहीं आया!फिर मैं अपनी बिना चुदी कुँवारी चूत लिए वापस कॉलेज आ गई. एक दिन मैंने उनसे पानी पीने की लिए माँगा तो वो पानी ग्लास में लेकर आए और जानबूझ कर मेरे ऊपर पानी गिरा दिया. याद है न?” मैंने सरासर झूठ बोलते हुए इत्ती सी कह के अपने हाथों से इशारा करके उसे बताया.

अशोक ने अपने दोनों हाथों से मयूरी की कमर पीछे से पकड़ कर एक जोरदार झटका उसकी गांड पर मारा. फिर उससे टीवी से देखने के लिए लगा दी और टीवी को सैट कर दिया कि जैसे ही वो खुले तो पेन ड्राइव वाली पिक्चर की दिखाई दे. उस बेचारे को तो यह पता भी नहीं था कि उसके किस्मत में अब क्या आने वाला है, उस पर तो अब साक्षात् कामदेवी की कृपा बरसने वाली थी.

वो बड़ी मस्तराम लग रही थी, उसने ब्लैक टॉप और ब्लू जींस पहनी हुई थी जो कि उसके शरीर पर एकदम टाइट थी.

तभी भाभी ऊपर को उठीं और उन्होंने मुझे अपने स्तन देखते हुए पकड़ लिया और बोलीं- क्या देख रहे हो?मेरी फट गई, मेरे मुँह से शब्द नहीं निकले. ”यह कहते हुए डीके तैयार हो गया, पर मेरी मौजूदगी में वह थोड़ा हिचकिचा रहा था.

बीएफ दिखाइए मूवी चाचा मेरी गांड में अपना लंड जोर से घुसा रहे थे, पर अब तक वे आधा ही लंड घुसा सके थे. मेरी गिफ्ट की हुई ब्रा में उसके मांसल दूध जैसे मेरी ही राह तक रहे थे.

बीएफ दिखाइए मूवी मैंने देखा कि नीचे बेडशीट गीली हो गई थी क्योंकि उनकी चूत में से लगातार पानी निकल रहा था. बहूरानी ने सामान वाले कमरे का ताला खोला और हम दोनों झट से कमरे में घुस गये और दरवाजा भीतर से लॉक कर लिया.

मैंने उससे कहा- तुम चिंता मत करो, अगर मुझसे खराब हो गया तो, तुम निश्चिंत हो कर देखा करो.

लड़की नहाती

अनजान शहर में किसी भी परिचित जवान लड़की या महिला की पैंटी उतरवा कर उसकी टाँगें उठवा देना इतना आसान भी नहीं होता चाहे वो कितनी भी चुदासी लंड की प्यासी और चुदने को पूरी तरह तैयार ही क्यों न हो. मैंने सुबह में उसे एक दर्दनिवारक गोली और एक गर्भ निरोधक गोली लाकर दी. अंकल मुझे हर रोज टाफी देते थे और मुझे टाफी चूसने में बहुत मजा आता था.

मैंने थोड़ा सा ऊपर उठकर नीचे अपने लंड की तरफ देखा तो मेरी आंखों में एक नयी चमक सी आ गयी, क्योंकि मेरा आधे से ज्यादा‌ लंड प्रिया की चुत में घुसा हुआ था और उस पर मुझे कुछ खून लगा हुआ दिखाई दे रहा था, इसका मतलब था कि सही‌ में प्रिया अभी तक कुंवारी ही थी. तो पिछली कथा में बात यहां तक पहुंची थी कि बहूरानी ने मुझे कहा था कि मैं कम्मो को मार्केट ले जाऊं और उसे नया स्मार्टफोन दिलवा दूं; पैसे तो कम्मो के पास हैं. वैसे भी ऱश्मि के साथ मेरे सेक्स संबंध चालू थे, इसका किसी को पता नहीं चला था.

इधर फिर से दोस्तों की टुन्नी में गंदी बातें शुरू हो गईं- अरे उसे पकोड़े कवाब वगैरह बनाने के लिए बोल ना.

कुछ देर बात करने के बाद मैं खेलने निकल पड़ा और उसे भी साथ में चलने को कहा. उसने मुँह में 2 मिनट ही चोदा कि मैंने निकाल दिया।फिर वो कभी मेरी चूत फाड़ता तो कभी गान्ड… दोनों की बैंड बजा बजाकर चोदता रहा और तो मैं तो दर्द से सुन्न सी हो गयी थी।वो ऐसे ही 15-20 मिनट चोदता रहा। फिर उसने और स्पीड बढ़ा दी और बोला- रानी, मेरा अब निकलने वाला है।यह सुनकर मेरी दिल को सुकून आया और मैं भी उसके झटके का जवाब देने लगी. वहां पे लिटा के उन्होंने पहले 5 मिनट मुझे चूम चूम के बेहाल कर दिया.

तो पता चला कि उसके गांव में किसी का निधन हो गया है, तो वो वहां गई है. तभी उन्होंने मेरी चड्डी भी उतार दी और मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया. नए लोग थे, कोई जानता ही नहीं था। घर से एडमिशन कराने भी मैं अकेला ही आया था क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि घर वाले चंडीगढ़ का महंगा और मॉडर्न रहन-सहन देखें क्योंकि मैं मिडल क्लास फैमिली से हूँ और मेरे माता-पिता पुराने विचारों वाले हैं। आप समझ ही गए होंगे कि मेरा क्या सोचना था।खैर.

जब वो किचन में सामान ले रही थी, तो वो नीचे झुकी हुई थी, जिसकी वजह से मुझे उसकी सेक्सी गांड मस्त दिख रही थी. मैं- लंड से क्या करते हैं?अंकल- इसको अपने हाथों से पकड़ो, सहलाओ, फिर देखना.

मेरा उससे अफेयर चल रहा था और कई महीनों से उसके हाथों को सहलाना चूमना होता रहता था. पायल के बारे में भी कुछ लिख दूँ, ताकि आपको भी उसकी सुन्दरता का भान हो जाए. मनीषा नीचे होते हुए थोड़ी देर मेरे लंड को घूरा, फिर बोली- पंकज, कितने दिन से इसे पूरा देखने की मेरी तमन्ना आज जाकर पूरी हुई है.

मैंने अपनी जीभ उनकी फुद्दी में डाल दी और फुद्दी को टंगफक करते हुए चोदने लगा.

विक्रम- हाँ बोलो…मयूरी- देखो… तुम दोनो को मैं एक सरप्राइज देने वाली हूँ. उस पते पर पहुंच कर डोर बेल बजाई तो अन्दर से एक नौकरानी सी दिखने वाली औरत आई. अंकिता बोली- ओहो 3 के साथ मज़ा लिया?मैंने कहा कि लाइफ मज़े के लिए ही तो है और आँख मार दी.

फिर सर ने मुझे सोफे पर पटक कर मेरे पैरों को अपने कंधे पर टिकाए और अपना लंड मेरे गांड में फिर से घुसा दिया. उसने फोन पर जो कहा वो लिख सकती हूँ, पर उस तरफ से क्या कहा गया वो तो मुझे सुनाई ही पड़ा.

कारण थी एक लड़की … जिससे दोनों भाई प्यार करते थे और उसने दोनों को बेवकूफ बना कर मजे ले लिए. दोनों अपने सपनों की दुनिया से बाहर आये, मयूरी और अशोक दोनों अपने कपड़े ठीक करके बिस्तर पर ठीक से बैठ गए. ” कम्मो बोली और अपनी चप्पल उतार कर पांव ऊपर कर के पालथी मार के बैठ गयी.

इंडियन हॉट पोर्न वीडियो

फिर एक बड़ी सी आह भरते हुए उसने कहा कि उसकी जमीन अभी भी सूखी है, अभी तक चुदाई का मौका नहीं मिल पाया है.

मैं लगातार उसके गालों को, माथे को, आंखों को, गर्दन को, कानों को चूमता और हल्के होंठों से पकड़ के सहलाता रहा. हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम कपिल है और मैं यहां पर नया हूँ, तो मुझसे कोई भूल या गलती हो जाए तो माफ़ कर देना. हम लोग दबे पांव चलते हुए एक कोने वाले कमरे तक गये और उसे खोल कर अन्दर चले गये और फिर मैंने भीतर से दरवाजा बंद करके बत्तियां जला दीं.

मेरी नंगी चूचियों पर अंकल अपना हाथ फिरा कर चूचियों के आकार और कसाव को देख रहे थे, जबकि मेरी इच्छा थी कि वे चूचियों को अब ज़ोर ज़ोर से मसलें. फिर जब मुझे लगा कि प्रिया अब ठीक हो गई है, तो वैसे ही मैंने लंड को थोड़ा सा बाहर निकाल कर एक और जोर से धक्का दे दिया. हिंदी सेक्सी चुदाई की फोटोफिर रात में चाय देने के लिए मैं उनके कमरे में गई, तो उन्होंने मुझे पकड़ लिया और बोले- आज रात जब सब सो जाएं तो मेरी प्यास बुझाने तुझे आना ही है.

जैसे ही लंड ने चूत से दोस्ती की तो भाभी भी मेरा साथ देने लगीं और अपने चूतड़ उछाल उछाल कर मुझसे चुदवाने लगी थीं. इस सफल चुदाई के बाद उन्होंने मेरा शुक्रिया अदा किया और कुछ पैसे देते हुए बात को गुप्त रखने का वादा करके अपनी कार से मुझे मेरे मोहल्ले तक ड्रॉप करके गईं.

इस अचानक हुई घटना में कुछ भी हो, मुझे तो बहुत मजा आया और किसी की मदद हुई सो अलग. उस लड़की ने कहा- नहीं मैडम, यह हमारे घर पर भी काम कर चुकी है और बहुत सही है. फिर ऐसे हमारी बातें होने लगी‚ धीरे-धीरे सेक्सी बातें भी होने लगी।एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया.

मैं उनके पेट पर उंगली घुमाते हुए, हल्के से उनकी गांड दबाते हुए, कभी आंटी के गाल पर किस करते हुए. दिनेश के द्वारा मेरी चूत में उंगली करने और चूत चूसने से मैं जोर जोर से हांफने लगी, मेरी सांसें तेज होने लगीं. तभी संपत जी ने भी अपना लावा मम्मी की चूत में छोड़ दिया और वे दोनों निढाल हो गए.

फिर जब मैंने अपना आधा सिकुड़ा हुआ लंड उनकी गांड से बाहर निकाला तो मैंने देखा कि उनकी गांड मेरे वीर्य से लबालब भरी हुई थी और थोड़ा थोड़ा करके उनकी गांड से वीर्य उनकी चूत की तरफ बहने लगा था.

मेरी चूत अभी तक चुदी नहीं थी, इसलिए इसे चुदाई के लिए कोई सख्त लंड चाहिए था. अब मैं पूरे जोश में आकर अपने लंड को मामी जी की चूत के अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने तब पूजा को अपनी बांहों में समाते हुए उसकी चूची पर चुम्मा देते हुए 5-6 जोरदार धक्के मारे और बोला- अरे पूजा रानी, क्यों नाराज़ हो रही हो? मैं तुमसे मज़ाक कर रहा था. तो मैंने कहा- आप जैसी खूबसूरत बला को देख कर तो किसी नामर्द का भी लंड खड़ा हो जाए तो मैं तो एक जवान लड़का हूं. देखो किसी दिन अगर किसी लड़के ने उसके साथ कुछ कर दिया तो मुँह भी देखने लायक नहीं रहोगे.

यह कहानी काल्पनिक है, इसमें दर्शाये गए चरित्र व घटनाएँ वास्तविक नहीं हैं. तब मैं बोला- यहाँ घर के पिछले भाग में कोई गेट है क्या बाहर भागने का?वो बोलीं- हाँ है ना. अब मैं गौरी को हमेशा देखता रहता था और अकेले मिलने का मौका ढूंढता रहता था। मेरी हरकतों को चाची ने समझ लिया और अब वो मेरे ऊपर और गौरी पर नजर रखने लगी.

बीएफ दिखाइए मूवी मैंने बहुत हिम्मत करके मौसी का हाथ पकड़ किया और बोला कि आपसे एक ज़रूरी बात करनी है. मैं- क्यों फिर चुदवाने का मन है क्या?चाची- चुदवाना तो आज सारी रात है.

मराठी चूत की चुदाई

वाकई चिकने की लुल्ली बहुत ही छोटी थी लेकिन बाकी सभी के लंड जबर्दस्त थे. तो वो बोली- भाभी, मैं चाहती हूँ कि आप भी इसका मज़ा मेरे साथ लेना जब तक मुझे कोई लंड नहीं मिल जाता।यह सब करते करते सुबह के 4. शीतल- मालिश कर दूँ तेरे बदन की?मयूरी- हाँ माँ… प्लीज कर दो… बहुत दुःख रहा है.

हमारे हवस की कश्ती जिस सैलाब में तैर रही थी, उसमें तूफान आ चुका था. मैं अपनी जीभ से उसके निप्पल पर घुमाने और अपने हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा. नई-नई सेक्सी कहानियांवो- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैं एकदम से चौंक गया क्योंकि किसी कस्टमर ने आज तक मुझसे ऐसा नहीं पूछा था.

तुमने अन्दर क्यों किया?वो बोला- अरे यार रुका ही नहीं गया, मुझे चुदाई का कोई तजुर्बा नहीं है.

मैंने सिगरेट उठाई तो उसने मेरी सिगरेट ले ली और खुद ही लाइटर से जला कर बड़ी दिलकश अंदाज से कश खींच कर सिगरेट मेरी तरफ बढ़ा दी. हम किस करते रहे और फिर मैं दोबारा से उनकी चुचियों को चूसने लगा और उनकी चुत में उंगली करने लगा.

अब मैं उसके चूचों को एक हाथ से सहला रहा था, तो दूसरी तरफ उसके होंठों को चूसे जा रहा था, जिससे उसका दर्द कम हो जाए. मैंने पूछा- सर ये क्या कर रहे हैं?तो वो बोले- अब तुम्हें असली मज़ा आने वाला है. मयूरी फिर भी चुप नहीं हुई और वैसे ही नंगे बदन वो अपनी भारी चूचियों के साथ रजत के सीने से लिपट गयी.

हम दोनों लोग कभी कभी घर में अकेले रहते थे तो छत पर जाकर बातें करते थे ताकि हमारी बातें कोई सुने नहीं और हमने बातें करते करते कब एक दूसरे की केयर करना शुरू कर दिया, हम दोनों लोग को पता ही नहीं चला.

उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं तुरंत दो उंगलियाँ उसकी चूत में डाल दी और जोर जोर से फिंगर फक करने लगा. एक आगे की तरफ जो नियमित प्रयोग में आता था, वो अलग गली में खुलता था और दूसरा जो सिर्फ भैंसों के लिए था और घर के पिछले हिस्से में था. मैंने झट से एक उंगली उसकी चूत में डाल दी और उसको आगे पीछे करने लगा.

सेक्सी वीडियो देसी भाभी चुदाईतो यह थी मेरी और रेशमा की चुदाई!दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी, मुझे जरूर मेल कीजिएगा. मैं जरूर ऐसा ही करूँगी।”और अपने दिल दिमाग से यह कांपलेक्स बिल्कुल निकाल दो कि तुम्हारा बदन ढल गया या खराब है। जैसा भी है यह तुम्हारे ऊपर है कि तुम जब चाहो, इसे बेहतर बना सकती हो।”ओके गुरूजी।”फिर थोड़ी देर तक हम अपनी सोच में गुम एक दूसरे को देखते रहे।आपका लंड तो मुर्झा कर चुहिया हो गया।” उसने हाथ बढ़ा कर मेरे लिंग को छूते हुए कहा।क्योंकि मेरा ध्यान सेक्स की तरफ नहीं था.

नंगी सेक्स सेक्स

फिर मैंने उसे कपड़े पहनाये और खुद भी पहन लिए, फिर ज्योति ने मुझे गले लगा लिया और बोली- आय लव यू राज … तुम मुझे कितना प्यार करते हो, मेरा ख्याल रखते हो. और मेरी गर्दन को चूमने लगा उसकी गर्म साँसें मुझे पागल बनाने लगी थीं. मेरी आँखों के ठीक सामने मौजूद भक्काड़ा छेद के अन्दर उथल-पुथल मची हुई थी.

इसके बाद उनको घर में आने के बाद दरवाजा बंद करके बेडरूम में आने के लिए 4-5 मिनट लगे होंगे. और चूत में उंगली करवाने में बहुत मज़ा आता है और तुझे ऐसे झड़ने में चुदाई से ज्यादा मज़ा आता है. और मुझे पिंकी कहते हैं, तुम?मैंने अपना नाम पीटर, दिल्ली का रहने वाला बताया।तो पिंकी बोली कि वह भी दिल्ली में ही रहती है और किताब मेरे हाथ से छीन ली।पढ़ते पढ़ते ही हम लोग बातचीत में भी मशगूल रहे और परिचय बढ़ा लिया। उसने पूछा कि क्या मैं उसका दोस्त बनना पसंद करुंगा?तो मैंने कहा- कोई बेवकूफ ही इतना अच्छा आफ़र ठुकरा सकेगा.

अब चूंकि जब से अकेली रहने लगी हूँ, तब से मेरे मन में सेक्स की इच्छा पूरी करने के लिए किसी और के साथ सम्बन्ध बनाने को लेकर बहुत सोचती हूँ, लेकिन थोड़ा डर भी लगता है, सो हिम्मत नहीं कर पाती हूँ. उस वक़्त मैं पूरी मदहोशी में था, तो मैंने शरमाते हुए कह दिया- सर ओके ठीक है. कुछ देर बाद मैंने किस करना रोका और उसका कुर्ता निकालते हुए उसकी ब्रा भी खोल दी.

मैं समझ चुका था कि मनीषा जानबूझ कर ही की-होल के सामने नंगी बैठी है. मतलब लड़की की चूत भी पसंद है और लड़कों की गांड और लंड भी!बहुत सोचने के बाद आज मैंने कोशिश की कि आज अपनी पहली कहानी आप लोगों के सामने रखूँ.

मैंने भी मन ही मन तय कर लिया कि इसे रोशनी में पूरी नंगी करके अपने लंड पर झूला न झुलाया तो मेरा भी नाम नहीं.

मैं कहीं भागी थोड़ी ना जा रही हूँ… अब रोज़ ऐसे तुम दोनों के साथ बैठूंगी… चलो अब खाना खा लो. एचडी सेक्सी डाऊनलोडअब उसने मेरे बारे में बात करना शुरू कर दी, वो पर्सनल बातें कर रही थी. सेक्सी अंग्रेजी पिक्चर दिखाएंथोड़ी देर ऐसे तेज़ी के साथ चोदने के बाद मैंने पूजा से पूछा- क्यों मेरी जानेमन, अच्छे लग रहे है मेरे लंड के धक्के. छोटू?”हां छोटू … लम्बू कह लो चाहे मोटू कह लो … वही!” बोल के बहूरानी ने मुझे चिकोटी काटी.

उसके बाद तो बस मैं दबाव देता गया और आधे से ज्यादा लंड आसानी से चुत में उतर गया.

देखते देखते मुझे शौर्य के कुछ सेक्सी पिक्स दिखे, जिसमें वो अपने गोल, सफेद और भरी हुए गांड को दिखा रहा था. उसके छह महीने बाद उसकी शादी हो गई, उस बीच भी हमने बहुत एन्जॉय किया. वो मेरे मम्मों को ऐसे देखता था, जैसे उसका मन करे तो वो मेरी चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे.

मैंने सुबह की ताज़ी ऊर्जा के साथ भाभी से सेक्स किया और इसके बाद मैं घर चला आया. मयूरी की इस मनमोहक काया को देखर रजत अपनी नजरें मयूरी के इस कातिल बदन से हटा नहीं पा रहा था. तभी संपत जी ने भी अपना लावा मम्मी की चूत में छोड़ दिया और वे दोनों निढाल हो गए.

सेक्सी बीएफ फुल एचडी हिंदी

मैंने सिगरेट उठाई तो उसने मेरी सिगरेट ले ली और खुद ही लाइटर से जला कर बड़ी दिलकश अंदाज से कश खींच कर सिगरेट मेरी तरफ बढ़ा दी. विक्रम- हाँ… और अब तो घर में हमारे अलावा सिर्फ माँ है… और उनसे डरने की कोई जरूरत नहीं है. तो ऐसे ही उन दिनों गर्मी का मौसम था जब मैं एक अनजान डगर पर आगे बढ़ गया.

लेकिन दूसरी ओर उसके अनछुए यौवन का भोगने की लालसा भी मुझे उकसा रही थी.

मौसी ने फिर टांगें सीधी की और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत पर रख कर दबाने लगीं.

अब मैंने लंड को चुत पर रखकर जैसे ही धक्का लगाया, तो लंड का सुपारा चुत में गायब हो गया और दर्द का रंग एकदम साफ से उसके चेहरे पर झलकने लगा. और जैसे ही मैंने पूरा डाला उसने मुझे कस के अपनी बांहों में भींच लिया और बोली- पूरी जिंदगी मुझे ऐसे ही प्यार करते रहना … कभी नाराज मत होना!मैंने भी उसकी हां में हां मिलाई और धीरे-धीरे से किस करते हुए से चोदने लगा. मधुर सिंह के सेक्सी वीडियोइतनी कामुक लड़की देखकर उसका मन किया कि वो उठे और जाकर बेटी की दोनों चूचियों को जोर से पकड़कर मसल दे और उसका वो टॉप फाड़कर अपनी बेटी को नंगी कर दे… स्कर्ट ऊपर-नीचे होने से उसको यह भी पता चल गया कि मयूरी ने अभी पैंटी नहीं पहनी हुई है.

उसके बताये टाइम पर चाची आई और हमें चुदाई करते देखकर बोली- वाह जी, यहां पर तो ये काम किया जा रहा है. कोई और नजदीकी छेद ना मिल पाने के कारण दीमा ने अपने मोटे लंड को मेरी पत्नि के वक्ष और उसकी बाँह के बीच घुसेड़ कर अन्दर-बाहर करने लगा. फिर मैं उसके बताए अनुसार उसी फ्लोर पे पहुँचा तो देखा सामने वाले रूम में वो खड़ी थी.

फिर उन्होंने मुझे उतारा और उल्टा करके कुतिया जैसा बना कर दीवार के सहारे मेरी गांड में लंड पेल कर मेरी गांड मारने लगे. मेरे चाचा चाची और उनके बेटे, मतलब मेरा भाई और भाभी हमारे पुश्तैनी गांव में रहते हैं.

मैंने मुस्कान की टांगों की तरफ आते हुए अपना मुँह उसकी चुत पर टिका दिया.

एक तो देसी गर्ल कम्मो की वेश भूषा उसका बोल चाल, उसकी बॉडी लैंग्वेज … बात करने का तरीका एकदम देहाती स्टाइल वाला है तो ऐसी लड़की का मेरे साथ होटल में जाना लोगों को अटपटा लगेगा और खटकेगा ही, फिर सबसे बड़ी बात हमारे पास कोई सूटकेस या अन्य कोई सामान भी नहीं है. मगर डॉक्टर ने उसे बताया कि इस लड़की ने तुम्हें होश में लाने के लिए अपनी जिस्म को नंगा करके तुम्हें सौंप दिया ताकि तुम्हें यह अहसास हो कि तुम अपनी प्रेमिका के साथ हो, वो तुम्हारे साथ ही है. उस दिन 12 बजे सारे लेक्चर्स खत्म हो गए थे, सब लोग क्लास से बाहर आ गए.

बेटे की सेक्सी चुदाई वीडियो इस पोज में मैं बैड से नीचे उतर कर खड़ा हो गया और उसे बेड के किनारे पर लिटा दिया. प्रिया ने भी अब अपनी सांसें रोक लीं और वो अब धक्के खाने के लिए पूरी तरह से तैयार थी.

मेरी प्यासी चूत की कहानी के पहले भागशादी में चूत चुदवा कर आई मैं-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपने पति के साथ राजस्थान के एक गाँव की शादी में आई. यह कहकर मैंने उस का लंड जोर से पकड़ कर दबाया और बोली- इसके बिना तुम्हें नहीं पता कि मेरी रातें कितनी मुश्किल से बीती हैं. उसके कुछ मिनट बाद ही मैं भी आने वाला था तो मैंने लंड को बाहर निकाला और उसके पेट के ऊपर झड़ गया क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि वो मेरी वजह से दिक्कत में आए.

चूत लंड की बीएफ

छेद कल ही खुल चुका था, उन्होंने अपना लंड मेरी गांड पर रखा और दो तीन झटके में पूरा अंदर उतार दिया. दस मिनट बाद जब मैं थोड़ा जगा, तो मैंने देखा सर मेरे पास ही लेटे हुए हैं और मेरी गांड पर हाथ फेर रहे हैं. जैसे ही उनके साथ मैं रूम में गई, वो भी अन्दर आ गए और उन्होंने दरवाजा लॉक कर दिया.

वो पूरा चीख रही थी और परदे के पीछे से उनकी नौकरानी हमारी चुदाई देख रही थी और वो मुझे दिखा कर अपनी अंगुली अपनी चूत में करने लगी. वैसे मैं कभी घर से बाहर नहीं निकलती थी लेकिन अब चूत को लंड चाहिए था इसलिए मैं अब अपनी जवानी को दिखाना चाहती थी.

ये कहते हुए गर्म हो चुके संपत जी ने मम्मी जी के पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और पेंटी को भी खींच कर उतार दिया.

वहां पर भी बाल नहीं है क्योंकि मयूरी ने नहाते वक्त थोड़ी-देर पहले ही अपनी चुत के बाल साफ किये थे. मगर दोस्तों … क्या माल लग रही थी, उसने गहरे लाल रंग की साड़ी पहनी थी, जो जिस्म पे चिपक कर ग़दर मचा रही थी. क्याआआ …” प्रिया के मुँह से ये सुनते ही, मेरे मुँह से हैरानी के कारण निकल गया और मैं चौंक कर उसकी तरफ देखने लगा.

पर तेरी मम्मी के और भी यार हैं, सब पैसे वालों को तेरी मम्मी फंसा के रखती है. मैंने सुना था कि इधर के देशों में लड़कियां बड़े खुले विचारों वाली होती हैं तथा बड़ी आसानी से चुदाई को मिल जाती है. फिर मैंने अपनी गांड को आगे की तरफ धकेलना शुरू किया तो लंड का सुपारा उनकी चूत के छेद को फैलाता हुआ अन्दर जा घुसा.

अब मैं भी चुप ना रहा और जैसे ही पूजा ने मेरे लंड को अपनी चूत से लगाया, मैंने अपनी कमर को एक झटके के साथ हिलाकर उसकी चूत में अपना लंड पूरा जड़ तक पेल दिया.

बीएफ दिखाइए मूवी: धीरे-धीरे मैंने गर्दन से नीचे का रुख किया और उसकी गर्दन को चूमते हुए नीचे का रुख किया. फिर हम लोगों ने खाना खाया और साथ में बैठकर सब टीवी देख रहे थे तो अचानक चाची ने चाचा को बताया- गौरी दो दिन से काम पे नहीं आई!तो चाचा ने गौरी को फ़ोन किया और गौरी को पूछा कि काम पे क्यों नहीं आ रही हो?तो गौरी ने तबीयत खराब होने का बहाना किया और अगले दिन आने बोला।तब हम लोग सोने चले गए.

फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उसकी चुत में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा. अब मैंने उनकी ब्रा भी उतार दी और उनके मम्मों पर एक भूखे शेर की तरह टूट पड़ा. हाँ ये हो सकता है कि इसने गांड में लंड लिए हों, मुँह में लिए हों और बाकी सब किया या करवाया हो, पर यह पक्का है कि वन्द्या ने आज के पहले किसी को अपनी चूत चोदने को नहीं दी है, ये पक्की बात है.

सुबह उठकर वो गर्व से बोला- अगर कोई लौंडा भी होता तो भी तुम्हें इतनी बार ना चोद पाता.

बावजूद इसके मेरी उम्र और कामकाज को ध्यान में रखते हुए, जॉन मुझे सर कहकर ही संबोधित करने लगा. उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी और मेरी उंगली उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रही थी. देखते देखते मुझे शौर्य के कुछ सेक्सी पिक्स दिखे, जिसमें वो अपने गोल, सफेद और भरी हुए गांड को दिखा रहा था.