बीएफ पिक्चर मूवीस

छवि स्रोत,सेक्सी वाली वीडियो चुदाई वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

आइडिया कस्टमर: बीएफ पिक्चर मूवीस, परंतु रोहित अब संजू की साड़ी और पेटीकोट में अपना मुँह घुसाकर उसकी जांघों तक घुस कर चाटने लगा.

सपना चौधरी की सेक्सी पिक्चर वीडियो में

उसके मुँह से बड़ी दर्द भरी आवाज निकल रही थी- उन्हह … अअह … बाप रे बाप … ओह मम्मी … आज … तो मर गई. आपकी बहन की सेक्सी वीडियोजब मैंने फिर उठने की कोशिश की तो उसने मेरे नितम्बों पर मारते हुए कहा- बस थोड़ी देर और करने दो.

मेरी चुचियों को दबाते दबाते उसने अपना अंडरवियर और मेरी पैंटी उतार दी. हीरोइन की हिंदी सेक्सीजैसे शब्द मुख से किसी संगीत की भांति लयबद्ध तरीके से विस्फुटित होने लगे थे.

ममता ने प्रकाश से कहा- चलो चेंज कर लो, थोड़ी देर सोते हैं, कल तो छुट्टी है.बीएफ पिक्चर मूवीस: एक टाइम पर तो नेहा इतनी उत्तेजित हो गई कि उसने मेरे होंठों को काट खाया … जिसके ग़ुस्से में, मैंने उसके मम्मों को इतनी जोर से मसला कि उसकी चीख निकलने वाली थी.

तभी संजय ने परमीत का हाथ पकड़ लिया और कहा- अरे यार, तुम कब से पुराने ख्यालातों वाली बन गईं.कुछ देर के दर्द के बाद मुझे भी मजा आने लगा था और मैं अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी थी.

सेक्सी सेक्स व्हिडिओ पिक्चर - बीएफ पिक्चर मूवीस

मैं तो बस नीरज से उनका रिव्यू ले रहा था कि तुम्हारे साथ सेक्स करके कैसा लगा.इधर मैंने भी चार-पांच जोरदार धक्के मारे और संजू की चूत में आह की आवाज के साथ झड़ने लगा.

मेरा तो नाम आप सभी जानते ही हो, जो नहीं जानते हैं, उनको मैं बता दूँ कि मेरा नाम शुभम है, मैं उत्तर प्रदेश के नोएडा से हूँ. बीएफ पिक्चर मूवीस ब्लू फिल्म चलने की आवाज से चाची ने मुड़ कर देखा, तो मैंने उनकी तरफ मोबाइल करके वीडियो दिखाने लगा.

मैंने उसे प्यार से देखा तो उसने फिर से लंड को अपने मुँह में भर लिया.

बीएफ पिक्चर मूवीस?

कुणाल बलिष्ठ था, उसने मीना को बाँहों में उठा लिया और तौलिया में लपेटकर बेड पर आराम से पटक दिया. सर ने दोबारा अपना लण्ड मेरी चूत के मुंह रखकर मुझे अपनी ओर खींचा लेकिन उनका लण्ड मेरी चूत में तब भी नहीं गया. और करीब बीस मिनट के बाद मैं उस ग्रामीण कन्या को स्पीड में चोदते हुए उसकी चूत में ही झड़ गया.

मैं बाकी लड़कियों से कहूंगी कि कभी अपने भाई से कभी अपनी चूचियों को चुसवा कर देखना, वो अहसास ही निराला होता है. मैडम ने मुझसे अपना साथ छुड़ाया और चाय के भरे कप उठा कर अन्दर चली गईं. हम दोनों के जिस्म का रोआं-रोआं खड़ा हो गया और उत्तेजना की एक तीखी लहर हमारे जिस्मों में से गुज़र गयी.

मैंने अपने कपड़े निकाले और सिर्फ अंडरवियर पहनकर पानी में छलांग लगा दी और मस्ती करने लगा. उसने कहा- तो फिर ये क्या कर रहा था?मैंने कहा- बैक में पेन हो रहा था. अब मैंने करवट ले कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठों को चूसने लगा.

मैंने उनकी गालियों को नज़रअंदाज़ करते हुए लंड थोड़ा बाहर निकाला और फिर से एक जोरदार धक्के के साथ पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया. इसी चक्कर में मैंने उसके लंड को अपने हाथ की दो उंगलियों के बीच में हल्के से पकड़ लिया.

परमीत ने दूसरे तरीके से बात रखी- अच्छा तो ये बताओ कि मेरा बर्थडे गिफ्ट कहां है?इस बार फिर संजय ने कहा- यही तो हैं तुम्हारा बर्थ डे गिफ्ट!इससे हम दोनों का दिमाग खराब हो चुका था.

अब मैंने एकदम उसकी चूत से अपना लंड बाहर खींचा और उसके मुंह में दे दिया.

शायद वही देखकर उसका मन ख़राब हो गया था और मुझे पाने का प्रयत्न करने लगा।वो मेरे गदराये हुए बदन को देखकर अपने आप पे काबू नहीं रख पाया और उसकी साँसें तेज तेज चलने लगी. ऐसा बोलते हुए अभय ने भी मेरे दोनों दूध कस कर पकड़ लिए और जोर से दबा दिए. वगैरह वगैरह!इतनी बातों में सामने वाले के जवाब देने के तरीके से यह जाना तो नहीं जा सकता कि सामने वाला किस स्वभाव का हो सकता है.

मैं हसन की ब्रीफ को देखकर सोचने लगी कि रजत की ब्रीफ के ऊपर का नजारा कैसा होगा. वसुंधरा के बिस्तर पर बैठे-बैठे नीचे की ओर सरकने की वजह से वसुंधरा की नाईटी नीचे से ऊपर की ओर सरक गयी थी या यूं कहिये कि वसुंधरा का जिस्म उस की नाईटी से नीचे की ओर से बाहर आ गया था जिस कारण वसुंधरा की गोरी-गोरी टांगें पिंडलियों से ऊपर तक और घुटनों से ज़रा सा नीचे तक अनावृत हो गयीं थी जिससे वसुंधरा क़तई बेख़बर थी. मेरी सेक्स कहानी के बारे में आप अपने कमेंट्स अब[emailprotected]या फिर hangsout पर करें, धन्यवाद.

यह सुनकर मैं और नीरज ने एक साथ बोला- क्या…अ…अ … तुम दोनों के लंड सहन कर लोगी?वो मुस्कुराई और बोली- कोई शक?वो उठी और मुझे पीठ के बल बेड पर लेटने को बोली.

मेरी गांड के छेद पर लंड रखते हुए अपने लंड के आगे की चमड़ी को खींच कर पीछे की और उंगली की मदद से पहले सुपारे को गांड के अन्दर फंसा दिया. दोनों के हथियार देखकर मैं इतना तो समझ गई थी कि आज मेरे यौवन का अहंकार सिर्फ टूटेगा ही नहीं, बल्कि चूरचूर भी हो जाएगा. वो वहीं आंगन में रखी कुर्सी में बैठ गए और मैं अन्दर रसोई में चली गई.

मैं बहुत दर्द में थी, मेरी कराहें और सिसकारियां पूरे रूम में गूंज रही थीं. लन्ड मुंह में जाते ही राजीव भी उठ गया और मेरी चूत को अपने मुँह पर रख लिया. मैं कोई लेखक नहीं हूँ, इसलिए कुछ ग़लती हुई हो, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर देना.

जब हम घर पर पहुंचे, तब मैंने अन्दर आते ही आलिया को अपनी गोद में उठा लिया.

अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुआ सीधा अपनी नयी आपबीती पर आता हूँ. मेरे लंड को देखते ही एकदम से बोली- मेरे राजा … मुझसे रहा नहीं जाता.

बीएफ पिक्चर मूवीस एक बार तो उसने अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को दबा भी दिया मगर फिर साथ ही सॉरी भी बोल दिया. नीचे से उसने काले रंग की स्लीवलेस बनियान पहनी हुई थी जिसकी पट्टियां उसके कंधों पर कसी हुई थी.

बीएफ पिक्चर मूवीस रोहित प्रतिदिन दूध देने आता और चला जाता, कभी भी उसकी हिम्मत नहीं हुई कि वो संजू से कुछ कहे. गपागप चपाचप हर प्रहार पर हंय हंय की आवाज माहौल को मदमस्त कर रहा था.

पर जब हम पहुंचे, उसी समय विक्की को उसके घर से कॉल आ गया और उसको बुला लिया गया.

आंटी की चुदाई हिंदी बीएफ

अब मैं आपको सुनाऊंगा कि कैसे मेरी गर्लफ्रेंड और मैंने अपने दोस्त के घर में चुदाई की. मेरी हल्की सी हंसी छूट गयी, वसुंधरा ने खीझ कर मुंह बिचकाया और फ़िर शरमा कर अपनी आँखें दोबारा बंद कर ली. इतना कहते हुए मैंने अलका को अपने लंड पर झुका दिया और अलका को लंड चूसने का इशारा किया.

उन्होंने मेरे चेहरे को ऊपर उठाया और कहा- तुम बहुत सुन्दर हो मल्लिका. उस समय मैं सेक्स के बारे में तो जानती थी, पर मैं इतनी अधिक सीधी थी कि मुझे डर लगता था कि कहीं चुदाई से मुझे कोई नुकसान ना हो जाए. इस बार बहुत आसानी से प्रीति की चूत में मेरा लंड चला गया और प्रीति को चोदने लगा.

चाची ने खुद सहयोग करते हुए अपने पैरों से चड्डी निकाल कर दूर फेंक दी.

जब भी कोई स्पीड ब्रेकर आता या रुकना होता था, तो मैं कुछ ज्यादा ही जोर से ब्रेक मार देता था. मैंने उससे पूछा तो उसने अचानक से मेरे होंठों पर छोटा सा किस किया और बाहर चली गयी. फिर मैं नंगी सरीना को गोद में उठाकर अपने रूम में ले आया और उसे बिस्तर पर पटक दिया और उसे हर जगह किस करने लगा.

मैंने जब से उन्हें देखा था, तब से मुझे उन्हें चोदने के ख्याल आ रहे थे. मैं फर्श पर छोटी से चटाई बिछाकर स्वीटी आंटी के एकदम नजदीक बैठ गया था. उससे फ़ोन पर तो मेरी रोज़ बात हो ही रही थी, तो उसकी चिंता भी साफ़ झलक रही थी.

आह्ह … फ्रेंची नीचे होते ही उसका लम्बा सा लंड घने काले झाँटों के बीच में लटका हुआ मुझे दिखाई दे गया. लंड खड़ा करके दीदी उठ कर मेरे पास बैठ गईं- आलिया मैंने तो अपने भाई से चुदवा लिया.

फिर मैं सीधा चाची के ही घर गया और अपने घर कॉल करके बता दिया कि मैं सीधा चाची के यहाँ जा रहा हूँ।मैं उनके घर गया और बेल बजाई. अनिषा मुन्ना को दिखाते हुए उससे कह रही थी- देख बेटा … अब तेरी मां चुदने वाली है … फिर बुआ भी चुदेगी. उसने फिर पूछ लिया- क्या आप हमारे साथ ड्रिंक लेंगी?मैंने मना कर दिया, तो उसने कहा- तो सिगरेट चलेगी?इस पर मैंने उसकी आंखों में देखा, तो लगा मानो कि मुझे किसी ना किसी चीज के लिए तो हां कहनी ही पड़ेगी.

दो-तीन मिनट तक लंड चुसवाने के बाद उसने मुझे बेड पर पीछे पटका और मेरी गांड को उठा कर अपने लंड के सामने कर लिया.

इस बात पर हम जीजा-साले मुस्कराने लगे, जिससे दीदी को भी रात हुई चुदाई की वजह से हमारी बात समझ आ गई. मैं बोला- बर्दाश्त नहीं हो रहा था, तुम बोलती हो, तो मैं चला जाता हूँ. वसुंधरा प्लीज़! जिंदगी पहले से ही बहुत उलझी हुई है, इस में और ज्यादा उलझनें मत डालो.

भला अंधा क्या चाहे दो आंखें … वह आदमी तपाक से बैठ गया।अब यह आदमी जिन्होंने अपना नाम मुझे मुकेश (34) बताया था मेरे ठीक पीछे आकर खड़े हो गये। अब वो मेरे इतने करीब था कि वो सांस भी लेता तो मेरी गर्दनों पर गर्म हवा आती।मेरे दिल की धड़कन तेज हो गयी थी।अगर ये कॉलेज लाइफ के टाइम पर हुआ होता तो इतने हिंट पर तो मैं अब तक चुद चुकी होती. मेरा ध्यान हसन पर था और पता नहीं कब रजत मेरी मालिश करते हुए मेरी जांघों तक पहुंचने लगा.

पर आज आप मत रुको … आप अपने दिल की कर लो और शायद जो आपके दिल में है वही मेरे दिल में है. सोनम- मादरचोद केवल माल झाड़ने आया था भोसड़ी के …लड़के को गाली देते हुए सोनम अपने दूध को मसल रही थी. होटल पहुँचते ही उसने पहले तो कमरे कि गंदगी को देख कर मुँह बिचकाया और होटल वाले को दस गाली दीं.

बीएफ सेक्स करते हुए दिखाइए

मैं जानती थी कि संदीप से मेरा बिछड़ना तय है, तब भी मैं उसे दिल से चाहती थी, जबकि परमीत का संबंध सिर्फ लंड चूत वाला था और मनु का संबंध भी शारीरिक ही लगता था.

मैंने अपनी पत्नी से पूछा तो उसने बताया कि सुमन का नवां महीना शुरू हो गया है और इन लोगों में पहली डिलीवरी मायके में कराने का रिवाज है, इसलिये आई हुई है. इस कहानी को मजेदार बनाने के लिए अलीना की इंग्लिश को मैं हिन्दी में लिख रहा हूं. मैं फोन का इस्तेमाल करते हुए कमरे से बाहर आया और हॉल की ओर चला गया.

??मेरी मासूम आवाज पर सब हंस पड़े और परमीत कहने लगी- नहीं जानेमन, वो तो सिर्फ बच्चों का खेल था … जवानी का खेल हो और दर्द ना हो तो मजा ही क्या!उसकी बातों से सभी सहमत और अवगत थे … क्योंकि दीदी तो पुरानी खिलाड़ी थी हीं और परमीत ने कल रात मजा चख लिया था. संयोगिता ने प्रतीक्षा से कहा कि वो एक कटोरी लेकर आये तो प्रतीक्षा नंगी ही उठकर किचन से एक कटोरी ले आई. सेक्सी मूवी हिंदी डाउनलोडमैंने उसे गर्म गर्म कॉफी दी और कहा- मुझे बस यही बनाना आता है, इसे पी लो … तुम्हें अच्छा लगेगा.

मैं प्रतीक्षा के कारण थोड़ा नर्वस था क्योंकि प्रतीक्षा का कहीं भी कोई जिक्र नहीं था और प्रतीक्षा संयोगिता की छोटी बहन थी और उसकी उम्र भी कोई खास नहीं थी बट संयोगिता ने मेरे मन को भाँपते हुए कहा- विशु जी, आप टेंशन न लो प्रतीक्षा की पूरी फीस मैं पे करूँगी, आप बस पूरी तरह विद आउट एनी हेजिटेशन आप काम को शुरू करो. फिर वो हमारे सामने घुटने के बल बैठकर लंड को मुँह में लेकर धीमे-धीमे चूसने लगीं.

बियांका अब मेरे सीने से लिपट गई और उसने मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया. मतलब ये कि मैं एक बार फिर से गीली होना शुरू हो गयी थी … पर जेठजी ने कोई पहल नहीं की. मुझे दया आ गयी, मैंने उन्हें अपनी सीट दे दी। मैं खड़ी होकर सफर करने लगी।उस धक्का मुक्की और झटकों की वजह से मैं कई बार अपने बगल की सीट पर बैठे आदमी से भिड़ जाती.

कुछ देर वे दोनों ऐसे ही पड़े रहे, इसके बाद भैया, दीदी की बुर से अपना लंड निकाल कर साइड में लेट गए. क्योंकि उसे देख कर पेड़ के छिले हुए सीधे खड़े, तने का आभास हो रहा था. अपनी पैंट और अंडरवियर निकाल कर मैंने आंटी के मुँह के पास अपना लण्ड किया.

आजकल अमेरिका का वीजा बड़ी मुश्किल से मिलने लगा था … इस वजह से थोड़ी दिक्कत आई, लेकिन हो गया.

उसकी चुदास देख कर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और पूरी ताकत के साथ धक्का लगा कर उसे चोदने लगा. एकदम नमकीन और खट्टी सी मलाई ने मेरी आंखों में वासना का नशा भर दिया था.

सी … मर गयी मैं … ओह … सी … सी … सी … ईं … ईं … ईं … !!”मैंने अपने हाथ को जरा सा वसुंधरा की नाभि की ओर किया और वापिस नीचे की और ले जाते हुए रिफ्लेक्स-एक्शन में ही अपनी उँगलियों को वसुंधरा के पेट पर दबा कर अपना हाथ वसुंधरा की पैंटी का इलास्टिक के नीचे से पैंटी के अंदर ले गया. उससे रहा न गया और उसने मेरी फ्रेंची को मसलते हुए मेरे होंठों को पीना शुरू कर दिया. भैया बोले- उसके कितने ब्वॉयफ्रेंड हैं?दीदी- अभी तो दो हैं, जिसने सील थोड़ी थी, वो आगे पढ़ने को अमेरिका चला गया है.

मेरे से रहा नहीं गया, उत्तेज़ना में मैंने उसको नीचे लिटा कर उसकी ब्रा और शर्ट को उतार कर एक तरफ फेंक दिया. चाटते चाटते चूत पर अपने मुँह को रख कर बोले- अरे कल तक यहां संड़ाध मारता था … आज खुशबू … माशाअल्लाह आज तो मजा आ गया. चाची ने मुझसे पूछा- मैं कैसे दिख रही हूँ?तब मैंने कहा- बहुत मस्त दिख रही हो।उसके बाद हम दोनों ने खाना खाया और बातें करने लगे.

बीएफ पिक्चर मूवीस मैंने अपना लंड उसके चूत पे रखा और सहलाने लगा।तभी ध्यान आया की साला जल्दी में निरोध तो लाया ही नहीं. अब दोनों तरफ ऐसी कामाग्नि भड़की कि दोनों एकदम से एक दूसरे के होंठों को बुरे तरीके से काटने लगे.

बीएफ सेक्सी बीएफ इंग्लिश में

”अब कोई ‘वसुंधरा’ नहीं … कोई ‘राजवीर’ भी नहीं, कुछ है तो सिर्फ प्रेम. उसके कान के नीचे वाले भाग को अपने दांतों से चुभलाते हुए सहलाने लगा. मैंने कहा कि आंटी ये मेरी फ्रेंड भी अब बहुत दिन हो गए है, मिलती नहीं है.

किसी के घर में जाता हूं तो मौका पाकर बाथरूम में टंगी ब्रा और पैंटी को सूंघने का मौका नहीं छोड़ता. चुत से हाथ हटाते ही उसने मेरी तरफ देखा और कहा- मुझे तो नंगी कर दिया … अब अपने भी कपड़े उतारो न. xxx.iii वीडियो सेक्सी एचडी मेंमेरा लिंग कोई इंच भर वसुंधरा की योनि से बाहर खिसका और अगले ही पल फिर जहां था वहीं वापिस पेवस्त हो गया.

अच्छा बताओ उंगली से मज़ा आया न?लड़की- हां, खूब!लड़का- वही तो … जब लंड बुर में घुसेगा, तो और मज़ा आएगा.

सुहास बेबी धीरे बेबी … आह आह उउफ … फ़क मी स्लो बेबी … धीरे चोदो मुझे आह सुहास. विक्की ने मुझे बताया कि वो कॅनेडा जा रहा है … उसकी दीदी का एक्सीडेंट हो गया है, सो वहां उसे थोड़ा टाइम लगेगा.

उसके बाद सुहास झड़ने वाला ही था कि उसने अपना लंड निकाल कर मेरे मुँह में डाल दिया. जीजा जी- क्या हुआ साले साहब अपनी दीदी की याद आ गई?मैंने मजाक करते हुए कहा- मेरे पास आपकी बहन चुदने को बेकरार है. जैसे जैसे मैं डिस्चार्ज होने के करीब पहुंच रहा था, लण्ड का टोपा फूलकर संतरे जितना बड़ा हो गया था.

मैंने झटके मारने चालू रखे, आशा भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा लंड अपनी चूत में ले रही थी.

आदी- क्यों?मैं- बहुत दिन हो गए यार तुझे देखा नहीं … ऐसे में तुझे बहुत मिस करती रही. मैं- कल सुबह तक हारने वाली टीम को जीतने वाली टीम की बात मानने पड़ेगी. अभी भी मेरी दीदी के पूरे बाल बिखरे थे … जो उसे और भी सेक्सी बना रहे थे.

मारवाड़ी हिंदी सेक्सी वीडियो फिल्मवो बोल रहे थे- साली रंडी तू कब तक बच सकती थी … आखिर तेरी गांड का पहला भोग मुझे ही लगाना था. मैं सुहास के लंड को मुँह में लेकर उसके साथ खेलने लगी, वो भी मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड से मेरे मुँह में धक्के मारने लगा.

बीएफ चूत वाला वीडियो

[emailprotected]सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी बीवी ने जवान लड़के से चूत चुदाई-2. कुछ ही देर में नशे का आलम हो गया और हम एक दूसरे पर भूखे भेड़ियों की तरह टूट पड़े. मैं- आलिया तुम्हारा बुलावा आ गया … जा मेरे दोस्त की अच्छे से खिदमत कर दे.

तभी हम चारों नग्न अवस्था में अन्दर आ गए और वे चारों हमें देखने लगीं. मैंने झट से जीभ उसकी गांड में घुसा दी और हाथ बढ़ाकर एक उंगली रानी की चूत में दे दी. पर रवीना एक्साइटिड थी, बोली- मेरी चिंता मत कीजिये, मैं पंद्रह मिनट में आपके होटल पहुँच रही हूँ.

उसने रवीना के कुंवारेपन की तो मां चोद दी थी पर उसे गर्भवती बनाने का रिस्क वो नहीं लेना चाहता था. कहानी का मजा लीजिये!हाय दोस्तो! मेरे प्यार लंड धारियो, मैं अपनी कहानी को लेकर गारंटी के साथ कह सकती हूं कि आपको ये कहानी पढ़कर इतना मजा आयेगा कि सब मर्दों का लंड अकड़ जायेगा और आप मुठ मारने लगेंगे. ‘चट की आवाज़ के साथ सिल्क की दर्द से भरी कामुक आवाज़ भी सुनाई दी- आआह्ह्हह!तब एक झटके में मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया.

चाची के सांवली होने की वजह से चाचा गोरी लड़कियों और औरतों के चक्कर में अक्सर ही घर के बाहर रहते हैं. फिर उसने मेरे सामने ही अनिषा की गर्म चूत में अपना मूसल सैट कर दिया.

मेरी टांगों की मालिश करने वाला एक एस्कार्ट था, इसलिए मुझे उसकी खुशी की चिंता नहीं थी.

मैंने एक छोटे से बैक पैक में शैम्पेन की एक बोतल और दो अरमानी परफ्यूम की शीशियां रखीं और बेबी रानी के रूम की तरफ चल दिया. एक्स इंग्लिश वीडियो सेक्सीमैंने अपनी एक उंगली को मिताली भाभी की चूत के अन्दर डाल कर उनके ‘जी स्पॉट’ को सहलाना शुरू कर दिया. कोई सेक्सी स्टोरी सुनाओवो बार बार मेरे सीने को सूंघती और मर्दाना गंध को महसूस करते हुए आंखें बंद कर लेती. मैंने पीछे कमर के बीच वाले हिस्से में रीढ की हड्डी पर हाथ लगाकर बताया कि यहां सेंटर प्वाइंट में दर्द है.

उस दिन मैंने उसकी दो बार और उसकी चूत मारी। फिर मैंने उससे पूछा- मेरे से पहले कितनों के साथ सेक्स किया है?तो वो एकदम से चौंक गयी और बताने से मना करने लगी.

वो एक बहुत ही खुशमिज़ाज़ लड़की थी और हमेशा हंसने, मुस्कुराने वाली लड़की थी. किसी गर्म सरिए के जैसा वो लंड मेरी चूत पर ऊपर नीचे हो रहा था और मैं आंख मूँद कर उसका मजा ले रही थी. आशा ने जीभ बाहर निकाल मुँह खोला, इतने में नीतू सामने आ गई और उसके मुँह के सामने मेरी मुठ मारने लगी.

तभी मेरा इशारा पाकर नीरज ने अपने पूरे टाईट लंड के ऊपर वैसलीन लगा कर उसे संजू की गांड पर टिका दिया. फेरी के एक केबिन में मैं अपनी बहन चित्र को अपना लंड चुसवा रहा था और मेरे सामने जीजा जी अपनी बहन आलिया से अपने लंड को चुसवाने का मजा ले रहे थे. दोस्तों इसके बाद मैंने उन्हें फिर से सीधा किया और उनकी टांगें अपने कंधे पर रख कर उन्हें पन्द्रह मिनट और चोदा.

हिंदी बीएफ सेक्सी चोदने वाली

थोड़ी देर बाद मैंने नोटिस किया कि वो लड़कियां हमारी तरफ देखकर स्माइल कर रही थी. तो देखने सुनने दो, इसमें क्या है?अविनाश- आलिया रहने दो, यह अभी तुम्हारी बात नहीं मानेंगे. मैं- क्यों … मैं नहीं आ सकता क्या?स्वीटी आंटी- नहीं नहीं रॉकी … ऐसी बात नहीं है, अच्छा अब चलो.

इन 15 दिनों में प्रियंका का भी बदन काफी गदरा गया था, खासकर उसके चूतड़ों का आकार बढ़ गया था और चुचे काफी भर गए थे.

लेकिन मामी करवट लेकर सीधे होकर लेट गई।कुछ देर मैं ऐसे ही चुपचाप लेटा रहा.

आंटी कहे जा रही थीं- अब तेरे अंकल हैं कि मेरी इन चूचों को कभी हाथ भी नहीं लगाते … तो क्या फायदा इनके अच्छे होने क़ा. गुड्डी की गोदी में पड़ा हुआ मैं कभी उसकी चूचियों से खेलता तो कभी बेबी रानी की. सेक्सी वीडियो लंड औरअब मैंने उनकी चूत में अपनी उंगली घुसा दी … और उनकी चुत के दाने को अपनी दो उंगलियों में दबा कर मसलने लगा.

और प्रतीक्षा की चीख संजना के मुँह में घुट कर रह गई लेकिन उसकी आँखें दर्द के कारण एकदम तन गई और उसके आँसू निकल आये. वो बहुत गोरा था, जरा दुबला पतला भी था, लेकिन बहुत लंबा सा लड़का था. फिर धीरे से उठ कर मेरे लण्ड में चूत की दरार पर रख कर दबा दिया और … अपने जिस्म को मेरे बदन से चिपका कर अपना नंगा जिस्म मेरे नंगे जिस्म से रगड़ने लगी.

तब चाची की चूत मेरे लंड पर ही थी तो मुझे बहुत मजा आ रहा था।फिर मैंने उठ कर चाची की ब्रा के हुक खोले और उनके बूब्स को आजाद किया और चूसने लगा. मैंने उसकी टी-शर्ट का किनारा पकड़ा, तो उसने बांह उठा दी और खुद ही निकाल दी.

ये बात तो आप लोग जानते ही होंगे कि जो जल्दी गर्म होता है, वो जल्दी ठंडा भी होता है.

मैं आपको हैंग आउट पर वीडियो कॉल करती हूँ ताकि आप देख लें कि मैं कौन हूँ. और वो शरारती अंदाज़ में हंस दी।मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया और मेरे लंड का टॉप उसकी भीगी फुद्दी में घुस गया।उसे दर्द तो हुआ … पर हल्का … एक हल्की सी ‘ऊई … माँ …’ और दर्द का भाव ही उसके चेहरे पर दिखा. मेरे बालों को सूंघते हुए कहने लगे- छम्मक छल्लो … आज नहा धो कर बैठी हो … क्या बात है और सब दिन तो बास मारती थी, साला खड़ा लंड भी औंधे मुँह गिर जाता था.

सेक्सी फिल्म हिंदी में भेजना तभी संजू जग गई, उसने अपने भाई को देखा, तो बोली- क्या हुआ भैया?नीरज ने संजू के बाल पर हाथ फेरते हुए कहा- संजना, तेरी चुदाई करने का मन कर रहा है. ‘अह्ह …’ की आवाज करके मेरी तरफ देख के मुंह बना लिया। मैंने शायद इस बार तेज़ चूँटी काट ली थी इसलिए वो खुद अपने पेट पे सहलाने लगी।मैंने कहा- ज्यादा तेज़ काट ली क्या?और कह के उसके पेट पे सहलाने लगा।उसने अपना हाथ हटा लिया, मैं उसके पेट पे आगे भी सहलाने लगा.

उसने कहा- मैं जैसे ही गेट खोलूं और मम्मी पापा अन्दर आ जाएं, तुम जाकर मेरी कार में बैठ जाना. संजू को थोड़ी सी राहत मिली और अब वो चूत चूसे जाने की वजह से चूत से पानी निकालने लगी और सीत्कार करने लगी. मेरा ये कहना गलत नहीं होगा कि 24 में 12 घंटे तो मैं अपने जेठजी के साथ ही होती हूं.

झारखंडी हिंदी बीएफ

उसके बाद जब भी मौका मिलता था तो मैं प्रीति को चोद कर शांत हो जाता था और टाईम पर प्रीति दवा खा लेती थी. मैं बोला- एक बार जाते हुए प्यार नहीं करोगी?वो बोली- अगर दीदी आ गयी तो?मैंने कहा- तुम्हारी दीदी को मैं कह कर आता हूं कि आरती के साथ मैं कुछ बात कर रहा हूं. उसकी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह माँ, अमित हां … ऐसे ही … बस करो … उन्हह … उईईईई येई ईईईईई ऊऊउईई.

हालांकि मुझे उम्मीद नहीं थी कि वो मेरा लंड चूसने को राजी हो जायेगी पर वह मान गयी और उसने मेरा लंड मुझ के अंदर ले लिया और चूर चूस के पूरा गीला कर दिया. अब मीना जैसी जवां, सेक्सी और सलीकेदार लड़की अगर किसी से छाती भिड़ा दे तो लल्लू का भी खड़ा हो जाएगा … यहाँ तो रवि था जिसके लंड को एक महीने से दाना पानी नहीं मिला था.

मैंने कहानी लिखना शुरू भी कर लिया था, पर भूमिका से आगे कुछ लिख ही नहीं पा रहा था.

वो रवि और रजनी जिन्होंने शादी के पहले साल में घर पर शायद ही कभी कपड़े पहने हों, अब बहुत सयंमित रहना पड़ता था. मैं- घूँघट उठाने की इजाजत है?नेहा- अमित आज तुम्हें सब करने की इजाजत है, पर मेरी बात को ध्यान से सुनो. वो- तुम तो लंड की बड़ी प्यासी लग रही हो?मैं- हां मैं बहुत प्यासी हूं.

मैंने एक ऑटो वाले को रोका और अपना एडमिट कार्ड दिखा कर उसी स्कूल चलने को बोला।मेरे मन में अभी भी उसी आंटी का ख्याल ही बार बार आ रहा था कि जल्दी से शाम हो फिर शायद मेरी ख्वाहिश मुकम्मल हो जाए. मैंने वसुंधरा को अपने साथ लिपटा कर उसके होंठों का एक भरपूर चुम्बन लिया और चुम्बन लेते-लेते अपने दाएं हाथ को वसुंधरा की पीठ पर लेजा कर वसुंधरा की ब्रा की हुक खोल दी. रवि ने मोटरसाइकिल निकाली, थोड़ी दूर ही गए होंगे कि अचानक तेज बारिश शुरू हो गयी.

मिताली- आह … और जोर से … और जोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… … अब बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से अपना लंड अन्दर डाल दो मेरी चूत में … फाड़ दो आआह आह्ह चोद चोद कर पूरी खोल दो मेरी चूत को … फाड़ दो … आह.

बीएफ पिक्चर मूवीस: जैसे ही मैंने मामी की चुत को पैंटी के ऊपर से टच किया, एकदम उन्होंने मेरा लंड अपने हाथ से दबा दिया जो कि बहुत देर से मेरे लंड के ऊपर रखा हुआ था. मगर फिर भी मैं जैसे तैसे करके मोटर बोटिंग का लुत्फ उठाने में लगी हुई थी.

उसका एक हाथ मेरे पेट पर जींस की बेल्ट पर था और दूसरा मेरे सीने पर जमा था. फिर सर ने मुझे सीधा करके मेरे मुँह में अपने लंड का सारा माल खाली कर दिया और लेट गए. उसको मेरा तारीफ़ करना अच्छा लगा, तो उसने पूछा कि इस साधारण से फोटो में तुमने मेरे फिगर को इतने अच्छे से कैसे समझ लिया?मैंने कहा- मैंने तो सिर्फ अंदाज लगाया है.

वो बस यही बोले जा रही थी- आह … शुभम … और तेज … फाड़ दो मेरी चुत को … फक मी हार्ड मेरी जान!मैंने उसे बहुत तेज चोदा.

फिर आठ बज कर पांच मिनट पर उनका मेल पर मैसेज आया कि मैं उसी जगह पर हूँ … तुम कहां पर हो?मैंने आजू बाजू देखा, तो वो नहीं थीं. ना जाने मेरे मन में ऐसी और कितनी ही बातें, शायरी और ख्वाब उमड़ने लगे. मुझे अन्दर से ब्लू-फिल्म देखने का बहुत मन था पर इतना टाइम ही नहीं मिल पा रहा था.