बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म

छवि स्रोत,जूही चावला की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी सेक्सी फिल्म बीएफ: बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म, फिर मैंने अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर एक ही झटके में उसकी चूत में डाल दिया और तेज़ी में चोदने लगा.

सेक्सी फिल्में सेक्सी फिल्में बीएफ

इसके दो दिन बाद फिर से एक कॉल आयी और बोली- कौन!सामने से कोई बोला- जी, मैं कैमरामैन जय बोल रहा हूँ. भोजपुरी औरतों की बीएफउसकी टांगों को जितना हो सके उतना चौड़ा कर दिया और जोर जोर से चुदाई करने लगा.

मैंने उससे कहा- बसंत तुम ये क्या कर रहे हो … छोड़ दो, जाने दो मुझे!बसंत- निधि तू अपने दिल की बात मुझसे कह सकती हो. इंडियन मूवी सेक्सी बीएफफिर मेरी साड़ी ब्लाउज की तरफ देख कर वो मुझे ऊपर से नीचे तक बड़ी गौर से देखने लगी.

चाची बोलीं- वह दिख नहीं रहा?मम्मी ने बोला- उसका बदन दर्द कर रहा है, इसलिए वो सोने चला गया है.बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म: बस इतनी ही देर थी, मैंने सीधा भाभी के करीब जाकर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनको एक लम्बा किस कर लिया.

गर्लफ्रेंड सेक्स का मजा लिया मैंने जब मेरी पुरानी दोस्त मेरे पास आयी.वो जरा सी भी जुम्बिश लेती, तो उसके दूध यूं थिरकने लगते मानो उनमें कोई स्प्रिंग लगी हो.

बीएफ हिंदी ऑडियो - बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म

आपको तो मालूम ही है कि एक बार झड़ने के बाद दूसरे राउंड में बहुत देरी से लंड चुत झड़ते हैं.ये देख कर ज़रीना ने देर ना करते हुए मुझे नीचे लिटाया और फिर से मेरे लंड के ऊपर आकर चुदाई के मज़े लेने लगी.

उसी समय तुरंत ही जेठजी ने दूसरी उंगली को भी मेरी गांड में डाल दिया. बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म फिर मेरा मन हुआ कि दोनों अंडकोषों को एक साथ मुँह में ले लूँ!लेकिन जेठजी के अंडकोष बहुत बड़े थे और देखने से ही साफ़ पता चल रहा था कि उनमें बहुत से बच्चे पैदा करने वाला वीर्य भरा हुआ था.

मेरे ममेरे भाई और बहन शहर में रहकर पढ़ाई करते थे और बड़े मामा दूसरे मकान में रहते थे।गर्मियों का मौसम था। घर में मेरे नाना-नानी थे लेकिन वो लोग नीचे सोये हुए थे.

बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म?

मगर लंड को इतनी अधिक कसावट महसूस हो रही थी कि मैं जल्दी ही उसकी गांड में झड़ गया. हम एक दूसरे से लिपट कर यूं ही लेटे लेटे अपनी सांसें नियंत्रित करने लगे. अचानक से हुए इस हमले से वो चौंक गयी और बोली- इस सबकी बात नहीं हुई थी, उसको छोड़ दीजिए.

दोस्तो, मैं आपको अपनी चुत चुदाई चुदाई का मजा कहानी में लिख रही थी कि जब मेरे पति ने मुझसे जेठ जी के साथ सेक्स कहानी को सुनाने को कहा, तो मैं उन्हें अपनी चुदाई के बारे में बताने लगी थी. फिर आकृति आंटी ने मेरे मुँह में मुँह लगा कर अपना सारा थूक मेरे मुँह में डाला और कमर हिला कर लंड को चुत से फैटने लगीं. अब मैंने उसको उलटा करके लिटाया तो उसकी पैंटी के फटे छेद में से उसके चूतड़ों की दरार दिख रही थी.

मुझे लंड अन्दर बाहर करने से जो आवाज आ रही थी उससे सेक्स चढ़ता जा रहा था. मैंने उसके मुँह से हाथ हटाया तो वो लम्बी लम्बी सांस लेते हुए मुझे देखने लगी. अब सारा कमल को ये अहसास करवाती कि वो उसकी दीवानी है लेकिन कमल की चुदाई से उसकी तड़प और बढ़ जाती है.

रिट्ज भी तो आपकी ही बेटी है … तो वो भी स्मार्ट होगी ही … लेकिन अभी मेरे लिए आप मेरी ड्रीम गर्ल हो. समीर ने मुझे बाथरूम में ही चोद दिया।इस तरह से उस दिन समीर ने दो बार मेरी चुदाई की। उसके बाद हम दोनों तैयार हो गये.

रोमी बोला- क्या तुम्हारी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी है?सरिता भाभी बोली- नहीं … मेरी गांड अभी तक किसी ने नहीं मारी.

तभी ममता बोली- क्या उसके साथ खाली चुम्मा चाटी ही करती रहोगी या आगे भी कुछ करोगी?मैं बोली- यार तुम सब तो इस खेल में खिलाड़ी हो.

मेरी पहली सच्ची सेक्स कहानीमेरी अन्तर्वासना- कुछ अधूरी कुछ पूरीको आपने ढेर सारा प्यार दिया, उसके लिए आपका बहुत धन्यवाद. भाभी एक दिन मेरे पापा से बात करके हमारे यहां किराए पर रहने दुबारा से आ गईं. मैंने उससे कहा- ओके तुम चिंता मत करो, मैं आंटी से कुछ नहीं बोलूंगा.

सरिता भाभी धीरे से बोली- अभी मैं घर जा रही हूँ, दोपहर में फिर आऊंगी. मैंने उसे बहन पटाने के गुर बताये तो उसने अपनी जवान बहन की चूत कैसे फाड़ी?दोस्तो, मेरा नाम निखिल है और मैं अपनी अगली सेक्स कहानी लेकर हाज़िर हूँ. उस दिन जब शाम को मैं उस दुकान पर गया तो वहां एक 35-37 वर्षीय महिला बैठी थीं, लेकिन वो अपनी उम्र के हिसाब से बहुत लाजवाब आइटम थीं.

मैंने सोचा चलो कम से कम और कुछ ना सही पास में सोने का ही सुख मिलेगा।उसके बाद वह ऊपर चढ़कर आ गई और मेरे बगल में लेट गई।अब स्लीपर तो इतनी चौड़ी होती नहीं है कि बीच में गैप रहता.

अब भाभी मेरे सामने बिल्कुल नंगी थीं, वो अपने हाथों से अपने जिस्म को ढकने की कोशिश कर रही थीं. सारा और कमल की यूं तो अर्रेंज मैरिज है मगर दोनों के परिवार एक दूसरे को बरसों से जानते थे. ये गरम गीली चुत स्टोरी आज से पांच साल पुरानी उस समय की है, जब मेरी नयी नयी जॉब लगी थी.

वहां लगभग मेरी सारी सहेलियां आयी थीं तो आज बहुत दिनों बाद सब एक साथ हुए थे. उसे लकी नाम का एक लड़का पसंद आ गया था जो कुछ दिन पहले ही उनके सामने वाले फ्लैट में रहने आया था. मैंने कहा- केवल बनियान और पजामा ही तो पहना है … इससे ज्यादा क्या खोलूं?तो वो आंख दबाते हुए बोली- पूरे कपड़े खोल दीजिए न!मैं बोला- पागल हो क्या?बीवी बोली- पागल नहीं हूँ मैं बस ये कह रही हूँ कि आपको गर्मी लग रही है तो अपने बाकी के कपड़ों को भी खोल दीजिए.

मेरा नाम वरुण है, ये कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी उस समय की है, जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था.

ओ के!और तुरन्त ही रिसीवर रख दिया।और वो किसी बहाने से एक्टिवा लेकर मेरे घर आ गई तो मैं उनको बिल्कुल तैयार मिला।उन्होंने मुझसे कहा- अभी तो तेरी तबियत खराब थी? इतनी जल्दी ठीक भी हो गई?तो मैंने उनसे कहा- मैं आपसे सिर्फ मजाक कर रहा था. उसने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर टिका कर जोर लगाया और उसका लंड मेरी गांड में घुस गया.

बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म मैंने भी अपने लौड़े को तेज़ तेज़ करना शुरू कर दिया।उसकी सिसकारियों से मुझे और जोश आ गया।मैंने उसे बिस्तर से उठाकर सोफे पर झुका दिया और उसकी गान्ड में लन्ड घुसा दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा. फिर उन्होंने अपना मुँह पीछे किया और मुझे उसको किस करने का इशारा किया.

बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म अभी मुझे जाने दो मेरे राजा … मैं जल्द ही अपनी चूत तुमको देने आऊंगी. अगले दिन रोहन अपनी मॉम को किचन में उसकी थिरकती गांड देखकर फिर से पागल होने लगा.

उसकी कामुक आवाजें आ रही थीं- आह चोद दे अपनी बहन की गांड आह फाड़ दे गांड … मजा आ रहा है.

हॉट सेक्सी चुदाई हिंदी

वो लड़का हांफते हुए मेरे पास आया और बोला- मुझे तो लगा कि आप नहीं रुकोगी. फिर जेठजी ने अलग होकर मेरी साड़ी, ब्लाउज सब उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया. मैंने कहा- बड़ी बेचैन हो रही हो डार्लिंग!वो बोली- इसे बेचैनी नहीं, तड़प कहते हैं.

मैंने कहा- मुझे अब ये ब्रा को देख कर अपना लंड हिलाने में संतुष्टि नहीं मिल रही है. वो बोलीं- तुमको कोई गर्लफ्रेंड मिली कि नहीं?मैंने ना में सिर हिलाया. मेरी टांगें फ़ैल गई थीं और मैं गांड उठा कर अपनी चुत चटवाने का मजा लेने लगी थी.

ये वही पल था, जिसमें कुसुम अन्दर आकर अपने बेटे के बारे में सोच कर अपनीचुत में उंगलीकर रही थी.

मैं बोला- तो इस शनिवार को दारू पीने के लिए मिलेंगे, तब मैं तुम्हें दिखा दूंगा. मैंने आपा की सलवार खोल दी और उसकी सफाचट चूत देखकर मेरा दिमाग ख़राब हो गया. मैंने अन्दर उंगलियों को खोलना शुरू कर दिया, जिससे छेद खुल जाए और बड़ा हो जाए.

इस तरह उस रात में एक दर्जन से अधिक लोगों से चुद कर उनका वीर्य मुँह, चूत और गांड तीनों जगह ले आई. लेकिन आपका लंड देखकर लगता है कि ऐसे लंड तो घर के पास भी मिल जाता है. तो वो मेरे बिना बोले उठ कर अपनी गांड मटकाते हुए मेरी पसंद वाली आइस क्रीम ले आईं.

गांड में मोटा लौड़ा घुसा तो सोनू की काफ़ी तेज़ आवाज़ निकली- आहह … मर गया. उसके बाल खुले हुए थे और उसकी आंखें पता नहीं क्यों मुझे अपनी तरफ खींच रही थीं.

फिर वो बोला- मैं प्रोड्यूसर से बात करता हूँ और डेट फ़िक्स करता हूँ. कुछ देर तक यूं ही हम दोनों ने एक दूसरे के कामुक शरीर का नापतौल किया और उसके बाद नवाब मेरे ऊपर झपट पड़ा. आधे घंटे तक मेरी फुद्दी पेलने के बाद उसने मुझे घोड़ी बना कर मेरी गांड भी बजाई और बहुत देर बाद उसने अपना वीर्य छोड़ा.

उसने सिर हिला कर हां कर दी क्योंकि उसका मुँह अभी भी सलवार से बंद ही था.

जिस्मों का मिलन पूरा हो गया था और अब चुदाई का आनंद लेने की बारी थी. वो मना करने लगी तो मैंने बोला- यार, ये तो खड़े लंड पर धोखा हो गया, तुमने मेरा देख लिया, जबकि तुम अपना माल दिखाया ही नहीं. मेरा मन तो करता था कि अभी उसे किसी कमरे में बुला लूं और नंगी करके चोद दूं.

चूंकि छत पर अंधेरा था तो पता नहीं लग सकता था कि कोई इन्सान सो रहा है या जाग रहा है।दीदी ने देखने की कोशिश तो की और मैंने सोने का नाटक किया।मैंने सोचा कि दीदी अब मामा को कुछ बोलेगी. करीब शाम आठ बजे आंटी का फ़ोन आया और वो बोलीं- बेटा तुम हमारे घर आ जाना.

उस समय मुझे अपने दूध चुसवाने में मज़ा आ रहा था, तो मुझे इस बात का पता नहीं चला था. मैं तो अब मजे में था मगर धीरे धीरे चुदाई करते हुए टाइम का पता नहीं चला और मेरे एग्जाम पास आ गये. लंड गांड में घुसा ही था कि सीमा बुक्का फाड़ कर चिल्लाने लगी- उई बाप रे … मेरे फट गई गांड … आह दर्द हो रहहाई.

बाहुबली सेक्सी पिक्चर

हालांकि आज भी अभय उसका बॉयफ्रेंड है, लेकिन मैं उसके ज्यादा करीब हूँ.

जब विजय ने यह देखा, तो वो बोला- मेरी सरिता रांड … क्या हुआ तुझे … थक गई क्या … अभी तो खेल शुरू हुआ है साली … और तुम तो अभी से थक गई हो. आपको मेरी कुंवारी अल्हड़ जवानी की चुत चुदाई की गाँव सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करना न भूलें. मैंने उनकी तरफ देखा तो मामी ने कहा- ये नहीं … अपना स्पेशल इंजेक्शन लगा दो.

उसने मेरे लंड की आगे की खाल को खोलकर सुपारा निकाल लिया और उस पर अपनी जीभ चलाने लगी. उनके मुँह में लंड को झाड़ा और बूब फकिंग … गांड चुदाई … किचन में चुदाई … बाथरूम में चुदाई … ये सब अगली बार में लिखूँगा. बीएफ वीडियो गाना डीजेफिर धीरे से मैंने भाभी की टी-शर्ट को ऊपर कर दिया और उन्हें किस करते हुए सामने आ चुकी ब्रा को भी ऊपर को कर दिया.

क्रीम लगाते टाइम मुझे अहसास हो गया था कि उसकी चूत का छेद बहुत ही संकरा था और लौड़े दर्द तो उसे झेलना ही पड़ेगा. तो मैंने उनके गले में बांहें डाल दीं और वो मेरी चूचियों को पीने लगे.

थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि वह लड़की छत पर गई और अपने कपड़े उतारने लगी. उसके बड़े बड़े बूब्स मेरे लौड़े को टाइट करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे. ऊपर आकर मैंने देखा कि मेरे बिस्तर के बाजू में ही एक और बिस्तर लगा था.

जेठजी ने अपने दोनों बड़े बड़े हाथों से मेरे सर को पकड़ कर अपनी कमर से धक्का मारा और उनका लंड मेरे मुँह में 3 इंच अन्दर घुस गया. जैसे ही उसने चूत को लंड पर रखा, लंड सट्ट से अंदर घुस गया और अंजुमन की चीख निकल पड़ी. गांड में लंड कैसे लोगी?भाभी मुस्कुरा दीं- अरे यार, मेरा पति ही इसका ज़िम्मेदार है.

मैंने उसकी कुतिया बनाया और उसी पैंटी के छेद से लंड बहन की गांड के छेद पर लगाकर दबा दिया.

वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … हमराज … तू आज मेरा मर्द बन जा! मैं तेरे लंड से चुदवाना चाहती हूं. मैं उसे किसी ना किसी बहाने से छूने की कोशिश करता रहता था और वो भी मेरी इन हरकतों का मजा लेती थी.

मैंने कहा- ठीक है।हम लोग सोने के लिए अपना अपना बिस्तर सही करने लगे और अपने अपने बिस्तर में घुस गए. मैं काफ़ी टाइम से इन सभी घटनाओं को अन्तर्वासना पर आपके साथ साझा करने की सोच रहा था. आपकी प्यारी सी चुलबुली सपना चौधरी[emailprotected]मेरी सेक्सी नंगी चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरी चूत में घुसें सबके लंड- 3.

भाई बहन सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि मेरी सेक्सी बहन को देख सब लड़के कमेंट करते थे। एक दिन मैंने बहन को बाथरूम में नंगी नहाते देखा तो मुझसे रहा न गया. उसने लंड सहलाते हुए कहा- ठीक है लेकिन मैं तुम्हारे लंड पर बैठकर चुदाई करूंगी. उसने लंड चूस कर खड़ा कर दिया और खुद ही मेरेलंड पर बैठ कर चुदाईकरवाने लगी.

बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म मैं आपको बता दूं कि सोनू का लंड ज़्यादा बड़ा नहीं था, पर मोटा बहुत था. दोस्त ने आगे कहा कि लंड चुत में सिर्फ चुदाई का रिश्ता होता है और कोई रिश्ता नहीं होता है.

एक सेक्सी वीडियो हॉट

अपने करीब पाकर उन्होंने अपने पालतू कुत्ते का मुँह अपनी भट्टी जैसी जलती गर्म चूत में घुसेड़ दिया. मगर जब मैंने उससे कुछ भी नहीं कहा तो वो बोली- आपने फोन नहीं लगाया?मुझे नहले पर दहला मारने का मौका मिल गया; मैंने कहा- फोन क्यों लगाना था?अब वो सकपकाई और मेरी तरफ देखने लगी. थोड़ी देर बाद सुनील ने मेरी बहन को नाइटी पहना दी और मैंने सुरीली को वो रस्सी वाली ब्रा-पैंटी पहनाई.

इसके बाद जब भी मुझे अपनी मॉम को चोदने का मौका मिलता, तो हम मॉम बेटे चुदायी कर लिया करते. उसकी खुशी का कारण यह था कि वो आज अपने घर पूरे दो वर्ष बाद लौट रहा था. बूब्स पीनाक्योंकि इस समय उसकी मॉम की गांड नाइटी के ऊपर से ही बहुत सेक्सी लग रही थी.

मैंने उनसे कहा- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है अरविन्द जी … आप भी बहुत अच्छे हो.

अगले ही पल वो घुटनों के बल बैठ गई और मेरे खड़े लंड के सुपाड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी. उसकी कुर्ती को मैंने उसकी ब्रा तक उठा दिया ताकि उसकी ब्रा के हुक मुझे दिख सकें.

आखिर वो अपने स्तनों को सबसे बड़ा बनाना चाहती थी तो मैं इसमें उसकी मदद कर रहा था. मैंने वो आइसक्रीम आधी से ज़्यादा आकृति आंटी के शरीर पर सब जगह लगा दी. उसके साथ मैंने क्या क्या मजे किये और उसने मुझे किस तरह से इस्तेमाल किया.

अब मैं तेरे नाना नानी के साथ तो मजाक कर नहीं सकती इसलिए आज थोड़ा हल्का महसूस कर रही हूं.

सरिता तो जैसे किसी नल से दूध पी रही हो, वैसे उसका हब्शी लंड चूस रही थी. मूवी काफी रोमांटिक थी, तो हम दोनों का ही मूड बन रहा था, पर वहां कुछ हो नहीं सकता था. वो उस वक्त 26 साल का था और दिखने में भी काफी हैंडसम था।मेरी और उसकी उम्र में बस 7 साल का फर्क था।समय यूं ही बीतता गया और हम दोनों की नजरें एक दूसरे को निहारती रहीं। अब वो मुझे देखकर मुस्कराता भी था और मैं भी उसे देख कर मुस्करा देती थी।मतलब ये कि अब आग जोर पकड़ चुकी थी.

विलेज बीएफऔर हुआ भी ऐसा ही … मेरी सभी सहेलियों ने मुझे घर से बाहर ले जाने का इंतजाम कर लिया. शायद कुसुम ने ब्रा पैंटी भी नहीं पहनी हुई थी, जिस वजह से जरा सा हिलने उसके मम्मे और गांड पर साफ़ नुमाया हो रहे थे.

लड़कियों वाले गेम

इसलिए मैंने ज्यादा वक्त खराब नहीं किया और तुरंत ही कार्तिक को बांहों में भर लिया. ये अनुभव मुझे अपनी ज़िंदगी में पहली बार मिल रहा था कि कोई मेरी बुर चाट रहा था. कुछ ही झटकों के बाद आंटी फिर से मूड में आ गईं और नीचे से धक्के देते हुए मस्ती से चुदने लगीं.

एकाएक बात करते हुए उसने मेरा हाथ पकड़ लिया, जिससे मुझे भी अन्दर अन्दर गुदगुदी होने लगी, लेकिन मैंने सत्यम को यह चीज पता नहीं चलने दी. मैं रोज मम्मी की ब्रा ले जाता और अन्दर पूजा की ब्रा पैंटी रखी होती, तो रोज की तरह मुठ मारकर मैं बाथरूम से बाहर आ जाता. इस हरकत से कुसुम की आंखें फैल गईं और उसे समझ में आ गया कि ये क्या हो रहा है.

मैं उठा और एक तकिया उनकी गंद के नीचे रखा, जिससे उनकी चूत और बाहर आ गयी. यदि अभी अगर मेरे गर्भाशय में बच्चा पैदा होने वाला अंडा होगा तो जेठजी के पोषक वीर्य से जरूर उसे फर्टिलाइज कर देगा और मैं जेठजी के बच्चे की मां बन जाऊंगी. बांहों में भरके मैंने उसे बहुत जोर से हग किया, वो मेरी बांहों में रिलैक्स महसूस कर रही थी.

दस मिनट तक मॉम की चुत चाटने के बाद उनकी चूत का रस निकलने लगा जिसे मैं किसी कुत्ते की तरह चाटते हुए पूरा पी गया. करीब दस मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद रमेश ने अंजलि से घोड़ी बनने का इशारा किया.

अंजलि लंड को बाहर निकालने की कोशिश कर रही थी, लेकिन रमेश कस कर पीछे से उसका सर दबा रहा था.

क्या तुम्हें इसमें कोई दिक्कत है?सारा एक एक दांव संभाल कर चल रही थी. बीएफ वीडियो देहातीबाइस मार्च को मैं अपनी आपा को लेने और अपनी बीवी को छोड़ने महू गया था क्योंकि जीजाजी की बहन से मेरी शादी हुई थी और उनकी शादी मेरी बहन से हुई थी. सेक्सी ब्लू पिक्चर खपाखपवो भी गांड मराने के दौरान ही मस्त हो गई थी और गांड हिलाते हुए लंड गांड में लेने लगी थी. उसके बाद मैंने क्या देखा? और मेरे साथ क्या हुआ?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।मैं आपको अपनी बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूं.

हमारे बीच बातचीत की शुरुआत काफी अच्छे मूड में हुई थी, तो अब हम दोनों थोड़ी मस्ती मजाक भी कर लिया करते थे.

मेरे बड़े मामा मुम्बई में जॉब करते थे इसलिए वो अपने परिवार के साथ काफी समय से वहीं मुंबई में ही रह रहे थे. फिर मनीष ने दूर से मुझे इशारा किया और मैंने अपने हाथ उन दोनों के बरमूडे में डाल दिए. मैं पीछे से उसके कंधों को चूमने लगा और अपना हाथ आगे लाकर उसके मम्मे दबाने लगा.

जेठजी अपने लंड को मेरी चूत के ऊपर जैसे ही ठेलते ही उनका बड़ा सुपारा, मेरी छोटे मुँह की चूत की वजह से फिसल कर ऊपर को आ जा रहा था. मैंने भी टांगें फैला दीं और चाची ने मेरी कच्छे की इलास्टिक हटाकर लंड को बाहर निकाल लिया. इसके बाद मेरी बहन ने जब पंकज का लंड अपने मुँह में डाल कर चूसने लगी.

सेक्सी मूवी घोड़ों की

उनकी कामुक नजरों को भांपना मुझे भली भांति आता था और मुझे सब मालूम था कि ये साले मुझे नंगी करके चोदना चाहते हैं. पूजा मेरी फिक्र करने लगी थी, शायद ये उसका अपने भाई के प्रति प्यार था. गंदा सेक्स से वो खुश हो गई और बोली- तुमको भी मूतना है क्या?मैंने कहा- हां.

मगर आज तो मैं इसे देख कर खुद पर काबू ही नहीं रख सकी।मैंने कहा- तुम्हें लंड चूसना पसंद नहीं?वो बोली- पहले नहीं था.

आज उसे मेरा लंड पक्के में मिलने वाला था, जिस वजह से उसकी वासना साफ़ नुमायां हो रही थी.

पता नहीं उसको मेरे में क्या पसंद आया, पर उसने सेक्स के साथ साथ प्यार भी किया. अपने हर रिश्ते को मैं बहुत ही प्रेम और विश्वास से निभाती हूँ।मुझे उसकी बात बड़ी अच्छी लगी. एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियोमैं भी वफादार कुत्ते के तरह अपनी मालकिन की बुर को बड़े मजे और प्यार से चाटने लगा.

मेरे मुँह से मस्त मादक आवाजें निकलने लगीं- आआह … ऊऊह … साले सांड की तरह चुत चोद रहा है … आआह … ऊऊऊईई … उउउह … मजे लेने लगी. शायद आज तक प्रियंका भाभी के पति ने उनकी गांड में लंड डाला ही नहीं होगा. थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि वह लड़की छत पर गई और अपने कपड़े उतारने लगी.

मैंने बोला- ये रोज़ लाए, लेकिन इसको कुछ मत बोलना और जब कभी चैकिंग हो … तो तुम इसको बचा लेना. साले इस कोरोना के चक्कर में बहुत दिनों से कोई नई चूत ही चोदने को नहीं मिली.

मैंने कहा- मुझे पता है, पर जो चीज पसंद आई है पहले उसकी सेवा तो पूरी कर लेने दो.

मैं उसके जिस्म को चाटता हुआ उसकी चूत पर लग गया और उसकी चूत के दाने को चाटने लगा. अगले दिन जब मैं सोकर उठा, तो देखा कि आंटी का मेरे मोबाइल पर गुड मॉर्निंग का मैसेज था. आरिफा अब जाकिरा की चूचियों को दबाने लगी और मैं अपने लंड को उसकी चूत में और अंदर सरकाने लगा.

भोजपुरिया बीएफ निशा भाभी ने झट से लंड को मुँह में भर लिया और रंडियों की तरह लंड चूसने लगीं. इससे मेरे दिमाग में एक बात पक्की होने लगी थी कि इसकी चुत में भी आग लगी है.

मैं उसका लंड हाथ में लेकर बोली- इतना छोटा और ढीला!जय बोला- बचपन में मुठ मारते मारते यह ऐसा हो गया. उसने मेरा एक हाथ पकड़ कर अपने एक स्तन पर रख दिया और होंठ मेरे होंठों पर लगा दिए. लेकिन इतनी रात को इसको मेनगेट से अन्दर कैसे लाऊंगी, क्योंकि साढ़े ग्यारह बजे के बाद गेट बंद हो जाता है.

ऑनलाइन कपड़े चाहिए

अल्ट्रासाउंड की जांच करवाने से पहले कुछ खाना था नहीं, सिर्फ पानी पीना था. मैंने लवली को घुटनों के बल बिठा कर सिर जमीन की तरफ करके उसके गोरे चूतड़ उठा दिए. वो कहने लगी- जीजू अब देर मत करो … पहले मुझे ठंडी कर दो … जल्दी से मुझे एक बार चोद दो.

कॉलेज के दिनों दोस्तों से इतना पता भर चल पाया था कि लड़की को नंगी देखो, तो लंड खड़ा हो जाता है. मैंने मामी की ओर देखा, तो उन्होंने कहा- तुमसे मिलने की आस में सब कुछ रेडी करके आई हूँ.

मैं घर से निकला और मैंने रिट्ज को अपने मोबाइल से काल किया, तो रिट्ज ने मेरा फ़ोन उठा लिया.

उसकी चूत बहुत टाइट थी जिसकी वजह से मेरे लंड को चूत के अंदर एक सुकून भरी पकड़ मिल रही थी. तो दोस्तो, ये थी मेरी और मेरी कहानियों के प्रशंसक की बहन की चुदाई की कहानी. जेठानी का आने का समय हो गया था, तो मैं जल्दी से उठी और कपड़े पहन कर बाथरूम गई.

रिया ने हाथ से हिला कर लंड का वीर्य सरीना की गांड के ऊपर झाड़ दिया. उन सब औरतों … और मेरी मम्मी की तरह, सत्यम मेरी ज़िंदगी का सबसे ज़्यादा खास आदमी हो गया था. फिर उसने मेरे मुंह से अपनी चूत हटा ली और मुझे भी अपने साथ नीचे लिटा लिया.

मेरे पूरे घर में मेरी ‘उफ़ उहह … यस आई लाइक इट … ओह्ह जान फ़क मी आह आह आह.

बीएफ सेक्सी देहाती फिल्म: फिर मैंने 3 से 4 धक्के पूरी ताकत से तब तक ताबड़तोड़ लगाए जब तक मेरा लंड लवली की चूत में पूरा नहीं घुस गया. अब फिरंगी और इंडियन मतलब जॉन और रॉय मेरे मम्मों को दबाने लगे और मुझे किस करने लगे.

मैंने धीरे से उसके पैरों को चूमा और उसके पेटीकोट को ऊपर सरकाने लगा. मेरे ऊपर दो बेटियों की जिम्मेदारी भी आ गई थी, एक नवीन की और एक मेरी. तो मैंने घुटनों पर बैठकर उसकी पेंट उतार कर नीचे कर दिया और पूरी उत्तेजना से उसके लन्ड को चूसने लगी, उसकी गोलियों को मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने वो गाना सुनाना शुरू किया- हम तुम एक कमरे में बंद हों और चाभी खो जाए.

इस तरह से उन लोगों ने मुझे काफी उत्तेजित कर दिया और उसी वक्त मुझे सत्यम को फोन मिलाने को बोला. फिर वो घुटनों के बल बैठ कर पैंट के ऊपर से ही मेरा तना हुआ लंड सहलाने लगीं. वैसे तो अपनी बीवी के जाने के बाद मैंने बहुत सी औरतों से संबंध बनाए थे, कुछ दोस्त थी, कुछ बाजारू!मगर किसी के साथ इस तरह की फीलिंग नहीं आई थी क्योंकि सब की सब टाइम पास थी.