हिंदी बीएफ देसी सेक्सी

छवि स्रोत,जंगल वाला सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

பஸ்ட் நைட் செக்ஸ்: हिंदी बीएफ देसी सेक्सी, शायद इस बियर में कुछ स्पेशल था या जो दवाई नेहा(मेरे बेटे विरत के दोस्त नामित की माँ) ने मुझे जाते समय दी थी, शायद ये उसका ही असर था.

द ब्ल्यू लगून

मैंने उसकी एक बगल में किस किया तो मुझे एक सेक्सी स्मेल आई ‘ऊऊओह … उफफ्फ़. पापा की परी शायरीइधर सरदारजी जोश में नटखटी होने लगे, उनके मुँह से कमेन्ट्री शुरू हो गई- नहीं जा रहा सही जगह, इधर उधर मार रहा है.

इस बार उसकी मुँह से अलग तरह की आवाजें आ रही थीं, जो मुझे भी मदहोश कर रही थीं. जानवर वाला सेक्स वीडियोयह देख कर उन सबकी आंखों में चमक आ गई और सब ने अपने लंड बाहर निकाल लिए.

जैसे-जैसे वो अपनी जीन्स उतार रही थी वैसे-वैसे मेरे अंदर का शैतान जाग रहा था.हिंदी बीएफ देसी सेक्सी: करीब दो-तीन मिनट तक किस करने के बाद आशीष मेरी नाक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा.

फ़िर बाहर आ कर हमने फ़िर थोड़ा खाना खाया और बिस्तर पर लेट कर पैग लगाने लगे.कौशल्या सिसकारियां लेने लगी ‘ह्म्म्म आह्ह … ईस्स!’मैं और तेजी से उंगली अन्दर बाहर करने लगा.

નાગુ પીચર - हिंदी बीएफ देसी सेक्सी

करीब 5 मिनट बाद दोनों का जब पानी निकल गया, तो वो दोनों उठ गईं और मेरे आगे पीछे चिपक गईं.दोस्तो, मैं आपकी माया मेरी पिछली कहानीगान्ड बची तो लाखों पायेको पढ़ कर तारीफ़ भरे मेल करने के लिए दिल से धन्यवाद.

मैंने उसकी टांगों को ऊपर उठा दिया तो उसका सिर दीवार से जा लगा, और वो विरोध की पॉजीशन में नहीं रही. हिंदी बीएफ देसी सेक्सी तुम्हें लेना है तो बोलो, तुम्हें भी दिलवा कर चुदवा देती हूँ इसके लंड से.

मैंने भी बदले में उसे कस कर चिपकाते हुए उसकी गांड दबाते हुए चूम लिया.

हिंदी बीएफ देसी सेक्सी?

लेकिन वो समझ गई कि मैं आने वाला हूँ, तो उसने और मजबूती से लंड को पकड़ लिया. अब तुम इसे भी एक बार पकड़ कर ज़रूर चोद दो, वर्ना यह कहीं भी हमारी बात बता सकती है. मैंने पूछा- कितने देर में आ रहो आप?उसने कहा- बस पहुंच ही रहा हूं … तुम कहां पर खड़े हो?मैंने कहा- मैं यहीं हुड्डा मेट्रो स्टेशन के नीचे ही खड़ा हूँ।उसने कहा- ठीक है, मैं गाड़ी लेकर बस 5 मिनट में पहुंच रहा हूँ।लगभग 10 मिनट बीत जाने के बाद फिर से फोन रिंग करने लगा, मगर अबकी बार किसी दूसरे नम्बर से फोन आया था.

वो और भी तेज ‘अआहा ऊनंह ऊउमंह आहा ऊन्ह्ह ऊम्मह आहाआ ऊनंह ऊउम्मंह हाआअ. मैं अवी हाजिर हूँ अपनी रीयल लाइफ स्टोरीमेरा पहला सेक्स कुंवारी लड़की के साथका अगला भाग लेकर. उसने काफी देर तक भिन्न भिन्न आसानों में मेरी फुद्दी का भोसड़ा बनाने की पूरी क्रियाविधि को अंजाम दिया.

हमारी गली में काफ़ी मकान थे और ऋतु के जिम निकलने के वक़्त क्या बुड्डा … क्या जवान … सभी अपनी अपनी बालकनी से झांकने लगते थे. मैंने स्कर्ट में पीछे हाथ लगाया तो सच मेरी स्कर्ट गीली सी लगी और चिपचिपा रही थी. लेकिन इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर नाइटी के ऊपर से ही अपनी चुत के ऊपर रख दिया और दबाने लगी.

कुछ ही मिनट के बाद सुषी फिर से मेरा साथ देने लगी और चुदाई के लिए फिर से तैयार हो गई. मैंने कहा- मैं तुम्हारे साथ सेक्स के लिए तैयार हूं, पर मेरे साथ कभी भी गुस्सा मत होना.

फिर मैं कौशल्या को गोद में ही लेकर पलंग पर बैठ गया और उसकी चुदाई जारी रखी.

उसने मुझे अपनी कहानी लिख कर अन्तर्वासना पर भेजने का कहा, तो मैंने उसकी कहानी को शब्द देने का प्रयास किया है.

अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगाया और उसकी चूत के ऊपर लंड को रखकर एक जोर का धक्का दे दिया. हां बेटा, सब तैयार है, बस तुम अन्दर तो चलो … थोड़ा चाय पानी वगैरह पी लो. मैं उसकी चूत से निकल रहे कामरस को चखकर अलग ही मस्ती में खोने लगा था.

जैसे-जैसे वो अपनी जीन्स उतार रही थी वैसे-वैसे मेरे अंदर का शैतान जाग रहा था. अब मैं भी चलता हूं … इस रंडी को कभी मेरे को अकेले में देना … साली को दिल से खुश करूँगा. मेरे घर वालों ने अपने हिसाब से लड़के वालों के बारे में पूरी जानकारी जुटाई.

ठन्डी बियर ने मेरी नींद तो उड़ा दी और मेरी ठन्ड के कारण हालत खराब कर दी.

जब मैं बाथरूम में नहाने गया तो मुझे पता चला कि मेरे लंड का टांका टूट गया है. मैं दोनों हाथ से भाभी के चुचे दबाये जा रहा था और मुँह से चूसे जा रहा था. मैंने तुरंत अपना बैग पैग किया और उसके घर की तरफ चल दिया जो कि पैदल की दूरी पर था.

मैंने अपनी बहन से कहा- बहन, मैं एक बार फिर से तुझे नंगी देखना चाहता हूँ. फिर उसने कहा- चल आजा मेरे घोड़े … चढ़ जा मेरे ऊपर मेरी चुत पहले से ही काफ़ी गीली है. मैं रंडियों की बात नहीं कर रहा, हां अगर डेली लाइफ में कोई इतने साइज का लंड लेगी तो उसकी प्यास आसानी से बुझाई जा सकती है.

वो और भी तेज ‘अआहा ऊनंह ऊउमंह आहा ऊन्ह्ह ऊम्मह आहाआ ऊनंह ऊउम्मंह हाआअ.

मेरी गांड में उंगली डालते ही रमीज बोला- यार अब्दुल, इसकी गांड का साइज और उठान इसे दुनिया की सबसे सेक्सी लड़की बना देगी, इसकी बहुत जबरदस्त गांड है. तेरे पापाजी भी कम नहीं हैं, वो तो अभी भी ऑफिस की एक औरत को चोदते हैं.

हिंदी बीएफ देसी सेक्सी तभी जितने भी मर्दों ने अब तक मेरे साथ सम्भोग का मजा लिया, उनमें से अधिकांश मेरे ऐसे ही रूप के दीवाने थे. तभी अजय उठा और रसोई में से तीन मग बियर डाल कर ले आया- लो पम्मी जान, तुम्हारे आने की ही खुशी में मंगंवा रखी थी.

हिंदी बीएफ देसी सेक्सी अगले 15 दिनों में ही उसके अलग अलग लड़कों के साथ किये गए करतूत हमारे सामने आ गए. मुझे उसकी बातों से काफी राहत मिली और इसके बाद हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.

सारिका की कामुक सिसकारियां और बढ़ गईं और वो अपने पैरों को फैला कर अपनी चूत को ऊपर उठाने लगी.

सेक्सी मूवि

मगर उससे पहले आप सबका मेरी पिछली कहानीकुछ अधूरा साको इतना प्यार देने के लिए धन्यवाद. मैंने उसे दो पल बाद किस किया और पूछा- मैं कैसा लगा?वो मुस्कराने लगी और मेरे लंड को पकड़ कर बोली- यार, अब इसका दम देखना है. मैं- क्या मुझे ग्रीन फील्ड के बाहर छोड़ दोगे?वो बोले- हां क्यों नहीं.

मैं इसके बाद अपने घर जाने को हुआ तो भाभी ने मुझे अपने साथ ही सोने का कहा. उसके मम्मी पापा का सरकारी नौकरी वाला जॉब था तो अक्सर घर खाली ही रहता था, जिस कारण मैं मौके का फायदा उठा कर अक्सर उसके घर चला जाया करता था और उसके साथ मस्ती करता था. उनकी सूखी चूत में मेरे लंड ने अपने रस की बारिश की और भाभी ने मुझे अपने सीने से लगा कर मेरे लंड के रस एक एक बूंद को आत्मसात कर लिया.

यह कह कर मैंने उसके पैरों को फैला दिया और अपना मुँह उसकी चूत पर रख दिया.

अंकल ने ऐसा मजाक में बोला और मैंने बात कर ली कि जाना है और भाभी को लाना है. ‘आपके दोस्तों के साथ कार्यक्रम कैसा था … आपको देख के मज़ा आया?’‘तू मस्त चीज़ है, कमाल कर दिया. कुछ दिन बाद शौहर के यहाँ से फोन आया, पता चला कि अब वो विदेश ही रहेंगे और उन्होंने किसी के साथ नया जीवन बसाने का इरादा कर लिया है.

मैं तेज़ी के साथ धक्के लगा रही थी और उसके चेहरे पर कामुकता और चरम सुख की चाहत साफ झलक रही थी. नीचे डेविड ने मेरी चुत में अपना मुँह लगा दिया था और वो मेरी चूत चूस रहा था. मेरी सीत्कारें निकल रही थीं आआहहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊह …अब राहुल केवल मेरे होंठों को चूसे जा रहे थे.

मैं आपको बता दूँ कि मेरे पास ये संदूकची है, जिसमें मैं अपनी सारी कीमती चीजें रखती हूं, जिसका पता मेरे पति को भी नहीं है. बहुत अच्छा लग रहा था लेकिन मैं ही जानती थी कि फर्स्ट क्लास के लिए मैंने क्या कीमत चुकाई थी.

तभी दूर एक दीवार के पास हल्की रोशनी में एक मर्द पेशाब करता हुआ दिखा. उसने मेरा लंड मुँह बाहर निकाला और बोली- क्यों पता लगा … तड़फ कैसी होती है?उसने हंसते हुए फिर से मेरे लंड को मुँह में ले लिया. अपना बैग खोला, उसमें से अपना तौलिया और कपड़े निकाले और मेरी तरफ मुड़कर मुस्कराई, फिर बाथरूम की तरफ चली गई.

मेरा लंड उत्तेजना के कारण ऊपर नीचे हो रहा था।फिर मैंने उसका हाथ पकड़ कर लंड पर रख दिया और धीरे से आगे पीछे करने लगा और लंड अपनी फुल साइज़ में खड़ा था और दर्द कर रहा था.

वह ऐसे हुआ कि एक रोज़ लता भाभी शनिवार को, जब मेरी छुट्टी होती थी, मेरे कमरे में ऊपर आई और मैंने फटाफट दरवाज़ा बंद करके, अपना लोअर निकाला और उन्हें बेड पर लिटा कर, उनकी साड़ी ऊपर करके चोदने लगा. तब भैया बोले कि देखो तुम तौलिया तो लाई हो ना, तो एक काम करो … अन्दर ब्रा और पेंटी के ऊपर तौलिया लपेट कर अन्दर आ जा. तभी वह मेरे नीचे मेरी नंगी टांगों से लिपट कर एक उंगली, मेरी चुत की जो रेखा थी, उस पर चलाने लगे और बोले- हां तू मेरी सेक्सी भांजी है.

चुपचाप लेटी रहो सासु माँ, अभी तेरी चूत का भी नंबर आएगा पहले तेरी चुचियों का भला तो कर दूं, इतनी मस्त चूचियां हैं तेरी कि मन ही नहीं भर रहा, दिल करता है कि इनको ऐसे ही चूसता रहूँ बस. राहुल ने बेड का गद्दा उतार कर नीचे ज़मीन पर बिछा लिया और मुझे खड़े-खड़े ही मुझसे लिपट गए.

वो मेरी जीभ को पकड़ लेते तो काफी देर तक तो मेरी तो साँसें ही अटक जाती थीं। अब राहुल मेरे बोबों को मसलते हुए नीचे मेरे पेट को चूसने लगे और मेरी नाभि में अपनी जीभ डालने लगे. भाभी को जब मैंने पहली बार ही देखा तो एक ही नज़र में मैं उनका दीवाना हो गया. मेरी गांड मानो फट गई थी, मैं जोर से चिल्लाई कि फट गई गांड … उई मम्मी रे … आआहह हहह ईईई उम्ह साले हरामी गांड फाड़ दी.

राजस्थानी सेक्सी कॉमेडी वीडियो

पहले एक एक उंगली फिर धीरे से दो और फिर कुछ देर बाद मेरे दोनों हाथों से उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने भाभी के घुटनों को थोड़ा मोड़ा और लंड को चूत के छेद पर सेट किया. इसका नतीजा ये हुआ कि कुछ देर आराम करने के बाद हम दोनों दुबारा चुदाई के लिए तैयार हो गए. वह निहाल से भी छोटा था और इतने में वह लड़का, जो मेरी गांड को चोद रहा था उसने भी जल्दी से अपना लंड निकाल लिया.

तकिया लगाने से अंदर बाहर करने में दिक्कत नहीं आती है क्योंकि इससे यह होता है कि आपकी बॉडी का भार आपके पार्ट्नर पर नहीं जाता है. मेरे शौहर एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में कार्यरत थे, तो उनका घर से बाहर आना जाना लगा ही रहता था, कभी कभार उन्हें विदेश भी जाना पड़ता था. मराठी पिक्चर माहेरची साड़ीउसके आते ही मैं उसकी तरफ आकर्षित हो गई, लेकिन मैं चाहती थी कि पहल वो ही करे.

मैंने कहा- मैं अभी तो आया हूँ और तुम्हें मुझे भगाने की जल्दी पड़ी है. पहले तो मैं हिचकिचाता रहा, पर उसकी घुड़की से मैं उसके सामने झुक गया और उसे अपने सेक्स सम्बन्धों के बारे में बताने लगा.

कभी गाल पर, कभी गर्दन पर, कभी छाती पर … भाभी पूरी गर्म हो गयी थीं और पागलों की तरह चूमे जा रही थीं. मैंने कहा- अब मेरी चूत को शांत करो जान … ये भट्टी सी गर्म हो गई है. अब मेरे सामने केवल कच्छा में लेटा हुआ था और उसका लंड अंदर तना हुआ था.

मैं बोला- अच्छा भाभी कहां हैं?कमला- वो सब्जी लेने गई हैं, आप बैठो वो अभी 5 मिनट में आ जाएंगी. मैंने सोचा कि क्या हो गया है आजकल की चूतों को? किसी को लंड लेने के लिए चुल नहीं मचती है. कुछ देर बाद कोमल दीदी ने कहा कि तुम दोनों ही एक ही फील्ड की जॉब की तलाश में हो तो बेहतर होगा कि तुम दोनों एक-दूसरे की मदद कर लिया करो.

हवस जब नई-नई जागना शुरू होती है इस तरह की घबराहट अक्सर महसूस होती है जैसी मुझे उस वक्त हो रही थी.

मेरा पति तो उसका मुँह ही बंद कर देता है, सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है और कई बार तो दारू पी के किस करता है, तो मुझे उलटी आने को हो जाती है. मैंने अमित के अंडरवियर को खींचना चाहा किंतु इस बार भी कामयाबी नहीं मिली.

लिंग के घुसते ही सरदार जी बोल पड़े- अब सही लगा है, ज्यादा देर नहीं सारिका जी, थोड़ी देर में ही फंस जाएंगे ये दोनों. जिसमें पूरा पेट दिख रहा था और हाई हील के कारण पीछे का इलाका भी बहुत निकला हुआ था. ’‘क्यों?’‘यार वो मेरे दोस्त हैं न रशीद और जॉन, अभी तक वो दोनों मज़े ले रहे थे.

इसके बाद मैंने 69 में होकर अपना लंड मामी को थमा दिया और मैं उनकी रसभरी चूत को चाटने लगा. पहले तो मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया, लेकिन बाद में ध्यान से देखने पर पता चला कि इसे तो मैं पहले से ही जानता हूँ. थोड़ी देर बाद उसने जब उंगली चूत से बाहर निकाली तो उसकी उंगली बीवी की चूत के पानी से गीली हो चुकी थी.

हिंदी बीएफ देसी सेक्सी वैसे हमारी वॉट्सएप्प पर रोज बातें होती थीं और हम खुल कर सम्भोग संबंधी बातें भी करते थे. लेकिन पिछली किस के कारण होठों में दर्द हो रहा था, पर मैं साहिल के लिए कुछ भी कर सकता था.

डरावना सेक्सी वीडियो

अरे वाह मास्टर जी, मैं हमेशा से सेक्स की गोली खा कर चुदना चाहती थी, पर मेरे पति बहुत बोरिंग किस्म के इंसान हैं. अब तुम इसे भी एक बार पकड़ कर ज़रूर चोद दो, वर्ना यह कहीं भी हमारी बात बता सकती है. मगर अभी मेरा लंड ज्यों का त्यों उसकी चूत में फंसा हुआ था और मेरा पानी अभी तक नहीं निकला था.

उन दिनों कॉलेज की छुट्टियां थीं इसलिए मेरा ज्यादातर टाइम सोशल मीडिया पर ही पास होता था. फिर मामी ने मुझसे कहा कि तुम्हारे कंधे पर जो टैटू बना है वो मुझे बहुत पसंद है. चिल्ड्रन इमेजबुआ ने मुझे भी अपने घर चलने को कहा, पहले तो मैं दिखावा करने लगा लेकिन जब रिंकी ने मेरा हाथ पकड़ा तो मैंने भी हाँ कह दिया.

मैंने उसको वहाँ पर सेट करके अपना लंड नीचे से उसकी चूत में पेल दिया और उसकी चुदाई करने लगा.

मैंने तुक्का मारते हुए बोला- इस प्यार के बारे में तो इसने बता ही दिया होगा. इतने में ही नीचे से कब उसका हाथ मेरी लोअर पर जाकर मेरे लंड को टटोलने लगा मुझे इसकी खबर भी नहीं लगी.

फिर उसने मेरे कानों को किस किया … लिक किया … बाईट किया और कान में ज़ुबान डाल दी. उसने मुझे टॉवेल दिया और चली गयी फिर मैं भी उसके नाम की मुठ मार के बाहर आ गया और ऐसे बर्ताव किया मानो कुछ हुआ ही नहीं. कुछ देर बाद मैं उठी और देखा कि मम्मी बेड के नीचे टांगे लटकाए बैठी थी और पापा ने अपनी पैंट और अंडरवियर निकाल रखा था तथा मम्मी को अपना लंड मुंह में देकर चुसवा रहे थे.

तभी उसने एक हाथ नीचे करके मेरी पेंटी निकाल दी और मैं उसके सामने नंगी हो गयी.

इस तरह मनोहर ने धीरे-धीरे लंड चूत में सेट किया और कुछ देर बाद मैंने उसकी बाहों में बाहें डाल दीं तो वो समझ गया और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा. सच कहूँ तो एक बार मैं बुरी तरह से डर गई एवं अनहोनी की आशंका से मेरा रोम रोम कांप उठा क्योंकि उसके हाथ में एक प्लॉस्टिक का डिल्डो था जो कि बिल्कुल इंसान के लंड जैसा था. एकता तो पहले ही लंड के वीर्य के टेस्ट की दीवानी थी, तो उसने पहले अपने मुँह का तो गटक ही लिया.

मारवाड़ी गर्ल सेक्स वीडियोउसके बाद मैंने अपनी स्पीड को तेज़ कर दिया और लगभग 30 मिनट तक उसकी गांड की चुदाई करने के बाद मेरा माल शारदा की गांड में ही निकल गया. उसके कहने पर मैं उठकर ‘सर’ के पास जाकर खड़ी हो गयी- सर प्लीज़ … शीट दे दो.

18 साल लड़की का सेक्सी वीडियो हिंदी

तब मैंने अपने मन में खुश होते हुए बोला कि चलो अब चिड़िया जाल में फंस चुकी है. फिर मैंने अपनी उस उंगली से शिल्पा की गांड के छेद पर क्रीम लगा कर अपनी उंगली अन्दर डालने लगा. मैं मामी के ऊपर लेट कर उनके रसीले होंठों को अपने होंठों के बीच में दबा कर जोरों से चूसने लगा.

आज अपने लंड का पूरा जलवा उसको दिखा कर ज़रा भी सांस ना लेने देना ताकि सुबह उसे लंगड़ा के चलना पड़े. इतने साइज का लंड तो एक औरत की चूत की खुजली मिटा देने के लिए पर्याप्त होता है. मैंने अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी पैंट के ऊपर से ही उसके लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

आज तक जितनी बार मैं चुदी, उसमें से इस चुदाई से मुझे फुल सेटिस्फेक्शन मिला, इसलिए मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. कई मिनट बाद हम दोनों झड़ गए, पर मैंने चोदना जारी रखा, जिसकी वजह से लंड दुबारा खड़ा हो गया और मैंने दोगुने जोश से उनकी चूत को पेलना जारी रखा. कुछ ही देर में जब सब कुछ सेट हो गया और भाभी को मज़ा आने लगा तो लता भाभी ने अपनी टांगें मेरी टांगों के अंदर फंसा दी.

मैंने कहा- मेरी रानी, अब ये तुम्हारा भी है … आज रात इसके पूरे मजे कर लो. ऐसे लोगों की बांहों में उनकी टांगों के नीचे होगी, तुझे ऐसे मस्त लोगों से मिलवाऊंगा कि तू कायल हो जाएगी उन मर्दों के लंड की … अभी सब मैं बहुत जल्दी में कर रहा हूं, नहीं तो तुझे चोदने से पहले एक बोतल दारू पीता, फिर तुझे हाथ लगाता.

तब मैंने अपने मन में खुश होते हुए बोला कि चलो अब चिड़िया जाल में फंस चुकी है.

कहानी शुरू करने से पहले मैं सभी गर्म भाभियों और सेक्सी आंटियों को धन्यवाद देना चाहता हूँ जो मेरी कहानियों को प्यार देती हैं. सेक्सी ओपन ओपनएक बार मेरे सभी रूममेट्स फिल्म देखने बाहर गए हुए थे और रात के समय मैं अकेला बैठकर शराब पी रहा था. इंडियन आंटीक्योंकि देविका और मेरे सम्बन्धों के बारे में सिर्फ शंकर जानता था, साले ने जरूर इसे बता दिया होगा. हम दोनों ढेर होकर एक दूसरे से चिपके हुए अपनी सांसों का संतुलन बनाने लगे.

मैं बस गिरने ही वाली थी कि जग ने मुझे गोद में उठा लिया और बाथरूम तक ले गया.

पर न जाने क्यों अब भी मुझे एक अलग सी चाहत रहती है … मेरी वो चाहत है लंड की चाहत … जी हां फ्रेंड्स, मुझे लंड लेने की बड़ी चाहत रहती है. उसके बाद वह अपने पुराने बॉयफ्रेंड के बारे में कुछ और बातें बताने लगी और बातें करते-करते उदास हो गई. ऑफिस जाना शुरू हो गया था, शुरूआत की कुछ दिक्कतों के बाद सब स्थिर हो गया और काम में भी मन लगने लगा.

मेरे अन्दर एक बेचैनी थी कि मैं एक लड़के के साथ अपने घर में अकेली हूँ. लंड चूसते चूसते मैंने अपनी गांड उठा फुद्दी को ऊपर किया, जिसको अजय समझ गया और उसने अपने होंठ मेरी गर्म फुद्दी पर टिका दिए. यह सुनते ही वे दोनों एकदम से उठीं और मेरे ऊपर टूट पड़ीं, बोलीं- अब सुलाते है तुम्हें.

हिंदी सेक्सी वीडियो चैट

दर्द काफी तेज था और मुझे समझ में भी आ गया कि मेरी झिल्ली फट चुकी है. हम दोनों ने ठान लिया है कि जब तक हम दोनों की शादी नहीं होगी, तब तक मैं उसे चोदता रहूँगा. मैं तो और भी पागल होके उसके कबूतरों को चूसने लगा, उसकी चूचियों को काटने लगा.

इस बार चुदाई का खेल लम्बा चला और आंटी ने अपनी चूत की खुजली मिटवा कर ही छोड़ा.

मेरे प्रिय मित्रो, मेरा नाम हर्ष है, यह नाम गोपनीयता के चलते बदला हुआ है.

कुछ पलों में उसने अपनी पैंट की जिप बंद की और पलट कर मेरी तरफ बढ़ने लगा. थोड़ी देर बाद ही उसके बॉस की गाड़ी ड्राइवर लेकर आया और उसने मेरी बीवी को चलने को कहा. इंडियन सेक्सी गर्ल्स वीडियोअपने आस-पास के गे लड़कों की लोकेशन पता करना, अगर कोई पसंद आ जाए तो फिर उससे पिक्चर्स मांगना, अगर वो पिक्चर्स ना दिखाना चाहे तो अपनी फेक पिक्चर्स भेज कर उसकी असली पिक्चर्स देखने की कोशिश करना वगैरह … वगैरह … कामों में दिन आराम से निकल जाता था.

मैंने जानबूझकर बाथरूम का दरवाज़ा लॉक नहीं किया था ताकि भाभी मेरे बाथरूम में नहाने के लिए आए और मुझे इस हाल में देख ले. मैंने मजाक में ही आंटी से कह दिया- आंटी, लगता है कि आपके पास बहुत ही ज्यादा दूध होता है. वो वहां पेट में नाभि में हाथ चलाता रहा और फिर धीरे से भीड़ का फायदा उठाते हुए उसने अपना हाथ और नीचे कर दिया.

अभी किसी को कुछ दिखाई नहीं दे रहा है, इस बात का फायदा उठा ले, जब लाइट आएगी तो उठ जाना. मैं भी अब बैठ कर उसके लंड से खेल रही थी तो उसको भी मेरे मम्मों से खेलने का मौका मिल गया था.

सांसें तेज हो गईं, मैं उसके माथे को अपने स्तनों पे दबाने लगी- आह्ह मेरी जान और चूसो आह्ह आह्ह.

मैं आप सब लोगों से कहना चाहती हूं कि 21वीं सदी में ऐसी कोई भी औरत नहीं है, जो किसी और से चुदना नहीं चाहती हो. मुझसे रहा भी नहीं जा रहा था तो मैंने कुर्सी में बैठी रंजना दीदी की गर्दन थोड़ा सा घुमा के उनके होंठों को अपने होंठों से चूमने लगी. मेरा बॉयफ्रेंड अभी भी चूत को चाट रहा था और साथ में अपनी उंगली मेरी चूत में डाल रहा था.

मिठाई बनाना सीखना कोई 15 मिनट बाद मेरी सास पूषी ने अन्दर से आवाज़ दी- बेटा, मुझे पूछते शर्म आ रही है, पर कोई कपड़े हैं, तो दे दो, मेरे सारे कपड़े गीले गए हैं. फिर मैंने देखा जब मम्मी उठी तो उनकी चूत से सफेद सफेद गाढ़ा सा कुछ निकल रहा था, जिसे मम्मी ने पास में रखे हैंड टॉवल से साफ किया.

मुझे उससे चुदवाने में बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था. तभी राधिका आंटी कराहते हुए कहने लगी कि सौरभ करते रहो बस … आहह …मैंने आंटी से कहा- मेरा होने वाला है. फिर ऊपर से नीचे तक नीना के बदन पर टावेल घुमा दिया ताकि गीलापन न रहे.

हिंदी सेक्सी चुड़ै वाली वीडियो

अगले कुछ मिनटों की मेहनत के बाद योनि ने अपना प्रसाद कामरस की धार के रूप में उसके लिंग पर बरसा दिया. अपने रूम में गे पॉर्न देखकर मुट्ठ मारना या फिर किसी गे डेटिंग ऐप पर सारा दिन चैट में लगे रहना. पहले दोनों मुस्कराई, फिर वाणी बोली- बताया तो था कि मेरी कामवाली है.

मैंने सोच लिया था कि तुम अगर मुझ पर ट्राई करोगे तो मैं तुम्हें अपना सब कुछ सौंप दूंगी. मैं थोड़ा नीचे खिसका और उसकी जांघों के बीच आकर उसकी चूत को चाटने लगा.

वो मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछती, मैं उसे उसकी सब बातें बता देता था.

वो नखरे से कहने लगी- वेट न!मैंने कहा- जब इतना रसीला माल सामने हो, तो वेट कैसे होगा मैडम. यह सुनते ही सुनील मेरे पास आ गया और बोला- तीन छेद तो समझ में आते हैं. उधर सुजाता भी गांड उचकाते हुए लंड पर कूद कूद कर चुदने का मजा लेने लगी.

इतना सुनकर मेरा लंड अचानक खड़ा हो गया, मेरे लिए ये अजीब और नया अहसास था. एक दिन मैं उनके घर गया था तो मैंने हिम्मत की और उन्हें अकेला पाकर उनके बूब्स दबा दिए. बॉस के इशारे पर उस औरत ने मेरी बीवी के ब्लाउज के हुक खोलने शुरू कर दिए मेरी बीवी की चूचियां एकदम खड़ी थीं और ब्लाउज के खुलते ही अन्दर से उसकी पिंक ब्रा दिखाई देने लगी.

मेरा लंड किसी मशीन की तरह उसकी चूत के अंदर और बाहर तेजी के साथ जा रहा था.

हिंदी बीएफ देसी सेक्सी: लाइट गोल होते ही वह कान में बोला- अब यहीं डाल दूं? कुछ नहीं दिख रहा. ये सुनकर मैंने उसे कुतिया बनाया और उसकी चूत में लंड जोर के झटके से घुसा दिया.

पड़ोसी का लड़का पढ़ाई में कैसा है, बगल वाले की बेटी रात में किसके साथ आती है, ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाली आंटी का चक्कर किसके साथ चल रहा है. वो कलप कर बोली- थोड़ा दर्द होता तो मैं सह लेती, पर तुमने तो मेरी जान ही निकाल दी, थोड़ा धीरे चोदो, बुर भी तुम्हारी है और मैं भी तुम्हारी ही हूँ, एक रात में ही सारी जान निकाल दोगे, तो बाकी दो चार रातों तक चुदवाने के लायक भी नहीं रहूँगी, फ़िर अपना लंड पकड़ कर बैठे रहना. उसके बाद एक और … एक और … और कितनी बार धार निकली, मैं तो जैसे आसमान में उड़ गया। कितना आनंद, कितना मज़ा।मेरे लंड से निकले सफ़ेद पानी ने मॉम और आस-पास का बिस्तर भी गीला कर दिया। मैं मॉम के ऊपर ही गिर गया। मॉम ने अपने गाल से मेरे सफ़ेद पानी को अपनी उंगली पर लिया और चाट लिया.

हम लोग दूधवाले के पास गए तो वो मुस्कराकर बोला- मेमसाब आइए न!जहां पर उसका गैस चूल्हा रखा हुआ था वो मुझे वहां पर ले गया.

फिर एक धक्का मारने पर सुपारा पूरा अन्दर चला गया और वह मेरी बीवी की गांड में अपना लंड डालने लगा. मैं उसे गोद में बिठा कर उसकी दोनों चुचियों को नाइटी के ऊपर से मसल मसल कर दबा रहा था. मैं उसके लंड को चूस रही थी और पंकज के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं.