सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ

छवि स्रोत,xxx सेक्सी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

मस्तीजादे फुल मूवी: सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ, उसने मेरे झटके खा रहे लंड को देख कर कहा- अगर तुमको परेशानी हो रही हो तो लोअर निकाल दो.

ரேகா செக்ஸ் வீடியோ

सन्नी कपड़े पहनकर हमारे वाले रूम में कुछ बियर की बोतलें लेने चला गया. राधिका के सेक्सी वीडियोवहां पर दोनों ने पार्टी का जश्न किया और उसने रिया को बहुत शराब पिला दी.

मेरे दोनों बेटे शादी करके विदेश में सेटल हो चुके हैं, इसलिये मैं अकेला रहता हूँ और मैंने खुद को इसी रंग में ढाल लिया है. सेक्सी आने वालीउसने मुझे रंगे हाथ तो नहीं पकड़ा लेकिन विवेक को मेरे रूम से निकलते देख लिया.

थोड़ी देर बाद अनामिका ने मेरे नेकर के नीचे साइड से ही हाथ डाला और मेरा लंड बाहर निकाल कर लंड मुँह में ले लिया.सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ: इस समय वो एक हाथ से ड्राइवर का लंड हिला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे आंडों को सहला रही थी.

तभी वहां पर दो लड़के आ गए और उन दोनों ने मॉम और आंटी से चिपक कर डांस करना शुरू कर दिया.मैं झट से मनोज को बेड पर बिठा कर उसको उकसाने लगी ताकि उसका लंड हरकत में आ जाए.

हीरालाल सैनी की सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ

उसको सीधा पीठ के‌ बल‌ लेटाकर मैं उसके ऊपर आकर चुदाई करने लगा, जिससे शायरा अब‌ फिर से मुझे अन्दर महसूस करते हुए मादक सिसकारियां लेने लगी.तो तेरे भैया बोले ‘हां मेरी जानेमन … मैं हर रात तेरी चूत में लण्ड डाल कर सोना चाहता हूं, मुझे हमारी चुदाई में खलल नहीं चाहिए, जैसा तुम्हें उचित लगे वैसा करो!’ अब तेरे भैया को क्या पता, कि उनकी बहन आज उनके साले से जमकर चुदने वाली है.

तभी वो दोनों अन्दर आते हैं और वो आदमी सोफे पर बैठ गया, जिसको मैं देखने के लिए बेताब था. सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ मैंने कहा- क्या?वो बोला- तुम जानती नहीं कि क्या दिखाना है?मैंने कहा- नाम ले कर बोलो, तो पता चले.

मैंने पूछा- आप पेपर नहीं देख रही हैं?तब उन्होंने थोड़ा उदास होकर कहा- नहीं, मेरे ससुर बहुत बीमार हैं … इसलिए मैं जल्दी घर चली जाती हूँ.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ?

ज़ब वो गिड़गिड़ा रहा था, उसकी गोलियों को मैंने हाथ से मसल दिया और लंड समेत गोलियों को ज़ोर से दबोच कर पूरे कमरे में गोल गोल घुमाया. चाय के साथ साथ मकान मालकिन अन्दर से एक पर्स भी लेकर आई थीं उन्होंने वो मुझे दिखाते हुए कहा. अपने बारे में मैं आपको पहले भी बता चुका हूं लेकिन जो पाठक नये हैं उनके लिये बता दूं कि मैं रोहतक के पास ही एक गांव से हूं.

ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लंड अंदर किसी दीवार के जाकर टकरा रहा था. जो एक मिडल क्लास फैमिली से था और मुझे पाने के लिए हर हद तक जा सकता था. मुझे चाची की चीखों से मजा आ रहा था- अब बोल चाची भैन की लौड़ी … अपनी दोनों बहनों की चूत मुझको कब दिलाओगी.

अब राज जोर जोर से मुझे चोदने लगा- ले रंडी ले … गायत्री रंडी …मैं कमर उछाल उछाल कर उसका साथ देने लगी और जोर जोर से चिल्लाने लगी- अहह … चोदो मुझे जोर से … बना लो अपनी रंडी. मैंने इंटर पास करने के बाद सीपीएमटी की परीक्षा पास की और मुझे करीब के ही एक मेडिकल कालेज में एडमिशन मिल गया था. उसने अपने पैर नीचे फैला दिए और बोला- चल रंडी … नीचे बैठ कर लंड चूस.

जैसे जैसे पैंटी नीचे आ रही थी, मुझे उसकी फुदी के दीदार हो रहे थे।एकदम गोरी फुदी, बिना बालों की, चिकनी।कहीं भी कालापन नहीं था. मैंने किचन का काम भी निपटा लिया और उसके बाद मैं धुले हुए सफेद रंग के नाइट ड्रेस में सोई.

तो मैंने कहा- जब अन्धेरा हो जाता है तो चुत और लंड का एक ही रिश्ता होता है, उन दोनों को मॉम बेटा, बहन भाई कुछ नहीं समझ आता है.

जैकेट में हाथ डालकर मैंने उसके हाथ को नीचे छुपा रखा था ताकि किसी को कुछ दिखाई न दे.

वो बदल बदल मेरे बूब्स चूस रहे थे और पीछे से मेरी गांड भी दबा रहे थे. पर इतने में एक दूसरी सेल्सगर्ल जो कि काउंटर पर खड़ी थी, वो बोल पड़ी- मैम साईज क्या है?शायरा तो अब शर्म से पानी पानी ही हो गयी थी … मगर फिर भी मुझे मजा आ रहा था. मैं इतनी पढ़ी लिखी नहीं हूँ कि इस तरह के कोड वर्ड्स का मतलब भी समझ सकूँ.

अपनी उंगलियों और हथेलियों पर लगा घी मैंने रेखा के चूतड़ों पर मल दिया. उसे शायद अपनी बुर पर बाल रखना पसंद नहीं था, इसलिए इलाका एकदम साफ था. आप सब मेरा साथ दें और बतायें कि कहानी में कहां पर कमी रही और कहां कहां सुधार की गुंजाईश है.

फ्री हिंदी Xxx कहानी के पिछले भागचलती बस में खूबसूरत भाभी के साथ चूमा चाटीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं चलती बस में भाभी को गर्म कर रहा था.

बड़ा कठिन फैसला है लेकिन करना यही पड़ेगा और गोपाल को इसकी भनक भी नहीं लगनी चाहिए. नमस्ते साथियो, मैं महेश आपको शायरा के साथ अपनी प्रेम गाथा को इस सेक्स कहानी के माध्यम से सुना रहा था. रेखा की चूत के लब फैला कर अपने लण्ड का सुपारा रखकर धक्का मारा तो अन्दर नहीं गया.

मैं ब्रा से बिना खोले ही उसके दोनों चुचों को बाहर निकाल कर चूसने लगा. कुछ ही देर तक लंड को मुठियाने से वो रो पड़ा और उसने बहुत सारा वीर्य पिचकारियों की शक्ल में सामने की दीवार पर मार दीं. दोनों के कपड़े फिर उतर गए और आज बरसों बाद पिंकी ने रवि के साथ मन भर कर सेक्स किया.

वो बड़बड़ाने लगी- आह इस राजधानी एक्सप्रेस रेल को बुलेट ट्रेन बना लो, चोद दो मुझे … बिल्कुल भी रहम मत करो मेरी इस गुलाबो पर … इसको गुलाबो से लाली बना दो.

लेकिन वो आवारा टाइप के लड़कों की तरह थे इसलिए वे मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं थे।वे भी मुझसे सेक्स करना चाहते थे लेकिन मैं उनसे बात नहीं करती थी. वो मेरी चूत को चाटने लगा और पहले वाला अब दूसरे वाले के लंड को चूसने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ इसके बाद शिल्पा ने जोश में आकर राहुल को बेड पर बैठा दिया और सेक्सी स्माइल करके उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई. मैंने चूमना छोड़ कर अब उनके गले की त्वचा को हल्का हल्का चूसने शुरू कर दिया था.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ पायल- आआहहह कोई बात नहीं … अब आप रोज चोदना मेरी चुत को … अब ये आपके लंड के बिना नहीं रह पाएगी … आह और जोर से चोदो … आह मुझे कुछ हो रहा है … आआह फास्ट!मैं समझ गया कि लौंडिया झड़ने वाली है. अब मैंने नीता को बताया कि पास के ही शहर में एक बहुत अच्छा मसाजर है, वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त है, वो हमारी मदद कर सकता है.

मैं उसके बड़े बड़े मम्में उसके टॉप के ऊपर से दबाने लगा।उसने एक एक करके मेरी शर्ट के सारे बटन खोल दिये और मेरे पूरे शरीर पर किस करने लगी.

मध्यप्रदेश सेक्स

परिणाम वश उसका लंड और जबरदस्त चुदाई करने लगा, जो और अन्दर तक जाकर मुझे अपरिमित आनन्द का अनुभव दे रहा था. सभी लोग डराते भी थे, तो डर से गांड तो फटी ही थी कि कहीं सीनियर लोगों के हाथ लग गया … तो क्या होगा. पूरा मोहल्ला उस भाभी को प्यासी निग़ाहों से घूरता रहता था, लेकिन मैंने कभी उसके बारे में गलत नहीं सोचा था.

चाची आज इस सुनसान जगह में बेखौफ होकर अजीब अजीब तरह की तेज आवाज में सिसकारियां लेने लगीं- आआह … यस … मररर गईई … ऊम्म … तेरा बहुत बड़ा लंड है … मादरचोद … बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा है उम्म्ह… अहह… हय… याह…कोई 5 मिनट की चुदाई के बाद मैंने लंड बाहर निकाल दिया. वह मुझे लेने चौराहे पर आ गयी जहाँ आटो वाले ने मुझे उतारा था।फिर हम दोनों रोहित के कमरे पर आ गयी. मैंने मुँह से तो कुछ नहीं कहा … मगर अपना बायां हाथ उठाकर सीधा शायरा‌ के बाएं कंधे पर रख दिया.

जब दिव्या भाई के लंड के ऊपर से उठने लगी तो उसकी चूत से वीर्य निकल कर उसकी जांघों पर बह रहा था.

अगर मैंने अभी लंड निकाल दिया, तो चाची की गांड जीवन में कभी नहीं मिलने वाली थी. जब वह सामान रखते समय कमर तक झुका था, तो उसके सुडौल चूतड़ों पर मैंने हाथ फेर दिया. मैंने भी उनकी तरफ हाथ बढ़ा दिया और हम दोनों हाथ मिलाकर एक दूसरे को अपना परिचय देते हुए बात करने लगे.

” मधुर की आवाज काँप सी रही थी।क … क्या हुआ? कहीं एक्सीडेंट तो नहीं हो गया?” मेरी तो जैसे रूह ही कांप उठी और मेरा दिल किसी अनहोनी की आशंका से धड़कने लगा था।प्लीज एक बार आप घर आ सकते हो तो जल्दी आ जाओ. उसने मुझे फ्रेश होने दिया और फव्वारे के नीचे उसने वहीं मुझे फिर से चोद डाला. मेरे दिमाग में उनके चूचे इस कदर घुस चुके थे कि उनको सोच सोच कर मैंने कई बार मुठ मार चुका था.

तब अंकल बोले- बेटा, ऐसे उदास नहीं होते! मैं हूँ ना!इस बात पर मैंने उन्हें घूर कर देखा. वो इस समय घर आया है … मतलब वो जरूर मेरी बीवी को आज रात चोदने वाला है.

दो तीन बाद तेल से सनी उंगली डॉक्टर साहब की गांड में डाल कर घुमाई … अन्दर बाहर की, तो डॉक्टर साहब की गांड बिल्कुल ढीली हो गई. उसकी टी-शर्ट ऊपर उठी थी, जिससे उसकी नंगी नाभि और नंगी चूत दिख रही थी. मैं वैसा ही कर रहा था, इसीलिए शायरा मुझे अपने दिल से किस कर रही थी.

मैंने इसी कमरे में उसकी खूब बजाई थी, जिसमें आप अभी मेरी मार रहे हो.

उन शॉर्ट्स में उसकी गोरी गोरी टाँगें दिख रही थीं और उसने चूतड़ भी बड़े मस्त तरीके से दिखाए हुए थे।पहले तो हमने नार्मल बातें कीं, फिर बाद में बात करते करते पता चला कि वो मेरे घर से बस 1 किलोमीटर की दूरी पर रहती है।यह बात जानकर मैं और खुश हो गया और ज्यादा रूचि लेकर उससे बात करने लगा. किसी के आने की आहट से भाभी हल्के से जग गई क्योंकि रात में जाना पहले से पक्का नहीं किया गया था, इसलिए मुझे डर था कहीं भाभी रात में मेरे जाने से डर ना जाए और चीख न पड़े. वे मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर ऐसे देखने लगे, जैसे नाड़ी चैक कर रहे हों.

उसके साथ साथ कल वाले छह सात लड़के लड़कियां भी‌ बस स्टाप पर खड़े थे, जो‌ कि कल उसी बस में थे, जब उसने मुझे थप्पड़ मारा था‌. ” यह कहते कहते मैंने मल्लिका की पैन्टी नीचे खिसकाकर उसकी चूत पर हाथ फेरा तो उसकी चूत के लब गीले थे.

अब मौनी ने आंखें बंद कर लीं और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे. आप मेरे लिए कुछ देर लड़की नहीं बन सकते?मैं अब सच में हैरान था कि ये लड़की क्या बोले जा रही है. क्योंकि मैं जिस कंपनी में जॉब करता हूं उस कंपनी का बिजनेस पूरे देश में फैला हुआ है.

बलात्कार ब्लू फिल्म

उस मीटिंग के बाद शिवानी ने सागर से कहा- देखो यार, तुमने मेरी चूत को ठुकरा दिया था … मगर एक बात तो मानोगे कि आख़िर तुमको चूत दिलवाने के लिए मैं ही तुम्हारे काम आई … तुम तो यूँ ही रह जाते और अगर मैं तुमको नहीं कहती कि कुछ करो, तो पूनम किसी और से चुद जाती.

मुकेश- साली रंडी ले कमीनी … अपने इस लायसेंसी यार का मूसल ले … मादरचोद कुतिया … आज तो तेरी चूत का कचूमर नहीं निकाला, तो तेरा भरतार (खसम) नहीं. उसने शायद नीचे अंडरवियर नहीं पहना था और उसका लौड़ा बिल्कुल तौलिये सीधा पूरे अपने आकार में तना हुआ था. लॉकडाउन के दौरान मैंने गांव के लोगों को खाना और पानी पहुंचाने में मदद की क्योंकि इनके लड़कों के पास कोई नौकरी या आय का अन्य कोई साधन नहीं था.

उसने कमरे में आते ही जल्दी से अपनी जींस उतार दी और अंडरवियर उतार कर पलंग पर औंधा लेट गया. देविका- मैं बस पूछना चाहती थी कि तुमको रूम मिला या नहीं?मैं- नहीं … पूछने के लिए धन्यवाद. ओंलीने सेक्सी” ये बोल कर मैंने नीरू को घोड़ी बनने को कहा और जैल उठा कर अपनी उंगली में ले ली.

अब मैं ऐसे नहीं कर सकती थी क्योंकि अगर मैं नहीं मिलती तो फिर वो जरूर पूछता. मैंने फिर से पूछा कि ये तो आपकी गांड की खुजली की बात हुई, पर आपको मेरे बारे में किसने बताया था?उन्होंने बताया कि जब मैंने उस लौंडे की गांड मारी थी, तब गांड मरवाते वक्त उस लौंडे ने मुझसे आपके लंड की तारीफ़ कर दी थी.

शायरा को अब गुस्सा आ गया- तुम पागल …इससे पहले शायरा कुछ कहती, मैं बीच में ही बोल पड़ा- इसमें गुस्सा होने वाली क्या बात है. अगले दिन मैं उसके कमरे में गया तो उसने सेक्स में मेरा पूरा साथ दिया. मैंने आयेशा को कॉल करके सारी बात बता दी तो उसने भी मुझे बोला- 1 बार कोशिश करके देख ले.

वैसे मॉम वैक्सिंग तो करती ही थीं, पर अपनी चुत की भी सफाई कर लेती थीं, ये आज मुझे पहली बार पता चला. मगर हमारे साथ जो जानकार था उसने बताया कि यहां नजदीक में होटल मिलना बहुत मुश्किल है. अब आगे कॉलेज लवर सेक्स कहानी:इस कहानी को लड़की की मधुर आवाज में सुनकर मजा लें.

मैंने पैसे देकर चुदाई का मजा लिया था लेकिन कभी किसी लड़की को पटाकर नहीं चोदा था.

हाय तौबा … बचा लो मां … मुझे बचा लो … आईईईई ओओओह हाययययय मैं मर गई रे!बस इसी के साथ संगीता के भोसड़े का गर्म गर्म झरना फूट पड़ा. भाभी के कातिलाना मम्मों को देखकर मेरा मन उनके मम्मों को अभी के अभी दबाने का कर रहा था.

और मैं एक अहम मसले पर तुमसे बात करना चाहता हूं!ज़ारा- यही कि ज़ारा मुझे छोड़ कर चली क्यों नहीं जातीं, यही ना?मैं- ज़ारा मेरी बात तो …दोस्तो, आपको ये घटना कैसी लग रही है मुझे जरूर बतायें!मेरी मेल आई डी है-[emailprotected]आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद!. पर इतने में एक दूसरी सेल्सगर्ल जो कि काउंटर पर खड़ी थी, वो बोल पड़ी- मैम साईज क्या है?शायरा तो अब शर्म से पानी पानी ही हो गयी थी … मगर फिर भी मुझे मजा आ रहा था. जब पहली बार मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स किया था, उसके बाद ऐसा मजा मुझे आज आया था.

इसलिए उसकी चुत व चुत के आसपास अब पूरा गीला गीला और चिपचिपा हो गया था. मैं बोला- बस जान … एक बार दर्द होगा और फिर ऐसा मजा आयेगा कि तुम खुद लेने को बोलोगी. चूँकि रोहित तो पहले से ही रह रहा था, अब उसकी ममेरी बहन अकेली अलग रहती तो उसने साथ में रहना ठीक समझा और दोनों साथ में रहने लगे।रोहित के साथ में एक दोस्त भी रहता था.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी मेरे नयी नवेली भाभी के साथ चूत चुदाई की है. वो शायद सोच रही थी कि मैं भीगा हुआ हूँ तो सीधे अपने घर जाऊंगा लेकिन मैं तो किसी और जुगाड़ में था.

छत्तीसगड सेक्स

मैंने सोचा कि इस मस्त देसी सेक्स कहानी को आप लोगों के साथ शेयर करूं. उन्होंने निराशा में मुझे ऊपर खींचने की कोशिश करी लेकिन फिर जब मैंने उनको मौका नहीं दिया तो उन्होंने अपने शरीर को ऊपर खिसका कर मेरे होंठों को अपने स्तनों से अलग कर दिया. उसने सुनील से पूछा- तू मेरे साथ चलेगा या घर पर ही रहेगा?सुनील बोला- नहीं तू जा … और अच्छा है जितनी देर में आये.

फिर मेरा लंड हाथ में लेकर बोला- आपका हथियार मस्त है … चुदाई में मजा बांध दिया. मैंने किचन का काम भी निपटा लिया और उसके बाद मैं धुले हुए सफेद रंग के नाइट ड्रेस में सोई. सेक्सी वीडियो चोदा चोदाशायरा ने वैसे ही झूठमूठ का गुस्सा दिखाया था मगर रात को खाने के समय वो अपने आप ही मुझे बुलाने आ गयी.

गर्लफ्रेंड- आज मेरे बाबू का जन्मदिन है तो उसे गिफ्ट मिलेगा ना … और ये तो ट्रेलर था … अभी पूरी फ़िल्म बाकी है.

थोड़ी देर बाद सांसों के सामान्य होने के बाद मैंने उसकी तरफ चेहरा उठाकर देखा, वो भी मेरी नजरों में नजर मिलाकर मुस्कुराने लगा. अंजू की चूत पे अंशिका की जीभ लगवा दी, अंशिका की चूत पे मेरी जीभ लगा दी और मेरे लौड़े को खुद चूसने लगी और अपनी चूत उसने अंजू के मुंह में दे दी.

मुझे ऐसा लगता है कि तेरी दीदी की चूत मारते हुए मैं उसे नहीं बल्कि अपनी साली को चोद रहा हूं. मेरा लन्ड उसकी बच्चेदानी से जा टकराया अचानक हुए इस हमले से आशा की चीख निकल गयी. उसके वहां उतरने से मैं खुश हो गया था मगर जब उसे दूसरी तरफ जाते देखा, तो दिल फिर से मायूस हो गया.

कोई और भी है इस रूम में!हम एक दूसरे से अलग हुए और बैठ गए।मैं- नीरू, वैसे तुमने ये प्लान कैसे सोचा और इसमें वंदना को कैसे शामिल किया?नीरू- जिस दिन मैंने तुम्हें यहां आने के लिए फ़ोन किया, उसके थोड़ी देर बाद मुझे याद आया कि वंदना का पति साहिल भी टूर पर 3 दिन के लिए गया हुआ है.

तुम बाम लगा दोगे?रामू- अगर भाभी आपको कोई दिक्कत नहीं है, तो मैं लगा दूंगा. उनको नंगी करके उनके साथ पूल में मस्ती की और इसके बाद सबसे पहले चाची की चूत की झांटें साफ़ कीं. मैंने पहले तो शायरा की नाभि पर किस करके उसके बदन में गुदगुदी पैदा की ताकि चूत पर जाते ही उसका मूड खिल जाए.

दादी की सेक्सी कहानीफिर मेरी पैंट की जेब में हाथ डाल कर मेरा लंड पकड़ कर फुसफुसा कर बोला- बहुत सख्त है. अब मैं खुद झुक कर उसके 8 इंच से भी बड़े मोटे लंड को बिना हाथ में पकड़े सीधे मुँह में भरने का प्रयास करने लगी.

चोदी चोदा वीडियो सॉन्ग

मामी चिल्लाने लगीं- राजा निकाल लो लंड … बहुत दर्द हो रहा है … मैं नहीं ले पाऊंगी गांड में तुम्हारा लंड … प्लीज जान बाहर निकाल लो. अपनी चुत के दाने पर मेरी जीभ का स्पर्श पाकर शायरा तो अब हवा में ही उड़ने लगी. वो बोली- कैसे प्यार करते?मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, तो मैं कैसे इमेजिन करूँ.

लग रहा था कि वो मेरे सामने ही बैठी है और उसकी गुड़ जैसी मीठी बातें मैं सामने से सुन रहा हूं. 15 मिनट तक मनीष ने मेरी चूत को बहुत चोदा और फिर वो मेरी चूत में ही झड़ गया. उसकी चूत से अब पच पच की आवाज आ रही थी और उसकी चूत से पानी निकल कर उसकी सांवली मखमली जांघों पर बह रहा था.

चाची- नहीं रहने दे, तू तो मेरा आशिक़ है … तुझे जैसा मन करता है, वैसे कर ले, मैं तो तेरी हूँ. मैंने उसको कॉल किया तो उसने कहा- अभी मेरा बेटा जाग रहा है, मैं उसको खाना खिला कर सुला देती हूँ. उसने अपना हाथ पैंट के ऊपर से मेरे लंड पर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा.

एक ही लड़की की अभी तक शादी हुई थी … और वो अब अपनी दूसरी लड़की की शादी के लिए लड़का तलाश रहे थे. देविका- तुम आज मेरी हर एक ख्वाहिश को पूरा कर दो, मुझे मज़ा आ रहा है … ऐसे ही करते रहो.

वैसे तो मैंने कभी अपनी बीवी पर शक नहीं किया है … लेकिन पिछले कुछ दिनों से मुझे उस पर शक हो रहा है.

मैंने ठंड का बहाना बनाते हुए उसे अपनी गोद में लिटा लिया … लेकिन वो उठ गई. सेक्सी आंटी xxxजिस दिन मां गईं, उसके अगले दिन रविवार था और मेरी ऑफिस की छुट्टी थी. सुहागरात की सेक्सी चुदाई वीडियोमैंने उसकी तरफ देखा, तो वो हंस दीफिर हम दोनों वहीं पर नहाये और कमरे के अन्दर आ गए. फिर मैंने थोड़ा स्पीड को बढ़ाया, तो उसके कंठ से आवाज निकलने लगी- आअहह आअन्न राहुल चोद दो … और तेज चोद दो.

हम दोनों ने ही अब पूरी जी-जान लगा कर चुदाई करना शुरू कर दी थी, जिससे मेरी और शायरा की सांसें अब फूल गयी थीं.

दरअसल उस समय डीटीएच तो होते नहीं थे, शहर में बस केबल टीवी ही चलता था और केबल वाला रोज रात को एक नयी मूवी दिखाता था. मैंने उससे सरप्राइज बताने का बहुत इसरार किया, मगर वो नहीं पिघली और मैं मन मसोस कर सो गया. मैंने न्यासा के सिर को पकड़ कर अपने लंड को उसके मुँह में गले तक पेलने लगा.

सर्वेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मालिक मालकिन के झगड़े में घरेलू नौकर ने मालकिन से सहानुभूति दिखाई तो मालकिन को थोड़ा सहारा मिला. हालांकि खड़ा लंड देख कर भाभी कुछ बोली नहीं क्योंकि उनको पता था कि इसी लंड से उनकी चुत चुदने वाली थी. पहले प्रियंका ने अनामिका के एक निप्पल को अपने होंठ में दबाया और हल्का सा खींच कर चूस लिया.

मराठी पिक्चर झवाझवी

आज मुझे भी इस बात की खुशी है कि मैं अपने पहले की सेक्स का एक मदमस्त अनुभव आप सभी के साथ शेयर कर रहा हूं. मुझे तुरंत याद आया कि मेरे हाथ फटने हैं तो मैं अपने बैग में कोल्ड क्रीम हमेशा रखती हूँ. मैंने देखा कि उसके लंड पर संजू की चूत फटने से थोड़ा सा खुन लग गया था, जिसे उसने बड़ी चालाकी से संजू से छुपाकर पौंछ लिया ताकि संजू देख कर डर ना जाए.

चिराग- गुड मॉर्निंग स्वीट मॉम, थोड़ी देर और सोने दो ना … कितने बज गए हैं?संगीता- साढ़े सात बज रहे हैं, चल उठ वरना लेट हो जाएगा.

उठकर वो दीवार के ऊपर से अपने घर चली गई और मैं भी नीचे उतर कर अपने घर में घुस गया।किस के बाद तो मौनी जैसे मेरी दीवानी सी हो गयी थी.

मैं गुस्से में बोला- ठीक है, अगर तुझे भरोसा नहीं है तो आज के बाद मत करना मुझे फोन. अब मुझे पूरा मामला समझ में आ गया कि ये औरत एक रंडी है, जो बस में जाते टाइम ड्राइवर के साथ बैठ कर मजे देती है … और उसके बदले में ड्राइवर उसका किराया माफ कर देता है. सेक्सी गीत एचडीफिर उसने मेरे मम्मों के निप्पलों को बारी बारी से मुँह में लेकर चूसने और काटने में लग गई.

जब दिव्या भाई के लंड के ऊपर से उठने लगी तो उसकी चूत से वीर्य निकल कर उसकी जांघों पर बह रहा था. अतः इस प्लान में हमें इसी प्रतिस्पर्धा को आधार बनाना था जो कि अक्सर सभी महिलाओं के बीच अपने आप पनप जाती है।कहानी निर्णायक मोड़ पर आने वाली है इसलिए अब जरूरी बातें इसके पात्रों के बारे में बता देता हूं।श्लोक दिखने में सुंदर और आकर्षक चेहरे वाला, न मोटे न पतले शरीर वाला था. उन्होंने मुझसे पूछा- किस तरफ जाओगे?मैंने अपने घर की लोकेशन बताई, तो उन्होंने कहा- आओ तुम्हें 5 किलो मीटर तक तो लिफ्ट दे देती हूं, मैं भी उसी तरफ जा रही हूं.

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर उसकी चुत की फांकों में लंड घिसने लगा. हॉट भाभी डबल चुदाई कहनी में पढ़ें कि कैसे मैंने और मेरे दोस्त ने एक भाभी की आगे पीछे ऊपर नीचे से चूत गांड चुदाई करके उसकी इच्छा पूरी की.

शायरा तो ना जाने कब से प्यासी थी, इसलिए वो भी शायद अब खुद पर काबू नहीं रख पाई और उसके दोनों हाथ अपने आप ही मेरे सिर पर आ गए.

मैंने एक पल उसकी कमनीय चूचियों के मस्त नजारे को निहारा और अगले ही पल उसकी एक चुची को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने उसे भी खोला और वो एक कहानी की किताब थी जिसमें चुदाई की कहानी थी. लंड पर कंडोम लगा कर मैंने उस पर क्रीम लगाई और उसकी गांड चुदाई की पोज़िशन में आ गया.

हिंदी आवाज में वीडियो सेक्सी अब मैं जोर जोर से सिसकारियां ले रही रही थी- अहह अंह … ओम्हा … उंहमाँ … और चूसो … मेरे बेटे … आह इतने दिन से तुझे क्यों नहीं पा सकी … आह. मैंने उसे एक नज़र देखा, नमस्ते की और उसने भी नमस्ते का जवाब मुस्कुरा कर दिया.

फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला और एक दो बार हिलाकर मेरी नाभि पर अपना माल गिरा दिया. कुछ देर बाद मैंने उसे थोड़ा ऊपर किया और प्रीति की एक चुची पर जानवरों की तरह टूट पड़ा. इस तरह से मैंने उसी दिन भतीजे से अपनी चुत चटवाई और कभी कभी उससे चुदवा भी लिया ताकि उसका मन लगा रहे.

मासी के साथ सेक्स वीडियो

पिंकी अलग हुई, पर उसे अहसास था कि कोई भी अलग नहीं हुआ है और ऐसे में लाईट खुलना पता नहीं ठीक होगा या नहीं!तो उसने एनाउन्स किया- मैं लाईट खोल रही हूँ. वह भी समझ गया था कि मैं जाग गई हूँ, उसने मुझसे कहा- माँ, मैं आपकी गांड मारना चाहता हूं. मेरे भी मन में ख्याल आया कि क्यों न मैं भी आज इन दोनों के साथ पार्टी में जाऊं.

पिछले साल ही मेरी शादी हुई थी जिसको मुश्किल से साल भर ही पूरा हुआ है. उन्होंने नजरों को झुकाते हुए बोला- मैं तो आपके लिए चाय लाने वाली थी, लेकिन आप बाथरूम से निकले, तो मैं अपने आपको रोक नहीं पाई.

क्योंकि उन पर अभी तक किसी का हाथ नहीं लगा था, इसलिए वो काफ़ी कड़क थे.

सीमा के बारे में सोच सोचकर परेशान हूँ, गोपाल से कुछ कह भी नहीं सकती, बेचारा परेशान होगा. घुटनों के बल खड़े होकर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रेखा के इण्डिया गेट पर रखा और लण्ड को अन्दर सरकाते सरकाते मैं रेखा पर लेट गया और उसकी चूचियां चाटने लगा. अब आगे की सेक्सी चूत की चुदाई स्टोरी:कुछ पल बाद उसके दोनों हाथ मेरी स्कर्ट के ऊपर से मेरे दोनों चूतड़ों को मसलने लगे.

उन्होंने कहा कि वो मेरे लिए एक योगा टीचर की क्लास का इंतजाम कर देंगे. मेरी भाभी को भी ऐसा होता था इसलिए मैं काफी बार उन्हें दवा लाकर देता था. उसने कहा- मैं अपने पेरेंट्स से आज ही बात करता हूँ और तुम अपने पेरेंट्स को मनाओ.

आज चौथा दिन था, मैं कॉलेज के लिए निकलने ही वाली थी, तभी डॉक्टर ने मुझे फोन करके कहा कि दो-तीन दिन वो अपनी क्लीनिक नहीं जाएंगे.

सेक्सी बीएफ चुदाई दिखाओ: ” गौरी जल्दी से बोल पड़ी।पता है उसे देखकर मेरा मन क्या करता है?”त्या?”इसको खूँटी से लटकाकर इसकी टांगें पकड़कर खींच कर लम्बा थोड़ा लम्बा कर दूं?”हा. विक्रम का मूसल लंड संजू की चूत को फाड़ते हुए पूरा टाईटली चुत के अन्दर जिस तेजी से जा रहा था … उसी तेजी से बाहर आ रहा था.

तू है तो छोटी उम्र की लेकिन तेरी चूत इतनी फैली हुई है कि लगता है कि तू हर रोज कोई मोटा लंड अपनी चूत में लेती है. चूंकि मेरी वाली बर्थ में एक आदमी की जगह खाली थी, तो बस का कंडक्टर यानि मेरा दोस्त मेरे पास आया. मैं- एक बात बोलूं भाभी … आप बुरा तो नहीं मानेंगी?सुगंधा भाभी- अरे कहो न.

चाय पीने के बाद मालू मुझसे बोली- उस कमरे में बैठो, मैं अभी आती हूँ.

वो समझ नहीं पाया और पूछने लगा- किधर चाची?मैंने उसके हाथ को उठा कर अपनी पैंटी लाइन पर रख कर कहा कि इधर करो. अनिल ने ड्रामा करते हुए रवि से कहा- यार आज तूने मेरी पिछले पांच साल की तमन्ना पूरी कर दी. अब और तो कोई जगह नहीं थी, जिस पर वो बैठ सकता … इसलिए वो भी बेड पर ही बैठ गया.