सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,लेडीस डॉग सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चाची भतीजे सेक्सी वीडियो: सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ, धीरज ने नायरा को बेड पर ही डौगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया.

साड़ियों की फोटो

मेरा मानना है कि सेक्स के बारे में पढ़ने से भी ज्यादा आनन्ददायक उन घटनाओं के वर्णन को पढ़ना है, जिनके बाद हम अंतत: सेक्स करने तक पहुँचते हैं. सेक्सी एचडी पिक्चर वीडियोपूरे रूम में दोनों की काम वासना से भरी हुई सिसकारियां गूंजने लगी थीं.

फिर उसने एक सेक्सी सी टू पीस नाईट ड्रेस पहनी और हम दोनों टीवी देखने लगे. सेक्स वीडियो मां बेटामैंने भी अपने दोनों हाथों से उसकी गांड को थाम लिया और उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

नर्म नर्म मुलायम मुलायम मम्मों को हाथों में लेकर बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ: मैंने एक दो जगह काम भी किया … पर सभी जगह मुझे जिस्म काटने वाले भेड़िये ही दिखे.

अब मैंने वहां से जॉब छोड़ दी थी और मैंने अपना वो नंबर बंद कर दिया था क्योंकि बहुत हो गया था और अब मैं भाभी से छुटकारा पाना चाहता था.पीछे बेड पर सिर लगने के कारण ऋतु की आंखें कुछ देर के लिए बंद सी हो गईं.

मुसलमान सेकसी - सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ

मैंने एक धक्का लगाया, तो उनके मुँह से लम्बी चीख निकल गई- आआह … अहम्म्म … मर गई.हिंदी सेक्स कहानी पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम आकाश पांडे है.

काफी देर बात करते-करते आधी रात हो गई, तब सोने का सोचने लगे।रवि ने कहा- आज मुझे कुछ सिखाओगे या नहीं?सब लोग हंसे और मेरी पत्नी ने रवि को डांटा।फिर हम सो गए।लेकिन कुछ देर बाद ही मेरी आंख खुल गई और मुझे सेक्स की बहुत तलब लगी हुई थी। मैंने पत्नी को अपनी तरफ खींचकर होठों पर प्यार किया. सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ मैं बोली- अब हो गई तसल्ली तेरी? अब तो चूसने दे मुझे तेरा लौड़ा हरामी?वो बोला- हां मेरी जान, अब ये लौड़ा तेरा हो गया है.

इसी चित्त अवस्था में मैं उसके मुँह में फिर से लंड डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ?

अब आगे:आंटी की गांड की चुदाई और आंटी की खुशी से मैं भी खुश हो गया. मैं ऊपर नाभि पर पहुंचा, फिर पेट को चूमा, जिससे दीदी को एक बड़ी थरथराहट सी हुई, जो मुझे साफ़ समझ आ रही थी. ये सोचना भी जैसे मुमकिन न हो।10 मिनट का वो दीर्घकालीन चुम्बन दो जवान जिस्मों की अन्तर्वासना जगाने के लिए काफी था।अब हमने कोठरी की ओर रुख किया। कोठरी में काफी पुआल (धान का कचरा) रखी हुई थी। झटपट उसी का गद्दा बना लिया गया।एक अजीब विचार मेरे मन में आया कि मामा ने अपना सामान सुरक्षित रखने के लिए ये कोठरी बनवायी होगी.

मेरी पेंटी पर भी थोड़ा पानी लगा था, जो उसके मम्मों के चूसने से गीली हो गई थी. मुझे उसकी जवानी देख कर नशा सा होने लगा और लंड खड़ा हुआ तो मैं बाथरूम में चला गया. सेक्स के दौरान मनोज ने सुनील के लंड का फिर जिक्र किया तो दीपा भी कह बैठी- जब तुम ऑफिस जाओगे, तब पीछे से मौज करुँगी सुनील के साथ.

”नहीं … मुझे याद नहीं तू क्या कह रही है?”मेरा बेटा आया हुआ है, जो बेटा है पर बेटी जैसा है। अब समझे?”ओह, समझा। चिकना है? मज़ा देगा? छाती लड़कों की तरह सपाट तो नहीं?”अरे नहीं चौधरी साहब, छाती तो उसकी है नहीं … भरी भरी चुचियाँ हैं और चूतड़ों से तो पूरी लड़की ही है। और मज़ा देगा नहीं, मज़ा देगी और गांड भी देगी. अपनी जरूरतों के अनुसार जब भी मौका मिले, इसका आनन्द उठाया जा सकता है. उसके बाद उन्होंने मुझे अपने रूम में बुलाया और कहने लगीं- शालू अभी छोटी है.

फिर उसने अपना लंड मेरी चूत में सटा दिया और एक धक्का मारा … उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गीली चूत के अंदर … लंड जाकर जैसे मेरे गर्भाशय से टकराया हो क्योंकि घोड़ी बन कर चूत चुदवाने से लंड ज्यादा अंदर तक जाता है. जैसे जैसे मुकुल राय झटके मारता, बेड हिलता हुआ हल्की हल्की चू चू की आवाज़ कर रहा था।परीशा बेड के हिलने की आवाज़ सुन कर शरमा गई और अपने मुँह को साइड में घुमा कर मुस्कराने लगी.

अब उसने मेरे चूचों को पकड़ कर एक और धक्का मारा और उसका लंड और अंदर जाकर मेरी बच्चेदानी से टकरा गया.

मैं भी रंडियों की तरह सेक्स की मस्ती में सराबोर होकर विकी का लंड अपनी चूत में चख रही थी.

मैंने कहा- यार उसकी बात छोड़ … तू सच कह रही थी कि यहां सब अपने आपको ही देखते हैं. ठीक है गुड़िया रानी, चूस दे जल्दी से!”फिर मैं उसके ऊपर हुआ और लंड खोल कर सुपारा बाहर निकाल कर उसके गालों और होंठों पर घिसा. तो वो बोली- मैं आपको ये नहीं कह रही कि उनसे दोस्ती तोड़ दो या पारिवारिक सम्बन्ध बिगाड़ लो.

दोस्तो, एक बात बताना भूल गया कि मैं चूत चूसने का बहुत शौकीन हूं, चोदना छोड़ सकता हूँ चूत चूसना नहीं छोड़ सकता।69 में आने के बाद चाची मेरा लंड और मैं चाची की चूत चूसने लगा. ब्लू फिल्म देखते हुए शेफाली गर्म हो गयी और बोली- अभी मैं तुम्हारे भैया से चुद कर दिखाती हूँ कि चुदाई कैसे होती है. तू दीदी से बात कर लेना, वो दोनों ज्यादा क्लोज हैं … और जल्दी प्लान बना.

बेटी की गुलाबी चूत अब बिल्कुल नंगी होकर उसके पिता के सामने आ चुकी थी जिसे देख कर महेश अपने होंठों पर जीभ को फिराने लगा।पिता ने अपने हाथ से अपनी बेटी की चूत को सहलाया और उसके चूतडों से पकड़ कर सीधा अपने होंठों पर रख दिया। वह अपनी बेटी की चूत को अपने होंठों से चूमते हुए अपनी जीभ निकाल कर चाटने लगा। ज्योति का उत्तेजना के मारे बुरा हाल हो चुका था.

रोहन- प्लीज मुझे बताओ ना … आपका एक जोड़ी से क्या मतलब है?सोनिया- अय्यो रोहन … बी एंड पी का अर्थ है ‘ब्रा और पैंटी. उनकी आंखें मानो कह रही थीं कि आज मैं पूरी तैयारी से चुदाई के लिए आया था. ” नीलम ने अपने ससुर को देखते हुए कहा।अरे बेटी रात को नहीं सोयी थी क्या?” महेश ने फिर से नीलम से सवाल किया।हाँ सोई थी, मगर मेरा बदन अभी तक बहुत दर्द कर रहा है, आप रात के समय आ जाना!” नीलम ने अपने ससुर को समझाते हुए कहा।बेटी कहाँ पर दर्द है मैं उसे अभी दूर करता हूं.

जब 3-4 दिन में एक बार सेक्स करो तो सेक्स का मज़ा थोड़ा ज्यादा ही आता है. हैलो दोस्तो मैं गुरू … एक और सच्ची कहानी लेकर आपसे रूबरू होने जा रहा हूं. रोज उसे चूत में डिल्डो डालने से मेरी चूत का छेद गोल हो चुका है जो काफी अच्छा लगता है देखने में!मेरे बूब्स का साइज़ भी 34डीडी हो गया है.

”फिर मैंने सलवार कमीज़ पहन ली।दोपहर को खाना खा के सो गयी।शाम को नींद खुली तो देखा मम्मी किसी से बात कर रही थी, स्पीकर ऑन था।नमस्ते चौधरी साहब। कैसे हैं आप?”मैं अच्छी हूँ और अब आप से बात करके तो और अच्छी हो गयी। आप कैसे हैं?”मैं भी अच्छा हूँ.

अंकित ने अपना लंड पीछे खींचा और फिर एक ही धक्के में फिर से अन्दर डाल दिया. मैंने तब पूजा की चूची दबाते हुए बोला- पूजा रानी, मैं अब तुम्हें कुत्ते की तरह पीछे से चोदना चाहता हूँ.

सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ उसके ऊपर से आप मुझे सरप्राइज़ और देना चाहते हैं! आखिर कौन है वहा जोड़ा… प्लीज बताइए न!मैं- श्लोक इस याराना में मैंने सभी चरित्रों के लिए सरप्राइज़ रखा है और उनमें तुम भी शामिल हो. मैंने उसे पीछे से किस करना शुरू किया … उसके कंधों पर, गर्दन पर चूमने लगा.

सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ पिछले भाग में आपने पढ़ा कि चाची की चुदाई के बाद उनकी दोनों बहनें घर आती हैं. भाभीजी इस बीच में अपनी से इतना पानी छोड़ चुकी थीं कि हमारे नीचे का बिस्तर पूरा गीला हो चुका था.

आपके लौड़ों और चूतों को ज्यादा इंतजार ना करवाते हुए मैं, विराज आपके सामने पेश हूँ.

हिंदी इंडिया बीएफ

वो एक बहुत बड़ी चुदक्कड़ थी और उसने मुझे भी अपनी जैसी रंडी बना दिया था।पूरी रात वासना का यह खेल चला. बॉस ने मुझे गोद से उतार दिया और मेरा गाऊन निकाल दिया, जिससे मैं उनके सामने बिल्कुल नंगी हो गयी. छ्छ् छो ड़ दो मुझे … प्रिया … प्रिया आ जाएगीईई … छोड़ अओ ना!” उसने कसमसाते हुए धीरे से कहा.

उसके इस अचानक प्रहार से मैं एकदम से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद धीरे चोद भोसड़ी के. उसने मेरे निप्पल को कस कर दोनों हाथों से दबा दिया तो दर्द के मारे मैं चीख उठी फिर मुट्ठी में भर कर इतनी जोर से कस कर मेरे दूध को दबाया कि मैं बिल्कुल जोर से ही चिल्ला उठी. मेरा ऑफिस टाइम सुबह दस से शाम पांच बजे तक का है, पर शाम को कभी कभी बॉस मुझे छह या सात बजे तक रुका रहने को कह देते थे.

वह करीब तीन मिनट बाद बोला- झड़े नहीं?मैंने कहा- अब तू थक गया, अब मैं चालू होता हूं।मैंने धक्के शुरू किए अंदर बाहर अंदर बाहर … वह उनको अनुभव करता रहा.

उनकी कामुक निगाहों को देख कर मुझे समझ तो आ गया था कि आंटी मुझसे चुदना चाहती हैं. मुकुल राय ने परीशा के होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसते हुए अपने धक्कों की रफ़्तार बढ़ा दी और फिर कुछ ही पलों में उसके लंड में तेज सुरसुरी हुई, उसका लंड परीशा की चूत में झटके खाने लगा और फिर वो परीशा के ऊपर निढाल हो कर गिर पड़ा. जब बीवी झड़ने वाली होती है तो बीवी के चेहरे को देख कर जो मज़ा आता है ना … वही मज़ा उसे किसी और पराये मर्द से चुदती हुई देखने के लिए प्रेरित करता है.

सिर्फ कबीर ही वह शख्स था, जिसके साथ मैं खुल कर यह बात शेयर कर सकती थी. शाम को 5 बजे पति घर आ गए और मेरा काम देख काफी खुश हुए। वे अपने साथ एक शराब की बोतल भी लाये थे तो मैं समझ गई कि इनका पीने का भी कार्यक्रम है. मैं कभी उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारता और कभी आगे हाथ बढ़ा कर उसके चूचों को दबा देता.

इसलिए अगले दिन मैं बेसब्री से उसके ऑनलाइन आने का इंतज़ार करता रहा, जब तक कि उसने मुझे पिंग नहीं किया. मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि मैं बस अब मूतने वाली हूँ और अब…अचानक रशीद के चूतड़ों की रफ़्तार बहुत बढ़ गयी और उसने एक झटके से अपना लौड़ा बाहर निकाल लिया.

मुकुल राय- पर बेटी …परीशा- मैंने कहा ना मेरी परवाह मत करो … आप अपना लंड पूरा मेरी चूत में पूरा डाल दो. वो बोले- गीता, तुम तो बुखार है!मम्मी- पर विक्की … मुझे तो ठंड लग रही है, कुछ करो विक्की!मम्मी ने विक्की भैया का एक हाथ पकड़ा और रजाई के अंदर डाल लिया और चुत के पास ले गई. सच में तुझे कुछ नहीं चाहिए न!”इशिता ने मेरे जिस्म को निहारा और सर नीचे कर लिया.

दोस्तो मैं निर्वस्त्र! गेहुआँ रंग, दिखने में हैंडसम, लेकिन थोड़ा दुबला, 5’7″ कद है। 20 की उम्र तक 12 गर्लफ्रैंड और सभी की चुदाई। मूलतः मैं श्योपुर (म.

अब देर मत करो और बस जल्दी से हमारे दो दिनों को और दो रातों को कामुकता से पूरी तरह भर दो, हम दोनों के हर एक छेद को अपने पानी से भर दो. हमने पूरे कपड़े नहीं उतारने का फैसला किया था क्योंकि सासू मां किसी भी वक्त आ सकती थी. अपनी मॉम को अपने सपनों में सोच कर मैं हमेशा इंटरनेट में माँ को चोदने वाली कहानी ही पढ़ना पसंद करता था और उनको चोदने का प्लान बनाता रहता था.

न जाने कितनी देर से मैं उसके लंड पर कूद रही थी।आखिर में मैं अपने दोनों हाथों से अपने दोनों निप्पल करीब लायी और एक साथ उसके मुँह में डाल दिये. मैंने कहा- कुछ दिन क्या कुंवर साहब … बल्कि कितने भी दिन और महीनों के लिए आ जाइए, घर आप ही का है, हम क्या … घर में सिर्फ तीन ही तो लोग हैं.

रोहन- ये मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है कि आपने मुझे इस लायक समझा … वरना मैं किस क़ाबिल हूँ. सोनिया- क्यों? क्या तुम्हारे साथ बात करने या बाहर घूमने के लिए कोई प्रेमिका नहीं है?रोहन- अगर होती, तो मैं अभी आपसे बात नहीं कर रहा होता. वे पहले तो एकदम अचरज में पड़ गए, फिर मुस्करा उठे- शाबाश! तुम यार … वाकई मराना जानते हो, लंड का मजा लेना जानते हो.

बिहारी हॉट बीएफ

बेतहाशा मुझे चूमने लगी, मेरे गर्दन, गले, गालों पर चेहरों पे उसके चुम्बन होने लगे.

रचना जोर से आवाजें निकाल रही थी- आह आह्ह आह्ह मार डाला आआउउन्न … मजा आ गया डार्लिंग!फिर समय खराब न करते हुए रोनित ने रचना की कुंवारी चूत पर अपना लंड रख दिया. मैंने अपने लंड और उसकी चूत के मुँह पर वैसलीन लगाई और लंड अन्दर डालने की कोशिश करने लगा. इस हॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता और सेक्स स्टोरी और मेरे बारे में अपने विचार नीचे दी गई मेल आईडी पर शेयर कीजिए.

हम दोनों भी ना कुछ बोल रहे थे और ना कुछ बोलने की हालत में थे … बस एक दूसरे से चिपक कर रोए जा रहे थे. सच में उनकी इतनी कामुक देह है कि देख कर किसी मुर्दे का लंड भी खड़ा हो जाए. लड़की पटाने की दवाई बताइएक्या पहली बार करा रहे हो? नखरे मत करो, टांगें चौड़ी करो, थोड़ी ढीली करो, तुम्हें भी मजा आएगा.

उसने जैसे ही गैलरी खोली, उसमें खूब सारे सेक्स के वीडियो और फोटो सामने आ गए. अब मैंने भी सोचा कि क्यों ना आज अपनी इस हॉट दीदी को इससे भी ज्यादा तड़पाया जाए.

उसके फोन रखने के बाद मैंने उसके लंड के बारे में सोच कर अपनी चूत को खूब रगड़ा. मेरी पैंटी मॉडर्न पैंटी थी, जिससे मेरी गांड तो पूरी बाहर ही दिखाई दे रही थी. तभी ड्राइवर मुझसे बोला- ले बेटा … आज तो समझ तेरी बहन की माँ चुद गयी.

बाकी के जो दो और मुझे चोद कर गए हैं, उनसे मेरा कोई बहुत अधिक परिचय नहीं था. फिर अचानक उन्होंने लिखा- अब आप मुझे दीदी मत कहा करो, अब आप मुझे मेरा नाम लेकर बात किया करो. उनके लंड को देख कर मेरे अंदर भी थोड़ी सी हवस पैदा होनी शुरू हो गई थी.

वो एक ही सांस में अपना पेग खींच गयी और सिगरेट के कश लगते हुए नंगी ही कपड़े लेकर आ गयी.

उसका गदराया हुआ शरीर, गोरा चिट्टा रंग … कद 5 फुट 5 इंच के करीब, मीडियम साइज के चुचे और गांड बाहर को आती हुई ऐसी मटकती थी कि कितना भी ढीला सलवार सूट पहन ले, तब भी चलते हुए में उसकी गांड साफ दिखती थी. और अचानक मेरा वीर्य अंडों से तेज़ी से निकलते हुए लन्ड के रास्ते सीधा उसकी चूत में उतर गया। मैं तब तक उसकी चूत में धक्के मारता रहा जब तक कि मेरे वीर्य की आखरी बूंद उसकी चूत में न झड़ गई.

हालांकि मुझे एक प्रोजेक्ट में शामिल किया गया था, लेकिन मैंने इस पर काम करने से मना कर दिया. पर डॉक्टर ने साफ कह दिया कि तुम्हारे स्पर्म से तुम पिता तो बन सकते हो पर बीवी को सेक्स का सुख नहीं दे सकते. फिर वो मुझे किस करते हुए मेरी कमर पर बैठ गयी … पेट से नीचे चुत के ठीक ऊपर.

सोनिया- ओह्ह गॉड … और?रोहन- मैं आपको देख कर बहुत ज़्यादा थ्रिल और एक्साइटमेंट महसूस कर रहा हूँ. लेकिन अपने प्यारे बेटे को निराश तो नहीं कर सकती ना मैं!”तब फिर हम किस चीज़ का इंतज़ार कर रहे हैं आंटी. ” नीलम ने अपने ससुर के लंड को घूरते हुए कहा और नीचे झुककर उसके गुलाबी सुपारे को चूम लिया।आहहह बेटी क्या कर रही हो?” अपनी बहू के होंठ अपने लंड पर पड़ने से महेश ने सिसकते हुए कहा।पिता जी प्लीज, आप चुप हो जाओ.

सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ अब मैं जब रसोई में होती, तो कुंवर साहब अन्दर रसोई में किसी ना किसी बहाने से आ जाते. उसने अचानक से मेरी पीठ पर हाथ रख कर बोला- मैडम जी यहां कहां पर? सागर जी आप भी यहां?चूंकि सागर ऑफिस में काम से आता था इसलिए वो भी उसे जानती थी.

चाइना बीएफ पिक्चर

इस पर भाभीजी ने बताया- संजय का वीर्य काउंट कम है और इस वजह से मुझको बच्चा नहीं हो रहा है. भाभीजी ने पलट के थोड़ा डांस करने के बाद पहले अपने स्तन से हाथ हटाया. मैंने कहा- तुम बस एक बार मुंह खोल लो और बाकी का काम मैं खुद कर लूंगा.

मेरी नौकरी पक्की हो चुकी थी और मुझे उस दिन काम के बारे में समझा कर दूसरे दिन से ज्वाइन करने के लिए कह दिया गया. फिर?”बहन बोली- उन्होंने मुझसे बोला कि तुझे मोबाईल दिला कर मुझे क्या मिलेगा. बिहारी लड़की की सेक्सी वीडियोमेरे गरदाये हुए जिस्म को देख कर चाचा मुझे हमेशा छूने की कोशिश करते थे.

अरे मतलब झाड़ू पौंछा वगैरह करेगी ना?”उसने कहा- हां उसके एक्स्ट्रा पैसे लगेंगे.

इसके कुछ पल बाद भाभी जी उठीं और मेरे कपड़े खींचते हुए फाड़ने सी लगीं. इतना कह कर पूजा ने अपनी पीठ के बल लेट कर अपने पैरों को ऊपर उठा दिया और बोली- चलो पेलो अपना लंड मेरी चुत में.

मैंने उसके पैर पकड़े कि कोई दूसरा रास्ता नहीं है?तब बॉस बोला- यहाँ इज़्ज़त का कोई मोल नहीं है, ये इंडिया नहीं है … लन्दन है. मैं उसकी चूत के दाने को अपनी उंगली से रगड़ने लगा तो वो मचल उठी और अपने हाथों से अपने बूब्स दबाने लगी. उन लोगों में कई जवान लड़के भी थे और बहुत दिल को भाने वाले भी आते थे.

उसकी इन्हीं हरकतों की वजह से मैं रमेश से दीदी को कभी चुदते हुए नहीं देख सकता था.

मैं पहले भी बता चुकी हूँ और फिर बोल देती हूँ कि मुझे गांड नहीं मरवानी है. चूँकि मेरी आगे कुछ करने की हिम्मत नहीं थी तो मैं खुद भी नींद में था वो मैंने अपना हाथ नीचे कर लिया और सोने की कोशिश करने लगा. नायरा ने धीरज की सुविधा के लिए अपने हाथों से अपने मम्मे ड्रेस से बाहर निकाल दिए और अपने हाथों से उन्हें नीचे से सपोर्ट देकर धीरज के मुँह के पास कर दिया.

बिहार के सेक्सी वीडियो साड़ी वालीमैंने एक पल के लिए आलिया की चुत को निहारा और वासना से लिप्त हो चुकी अपनी आँखों से उसे घूरने लगा. आप लोगों के उसी प्यार से प्रेरित होकर मैं आज फिर आप लोगों के लिए अपनी अगली कहानी लेकर आई हूं.

देहाती सेक्सी बीएफ देहाती

फिर एक दिन मौके का फायदा उठा कर मैंने कहा- क्या तुम मेरे लिए कल ब्लैक सूट पहनोगी?वो शर्मा कर अन्दर चली गई और मैं लंड मसल कर रह गया, जो उसको देख कर ही खड़ा हो जाता था. ”मेला भी हाथ देखतल बताओ ना प्लीज?” गौरी अब अपने भविष्य जानने के लिए बहुत उत्सुक नज़र आने लगी थी।ऐसे नहीं, तुम दूर बैठी हो ऐसे में हाथ देखने में थोड़ी असुविधा होगी. बॉस ने विनय से पूछा- विनय तुम दारू पीते हो?विनय- हाँ सर कभी कभी … पर रात में.

इसलिए मैं और तेजी से उनकी चूत के गुलाबी छेद में अपनी जीभ डालने लगा. सिर्फ एक दूसरे से प्यार और भरोसे के बदौलत ही हम दोनों ने ये लुत्फ़ उठाया था. दो तीन फोटोज अलग अलग ऐंगल्स से अलग अलग पोज में लिए और भाई को भेज दिए.

चाचा ज्यादातर मेरे बेडरूम में ही रहते थे और हम दोनों लोग हमेशा एक-दूसरे की बात को सपोर्ट करते रहते थे. मेरे नंगी पीठ पर अपने मम्मों को घिसते हुए शायद वो अपनी चुत में उंगली कर रही थी. पागल, मार डालेगी क्या?”उफ्फ दीदी तुम्हारे होंठ हैं ही इतने रसीले … मैं क्या करूँ.

फिर मैंने ही चुदाई का खेल शुरू किया और पहले उसको अपनी तरफ खींच कर उसके होंठों पर किस किया. मैं इनके वीर्य तो अपने अन्दर महसूस कर रही थी। मैं औरत बन चुकी थी, मेरी नथ भी उतर चुकी थी।अगली सुबह मैं अपने घर वापस आ गयी।इस तरह से मैंने अपनी सुहागरात की तमन्ना पूरी की।दोस्तो, यह मेरी रियल स्टोरी थी, मुझे ईमेल करके बताएं कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी।[emailprotected].

मांग में टीका (बिंदिया), बालों में गजरा, उनका मासूम सा चेहरा नीचे को झुका हुआ था.

लेकिन कुछ समय पहले जब उसकी मम्मी ने मेरे पापा से दहेज की बात की तो मेरे पापा ने कहा ठीक है जितना हम से बन पड़ेगा हम लोग उतना आपको दहेज से देंगे लेकिन उनकी मांग कुछ ज्यादा ही थी. सेक्सी वीडियो देखने वाली हिंदी मेंफिर होश संभालते हुए बोली- हां जी … चैक कर लिया … सब कुशल मंगल है न, अब चलिए. देहाती सेक्स वीडियो हिंदीमैंने उससे कहा- सुनिए सागर जी, अगर मैं आपकी जगह होती, तो मैं घर जाना बंद कर देती. तो दोस्तो, आज मैं पहली बार अपनी एक मस्त सेक्सी कहानी बताने जा रहा हूँ.

जैसे ही मैंने दरवाजे की घंटी को बजाया, तो एक बहुत ही खूबसूरत महिला ने दरवाजा खोला.

फिर मैंने उसकी चूत को खोल कर खूब चाटा जिससे वो और अच्छी तरह से गीली हो गयी. उसकी आंखों में आंसू छलछला उठे थे पर उसने ज्यादा हाय तौबा नहीं मचाई और जैसे तैसे खुद को संभाले रही. ” गौरी ने मंद-मंद मुस्कुराते हुए कहा और फिर मेरे तातार लंड को पाजामे के ऊपर से ही मुठियाने लगी।फिर गौरी ने 4 दिनों के बाद लंड देव का एकबार फिर से अभिषेक करके प्रसाद ग्रहण कर लिया।और फिर पूरी रात हम दोनों को ही उस हसीन सुबह का बेसब्री से इंतज़ार था.

मैंने भी अपना गिलास पूरा खाली किया और एक सिगरेट जलाते हुए कहा- तुम्हारा भी मन हो, तो मैं आज तुमको चोदना चाहता हूँ. कुछ देर तक लंड को चुसवाने के बाद उसने अपने लंड को मेरे मुंह से बाहर निकलवा दिया. एक बार फिर से अपना संक्षिप्त परिचय देते हुए बताना चाहता हूँ कि मेरी हाइट 6 फीट के करीब है और शरीर भी ऐवरेज ही है.

इनका चोपड़ा के बीएफ सेक्सी

उसने कहा- ठीक है, मैं आपके लिए और अपने लिए एक होटल में रूम बुक कर लेता हूं. आलिया- आज तुम सुबह से भूखे हो न … इसलिए मैंने तुम्हारे मनपसंद का खाना बनाया है. मैं वैसे ही किसी को नहीं बताना चाहता था कि मेरी बहन इतनी सेक्सी है कि बूढ़ों का भी लंड खड़ा कर दे.

तभी मूवी में एक सीन ऐसा आया, जिसमें पति के सन्तुष्ट नहीं करने के वजह से पत्नी ने किसी दूसरे लड़के से अफेयर रखा हुआ था.

फिर वह टेबल पर रखी व्हिस्की की बोतल से एक लार्ज पैग बना कर बिल्कुल मेरे पास आईं और कमर हिलाते हुए मुझे गिलास थमा दिया.

वो- तुम्हें पता है मैंने क्यों मना किया?मैं- मुझे कैसे पता होगा?वो- तो तुम रुके क्यों?मैं- क्योंकि तुमने कहा था … तुमको कुछ दिक्कत है क्या?वो- वो … वो … पार्थ सुनो न … मेरे अभी पीरियड्स चल रहे हैं. हिना तेरे अन्दर ऐसी नई नई हसरतें कब से शुरू हो गईं?हिना- और भी बहुत सारी हसरतें हैं दीदी. छोटे बच्चे वाली सेक्सीजैसे ही मैंने थोड़ा सा जोर लगाया और मेरे औजार का टोपा ही इसके छेद में घुसा कि ये जोर जोर से चिल्लाने लगी.

इसके कुछ पल बाद भाभी जी उठीं और मेरे कपड़े खींचते हुए फाड़ने सी लगीं. फिर उसने मुझे एक जोरदार किस की और अपनी बाइक से एक फूलों का गुलदस्ता लाकर मुझे दिया, फिर उसने मुझे मेरे रास्ते ड्राप किया और वो चला गया।उस रात मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैंने प्रीति के गले पर किस करते हुए अपना मुँह प्रीति के कान के पास किया और कान में कहा- आय लव यू जान … तू बहुत अच्छी लग रही है … आज मैं अपनी दुल्हन को प्यार करूंगा और तेरी सील तोड़ दूँगा.

” महेश ने अपने बेटे से कहा और वहां से चला गया।समीर अपने पिता के जाने के बाद एक गीला कपड़ा उठाकर अपनी पत्नी को साफ़ करने लगा ताकि उसे कोई शक न हो। समीर अपनी पत्नी के मुँह पर पानी के कुछ छींटे मारकर उसे उठाने लगा।समीर की थोड़ी कोशिश के बाद ही नीलम को होश आ गया।समीर तुम निकल जाओ यहाँ से, मुझे तुमसे बात नहीं करनी. उनका कमरा इतना सुसज्जित था कि मैंने वैसा ऑफिस अपने अभी तक के जीवन में कभी नहीं देखा था.

दीपा की प्लानिंग बढ़िया होती है, ये मनोज जानता था तो उसने उस प्रोग्राम को ही अप्रूव कर दिया.

मैंने यह बात खत्म की ही नहीं थी तब तक शीना बोली- अजी सुनते हो, मैंने यह शादी का घूंघट बस अपनी चूत देने के लिए ही नहीं पहना है … मैं तो अपना सब कुछ तुम्हारे ऊपर न्यौछावर करने के लिए यहां पर बैठी हूं. मैंने अपना हाथ उसके कूल्हों पर रखा और उसे और तेज करने का इशारा किया।उसके तेज हो रहे धक्कों से मेरे अंदर एक तूफान बनने लगा था, मैं भी नीचे से अपनी कमर उठाकर उसके धक्कों से ताल मिलने लगी थी।आखिरकार मेरा सब्र टूटा और मैं उसके होठों को अपने होठों में पकड़ते हुए फिर से झड़ने लगी, मेरा पूरा बदन थरथरा रहा था। नितिन भी उसी जोश से मुझे किस करते हुए मेरा साथ दे रहा था, उसने भी अपने धक्कों की गति तेज कर दी थी. हिना तेरे अन्दर ऐसी नई नई हसरतें कब से शुरू हो गईं?हिना- और भी बहुत सारी हसरतें हैं दीदी.

धीरे धीरे बोल कोई सुन ना ले उई मां उउह … उच्च हहह … लगती है यार … जरा धीरे दबाओ न …”मैंने इतने करीब से किसी नंगी भाभी को सेक्स करते कभी नहीं देखा था. ट्रेनिंग ख़त्म होने के बाद, कुछ इंजीनियर्स को तुरंत कुछ अच्छे प्रोजेक्ट्स में असाइन कर दिया गया, जबकि अन्य को ‘ऑन-बेंच … ’ बैठा दिया गया, जिन्हें आगे शुरू होने पर वाले प्रोजेक्ट्स पर असाइन किया जाना था.

निश्चित रूप से रवि का लंड भी फनफना रहा होगा।हमारे पूरे सेक्स को उसने हमारे सामने बैठकर देखा और मजा लिया. कुछ दिन हमारे दिन नॉर्मल ही गए, लेकिन उस दौरान मेरे में और कुंवर साहब में काफी बातें होने लगी थीं. उसने मुझे अपनी बांहों में समेटते हुए कस कर गले से लगा लिया और चूमने लगा.

सेक्सी बीएफ भेजो वीडियो में

उसने जैसे ही मेरे दूध देखे वो बोला- बंध्या, तेरे निप्पल तो एकदम से पिंक हैं. ” समीर ने अपने सिर को झुकाये हुए कहा।बेटे तुम ज्यादा चिंता मत करो, यह हवस की आग होती ही अंधी है. अंकित उसके दोनों स्तनों को एकसमान रूप से बिना एक भी इंच छोड़े, चूस रहा था.

अब मैंने उसकी चूत के अंदर अपनी एक उंगली को डाल दिया तो उसकी वजह से उसको हल्का सा दर्द हुआ और मैं पांच मिनट तक अपनी एक ही उंगली को डालता रहा. आप लोगों का प्रेम स्नेह मिलता रहा तो आगे मैं और कहानियों को लिखने का प्रयास करता रहूंगा.

उनकी गांड भी मारने की कोशिश की, पर उनकी गांड बहुत ज्यादा ही टाइट थी, इसलिए उसे छोड़ दिया.

मैडम- क्यों संतोष बड़ी मस्ती चल रही है तुम्हारी … थोड़ी मस्ती हमको भी दे दो. दीदी की चुदास इतनी अधिक बढ़ गई थी कि कुछ ही देर में उनको जीभ की जगह लंड की दरकार होने लगी. मैं समझ गई थी कि इनको चूतिया बनाने से मेरे लिए सब कुछ सरल हो जाएगा.

उसने मेरे निप्पल को कस कर दोनों हाथों से दबा दिया तो दर्द के मारे मैं चीख उठी फिर मुट्ठी में भर कर इतनी जोर से कस कर मेरे दूध को दबाया कि मैं बिल्कुल जोर से ही चिल्ला उठी. मेरी समस्या सुलझ गयी।मैं चाहती तो अपने पति से मांग सकती थी पर मुझे उनसे पैसे नहीं चाहिए थे क्योंकि ये पैसे मैं अपनी एक सखी को देने वाली थी और उनसे कितनी बार ले चुकी थी. ये मेरी सच्ची कहानी है, जो मैं अपने एक दोस्त के माध्यम से आप सभी तक भेज रही हूँ.

वो बोली- इसी लिए लाये थे क्या फ्लैट पर … कॉफी तो जल गयी … ये कॉफी पिलाने लाए थे.

सेक्स चुदाई सेक्स बीएफ: जिसके आनन्द के सामने सब सुख फीके हैं उसका रूप भी आनंददायक तो होना ही चाहिए. अपनी जीभ की नोक से अंकित ने शबनम के होंठों को महसूस किया और उसे थोड़ा धक्का दिया.

फिर हमने चाय पी, उसने मुझे एक पेड़ की आड़ में ले जाकर चुम्मी ली और कहा- अम्मी अब जाओ … सलमा शक कर रही होगी … बस इतना ध्यान रखना कि सलमा के बच्चा न ठहर जाए. तो अगर उसको भी तुमसे प्यार हो गया हो तो उसमें इस बिचारी की क्या गलती है? इसलिए मैंने यह सोच लिया था कि मैं शीना को भी तुम्हारी बीवी बनते हुए देखूंगी और हम दोनों सहेलियां अब सौतन बन जायें तो ज्यादा बेहतर है. कल अगर तुम ही मुझ पर ये गलत काम करने का आरोप लगाने लगे तो मैं कहाँ जाऊँगी बताओ?पूजा का ऐसा बोलना भी जायज़ था.

आख़िर में मैंने उसे अपने ऊपर बैठाया और नीचे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया.

उसके चेहरे पर उसके दर्द का साफ पता चल रहा था।मुकुल राय- क्या हुआ बेटी? ज्यादा दर्द हो रहा है क्या?परीशा- आहह हां पापा … दर्द हो रहा है. कुछ दिन हमारे दिन नॉर्मल ही गए, लेकिन उस दौरान मेरे में और कुंवर साहब में काफी बातें होने लगी थीं. उसके मुँह से आह निकलने लगी … उसे बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी मजा आने लगा था.