हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो हिंदी में बोलो

तस्वीर का शीर्षक ,

पाली सेक्सी सेक्सी: हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो, नम्रता मेरी तरफ देखकर मुस्कुराई और बोली- तुमने मेरे मन की बात छीन ली, मैं भी एक राउन्ड और चाहती थी और कभी भी इनका फोन आ सकता है.

सेक्सी सेक्सी लडकी

फिर भी यह मानता ही नहीं और हर समय किसी से लिपटने की चाह रखता रखता चाह रखता रखता है, और नीचे यह निगोड़ी चूत हर वक्त लंड के लिए लपलपाती रहती है. हिंदी में सेक्सी वीडियो लड़कीमैंने आंखें खोलीं, तो सामने शर्मा सर ने अपना लंड बाहर निकाल लिया था.

उसने रंडियों की तरह मेरे लंड को हाथ में लेकर हवस भरी नजर से देखा और फिर अपने गुलाबी होंठ खोल कर मेरे गुलाबी गर्म सुपाड़े को मुंह में भर कर मेरा लंड चूसने लगी. पंजाबी सेक्सी चुदाई सेक्सीजवान लड़की की चूत की कहानी आपको कैसी लग रही है?लड़की की चूत की कहानी जारी रहेगी.

मैं- अब बताओ कौन बात कर रहा है भाभी?‘उम्म्म्म्म … मैं ही कर रही हूँ बात … तुम तो मेरी प्यास बुझा रहे हो बेबी.हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो: यूं लगा कि वसुन्धरा इससे खुश नहीं हुई और वसुन्धरा ने इसका विरोध अपनी कमर, अपनी योनि को मुझसे अच्छी तरह सटा कर जताया.

मेरे लण्ड में दर्द हो रहा था, मैंने सारा से कहा- दिलिया का निचला होंठ चूसो!इससे दिलिया की चूत ढीली हो गयी और अगले धक्के में लण्ड पूरा अंदर चला गया.मेरी चुत ने पानी छोड़ा था, लेकिन जल्दी ही उसने मुझे फिर तैयार कर दिया.

सपना सपू की सेक्सी वीडियो - हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो

मैं इतना कुछ बोले उसके लंड को पकड़ कर देखने लगी, फिर घुटने पर बैठ कर मैं लंड सहलाने लगी.धड़ाम … धड़ाम!!!! इतनी ज़ोर की आवाज़ आयी कि जैसे बिजली सामने सड़क पर ही गिरी हो.

वहाँ मुझे प्लांट में पद भार मिल गया। थोड़े दिन के बाद जिन्दगी एक जैसी हो गयी थी. हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो उसने मेरा मोबाईल मुझे दिया अपने ब्लाउज में से मोबाईल निकाल कर मेरा नम्बर देखा मोबाईल को वापिस ब्लाउज में डाल कर मुस्कराई.

एक दिन हम दोनों घर में अकेले थे और एक दूसरे से बातें करते करते हम दोनों लोग सेक्स वाली बातें करने लगे.

हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो?

अगर उनको पता चल गया कि हम भाई-बहन में चुदाई चल रही है तो वो हमारे बारे में पता नहीं क्या सोचेंगे. अंकल जी से सम्बन्ध बनाने के बाद मेरा चित्त काफी हद तक शांत हो गया था, मेरा मन पढ़ाई में लगने लगा और मैं इंटरमीडिएट भी फर्स्ट डिविजन में पास हो गई. मैं दीपिका के ऊपर छा गया और अपनी दोनों कोहनियों को उसके दाएं बाएं रखकर उसे अपनी बाजुओं में जकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर एक झटके में पूरा लण्ड उसकी टाइट चूत में उतार दिया.

उसकी चुत को चाटने का मन तो बहुत था, पर टाइम की कमी थी … इसलिए बस एक बार उसकी चुत पे मुँह लगाकर चुत की घुंडी को अच्छे से चूस लिया. प्रतिभा खिलखिला उठी और गाना गाने लगी- जो है नाम वाला … वही तो बदनाम है. सास-ससुर अपने पैतृक घर में रहते हैं और मेरे पति शहर से बाहर गये हुए हैं.

फिर उन्होंने मुझे अपने से अलग किया और करवट लेकर मुझे चिपकाते हुए बोले- नम्रता, तुम्हारा रस तो बहुत ही स्वादिष्ट था. एक दो मिनट तक उसके चूचों को अपने मुंह में भर कर उनका आनंद रस लेता रहा. मैं उसे ऐसे जाने तो नहीं देना चाहता … मगर आगे की सोच कर बोला- ठीक है जाओ … मगर ये आग जो लगाई हो, उसे कब बुझाओगी.

इससे पहले हम गाड़ी से बाहर निकलते भाभी ने मेरी पैंट से मेरे लंड को निकाल लिया और गाड़ी के अंदर ही मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. उसने धीरे से मेरे दोनों हाथ पकड़कर नीचे किए और रुमित से कहा- यार रुमित … अब तू कार चला ले … हम दोनों पीछे बैठते हैं … और आशना की शरम मिटाते हैं.

वो मुझे लंड की ठोकर देते हुए बोला- मेरी जान … माय स्वीट वाइफ … आई लव यू आअह्ह …उसने चोदना चालू कर दिया, वो जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

भैया मुझसे पूछने लगे- चुदवाने में मजा आ रहा है?मैं पीछे पलट कर उनको देख कर स्माइल कर रही थी और वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोद रहे थे.

जब कुप्पी पूरी तरह से चूत के अन्दर चली गयी, तो मैंने उसकी टांगों को ढीला करके नीचे की तरफ सरका दिया. कुछ ही देर बाद हरकेश ने उसके दोनों पैरों के बीच में अपना हाथ डालते हुए उसे हवा में उठा दिया मैंने भी सहारा देखकर सुमन को बिस्तर पर पटक दिया।हरकेश तुरंत ही सुमन के दूध के ऊपर बैठ गया अब उसका लंड सुमन के मुंह के एकदम सामने था. जिसका उपयोग हम दोनों अपने अपने मूत्र को एक दूसरे की गांड चूत में करने वाले थे.

उन दोनों एक दूसरे को देखा और करीब आ गए और फिर से एक दूसरे में सामने आकर एक दूसरे को चूमने लगे. जैसे ही मैंने धक्का दिया तो मेरा लंड सट से चूत के अन्दर सरक गया और चूत से फ़च की आवाज़ आई. उत्तेजना में मैंने मोनी की कमर को एक हाथ से पकड़ लिया और थोड़ा तेजी के साथ धक्के लगाने लगा.

वो मेरे मुंह पर बैठ गई, मैं चाची की चूत चाट रहा था और कंचन मेरा लंड।फिर मैंने वीडियो में देखी हुई वाटरफॉल पोजीशन ट्राय की जिसमें मेरे पैर बेड पर और सर जमीन पर … मेरे लंड पर कंचन बैठ गई और चाची ने मुंह से अपनी चुत चटाई। इस पोजीशन में हम करीब 15 मिनट तक थे। फिर हमने नई पोज़ बनाई जिसमें कंचन की चूत में लंड डाल कर वो मेरी गोद में बैठ गई। और चाची ने उसकी चुत चटाई की.

सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र … यह आवाज़ सुन के लौड़ा और भी ज़ोरों से अकड़ गया. खाना खाने के बाद चाची बोलीं- तू गेस्ट रूम में चल, मैं बाबू को सुला कर आती हूँ. तभी पवन ने अपना लगभग पूरा लंड बाहर खींचा और फिर एक जोर के धक्के से दोबारा मेरी गीली चूत में ठोक दिया। आनन्द और दर्द के मिले-जुले अहसास से मेरी चीख निकल पड़ी।अब पवन ने धीरे-धीरे अपने लंड से मेरी चूत में धक्के लगाने लगा और फिर पूरे जोश से मेरी फुद्दी को चोदने लगा। उसका लंड मेरे गर्भाशय तक छू रहा था.

वो भी पति की मर्ज़ी से!मैंने न न बहाने बनाते हुए खुद को राज से थोड़ा दूर किया. लगभग 1 मिनट तक मैं रुका रहा और फिर से धीरे-धीरे लिंग को अंदर डालने लगा. उफ्फ्फ 8 इंच का लंबा काला लंड देख कर मेरी आंखें तो फटी की फटी रह गईं.

मैंने चाची की गीली हो चुकी पैंटी को खींच दिया और उनकी गीली चूत पर अपने तपते हुए होंठ रख दिये.

बड़ा पेग मार कर मैं बोला- मेरी चुदाई में रोयेगी तो नहीं? मुझे पिटाई करने, सख्त बूब्स को दांत से काटने में तुझे पीड़ा होगी. उसके बाद मेरी जानू की आवाज आई- रुको भाभी, आपके मोबाइल से फोटो लेती हूँ.

हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो मौसी वैसे ही मेरे लंड को ऊपर नीचे करती रहीं और बीच बीच में इधर उधर भी देख लेतीं कि कहीं कोई हमें देख तो नहीं रहा. जितनी देर मैं मानसी की बॉडी के साथ खेल रहा था, उसकी आंखें एक बार भी नहीं खुली थीं.

हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो आज अंग्रेजन गोरी की चुदाई करने का मौका था जिसके लिये मेरा लौड़ा बुरी तरह से अकड़ा हुआ था. अब भाभी ने भी अपने दोनों पैर खोल दिए और उनकी चूत रस से सराबोर हो गयी.

मैंने भी अपनी पोजिशन सही करते हुए कहा- मेरी गांड मारने में मजा आया कि नहीं.

हिंदी सेक्सी इंडियन

लेकिन थोड़ी देर बाद कंचन ने कहा- सारा मज़ा अपनी चाची को ही दोगे?तो मैंने चाची से कहा- अब इसकी हवस ही मिटा ही देता हूँ।फिर मैंने कंचन के ऊपर उल्टा लेटा जैसे मेरा मुँह उसके पैरों की तरफ हो जाये. उसकी फूली हुई गुलाबी चूत को देखकर मेरे लौड़े में फिर से उबाल आ गया था. सोनम बेटा क्या बात है आजकल तू मिलती ही नहीं और तेरा चेहरा इतना उतरा हुआ क्यों है; क्या हुआ है तुझे?” उन्होंने मुझसे प्यार से पूछा.

मुझे बहुत दर्द होने लगा और मैं दर्द के मारे तेज स्वर में चीख रही थी … वो तो कार के शीशे बंद थे, जिस वजह से आवाज बाहर नहीं जा रही थी. उसकी बड़ी बड़ी चूची देखकर हरकेश अपने आप को रोक नहीं पाया और सीधा उसके चूचों पर लिपट गया. गुप्ताइन हाथ से टटोल कर साइज का अन्दाजा ले रही थी और मैंने उसकी चूची मसलना शुरू कर दिया.

इसका लंड कितना लम्बा होगा! क्या 7 इंच का होगा? क्या खूब रसीला लंड होगा जो किसी भी जवान औरत की चूत को चोद-चोदकर उसे फाड़ डाले … मैं मन ही मन ये सब बातें सोचने लगी.

दीदी- फिर मुझे होश आया और मैंने अपने आपको जैसे तैसे अमित से अलग किया. वह बात करके तो आ गया मगर उसने आकर मुझे कुछ भी नहीं बताया कि आखिर डॉक्टर से उसकी क्या बात हुई. उसने मेरे माथे पे किस किया और ढेर सारा तेल मेरे मम्मों पे उड़ेल दिया.

लंड सूंघने के बाद वो मुझसे बोली- शरद तुम्हारे वीर्य में जो नशा है, वही नशा तुम्हारे लंड को सूंघने में भी है. इस सेक्स कहानी का मजा लें और मेरी चूत के नाम से एक बार लंड जरूर हिलाएं. उनका कामरस बह कर मेरे अंगूठे को भिगोता हुआ उनके पेटीकोट पर फैलने लगा.

मैं एक बार फिर घुटने के बल होकर उसकी जांघों के बीच आ गया और उसकी जांघों पर अपने हाथ का दबाव देकर मैंने कहा- जान जब मैं तुम्हारी जांघ को दबाऊं, तो तुम मूतना रोक देना … और ढीला करूँ तो फिर शुरू हो जाना. मैंने कहा- बस एक बार!वो- जा…इतना ही उसके मुँह से आवाज़ निकली थी कि लंड के सुपारे से उसका मुँह बंद हो गया.

कुछ देर के बाद रितेश ने भी मीरा को बिस्तर पर पलटा और आइसक्रीम उसकी चुत की फांकों में भर के चूत को चूसने लगा. जब वो चुदाई का पूरा मजा लेने लगी तो मैंने उसकी टांगों को पकड़ कर ऊपर उठा लिया और उसकी चूत को गपागप चोदने लगा. मीरा ने छाती को चाटते समय रितेश के निप्पलों को भी दाँत से काट लिया.

मैंने फिर पूछा- बोलती क्यों नहीं? ये सब तुमने कहाँ से सीखा है?बिन्दू बोली- मेरी एक सहेली ने ये सब बताया था, वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ करती है.

उस आदमी की उम्र लगभग 45-50 के बीच रही होगी, मैं पीछे वाली सीट पर बैठ गई. मैंने भी उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और उसकी जीभ पर अपनी जीभ रख कर उसे अपनी बांहों में लिपेट कर उसकी चूत से निकल रहे रस को महसूस करने लगा. वो मेरा सर पकड़कर दबाव डाल रही थी, मैं भी जितना ज्यादा हो सके, उतनी जीभ चुत के अंदर डालकर चाटने लगा.

उसके ज़ोर ज़ोर से धक्का देने से मेरी चूत में दर्द के साथ साथ मज़ा भी आ रहा था … और मेरी ‘आआहह …’ निकलना बंद ही नहीं हो रही थी. मैंने तुरंत अपना हाथ उनसे छुटा लिया और बोली- मैं ऐसी लड़की नहीं हूँ सर! ये सब मैं नहीं कर सकती.

नम्रता एक-एक करके सेक्सी पैन्टी-ब्रा, पारदर्शी नाईटी पहनती जाती और तारीफों के पुल बांधती जाती. मैंने अपने एक हाथ से दीपिका के पेट का निचला हिस्सा सहलाना शुरू किया तो दीपिका बोली- आह्ह … स्सस … आई … फिर … चुदवाने का दिल कर रहा है. घोष के साथ तो मेरी जिन्दगी बर्बाद ही हो जाती।कुछ देर बाद मैंने उसे फिर से अपने ऊपर आने को कहा.

विडमेट ४जी

प्यासे को मानो कुआँ मिल गया हो, अंकल बरसों से प्यासे आदमी की तरह मेरी चुत के अन्दर के चॉकलेटी रस को पीने लगे.

बस मेरे इतना कहते ही वो मेरे होंठों को चूसने लगी और अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर घुसेड़ कर मेरे तालू में चलाते हुए मजा लेने और देने लगी. मेरी कहानी आपको पसंद आयी या नहीं, मुझे आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा. गुड्डी रानी चिल्लाई- तू हट परे रंडी … मस्त धक्के लग रहे हैं … बाद में पिलाइयो अमृत.

साथ ही उससे ये भी कह देना कि उस रईस की बीवी यानि कि मेरी बीवी भी तुम्हारे नीचे चुदने के लिए तैयार है. अब मेरी बारी थी उसके लंड पे उछाल मारने की … मैं उसके लंड के ऊपर कूदने लगी. एक्स एक्स एक्स ब्लू पिक्चर सेक्सी चुदाईमैंने जानबूझ कर उसको मेरे आमों की झलक दिखाई, जिससे मेरे पूरे निप्पल तक दिखे जा रहे थे.

थोड़ी ही देर में मैंने उसकी फुद्दी का रस निकाल दिया और सारा रस पी गया. बात के दौरान मैं उसकी अन्दर की जिस्मानी प्यास को समझ चुका था और मैं पहल करने की हिम्मत जुटा रहा था.

जब मेरी चूत झड़ गयी, तब मैंने अपने चड्डी में लगे उस वीर्य को चाट लिया और फिर वही पैंटी पहन ली. ”आपको क्या लगता है, मेरे पास एक ही पैंटी है?”अच्छा बाबा माफ करो, पर स्कर्ट और पैंटी उतारने दे रही हो या नहीं?”पर मेरी एक शर्त है, उन्हें उतारने पर मैं आंखें बंद कर लूंगी … मुझे शर्म आ रही है. रमेश को देख कर खड़ी हो गई और चौंकती हुई बोली- ओह्ह … डैड ये क्या है! मैं तो डर गई.

कुछ देर बाद मैं नीचे गया तो देखा कि उसकी बड़ी बहन नेहा भी वहाँ आ गई थी. रास्ते में मम्मी एक केमिस्ट की दुकान पर गई और एक लिफाफे में कुछ दवाइयां लेकर आईं. कुछ ही पल के बाद रंजना निढाल होकर लेट गई।अभी मेरा पानी नहीं निकला था.

अब तुम मेरे जैसे अपने से दस साल बड़े इंसान के साथ तो वो सब करोगी नहीं … तुमको अपनी ही उम्र के साथ वाले के साथ करना है, सो मुझे कुछ बुरा नहीं लगेगा.

ऊई माँ!! उम्म्ह… अहह… हय… याह… अई ऐईई सी … सी … सी! मर गयी बॉस!” मैं जोर से चिल्लाने लगी. आप लोगों के साथ ये बात शेयर करके मैंने अपने मन को हल्का करने की कोशिश की है.

उसके बाद जब तक चांदनी भाभी नॉर्मल नहीं हो गयी मैं उसको किस करता रहा. मैं कभी-कभी रात को भी भैया के घर जाती हूँ घूमने के लिए, तो उनकी पत्नी मुझे खाना खिलाये बगैर मुझे घर से आने नहीं देती है. कहता है कि मैं आपके साथ वाइफ स्वैपिंग करना चाहता हूं और उसके लिए कुछ भी कीमत चुकाने के लिए तैयार हूं.

तभी राधिका मेरी तरफ देखकर हल्की सी मुस्कुरा दी, क्योंकि उसे पता था कि आगे क्या होने वाला था. मेरी कमसिन चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा. थोड़ी देर इस तरह करने के बाद मैं और शुभ्रा एक-दूसरे से अलग हुए और फिर पलंग पर शुभ्रा लेट गयी और अपनी टांगों को चौड़ा कर लिया.

हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो नम्रता मुझसे बोली- यार अब मेरा भी गला सूख रहा है, मुझे भी अब अपना पानी पिला दो. वो बोली- अर्पित मैंने अपना सब कुछ तुम्हें दे दिया है, अब मुझे छोड़ना मत!मैंने बोला- नहीं अदिति, मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ, बोलो तो कल ही अपनी माँ पापा को तुम्हारे घर भेज दूँ.

देसी सेक्स गुजराती

पर जो गाड़ी समय पर आनी थी, वो धीरे-धीरे डिले होने लगी, आखिरकार वो समय भी आ गया, जब नम्रता भी अपनी फैमिली के साथ स्टेशन पहुंच चुकी थी. ना जाने क्यों मुझे पहले से ही पेटीकोट में औरतें चोदना बहुत अच्छा लगता है. पेग सिप करते करते बोली- तुम बुड्ढों में इतनी ताकत कहाँ से आती है?मैं बोला- मेरे करने से तू तो खुश है ना?वो बोली- आपको अब छोड़ने का मन नहीं करता.

मैंने नेहा से कहा- ऐसे ही रगड़ती रहोगी या दिखाओगी कुछ?नेहा बोली- मुझे शर्म आती है, आप खुद देख लो. शायद वह अपने शरीर पर बॉडी लोशन लगा रही थी। मेरे अंदर आने की आहट को उसने समझा कि मैं राजवीर हूं. सेक्सी मूवी फ्रीमैंने उसकी पैंटी को उसके मुँह के अन्दर डाला और उसका मुँह हाथ से दबा लिया.

वसुन्धरा …”हूँ …! ” वसुन्धरा ने अर्धनिप्लित आँखों में प्रशनवाचक नज़रों से मेरी ओर देखा.

क्योंकि मैं उसकी उस चूत को चाटने के लिए बेकरार हो रहा था, जिसमें अभी उसके कुछ मूत्र के अंश लगे थे. मैं उसकी गिरफ्त में से आजाद होते हुए अपने नंगे चूतड़ मटकाती हुई कमरे में गई और उसको भी अंगुली से अंदर आने का इशारा किया.

उसे लेकर मैं तेजी से ऊपर वाले कमरे में गया, उनसे कहा- देखो मैं आपके लिए कुछ लाया हूँ।फिर लौकी उन्हें दिखाई. जरा भी रहम ना दिखाते हुए मैंने और दो-चार धक्के लगा दिए और उसके बाद मैंने धक्के लगाने थोड़ा धीरे कर दिये लेकिन बंद नहीं किया. लेकिन उनका कोई उत्तर नहीं मिला तो मैंने भाभी को आवाज लगाई- भाभी जान, अपने रूम से बाहर आ जाओ, भैया सो गए हैं.

अंकल ने अपना हाथ मेरी पैंटी पर रखा, यह एक तूफान की शुरूवात थी, जो मेरे अन्दर पैदा होने वाला था.

मैं अभी तक नहीं झड़ा हुआ था और संजना यह बात जानती थी … तो उसने सीधे से आकर मेरा लौड़ा अपने मुँह में लिया और सीधे चूसने लगी. थोड़ी देर तक मेरे ऊपर पड़े रहे, फिर मुझसे अलग हुए मेरे माथे को चूमते हुए बोले- नम्रता, आज मुझे बहुत मजा आया. ”इट्स ओके डिअर!”सुहाना ने फोन काट दिया। मैं बाद में बहुत देर तक उसी के बारे में सोचता रहा और फिर ऑफिस के रूटीन कामों में लग गया।कोई दोपहर के दो बजे का समय रहा होगा। सुहाना का मोबाइल फिर से बजने लगा। सुहाना ने शायद पीहू के मोबाइल से कॉल किया था।सर मैं सुहाना बोल रही हूँ.

वीडियो सेक्सी फुल मूवी वीडियोफिर मैंने सीट के नीचे से अपना पर्स निकाला और लेकर कार की सीट पर बैठ गयी. तसल्ली रख कुत्ते … सब्र का फल मीठा होता है … अभी दिखाती हूँ तुझे जन्नत के जलवे.

सेक्सी फिल्म पुरानी

मैंने आंखें खोलीं, तो सामने शर्मा सर ने अपना लंड बाहर निकाल लिया था. मैं घर से किसी को बिना बताये अपनी सहेली के साथ अपने बॉयफ्रेंड से मिलने के लिए चली जाती थी. फिर भी कंट्रोल करते हुए मैंने अपने अंगूठे को बहन की गांड के अन्दर डालते हुए कूल्हे पर दांत गड़ाना शुरू कर दिया। पर वो ब्राउनिश छेद मुझे बेचैन किये जा रहा था। शुभ्रा अब अपना सब दुख दर्द भूलकर उसी पोजिशन में खड़ी रही और स्स.

वहीं हीना की चूत को बड़े लंड की रगड़ और जवानी का भरपूर प्रसाद मिल रहा था. आआईई ईई … अमित …” करके भाभी ने मुझे झटके से अपने से अलग किया और खड़ी हो गईं. कुछ मिनट तक पीछे से भाभी की चुदाई करने के बाद मैंने लंड को एकदम से भाभी की गांड में घुसा दिया.

मेरी और दीपाली की मुलाकात एक प्रशिक्षण केंद्र (ट्रेनिंग सेंटर) में कुछ इस तरह हुई थी. मुझे और गुस्सा आ गया, मैंने उसके चूतड़ों पर थप्पड़ों की बारीश करके चूतड़ लाल कर दिए. जब लड़की लंड की राइडिंग करती है, तो को लंड उसकी चुत के अन्दर तक जाता है, जिसका अहसास का मज़ा ही अलग आता है.

अपने दोनों हाथों की तर्जनियों और बड़ी उँगलियों के बीच वसुन्धरा के दोनों कानों की लौ ले कर हल्के-हल्के सहलाने लगा. आज अंग्रेजन गोरी की चुदाई करने का मौका था जिसके लिये मेरा लौड़ा बुरी तरह से अकड़ा हुआ था.

जैसे उन दोनों ने मुझसे वादा किया था कि वह मुझे और भी चूतें दिलवा देंगी.

!फिर कुछ रुक कर वो बोली- मेरा तो मन करता है … पर डर लगता है कि कुछ गड़बड़ ना हो जाए. सेक्सी निक्कीमैंने उसको चुप करवाने के लिए उसके होंठों पर अपने होंठों को जोर से रखते हुए चूस लिया. एक सेक्सी वीडियो जबरदस्तीइससे पहले हम गाड़ी से बाहर निकलते भाभी ने मेरी पैंट से मेरे लंड को निकाल लिया और गाड़ी के अंदर ही मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. मैंने सोचा कि अभी इन्हें रोक दूँ कि ‘पिताजी आप ये क्या कर रहे हो? ये आपकी बेटी है.

वो बोले- तू चिंता न कर, आज मैं तेरा यार आशीष हूं और तेरी जम कर चुदाई करूंगा.

सुबह सुबह मज़ा आ गया।दिन भर काम और बाद में शाम हो गयी।मैं तैयार होने लगी। ब्लाउज पेटीकोट में थी तब उपिंदर आया, मेरी एक चुम्मी ली और बोला- आज दुल्हन बन रही है, वो भी दो दो दूल्हों की। पर सुहागरात तेरी नहीं होगी. सीमा और नितिन का चुदाई का खेल चालू हो गया, सारे दरवाजे खिड़कियां बंद करके दोनों एक दूसरे से ऐसे चिपक गए, जैसे जन्म जन्म से प्यासे हों. मैं मन ही मन सोचती किस गांडू से शादी हो गयी मेरी?”इस तरह एक साल गुजर गया.

मानसी इतनी गर्म लौंडिया थी कि आज भी कभी अगर उसका मूड हॉर्नी हो जाता है. मैंने उसकी तरफ देखा, तो पाया कि उसकी आंखें बंद थीं और वो उंगली चोदन के पूरा मजा ले रही थी. … अपना पानी मुझे पिला दे आज।दस मिनट तक और मैंने उसकी चूत को जमकर चोदा और फिर मेरा पानी निकलने को हो गया.

रोमांटिक non veg शायरी

अगले दिन जब मैं स्कूल में पहुंची तो मुझे पता चला कि मेरी ड्यूटी अब और आगे 10 किलोमीटर की दूरी पर एक दूसरे स्कूल में लगा दी गयी है. तभी राधिका ने मेरे हाथ से सिगरेट लेकर अपने मम्मे को दबा कर मुझे इशारा किया. मैं एक 30 साल का नौजवान आदमी हूँ और एक इंश्योरेंस कम्पनी में जयपुर में काम करता हूँ.

हालांकि मोनी ने अपने हाथ पैरों को समेट कर मुझे रोकने का प्रयास किया लेकिन मैं भी हार कहाँ मानने वाला था.

एक तो नशीले बदन की नशीली जांघें और ऊपर से उस पर लगी हुई नशीले अमृत की बूदें … आअह आआह बहनचोद क्या कहने !!!तभी बाली रानी कूद के मेरे पास नीचे आ गई और लिपट के मेरे मुंह पर चुम्मियों की झड़ी लगा दी.

मगर अभी तो महायाराना के इस आगाज़ में चुदाई की कुछ बेहद गर्म कहानियां शुरू भी नहीं हुई थीं. आशीष बोला- वाह बंध्या, तुम तो ऐसे कर रही हो जैसे रियल में ही लंड चूस रही हो. इंग्लिश सेक्सी दवामुझे देख कर उनकी आंखें खुशी से चमक उठीं, मेरा हाथ पकड़ कर मुझे घर के अन्दर खींचा और किसी ने देखा नहीं, इसकी तसल्ली करके दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया.

फिर नम्रता खड़ी हुई और उसने अपनी उंगली को मेरे मुँह के अन्दर डाल दिया. सोनल अन्दर से ब्लैक कलर की मोटे कपड़े की पट्टी लेकर आई और उसने मुझे पट्टी बांध दी, जिससे मुझे कुछ नहीं दिख रहा था. मैंने पीछे मुड़ने की कोशिश की, लेकिन तेरे पति ने मुझे अपनी बांहों में जोर से जकड़ा हुआ था.

वसुन्धरा बेचैन होकर फ़ौरन जोर-ज़ोर से कसमसाने लगी लेकिन मेरी पुख़्ता पकड़ से छूट पाना संभव नहीं था. उस कामवाली के साथ खूब नग्नअवस्था में कई फोटो अपने मोबाइल से खींच लिए.

सुहागरात को मैंने दर्द होने का थोड़ा ड्रामा करके पति को बेवकूफ बना दिया था.

मेरी बात का यकीन नहीं हो तो मर्द खुद की प्रेमिका और बीवी में दोनों में कौन ज्यादा मज़ा देती है, इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं. मैंने सोचा कि एक बार जीजू और हेतल सो गये तो मैं मानसी के रूम में जाकर ही उसको चोद कर आ जाऊंगा. इतनी ज्यादा चुदाई से तंग आकर रिया परेशान हो गयी और काफी थकी थकी रहने लगी.

देहाती फिल्म सेक्सी वीडियो मैंने भी मजाक करते हुए कहा कि दिखने में तो पहले जितने ही बड़े दिखते हैं, लेकिन दबा कर देखने से सही मालूम चलेगा. उसने गप से मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और मेरे लंड में लगा मेरा और अपनी चूत का मिक्स रस चाट कर लंड साफ़ कर दिया.

फिर मेरी ननद और ससुर की वजह से मुझे मेरे पति ने मुझे ससुराल में ही छोड़ दिया रहने के लिये कि उनका ध्यान रखो. लड़कियां भी अपनी चूत में उंगली या खीरा वगैरह डाल कर मजा ले सकती हैं. दस मिनट की चुसाई के बाद मेरी चुत तो वैसे ही चिपचिपी हो गयी थी, तो अंकल के लंड को अन्दर बाहर होने में मदद ही हो रही थी.

अफ्रीकन सेक्स मूवी

मैंने उसे बताया कि पापा मम्मी नहीं आ रहे हैं और क्यों नहीं आ रहे हैं, ये भी बताया. मुझे मेरी आँखों पर भरोसा नहीं हुआ, मैंने दोबारा से अपनी आँखें मली और फिर से देखा कि कहीं मैं स्वप्न तो नहीं देख रही हूँ. इस 6-8 घंटे में ही मेरी जिंदगी कितनी बदल गयी है, जहां मैं अपने आदमी से खुलकर सेक्स शब्द नहीं बोल सकती थी, वहीं आज मैंने एक रंडी की तरह बुर, लौड़ा, गांड, एक से एक गंदी गाली तुम्हारे साथ शेयर की और चूत को कुतिया की तरह चुदवायी.

मोटा और लम्बा लंड एकदम से घुसने से भाभी की चीख निकल पड़ी- उईई ईईई मर गयी … थोड़ा धीरे डालो न मुकेश!मतलब उस आदमी का नाम मुकेश था. अबकी बार के तेज प्रहार में मैंने एक बार में ही पूरा मूसल उसकी चूत में ठांस दिया.

उन्होंने गांड चटाई का जो चरम सुख मुझे दिया … उसे याद करके मेरी गांड आज भी उस दिन के लिए मुझे दुआएं देती है.

उसने अपनी एक ऊंगली उसकी गांड के छेद में डाल दी जिसके कारण सुमन उचक गई और मेरा लंड निकाल कर बोली- प्लीज, वहां उंगली मत डालो!मगर हरकेश उसकी बातों को अनदेखा करते हुए जोर-जोर से गांड में उंगली करने लगा और अपनी जीभ को चूत के छेद में डालकर जीभ से चोदने लगा. उनके जाने के बाद अब मेरे मामा के घर पर मेरी मामी, उनकी बड़ी बेटी मनीषा और उससे छोटी बेटी जागृति व सबसे छोटा बेटा मनोज रहते थे. मैंने कहा- वाह … क्या दिमाग लगाया है जीजा आपने? बहुत मस्त आइडिया है कि आप जीजा नहीं आशीष बन गये हो.

इसलिए मैं उसके ऊपर झुककर उसके निप्पल को बारी-बारी मुँह में भरकर चूसने लगा. अब रानी ने दोनों हाथों से लंड को जड़ से पकड़ लिया और लंड के नीचे की तरफ वाली मोटी नस को उंगली से ऐसे टंकारने लगी जैसे सितार बजाने वाले सितार के तारों को टंकारते हैं. मैं अपने एक हाथ से सोनल के बाल पकड़ कर अपने लंड को उसके मुँह में अन्दर बाहर करके लंड चुसाई का मजा ले रहा था.

फिर अचानक एक दिन उसका फोन आया और मैंने उससे कहा- जानू, मैं तुम्ह़ारे बिना रह नहीं सकता.

हिंदी बीएफ वीडियो वीडियो: कहते हुए उसने मेरे गाल को खूब जोर जोर से खींचा। मैं भी मौके का फायदा उठाते हुए तुरन्त ही उसकी जांघों के बीच में आ गया और अपनी उंगली उसकी चूत की फांकों के बीच चलाने लगा और उसकी पुतिया से खेलने लगा।पुतिया से खेलते-खेलते मैं शुभ्रा की तरफ देख रहा था, अब शुभ्रा सिसकार रही थी, अपने होंठों को चबाये जा रही थी, चूची को दबाने लगी थी, जांघें उसकी फैल चुकी थीं. मैंने मना किया और उसको उल्टा लेटा कर उसकी गांड में मेरा लंड पेल दिया.

आखिरी आसन आमने सामने होकर मेरी छाती से छाती मिला कर वो मेरे लण्ड के ऊपर बैठ गयी. उस दिन उसे मेरा सारा हेयरस्टाइल खराब कर दिया था, लेकिन मैंने स्टाइल बनाया भी तो उसी के लिए था. फिर क्या था, मैंने उसकी फ्रेंची को पकड़ा और नीचे की ओर खींचते हुए घुटनों के नीचे कर दिया.

सोनल की पीठ पर चढ़ने के दौरान ही मेरा खड़ा लंड उसकी गांड की दरार को टच कर रहा था.

उसने मुझे अपनी बाँहों में लेकर बिस्तर पर पटक दिया और मेरे ऊपर आकर मेरी चूची को दबाने और मसलने लगा. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी पैंट में डाला, तो वो ज़ोर से सिसकारियां लेने लगी. शादी के दिन से ही उनके मोटे लंड की जोरदार चुदाई से मैं संतुष्ट होती आ रही हूँ.