सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा

छवि स्रोत,sanam फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की चुदाई बीएफ वीडियो: सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा, मैंने भी कस के पकड़ लिया अपने बेटे को और हम एक दूसरे को चूमने लगे थे पागलों के जैसे!फिर सोनू ने कहा- मम्मी, तुम अपने पूरे नंगे बदन पर शराब गिरा के मुझे पिलाओ, तुम्हारी जाँघें चूसने का दिल कर रहा है!यह सुनकर मैं और गर्म हो गयी और मैंने शराब अपनी जांघ पे गिरायी जिसे मेरा बेटा चाटता चला गया.

हिंदी ओपन सेक्सी

उसने अपने लण्ड का पानी मेरे मुंह में छोड़ दिया, मैं भी सारा पानी पी गई. हिंदी पिक्चर सेक्सी व्हिडिओअभी थोड़ा वक्त गुजरने दो, फिर तुम्हें महसूस होने लगेगी और तब देखना कैसे किसी चीज की रगड़ तुम्हारी खुजली को शांत करती है।”मेरे होंठ और गला सूखने लगे और अहाना ने मेरा दुपट्टा गले से निकाल कर किनारे डाल दिया। फिर चाक से पकड़ कर कुर्ता ऊपर खींचा.

यह तय करके मैंने पूजा से खुली बातें करना शुरु किया ताकि अगर उसका मन मेरे साथ चुदवाने का हो तो मुझे भी एक लम्बे अरसे के बाद चूत चुदाई का सुख मिल जायेगा और पूजा भी कहीं बाहर किसी और से चुदवाने का नहीं सोचे. एनिमल सेक्स गर्लआपकी शादी के बाद मैं आपके कमरे में ही सोती थी और रोज़ रात को सोने का बहाना करके आप और भाभी दोनों की चुदाई देखा करती थी.

प्रेरणा मुझे घूरे जा रही पी और साथ में कातिलाना स्माइल भी दे रही थी.सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा: फूफा जी का लंड भी इतना बड़ा था कि आसानी से अंदर नहीं लिया जा सकता था, मगर फिर भी मैं अपनी कमर हिला हिला कर फूफा जी का साथ दे रही थी.

कुछ देर बाद जब हम शांत पानी में गये तो हमारे राफ्ट गाइड ने हमें पानी में कूद कर तैरने को कहा यहां कोई खतरा नहीं है! लाइफ जैकट अपने पहनी हुई है, चिंता की कोई बात नहीं!मैं और संजू पानी में कूद गये और मंजू भी हमारे साथ आना चाहती थी लेकिन वह डर रही थी मैंने झटके से उसे पानी में खींच लिया.मैं बिना समय गंवाए जल्दी से दवा डाल कर सरसों का तेल ले कर आया और तेल को हल्का गर्म कर लिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो जैसलमेर - सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा

मैं फिर भाभी को चूमते हुए उनके दूध तक पहुँच गया और उनके दूध चूसने लगा.तब उसने कहा- कोई गांड भी चोदता है क्या?मैंने कहा- और नहीं तो क्या!उसने कहा- मैंने बहुत इंग्लिश ब्लू फिल्मों में तो देखा है गांड चोदते… लेकिन भारत में भी ऐसे गांड चोदने का रिवाज है क्या? आज तक मैंने नहीं सुना कि कोई गांड भी चोदता है यहाँ!मैंने कहा- जानू, तुम एक बार गांड मरवा कर देख तो लो, तुम्हें भी मजा आएगा, अगर नहीं आएगा तो मैं तुम्हारी गांड नहीं मारूँगा.

अब वो अपनी चूची और चूत की बात करने लगी कि जब वो गर्म हो जाती है तो कैसे अपनी चूत में उंगली करती है. सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा शायद उन पलों में मैं भी अहाना की तरह कुछ न कुछ बोल ही रही थी लेकिन वह खुद मेरे ही समझ में नहीं आ रहा था और न ही मैं उस तरफ ध्यान दे पाने की हालत में थी।और फिर वो मरहला भी आया जब दिमाग में एकदम से सनसनाहट भर गयी.

मैंने तो इसलिए पूछी, क्योंकि मैं सोचती थी कि तुम्हारी कोई न कोई गर्लफ्रैंड होगी तो तुम्हें इसकी क्या जरूरत है?मैंने चुप रहा तो भाभी बोलीं- अच्छा लाओ चीनी दो अब.

सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा?

अब जब भी मुझे मौका मिलता, मैं भाभी को इशारा कर देता और हम दोनों चुदाई कर लेते. जवाब में मैं भी कुर्सी से उठ खड़ा हो गया और उसको आलिंगन में भर अपने होंठ उसके होंठों से चिपका दिए. अब फूफा जी ने अपना लंड मेरी चूत में फिर से घुसेड़ दिया और मेरी कमर को दोनों हाथों से पकड़ लिया और फिर अपने पैरों पर खड़े होकर अपना लंड मेरी चूत के अंदर बाहर करने लगे.

थोड़ी देर के बाद मेरे लंड ने पिचकारी मारनी चालू कर दी और भाभी की चुत अपने रस से भर दी. मैंने कहा- बेबी ठीक हो?उसने कराहते हुए कहा- हूँ… मैं ठीक हूँ… धीरे धीरे करो…उसके बाद मैं धीरे धीरे लंड अन्दर पेलने लगा. उसने कहा- दीदी तब मुझे कुछ भी पता नहीं होता था सिवाय इसके कि जिसे चूत कहा जाता है, वो सिर्फ मूतने के लिए होती है.

तब मैंने उसको सब बताया कि मैंने बहुत सी आंटी और लड़कियों और भाभियों को चोदा है. पद्मिनी को आँखों को खोलना पड़ा, जब उसने सुना कि उसका बापू कितना तड़प रहा है. जैसे ही लंड धक्का मार कर बाहर आना चाहता था, चूत उछल कर उसे बाहर जाने से रोक देती थी.

मंजू ने मुझे अपने बिस्तर में जाने को कहा, मैं ठहरा जोश का मारा… मैं मंजू को चुप करवाते हुए उसे सेक्स के लिए मनाने लगा. उनसे बातचीत के दौरान मैं उनके मुक्त व्यवहार का फायदा उठाते हुए उनके मम्मों पर अपनी नजर गड़ाकर बैठा रहता हूँ.

बहूरानी ने अपने पैर सीधे कर लिए थे और अब एड़ियों पर से उचक उचक कर मेरा लंड अपने चूत में दम से लील रही थी और मेरे धक्कों के साथ ताल में ताल मिलाती हुई अपनी जवानी मुझ पर लुटा रही थी.

कुछ देर चोदने के बाद फिर उन्होंने मुझे सीट पर बैठा दिया और मेरे चेहरे पर मुट्ठ मारने लगे.

मैं अन्तर्वासना की सारी कहानियों को पढ़ती हूँ और मुझे अन्तर्वासना की सारी कहानियां बहुत अच्छी लगती हैं. उनके इतना कहते ही मैंने भाभी को बाँहों में भर लिया और स्मूच करने लगा. कैसी उम्मीद?” मैं उलझन में पड़ गया।आप के परिवार में कौन-कौन है?” उसने बात काट दी।दो भाई बहन हैं पर यहां कोई नहीं, सब भोपाल में रहते हैं। मैं अकेला रहता हूँ यहां.

तभी अचानक उन्होंने मुड़ कर देखा, मैं हक्का बक्का रह गया क्योंकि वो मुझे इस तरह देख कर मुस्कुराते हुए चली गईं. खूब नखरे करूंगी, रोऊंगी, गिदागिदाऊँगी, पूरा विरोध करूंगी फिर आखिर में मैं अपनी बुर चोदने दूंगी. मेरी हंस छूट गई और मैंने उसकी बेटी की तरफ देख कर कहा- और मैडम आपने?उसने कुछ नहीं कहा बस मुझे चूम लिया.

फिर अपना मशहूर लंड निकाला और दिनेश से कहा- उस ताक से तेल की शीशी ला।वह लाया तो मैंने कहा- दिनेश, तू साहब के लंड पर तेल लगा।दिनेश हल्के हल्के से लगा रहा था, जीजाजी मुस्कराए, तो मैंने कहा- दिनेश भाई! लंड पर तेल कस कर रगड़ कर लगाते हैं, दो तीन सड़का मार।तब उसने उनका लंड रगड़ा, अब वह तन गया था.

मेरी खाला से अच्छी बन गयी और बातचीत में पता चला कि खाला की चार बेटियाँ हैं और उनमें से एक की शादी हो चुकी है. मैंने उन्हें सलाम-वालेकुम कहा जोकि मैं अंकल-आंटी से तो कभी कभार तो करता था लेकिन शबनम भाभी से कभी नहीं. तो स्पीड बढ़ाऊँ?तो उसने हाँ बोला और फिर उसे उसे थोड़ा जोर से चोदने लगा और लंड भी अन्दर डालता गया.

तभी लालजी मेरे पीछे से जांघों को चूमते हुए मेरे पीछे गांड के छेद तक पहुंच गया और अपनी जीभ को जैसे ही मेरी गांड में टच कराया, मैं बिल्कुल अकड़ गई. फिर मैं उसकी चुत को धीरे धीरे टच करने लगा और मम्मों को भी चूसने लगा. अब हम सब लोग भयानक जोश में थे, एक दूसरे को गालियाँ दे रहे थे जिसे सुनकर हम सबका जोश और बढ़ता जा रहा था.

मैं काफ़ी देर से देख रहा था कि इस बात से चाचियां हल्के से मुस्कुरा रही थीं.

मैंने जैसे तैसे अपने आप को संभाला और दोबारा अपनी आंख किवाड़ की दरार से लगा कर अन्दर का नज़ारा देखने लगा. वो नंबर देख कर चौंक गया क्योंकि यह जिस आदमी ने हमारी शिकायत की थी, उसी कमीने का नम्बर था.

सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा जब भाभी को नीचे उतारा तो मैंने कहा- भाभी ब्रा भी उतार दूँ?वे बोली- जो करना है कर लो, बस मुझे दर्द से आराम दिला दो. उसने मुझे नीचे लेटा दिया और ख़ुद मेरे ऊपर 69 की तरह आ गयी, जिसके कारण उसकी चूत जो कि बिना बाल की थी, ठीक मेरे मुँह के पास थी.

सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा वो मुझसे खुल कर सेक्स की बात करने लगी उसे और मुझे ऐसी बात करने में बहुत मज़ा आता था. मुझे उसकी इस बात पर प्यार भी आ रहा था और अपने आप गुस्सा भी…मैंने उससे कान पकड़ कर सॉरी कहा तो उसने मेरे हाथ को रोक कर खुद मेरे होठों पर अपने होंठ रख दिये.

वो किसी काम से अपनी बहन यानि मेरी सहेली के कमरे में आया था और उसने मुझे एक गीले तौलिये में देख लिया.

मारवाड़ी सेक्स वीडियो मारवाड़ी सेक्स

चलते चलते एक बहुत लम्बी चुम्मी ली, रानी की चूचियां थोड़ी सी निचोड़ी और थोड़े से नितम्ब दबाये. अभिलाषा ने एक बार फिर मुझसे कहा- मिस्टर राज! मैं अभी ड्यूटी पर हूँ, यह सब बाद में कर लेना. ये नाम मैंने प्यार से रखा है, वैसे उसका नाम कुछ दूसरा है… जो मैं लिखना नहीं चाहता.

कुछ 5 मिनट बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने भाभी को नीचे लेटा दिया और उनके ऊपर आकर तेज तेज धक्के लगाने लगा. मैं अब जोर जोर से धक्के मार रहा था और माधुरी भी मजा ले कर चुद रही थी. क्योंकि जिसके बारे में लिखा हुआ होता है, उसकी गोपनीयता भंग हो जाती है.

उसके पिता जी एक सरकारी विभाग में बहुत बड़े अधिकारी हैं और वो लखनऊ में हमारे घर में ही किराए पे रहते थे.

उसने मुझे जब पूरी तरह से पेल लिया तो बोला- सुनो मैं अपना माल तुम्हारी चुत में गिरा दूं. ’मैंने भी एक हाथ से एकता के दूध, दूसरे से डॉली के चूचे दबाते हुए डॉली की गांड में लंड पेलना चालू रखा था. अपनी दो जवान बहनों को इस अधनंगी हालत में देख कर मेरा सात इंच का लंड पत्थर से भी ज्यादा कड़क और टाइट हो गया, उसे मैंने अपने हाथ से नीचे दबा लिया ताकि वो कुछ गलत न समझे.

ये ऐसा समय हुआ करता था जिस समय मर्द घर पर नहीं होते थे, सब अपने अपने काम पर चले जाते थे. मैंने सोचा नंगी नहाती भाभी को देखने का ये अच्छा मौका है, उस समय घर पर कोई नहीं था. आह! आह! आह!”कुतिया जैसे जीभ पूरी बाहर निकाल के सुपारी को खूब अच्छे से लप लप लप करके चाटा.

भाभी ने अपने पैर फैला लिए थे, जिससे अब उनकी चूत की लाइन साफ़ साफ़ नज़र आने लगी थी. पूरे पंद्रह मिनट बाद मैंने भी होटल का बिल अदा किया और वापिस वहीं चला गया जहाँ से आए थे.

मेरी चाची की चुदाई की कहानी के पहले भागमेरी सेक्सी चाची जी की चूत-1में आपने पढ़ा कि चाची और मैं घर में अकेले थे, चाची ने मुझे अपने साथ उनके कमरे में सोने को कहा. लेकिन असल में तो मैं जानती थी कि मैं अपनी मर्जी से यहा जीजा के साथ अपनी बुर चुदवाने ही आई हूँ. एक ही धक्के में मेरा आधा लिंग उसकी छोटी सी योनि की नाजुक फांकों को चीरता हुआ अन्दर धंस गया.

दिनेश तुम!” मेरी ओर इशारा कर बोले- इनके पास ही सो जाना।दिनेश रात को मेरे साथ सोया.

इधर रेखा मेरे पास आयी और बोली- वहां क्या गड़बड़ कर रहे थे आप… कितने सारे लोग थे… देख लेते तो कितनी बदनामी होती न!मैं बोला- मैंने कुछ नहीं किया… आपके पति शशिकांत ने किया होगा. अभी वो नाच ही रही थी कि एक लड़के ने उसको पीछे से जा कर उसे धर दबोचा और उसके मम्मों को बुरी तरह से दबा दिया. पूरे कमरे में पट पट की आवाज आने लगी जो उसकी गांड और मेरी जांघों से टकरा कर निकल रही थी.

बस एनल सेक्स को छोड़ कर।कहानी कैसी लगी, यह ज़रूर बताएं। मेरी मेल आईडी है. मैं बोली- तुम्हें दूल्हा बनना है, तो तुम अपने अच्छे कपड़े पहन लेना और अच्छे से तैयार हो जाओ.

फ़िर छोटी चाची उठीं और मेरे बराबर में बैठ कर वो भी बड़ी चाची कि चूत मेरे साथ में चाटने लगीं. ये कह कर भाभी जाने लगीं, मैं भी उनके पीछे पीछे उनको दरवाजे तक छोड़ने गया. इत्तेफाक से जब वे इस बार सऊदी गये, मैं ठीक उसी वक्त लखनऊ शिफ्ट हुआ था तो मुलाकात न हो सकी।”मुझे नहीं पता था… मुझे लगा स्कूल कालेज के टाईम के दोस्त रहे होगे।”आप बताइये कुछ अपने बारे में।”मैं मलीहाबाद से हूँ.

बिहारी सेक्स डॉट कॉम

बस वहाँ सोने के क्रम में मैंने एक गलती कर दी, वो मुठ से भरा हुआ कंडोम उनके डस्टबिन में डाल कर मैं वापस आ गया था.

अपना मज़ा मैं अपने हिसाब से लूंगी और चुदाई का कंट्रोल मैं अपने पास रखूंगी आप तो चुपचाप लेटे रहना!” बहूरानी मुझे चूम कर बोली. मैंने अपने सेकंड ईयर का लास्ट पेपर दिया और दूसरे दिन ट्रेन पकड़ कर दूसरे दिन कानपुर स्टेशन पहुँच गया. मैंने सोचा शायद उसे बुरा लगा होगा तो मैं वहीं एक कुर्सी पर बैठ गया.

उसको जब भी मौका मिलता तो अपनी काम वाली बाई के साथ लेस्बियन सेक्स करती है. भाभी मेरे जिस्म से चिपक गई और टाँगें थोड़ी चौड़ी करके मेरे लण्ड को अपने हाथों से पकड़ कर चूत को थोड़ा खोलकर उस पर टिका लिया और दबा कर खड़ी हो गई. करीना के सेक्सी फोटोसुकन्या की नज़र मेरे लण्ड पर गड़ गयी और मैं जानता था कि आगे करना क्या है.

कुछ ही देर की लंड चुसाई में जब मेरा पानी निकलने को हुआ तो मैं उससे बोला- मेरी रानी, मलाई निकलने वाली है. मैंने भाभी की टांगों की और बैठ कर टांगों को थोड़ा और खोला और थोड़ा मोड़ कर लण्ड के सुपारे को चूत के छेद पर टिकाया.

उसकी चूत की ओर मुंह करके बैठा ही था कि उसकी चूत के मूत्र छिद्र से पेशाब की गरम धार छूट पड़ी. इस बार डॉक्टर ने दोबारा सेक्स करने के लिए रोका है उसने दो महीने तक सेक्स न करने की हिदायत दी है. इतना कहते ही उसने तुरंत मेरे पेंट की जिप खोली और लंड को तुरत खींचकर बाहर निकाला.

अब जब वो दिन में सोती थीं तो मैं धीरे से उनके पास जाके सो जाता और उनके शरीर को छूने लगता था. मैं- ये तो अच्छी चीज है और मैं आपके पास इसलिए सोता हूँ क्योंकि आप मुझे बहुत पसंद हो. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम रॉकी है, मेरी उम्र 32 वर्ष और मैं उदयपुर राजस्थान से हूँ। कभी कभी आपके हमारे जीवन में ऐसी घटनाएं घट जाती हैं जिनको हम कभी भुला नहीं पाते। कुछ ऐसा ही एक वाकया मेरी जिंदगी के साथ भी जुड़ा हुआ है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता.

मैंने लंड उसकी चुत में सैट करते हुए धक्का लगाया तो वो एकदम से उछल पड़ी.

मैं कभी बड़ी चाची के दूध को दबाता तो कभी छोटी चाची के निप्पल को चूस कर रम का मजा लेता. स्कर्ट तो इतनी छोटी थी कि पल भर में पद्मिनी की छोटी सी पेंटी नज़र आने लगी.

मैं अपनी सहेली के भाई के कपड़ों को निकालने लगी और मैं कुछ देर में ही उसको नंगा कर दिया. मेरे दिल में भी उनके लिए अगाध प्रेम सा उमड़ पड़ा और दिल में आया कि बस वहीं बेंच पर उनको नंगी करके पटक दूँ और इतना चोदूँ कि चीखते चीखते सुकन्या जी का गला बैठ जाये और वो चुदाई के परमसुख को महसूस कर लें. अब उन्होंने खुद अपने हाथों से मेरे लंड को छेद पे सैट किया और बोला- अब करो.

” वह बोला।हाँ तो… तुम्हें बोला ना… सक करो!” मैं अपने हाथों से अपनी चुत का दाना मसलते हुए बोली।नहीं मेमसाबम यह पाप होगा. फिर जब उसने अपने लंड को बाहर निकाला तो मैंने देखा के उस पर खून लगा हुआ था. आधा लंड डालने के बाद मैं थोड़ी देर रुका रहा, जब नेहा का दर्द कम हो गया तो मैंने एक और झटका मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी गर्म भट्टी में समा गया.

सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा अंकल बोले- मेरा भी पानी निकाल दे यार!फिर मैंने ऐसे लेटे हुए ही एक हाथ से अंकल का पानी निकाला और उनके पेट पर ही गिरा दिया. उस समय मैं टुटू को नहीं जानता था, वो भी मेरे को बस नाम से ही जानती थी.

सैंया जी दिलवा मांगेला गमछा बिछा के

मैंने उससे कहा कि माल अन्दर ही निकाल दूँ क्या?उसने कहा- नहीं मेरी जान. हाँ, कुछ सोचने से पहले बाकी लोगों के बारे में हो सकता है कि तुम किसी और को भी जानते हो!बस इतना बोलकर वो चली गई. यह उस वक्त की बात है मैं जब 12वीं क्लास में था, तब मैंने अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ना आरंभ किया था.

दोस्त ने अपनी गर्लफ्रेंड की चुत पर हाथ लगाया, उसकी चुत का पानी उसके हाथ में लग गया. मगर मेरे जीजा ने सोनिया को उसके देवर के साथ चुदवाते देख लिया था और सोनिया को मार पीट कर घर भेज दिया. देहाती बिहारी सेक्सी वीडियोफिर मुझसे बोली- अगर तुम मेरा साथ दो तो मैं तुम्हारे पापा को इस मुश्किल से निकाल लूँगी.

तभी सुरेंद्र जीजा अपनी उंगली मेरी गांड में डालने लगे, मुझे गांड में थोड़ा सा दर्द का अहसास हुआ, इधर सामने अंकल मेरी चूत को बिल्कुल चाटे जा रहे थे.

तभी जैसे मेरी तन्द्रा टूटी, मैंने उसको बताया कि अंजना का इलाज लम्बा चलेगा और इसके इलाज में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिये. तब तक उन्होंने अपनी साड़ी और पेटीकोट उतार दिए थे और एक मस्त कामुक पोज में केवल पिंक ब्रा पेंटी में मेरे पीछे खड़ी थीं और मैं उन्हें सामने लगे शीशे में देख रहा था.

पहले तो वो कराहीं और जब जोश आया तो उनकी योनि अंदर से टाइट और गर्म हुई और ये मेरा पूरा साथ देने लगीं. एक पैर रखने के बाद मैंने अपना एक हाथ भी उसकी 24 इंच कमर पर रख कर उसको अपनी तरफ उसको मोड़ लिया. थोड़ी देर बाद उसकी चूत से पानी निकलने लगा और वो अपनी गांड को भी सिकोड़ने लगी.

मैंने जानबूझ कर पूछा- बाहर किस लिए चलना है भाभी?भाभी बोलीं- मदद करने का वायदा किया था, अब भूल गए हो क्या?मैंने हंसते हुए कहा- बस कन्फर्म कर रहा था भाभी.

दीदी लंड को सहलाते हुए न ज़ाने क्या क्या बोल रही थीं, पर मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा हाथ मेरी पैन्ट में जाकर मेरे लंड को सहलाने लगा. अपनी 24 साल की बाली उम्र में शादीशुदा लाइफ, वो भी कॉलेज करते हुए ये सब हो रहा था. अभी बैठी थी तो उसके चूतड़ों के आकार का नाप सही से समझ नहीं आ रहा था, पर मेरा अंदाज था कि इसके चूतड़ भी भरपूर मटकते होंगे.

मां बेटा की सेक्सी मूवीइस कारण मुझे उस टाइम ऐसा लगता था कि शायद मेरे लंड के नसीब में कोई छेद ही नहीं लिखा है. कुछ देर बाद उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया, मैंने उनकी चूत को चाट चाट कर साफ़ कर दी.

मद्रासी सेक्सी वीडियो में

वो पूरे पागलों की तरह मेरे लंड को चूसे जा रही थी, उसने लंड चूसने की स्पीड और बढ़ा दी और मैं उस बीच झर गया, वो मेरे वीर्य को चाट चाट कर पूरा पी गयी. वहां जाने के बाद मेरे दोस्त ने अपने गर्लफ्रेंड को कॉल किया तो उसने उसे मिशन रोड पर बुलाया, उसने कहा- मेरे साथ और एक सहेली है!जैसे ही मैंने सुना कि उसकी सहेली भी आई है तो मैं तो खुश हो गया. गाड़ी जब मैंने अपने घर पास रोकी, तो आंटी बोलीं- पहले मेरे घर चलो, वहाँ मुझे कुछ काम है.

अगले दिन वो लड़का, जिसने रात को हम दोनों की चुदाई को देखा था, अपने एक फ्रेंड के साथ मेरे घर के बाहर हमारी चुदाई की वीडियो देख रहा था. तभी अलका ने अपनी लात भी मेरे नितम्बों पर लपेट ली और मेरी गर्दन को कस के अपनी तरफ खींच लिया जिससे हमारे होंठ आपस में यूँ चिपक गए जैसे लिफाफा और टिकट चिपक जाते हैं. जब मैंने कोई जवाब नहीं दिया तो उसने मेरे करीब आकर मेरे मम्मों को बहुत जोर से खींचा और गुर्रा कर बोला- सुन रही है ना.

हाँ राजू कुछ स्वीट ही बनाओ!” उसे इतना ही कह कर मैं अपने रूम में गयी।उस रात मुझे अच्छे से नींद आयी। दूसरे दिन मैं सुबह सात बजे उठी, फ्रेश हो कर नीचे आ गयी।राजू ने चाय नाश्ता बनाकर रखा था। वह मुझे बोला- मेमसाब, आज दोपहर को छुट्टी चाही, रंग खेलने जाना है. ज़रा सोचिए दोस्तो, जब एक जवान लड़की पैरों को मोड़कर अपने करवट लिए सोयी हुई हो और छोटी सी स्कर्ट में हो तो कैसा नज़ारा देखने को मिलता है. उसके बाद से हम दोनों को चुदाई के लिए कोई भी मौका नहीं मिल रहा था और हम दोनों बस एक दूसरे से फेसबुक पर बात करते थे.

मोटे, गोरे, गोल मम्मे- चौड़ी मांसल कमर, सुन्दर मांसल पेट, अच्छी सुन्दर और मोटी सेक्सी गोरी टांगों और जांघों के बीच बिन बालों वाली पाव रोटी सी गोरी चूत, जिसमें एक छोटा सा चीरे का निशान था, जिसके अंदर चूत का वह हिस्सा था जिसमें मेरा बड़ा और मोटा लण्ड जाने वाला था. और अचानक एक जोर का झटका लगाया और लंड का टोपा उसकी चूत में पेल दिया.

मुझे बीच में इतने सारे रिश्तेदारों में इनके कारण शर्म का सामना करना पड़ा क्योंकि ये और कुछ देख ही नहीं रहीं थीं.

तो वो बोले- हम क्यों झूठ बोलेंगे, आप खुद देख लो और वो दोनों मेरे घर में आकर मेरी चुदाई की वीडियो दिखाने लगे. सेक्स वीडियो जोधपुरथोड़े ही टाइम में वो गरम हो गईं और बिस्तर पर टांगें पसार कर चित्त लेट गईं. पब्लिक एप दिखाएंमैंने अभिलाषा की पैंट के ऊपर से ही उसकी चूत को दबाना सहलाना शुरू किया. मैं उसी जगह पर थोड़ी देर के लिए रुक गया और फिर 3 इंच लंड से ही धीरे धीरे ही धक्के लगाता रहा.

दो दिन बाद उसने मुझे फिर से मिलने के लिए बुलाया और कहा- कुछ ले कर आना!उसके कहने का मतलब था ‘कंडोम…’ मगर खुल कर नहीं कहा उसने.

इसका अर्थ यह हुआ कि जूसी रानी की यह बहन एक ज़ोरदार मर्दानी चुदाई के लिए तरसती रहती होगी. मैंने आँख मारी और इशारा किया तो उसने एक ही झटके में अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. मैं लंड पर कंडोम चढ़ाने लगा तो वो बोलने लगी कि मुझे बिना कंडोम के करना है.

इससे पहले मैंने दो अविवाहित व एक विवाहित महिला से सम्भोग किया था लेकिन उनके नितम्ब खुरदरे दानेदार थे अब मैं उसी वस्त्र के अंदर हाथ डालकर मैडम की नंगी पीठ व नितम्बों को सहला रहा था जन्नत जैसे मेरे हाथों को नसीब हो गई थी। मैडम के होंठों ने चूम चूम कर मेरे पूरे मुँह को गीला कर दिया था।मैडम की शरीर का एक-एक अंग कसा हुआ था. ” उसने बोला।नहीं यार… आज नहीं है, लेकिन अक्सर मेरे घर में होती है हर बार। मैं और राकेश पीते हैं साथ में!” मैंने बताया।हम्म…तो फिर जाने दो. यह कहानी लगभग आठ साल पहले की है, जब मैं अपनी पढ़ाई करने के लिए घर से बाहर निकला और किराए के एक मकान में रहने लगा.

सेक्सी हिंदी विडियो

शबाना का फिगर 32-26-32 का था, जिसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए और रंग ऐसा, जैसे कि बॉलीवुड की पुरानी तारिका सायरा बानो दूध से नहाकर आई हो. अलका ने एक छोटा सा पजामा, जो उसके घुटनों के तीन या चार इंच नीचे तक था, पहना हुआ था. मैंने अपने लंड को ख़ुशी की चुत पे रखा तो ख़ुशी ने मुझे रोक लिया और अपनी तरफ खींच कर अपनी बांहों में जकड़ लिया, मैंने भी ख़ुशी को जोर से पकड़ लिया.

कुछ देर यूं ही माहौल को हल्का करने जैसी बातें हुईं, फिर हमने केक काटा, एक दूसरे को खिलाया और थोड़ी वाइन भी पी.

आआआआ… और अन्दर तक घुसेड़ो! और जोर से… और झटके से… ईईईईई… उफ़!… उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओओओओ… कितना शानदार था इस बार तुम्हारा धक्का! जरा एक बार अपने लंड को मेरी गांड के अन्दर गोल-गोल घुमाने की कोशिश करो…”उत्तेजना से फटे जा रहे आर्थर ने अपने धक्के रोक कर मेरी पत्नी की इच्छा के अनुसार लंड को मेरी भार्या के चूतड़ों के अन्दर रखते हुए अपने कूल्हों को गोलाई में घुमाना शुरू कर दिया.

मैं दूसरे दिन अपने घर मम्मी के पास पहुंच गयी और अब सुबह का इंतजार करने लगी, सवेरा हुआ, जल्दी से तैयार हो गई, मम्मी को पहले ही बता चुकी थी कि सुरेन्द्र जीजा मुझे सतना ड्रेस दिलाने ले जाने को बोले हैं. ” वह बोला।हाँ हाँ ठीक है, तुम गाड़ी निकालो, मैं तैयार हो कर आती हूँ. मारवाड़ी सेक्स फोटोएक तो उसके होंठों का स्वाद लाजवाब था और अब तो चाकलेट उसमें चार चांद लगा रहा था।मैंने अपना एक हाथ टॉप के ऊपर से ही उसके वक्ष पे रख दिया और उसे दबाना चालू किया.

”यार तू एक बात तो बता?”क्या?”यही कि तू आज पहली बार यह सब करवा रही है, फिर तुझे सब कुछ मालूम कैसे है?”भाईजान मेरी सहेलियाँ मुझे अपनी लव स्टोरी सुनाती रहती हैं. उसको भी बार बार चोदने के लिए मुझे जगाये रखना पड़ता है क्यूंकि मेरा लंड इतना हरामी है कि कमबख्त को जब तक तीन बार चूत में घुसकर उसकी खबर अच्छे से न मिले तब तक जान में आफत किये रखता है. वो मेरी कमर पर हाथ रख कर एक हाथ मेरे ब्लाउज में से दूध दबाते हुए मुझे दो कदम पर बिछी रजाई पर ले गया.

मैंने तुरंत अंकल को लोगों की मदद से अपनी कार की पीछे वाली सीट पर लिटाया और आंटी को आगे सीट पर बैठा कर सीधे अस्पताल ले कर आ गया. हम दोनों 69 का भरपूर मजा ले रहे थे मैंने कुछ देर ही दीदी के दाने को चचोरा होगा कि दीदी एकदम से अकड़ उठीं और उन्होंने मेरे मुँह पर अपनी चुत ऐसे दबा दी, मानो वे मेरी मुँह को अपनी चुत में ही घुसवा लेना चाहती हों.

फिर मुझे खुद पर गुस्सा आया और मैंने जल्दी से एक तौलिया बाँधी और दूध लेकर किचन में रखा.

तब तक मैं उनकी समीज की चैन खोल चुका था और उनकी नीली ब्रा के ऊपर से ही उनके नंगी पीठ को चूमने लगा. कुछ ही देर में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, जिससे उसकी पैंटी गीली हो गयी. अगले ही पल मॉम ने मेरा लंड पकड़ लिया और मेरे लंड को देख कर बोलीं- आ जा मेरे शेर.

अंग्रेजी अंग्रेजी सेक्सी वीडियो कुछ देर आराम के बाद मैंने बिना उनके कहे अपना लिंग उनकी योनि में डाला और कार्यक्रम दोबारा शुरू किया लेकिन इस बार सब मजे से सही सही हो गया।जब मैं वापिस आने लगा तो उन्होंने मुझे थैंक्स बोला और कुछ पैसे दिए. मैं सोच रहा था कि क्या दरवाजा अन्दर से लॉक होगा?फिर मैंने सोचा अगर खुला होगा तो सीधा अन्दर चला जाऊंगा, जो होगा देखा जाएगा.

सच में बहुत टाइट चूत थी, पहले एक ही उंगली थी फिर मैंने अपनी तीनो उंगलियों को चूत-सेवा में समर्पित कर दिया. मैंने उससे कहा कि मैं अभी तो दिल्ली जा रहा हूँ, आपको लौटकर अपनी सर्विस दे पाऊँगा या फिर आप किसी और की सर्विस ले लीजिए. थोड़ी देर बाद उसने मेरे सर को अपनी चूत पर दबा दिया और मैं भी मानो उसकी चूत को खा जाना चाहता था.

हिंदी सेक्स वीडियो फुल एचडी

ऐसा लग रहा था मानो उनके गोरे चुचे सामने से दावत दे रहे हों कि आओ और हमको खा जाओ. मुझे उसका लंड अंडरवियर में से दिख गया वो काफी मोटा और बड़ा लग रहा था. मैंने उनकी बात ना सुनते हुए एक और झटका मारा और पूरा लंड भाभी की चुत में घुसा दिया.

इसके बाद से मैं चाची से और भी ज्यादा खुल गया था और अब मैं उनसे अपने साथ पढ़ने वाली कॉलेज की लड़कियों को लेकर बात करने लगा था. चाची ने हंसते हुए लंड को मुँह में ले लिया और मेरे अण्डकोष सहलाते हुए लंड चूसने लगीं.

वह हल्की हल्की सिसकारियां ले रही थी और मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से हिला रही थी.

तभी सामने से भाभी वापस आ गयी और शायद मुझे लंड ठीक करते देख लिया। मैंने जल्दी से हाथ हटाया और भाभी की तरफ देखने लगा और कहा- मैं नीचे जा रहा हूँ. इसके बाद मनोहर ने अपने कंधे पर मेरी एक टांग उठा कर रख लिया और मेरी चूत को अपने जीभ से इतनी जोर जोर से चाटने लगा कि मैं अब खुद को नहीं सम्हाल पाई. चूत बोल रही थी कि आ जा भोसड़ी के आज मैं तुझको अपने अन्दर हजम कर लूँगी.

करीब 15 मिनट तक भाबी को चोदने के बाद मुझे लगने लगा कि अब मेरा लंड जवाब देने वाला है. मैंने कारण पूछा- क्या हुआ… कुछ तकलीफ हुई क्या?भाभी बोलीं- यार इस तरह का सेक्स मैंने जिंदगी में पहली बार किया है… ये खुशी के आंसू है प्रकाश… मैं ऐसी कभी नहीं झड़ी थी… ये पहली बार हुआ है. थोड़ी देर के बाद मेरे लंड ने पिचकारी मारनी चालू कर दी और भाभी की चुत अपने रस से भर दी.

तो वो बोली- कुछ भी हो जाये, आज आना ही पड़ेगा तुमको, वरना मैं मर जाऊँगी, पता नहीं क्या हो रहा है मुझे ऐसा!मैं बोला- ठीक है, आज शाम को आता हूं.

सेक्सी बीएफ बेटे ने मां को चोदा: दोस्तो! मेरा नाम राज शर्मा है। आज मैं आपके साथ मेरा एक और अनुभव शेयर कर रहा हूँ. वो एक बार फिर बुर में लंड डलवाना चाहती थी लेकिन मेरी हिम्मत जवाब दे गयी थी.

मैं बिना समय गंवाए जल्दी से दवा डाल कर सरसों का तेल ले कर आया और तेल को हल्का गर्म कर लिया. कुछ देर उसकी गर्दन पर चूमने के बाद मेरे होंठ ऊपर उसके कोमल गालों पर से होते हुए उसके होंठों पर आ गये. मैं मेडिकल स्टोर से नींद की गोली ले आया और शाम को मौसमी के जूस में डाल कर सबको पिला दिया.

हम दोनों उस जगह पर पहुँच गए, जैसे ही वहाँ पहुँच कर देखा, वहाँ का नजारा कुछ और ही था.

जिसका शिश्नमुंड लिजलिजा सा था जिसे मैं तालू और जीभ से दबा सकती थी। कोई जायका तो नहीं था, लेकिन फिर भी अच्छा लगा।पहले उन्हें देखती, झिझकती, धीरे-धीरे मुंह चलाती रही उसके लिंग पर, लेकिन फिर आखिर शर्म खत्म हो ही गयी और दोनों को भाड़ में झोंक कर उसे तन्मयता से चूसने लगी।तब अहाना ने उसे मेरे मुंह से निकाल लिया और खुद चूसने लगी।अब बस करो. कितना दुलार करेंगे आज आप मेरे साथ?बापू ने एक आशिक की तरह कहा- मैं तुमको बहुत चाहता हूँ मेरी गुड़िया, क्या तू अपने बापू को खुश करेगी?पद्मिनी एक मुस्कान के साथ बोली- ओफ्फो बापू. यह नजारा फिल्मों की वजह से मेरा देखा भाला था और उस वक्त मेरे लिये बाकी नजारे से ज्यादा खतरनाक था।रगों में खून चटकने लगा.