हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती

छवि स्रोत,निधि अग्रवालxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

बाप सिक्स: हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती, अभी नताशा ठीक से खुश भी नहीं हो पाई थी कि मैंने दोबारा से अपना लंड राजू के लंड से भरी गांड में शिफ्ट कर दिया.

और चोदा चोदी

मेरा कद लगभग 5 फुट 3 इंच है, चौड़ी छाती, मजबूत भुजाएँ हैं और आकर्षक हूँ. मेहंदी लगा के रखना पिक्चर!दोस्तो फिर हम कोने में जाकर चूमने और बोबे दबाने का कार्यक्रम करते रहे लेकिन चुदाई नहीं की।वहाँ ऊटी में बहुत अच्छी वादियां.

पर हॉस्टल में इतनी आसानी से लंड या छेद नहीं मिलता था।हमारी क्लास में एक लड़का था रामू. झवाझवीचे पिक्चर’ इतना कहने के साथ ही उन्होंने मेरे सर पर हल्का सा दबाव दिया और बोली- दारू की एक बूंद जमीन में नहीं गिरनी चाहिये.

इस पर राजे ने चिढ़ के कहा- ठीक है रंडी, तू माँ चुदा अपनी, मेरी बला से!शुक्रवार रात को तो हमेशा कि तरह मैंने और रीना ने जूसी की चुदाई का दृश्य बाहर बालकनी में बैठ कर देखा.हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती: एक दिन दोपहर को हम लोग अपने कमरे में ही बैठे थे, तभी वहाँ एक औरत आई.

दीदी अभी तक नहीं आई थी। मैंने अपनी स्कूटी उठाई और बाज़ार में निकल गई, ताकि दीदी को शक नहीं हो।जीजा साली की चुदाई की कहानी कैसी लगा रही है?कहानी जारी रहेगी.इनको देखा देखी अजय ने भी रूबी को ऊपर बिठा कर उछल कूद शुरू कर दी थी.

प्लेन सेक्स - हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती

मैंने शीशे में देखा तो मेरी दुबली-पतली पत्नी की गांड किसी सुरंग का मुंह नजर आ रही थी! उसकी गांड की अंदरूनी दीवारें सिकुड़ती-फैलती साफ़ नजर आ रही थी.रानी ने फिर से लौड़ा चूसना शुरू कर दिया लेकिन बाकी का सारा शरीर निढाल हो गया था.

पर थोड़ी मोटी लग रही हूँ ना?मैंने उससे कहा- आज भी तू कहीं से मोटी नहीं लगती, कुंवारों से पूछ. हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती अब झांसी केवल डेढ़ घंटे की दूरी पर है। हम सब मेरे रिश्तेदार की सब्जी बाड़ी में बैठकर नाश्ता करेंगे, और यहीं से झांसी जाकर सीधे घूमने निकलेंगे। लेकिन उससे पहले पास की नदी में नहा कर आयेंगे। पानी भी साफ है और प्रकृति का भी पूरा आनंद उठाना है। सभी अपने बैगों से नहाने के कपड़े निकाल कर साथ रख लें।यह आवाज एक सर की थी, यहाँ पर उनकी बहन का ससुराल था, हम मेन रोड से एक कि.

यहां वर्कशॉप अटेन्ड करने आया हूँ।वह बोला- वर्कशॉप कब से है?मैंने कहा- ग्यारह बजे से।उन्होंने कहा- तो उसमें अभी बहुत देर है.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती?

मैंने उनकी गांड पर तीन-चार प्यारी सी चपतें लगा दीं।नंगी भाभी अब बहुत शर्मा रही थीं तभी मैंने डार्क चॉकलेट निकाल कर उनके बदन पर मल दी और एक बाईट उनके मुँह में भी दे दिया।रसीली भाभी चालाक थीं उन्होंने मुझे खींचकर अपने मुँह से मेरे मुँह में चॉकलेट डाल दी. तू आराम कर मैं तब तक थोड़ा बाहर हो आता हूँ।क्यों दोस्तो… मज़ा आ रहा है ना लगातार चुदाई ही चुदाई चल रही है। अभी जितना एंजाय करना है कर लो, बाद में स्टोरी अलग मोड़ पर जाएगी तब शायद चुदाई के मज़े थोड़े रुक जाएं. वो कुछ नहीं बोलती।मैं उसको शॉपिंग के लिए पैसे भी देने लगा, नीलू को सब तरह से हेल्प करने लगा, नीलू भी कभी-कभी ख़ुशी से मुझे गले लगा लेती थी।ऐसा ही एक साल तक चला।मैं जल्दबाज़ी नहीं चाहता था अन्यथा नीलू नाराज़ हो सकती थी।एक दिन माँ, भगत के मंदिर से शाम को घर वापस आईं.

’ जैसी आवाज़ें निकाल रही थीं और यही हाल मेरा था।चाची 5 मिनट में अकड़ने लगीं और मेरे होंठों को जोर से चूमते हुए झड़ गईं। उनके साथ मैं भी अपना पानी छोड़ बैठा लेकिन मैं इतने जोश में था कि मेरा लंड बैठा ही नहीं था और मैं बिना रुके उन्हें चोदता रहा।चाची जो झड़ कर सुस्त हो गई थीं. पर हम नॉर्मल दोस्त बन कर रह रहे हैं।आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी. सब अन्दर आ गए, साथ में टीना भी आ गई। वो इस यादगार चुदाई को देखना चाहती थी।अन्दर आने के साथ ही सब एक झटके में नंगे हो गए और गोल घेरा बना कर खड़े हो गए।फ्लॉरा- वाउ यार तुम सबके लंड तो ज़बरदस्त हैं.

भाभी ने खेला मेरे बर्थडे पर चुदाई का खेल-1अब तक आपने इस सेक्सी स्टोरी में पढ़ा कि भाभी अपनी कामुकता भरी हरकतों से बार बार मेरे लंड को खड़ा कर देती थीं लेकिन फिर मुझे मुठ मारने के लिए छोड़ देती थी।अब आगे. मैं आलोक के लिए दूध गर्म कर रही थी, तभी आलोक ने पीछे से आकर मुझे अपनी बाहों में जकड़ लिया और मेरे गाउन के अंदर हाथ डालकर मेरे मम्मों को मसलने लगा।आलोक का लंड बिल्कुल तन चुका था और मेरी गांड की दरार से टकरा रहा था. पर हर बार वो दोनों हमारी गांड को चोदने की बात करने लगते, यहाँ तक कि दोनों सेक्स के समय हमारी गांड को उंगली से चोदते भी थे, और चाटते भी थे.

पर कैसी पार्टी?मैं बोला- जैसे होती है।भाभी ने आँख मटका कर पूछा- कैसी वाली पार्टी?मैंने पूछा- आप ड्रिंक करती हैं?वो बोलीं- हाँ. धीरे धीरे उसके मदमस्त यौवन की महक चहूँ ओर फैल गई और उसके इन्तजार में भँवरे टाइप के लौंडे लपाड़े रोमियो गली के मोड़ पर खड़े हो उसे रिझाने की प्रतिस्पर्धा करने लगे.

मैं बहुत जल्द आपको जानकारी दूँगा।तो उसने झट से मेरा मोबाइल नंबर माँग लिया और मेरे नम्बर पर एक मिस कॉल देकर कहा- इसे सेव कर लो और जैसे ही कोई खबर मिले, मुझे कॉल कर देना।उसके बाद मैंने अपनी फाइल पर मैडम से सिग्नेचर लिए और वहाँ से चल पड़ा।अब मेरे ध्यान में मैडम का चेहरा घूम रहा था। उसके चेहरे पर अजीब तरह का आकर्षण था, उसकी उम्र 30 की होगी.

पर तुम तो इतने कूल हो?मैंने हंस कर कहा- अरे यार ऐसे कुछ भी नहीं है.

‘और सबसे बड़ी बात पति का सुख भी नहीं मिलता रानी भाभी को… प्यासी रहती है हमेशा!’‘प्यासी? क्या मतलब? उसका पति तो उसकी लेता होगा न?’‘उसका पति? वो क्या लेगा उसकी, उसके बस का हो तब ना. तुम तब तक टीवी देखो।मैं उनके बेडरूम में जाकर टीवी देखने बैठ गया। चूंकि हॉल में कोई भी आ सकता था इसलिए मैं बेडरूम में आ गया। मैं टीवी पर इंग्लिश मूवी देखने लगा। उसमें आते हुए सेक्सी सीन देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया था, पर मुझे थकान के चलते नींद सी आ रही थी।भाभी का इंतजार करते हुए मैं वहीं कब सो गया. हम दोनों एक-दूसरे का मजा रस चाट लेते तो अच्छा होता।संजय- कोई बात नहीं जान.

उसने फटाफट अपने सारे कपड़े निकाले और मुझे चूमते हुए बेड पर लिटा दिया, फिर मेरे कोमल पर सख्त, मुलायम पर कसे हुए बूब्स को जोरों से चूसने लगा, मेरे पेट को चूमते हुए मेरी चूत तक पहुँच गया और फिर एकदम से टूट पड़ा मेरी भीगी हुई चूत पर…उफ अशश्स आह्ह्ह आह्ह ह्ह की आहें बरबस ही मेरे मुख से निकलने लगी. ’ मैं बुदबुदाया।‘और क्या तुम…’ उसने पूछा- क्या तुम्हारा निकलता भी है जब तुम मुठ मारते हो?‘हाँ, हमेशा… मैं कोशिश करता हूँ कि मेरा तब तक ना निकले जब तक तुम अपनी चरम सीमा तक नहीं पहुँच जाओ… पर ज्यादातर मैं तुम्हारी उत्तेजना देखकर पहले ही झड़ जाता हूँ. भाभी खड़ी हुई, मैंने उन्हें झुक कर खाट पकड़ने को कहा, भाभी झुकी और एक हाथ से मेरी शर्ट मुंह में ठूँस ली।ये देखकर मुझे भाभी पर बहुत प्यार आ रहा था, मन कर रहा था कि गांड ना मारूं!फिर भाभी ने इशारा किया- डाल!मैंने कहा- भाभी, गांड ढीली छोड़ दो।भाभी ने गांड ढीली छोड़ दी, मैंने लंड गांड पर लगाया पर लंड अन्दर नहीं जा रहा था.

मैंने उसके पूरे जिस्म को अपने आगोश में ले लिया उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया क्योंकि अब उसका पानी मेरे ट्टटों पर दस्तक दे चुका था.

मम्मी ने कहा- क्या ख्याल है?तो यश ने कहा- आज रात मैं तेरी गांड मारना चाहता हूँ. हमने एक दूसरे को हग किया, मैंने उसको कान के पास किस किया, उसने भी मुझे किस की. दीपा के चूत रस से उसकी चूत बड़ी चिपचिपी हो गई थी और मेरा लंड जोर जोर से अंदर बाहर हो रहा था तो पच पच की आवाज गूंजने लगी और दीपा का पहला पानी छूट गया और उसकी रफ़्तार थोड़ी धीमी हो गई.

फिर साथ में ही झड़ गए।उस रात मैंने, यानि नीलू के भाई ने उसको 2 बार ही चोदा क्योंकि उसकी चुत की हालत खराब हो गई थी।[emailprotected]. और उनकी यही बात मुझे बहुत उत्तेजित कर रही थी कि उन्हें पता हैं कि एक लड़की को चोदना कैसे हैं और चोदने के लिए तैयार कैसे करना है…!मैंने अपने दोनों हाथ अब जीजू के कंधों पे रख दिए और वो मुझे अभी भी उँगलियों से बड़ी मस्ती से चोद रहे थे. मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए उसके चूतड़ों को दबाया और अपना एक हाथ भाभी की चूत पर लगाया तो पूरी गीली थी… मैंने उसको चूमना नहीं छोड़ा और अपने हाथ से भाभी की गुलाबी चूत को सहलाने लगा.

वैसे तू भी नहीं भी कहती तो भी मैं उसको चोद ही देता… हा हा हा हा हा.

कुछ क्षणों के बाद मुझे एहसास हुआ कि माला ने एक हाथ से वह स्तन पकड़ रखा था जिस में से मैं दूध पी रहा था लेकिन उसका दूसरा हाथ मेरे लोअर के ऊपर से मेरे लिंग को सहला रहा था. फिर उनकी चूत पर भी शहद लगा दिया। इससे मस्त हो कर भाभी ने भी मेरे लंड पर शहद लगा दिया और लंड चूसने लगीं। मैं उनकी चूत को चूसने लगा।अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने उनको सीधे लेटाया और उनकी चूत पर अपना लंड सैट करके हल्का सा अन्दर पेला.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती सुन्दर ने और जोर से गांड मारना चालू कर दिया, उसकी चूत मारने की स्टाइल जैसे ही गांड ठोकने की स्टाइल भी मुझे अच्छी लगी और वह अब थक चूका था इतना हिलने के बाद, उसका वीर्य गिरने ही वाला था कि वह लंड निकाल कर मुझे सीधा करने लगा. इसलिए वो खड़ी हो गई और राधा के पास बैठ कर उसके आँसू पोंछने लगी।राधा- आह क्क्क काका आपका आह.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती एक दिन मम्मी ने कहा- मैं खेत में जा रही हूँ, तू घर पे ही रहना अपने भाई के साथ. मैंने तो पहले से दीवार से पाँव टिकाए थे सो मैंने धक्के तेज़ कर दिए। मेरी ठुकाई की रफ़्तार तेजी पकड़ने लगी थी। मैं भी उसकी चुत पर अपना लंड पटकने लगा।‘छट.

’तभी टीटी आया तो मैंने टिकट चैक करवा लिया और इसके बाद मैं कम्बल ओढ़ कर सो गई। उसने लाइट ऑफ की और वो भी अपनी बर्थ पर सो गया।अचानक रात को 12 बजे के लगभग मुझे लगा कि मेरे कम्बल के अन्दर कुछ है। मैंने देखा कि वो एक हाथ था जो कि मेरे पास आ रहा था। मुझे पता चल गया कि ये वो ही है। फिर भी मैं जानबूझ कर उसके हाथ के पास को हो गई। उसने मुझे छू लिया.

xnxn सेक्सी

मेरे शौहर का मुश्किल से पांच इंच का होगा लेकिन ये तो उसका डबल से भी ज़्यादा है और बहुत मोटा भी!मैंने कहा- कौन चुदवाती होगी इससे?कहने लगे- पसंद आया?मैंने कहा- नहीं, मुझे नहीं करना है!उन्होंने कहा- एक बार चलो, तुम्हारी चूत की सारी गर्मी निकल जायेगी या तुम चुदाई छोड़ दोगी या फिर रंडी बन जाओगी. उसके बाद वह मेरी ओर मुड़ कर मेरे सिर को अपनी गोदी में ले लिया और अपने हाथ में स्तन को लेकर उसकी चूचुक मेरे मुंह में डाल दी. अगर जा भी सकती तो भी मैं तुम्हें नहीं जाने देता!’मैं फिर से मुस्कुराई.

साली को अपनी चूत के जूस का स्वाद दे!जूसी मेरे मुंह पर चूत जमा के बैठ गई और राजे उसके चूचे मसलने लगा. मैंने स्नेहा की कमर के नीचे से सलवार खिसकाई तो उसने भी सहयोग देते हुए कमर को ऊपर उठा कर सलवार नीचे से निकल जाने दी. चलो अब सब से हाथ मिलाओ और अपनी क्लास की तरफ़ जाओ। अब तो हमारा रोज मिलना होता ही रहेगा।सुमन के चेहरे पे हल्की सी मुस्कान आ गई.

कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- हाँ है।तो उन्होंने हंसते हुए कहा- फिर तो तुम्हारे मज़े हैं।मैंने सादा सा चेहरा बनाते हुए कहा- कहाँ आंटी, कुछ मजे नहीं हैं।आंटी ने कहा- क्यों तेरी गर्लफ्रेंड तुझे खुश नहीं रखती?मैंने कहा- नहीं आंटी।तो उन्होंने पूछा- तुम्हें खुश होने के लिए क्या चाहिए.

मैडम आअहह उफ्फ्फ्फ़ अर्ररर और हाँ तेज़ तेज़ सिसकारियाँ लेती हुई बोली- छोटू, मुझे किस करो!मैं मैडम के ऊपर लेट गया और उनके गुलाबी होंठों को धीरे धीरे मज़े लेते हुए चूसने लगा. मेरा नाम रमेश है, मैं एक मिडल क्लास फैमिली से हूँ। मेरे परिवार में हम 5 लोग हैं। मैं, मेरी बहन, पेरेंट्स और मेरी दादी माँ। मेरे पेरेंट्स छोटे से गाँव में रहते हैं और खेतीबाड़ी करते हैं। हमारी ज़मीन ज़्यादा नहीं है, मेरी दादी की उम्र 75 साल है. चाची मुझे देख कर हल्का सा मुस्कुराई और बोली- क्लिनिक से आ गया, आ बैठ!मैं चाची के सामने सोफे पर बैठ गया, मैं चाची से आँख मिला नहीं पा रहा था, चाची बोली- क्या बात है अशोक, शर्म आ रही है क्या?मैं- चाची, मुझे माफ कर दीजिए, कल जो हुआ वो नहीं होना चाहिए था.

जिसने रात को भाई की चुदाई की। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या बोलूँ. मेरे लिए यही बहुत बड़ी बात थी कि वह झड़ा नहीं था। करीब बीस मिनट से लगा था. दोनों ने कॉफ़ी ख़त्म की और ऋषिका अपने रूम में जाने के लिए उठी, तो रयान ने हाथ पकड़ लिया… ऋषिका भी जाना कहाँ चाहती थी, वो पलटी और रयान ने उसे खींच लिया, ऋषिका सीधी रयान की बाँहों में झूल गई, उनके होंठ मिल गए, दोनों बेड पर ही चिपट गए.

यार फिटकरी से ऐसा होता है? ये तुझे किसने बताया?मीना- तू आम खा ना यार. उसको तलाक देना चाहता था। पता है तेरी बहन मरने जा रही थी। मैंने उसे बचाया और उससे कारण पूछा, तब उसने अपनी कहानी मुझे सुनाई और मैंने उसको यकीन दिलाया कि उसको जल्दी बच्चा हो जाएगा.

दस पंद्रह शॉट में ही मैं तो चरम आनन्द को प्राप्त होकर विस्फोटक रूप से स्खलित हुई, चूत से मलाई की बरसात होने लगी, चूत तेज़ी से बंद खुल बंद खुल करती हुई मलाई से राजे के लौड़े को भिगोने लगी. तो उन कपड़ों में से आंटी की पैंटी नीचे गिर गई। मैंने कपड़ों को साइड में रख दिया और फिर उनकी पैंटी को जैसे ही उठाया. शनिवार को वो मिलने आ गई, मैं उसे अपने घर ले आया और वहां मैंने उसे मेघा की एक बहुत सेक्सी ड्रेस दे दी, निकर और कमीज…उसने बोला- मुझे शर्म आ रही है!मैंने कहा- मुझसे कैसी शर्म? मैंने तो तुमको नंगी करके चोदा है, अब कैसी शर्म!तो उसने कहा- बाकी लोग देखेंगे!मैंने कहा- मेघा भी तो पहनती है!तो वो मान गई वो मेरे सामने ही नंगी होकर कपड़े चेंज करने लगी.

करीब आधे घंटे बाद उनका फोन आया- अरे सुन, एक चक्कर लगा कर सीधा आ जा कमरे में!मैंने सारी सोसाइटी का चक्कर लगाया और सीधा अपने कमरे में आ गया.

तू मेरी चुत को चोद कर भोसड़ा बना दे।मेरे मुँह से हंसी निकल गई और मैंने ‘हाँ’ बोल दिया।अब मैंने भाभी के मम्मों को खोला कर देखा. कोई लड़की जब इस तरह अपने दोनों हाथों से अपनी चूत खोल के सामने लेटती है तो वो सीन गजब का सेक्सी लगता है. लेडी इनकम टैक्स ऑफिसर ऑफिसर को चोदा-1अब तक आपने इस चुदाई की कहानी में पढ़ा कि मैडम मुझसे मालिश करवाने लगी थी और मैं उसके नंगे बदन पर अपना हाथ फेर रहा था।अब आगे.

जल्दी ही मैं झड़ने की कगार पर आ गया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारियाँ छूटने लगीं. लेकिन मैं अब भी पक्का नहीं था।फिर मैं अगले दिन सुबह की राह देखने लगा।अगले दिन मैंने देखा कि वो ब्लैक ड्रेस पहन कर स्कूल चली गई.

अगर नारी नहीं है तो दुनिया में कुछ नहीं है। एक नारी पुरुष को हर मोड़ पर प्यार देती है, कभी माँ बनकर, कभी बहन कभी बेटी. मानसी जानती थी कि अगर एक या दो उँगलियाँ थोड़ी अंदर जाने पर उसको इतना दर्द हुआ है वो मेरा ढाई इंच का लंड उसकी क्या हालत करेगा पर अब वो हर चीज़ के लिए तैयार थी. इस दौरान मेरी बीवी न जाने कितनी बार झड़ी, उस रात और मुझसे लिपट लिपट के मुझे चूम चूम के उसने अपना आभार जताया.

सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी चाहिए

उस पर तरस तो आया पर हिम्मत नहीं हुई उससे नज़रें मिलाने की… उसके इस सवाल के बाद!एक दिन मुझे कॉलेज की फीस भरनी थी तो मैंने पिता जी को फोन कर दिया.

जब लंड उसकी थूक से काफी गीला हो गया तो सोफे पर ही फिर से उल्टी हो गई और अपने कूल्हों को फैलाती हुई बोली- लो आओ, अपना लंड इस छेद में भी डालो. मैं अन्तर्वासना चुदाई स्टोरी का नियमित पाठक हूँ, यहाँ पर चुदाई स्टोरी पढ़ने पर मेरी भी मेरे साथ हुई एक घटना को लिखने की इच्छा हुई जो मैं आपके बता रहा हूँ. नीचे से किया था तो ऋषिका के उठते ही उसका वीर्य टपकता हुआ बेडशीट पर आ गया.

मगर वक़्त पर जो मिले वही सही। ये सोचकर वो घुटनों के बल बैठ गई और लंड को हाथ से सहलाने लगी।राजू के तो पूरे जिस्म में करंट दौड़ने लग गया. बचपन की इच्छा आज पूरी हो गई।अंकल बोले- कैसे?मैं बोला- अंकल मुझे बचपन से ही आप जैसे बड़ी उम्र के लोगों को नंगा देखना बहुत अच्छा लगता था. भवानी मंडी वेदरमेरे प्यासे होंठों का अपनी नंगी जाँघों पर स्पर्श पाते ही पिंकी का पूरा बदन एक बार तो जोर से सिहर सा गया और उसने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ लिया.

आंटी की वक्षरेखा साफ दिख रही थी, उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी, उनका पेट भी नज़र आ रहा था, मैं बार बार उनकी क्लीवेज देख रहा था, आंटी ये सब नोटिस करती और मुझे देख कर हंस देती. उसने बिना पलक झपके सीधा मेरी बेल्ट खोली और मेरी जीन्स को मेरे बदन से अलग करने का प्रयास करने लगी.

भाभी तो बहुत छटपटाते हुए मेरे सर को हाथ से दबोचते हुए मेरे बाल खींचे जा रही थीं. आज तुम्हारी तपस्या का फल मिलने का वक्त आ गया है।और मैं अपने कपड़े उतार के मूर्ति बनकर खड़ी हो गई, उसके सामने मेरी खूबसूरत नंगी टांगें थी, हर अंग तराशा हुआ मेरी आँखों में नशा था, और मैं सिर्फ ब्रा और पैंटी में सामने खड़ी थी, मुझे इस हालत में देखकर किसी का भी मन बेईमान हो उठेता. उसने भी कहा- क्यों जनाब, एक इंच ही गांड में घुसा तो चीख पड़े… और जब तुम मर्दों के नीचे लेट कर हम औरतें अपनी गांड में सात-आठ-नौ इंच का मोटा मूसल डलवाती हैं और तुम्हारे मजे के लिए दर्द सहती हैं तब तो तुम लोगों को हमारे रोने और चीखने पर आनन्द आता है.

जब मैं उनके घर गया तो उन्होंने कहा- ज़रा फ्रिज साइड कर दीजिये!और हम दोनों मिलकर फ्रिज को धक्का देकर साइड करने लगे. मैडम अब मेरे ऊपर काफी ध्यान दे रही थी, मुझे रोज नई लड़की चुदने को मिलती और उसके बदले में शाम के समय या फिर खाली समय में मैडम की चूत और गांड की सेवा करनी पड़ती. अब मैंने उसे सीधा करके उसकी ब्रा उतार दी।उसकी दोनों चूची देख कर में उत्तेजित हुआ और उन्हें दबाने लगा, मैंने एक हाथ से एक चुची दबाई और दूसरे हाथ से दूसरी चुची का निप्पल मुँह में लिया।काफ़ी देर तक मैं चुची का मजा लेता रहा।फिर मैंने उसे पलंग पर लेटा दिया, उसके दोनों बूब्स के बीच में अपना लंड रखकर आगे पीछे हिलाने लगा.

वो जब आई तो बहुत सेक्सी लग रही थी, उसने ब्लू कलर का कुर्ता पहना हुआ था और लेगी थी.

थोड़ी देर बाद दर्द कम हुआ तो नीचे वाले ने अपना लंड अंदर बाहर करना शुरू किया. मैं अपने लंड को माँ की गांड के छेद में घुसेड़ने की कोशिश कर रहा था.

मुझे हिसार के जाखोद खेड़ा गाँव में जाना था जैसा कि रवि ने मौसी को उस कागज़ पर लिख कर दिया था. इसको घुसने का भी सही मौका आने दे, फिर तुझे कली से खिलता गुलाब बना दूँगा।पूजा कुछ कहती, इससे पहले संजय ने उसके मुँह को पकड़ा और लंड अन्दर घुसा दिया। अब पूजा मज़े से लंड अन्दर-बाहर करके चूसने लगी थी।संजय- आह. कहीं यही तो रस नहीं था क्या?सुमन- हाँ यही रस था, अब तुम किसी को ये बताना मत.

हैलो मित्रो, मेरा नाम योगू है मैं एक स्टूडेंट हूँ और महाराष्ट्र से हूँ. धीरे धीरे मैंने हाथ उसकी चुची के ऊपर रख दिया और उनको हल्के हल्के दबाने लगा. नीचे से एंड्रयू का लम्बा लंड चूत के छिलके उतार रहा था, तो पीछे से स्वान का मोटा लंड गांड की बखिया उधेड़ रहा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती पता है जब मैं उसके साथ थी तो वो बार बार तेरी तरफ ही देख रहा था और उसका लौडा भी तुझे देख तना हुआ था. इधर मेरा दिमाग घूम रहा था कि जाने क्या होगा, नया शहर और किसी को जानता भी नहीं!कुछ दिनों तक भाभी से बात नहीं की, चुपचाप ऑफिस जाता और घर आने के बाद दरवाजा बंद कर लेता.

सेक्सी एचड

उसके अगले दिन मुझे एक महिला का मेल प्राप्त हुआ जिसने मेरी किसी पुरानी कहानी/समस्या को पढ़कर रिप्लाई किया था. राधा की चुत अब पानी छोड़ने लगी थी। काका को पता था कि यही वो समय है जब इसकी सील तोड़ी जानी चाहिए। ये कामवासना में जल रही है।बस फिर क्या था काका उठे और राधा के सीने पर बैठ गए- ले राधा रानी, लंड को चूस कर गीला कर दे ताकि तेरी चुत में आसानी से घुस जाए और तुझे कम तकलीफ़ हो।राधा तो जैसे पागल हो गई. वो भी सेक्स की भूखी है, उसे मेरी जरूरत थी और मुझे उसकी… हम लोग अब एक दूसरी से कुछ भी नहीं छिपाती.

रयान बोला- मैं तुम्हारे लिए कॉफ़ी बनता हूँ…उसने दो कप कॉफ़ी बनाई और लेकर अपने बेड रूम में आ गया. उसने लंड पकड़ कर हिलाना चालू कर दिया। कुछ ही पलों में वो जोर-जोर से लंड को हिलाने लगा। मैंने उसकी पैंट निकाल कर उसे नंगा कर दिया।अब वो नीचे की ओर हो गया और मेरे लंड को मुँह में ले लिया, इससे मेरे मुँह से ‘अह्ह्ह. బీహార్ సెక్స్मैंने पूछा- संदीप भैया, हम पहुंचने वाले हैं न?संदीप ने कोई जवाब नहीं दिया, मैंने सोचा शायद हवा के शोर में उनको सुनाई नहीं दिया.

हाँ अगले दिन मैं वापस ललितपुर आ गया और ज़िन्दगी फिर से अपनी तरह चलने लगी.

रवि का लंड रोहन और आलोक की अपेक्षा थोड़ा बड़ा और मोटा है इसीलिए मुझे रवि के साथ चुदाई के दौरान थोड़ा सा मीठा दर्द महसूस होता है। रवि का लंड मेरी चूत में घुसते ही मैं कराह उठी और बोली- उईईई… माँ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… जरा धीरे… रवि… आवाजें बाहर जा रही होंगी. वाइफ स्वैपिंग करने से रिश्तों में नयापन आता है और पत्नी को भी चरम सुख मिलता है जिसकी वह हक़दार है.

मेरे लंड का रस कंडोम की सुरक्षा में था इसलिए कोई चिंता की बात नहीं थी।मैंने भाभी की चुदाई का मजा ले लिया मगर सोनू भाभी संतुष्ट नहीं हुई थीं। मैं निढाल होकर भाभी पर ही गिर गया।सोनू भाभी ने कहा- क्या हुआ मक़बूल. तो मैंने लैपटॉप निकाला और चला दिया और फिर वो सीडी चालू कर दी, नंगी फिल्म चालू हो गई। मैं इसे बंद करने ही जा रहा था कि पीछे से मुझे जानवी ने आवाज लगाई कि मुझे ये देखनी है।तो मैंने उसे चलती रहने दी और हम दोनों चुदाई की फिल्म देखने लगे।वो गर्म होने लगी. तभी मुझे अपनी जांघ पर कुछ महसूस हुआ, मेरे नजर जब मेरी जांघ पर पड़ी तो देखा की साहिल मेरी जाँघों को सहला रहा है और जांघ सहलाते-सहलाते उसकी उंगली मेरे फांकों के बीच भी फिसल जाती थी.

सुन्दर का तगड़ा लंड अब चूत को दनादन पेल रहा था और वो ऊपर मेरे स्तन को चूस रहा था.

तभी मुझे पीछे मुझे कुछ चुभता हुआ महसूस हुआ, मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो एक आदमी मेरे गांड में अपना लंड रगड़ रहा है और तीन लोग नंगे खड़े अपना लंड हिला रहे थे, सबके लंड लगभग बहुत लम्बे लम्बे और मेरी कलाई इतने मोटे थे. सुन्दर के हाथ मेरे स्तन को मसलने लगे और उसका दूसरा हाथ मेरे चूत के ऊपर घूमने लगा. और मैं यह गाना गाते हुये टॉयलेट चला गया ‘भीगा ये बदन तेरा… पानी में आग लगाये…पानी वाला डाँस (सन्नी लियोन वाला ) और खड़े लौड़े को मुठ मार कर शांत किया.

सेकसी नाईट ड्रेसवो कह रही थी कि पिछले सात आठ महीने से कुछ नहीं किया उसके हबी ने!’‘अंकल जी वैसे मस्त बॉडी है उसकी. उसने मुझे कहा- मेरा नाम पायल (बदला हुआ) है, मैंने आपकी कहानी पढ़ी, बहुत अच्छी लगी, मुझे आप का सेक्स का तरीका पसंद आया, मैं आप से दोस्ती करना चाहती हूँ.

कोरिया की सेक्सी फिल्में

मैंने पूछा- भाभी, बच्चे नहीं दिखाई दे रहे हैं?भाभी ने कमरे का दरवाज़ा बंद करते हुए कहा- बच्चे अपने पापा के साथ गाँव गए हैं. भाई बहन की चुदाई की यह हिंदी सेक्सी स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैं उसकी चूत में उंगली करने लगा था. विवेक बहुत हैण्डसम और रंगीला था, उसकी पढ़ाई विदेशों में ही हुई थी तो उसकी सोच पर पाश्चात्य संस्कृति हावी थी.

संजय जीभ की नोक से चुत को कुरेदने लगा। अब पूजा की चूत रिसने लगी थी, उसमें से पानी बाहर आने लगा था।संजय ने मौका देख कर अपनी उंगली पर थूक लगाया और चुत की फाँकों को फैला कर उंगली अन्दर करने लगा।पूजा- आआह. ! वो एक न्यू गर्ल आई है कॉलेज में, ये उससे नहीं मिली उसी ने छोटी सी पार्टी रखी थी. अब तू भी जा ऊपर और रात भर चुदवा अपने अंकल से!’ रानी स्नेहा का बूब मसलते हुए बोली.

आंटी थोड़ी उदास दिखी तो मैंने उनसे पूछा पर उन्होंने कुछ बताया नहीं तो मैंने ज़्यादा फोर्स नहीं किया और आंटी को कभी ऊपर मेरे घर आने का बोल कर चला गया. केला पर साली छिनाल तेरे आमों जितना मीठा नहीं है।वो आंटी के मम्मों को चूसने लगा और हल्के से काटा तो आंटी चिल्ला पड़ीं- अबे धीरे चूस ना. ‘साले कुत्ते, अब क्या कर रहा है?’ माँ चिल्लाई मुझ पर… फिर बोली- मुझे समझ में आ गया, लगता है पहले से तुम दोनों विचार करके आए हैं.

मैं ऊपर होती थी तब मेरे पति ने कभी भी नीचे से धक्के नहीं दिए थे, यह नई बात मुझे मोहन पेंटर से पता चली, मुझे इस आसन में अजीब सा मजा मिल रहा था, मेरा ऊपर नीचे होना और उसका नीचे से जोरदार धक्कों की वजह से मैं जोरदार तरीके से झड़ गई. हम एक ही सोसाइटी में रहते थे और हमारे परिवार भी बड़े थे इसलिए हम लोग कोई जल्दबाज़ी नहीं कर सकते थे.

इसलिए फ्राइडे को मैंने उसकी ब्रा-पेंटी को हाथ भी नहीं लगाया। मैं ये भी जानता था कि उसके पास ब्लैक कलर की ब्रा-पेंटी नहीं है। फ्राइडे को शाम को मैं घर आया तो मैंने नीनू को देखा तो लगा कि वो कुछ निराश दिख रही थी।हम दोनों भाई-बहन में काफ़ी बनती थी। मैंने उससे पूछा- क्या बात है नीनू.

हा हा हा हा डरो मत मजाक कर रही हूँ चलो आपकी वो पूजा के बारे में बताकर दुविधा दूर कर देती हूँ।टीना और संजय आराम से बैठ कर बियर का मज़ा ले रहे थे।टीना- यार संजय अब कितना तड़पाएगा. कुत्ता और लेडीस की सेक्सीएक हाथों से लेफ्ट वाला दबा रहा था और दूसरी साइड वाले को अपने मुँह में लेकर प्यार से खा रहा था. इंग्लिश सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म5 मिनट बाद जब मजा आने लगा तो बोली- जोर जोर से चोद साले, क्या तुम लोगों के लंड में दम नहीं है? मेरी चूत और गान्ड का भुर्ता बना दो आज!मैं भी नीचे से गान्ड में झटके मारते हुए बोला- साली, दम तो इतना है कि तेरी चूत और गान्ड दोनों चोद चोद कर सूजा दूँ।ऐसे ही मस्ती की बातें करते हुए कोमल को चोदने लगे. और वो परेशान हो रही है तो वो साइड में हो गया।पूजा- ओफ मामू, कितना मज़ा आया आज.

जब पूरा घुस गया, तो मैडम ने उठ कर देखा, मेरी झांट उसकी झांट को चूम रही थी.

उसी तेल से मैं उनकी मालिश कर रहा था।फिर 2-3 बारी लंड को गांड पर लगाया तो वो उछल कर चुत पर जा लगा, जिससे हम दोनों को गुदगुदी हुई और फिर काफ़ी झटकों के बाद मेरा आधा लंड आंटी की गांड में घुस गया।लंड घुसते ही आंटी चिल्ला पड़ीं- आआईयईई. मैंने रीना रानी को कॉफ़ी बनाने भेज दिया और सुल्लू रानी से कहा कि डिनर में खीर बनाये. मैंने उसकी जांघें सहलाना शुरू किया, मैंने उसकी निकर और पेंटी भी उतार दी.

मुझे हल्का नशा सा होने लगा… बाथरूम से बाहर आते ही मेरे कदम डगमगाने लगे… जैसे तैसे मै बिस्तर पर आकर लेट गई।मैंने आदित्य से कहा- आदित्य, ये तुमने मुझे कोन सी टेबलेट खिला दी… मेरा सर बहुत भारी हो रहा है. रात 12 बजे के आस पास मामी की दोनों लड़कियाँ सो चुकी थी, ऐसा हमारा सोचना था. खैर रामू काका और गीता ने मिल कर खाना बनाया, खाया हम तीनों ने, क्योंकि मुझे खाना पकाना नहीं आता था.

एकदम सेक्सी वीडियो ओपन

रयान ने उसे समझाया कि वो अपना फ्रेंड सर्किल बढ़ाये और मस्त रहे… दोनों के बीच यह तय हुआ कि हर पंद्रह दिनों के बाद दो दिन के लिए रयान यहाँ आयेगा और तीन दिनों के लिए निष्ठा वहाँ रहेगी. पीछे से आलोक आ गया, मैंने माँ के चूतड़ को फैलाया और आलोक अपना लंड माँ की गांड में पेल दिया. वो वाशरूम में बने बाथटब में चली गई, विवेक भी उसके पीछे पीछे चला गया.

कल तो खत्म हो ही जाएँगे और तू जानता ही है कि पीरियड ख़त्म होने के बाद चुत में कैसी आग लगती है, उसे लंड ही बुझा सकता है.

सुल्लू रानी ने अपने को थोड़ा और आगे सरकाया, उसका मुंह बिल्कुल मेरे मुंह पर आ गया.

मैंने कहा- भाभी, आपके जैसी असंतुष्ट महिलाओं के लिये भगवान ने मुझे भेजा है!और वो ख़ुश होकर मुझसे लिपट गई, फिर वो बोली- चलो बेड पे!मैं उनके पीछे चल दिया, वहाँ पहुँचते ही मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिये. तब तक वो भी कपड़े बदल कर बाहर आ गई तो मैंने उसे ड्राइंग रूम में बैठने का इशारा किया और थोड़ी ही देर में मैं कॉफी और कुछ नमकीन लेकर वहाँ गया. अंग्रेजी ओपन सेक्सी वीडियोसुल्लू रानी पहली बार किसी को अमृत पिला रही थी इसलिए वो ज़्यादा कण्ट्रोल नहीं कर पाई.

इधर मोना ने फिटकरी का फ़ॉर्मूला यूज किया था तो दूसरे दिन गोपाल जब ऑफिस से आया तो चुदाई के वक़्त उसको चुत टाइट लगी. उनको थोड़ा गुस्सा आया तो मैंने कहा- बुरा ना मानो होली है!उसके बाद वो मेरे को गीला करने के लिए कहने लगी तो मैंने कहा- ठीक है, डाल लो पानी!चाची बाल्टी लेकर आई तो मैंने बाल्टी पकड़ कर उनके ऊपर ही सारा पानी डाल दिया. आज जो कहानी मैं बताने जा रहा हूँ वो मेरी और मेरी एक दूर की मामी की है। मेरी मामी की उम्र 28-29 साल होगी, उनकी शादी को एक साल हुआ था। वो दिखने में बहुत सुन्दर हैं, उनका फिगर 36-24-36 होगा.

बिना कुछ कहे, मानसी मेरा पूरा माल गटक गई और उसने मेरे लंड को चाट चाट कर साफ़ भी किया. साहिल भी उसकी चूत चुसाई कर उसका लंड रेशमा की चूत में पेलने के लिए तैयार था.

बेड पर पहुंचते ही सबसे पहले संजय ने मुझे किस करना स्टार्ट किया और एक हाथ से मेरी चूत को और दूसरे हाथ से मेरे बूब्स को मसलने लगा.

इस 4-5 सेकंड की किस के मैंने उसको धीरे से मेरी बांहों में जकड़ लिया. मैंने अपने हाथ को हौले से सरका कर मामी के वक्षस्थल पर ले जाना शुरू किया. तो वो मेरे लंड को हाथ में ले कर खड़ा करने लगीं।मैंने उन्हें घोड़ी बनने को बोला और वो बन गईं। मैंने थोड़ा सा आयिल अपने लंड पे लगाया और उनकी गांड में हल्का सा डाल दिया तो भाभी को डर सा हुआ।मैंने कुछ नहीं सुना.

साथ में बात करने वाला का पर्यायवाची तभी तो राजे कुत्ता चालीस रानियों के होते हुए भी जूसी का गुलाम बना उस पर लट्टू हुआ रहता है और है भी हरामज़ादी बहुत खूबसूरत, मेरे से ज़्यादा सुन्दर है कमीनी. अचानक मेरी पिचकारी निकली… ‘पिचकक…’पिचकारी निकली और वो सारा माल पी गई.

अभी जो हुआ था… उसके बारे में कुछ भी बात करने के लिए नहीं था… और हम दोनों नज़रें भी नहीं मिला पा रहे थे पर फिर भी मैंने रोहित से पूछा- रोहन कहाँ है?रोहित ने कहा- वो आलोक भैया के साथ गया है।इससे पहले कि मैं उससे कुछ कहती, रोहन और अन्नू रूम में आ गए… फिर मैंने रोहित से कोई बात नहीं की. अब उसे गोद में उठाकर बेड पे ले गया और उसके पैर, जाँघ से होते हुए उसकी नाभि तक चाटने लगा. लेकिन मोटाई एक इंच ज्यादा थी।आंटी बोलीं- हाय इतना मोटा लंड!मैं बोला- चिंता मत करो आंटी… पूरा घुस जाएगा।आंटी बोलीं- कैसे चोदना चाहते हो?मैंने कहा- पहले सामने से.

सेक्सी राजस्थान की चुदाई

उल्टा मुझे भी अच्छा लगेगा।भाभी ने कहा- मेरी सहेलियों से मैं जब भी इस बारे में बात करती हूँ. मैंने कहा- मेरा निकलने वाला है!उसने कहा- मुझे पिला दो!मैंने पूरा पानी उसको पिलाया, उसने मेरा लंड चाट चाट के साफ़ कर दिया और लेट गई।हम बातें करने लगे. मैंने चॉकलेट उसकी बॉडी और चूत पर लगाया और उसकी पूरी बॉडी को चाटने लगा, उसकी चूत चाट रहा था, वो पागलों की तरह सिसकारियाँ भर रही थी और बोल रही थी- आ आ आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… चोद दो यार, अब मैं मर जाऊँगी.

उसेक गले से भिंची भिंची सी सीत्कार निकल रही थी, वह अपनी टांगें कभी इधर कभी उधर कर रही थी. ऐसी आवाज़ों की वजह से पूरा कमरा एक कामोत्तेजक वातावरण से सराबोर हो गया था.

मैं चाची की चूत की फांकों की फैला कर अंदर से चूत का गुलाबी भाग चूसने लगा.

मेरे लाल… चोद डाल अपनी मम्मी को… आहह…तभी रोहन ने मेरे मटकते हुए पेट को चाटना शुरू कर दिया और फिर मेरी नाभि में थूक दिया और फिर मेरी नाभि को चाटते हुए नाभि को जीभ से कुरेदने लगा. मुझे मेरे कानो पे यकीन नहीं हो रहा था… उसके रजत से चुदने की कल्पना से ही मुझे बड़ा जोश आया. थोड़ी देर चोदने के बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया, खुद लंड को बुर पे रगड़ कर एक झटके में बुर के अंदर कर दिया.

मुझे ऐसा महसूस हो रहा था।टीना- हा हा हा इसका मतलब तू गर्म हो गई और तेरी चुत भी गीली हो गई ना!सुमन ने शर्माते हुए ‘हाँ’ कहा।टीना- बस अब तेरी सोई हुई अन्तर्वासना जाग गई है. तभी दिमाग में ख्याल आया क्यों ना इसे पटाने की कोशिश की जाये।थोड़ी देर तक यही सोचता रहा. हैलो फ्रेंड्स, सेक्स स्टोरी की इस दुनिया में मेरा आप सभी को नमस्कार। मेरा नाम समीरा है, मुझे लाइफ एन्जॉय करना पसंद है। मैंबॉलीवुड हीरोइनबनना चाहती हूँ.

रास्ते में मैंने उसे एक्टिवा चलाने को कहा और मैं पीछे बैठ कर उसकी कमर पर हाथ घुमा रहा था, गर्दन पर किस कर रहा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती: फिर धीरे-धीरे हम सेक्स की बातें भी करने लगे, वह बहुत ही जल्दी कामुक हो जाती थी. पांच मिनट बाद काजल की शरीर अकड़ने लगा और वो चीखने लगी ‘उऊऊइइ मम्मीइ.

वो अक्सर फरीदाबाद रीना रानी से मिलने के बहाने आ जाती थी और खूब दिल भर के चुदाई करती थी. उसने कई बार हथेली मेरे सुपारे में चलाई और फिर अपनी हथेली को चाट जाती. तब शाम के 6:30 बज चुके थे। अभी कुछ किलोमीटर ही चले होंगे कि अचानक बाईक का पिछला टायर पंचर हो गया। रेगिस्तानी एरिया था.

इस प्रहार से मानसी तकरीबन बेहोश ही हो गई और उसने कोई प्रक्रिया नहीं दी सिवाए इसके कि उसकी फटती आँखें थोड़ा मरहम खोज रही थीं और उसके मुँह से बहुत सारा थूक रिसने लगा था.

30 बजे तैयार हो गया।अब बिमलेश सलवार सूट में थी, उनका बेटा भी साथ में था। हम सभी पैदल ही घूमने निकले, हम बातें करते हुए चल रहे थे. उसकी तो जैसे जान निकल गई हो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गई थी लेकिन मैं उसे अभी और तड़पाना चाहता था. तभी ये हाल है। मगर मेरे राजा आज तो तुम्हारी टीना तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकती क्योंकि आज सिग्नल रेड है.