देसी बीएफ नेपाली

छवि स्रोत,बिहारी सेक्सी वीडियो पोर्न

तस्वीर का शीर्षक ,

lovely सेक्सी: देसी बीएफ नेपाली, तब अंकल बोले- ठीक है … पर तू गलती से भी मुझे अंकल मत बोलना … मुझे गन्दी गालियां दे … तू तड़ाक बोल, वो मुझे ज्यादा मस्त लगता है.

सेक्सी वीडियो नंगी सीन दिखाएं

पर मेरा झड़ना अभी बाक़ी था, सो मैं ज़ोर-ज़ोर से लंड को उसकी बुर के अंदर-बाहर करता रहा. हिंदी सेक्सी पिक्चर गांव वालीअंतत: अमित ने स्वयं ही अपने अंडरवियर को खींच कर नीचे किया और उसका गर्म लिंग मेरी योनि पर जाकर सट गया.

वो बोली- ये क्या कर रहा है?लेकिन मैं नहीं माना और चूत चुसाई करता गया. ब्लू सेक्सी फिल्म के वीडियोऔर फिर कभी न कभी तो उसे चुदना ही था, तो क्यों ना मैं ही आज चोद दूँ?यह सोच कर मैं मीशा के नंगे बदन के ऊपर आया, उसकी जांघों को फैलाया, खुद को उसकी नंगी टांगों के बीच में अवस्थित किया और अपने लंड को पकड़ कर उसकी चूत की दरार में रगडा.

मैंने भाभी से कहा- ऐसा क्यों पूछा?तो उन्होंने बोला- मेरे कपड़े रोज़ खराब कर रहा है तू!मैंने सिर नीचे झुका दिया.देसी बीएफ नेपाली: लेकिन पति महोदय तो ज्यादातर देश के बाहर ही रहते थे, तो मेरा लंड मैडम की गांड चूत की सेवा में ही मस्त रहता था.

एक दिन उसने बताया कि अब उसके पति मुझे बहुत प्यार करने लगे हैं, बिस्तर पे भी अब वो बहुत रोमांटिक होते हैं और मेरे साथ प्यार से ही सेक्स करते हैं.मैं भी इसी मौके की तलाश में था कि कब आपकी चूत को चोदने का अवसर मुझे मिलेगा.

लेडीज और जानवर की सेक्सी फिल्म - देसी बीएफ नेपाली

उसने मुझे गाली देते हुए कहा- बोला- साली अभी चुदवाएगी या नहीं?मैंने ना में सर हिलाया, तो बोला- साली मेरे को पता है … तेरा बेटा भी आया है.इसलिए मैं ऊपर वाले से दुआ कर रही थी कि वह बच्चों के स्कूल जाने के बाद ही मुझसे मिलने के लिए आए.

मैं अपनी इस पहली सम्भोग यात्रा के अनछुए पहलू एक एक करके आपके सामने लाती रहूंगी. देसी बीएफ नेपाली दीदी ने कहा- तुम शनिवार और रविवार सुबह कहां जाते हो?मैंने कहा- कहीं नहीं.

सलोनी- ये तो फिर से खड़ा हो गया!मैं- अभी उसकी इच्छा जो पूरी नहीं हुई है.

देसी बीएफ नेपाली?

मैं पीछे जाकर खड़ी हुई तो वहां लेडीज के पीछे फिर जेन्टस और लड़के खड़े थे. वरना चाहती तो वो अपनी चचेरी बहन से कहकर बहुत बड़ा हंगामा खड़ा करवा सकती थी।मुझे भी अब ग्रीन सिग्नल मिल गया था. मैंने कहा- तुम दोनों के चुचे और चूतड़ इतने सेक्सी हैं कि किसी बुड्डे का लंड भी खड़ा हो जाए, बेवक़ूफ़ हैं वो जिन्होंने तुम दोनों से शादी नहीं की, विधवा हुई तो क्या हुआ, इतना मादक बदन हर किसी का नहीं होता, देखो मेरा लंड आज पहली बार खड़ा हुआ है.

वहां पहुंचने पर मेरे साथ जो औरतें थीं, उनके लड़कों ने हमें चाय नाश्ता दिया और बैठने को कुर्सी दी. सोनम की मम्मी मेरे बाल पकड़ कर बोली- देखो कैसे कुतिया नंगी पड़ी अपनी गांड मरवा रही थी, छिनाल कहीं की. मैं उसके चूतड़ों को अपने हाथों से पकड़ कर उसका लंड अपनी चूत में धकेलने लगी.

पहले तो मुझे फिर लगा कि साला कोई लड़का न हो, कोई लड़की ऐसे कैसे नंबर मांग सकती है. उसने भी उत्तर दिया- वाओ क्या लौड़ा है यार तेरा … उममुआआह … मैं चूस लूँ इसे. मैं बेड के ऊपर लेट कर सोनू की चूत का क्लिटोरिस मसलने लगा और धीरे-धीरे एक उंगली उसकी चूत के छेद में भी चलाने लगा था.

मैंने नीचे से लंड को हाथ में लेकर उसकी चूत में लंड को घुसाने का प्रयास किया मगर वह उठ गई. क्या ये इतना ही मजबूत भी है?मैंने कहा- आंटी, आप खुद ही देख लो अंदर लेकर.

उसके घर के पास जाकर मैंने फिर से पता पूछा और मैंने उसका घर ढूँढ लिया.

चूत पर लंड का सुपाड़ा टिकते ही लता भाभी ने अपनी आंखें बंद कर ली और तरह-तरह की शी… शी… की आवाज़ निकालने लगी.

भाभी की चूत ने फिर से गीला पदार्थ छोड़ना शुरू कर दिया था और मेरा लंड काफी चिपचिपा हो चुका था. सच में … अब मैं हर रोज़ तुमसे चुदा करूंगी, हाय मेरी जान … करो … करो … करो, मेरे राजा!और अचानक भाभी का शरीर अकड़ने लगा, उन्होंने ज़ोर से मुझे अपनी बांहों में कसकर अपनी छाती के साथ भींच लिया और भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया. और जब वो आगे को झुकी, तो मेरी निगाह उसके कमीज़ के गले के अंदर गई। अंदर दो दूध से गोरे, गोल मम्में दिखे। बस देखते ही मेरा तो मन मचल उठा, मैं सबसे नज़र चुरा कर बार बार उसकी कमीज़ के गले के अंदर देख रहा था। उसके मम्में देख कर मेरा तो लूडो के खेल से मन ही उठ गया। मैं तो अब कोई और ही खेल खेलना चाहता था। मगर चाह कर भी मैं सुमन से वो सब नहीं कह सकता था, जो मेरे मन में था.

फिर मैंने उनसे अपना लंड चुसवा कर साफ़ करवाया और उनकी चूत चाट कर साफ़ की. उसकी बात सुनकर सिहरन मेरे अंदर तक दौड़ गई थी, मैं निर्विरोध होती जा रही थी. वो अपना काम निपटा कर बाहर आईं, तो मैं बेड पर बैठ कर अपने मोबाइल में वीडियो देख रहा था.

’‘तूने चोदा इसकी माँ को?’‘हाँ दोनों छेदों में … मस्त माल है, मोटी चुचियां, भरे भरे चूतड़.

मैं बता दूं कि हम सबके घर आपस में लगे हुए बने हैं, जिसके कारण हम एक दूसरे के छत कूद कर आ-जा सकते हैं. भाभी एक हाथ से मेरे लंड को सहलाए जा रही थीं और मैं अपने दोनों हाथों से उनके मम्मों को दबाए जा रहा था. खाना गीता बना गयी थी तो हमने थोड़ा सा खाना खाया, फ़िर वाणी दारू की बोतल निकाल लायी और दो पैग बना कर मेरे सामने बैठ गयी.

मन कर रहा था कि एक बार फिर से पकड़ कर उसकी चूत में लंड को घुसा दूं मगर मैं ऐसा करके उसको नाराज नहीं करना चाहता था. मेरी बीवी कंफ्यूज थी कि बॉस शादी छोड़ कर इतनी जल्दी यहां क्यों आ गया और वह यह भी सोच रही थी कि ये औरत जो वहां बैठी थी. फिर हम दोनों की सहमति के बाद घर वालों ने दो महीने बाद सगाई और सगाई के 2 महीने बाद शादी की तारीख को फिक्स कर दिया.

मेरे लंड को थोड़ा हिलाने के बाद उसने मुझे घुमा दिया और झुकने को बोला.

संक्षेप में कहूँ तो वहां ऐसा कुछ हुआ कि आठ महीने बाद शौहर ने मुझे छोड़ने का निर्णय कर लिया और बिना कुछ समझे बेरहमी से मुझे तलाक़ दे दिया. मैं अपने हाथों से नामित के लंड को सहला रही थी क्योंकि वहां पर एक वही लंड था, जो मुझे अपना सा लग रहा था.

देसी बीएफ नेपाली इतने में गैस की लाइट लिए मुझे हाथ में निहाल जाते दिखा और उसके साथ एक बड़ी सी ट्रे में नाश्ता लिए अंकित दिखा. सोनू सामने वाले घर में रहती है और वह तुम्हारा और लता का चक्कर समझ गई है.

देसी बीएफ नेपाली आखिर कल से दो दिन की छुट्टी थी और आज बारिश की वजह से जल्दी छुट्टी कर दी गयी थी. फिर रवि ने सोफे पे रखी क्रीम उठाई और ऋतु की पूरी गांड पे लगाने लगा.

मैंने उनसे कहा- आप जानती हैं ठीक है, पर मैं आपके साथ कैसे करूँ और क्यूँ?उसने कहा- नेहा के साथ क्यूँ करते हो?मैं चुप ही रहा.

गांव की देसी लड़कियों की सेक्सी

आप यकीन मानिए कि पूरे 25 मिनट तक वो मेरे लंड को चूसती रहीं और इस दौरान उनका पानी खुद की चूत में उंगली कर लेने से निकल गया था, जिस वजह से वे पूरी मस्ती से मेरे लंड को सुख दे रही थीं. इधर अब्दुल मेरी चूत में अपने हाथी जैसे लंड से मेरी चूत की बेदम चुदाई कर रहा था. वो सीधा अन्दर आ गयी और बोली- जल्दी से अपने कमरे में जा, निकलने की तैयारी करनी है.

एक बार कॉलेज के वाशरूम में उसने मेरी चूत के दाने को मसल कर मुझे मास्टरबेट करना बताया था. ” बोलते हुए उसकी आँखें कभी मुझे और कभी मैडम को देख रही थीं।ऐसी वैसी लड़की नहीं है ये, हज़ार आशिक तो जेब में रख कर चलती होगी. उसने मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया और मेरी चूत की खुजली को बड़े मस्त तरीके से शांत किया.

मेरी चूत चाटने के बाद उसने अपना लंड मुझे चूसने के लिए बोला और मैं लंड चूसने लगी.

एग्जाम हाल में एग्जाम देने से ज़्यादा मेरा दिमाग़ भाभी को चोदने में लग रहा था. इसके लिए मेरी हरकत कोई शरमाने की बात नहीं, बल्कि मनोरंजन की बात है. मैं उससे अपनी पसंद के बारे में बता दिया करता था कि मुझे किस तरह की लड़कियाँ पसंद हैं और वह भी मुझसे कुछ इस तरह की बातें अक्सर किया करती थी.

मैंने उसे देखते हुए करीब दस मिनट बात की, फिर अगले दिन मिलने का वादा करके अपने घर चल आया. सबसे पहले वो मेरे माथे को चूमने लगे, मेरे गालों को चूमने लगे, मेरे कानों की लड़ी को अपने होंठों से चूसते तो कभी मेरी नाक को चूसते. मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ.

मैंने उसको वहाँ पर सेट करके अपना लंड नीचे से उसकी चूत में पेल दिया और उसकी चुदाई करने लगा. सारा के बाद जरीना की सील तोड़ने का मदमस्त चुदाई का खेल आपकी खिदमत में अगले भाग में पेश करूँगा.

उसने मेरी तरफ नशीली आंखों से देखा और अपनी सफाचट गोरी चूत पर खुद का हाथ फेरा. मेरे मोबाइल की स्क्रीन पर कल्पना के साइड का कुछ भी नहीं दिख रहा था, शायद उसने फ्रंट कैमरा पर अपनी उंगली रखी थी ताकि वो मुझे तो देख सकें, लेकिन मैं उन्हें न देख सकूं. मेरे चुचों को मसल मसल कर लाल कर दो, अपने आठ इंच के लंड से इन चुचियों को भी चोद दो.

एक उंगली के बाद मैंने दूसरी उंगली आंटी की गांड में डाली और दोनों ही उंगलियों को साथ-साथ अंदर-बाहर करने लगा.

यहां तो वैसे ही तरसी हुई चूत में आग लगी हुई थी। डर लगा कि नया लड़का है, कहीं उतावलेपन में फिर जल्दी न झड़ जाये तो यह सोच कर उठ गयी और नीचे हो कर उसके लंड को चूत से सटाया और उस पर बैठती चली गयी। एकदम गीली चूत थी और लंड भी गीला. हम दोनों के बीच व्हाट्सऐप में काफी बातें होती थीं, वो हमेशा मुझे नंगी होकर वीडियो कॉल किया करती थीं. राहुल ने झट से मुझे जमीन पर बिछे गद्दे पर गिरा दिया और मेरे ऊपर आ गए.

मैंने उसे उसी होटल का एड्रेस दिया और वहां पर एक रूम बुक करने के लिए कहा. इसके बाद भाभी ने मुझे किस किया और हम दोनों नंगे ही चिपक कर आपस में प्यार मुहब्बत की बात करने लगे.

मैंने पूछा- अब दुबारा निकाह के बाद कैसे होगा … तुम कैसे मान गईं?वह बोली- अब वह इलाज कराने को मान गया है. आप सब इस कहानी कि घटना को ऐसे सोचें कि यह सब आपके साथ हो रहा है तब आपको मेरी कहानी पढ़ने में पूरा मजा आयेगा. सुषी भी उम्म्ह… अहह… हय… याह… की सिसकारियों के साथ चुदाई का मजा लेने लगी थी.

سیکس ویڈیو سیکس

वहाँ पर रहते हुए कुछ दिन ही हुए थे कि मुझे पता चला कि वहाँ पर चाचा के घर में एक आंटी दूध बेचने आती थी.

सासू माँ ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मेरे सर पर हाथ फिराते हुए बोली- मेरी पूरी बात सुन ले बेटा, उसके बाद तू जो कहेगी, वही होगा. इस पर उन्होंने कहा- किसी और के पास जाना होता तो मैं तुम्हारे पास क्यूँ आती. जब उसका लंड खड़ा हो गया तो उसके बाद उसने मुझे लेटाया और अपना 9 इंच का लंड मेरी चूत पर टिकाते हुए बोला- जान, जरा संभाल लेना.

मैंने उससे पूछा कि उसको किसी ने देखा तो नहीं?तो वो बोला कि अभी किसी को पता नहीं चला. पापा मम्मी की चूचियां पीने लगे, मम्मी को किस करने लगे, मैं खड़ी-खड़ी देखती रही, मुझे उस दिन कुछ अच्छा लगा. पंजाबी सेक्सी वीडियोxxxxवह आदमी बोला- तुम अगर मना करोगी, तो मैं चलकर सबको तुम्हारी पूरी करामात बता दूंगा कि तुमने झाड़ी के पीछे क्या क्या किया है.

इधर मेरा सीना जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगा तो आशीष बोला- तुम्हें क्या हुआ बंध्या?मैं बोली- मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, पहली बार ऐसा हो रहा है, कुछ अजीब सा लग रहा है आशीष. थोड़ी देर बाद उसकी चूत ने हार मान ली और सीटी की आवाज़ से पानी छोड़ दिया.

अचानक मैंने महसूस किया कि अब मैं खुद को रोक नहीं पाऊंगी और पहले से कहीं ज्यादा ताकत से उसके बाल खींचने शुरू किए. ” कह कर वो सच में रो दी।मुझे मौका मिल चुका था और मैं मौका खोना नहीं चाहता था। मैं झट से उसको चुप करवाने के बहाने अपनी बांहों में भर लिया और उसके आँसू साफ़ करके उसके चेहरे को अपने हाथों में लेकर उसकी आँखों में झांकते हुए कहा- सपना तुम इतना घबरा क्यों रही हो … अब तो हम दोनों भी दोस्त हैं … जैसे उस दोस्त के जा सकती थी तो मेरे साथ क्यों नहीं … अब चुपचाप गाड़ी में बैठो … हम होटल चलते हैं. एक तो उंगली डालने वजह से मेरी गांड थोड़ी खुली हुई थी और दूसरा उसने चाट के उससे गीला कर दिया था.

मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और बाहर ड्राइंगरूम में बैठ कर टीवी देखने लगा. साथ ही मैंने भी अपनी कामकला का प्रदर्शन करके डॉली की प्यारी चुत को चोद के रस निकाल लिया, फिर नहा कर बाहर आ गए. वह उम्र में मुझसे काफी छोटा था इसलिए उसे भी डर था कि कहीं हम दोनों पकड़े न जाएँ.

मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी हथेली पर रख दिया, मेरे मुंह से निकल पड़ा- ठीक है, हम दोस्त हैं अमित जी.

जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और ज़ोरदार धक्का मारा जिससे कि मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया। वो दर्द के मारे कराह रही थी। फिर मैं कुछ देर तक रुका रहा, जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपना लण्ड अंदर-बाहर करने लगा. और अब भी जब कभी मौका मिलता है चुदाई करता हूँ।दोस्तो, यह थी मेरे सेक्स की रीयल घटना जो मैंने आप लोगों के सामने प्रस्तुत की। आशा है कि आप सभी को मेरी ये सेक्स कहानी पसन्द आई होगी। आप मुझे ईमेल करें, जिससे कि मैं आप सबके लिए आगे भी कहानियाँ भेजता रहूँ।[emailprotected].

बॉस ने मेरी बीवी की पेट पर से साड़ी हटा दी और उसकी गहरी नाभि को चाटने लगा. कल्पना- क्या मैं अभी आपको वीडियो कॉल कर सकती हूं?मैं- सॉरी मैडम, अभी मैं ऑफिस में हूँ. मैंने उसके बाद भाभी की पेंटी में हाथ डाल दिया और किसिंग को जारी रखा.

अब नीचे से मुझसे रहा नहीं गया, मैंने अभी तक अपनी पेशाब को रोक के रखी थी. करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उनकी चूत के अन्दर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. मैं अब जहां खड़ी हुई थी, वहां पर भी मेरी टांगों के नीचे से 5-6 बूंद मेरी चूत का रस गिर गया.

देसी बीएफ नेपाली अब तो मेरी हर रात जान बंगालिन रानी की चूत और गांड का बाजा बजाने में निकलने लगी. मेरा पति तो उसका मुँह ही बंद कर देता है, सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है और कई बार तो दारू पी के किस करता है, तो मुझे उलटी आने को हो जाती है.

गुजराती पॉर्न

हमने बड़ी बेतकल्लुफी से कहा- चौबे जी, मुझ गरीब को कौन अपनी बेटी देगा, न तो मेरे खानदान का पता है और न ही माँ बाप का. लेकिन जब पूनम ने कुछ कहने के लिए अपना मुँह खोला, तो जो मैंने सुना उस पर मुझे विश्वास ही नहीं हुआ. भाभी- मर्जी है, मैं सोच रही थी, तुम घर देख लेते, अच्छा लगे तो यहीं रह भी सकते हो.

मैं इस तरह चिल्लाती रही, लेकिन वो सांड की तरह का गेंडा ठाकुर एक पल के लिए नहीं रूका. उसकी सिसकरियां बढ़ रही थीं- हाँ आमिर … जोर जोर से करो, ऐसे ही करते जाओ, बहुत अच्छा लग रहा है, प्लीज़ रुकना नहीं. हिंदी सेक्सी नंगी हिंदी सेक्सी नंगीमैंने उसके घर का पता पूछा, तो वो पता मेरे घर से ज्यादा दूर नहीं था.

रात को आरती को अपने पति के कमरे के अंदर करके मैं बाहर आ गई और फिर सीधी धीरज के कमरे में चली गई और जाते ही उसके लंड को पकड़ लिया.

पढ़ाई में भी शुरू से ही काफी अच्छी थी तो सब टीचरों की भी पसंदीदा स्टूडेंट थी. पर जब तू निराश होके जाने लगी, तब तेरी ये प्यारी उठी हुई जीन्स में गांड देखी, तो मेरे दिल ने मुझे कहा कि माया निराश हुई, तो कोई बात नहीं मना लूंगा.

मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उनकी कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया. बड़े भैया को दुकान में जाकर कई लोगों का हिसाब करना था और सीधी बात ये भी थी कि भैया भाभी के जेठ लगते हैं तो वो एक दूसरे को छू देख भी नहीं सकते थे. मैंने उसको बोल दिया कि मैं बस कुछ ही देर में मैट्रो स्टेशन पर पहुंच जाऊंगा.

फिर वो बिस्तर पर सीधी लेट गईं और मैंने उनकी दोनों टांगें अपने कन्धों पर रखकर उनकी चूत मारनी शुरू की.

उसका रिप्लाई था कि तुम तो एक छोटे से चूहे हो, तुमको कौन अपनी गांड देखने देगी. बाद में भैया ने मुझे सीधा किया और अपना मूसल लंड मेरी चुत में डालने लगे. भाभी आँख मार कर कहने लगीं- तुम खुद सोचो कि मैंने क्या सब कुछ देख लिया होगा?मैंने समझ तो सब लिया था कि भाविका भाभी का इशारा किस ओर है, लेकिन तब भी मैं रस लेने के नजरिये से उनसे कुरेद कर पूछने लगा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी वालीबनाने वाला भी अपने खिलौनों से किस तरह का खेल खेलता है, ये किसी को आज तक न समझ आया है और न ही आएगा. मैं भी आंटी के पीछे-पीछे खेत में घुस गया और पीछे से जाकर आंटी को पकड़ लिया.

स्कूल गर्ल्स की चुदाई

मैं रोनी शक्ल बनाकर कभी क्वेस्चन पेपर को कभी आन्सर शीट को देखने लगी. फिर संध्या बोली- अमित तुम लेट जाओ, मैं तुम्हारे मुंह पर बैठ जाती हूँ, फिर चूसो मेरी चूत को. इस तरह चूत की अपेक्षा गांड मारने में मेरे लंड को ज्यादा मज़ा आने लगा.

उसकी पतली कमर और मोटी गांड देखते ही रवि ने बोला- आज तो कमाल लग रही हो ऋतु डार्लिंग … बिल्कुल सेक्सी रंडी की तरह दिख रही हो. इस कहानी के बारे में अपने विचार आप मुझे नीचे दिये गए मेल पर बता सकते हैं. तो लुंगी में उनकी गोल मटोल गांड देखकर मुझे अनिरुद्ध की बात याद आ गयी.

इधर नीचे मेरी पैंटी के ऊपर जहां चुत थी, उस जगह को उंगलियों से इतना रगड़ा कि मेरे अन्दर चुत से रस बहने सा लगा. रमेश जी ने सुजाता को अपने पास बुलाया और सुजाता को बोलने लगे- मेरे लंड के ऊपर बैठोगी तुम?सुजाता रमेश जी लंड के ऊपर बैठ गई. तभी पटेल बोला- बंध्या, तू बहुत हॉट आइटम है … ठीक से देख ले मेरे लौड़े को … आज के बाद तू हर वक्त इसी को मिस करेगी और इसी से चुदवाने के लिए तड़पेगी.

मेरी चूत साफ करने के बाद डेविड उठकर कपड़े पहनने लगा, तो निक ने भी मेरी गांड से अपना लंड निकालकर मेरी चूत में घुसेड़ दिया और धक्के मारने लगा. क्या कल कुछ देर में अमन के घर चली जाऊं?प्रीतम ने मेरी फुद्दी में अपना छोटा सा लंड डालते हुए कहा- क्यों नहीं, तुम कभी भी जा सकती हो.

क्या बोलूँ … इतनी सॉफ्ट स्किन और टेस्टी थी कि बस मैं उसे चूमता चला गया.

मैंने देखा कि मिशिका रिशु के विशालकाय लंड को अपने मुंह में लेकर बड़े ही मजे से चूस रही थी. भाईजान सेक्सीमैंने बारी बारी उसके दोनों चूचे चूसे और उनको दबा दबा कर काटता भी रहा. देवर भाभी की सेक्सी देवरपहले एक एक उंगली फिर धीरे से दो और फिर कुछ देर बाद मेरे दोनों हाथों से उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा. मैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था.

मैंने भाभी की जांघों को हाथों से पकड़ कर ज़बरदस्त 20-25 झटके मारे और मेरा लण्ड वीर्य की फिर से पिचकारियाँ मारने लगा.

एन्जॉय करो … क्यों ऐसे मौके को हाथ से जाने देना चाहती हो? मेरी ड्यूटी रात 1:30 बजे तक चार स्टेशनों बाद खत्म हो जाएगी. फिर जैसे ही उसने दरवाजा खोला, तो मैं भी बाथरूम के अन्दर घुस गया और उसे पकड़ कर उसकी पैन्ट की जेब से रंग निकाल कर उसे लगाने लगा. मैंने उनके होंठों से सरक कर उनके गालों को चूमना चाटना शुरू किया और उनके गले से होकर जैसे ही उनके कंधों पर पहुंचा, तो उनके बदन में एक सिहरन सी दौड़ गयी.

दूध लेने के बहाने मैं उसके मोटे-मोटे और बड़े चूचों को देखकर अपनी आंखें सेंक लिया करता था. हम जो सजती संवरती बनती ही इसीलिए हैं कि मर्द लड़के हमें देख कर आहें भरें और हमारे लिए पागल हों. पर दोस्तो, सब दिन अच्छे नहीं होते एक दिन मेरी गांड के लिए अचानक से बुरा हो गया.

கன்னடம் செக்ஸ்படம்

यह सुनकर वो भी थोड़ा मुस्कुरा कर बोलीं- हां क्यों नहीं … आपका हमेशा स्वागत है, अब से अगर किसी चीज की जरूरत पड़ी ना … तो मैं सीधे आपको बोलूँगी. मेरी सेक्स करने की पिपासा मुझे बहुत गरम करे जा रही थी, मैं एकदम से बेकाबू सांड सा हो गया था. चूंकि मैं उससे काफी छोटा था और वह मुझसे उम्र में सात साल बड़ी थी, वह बचपन से ही मुझ पर नजर रखे हुए थी.

उसने मेरे बालों में हाथ फेरे और कहने लगी- यार नेहा ने तुम्हारे बारे में कहा था, वो एकदम सही निकला.

उसके बाद आंटी ने मेरा तना हुआ लंड लोअर से बाहर निकाला और अपने मुंह में भर लिया.

फिर उसने अपनी चूत का मुँह मेरे होंठों पर लगा दिया और मैं भी उसकी मादक खुशबू में मदहोश होकर मुखमैथुन करने लगा. उसकी बातें, ज़िन्दगी के लिए उसकी अपनी सोच, अपनी कशमकश, उसके बोलने का तरीका, मुझे सब बहुत याद आता था. फुल सेक्सी मराठी वीडियोपर ये लोग समाज में अच्छे नाम होने की वजह से अपनी गोपनीयता छुपा के रखना चाहते थे.

आओ मेरे लाल, अपनी एक्स सास को अपनी रखैल बना लो, पेल दो मेरी चूत में अपना लंड. यह कहानी सत्य घटना पर आधारित है इसलिए इस सेक्स कहानी के रूपांतरण में कुछ चीज़ें बदल दी गयी हैं, जिससे कि गोपनीयता बनी रहे. वो भाग कर मेरे पास आया और बोला- अरे मुझे बोल दिया होता, मैं बैठा था न … आपको अकेली को आने की क्या जरूरत थी.

तो वो लंड के सुपा़ड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी और धीरे-धीरे जितना लंड अंदर जा सका चूसने लगी. मैं आंटी के बेडरूम में जाकर बिस्तर पर लेट गया, कुछ ही देर में मुझे नींद आ गई.

मैं उसको मना कर दिया और बोली- मेरे घर वाले मुझे बाहर नहीं जाने देंगे.

मैं भी चला गया, उनके साथ जाने में मुझे डर भी रहा था कि इन्हें कहीं कुछ शक तो नहीं हो गया. मैं और वो लड़का हम दोनों लोग आज भी सेक्स करते हैं, लेकिन अब हम दोनों लोग पहले की तरह सेक्स नहीं करते हैं क्योंकि हमारे पड़ोस में कुछ लोगों को शक हो गया है कि मैं उस लड़के से चुदवाती हूँ. मुझे दबाने में बहुत मजा आ रहा था। फिर मैंने धीरे से उसके गाउन के बटन खोल दिए और ब्रा के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा। फिर ब्रा (जो कि रेड कलर की थी) को ऊपर करके बूब्स को बाहर निकाला और दबाने लगा। उसके निप्पल को धीरे से घुमाने लगा। फिर एक को मुँह में ले कर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से छेड़ने लगा.

3 एक्स सेक्सी वीडियो किशोर ने मेरी तरफ गुस्से से आंखें फाड़कर देखा और दरवाजा खोल कर घर के बाहर निकल गया. जब भी मैं किसी पार्टी में जाती हूँ तो वेस्टर्न ड्रेस ही पहन कर ही जाती हूँ.

किस के साथ साथ वो हिल भी रही थी, जिससे लंड और चूत आपस में चुम्मी चुम्मी खेल रहे थे. मेरे पड़ोस में एक लड़का रहता है, जो किराये पर कमरा लेकर रहता है और पढ़ता है. फिर वो मेरे पास बैठ कर बोली- और दिखा ना?मैं उसे और वीडियो दिखाने लगा.

इंडियन सेक्स एक्स एक्स एक्स

इतने में फिर से पता नहीं कैसे उधर से निहाल आ गया और वह जो मेरी गांड में लंड डाले हुए था, उससे बोला- अरे भैया तुम यह सब क्या कर रहे हो. उसने भी मेरे पूरे शरीर पर किस किया, मेरी छाती मेरी कमर, गर्दन, गाल, होंठों पर खूब चूमा. सही है क्या?मैं सर झुका कर मम्मी के सामने खड़ी हो गई और बस हां में मुंडी हिला दी.

तभी निक ने ज़मीन पर लेट कर मेरी गांड में एक धक्का दिया और अपना 8 इंच का लौड़ा मेरी गांड में पेल दिया. उम्र में वो काफी बड़े थे लेकिन उनके साथ सेक्स करने में जो मजा आ रहा था वो मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

उस दिन के बाद मैं रोज़ ही हितेश के कॉल का इंतजार करती … रात को सोने के टाइम यही दिमाग में आता कि कल पक्का हितेश कॉल करेगा और सुबह उठते ही सबसे पहला यही खयाल आता कि आज हितेश का कॉल आएगा ही.

इस समय गाड़ी में बैठते ही वो मुझसे बस इतना ही बोल पाई- जीजू, जल्दी चलिए … यहां से निकलिए. मामी मेरे नज़दीक आना चाहती थी लेकिन अभी मैं इतना कुछ कर नहीं सकता था क्योंकि माँ और पापा पास में ही थे. उनके बड़े बड़े नितंब देखकर मेरा लंड पूरे जोश में आ गया, मन किया कि अभी अपना 7 इंच का लंड बुआ की गांड में डाल दूं.

मैंने पंकज को बता दिया था कि वह ऊपर छत की तरफ से घर में आए क्योंकि अगर वह नीचे से आता तो पड़ोस के लोगों को भी पता लग जाने का डर था. अब तेरी मम्मी के लिए कोई आता नहीं होगा, तो लड़की को धंधे में लगा दिया. तब रवि की नज़र ऋतु की गांड पर टिक गयी, जो सिल्क गाउन से साफ़ उठी हुई झलक रही थी.

कहता है टाइम नहीं मेरे लिए, भड़वा कहीं का … मुझे चोदने में उसको पैसा तो लगता नहीं, फिर क्यों कमीना इतनी गरज दिखा रहा है.

देसी बीएफ नेपाली: उसके दोनों बाज़ू हाथ और आर्मपिट … उफ्फ्फ्फ़ … क्या मदहोश कर देने वाली महक थी उसके जिस्म की. भाभियां मेरे पड़ोस वाली मुझे चुदाई के किस्से सुनाती थीं, तो ही कुछ वही पता था.

मैं- मैं भी लेटा हूँ … अच्छा एक बात बताओ, इतनी रात को तुम एक लड़के से बातें कर रही हो, क्या तुम्हारा पति तुमसे कुछ नहीं बोलता है?भाभी- अरे पागल अगर पति साथ में होता, तो क्या मैं बात करती? वो बाहर जॉब करते हैं, महीने में एकाध बार आते हैं. पहले तो मुझे फिर लगा कि साला कोई लड़का न हो, कोई लड़की ऐसे कैसे नंबर मांग सकती है. रात को मैंने अपने पति से कहा- आज तुम्हें एक नई चूत दिलवाती हूँ ताकि तुम्हारी शादी के बाद वाली पहली रात पूरी यादगार बने.

राहुल मेरी चूत की पंखुड़ी (जो चूत के बीच में खाल सी होती है) को अपने होंठों से पकड़ कर चूस रहे थे.

करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उनकी चूत के अन्दर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. क्या कमी रह गयी थी … इस साली कुतिया की परवरिश में!मैं दर्द से अधमरी हो गई थी. अपना बैग खोला, उसमें से अपना तौलिया और कपड़े निकाले और मेरी तरफ मुड़कर मुस्कराई, फिर बाथरूम की तरफ चली गई.