सेक्सी बीएफ इंडिया का

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स वीडियो सुपरहिट

तस्वीर का शीर्षक ,

टीचरों की सेक्सी पिक्चर: सेक्सी बीएफ इंडिया का, मैं कोशिश करूंगी कि आगे की कहानी जल्दी ही लिखूँ इसलिए मेल जरूर कीजिएगा.

ब्लू फिल्म एचडी में हिंदी

और इतने बड़े कि ऐसा लग रहा हो कि बस ब्लाउज फाड़ कर बाहर निकलने को बेताब हों. नेपाल की चूतएक दिन मैंने पूछा कि आपके हज्बेंड कहाँ रहते हैं?तो उन्होंने बताया कि वो चंडीगढ़ में जॉब करते हैं, एक या दो हफ्ते में ही आ पाते हैं.

उसने मुझे अपनी क्लास के बारे में बताया, हम दोनों के क्लास ऊपर नीचे थे. पंजाबी फिल्म सेक्सी ब्लूवो मेरा जवाब सुनके मुस्कुरा दीं और बोलीं- तो इसमें छिपाने वाली क्या बात है.

विवेक ने मुझे रुकने को बोला तो मैंने मना कर दिया, लेकिन वह नहीं माना.सेक्सी बीएफ इंडिया का: आखिर में जब पद्मिनी ने बापू की पेंट को नीचे से खींचना शुरू किया तो कुछ दिक्कत सी हुई.

बिस्तर पर आते ही उसने मुझे पहले तो पूरी नंगी किया और फिर पॉकेट से एक शहद की शीशी निकाल कर मेरी चूत के आस पास लगा दी और जो बाकी बची थी, उसको चूत के अन्दर डाल दिया.फिर मैं पढ़ने लगी पर मन नहीं लगा तो सोचा कि ऋषभ के साथ वीडियो गेम ही खेल लेती हूँ.

સેકસી બ્લુ ફિલ્મ - सेक्सी बीएफ इंडिया का

ओह अम्मी…” खाला के मुख से निकला, खाला के स्तन ऊपर की ओर उठ गए और शरीर एंठन में आ गया.अब वो जोर से चिल्लाने लगी- आहा ऊई… मुझे… कुछ हो रहा है…यह कह कर वो जोर जोर से लंड को अपनी चूत में अन्दर बाहर करने लगी.

तो वो झट से तैयार हो गई और इस बार हमने डॉगी स्टाइल में खड़े होकर भी चुदाई की. सेक्सी बीएफ इंडिया का मैं खुद के हाथ से हिलाता हूं, तो 10-15 मिनट से पहले कभी नहीं निकलता.

मंजू सिसकारियाँ लेने लगी- ओहह…अब मैंने मंजू को बिस्तर में पेट के बल लेटा दिया और मंजू अब मुझे अपने ऊपर खींचने लगी, जाहिर था कि गैर मर्द से चुदाई की बात सुन कर वो भी ललचाई हुई थी.

सेक्सी बीएफ इंडिया का?

खैर मैंने उसकी पैंटी उतारी और जैसे ही मैंने उसकी कुंवारी बुर को देखा, बस देखता ही रह गया, उसकी गुलाबी बुर जिस पर एक भी बाल नहीं था, और बगल में उसके एक तिल जो उसकी बुर की खूबसूरती और बढ़ा रहा था. मैं अपने जीवन से जुड़ी एक सच्चाई लिख रही हूँ और अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सम्भोग कथा है. आप मेरी सेक्स स्टोरी पर अपनी राय देने के लिए मेरी मेल आईडी पे लिख सकते हैं.

दोस्तो! मैं जब भी शहर से बाहर टूर पर जाता हूँ तो वहां जाने से पहले चूत का इंतजाम अवश्य करके जाता हूँ ताकि टाइम मौज मस्ती में कट सके. एक सप्ताह बाद गीता को फिर से डॉक्टर के पास भेजा मगर अबकी बार मनोरमा बोली कि तुम उस डॉक्टर को जानती हो. करीब 15 मिनट वो बहुत ज्यादा गर्म हो गई और वह चिल्लाने लगी- डालो प्लीज… कुछ डालो मेरी चूत में!मैं और जोर से चाटने लगी और उसने मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी चूत में धक्का मारने लगी और बहुत तेजी के साथ वह मेरे मुँह में अपनी चूत को ऊपर नीचे करते हुये झड़ गई और उसकी चूत का सारा पानी मेरे मुँह में चला गया.

तभी फिर मुस्कान ने मुझसे बोला- सरताज, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ! आई लव यू सरताज!उसने मेरा हाथ पकड़ा और फिर रोने लगी. खैर हम दोनों उसके फ्लैट पर पहुँचे, हमारी कुछ बातें हुईं और वो अपने बारे में बताने लगी. इसके बाद हम शादी में आ गए क्योंकि जहां शादी थी, वो जगह भी नजदीक ही थी.

मैं भाभी को चोदता जा रहा था और वो मज़े ले लेकर गांड उठा उठा कर चुद रही थीं. ?”सुमन ने फिर हां में सर हिलाया और कुछ देर की मस्त चुदाई के बाद उसने अपना चुत का रस छोड़ दिया.

अब आगे…अगले ही पल मैंने अपने बॉस से फोन करके किसी कम्पनी में उसकी नौकरी लगवाने की बात पक्की करवा दी थी.

मैं कॉलेज जाती हूं तो मेरा भाई छोड़ने आता है, लेने भी मुझे कॉलेज में आ जाता है.

लेकिन मुझे अब तक ये नहीं मालूम चल सका कि रवि के अलावा वो मुझसे क्यों चुदती है. मेरी बहन मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाती रही, मैं अपनी बहन की चूत में उंगली से सहलाता रहा. सुनीता को अपना घर चलाने के लिए दूसरों के घरों में काम करना पड़ता है.

जिन्होंने मेरी कहानी जूनियर लड़के की गांड चुदाई पढ़ी होगी उनको तो मेरे बारे में पता ही होगा और जिन्होंने नहीं पढ़ी उनको बताना चाहूँगा कि मैं मोहित सिंह बिहार के गोपालगंज का रहने वाला हूँ और मैं 24 साल का जवान, दिखने में स्मार्ट, हाइट 5’8″ और लन्ड का साइज 6. इसी बीच मेरा एक हाथ काजल, जो कि बाजू में सोई हुई थी, उसके चूतड़ों पे चला गया. फिर एक दिन उन्होंने मुझे कॉल किया और बताया कि उनकी बाइक स्टार्ट नहीं हो रही, क्या मैं उनके बच्चे को क्लब से घर पे लेकर आ सकता हूं.

मैंने पूछा- क्यों?तो कहा कि मेरे घर पर अपने दोनों के बारे में सबको पता चल गया है.

राहुल ने मेरे टॉप में हाथ डालकर मेरी चुचियों को पकड़ लिया और दबाने लगा. दोस्तो, किसी भी औरत को सेक्स से ज्यादा किसी अच्छे साथ की जरूरत होती है. पेंटी तो पहले से पैरों में थी उसके साड़ी उठाते ही चूतड़ नंगे हो गए.

मैंने अपना लंड उसकी गांड में सैट किया उसने भी गांड मटका कर लंड को छेद पर फिट करवा लिया. विजय और रीना एक दूसरे को किस करते हुए एक दूसरे के गुप्तांगों को छूने लगे. मैंने अपने कपड़े उतारे, मैं केवल अंडरवियर में था, मैंने उससे कहा- तुम भी कपड़े उतार लो।उसने मुझे देखा, मुस्कुराया-अच्छा सर!उसने अपने पैन्ट शर्ट हेंगर पर टांग दिए.

फिर बूढ़ा रमेश जाने की तैयारी करने चला गया और रूपा ने हमें खाना खिलाया, खाना रूपा ने बनाया था, तो उसे मैंने रूपा को सौ का नोट उपहार स्वरूप देकर कहा- खाना खाकर मन प्रसन्न हो गया.

सुबह के करीब 10 बज रहे थे, मम्मी बोली मैं नहाने जा रही हूँ!मैंने कहा- ठीक है, नहा लो!मम्मी करीब एक डेढ़ घंटे तक नहाती थी. फिर मेरी शक्ल देख के भाभी बोलीं- अच्छा मेरे साथ चलो मुझे मार्केट जाना है, कुछ सामान खरीदना है.

सेक्सी बीएफ इंडिया का तो इत्मीनान से देखो लेकिन यह मत सोचना कि ऐसा भला कैसे हो सकता है, तुम्हें तो पता ही नहीं था। सब कुछ होता है और सब कुछ लोग करते हैं।”ओके।” मैंने भी ठान लिया कि किसी तरह रियेक्ट ही नहीं करूँगी।उसने फिल्म लगा दी और हम कंप्यूटर टेबल के पास ही तीन कुर्सियों पर बैठ गये।कहानी कैसी लगी, कृपया इस बारे में अपने विचारों से जरूर अवगत करायें। मेरी मेल आईडी है. मैंने कहा कि आपको एक्सपीरियेन्स करना है?वो बोली- हां लेकिन कौन कराएगा?मैंने कहा कि मैं किस काम आऊंगा.

सेक्सी बीएफ इंडिया का वो मुस्कुराईं और बोलीं कि इतनी कम उम्र के होकर भी बड़ी प्रोफेशनल फील देते हो. फिर उसकी चुत की फांकों में लौड़े को सैट करके एक ज़ोरदार धक्का दे मारा.

दोस्तो, मैं अपनी अगली कहानी में बताऊंगा कि मेरी बीवी की चूत मुट्ठी में पकड़ कर किस पोज में बीवी की चुदाई की थी.

भूत वाली कहानियां बताओ

मयूरी ने पूछा कि फिल्म कैसी थी तो उसने जवाब दिया की अच्छी थी और फिर थोड़ी देर के बाद सब सो गए. अब मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने आंटी की चूत में ही अन्दर डाल दिया. जब चुदाई मेरी मर्जी से हुई तो इसमें मैं पुलिस कम्प्लेन क्यों करूँगी?मैंने सुनीता से पूछा- क्या सच में अंकित ने तुम्हारी जोरदार चुदाई की? उसने क्या क्या किया.

मैंने कहा- अच्छा?वो बोलीं- हां यार मेरे पति कभी कभी सेक्स करते हैं, तब भी लिकिंग नहीं करते. बहुत मनाने पर वो मान गईं और उन्होंने मुझे बताया कि ये सब अपनी उमर की लड़की को बोलो, तो अच्छा लगता है. फिर अंकल रात को आये और बोले- थेंक यू विकी, तुमने अपना टाइम मुझे दिया.

मैं सकपका गया, मैं बोला- डॉली! तुम यहाँ?मैं कुछ और बोलता उससे पहले ही वो मुझे स्मूच करने लगी, थोड़ी देर तो मैं हतप्रभ सा ही रह गया था.

वो एक हाथ से मेरे एक चूचे को दाब रहा था और दूसरे चूचे को मुँह में भर कर चूसने लगा. ”ठीक है, मैं तैयार हूं मगर एक बार फिर सोच ले … कुछ गड़बड़ तो नहीं होगी?” मैंने पूछा।कुछ नहीं होगा यार … वैसे वो ज़्यादा से ज़्यादा मुझे चोद ही तो लेंगे बस, उसके लिए में तैयार हूँ. मैं हॉल में पहुंची तो उन्होंने मुझे वहाँ पकड़ लिया और फिर मुझे अपनी बाहों में भर लिया.

फिर मैं वहां उसको एक राउंड और चोदा और निकलने लगा तो उसने मुझे कुछ पैसे दिए और फिर अपनी बात दोहराई कि किसी को पता न चले. मैंने उससे चिपक गया, उससे चिपकते ही मेरे शरीर में अलग ही रोमांच भर गया. तभी उसने वो पेपर मेरी तरफ़ फेंक दिया तो मैंने भी झट से उसी के अंदाज उस कागज के टुकड़े को अपनी अंडरवियर में डाल के हिलाने लगा और उसी में अपना सारा मुठ निकाल कर रस से गीला करके उसकी और फ़िर से फेंक दिया.

मगर ये भी सोच रहा था कि क्या वह पद्मिनी को चोद पाएगा? क्या पद्मिनी चोदने देगी? क्या वह इन्कार नहीं करेगी? अगर उसने इन्कार किया और शोर मचाया तो क्या करूँगा. मम्मी घर में मखमली नाइटी पहन कर घूमा करती थी जो उसके बदन से पूरी चिपकी रहती थी जिससे उसके बड़े बड़े चुचे और मटकती गांड एकदम झलकती रहती थी.

अब मेरी गांड को दबाते हुए उन्होंने ज़ोर से अपनी ओर खींचा और छूट का खिंचाव बहुत बढ़ा दिया. मैंने अपनी बैठने की पोजीशन बदलना चाही तो उन्होंने मुझसे कहा कि ऐसे ही बैठी रहो वन्द्या. क़रीब साढ़े पांच फुट का कद और घने काले बाल जिन्हें उसने चोटी से कस के बांध रखा था.

अभी मैंने मुठ मारना शुरू ही किया था, बॉस ने मेरे केबिन में कॉल कर दिया.

फिर क्या था, अनुप्रिया को मैंने सीट पर लिटा लिया और उसके बूब्स को चूसने लगी. तब तक इस कहानी की आपकी प्रतिक्रियाएं हमें[emailprotected]पर जरूर भेजिएगा. मैं आज सबको हाज़िर नाजिर जान कर यह कसम ख़ाता हूँ कि ए चूत मैं तेरा सेवक बन कर रहूँगा पूरी जिंदगी भर.

पहले हम अपन पसंद और नापसंद के बारे में बात करते थे, फिर हमने एक दूसरे की पर्सनल लाइफ के बारे में जानना शुरू किया. मयूरी थोड़ा इठलाती हुई- अगर इतनी ही अच्छी लग रही है तो नजदीक से एक बार अच्छे से देख लो.

फिर मैंने एक हाथ उसकी बुर पे रखा तो वो पागल हो गयी और मुझे जकड़ने लगी. सबसे पहले उसकी कुर्ती उतारी तो देख उसने अन्दर लाल रंग की ब्रा पहन रखी थी, जिसमें से उसके बड़े-बड़े चूचे बाहर आने को बेताब हो रहे थे. उनकी साँसों की रफ़्तार के साथ चूचियां यूं उठ बैठ रही थीं मानो सुलग रही हों.

हीरो की सेक्सी वीडियो

उसका एक स्तन ब्रा के बंधन से मुक्त हुआ और मेरे चेहरे के सामने आनन्द से डोलने लगा.

मेरी सास ने एक हफ्ते के लिए मुझे फिर से अपनी हवस बुझाने के लिए बुला लिया. मैंने अपने दोस्त की मदद से उसका गर्भपात करवाया और दो दिन में सब ठीक हो गया. पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था और धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है.

तब ये दोनों खेतों में आई … पर क्यों?सवाल मेरे दिमाग में घूम ही रहा था कि मैंने देखा राहुल, मेरा एक और दोस्त वहां आ गया था. बस उसको देख कर ये लग रहा था कि कब रूम में पहुंच जाएं और कब मैं मुस्कान को पटक पटक कर चोद दूँ. सैक्स ऑडियोएक दिन मैं जब मार्किट से आंटी का कुछ सामान लेकर उनके घर आ रहा था तो अंदर एकदम से नजर आंटी पर चली गयी, वो उस समय मूत रही थी, शायद उन्हें जोर की लगी थी इसलिए टाइलेट के बाहर ही मूत रही थी.

जो शादीशुदा हैं वो अपनी पत्नी की चुदाई का मज़ा ले रहे होंगे और जो मेरे जैसे भी हैं, वो लगे होंगे चूत चुदाई की तलाश में और जिनकी गर्लफ्रैंड है वो अपनी गर्लफ्रैंड को मना रहे होंगे, चुदाई के लिए और चुदाई का प्लान बना रहे होंगे।आप सभी लोगों ने मेरी पिछली कहानी को पढ़ा और काफी तारीफ भी की, बहुत लोगों के मेल भी आये और कहानी की तारीफ की. उसने चूत को सहलाते हुए खुद से कहा- लो बापू से भी बात करके भीग रही हूँ.

फिर जब मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर देखा तो उसमें हल्का सा खून लगा था. जैसे जैसे उसके हाथ मेरी गांड के पास आते गए, मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया. फिर मैंने मामी की ब्रा के हुक भी खोल दिए तो उनके बड़े बड़े स्तन आजाद हो गए.

फिर हम नहाने के लिए उठ गए, लेकिन उससे चला नहीं जा रहा था और बेड़ की चादर पर खून और वीर्य पड़ा था. दोस्तो, किसी भी औरत को सेक्स से ज्यादा किसी अच्छे साथ की जरूरत होती है. पूछते पुछाते किसी तरह मैं उनके घर तक पहुंचा।डोरबेल बजाने पर सामना आरिफ भाई के वालिद से हुआ, मैंने उन्हें सलाम किया तो जवाब देते हुए उन्होंने अन्दर बुला लिया। शायद आरिफ भाई उन्हें बता चुके थे।ड्राइंगरूम में बिठा कर वे मेरे बारे में पूछने लगे.

मैं पूरी जीभ डाल कर उनकी चुत को चाटने लगा और चूचियों को हाथ से मसलने लगा.

वो हंस दीं और बोलीं- किस तरफ से माल हूँ?मैंने कहा कि मुझे आपके मम्मे बड़े ही अच्छे लगते हैं. तो उसने मेरे को जबरदस्ती टाइट पकड़ लिया और मेरे लिंग को पूरा अपनी योनि में डाल दिया.

कभी वो मेरा लंड चूसतीं, तो कभी मैं आंटी की गांड, कभी उनकी बुर की फांकों को अपने मुँह से भर कर चाटता. उधर प्रभु अपने चोदने की रफ्तार बढ़ा रहा था, इधर रूबी और भी ज़ोर से मेरा लौड़ा चूसे जा रही थी. वो कहने लगी- फिर क्या होगा? कहीं टीटीई मुझे कुछ कहेगा तो नहीं?मैंने कहा- परेशान मत हो, मैं टीटीई से बात कर लूँगा, तुम मेरे साथ मेरी सीट में एडजस्ट कर लेना.

उन्होंने कहा- ठीक है, जब भी मुझे आपको बुलाना होगा तो दो तीन पहले फोन पर बता दूंगी. वह सिर्फ घर में रहना ही पसंद करती हैं और वह काफी शांत स्वभाव की हैं. करीब 15 मिनट मयूरी के चुत की गहराइयों को अपनी जबान से नापने के बाद विक्रम उसकी चुत से अलग हुआ.

सेक्सी बीएफ इंडिया का फिर जिस दिन मिलना था, मैं तैयार हुआ अच्छे से और उससे मिलने चला गया, हमने एक पार्क में मिलने का प्लान बनाया था. मुझे देख कर वो उठने लगा, मैंने कहा- लगे रहो, मैं जाता हूं!तो देवेश बोला- सर बैठें, देखें कि हम नादाँ ठीक से कर रहे हैं या नहीं!हम सब हंसने लगे.

घोड़ा और घोड़े की सेक्सी

मैंने भाभी को बताया कि अब 20-25 दिन घर में ही हूँ तो भाभी मेरे पास आने का बोला. दीदी कहने लगीं- संजय इतना सारा तुमने मेरी चूत में अपना माल छोड़ दिया था?उसके बाद अनीता दीदी ने फर्श पर पड़े वीर्य को साफ किया. इसी बीच मैं उसके मुँह में झड़ गई और मेरी चूत का पानी उसके मुख में निकल गया.

लंड से लास्ट धार के निकलते ही मेरे दिल को एक सुकून सा मिला और अनजाने में ही शावर का हैंडल मुझसे मुड़ गया. कुछ देर बाद उसने मुझे लेटा दिया और वह मेरे पैरों के बीच आकर बैठ गया. बाथरूम में नंगी नहाती हुईमैंने महसूस किया कि दीदी का हाथ उनकी चूत पर था और उनकी चूत के दाने को स्वयं अपने हाथों से रगड़ने लगी थी.

अतः लड़कियां जैसे बने तैसे अपनी जवानी के मजे लूटने लगती हैं, इसमें कोई बुराई भी नहीं.

उसी बीच मेरे हाथ उनके पल्लू में से पीठ, कमर पर होते हुए उनके स्तनों पर पहुँच गया. मैं सोचता था मेरे जैसे आकर्षक चूतड़ व कमर कम ही होंगे, मुझे अपने सुन्दर चेहरे आकर्षक शरीर पर घमंड था पर वह वाकयी कसरती शरीर रखता था.

क्योंकि मैं तो पम्मी को भी चोदना चाहता था, जब कि वो सिर्फ़ ओरल सेक्स करना चाहती थी. पर मैंने और तेज़ कर दी, जिसे वो झेल नहीं पायी और मूतते हुए झड़ने लगी. रितु की चूत में फिर से पानी आने लगा और मैंने नीचे से धक्के मारने शुरू किये.

फिर उसने अपने बापू को निराश न करने के लिए बहुत प्यार से उसके गालों पर फिर गले पर फिर मुँह पर चुम्बन दिए.

दरवाजे में झिरी से बन गई, अन्दर झाँकने के बाद मैंने जो नजारा देखा, उससे मेरा लंड आन्दोलन करने पर उतारू हो गया और पेंट फाड़ कर बाहर आने को मचलने लगा. मनोहर मेरे होंठों को अपने होंठों और जीभ से रगड़ने लगा और चूसने लगा. वो खड़ी हो कर काम कर रही थीं और मैं उनकी मैक्सी में नीचे से अन्दर घुस कर उनकी पैंटी चूमने लगा.

भोजपुरी में सेक्सी बफपहले किसी गर्लफ्रेंड के साथ तो नहीं किया ना?मैंने मना किया और कहा कि तुम्हारे अलावा मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं है. सीमा का हाथ मेरे लिंग पर ही था, वह आश्चर्यचकित हुई और बोली- वाह जीजू, इतनी जल्दी? आज क्या मेरी चूत अपने मोटे लिंग से फाड़ ही डालोगे?इस पर मैंने उससे कहा- मुझे तुम्हारी गांड का छेद और चौड़ा करना है.

घोडा की सेक्सी

मैंने कहा- यह क्या बात हुई? अगर कोई आ गया तो क्या दरवाजा नहीं खोलोगे?बड़ी मुश्किल से मैंने उसे मनाया कि कम से कम एक गाउन तो डालने दो, जो जल्दी से उतर भी सकता है. दोस्तो आप मुझे ईमेल करके जरूर बताना कि आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी ताकि आपके द्वारा दिए गए सुझावों को अगली बार अमल में ला सकूं. [emailprotected][emailprotected]आप इस आईडी से मेरे साथ फ़ेसबुक पर भी एड हो सकते हैं.

मैं बोली- चाचा, बाहर वह मेरा भाई लालजी और बहन का बेटा होगा, उसे अन्दर भेज देना, पता नहीं वो दोनों बेवकूफ कहां हैं?चाचा बोले- ठीक है. मैंने कहा- तू आज ऐसा क्या करेगी?उसने कहा कि तुम्हारे फोटो आज मैं दादा जी को दिखाऊँगी. उसकी स्कर्ट को निकाल कर बाहर फेंक दिया और अब वो पद्मिनी की बांहों में आकर उसके ऊपर चढ़ गया.

मधू कामवासना के ज्वर में पटी हुई थी , वो बोली- अमन, अब और मत तड़पाओ. लेकिन मैं थोड़ा असमंजस में था क्योंकि वो तो बड़ी ऑफिसर थीं और उन्होंने मेरी इतनी हेल्प की. वो तो इतनी अधिक चुदासी थीं कि मेरी उंगलियों को ही चुत के अन्दर घुसाने में लग गईं और अपनी गांड मटकाने लगीं.

उसके बाद मैंने कपड़े पहनने शुरू किए और बाहर आकर उससे कहा- अरे तुम अभी नहाने नहीं गए, मैं तो सोच रही थी कि तुम अब तक नहा चुके होगे. तब मैंने उसे इशारा किया कि मैं अपना लंड उसकी चूत में डाल रहा हूँ तो उसने हाँ में सर हिलाया.

मैंने कहा- ठीक है, दे दो!फिर मुझे लगा कि इस लड़की के दिल में भी मेरे लिए कुछ है अगर कोशिश कि जाए तो लडक़ी जल्दी ही पट जाएगी और मेरी सारी ख्वाहिशें पूरी हो जाएगी.

फिर उसने अपनी चुत मेरे लंड पर जोर से दबाया, मेरा लंड मेरे बीवी के चुत में जड़ तक घुस गया. सेक्सी मूवी वीडियो सेक्सअभिलाषा ने बताया- मैंने उस लड़की से प्रॉमिस किया है कि यदि वह मिस्टर राज को खुश कर देगी तो होटल मैनेजमेंट की ट्रेनिंग के बाद मैं उसे इसी होटल में नौकरी दिलवा दूंगी. सेक्स क्सक्सक्स विडिओमैं उससे बोली- मैंने तो शादी से पहले एक बार सोचा था कि क्यों ना रस्सी लगा कर खुद को फाँसी लगा लूँ. मुस्कान फिर बात करते हुए बोली कि आपने सब्जेक्ट कौन कौन से लिये हैं?मैं- मैंने तो हिंदी, हिस्ट्री, इंग्लिश, और एजुकेशन लिए हैं और आपने?मुस्कान बोली- मेरे भी ये ही सब्जेक्ट हैं.

मेरे हर धक्के पर मेरी बीवी मुँह से मादक आवाज निकाल कर जवाब देती थी, वो कहती थी- आह… चोदो मेरी चुत को जोर से चोदो… चोदकर चुत में से सब पानी निकाल दो… आह… मजा आ रहा है.

अब डालो भी अंदर!बस इतना सुनते ही मैंने उसकी चूत पे लंड लगाया और एक ही धक्के में पूरा अन्दर कर दिया. फिर आधा घंटे बाद वो मेरे मुँह में झड़ गए और मैं उनका पूरा गाढ़ा, गरम रस गटक गया. फिर जिस दिन मिलना था, मैं तैयार हुआ अच्छे से और उससे मिलने चला गया, हमने एक पार्क में मिलने का प्लान बनाया था.

पर फिर भी मैंने उनके गांड के गोलों पे के थप्पड़ बरसाये।मेरी ज़िन्दगी के मजे देख के जलन भी हो रही थी दीपक को… कि मैं पूरे मज़े ले रहा हूँ जीवन के… वो भी फ्री में!लेकिन मैं तो मज़े में था मुझे क्या करना था।लेकिन एक दिन मेरे दोस्त दीपक की बददुआ काम कर गयी, एक दिन मैं और मामी बेडरूम में चुदाई का खेल शुरू ही करने वाले थे कि उनकी बेटी आ गयी उसने हमको देख लिया और नाराज़ हो के अपनी सहेली के घर चली गयी. अब फिर उसने मुझसे कहा कि मेरे इस व्हाट्सैप नम्बर पर कभी भी कॉल मत करना. फिर जब उसका पानी निकलना शुरू हुआ तो वो कुछ हाँफने लगा और मुझे कस कर अपने साथ दबा लिया.

राजस्थानी सेक्सी फिल्में

मैंने अक्ल से काम लिया, मैं रोज आंटी के पास जाता, उनसे बातें करता, उनको काम में मदद करता, उनके बेटे के साथ खेलता. उन्होंने मेरी नाइटी खोली, फिर ब्रा उतार कर मेरे मम्मों को बारी बारी से मुँह में लेना शुरू कर दिया. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे प्रमोद ने सफलतापूर्वक अपनी देसी बीवी को पेरिस के एक बीच पर पूरी नंगी कर लिया और समुद्र के पानी में छिप पर खुलेआम चुदाई भी कर डाली.

मैंने अपने एक हाथ से अपने लंड को सहारा दिया, जिससे कि वो अब बाहर ना निकल पाए.

मेरे सामने जो नजारा था वह मेरे अनुमान क्षमता के बाहर था, क्या मोटी मोटी चूची थी उनकी… और चूत तो उनकी ऐसी फूली हुई थी जैसे कि डबल रोटी!मैंने तो बस अपना काम शुरू कर दिया, मैं अपना होश खो बैठा और मैं मामी की चुचियों की गहराई में उतर गया, उनको मन भर कर दबाने लगा, चूसने लगा.

उस दिन हम दोनों में बस इतना ही हुआ मैंने देखा कि आंटी के चेहरे पर एक अजीब सी चमक थी. वो बहुत रो रही थीं, तो मैंने कहा कि मैं कुछ नहीं होने दूँगा, आप परेशान ना हों. દેશી ત્રિપલ એક્સ વીડિયોथोड़ी देर बाद मैंने आंख खोली तो वह आदमी निशा की कमर पकड़ कर धीरे धीरे हिल रहा था.

थोड़ी देर में रितु ने जेम्स को बोला- तुम क्या देख रहे हो? मेरा दूसरा बूब तुम्हारा इंतजार कर रहा है. एक कमरे में तबस्सुम चुद रही थी और दूसरे कमरे में मैं लंड लेने को तैयार थी. फिर जैसे ही मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर रखा तो वो ऊपर तरफ खिसकने लगी.

मैंने उनसे पूछा- आप में से अभिलाषा कौन है?उनमें से एक लड़की जो बहुत सुंदर दिखाई दे रही थी, उसने बताया कि अभिलाषा मैम रिसेप्शन के पीछे बने कमरे में बैठती हैं. वो तो बिल्कुल तैयार थी, ताजी ताजी नहायी हुई, उसकी गंध, होंठों पे लाईट शेड की लिपस्टिक, सफेद टी-शर्ट और प्लाझो पहन कर वो मेरा ही इंतजार कर रही थी.

आंटी बोलीं- कोई आ जाएगा?पर मैंने बोला कि आप जल्दी से कुर्ता नीचे करके सोने का नाटक करने लगना और मैं चला जाऊंगा.

जब जीभ उसकी चूत डालता तो वो एकदम से मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत पे दबा देती. वैसे भी आजकल अस्सी प्रतिशत लड़के लड़कियां इस वजह से चुदाई नहीं कर पाते क्योंकि उनको कोई अच्छी और विश्वासपात्र जगह नहीं मिल पाती और होटल सबको सही नहीं लगता. उनकी मस्त गांड को सहलाते हुए दबाना शुरू किया तो वो कामुक सिसकारियां छोड़ने लगी थीं- अओउउहह मुउउउहह ऑश उन्हह बेबीयी!मैंने उनके नाज़ुक होंठ को अपने होंठ में लेकर चूसता तो कभी जीभ बाहर निकालकर हल्के से उनके होंठ को चाट लेता.

खुला ओपन वीडियो अगले दिन, सेठ जी फैक्ट्री चले गए सेठानी जी अपनी सहेलियों के साथ चली गईं. रूबी बोली- मेरे जैसों को ठरकी बूढ़े ही ज़्यादा मिलते हैं, तुम्हारे जैसे जवान कम ही मिलते हैं.

मैंने कहा कि आपको एक्सपीरियेन्स करना है?वो बोली- हां लेकिन कौन कराएगा?मैंने कहा कि मैं किस काम आऊंगा. मैंने बहुत मना किया कि मैं चला जाता हूं, पर आंटी ने जिद करके मुझे पास ही सुला लिया. मैंने पहली बार दो हट्टे कट्टे मसकुलर मर्दों को इस मस्ती से एक दूसरे की गांड मारते मरवाते देखा था.

छोटे बच्चे का फोटो डाउनलोड

जैसे ही मैंने कहा, उसने एक हाथ से मोबाइल लिया और अपने दोस्त को फोन लगा दिया. मैं कभी उसके कानों में जीभ घुमाती थी, तो कभी उसके निप्पलों को मसलती थी. मैंने फिर से उसके चुचे दबाने शुरू कर दिए और थोड़ी देर के बाद फिर से उंगली डालने की कोशिश की.

मैं यहाँ से नए नौजवान लड़के लड़कियों को रिक्रूट करके भेजने लगा हूं, उनको ट्रेनिंग देता हूं मसाज की तो उन्हें वहां जल्दी काम मिल जाता है. मैं ऑफिस के बेसमेंट में गया और ड्राइवर रामू को जगाया, जो कि गाड़ी में सो रहा था.

मैंने तो पहले जूस ऑर्डर किया, पर जब मैडम को वोड्का के शॉट लगाते देखा तो मुझे भी हिम्मत आ गई और मैंने व्हिस्की आर्डर कर दी.

रात में रवि का डॉक्टर इलाज कर रहे थे इसलिए मैं और स्वाति हम दोनों बाहर ही कुर्सी पर बैठ गए. वल्लिका असमंजस में पड़ गई और संकोच करते हुए बोली- बाबा नियम तो आपने बताए ही नहीं. तभी मैंने गिरने का नाटक किया और जोर से चिल्लाया- उम्माह…भाभी मेरे चिल्लाने की आवाज सुनकर बाहर आईं, उन्होंने नाइटी पहन रखी थी.

मैंने धीरे से हाथ आगे करके उसके लंड को टच किया तो उसके लंड ने हल्का सा ठुमका मारा और जैसे ही हमारी नज़र मिली, वो मुस्कुरा दिया. ये मुझे जब मालूम हुआ जब मैंने उनसे उनकी गांड मारने की इच्छा जाहिर की, तब भाभी बोलीं कि थोड़ा रुक कर मार लेना. उसके लम्बे बालों वाली चोटी क्रम से इस नितम्ब से उस नितम्ब पर उछल उछल कर दस्तक देती हुई लहरा रही थी.

फिर मैंने उन्हें पूछा- आपका रांची में घर है?तो उन्होंने कहा- हां!फिर मैंने पूछा- आप फिर कहां जा रही हो?तो उन्होंने कहा- पटना में मेरे कुछ रिलेटिव हैं, इमरजेंसी कुछ काम आ गया तो उसी सिलसिले में मैं वहां जा रही हूं इसीलिए टिकट भी कंफर्म नहीं ले पाई.

सेक्सी बीएफ इंडिया का: मुझे दुकान से कुछ ज्यादा सामान लेना नहीं था, इसीलिए मैंने अपना सामान लिया और वापस आने लगा. इस बीच मैं उसे बहुत किस करता, उसकी चूची को कपड़ों के ऊपर से दबा देता.

एक बार फिर 10 मिनट के बाद रीना दीदी ने मुझे कस के पकड़ लिया लेकिन इस प्रकार के पोजीशन में उनकी चूत ने मेरे लिंग को इस प्रकार जकड़े हुआ था कि मैं भी उनकी चूत में स्खलित हो गया. फिर उनका बेटा सो गया और हम बैठ कर बातें करने लगे, आंटी थोड़ी उदास लग रही थी।मैं- आप उदास क्यों हो?आंटी- आज उनकी याद आ रही है… अगर वो होते तो मेरा बेटा और मैं अकेले ना होते!यह कहते ही वो मेरे कन्धे पर सर रखकर रोने लगी. उसके इसी भय के चलते उसको एक फर्जी डॉक्टर के पास ले जाया गया जो उसकी चुत के साथ खिलवाड़ करते हुए उसकी वीडियो बनाने लगा.

जैसे ही ऑफिस के बाकी लोग काम खत्म करके निकलते, ललिता मैडम सीधा बॉस के कमरे में घुस जाती थीं.

इस वजह से मेरी तो फट के हाथ में आ गयी कि कहीं मेरी बहन जाग तो नहीं गयी?फिर वी मेरी तरफ पूरी तरह से मुड़ गयी, मैं वैसे ही डर के मारे पड़ा रहा और यह देखने लगा कि कहीं वो जागी हुई तो नहीं है. उसने अपने पैर मेरी जाँघों पर रखा, थोड़ी कमर उठाई, मेरा लंड अपने हाथ में लिया, अपनी गान्ड के छेद पे मेरा लंड टिकाया और धीरे से अपनी गान्ड नीचे कर के मेरे लंड का टोपा पूरा घुसा लिया, धीरे धीरे अपनी गान्ड ऊपर नीचे करने लगी. मैं अब कुछ इतनी गर्म हो चुकी थी कि मैंने राहुल को नीचे गिराया और खुद उसके ऊपर आकर अपनी कमर को हिला हिला कर राहुल को किस करने लगी.