कार्टून के बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर चित्र

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो चाहिए बीएफ: कार्टून के बीएफ, मैंने जल्दी से बोतल को पिंकी की चूत पे रखा, उसकी चूत से टप टप करके जूस गिरता जा रहा था.

बीएफ दे दे बीएफ

यह कुसुम तुम्हें कैसी लगती है?मैंने कहा- क्या बताऊं… मैंने कभी उसकी पर्सनल जिंदगी में झाँकने की कोशिश नहीं की. अंग्रेजी में बीएफ फिल्महाँ तो मैं बता रहा था कि मैं घर के पीछे के दरवाज़े से निकला और इधर उधर निगाह दौड़ाई.

उस रात हम दोनों ने चार बार चुदाई की और फिर कब आंख लग गई, पता ही नहीं चला. हिंदी ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सीनहीं तो शिमला में एक बार फिर से तुम्हारे साथ गिरती हुई बर्फ के बीच चुदने मजा कहाँ छोड़ने वाली थी।हम दोनों एक साथ वाशरूम में जाकर फ्रेश हुए और मैंने उसके स्तन और बुर को खूब चूसा, फिर पहले गांड की बीस मिनट तक… फिर बुर की लम्बी चुदाई की.

पूनम चिल्ला रही थी- आगहहह उउ उउउउहह हहह हहह दीदी… प्लीज चोद दो! और तेज से मेरी चूत को चोदो… फाड़ दो मेरी चूत को! कुछ और डाल दो इसमें मोटा सा प्लीज दीदी!और इतना कह कर पूनम ने मेरे मुँह पर जोर से फच्च च्च्चचचच से पिचकारी छोड़ दी और मेरा सर पकड़ के अपनी चूत में पेलने लगी और वो झड़ गई.कार्टून के बीएफ: कहानी तो मैं भी समझ चुका था, लिहाजा अपनी नीना की जुबानी सुनने को बेताब हो रहा था.

और थोड़ी देर बाद मैंने नीचे झुक कर मौसी की तपती चूत पर अपना मुंह लगा दिया और उसे चाटने लगा.मैं तुरंत अपने मकान मालिक के पास गया और उनसे मुझे जानकारी मिली कि वो सब छोड़ कर अपने गाँव शिफ्ट हो गए हैं.

गांव की देहाती चुदाई बीएफ - कार्टून के बीएफ

थोड़ी देर में लंड खड़ा होने लगा तो एक थपकी देकर बोली- अब चुप चाप पड़ा रह कुछ देर… ज़्यादा मस्ती सूझ रही हरामज़ादे को.फिर वो उस आदमी से बोला- तुम नीचे लेट जाओ, यह तुम्हारे ऊपर चढ़ कर तुम्हारा लंड चूत में खुद ही डालेगी, जिससे पता लगेगा कि यह तुमको चोद रही है… ना कि तुम इसको.

कामिनी की चूत तो पहले ही विवेक से चुदने के लिए पानी छोड़ने लगी थी, विवेक बोला- मेरी जान तुमको तो बहुत गुस्सा आता है. कार्टून के बीएफ थोड़ी देर बाद हम उठे और साथ में नहाने गए, फिर हम दोनों साथ में नंगे ही लिपट कर सो गए.

कुछ समय तक तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था मगर जैसे ही उसके कपड़े उतार कर नंगी करने का टाइम आया तो मेरा दिल मुझे झकझोरने लग गया और उससे मैंने कहा कि तुम यहां से चली जाओ.

कार्टून के बीएफ?

भाभी ने दो गिलास में आधा क्वार्टर खाली किया और कहा- नीम्बू को काटिए. मैंने उसे कहा- मुझे अच्छा लग रहा है कि तुमने मुझे बताया। आज से तुम मुझे अपना बेस्ट फ्रेंड मान सकती हो!रोमांस से भरी यह सेक्स कहानी जारी रहेगी. और मुझे तुमसे प्यार कर कर के मेरा मन कभी भी नहीं भरता हैवह- अगर यह मजा दुगना हो जाये तो कैसा रहेगा?मैं- मैं कुछ समझा नहीं? तुम क्या कहना चाहती हो?अब मेरे मन में भी लड्डू फूट रहे थे कि ये लोग अब मुझे कौन सा नया मजा देने वाले हैं जिसे पाकर में बहुत खुश हो जाऊँगा.

एक दिन ऐसे ही मैं छत पे बैठा था, तभी पूजा आई और मेरे से बात करने लग गई. जिस दिन उसकी मटकती हुए चाल को देख लेता, उस रात को मुट्ठी मारे बिना नींद ही नहीं आती थी. इतने में आंटी भी नहा कर बाहर आने वाली थीं, तो जल्दी से में नीचे भाग आया.

फिर उसने मेरे गाऊन को फाड़ दिया और मैंने उसकी नाइटी को फाड़ कर हटा दिया. दीदी ने कहा- आह… मेरी चुत में ही धार मार दे… मैं तेरे माल को चुत में लेना चाहती हूं. मैंने उस रात काले रंग की ब्रा और पैंटी पहनी और ऊपर से वन पीस पहन के कॉलेज गई.

वो बार सिसकारी ले रही थी- सी… इस्स्ससस्स… उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह… रॉकककी चोद दो मुझे प्लीज… आह मैं मर जाउंगी… अब और मत तड़पाओ…मगर मैं कहाँ मानने वाला था और मैंने उसकी चूत के अन्दर अपनी जीभ घुसा दी. भाबी- आआअआह… आआअह… मर गई…मैं पीछे से भाबी के ऊपर लद गया और उनके दूधों को दबाए जा रहा था.

मैंने नीचे जा कर मम्मी को कपड़े दे दिए और थोड़ी देर बाद फिर ऊपर जा के देखा तो सब वैसे ही सो रहे थे। मेरा मन तो काफी कर रहा था कि जाकर चाची के बदन साथ फिर से खेलूं पर मैं डर भी रहा था कि कोई आ न जाये या कि कहीं चाची जग न जाये.

तभी बालू बोले- वन्द्या मेरी रानी, तुम्हें मेरी कसम… प्लीज पूरा वीडियो देखिए मेरे साथ!मैं कसम कैसे तोड़ती, आंखें खोल दीं मैंने और देखने लगी, तब लड़की की उसxxx वीडियोमें वो नीग्रो उसकी टांगें फैला कर चूत चाटने लगे और लड़की दो नीग्रो जो बचे थे उनके लन्ड अपने मुंह में बारी बारी से चाटने लगी.

तभी एरिक भी बात करने लगा, और मुझसे इंग्लिश में बोला- आपकी गर्लफ्रेंड बहुत सुन्दर है!थैंक यू!” मैंने जवाब दिया और नताशा को अनुवाद बताया. मैंने अगले दिन उस अफसर को शाम को अपने घर आने को बोला, वो तय समय पर मेरे घर आ गया. तो मैंने कहा- पसंद आया गुलाम?भाभी बोलीं- मेरे उनसे दुगना है और मोटा भी है.

जैसे ही मैंने टीवी को ऑन किया, तो फिल्म देखते ही मेरा लंड टनटनाने लग गया. वो मेरे सर को अपने हाथों से सहलाने लगीं और बड़ी ही मादक ‘आआ आआहह आह आआहह. उसका टुन्नू सा लंड मेरी प्यासी जवान काली झांटों में छिपी हुई चुत का लाल दाना देखते ही फेल हो जाता है.

मोहन मेरे मम्मों पर झुक कर मेरे शहद से भरे होंठों पे अपने होंठ रख कर चूसने लगा.

उसकी चुत ने जकड़ कर मेरे लंड के रस की एक एक बूंद अपने अन्दर खींच ली. बिस्तर पे वो अचानक मुझ पे किसी भेड़िये की तरह टूट पड़े, मुझे बहुत बुरी तरह मसल रहे थे. मैं बैठ गया, उन्होंने मुझसे पूछा- चाय लोगे या कॉफ़ी या फिर आप भी दूध पियोगे?भाभी ये कह कर अश्लीलता से हंसने लगीं.

शुरू में नताशा भाबी को लेकर मेरे मन में कोई गलत विचार नहीं थे, पर 2 दिन बाद ऐसा हुआ, जो मैंने सोचा ही नहीं था. मॉम तेज़ तेज़ सीत्कारें लेते हुए अपने आप को खुद ही चोद रही थीं ‘आह आह आह. एक दिन पूछने पर उसी ने बताया कि मम्मी उसके साथ सोती हैं, इसलिए वो रात को बात नहीं कर सकती.

मैंने नताशा को अपने हाथों में उठा लिया और बेडरूम की तरफ ले जाने लगा.

मुझको कमरे में देख कर कामिनी बोली- बाहर नहीं जा सकते थे?मैंने कहा- मुझको क्या मालूम कि तुम लोग बाहर आ जाओगे?वो बोली- देख रहे हो विवेक इसको?विवेक बोला- अब जाएगा भी यहाँ से कि यही गांड मराता रहेगा?मैं कमरे के बाहर आ गया. घर पहुँच कर मैंने डोर बेल बजाई और जब गेट खुला तो मेरे होश ही उड़ गए कि ये वो ही पायल भाभी हैं, जो उस दिन आई थीं.

कार्टून के बीएफ मैंने फिर पूछा- रात को आपको अकेले रहने में डर नहीं लगता है?वो बोली- नहीं. उनकी पतली कमर को अपने मजबूत हाथों में पकड़ा और एक ज़ोरदार झटका मारा.

कार्टून के बीएफ मुझे पता चल गया कि भाभी गरम हो चुकी हैं, मैंने भी मौके पर चौका मारके उनको अपनी बांहों में खींच लिया और उनको किस करने लगा. उनके बीच से निकालते हुए दी की चड्डी के ऊपर से ही उनकी चूत पर रगड़ने लगा.

मुस्कुरा कर कहो।थोड़ा तड़प के साथ वो मुस्कुराती हुई बोली- ठीक है।मैं उसे इसी तरह की बातों में बहकाने की कोशिश कर रहा था।तभी मुझे लगा कि सोनी मेरी पीठ को चूम चाट रही है।मैं अब धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर कर रहा था। जब रेशमा की चूत थोड़ी और ढीली हुयी तो मैंने इस बार एक तेज झटका दिया।आईईई.

सेक्सी दिखाइए अभी

वो ऊपर से धक्का मारती थी, मैं नीचे से गांड उछाल देता था ताकि लंड चूत से बाहर ना निकले. मैं आपको बता रही हूँ कि मेरी चुत चुदाई के बारे में मेरी दीदी को भी पता है कि मैं उनके देवर से चुदवाती हूँ. ऋतु की चीख निकल गई क्योंकि उसने ब्रा के ऊपर से दोनों निप्पलों को बहुत ज़ोर से मसला था.

विवेक बोला- अकेले नहाओगी?वो बोली- नहीं मेरे जानू तुम्हारे साथ नहाते हुए, पानी में भीगते हुए अपनी इस जान की चूत मार लेना. मुझे यह तो पता था कि चंदर अपना लंड हिलाता हुआ मिलेगा, मगर आशीष भी वहाँ पर होगा, यह मुझे नहीं पता था. आज के गेम से मेरी झिझक कम हो गई थी और भाबी मेरे से बहुत मज़ाक करने लगी थीं.

मॉम- हाँ मैं तो आ गई, पर तूने आने की कोई खबर क्यों नहीं दी?मैं- मॉम मैं आप लोग को सरप्राइज देना चाहता था.

वरना मेरी चूत भी बदनाम हो जाएगी कि इस चूत ने दुनिया में किस गांडू लंड को निकाला था. उनकी नज़र फिर से मेरी पैन्ट पर चली गई, जो टाइट लंड के कारण तन गई थी. मुझे उसकी बात सच्ची लगी और इंटरनेट के माध्यम से मैंने इस तरह के काम को ज्वाइन करना उचित समझा क्योंकि न्यूज़ पेपर वाला कदाचित परिचित निकला तो क्या होगा, ये सोचकर ही इंटरनेट के माध्यम से एक एजेंसी में अपना मेल भेज दी.

तभी एक बिजली का करंट जैसा मेरे टट्टों में लगा, मैंने एक सुपर पावरफुल शॉट ठोका और एक विस्फोट के साथ मैं अलका रानी अलका रानी की चीख मारता हुआ झड़ गया. ’ बोल कर चुप हो गईंनवीन- मालकिन, आप इतना बिंदास अन्दर करवाती हैं, कभी आप को बच्चा हो गया तो?मॉम सुन कर हंसने लगीं और बोलीं- सुन अभी चार महीने पहले मैं तेरे लंड से प्रेग्नेंट हो गई थी. फिर कुछ ही पल में उसने भाभी को गोदी में ले लिया और वहीं जमीन में लेटा कर उनकी चुदाई करने लगा.

हां, कुछ में लड़की इंडियन जरूर थी।तभी बालू ने मेरा मोबाइल लिया और टाइप किया गूगल में ‘इंडियन एमएमएस थ्रीसम’और फिर मुझे दिखाने लगे, बोले- ये सब रियल हैं, सच में स्कूल गर्ल, कालेज गर्ल, मैरिड वुमन सब एक साथ दो, तीन, चार, पांच मर्दों से एक साथ चुदाई करवाती हैं।मैं बोली- सच में? यार ये तो गजब है! इंडिया में भी फारेन जैसे होने लगा?बालू बोले- अब सच बोलना, नहीं कसम दे दूंगा. मैं 7 बजे शाम को बस में अपनी बर्थ पर बैठ गया और बस के चलने के समय मेरी सीट पर एक लेडी आकर बैठ गई.

सबसे ज्यादा जो मुझे उसमें पसंद आया, वो उसकी मांसल जांघें और उसकी गोल और उभरी हुई गांड थी. ’भाभी आपकी गांड बहुत टाइट है, बहुत ही मज़ा आ रहा है आपकी गांड मारते हुए. मैंने काफी अनुरोध किया पर बात नहीं बन पाई, फिर मैं अपना घर आ गया।फिर एक दिन शाम को वो मेरे घर आई, मैं उस वक्त छत पर था, वो भी कुछ देर नीचे रुकने के बाद छत पर आ गई.

क्योंकि दोस्तो, मेरा लंड अब पूरे उफान पर था, मैंने कहा- लंड की साइज़ का अच्छा अनुभव लगता है तुम्हें.

मैंने तब भी उसकी तरफ कातर भाव से देखा और उससे छोड़ देने की विनती भरी निगाहों से याचना की. मेरे अंदर जोश भर गया और मैं लिफ्ट की इन्तजार ना करते हुए सीढियों से ही उसके फ़्लैट पर पहुँच गया. इस बीच मेरे लंड फिर खड़ा हो गया तो भाभी बोली- क्यों? ये नहीं मानेगा क्या?और हाथ से मेरी मुठ मारने लगी, थोड़ी देर बाद वो मेरा लंड मुह में लेकर चूसने लगी।इस बार मुझे काफी मजा आया, मैं पूरी तरह से मदहोश हो चुका था और अंत में मैं भाभी के मुँह में ही झड़ गया.

पर खुद सोचा कि कहाँ यार एक बार भी सेक्स करने को नहीं मिलता, यहाँ खुद ही मौके और जगह बनती जा रही है. तीन चार महीने पहले अलका रानी भारत आयी थी, किसी शादी में, तो चार दिन चुदाई पर चुदाई करके पिछले कई वर्षों का हिसाब बराबर किया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग :बेटी ने मम्मी के यारों का लंड शेयर किया-2. वो मेरे से ज्यादा गांड हिला रहा था- हाँ बहुत अच्छे शाबाश…मैं पूरे दम से उसकी गांड में लगा हुआ था. फिर हम यहां शिफ्ट हो गए और मैंने अपनी वासना शांत करने के लिए तुमको फंसाया… सॉरी समीर.

सेक्सी वीडियो नहीं चलता

दोस्तो, जनवरी में राजस्थान में गाँवों में कैसी सर्दी पड़ती है, ये तो यहाँ रहने वाले लोग अच्छे से जानते हैं। उस दिन भी बहुत तेज़ सर्दी थी.

दोस्तो, आज भी मुझे याद है, जब उसका पानी निकला तो उसके पानी ने मेरे लंड की जड़ तक बौछार मारी थी, बहुत सुखद समय था. उसके चूतड़ ऊपर उठाये और पलक झपकते ही धम्म से लंड को पीछे से चूत में पेल दिया. तभी मैं उसकी गांड में ही झड़ गया, हम लोगों ने जल्दी से कपड़े पहने और बस में चढ़ गए.

भाईजान ने मेरी चूची को मेरी करवट के नीचे से निकालने की कोशिश की, पर निकाल ना सके. उसने मेरे लंड पर अपना हाथ फिराया, तो मैंने अपना 6 इंच का खड़ा लंड निकाल कर उसके हाथ में रख दिया. सनी लियोन की एक्स एक्स बीएफ वीडियोलंड को अन्दर लिए लिए मैंने उसे अपने ऊपर कर लिया, वह मेरे ऊपर चढ़ कर जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगी.

कुछ ही समय में मेरे सामान की हालत इस प्रकार से हो गई थी कि जैसे किसी पाइप में प्रेशर से पानी डालें और दूसरे छोर पर उसको बंद कर दें तो वह फूलने लगता है, उसी प्रकार मेरी हालत हो रही थी. दारू पीते समय ही मेरे को पता चल गया था कि भाभी वास्तव में बहुत बड़ी छिनाल है.

भैया बोले- एक प्रॉमिस कर आज से भैया नहीं कहेगी… तू मुझे वीरू बोलेगी. वो कहने लगी- कम ऑन बेबी अब मत तड़पाओ… प्लीज़ डाल दो अपना ये मूसल… और ठंडी कर दो इस चूत को… आह…मैंने अपना लंड उसकी चुत पर सैट करके एक जोरदार धक्का मारा. भाभी ने मुझको गले से लगा लिया और बड़े प्यार से सहला कर मुझको समझाने लगीं- देखो यह सब ग़लत है, मैं तुमसे उम्र में बड़ी हूँ और यह प्यार नहीं… बस तुम यही समझ लो कि वो कुछ पल की फीलिंग थी, खुद को थोड़ा वक़्त दो, सब समझ जाओगे.

ऐसा लग रहा था कि भगवान ने बड़ी नाप आदि लेकर से उसकी गांड को तराशा है. मैं बार बार उसे देखता था, वो मेरे सामने ही बैठा था, 5-6 खाना छोड़ कर. दीदी ने कहा- अरे डिस्को शहर में है और यहां से 40 किमी दूर है, मैं जाऊँगी किस के साथ?मैंने कहा- दीदी आप तैयार हो जाओ, मैं ले चलता हूं और शाम तक लौट आएंगे.

अगर बेटा यह काम तुम आज करवा दो तो मैं तुम्हारा एहसान जिन्दगी भर नहीं भूलूँगा.

आंटी भी मेरा लंड चूसना चाहती थी, उन्होंने मेरा लंड पकड़ पर अपनी ओर खींचा तो अब हम 69 की पोजीशन में आ गए. उसने मेरे बाल कस के पकड़ लिये थे और वहशियों की तरह वो मेरा मुंह अपने चूचुकों में ज़ोर ज़ोर से रगड़ रही थी जैसे कि मेरा मुंह चूचियों में घुसेड़ देना चाहती हो.

उसने मेरे लंड पर अपना हाथ फिराया, तो मैंने अपना 6 इंच का खड़ा लंड निकाल कर उसके हाथ में रख दिया. जब मेरा मुँह भर जाता था तो घोटने के टाइम वो मेरे मुँह के ऊपर ही गिरा देता था, जो बाद में मैंने चाटा. मैंने भी सोचा कि किसी और दिन लंड चुसवा लूंगा, आज तो मुझे बस उसकी चूत फाड़नी थी.

मैंने सुमन भाभी को जोर से पेलना शुरू किया तो सुमन भाभी भी स्पीड के साथ रिप्लाइ करने लगीं. अभी बताओ क्या करना है?कुसुम बोली- तुमने ऐसे एक दिन के लिए इसको बुक किया है, यह तुम्हें वो सब सर्विस देगी. वो हमारी बगल में बैठ कर अपने बर्गर्स खाते हुए अपनी ही किसी भाषा में बातचीत करने लग गए, और हम नताशा संग अपनी रूसी में.

कार्टून के बीएफ गर्मी की छुट्टियां थी, पूजा मामी और उनकी फेमिली मेरे घर आई हुई थी, रात हुई, सबने रात को खाना खाया और बातें करने लग गये. वो भी आह आह कर के गांड को और तेजी से हिलाती थी और मेरे लंड के ऊपर एकदम कस रही थी.

नंगी लड़कियों का डांस सेक्सी

जैसे ही उसने लंड को चूत पे सैट करके रगड़ मारना शुरू किया, मेरा मन कर रहा था कि चिल्लाऊं, रही सही कसर जालिम ने मेरा मम्मा चूस कर निकाल दी. इधर मेरी गांड फट रही थी कि उसको हिडन कैमरे के बारे में न मालूम चल जाए, पर किस्मत को क्या करता. उधर एरिक मेरी नाजुक पत्नी की महकती हुई चूत की खुशबू से पागल हुआ जा रहा था, उसने जल्द ही अपने बाएँ हाथ से लाल पैन्टी को एक तरफ खिसका कर अपनी जीभ से स्वादिष्ट चूत को चाटना शुरू कर दिया और दाएं हाथ से अपने लंड को सहलाना.

मेरे मामा और मेरे पापा विस्की एंजाय कर रहे थे, मेरे मामा को रोज शराब चाहिए और मेरे पापा को भी, ये लोग पीने के मामले में बहुत आगे हैं, उस रात उन्होंने कम से कम एक बोतल ख़त्म कर दी थी. मेरे पहुंचते ही वो तुरंत बोलीं- आओ मेरे पीछे…और इतना कह कर वो तुरंत अन्दर को चल दीं. इंडियन बीएफ वीडियो दिखाएंअचानक वो उठे, मेरी टांगों को मोड़ कर अपने कंधों पर रखा और अपना लंड मेरी चुत पे रगड़ने लगे.

क्योंकि मेरे दोस्त ने भी उसे पहले कभी नहीं देखा था, उसने तो सिर्फ फ़ोन के ज़रिए ही उसे पटाया था.

उसके मुँह से गालियाँ सुनकर मुझे और जोश आ गया, मुझे तो ऐसे लग रहा था जैसे मैं स्वर्ग में हूँ, मैं अपना लंड आगे पीछे कर रहा था. पूजा के आते ही मैंने उसे नंगी किया और उस पर चढ़ बैठा और उसको चोदने लगा.

इस अनोखे स्वाद से हम दोनों पहली बार परिचित हुए थे वर्ना तो बस पॉर्न वीडियो और कहानियों में ही इसको पढ़ा था. मैंने उसके होंठों का चुम्बन लिया तो उसने अपनी पूरी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और किस करने लगी. मैं उन्हीं दिनों की कहानी लिखने जा रहा हूँ, जो बिल्कुल सत्य घटना पर आधारित है.

मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और खचाखच उसकी चूत में लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

वो विवेक से बोली- इस भड़ुए ने तुम्हारा लंड चूस कर खड़ा कर दिया मेरी जान… अब अपनी इस जान की चूत मार लो. खाना तो हम शादी में खा ही चुके थे तो मौसी ने जल्दी ही दो खाट बिछा दी, दोनों खाट पास पास ही थी. बूढ़ा बार बार बोल रहा था- साले हराम की औलाद अभी तेरा लंड बाहर क्यों है भोसड़ी के.

बीएफ सेक्सी स्कूल वालाकभी वह मेरे मुँह में अपनी जीभ देते, कभी मैं उनके मुँह में अपनी जीभ दे देता. सुबह ऑफिस में जो पहले आ जाता तो दूसरे की प्रतीक्षा में निगाहें दरवाजे की ओर ही रहती.

सेक्सी girl.com

बाल थोड़े थोड़े उगे हुए थे, किन्तु यह दिख रहा था कि बहुत गहरे काले रंग के झांटों के रोयें हैं. अनुज ने ये सब देख लिया था तो वो मुझे आंख मार कर योंग का साथ देने का इशारा कर रहा था।मैंने भी आंख मार कर अपनी सहमति व्यक्त कर दी और योंग का साथ देने लगी।यह मेरे लिए पहला मौका था जब मैं किसी चाइनीज़ पुरुष के साथ ये सब करने वाली थी। बहुत देर तक वो मेरी जांघ सहलाता रहा, फिर उसने अचानक सबके सामने मेरे बूब्स पकड़ लिए. जैसे प्यास लगते ही हम पानी पी लेते हैं, उसी तरह से चूत में लंड भी डलवा लेती हैं.

रश्मि ने बताया कि उसने रात बड़ी मुश्किल से करवटें बदल बदल कर काटी है, उसने कई बार उंगली से चूत को चोदा परंतु तसल्ली नहीं हुई. मैं बस उसका लंड चूसना चाहता था, उसका लंड मेरी गांड में महसूस करना चाहता था. अब मेरी उंगलियां हरकत में आकर चूत के स्पॉट को दबाने लगीं; उनकी म्म्म्म्म.

यह नौकरी तो मैं आपको ही दे दूँगी और अगर हो सका तो आपकी खुशियां भी, जो पति के साथ ही चली गई हैं. उसने कहा- जब प्यार किया तो डरना क्या? कल जैसे ही सब चले जाएंगे, मैं तुम्हे फ़ोन कर दूंगी. फिर मैंने आरुषि की कैपरी को उतारा तो अंदर मैंने देखा कि उसने काले रंग की ब्रा जैसी डोरी वाली पैंटी पहनी हुई थी जो सामने से गीली हो रही थी मतलब उसकी चूर कामुकता से पानी छोड़ रही थी.

मुझे लगा कि भैया को पता नहीं है कि उनके नीचे में थी, शायद वो मुझे भाबी समझ कर चोदने के मूड में थे कि इतने में भाबी जाग गई थीं. उसने भी मेरा लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी, पर थोड़ी देर में ही उसने लंड बाहर निकाल दिया और बोली- मुझे लंड चूसना अच्छा नहीं लग रहा है.

और फिर प्लास्टिक का लण्ड इस्तेमाल कर लेती हूँ बाथरूम में!पूनम बोली- ये तो और अच्छा है, हमें भी कभी जरूरत पड़ी तो दे देना.

अब हमरा बॉस बार बार हमका चोरी चोरी ताड़े लगनी!तो दोस्तों ज्यादा देरी न करी और हमार इ सेक्स कहानी के सुनी कि कैसे हमार बॉस हमरा के प्रमोशन और पैसा देवे के बदले में हमरा साथ अंतरंग सेक्स कईले?हमार नाम है बबिता भाभी।अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है. मोनालिसा के सेक्सी बीएफनगमा की माँ जोर-जोर से आवाजें निकालने लगी- आह चोदो मुझे और चोदो अहा अहह अहा रुकना नहीं, कितना बड़ा लंड है तुम्हारा. रंडी की चुदाई बीएफवो अपनी गोरी गोरी चिकनी चिकनी गांड से विवेक के लंड को धक्का दे रही थी. आप बड़े अच्छे से चुदी हुई हो, मैं आपकी चूत की हालत देखकर अच्छे से बता सकता हूँ.

जैसे ही उसने लंड को चूत पे सैट करके रगड़ मारना शुरू किया, मेरा मन कर रहा था कि चिल्लाऊं, रही सही कसर जालिम ने मेरा मम्मा चूस कर निकाल दी.

खैर, डॉक्टर ने अपने आप पर काबू रखा और नीना से उनकी प्रॉब्लम पूछा।फिर नीना ने अदा बिखेरते हुए कहा- बहुत, खुजली होती है और जलन भी!इस पर डॉक्टर ने कुछ सवाल और भी पूछे, मगर आखिरी सवाल था- सेक्स करते समय कंडोम तो इस्तेमाल करती हैं न?इस सवाल का नीना ने जो जवाब दिया उसे सुनते ही डॉ भगत भीतर से हिल गए. अब उसके पास बोलने के लिये कुछ नहीं बचा था, उसकी हालत काटो तो खून ना निकले जैसी हो गई थी. उसकी आँखें तो जैसे पूरी बाहर आ गई थीं, उसकी चुत से खून निकल कर चादर में सन रहा था.

उसके बाद मेरे मुँह की गरमाहट पा तुरंत ही पिचकारी मारते हुये मेरे मुँह को भर दिया, कुछ तो सीधे मेरे कंठ में चला गया तो कुछ मुँह में रह गया. ये मेरी पूरी जिम्मेदारी होती है कि मेरे साथ कोई भी लड़की, आंटी या भाभी दोस्ती करती हैं, उनकी निजता बनाए रखूं. उस दिन मेरा मूड थोड़ा ऑफ था क्योंकि उस दिन मेरे 18000 रुपये खो गए थे.

सेक्सी फिल्म हिंदी वीडियो देखने वाली

मैंने दीदी की गांड के छेद पर लंड लगाया, तभी दीदी ने अपनी गांड पीछे धकेल कर धीरे-धीरे सारा लंड गांड के अन्दर समा लिया. सर ने अपनी नाक से पहले मेरी फुद्दी को सहलाना शुरु किया, सांसों की गर्म हवा से मेरी चूत पिघलने लगी थी, फिर जीभ से फुद्दी को सहलाने लगे. अब वो और जोर जोर से गीता की चुत में अपने लंड के धक्के मारने लग गया.

मेरे ओरल सेक्स से भाभी पूरी गरम हो गई थी और ‘अहह उफफफफ्फ़ ह्म्म्म्म.

वो रह रह के आगे चढ़ आता और उसका लंड मेरे गांड की दरार में घुस जाता था.

मैं भी उनके लंड को स्पर्श करके दबा रहा था, फिर मैंने अंकल के लंड को चूसना शुरू कर दिया. चंदर का लंड तो खड़ा हुआ ही था, उसने मुझे पीछे से पकड़ कर मेरे मम्मों को खींचते और दबाते हुए मुझे अपनी गोद में बिठाया. बीएफ वीडियो भोजपुरी बीएफफिर उसको उसके पापा ने अपने पास बुला लिया और हमारा उससे रिश्ता ही खत्म हो गया.

वो मेरे और नजदीक आ गए और मुझे अब साफ साफ अपने चूतड़ पर लंड की गर्माहट, महसूस हो रही थी. उसके बालों से आती हुई शैम्पू की सुगंध और उसके बदन से चारों तरफ फैलती हुई इत्र की महक मुझे पागल बनाये जा रही थी. वैसे ही जैसे अपनी जीभ को नीचे वाले होंठ पर ठेलने से फच फच की आवाज होती है.

इस तरह उसने अपने हाथ धीरे धीरे ऊपर की ओर बढ़ाए और मेरे चूतड़ सहलाने लगा. नीलम भाभी ने मेरे लंड के ऊपर उछलना चालू कर दिया और जोर जोर से चुदाई का मज़ा लेने लगीं.

पायल भाभी हँसने लगीं और बोलीं- पंकज अब फिर से चूत में डाल दो मेरे राजा.

मैंने उन्हें किस करते हुए गोदी में उठा लिया, उन्होंने भी अपनी टाँगें मेरी कमर में कस दीं और गले में हाथ डाल के किस किए जा रही थीं. अब नताशा दो सांडों के बीच फंसी किसी बछिया की तरह कराहने लगी- ऊऊऊऊऊ… आआआआ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आख… ओए! आआआ… आउच!अब तक आर्थर का बेलेस्टिक राकेट डराने वाले साइज़ में परिवर्तित होकर टनटनाने लगा था. मैं जब भी अनामिका और रमन से उसकी तारीफ सुनता था तब मेरी सोच सब से पहले उसकी गांड पर ही जाती थी और मैं हमेशा से उसकी गांड को चोदना चाहता था.

बीएफ हिंदी मूवी बीएफ हिंदी मैं बोला- सोनिया एक बात बताएगी?वो बोली- बोलो न भैया?मैं बोला- अगर सच सच बताएगी तो बोलूँ?वो बोली- हां भैया सच सच बताऊंगी. आज की उसकी हरकतें देख कर मुझे भी समझ आ गया था कि ये भी मेरे लंड से चुदने को राजी है.

मेरी पिछली कहानियोंसेक्सी पंजाबन भाभी की चुदाई करके प्रेग्नेंट कियाजमींदार का कर्ज ना चुका पाने का दण्ड चूत चुदाईको अपने बहुत प्यार दिया. मैंने भी खाना खाना शुरू कर दिया।दिशा का ध्यान मेरी थाली पर ना होकर मेरे पजामे के उस हिस्से पर था जहाँ लंड होता है और वो मेरे लंड वाली जगह पर बड़ी गौर से देख रही थी. ”उसने मुझे जल्दी से अपनी बाँहों में ले लिया और किस करना शुरू कर दिया उम्म्मम्म आज तो खा जाऊंगा बहुत हॉट माल है यार तू…”उम्म्मम्म धीरे थोड़ा…”उह… अब रुका नहीं जा रहा जान… मुझे तो बस चोदना है तुमको…”तो चोद लो न… इसी लिए तो आई हूँ…”उम्म्मम्म… अहह… क्या मस्त चुचे हैं मेरी जान के…”तो इनको खा जाओ ना जान…”आआआह…”मेरी जांघें चूसो न…”हां… अभी चूसता हूँ.

जिमी मौसी की सेक्सी वीडियो

उसकी चड्डी के पीछे का भाग इकठ्ठा सा होकर दोनों नितम्बों के बीच आ गया था जिसके कारण दोनों चूतड़ पूरे के पूरे अच्छे से दिख रहे थे. मगर तुम चिंता ना करो… जाओ जाकर फ्रेश हो जाओ और ठीक से कपड़े डाल लो, कहीं कोई आ गया तो ग़ज़ब हो जाएगा. मेरे कमरे से निकलने के बाद कामिनी बोली- इसको थोड़ा और विटामिन चाहिये जानू.

क्योंकि दोस्तो, मेरा लंड अब पूरे उफान पर था, मैंने कहा- लंड की साइज़ का अच्छा अनुभव लगता है तुम्हें. मैंने पूछा- अन्दर पेंटी नहीं पहनती हो क्या?वो बोली- पहनती हूँ, पर आपने जब दरवाजा खटखटाया तो जल्दबाजी में पहनने का वक्त नहीं था.

क्या तुम लड़कियों की चुदाई करके कुछ पैसे कमाना चाहोगे?वो बोला- ऐसा भी हो सकता है क्या मैडम?मनोरमा ने कहा- हां, बिल्कुल हो सकता है मगर कई बार लड़कियां अपना मुँह छुपा कर चुदाई करवाती हैं, खुल कर नहीं.

लेकिन टंकियाँ अलुमिनियम की थी इसलिए मैंने रत्नेश भैया के कपड़े अपने पीठ और सिर के पीछे रख लिए ताकि मुझे टंकियाँ पीठ में चुभे नहीं।अब मैं मुँह चुदाई के लिए तैयार था और टिक हुआ आराम की मुद्रा में था, लेकिन मैंने अपने मुँह को थोड़ा ऊपर की ओर किया हुआ था जिससे लन्ड मुख में डालने में आसानी रहे।अब महाराजा रत्नेश राजपूत को अंतिम आनन्द प्रदान करने की बारी थी और इसमें मैं जी जान लगा देना चाहता था. नीलम भाभी ने कहा- हाथ पकड़ कर क्या करने वाले हो?मैंने कहा- आपका नसीब देखने वाला हूँ. मेरे मामा ने दूसरी शादी की थी, पहली मामी तो उनकी किसी बात से तंग आकर उन्हें छोड़ के चली गई थी, तब मैं बच्चा था और मुझे नहीं पता था कि वो उन्हें क्यूँ छोड़ कर गई थी.

एक घंटे के बाद जब अलका ने डिनर के लिए डाइनिंग टेबल पर आने का न्योता दिया तो जूसी रानी हाथ धोने के लिए वाश रूम में गयी. उसने अपने ब्लाउज का ऊपर का एक बटन भी खुला रखा था, जिससे उसके स्तन काफी बाहर को झांकते हुए दिख रहे थे. एक दिन मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ तुम आजकल खुश नहीं रहती?तो उसने मुझे बताया कि उसका हबी अब उसको फोन तक नहीं करता.

तभी दी ने मुझसे कहा- छोटू डेली मुझ पे चढ़ता है और जबरदस्ती मुझे चोदता है.

कार्टून के बीएफ: ”चाटो इसे इस्स… पेंटी निकाल कर मुझे नंगी कर लो न…”उसने पेंटी खींच कर मेरी चुत खोल दी. पहले मैंने उसमें एक उंगली घुसाई तो उंगली ही बड़ी मुश्किल से अन्दर गई.

क्या क्या देखा?मैं- कितने प्यार से चोद रहा था आपको… और आप भी उसका साथ दे रही थीं. थोड़ी देर में शीनू नोट्स लेकर आई और फिर सीमा वहां से चली गई और कह कर गई कि थोड़ा ध्यान रखना कोई देख न ले. ”पर वो सरप्राइज क्या है?”उन लोगों ने मुझे चोदा, पर अब मैं तुमको चोदूंगी… देखना कैसे मजा दूंगी.

अगर उसको भी चोदना चाहते हो?उसने कहा- जब उसकी बेटी सामने होगी तो वो नहीं आएगी.

विवेक का लंड फनफ़ना गया और वो कामिनी को चोदने के लिए बेचैन होने लगा. आखिर बोल पड़ा- मैडम, इतनी सफाई? वैक्सिंग कराती हैं क्या?थोड़ी देर बाद डॉ भगत ने अपने दिल की यह बात बयाँ कर दी. अब पायल भाभी बिल्कुल आराम से लेट गईं और मैं उनके बोबों के निप्पल चूसता रहा.