इंडियन देसी गांव की बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

आगरा में सेक्सी वीडियो: इंडियन देसी गांव की बीएफ, फिर वो अपना हाथ चूत की तरफ ले जाने लगीं, तो मैंने उनका हाथ पकड़ कर अपने मुँह के पास लाया और उनकी उंगलियां चूसने लगा.

हिंदी सेक्सी गांड मारने वाली

मैंने इधर उधर देखा और किसी को अपनी तरफ न देखते हुए, मैंने अपना गिलास थोड़ा टेढ़ा करते हुए उनके ऊपर गिरा दिया. हिंदी बफ डाउनलोडअब तुझे ही अपने मन से करना है और कुछ नया ट्राई करना है।मैं बोला- ठीक है.

याद आया … कि मुझे बेबी रानी ने बताया भी था ये तीनों जब लेस्बी करती तो एक त्रिकोण का आकार बन जाता है. बहन भाई xxxउनकी बड़ी सी गांड, गदराया हुए जिस्म, बड़े बड़े चूचे … उफ़फ्फ़ …आंटी अन्दर चली गईं.

मुझे आज तक ये बात समझ नहीं आई कि लोग मुझे अलग अलग चीजों से क्यों चोदते हैं.इंडियन देसी गांव की बीएफ: मैं अपने कमर के नीचे के भाग पर जेठजी का लंड महसूस कर रही थी, जो बार बार झटके ले रहा था.

मेरी चूत में से पानी निकलना शुरू हो गया लेकिन देवर जी की जीभ का अहसास मुझे और पागल कर रहा था; वे बहुत प्यार से मेरी चूत को चाट रहे थे.उनकी चूचियों के निप्पल एकदम तने हुए थे, जो मैक्सी के ऊपर से साफ नुमाया हो रहे थे.

अडल्ट वेबसाइट - इंडियन देसी गांव की बीएफ

उस समय उसका मुँह देखने लायक था क्योंकि वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो रही थी.जिया- भाभी आप क्या बोल रही हो?कोमल- देखो जिया … अब तुम भी जवान हो गई हो, आज तुम्हारे पास अपनी सेक्स की ख्वाहिश पूरी करने का सही मौका है.

उसका फीगर करीब 34-28-32 का होगा और बदन ऐसा चिकना कि जिसकी नजर भी पड़े उसी की नजर फिसल जाये. इंडियन देसी गांव की बीएफ उसका माथा, आंखें, होंठ, ठुड्डी, गर्दन, चूचियों से होते हुए उसका सुंदर पेट, पेट के अंदर धंसी हुई सुंदर गोल नाभि को मैंने प्यार से चूम लिया.

घर जाकर मैं उसकी मां से मिला और फिर बाकी फैमिली से भी उसने मेरा परिचय करवाया.

इंडियन देसी गांव की बीएफ?

अब मेरी चुत में ड्राईवर साब लंड डाल कर मुझे चोदेंगे … आगे की घटना मैं अपनी सेक्स कहानी के दूसरे भाग में लिखूंगी. अब तो वे दोनों औरतें मेरे लौड़े को अपने हाथ में पकड़ कर खींच रही थीं. मेरा मन तो कर रहा था कि कब कॉलेज खत्म हो और कब मैं वो वीडियो देख लूं.

मुझे स्पोर्ट्स ब्रा के नीचे मौसी के कड़क निपल्स ऐसे महसूस हो रहे थे. हालांकि उसने एक बार गाड़ी में विशाल से कहा कि या तो वो उसको भी चोदे वर्ना वो उसकी बीवी से कह देगी. इस बात पर राहुल खुश हो गया और बोला- कि आज तो सच में बहुत मजा आने वाला है.

उसकी और मेरी आहह और उसके बॉल्स की थपकी की आवाज़ से पूरा कमर भर गया था. अपना अपना लन्ड उनकी चूत में अंदर घुसाकर बेड की पास वाली लाइट जलाकर उन्हें सरप्राइज कर दिया। इस पर किसका क्या रिएक्शन था, ये आप आगे किए गए उनके वार्तालाप से समझने की कोशिश करियेगा. उसका व्यवहार वैसा ही था जैसे कोई जानवर अपने नवजात शिशु की चिंता में असहज होता है।खुशी की आँखों में मेरे लिए वही चिंता थी.

”मैं हंसा- बहुत बढ़िया नाम ढूंढा तूने मेमरानी … तूने हुक्म दिया था न कि तू मालकिन और मैं ग़ुलाम … उसी तरह से बात कर रहा था मैं तो. करीब आधे घंटे तक घमासान चुदाई के बाद मैं हांफते हुए कोमल की चुत में ही झड़ गया.

उसकी मस्ती से तन्ना कर गुड्डी रानी बार बार उछल जाती थी और सिसकियाँ भरने लगती थी.

पिछले दो-तीन दिनों से हो रही मुसल्सल बारिश के कारण वातावरण में धुंध तो नहीं थी लेकिन हवा औसत से बहुत ज्यादा ठंडी चल रही थी और सुबह से ही आसमान में इक्के-दुक्के बादलों के काफ़िले मटरग़श्ती कर रहे थे.

मेरी बहन की सहेली मेरा लंड देखकर चौंक गई- तुम्हारा लंड तो आकाश के लंड से भी बड़ा है. बहन को चोदने की ग्लानि से बाहर आते हुए मैं आशा को चोदने की प्लानिंग करने लगा. थोड़ी देर बाद जब राजीव अकेला था तो मैं उसके केबिन में गयी और बिना उससे परमिशन लिए अंदर घुस गयी.

जब-जब जी डोलता है, मन विचलित होता है … तब-तब मैं उस रात की याद को कलेज़े से और ज़ोर से लगा लेती हूँ और सच जानिये! मेरे सारे दुःख-दर्द, अवसाद क्षणभर में गायब हो जाते हैं. जैसे ही मैंने भाभी की चूत में लंड को अंदर किया तो भाभी के मुंह से चीख निकल गयी- आआआ …. इन दिनों मुझे जो भी देखता, वो यही कहता कि यार तुझे क्या हो गया है … तू आज कल बहुत दुबला पतला हुए जा रहा है … खाना पीना सही से नहीं खा रहा क्या? पर क्या बताता उनको कि मुझे चुत की भूख प्यास लगी हुई है.

चूचियाँ कस के दबवाने का मज़ा और चूत में मची धकमपेल का मज़ा मिल कर उसकी सुध बुध उड़ा बैठे थे.

मैंने मुस्कान की कमीज़ को उतार दिया था और मुस्कान ने नीचे फैंसी वाइट ब्रा पहनी हुई थी. मैंने मम्मी की चूचियां चूसते हुए कहा- आहह मम्मी तुम्हारा जिस्म बहुत सेक्सी है मम्मी. अब तुझे चोदने के लिए मुझे इन्तजार करना पड़ेगा? मुन्ना का लण्ड तुझे ज्यादा पसन्द आ गया है क्या?अब्बू, आ तो गई हूँ.

फिर अपना लन्ड मेरी दोनों जाँघों के बीच रगड़ते हुए मेरे होंठ चूसने लगे. संजू नीचे बैठ गई और रोहित के पेट, नाभि को चूसते हुए उसके पजामे को नीचे खींच कर उतार दिया. मुझे हर वक्त दिखाई देना चाहिए कि तू अपने दोनों छेदों के अन्दर अपने हाथों से उनकी चुदाई कर रही है.

मगर उसने वो चैट भी पढ़ ली जिसमें अमनप्रीत मेरी गांड मारने की बात कर रहा था और अपनी गांड चटवाने को भी बोल रहा था.

लेकिन आपलोगों को एक बात जरूर कहूंगी कि इसे आप लोग एक बार जरूर ट्राय करें. आज लेट हो रहा है और लंड में भी दर्द है।तो वो बोली- ना … ऐसे नहीं जाने दूंगी.

इंडियन देसी गांव की बीएफ मैंने जल्दी से ब्रश किया और आकर भाई से कहा- भाई तुमने तो मार ही दिया था. संजू बोली- क्या हुआ?मेरी नंगी बीवी को रोहित ने और कसके जकड़ लिया, जिससे संजू की उन्नत चुचियां रोहित के पतली छाती से चिपक कर छितरा गईं.

इंडियन देसी गांव की बीएफ मैं हाथ जोड़ कर देखने के लिए अनुरोध किया, तो बाबू ने फ्लायिंग किस भेजा. फिर एक रात बात करते हुए उन्होंने पूछा- तुम रात को ब्रा पेंटी पहन के सोती हो?तो मैंने बताया- ना!उन्होंने कहा- तो क्या पहना है अभी?मैंने बोला- शॉर्ट्स और टॉप!वे बोले- बहुत सुन्दर लग रही होगी!तो मैंने अपनी एक पिक खींच के भेज दी.

मेरे मन में आया कि बोल दूं कि साली तेरे आईडिया के चक्कर में आठ लोगों ने मुझे रंडी की तरह चोदा है.

सी बीएफ बीएफ

अब और प्रतीक्षा करना कठिन था, लंड बहुत ज़ोरों से अकड़ गया था और बार बार तुनक तुनक हो रहा था. तो एक बार सभी ने मेरी तरफ़ देखा और फिर मैंने तुरंत कह दिया- वो नयी है न, इस लिए यहाँ कंफर्ट रहेगी. सर बोले- सेक्सी लग रही हो!मैंने कहा- मुझे शर्म आ रही है।अब तो रोज का ये काम हो गया … उनका मुझे घर छोड़ना … गले लग के बाय कहना।फिर उनका कॉल आया एक दिन- क्या कर रही हो मेघा?कुछ नहीं … बस आपको याद कर रही थी!”अच्छा जी?”हाँ सर … मन ही नहीं लगता आपके बिना अब!”अच्छा तुम तो कहती हो कि मुझे चूम लोगी.

कुछ देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद मैं घूम गया और उसके मुंह के करीब लंड को ले गया. अब नित्या बोली- यार निधि, 12 बजने वाले हैं, ऐसा करो यहीं सो जाओ। कल बुक लेकर चली जाना।नित्या के काफी बोलने पर निधि तैयार हो गई- ओके।ठंड थी तो हम तीनों लोग एक बेड में आ गए। निधि और मैं किनारे लेट गए और नित्या बीच में।फिर हम सब नशे की हालत में ही बातें करने लगे।नित्या निधि से बात करते हुए मेरे लंड को पकड़ रही थी और मैं नित्या की निक्कर में हाथ डाल कर चूत में उंगली कर रहा था और बूब्स दबा रहा था. मैं सबसे छोटा हूँ, मेरी बड़ी बहन अल्पा 35 साल की हैं और उनकी शादी गुजरात मैं ही हो गयी है.

कभी सुपारी को नंगी करके जीभ निकाल कर चाटती, कभी सुपारी के टांके पर जीभ घुमाते हुए टुकुर टुकुर करती, कभी लंड को नीचे से ऊपर तक चूम चूम कर स्वाद लेती, कभी सुपारी मुंह में लेकर चूस लेती तो कई बार पूरा लौड़ा गले तक घुसाकर, मुंह से दबा दबा कर चुसाई का आनंद उठाती.

मैंने खुद ही फिर अपनी पैंट को नीचे कर लिया और अंडरवियर भी नीचे कर लिया. भाभी का एक हाथ पहले तो मेरा कंधे पर था, लेकिन फिर उन्होंने कमर से पकड़ लिया. बहुत दिनों के बाद उस स्कूल सेक्स स्टोरी का दूसरा भाग लिख पा रहा हूँ.

आशा की कद काठी तो लगभग नीरा जैसी ही थी लेकिन उसका रंग काफी गोरा था. उन्होंने दोनों हाथ बेड पर रखे, अपने सर को मेरे सर से मिलाया और नाक से नाक मिलाते हुए गरम गरम सांसें छोड़ने लगे. क्योंकि अभी तक मैंने उनका लंड नहीं देखा था, जो शॉर्ट के अन्दर से ठीक ठाक ही लग रहा था.

तो दिन में यह सब कैसे हो पायेगा?”यार इसमें समस्या वाली कौन सी बात है तुम चाहो तो दिन में नहीं तो रात में भी तो हम यह सब कर ही सकते हैं. … उम्म्ह… अहह… हय… याह… भाई पहले मेरी गांड क्यों नहीं मारी … आंह भाई रोज़ मारा करो.

उसकी चूचियां लाइट की रोशनी में अब बिल्कुल गोरी और सफेद दिख रही थीं. मैं न जाने कब से तुम्हारे साथ ये सब करना चाहता था, लेकिन तुम लाइन ही नहीं देती थी. मैंने खुद को आंटी से छुडाया और मैंने कपड़े पहन कर अपने क्लास रूम में आ गया।इसी तरह मेरी आंटी और तान्या की चुदाई चलती रही.

तो मैंने देखा कि एक लड़की जिसका नाम तान्या था, वो मेरी तरफ घूर घूर के देख रही थी और मुस्कुरा रही थी। उसकी हाइट ज्यादा नहीं थी, 5 फुट के करीब ही होगी.

धर मेरा लोहे जैसा अकड़ा हुआ लंड देख कर, सूंघ कर उसकी कामोत्तेजना बढ़े जा रही थी. सुहास ने मुझे हग करते हुए कहा- बेबी तुम्हें तो मैं जिंदगी भर प्यार दे सकता हूँ. मैं लंड पेलने के साथ साथ उनकी उभरी हुई गांड पर थप्पड़ मारे जा रहा था.

बहुत सारे लोग … जिन में मैं भी शामिल हूँ, अपने-अपने व्यक्तित्व के ग्रे शेड को अभिभूत करने इस साइट पर आते-जाते रहते हैं. वो बोले कि रात में तीन बार हो चुका है और कितना बार चुदवाओगी … क्या पक्की चुदक्कड़ हो गयी हो … हटो कमजोरी हो जाएगी.

उसका लंड मेरी चुत के अन्दर जाने से मुझे इतना दर्द हुआ कि मैंने अपने दोनों हाथ से कार की सीट को ज़ोर से पकड़ लिया. मैंने भी अपने कपड़े बदल लिए … क्योंकि मुझे पता था कि अब नीतू को चोदना है. मैं बोला- भाभी आप चिंता मत करो, किसी को भनक भी नहीं लगेगी हमारे प्यार के बारे में.

बीएफ वीडियो देखने वाला बीएफ

” कहकर मैं उसे चूमने लगा।धीरे धीरे करते हुए मैंने अपना पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया। हौले हौले शॉट्स मारते हुए मैं उसकी गांड के मजे ले रहा था।आज तो मजा आ गया, बॉडी की सर्विसिंग हो गयी.

मैंने बिना सोचे समझे उसे हग किया और उसे अंदर ले के गया।फिर मैंने उसे बिठाया और जूस आफर किया. मेरी रस की गर्मी और गीलापन ज्यादा देर तक रवि झेल नहीं पाए और जल्द ही वे भी झड़ने लगे- आआआ अह्हह ह्ह्ह ह्ह्हह … मेरा भी निकल रहा है … मेरा भी निकल रहा है. सुनील बोला- ज्यादा नौटंकी मत कर, मैं एक घंटे से बाहर खड़ा हुआ अपना लंड सहला रहा हूँ.

मैंने अपनी किताबें बन्द की और पापा के रूम में जाकर उसका मोबाइल ले लिया और आकर अपने बिस्तर पर लेट गयी. मेरे जीजू की बहन आलिया अमेरिका में अपना पढ़ाई का आखिरी सेम पूरा करने के लिए चली गई थी. सेक्सी नंगी राजस्थानीगुड्डी रानी भी पुकारी- तू भी तेज़ कर पिंकी … मैं भी झड़ी … आआह आआह ह.

फिर मैंने दो मिनट तक अपनी सहेली के दूधों को पीया और फिर उसके होंठों को चूसने लगी. पर मुझे कोमल को अभी और तड़पाने को मन कर रहा था … इसलिए मैंने खड़े होकर अपनी पैंट और निक्कर निकाल दी.

जब मैं जवाहर से मिला था तो उसके कुछ महीने के बाद ही मैं अपने पैतृक शहर वापस आ गया था. सफेद शर्ट तो सबके ही गंदे हो चुके थे, वैसे तो स्कर्ट भी गंदे हो चुके थे, पर उनके गहरे रंग की वजह से वो गंदे दिख नहीं रहे थे. पिछली कहानी में मैंने बताया था कि उन दिनों मैं एक छोटे शहर में ट्रेनिंग कर रहा था कि मेरी दोस्ती एक मास्टर साहब से हो गयी थी.

घर आकर जब ज्ञान ने मेरे होंठों से अपने होंठों की गर्मी का आदान प्रदान किया तो उस दिन मुझे चूत में खीरा लेना पड़ गया था. मैं बोला- वो सब से मतलब?तो वो बोली- वही एन्जॉय … जो कल आपने भाभी और आशा के साथ किया था. मैंने झांक कर आगे देखा तो पाया कि जिस जगह मुझे जाना था, उससे आधा किलोमीटर पर एक बैरियर है.

मैंने उसे एक हल्का सा मुक्का मारा और कहा- कुतिया तुझे बड़ी हंसी आ रही है.

चाय का कप अपने होंठों से लगाते हुए मैंने ज्ञान की जांघ पर हाथ रख लिया. मैं समझ गया कि साली जी की चूत की सील टूटने से शगुन का खून निकल कर मेरे लंड को रक्तस्नान करा रहा था.

मैंने भी अपने कपड़े बदल लिए … क्योंकि मुझे पता था कि अब नीतू को चोदना है. कोई भी सफलता … जिम्मेवारी लाती है और बड़ी सफलता तो … बड़ी जिम्मेवारी लाती है. मैंने जब जवानी में कदम रखा, तो गलत संगत में पड़ गया और मैं नशे की गोलियां का नशे करने लगा.

मैं बोली- ये क्या कर रहे हो … इस पर कुछ चिकनाई तो लगा लो … क्या मुझे मारोगे?लेकिन वो नहीं माने और जबरदस्ती लंड चुत में डालने लगे. फिर वो दोनों मुस्कराने लगीं और खाना बनाते हुए चुदाई की बातें करने लगीं. मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू.

इंडियन देसी गांव की बीएफ जिया मुझे देखकर एकदम से चौंक गई और मुझसे ऐसे हाथ मिलाने लगी, जैसे हम पहली बार मिल रहे हों. वो इतनी बेदर्दी से उसकी गांड को चोदने लगा जैसे कि वो उसकी बेटी ना होकर कोई सचमुच की रंडी हो.

गांव की देसी बीएफ सेक्सी

भाभी बोलीं- अरे वाह … तेरा आइटम तो तेरे भैया से भी बड़ा और तगड़ा लग रहा है. मैं दर्द के मारे जोर जोर से चिल्ला रही थी- आंह … फाड़ दी मेरी … छोड़ दो मुझे!मुझे इतनी ज्यादा पीड़ा हो रही थी कि मेरे मुँह से गाली निकलने लगी- साले कुते हरामजादे छोड़ दे मुझे!जीजू ने भी शायद कभी नहीं सोचा होगा कि मैं उन्हें कभी ऐसी गाली दूंगी. मैंने उसकी दोनों टांगों अपने कंधे पर रखा और लंड को चुत पर सैट कर दिया.

आलिया- क्या … आर यू क्रेज़ी? भाभी, आप ये क्या बोल रही हो?चित्रा- हम चाहते हैं कि तुम दोनों इस फैंटेसी में शामिल हो. ऊपर से वो रिया के अंगूर समान निप्पल को मुंह में रखकर चूसने लगा।रिया को अपनी चूचियों को चुसवाने में बड़ा मजा आ रहा था। वो अपनी चूची को उठा उठाकर अपने डैड के मुंह में देने लगी।रमेश उसकी चूचियों को पूरे आनंद से चूस रहा था।रिया सिसकारने लगी- आआआ … आआहह … डैड … चूस … स्सो. वीडियो में ब्लू फिल्मअब जीजू पूरा जोश में आ गए थे और उन्होंने अपने कपड़ों को तुरन्त निकाल दिया.

पर मैं ठहरा हरामी … मैंने उसके कान पर काट लिया और उसके निप्पलों को ज़ोर से मसल दिया.

उसके बाद मैं जितने दिन गाँव रहा और जब भी मुझे गांव जाने का मौका मिला, हम दोनों चुदाई कर लेते थे. ड्राईवर ने मेरी जांघें फैला दीं और अपने लंड को मेरी चुत पर टिका दिया.

मुस्कान ने भी मेरी किस में मेरा साथ दिया और मेरी जीभ पर जीभ रख कर एक और डीप किस की. शादी के तीन साल बाद भी कोई सन्तान न होने पर हनी की ससुराल में चर्चा का विषय बन गई. और मोनू ने ये भी बताया कि सीमा आज के ग्रुप सेक्स के लिए बहुत एक्साईटेड है।मैंने कहा- तो फिर देर किस बात की है?तो वो बोला- यार सतीश से शर्मा रही है.

वो विशाल से छूटना चाह रही थी तो विशाल ने उसे सुनील और रिंकी की ओर दिखाया.

मुझे तो सोच कर ही डर लगता है, पर क्या करें, हम लड़कियों के लिए हर महीने इस परेशानी से जूझने के अलावा और कोई दूसरा उपाय भी नहीं है. वहां पर भैया ने डॉक्टर से पूछा- क्या हम अभी भी सेक्स कर सकते हैं?डॉक्टर बोली- हां कर सकते हो लेकिन पांचवे महीने तक ही कर सकते हो. मैंने सीमा को किस की और उसके कान में कहा- क्यों साली? तूने मुझसे चुदना था क्या?वो हंसती हुई बोली- जैसे मर्जी समझ लो अब तो!फिर मैंने सभी को कहा- यार, हमारी पार्टनरशिप तो बन गयी.

भाभी की चुदाई चूत की चुदाईवो बोला- अरे आंटी आप मेरी मॉम से मिली ही हो न … वो बहुत सुंदर हैं न … इसलिए मैंने उनके जैसी कहा. आप सब लोग नीतू को तो जानते ही हैं, नीतू मेरी माशूक नीरू की छोटी बहन वंदना की ननद है.

हिंदी सेक्सी बीएफ चलने वाला

दीप्ति ने मेरे कुर्ते के बटन खोले और मैंने हाथ ऊपर कर दिये तो उसने मेरे कुर्ते को निकाल दिया. इस पर हरकेश ने कहा- नहीं नहीं … यह पैग तो आपको पीना ही पड़ेगा … हमारे खातिर!और उठ कर वह भी पलंग में आकर सुमन के बगल में बैठ गया।अब सुमन हम दोनों के बीच में बैठी हुई थी और हरकेश ने उसका गिलास उठाकर अपने हाथों से उसे पिलाना शुरू किया. मैंने उनके निप्पलों पर हाथ फेरा, उनके बड़े बड़े चुचूकों को दोनों हाथों से दबाने लगा.

उधर जाकर मैंने एक गिलास पेप्सी ले ली और जहां स्नेहा भाभी खड़ी थीं, वहीं खड़ा हो गया. और बातों ही बातों में मैंने उनको कह दिया कि मैंने हमारी बातें मेरी सहेली नज़मा को बता दी हैं. उससे बात होने का यह मौका इसलिए खास था क्योंकि हम दोनों डेढ़ दशक बाद एक दूसरे से बात कर रहे थे.

अब मनु के अलावा हम तीनों ने एक साथ अपने दांत कटकटाए और आंखों ही आंखों में एक इशारा किया और मनु पर टूट पड़े. आहिस्ता से मैंने लंड का मत्था चूत के छेद पर लगाया और साली जी को चेताया- निष्ठा रानी, अब वो घड़ी आन पहुंची है जिसकी प्रतीक्षा हर कुंवारी लड़की करती है. यह पूछने की क्या जरूरत है तुम्हें?भाभी ने कहा- पापाजी, आपको पता नहीं चला रात को कि यह आपकी बेटी है?उन्होंने कहा- जब मैंने इसकी फुद्दी पर हाथ फेरा तो मुझे इसकी झांटें बड़ी लगी जबकि तुझे तो मैं रोज ही रगड़ता हूँ। पर उस समय मैं बहुत मजे में था इसलिए चुपचाप रहा।बाबूजी ने कहा- देख बहू, सच कहूं … बुरा मत मानना, तेरी चूचियां बहुत सॉलिड हैं और गांड रमा की बहुत सॉलिड है.

मैंने भी मनीषा भाभी की पूरी चूत अपने मुँह में ले ली और मैं अपनी जीभ उसकी चूत के ऊपर घुमाने लगा. मैंने उन्हें इतनी जोर से खींचा कि जैसी मेरी चीख निकली थी, वैसी ही शीना की चीख भी निकल गई.

उस ग्रुप में कई कपल भी थे जो अपनी चुदाई की कहानी शेयर करते रहते थे.

वो- तो तुम्हारे भाई की ससुराल मुनीर के यहां है?मैं- हम्म … सही पकड़ी हो. ಸೆಕ್ಸ್ ಪಿಚ್ಚರ್ ಬಿಎಫ್तभी दीदी के ससुर ने उनकी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी और बहन के मम्मों को चूमते दबाते हुए चूसने लगे. लंड वाली चुदाईआप ही बताइये, मैं मोटी गुदाज गांड की मालकिन, वजनदार वक्षों का बोझ उठाते उठाते कब तक प्यासी रहती. मैंने उसे अपनी ओर खींच कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और एक जोरदार चुम्बन लिया.

”अब तो शाम में मर्द लोग भी मेरे घर में जमने लगे थे, पर मैं दारू सिगरेट एकदम से बंद कर रखा था.

लड़के घूर घूर कर मेरे डीप बेक वाले ब्लाउज से मेरे बदन को घूर रहे थे. फिर मैंने नीचे घुटनों के बल बैठ कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही गांड के उभारों को सहलाना शुरू कर दिया. खुशी मेरे हाथ को धीरे धीरे अपनी चुत पर ले गई और मेरे कान में धीरे से बोली- यहां बहुत गर्मी है, इसे मिटा दो.

इस बार मैंने सोचा कि ज्यादा टाइम चूमा-चाटी में नहीं लगाऊंगा और थोड़ा किस करने के बाद लंड को सीधा चूत में डाल दूंगा. उन्होंने सिर्फ सेक्स की पूर्ति को तरजीह नहीं दी बल्कि वो सामने वाले का ख्याल रखना भी खूब जानते थे. मेरी पिछली कहानीकुलबुलाती गांडमें मैं आपको बता चुका हूं कि मैं 25 साल का एक स्मार्ट सा लड़का हूं.

सनी देओल बीएफ सेक्सी

भाभी ने हंसते हुए कहा- पहले तो तुझे कुछ उस तरह की मूवी देखनी चाहिए. घर पहुंच कर मैंने देखा कि मेरी बीवी के साथ में पड़ोस की ही दो महिलायें बठी हुई थीं. ”अरे थकान तो तुम्हें हो रही होगी?” मैंने हंसते हुए कहा तो नताशा किसी नवविवाहिता की तरह शर्मा गई।मेरे से तो ठीक से चला भी नहीं जा रहा!” उसने कामुक मुस्कान के साथ मेरी ओर देखते हुए कहा।सच कहूं तो मेरा तो मन ही नहीं भरा है अभी तक.

मैंने उसके उंडरवियर पर हाथ लगा कर देखा, तो सच में लंड टाइट हो गया था.

इसीलिए मुझे भी लगा कि मैं भी आज मेरी रियल सेक्स स्टोरी को आप लोगों को बताऊं.

मेरी मोबाइल पर बात समाप्त हुई तो मैंने एक लम्बा कश खींचकर सिगरेट का बाकी टुकड़ा फेंक दिया. ख़ुशी- नहीं ऐसा मत करो मेरे लंड का पानी बेकार मत करो, सारा पानी मुझे पीना है. ब्ल्यू फिल्म जुदाईऐसा दुर्लभ संयोग हज़ारों सालों में, लाखों में किसी एक के साथ घटित होता है और ये सब आइंदा फिर कभी दोहराया जायेगा … ऐसा सोचना भी मूर्खता की परकाष्ठा के इतर कुछ और हो ही नहीं सकता था.

’कुछ देर बाद सुहास ने मुझे पलट दिया और मेरे मम्मों को दबाने लगा और उन्हें बारी बारी से चूसने लगा. वो नीचे बैठ कर मेरे लौड़े को पकड़ कर जोर जोर से हिलाने लगी और अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. वहां पहले से ही कुछ लड़कियां मौजूद थीं, जिनके हाथ में डायरी और पेन थी.

फिर लंड पेलने से पहले एक बार और उसके गालों को चूमा, फिर मैंने अपने दांत भींच कर पूरी ताकत से लंड को उसकी चूत में धकेल दिया पर वो थोड़ा सा भीतर तो घुसा पर किसी अवरोध ने उसकी राह रोक दी. मगर वह दोपहर का वक़्त था और मेरी बीवी मुझे नीचे से आवाज भी देने लगी थी.

कोमल- ज्यादा स्मार्ट मत बनो … अभी हम दोनों को एक दूसरे की जरूरत है.

मैं कुछ समझता तब तक उसने मेरी जीभ को अपने दांतों के बीच पकड़ ली और जोर जोर से चूसने लगी. वसुंधरा की आँखें अभी तक बंद थी और खुद वसुंधरा अभी तक अपने अवचेतन मन के प्रभाव में थी. तभी वो तीनों नाश्ता बनाकर ले आईं और हम सभी ने साथ मिलकर नाश्ता करना शुरू कर दिया.

সেক্সি স্কুল मौसी की ब्रा से ऐसा लग रहा था, जैसे ये ब्रा दिन भर से उनके बदन से लगी हुई थी. फिर दीदी ने बड़ी अदा से अपनी ब्रा और पैंटी निकाल दी और मम्मे हिला कर मुझे दिखाने लगीं.

तभी कोमल मेरे सामने कुर्सी पर बैठ गई और मैं जिया के पास जाकर उसे किस करने लगा. अब मैं शीना के होंठों को चूस रहा था और संजना नीचे से शीना के चूत की फंकों को चूस रही थी. कोई दो मिनट बाद ही उसका मैसेज आ गया- क्या हुआ?मैंने फिर मैसेज किया- कुछ काम था … घर आ सकती हो?तब वहां से रिप्लाई आया- हां … रुको अभी आती हूं.

देहाती बीएफ वीडियो एचडी में

उन्होंने अब मेरा चेहरा थोड़ा तिरछा किया मैंने भी उनका चेहरा थोड़ा तिरछा किया. ज्यों ज्यों पिंकी अपने चरम पर पहुँच रही थी, वो अपनी रफ्तार बढ़ाए जा रही थी. इस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया की चुदाई में मुझे लगने लगा था कि कहीं ठुक पिट न जाऊं.

मैं- हम बड़ी आफत से बच गए हैं … वरना पता नहीं हम तीनों की क्या हालत होती. उन्होंने लंड चूसना सिखा ही दिया था … बाकी मूवी में जो हो रहा था, वो सब मैंने करने की कोशिश की.

रिपोर्ट का सवाल सामने आया तो मेरे पास कहने के लिए कुछ बचा ही नहीं था.

अब कुत्ते ये बता, इतना बड़ा लंड तेरा है, तो तेरे लड़कों के छोटे लंड क्यों हैं. हम दोनों के पास वो सब कुछ था जो किसी मर्द को ललचा दे।उस रात हम दोनों ने एक दूसरी के गुप्तांग के बाल साफ किये और अपनी पहली रंडी चुदाई के लिए तैयार हो गई।दोस्तो, आगे हम दोनों के साथ क्या हुआ?क्या हम कॉलगर्ल बनने में सफल हुई?और कौन थे हमारे पहले ग्राहक?ये सब आप इस चुदाई की कहानी के दूसरे भाग में जरूर पढ़ें।[emailprotected]. उसने लंड को हाथ से पकड़ा और अपनी चूत में रखते हुए बोली- ये चुत जब जलने लगती है, तब दुनिया की कोई ताकत इस चुत को चुदाई करने से नहीं रोक सकती है.

मैंने मार्केट से उपकरण लाकर दिया तो पता चला कि भाभी के पेट में बच्चा है. अब आगे की कहानी:दोस्तो, मैंने आपको आपको राजीव के बारे में तो बताया ही नहीं है, राजीव एक 35 साल का गबरू जवान मर्द है, शादीशुदा है मगर बाकी सारे मर्दो की तरह बाहर मुँह मारने की आदत से मजबूर है, चलिए अब कहानी पर आते हैं।फिर मैं सारा दिन सारी रात सोचती रही कि किस तरह राजीव को तड़पाया जाए. दीदी सुबह का नाश्ता बनाने के लिए किचन में घुस गईं और पानी पीकर नाश्ता बनाने लगीं.

ड्राईवर ने मेरी दोनों बगलों के बीच से अपने दोनों हाथ आगे लाए और मेरे दोनों स्तनों को अपने हाथों में भर लिया.

इंडियन देसी गांव की बीएफ: घूमने के बाद शाम को देर खाने के बाद होटल लौटे तो सब थके हुए थे तो सब अपने अपने कमरे की ओर चल दिए।क्रिया ने उस दिन लाल साड़ी पहनी थी और वो किसी भी नई दुल्हन से कम नहीं लग रही थी. मुझे मेरी पिछली कहानीभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल कियाके बाद काफी मेल आए.

मैं अपनी आंखें बंद करके अंगड़ाइयां ले रहा था और वो मेरी जांघों पर हाथ फेर रहा था. दूसरे दिन बहू ने जिद की और अपनी सास के साथ मेरे लंड से चुदाई करवाने की बात कही. वो बोली कि जब मैं ये पहन कर आपके सामने आऊँगी, तो आपको ज्यादा मजा आएगा.

फिर बेड पर फूल से थोड़ा कलाकारी की और उसको फोन किया कि वो आ जाये।वो आयी.

मैंने चाची की गांड पर लंड टिका कर एक धक्का मारा, तो चाची की चीख निकल गई. कई बार आवाज देने के बाद भी जब मैंने कोई हरकत नहीं की तो वो मेरे साथ ही लेट गयी. और वह रूम से निकल गया।मुस्कान भी शायद सब समझ रही थी कि ये सब मेरा ही प्लान है। वो मुस्कुरा रही थी।मुझे व मुस्कान को और क्या चाहिए था!मैंने अपने दोस्त के जाने के बाद रूम को अच्छे से बंद किया और मुस्कान के पास गया.