बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो

छवि स्रोत,मनीषा कोइराला की सेक्सी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

ऐश्वर्या की सेक्सी मूवी: बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो, मैं भी ये सोच रहा था कि अभी मॉम गर्म है एक बार चुदाई कर लूं, घर जाकर सीन न बदल जाए.

देसी पिक्चर सेक्सी पिक्चर

पति ने जवाब दिया कि उसकी तुम चिंता ना करो, वो सब मेरी ज़िम्मेदारी है. सेक्सी वीडियो कॉम सेक्समेरी नजर डॉक्टर पर पड़ी, जो अपनी बनियान उतार चुका था और अब चड्डी उतार रहा था.

उधर अनु लगी थी तो अविना ने अनीता को हटा दिया और मेरे सीने पर लेट गई. फिल्म सेक्सी हिंदी फिल्म सेक्सी हिंदीमेरी सहेलियो, आप अच्छे से जान लो कि अगर पति कब्ज़े में है, तो जिंदगी आपकी मुट्ठी में हैं.

वो बोली- क्या हुआ … नहीं आ रहे क्या?मैंने कहा- यार जरा मीटिंग में हूँ … अभी कॉल करता हूँ.बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो: मैं खुशी खुशी बॉस को लेकर वर्माजी के मकान पर ले आई और अन्दर होते ही दरवाजा बंद कर दिया.

उसके बाद उसने मेरा भी लंड चूसा और मेरा पानी भी पी गयी जबकि इससे पहले इतने साल में उसने कभी मेरा वीर्यपान नहीं किया था.उसने मेरी चुत के आस पास जहां भी झांटें उगी हुई थीं, वहां पर गर्म पानी से उस पूरी जगह को गीला करके फिर बहुत सारी क्रीम लगा दी.

छोटी फिल्म सेक्सी - बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो

उसने जैसे ही बेल बजाई, दरवाजा खोला सुनील ने, वो टॉवल लपेटकर खड़ा था.उसकी उम्र 20-22 साल की रही होगी और लंड भी कोई खास लंबा मोटा नहीं था.

उनकी चुदाई की बातें सुनकर मेरा तो लौड़ा पैंट के अन्दर से सलामी देने लगा था. बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो मैंने उसको नीचे उतारा और उसको कुतिया बनाकर उसकी गांड के छेद को चाटने लगा.

उसके बाद उसके हाथ मेरी पैंटी में अंदर घुसने की कोशिश करने लगे और वो मेरे चूतड़ों को सहलाने लगी.

बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो?

क्या करूं बेटी … तुम्हारे जिस्म को देखकर यह कम्बख्त फिर से खड़ा हो गया है. मैंने चूत की फांकों को फैलाकर देखा, तो चुत के अन्दर के गुलाबी होंठ भी खुद ही खुल गए और अन्दर से जन्नत का दरवाजा दिखने लगा. इस बार के झटके से उसकी चीख उसके गले में ही रह गई और उसकी आंखों से तेजी से आंसू बहने लगे.

हम दोनों के बीच सब कुछ तय हो गया था … बस अब तो आज की रात नयी चूत का उद्घाटन करना शेष था. हम दोनों के बीच सब कुछ तय हो गया था … बस अब तो आज की रात नयी चूत का उद्घाटन करना शेष था. इस तरह से उस दिन मुझे पहली बार पता लगा कि मैं किसी खास चीज़ से अभी तक वंचित ही रही हूँ.

मेरा अभी चुदाई करने का मूड तो था लेकिन मैं अभी कोई बात तय नहीं कर पा रहा था क्योंकि भाभी का मूड मुझे नहीं मालूम था कि वो क्या चाहती है. आज चौथा दिन था, मैं कॉलेज के लिए निकलने ही वाली थी, तभी डॉक्टर ने मुझे फोन करके कहा कि दो-तीन दिन वो अपनी क्लीनिक नहीं जाएंगे. हम दोनों को एक ही घर में रहना था और मुझे उसके साथ ही कॉलेज भी जाना था.

मैं खींच तान कर उसे अपनी बड़ी चूतड़ों के ऊपर ला पाई।पैंटी मेरे चूतड़ों की दरार में ही फंस कर रह गई. 30 बज रहे हैं और मैं अपने आफिस के स्टूडियो में दो नई मॉडल्स का फोटो शूट कर रहा हूँ, तभी मेरे फ़ोन पर नीरू की कॉल आती है।नीरू मेरी माशूक है, वो शादीशुदा है और तीन बच्चों की माँ है.

अब मैं जोर जोर से सिसकारियां ले रही रही थी- अहह अंह … ओम्हा … उंहमाँ … और चूसो … मेरे बेटे … आह इतने दिन से तुझे क्यों नहीं पा सकी … आह.

इस घर में तो तीन मस्त-मस्त चूत हैं और तू झांटू आदमी लंड की मुठ मार रहा है.

शायरा तो एक बार झड़ भी गयी थी … मगर मैं अपने आप‌को काफी देर से रोके हुए था … इसलिए मेरा चरम अब नजदीक आ गया था. अब मेरे सामने दोनों रंडियां नंगी थी अपनी गांड को खोल के … तब मैंने बजे संजना की गांड में लौड़ा दे दिया और शीना की चूत में अपनी उंगली डालने लगा. एक सुनार के यहां जाकर मैंने सुधा के लिए उसकी पसंद के करीब 2 लाख के गहने खरीदे.

इस धक्के से सर का मूसल लंड मेरी छोटी सी चुत को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया. फिर मैं अपने लैपटॉप में मां बेटे की चु़दाई वाली वीडियो मतलब पोर्न देखने लगी थी. वो आरिषा भाभी के पास आया और बोला- भाभी क्या हुआ … आज भैया इतने गुस्से में क्यों गए?आरिषा- कुछ नहीं रामू, तुम अपना काम करो.

उसका हाथ मेरी गर्दन पर आया और उसने मुझे अपने सीने में ब्रा के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया.

चूंकि उनका आपस में ये तय था कि सेक्स नहीं करेंगे इसलिए उन्होंने अपने आपस के वायदे को निभाया. मुझसे जो भी जुड़े हैं या मैं जिनसे भी मिला हूं, मैं उनकी गोपनीयता भंग नहीं कर सकता हूँ. हैलो फ्रेंड्स, मैं आपकी रूपा अपनी चुत की प्यास न बुझने वाली सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उसको पलंग पर लेटा दिया और उसको किस करना शुरू कर दिया. हम दोनों का मन करता था कुछ करने का … पर मिलने का मौका नहीं मिल रहा था. मैंने अपने फार्म हाउस में साफ सफाई करवाई और जब भी मिलना होता तो वहीं पर मिलते।प्रिया अब मेरे मोटे लंड को लेने की आदी हो गई थी।वो चुदाई के लिए कभी भी मना नहीं करती थी क्योंकि उसे इसमें काफी मजा आने लगा था।इसी तरह मैं जब भी उसे फार्म हाउस चलने के लिए बोलता तो वो तैयार रहती है।हम दोनों लगभग डेली सेक्स करते थे.

मैं अच्छी तरह से समझ चुका था कि मेरा वास्ता काम के मोहपाश में बंधी एक अल्हड़ लड़की से हुआ है और इसकी वासना की आग को अच्छी तरह से शान्त नहीं किया गया तो यह जगह जगह जाने लगेगी, इसलिए मैंने बिन्नी की जबरदस्त तरीके से चुदाई करने का प्लान बनाया.

फिर कुछ दिन की फुर्सत हो जाती और वो मेरे पक्के गुलाम की तरह मुझे खुशियां देना शुरू कर देता. थोड़ी देर चुदाई होने के बाद मैंने पूरा लंड जोर लगाकर धकेल दिया और उसकी चूत ने मेरा पूरा लंड ले लिया.

बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो मैंने अपना पर्स निकालकर झूठमूठ में एक‌ बार तो पर्स की तरफ देखा, फिर जल्दी से शायरा के पर्स को खोलकर देखने लगा. मलीहा अपने पांवों से मेरे सर को अपनी चूत पर दबाए जा रही थीं और मेरे लंड को जोर जोर से चूसने में लगी थीं.

बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो दोस्तो, आज मैं आप सबके साथ अपनी कॉलेज की उस वक्त की कहानी साझा कर रही हूँ, ज़ब मैं कॉलेज में अपनी ग्रेजुएशन के फर्स्ट ईयर में थी. डॉगी स्टाइल में मुझे सर का लंड अपनी चुत में पूरा अन्दर बाहर होता हुआ महसूस हो रहा था.

पिछले दो भागों में अब तक आपने जाना था कि मेरी रैंगिंग आदि के चलते मुझे आयशा के बारे में कुछ और जानकारी भी हो गई थी.

सेक्सी नँगा सन

उसके बाद क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राज है और मैं रोहतक (हरियाणा) से हूं. कभी संजू विक्रम के होंठों को अपने मुँह में कैद करती, तो कभी विक्रम संजू के कोमल होंठों को अपने मुँह में कैद कर लेता और चुभलाने लगता. स्वाति भाभी अब कुछ देर तो शांत रही फिर बोली- वो मम्मी तो गुड़िया (सपना भाभी की बेटी) को लेकर मन्दिर गयी हैं … और घर में मैं अकेली ही हूँ!भाभी ने‌ अब हल्का सा अपना चेहरा बाथरूम‌ से बाहर निकालकर मेरी तरफ देखते हुए कहा।उसने इस बार ‘घर में मैं अकेली‌ ही हूँ’ इस बात पर कुछ ज्यादा ही जोर देकर कहा था.

फिर मैंने अपने लन्ड को उसके हाथ में दे दिया।लन्ड की फूली हुईं नसें साफ-साफ दिख रही थीं और सुपारा फूलकर बहुत बड़ा हो गया था. वो अपने मां बाप की इकलौता बेटा था। बाद में जब उसकी फोटो देखी तो मुझे हंसी आ गई. अब जब पति नहीं रहे और मेरे अन्दर वासना भड़क उठी, तो मेरे जेहन में वही आदमी आने लगा.

थोड़ी देर ऐसे ही करते हुए उन्होंने अपनी जुबान मेरे मुंह के अन्दर धकेलने के कोशिश करी.

इस सब की वजह से मेरे लोड़े को खड़े होने में ज्यादा देर नहीं लगी और वह शीना के मुंह में ही खड़ा हो गया. दस मिनट तक लेटा रहा और जब वो शान्त हो गयी तो मैंने उसको प्यार से चूमा और धीरे धीरे लंड को चलाने लगा. इतना कहते ही अंकल ने एक झटके के साथ आधा लंड मॉम की चूत में उतार दिया.

अगले दो दिनों बाद अशोक को 10 दिनों के लिए सिंगापुर जाना था और इसी बीच मेरे सास और ससुर भी वापिस जाने की तैयारी करने लगे. मैंने उनके लंड पर हाथ फेरा, एक दो बार लंड की मुट्ठी सी मारी, तो उन्होंने मेरा हाथ हटा दिया. वो कुछ देर लन्ड के साथ खेलती रही। उसको चूमती और बोलती- मेरा राजा बेटा!मैं उसकी तरफ देखता और हंस देता।फिर हम दोनों उठकर एक दूसरे को साफ करने लगे और फिर हमने अपने कपड़े पहन लिये.

मैंने वैसे ही पीछे से उसकी फुद्दी में लंड डाल दिया और उसके मम्मे पकड़ लिए. ये मुंबई में रहती है और चुदाई में अपनी मां से दो नहीं चार कदम आगे है.

मेरी ये चालाकी देख शायरा के चेहरे पर भी फिर से मुस्कान आ गयी मगर उसने अब कुछ कहा नहीं. पूरी चुदाई करके उसने अपना पानी चुत में छोड़ा और खुश होकर वापिस बाहर निकाला. फिर मैंने एक बार फिर से उसके लंड को बाहर खींचा और दोबारा से अंदर ले लिया.

इस सबसे ज्यादा बुरा यह हुआ कि रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण गोपाल का कमर से नीचे का शरीर निष्क्रिय हो गया.

मैंने ध्यान दिया भैया जब भी जोर का धक्का लगाते तो फिच्च की सी आवाज आती और उसके साथ ही भाभी की एक मीठी आह सी निकलती। थोड़ी देर इसी प्रकार धक्कमपेल करने के बाद भैया थोड़े से ऊपर उठ गए और अपने लंड को भाभी की चूत से बाहर निकालने लगे।क्या हुआ?” भाभी ने उनकी कमर पकड़ कर नितम्बों को अपने ओर दबाते हुए पूछा।एक मिनट रुक. संडे के दिन वो थोड़ा देरी से नहाती थी और कमरे से बाहर भी दो-तीन बार आती थी. मैंने कहा- चलो देखता हूँ … होटल चलोगी?वो बोली- न बाबा … उधर मुझे डर लगता है.

वो भी अप्सरा जैसी सुन्दर लड़की पायल की सफाचट चुत की चिपकी हुई फांकों में मेरा लम्बा मोटा लंड घुसेगा, तो उसकी चुत को फाड़ ही देगा. रात्रि के 11 बजे मुकेश और संगीता कमरे में बिलकुल नंगे बैठे एक दूसरे से खिलवाड़ कर रहे थे और चुदाई की तेज तेज कामुक सिसकारियों की आवाजें आ रही थीं.

खैर … तुम्हारी गर्लफ्रेंड कैसी दिखती है?मैं- दिखने में तो अच्छी है … लेकिन वो आप जितनी खूबसूरत नहीं है. प्रीति ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां भर रही थी, जिससे मुझे और जोश आ रहा था. जब भाभी ने अपनी साड़ी ऊपर की, तो रामू आरिषा के चिकनी टांगों को देखता रह गया.

प्रियंका चोपड़ा क्सक्सक्स

इसलिए मैं खुद उससे चिपक गयी और बोली- डॉक्टर … मैं अपनी चूची का इलाज कराने आपके पास आयी थी, लेकिन इलाज के बाद जब मैं घर जाती हूं, तो बहुत बेचैन रहती हूं.

मेरे पास बहुत से ईमेल आते हैं, उनमें सब यही कहते हैं कि यार हमें भी चुत दिला दो. इससे आरिषा भाभी चिल्लाने लगीं- आयऊ … उऊहह आअहह … आराम से हह आअहह रामू … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ. वो क्लास की छात्राओं के मोबाइल नंबरों की लिस्ट थी, उस पर कॉल करके उन्हें बोलना था कि कल नहीं आना है.

मगर मुझे क्या पता था कि आज मुझे इससे ज्यादा और भी कुछ मिलने वाला था. तो वो बोली- मेरी माँ कभी भी ऊपर आ सकै है और तुम दिख गए तो फिर देखना क्या शामत आ जायेगी!मैं बोला- इतनी देर में तो किस हो भी जाती यार … जल्दी कर … इधर आ जा हमारी छत पर और किस दे दे फटाफट. सेक्सी वीडियो दिखाइए 2019 काशायरा भी मेरी जीभ को चूस चूस कर अपना सारा रस मुझसे वापस खींचने लगी.

रिचा की कुंवारी चुत को सहलाते सहलाते मैंने अपना पैंट निकालकर एक तरफ फैंक दिया. खैर मैंने लेट कर सपना को धीरे धीरे अपने लौड़े पे बिठाया और अंजू को अपने मुंह पे बैठने को कहा.

मैं झट से उसे नीचे करके सुपारे को मुँह में रखा और एक जोरदार झटका मारा. पायल- आआहह … और जोर से चोदो … आह बहुत मजा आ रहा है आह अन्दर तक पेलो … आह फाड़ दो. तीन दिन के अन्दर फैसला आने वाला है, परंतु कॉलेज प्रशासन खुद तुम्हें संपर्क करेगा.

मगर मेरे पर्स में एक पर्ची थी, जिस पर मकान मालकिन का पता और उनके घर का फोन नम्बर लिखा हुआ था. कभी होंठों पर, कभी गाल पर, कभी कान पर, कभी गरदन पर … मैंने उसे बहुत चूमा … सच में बड़ा मज़ा आ रहा था. बेटी मैं भी आया … आह्ह … ओहह् …” महेश भी अपनी बेटी के झड़ने की वजह से उसकी चूत के सिकुड़ने से अपने आप को रोक न सका और वह अपने लंड को अपनी बेटी की चूत में जड़ तक घुसाकर झड़ने लगा।ज्योति अपने पिता के गर्म वीर्य को अपनी चूत की गहराइयों में महसूस करते हुए अपने पिता से लिपट गयी और मज़े से सिसकारियां लेते हुए अपने पिता के गर्म वीर्य को अपनी चूत में पिचकारियां मारते हुए उस अहसास का मजा लेने लगी.

लेकिन जब उसने अपने पति को मेरी बीवी के जिस्म के साथ मस्ती करते हुए लिपटते देखा तो उसने भी धीरे-धीरे अपने जिस्म को मेरी बांहों में समा जाने दिया.

चुदक्कड़ तो मैं थी ही, शादी के बाद अशोक ने मेरी चुत खूब अच्छी तरह से बजाई और वो हर बार मेरी चुत में अपने लंड का रस भरता रहा. मैं सिर को पटकती रही और उसने पूरा लंड मेरी चूत में धकेल धकेल कर उतार दिया.

रात को पिंकी ने धीरज से पूछा- सच बताना कि तुम्हें उस रात अपने पार्टनर के साथ मजा आया?धीरज बोला- हाँ … अच्छा लगा. मैंने उसी अनिश्चितता के भाव से जब उनकी तरफ देखातो उन्होंने मेरे हाथ को और जोर से पकड़ लिया. स्वाति भाभी ने भी अब एक दो बार तो अपनी गर्दन व होंठों को छुड़ाने की कोशिश की मगर फिर वो भी शांत हो गयी.

मैं- क्या तुम मनोज को पसंद करती हो? मेरा मतलब है कि लाइफ पार्ट्नर के रूप में!उसने कहा- जी भाभी. मैंने उसे समझाया कि चुत एक अंधा कुआं जैसी होती है, जो सब कुछ अपने अन्दर समा सकती है. मैं तेरे बूब्स चूसना चाहता हूँ और तुझे नंगी करके अभी चोदना चाहता हूँ.

बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो वो बहाने बनाने लगा और बोला- ये क्या कह रही है छोटी, कैसी बातें कर रही है तू?उसको आईना दिखाने के लिए मैं अपनी पैंटी को निकाल लाई. उसने पूछा- क्या … बताओ तो?तो मैंने बोला- बाद में बता दूँगा … और उसे मेडिसिन कैसे लेनी है, वो बता दिया.

प्रियंका चोपड़ा सेक्सी पिक्चर

दीपा ने सिगरेट ले ली और एक लम्बा कश खींच कर धुंए का गुबार सुनील के ऊपर छोड़ दिया और मुस्कुरा दी. मैं चाची पर आक्रमण करने लगा और उन्हें नीचे गिरा कर अपना लंड उनकी चुत के ऊपर रख दिया. मेरा लंड अभी भी बिल्कुल टाईट था, लेकिन मैं जल्दी जल्दी में अपनी पैंट की ज़िप लगाना भूल गया था.

मेरी एक सहेली रीमा भी थी, वो भी सर को लाइन मारने में कमी नहीं करती थी. अब मैंने उसे घोड़ी बना कर गांड चोदना शुरू कर दिया और उसकी गान्ड में थप्पड़ मारने लगा।वो चिल्लाने लगी- राज … आह्ह … और चोदो … आह्ह फ़ाड़ दो मेरी गान्ड।मैं बोला- भाभी … आज मैं आपको इतनी चोदूंगा कि आपकी चूत रोने लगेगी. xxx.iii वीडियो सेक्सी मेंआप तो जानते ही हैं कि जब 18 साल के बाद की जवानी उभरकर आती है तो चेहरे पर अलग ही नूर होता है.

कुछ देर बाद मैंने शावर बंद किया और कैंची से झांटों को काटने लगी।झांटें काटने बाद मैंने क्रीम लगायी और फिर अपनी चूत मसलने लगी.

उसके इस तरह से लंड चूसे जाने से मैं भी आश्चर्य में था कि इसने पूरा लंड मुँह के अन्दर कैसे ले लिया. मैंने पूछा- बात कहां तक पहुंची?उसने कहा- बस फोन तक बातचीत करने तक ही.

फिर धीरे धीरे बातें फोन पर पप्पी सप्पी की होने लगी और बातों का सिलसिला बढ़ता गया. कमलेश जोर जोर से चोदने लगा- ले मादरचोदी रंडी ले … ले छिनाल लंड ले …उसने चुदाई की स्पीड और तेज कर दी. वो बोला कि तुम्हें देख कर तो किसी का भी मन तुम्हें चोदने को हो जाये.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो उसने चुत पर हाथ रख कर कहा कि इसी को साफ़ करने तो गई थी.

फिर वो चला आया और शाम को जब मैं कपड़े उठाने गयी तो वहां पैंटी नहीं थी. मैंने धीरे धीरे उसकी चूत पर अपने दूसरी उंगली से से उसके क्लाइटोरिस तो सहलाना शुरू कर दिया प्रीति गर्म होने लगी. यह बात उसने मजाक में कही थी तो पीछे से दीपा ने एक धौल लगा दिया उसके!घूम फिर कर डिनर करके रात को 11 बजे सब लोग लौटे.

ब्लू सेक्सी वीडियो मारवाड़ीआप सब मेरा साथ दें और बतायें कि कहानी में कहां पर कमी रही और कहां कहां सुधार की गुंजाईश है. ’ की कराह निकल‌ गयी और एक मस्त सी सिहरन मुझे उसके जिस्म से उठती सी महसूस हुई.

बिना कपड़े की लड़कियां

एक बार सेक्स की बात शुरू हुई, फिर तो ज्यादातर हमारा फ़ोन सेक्स होना शुरू हो गया. मैंने जैसे-तैसे दिन काटा और शाम होते ही मेडिकल से एक कंडोम का पैकेट ले आया. तुमने देखा नहीं सुनील का लंड कितना खड़ा हो गया था तुम्हें नाईट ड्रेस में देखकर.

मैंने उसको नीचे उतारा और उसको कुतिया बनाकर उसकी गांड के छेद को चाटने लगा. वो मूवी एक तो नयी नयी ही रिलीज हुई थी … ऊपर उस समय वो काफी चर्चा में भी थी, इसलिए मैंने भी टीवी को उसी चैनल पर लगा लिया. अब वो नकली लंड मेरी गांड में अंदर बाहर हो रहा था और मेरा छेद फटा जा रहा था.

वह सेक्सी चुटकुले भी बोल देता, सेक्स की बातें भी करता था।मैं उससे बात करती हूँ ये बात मम्मी को नहीं पता थी. वह भी कहने लगी- यार आ जाओ ना! मैं भी तुमसे मिल लूंगी।जब उसने बहुत ज़िद की तो मैंने दीदी से बताया और कहा कि रोहित की मामा की लड़की मिलने के लिए बुला रही है. सीमा बोली- अगर सब को ठीक लगे तो क्या लाईट धीमी कर लें?नायरा हंस कर बोली- कर तो ले धीमी … पर राहुल को सताना मत ज्यादा, वर्ना वो आज नहीं छोड़ेगा.

फिर मैंने अपनी एक उंगली भाबी की चूत में डालनी चाही, पर गलती से उनकी जीरो (गांड) में चली गई. पर इसका मतलब यह तो नहीं कि इतना बेदर्दी से लूँ?? प्यार से लेना था मुझे … पर तेरे जैसी कुत्तिया अगर हो तो क्या करेंगे? पर मैं चार्ली के लिए हर एक तकलीफ उठाने के लिए राजी हूं.

साथ ही मेरी सभी प्यारी फीमेल फ्रेंड्स भी अपनी चुत को खूब टांगें उठवा कर चुदवा रही होंगी.

[emailprotected]सेक्सी वाइफ की कहानी का अगला भाग:मेरी दूसरी बीवी संग सुहागरात- 2. हिंदी सेक्सी वीडियो जंगल मंगलवो सब मैं आपको इस कहानी में नहीं बता सकती हूं क्योंकि कहानी बहुत लम्बी हो जायेगी. इंडियन हीरोइन का सेक्सी फोटोउसका लंड लोहे की गर्म रॉड सा मेरी चुत को चीरता हुआ अन्दर घुसता जा रहा था. शायद उसने कभी सेक्स नहीं किया था, क्योंकि उसका चुत की फांकें चिपकी हुई थीं.

मेरा भाई लूसी के बूब्स को चूस रहा था और वो हल्की हल्की आहें भर रही थी.

फिर धीरे धीरे बातें फोन पर पप्पी सप्पी की होने लगी और बातों का सिलसिला बढ़ता गया. मैंने ए सी कम किया और उससे लिपट कर सो गई।कैसी लगी मेरी कहानी? कमेंट्स करें और मेल में बताएं. फिर मैंने उसकी गोद से उठ कर मोबाइल में टाइम देखा, तो अभी दस ही बजे थे.

वो- अब क्या है?मैं- कुछ नहीं, मैं तो बस ये पूछ रहा था कि रात को कब तक आऊं?वो- क्यों?मैं- अरे खाना खाने और क्यों?वो- अच्छा अब रोजाना की आदत ही बना ली!मैं- इसमें आदत क्या करेगी. पायल किलकारी भरती हुई बोली- आंह हां … और अन्दर पेलो … आह अब से मैं आपकी ही हूँ … बहुत परेशान किया है इस चूत ने … आज अपने लौड़े से इसकी जमकर चुदाई करो. अगर आप जबरदस्ती किसी के साथ ऐसा करते हैं, तो यह न आपका हक है और न ही उसकी सहमति है.

सेक्स मेनिया

बस अपनी गति से चल रही थी और अभी तक हम मुंबई शहर से बाहर निकले नहीं थे. मैंने उसके दोनों कंधों पर काट लिया और वहां लव बाईट्स के निशान पड़ गए. इस तरह हमने कुछ देर तक एक दूसरे की चुसाई करने के बाद कहा- चलो अब चुदाई करते हैं.

वो चारों एक कमरे में चले गए और कमरे का दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया.

वो भी मेरी जिप की ओर देखते हुए फिर से बोली- मुझे भी देखना है कि लगाने के बाद कैसा लगता है?मैंने फिर पूछा- तू सच में लगाकर देखना चाहती है, सीरियसली बिल्कुल?वो बोली- हां, मैं मजाक नहीं कर रही.

मार्च-अप्रैल महीने में हमारी तरफ रोजगार का साधन नहीं रहता तो हम लोग महुआ संग्रहित करने जाते हैं जिससे शराब बनायी जाती है।मैं और बड़ी चाची हर वर्ष सुबह 5 बजे उठकर जाते थे. मामी बोलीं- अब मेरी चूत में लंड डालो ना!मैंने कहा- मामी कंडोम लगा कर चोदूं … या बिना कंडोम के ही रगड़ दूं?मामी ने कहा- ऐसे ही चोदो राजा … मैंने नसबंदी करवा ली है … कोई फर्क नहीं पड़ेगा. मधु का सेक्सी विडियोमैंने अपने लंड का मुँह उसके नितम्बों की घाटी से होते हुये उसे अपने गंतव्य स्थान तक ले गया.

इस तरह दस मिनट में ही अविना का शरीर अकड़ गया और वो धड़ाम से मेरे सीने पर गिरने लगी. उसके बाद मुकेश भी फ्रेश हुआ और दोनों एक दूसरे की बांहों में नंगे ही सो गए. मैं अपने को बड़ा किस्मत वाला मान रहा था कि उसकी वजह से डॉक्टर साहब की मुझसे मरवाने की इच्छा हुई.

” कहते हुए मैंने रेखा का गाऊन कमर तक उठा दिया और अपना टॉवल खोल दिया. मुकेश संगीता की पपीते जैसी चूंचियों को निचोड़ कर बोला- और तेरी बहन, साली उसको तो बुला ले, उसी को चोद दूंगा.

उसकी पोजीशन अब ऐसी हो गई थी कि उसका एक पिछवाड़ा सीट पर था और एक पिछवाड़ा ड्राइवर साइड में हवा में था.

डॉक्टर साहब की गांड मारने में मैं ऐसा मस्त हुआ कि मैं उनकी चूमा चाटी भूल गया. राहुल का लंड दिखने में मेरे लंड जितना ही था … शायद इसलिए मुझे कभी शिल्पा की चुत चोदते हुए पता नहीं चल पाया कि इस चुत में मेरे अलावा और किसी का लंड भी घुस रहा है. फुद्दी और लंड की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी गर्म चुत लंड मांग रही थी और इसे भाभी के भाई का लंड मिलने वाला भी था.

सेक्सी पिक्चर गडर उसकी चूत से अब पच पच की आवाज आ रही थी और उसकी चूत से पानी निकल कर उसकी सांवली मखमली जांघों पर बह रहा था. तभी विक्रम ने संजू के दोनों बाजुओं को पकड़कर उसे बड़े प्यार से बेड से नीचे खड़ा किया और अपने आगोश में भर लिया.

मुकेश की इस दोहरे मजे से सिसकारी रुकने का नाम नहीं ले रही थी- आआह डार्लिंग … मेरी जानेमन, तू सच में चुदैल नंबर वन है … आआह साली रंडी मेरी रखैल … मेरी कुतिया … आह अब बस भी कर मेरी चुदक्कड़ छिनाल. मैंने उनकी आंखों में देखा, तो मुझे एक अजब सी संतुष्टि का भाव दिख रहा था. धीरे धीरे अंडरवियर अंकल की मोटी जांघों से होकर नीचे उतर गया और उन का आठ इंच का लंड फुंफकार मारता हुआ आजाद हो गया.

लड़कियों के चुत

खैर, मैं झटके पे झटके दे रहा था तो ज़ारा झड़ने लगी और नीचे होने लगी. मुझसे रहा नहीं गया, मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर रख दिया … इससे वो एकदम से उछल पड़ी. मैं बोली- तुम दोनों कहां चले? बीयर नहीं पीनी है क्या मेरे साथ तुम्हें?ये कहते हुए मैंने उन दोनों के सामने अपनी जांघें खोल दीं.

पर पिंकी ने अपने मन में सोचा कि इस सबमें नुकसान तो केवल रवि का ही हुआ. थोड़ी देर बाद मॉम ने मेरा लंड अपने मुँह में लेकर पूरा साफ कर दिया और मुझे कपड़े पहना दिए.

’ फिर संभल कर बोली- चल झूठी … हम ऐसा वैसा कुछ नहीं कर रहे थे … वो तो वो तो …स्नेहा एकदम से हंसते हुए बोली- क्या ऐसा वैसा मॉम?संगीता उसकी बात समझ कर बोली- मार खाएगी तू किसी दिन, चल उठ देर हो रही अब.

लेकिन मेरी नजर अब भी उसके लौड़े पर अटकी हुई थी और विजय ने ऐसा करते हुए मुझे कई बार पकड़ लिया. जब से गोपाल बिस्तर पर पड़ा था, मीरा अक्सर अपनी समस्या लेकर आया करती थी लेकिन यह समस्या तो बड़ी विकट थी. मैंने जोर से झटका मारा, तो लंड का आगे का हिस्सा सास की गांड में घुसता चला गया.

रिचा ने एक शिकारिन की तरह लंड को अपने मुँह में भर लिया और वो उसे अन्दर लेकर चूसने लगी. दरअसल ये भी मेरी एक फंतासी थी कि जब कोई दूसरा आदमी मेरी बीवी को चोदकर अपना माल उसकी चूत में गिराकर हटे … तब उसी वीर्य से भरी चूत में अपना लंड घुसा कर मैं भी अपनी बीवी की चुदाई करूं. फिर अब जब काफी दिन के बाद लॉकडाउन थोड़ा खुला तो मैंने अपने पति से अपना वजन घटाने के बारे में बात की.

आपको इस देसी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी में मजा आ रहा है ना?[emailprotected]देसी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी का अगला भाग:कमसिन पहाड़ी लड़की की बुर चुदाई- 2.

बीएफ सेक्स फिल्म वीडियो: बड़ी मुश्किल से उस रात मैंने अपने आप पर काबू पाया और हम दोनों के बीच थोड़ी बहुत बातचीत हुई और हम लोग सो गए. सच बताऊं यह जिंदगी में पहली बार था, जब मैं किसी औरत के स्तनों को सामने से देख रहा था.

वैसे तो मुझे हल्की घबराहट हो रही थी क्योंकि मनीष कभी रात को मेरे पास नहीं आता था. कुछ पल बाद रामू भाभी के ऊपर आ गया और आरिषा भाभी की चूचियों पर किस करने लगा. रेखा बोली- कैसे हो?मैंने कहा- ठीक नहीं था, लेकिन शायद अब ठीक लग रहा है.

मुझे उम्मीद है कि आपने मेरी इस देवर भाबी Xxx कहानी का मजा लिया होगा.

जैसे ही लंड घुसा … वो बहुत जोर से चिल्लाने लगी- आह … मेरी फट गई … आहह आआअहह … प्लीज़ इसे बाहर निकालो … मैं मर जाऊंगी … उफ़फ्फ़ आहह आआहह…उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे थे, लेकिन मैं नहीं रुका. तभी श्रेया मैडम मेरी तरफ मुड़ीं और कहने लगीं- और बताओ … कैसा लगा कॉलेज?मैंने कहा- बढ़िया है मैडम. मेरी नजरें चिपक गयी उसकी चूचियों पर।उसने अचानक मेरी तरफ देखा और वो समझ गयी कि मैं क्या देख रहा हूँ, वो मुस्कुरायी और अपने टॉप को थोड़ा खिसकाया और लिखने लगी।अब उसकी चूचियों का दीदार नहीं हो रहा था तो मेरी नजर उसकी गांड पर गयी।टाइट जीन्स पर उसकी गांड की गोलाई ने मेरे लंड को खड़ा कर दिया.