हिंदी में बीएफ बीपी

छवि स्रोत,देसी सेक्सी गांव वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

डिलीवरी की सेक्सी वीडियो: हिंदी में बीएफ बीपी, वैसे तो हमें सेक्स में ठीक-ठाक मजा आता है पर हम लोग जब किसी पराये के साथ सेक्स करने की बात करते हुए सेक्स करते हैं तो मेरा मन बहुत ही चंचल हो जाता है और मुझे किसी दूसरे के साथ सेक्स करने का मन होने लगता है.

ब्लू पिक्चर सेक्सी पिक्चर सेक्सी

मैंने अपने हाथ उठा कर एक ज़ोरदार अंगड़ाई ली और मेरा हाथ उसके चेहरे से टकराया तो मैंने सॉरी बोल दिया. चोदा चोदी फिल्म दीजिएहालांकि चाची के बेटे की उम्र 4 साल ही थी, पर फिर भी उसके सामने ये सब करना गलत तो था ही.

अब मेरी चूत में बहुत सी हलचल हुई और मैंने अपनी आवाज़ छुपाने के लिए खाँस दिया. कैटरीना कैफ xx फोटोचूंकि मैं पढ़ने में काफ़ी अच्छा हूँ इसलिए मैं 11वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को टयूशन भी पढ़ाता हूँ.

गुलशन जी समझ गए कि सुमन को सेक्स फोबिया है यानि इंसान किसी भी चीज का वहाँ अपने मन में तय कर लेता है, फिर वही उसका डर बन जाता है.हिंदी में बीएफ बीपी: मनोज ने अपना लंड मेघा की चूत में से निकाल कर उस के बूब्स पे अपना पानी छोड़ दिया और उसे लिप किस करने लगा.

मैं भाभी के एक चूचे को मुँह से चूसता और दूसरे वाले चूचे को अपने हाथों से मसलता रहा.मैंने रोहन को इशारे से कहीं जाने के लिए कहा था कि मुझे सरिता से बात करने का मौका मिले, रोहन के जाते ही मैं सरिता के पास बैठ गया और उसकी तारीफ करने लगा.

साडी मे चुदाई - हिंदी में बीएफ बीपी

संजना की चुत बिल्कुल सफाचट थी क्योंकि मैं जब भी उससे बात करता था तो उसे बोलता था कि हम जब भी मिलेगें तो अपनी चुत के बाल साफ करके आना, मैं तुम्हारी चुत चाटना चाहता हूँ.मैं उसकी चूत के होंठ खोल कर अंदर तक चाट रहा था, मुझे बहुत मजा आ रहा था.

मॉंटी- क्यों दीदी ऐसा क्यों और लूली से कैसा रस निकला था?टीना- सुन मेरे भाई. हिंदी में बीएफ बीपी ये दोनों ऐसे ही सेक्सी गर्म बातें करने लगे और इनकी बातें सुनकर सुमन का हाल बिगड़ने लगा, मगर वो अभी भी छुपी हुई थी.

तू जब तक ट्राइ नहीं करेगी, तुझे पता कैसे लगेगा?सुमन- आपकी बात सही है मगर अभी नहीं.

हिंदी में बीएफ बीपी?

मैंने रोहन को इशारे से कहीं जाने के लिए कहा था कि मुझे सरिता से बात करने का मौका मिले, रोहन के जाते ही मैं सरिता के पास बैठ गया और उसकी तारीफ करने लगा. क्योंकि पहली बार मैं ये सब कर रहा था तो डर के मारे मेरा गला सूख रहा था. उन्होंने मेरी तरफ बड़े प्यार से देखा तो मैंने धीरे से आगे बढ़ कर उनके तपते होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

मैंने कहा- थोड़ा और चूसो… तब बोलना!ऋतु ने भी उसे उकसाते हुए कहा- हाँ हाँ चलो थोड़ा और चूसो पूजा… देखते हैं क्या होता है. जब मैं उसके कमरे में गया तो वो बोली- किसी के कमरे में जाने से पहले नॉक कर लेना चाहिए. फिर उसने मेरी गांड पे लंड रखा और बिना कुछ लगाए सूखे लंड से ही एक जोरदार धक्का मारा और लंड मेरी गांड को ककड़ी की तरह चीरता हुआ आधा लंड गांड में घुस गया.

इसी बीच जब सभी कैटवॉक करते हुए अपने कपड़े उतार रहे थे तो रोहिणी मेरे लंड को पकड़े हुए उसे मसल रही थी और अपनी गांड को उससे सहला रही थी. तुमने देखा कि मेरी नींद नहीं खुली तो तुम मेरे एक चूचे को मुँह में लेकर चूसने लगे और दूसरे को दबाने लगे. राहुल ने अपना लंड मेरे होटों से सटा दिया तो मैंने भी तुरंत उसे चूसना चालू किया.

अब एक बाप के अन्दर धीरे-धीरे शैतान जाग रहा था, वो सोच रहे थे कि सुमन नादान है, इसे क्या पता चलेगा. हालाँकि रीना के साथ रह कर कविता भी बहुत बोलने लग गयी थी, वो मजाक में रीना को धक्का देकर विनय से चिपट कर ही बैठती.

पण्डित जी ने बारी बारी से दोनों निप्पलों को जोर जोर से चूसते हुए नीचे से थाप मारते हुए अपना लिंग पूरा मेरी योनि में प्रवेश करा दिया.

इससे वो और मस्त हुए जा रही थी, वो मुझे बोल रही थी- जल्दी डालो ना प्लीज़.

वेतन अच्छा था, दो दिन कंपनी के रेस्ट हाउस में रहने के बाद मैं अपने किराये के घर में शिफ्ट हो गई. यह सब मैंने झूठ बोला था, असल में मैं इससे पहले भी 3-4 बार चुदाई कर चुका था. यहाँ पर तो वही सब कुछ… रिसेप्शन, डॉक्टर्स के केबिन… पैथोलॉजी, एक्स रे, मेडिकल… यही सब था.

अब सासू माँ ने लैंप की रोशनी में पहली बार अपने जमाई के बड़े लंड को अपने मुँह के सामने तन्नाते हुए देखा. उसने पूछा- क्या हुआ?तो मैंने उसे बताया कि कैसे उसने मुझे पूछा कि ‘एक रात का कितना लोगी तुम दोनों?’हम दोनों एक साथ हंस पड़ी. ये लंड आपकी चुत की सेवा के लिए ही है।भाभी बोलीं- मैं जब भी फ्री रहूंगी आपको फोन करके बुला लूँगी.

”फ़िर चन्दन ने संगीता को दीवार से सटा कर बिस्तर से उठा लिया, चंदन ने अपनी टांगें अपनी सासू माँ की क़मर पर बाँध दीं और अपने लंड को सास की चूत में घुसेड़े रखा.

तभी मैंने अपनी जुबान उनके मुंह में डाली और वो मेरी जुबान को चूसने लगी. मैंने कहा- मंजीत तुम्हें एक बात बताऊँ, मैं सारी दुनिया से चोरी, सबसे छुपा कर सेक्सी कहानियाँ लिखता हूँ. बातों बातों में मेरी ने कहा- आप को मालूम है, रिसोर्ट ने रूल के मुताबिक आपका आधा बिल आपके बैंक खाते में लौटा दिया है और आपके लिए मेरे पास कुछ गिफ्ट भी भेजा है.

‘आप जानते नहीं तिवारी जी, यह कहकर आपने मेरे मन का कितना बोझ हल्का कर दिया, आज जब शाम को प्रिया आएगी, तो फिर हम दो सहेलियाँ फिर से एक साथ वो लेस्बियन वाला रोमांस कर सकेंगी… थैंक यू, सो मच तिवारी जी, आई लव यू!’ यह बोलते हुए अनीता ने तिवारी के गाल पर एक पप्पी दे दी, तिवारी को इसकी कल्पना भी न थी लेकिन इसके साथ साथ जो अनीता उसको लेस्बियन लव की बात कर रही थी उसकी भी कल्पना न थी. सरिता के मुख से ‘ग्ग्ग्ग ग्ग्ग्ग गी गी गी गोगो गोग…’ जैसे आवाज निकाल रही थी और रमेश को स्वर्ग का सा मजा आने लगा- आह्ह्ह इह्ह ह्ह ओह ह्ह्ह ओह्ह… आह्ह ह्ह्ह्ह इह्ह. वो मस्त हो कर तड़पने लगीं और कहने लगीं- अह… अब रहा नहीं जाता… अपना लंड डाल भी दो करन… नहीं तो मैं मर जाऊंगी.

मैं उसे चिपक गया और उसके मम्मों को मुँह में ले कर चूसने लगा और उसकी बुर पे हाथ फेरने लगा.

हाँ हाँ, सबको बुला लो और मुंडन के बाद अपनी पिंकी की मुंह दिखाई भी करवा लो. उसका एक हाथ मेरे सिर को कस कर पकड़े था और दूसरा मेरे बदन पर ऊपर से नीचे घूम रहा था.

हिंदी में बीएफ बीपी फ्लॉरा- सस्स आह भाई… ठीक से करो ना उफ़ थोड़ा और ऊपर करो आह वहां बहुत जलन हो रही है ससस्स प्लीज़ करो जल्दी. जब किसी को आपके लंड से चुद कर खुशियाँ मिलतीं है तो ऐसी खुशियाँ मैं हर एक असंतुष्ट महिला या लड़की को देना चाहूंगा.

हिंदी में बीएफ बीपी और तेरी आँखें सूजी हुई क्यों हैं? जीजू से झगड़ा हुआ क्या?मोना- अरे नहीं ऐसा कुछ नहीं है. दोस्तो आपने मेरी भाई बहन चुदाई स्टोरी में अब तक जाना कि मेरी चचेरी बहन अनुराधा मेरे साथ पूरा मजा लेते हुए ओरल सेक्स करने लगी थी.

‘पर मेरा अभी नहीं हुआ है चाची, मुझे चोदने दो अभी!’चाची बोली- ठीक है चोदना शुरू कर और पिला दे अपना पानी मेरे चुत को!मैंने चाची की चुत में लंड हिलाना शुरू किया.

नाच मेरी रानी गाना

जीभ अन्दर डाल कर नाभि को खूब अच्छे से चूसा- तुम्हारी चूत से मस्त खुशबू आ रही है जान. इस पर राहुल ने भी हां में हां मिलाई और मेरे बूब्स को दबाना चालू रखा. एक दिन हम दोनों रात में 3 बजे बात कर रहे थे, तभी वो बोली- विक्रम क्या तुम अभी मेरे घर आ सकते हो?मैंने कहा- इतनी रात में?क्योंकि उसका घर मेरे घर से दूर था और जिस कोलोनी में वो रहती थी उसमें उसका घर लास्ट था तो मैंने बोला- इतनी रात को?तो बोली- आ जाओ ना… तुम्हें देखने का बहुत मन कर रहा है.

अब चंगेज़ मियां मेरी बीवी की चूत में अपनी उंगली डाल-डाल कर खेलने लगे और हमारी बीवीजान की बत्तीसी और ज्यादा खिल उठी, वो अपनी सुरीली उह-आह से स्टूडियो के वातावरण को मतवाला किए जा रही थी, लगभग सभी मर्दों के लंड पैंट फाड़ कर निकलने को तैयार थे. बहुत कोशिश करने के बाद मैं किसी तरह से मामा की बाहों से निकल पाई और भाग कर किचन चली गयी और ज़ोर से बोली- आप रूम में बैठो, मैं चाय बना कर लाती हूँ. अब उसे जो करना था, बहुत जल्दी करना था क्योंकि साधु बाबा का दिया वक़्त करीब आ रहा था.

मैं उसके सामने खड़ा हो गया और लोअर खोल कर लौड़ा निकाल कर उसके मुँह में देने लगा, उसने एकदम से मेरा लौड़ा अपने मुख में भर लिया और चूसने लगी.

मेरे हां कहने के बाद पत्नी जी ने अदिति बहूरानी को तुरंत फोन मिलाया. पहले तो मैंने ध्यान नहीं दिया, थोड़ी देर बाद मैंने कहा- यूँ मुझे ना देखो, नहीं तो कुछ हो जायेगा. फिर उसको पानी पिलाया और बेड पे अपने पास बिठा कर टीना उसके बालों में हाथ घुमाते हुए सुमन को इशारा किया कि वो जैसे कहे तू हाँ कह देना, सुमन भी समझ गई.

मुझे कई बार तो ऐसा लगा कि भाभी हॉट हो जाती हैं और वो मुझसे चुदवाना चाहती हैं. तभी जो दो लंड मेरी चुत में थे, उन्होंने भी पानी छोड़ दिया।आधे मिनट के बाद उनके लंड सिकुड़ कर बाहर आ गए. बाथरूम में एक तरफ वाशिंग मशीन रखी थी जिस पर बहूरानी के कपड़े धुलने के लिए रखे थे.

रात को गुलशन जी फिर सुमन के कमरे में चले गए और उसको बातों में लगा कर उसके जिस्म को छूकर मज़ा लेते रहे. संगीता को गुदगुदी सी हुई, जिससे वो थोड़ी छटपटाईं, लेकिन चन्दन उन्हें यूं ही जकड़ कर चुम्बन करता रहा.

जिसे देख कर गोपाल की वासना चरम पे पहुँच गई क्योंकि यही एक उसकी कमज़ोरी थी कि उसके सामने एक कच्ची कली बिना कपड़ों के आ जाए. फिर कुछ देर बाद मैंने उसकी ब्रा का हुक खोलना चाहा, तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. एक बार मेरी बेटी की सहेली हमारे घर आई, न जाने क्यों मुझे लगा, ये लड़की कुछ चाहती है.

अनीता ने तिवारी की तरफ एक सीरियस लुक देते हुए और अपने होंठ गोल करते हुए पूछा- क्या दिक्कत है तिवारी जी?‘दरअसल बात यूं है कि जब विभूति जी रात को हमारे यहाँ ठहरेंगे और आप जब अपनी लेस्बियन फ्रेंड प्रिया के साथ यहा कामुक सुख का आनन्द ले रही होंगी, उस वक़्त हम भी तो अंगूरी के साथ प्यार कर रहे होंगे न? तो फिर भभूतिजी कोई दखल करेंगे तो?’ तिवारी ने अपनी मुश्किल जताई.

काफी देर की चुदाई के बाद मुझे लगा कि मुझे अब अपना माल गिरा देना चाहिए. वो तो कॉलेज गर्ल्स या कोई मजबूर लड़की ढूँढते थे, जिससे उनको पैसे और अंकल को नई लड़की की चुत मिल जाती थी. धीरे धीरे मैं उसके और नज़दीक आ गया, अब मैंने अपना हाथ उसकी छाती पर रख दिया और उसकी बालों भारी मर्दाना छाती को सहलाने लगा.

भूख लगने लगी है।टीना की चालाकी संजय समझ गया कि फ्लॉरा सबके सामने बोलने से हिचकिचा रही है, उसने मौके की नजाकत को समझा और सबको किसी ना किसी काम में लगा दिया ताकि टीना और फ्लॉरा को अकेले बात करने का मौका मिल जाए।जब सब इधर-उधर हो गए तो फ्लॉरा ने टीना को ‘सॉरी. शहज़ाद का होंसला बढ़ा और उसने घुमा कर मेरी गर्दन में हाथ डाला और मेरा चेहरा अपनी तरफ कर के मेरे होठों पर अपने होंठ लगा दिए.

मेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे. कोमल- ये राजेश किसकी गांड चोद रहा है? क्या तुमने गांड भी चुदवा ली यार? रुको मैं तुमको स्काइप कॉल करती हूँ तब दिखाओ. मैं समझ गई कि मामा अब मेरी चूत में उंगली करने वाले थे, मैं बोल उठी- आपको जो करना है जल्दी करो, कभी भी मेरी चूत से सू सू निकल सकती है, मेरी चूत की चुदाई कर दीजिए.

जंगली जानवर सेक्सी वीडियो

गुलशन- हा हा हा… अरे वो तो तेरी बात पर मैंने दिमाग़ को कंट्रोल में रख कर इतना लंबा टाइम लिया है ताकि तुझे अपना पावर दिखा सकूँ.

एक बार तो दीदी ने हद ही कर दी, जब मैं नहा कर निकला तो उन्होंने मेरा टॉवल खींच लिया, लेकिन मैंने दुर्भाग्य से अंडरवियर पहना था. चूंकि हम खड़े थे, अतः मैंने थोड़ा नीचे हो कर पोजीशन बनाई, परंतु कैप्री टांगों में होने के कारण टांगें चौड़ी नहीं हो सकती थी इसलिए लंड चूत के अंदर नहीं घुस सका. तुम मना कर रही हो, मुझे यकीन नहीं होता!मोना- उस दिन की बात तुम भूल गए.

उसके थोड़ी देर बाद वही लड़की दो और लड़कियों के साथ और उन दोनों के साथ दो हट्टे कट्टे पहलवान टाईप के आदमी, जिसमें से वो एक भी था जो दो बार कमरे में आया था और उनके साथ-साथ एक बहुत ही खूबसूरत औरत और एक लम्बा सा आदमी जो बहुत ही हैंड्सम था. साली ऐसे चुत खुली लेकर घूमेगी तो मेरे जैसे कुत्ते का लंड खड़ा होगा ही ना उहूँ हू हूँ।पूजा- अच्छा दिखा तो तेरा लंड कितना बड़ा है और कितना मोटा है?पूजा चलकर संजय के पास आई और उसी पोज़िशन में झुक कर लंड को चूसने लगी।संजय- हा हा हा कुतिया. सस्ती घड़ीमैंने कहा- भाभी मैं उतावला नहीं हूँ … आप पहली बार घर आयीं हैं, तो आपका स्वागत भी ना करूं क्या?तो भाभी झट से अन्दर आईं और दरवाजा बंद करके मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगीं.

सोनू ने बताया कि कल उसका बहुत दिल किया तो उसने अपनी उंगली से आग शांत करने की कोशिश की परन्तु मजा नहीं आया. उसके बाद उसके दोनों हाथ पकड़ कर मैंने एक जोर का धक्का दे मारा, लेकिन चिकनाई के वजह से लंड फिसल गया.

सुमन ने बताया- यह लड़की हाथ से निकल चुकी है और उस लड़के के साथ पिक्चर देखने व बाहर घूमने जाती है, शायद यह उससे चुदवा भी चुकी होगी. उसकी कामुक सीत्कारें सुनकर तो मेरा जोश और बढ़ गया और अब मैं और तेज गति से अपने लंड को उसकी बुर में अन्दर-बाहर करने लगा. एक दिन मैं इन्स्टिट्यूट से घर आया तो देखा भाभी कंप्यूटर पर क्सनक्सक्स मूवी देख रही हैं.

उन्होंने भी इस बात को एक-दो बार नोटिस किया था, पर उनके बर्ताव में कोई बदलाव नहीं आया. दोनों बोले- ठीक है, हमें मंजूर है, और अगर तुम ये सब ना कर पाए तो तुम्हें इसके दुगने पैसे हमें देने होंगे. एकदम भरा बदन… उसके बोबे मानो कमीज़ फाड़ कर बाहर निकलने को आतुर हों.

मैं कुछ समझी नहीं दीदी?टीना- अच्छा ये बता उसका लंड चूसने में मज़ा आया था ना तुझे?सुमन- हाँ दीदी बहुत मज़ा आया था.

और जरा सी आवाज पर लौंडे कान लगाए रहते हैं।सुबह लड़के पूछ रहे थे कि कल आपके कमरे बहुत हंगामा हो रहा था।मैंने कह दिया कि गेस्ट आए थे।जब सात बजे तक लौटा तो वे लोग जाने को तैयार थे. मतलब उसको सभी जगह किस किया।उसके बाद मैंने अपना लंड उसकी चुत पर रखा और ज़ोर का झटका दे दिया तो लंड अन्दर तक चला गया। उसकी सील को तो उसने पहले ही तोड़ दिया था, तो उसको बहुत मज़ा आ रहा था। मुझे भी इतनी टाइट चुत को चोदने का मज़ा आ रहा था क्या बताऊं यारो!मैंने उसको चोदना स्टार्ट किया.

मैंने बहुत देर तक आप दोनों की हल्की आवाजें सुनी मगर कुछ समझ नहीं आया. राहुल बोला- साली रंडी, बातों से लग रहा था कि तू बहुत चोदा हुआ माल है पर तेरी गांड तो बड़ी टाइट दिख रही है. तभी अचानक कोई साया कोठरी में घुसता है और अपने पूरे कपड़े उतार कर मुझसे नंगा होकर लिपट जाता है.

मैंने कहा- सरिता जी, आप बेहद खूबसूरत लग रही है साड़ी में!वो थोड़ा शरमाई और बोली- शुक्रिया, लेकिन अब मैं जवान नहीं रही, आप तो जवान हैं. तुम ठीक तो हो?बस सविता भाभी भड़क गईं- ये अशोक भी न जाने कैसे पति हैं, इनको मुझसे ज्यादा ऑफिस पसंद है. लंड को देखते ही उसकी चीख निकल गई, उसने पूछा- ये क्या है?मैंने कहा- जो तुम्हारे हस्बैंड के पास है, वही है.

हिंदी में बीएफ बीपी फिर दोनों मम्मी पापा के आने से पहले कपड़े पहन कर तैयार हो गए और पढ़ने बैठ गए. अब उसका लंड पूरी तरह से कड़क लोहे की रॉड सा जीन्स में से झटके मार रहा था लेकिन मैंने अभी तक कुछ नहीं किया था.

हिंदी सेक्सी वीडियो मारवाड़ी राजस्थानी

अब तक की इस चोदन कहानी में आपने पढ़ा था कि सुमन अपनी माँ से अपने इकलौते होने के कारण पर सवाल-जबाव कर रही थी. उठो देखो तो क्या हो गया।जैसे ही पूजा खड़ी हुई संजय ने फ़ौरन अपना बरमूडा पहन लिया।पूजा- सॉरी मामू मैंने तो आपको कितना कहा मेरा सूसू आ रहा है मगर आप सुने ही नहीं और मैं रोक नहीं पाई। पूजा बहुत डर गई थी और उसकी आँखों से आँसू भी आने लगे थे। संजय ने लाइट ऑन की और पूजा को अपने गले से लगा लिया।संजय- अरे अरे पागल रोती क्यों है मैंने डांटा थोड़े ही है. मैंने उन्हें डराते हुए कहा- फिर तो मैं उन्हें बता दूंगा कि आप बाथरूम में आई और मुझे शीशे वाली जगह दिखाई और हमें अन्दर देखने के लिए भी कहा।चाची का मुंह तो खुला का खुला रह गया मेरी इस धमकी से… उन्होंने हैरानी से ऋतु की तरफ देखा जो अब उठ कर बैठ गयी थी, पर वो भी उतनी ही हैरान थी जितनी की चाची।तुम क्या चाहते हो रोहण…?” चाची ने थोड़ा नर्म होते हुए कहा।मैं भी कुछ खेल खेलना चाहता हूँ.

फ्लॉरा- क्या हुआ अंकल? नाम सुनकर ऐसे टेंशन में क्यों आ गए?गुलशन- नहीं ऐसा कुछ नहीं है… अच्छा ये बताओ तुम्हेंरिश्तों में चुदाईकरना कैसा लगता है. ये बात तो मुझे समझ में आ गई थी कि भाभी की चूत में भी खुजली होने लगी है. सबसे सेक्सी फिल्मदो मिनट तक मामा ऐसे ही धीरे-धीरे लंड को अन्दर-बाहर करते रहे और मेरे होंठ को चूसते रहे.

’मुझे नंगा करके सविता बोली- तुम्हारा तो लंड पेंट में परेशान हो रहा था.

फिर छोटी दीदी को सुहागरात के बाद बड़े जीजाजी से चूत चुदाई करवाते देखा. मैंने कहा- मंजीत तुम्हें एक बात बताऊँ, मैं सारी दुनिया से चोरी, सबसे छुपा कर सेक्सी कहानियाँ लिखता हूँ.

और वैसे भी मैं आज सोच ही रही थी कि जमाने में इतना सीधा होना भी ठीक नहीं, तो इसको कुछ सिखाऊं मगर मौका नहीं मिला. जब विदाई का समय आया, तब तक आधी रात बीत चुकी थी, सबने एक दूसरे से विदा ली और हम घर आ गये. इस घटना के बाद सविता की फ्रेंड्स को मालूम हो गया था कि सावी ने एक बार स्कूल की पिकनिक में भी रवि से चुदाई करवाई थी.

मैंने पूछा- वैशाली, तुमने लास्ट टाइम सेक्स कब किया था?तो उसने बताया- पता नहीं कब किया था, शायद साल से ऊपर हो गया है, अब मेरे हस्बैंड इस मामले में मुझसे कतराने लगे हैं, उनमें काम्प्लेक्स आ गया है कि वे नामर्द हैं, इसलिए नहीं करते.

तब तक माँ ने अपनी चूची को ब्लाऊज से बाहर निकाल ली और मुझसे पूछने लगी- कितनी देर में आएगा आलोक?मैं बोला- बस माँ आ जायेगा… इंतजार करो!माँ अपने चूची को खुद दबाते हुए बोली- ओह बेटा, अब इंतजार ही तो नहीं हो रहा है. मैंने उसके मुँह पर हाथ रख कर एक झटका और लगा दिया इस बार पूरा लंड अन्दर हो गया था. उसके बताए अनुसार मैं करता रहा और मैंने मौसी का ब्रा खोल कर दूर फेंक दिया.

देसी सेक्सी घाघरा वालीहमारे आस पास लोग थे तो मैंने बात को और नहीं खींचा, मैं बैठे बैठे दूल्हा दुल्हन की फोटो खींच रहा था, उसने मुझसे मेरा मोबाइल माँगा और अपने पिक्चर लिए, वो मुझसे बोली- आपके मोबाइल से पिक्चर अच्छी और क्लियर आ रही हैं. मेरी गर्दन नीचे झुकने से जैसे ही मेरा चेहरा उसके पास आया उसने अपना सिर ऊँचा करते हुए मेरे होंठों को चूम मुझे कस कर जकड़ लिया.

राजा तनी जाए से बहरिया

अब उसकी चूची और चूत नंगी थी, उसने अपनी टांगों को थोड़ा खोलने की कोशिश की और मेरे फनफनाते लंड को अपनी चूत पर खड़े खड़े अड़ा लिया. उसने एक झटका मारा और उसका मस्त सुपारा मेरी गांड में चला गया और मुझे बहुत तेज दर्द हुआ मानो किसी ने गांड में बेलन फंसा दिया हो. अब गुलशन जी उसके मम्मों पर टूट पड़े और निप्पलों को ऐसे चूसने लगे जैसे कोई बच्चा दूध पी रहा हो.

हम दोनों एक दूसरे को किस करते हुए एक साथ झर गए।कुछ देर मेरा लंड उसके चूत में ही रहा. मैं उसको सबसे पहले अपनी बांहों में कैद करता था, उसके सारे बदन को चूमता था. मैं भी अदिति के साथ अपने उस रिश्ते को भुलाने की कोशिश करता रहा और समय के साथ धीरे धीरे वो सब बातें भूलती चली गईं.

भाभी- तो आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है? आप तो इतने स्मार्ट हैं?मैं- साल भर से तो आपके पीछे लग गया भाभी, कहां से किसी और को दिखता हूँ स्मार्ट?मैंने चुटकी ली. फिर मैंने सुलेखा की पीठ पे जीभ से मसाज़ की, जिससे सुलेखा को और मज़ा आने लगा. इस दौरान मैंने गौर किया कि ट्यूशन के टाईम मैं इधर उधर देखता तो वैशाली मेरी ही तरफ देखती रहती थी.

मुझे परेशान होता देख भाभी ने कहा- जब मजा लिया है तो अब सजा भी मिलेगी. उसके पति नॉर्वे में सर्विस करते हैं और साल में 8-10 दिन के लिए आते हैं.

अब पापा एकदम नंगे थे, उनका लम्बा मोटा गुलाबी लंड हवा में लहरा रहा था.

इतना बताने के बाद उसने कहा कि आप सभी का चेक रेडी है, घर जाने से पहले ले लेना, साथ ही साथ कल से आप सभी लोग एक महीने के लिये यहाँ पर होंगे, आपके लिये खाना-पीना जो कुछ चाहिये वो सब आपको यहीं मिलेगा. सेक्सी दिखाना सेक्सीमैंने धीरे धीरे से पेशाब किया, उसका मुँह पूरा खुला था, जब उसकी मुँह भर जाता तो मैं रुक जाता, वो पी लेती फिर अपना मुँह खोलती और मैं फिर मूत देता. पांडे जी का बेटाअब दोस्तो, फ्लॉरा कोई दूध पीती बच्ची तो थी नहीं, जो किसी मर्द के हाथ उसके चूचों पे मालिश करें और वो उत्तेजित ना हो, ये तो कुदरत का क़ानून है, भले ही उस उम्र में सेक्स का ज्ञान नहीं होता मगर उत्तेजना तो अपने आप ही आ जाती है. उसकी सेक्सी वाइफ ऋतु किसी और से चुद रही थी और राहुल अपना लंड हिला हिला के मजा ले रहा था.

स्कूटी सिखाने का प्रोग्राम हमने अगले दिन सांय पांच बजे का, सोसाईटी से दूर एक खाली पड़ी जगह का बना लिया था.

अब देर ना करते हुए मैं खड़ा हुआ मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ा, वह फिर ऐंठ गई, उसके पूरे बदन में एक बार झनझनाहट आ गई, ऐसा लगा वह अभी अभी झड़ी है. उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करती रहीं और मैं शॉट पे शॉट मारता रहा। दस मिनट के अन्दर भाभी फिर झड़ गईं पर मैं नहीं झड़ा था।फिर मैं रुका. खैर उठने के बाद मैंने नहा धोकर नाश्ता किया और अपने एक दोस्त के पास किसी काम से चला गया.

उस वक्त मैं चुदाई की पोजीशन में आ गया।पहले मैंने किस किया, उसके होंठों पर होंठ रखें। उसके बाद मैं अपने लंड को उसके चूत के ऊपर से लन्ड रगड़ने लगा। चूंकि उनके होंठों पर मेरे होंठ थे तो वे कुछ बोल नहीं पा रही थी।लेकिन मेरे लंड को अपने चूत के अंदर घुसा लेना चाहती थी. जहाँ पर मेरी ट्यूशन थी, वहीं वैशाली भी ट्यूशन के लिए आती थी और एक गली छोड़ कर उसका घर था. मैंने उसकी आँखों में देखा तो उसने मुस्कुराते हुए मेरे लंड का सुपारा अपनी जीभ से चाटा और लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

फैमिली सेक्स स्टोरी

ऋतु ने कहा- इतना दूर नहीं… यहाँ हमारे पास आकर खड़े हो जाओ और फिर हिलाओ. तो उसने उसका चाय का कप लिया और मेरे लंड के सामने लगाकर पूरा वीर्य चाय में डलवा लिया. जब फ्लॉरा ने कपड़े बदल लिए वो वहां से चला गया और सोचने लगा कि फ्लॉरा इतनी भी छोटी नहीं है.

मेरा पहला चुदाई वाला प्यार, मेरी चाची की उम्र भी इस वक्त 30 साल के आस-पास होगी.

ठीक है?”ये क्या, तुम नंगी आ गई?”तुमने मुझे यहाँ बातें करने तो बुलाया नहीं होगा न? तो वक्त बर्बाद न हो इस लिए ऐसे नंगी आ गई.

’‘पेंटी नहीं उतारोगी क्या?‘पेंटी तो तब उतारूंगी, जब तुमको शरबत पीना होगा. मुझे फिर से बहुत दर्द हुआ क्योंकि जय का लंड राहुल के लंड से भी बड़ा था. देशी सेकसमेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे.

साथ ही सविता भाभी ने आज अशोक से चुदाई की ठान ली थी क्योंकि उनकी चुत को दो महीने से लंड नहीं मिला था तो वो बहुत चुदास से गरम हो गई थीं. वहीं पास पड़े सोफे पर उसने फ्लॉरा को लेटा दिया और पागलों की तरह उसकी चुत चाटने लगा. ये सब सुनने के बाद मैं टूट सी गई और उल्टा मुड़ कर मामा की बांहों में समा गई, मैं बोल उठी- आई लव यू मामा जी.

मगर साथ ही अपनी चुत पर जो मज़े का अहसास मिल रहा था, उससे वो बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो गई. चाची ने फिर से मेरा लंड पकड़ लिया और बोलीं- ला मैं तेरा वीर्य निकाल देती हूं… पर मेरी नुन्नू में नहीं डालने दूंगी.

कुछ मिनट बाद मेरा पानी निकल गया और मैंने सारा पानी उसके बुर में ही डाल दिया.

लगा जैसे खुशबूदार रेशम की गठरी को सीने से लगा लिया हो, कितना मज़ा आता हैनंगी जवानीको बांहों में भरने से. फिर मैंने लंड उसकी चुत में थोड़ा और अन्दर डाला तो खून निकालने लगा वो चिल्लाने लगी. अब उसने इंटरेस्ट लेते हुए पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड भी है क्या?मैंने कहा- मुझे लड़कों में इंटरेस्ट है और यहाँ सोनीपत में मौसी के लड़के की शादी में मुझे एक लड़के से प्यार हो गया और उसने मेरी गांड भी मार ली.

मौसी की चुदाई हिंदी वीडियो फिर उसने मुझे हिलाया और पानी के लिए बोला तो मैंने नींद के नाटक करके ही उसके हाथ को पकड़ा और बोला- कौन? सर, मैं हूँ रजनी… आपसे पानी के लिए पूछ रही हूँ. जब मैं दूसरी मंजिल पर पहुचा तो मुझे दो लोग बातें करते हुए दिखे उनमें से एक तो गार्ड था और दूसरा कोई लड़का था जो किसी मरीज का रिश्तेदार लग रहा था जो सीढ़ियों पर बैठा अपना टाइम पास कर रहा था.

उस मज़िल पे 4 कमरे थे, मैंने पहले कमरे में देखा, वहां पर कुछ औरतों के बातें करने की आवाज़ आ रही थी, तो मैंने अन्दर जाना उचित नहीं समझा. कुछ देर की पीड़ा के बाद मैं आगे-पीछे करते हुए उसे धकापेल चोद रहा था. मैंने भी अपनी टाँग को ऊपर उठा कर मामा को लॉक कर लिया, जिससे मेरी चूत और कस सी गई.

इंग्लिश सेक्सी शॉट

हम सभी इस टाइम बहुत थक चुके थे और कुछ देर रेस्ट करना चाहते थे तो सभी कुछ देर के लिए सो गये. मैं पापा से बोली- ये क्या है?पापा बोले- अरे सुमि इसको इंग्लिश में पेनिस और हिंदी में लंड कहते हैं. मैं इस शानदार दृश्य को देख कर मानो स्वर्ग में आ गया और उंगली से अपनी बीवी की क्लिट रगड़ने लगा, जिससे उत्तेजित होकर उसने मेरे लंड को पकड़ कर ताकत लगा कर चूस डाला.

रास्ते में वह मुझसे लगभग चिपक कर बैठी थी, परंतु मुझे कमर से पकड़ नहीं रखा था. कुछ पल में ही हम दोनों का कामरस बह गया और हम थककर एक दूसरे के ऊपर नीचे ही लेटे रहे.

मैं भी किचन की जा रही थी कि मैं अपने रूम के बाथरूम की तरफ गई तब मैंने अपने बेटे को पेशाब करते देखा.

मैं कोने वाली कुर्सी पकड़ कर बैठ गया और अपने नम्बर का इंतजार करने लगा. हम दोनों ने अपने नंबर एक दूसरे को दिए और बहुत जोर की चुम्मी होंठों पर लेकर जुदा हो गए. उसके होश उड़ गए। उसने सोचा था कि आज की रात चुत मिलेगी मगर मोना तो पलटी मार गई।सुधीर- सॉरी सॉरी व्व.

वो खड़ी हो गई और अपने हाथों से मेरी जीन्स निकालने लगी और मेरी अंडरवियर भी एक झटके में निकाल दी. नेहा- ऐसा क्यों बोल रहे हो, मैंने उससे बहुत बोला, तुम आ जाओ, तुम्हें मेरी कसम!मैं- ठीक है, आ रहा हूँ. मेरी आँखों के सामने मानो ब्लू फिल्म फ़ास्ट फॉरवर्ड में चलने लगी थी!इधर नताशा काफी तेज गति के साथ स्वान का लंड चूसे जा रही थी, तो उधर एंड्रयू कुत्ते की तरह लपड़-2मेरी बीवी की चूतचाटने में लगा था!कुछ देर बाद शायद एंड्रयू का मुख थक गया और उसने मेरी रूसी सुन्दरी के पैरों को सीधा कर उसे बाईं करवट लिटा उसके पीछे लेट कर अपने एक हाथ से लंड सीधा कर मेरी प्राणप्यारी बीवी की चूत में घुसेड़ दिया.

अब मेरा उनके परिवार से पारिवारिक सम्बन्ध हो गया है, मैं जब भी मुंबई जाता हूँ, उनके वहाँ रुकता हूँ, और कोई ना कोई बहाने से उसकी माँ जरूर चोदता हूँ.

हिंदी में बीएफ बीपी: एक के बाद एक ना जाने कितनी पिचकारियां फ्लॉरा के हलक में उतर गईं और फ्लॉरा मज़े से पूरा रस गटक गई. अस्पताल में लंड की खोज-1अस्पताल में लंड की खोज-2आपने मेरी इंडियन गे सेक्स स्टोरीज में पढ़ा कि मैं लंड चूसने का शौकीन हूँ लेकिन मुझे जो जवान मिला वो सिर्फ मेरी गांड मारना चाह रहा है.

उसकी वो बड़ी बड़ी आँखें भी बड़ी लाजवाब थी जिनको देख कर लग रहा था कि मानो को हुस्न की परी उतर आई हो. मोना कुछ बोली नहीं और अलमारी से गोपाल का पजामा और टीशर्ट लाकर बेड पर रख दिया, जिसे देख कर सुधीर ने आँखों के इशारे से पूछा कि इसका क्या करूँ?मोना- अब गोपाल तो सुबह ही आएगा, तुम रात को यहीं रुक जाओ, सुबह जल्दी चले जाना और तुम्हारा टेलेंट भी दिखा देना।सुधीर- मोना मैं अभी भी नहीं समझ पा रहा हूँ. हमारे आस पास लोग थे तो मैंने बात को और नहीं खींचा, मैं बैठे बैठे दूल्हा दुल्हन की फोटो खींच रहा था, उसने मुझसे मेरा मोबाइल माँगा और अपने पिक्चर लिए, वो मुझसे बोली- आपके मोबाइल से पिक्चर अच्छी और क्लियर आ रही हैं.

इसी वजह से मेरा लंड फिर से पूरी तरह खड़ा हो गया और कैप्री में तम्बू बन गया.

मूवी में जब किस्सिंग सीन आया तो उसने मेरी तरफ देखा और हम दोनों की नज़र एक हो गयी. अभी तू ऐसे ही चली जा और चुपके से दूसरी पहन लेना, किसी को बताना मत ओके. मुझे लगा कि कोई डॉक्टर आकर मेरा फिजिकल एक्जामिनेशन करेगा, तो मैंने हामी भर दी.