न्यू बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,व्हाट्सएप डीपी डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

देशी सेक्सी: न्यू बीएफ सेक्स, मैं उनके चूतड़ों को जोर जोर से मसल रहा था और बीच बीच में उन पर थप्पड़ भी मार रहा था.

आम्ही सेक्सी व्हिडिओ

उसने दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़ लिया था और मेरी गांड की जबरदस्त मरम्मत कर रहा था. दुर्गा माता का भजनफिर मैं उसकी ब्रा पर टूट पड़ा और उसकी चूचियों को जोर-जोर से दबाते हुए उसकी क्लीवेज पर किस करने लगा.

मैंने धीरे से अंडरवियर भी अपनी जांघों से निकाल कर अलग कर लिया और मैं अब बनियान में मॉम के सामने नंगा था. सचिन दादावो न केवल मुझे ये सब करते देख रही थी, बल्कि खुद भी अपनी लोवर में हाथ डालकर अपनी चूत का भुरता बनाने की जद्दोजहद कर रही थी.

उस दिन मुखिया ने डॉक्टर सुरेश की बीवी सुमन की प्यासी चुत को चोद चोद कर धन्य कर दिया था.न्यू बीएफ सेक्स: [emailprotected]Xxx भाभी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:दोस्त की पड़ोसन भाभी की वासना- 4.

कहानियां पढ़ते हुए मुझे काफी समय हो गया था तो मैंने सोचा कि क्यूं न मैं भी अपनी कहानी आप सबके साथ शेयर करूं.इतनी देर की चुम्मा-चाटी में उसकी चुत से फिर से पानी निकलना शुरू हो गया था.

प्लाजो कपड़ा - न्यू बीएफ सेक्स

मुखिया- अरे चुप, तुझे समझा रहा हूँ ऐसे करना है … ठीक है!मुनिया- जी मालिक समझ गई, अब मैं भाबी के पास जाऊं?मुखिया ने उसको भेज दिया और सोचने लगा कि साली बहुत कड़क माल है.फिर अंदर ही अंदर लौड़े को चूसने लगी और जब बाहर निकाला तो मेरा लंड एकदम से साफ था.

मैं उसकी गांड में अपना लंड फिर से डालने लगा, पर वो फिसल कर उसकी चुत चला गया और मैं चूत में ही धक्के लगाने लगा. न्यू बीएफ सेक्स मैं बोला- क्या कर रही हो भाभी, दरवाज़ा खुला हुआ है!भाभी ने जैसे मेरी बात सुनी ही नहीं और मेरे घुटनों के पास बैठ कर मेरे लंड को चेन से बाहर निकाल कर मुंह में भरकर चूसने लगी.

जिसका अंजाम आप जानते ही हो, उसका रस भी बांध को तोड़कर बाहर निकल आया था.

न्यू बीएफ सेक्स?

अब मैं समझ गया था कि सोनिया क्यों 15 दिन की जगह 1 महीने बाद आने के लिए कह रही थी. तो उधर कुछ ऐसा हुआ कि मेरी दुनियां ही हसीन हो गई और काफी बदल भी गई. देखने में गोरी चिट्टी, फिगर 32-30-34 का है, बदन कमाल का है और चूचे बहुत बड़े हैं.

मुनिया जल्दी से मुखिया के पास जाकर बैठ गई और उसकी जांघों के ऊपर हाथ घुमाती हुई धीरे से लंड को पकड़ लिया. कुछ देर बाद उन्होंने एक राउंड मेरी चुत में भी लंड पेल कर किया और हम दोनों अलग हो गए. यह सोच कर मैं खूब बन संवर कर रहने लगी मौसा जी के आसपास ही मंडराती रहती उनसे बार बार बहाने से बात करती; कभी झुक कर झाडू लगाने के बहाने अपने मम्मों की झलक उन्हें दिखाने का बार बार प्रयास करती.

मगर मुझे पता नहीं था कि मोनिषा मां और पिताजी की चुदाई का खेल देख कर सो रही है. शाम को ड्यूटी से आने के बाद मैं मोनिषा से नज़रें नहीं मिला पा रहा था. लगातार 4-5 धार वीर्य की मेरे मुंह पर गिरी और मेरा पूरा चेहरा सन गया.

मैं- क्या कहा आपने?दीक्षा- हाँ यार देखती तो मैं भी हूँ, पर मैं फिंगर नहीं करती यार … बस कोल्ड वाटर पी लेती हूँ. मई का महीना आ गया था और 12 तारीख को वो मुझे वहां से अपने साथ ले गये.

भाबी की चुदाई के बारे में सोचकर ही मैंने मुट्ठ मार ली और शांत होकर सो गया.

पूजा भाभी एकदम से बोली- ये क्या है?मैंने कहा- इसमें भी फनी सेक्स है, एक बार देखो तो भाभी!भाभी बोली- नहीं, मुझे ये गंदे वीडियो नहीं देखने हैं.

मैंने उसरशियन लड़की के रूम के दरवाजे पर दस्तक दी और हल्के से धक्का दिया. अब शमा और परवाना दोनों जल रहे थे, बस देखना ये था कि करीब आने पर आग बुझती है या और बढ़ती है. अब मैं जो देसी चूत चुदाई स्टोरी आप सबको बताने जा रहा हूँ, वो एक सच्ची कहानी है.

ये सब देख कर मेरे जिस्म में अजीब सी सनसनी फैल गई और मेरी चूत में चीटियां रेंगने लगीं. अबकी बार मैंने उसके हाथ को लंड पर दबा लिया और पीछे नहीं खींचने दिया. मैंने तो अपने हाथों से ब्रा पकड़ रखी है!मैं- भाभी, आप चिन्ता ना करो.

दोस्तो, मैं आपका किशोर मेरी और नीला भाभी की सेक्स कहानी का अगला पार्ट लेकर फिर हाजिर हूँ.

20 मिनट तक मैं उसकी चूत को पेलता रहा और फिर वो एकदम से झड़ गयी और मेरे से लिपट गयी. उनका एकदम गोरा शरीर, चूत की झांटें और बगल में काले बाल देख कर मैं अपना लंड निकालकर हिलाने लगा. मैंने भैया से बोला- आप इतने जल्दी क्यों जा रहे हो?भईया बोले- ऑफिस से फोन आ गया है, जाना ही पड़ेगा.

फिर मैं पूरी तरह से उसके ऊपर लेट कर उसके होंठों को चूसने लगा और नीचे से लंड उसकी चूत में पेलता रहा. जब पहला सीन आया और उसने ये देखा कि कैसे एक आदमी को अपनी बेटी की सहेली से प्यार हो जाता है. शादी खत्म होने के बाद सभी लोग औरंगाबाद की ओर आने के लिए बस में आकर बैठ गए.

उससे पहले मेरी सबसे पहली कहानी प्रकाशित हुई थी जिसका शीर्षकमेरी बहनों की चूत चुदासथा.

मैंने उसे उसके घर से कुछ पहले ही उतार दिया और मैं बुआ के घर चला गया. चाचा ने अपने हाथ से लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया और सुहानी उनके चूतड़ों और झांटों पर हाथ फिराती रही.

न्यू बीएफ सेक्स वो बोली- तुझे मैं अच्छी लगती हूं ना?मैं बोला- नहीं मॉम ऐसी बात नहीं है. मेरे पास से गुजरते हुए उन्होंने अपना लंड मेरे हाथ से छुआ दिया और मेरे हाथ को दबाकर निकल गये.

न्यू बीएफ सेक्स मेरी अम्मी की चुत में काफी दिनों के बाद लंड गया था, तो वो एकदम से चीख उठीं- आह … हाय मर गई … आह चोद दे … मेरे राजा. तभी गीता सामने से आती हुई दिखाई दी, जिसे देख कर बलराम वहीं रुक गया और गीता के मम्मों को घूरने लगा.

उसका चेहरा मेरे चेहरे के बिल्कुल पास में था और मेरी जांघ उसकी जांघ से सट गयी थी.

सिरसा मूवी

तब नीलिमा उसे कॉलबाय ट्राय करने को बोल रही थी, पर स्वर्णा इसमें कुछ आनाकानी कर रही थी. जब मामी पूरी तरह से तड़प गयी तो मैंने उनकी चूत से उंगली को बाहर निकाल लिया और चाट लिया. मैंने उनको अच्छी तरह से दबोच रखा था जिसे वो हिल भी नहीं पा रही थी। उनकी चूत अंदर से बहुत ज्यादा गर्म और गीली थी जो मुझे मेरे लंड पर अलग से महसूस हो रही थी.

एक दिन मैंने उसको अपना लंड निकालकर दिखा दिया तो …हैलो मेरे सभी प्यारे दोस्तो, चुदासी आंटियो और सेक्सी लड़कियो! कैसी चल रही है सेक्स लाइफ? मुझे उम्मीद है कि सबकी चूतों को लंड और सभी लौड़ों को गर्म-गर्म चूतों का मजा मिल रहा होगा. कुदरत का बनाया करिश्मा है उसका जिस्म।पेट और कमर दोनों मिली हुईं और गांड बाहर की ओर निकली होती है उसकी. मेरे दोनों निप्पल कड़े होकर और बड़े हो गए थे। राजेश को भी मेरी चिकनी चूचियों को पीने में बहुत मज़ा आ रहा था।कुछ देर बाद हम पलट गए और मैं उसके ऊपर आ गया.

वो न केवल मुझे ये सब करते देख रही थी, बल्कि खुद भी अपनी लोवर में हाथ डालकर अपनी चूत का भुरता बनाने की जद्दोजहद कर रही थी.

मैं- हां पापा, अभी मेरा फोन बंद होने को है … तो मैं काम खत्म करके घर ही आ जाऊंगा. उसमें से तेल अपने 7 इंच लंबे और 3 इंच लंबे लंड पर लगाया और थोड़ा तेल अपनी उंगलियों से मेरे छेद पर लगा दिया. क्या बताऊं दोस्तो, उसका वो नंगा जिस्म ऐसे था कि मुर्दे के लंड में भी जान फूंक सकता था.

दोस्तो, हमारे देश में गोरे रंग को लेकर लोग बहुत ज्यादा खर्चा करते हैं. उसने मेरे अंडरवियर में हाथ दे दिया और मेरे लंड को पकड़ कर उसको अंडवियर के अंदर ही सहलाने लगी. उसको देखकर मन करने लगा कि उसके पास जाऊं और उसके कोमल बदन से अपने बदन को रगड़ कर सुख की गंगा में गोते लगाऊं.

मीता गहरी नींद में थी … मगर ऐसे कुचले जाने से उसकी हल्की सिसकारियां निकल रही थी. कुछ देर बाद जब मेरी आंखें खुलीं, तो देखा कि भाभी आंखें बंद करके अपना नंगा बदन मेरी बांहों में दिए हुए हैं.

अब मैंने चूचियों को छोड़ उसकी चूत पर हमला कर दिया और उसकी कुंवारी चूत को जोर जोर से चाटने लगा. सबसे पहले मैं अपने बारे में संक्षिप्त में बताना चाहूंगा कि मैं हापुड़ का रहने वाला हूं और मेरी उम्र 30 वर्ष है. मैं सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले आपको इन भाभी के बारे में बता दूं.

उससे छोटी बहन रूसी जिसकी उम्र 32 साल है और मेरी सबसे छोटी बहन खुशबू की उम्र 28 साल है.

दोस्तो, मैं रोहित आपको अपनी भाभी की चुदाई की कहानी का दूसरा भाग बताने जा रहा हूं. जब उन्होंने मुझे नंगा देख ही लिया था तो अब काहे की शर्म?मैं बोला- मामी, आप बहुत खूबसूरत हो. इन दोनों की बातें लंबी होती देख मुखिया का पारा चढ़ गया और वो ज़ोर से बोला- आ रही है या नहीं.

मुझे तो सिर्फ उनकी गोरी चिकनी पीठ ही नजर आ रही थी। अब मैं जल्दी जल्दी उनकी पीठ को चूम रहा था। वो फिर से मदहोश होने लगी। अब शायद चूत चुदवाने को का नशा मामी पर भी होने लगा था. शायद आवाज़ बाहर तक भी जा रही हो लेकिन आज मैं खूब चिल्ला चिल्ला कर चुदना चाह रही थी।लगभग आधे घण्टे मेरी चूत और सर के लन्ड की लड़ाई के बाद अब मैं बर्दाश्त नहीं कर पाई और मेरा पूरा बदन ऐंठने लगा.

अब मैं भी जल्दी से जल्दी पाण्डेय सर के लंड से चुदकर दीवानी जवानी का मजा लेना चाहती थी. फिर मेरे एक करीबी रिश्तेदार की मृत्यु हो जाने के कारण मेरे मां-पापा को गांव जाना पड़ा. उसने मुझे फोन किया- हैलो, क्या तुम यहां आ सकते हो, मैं बोर हो गई हूँ.

शिल्पी राज क्सक्सक्स

हम दोनों नीला को दर्द भरे मजा देने की लिए रेडी थे और नीला भी थ्री-सम का अपन पहला अनुभव लेने के लिए.

मैंने क्लास के दरवाजे बंद किए और रोशनी को पकड़ कर पागलों की तरह चूमने लगा और बूब्स दबाने लगा. मैंने भाभी से कहा- आप अपना पल्लू पीछे से डालिए और उसको आगे लाते हुए अपनी पहाड़ियों को ढक लीजिए. सिमरन ने कहा- ओह्ह मुझे लगा …मैंने पूछा- क्या लगा!मुझे थोड़ा सा लगा कि वो मेरे लंड को लेने की बात समझी … क्योंकि उसने मेरे 7 इंच के लंड को पहले ही उस समय देख लिया था, जब उसने मुझे चादर उढ़ाई थी.

मुझे ये भी मालूम था कि सीमा मामी इतनी सरलता से मुझे अपनी चूत तक पहुंचने नहीं देगी. फिर मैंने उसके कंधे पर हाथ रखकर अपने हाथ को उसके टॉप में अंदर डाल दिया. बीपी हीरो सेक्सीदारू के बाद खाना हुआ, उस समय भी समधी जी की कामुक निगाहें मेरे मम्मों पर ही टिकी थीं.

फिर हमने अपने कपड़े ठीक किये और किस करने के बाद फिर से एक एक करके बाहर आ गये. भाभी ने शायद सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका देवर उनको इतनी बेरहमी से चोदेगा.

उन्होंने ये सुना, तो मानो पिल पड़े और दस बारह धक्के के बाद एक जोरदार धक्के से मेरी चुत को भर दिया. मेरा दिल उसके इन कच्चे नींबुओं का सारा रस निचोड़ कर पी जाने को करने लगा था. चचा बोले- कोई लौंडिया तो फंसाये होगे?मैं बोला- नहीं चचा, अभी तो नहीं है, ऐसे ही ठीक है.

ऑफिस से लौटा तो मैंने उसको सीढ़ियों पर ही पकड़ लिया और अपने रूम में ले गया. उसकी चूचियों के बारे में सोचकर मेरा लंड 2 मिनट में ही पानी छोड़ दिया करता था. मैंने भी इशारा पाकर अपनी स्पीड तेज कर दी और धीरे धीरे पूरा आठ इंच का लंड उनकी चूत में पूरा जाने लगा.

मैं उसकी गोद में बैठ गया और उसके होंठों को पागलों की तरह चूसने लगा.

लेकिन मेरे लंड को हर महीने एक नए छेद को चोदने का मन करता है, तो मैं कभी कभी होटल में किसी कॉलगर्ल को चोद लेता हूं. उसकी टाइट चूत में जीभ देकर मैं अंदर बाहर करते हुए उसकी चूत के रस को चाटने लगा और अंदर पीने लगा.

शीशे में अपनी योनि देख कर मैं मन ही यह सोच के लजा उठती कि इसी के भीतर मेरे पति का लिंग प्रवेश करेगा, मेरी सील टूटेगी, मुझे दर्द सहना पड़ेगा फिर मज़ा भी मिलेगा और नमन कितने खुश होंगे मेरी योनि की सील तोड़ कर. बुआ- क्यों खाने में कुछ कमी है क्या?मैं- हां … इसमें आपके मुँह का टेस्ट ही नहीं है. कुछ देर बाद वो बाथरूम से लौट कर आया, तो मैंने हंस कर पूछा- तो कैसा लगा मेरे माल का टेस्ट?वो कुछ नहीं बोला और स्माइल करके बेड पर मेरे बाजू में लेट गया.

मुखिया सुमन के घर से सीधा एक मकान में जा पहुंचा, जहां पहले से दो आदमी एक आदमी को पकड़े हुए बैठे थे. पर अब भाभी के स्तनों को चूस कर अब ये होना एक संकोच तो जाहिर करेगा ही. वो कराहने लगी और बोली कि बहुत दर्द हो रहा है, मुझसे नहीं हो पायेगा.

न्यू बीएफ सेक्स मेरी अम्मी ने पास रखी तेल की बोतल ली और लंड पर तेल टपका कर मालिश करने लगीं. उन सब फ़ोटो में से एक फ़ोटो में उनकी चूचियां थोड़ी बाहर को निकली दिख रही थीं.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर देखने वाला

रसिक चाचा उम्र में मुझसे 25 साल बड़े थे, लेकिन रिश्ते में वो मेरे दूर के चचेरे भाई लगते थे. भाभी बोलीं- हां करो न … मगर कैसे करेंगे?मैं बोला- अभी बताता हूँ जान … आप मेरा लंड पकड़ कर अपने सेक्सी सेक्सी होंठों के पास ले जाएंगी और बोलोगी बेबी कितना सेक्सी लंड है. फिर मेरे दिमाग में तीसरे राउंड में उसकी गांड फाड़ने का प्लान बन गया था.

उनकी गर्दन को मैंने अपनी ओर खींचा और उसको होंठों पर जोर से किस करने लगा. मैंने भाभी से कहा- मेरा बहुत खड़ा हो गया है, उसका इलाज तो कर दो भाभी. हिंदी में सेक्सी फिल्म चाहिए हिंदी मेंपति चाहते थे कि वो आशीष सर के साथ मिलकर मेरी चुदाई करें लेकिन मेरे पति के पास जाने तक का वेट हम दोनों से हो नहीं रहा था।मैं जब भी कॉल करती बस एक ही बात पूछते- तुम्हारे एक महीने में से कुछ दिन कभी कम भी होंगे या नहीं?मैंने सर से वादा किया था कि एक महीने के अंदर अंदर आपसे जरूर चुदवाऊंगी।पांडेय सर का रूम हमारी कंपनी से थोड़ी ही दूर पर था.

मैं धीरे धीरे उनकी पैंटी को नीचे तक सरका ले गया और चाची की गांड पूरी नंगी कर दी.

मैंने कहा- भाई, कल सुबह सबसे पहले मैं अपनी चूत के बाल साफ कर लूंगी. यूरोप आने के बाद से मेरी प्रीत से बात होना एक तरह से खत्म सी हो गई थी.

मैंने अपना माल बाथरूम के बाहर पड़े पायदान पर गिर जाने दिया और हॉल में आकर बैठ गया. आंटी के हाथ से मैंने कपड़े ले लिये और अपना नागराज उसके हाथ में पकड़ा दिया. जनता कर्फ्यू लगने के एक दिन बाद मैं दिल्ली पहुंचा, जीजाजी ने मुझे काम करने के लिए अपने पास बुलाया था.

उसकी जोर से चीख निकली और वो जोश में बोली- हांह्ह … आह्ह … फाड़ दे … फाड़ दे मेरी चूत। मुझे आज जी भरकर चुदना है.

फिर हमने अपने कपड़े ठीक किये और किस करने के बाद फिर से एक एक करके बाहर आ गये. मैं आंटी की चूचियों के निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था और बीच बीच में दांत से काट रहा था. मैंने धीरज से पूछा- अरे तुझे इस एड्रेस पर क्या काम है?तब धीरज मुस्कुराता हुआ बोला- इस पते पर एक रंडी रहती है, मुझे उसे चोदने जाना है.

मां बेटे की सेक्सी वीडियो दिखाओमैंने भी उनकी आँखों में आँखे डाल कर नज़र मिलाई और एक हल्की सी मुस्कान मेरे होंठों पर तैर गयी. मुखिया की तेज आवाज़ सुनकर सुलक्खी भाग कर अन्दर आई और मुखिया से पूछने लगी- सरकार क्या हो गया है?मुखिया- होना क्या था … ये लड़की किसी काम की नहीं है.

कुत्ता कैसे बनाते हैं

बच्चा होने के बाद कुछ दिनों तक सोनिया ने चुदाई में खूब मजे लिये और मैंने भी. अब मेरा हाथ एक हाथ मौसी की चूत को सहला रहा था और दूसरे हाथ से मैं एक एक करके उनके बोबों को दबा रहा था. सवेरे सवेरे गांड में एक राउंड चुदाई का चला और उसके बाद चूत में दो राउंड चुदाई के खेलकर मैं अधमरी सी हो गई.

जीजा साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी साली को सेक्स के लिए मना लिया था. उसने मुझे फर्श पर लिटा लिया और अपनी गांड खोलकर मेरे लंड पर चूत को रख दिया. कोई 20 मिनट तक साए ने बड़े प्यार से सुमन को चोदा, फिर उसकी नसें फूलने लगीं, तो वो स्पीड से लंड को अन्दर बाहर करने लगा और अब सुमन की चुत का फव्वारा भी फटने वाला था.

आप जानते ही हैं कि मेरा एक उसूल है कि अगर लड़की की मर्ज़ी हो तो छोड़ना नहीं है वरना उसे हाथ भी नहीं लगाना है. समय समय पर मैं खुद तुम्हें चोदने आ जाया करूंगा और तुम्हें पूरा मज़ा दूंगा. मैं जोर जोर से लंड को हिला रहा था और चूत को देखकर सिसकारियां ले रहा था.

मोनिषा ने खड़े होकर कमरे का दरवाजा अन्दर से बंद किया और अलमारी से तेल ले आयी. दोस्तो, मैं पिंकी सेन अब इस सेक्स कहानी की समाप्ति की तरफ बढ़ रही हूँ.

सार्थक का कद लगभग 5 फिट 8 इंच था सांवली सी उसकी काया थी और लंड बिल्कुल काले नाग की तरह लगभग 5 से 6 इंच का एकदम कड़क था.

मैं कासिब की बात सुनकर दंग रह गई और बोली- भाई ये तू क्या बोल रहा है … तुझे पता भी है, वो मेरे अब्बू हैं?कासिब मेरा चूचा मसल कर बोला- दिलकश, जब तू मूतने के लिए बाथरूम गई थी, तब मैं अम्मी की चुदाई कर रहा था और मैं और अब्बू दोनों बहुत दिन से तेरी और अस्मा की चुदाई करने की सोच रहे हैं. மலையாள படம் செக்ஸ் படம்वो जितनी तेजी से अपनी कमर चला सकता था, चला रहा था और मेरी गांड को फाड़ने में लगा हुआ था. बड़े बड़े बालमेरी कुंवारी चूत पर एकाएक हुए इस हमले से मेरी सोचने समझने की शक्ति मानो समाप्त सी हो गई थी. उससे जब बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो रूम में घुस गया और बोला- दारू साथ में पी और गंडमस्ती अकेले अकेले?हम आवाज सुनकर चौंक गये और उठ खड़े हुए.

दिव्या बाहर निकलकर चलने लगी और पीछे मुड़कर बार बार मुझे देखकर स्माइल करने लगी.

अब मेरे मुंह में उसकी चूची थी और नीचे से मेरा हाथ उसकी चूत को सहला रहा था. सेब जैसे कड़क चूचे, जिनपर छोटे छोटे से भूरे रंग के निप्पल और पतली कमर के नीचे एकदम नोकदार चुत, जो एकदम क्लीन चमचमाती हुई थी. पर अब वक़्त था ये खेल आगे बढ़ाने का!अपने सुझाव आप मुझे जरूर मेल करें.

चूंकि गर्भावस्था में भी मेरी बीवी को घर का काम करना पड़ता था, जिससे वो काफी थक जाती थी. उसने दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़ लिया था और मेरी गांड की जबरदस्त मरम्मत कर रहा था. चाची नीचे आने को कहकर तैयार होने लगीं और फिर मैं बाहर आकर चाची का इंतजार करने लगा.

मीना कपूर की सेक्सी

मैं भी उनको अपने ऊपर खींच कर अपने दूध चुखवाते हुए चुत चुदाई का मजा ले रही थी. मैंने जोर से हंस दिया और बोला- भाभी आप भी बहुत भोली हो, इसमें शर्माने वाली क्या बात है? मुझे साथ ले साथ ले चलतीं, मैंने भी थोड़ा टाइमपास किया होता. तुम ख्याल करना हवेली में भले रहो, मगर तहख़ाने में जाने की कभी मत सोचना.

जी कर रहा था कि सिसकार भरे इस चुदाई के खेल का ये कारवां ऐसे ही चलता रहे.

वो तड़प उठी और बोली- चोदोगे भी या खेलते ही रहोगे?मैं बोला- रानी, शेर शिकार करने से पहले अपने शिकार के साथ खेलता है.

लौड़े से दो-चार धक्के उनके मुँह में मारने के बाद लंड ने पिचकारी छोड़ दी. मेरा नाम मेघना है, मैं 42 साल की कामुक औरत हूँ और दिल्ली की रहने वाली हूँ. अंग्रेजी सेक्सी चालूवैसे भी, बेटे के सामने कैसी शर्म?मॉम मेरे सामने पूरी की पूरी नंगी खड़ी थी.

थोड़ी ही देर में वो चुत की रगड़ाई से गर्म हो गईं और अपनी पैन्टी गीली कर बैठीं. अब जिसके घर में चोदने के लिए दो दो चूत हों तो उसको फिर राजा वाली फीलिंग भला क्यों न आए? जो महिला या पुरूष एक से अधिक के साथ संबंध बनाते होंगे उनको ये बात अच्छी तरह समझ आ रही होगी. उन सब फ़ोटो में से एक फ़ोटो में उनकी चूचियां थोड़ी बाहर को निकली दिख रही थीं.

मैं अपने पति के सामने किसी गैर मर्द से चुदवा रही हूँ” … हर बार ये सोच कर बहुत जोर का जोश मुझे चढ़ जाता था और मैं बार-बार गर्म हो रही थी. उसमें साथ ही संदेश भी लिखा था- क्या तुम इसको चोदना चाहोगे?उसकी बीबी चुदाई की बात जानकर मैंने जवाब दिया- हां ज़रूर, मेरा तो काम ही यही है।फिर उन्होंने फोन पर बात की और अपनी पत्नी से भी बात करवाई। हमारी बात होने के बाद मिलने की एक तारीख तय हुई। जब वो तारीख आयी तो उनका मेरे पास फोन आया कि आज आना है.

मैं बोला- आह्ह … रोको मत भाभी … आपकी चूचियां इतनी मस्त हैं कि मैं उनको भींच भींच कर उखाड़ ही दूंगा.

आशा करती हूं कि मेरे थ्रीसम सेक्स को फील करके आप सबके लौड़ों और चूतों ने पानी फेंक दिया होगा और प्यासी चूतों ने सोनू और पांडेय सर को ढूंढना शुरू कर दिया होगा. उसके मुंह लगातार कामुक आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … रवि … अच्छा लग रहा है … आह्हह … और जोर से चोद … बहुत मजा दे रहा है रे तू तो … आह्ह्ह … मैं तो तेरे ही लंड से चुदा करूंगी अब! अब तू पक्का मादरचोद बन गया है. वो मुँह फेरकर खड़ी हो गईं, तो मैंने चैक करने के बहाने पीछे से उनकी सलवार को थोड़ा सा खींचा और मुठ्ठी में दबाई हुई चींटियां उसके अन्दर डाल दीं.

सेक्सी वीडियो हिंदी में अंग्रेजी फिर नाजिया आंटी ने उन्हें समझाया कि चुत की बोहनी हो गई, ले पैसे रख ले. उसके पेट की बनावट को देख मुझे उसे सूंघने और चूमने चाटने पर मजबूर कर दिया.

मुझे भी और ज्यादा मजा आने लगा और मैंने उसकी मैक्सी में हाथ देकर उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया. मगर चुदाई का जो मजा उस दिन मुझे मिला उसके अहसास को शब्दों में बता पाना मुश्किल है. कोई इंसान का काम होता, तो कुछ निशान तो मिलता, किसी एक आधे की लाश ही मिल जाती.

सेकसविडिव

उनकी चीख निकल पड़ी- हाय रे मार डाला तेरे लंड ने गलत छेद में एंट्री मार दी. मैं घने जंगल में एक पेड़ के पीछे उन्हें ले गया, वहां सिर्फ झाड़ियां ही थीं. मैंने उसे कैसे चोदा?दोस्तो, मैं प्रेम अन्तर्वासना पर आपका स्वागत करता हूँ.

मैंने सर से कहा- अब और न तड़पाओ, जल्दी से आ जाओ बस!पहले तो मैंने खूब शर्माने का नाटक किया जबकि मन तो कर रहा था कि सर को अपनी नंगी जवानी दिखा कर उन्हें जल्दी से जल्दी चोदने के लिए तड़पा दूँ. उससे बोला कि मुखिया ने गांव की सारी लड़कियां चोद चोद कर खराब कर दीं.

नीचे टाईट शॉर्ट्स में गांड और कमर तो ऐसी लग रही थी, कसम से पकड़ कर दबाते हुए चूत में मुँह डालने का दिल कर रहा था.

पानी निकलने के बाद सुरेश वहीं लेट गया और उसने सुमन को बांहों में भर लिया. फिर मैंने भाभी की गर्दन पर किस कर दिया, लेकिन भाभी ने कुछ नहीं बोला. सुमन उस आवाज़ का पीछा करती हुई जब कमरे से बाहर निकली, तो वो आवाज़ तहख़ाने से आ रही थी.

वैसे आज पहली बार मीता को ऐसा महसूस हो रहा था, जैसे वो हवा में उड़ रही हो. दोस्तो, मैं आपका दोस्त कुणाल एक बार फिर से आप सबके लिए अपनी नयी इंडियन हॉट भाभी स्टोरी लेकर हाज़िर हुआ हूं. कालू- क्या बात है मैडम जी, उस हरी के लिए इतना तैयार होने की क्या जरूरत थी.

मैं जितना ज्यादा चीखती, वो उतना ही स्पीड में मेरी गांड में लंड पेलने लगता.

न्यू बीएफ सेक्स: चुदाई के बाद आज भाभी की चाल बदल गई थी और उनकी मटकती गांड को देखकर मेरा लंड फिर से टाइट होने लगा था. लंड के मेरी पैंट के अंदर ही झटके लगने लगे और शायद कपिला ने भी ये हरकत देख ली थी.

आप बताइए कि आप क्या लोगे मुखिया जी!मुखिया- मैं तो तुम्हारी लेने आया था मेरा मतलब है … खैर खबर, मगर ये कालू पीछे आ गया, तो जरूर कोई गड़बड़ है. मैंने मन ही मन कहा- तू मेरी रंडी है और मैं तेरी चूत को फाड़ने वाला हूं. मैं आपके दूध देख कर कहूँगा कि ओह जानू आपके बूब्स तो एकदम कड़क हो गए हैं.

वैसे भी रूम में हम दोनों के अलावा और कोई थोड़ी है? आप कर दो, कुछ फर्क नहीं पड़ता।ये कहकर कपिला ने अपनी जीन्स का बटन खोल दिया और बोली कि इसको पकड़ कर नीचे की ओर सरका लो.

जब मैं हॉस्पिटल पहुंचा, तो पता चला कि सुमन भाभी घर गयी हैं क्योंकि वो दो दिन से नहाई नहीं थीं, तो आज रुक्मणी भाभी को हॉस्पिटल में रुकना था. मेरे धक्के से वो बिस्तर पर गिर पड़ी जिससे लंड बाहर निकल आया।मैंने पूछा- अगर इसमें दिक्कत हो तो दूसरे आसन में करते हैं?वो बोली- नहीं, कोई दिक्कत नहीं है, हम दोबारा कोशिश करते हैं।मैंने बोला- ठीक है. दस मिनट की किसिंग के बाद धीरज ने मेरी ब्रा का हुका खोल दिया और इकबाल मेरी पेन्टी में हाथ डाल कर मेरी चूत सहलाने लगा.