नोएडा की बीएफ

छवि स्रोत,रशियन सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी भोजपुरी मूवी: नोएडा की बीएफ, मस्त जवानी की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे बॉस और मैं चुदाई के लिए तड़प रहे थे.

हिनदी सेकस कहानिया

दीदी मेरे कंधे पर सिर रखे रखे खड़े लंड को और मूवी दोनों को देख रही थीं. वॉलपेपर हद फॉर मोबाइलफिर मैं उसके ऊपर से उठ गया और उसकी टांग को हाथ में पकड़ कर उसकी चूत में लंड को पेलने लगा.

फिर उन्होंने पर्ची पर अपना फोन नम्बर लिखा और मुझे वो पर्ची पकड़ा कर उठने लगे. सेक्सी फिल्म गांव की हिंदीकभी कभी तो लगता है कि मैंने मेरे मां-पापा की बात ना मान कर बहुत बड़ी गलती कर दी.

भाभी मेरे दोनों गोटों को एकदम प्यार से सहला रही थीं और मेरे सात इंच के लंड को पूरा निगल रही थींऐसी जगह पर मैं ऐसी ढीली पैंट शर्ट ही पहन कर जाता हूं, जिससे कपड़े खोलने में देर न लगे और कोई दिक्कत न हो.नोएडा की बीएफ: मेरे लंड में तनाव के कारण दर्द होने लगा था और मैं अब भाभी की चूत में लंड घुसाने के लिए एक पल का भी इंतजार नहीं कर सकता था.

उसने अपना लण्ड चूत से निकाला और मेरी छाती पर चढ़ गया।उसने अपना लण्ड मेरी दोनों चूचियों के बीच में रखा और चेहरा ऊपर करके एक जोर की धार मेरे चेहरे पर फेंक दी.मेरा स्वभाव बचपन से ही कुछ लड़कियों जैसा था, जिस वजह से लोग मुझे चिढ़ाया भी करते थे.

राजधानी नाइट चार्ट एंड कल्याण चार्ट - नोएडा की बीएफ

फिर मैं कपड़े लेकर आया तो तब तक चाची ने ब्रा उतार ली थी और वो दूसरी तरफ मुंह करके खड़ी थी.नताशा- हां, दिख रहा है।मैं- क्या दिख रहा है?नताशा- चुप करके फ्रेश हो जाओ.

बुआ जोर जोर से वासना से भरी सिसकारियां ले रही थीं और मेरी गांड पकड़ कर अपनी ओर खींच रही थीं. नोएडा की बीएफ हमें और क्या चाहिए … बोलो!सरजू- क्या देता है? हम 3 बाप बेटे इतनी मेहनत करते हैं और बदले में हमें क्या मिलता है? आप कल उससे बात करो, नहीं तो मैं अपने तरीके से बात करता हूँ.

खैर … मैंने खुद पर कंट्रोल किया क्योंकि मेरा लंड भी टाइट हो गया था.

नोएडा की बीएफ?

ये बात मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मैंने अपनी मॉम को कभी भी पैंटी या ब्रा खरीदते हुए नहीं देखा था. पर आपने पता नहीं क्या कर दिया था, तो सब ऐसे ही मुँह से निकल गया था. वो जैसे ही चीखने को हुई तो मैंने उसके मुंह पर हाथ रख दिया और दूसरे हाथ से उसकी चूची दबाने लगा.

उसके बाद मेरा जब भी मन करता, मैं उस फोरेनर गर्ल के कमरे पर चला जाता और उसकी चुदाई के मज़े ले लेता. समधी जी बोले- कल रात तुमने मुझे खुश कर दिया … आज भी मुझे मजा दे दो. नमस्कार दोस्तो, मैं कुणाल अपनी Xxx भाभी सेक्स स्टोरी में आपको सुमन भाभी की दीदी रुक्मणी भाभी की चुदाई की कहानी सुना रहा था.

इंडियन रंडी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे पति की जुए की आदत ने सब बर्बाद कर दिया. मैंने उत्तर देने की ज़िद की तो बोलीं- मुझे पता नहीं है, ये शुरू से ऐसी ही हैं. एक बार मेरी चूतफाड़ चुदाई कर दो तो मेरी चूत की खुजली शांत हो जायेगी.

उसके होंठ सूख रहे थे, मन कर रहा था बस किसी का लंड मुँह में लेकर चूसे. मैंने भी उसकी चूत में लंड को पेलते हुए कहा- हां मेरी रानी … आज सारी रात तेरी चूत को ऐसे ही बजाऊंगा मैं!काफी देर तक इसी पोज में चोदने के बाद मैंने आंटी को लंड पर बिठा लिया और नीचे से गांड उठाकर चोदने लगा.

उनको दबोच कर उनके गुलाबी, रसीले, फूल की पंखुड़ी जैसे होंठों पर किस करने लग गया।वो नखरे करते हुए कहने लगी- छोड़ो मुझे, कोई आ जायेगा।अब मैं पीछे हटने वाला नहीं था.

जैसा स्वाद मेरी कच्छी से आ रहा था उससे भी बेहतर स्वाद अब मेरी जीभ को लग चुका था.

मैंने कहा- तुम्म!?उसने शर्माते हुए कहा- जीजू मैं आपकी साली हूँ … तो इतना हक तो है मेरा!मैंने भी गांड उठाते हुए कहा- हां पूरा हक है यार … मुझे तो कोई दिक्कत नहीं है. धीरज बोला- साली क्या मज़ाक कर रही है … जरा ठीक से चूस … पूरा लंड मुँह में ले. गच्च … से मेरा लंड उसकी चूत में उतर गया और आंटी के मुंह से जोर की आह्ह … निकल गयी.

उसे उसके कपड़े पहनाए और वापस उसको उसकी जगह पर लिटा कर खुद वहां से बाहर चला गया. उन्होंने अपना चेहरा एक तरफ घुमा कर आंखें बंद कर लीं और हाथों से मुझे जकड़ लिया. कहीं गलत जगह काट लिया तो … आपको दर्द के कारण अभी डाक्टर के पास भी जाना पड़ सकता है.

उधर मुखिया भी आंखें बंद किए मज़े से धीरे धीरे बड़बड़ाने लगा था- आह इसस्स … मुनिया रानी उफ्फ … तेरे हाथ कितने मुलायम हैं.

मैं बोला- आप सीधे सीधे पूजा भाभी से मत कहना। उनको कैसे पटाना है वो सब मैं देख लूंगा ।आप तो बस समय समय पर मदद कर देना।उन्होंने कहा- हां, ठीक है. अभि- हां, लेकिन मैं आज तक जिससे भी मिला हूँ, सबसे चुदवा भी चुका हूँ और सबको चोद भी चुका हूँ. मैं आपको दिल भरकर रंग लगाना चाहता हूं और तब तक आपने अपनी आँखें बंद ही रखनी हैं.

मुखिया- तू बड़ा होशियार है रे कालू … मेरी आधी से ज़्यादा मुश्किलें तू आसान कर देता है. कुछ देर बाद वो नशीली आंखों से मुझे देखने लगी और बोली- क्यों सता रहे हो. फिर धीरज ने मेरी अम्मी की लैगी भी उतार दी और अम्मी ने धीरज की पैंट और अंडरवियर दोनों उतार दीं.

उसकी इस सुंदरता को और भी ज्यादा बढ़ाने वाले उसके 28 इंच साइज के बड़े बड़े समोसों जैसे चूचे बड़े ही कामुक दिखते थे.

मैं पूरी ताकत से धक्के लगा रहा था और भाभी नीचे से गांड उठा-उठाकर मेरा पूरा साथ दे रही थीं. बिखरे हुए बाल थे और बिना ब्रा के उनके हिलते हुए मम्मे कहर ढा रहे थे.

नोएडा की बीएफ अशोक बोला- शान्ति रख मां की लौड़ी, अभी तो तुझे मेरा लंड भी इसी चुत में लेना है. मैंने जल्दी से सारा काम खत्म किया और भाबी के फोन का इंतजार करने लगा.

नोएडा की बीएफ कहीं तुम्हें बुरा लग जाए कि कोई गैर मर्द तुम्हारी पत्नी के साथ ऐसे कर रहा है … और शायद मीनू को भी बुरा लगे. भाभी नंगी नंगी चूत की कहानी में पढ़ें कि मैंने भाभी की दीदी को नंगी करके चुदाई शुरू कर दी थी.

मैंने मौसी के गाल पर चूम लिया और उन्होंने मेरे गाल पर भी एक किस्सी दे दी.

ತಮಿಳು ಸಕ್ಸ್

सुरेश- ये क्या है सुमन! घर का सब सामान कहां गया?सुमन- वो सब बाद में, पहले ये बताओ इतनी देर से क्यों आए? कब से आपका यहां बैठकर इन्तजार कर रही हूँ. भाभी मेरी ओर देखकर बोलीं- क्या कहा!मैं भाभी के पास को गया और उनकी नशीली आंखों में देखने लगा. यह देसी लड़की सेक्स की प्यासी कहानी उस वक्त का है जब मैं इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी होने के बाद सी-पेट करने गया था.

उन्होंने मेरी ओर देखा तो मैंने पूजा भाभी की तरफ आंख से इशारा कर दिया. देसी हिंदी कहानी लड़की का सेक्स के पिछले भागदीदी की ननद की कुंवारी सहेली की चुदाई- 1में आपने अब तक पढ़ा था कि मैं अंकिता के साथ सेक्स करने में मस्त था. कोई भी उसकी तरफ देखता तो वो उसकी पहली नजर उसके इन रसभरे उभारों पर ही टिक जाएगी.

कहानियां पढ़ते हुए मुझे काफी समय हो गया था तो मैंने सोचा कि क्यूं न मैं भी अपनी कहानी आप सबके साथ शेयर करूं.

नीचे से पेटीकोट उठा कर पैंटी को निकाला और पेटीकोट को जांघों के ऊपर ही रहने दिया. शादी से एक दिन पहले ही मैंने अपनी योनि को सजा संवार लिया था, इसके केश रिमूव करके इसे एकदम चिकनी चमेली बना दिया था. मैंने भाबी से कहा- आप भैया के आने के बाद बहुत खुश हो जाती होंगी ना? वो तो दिनभर आपको छोड़ते नहीं होंगे?वो उदास से मन से बोली- नहीं, ऐसा कुछ नहीं है.

मैंने शादी से पहले ही नताशा को बता दिया था कि मेरी एक गर्लफ्रेंड रह चुकी है लेकिन मैंने अभी तक नताशा को आयशा का नाम नहीं बताया था. जब तक ये सेक्स कहानी आपके हाथों में होगी, तब तक शायद मेरी शादी की बात आगे बढ़ जाए. भूसे पर अधनंगी मामी नीचे पड़ी हुई अपने बोबे दबवा रही थी और बहुत कामुक माहौल हो गया था.

उन्होंने फिर से मुझे नंगी कर दिया और बोले- आज मैं तुम्हारी गांड मारूंगा. अब आगे की रोमांटिक सेक्स स्टोरी:टीवी पर न्यूज देखते हुए उसने कहा- अब मैं 21 दिन तक क्या करूं?मैंने कहा- अभी सो जाते हैं, कल बात करेंगे.

वो बिल्कुल भी होश में नहीं थी। अब वो सिर्फ लाल ब्रा और पैंटी में थी।मैंने उसके मखमली कोमल जिस्म पर धीरे से हाथ फेरना शुरू किया। उसने सीधा अपने हाथ से मेरे खड़े लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी. काफी लम्बी चुदाई के बाद मैं अपनी चरम सीमा पर आ गया था, मैंने उसे बताया- अब मेरा झड़ने वाला है, कहां लेगा?मगर वो कुछ ना बोला. हर कोई चोदने को तैयार है और लड़कियाँ भी लंड का मजा लेने में पीछे नहीं हैं.

आगे क्या क्या हुआ, हमारी वो रात कैसे गुजरी और उसने मेरे साथ क्या क्या किया, वो सब मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा.

मैंने अपना अंडरवियर नीचे खिसका कर पूरा घोड़े जैसा लंड बाहर निकाल दिया। वह चौंक गई और मेरे लंड को उसने कस कर अपने हाथ में भींच लिया और उस पर एक चोपा मार कर मेरे अंडरवियर को अगले ही पल खोल कर फेंक दिया. हालांकि उनके हाथों में अभी भी साबुन लगा था, मैं तब भी उनके चेहरे के पास आया और उनके बाल पकड़ कर उनका चेहरा उठा दिया. हो सकता है कि अगली बार वो किसी और को भी साथ ले आए और वो दोनों मेरी अम्मी और बहन की एक साथ चुदाई का मजा लें.

उसके बाद मैं तुंरत किचन में आ गया, जहां पर भाभी बेक्रफास्ट बना रही थीं. फिर एक लाल रंग की छोटी सी ब्रा दिखाते हुए मेरी सास ने मुझसे पूछा कि ये पसंद है?मैंने अपनी सास को कहा- पहनना आपको है … ये अन्दर की बात है, उसको मैं थोड़ी न देखूंगा.

उधर सुरेश ने मीनू के मुँह में लंड घुसा दिया और एक दो झटकों में ही उसका पानी निकल गया. मैं अपनी गर्लफ्रेंड की सेक्सी बातों में काफी उत्तेजित हो गया और जोश में होश खो बैठा. अपने माथे पर अपना हाथ पटकते हुए बोली- ओह्ह यह उसका हर रोज का ड्रामा है.

बीएफ सेक्सी वीडियो फिल्म

मैं एक बहुत ही खूबसूरत सेक्सी महिला की बेटी हूँ।हमारे पड़ोसी लड़के आमतौर पर हम दोनों को सेक्स बम बोलते हैं। मेरी खुद की उम्र 20 साल और मेरी माँ की उम्र अभी 40 साल है। मेरी मां देखने में केवल 35 की ही लगती है.

गीता- यहीं बैठे करूं, कोई आ गया तो?मुखिया- बड़ी जल्दी है तुझे लंड चूसने की. मैंने भी गुस्से से कहा- साले बहनचोद … अभी तू अपनी बहन को चोद कर परिवार का बहुत बड़ा नाम कर रहा है. मैंने सुशी की दोनों टांगें अपने कंधों पर रखी और लंड को उसकी कोमल चूत पर रगड़ने लगा.

वो मेरे मुँह में जीभ डाल कर मुँह अलग से चोद रहा था।मैं उसे जोर से पकड़ कर उसका साथ दे रहा था. कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने सोनिया को कली से फूल बनाया. सेक्सी वीडियो हॉलीवुडफिर धीरे धीरे से मैं आपके ब्लाउज में हाथ को डालूंगा और आप प्यार से मादक आवाज में सीत्कार कर उठेंगी.

दोस्तो, जब तक मेरी पत्नी मुझसे चुदने के लिए सही कंडीशन में नहीं आ गई, तब तक समीक्षा ने मेरी सेक्स की जरूरत पूरी की. इन दोनों की बातें लंबी होती देख मुखिया का पारा चढ़ गया और वो ज़ोर से बोला- आ रही है या नहीं.

वो मेरे लंड को सहला रहा था और मैंने उसके लंड को हाथ में ले लिया और सहलाने लगा. इसलिए आख़िर उसने मुखिया को साफ साफ कह दिया कि ये वॉल नहीं खुल रहा है. रजिया बोली- तो तू ही बता? मैं उंगली न करूं तो और क्या करूं? जब से तेरे जीजाजी इस दुनिया से गये हैं तब से मैं बहुत अकेली पड़ गयी हूं.

मैं बोला- भाभी, एक किस करने दोगी क्या?वो बोली- थप्पड़ पड़ेगा, ज्यादा डिमांड की तो. इस तरह चुदाई का भरपूर आनंद लेने के बाद हम शाम होने से पहले ही घर लौट आये. मैं वैसे ही आधी नींद में था और उस मस्त महक से मैं बाकी का भी सब कुछ भूल कर उन्हें पकड़े सोता रहा.

उनके जाने के बाद मैंने उठकर ब्रा और पैंटी अलगनी पर टांग दी और नीचे आ गया.

आप ये थैला घर तक छुड़वाने में मेरी मदद कर सकते हैं क्या?खुश होते हुए मैं बोला- हां, हां … क्यों नहीं!फिर मैंने उसका थैला उठाया और हम साथ साथ घर आ गये. मेरी गर्लफ्रेंड मधु ने मुझसे कहा कि अभी संजना का कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है, उसके जिस्म में जवानी की आग भरी पड़ी है, तो वो रात में मुझसे ही लिपट जाती है … लेकिन मुझे ये सब अच्छा नहीं लगता है.

उसके बाद मैंने उन्हें कैसे ट्रिक से नंगी किया, फिर उनकी चूत चुदाई की. पहली बार मेरा लंड किसी चूत में गया था और सच कहूं दोस्तो तो कितनी भी मुट्ठ मार लो लेकिन चूत में जब लंड जाता है तो उस जैसा मजा और किसी चीज में नहीं है. फिर मैंने आंटी को पेट के बल लिटा लिया और उसकी गांड में तेल की बूंदें डाल दीं.

करीब पचास धक्कों के बाद मेरी अम्मी बोलीं- आह साले अब जोर से अन्दर बाहर कर … मुझे भी आग लग रही है. मैंने उसका मुँह पकड़ कर तेजी से झटके मारते हुए उसके मुँह में झड़ गया. मौका नहीं मिल पा रहा था शुरूआत करने के लिए। मैंने सोचा कि बिना योजना बनाये तो चूत नहीं मिल पायेगी.

नोएडा की बीएफ मेरी ये पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई गलती दिखे, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर दीजिएगा. मैंने पूछा कि अरे तुम रो क्यों रही हो … क्या हुआ?अंकिता बोली- मुझे लगा कि आप नहीं आओगे.

सेक्सी बफ हिंदी सेक्सी बफ हिंदी

गांव में मुझे भांग खाने की आदत पड़ गई थी, तो मैं अपने साथ गांव से भरपूर मात्रा में भांग लाया था. इस वजह से अम्मी मुझसे बोलती थीं कि बेटा तू अभी अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे. अब आगे की माँ की चुदाई की कहानी:फिर अम्मी उठीं और बोलीं- अब उठने दो … सुबह हो गयी.

कुछ ही देर में भाभी मिन्नतें करने लगी- बस … अब चोद दो देवरजी … बहुत दिनों से लंड नहीं लिया है मैंने. फिर मेरे सामने सफेद झूठ बोलने लगे- हम तो अब बूढ़े हो गये हैं बेटा, हम सुहानी बहू को सुख देना चाहते थे लेकिन वो हमसे बहुत शर्माती है. हिंदी में सेक्सी वीडियोसमुझे उसकी कमसिन उम्र देख कर इस बात का डर सता रहा था कि अगर ये दर्द से चिल्ला पड़ी, तो क्या होगा.

होटल में चुदाई करवाने के बाद से अब रोबीना घर पर भी रात को मेरे कमरे में आ जाती थी और मैं अपनी बीवी के साथ ही उसको भी चोदने लगा.

उसी रात को मैंने दीदी को भी भांग खिलाई और भांग के नशे में हम दोनों ने चालीस मिनट तक चुदाई का मजा लिया. जब मैं हॉस्पिटल पहुंचा, तो पता चला कि सुमन भाभी घर गयी हैं क्योंकि वो दो दिन से नहाई नहीं थीं, तो आज रुक्मणी भाभी को हॉस्पिटल में रुकना था.

मैंने तुरंत अपने लन्ड को उनकी चूत से निकाल लिया और बेड पर आकर उनके बगल में ही लेट गया। अब वो उठकर मेरे ऊपर आ गई और मेरे लन्ड को पकड़ कर अपनी चूत पर सेट कर लिया. छोटा सा तो गांव है हमारा … कौन गायब है … ये पता लगाना क्या मुश्किल है?शिवनाथ- मालिक, पूरा गांव छान लिया हमने … कोई गायब नहीं हुआ है. मेरे धक्के से वो बिस्तर पर गिर पड़ी जिससे लंड बाहर निकल आया।मैंने पूछा- अगर इसमें दिक्कत हो तो दूसरे आसन में करते हैं?वो बोली- नहीं, कोई दिक्कत नहीं है, हम दोबारा कोशिश करते हैं।मैंने बोला- ठीक है.

आह मुझे बहुत मजा आ रहा है साले जोर से चोद मुझे … अअअआआ साले बहनचोद च.

मैंने हुक लगाकर उन्हें अपनी तरफ मोड़ा, तो बाप रे … काली ब्रा में से चूचियां और निप्पल साफ़ झलक रहे थे. मुझे देख कर उन्होंने …हाय दोस्तो, मैं आपकी फ्री सेक्स कहानी की लेखिका अंजलि फिर से एक नयी इंडियन रंडी सेक्स स्टोरी लेकर आयी हूँ. जब पता चला कि जीजाजी का एक्सीडेंट हो गया है, तो खुशी ने मुझे भाभी के साथ भेज दिया.

लैट्रिन करते समयकभी वो लंड को हाथ में भींच लेती थी तो कभी उसको जोर से खींच लेती थी. तीन-चार मिनट की चुसाई में ही मैं झड़ने लगा और मैंने सारा माल मामी के मुंह में भर दिया.

हिंदी रंडी की चुदाई

उन्होंने गोबर के कंडे बनाने के लिए बाल्टी उठा ली और बाल्टी में पानी भर लिया. आंटी हंस कर बोलीं- हां यार, पहले पहल तो खुद के लिए लंड तलाश करती रहती थी. उसकी स्पीड बहुत तेज थी और पूरा कमरा थप-थप की आवाज से गूंजने लगा था.

वो बाथरूम के डोर के पास खड़ी होकर उंगली के इशारे से मुझे करीब बुला रही थी. कुछ देर बाद मौसा जी ने मुझे बिस्तर पर लिटा लिया और मेरी जांघें खोलकर मेरी चूत में जीभ घुसा कर चाटने लगे. मैंने जल्दी से बैग से व्हिस्की की बोतल निकाली और दो पटियाला पैग खींच लिए.

अब जैसे ही वो तौलिया देने के लिए आगे बढ़ी तो उनका पैर फिसला और मैंने उनको लपक लिया लेकिन साथ ही मैं भी नीचे गिर गया. मेरे लंड के धक्के उसकी चूत में लग रहे थे और हर धक्के के साथ उसके दर्द भरे शब्द बाहर आ रहे थे. वो भी पलंग से नीचे उतरी और अपने कपड़ों को ठीक करने लगी। सारे कपड़े नीचे बिखरे पड़े हुए थे.

उसने अचानक से आवाज दी- सुनिये?मैं पलटकर बोला- जी भाबी जी!वो बोली- आज मेरा सामान कुछ ज्यादा ही हो गया है. कोई पहिचान वाला मिल गया तो? और होटलों में तो गुप्त कैमरे भी लगे होते हैं … न बाबा न.

अन्तर्वासना की सेक्स साईट पर मैंने कई बार दूसरों की सेक्स स्टोरी पढ़ी हैं.

वो अब मुझे जोर जोर से किस कर रहा था और उसका एक हाथ मेरी शॉर्ट्स के अन्दर पहुंच कर मेरी गांड को जोर जोर से दबा रहा था. मारवाड़ी सेक्स वीडियो मारवाड़ीकुछ पल बाद अम्मी ने अपना एक पैर मोड़ लिया और पेटीकोट को आधी जांघों तक उठा लिया, जिससे उनकी दोनों टांगें बिल्कुल नंगी हो गईं, सिर्फ गांड ढकी थी. मोठी बाराखडीमैंने पूछा कि आपका नाम क्या है भाभी?भाभी ने कहा- मेरा नाम कोर्निषा (बदला हुआ नाम) है, आप कौन बोल रहे हैं?मैंने उन्हें सब बताया कि मैंने अभी आपको फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी, जो आपने एक्सेप्ट कर ली थी. मेरे कमरे की खिड़की बरामदे में खुलती थी, जिससे पूरा बरामदा साफ़ दिखता था.

वो अंदर चली गई और फिर मैंने अपने लंड को टिश्यू पेपर से साफ कर लिया और बेड पर आकर लेट गया.

उसको भी पता था कि अब मैं उसे चोदने वाला हूँ, तो वो आगे किचन की स्लैब पर झुक गई. भाभी का चेहरे देखकर लग रहा था कि वो मुझसे नाराज हैं … क्योंकि मैंने उनकी बातों को अनसुना करके बिना रुके उनकी ताबड़तोड़ चुदाई की. मैंने कहा- भाभी एक बात पूछूं, आप बुरा तो नहीं मानोगी?रुक्मणी भाभी- पूछो… क्यों बुरा मानूंगी भला?मैं- भाभी, तुम दिन पर दिन जवान और खूबसूरत होती जा रही हो.

उनको खाना परोसते वक्त मेरा पल्लू हट गया, समधी जी की नजर मेरे गोरी गोरी भरी हुई चुचियों पर टिक गयी. मैं उन दोनों से बोली- देखो मेरा पति नशे में था … और वो जीतने की लालच में ऐसा कर बैठा. क्यों दोस्तो, सेक्स कहानी में मज़ा आ रहा है ना … तो चलो, मुखिया के पास चलते हैं.

एक्सएक्सएक्स बियफ

फिर आपा ने मुझे इशारा किया तो मैंने अपनी निक्कर उतार दी और टीशर्ट को भी उतारकर फिर से पूरा का पूरा नंगा हो गया. उसने कुछ देर सोचा और कहा- ठीक है, लेकिन कल मुझे होटल में रूम दिला देना. कुछ मिनट की सकिंग करवाने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर खींचा और किस करने लगा.

वो तेजी से अपनी गांड को ऊपर नीचे करते हुए अपनी चूत को चुसवा रही थी.

वैसे सुमन तुमको तो बड़ी चम्मच से ये खीर खानी चाहिए तभी खाने का असली मज़ा आएगा.

मैंने सोचा कि अगर अब मैंने पहल नहीं कि तो चाची जैसा माल फिर कभी हाथ नहीं लगेगा. जब मैं उनके रूम में पहुंचा तो चाची तैयार हो रही थी और उसने ब्रा चढ़ा ली थी. सेक्सी फिल्म बढ़िया सेक्सीमुझे यकीन नहीं हो रहा था कि ट्रेन में ही ऐसी सेक्सी भाभी की चूत चोदने के लिए मिल जायेगी.

मैं उनके ठीक सामने खड़ा हो गया और हाथ को उनके सूट के अन्दर डालकर उनकी पीठ पर फिराने लगा. राहुल ने रूचि को उसके घर के नजदीक छोड़ दिया, जाते जाते रूचि ने राहुल को कहा. ऊपर ब्लैक शर्ट के साथ लाल पैंटी में गजब की माल लग रही थी वो। मैंने थोड़ा और इंतजार करना ठीक समझा।अब मैंने भी अपनी टीशर्ट उतार दी और उसकी शर्ट भी अपने हाथों से उतार दी.

मैंने उनकी ब्रा में मुंह देकर उनकी चूचियों की घाटी को जीभ से चाटना शुरू कर दिया. ऐसा लग रहा था जैसे वो पहली बार इस आसन में अपनी चुदाई करवा रही हो।खैर, मैंने ऐसे ही लगभग 5 मिनट तक चोदा.

तभी मोनिषा ने बेड से उतर कर धीरे से खिड़की खोली, तो पिताजी और मां दोनों नग्न अवस्था में थे और पिताजी मां की चुत को चाट रहे थे.

इतनी जोर का धक्का मार रहा था कि मैं बार बार दीवाल से टकरा जा रहा था. भाभी के मम्मे हाथ में पकड़ पर उनकी चुत में धक्के लगाने लगा और जोर जोर से चोदने लगा. मैंने उसको फिर बेड पर डॉगी स्टाइल में किया और अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगा कर उसकी चूत में लंड को डालना शुरू किया.

एचडी मूवी सेक्सी हिंदी लंड के मेरी पैंट के अंदर ही झटके लगने लगे और शायद कपिला ने भी ये हरकत देख ली थी. वो धीरे धीरे पीठ से हाथ को गीता के चूतड़ों पर ले गया और उनको सहलाने लगा.

अपने से पंद्रह साल छोटे भतीजे को याद भी नहीं किया उन्होंने।फिर चाचा ने उसका ब्लाऊज़ खोलकर दोनों फूले बूब्स के चूचकों को अपनी कठोर उंगलियों से मसल दिया. मैं- भाई का कॉल आया था … वो बोल रहे थे कि भाभी का अच्छे से ख्याल रखना. देसी चूत की इंडियन चुदाई कहानी में पढ़ें कि भाभी की ननद को पटाने के बाद उस जवान कुंवारी लड़की की चुदाई करके मैंने मज़ा ले लिया.

ब्लू फिल्म चुत

भाभी- आह कितना सता रहे हो जान … मेरी चुत आपके लंड की गर्मी महसूस कर रही है जानू … अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है, जल्दी से इसे मेरे भूखी चूत में अन्दर डाल दो. देखते ही देखते हम दोनों पूरे के पूरे नंगे हो गये और एक दूसरे से लिपटकर चूमा चाटी में लीन हो गये. मुझे बहुत दर्द हो रहा था, लेकिन उसकी पकड़ से खुद को छुड़ा पाना मेरे लिए नामुमकिन था.

अब मैंने उसके काले मोटे लन्ड को पकड़ लिया और उसके सुपारे की चमड़ी को खींचकर पीछे हटा दिया. मेरे दूध पहले से ही बड़े थे लेकिन शादी के बाद अब मेरे बूब्स का साइज 34, कमर 32 और गांड भी 34 की हो गयी है। मेरी चूचियां ठोस, गोल और नुकीली हैं जिन्हें देख कर किसी भी लड़के का उन्हें भींचने और चूसने को मन मचल जाए।मैं आज आपको जो अपनी थ्रीसम सेक्स की कहानी बताने जा रही हूँ.

अब उसने मुझे अपने हाथों की जकड़न से आजाद कर दिया और मैं उसे अपने काले खीरे से गुलाम बनाने लगा। मैंने अपनी गति तेज कर दी.

दोनों हाथों से मैंने उसकी कमर जोर से पकड़ी और एक जोर का झटका देकर लंड उसकी गांड में पेल दिया. फिर मैंने आखिर में हाथ पैर जोड़ने के बाद सोनू से कहा कि मैं सर को थ्रीसम चुदाई के लिए ही राजी करूंगी. मैं आरव, रीमा की इस यंग हॉट लेस्बियन फ्रेंड स्टोरी में आगे उन दोनों की मस्त चुदाई को सविस्तार लिखूंगा.

मुखिया- अरे नहीं नहीं डॉक्टर बाबू, आप करो … मैं तो बस इधर से गुजर रहा था, तो सोचा आपके हाल चाल पूछता जाऊं. मेरी बहन की गांड इतनी अधिक टाइट थी कि मेरे लंड और उसकी गांड दोनों में दर्द होने लगा. वहां पर हमारे एक करीबी रिश्तेदार का घर भी है और हमारा एक निजी मकान भी है.

मैंने अपना अंडरवियर नीचे खिसका कर पूरा घोड़े जैसा लंड बाहर निकाल दिया। वह चौंक गई और मेरे लंड को उसने कस कर अपने हाथ में भींच लिया और उस पर एक चोपा मार कर मेरे अंडरवियर को अगले ही पल खोल कर फेंक दिया.

नोएडा की बीएफ: सिसकारते हुए मैं बोला- इस्स … जल्दी करो मामी, भाभी की चूत को चूसने के लिए मरा जा रहा हूं. मैं- क्या कहा आपने?दीक्षा- हाँ यार देखती तो मैं भी हूँ, पर मैं फिंगर नहीं करती यार … बस कोल्ड वाटर पी लेती हूँ.

कुछ पल सहलाने के बाद राहुल ने एक ही बार हल्के से उन्हें दबाया ही था कि उसको एक जोरदार करंट सा लगा. सुमन- जंगल से वो इंसानों को उठा कर यहीं लाकर मारता है … और यहां भी तो कई लोगों की जान गई है. मैं झड़ने जैसा तो पहले ही फील कर रही थी सो उनके आठ दस धक्कों में ही मैं निपट गयी और उनसे जोंक की तरह लिपट गयी; मेरी चूत से रह रह कर रस की फुहारें छूट रहीं थीं.

फिर मैंने उसको ब्रा खोलने को कहा तो उसने तुरंत अपनी ब्रा के हुक खोलना शुरू किया और मैं भी अपने कपड़े उतारने लगा.

इस शृंखला की पहली तीन कहानियां पढ़कर आपके लंड और चूतों ने आपको खूब परेशान किया होगा. ये लो बिटिया रानी, और लो और लो … रूपांगी … मेरी जान … कितनी मस्त टाइट चूत है तेरी, चुदाई का मजा आ गया!” मौसा जी मुझे पेलते हुए बोले. चूंकि नीचे पेटीकोट भी था और पैंटी भी तो मैं अच्छी तरह से चूत को महसूस नहीं कर पा रहा था.