वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर के सॉन्ग

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पाकिस्तानी वीडियो: वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी, पिछली चुदाई से जो जेठजी ने मेरे स्तन पर दांतों से चबाया था, उस वजह से अब जब मेरे स्तन में मुझे दर्द का अहसास भी हो रहा था.

xxnx सेक्सी वीडियो

मैं उनकी चुत को फिर से चाटने लगा और अपने हाथों से उनके मम्मे दबाने लगा. नेपाल की सेक्सी वीडियो दिखाइएजिससे वो उछल पड़ीं और आवाजें निकालने लगीं- और जोर से करो मेरी जान … आहह … आहह.

[emailprotected]जंगल सेक्स की कहानी का अगला भाग:सबसे छोटी मामी जी को बीहड़ में पेला- 4. प्रायव्हेट सेक्सअब उसकी गांड मेरे सामने थी और उसे लगा कि मैं उसकी गांड मारने वाला हूँ.

दोस्तो, ये थी मेरी आंखों देखी मेरी बहन की चुदाई की कहानी।आपको ये मामा भांजी की चुदाई कैसी लगी मुझे जरूर बताना.वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी: काफी देर उसके तलवे चाटने के बाद मैंने उनकी पीठ चाट कर गीली कर दी और गर्दन को भी अपनी जीभ से चाट कर खूब चूसा.

हम दोनों घर से दूर थे, मैंने सोचा बरसात में घर पहुंचना मुश्किल रहेगा और रात भी हो गई है.मगर उस दिन मैंने जब उसको चुदते हुए नंगी देखा तो तब से मेरा ध्यान भी उस पर जाने लगा।मीनू की कॉलेज की छुट्टियां चल रही थीं। उसके कॉलेज का वो पहला साल था। हम लोग मेरे मामा के यहां गये हुए थे।मेरे दो मामा हैं.

भूत वाली कहानी बताएं - वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी

वैवाहिक जीवन के प्रथम छह माह में हम दोनों ने अनगिनत बार अलग अलग मुद्राओं में एक दूसरे को खुश और तृप्त किया.मुझे पापा के साथ इस लिए आना पड़ा था क्योंकि मेरी फ्रेंड का घर दूर था.

मैंने उसकी जांघों को चौड़ा किया और अपने लौड़े को चूत के निशाने पर लाकर एक करारा धक्का लगा दिया. वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी वो बोली- आप 7 दिन से खिलौने लेने आते हो … और देखते कहीं और हो, चक्कर क्या है?मैंने कुछ नहीं कहा.

भाभी को लंड पर बिठा कर उनका मुँह खुद की तरफ कर लिया; मोबाइल उठा कर भाभी कि हिलती चूचियों की रिकॉर्डिंग करने लगा.

वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी?

आगे से रमेश का लंड चूत फाड़ रहा था, पीछे से दीवार, मेरी गांड में चांटे मार रही थी. विजय यह देख कर सोच में पड़ गया कि सरिता की चूत का छेद लाल था और चूत काली थी. रिट्ज मेरे पास आई और बोली- यार सॉरी, मैं समझी तुम बस वैसे ही बोल रहे हो.

लगभग 15 मिनट की जबरदस्त चुदाई के बाद रोहन को लगा कि अब उसका लंड कभी भी पिचकारी छोड़ सकता है. चार दिन बाद अनिकेत चला गया और मैं फिर से भाभी की चुदाई का मजा लेने लगा. उस दिन फिल्म देखने और घूमने के बाद समीक्षा ने कहा- यार, मैं तो बहुत थक गई हूँ.

अपनी नंगी बेहन को लंड लेते देख कर मेरा भी लंड मेरी पैंट में खड़ा हो गया था. अब पीयूष ने अपने प्लान के मुताबिक उसको एक लोशन दे दिया और लगाने के लिए कह दी. कुछ देर बाद वो दूसरे वाले अंकल कमरे में आ गए और तुरंत नंगे होकर मेरे ऊपर चढ़ कर मेरी चूत चोदने लगे.

जेठजी ने मेरे दोनों स्तन के निचले हिस्से से अपने दोनों बड़े बड़े खुरदरे हाथों में लेकर एक साथ ऊपर की ओर उभारा और दोनों को एक साथ सटा दिया. मैंने जिस तरह से तुमसे बात की, उसके लिए मुझे माफ़ कर दो और प्लीज चलो न मेरे साथ!मैं तो यही चाहता था कि इतनी पटाखा माल मुझे तेल लगाए.

अचानक से हुए इस हमले से वो चौंक गयी और बोली- इस सबकी बात नहीं हुई थी, उसको छोड़ दीजिए.

उस वक्त जब किसी ग्राहक को सामान देने के लिए जब आंटी उठती थीं, तो मेरे मुँह के सामने अपनी बड़ी सी गांड मटकाते हुए जातीं.

लेकिन संभोग की आग ने मुझे उस दर्द को भी बर्दाश्त करने की शक्ति दे दी थी, जिससे मैं सत्यम का साढ़े दस इंच मोटे लौड़े को अपनी चूत में ले गई. मैं मुस्कुरा दी तो उसने लंड का सुपारा मेरे होंठों पर घुमाना शुरू कर दिया. चूंकि मेरे साथ खुद ऐसी ही कुछ अन्य घटनाएं घटी हैं, जो मैं आपको अलग अलग हिस्सों में एक एक करके बताऊंगा.

फिर उसकी गांड के छेद में उंगली डाल कर साबुन का झाग घुसाया और गांड ढीली कर दी. वो एकदम से सहम गई और बोली- यार …मैंने उसकी बात काटते हुए कहा- कुछ मत बोलो बस. इस तरह से हमने किस करते हुए, चूची दबाते और पीते हुए लगभग आधा रास्ता काट दिया था.

रोमी बोला- क्या हुआ सरिता जान?वो कुछ बोलने लायक बची ही नहीं थी … एकदम बेदम शांत पड़ी रही.

अब मैंने उसको उलटा करके लिटाया तो उसकी पैंटी के फटे छेद में से उसके चूतड़ों की दरार दिख रही थी. आज मैं उनकी दुकान बंद होने तक उनके साथ उनकी दुकान पर रहा क्योंकि अंकल के कोमा में जाने की वजह से शायद आंटी बिल्कुल अकेली हो गयी थीं. कमल ने अपने आप ही ब्रेकफास्ट लिया और उसको कहा कि रात को वो डिनर बाहर करेगा किसी पार्टी के साथ और लौटने में 11-12 बज जायेंगे.

मेरी हाइट 5 फुट 7 इंच है और मैंने अपने वजन को काफी सलीके से मेंटेन किया हुआ है. चुत के अन्दर से कुछ बाहर को आने जैसा हो रहा था मगर अगले ही पल एकदम से वो अहसास बंद हो जाता. और अब उसकी मंद-मंद सीत्कार आह्ह … आह्ह … ऊह्ह … जैसी जोर जोर की आवाजों में बदल गयी थी- हां अनुराग … आह्ह … ऐसे ही चूसो … खा जाओ … आह्ह … मेरी चूत को खा लो … मेरी चूत प्यासी है।मैं- मेरी प्यारी नैना … आज तुम्हारा सारा जूस पी जाऊंगा.

कुछ देर में मैंने भी कंप्यूटर बंद कर दिया और सीधा साधा खेल अब चुदाई के खेल में बदल गया.

मैं गांव में भी कम ही घर से बाहर निकलता था, शाम का समय छत पर ही बिताता था. पता नहीं, इस बात से मुझमें ऐसा क्या जोश भर गया था कि मैं उसको किस करते हुए ऊपर चला गया और जोर जोर से होंठों पर चुम्बन करने लगा, उसके होंठों को काटने लगा.

वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी मेरे ऊपर शराब का नशा हावी हो गया था … सामने टीवी पर सेक्स सीन चल रहा था. मैंने अपनी घड़ी में टाइम देखा, मुझे बाथरूम में आए एक घंटा हो चुका था.

वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी हालांकि कोई और अवसर होता, तो मैं कहता कि फ्रेंड की शादी है तो वो ही मुझे कॉल करे. फिर मैंने उनको मज़े से चोदा।जीजा जी नेहा दीदी को रण्डी बोल बोलकर गाली दे रहे थे।सुबह तक फिर हम तीनों नंगे लेटे थे.

मैं उसकी इस बात से बेहद खुश हो गई थी इसलिए मैं हंस कर बोली- ठीक है, इकबाल के रूम पर मिल.

ब्लू पिक्चर दीजिए ना

उसके बाद जब लंड खड़ा हुआ तो मैंने सीधा उसकी चूत में घुसा दिया और उसको चोदने लगा. मैंने भी सोचा कि यह अच्छा मौका है … लिली को घर बुला कर चोदने का सुनहरा मौका मिल रहा है. अब ससुर जी से भी नहीं रुका गया तो उन्होंने अचानक से मेरी चूत पर लंड रखा और एक धक्का दे दिया.

मैं पहली बार चुदाई कर रही थी मगर अमित को देख कर ऐसा नहीं लग रहा था कि मैं उससे किसी भी तरह से कमजोर हूँ. ये वही पल था, जिसमें कुसुम अन्दर आकर अपने बेटे के बारे में सोच कर अपनीचुत में उंगलीकर रही थी. उसी स्थित में मैंने भाभी का एक पैर उठा कर लंड चूत में डालना चाहा लेकिन मेरा सिर ऊपर होने के करण में देख नहीं सकता था तो लंड को चुत के अन्दर डालने में सफल नहीं हुआ.

पहली बार ससुर के लंड से चुदाई और उनका मोटा लंड आज भी जब मैं सोचती हूं तो मेरी चूत गीली हो जाती है.

मैं नासिर से कहा- मैंने तुझे भाई माना और तुमने मेरे साथ यह किया?नासिर की एकदम से भाषा बदल गई और वो बोला- साली क्यों चिढ़ रही है, तुझे भी तो रमेश से चुदने में मजा आया न?मैं कुछ नहीं बोली, बस चुप रही. उसके बाद उसने वो तेल लगाया और अपनी सलवार खोल ली और साथ में चड्डी भी सरका दी. वो शेखर को धोखा नहीं देना चाहती थी … और अब वो आगे भी बढ़ना चाहती थी.

अनीषा बोली- वो कैसे?मैं बोला- उसकी 2 बेटियां हैं और वो दोनों आपके ही काम आएंगी. मैंने कहा- क्यों तुम्हें क्या लगता है क्या मैं किसी काम का नहीं हूँ. उसकी आत्मविश्वास से भरी हुई भाषा और शक्लोसूरत देखकर मुझे न जाने क्यों वो आदमी मस्त लगा.

वो पजामे के ऊपर से मेरा लंड पकड़ने लगी तो मैंने पजामा और टी-शर्ट दोनों को खोल दिया. जब मुझे पता लगा तो …आदरणीय देवियों, सज्जनों और प्रेम रसिकों को लेखक पथिक रंगीला का सादर प्रणाम।मेरी उम्र 32 साल, लंड 6 इंच का और लंबाई 5′ 10″, गठीला शरीर है।लंबे समय से एक बात दिल में छुपा रखी थी हमने!वो बोली इस बात को एक कहानी का रूप दे दो मुझे भी अमर कर दो अपने संग संग।पहली बार किसी प्रसंग को कहानी का रूप देने की कोशिश कर रहा हूँ.

शेखर भी कुसुम की चूत में झड़ गया … पर कुसुम के मुँह से रोहन का नाम सुनकर वो चौंक गया था. करीब एक घंटे की इस चुदाई में मैं फिर से आंटी की मखमली गांड में ढेर हो गया. मैं एक असली मर्द के नंगे जिस्म का स्पर्श पाने का सुख अनुभव कर रही थी.

”तो तुम्हें ही देखूंगी ना!”हां … पर तुम मुझे ही क्यों देखती हो?”क्योंकि तुम मुझे पसंद हो.

उसको मैंने पूछा- रात के बारह बजे कैसे आओगे तुम?वो बोला- अरे दीदी, उसका जुगाड़ है मेरे पास … जब सब सो जाएंगे तो मैं अपने कमरे की खिड़की से बाहर आ जाता हूं और रात भर के लिए फ्री. मैंने अपनी घड़ी में टाइम देखा, मुझे बाथरूम में आए एक घंटा हो चुका था. उफफ्फ़ …’इस बार फिर से मायरा वासना में सिसकने लगी और पीठ घुमा कर उसने अपना चेहरा मेरे सामने कर दिया.

लॉकडाउन में मिलते भी कहां … तो मैंने एक मैरिज हॉल के गार्ड को पैसे देकर कह दिया था कि एक लड़की आएगी, उसको आ जाने देना फिर बाहर से हॉल बन्द कर लेना. मुझे इस बार बड़ा अच्छा फील हुआ क्योंकि इस बार चिकनाई के कारण लंड सही से घुसा था.

कुछ ही समय में मैं उसके घर आ पहुंचा और हम दोनों पहली बार रूबरू हुए थे. कभी वो अपनी जुबान से भाभी की चूत के दाने को चाटता, तो कभी सरिता चूत की फांकों को पूरा मुँह में लेकर चूसने लगता, कभी अपनी जुबान भाभी की चूत की गहराई में डाल देता. लेकिन घर परिवार समाज सब देखना पड़ता है इसलिए जब मैं 23 साल की हुई, तो मेरे लिए रिश्ते आना शुरू हो गए थे.

सेक्स बढ़ाने के लिए

सत्यम मेरे सर को पकड़े और अपनी आंख बंद करके मेरे मुँह से अपने लंड की गोटियों को चूसे जाने का मजा ले रहा था.

अब सारा को लकी ने कुतिया बनाया और नीचे कमल को लिटा कर उसका लंड सारा की चूत में करवाया. चाहे मैं उसकी बात को सुन भी रहा हूँ या नहीं … मगर तब भी मैं इसी तरह जबाव देता रहता था. मैंने कहा- बता न!वो बोली- पहले तू ये बता कि अपना वो हिलाते समय ‘सरीना सरीना.

अब तक मेरी गांड और चुत दोनों की सील खुल चुकी है और मैं बहुत बड़ी चुदक्कड़ हो गयी हूँ. मैंने दूसरे दिन एक बजे उनको अपने आने का मैसेज कर दिया और तय वक़्त पर चला गया. कपड़े धोने वाली सेक्सी वीडियोउसके घुटनों के नीचे तकिया लगाने से उसकी गांड थोड़ी ऊपर की साइड में हो चुकी थी, जो मुझे मजेदार लग रही थी,मैं रुक नहीं पा रहा था तो मैंने फिर से अपना मुँह उसकी चूत में डाल दिया और उसको पूरा चूस लिया.

ये सब बोलते हुए मैंने माधवी की आंखों में बहुत प्यार से देखा और एक गुलाब का फूल निकाल कर उनके सामने घुटनों पर बैठ गया. तb मैंने लवली की चूत को कई बार हाथ फिराकर देखा था।तभी लवली बोली- यार, अब चोद भी दे ना!तो जैसे जैसे मुझे लवली ने मुझे बताया था, वैसे ही मैंने सबसे पहले अपने लंड का सुपारा खोला और लवली की चूत पर घिसने लगा.

अपने गुप्तांगों के बाल साफ कर लिए ताकि मेरा सांवला रंग होने के बावजूद मेरे जिस्म का हर अंग मेरे यार को अच्छा दिखे. मैंने सहारा देकर उसे उठाया और फिर उसको धीरे धीरे उसके रूम में ले गया. जब देश में कोरोना की वजह से लॉकडाउन हो गया था तो उसके बाद मेरी कंपनी में घर से काम करने की इजाजत मिल गई.

क्या तुमने सनी लियोनी को ब्लूफिल्म में गांड मराते हुए नहीं देखा?वो बोली- क्या मैं सन्नी लियोनी हूँ?मैंने उसके दूध मसलते हुए कहा- आज तुझे मैं अपनी सन्नी लियोनी बनाकर ही छोडूंगा. मेरी जांघों में दर्द कर रहा था इसीलिए 10-12 मिनट के बाद हमने गांड की चुदाई रोक दी. मैंने ट्रेन एसी फर्स्ट में अपनी सीट बुक कराई थी, जिसमें मैंने मेरा पर्सनल केबिन बुक कर रखा था.

कोई 5 मिनट के बाद अंजलि को थोड़ी राहत आई और वो चूतड़ उठा कर चुत चुदवाने लगी.

दोस्तो, अगले भाग में मैं अन्वेषी भाभी की चुदाई की कहानी को आगे लिखूंगा और बताऊंगा कि भाभी की वो फैंटेसी कैसे पूरी हुई, जो वो चाहती थीं कि मैं उन्हें उनके पति के बाजू में रगड़ कर चोदूं. फिर भाभी ने मुझे एक कोल्डड्रिंक पिलाई और हम दोनों की चुदाई का दूसरा दौर शुरू हुआ.

राज़- मेरी जान दर्द को सहन करो, तुमको तो पता है कि मुझे चूत से ज़्यादा गांड मारना पसंद है. पोर्न एक्ट्रेस स्टोरी में पढ़ें कि दूसरे पति की मौत के बाद मुझे फिर से जुआ के अड्डे में जाना पड़ा. इसी के साथ उसकी चूत का रस मेरे हाथ से होता हुआ उसकी जांघों के रास्ते नीचे बहने लगा। उसके बाजू ढीले पड़ गए, सिर भारी हो गया और उसने उसको वैसे का वैसे मेरी छाती पर रख दिया।मैं वैसे ही उसे बांहों में लेते हुए पीछे बेड पर उसके साथ गिर पड़ा.

कुछ देर बाद मैं अपने घर आ गया और आज शाम को फिर से मैं आंटी की दुकान पर आ गया. वो भी मन ही मन चाहती थी कि रोहन का लंड उसकी चूत की धज्जियां उड़ा दे. होश में आने के बाद शीना ने बोला- भैया मेरी जांघें दुख रही हैं … प्लीज़ अब अपना लंड बाहर निकाल लो.

वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी रिट्ज हद से ज़्यादा गोरी थी और इस सफेद रंग की फ्रॉक में वो एकदम सेक्स डॉल लग रही थी. मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि किसी भाई बहन ने बीच भी चुदाई हो सकती है.

अंग्रेजी ब्लू

इतने में ही कोमल ने अपने हाथों से जोर से मेरे सर को अपनी चूत से चिपका दिया. वो दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे और अपनी अपनी जुबान से एक दूसरे को चाटने लगे और लार चूसने लगे थे. विजय ने भाभी के दूध दबाए और कहा- ताकत तो दूध पीने से आती है मेरी जान पहले दूध ही पिला दो.

मैं दूसरे दिन भी उसके पास गया और आज वो खुद ही एक खिलौना दिखाते हुए मेरे हाथ से अपना हाथ स्पर्श कराने लगी. सेक्स के बाद आकृति आंटी ने मेरा सारा वीर्य अपने मुँह में लेकर लंड साफ कर दिया. चूत को चाटने वाला सेक्सी वीडियोमैंने उनको हटाया और उनकी टांगों को चौड़ी करके उनकी चूत में मुंह लगा दिया.

इससे आंटी को जब दर्द होने लगा तो वो अपने होंठों को छुड़ाने लगीं लेकिन मैंने भी बड़ी जोर से होंठ दबा लिया था.

अंजलि जब चाय डाल रही थी, तो उसकी साड़ी का पल्लू नीचे आ गया, जिससे उसके गहरे गले के ब्लाउज से नुमाया होते चूचे एक अलग ही सीन दिखाने लगे थे. फिर …सभी दोस्तो को मेरा हैलो, नमस्ते, प्रणाम।मेरा नाम प्रतीक है। मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूं.

उसने उठ कर एक घूंट खींचा और मेरी उंगलियों से सिगरेट लेकर अपने होंठों में दबा ली. उसने मेरे दूध मींजते हुए मेरे निप्पलों को इतना ज्यादा चूसा कि मेरे दोनों निप्पल सूज़ कर लाल हो गए थे. मैंने आईडी चैक की लेकिन कुछ ज्यादा समझ ना आते हुए भी मैंने एक्सेप्ट कर ली.

थोड़ी देर बाद सारा ने लकी के लंड को अपनी चूत पर सेट किया और घुसा लिया अंदर.

मैंने यूं ही बात करने के लिए ऐसे ही बोल दिया- जल्दी मत कीजिए, मैं आपको सब सिखा दूंगा. इतना कहते ही मैं बेड पर लेट गया औऱ बिल्लो अपना चेहरा मेरी तरफ करके मेरे लंड पर बैठ गयी. कुछ देर बाद मैंने सरीना की लैगी के अन्दर हाथ डालकर उसकी गांड पर हाथ रख दिया.

सेक्सी व्हिडिओ मॉमथप थप की आवाज के साथ चुदाई चल रही थी।बस के धक्के के साथ हम लोगों का भी धक्का चल रहा था।वह अपनी मस्ती में आ गई थी और बोली- चोद साले मुझे चोद! इतना कि आज मैं तेरी गुलाम बन जाऊं।फिर मेरा भी जोश बढ़ा और बहुत तेज से चुदाई करने लगा।मैं भूल गया था कि मैं बस में हूं और कोई हमारी आवाज सुन सकता है. सरिता भाबी के मम्मों पर छोटे छोटे से काले अंगूर से निप्पल एकदम कड़क थे.

देसी सेक्सी चोदा चोदी

मैंने चाहता हूँ कि तुम जो भी कपड़े पहनो, उसका गला थोड़ा बड़ा हो ताकि मुझे तुम्हारे इस खूबसूरत चेहरे के साथ हमेशा तुम्हारा क्लीवेज भी दिखे।वो बोली- आप मेरे मालिक हो आपको तो मुझपर पूरा हक़ है. जो भी वाकिया एक सच्चाई के साथ मेरे सामने आता है या हो रहा होता है, मैं उसी घटना को लेकर सेक्स कहानी लिखती हूँ. पिछले भागचूत चुदाई के लिए पापा के दोस्त को पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि ओमी अंकल किचन में आकार मेरे साथ सेक्सी हरकतें करने लगे थे और मैं उनका साथ दिए जा रही थी.

लेकिन अब मुझे उसका लन्ड अपनी चूत में लेना था; उसके लिए मैं उतावली हो रही थी. इसके बाद मैंने दीदी की चुदाई की और उनके साथ सामूहिक चुदाई की चर्चा करने लगा. अब मेरा लौड़ा सटासट सटासट अंदर बाहर करने लगा।उसकी चूत में नशा था … जितना चोदो, उतना ही और मचल रही थी।आहह … ओहह उहह उम्माह हह की आवाज से मेरा जोश बढ़ गया.

करीब 5 मिनट के बाद मेरा लंड ठंडा पड़ने लगा और वीर्य उसके मुँह में छूट गया. लेकिन मुझे इसी वीक पक्के में जाना है … अब चाहे कोई भी चले मेरे साथ … चाहे तो मम्मी ही चली चलें. मुझे ऊपर से उनकी बड़ी बड़ी चुचियों की घाटी नज़र आ रही थी, जिससे मेरी नियत खराब होती जा रही थी.

उसने मेरा लौड़ा पकड़ कर अपनी बहन की चूत के छेद पर रखा और उसको नीचे की ओर धक्का मारने लगा. कुछ देर में मेरा साहस लौट आया और अब मैं कार्तिक के साथ किसी प्रेमी प्रेमिका की तरह बात कर रहे थे.

सरिता भाभी बोली- देख भोसड़ी के उंगली बाहर … निकाल वरना मैं नहीं चुदवाने वाली.

मॉम सन Xxx कहानी में पढ़ें कि सेक्सी माँ का जवान बेटा अपना मम्मी को वासना भारी दृष्टि से देखता था. नवरा बायकोची सेक्सीअब हम 69 की पोजीशन में आ गए और चूत लंड को चूसने लगे।5 मिनट चूसने के बाद मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत में लन्ड को रगड़ने लगा उसकी सिसकारियां निकलने लगी।चूत के पानी से लंड गीला हो गया मैंने उसके होंठों को बंद करके जोर का धक्का लगाया. बंगाली चोदा चोदी सेक्सी वीडियोमैंने उनसे अपना लौड़ा चूसने को बोला तो वो झट से नीचे आ गईं और हाथ में लंड लेते ही सकपका गईं. भाभी बाइक से उतर कर मुझे फिर से थैंक्यू बोलने लगीं और पूछने लगीं- अब दोबारा कब ऐसी मुलाकात होगी?मैंने कहा- अब बिना गोली के मुलाकात करनी हो … तो ही बोलना.

पर मैंने जोर से उनका सिर दबाए रखा और कहा- देखा … कुछ नहीं हुआ मुँह में लेने से.

मैंने हिम्मत करके कल्पना से पूछा- कल्पना तुम हर रोज पलट कर क्या देखती हो?वो बोली- तुम्हारे अलावा और कोई होता है वहां?नहीं तो. मैंने उसकी टिकट चैक की तो पता चला उसकी सीट क्लीयर नहीं हुई।ज्यादातर लोग सो रहे थे।मैंने उससे पूछा- आप कहां जाओगी?तो उसने कहा- भोपाल! भोपाल से 60 km दूर मेरा गांव है।मैं भी नींद में था तो फिर से लेट गया।तभी वो बोली- सुनिए, क्या मैं थोड़ी देर बैठ सकती हूं?हां बोल कर में सो गया।थोड़ी देर बाद टीटी आया उसने कहा- मैडम आपकी सीट क्लीयर नहीं हो पाएगी. उसने मुझे अल्ट्रासाउंड की जांच के लिए लिखा और एक पैथोलॉजी लैब की बताते हुए कहा कि वहां जाकर करा लेना.

पर ये आकर्षण और अहसास उस नए कड़क लंड का था, जो उसके बेटे का उसने महसूस किया था. इस रोमी का लंड तो बहुत मोटा और लम्बा है, ये तो मेरी गांड फाड़ ही देगा. ये उन दिनों की बात है, जब मेरी बहन कॉलेज में बी कॉम के पहले साल में पढ़ रही थी.

चार्जिंग वाला पंखा दिखाइए

जैसे ही मैंने अपना लंड उसकी बुर को खोलकर बुर की फांकों में रखा और धक्का मारा, तो लंड फिसल गया. आप जानते होंगे कि सर्दी में या तो प्यास लगती नहीं और लगती है तो फिर प्यास कितनी जोर से लगती है. मैं एक एक हाथ से दोनों की ही एक एक चूची को बारी बारी से दबाता रहा।मेरा लंड अपने पूरे तनाव में आ चुका था और अब इन जवान चूतों को चोदने के लिए झटके दे रहा था।मैंने उनको कपड़े उतारने के लिए कहा तो वो दोनों ही जल्दी से नंगी हो गयी.

उसने अपनी टांगों से चुत को छिपाने की कोशिश की मगर मैंने उसकी दोनों टांगों को फैलाए रखा और अपनी जीभ से बहन की चुत को चाटना शुरू कर दिया.

शाम को सात बजे जब मैं उठी, तो जेठानी ने खाना बना लिया था और मांजी को भी खाना खिला कर सुला दिया था.

इससे हुआ ये कि गेट के पीछे से मुँह निकाल कर देख रही रिया के मुँह में वीर्य की पिचकारी जा घुसी. उस पल को वो भूल ही नहीं पा रही थी, जब रोहन का लंड उसकी चूत पर टिक गया था. ऑडियो स्टोरीवो हंसती थी, तो उसके गालों पर ऐसा लगता था कि एक अजीब सी कशिश छा गयी हो.

मुझे मालूम है कि तुझे भी मर्द की जरूरत होती है, तुझे भी मैं कुछ पैसे दे दिया करूंगा. लेकिन मुझे इसी वीक पक्के में जाना है … अब चाहे कोई भी चले मेरे साथ … चाहे तो मम्मी ही चली चलें. मामी ने झट से मेरे होंठों पर अपनी हथेली रख दी और बोलीं- शुभ शुभ बोला करो.

उसने कमरे में रखे फ्रिज से एक कोल्डड्रिंक की कैन निकाली और मेरे मुँह में दूध देते हुए बोली- अब चूसो. मैंने उससे कहा- क्या तुम मुझे उसके पास ले जा सकती हो?तो वो मुझे कॉलेज के स्टोर रूम में लेकर गई.

जैसे ही उसने मेरा लंड देखा तो वह तो घबरा गई और बोली- देखने में तुम इतने मासूम लगते हो … लेकिन इतना बड़ा लंड … इससे तो मेरी चुत फट ही जाएगीमैंने कहा- मैडम, आप एक बार लेकर तो देखो.

वह पूरा बैकलेस था यानि पीछे से केवल एक डोरी थी, बाकी मेरी पूरी पीठ नंगी थी. मैंने तुझे देख लिया था।मैंने कहा- दीदी मैं तो ये देखने गया था कि कहीं आपकी तबियत तो खराब नहीं है, क्योंकि आप अजीब सी आवाजें कर रही थी. मैंने पानी पिला कर उससे आराम करने का बोला पर वो मेरी बांहों में आ गई.

𝙩𝙖𝙢𝙞𝙡 𝙨𝙚𝙭𝙮 अब धीरे धीरे उजाला बढ़ने लगा तो मेरी नज़र उसकी गान्ड पर गईमैंने लंड निकाल लिया और उसकी गान्ड में थूक लगाया और उंगली घुसा दी. इससे सुरीली को बहुत दर्द हो रहा था और वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी.

सुरेश ने मुझे एक तारीख को स्कूल न जाने के बजाए तालाब वाली जगह पर मिलने को बोला. मेरी बात सुनकर अब वो एकदम से थोड़ा खुश हुईं और बोलीं- सच में बेटा … तुम कर दोगे … उसके लिए मैं तुमको क्या क्या दे दूँ?मैंने बोला- मेरा घर यही पास में है और जो जो कागज़ मैं लिख देता हूं, वो आप मुझे दे दो. तो मैंने धीरे धीरे अपना हाथ चलाना शुरू कर दिया।तभी उसने करवट बदल ली अब उसकी नाईटी पैरों से ऊपर चढ़ गई।मैंने उसे कहा- थोड़ी खिसको, मैं किनारे पर हूं.

चोदा चोदी वीडियो बताओ

सलमा की चुत देखते ही मैंने उसे लिटा दिया और उसकी टांगें खोल कर उसकी टांगों के बीच में आ गया. जोया बोल रही थी- राज, अब नहीं रहा जाता यार … अब चोद दो मुझे … मैं वर्षों से तुम्हारे लंड का इंतज़ार कर रही हूँ. अब मुझे सांस लेने में भी दिक्कत होने लगी थी क्योंकि मैं पहले से आकृति आंटी की चूत में घुसा था.

आपको ये चुदाई का मजा कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. कुकोल्ड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी पड़ोसन भाभी ने मुझे अपने पति के होते हुए अपने घर बुलाया और उसी के बिस्तर पर नंगी होकर अपनी चूत मरवायी.

नीचे रोहन और कुसुम दोनों डाइनिंग टेबल पर बैठे ब्रेकफास्ट कर रहे थे.

उस दिन रात में मैं उसी की फ़ोटो के सामने नंगी होकर अपनी चूत में उंगली की, तो आज मुझे एक अलग ही मज़ा मिला. ममता ने मुझे इशारा करके दिखाया और बोली- काश ये लड़का मिल जाता, तो इसको अपनी सारी जवानी दे देती. इस पर सुरीली बोली थी कि कोई बहन अपने भाई से इतना ज्यादा कैसे चुद सकती है.

जब हम दोनों उसके घर पहुंचे, तब वह मुझे एक टॉवेल देकर खुद बाथरूम में चली गई. औरत की चुदाई की तमन्ना जब सर चढ़ कर बोलती है तो वो कुछ भी करने को तैयार हो जाती है. मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर दिया और दोनों टांगों के बीच बैठ गया.

दोनों की दोस्ती लगभग शुरू ही हुई थी, कुछ दिन जब तक वो दोनों नए नए दोस्त बने थे, तो उन दोनों में अच्छी बनी.

वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी: मैं परिमल एक बार फिर से आपसे प्रियंका भाभी की चुदाई की कहानी का अगला भाग साझा कर रहा हूँ. मैं उसे किसी तरह चोदने के बहाने ढूँढता रहता था लेकिन मैं अभी तक उसे चोद नहीं पाया था.

उसके घुटनों के नीचे तकिया लगाने से उसकी गांड थोड़ी ऊपर की साइड में हो चुकी थी, जो मुझे मजेदार लग रही थी,मैं रुक नहीं पा रहा था तो मैंने फिर से अपना मुँह उसकी चूत में डाल दिया और उसको पूरा चूस लिया. मैंने पहले से ही कई सपने देख रखे थे कि मेरी होने वाली बीवी ऐसी होगी, वैसी होगी. रमेश मेरे बगल में आ बैठा और बोला- मैं रमेश गूजर हूँ … मेरी उम्र तो तुझे नासिर ने बता ही दी है.

मैंने किसी तरह कंट्रोल किया और उसे हैलो कह कर कार का दरवाजा खोल कर उसे बैठने का इशारा किया.

जिसमें चादर के अन्दर लड़का लड़की की चुदाई कर रहा था और उसने लड़की के चिल्लाने की आवाज भी कामुक थी. उसकी ब्रा को उतारा और उसके मोटे मोटे मम्मों को अपने हाथों से मसलने लगा. फिर पांच दिन बाद उसने मुझे सुरीली का फ़ोटो दिखाया और मेरी सारी सोच ही बदल गयी.