बीएफ 18 साल की लड़कियों की

छवि स्रोत,सेक्स वीडियो ब्लू मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

वाईफाई की सेक्सी: बीएफ 18 साल की लड़कियों की, मेरा लौड़ा पूरा का पूरा एक ही बार में भाभी की चूत में अन्दर घुसता चला गया.

ब्लू सेक्सी पिक्चर चाहिए

मैंने पूछा- किसको दिखाओगी?तो डॉली ने कहा- मेरे राजा … हैं तो तेरे, लेकिन कुछ को देख तो लेने दे. एक्स एक्स एक्स की फिल्मउसका घर मेरे घर से 1 किलोमीटर की दूरी पर था। मैं वहाँ पर गया और दरवाज़ा खटखटाया तो उसने पूछा- कौन है?तो मैं बोला- विकास.

कुछ देर ऐसे ही मस्ती करने के बाद हम दोनों बहुत गर्म हो गए थे, तो मैंने उसे घुमाया और अपने से चिपका लिया. सेक्सी वीडियो यूपी कापूरे लंड को सुपारे से टट्टों तक को दबा दबा कर चुदवा रही थी, मेरी बीवी की हालत इस तरह की हो रही थी, जैसे किसी मछली को गरम रेत पर छोड दिया गया हो.

तो उसने मेरे कान की तरफ अपनी गर्दन कर दी और बहुत धीरे से बोला, जिससे रंजना को ना सुनाई दे- सोनू, मुझे तेरी चूत में भी डालना है.बीएफ 18 साल की लड़कियों की: मेरी जो क्लोज सहेलियां थीं, उन्होंने मुझसे कहा- सच बता वन्द्या, मौसी के यहां तूने बहुत ऐश की क्या … कोई ब्वॉयफ्रेंड बना लिया और उसे सब कुछ करने की इजाजत दे दी, क्योंकि तेरे दूधों के साइज बड़े हो गए हैं और पीछे गांड में भी बहुत उठान आ गया, जो अलग ही दिख रहा है.

अगले राउंड की चुदाई में नीना ने कई बार मुझसे कहा- हाय, बेचारी दुबली पतली माधुरी कैसे चुदती होगी प्रशांत के गधे जैसे लंड से? उसकी तो जान ही निकल जाती होगी.दोस्तो, पर्सनल कारणों से मैं इस कहानी की नायिका का नाम और जगह के नाम काल्पनिक ही लिखूंगा ताकि किसी की पहचान छिपी ही रहे.

चोदा चोदी देहाती वीडियो - बीएफ 18 साल की लड़कियों की

उनकी चूत के छेद पर अपना सुपारा टिकाया, उनकी कमर पकड़ी और जोर का एक धक्का दे मारा.मेरे पति भी मुझे चोदते हैं, लेकिन इस लड़के से चुदवाने में अलग ही मजा था.

मैं दिल्ली उसके साथ बाइक पर जाता, मैं बाइक पर उसके पीछे हग करके बैठता किसी के पीछे बैठकर हग करने में बहुत मजा आता है. बीएफ 18 साल की लड़कियों की मैं- कैसी हो?प्रमिला दीदी- मैं ठीक हूँमैं- जो हुआ वो …प्रमिला दीदी ने लिखा- क्या हुआ कुछ भी तो नहीं … तू कहां है? चल जाके नहा ले … घर के काफी काम बाकी हैं.

खैर ये लोग आपस में कई सालों से जुड़े थे और इनमें से दो जोड़े ऐसे थे, जिनका जिक्र मैंने पहले अपनी एक कहानी में किया है.

बीएफ 18 साल की लड़कियों की?

होटल रूम में बहुत अच्छा बिस्तर था इस गुदगुदे गद्दे पर सेक्स करने में बहुत अच्छा लग रहा था. मगर मैं उसे कुछ भी नहीं कहती, बल्कि अब तो मैं उसे जलाने के लिए उसके सामने झुक कर ज्यादा काम करती. उसके बाद एकदम से उसकी चूत से पानी निकलने लगा और वह जोर से चिल्लाती हुई शांत हो गयी.

आह्ह … ओह … उम्म … करके वह अपने लंड को चुसवा रहा था और मैं मजे के साथ उसके लंड को चूस कर पंकज को मजा दे रही थी और साथ में खुद भी उसके लंड का मजा ले रही थी. सच में मैं जन्नत में था और मेरी दोनों दुल्हनें मस्त मजे ले रही थीं. टी से बात की तो उसने भरोसा दिलाया- सर, आप चिंता न करें, हम आपकी वाइफ को एडजस्ट कर देंगे.

आप दोनों को देखा तो पता नहीं कैसे मुँह से निकल गया कि दोनों से ही शादी कर लूँगा और आप मान भी गईं. जिसमें कई बार तो हमने दिन में और सुबह सुबह ही प्यार किया लेकिन कभी कभी यह प्यार अधूरा रहा क्योंकि अंतिम समय में कोई ना कोई आ जाता था इसलिए।मेरे पति के वापस जाने के बाद अकेली होने के कारण मैं वापस अपनी पढ़ाई पीएचडी की तैयार में लग गई। दीपावली की छुटियों में मेरी ननद प्रीति जैन फिर आई। इस बार वो बहुत चहकी चहकी लग रही थी एवं और बहुत खुश भी लग रही थी. अपनी पढ़ाई पूरी करके मैं अपने सभी रिश्तेदारों से मिलने अपने गाँव गया.

बस 5-7 मिनट उसकी गांड मारने के बाद मैंने लंड उसकी चूत में घुसा दिया और 20 मिनट तक उसको चोदता रहा. मेरे अचानक से आने से वो हड़बड़ा गयी और जल्दी से नाइटी पहनकर मेरी ओर घूमकर पूछा- तुम यहाँ कैसे?मैं बोला- मेरे कपड़े रिंकी की बैग में पड़े हैं, उन्हें ही लेने आया हूँ.

करीब 15 मिनट तक उसने मेरी चुदाई की और बाद में वो मेरी गांड में ही झड़ गया.

कुछ देर बाद ऊपर से धक्के लगाती हुई नैना अब थकने लगी थी, तो मैंने भी नीचे से धक्के लगाने शुरू कर दिए.

अब मैं धीरे धीरे उसे मैसेज करने लगा, धार्मिक सद्विचार और गुड मॉर्निंग के संदेश भेजता, तो वो भी मुझे रिप्लाई देती. उनके जाने का दिल बिल्कुल भी नहीं था, मगर मीटिंग ज़रूरी थी, तो उनको जाना ही पड़ा. लेकिन ठीक 6:10 पर सोनू अपनी किताब और नोटबुक के साथ मेरे कमरे में आई.

मेरी चूत इतना लम्बा डिल्डो खा गयी, पता ही नहीं चला और चुम्बन करते-करते ही उसने डिल्डो को आगे पीछे करना शुरू किया।जैसे-जैसे वह आगे पीछे होता तैसे-तैसे मुझे लगता जैसे मैं हवा में उड़ रही हूँ। अत्यधीक आनन्द के कारण मेरे मुख से मीठी मीठी सीत्कारें निकलने लगी. जैसे ही उस औरत ने कहा ‘एक्सक्यूस मी …’ मैं चिल्लाकर उससे बोला- क्या है?वो औरत थोड़ा डर गयी और वहां से चली गयी. आज पहली बार मैंने मुँह में किसी का माल पिया था, मुझे इस वक्त थक जाने के कारण भूख लग आई थी.

उसने भी मुझे सही से पकड़ते हुए पोजीशन सही की और फ़िर हम दोनों ने पूरे ज़ोश से धक्के मारने शुरू कर दिये.

अब मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ाई और ज़ोर ज़ोर से उन्हें चोदने लगा. फ़िर मैंने वाणी के कान में कहा कि इस गीता को बीच में लेकर कसके मसलते हैं. उसके करीब 10 मिनट बाद मुझे वही गाड़ी फिर से आती दिखी, लेकिन इस बार गाड़ी सोसाइटी के बाहर नहीं, अन्दर की तरफ जाने वाली थी.

उसने कहा- आप जितना चाहो … जैसे चाहो चोद लो … लेकिन गांड में कुछ मत करो प्लीज़. जब भी सब सहेलियां इकठ्ठा होतीं, तो सब अपने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बात करना शुरू कर देतीं. रात को खाना खाने के बाद उसका रिप्लाई आया, उस वक्त लगभग 9 बजे होंगे.

प्रिया ने सब अपनी बीती बताई, मैंने कहा- अब आज से रोना बंद … आपको खुश रखना मेरी ड्यूटी है.

इसके बाद मैंने दो उंगलियों को भाभी की चूत की फांकों में रख दीं और उनकी तरफ देखा. अब मेरे मुँह से सिसकारियां निकलने लगी थीं- सी सी आहहहह आहह!यह सब अपने आप निकल रही थीं.

बीएफ 18 साल की लड़कियों की नैना मेरी कमर के दोनों तरफ पैर करके मेरे ऊपर बैठ गयी और मेरी छाती पे हाथ फिराने लगी. मैंने उसे डॉगी बनाकर उसकी पीछे से लंड लगाया और उसकी चुत में पेल दिया.

बीएफ 18 साल की लड़कियों की उस दिन मेरे दोस्त रवि की बहन के साथ मेरा पहला सेक्स हुआ तो उसके बाद वह अपने घर पर चली गई. तो दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, बताना जरूर, अगले भाग में मैं बताऊंगा.

अंदर थोड़ा हाथ किया तो देखा कि उन्होंने पैंटी नहीं पहनी हुई हैं, बुआ की चुत बिल्कुल चिकनी थी जैसे अभी ही झाँटें साफ करके आई हों.

फोर प्ले का मतलब

माँ ने मुझे उनका फोन नम्बर दे दिया था ताकि मैं उनसे फोन पर बात कर सकूँ. एक तो मैं इतना मोटा, ऊपर से मेरी हवस … मैंने बहुत बेदर्दी से उनकी चुदाई जारी रखी. दो मिनट के बाद जब प्रमिला को अच्छा लगने लगा, तब चार इंच के करीब अन्दर बाहर करने लगा.

नीचे से उन्होंने अपने हाथ से लंड को पकड़ कर मेरी चूत के छेद पर रख दिया और टेबल की तरफ जैसे ही धक्का दिया उनका लंड गच्च से अंदर चला गया. मैं- बैठो न आप भी … आप कब आईं? आपके बारे में भाभी ने मुझे बताया था. मैंने सम्भोग और इससे जुड़ी हुई बातों के बारे में बस सुन और पढ़ा था.

उसकी मोटी सी टांगों की वजह से आंटी की संकरी चूत में मेरे मोटे लंड को अन्दर जाने में मुश्किल हो रही थी.

पहले तो मैंने ज़्यादा ध्यान नहीं दिया लेकिन थोड़ी देर तक ऐसे ही करते रहने के बाद मैंने उसकी तरफ देखा तो देखा कि वो फिल्म नहीं मुझे ही देख रही थी. मेरे घर के नजदीक एक पार्क है, जब मैं कहूँ, तुम वहां पर आ जाना, मैं तुम्हें लेने आ जाऊंगी. मैंने जैसे ही अपनी जीभ उनकी चुत में घुसाई, उन्होंने अपनी चुत को उपर उठा कर दिखाया कि वो कितनी चुदासी थी.

उनके पति जो सरकारी अफसर हैं उनको दौरे आते हैं और उनकी तबियत अक्सर खराब ही रहती है। जब भी उन्हें ऐसे दौरे आते थे तो उन्हें आंटी दवाइयाँ देकर सुलाया करती थी।आंटी का शरीर उम्र के हिसाब से काफी सुडौल और काफी फिट है।मैं अपने आख़िरी साल के एग्ज़ाम खत्म करके घर आया हुआ था. मैं अपनी गांड उठा कर उसके लंड को अन्दर पेलने का इशारा किया, तो उसने मेरी फुद्दी के छेद पर लंड का सुपारा रखा और मेरी फुद्दी की फांकों में सुपारा रगड़ा. हर धक्के पर उसके मुँह से हल्की हल्की चीख निकल रही थी- आईईईई सीईईसीई … आआआआ … चोद डालो मेरे राजा.

मन बहुत बेचैन हो रहा था, इस बीच मेरी बहू ने पूछा- क्या हुआ पापा जी तबियत ठीक है ना … आपको इतना पसीना क्यों आ रहा है?नहीं नहीं बेटा, बस आज इवनिंग वाक कर के थोड़ा थक गया हूँ, उम्र होती जा रही है ना. वो मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से तिरछी निगाह करके वाशरूम की तरफ जाने लगीं.

मैंने कहा- मेरी रानी, अब ये तुम्हारा भी है … आज रात इसके पूरे मजे कर लो. वर्षा ने पास में ही पड़ी मम्मी की साड़ी से मेरी दिख रही गांड को ढक दिया. अंदर थोड़ा हाथ किया तो देखा कि उन्होंने पैंटी नहीं पहनी हुई हैं, बुआ की चुत बिल्कुल चिकनी थी जैसे अभी ही झाँटें साफ करके आई हों.

थोड़ी देर में उसने कार रोकी और मुझसे कहा- मेरा घर आ गया है, तुम अपना लंड अन्दर डाल लो और वो नीला दरवाजा खोल कर अन्दर चले जाओ.

सुनील जी ने आगे लिखा था कि मैं अपना पूरा लंड तेरे मुँह में डाल चुसवाना चाहता हूं. अब तो मैं दिखने भी वैसी ही लगी हूं कि किसी भी मर्द में खुद को कंट्रोल करने की हिम्मत शायद ही रह जाती हो. मैंने उसे लाइन मारी, पर वह इग्नोर कर देता था या फिर उसे समझ नहीं लगी कि मैं क्या चाहता हूं.

राहुल ने कहा- ठीक है।मैं सब काम खत्म करके लगभग पौने दस बजे अपने कमरे में आ गयी और अंदर से कुंडी बंद कर ली. भैया बोले- काहे की सुहागरात, साले ले जाएंगे आज शाम को … बहनचोद साले, साला शादी किए ही क्यों थे.

मिशिका रिशु के बदन से चिपकी हुई थी और उसने नीचे से रिशु के लंड को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया. उधर रिसेप्शन की तैयारी चल रही थी और शाम को रिसेप्शन के बाद एक बजे करीब भाभी को वापस रस्म बाकी रहती हैं, कुछ उसके लिए ले गए. वो मेरी चूत को सहलाने लगा और मेरी चूत में अपनी उंगली डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा.

ब्लू पिक्चर वीडियो प्लेयर

फिर मैंने धीरे से उनके चूचे पर हाथ रखा, जब उन्होंने कोई ऐतराज नहीं किया तो मैं उनकी एक चूची को सहलाने लगा.

तभी वह जम के मेरे पिछवाड़े में लहंगे के ऊपर से ही अपना लंड दबाने लगा और दबाते दबाते 2 मिनट के बाद मेरे कान में बहुत दबी सी आवाज में बोला कि उधर चल … बहुत जम के करेंगे. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैंने बेतहाशा अमित की गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और उसने प्रतिउत्तर में मेरी योनि में लिंग के धक्कों की शुरूआत कर दी. मेरी आंखें खुल बंद हो रही थीं … क्योंकि मेरे पति ने मुझे कभी न तो मसला था और ना ही मेरी चूत को अपने हाथ या मुँह से छुआ था.

कुछ देर उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई अभिलाषा फिर से जागृत हो गई और उसे देख कर मेरी चाहत मुझे काण्ड कर देने पर आतुर कर देने लगी. मैं अपना हाथ नीचे करके उसकी चूत को सहलाने लगा, तो वो मीठे दर्द से सिसकारने लगी. हिंदी देसी वीडियोमैं भाभी के पांव की तरफ गया और उनके दोनों घुटनों को खोलकर उनकी सुंदर चूत को देखा.

मैं बोली- थैंक्यू भैया, पर अभी मेरी हेल्प करिए … कहीं चेंजिंग रूम में ले चलिए. उसकी चूची इतनी सॉफ्ट और छोटी थी कि मेरे हाथ की हथेली में पूरी समा गईं.

मैंने उसको मुँह में कपड़ा डाल दिया और एक हाथ से उसके दूध दबाने लगा. क्या ये इतना ही मजबूत भी है?मैंने कहा- आंटी, आप खुद ही देख लो अंदर लेकर. दस मिनट तक मेरी गांड बजाने के बाद राजिंदर ने मेरे चूतड़ों के बीच में सफेद फव्वारा छोड़ दिया.

फिर धीरे धीरे मैंने उनके ब्लाउज को और साड़ी को निकालते हुए अपने कपड़े भी निकाल दिए. उसने मेरी चूत को बहुत देर तक चाटा और उसके बाद मेरी चूत ने उसके चेहरे पर अपना पानी छोड़ दिया. फिर अंकल मेरे से बोले- लंबे सफर में गाड़ी जमती नहीं और ये भाई ही तो है.

यही कोई दोपहर को 2 बजे के आसपास का समय था, तभी मेरे मोबाइल पर एक अन्जान नंबर से कॉल आया.

खैर मैंने खाना निकाल कर गर्म किया और बाहर मेज़ पर लगा कर उन दोनों को उठाया और कहा- चलो खाना खा लो. दोस्तो, आपको मेरी पहली कहानीवाइफ की चुदाई इनकम टैक्स ऑफिसर सेइतनी पसंद आई, इसके लिए बहुत धन्यवाद.

एक के बाद दूसरी चूची बदल बदल कर बियर डाल डाल कर चूसने लगा और साथ में नीचे से उंगली करता रहा. जब हम दोनों की नजरें एक दूसरे से मिलीं, तो वो मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि मैं किसी दूसरे आदमी से दूसरी बार ही चुद रही थी.

मामी- किधर वाला नाश्ता?मैंने कहा- गर्म वाला जिधर से भी मिलेगा, सब खा लूँगा. उनके हाथ मेरी पीठ और और चूतड़ों पर चल रहे थे।तभी अचानक राहुल बोले- रुको भाभी … उन्होंने मुझे अपने ऊपर से उठाया और उन्होंने वो संतरा और अंगूर उठाए. मेरे इस हमले से वाणी ने जवाब दे दिया और वो मेरे मुँह को कस कर अपनी चुचियों पर दबाते हुए पूरी तेज़ी के साथ धक्के मारने लगी और जल्द ही झड़ गयी.

बीएफ 18 साल की लड़कियों की मैंने भी एक जोरदार झटके के साथ अपना लंड आंटी की चुत की गहराइयों में उतार दिया और उनके ऊपर लेट गया. तभी वर्षा गुस्से में बोली- पापा, आप उस तिवारी अंकल की बातों में आ गए.

मोनालिसा का सेक्सी

वो बेचारी अपने आवेग को नहीं रोक सकती, आप तो समझदार होके भी पीटते हैं, आपको पाप लगेगा. सारा तड़फ कर बोली- आज क्या हो गया है तुम्हें? मार ही डालने का इरादा कर रखा है क्या?मैंने धीरे-धीरे शॉट लगाने शुरू किए. रात भर तड़पना, करवटें बदलना और शौहर की याद में जिस्म की आग भड़की रहती थी.

उफ्फ्फ … क्या बताऊं … यार उसने अपनी खुद की सारी मनी मेरे मुँह से साफ़ कर दी. थोड़ी देर बाद उसने मेरे दूध को पकड़ा तो मैंने भी अपने इस दूध के चूचुक को उसके मुँह में ठेल दिया और वो अपने होंठों से दबाता हुआ मेरे दूध को चूसने लगा. हिंदी सक्स वीडियोमैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था.

उसकी पीठ को पकड़ कर एक जोर का धक्का मारा और पूरा लंड उसकी चूत में उतर गया.

वो किचन से एक खीरा लायी और मुँह में लेकर ऐसे चूसने लगी जैसे लंड चूस रही हो. मैंने उन्हें अपनी तरफ सीधा किया और उनकी तरफ देख कर बोला- आज आप मेरे साथ हैं, जो आप करना चाहें, हो सकता है.

शायद भाभी को यह भी पता लग गया था कि मैं भी उनको चुपचाप देखता रहता हूं इसलिए वो भी मुझे अपना बदन दिखाने के लिए आराम से नंगी खड़ी होकर बॉडी लोशन लगाती और धीरे-धीरे कपड़े पहन लेती थी. इस दौरान मेरा बायाँ हाथ उसके बालों पे था, जिससे मैंने उसकी गर्दन को पीछे को खींची हुई थी. अगर तुम देखना चाहते हो कि मेरे पास कितनी भैंस हैं और कौन सी भैंस कितना दूध देती है तो उसके लिए तुमको मेरे खेत पर आना होगा.

फिर मैंने सोचा कि लेकिन वे दो-तीन लोग निहाल से एक साथ बहस कर रहे थे.

एक दिन उसने सुबह सुबह अपनी चादर हटाई हुई थी और उसका लंड खड़ा हुआ था. इधर उसने भी मुझे फोन पर यही बताया कि वो भी डर रही थी कि मम्मी ने मुझे क्यों बुलाया है।मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, अब पकड़े गए तो जाना तो पड़ेगा ही. अब मैं जोश ने आकर बोल रही थी कि आह फाड़ दे मेरी आज गांड … मैं रंडी बन चुकी हूँ.

सेक्सी हाउसवाइफऐसा बोलते हुए उठ कर उसने अपने रुमाल से अपना लंड पौंछा और अपने कपड़े पहन लिए. मेरी कजिन को भी मेरे हाथों की हरकत से और लंड की सख्ती से पता चल गया था कि मेरा सेक्स का मूड बन गया है और लंड खड़ा हो चुका है.

हिट सेक्सी वीडियो

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड को किसी गर्म लावे की कढ़ाई में डाल दिया गया हो. मुझे आज भी याद है उसने उस वक्त जो बोला था- उफ्फ रीना … क्या हुस्न है तुम्हारा!पराये मर्द से फ़्लर्ट होना मुझे भी आनंद देने लगा था. सर भी हैरान हो गए कि पहली चुदाई में ही मैं किसी एक्सपर्ट की तरह चुदवा रही थी। वो समझ गए कि ये आगे चलकर मस्त रंडी की तरह चुदक्कड़ निकलेगी.

जैसे ही मैंने यह बोला तो उन दोनों की हिम्मत बढ़ गई और बोले- मैडम कुछ बुरा न मानना … और गाली ना दो, तो आपको कुछ बोलें. मैं इतनी छोटी उम्र में यह जान गई कि लड़की शादी के बाद जब पहली बार ससुराल से आती है, तो उसमें क्यों चमक आ जाती है और उसके फिगर में बदलाव क्यों आ जाता है. उसके बाद सर ने मेरे चूचों को छोड़कर फिर से अपने लंड को मेरी चूत पर लगा दिया.

वो मेरे पूरे जिस्म को चाटने के बाद मेरी चूत को अपने लंड से रगड़ने लगा. मैं आपका दोस्त, आर्यन एक बार फिर से अपनी एक और नई एवं सच्ची चुदाई की कहानी के साथ आप लोगों का मनोरंजन करने के लिए हाजिर हूँ. मैंने उसके लिए कमरे का दरवाजा खोला और उसको बाय बोल कर विदा कर दिया.

सोनू को डॉक्टर को दिखाकर दवा आदि लेकर दी।मैंने उसको बोला- रेखा तुमने खाना खाया या नहीं?तब उसने बोला- नहीं. अपनी लिसलिसी चूत में उंगली करवाने में उसे बहुत मज़ा आ रहा था और वो भी कमर उठा उठा कर ‘आह आह.

”फिर मैंने कौशल्या को एक जबदस्त गुड बाय चुम्मा दिया और कपड़े पहन कर अपने घर चल गया.

हम दोनों रात के धुंधलके में मिलते थे, इसलिए उसको कुछ अच्छे से दिखा नहीं और मामला टल गया. देसी पोर्न वीडियो सेक्सीफिर उसने मुझे उठाया और मेरी शर्ट को निकाला और मेरे पूरे शरीर पे किस करने लगी. इंडियन न्यूडअब उसने मुझे बेड पर लिटाया और मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं. मैंने अपनी जुबान को उनके मुँह में डाला, तो वो पागलों की तरह उसे चूसने लगीं और मैं उनके मुँह को जुबान से अन्दर बाहर करके चोदने लगा.

पहले तो वह मना कर रही थी, फिर मान गई।मैंने उसकी पैंटी निकाली और उसे देखता ही रह गया.

मैंने गेट खोलकर बाहर से बंद किया और अपने नये बन रहे घर की तरफ गांड मटकाती हुई चल पड़ी. उसके घर के पास जाकर मैंने फिर से पता पूछा और मैंने उसका घर ढूँढ लिया. मैं एक हाथ से उनके मम्में दबा रहा था, वो बहुत गर्म हो गयी थी, मेरा हाथ पकड़ कर ज़ोर से दबा रही थी.

उनके बड़े बड़े नितंब देखकर मेरा लंड पूरे जोश में आ गया, मन किया कि अभी अपना 7 इंच का लंड बुआ की गांड में डाल दूं. नहाने के बाद मैं सिर्फ तौलिया लपेट कर मयूर के सामने आ गई और उसके साथ हंसी मजाक करने लगी. पहले मैंने तय किया था कि रात ही उसे आइसक्रीम खिलाने के बहाने ऑटो से ले जाऊँगी। इस बीच बिना ब्रा के ब्लाउज पहनूंगी और ऑटो में उससे इतने सट कर बैठूंगी कि उसे मम्मों के स्पर्श समेत शरीर की गर्माहट मिलती रहे; साथ ही उसकी जांघ पर भी हाथ फेरूंगी कि उसका लंड खड़ा हो और मैं उसके खड़े होने पर बहाने-बहाने बात कर सकूँ।लेकिन यह प्लान तब धरा रह गया जब ससुर जी उसे साथ ले के कहीं चले गये.

लड़की और घोड़े की सेक्सी वीडियो

वह औरत जो वहां बैठी थी, वो उठ कर गई और थोड़ी ही देर में ही एक व्हिस्की की बोतल और गिलास ले आई. धीरे धीरे मेरा झुकाव पॉर्न की तरफ़ हुआ और हर रात उन औरतों को उन विशाल लिंगों के साथ खेलते देखना, उन्हें हाथों में लेना, अपने होंठों से चूमना और उन्हें चूसना और फिर उसी तने हुए मूसल से बेतहाशा रूप से मज़ेदार चुदाई करवाना. जब मैं बाथरूम में नहाने गया तो मुझे पता चला कि मेरे लंड का टांका टूट गया है.

मैंने कहा- अब शाम तो हो गयी; कब बताओगी सरप्राइज़?तो फ़िर से दोनों बोली- पहले काफ़ी तो पी लें.

उनके जाते ही मैंने लंड सहलाते हुए डॉली को बोला- यार इसको भी जरूरत दिख रही है.

मैं उसके गर्म माल से चूत की परपराहट से स्वर्ग का आनन्द महसूस करके शांत हो गयी थी. फिर मैंने अपनी जीभ को उनकी चूत पर लगाया और उनकी चूत को दाने को चूसने लगा, जिससे वो जल्द ही उत्तेजना के ज्वालामुखी पर सवार हो गईं. सेक्स डॉट कॉम एक्स एक्स एक्सजब वो मेरी चूत को खोल खोल कर चाटता तब भी उसे नहीं कुछ पता लगा कि यह पहले से चुदी हुई है.

फिर अपना एक तरफ से आधा शरीर नंगा करके एक तरफ के चूतड़ और मम्मे दिखाने लगी, फिर जल्दी जल्दी पूरे बेड पर उलटने पलटने लगी. जैसे ही मैं बेड से नीचे उठी, मेरे पूरे बदन में आगे पीछे बहुत ज्यादा तकलीफ लगी. वो बोली- क्या रब करना पड़ता है?मैं एक बार तो झिझका, पर उसने मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए मुझे उकसाया और कहा कि बताओ न … क्या रगड़ते हैं?मैंने भी साफ़ कह दिया कि लड़की के बूब्स को रब करना पड़ता है, उसके निप्पलों को सक करना पड़ता है.

भाभी- अब ज्यादा और बातें नहीं, अब मुझे चोदो … बहुत बातें होंगी, वो सब कल करेंगे … अब बस चोदो ना यार … देर मत करो. मैं और मेरी सास पूरे 12 साल लिव इन रिलेशनशिप में रहे, जिसके बाद काम्या उसे अपने साथ ले गयी और मैंने भी एक तलाकशुदा से शादी करके घर बसा लिया.

मैं- जब भी उदास हो, मुझसे अपना दुःख शेयर करोगी? एक सच्चा दोस्त होने के नाते अपना दुख साझा कर सकती हो?प्रिया- ओके ओके … ज़रूर आप बहुत अच्छे इंसान हो.

बस एक आधा मिनट की पुल्ल पुल्ल वाली चुदाई करके प्रीतम लुढ़क गए और सोने के लिए लेट गए. मैंने भैया को साइकिल निकालने को कहा और मैंने दौड़कर तालाब में नहाने के लिये कपड़े लिये और भैया के साथ साइकिल पर बैठ गई. कुछ देर रुकने के बाद एक बार मैंने फिर से उनकी चूत को थोड़ी देर तक चाटा.

एक्स एक्स वीडियो चुदाई यह मेरे लिए अद्भुत दृश्य था जिसने मुझे और भी हार्ड बना दिया। मैंने उनके बूब्स निचोड़ दिए और वो मुझे जोर जोर से चोद रही थी. मैंने मामी को चूमते हुए कहा- मामी कभी गांड मरवाई है आपने?ये सुनकर मामी एकदम से कहने लगीं- नहीं.

उसने मेरी बीवी की गांड में ही अपना गरम गरम माल छुड़ा दिया और हट गया. जब 2-3 मिनट के बाद उसका दर्द कम होने लगा तो मैंने दूसरा प्रयास किया और मेरा पूरा लंड उसकी गांड में जाकर ठहर गया. मैं उसके मम्मे और चूत दोनों सहला रहा था, जिससे मेरे लंड में फिर गरमी आ गयी थी.

छोटे बच्चों को इंग्लिश कैसे सिखाएं

मुझे उससे चुदवाने में बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था. उसने बातों ही बातों में ये भी बताया कि हर बार जब वो ये काम करती है, तो उसे लगता है कि उसका बलात्कार हो रहा है. अपने शौहर के लिए प्यार अब भी था, इसलिए आए दिन बेटे के बहाने उनसे बात करके उन्हें वापस पाने की कोशिश करती, पर हर बार जब वो दुत्कार देते तो एक रोष सा आ जाता कि बस अब बहुत हो गया.

जब अमित को पता लगा कि मैं स्खलित हो चुकी हूँ तो उसने तीन-चार जोरदार योनि भेदन वाले जबरदस्त धक्के लगाये और वह रुकते हुए मेरे नग्न शरीर पर निढाल हो गया. क्योंकि अभी थोड़ी देर पहले ही मुझे अधूरा थोड़ा करके छोड़ दिया गया था.

फिर मैंने भी उनका झूठा पानी पीया।राहुल मुझे बोलने लगे- भाभी, आप कितनी अच्छी हो, मेरा कितना ख्याल रखती हो, और आप कितनी सुंदर हो.

शिल्पा अपनी गांड उठाते हुए मुझे अपने अन्दर समाने की प्यास को उजागर करने लगी. कुछ देर बाद मैंने धीरे धीरे उसके कंधे पर हाथ रखा और कहा कि कुछ दिन में मैं यहाँ से जाने वाला हूँ. उसी कहानी का अनुभव आप सबके साथ बांटने का प्रयास कर रहा हूँ।दोस्तो, आपको बता दूँ कि इस कहानी में कुछ भी काल्पनिक नहीं है, बस गोपनीयता के लिए नाम बदल दिए गए हैं.

मैंने देखा था बाहर एक ट्यूबवेल है और वहीं एक हौदी भी बनी हुई है, वहाँ चलते हैं, पानी में करेंगे. दीदी ने कहा- मेरे मम्मे 38 D साईज के हैं … हैं न बड़े?मैंने हामी भरते हुए दीदी के मम्मे को चूसा और फिर पूछा- और कमर की साइज़ क्या है?दीदी ने कहा- कमर मेरी 36 इंच की है. आ आआहह … अब नहीं रहा जाता अब चोद दे अपनी बुआ को … फाड़ दे मेरी चूत.

जैसे ही फराज अंकल ने रवि से मेरी गांड मारने की बात कही, तो रवि बोले- अरे राज भाई बिल्कुल.

बीएफ 18 साल की लड़कियों की: बात खत्म करने के पश्चात मैं बिस्तर से उठी और अपनी छुपाई हुई संदूकची बाहर निकाली. मैं थोड़ा रुका और फिर एक ज़ोर का धक्का लगाया, जिससे मेरा लंड भाभी की चुत फाड़ता हुआ सीधा अन्दर घुस गया.

मेरा ये दोहरा हमला वो झेल नहीं पाई और मेरे मुँह पे ही उसने अपना पानी छोड़ दिया. उसने अपनी कमर के पीछे दो तकिये लगाए और अपनी चुत एकता के सामने कर दी. उसने कमरे में ले जाकर मुझे बेड पे लिटा दिया और खुद भी मेरे ऊपर आकर कुछ इस तरह से छा गया कि मैं पूरी की पूरी उसके नीचे ढक गई थो.

मैंने जैसे ही फोन लिया उधर से आवाज आई कि यह नंबर जो मानिकपुर में तुम्हारे साथ दुकान में आए थे, उनका ले लिया था.

तभी निहाल अब मेरे कान के पास बोला- सोनू तुझे मजा आ रहा है ना?मैं कुछ नहीं बोली तो उसने आगे हाथ से चूत को फिर दबा दिया और बोला कि देखो मैं तेरे लिए पागल हो रहा हूं. तब अब्दुल मेरी कमर को पकड़कर बहुत जोर से लंड डालने लगा और रमीज को भी बोला- रमीज भाई स्पीड बढ़ाओ यह साली बहुत मस्त है, इसको तो आज संतुष्ट कर ही दो. मैं उसे सहलाने लगा और धीरे से एक उंगली उसके अंदर घुसा कर अंदर बाहर करने लगा.