देहाती बीएफ हिंदी में एचडी

छवि स्रोत,दिल्ली की बीएफ फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ: देहाती बीएफ हिंदी में एचडी, लेकिन आज तेरी चूत चोद कर उससे बदला ले लूंगा।राजेश की तरफ मैंने गुस्से से देखा और उसे भला बुरा कहा.

बीएफ फिल्म सेक्सी वीडियो देखने वाली

मैंने एक दिन ऐसे ही नेहा से बात की, तो उसने बोला- मैं तुम दोनों के लिए कुछ करने की कोशिश करूंगी. इंडियन ब्लू फिल्म बीपीउसके मुंह में मेरी दो गोलियों का लटकता संग्रहकर्ता छोटे मुंह में नहीं जा रहा था तो वह मेरी मांसदार लटकती गेंद को चाटने लगी.

मैंने फुहार मारते हुए पूरी बोतल का मुँह ही मधु की चुत में लगा दिया. देहाती सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्मअपनी चिल्लाहट को रोकने के लिए हनी ने अपने मुँह को हाथों से दबा लिया.

जब वो मुझे चूम रही थी तब मेरा लंड उसके पेट को छू रहा था। फिर मैं अपने होंठों को उसके कानों पर ले गया और चूसने लगा.देहाती बीएफ हिंदी में एचडी: कुछ समय बाद मेरे दोनों छेदों ने लंड स्वीकार कर लिए थे और अब मुझे भी बहुत मज़ा आने लगा था.

मैं देखकर बहुत गर्म हो गयी कि एक 21 साल का लड़का 40 साल की औरत से अपना लंड साफ करवा रहा है.मैंने ये सुन कर उसका गिलास उठाया और उसके गले में डाला हुआ हाथ उसके कंधे पर रख दिया.

सेक्सी मूवी एचडी बीएफ - देहाती बीएफ हिंदी में एचडी

मैंने पेट भर कर खाना खाया और मीठा खाकर करीब 20 मिनट बाद मैं वापस आ गया.वो सिसकारियां ले रहे थे और उनके मुंह से कुछ ऐसे शब्द निकल रहे थे- आह्ह … हाय … स्स्स … चूस जा … आह्ह … मेरी रानी … मेरी चिकनी … खा जा इसको.

नूपुर- आह पिंटू तूने आज मेरी चुत का पानी निकाल कर मुझे अपनी जवानी का अहसास करा दिया. देहाती बीएफ हिंदी में एचडी क्यों डॉक्टर साहब सही कह रही ना मैं!सुरेश- हां मीता … तू सही बोल रही है.

वो गर्म सिसकारी भर कर बहुत आवाज निकाल रही थी ‘ओह शिवम … आह चूस ले … आह आह आह ओह.

देहाती बीएफ हिंदी में एचडी?

मैंने बिस्तर पर बैठते हुए उनकी आंखों में झांका, तो चाची ने भी मुझे नजर भर कर देखा. अब बात कुछ यूं हुई कि हम दोनों एक बार मेरे मायके में मम्मी पापा के घर अमदाबाद गए थे. लंड को खड़े होते देख कर मामी ने मेरे ऊपर चढ़ कर अपनी चुत पर लंड टिका लिया- विकी अब रुका नहीं जा रहा … प्लीज डाल दे अन्दर.

रवि गुर्रा कर बोला- देख डॉक्टर … सही ग़लत का ज्ञान मुझे ना दे, तू डॉक्टर है और भगवान के बराबर है. मेरी अकड़न तेज होती गयी और मैंने अपनी जिंदगी का पहला चरम सुख अनुभव किया. चूँकि हीरोइन ने भी मेरी कहानियां पढ़ी थीं, तो उसे भी अच्छा लगा था, मगर उसने कहा कि मैं उसकी पूरी सेक्स की इच्छा को आप सभी को लिख कर बताऊं और सेक्स कहानी पूरी लिखूँ.

मैंने अपनी अभी उंगलियां चाट कर साफ ही की थीं कि इतने में ज्योति हॉल में आ गई. वे अपने हाथों से अपने मम्मों को मसलते हुए पापा को अपने दूध चुसवाते हुए कामुक सिसकारियां भर रही थीं ‘आह सस्स्शह … पी ले मेरे राजा अहह … उम्ह. उसके बताने से मुझे पता चला उसके पति का लंड सिर्फ 4″ का है।मैंने लंड निकाल कर उसके मुंह में डाल दिया और वो लोलीपॉप के जैसे चूसने लगी।तभी मैंने सोचा कि यह जो लड़की मुझसे चुद रही है, ये असल में है कौन?मैंने उससे पूछा- वैसे तुम कौन हो?वो बोली- मैं सुनील की मौसी की लड़की हूं।मैंने कहा- तुमने पहले क्यों नहीं बोला? ये सब गलत है.

मैंने बिना वक़्त गंवाए उसके एक चुचे को मुँह में भर लिया और पीने लगा. उसके कुछ देर बाद उसने फिर से धक्का मारा और एक बार फिर से जैसे मेरी जान निकल गयी.

उसकी पीठ पर लगते जोर से उसकी चूचियां नीचे चटाई पर खुद ही दब जाती थीं.

फिर मैंने किस करते हुए थोड़ा सा और तेल लगा कर लंड को एक जोर से धक्का दे दिया.

पहली बार मैंने किसी लड़के को अपनी आंखों के सामने झड़ते हुए देखा था. इधर बॉस ने मेरी चूत में हथेली से चपत मार मार कर उसे थोड़ी सी फैला दी, फिर अपनी जीभ से चुत चूसने लगे. गुलचीन एक लम्बी आह भर कर सीत्कार करते हुए बोली कि आह मेरे राजा … अब चोद दो … मजा आ रहा है.

एक बार फिर से मैंने आंटी की गांड में लंड को पेलकर चुदाई शुरू कर दी. मैं समझ गया कि वो सुशीला और अनीता की चुदाई के काम में लगा रहता होगा. अबकी मार साहिल का टोपा राजसी की गांड में घुसा और राजसी दर्द के मारे चिल्लाने लगी.

मुझे अपनी चूचियों की साइज़ पता नहीं थी क्योंकि उस समय मेरी चूचियाँ संतरे जैसी थी, और मैं ब्रा नहीं टेप पहनती थी।बात सन 2002 की है.

अब मैं मजबूर हो गया और लन्ड को तुरंत निकाल कर उसे बिस्तर पर लिटा दिया. वो अपने बापू के साथ घर चली गयी … मगर चुदाई के कारण उसकी चाल बदल गई थी. मैंने बॉस से आग्रह किया, तो उन्होंने कहा- बढ़ा तो दूंगा, लेकिन मेरी एक शर्त है.

[emailprotected]सेक्स फंतासी स्टोरी का अगला भाग:बॉयफ्रेंड से बी डी एस एम सेक्स- 2. लंड चुसवाते ही मेरी तो हालत पतली हो गई और सच में लंड फिर से फनफना उठा. मामी मुझे किस करने लगी और बोलीं- सनी, आज काफी दिनों के बाद मुझे बहुत मजा आया.

उसके हाथों की गर्मी से मेरा लंड पूरे जोश पर आ गया था।मैंने भी उसकी ब्रा का हुक खोल दिया.

मेरे आने के बाद अंकिता ने हॉल की सभी खिड़कियां बंद कर दीं और सारी लाइट्स बंद कर करके बिस्तर के पास गई. मैं तुमसे हर बात शेयर कर सकूं … तो ये मेरे लिए सोने में सुहागा होगा.

देहाती बीएफ हिंदी में एचडी अपने मम्मों पर अपने भाई का हाथ पाकर उसने एक आह भरी और मुँह खोल दिया. जैसी ही उन्होंने मेरा लंड चूसना चालू किया, मुझे लगा जैसे कि मैं जन्नत में आ गया हूँ.

देहाती बीएफ हिंदी में एचडी मैं उन पांच दिनों के पहले दिन से लेकर आखिरी दिन तक की चुदाई की कहानी आपको लिख रहा हूँ. नसरीन की शादी करने का मतलब था कि हम अपनी दौलत को खत्म कर देते इसलिए हम तीनों ने एक साथ ही रहने का फैसला कर लिया और उधर से घर छोड़ कर दूसरी जगह रहने लगे.

पहले भागफिजिक्स मैडम को उनके घर पर चोदा- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं मैडम के घर में था और मैडम मेरे शरीर को छूते हुए मेरे शारीरिक सौष्ठव की तारीफ़ कर रही थीं.

ब्लू सेक्सी फिल्म नई

मैंने चूसना रोक कर अपने हाथों से उसके मम्मों को और जोर से दबाना चालू कर दिया. उसने गीता की कमसिन जवानी की एक बार भी परवाह नहीं की और ऐसे ही दे घपाघप चुदाई करने लगा. मैं जब बॉस के बताए पते पर पहुंची, तो बॉस उधर पहले से ही पहुंच चुके थे.

मैं सुबह होते ही भाभी को चूमकर बाहर निकल गया अपने कमरे में जाकर सो गया. मैं दूध की बाल्टी पकड़ कर उठ गया, तो भाभी एकदम से चुप हो गई और अपनी साड़ी का पल्लू ठीक करने लगी. तो चाची ने अपने मम्मों को ठुमका कर पूछा- बोलो दूध पियोगे?मैंने उनके दूध देखते हुए हां कह दिया.

उभरे हुए उसके गोल गोल मस्त बूब्स जो हमेशा उसकी कुर्ती के ऊपर से ही मस्त गोल आकार के दिखाई देते थे.

अस्मा कासिब का लंड अपनी चूत में लेकर चिल्लाते हुए बोली- उन्ह भाई बहुत दर्द हो रहा है … और तू अब मेरे दोनों चूचे मसल और अपना पूरा लंड मेरी चूत में धीरे धीरे डाल दे. तब तक संडे को अम्मी की गांड मारने वाली ब्लू-फिल्म भी देखने को मिल जाएगी. क्या बोलता है प्रिंस, तू ड्रिंक करेगा कि नहीं!प्रिंस बोला- ड्रिंक करने से अच्छा तो लगता है … लेकिन फिर मैं घर नहीं जा पाऊंगा.

खाना खत्म होने के बाद मैंने व्हाट्सएप्प चैक किया तो भाभी का मैसेज आया था. क्या बताऊं यारों भाभी को जाता देख कर मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरी जान जा रही हो. थोड़ी ही देर में रवि ने मीता की चूत को चाट चाट कर पूरा साफ कर दिया.

तो उसने बताया कि उसे पता नहीं क्यों हिंदी और भारत से अनजाना सा लगाव है. ”फिर स्यू मेरे पास वापस आकर बोली- विक्की, निगार एक घंटे बाद आने वाली है.

एक दिन उसके पापा ने मुझसे कहा- बेटा, कभी हमारी बेटी पर ध्यान दे दिया करो … उसके डाउट क्लियर कर दिया करो. मैं नीचे बैठा और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी गांड में मुंह देकर उसको चाटने लगा. नूपुर- मेरे नशे में होने से मेरा फायदा उठा रहे हो?पिंटू- लगता तो नहीं कि इतना नशा हो रहा हो कि तेरा फायदा लिया जा सके.

मैंने कहा- ठीक है आंटी, जब वो है ही नहीं तो फिर मैं जाऊं?वो बोली- आ ही गये हो तो बैठ जाओ.

मैंने भी अपने लंड पर एक बार फिर से बटर लगा कर उसकी चुत में डालकर उसे चोदना चालू कर दिया. गर्ल स्टूडेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बिल्डिंग में एक सीधी सादी कॉलेज गर्ल से मेरी दोस्ती हो गयी. उसने मेरा लंड झट से अपने मुँह में भर लिया और उसे मस्ती से चूसने लगी.

बस मुझे हरी झंडी मिल गई थी, तो मैंने पूजा की चुत में लंड पेला और उसे घपाघप चोदना चालू कर दिया. कुछ ही देर बाद मम्मी की चुत झड़ गई और उसी समय पापा ने भी तेज स्वर में आवाज करते अपना पानी छोड़ दिया.

चेहरे का रंग तो वैसा ही था लेकिन उसको छोड़कर शरीर में बाकी सब कुछ बदलने लगा था. मैं ये सब डिलीट कर दूंगा फोन में से।आंटी- डरो नहीं, कुछ नहीं कहूंगी तेरी मम्मी को, ये बताओ कि गर्लफ्रेंड है क्या तुम्हारी?मैं- नहीं आंटी, अभी तक तो कोई नहीं है, आप मोबाइल दे दो मेरा!मोबाइल मेरे हाथ में देते हुए वो बोली- फोन में लॉक लगाकर रखा करो. मैंने पैरों के बीच देखा तो चादर के ऊपर से मेरे लौड़े का आकार बिल्कुल स्पष्ट दिख रहा था.

नंगा वीडियो चालू

कई बार टॉयलेट के आसपास मंडराता था कि जैसे ही वो जायें तो मैं भी जा घुसूं.

मेरा एक मन कह रहा था कि भाई साहब को पता चल गया है कि मैं उन्हें नंगा देखती हूँ. कोमल की गांड भी बड़ी लग रही थी और उसके बूब्स भी जैसे सूज से गये थे. जब मैं उसे कुतिया बना कर चोदता और उसकी चूत में पीछे से लंड का धक्का देता तो उसे चैन मिल जाता.

तब चौधरी बोला- साली ब्रा और पेन्टी नहीं पहनती? तेरी माँ ने सिखाया नहीं क्या?फिर वो बोला- चल लेट जा सीदही. वैसे तो इसके पहले भी मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड का लंड चूस चुकी थी, इसलिए मैंने जल्दी ही हाँ कर दी. सुहागरात पंजाबीमेरी कमनीय काया ऐसी थी कि जिसको देख कर अच्छे से अच्छा मर्द भी पिघल जाए.

‘ओह्ह जीजू … आह्ह … उम्म … ओह्ह …’ करते हुए मैं जीजू के सिर को अपने बूब्स में दबाने लगी. पतली कमर … गांड भी बाहर निकली हुई … उसका साइज तो मैं नहीं बता सकता लेकिन बहुत ही मस्त माल थी।उसे देखकर कोई भी आकर्षित हो जाता था और हर कोई उसे चोदने की इच्छा रखता था।पर वो किसी को भी भाव नहीं देती थी।घर वालों ने कॉलेज के टाइम से ही उनके लिए लड़का देखना शुरू कर दिया था.

मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और दूसरे को अपने हाथ से दबाने लगा।मैं जीभ से उनके निप्पल को चाट रहा था. वो मस्ती से कराह उठी और लंड की रगड़ाई का सुख अपनी गांड में लेने लगी. मैंने चुटकी ली- चाचा की याद आ रही है क्या?चाची हंस कर बोलीं- नहीं रे.

संगीता- क्या देखते हो आंखें बंद करके?मैं- वो मैं तुम्हें कैसे बताऊ?संगीता- अच्छा चलो, अपनी आंखें बंद करके ही बताओ क्या दिखता है?मैं आंखें बंद करके बोलने लगा- जब भी मैं आंखें बंद करता हूँ, तो मुझे तुम उस पिंक कलर की साड़ी में दिखती हो. मैंने पूछा- जीजू ये क्या है?जीजू- ये आइसक्रीम है।तो मैंने अपने हिस्से की 4 चॉकलेट जीजू के लंड पर लगा दीं और जीजू के लंड को चूसने लगी।मैंने लगभग 10 मिनट तक जीजू का लंड चूसा।जीजू का लंड एकदम से फटने को हो गया था. तभी संजय वहां आ गया और उसने मां से खाना खाने के बारे में कहा, तो मां ने भाभी को कहा.

ऐसे ही कक्षा में मेरे और उसके बीच में थोड़ी बहुत नौंक-झौंक भी होती रहती थी.

अम्मी को देख कर कोई नहीं कह सकता था कि ये वो ही औरत हैं, जिन्होंने रात में बिस्तर में अब्बू के लंड की हालत खराब कर दी होगी. पांच मिनट में ही मैडम मुझसे कहने लगीं- ओह रिची … तुम बहुत एक्सपीरियंसड लग रहे हो.

आगे बढ़ने से पहले मैं आपको ये बता दूं कि ये कोई काल्पनिक सेक्स कहानी नहीं है … ये हक़ीक़त पर आधारित एक सेक्स कहानी है. उसी समय मैं पूजा के पीछे आ गया और फिर से अपना लंड पूजा के गांड में डाल कर उसे चोदना चालू कर दिया. मुझे मेल जरूर कीजिएगा ताकि अगली सेक्स कहानी में मैं और भी मजे से आगे का हाल लिख सकूं.

जल्दी ही मैं आपके लिए एक और कहानी लाऊंगा जिसमें मैंने पीछे से हॉट चाची को चोदा यानि चाची की गांड चुदाई की. मैंने पोर्न वीडिओज़ में देखा था कि स्ट्रैपऑन से कैसे एक लड़की एक लड़के के साथ सेक्स करती है. वहां लिटा कर उन्होंने मुझे चूमना शुरू किया … मेरे पूरे बदन पर हाथ फेरने लगे.

देहाती बीएफ हिंदी में एचडी तभी अचानक रास्ते में एक कुत्ता बीच में आ गया जिससे बचने के लिए मैंने ब्रेक लगा दिए. उसके बाल एकदम काले, बड़ी बड़ी आंखें, गुलाबी होंठ, क़ातिलाना शक्ल सूरत वाली लड़की थी.

xxx.com बीएफ हिंदी में

मैंने उसका मन समझ लिया था और उसी चुत में ही झड़ने का मन बना कर उसके ऊपर आकर उसे ताबड़तोड़ चोदने लगा. मैंने उसी वक्त उसकी चूत के ऊपर अपना मुंह पूरी तरह से सटा दिया और उसके पानी को अंदर खींच खींच कर पीने लगा. भाभी ने मेरे पूरे बदन को चूम कर गीला कर दिया था, जैसा मैंने किया था.

मैं अपनी कमर को खुद ही हिला रही थी जिससे दीपक का लंड मेरी चूत में अन्दर ही अन्दर हिल रहा था. फिर मैं धीरे धीरे उसकी गर्दन पर आया।मेरा एक हाथ उसकी चूत पर था और उसे रगड़े जा रहा था। दूसरे हाथ से मैं उसको अपनी तरफ खींचे हुए था और उसे चूमे जा रहा था. ससुर ने बहू कीमैंने भी अपना बायां हाथ उसकी लंबी जुल्फों में डाल दिया था और दूसरे हाथ से में उसके स्तनों को सहला रहा था.

फिर मैंने उसे अपनी बांहों में पकड़ कर उल्टा लिटा दिया और मैं ऊपर आ गया.

चूंकि मैं उन्हें अपनी फोटो दे चुका था, इसलिए उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई. सुरेश- तुम आख़िर हो कौन … इतना सब कैसे जानते हो? अन्दर की बात भी तुमको पता है … ये सब कैसे मुमकिन हुआ है?रवि- वक़्त आने पर सब समझ जाओगे डॉक्टर.

उनकी इस बात से मुझे पता चला कि मामी चूची चुसवाने के मजे ले रही थीं. [emailprotected]Xxx मॉम कहानी का अगला भाग:मम्मी के साथ चेन्नई यात्रा- 5. वापसी में उनकी ही जिद पर इस बार उन्होंने मुझे मेरे रूम के लोकेशन के आसपास छोड़ दिया.

मैं- तो ऐसे शब्द सेक्स करते वक़्त बोलूं, तो तुम बुरा नहीं मानोगे ना!राहुल- नहीं मानूंगा बेबी.

मूवी की लास्ट 5 मिनट में संगीता ने अपना मुँह मेरी छाती में छुपा लिया था. मैं अब उससे बोले जा रही थी- आह फ़क मी बेबी … चोदो मुझे … आह और जोर से चोदो. ये गाँव की देसी लड़की की चुदाई कहानी मेरी अपनी है कि कैसे मैंने पहली बार सेक्स किया और मेरी बुर की सील टूटी.

देसी सेक्सी जंगल कीउन्होंने भी मुझे मेरी गर्दन पर चूमा और मेरे कान में हल्की सी फुसफुसाहट की. उन्होंने कार को सड़क के एक किनार रोक दी और गियर से हाथ हटा कर मेरे पैंट की जिप पर रख दिया.

हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी

तो मैंने उसको अंदर खींच लिया।अब हम दोनों के नंगे बदन पर वो पानी पड़ रहा था. उतनी देर मैं बाहर निकल गई और कुछ देर बाद फिर से मैं चैनल खोल कर अंदर आयी. फिर चौधरी बोला- चल तेरे कपड़े उतार!मैं बोली- क्यों? मेरी मालिश करोगे?तब चौधरी हंस कर बोला- मालिश भी और भी बहुत कुछ करूंगा.

दो मिनट के बाद आंटी की चूत ने लंड को अच्छी तरह जगह देना शुरू कर दिया और हम दोनों को चुदाई का मजा आने लगा. अब सुयश तो परिवार का सदस्य ही था तो समता के पति को कोई ऐतराज़ नहीं था।फिर सुयश, समता व उसकी 2 महिला साथी सुयश की कार में मुंबई के लिये निकल गए. फिर शाम को मैंने देखा, तो गार्डन में वो चारों बैठ कर बातें कर रही थीं.

हॉट लड़की की चूत की कहानी में पढ़ें कि दोस्त की शादी में उसकी मौसी की बेटी और मेरी आँखें लड़ गयी. मैं पहली बार अपने लंड पर किसी लड़की की मुलायम जीभ का स्पर्श महसूस करके गनगना गया और गुलचीन के मुँह में धक्के लगाने लगा. जब उसने मेरे लंड की मिठास को चूसना शुरू किया, तो एक अलग ही मजा आ रहा था.

चाची मुझे जोश दिलाने के लिए गालियां भी दे रही थीं और जोर जोर से चोदने को बोल रही थीं- आह चोद मादरचोद … साले कितना अन्दर तक पेल रहा है आह भोसड़ी वाले तेज तेज चोद आह और जोर से चोदो … फाड़ दो मेरी चुत को बुझा दो इसकी प्यास को. सुबह से जो सोच रहा था, वो अब हो सकता था, मुझे पहली नज़र में बहुत पसंद आ गया था.

तब मेरी बहन बोली- अच्छा, जब तू मुझे घूरता है, छुप छुप कर मेरे मम्मों पर नजर डालता था, वो सब क्या था.

उसकी उठती गांड देख कर दरोगा समझ गया कि लौंडिया फिर से मस्त हो गई है. xxx सेक्स विडियोगर्म सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरे सहेली अपनी 5 सहेलियों को लेकर मेरे घर आ गयी चुदाई के लिए. ब्लू पिक्चर सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियोमैडम बोलीं- मैंने इतनी देर से आपका नाम ही नहीं पूछा … क्या मैं आपका नाम जान सकती हूँ. इसी के साथ राज ने भी मम्मी के मम्मे थाम लिए और भी अपनी सास का एक दूध चूसने लगा.

पिछली कहानीआंटी ने पति बनाकर सुहागरात मनायीमें मैंने आपको बताया था कि कैसे हमें रात में चुदाई करने का मौका मिला और मैंने कैसे आंटी की चूत और गांड की चुदाई कर डाली.

लेकिन उस गधे को कुछ समझ ही नहीं आया कि मैंने उससे इशारे में क्या कहा था. मैडम ने पूछा कि आप किस किस तरह से संतुष्ट का सकते हो?मैं सोचने लगा कि शायद ये सेक्स की वैराइटी को लेकर कुछ पूछ रही हैं. ब्लाउज के अंदर मैंने 28 नम्बर की ब्रा पहन रखी थी जिसमें मेरे आधे से ज़्यादा बूब्स बाहर निकले हुए थे.

मैंने अपने शरीर को अच्छे तरीके से धोकर साफ कर लिया और मैं पूरा चिकना हो गया था. थोड़ी ही देर में मैंने उसकी चूत चाटने की अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत का रसपान करने के लिए तैयार हो गया. वो चिल्ला चिल्ला कर बोलने लगी- आह फाड़ दी हरामी ने … आह साले मार ही दो मुझे मादरचोद … क्या किया मेरे साथ कि इतना हैवान हो गया … आह जल्दी लंड निकाल मादरचोद.

इंडियन सेक्स वीडियो ब्लू फिल्म

अब चाचा ने अपने धक्कों की रफ्तार और बढ़ा दिया।कुछ देर बाद मेरी बुर ने पानी छोड़ दिया और मैं निर्जीव सी हो गयी. मैंने उससे बोला- भाई वादा कर कि ये बात हम तीनों तक ही रहेगी?उसने वादा किया।मैंने बुआ को इशारा किया. वो मुझे पीछे धकेलते हुए लंड को गांड से बाहर निकलवाने की कोशिश करने लगी.

आप ही सोचिए ज़रा, अगर संभोग करना पाप होता तो पूरी दुनिया ही पापी होती और पंडित भी तो आकाश से नहीं टपका है न! सबका इस दुनिया में आने का सिर्फ एक ही मार्ग है वो है- डार्क होल.

मुझे अन्तर्वासना की सेक्स कहानियां पढ़ने से सेक्स के बारे में काफी कुछ पता चल चुका था.

मेरे गाल पर चूमा, मेरी चूचियों पर हाथ फेरा, मेरी स्कर्ट ऊपर खिसकाकर मेरी जांघों पर हाथ फेरा. वो बहुत ही क़ातिल लग रही थी।मैं कुछ बोल ही नहीं पा रहा था।उसने मेरी चुप्पी तोड़ते हुए कहा- इतनी बेकार भी नहीं लग रही।मैंने कहा- बेकार नहीं … कहर ढहा रही हो. सेक्सी सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म(उन्होंने मुझे स्त्रीलिंग से ही संबोधित किया)मैं जान गया था कि मेरी अदायें खान अंकल को सब कुछ समझा चुकी हैं.

तभी अचानक रास्ते में एक कुत्ता बीच में आ गया जिससे बचने के लिए मैंने ब्रेक लगा दिए. उनका रंग थोड़ा सांवला सा था और उनका घर मेरे घर से कुछ दूरी पर ही था. मैंने उसे कैसे गर्म कर उसका लम्बा लंड लिया?दोस्तो, मैं बादशाह किंग एक बार फिर से अपनी गांड चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ.

और मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगे।कुछ देर होंठों को चूसने बाद उन्होंने मुझे कहा- शईमा, अब तुम भी मेरे लन्ड को प्यार करो. संगीता ने मुझसे पूछा कि ये मूवी चलने दूँ?जवाब में मैंने भी कहा- हां यह मूवी मैं भी पहली बार देख रहा हूँ.

सन्नो- अरे उठो मेरी प्यारी ननदिया … आज तो तू बड़े सुकून की नींद सो रही है.

संगीता ने और ताकत से मेरे बालो को खींचा और कहने लगी- आदि, मुझे अपने प्यार से भर दो … मुझसे अब नहीं रहा जाता यहह्य … आम्ममम यस आदि फक मी विद योर टंग. पूरे आधे घंटे के चुदाई के बाद मैं थक गई थी, उसने लंड पर से पेनिस स्लीव निकला और मेरे मुँह के पास आकर बैठ गया. चुदाई के बाद स्वरा ने अपने बैग से सिगरेट निकाली और सोफे पर बैठकर पीने लगी.

തമിഴ് കുത്ത് വീഡിയോ वो थोड़ा झुकी, उसने हाथ से पैर छूते हुए कहा- दर्द कहां पर है?हीरोइन ने कहा- थोड़ा ऊपर. वो साड़ी पहनी थी, तो मुझे उनकी गोरी चिकनी कमर देख कर बड़ा मज़ा आ रहा था.

टीचर सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक स्कूल के ईवेंट मैनेजमेंट में एक स्कूल टीचर मुझे भा गयी. थोड़ी देर मम्मे चूसने के बाद मैंने उसकी पैंट भी उतार दी और पैंटी को भी निकल दिया. फिर एक दिन रौनकी सेठ का एक्सीडेंट हो गया और इलाज के समय रौनकी की मौत हो गयी.

गांव देहाती बीएफ

शायद उसे मेरे लंड का स्वाद अच्छा लगने लगा था, इसलिए थोड़ी देर बाद वो लंड को जितना अन्दर मुँह में ले सकती थी, उतना लंड मुँह में ले कर चूसने लगी. और जब पीछे से धक्का लगता तो उसका लन्ड अब मेरी गांड में चुभता और मेरी चुची उसके हाथ से दब जाती. मैंने कहा- किधर चलना है मेम?उसने मेरी चौड़ी छाती देखते हुए कहा- आज नहीं, कल से मेरे साथ चलना.

मैंने तभी इशारा किया कि नहीं और लंड बाहर निकालकर उसकी चूत चोदने का इशारा किया. इतना कहकर वो उठे और अपने फोन की टॉर्च से देखते हुए तेल की शीशी उठा लाये.

फिर मैं उसके लंड को चूसने को हुआ, तो प्रिंस ने मेरा हाथ पकड़ कर ऊपर की तरफ खींचा और एक हाथ से अपना लंड पकड़ कर मेरी गांड में डालने की कोशिश करने लगा.

उसके चुचे मेरे सीने से दब रहे थे और उसके होंठ मेरे होंठ को चूस रहे थे. अपनी कामपिपासा को शांत करने के लिए अन्तर्वासना साईट में दी गई सेक्स वीडियो को क्लिक करके देसी चुदाई की क्लिप्स भी देख लेता था. अब कुलजीत सिंह को चूत चाहिए? इसमें मेरा क्या भला होगा?”तू मेरा दोस्त है, यार.

कभी मुंह में लेकर जीभ से टटोलता तो कभी चूची के काले घेरे पर जीभ से फेरता. भाभी की गांड मारी कहानी में पढ़ें कि दिल्ली वाली भाभी की चुदाई के बाद मैं भाभी की गांड चुदाई करना कहता था. जालीदार पीली ब्रा उसके चूचों पर ऐसी लग रही थी जैसे पीले गेंदे के फूलों से स्तनों को ढका हुआ हो.

पांच मिनट ही मैंने उसकी गांड मारी … क्योंकि उसको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

देहाती बीएफ हिंदी में एचडी: वो जल्दी से घुटनों पर बैठी और लंड के सुपारे को मुँह में भर के चूसने लगी. स्वरा जाने को तैयार थी कि अचानक हीरोइन ने दर्द का नाटक किया और कहा- तुम यहीं रुक जाओ.

उन्होंने कहा- नहीं यहां नहीं … ये भी कोई मुँह लगाने की जगह है!मैंने कहा- स्स्स्स्स … आप बस चुप रहो और बस इस पल को एन्जॉय करो. मेरी फैमिली नए घर में चली गई थी और मैं यहां से सामान निकलवाने के बाद ही उधर जाने वाला था. तुम बस तुम्हारा देखो, तुम घर में क्या बोलोगे?”मैं तो सच बोल दूंगा कि दोस्त के घर जा रहा हूँ, बस किस दोस्त के घर जा रहा हूँ … वो नहीं बताऊंगा.

इस तरह से सिसकारते हुए भानू के लंड ने लावा उगल दिया और वो शालू की चूत में स्खलित हो गया.

जिससे साहिल के लन्ड का टोपा मेरी गांड में बिना मुझे कुछ पता चले चला गया. लेकिन कुछ देर बाद जब दोस्त वापस आया, तो मैंने देखा कि वो खाना सिर्फ़ 2 लोगों के लिए लाया है. जिसे वो बहुत ही चाव से चूस रही थीं और अब अपेक्षाकृत कम तेज आवाज में मादक ध्वनि बिखेर रही थीं.