बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी 2008

तस्वीर का शीर्षक ,

अन्तर्वासना. com: बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस, सुमन- इतने दिनों में आपको मेरे अन्दर कुछ फ़र्क लगा या नहीं?संजय- सच बोलूँ.

लंदन के बीएफ सेक्सी

बैंगन चुत में घुसाया तो काफ़ी दर्द होने लगा, तो मैंने बैगन छोड़ दिया और सोचा कि अब जो होना है रात में मामा से ही होगा. अंग्रेजी बीएफ फिल्म वीडियो मेंमैंने फिर से चाची को पकड़ लिया पर इस बार चाची ने मुझे धक्का दे दिया.

ये देख कर मेरा बेटा और जोश में आने लगा और फिर मैंने मेरे बेटे से कहा कि आज बस इतना ही करते हैं, बाकी कल करेंगे. बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू फिल्म बीएफपर मैंने स्पीड बढ़ा दी, सबीना बोली- साले कमीने, जलन हो रही है चूत में! रुक जा, थोड़ी देर फिर चोद लेना!लेकिन मेरी स्पीड बढ़ती गई, आखिर सबीना पलट गई और मस्ताना चूत से बाहर आ गया पर तुरंत ही जमीला ने मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसना शुरू किया और शॉवर बन्द कर दिया.

फिर मूवी तक सिर्फ नार्मल बात होती रही और जैसे ही मूवी ख़त्म हुई, हमने डिनर किया और उसके घर जाने लगे.बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस: इस घटना के बाद सविता की फ्रेंड्स को मालूम हो गया था कि सावी ने एक बार स्कूल की पिकनिक में भी रवि से चुदाई करवाई थी.

सब्र करो बच्चू आज चूत मिलेगी तेरे को!” मैंने लंड को थपकी दे दे कर जैसे सांत्वना दी.मैंने बहुत देर तक आप दोनों की हल्की आवाजें सुनी मगर कुछ समझ नहीं आया.

बीएफ फिल्म गाना वीडियो - बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस

जैसे ही बोट किनारे से तीन मील दूर पहुँच जाएगी तो आप चाहें तो अपने कपड़ों से मुक्ति पा सकती है.मामा बोले- थोड़ी देर में तुमको पता चल जाएगा कि मैंने लंड पर कॉंडम क्यों लगाया.

पर मेरी बहन को नींद काफी आ रही थी, उसने कहा- तुम देखो, मैं सोने जा रही हूँ. बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस उसके बाद आप लोगों ने मेरी तीसरी सेक्स कहानीपति के दोस्तों के साथ बनाई सुहागरातमें आप लोगों ने पढ़ा था कि कैसे मैंने अपने पति रोहन के कहने पर उनके दोस्तों को अपनी चुत का मजा चखाया था.

आखिर कैसे इसे किसी सुनसान जगह पर ले जाया जाये और इसके मस्त जमींदारी चोदू लंड का रस पिया जाये और आनन्द लिया जाये क्योंकि यह शुद्ध गांव का मर्द है ऐसे तो राजी होगा नहीं…इसके बाद कैसे मैंने इस जवान मर्द को फंसाया और इसके दानवी लंड का आनन्द लिया, यह आप जानेंगे अगले भाग में… तब तक के लिए बाय बाय.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस?

उसने मेरे हाथ को हटाने की कोशिश की लेकिन मैंने उसको बोला- प्लीज कुछ देर शांत रहो, तुमको आराम मिलेगा. वो कुछ नहीं बोली और मैं उसे गले पर चूमने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा. कुछ देर इसी पोज में चोदने के पश्चात् लड़कों ने अपने लंड बाहर निकाल लिए और खड़े हुए.

उसके बाद उस आदमी ने उन लड़कियों को इशारा किया, वो बारी-बारी से आगे आई और उस हॉल के बीच में आकर कैटवॉक करते हुए अपने कपड़े उतारते हुए दूसरी तरफ खड़ी हो गई, उसके बाद उन पहलवानों का नम्बर आया और वो भी उसी तरह कपड़े उतारकर लड़कियों के बगल में खड़े हो गये. उसने बताया कि वो एक मैरिड औरत है और उनके पति आउट ऑफ़ इंडिया जॉब करते हैं और वो इधर एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती है. मैं उसे किस करने लगा और उसके बूब्स सहलाने लगा जिससे उसे थोड़ा अच्छा लगने लगा और उसका थोड़ा दर्द कम हुआ.

वो भी थोड़ी शरमाई और मेरा खड़ा लंड पकड़ कर बोली- तू भी तो इस मलिका का आशिक लग रहा है. मैंने उसे लंड को मुंह में लेने को कहा तो कहने लगी- राज, मैं तुम्हें हर तरह का मजा दूँगी, परंतु प्लीज आज सबसे पहले तुम मेरी इस सुलगती चूत को ठण्डा करो. दोपहर की गर्मी के बीच में जब मैंने अपना लंड भाभी की चूत में रगड़ा तो हम दोनों ही पसीने से नहा रहे थे.

इसी वजह से मेरा लंड फिर से पूरी तरह खड़ा हो गया और कैप्री में तम्बू बन गया. वो मेरे लंड को साफ़ करती हुई बोली- मेरी तो अपने ली ही नहीं!मैं हैरानी से बोला- तो यह क्या था?वो आँख मार कर बोली- मैं फोटो की बात कर रही हूँ.

जब मैंने अपना वीर्य उसके मुंह में डाला पर जब उसने अपना मुंह बंद करके स्वाद चखा तो उसे साल्टी सा लगा और वो उसे निगल गई.

फिर मैंने इस दौरान भाभी के मम्मों को भी चूसा और जोर से लंड के दमदार झटके देने लगा.

उसको विरोध ना करता देख मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैं फिर एक बार बात करने के बहाने सरिता की कमर को पकड़ कर दुकान वाले की तरफ झुक कर बात करने लगा. तभी भाभी ने अपनी चूचियां हिलाईं तो मैंने बाकी की डेरी मिल्क उनके बड़े मम्मों पर रगड़ दी. मैंने पूछा कि नींद नहीं आ रही क्या तो उसने बोला कि उसकी शुरू की नींद पूरी हो चुकी है अब नींद आराम से ही आएगी.

एक पुरानी कहानी का सम्पादन करके पुनः प्रकाशनहैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम राहुल है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ. नीतू के छोटे-छोटे चूचे और कुंवारी चुत देख कर गोपाल अपना संतुलन खो बैठा. मैंने उसकी छाती की तरफ देखा जो काफी मजबूत थी और उसकी खाकी शर्ट का ऊपर का बटन खुला हुआ था। उसकी जांघें फैली होने की वजह से उसके घुटने मेर पैरों पर आकर टकरा रहे थे। मैं उसकी जिप की तरफ देख ही रहा था कि स्पीड ब्रेकर आ गया और अचानक उसकी आंख खुलीं और उसकी नज़र सीधी मेरी नज़रों पर गई.

वो उसे अब पहले से ज्यादा तेजी से चूसने लगी और अपनी जीभ का भी इस्तेमाल कर रही थी और अपने दूसरे हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर हलके से दबा भी रही थी.

वो मेरे चुत को दोनों हाथों से अपनी चुत पर दबाए रखा, इसके बाद चाची की चुत में से पानी की एक फुहार निकली!चाची थोड़ी देर रुकी रही फिर मुझे बोली- मैं तो शांत हो गई. अच्छा वो सब चुदाई की बातें भी करती है क्या?नीतू- ये क्या होती है दीदी, मैंने नहीं सुनी. इस बार जैसे ही मेरे लंड का सुपारा चूत के छेद में फंसा मैंने नीचे से कमर को थोड़ा झटका दिया, जिससे सुपारा चूत में घुस गया.

शादी हो गई।दूसरे दिनमेरी सुहागरात थीऔर एक नए जीवन की शुरुआत के लिए मैं और मेरा मन दोनों विचलित होने लगे। रात हो गई और सुहागरात शुरू हो गई।हम दोनों के बीच सेक्स होना शुरू हो गया. सुमन ने बताया- यह लड़की हाथ से निकल चुकी है और उस लड़के के साथ पिक्चर देखने व बाहर घूमने जाती है, शायद यह उससे चुदवा भी चुकी होगी. कितनी टाइट है तेरी चूत जानेमन… देख मेरा लंड कैसे मचल रहा है तेरीकमसिन चूत में… आहहह मेरा लंड पूरा छिल गया है तुझे चोदते समय… ओहहहह… आआ.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोअगस्त 2017 में प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…एक बार मैं अपने दोस्त के घर सोया.

दोस्तो, कैसी लगी जवान लड़की की कामुकता की कथा? मुझे जरूर लिखना![emailprotected]. आज मैं आप को बताऊंगा कि कैसे मैंने दोपहर को एक भाभी को चोदा था वो भी छत के ऊपर!उस भाभी का नाम कुलवंत कौर था और वो मेरे मकान मालिक बिट्टू सिंह की बहु थी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस ये देखने के बाद मेरे जिस्म में एक अलग सा रोमांच पैदा होने लगी, मेरी उत्तेजना चरम सीमा पर थी कि कब मामा जी के लंड की पिछला हिस्सा चाट लूँ. मेरी छोटी सी, प्यारी गुड़िया ने अपने दोनों पैर ऊपर उठा कर दाएं हाथ से अपनी चिकनी, सुन्दर, सपाट-गुलाबी चूत को सहलाना शुरू कर दिया.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस रीना ने उसका कुरता खींचते हुए कहा- चल नहाने चल, फिर तैयार होकर चलते हैं मस्ती करने. ऋतु ने उसे फिर भी नहीं छोड़ा और पूजा के उठते हुए चूतड़ों के साथ वो भी उठ गई और रसपान जारी रखा.

फिर मैं उसके घर चला गया, वहाँ पर हमने बहुत सारी बातें की, वो फिर से मुझे प्यार से देखने लगी तो मैंने फिर बोला- ऐसे मत देखो!तो बोली- तुम पागल हो!मैंने कहा- क्यों?तो बोली- कुछ नहीं समझते हो!मैंने बोला- क्या?तो बोली- कुछ नहीं.

सनी लियोन की गंदी बीएफ

थोड़ी देर बाद वह मेरे पास आई और बोली- अच्छी नौटंकी की तुमने?मेरी आँखें आँसुओं से भर गई… मैं बोला- तुम मेरे साथ जो करना चाहो कर लो लेकिन घर वालो को कुछ मत बताना!उसने मुझे गौर से देखा, अपने दोनों हाथों से मेरे आंसू पौंछ कर कहा- चल मुंह हाथ धो ले!और वापिस जाने लगी. मैं आप सभी से एक बार फिर कह रहा हूँ, यह कहानी मात्र एक कल्पना है, इसका वास्तविकता से कुछ लेना देना नहीं है. अब आगे…चाची की चूत और नंगी टांगें देख कर मेरा लंड फनफनाने लगा, मैं बोला- चाची अपनी नुन्नू में मेरा नुन्नू डालने दीजिए ना.

मैंने उन्हें तसल्ली दी- पण्डित जी, अगर आप सोच रहे हैं कि मैं आप पर नाराज़ हूँ, तो ऐसा बिल्कुल नहीं है. देखते देखते 2-3 झटकों में उसने अपना पूरा लंड मेरी चुत के अन्दर पेल दिया आख़िरी झटका उसने बहुत जोर का दिया था. ऑफिस में मैंने दो तीन लड़कियाँ भी रख रखी थी, उनकी पहली शर्त ये थी कि काम के साथ साथ चुदाई भी करवानी पड़ेगी.

मैं पिछले पंद्रह दिनों से दिन रात एक किये हुए था, न ठीक से सोना न खाना.

हमने सभी ने साथ ही खाना खाया, मैंने मनोज की पसंद का खाना बनाया था- खीर, आलू की मटर की सब्जी, रायता और काजू कतली ये बाहर से ले आये थे. भाभी उलटी होकर लेट गईं तो मैंने उनकी कमर पर जैल लगाया और भाभी की मालिश करने लगा. थोड़ी देर बाद मुझे दूल्हे का कॉल आया- तुम्हें सब यहाँ बुला रहे हैं.

दाईं तरफ मैं, बाईं तरफ स्वान अपने लंड सफ़ेद गुड़िया के होठों से लगा कर खड़े हो गए, जबकि एंड्रयू ने उसको अपनी छाती पर लिटा कर नीचे से उसकी नर्म गुलाबी चूत को चोदना शुरू कर दिया. मैंने प्यार सेबहु रानी की चिकनी चूतको चूमा और खुली हुई चूत में जीभ रख दी. कभी कहता ‘गांड दे दे’ कभी कहता ‘मौसी तुम्हारे बोबे बड़े मस्त हैं’ कभी निकर उठा कर उसको अपना लुल्ला निकाल कर दिखाता और कहता ‘आजा ले ले इसे’.

मेरा तना हुआ लुल्ला उसके मुँह के बिल्कुल पास था, जिसे मौसी ने थोड़ा सा सर उठा कर अपने मुँह में ले लिया. मैं मामा के लंड में धीरे-धीरे दाँत चुभाने लगी, इससे मामा को भी मज़ा आ रहा था.

अबकी बार मैंने उसके ऊपर से उतर कर अपने होंठों को उसकी बुर पर रख दिया और जैसे ही जीभ से बुर को चाटा, वो सिहर उठी. उसने दौड़ कर मुझे खींचा और एक लंबा किस करते हुए बोली- कहाँ जा रहा है मेरे राजा. पिछली कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी पड़ोसन भाभी को पहले पटाया और फिर उसकी चूत भी चोद दी.

मैं तो अभी सिर्फ़ मज़े लेना चाहता था, मगर तुमने तो चुदाई की बात कर दी.

सुमन भाभी एकदम से अकड़ गईं और अपने दोनों पैरों से मेरे मुँह को अपनी चूत में दबा दिया. !फिर हम बातें करने लगे और फिर मेरी साली ने पूछा- जीजू क्या लेंगे चाय ठंडा?तो मैंने मस्ती में कहा- आज तो तुम्हारा दूध पीना है. ऊपर मस्त धूप थी, भाभी सुखाये हुए कपड़े लेने लगी तो मैंने पीछे से उसे पकड़ लिया.

मैंने रात को अर्जुन को अपने कमरे में बुलाया और ऐसे ही बातें करने लगी कि एग्जाम कैसे गए और आगे क्या करने का मन है. फिर मैंने उन दोनों को रोका और कहा- जय तुम ऊपर आ जाओ और राहुल मेरी गांड की तरफ आ जायेगा.

उस दिन आरती के स्कूल में उसका क्लास टेस्ट हुआ था और उसको बहुत कम मार्क आए थे, जिसके कारण आरती की माँ टयूशन में आई और मुझे उसकी एक्सट्रा क्लास लेने के लिए कहने लगीं. मुझे लगा यहाँ कोई बात नहीं बन पाएगी अब बस चौथी मंजिल ही बची थी जिससे मुझे कुछ उम्मीद थी. वो इतनी मदहोश हो गई थी कि मैंने उसकी सलवार और पेंटी पूरी तरह से उसकी टांगों से निकाल दी और उसे पूरी नंगी कर दिया.

हिंदी सेक्सी सेक्सी बीएफ हिंदी

माँ भी अपनी आँखों को बंद किए अपनी साँसों को संभालने में लगी हुई थीं.

जा बाहर से दो कोल्ड ड्रिंक लेकर आ, पता नहीं सीने में जलन हो रही है और तू अपने लिए भी कुछ ले आना. मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी गोरी मांसल खुली टांगों के बीच उसकी गुलाबी रंगत वाली चूत को खोल कर देखा, छेद इतना तंग लग रहा था जैसे इसमें कभी कुछ गया ही नहीं था. वैसे तो हमें सेक्स में ठीक-ठाक मजा आता है पर हम लोग जब किसी पराये के साथ सेक्स करने की बात करते हुए सेक्स करते हैं तो मेरा मन बहुत ही चंचल हो जाता है और मुझे किसी दूसरे के साथ सेक्स करने का मन होने लगता है.

उसकी वो बड़ी बड़ी आँखें भी बड़ी लाजवाब थी जिनको देख कर लग रहा था कि मानो को हुस्न की परी उतर आई हो. जब उन्होंने टी-शर्ट और ऊपर की तो वो समझ गए कि सुमन ने ब्रा नहीं पहनी है. भोजपुरी सेक्सी बीएफ गाने वालीउसके चेहरे पर दर्द के साफ भाव थे, मगर मुझे सिर्फ अपना पानी निकालने तक मतलब था.

मैंने उससे बेड, जो अधूरा बना हुआ था, पर बैठने को कहा लेकिन वो तो बड़ा ही अकड़ू था यार. अरे भैया, क्या बताऊँ? बहुत बुरा हाल है! बहुत मन करता है! आप तो बहुत किस्मत वाले हो जो आपको भाभी जैसे सुंदर पत्नी मिली! भाभी के साथ सेक्स करके आपको बहुत मजा आता होगा न?हाँ यार! बहुत सुंदर है नीता! और इसकी चूचियाँ! बहुत अच्छी हैं, कितनी सख्त हैं आज भी!भैया, सच में?हाथ लगा कर देखना है क्या? ये बोले.

मेरी पतिव्रता नारी पूरी मस्ती में अमेरिकन कॉक के साथ व्यस्त थी जब मेरा ध्यान उसकी छोटी सी गांड की तरफ गया. मुझे पण्डित जी पर गुस्सा नहीं आया बल्कि तरस आने लगा, क्योंकि वो लम्बे समय से विधुर थे, औरत का सानिध्य उन्हें मिलता नहीं. सुबह चारों एक साथ नहाये और सबीना जमीला और रफीक मुझे रेलवे स्टेशन छोड़ने आये.

मेरा लंड रॉड की तरह सख्त हो चुका था और दर्द भी करने लगा था, पर उस समय मेरे पास चुपचाप लेटे रहने के सिवाए और कोई रास्ता नहीं था. किसी लड़की ने चूमने के बाद तुरंत ही लड़के ने चूमना मेरी जिंदगी का पहला चान्स था. कोई साढ़े पांच फुट कद, गोरी गुलाबी रंगत, चित्ताकर्षक नयन नख्श, चेहरे पर सौम्य मुस्कान और हंसती हुई आँखें… भरा भरा निचला होंठ जिससे रस जैसे टपकने को ही था, उमर कोई ख़ास नहीं, तेईस चौबीस साल की ही लगी मुझे वो…कॉटन की महरून कलर की साड़ी बांध रखी थी उसने जिसमें से उसके सीने के उभार छुपाये नहीं छुप रहे थे.

सोनू को चुदे हुए कई दिन हो गए थे और मेरा भी दिल उसकी मम्मी को देख कर रात से चुदास से भरा हुआ था.

उनकी इस क्रिया की मेरे बदन में प्रतिक्रिया हुई, मैं इतनी ज्यादा उत्तेजित हो उठी कि मेरे शरीर में सुरसुरी उठने लगी, साँसें तेज हो गयीं, स्तनों और निप्पलों में सख्ती बढ़ गयी, योनि और गुदा दोनों के सुराख और कस गए और ऐसा महसूस हुआ जैसे योनि की दीवारों से पानी रिस रहा हो. तो भाभियाँ चुदाई की एक्सपर्ट्स होती है और एक्सपर्ट्स की सलाह हमेशा लेनी चाहिए।ये कहानी काजल भाभी की है.

घर के सभी लोग सुबह होने पर जागने लगे लेकिन मैं सोने का अभिनय करते हुये बिस्तर में पड़ा रहा. पर कुछ ही पलों बाद जब मैं अपना पेन लेने वापस अन्दर गया, तो देखा कि चाची ऊपर से एकदम नंगी थीं. अगर किसी को ट्विस्टर के बारे में न मालूम हो तो बताए देता हूँ… खेल में एक लूडो की तरह का बोर्ड होता है, जिसके बीच में एक घूमने वाला पहिया घड़ी की सुई जैसे एक तीर को चारों ओर घुमाता है.

वो उठी और अपना मुंह साफ़ करते हुए बोली- मुझे तो तुम्हारे वीर्य ने अपना दीवाना ही बना दिया है… और फिर मेरे लंड को पकड़ कर मेरे चेहरे पर अपनी गरम साँसें छोड़ती हुई बोली- आगे से तुम इसे कभी व्यर्थ नहीं करोगे… समझे ना!मैंने हाँ में गर्दन हिलाई. इसका मतलब या तो वो अपने पति से झूट बोल रही थी या मुझसे!मैंने उसको देखा तो वो चुपचाप नज़र झुका के आगे निकल गई. कहते हुए माँ ने मेरे सुपारे को अपने मुँह में कस लिया बहुत ज़ोर से चूसने लगी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस ऐसे जवान मर्द बड़ी मुश्किल से मिलते हैं और वह तो किसी गांव का ठाकुर लग रहा था… उन्हें तो लड़कियाँ ही आसानी से मिल जाती हैं, फिर लड़कों की क्या जरूरत… और वह लड़के से सेक्स करना गांडूपन भी मानते है इसलिए मुझे जो मौका मिला था उसे मैं सौभाग्य मान रहा था और उसे भी पूरा मजा देना चाहता था. और हमको ये डील करना भी बहुत जरूरी है, तो क्यों न मैं ही जाकर अपने इस क्लाइंट को डेमो दे दूं.

काजल की बीएफ फिल्म

ममता ने एक के बाद एक सवाल पूछने शुरू कर दिए- भाभी, कहाँ हैं बच्चे कितने हैं वगैरह वगैरह. हम सभी के बीच सब कुछ ओपन है और सब एक साथ एक ही बिस्तर में चुदाई कर लेते हैं. मेरे मुँह में उसका पेशाब था, तभी उसने मुझे ऊपर खींचा और मुँह से मुँह लगा कर किस करने लगी, उसने मेरे मुँह से खुद का पेशाब पी लिया.

रानी कसमसाई और उसने पेटीकोट का नाड़ा खोल कर ढीला किया और अपनी कमर उठा कर पेटीकोट अपने नीचे से निकाल दिया. मैंने अब उसकी चूत के मुंह पर अपने दोनों होंठ लगा दिए और बिना जीभ का इस्तेमाल किये बिना चूसना शुरू कर दिया. भोजपुरी बीएफ दिखाओ बीएफतभी राजीव ने अपने लंड को मेरी हाथ से छुड़ाकर मेरी चूत में और मॉन्टी ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और फिर से दोनों चोदने लगे.

मैं- कल से कोई आराम है?भाभी- हाँ थोड़ा सा तो है, लेकिन दर्द अब भी बहुत है.

मैं भी उन्हें थोड़ा तड़पाना चाहता था पीछे हो जाता था।फिर उन्होंने अपने होंठ हटाकर बोला- अब तड़पाओ मत इतना … अब डाल भी दो।मैं धीरे से उनकी चूत में अपना लंड डालने लगा। उन्होंने अपनी आंखें बंद कर ली और मेरे लंड को अपने अंदर लेने लगी. मेरी गर्दन नीचे झुकने से जैसे ही मेरा चेहरा उसके पास आया उसने अपना सिर ऊँचा करते हुए मेरे होंठों को चूम मुझे कस कर जकड़ लिया.

मैं- मेरे लिए कुछ मत कर, कुछ करना ही है तो अपने लिए कर या हमारे लिए. मैंने भी कुछ कहना ठीक नहीं समझा और उसकी बुर पर अपनी उंगली घुमाता रहा. ये देखने के बाद मेरे जिस्म में एक अलग सा रोमांच पैदा होने लगी, मेरी उत्तेजना चरम सीमा पर थी कि कब मामा जी के लंड की पिछला हिस्सा चाट लूँ.

कितना दर्द होता है तुम्हें इसका अंदाज़ा भी है?टीना ने फ्लॉरा की बात को फ़ौरन पकड़ लिया- अच्छा मैडम जी तो ये बात है.

लेकिन मैं ऐसी कामुक कुत्सित इच्छाओं को बलपूर्वक मन में ही दबा देता था. मैंने माँ के बालों को पकड़ लिया और उनके सिर को दबाते हुए अपना लंड उनके मुँह में ठेलने की कोशिश करने लगा. कैसे भूल जाऊं मैं?गोपाल ने मोना को अपने से लिपटा लिया और प्यार से माफी माँगी तो वो पिघल गई.

सेक्सी वीडियो बीएफ स्कूलउन्होंने भी इस बात को एक-दो बार नोटिस किया था, पर उनके बर्ताव में कोई बदलाव नहीं आया. मैंने उसके पाँव पकड़े और खींच कर बेड के बीचों बीच लेटा दिया, दोनों टाँगे उसके टखनो से पकड़ कर खोली और अपना लंड बिना छूये ही उसकी चूत पर सेट किया, और एक झटके से उसकी चूत में घुसा दिया.

बीएफ हिंदी सेक्सी वाली

हमने चाय पी और ये बोले- यार चलो, अंदर आराम से लेट कर बात करते हैं!हम तीनों आराम से बैडरूम में जाकर बिस्तर में लेट गए. अब दोस्तो आप समझ रहे होंगे कि यहाँ क्या होने वाला है? हाँ सही समझे भाई और बहन का मिलाप होने वाला है. पिछली कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी पड़ोसन भाभी को पहले पटाया और फिर उसकी चूत भी चोद दी.

मैंने कहा- बुरा न मानो तो हम किसी अच्छे रेस्टोरेंट में डोसा खा लेते हैं. ”अब तुमको तेज तेज चोदूँगा जान… आआअ स्स्स्स तुम ऊपर आकर लंड पर सवारी करो!”ठीक है जानू!”सविता लंड पर चढ़ कर कूद रही थी और मैंने गांड के छेद में उंगली डाल कर गांड भी चोदना शुरु किया. मैं जब तक उसके पास पहुँचा, वह गार्ड जा चुका था और अब वह बैठा हुआ अपने महंगे मोबाइल में कुछ कर रहा था.

अब ऋतु का शरीर भी गर्म होने लगा था, उसकी मादक सिसकारियाँ उसके शरीर में होने वाली बेचैनी को ब्यान कर रही थी. मैंने कहीं से उसका मोबाईल नम्बर लेकर दोस्ती करने के लिए कहा, जिसे उसने जल्द ही स्वीकार कर लिया. और आप तो जानते हैं हम लड़कियाँ एक बार जो चुद गई, तो उसकी कामुकता पर ब्रेक नहीं लग सकती, फिर वो कभी चुत चुदाई से परहेज नहीं करती।मेरी जॉब की वजह से मेरा पहला पोस्टिंग दिल्ली हो गया और मैं सब कुछ पीछे छोड़ के दिल्ली आ धमकी।मुझे भी घर से थोड़ा दूर ही रहना था.

माँ ने भी अपने पैरों को फैला दिया और मेरे सिर के बालों पर हाथ फेरते हुए मेरे चेहरे को अपनी चूत पर दबाया. यहाँ से download करें!और ये भी बस रात का ही कार्यक्रम सेट करने की सोच में थे.

दही बड़े, चटनी, आम नींबू के अचार, मूंग की दाल की बड़ी, पापड़ ये सब अच्छी तरह से पैक करके मुझे दे दिया.

सामने खड़ा रुस्लान बेतहाशा हुंकारता हुआ भक्काड़ा हो चुकी गांड में अपने लंड को पूरा बाहर निकालता हुआ अन्दर घुसेड़ने लगा था. ब्लूप्रिंट बीएफमेरा निचला होंठ अपने दांतों से काटते हुए रिया बोली- साली, आज तो तू किसी का खून जरूर करेगी. हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म वीडियोसास के होंठों से एक दबी सी सिसकारी निकल गई, जमाई ने अपना हाथ हटा लिया. संगीता ने भी चन्दन अपने बगल में लेटते देखा तू वो चन्दन को अपने पास आने को कहने लगी.

कहाँ जा रहे हो?मैं शरमाते हुए उनके पास गया तो वो बोलीं- आओ तुम भी यहीं लेट जाओ न.

पूजा सिसकार उठी… उसके शरीर में तरंगें उठने लगी और फिर उसे ऐसा लगा कि पूरे शरीर में करंट लग गया है. सुमन भाभी तड़प गईं और वह जोर से चीखने लगीं, मगर मेरा मुँह उनके मुँह पर ढक्कन की तरह लगे होने से उनकी आवाज मेरे मुँह में घुट गई. करीब 40 मिनट बाद स्वान और एंड्रयू बियर की क्रेट लेकर हमारे घर आ चुके थे.

कोई भी उसे देखकर उसको प्रपोज़ करके चोदने की ज़रूर सोचेगा क्योंकि वो एक मस्त माल है. फिर उसने वही किया- जीजू, कल आपकी लुल्ली से पानी जैसा क्या निकला था?गोपाल- वो एक किस्म का रस होता है. तो उन्होंने कहा- लगता है आज ज़्यादा ही गौर से देख रहे हैं?मैं सिर्फ़ मुस्कुरा के रह गया.

मोटी औरत के बीएफ हिंदी में

पापा बोले- सुमि क्या हुआ?मैं बोली- पापा आपकी पेंट में सांप है, जल्दी से पेंट निकाल दो. फिर उसकी लंड चूसने की ललक उसको नीचे ले गई और वो मज़े से लंड को चूसने लगी. अर्जुन के एग्जाम हो गए थे और वो अगले दिन हमारा घर छोड़ के वापस जाने वाला था.

अब मैंने उसके कपड़े उतारने में कोई देर न करते हुए जल्दी से उसकी कमीज को उतार दिया.

फिर उनके ऊपर वाले पतले से होंठ को अच्छे से चूसा, तब तक वो भी पूरी तरह गर्म होने लगी थी.

थोड़ी देर बाद उसकी तरफ नजर घुमाई तो देखा कि वो जा चुकी थी। मेरा लौड़ा उसे देखते हुए देख कर तो उसे चोदने का मन होने लगा और मैं सोचने लगा कि काश ये मुझे चोदने दे।दूसरे दिन फिर वो छत पर दिखी, किसी से फोन पर बात कर रही थी. इतने में एक सयानी सी आंटी उधर आ गईं, तो मैंने बहाना बनाया- पागल इतनी छोटी बात के लिए नाराज नहीं होते, चल अब घर चल मेरी चंदू प्लीज. किंग बीएफतभी उसने मेरे बाल खींचकर मुझे खड़ा किया। बाल खींचे जाने से मेरे मुँह से एक घुटी सी चीख निकल गई.

मैं भी छोटे कपड़े ज्यादा पहनती हूँ और मर्दों की कामुकता भरी नजरों का लुत्फ़ उठाती रहती हूँ. और आप इतनी ज्यादा प्यारी और सुन्दर हैं, ऐसा न कहिए कि आप सुन्दर नहीं है. साथ ही वो लंड की गोटियां भी चूस रही थी और गुलसन जी मजे की अलग ही दुनिया में खो गए थे.

एक बार ललितपुर आना स्नेहा के साथ फिर तुम्हारे सारे अरमान रात भर में पूरे कर दूंगा!’‘आ सकी तो जरूर आऊंगी. उसने कहा कि वो एक अमेरिकन दोस्त के साथ है, और हमारे घर से ज्यादा दूर नहीं है, और मेरे यहाँ आ रहा है.

मुझे परेशान होता देख भाभी ने कहा- जब मजा लिया है तो अब सजा भी मिलेगी.

हम 69 की पोज़िशन में आ गये, वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत. अब तक चार लड़के झर चुके थे, सिर्फ एक लड़का था जो मेरी गांड अभी तक चोदे जा रहा था, वो झरने का नाम ही नहीं ले रहा था, वो फुल स्पीड में मेरी गांड को चोदे जा रहा था. मैंने की-होल से झाँक कर देखा तो मैं दंग रह गई क्योंकि मेरा बेटा मेरी पैन्टी लेकर मुठ मार रहा था, वो भी लॅपटॉप पर पोर्न वीडियो देखते हुए लंड को हिला रहा था.

बीएफ ब्लू फिल्म चलाएं रात के आठ बज चुके थे, बाहर बहुत सर्दी थी तो चाय का एक दौर और होना था. पापा ने मेरी हाँ सुन कर मुझे बांहों में भर लिया और बुरी तरह चूमने चाटने लगे.

कुछ पल रुक कर अपने आपको ठंडा करने के लिए मैंने फव्वारा स्टार्ट किया. अब वाइब्रेटर की वाईब्रेशंस ने उन दोनों की चूत में आग लगा दी दोनों कामाग्नि से तड़फ रही थी और वाइब्रेटर तो पूरा उनकी चूत में घुस चुका था. कुछ देर के सफर के बाद, हमें एक स्पीड बोट पे छोड़ा गया जहां हमारा बहुत जम कर स्वागत हुआ.

देहाती बीएफ 2020 के

गाँव के एक अमीर किसान के घर पर काम करती थी, उनका नाम रमेश था, करीब 45 साल का अधेड़ था, बदन गठीला था, काफी जमीन थी और पैसे की कमी नहीं थी, घर पर ही दिन भर रहता था. आआआ स्सस्सस्स सआआअ अच्छा लग रहा है मेरी चूत चाटो न प्लीज!” मेघा ने उसकी पजामे में हाथ डाल कर लंड पकड़ के सहलाना शुरू कर दिया और उसे नंगा कर के लंड सहलाने लगी. जब सोनू को पता लगा कि मैं नंगा हूँ तो उसने मेरे ऊपर की चादर एक ओर खींचकर उतार दी और अपना टॉप ऊपर कर मेरे ऊपर चढ़ गई.

उसके इस तरह से खींचने से मैं एकदम शहज़ाद के ऊपर आ गई और उसने मुझे सिर से पकड़ कर अपने होंठ मेरे होंठों पर चिपका दिए. मैंने धीरे से चूची दबाना शुरू किया तो उन्होंने मेरा हाथ अपनी चूची से हटा दिया.

जो दोस्त फेसबुक से जुड़े हैं वो मुझे अपनी फेसबुक आई डी ईमेल कर सकते हैं, मैं उन्हें खुद रिक्वेस्ट भेजूंगा.

भाभी बोली- आपका अहसान कैसे चुकाउंगी?मैंने भाभी को शोख़ नजरों से देखकर कहा- जब मर्जी चुका देना. अब मैंने धीरे धीरे उसके बच्चों से बात करनी शुरू कर दी, तो वो भी मुझसे बात करने लगीं. अब जैसे-जैसे मेरी उंगली उसकी चूत पर घूमती गई, वैसे-वैसे दीदी भी पागल होती जा रही थी.

मैंने बहुत जोरदार चुदाई की, भाभी भी गांड उछाल कर मेरा साथ दे रही थीं. तिवारी और विभूति ने अपनी जगह ली और उनसे पूछा- क्या चल रहा है बे लौंडो?‘कुछ नहीं भैया जी, बस काम की बातें होऊ रही. फिर दीपक ने मुझे अपने घर पर जो मेरे होटल से थोड़ी सी ही दूर था, खाने पर बुलाया.

फिर मैं सोचने लगा कोई भूत तो नहीं आ गया मगर आपकी आवाज़ सुनी, फिर सुमन दीदी की आवाज़ सुनी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोस: यहीं मेरे गांव में ठीक मेरे घर के बगल वाले घर में एक लड़की रहती थी, उसका नाम लवली था और वो मेरे साथ स्कूल में पढ़ती थी। मैं उसे तभी से चाहता था। वैसे वो मुझे फ्रेंड ही मानती थी, पर मैं उसे दिल ही दिल में बहुत चाहता था। हम लोग बचपन से ही साथ-साथ कई तरह के खेल खेलते रहे थे, जैसे कभी कबड्डी, कभी कुश्ती।उसी बहाने मैं उसके मम्मों को छू लिया करता था। वैसे उस समय उसके चूचे थोड़े छोटे थे. हुआ यूं कि जब मैं चाची को देखने की जुगत लगा रहा था, तब मुझे ये मालूम हो गया था कि वो नहाते वक़्त अपने बाथरूम का दरवाजा खुला रखती थीं.

मैंने न-नुकुर की तो वो बोले- बुशरा तुम्हारा एहसान है मुझ पर, वो उस दिन जो खाना खिलाया था. मैंने भी app इनस्टॉल किया और जयपुर का सर्च लगाया तो मुझे कुछ लड़कियाँ आई सर्च में. उसे देख कर कोई अंदाज भी नहीं लगा सकता था कि ये स्त्री लंड की प्यासी अपनी चुदास से त्रस्त रहती होगी.

कुछ ही देर में उसका शरीर अकड़ने लगा औरउसकी चूत ने पानी छोड़ दिया… मैंने उसका सारा पानी पीकर साफ कर दिया.

फिर घर वालों ने उन दोनों को समझाया और उसने भी सोचा कि डाइवोर्स लेकर क्या होगा, इससे उसके घर वालों की ही परेशानी बढ़ेगी. उसका एक हाथ मेरे सिर को कस कर पकड़े था और दूसरा मेरे बदन पर ऊपर से नीचे घूम रहा था. वो पास आई और झट से उसने टॉप निकाल दिया और ब्रा खोल के चुची मेरे मुँह के सामने करके बोली- लो ताजा दूध पी लो.