सेक्स बीएफ हिंदी एचडी

छवि स्रोत,भाभी सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी: सेक्स बीएफ हिंदी एचडी, तभी उन दोनों लड़कियों ने भी बोला- देखो प्लीज़ हमारी ये वीडियो तुम डिलीट कर दो.

फिल्म डॉक्टर कैसे बन सकते हैं

इसी बीच मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा होने लगा और वह भी उत्तेजित होने लगी. सेक्सी 2019 कीसादिका को भी किंजल की तरह कॉलेज के बहाने गाड़ी में, रास्ते में … और होटल में ले जाकर चोद देता हूँ.

वो मानी नहीं और मुझसे बोली- मुझे पता है कि मैं तुमको पसंद नहीं हूँ. सेक्सी वीडियो कुत्ते वालाउनके लंड से हल्का हल्का लेसला पानी भी बह रहा था जिसको मैं चाट रही थी।अपने पति के लंड में अधिक तनाव ना आता देख मैं मायूस हो रही थी.

मुझे पहले पहल तो उसके होंठों का स्वाद कुछ अजीब सा लगा मगर एक गर्म मर्द के होंठों से जब मेरे होंठों को चूसा गया, तो मुझे बहुत ही आनन्द आने लगा.सेक्स बीएफ हिंदी एचडी: मां ने रात 10 बजे टीवी बंद की और बोलीं- बेटा, आज तो बहुत गर्मी लग रही है.

अदिति की फ्लाइट दिल्ली से शाम सात बजे की थी तो हमें भी जल्दी ही निकलना था क्योंकि मुझे बहूरानी को स्टेशन तक छोड़ने तो जाना ही जाना था.वो मेरी तरफ मुड़ी और उसने मुझे देखकर कहा- लेकिन तुम यहां क्या कर रहे हो और तुमने मेरे साथ ऐसा क्यों किया?मैंने बोला- मैं बस तुम्हारे साथ सेक्स करना चाह रहा था … मगर तुम्हारा मन नहीं है तो सॉरी.

मद्रासी फिल्म सेक्सी वीडियो - सेक्स बीएफ हिंदी एचडी

हालांकि हमने विधिवत विवाह करने के बाद पति पत्नी बनकर एक दूसरे को मजे दिए हैं.उसके 32 साइज के तने हुए चुचे मुझे ब्रा के ऊपर से ही बहुत अच्छे लग रहे थे.

तब मुझे काजल की याद आयी जिसे मैंने अपने रूम में चोदा था, फिर उसके रूम में जाकर भी चोदा था. सेक्स बीएफ हिंदी एचडी उसने मुझे गाली दी, तो मैंने भी उसी की भाषा में जवाब देते हुए कहा- हां मेरी छिनाल … अभी आकर तेरी फुद्दी का भोसड़ा करता हूँ!लेकिन अब प्रॉब्लम ये थी कि नगमा मुझे जानती थी, तो मैं उसके घर कैसे चला जाता.

मैं- कोई बात नहीं राजा … मज़ा तो पूरा लिया ना?अफ़रोज़- हां आपा मज़ा तो ख़ूब आया.

सेक्स बीएफ हिंदी एचडी?

मैंने कहा- चिंता मत मेरी रंडी … तेरा बेटा जल्दी ही अपनी अम्मी की चुत में अपना लंड पेलेगा. स्कूल छोड़ने के लगभग एक महीने बाद मेरे व्हाट्सएप पर उसी खूबसूरत लड़की का मैसेज आया. चाची आंह आंह करती हुई मेरा सर दबा रही थीं और मैं अपनी जीभ से चुत चटाई कर रहा था.

मैंने मामी जी की गांड के सुराख को कुछ देर गौर से देखा और फिर आगे होते हुए धीरे से अपनी जीभ की नोक को गांड के छेद के पास टच कर दिया. ये ड्रेस मेरे चाचा के लड़के रिज़वान ने सेलेक्ट की थी, उसकी पसंद भी कमाल की है. वो भी अब बिंदास मेरे दूध देखते थे और मेरी बांहों पर हाथ फेर कर अंह आंह करने लगते थे.

पर आप सब तो जानते ही हैं कि आजकल के इन नौजवानों को सामाजिक रिश्ते निभाने की कोई परवाह ही नहीं होती. अब तो आलम ये हो चला था कि वो पर्सनली मुझे अपनी हॉट इमेज भेजने लग गयी थीं और मैं खुल कर उनकी तारीफें किया करता था. चाची के घर के सामने वाली खिड़की हमारे घर के सामने ही खुलती थी जिसे चाची ने आज मम्मी की सुविधा के लिए खोल दिया था.

एक दिन मैंने उससे उसके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछा तो उसने मना कर दिया कि कोई नहीं है. अब मैंने उसका गाउन उतार दिया और उसकी ब्रा उतार कर उसे पूरी नंगी कर दिया.

सभी टीचर्स छात्रों को बसों में बिठाने में व्यस्त थे क्योंकि बस में जितनी सीट थीं, उतने ही छात्र बैठे जा सकते थे.

फिर मैंने उसकी कैप्री का बटन खोल दिया और कैप्री थोड़ी नीचे कर दी; चुत को सही से सहलाने लगा.

जल्दी से खुद को ठीक किया और वो ऊपर निकल गया।मैं साड़ी ठीक करती हुई बाहर गई और गेट खोला. बस दीदी के ब्वॉयफ्रेंड ने उन्हें घोड़ी स्टाइल में खड़ा किया और दीदी के पीछे से लंड चुत में पेल दिया. आप लोगों को मैं बता दूँ कि मैं जिससे भी चुदती थी … तो वो सब ज्यादातर बिना कंडोम के मुझे चोदते और मेरी चूत में ही स्पर्म भी छोड़ देते.

रात को करीब 9 बजे हरीश सुम्मी के पास आया और बोला कि आपको प्रॉब्लम नहीं हो तो मैं आपको कुछ खास चीज दिखाने के लिए ले जाना चाहता हूँ. मैं फड़फड़ाने लगी मगर उनका बदन मेरे ऊपर था।थोड़ी देर बाद वो लंड निकालकर बोले- शबनम कैसा लगा अपनी गांड का स्वाद?मैं लंड को चाटते हुए बोली- जेठ जी, मजा आ गया. थोड़ी देर बाद पूजा उठी और अन्दर से एक बड़े से कटोरे में तरल चॉकलेट जैसा पदार्थ ले आई.

ममता धीरे धीरे चल कर भाई के पास जाकर खड़ी हो गई और गौर से लंड को देखने लगी.

मामी जी- ओह्ह्ह … और जोर से चोदीईईए राहुल ओह्ह्ह ओह्ह्ह उंह मेरीए चूत पानी छोड़ने वाली है … ओह्ह्ह्ह राहोहुल ओह अह ओह उईईई म्ह्ह्ह सीईई ईईईई ओह. मैं भी अब फिर दोबारा पूरे जोश में आ चुकी थी।सुन्दर का स्टाइल अलग था। उसने चूत से गीला लंड निकाल कर मेरे मुँह में दिया और फिर से मुझे बोला- अब उपर बैठ मेरे और खुद चुद ले!मैं टाँगें खोल उस पर बैठ गई और लंड चूत में घुस गया। मैं खुद उछल उछल कर चुदने लगी।मेरे बूब्स उछल रहे थे. भैया ने पूछा- क्या हुआ आपा?मैंने कहा- कुछ नहीं तेरा अन्दर घुसा … तो कुछ मीठा सा दर्द हुआ.

अब जो भी हो, जो हुआ सो हुआ, ऐसे सोच कर मैंने अपने मन को समझाया और अपना सामान पैक कर बैग रेडी करके निकलने के लिए अदिति की प्रतीक्षा करने लगा. मैंने उसके कंधों को दबाते हुए कहा- अरे यार, अगर यही करना था तो कम से कम दरवाज़ा तो बंद कर लिया होता. मैं अगले भाग में आपको भाभी के साथ उन तीन मर्द लौंडों के लंड से अपनी चुत की चुदाई की कहानी लिखूँगी.

थोड़ा यकीन करने लगी मुझ पर।अब वो रिश्तेदारों के पास चली जाती थी मुझे छोड़कर।तभी इन लोगों ने सलाह की कि ऊपर के हिस्से में जो लकड़ी का काम होने वाला है, वो अब पूरा करवा लिया जाए।सासू मां बोली- हां, पूरा करवा कर पीछे सीढ़ियां चढ़वा दो और उसको किराये पर दे दो.

पापा ने जब मम्मी को पूरी तरह से चुदाई के लिए तैयार कर लिया, तो उन्होंने मम्मी को घोड़ी बना दिया. उनकी ताबड़तोड़ चुदाई से कुछ ही मिनट में चाची की चुत ने पानी छोड़ दिया.

सेक्स बीएफ हिंदी एचडी मैं पहले दिन साफ सफाई के लिए जब ऑफिस में गई थी, उस वक़्त अंकल कुर्सी पर बैठे थे. उसने आगे बहुत ही भद्दे अंदाज में कहा- आपका तो एक बच्चा है न … तो आपके स्तनों में तो दूध भरा होगा.

सेक्स बीएफ हिंदी एचडी सर बोले- शबनम मादरचोद … काफी दिनों बाद तेरी चुत चोदने मिली है कुतिया … आह तेरी चूत रगड़ने में मजा आ गया … आह क्या मस्त चुत है बहनचोद तेरी. वे तेजी से मेरी चुत चोदने लगे और मैं सिसयाने लगी- आहह इस्स आह अहमद आह आह ओह.

कमरे में आने के बाद मम्मी ने अपनी तौलिया भी मम्मों से नीचे उतार कर कमर से बांध ली.

ब्यावर की सेक्सी पिक्चर

ताला खोलकर जैसे ही हम घर के अन्दर घुसे, मैंने तुरंत सलोनी को पकड़ कर अपनी बांहों में खींच लिया और उसके मुलायम होंठों पर जोर जोर से किस करने लगा. दीदी ने भी अपनी टांगें खोल दी थीं और मैं उनकी चुत में उंगली चलाने लगा था. मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी एक टांग ऊंची करके पीछे से दिखती चूत को चोदना आरम्भ कर दिया.

अब तो अंकल मेरी चूत के अलावा मेरी गांड में भी अपना लौड़ा डालने लगे थे. ज्वेलरी और ब्याज का बड़ा काम था। आस पास के गावों में उसका ब्याज का व्यापार खूब चलता था। पैसे की कोई कमी नहीं थी।उनका एक ही बेटा था. शन्नो बोली- राज, तुम चले जाओगे तो मेरी चूत को कौन चोदेगा?मैंने साहिल की तरफ देखकर कहा- मेरी शन्नो कुतिया … तेरे घर में तो दो दो लंड हैं.

मैंने बोला- क्यों … पिता जी का मेरे जैसा नहीं था क्या?मां बोली- तेरा हथियार तो तेरे पिता जी से लम्बाई में थोड़ा सा कम है बस, पर मोटाई में तेरा हथियार तो तेरे पिता से डबल है.

मैंने देर ना करते हुए उसकी चुत पर अपनी ज़ुबान लगा दी और चुत का पानी चाटने लगा. वो गांड हिलाती हुई बोली- आह चाट मेरी गांड अह्ह … और जोर से अक्षय … मेरी जान चाट लो … अह्ह अह्ह. मैंने उसे ऐसे ही बिस्तर पर डाल दिया और बॉडी आयल की शीशी लेकर उसके सफेद गोरे जिस्म की मालिश करने लगा.

मैं आपको बाद में कॉल करता हूँ आंटी, अभी डॉक्टर के पास ही जा रहा हूँ. इतनी देर में उसकी चूत से पानी निकल कर उसकी जांघों को भिगोने लगा था. इतना पक्का था कि उन आठों में से एक मेरा भाई था, एक मेरे पति थे और एक मेरे जीजू थे.

चाची इतना गर्म हो गयी थीं कि उनके नाख़ून मेरी पीठ पर गड़ कर मुझे दर्द दे रहे थे. उसकी चूत लंबी थी, सन्तरे की फांक सी गुलाबी रंग की एक अलग सी खुशबू महका रही थी.

तभी मुझे कुछ आवाज सुनाई दी जिसे सुन कर मैं रुक गया और खिड़की से झांक कर अन्दर देखा. करीब 4 घंटे बाद मेरी आंख खुली, तो वो फ्रेश होकर और लड़खड़ाती चाल से अपनी पैंटी पहन रही थी. कसम से मैंने आज तक इतनी फूली और चिकनी चूत नहीं देखी। मुझे लगा था बाल होंगे.

अब अगर तुमने हमें चुदाई नहीं करने दी या कुछ भी हरकत की, तो हम सबको ये चुदाई की वीडियो दिखा देंगे.

लेकिन उस खूबसूरत मासूम चेहरे के पीछे एक जंगली औरत थी, जो 3 घंटे से मुझे अपनी वासना के लिए दर्द पर दर्द दिए जा रही थी. थोड़ी देर बाद जोया आई, जिसने मेरा लंड नहीं चूसा था, तो मैंने उसका हाथ पकड़ कर टॉयलेट के अन्दर खींच लिया. मैं उससे सर झुका कर बोला- प्लीज़, ये बात किसी को मत बताना, नहीं तो सबकी जिंदगी बिगड़ जाएगी.

कुछ देर बाद उन्होंने कॉल उठाया तब मैंने उन्हें कहा- गुलशा आई आल्सो लव यू. वो नहाकर तौलिया लपेट कर जैसे ही बाहर निकली, मैंने उसको खींच लिया और वहीं छोटी बैंच टाइप की टेबल लेटा दिया.

फिर भाभी ने मेरे अंडरवियर से मेरा लन्ड निकाला और लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. अभय- ठीक है ममता, अब हाथ से कभी नहीं करूंगा … और जाऊंगा उन्हीं गंदी मजदूर औरतों के पास, जिनकी चुत ढीले ढाले फटे भोसड़े जैसे हैं. दीदी बहुत देर तक आनाकानी की मगर किसी तरह से रमेश ने मेरी सेक्सी दीदी को पैंटी उतारने के लिए मना ही लिया.

ट्रिपल सेक्सी चोदी चोदा

फिर तय समय पर नीता (मेरी बीवी) के साथ शादी हो गयी।हमारी शादी की पार्टी चल रही थी.

लंड गांड में घुसा, तो चाची कराहते हुए बोलीं- आहहह आह आह ओह … कितना मोटा लंड है मजाहह आ गया आहह ओह. मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और चुनौती देने लगा।मैंने बिना देर करते हुए उसे घोड़ी बनाया और अपने लंड को उसकी चूत में डालकर घपाघप चुदाई शुरू कर दी।उसका दो बार पानी छूट गया था और अब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने उस से पूछा- कहाँ निकालूँ?तो उसने बोला- अंदर ही निकाल दो।मैंने कुछ झटकों बाद अपना सारा माल उसकी चूत में भर दिया और उसी के ऊपर लेट गया।हमने कुछ देर आराम किया. ब्रेस्ट मिल्क सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी चचेरी बहन की चुदाई करना चाहता था.

जया के बगल में लेटकर मैंने उसे सीने से लगा लिया और हल्के हाथों से उसकी पीठ और चूतड़ सहलाने लगा. मेरा लंड खड़ा होने लगा तो मैंने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया और मां के हाथों में दे दिया. कॉलेज की सेक्सी वीडियो हिंदी मेंवो मेरा सर पकड़ के अपनी चूत पर दबा रही थी और बोल रही थी- जान चूस सश्हस … मम्मम्म … जाओ ओऊऊऊ मेरी चूत को ऊऊ!मैं लगातार उसकी देसी हॉट चूत को किसी कुत्ते की तरह चूसे जा रहा था।फिर मैंने नियाशा को 69 में आने को बोला.

फिर एक दिन मुझे कुछ पैसों की जरूरत पड़ी, तो मैंने अपनी मम्मी से पैसे मांगे. कभी ज्यादा आग लगती है चूत में, तो अपनी उंगली डाल कर शांत कर लेती हूँ.

[emailprotected]फैंटेसी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मॉम की गदरायी जवानी की काल्पनिक कहानी- 2. अभय ने ममता की चूची पीते हुए एक हाथ नीचे ले गया और उसकी चूत की दरार पर फेरने लगा. नगमा जोर से चिल्लाई- आह्ह अह भड़वे … मादरचोद मेरी गांड फाड़ दी तूने … अह्ह्ह्ह रुक जा शैतान के बच्चे!मगर मैं नहीं रुका और उसकी गांड मारता ही रहा.

अगले दिन वो मुझे स्कूल जाती हुई दिखाई दी पर उससे कुछ बात ना हो पाई. मेरे और बहूरानी के अन्तरंग संबंधों का एक आरंभिक दौर था जब बहूरानी चूत लंड चुदाई जैसे शब्द सुनते ही अपने कान हथेलियों से ढक लेती थी. ”मैं समझा नहीं कि समस्या क्या है और मुझसे क्या मदद चाहिए?”बात दरअसल यह है कि जया की शादी को तीन साल हो गये हैं और अभी तक कोई बच्चा न होने के कारण उसकी सास रोज ताने देती है.

उसके जाने के बाद शुरूआत में मैं ही अकेली थी तो शहज़ाद के लंड से खूब मज़े लेती.

हॉट गर्ल पेनफुल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जब मैंने अपने दोस्त की चुदक्कड़ बहन को अपने बड़े लंड से चोदा तो उसे बहुत दर्द हुआ. लाल होंठ, गोरा रंग, आंखों का काजल और नशीली नजरें देख कर मैं अपनी मादक मौसी पर फिदा हो गया था.

फिर मैं अपनी एक उंगली उसकी चुत की दरार पर फेरने लगा और पैंटी के ऊपर से ही चुत का दाना सहलाने लगा. उस दिन पेट्रोल पंप पर तुम्हें देखा तो मुझे लगा कि मेरे सपनों के राजकुमार तुम हो. मम्मी ने सिगरेट अपने होंठों में दबा ली और उसे जलाने के लिए वो उस लड़के की तरफ देखने लगीं.

ये बुआ सेक्स स्टोरी सन 2007 का है, उस समय मेरा आना-जाना पूनम बुआ के घर थोड़ा बढ़ गया था. शुरू में तो मुझे ये जरा असहज सा लगा कि पति के सामने कोई दूसरा मुझे कैसे चोद सकता है, पर धीरे धीरे मुझे भी इस चीज में आनन्द आने लगा और मैं भी चुदाई के दौरान किसी और से चुदवाने के लिए व्याकुल होने लगी. मुझे नहीं पता फ़लक उस इशारे को कितना समझ पाई लेकिन वह मेरे उस इशारे से खुश हो गई थी.

सेक्स बीएफ हिंदी एचडी मेरे पति मेरे साथ नहीं रहते थे तो मेरी चुत में चींटियां सी रेंगती रहती थीं. इसी बहाने हमें एक दूसरे को छू लेने का मौका मिल जाता और उस क्षणिक सुख में भी आनंद आ जाता.

सेक्सी ब्लू फिल्म नंगी ब्लू

उस समय उनकी नजरों में मुझे वासना के डोरे दिखने लगते थे, मगर वो कुछ कहती नहीं थीं. मैंने अपने लण्ड पर कॉण्डोम चढ़ाया और चित्रा के चूतड़ उचकाकर एक तकिया रख दिया. अगले दिन हम लोग भी पहुंच गए।वहां जाकर लोलिशा प्लान के मुताबिक तैयार थी.

आती रहना कमरे पर।मैंने उनके नंबर भी लिए और सुरजन मुझे बस स्टैंड तक छोड़ने आया।बस में बैठी हुई मैं उन्हीं लम्हों को याद कर रही थी।ससुराल वालों का धोखा भी याद करने लगी. मैं उठ गई और अफ़रोज़ से बोली- अच्छा चल … कपड़े बदल कर आ जा … मैं भी बदल लेती हूँ. चाचा भतीजी सेक्स वीडियोअब आगे कैसे भाई ने बहन को चोदा:अब अफ़रोज़ ने मेरी ही अदा में मुझे किस किया.

मैंने तुरन्त पैंट की जिप खोली और उसका हाथ पकड़कर अपने खड़े लौड़े पर रख दिया.

अभय अपना एक हाथ सरका कर ममता की सलवार के ऊपर से ठीक चूत पर रख दिया. दोस्तो, मैंने शन्नो को कभी नहीं बताया कि साहिल को हमारी चुदाई के बारे में सब पता है.

मैंने कहा- साली ले मेरा लौड़ा … तुझे बहुत चुदवाना था … आज चोदता हूं. अब मुझे भी जोश आ गया और मैंने भी उनकी एक चूची को अपने दांतों से दबा कर चूसने और काटने लगा. मैंने उसकी चूचियों को मसलना और तेज़ तेज़ कर दिया और गपागप गपागप चोदने लगा.

उसने पूछा- हैलो कौन!मैं बोला- आप कौन बोल रही हैं और आपको यह नंबर किसने दिया!उसने कहा- मुझको ये सिम मेरी एक सहेली ने दी थी, आप कौन बोल रहे हैं?मैंने उससे कहा- मैडम, ये मेरा सिम कार्ड है … आप प्लीज़ मुझे वापस कर दो.

दोनों एक दूसरी से कुछ कहती, फिर एक दूसरी को चिढ़ा कर हंसने लगती।मैं नहाने के लिए बाथरूम में घुस गया. इतना बोल कर उसने एक गोली ममता को दी और कहा- डोंट वरी कुछ नहीं होगा डर मत. रस पीने को तो मना नहीं किया था ना … इसलिए मैंने ब्लाउज को ऊपर उठा दिया.

अंग्रेजी वाली सेक्सी पिक्चरकभी बेडरूम में नंगी होकर लंड चुत में ले लेती थी तो कभी किचन में वो मेरी साड़ी उठा कर मुझे चोद देते थे. अब मैंने उसे व्हॉट्सैप्प मैसेज किया- आप ही ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी न … मैंने आपकी फ्रेंड्स रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली है.

दसरा सेक्सी

मजा आ गया पापा जी, लग रहा था मैं सचमुच कुंवारी हूं और अपने बीएफ से चुद रही हूं. मैंने चाची से नॉर्मल बात करते हुए उनसे चाय की मांग की और कुर्सी पर बैठ गया. मेरी और कृति की चुदाई के दौरान ही गर्म ही चुकी राजकुमारी मीना अपने कपड़ों के ऊपर से ही अपने एक हाथ से मम्मे और दूसरे हाथ से अपनी चूत को रगड़ रही थी.

मेरे लंड का सुपारा काफ़ी मोटा है, पर मामी जैसी चुदक्कड़ को थोड़ी सी भी परेशानी नहीं हुई. अब आगे डर्टी चुदाई फैंटेसी कहानी:इसके बाद मैंने ये सब रोहन अंकल को कॉल पर बता दिया. बुआ आखें फाड़े मुझे ऐसे देख रही थीं जैसे कह रही हों कि दोबारा ऐसा मत करना.

ये वही शबनम चाची हैं जिन्हें मैंने अपने टीचर से चुदाई कराते देखा था, फिरचाची की चूत और गांडमैंने भी मारी थी. मैंने नीचे से झटके मारना शुरू कर दिया।अब उसका दर्द कम हुआ तो वो लंड पर उछल उछल कर अपनी चूत से मेरे लौड़े को चोदने लगी. मेरी छुट्टी बढ़ने की बात मालूम होते ही भाभी के चेहरे पर खुशी देखते ही बनती थी.

सुम्मी बेड पर जोर जोर से सिसकारियां भर रही थी और हरीश का नाम ले लेकर चिल्ला रही थी. मैंने अपनी Xxx मामी की चूत चोदी बहुत जोरदार तरीके से … उनकी चूचियां बहुत बड़ी बड़ी थी.

जाते समय वो बोल कर गया- कल वाले उन दोनों डॉक्टरों को भी तुम्हारी चुदाई की बात पता है … तो आप उनका भी देख लेना.

देसी रंडी हिना अब चुपचाप मेरी गांड चाट रही थी और उसकी बड़ी बहन नगमा मेरा लवड़ा चूसने लगी थी. कुत्ते के बाल से होने वाली बीमारीशहजाद के कहने पर मैं अपनी बेटी से घर से बाहर जाने की कह कर निकल गई. सेक्सी ओपन सेक्सी ओपन सेक्सी ओपनदो दिन बाद मौसी की डेथ हो गई। मम्मी-पापा दोनों वहाँ चले गए। उन दिनों मैं गुलाब की बांहों में पड़ी रहती थी. फिर सलोनी उठकर मेरे बगल में लेट गई और अपने हाथों से मेरे लंड को वापस जगाने में लग गई.

उधर साला चलना बहुत ज्यादा पड़ रहा था … तब भी देखने में काफी मन लग रहा था.

अभय- मतलब?ममता- उंहूं भैया … समझा करो मुझे कुछ अंडरगारमेंट्स लेने हैं. चूत चटवाने में औरत को कितना सुख आता है यह बस एक औरत है जान सकती है. मम्मी ने मौसी से बात की तो मौसी ने भी कहा- हां मेरे घर भेज दो, इसमें पूछने की क्या बात है.

चाची ने कहा कि तू अपना काम निकलवाने के बाद अपने बेटे का लौड़ा मुझे भी अपनी चूत में डलवाने देगी. मां की मखमली जांघें देख मेरा ईमान डगमगा गया और मां के बारे में गंदे ख्याल पैदा होने लगे. मैं बोली- जब निकलेगा तो बता देना और अपना वीर्य चूत में मत छोड़ना, वर्ना मैं तेरे बच्चे की मां बन जाऊंगी।इतना बोले हुए दो मिनट हुई थी कि वो जोर से सिसकारियां लेने लगा- आह्ह … दीदी … आह्ह … आह्ह … निकलने वाला है.

घोड़े की सेक्सी पिक्चर घोड़े की

’तो मैंने रिप्लाई किया- जब तुम मुझको पसंद ही नहीं करती हो, तो ऐसा क्यों बोल रही हो?रीना का जवाब था कि वो भी मुझको पसंद करती है, लेकिन उसको थोड़ा टाइम चाहिए. मैंने कहा- साले दावत है या ऐसे ही शब्बो को चोदने के चक्कर में जा रहा है!कुच्ची हंस कर बोला- अबे लौड़ू चल बे … सच में उधर शादी की दावत भी है और जिसके घर शादी है, उसने मुझे बुलाया है. केस के बारे में बताते हुए ही उसने एकदम से मेरी पीठ पर हाथ फेर दिया.

मैंने झट से गेट खोला तो देखा वो रेड टी-शर्ट और ब्लू कैपरी पहन कर आई थी.

अम्मी जब जॉब की वजह से जब कभी शहर से बाहर चली जाती थीं तो रात के समय घर में बस हम दो भाई बहन ही रह जाते थे.

पर मैंने उनकी बात अनसुनी कर दी और नीचे की ओर खिसक कर उनके पैरों के बीच में आ गया और उनके पांव दायें बाएं फैला दिए और बहू की चूत के गीले होंठ चाटने लगा. जब वो खुद अपनी गांड ऊपर उठाने लगी तप मैंने मज़ाक करते हुए पूछा- कैसा लग रहा है अब … ठीक तो लग रहा है ना?प्रभा दर्द भरी आवाज में बोली- हां, अब अच्छा लग रहा है. फोटो काजलमैं- अंकल … मगर ये सब मैं दादा जी से कैसे कह सकूंगा?अंकल- बेटा वो मुझे नहीं पता, मुझे तो इस पेपर पर साइन चाहिए और कल के कल तू अपनी पूरी फैमिली को यहां लेकर आ सकता है.

मैंने दोबारा से उसके पेपर पर लाल पेन से बहुत सारी गलतियाँ निकाल दीं. मुझे बस स्टैंड लेकर गए और बोले- गोरी, मैं छोड़ ही आता तुझे लेकिन काम था. अब उसकी आवाजें बदल गई थीं- आह … और चोदो मुझे … और तेज चोदो … आह फाड़ दो मेरी चुत, मेरी गांड भी फाड़ दो … आह और अन्दर तक लंड डालो … पूरा अन्दर डाल दो … जल्दी जल्दी चोदो.

ममता और भी पता नहीं क्या अनाप-शनाप बड़बड़ाए जा रही थी, पर अब वो जानबूझकर ऐसा कर रही थी … जिससे उसका ध्यान दर्द से हट जाए. थोड़ी ही देर में उन्होंने मेरे कपड़े उतार दिए और मुझे एक फ्रेंची में कर दिया.

उस दिन उसके मम्मी पापा उसके मामा के घर गए हुए थे और उसके भाई, उसकी भाभी को लेकर मायके गए हुए थे.

सेक्सी मौसी की चुदाई की हिंदी कहानी में पढ़ें मैं अपनी छोटी मौसी के घर गया था. मैंने कहा- चैक करने दो न!वो चुप हो गई तो मैंने उसके टॉप को उतार दिया और उसकी ब्रा में कैद चूचियों को देख कर एकदम से बौरा गया. फिर एक बार बिजनेस के किसी काम से सुम्मी के पति को दो दिन के लिए मुम्बई जाना पड़ा.

दसरा सेक्सी उसने मेरी बात का जवाब देते हुए कहा- मेरी छोड़ बे … अपनी बता आज़कल भी गांड मरवाते हो या छोड़ दिया?मैंने उसको थोड़ा मस्का लगाने के लिए कह दिया कि आप जैसा कोई दुबारा मिला ही नहीं, तो बस यूं ही चल रहा है. लेकिन अब हम दोनों काम वासना के समंदर में गोते लगाने को तैयार हो गए थे.

दोस्तो, मैं पंकज एक बार पुन: अपनी विधवा मां की चुत चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मैंने कहा- साले दावत है या ऐसे ही शब्बो को चोदने के चक्कर में जा रहा है!कुच्ची हंस कर बोला- अबे लौड़ू चल बे … सच में उधर शादी की दावत भी है और जिसके घर शादी है, उसने मुझे बुलाया है. सेक्स इन गार्डन स्टोरी के पिछले भागलंड चूस कर कुंवारी बुर में घुसवायामें आपने पढ़ा किअपनी भाभी के दोस्त से मैंने पहली चुदाई करवा के अपने पहले सेक्स का मजा लिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी जंगल

ममता ने धीमी आवाज में अभय से कहा- कौन सा सैट लूं … समझ में नहीं आ रहा. मैंने उसके दोनों चूतड़ों को थाम कर उसकी चूत को अपने मुँह से सटा ली और जीभ को चूत के अन्दर बाहर करने लगा. चाची सिसयाने लगीं- प्लीज … आहह इस्स आहह … मजाह आ गया ऊऊह … आआह यार मेरी चुत और जोर जोर से चाटो.

अदिति ने अपनी सासू माँ से सब बातें बतायीं और पूछा कि आप कहो तो वो ग्वालियर चली जाये?अब बात थ्रू प्रॉपर चैनल मेरे पास तक तो आनी ही थी:जरा सुनिये, अखबार फिर पढ़ लेना!” रानी (मेरी धर्मपत्नी) ने अधीरता से कहा. अंदर आते ही फ़लक ने मुझे गुड मॉर्निंग की और हाथ मिलाने के लिए अपनी सुन्दर नाजुक उँगलियों वाली हथेली मेरी ओर कर दी.

मैं उसे बार बार रोकने की कोशिश करता … मगर वो और जोर से नौंचने लगती.

मैं भी एक बार अन्दर डालना चाहता हूँ!मैं- नहीं अफ़रोज़ तुम मेरे छोटे भाई हो और मैं तुम्हारी बड़ी बहन. झड़ कर शहज़ाद ने अपना सारा वीर्य रुबिका को पिला दिया और दोनों थक कर लेट गए. जेठ जी से चुदाई के बाद अब मुझे मेरे शौहर से चुदाई में वो मजा बिल्कुल नहीं आता था.

शीना वापिस आयी और घड़ी में टाइम देखा तो हमें ये खेल खेलते हुए दो घण्टे हो गए थे. और उसने चुदाई की गति बढ़ा दी।वो धीरे धीरे आधे से ज्यादा लंड निकालता और फिर झटके से पूरा अंदर तक डाल देता।उसका हर झटका मुझे ऊपर को हिला देता और मेरे मुंह से आहह … अहह … आहह … आई … आई … स्सस्सी … स्सस्सी … स्सस्सी … आहह … अजय निकलने लगी।ऐसे ही वो मुझे 4-5 मिनट तक चोदता रहा और फिर थोड़ी देर बाद रुक गया और हांफते हुए सांस भरने लगा।अब तक मेरा दर्द भी काफी कम हो गया था और हल्का हल्का मजा भी आने लगा था. उनके लंड चूसने से दो चीजें समझ आने लगी थीं कि एक तो बहुत दिन से भाभी लंड की भूखी हैं … और दूसरी बात ये कि उन्हें लंड चूसने का अनुभव बहुत ज्यादा है.

उसे अब भी यकीन नहीं था कि मैंने उसकी चुत को चोद कर इतनी चौड़ी कर दी है.

सेक्स बीएफ हिंदी एचडी: खैर उनके जाते ही मैंने भी पेशाब किया, हाथ मुँह धोया और मैं भी बेडरूम में आ गया. रमेश ने ये सुनते ही दीदी को अपनी तरफ पलटा लिया और दूध मसलते हुए होंठ चूमते हुए बोला- तो अब इसका काम ही खत्म कर लेते हैं तब तक लाइट भी आ जाएगी.

लगातार दस मिनट तक भाई ने बहन को चोदा बेहतरीन अंदाज में! उसके धक्कों की रफ़्तार अभी भी कम नहीं हुई थी. उसके पूछने पर जसविंदर ने कल रात से लेकर आज शाम तक की सारी कहानी बयां कर दी. दो दिन बाद मेरी होने वाली बीवी ने मुझसे कहा- मेरे घर वालों को तुम्हारे आने पर किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं है.

मैं जेठ जी का इंतजार करती रहती हूं कि फिर से कब उनके नीचे लेटने का मौका मिलेगा.

वो सोते हुईं बोलीं- आरुष प्लीज सो जाओ … तुम्हें और तुम्हारे हथियार को आज रात भर जागना है. मां की गांड को मैंने तेल से भर दी और अपने लंड को मां की गांड पर मसलने लगा. उसने अपने घरवालों को मेरे बारे मैं पहले ही बता दिया था इसलिए मुझको कोई परेशानी नहीं हुई.