हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी

छवि स्रोत,पंजाबी लड़की की चूत चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकसिबिडीयो: हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी, उस पूरे घर में बस हम दोनों ही अकेले थे और मेरा शायद सालों का सपना अब पूरा होने वाला था.

खलीफा बीएफ

भाभी तो पहले से ही मेरी तरफ आकर्षित थीं, पर मेरी तरफ से ही कोई प्रति उत्तर ना देने के कारण से भाभी खुल नहीं पाई थीं. एक्स एक्स डीउसके चूचे हापुस के आम थे और कमर पर तो आधी मटकी आराम के साथ बैठ जाएगी.

!मैंने लंड को हाथ से पकड़ कर चूत पर रगड़ने लगा और वो सिस्कारियां लेने लगी. हिंदी बीएफ वीडियो दिखाओपर फिर सोचा कि कोई तो ऐसा बंदा मिलेगा जो मुझे समझे, उसे ही मैं अपनी पसंद नापसंद बताऊँगी.

मैं उनसे कुछ पूछ रहा था और वो बोलते हुए अपने रूम में चली गईं मुझसे चेहरा नहीं मिलाया.हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी: फिर टॉप के अंदर हाथ डाल कर उसकी चूचियां मसली मैंने… फिर टॉप ऊपर करके उसकी चूचियो को ब्रा से निकाल कर चूसने लगा.

फिर मैंने बरमुडा पहना और बाहर आ गया, उसके बाद तो मैंने उसे पूरे दिन अपनी गोद में उठा उठा कर चूमा और बूब्ज दबाये और चूसे पर उसने चूत को टच नहीं करने दिया.तो मैं उनकी एक्टिवा लेकर मार्केट से एप्पल फ्लेवर विद स्प्राइट वाली वोड्का ले आया.

बीएफ हिंदी ब्लू मूवी - हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी

मेघा मैं तुमको शादी के बाद तो नंगी ही रखूँगा, जब मन किया अन्दर डाल दिया करूँगा.मैं दिन में इधर उधर के काम में बहुत व्यस्त रहा था, इसलिए थकान ज्यादा हो गई थी.

लंड क्या घुसा वो सारी मुहब्बत भूल गई और दर्द के मारे निकालने के लिए चिल्लाने लगी. हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी मेरा पति तो ओरल सेक्स जैसा कुछ भी नहीं करता है, बस चढ़ता है और पानी गिरा कर उतर जाता है.

मेरे सामने अनुष्का शावर के नीचे पूरी नंगी खड़ी थी, उसके चूचे एकदम टाइट एक मीडियम साइज़ खरबूजे जैसे थे, जिसको दबाने का मन कर रहा था.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी?

उस ने इधर उधर देखा और झट से मेरे सर को पकड़ कर एक जोरदार किस कर दिया. मैंने उनसे पूछा कि क्या आप भी पियोगी?भाभी बोलीं- मैं वोड्का पियूंगी. मॉम, मैं, मेरी मौसी उनके एक दो रिलेटिव लड़के और दो चार और दूसरे रिश्तेदार हम सब रज़ाई को अपने पैरों पर डाले हुए बैठे थे.

उस वक़्त उसकी शादी हुए एक साल ही हुआ था और एक साल के बाद ही उसका तलाक़ भी हो गया था. मगर मेरे मन में शरारत थी तो मैंने उसको बोल दिया- तुम फट्टू लड़के ऐसे ही होते हो. मैं मुंबई में रहता हूँ, मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं, अब तक कोई बच्चा नहीं हुआ है, पर मुझे अलग अलग औरतों को चोदने का बहुत शौक है, अगर मुझे हर रात भी चोदने को मिले तो मैं चोदूंगा.

लगभग 15 मिनट तक लगातार मैंने उसे उंगली से चोदा, तब जाकर वो अकड़ने लगी और उसने मुझे जकड़ लिया, उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया. मैंने पैंटी सही की और सलवार कसके बांध ली कि अब फिर से आसानी से ना खुल जाए. ऐसा मैंने इसलिए कहा कि सच में ये इते पैसे देगा भी या नहीं?अमित- मैं दे दूंगा.

वो ऐसे बोलते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गई और मैं उसका सारा यौवन रस पी गया. तभी मेरी सास बोली- मेरी निशा रानी, बहुत मजा आया, इतना मजा तो तेरे ससुर ने भी मुझे कभी नहीं दिया.

मैं अब पूनम के ऊपर चढ़ गया और पूनम के मम्मों को ब्लाउज के ऊपर से ही चूमते हुए अपने एक हाथ से पेटीकोट के ऊपर से पूनम की चुत को सहला रहा था.

और कुछ देर बाद टाईम देखा तो 1 बज चुका था! मैं उठा और अपने कपड़े पहनने के बाद अप्पी से बोला- कैसी रही तुम्हारी सुहागरात की ट्रेनिंग?बोली- ट्रेनिंग नहीं, रियल सुहागरात थी!तो दोस्तो मेरी अपनी अप्पी यानि बहन के साथ सुहागरात कैसी लगी? मुझे जरूर बताइएगा.

हालांकि उस समय मैं सेक्स के बारे में कुछ ज्यादा नहीं जानता था और न ही मेरे मन में काया भाभी के लिए कुछ गलत था, पर मेरा लंड जब कभी खड़ा जरूर हो जाता था. ये किस्मत का खेल ही था, जो एक सामान्य घर के सामान्य से रिश्तों को कुछ ही घंटों में इतना विशेष बना दिया. मैंने देखा मीना लंड साफ करते वक़्त अपना मुँह लंड के एकदम पास लेकर उसको सूँघ रही थी.

मैं- सुनो दिव्या वो 10 मिनट में आ रहा है तो?दिव्या- तू फुल टॉप और जींस या फिर कोई सिंपल सूट पहन कर तैयार हो जा. उसे किस करना आता नहीं था तो मैं जैसे जैसे करता, वो भी वैसा ही करती. मैंने भाभी से कहा- भाभी आपकी छाती में दूध तो है ही नहीं?वो बोलीं- बुद्धूराम जब तक मैं माँ नहीं बनूंगी तब तक मेरी छाती में दूध कैसे आएगा? अगर तुझे मेरी छाती का दूध पीना है तो मुझे माँ बना.

ससुर बहू की चुदाई की कहानी आपको कैसी लग रही है, मुझे मेल करें![emailprotected].

मैं ज्यादा तो नहीं, पर खूबसूरत हूँ, अच्छी हाइट, बड़े चूचे और मजबूत शरीर की मालकिन हूँ. उन्होंने थोड़ी देर हाथ को रोका लेकिन जब हाथ नहीं रुका तो उसने रज़ाई के अन्दर ही हाथ को फ्री कर दिया मतलब चुपके से अपनी स्वीकृति दे दी. ’मैं भी एकदम से उसकी चुत के दाने को अपनी जीभ से बहुत जोर से रगड़ने लगा.

फिर ब्रा निकाल कर टेबल पे रखी और ब्लाउज का हुक बंद ही कर रही थी कि दरवाजे पे दस्तक हुई. मैं किस करने लगा और मुझे लगा कि भाभी मुझसे ज्यादा किस करने का मजा ले रही थीं. मैंने उसे थोड़ा फ़्लर्ट करते हुए कहा- आज तो हमारे ऑफिस में ब्लैक डायमंड है!तो मेरे इशारा समझते हुए उसने हल्की सी मुस्कान दी और फिर काम की बात करने लगी.

दिमाग में बस दो तीन प्रश्न घूम रहे थे जैसे- आखिर मुझमें ऐसा क्या है? और मैं इतनी अच्छी क्या सच में हूँ कि लड़कों की नींद गायब कर सकती हूँ? अगर इतनी अच्छी हूँ तो मैं क्या करूँ और अमित क्यों चाहता है मुझे गले से लगना? उसे आखिर मुझसे केवल गले लग कर क्या मिल जाएगा?ये सब सोचते सोचते मैं कब सो गई, पता नहीं चला और जब मेरी आँख खुली तो सुबह के 9 बज रहे थे.

दीदी के दोनों हाथ मेरे हाथों में थे और पूरी तरह खुल कर बेड पर लगे हुए थे जिससे मुझे स्पीड तेज रखना मुश्किल हो रहा था. अगर तुझे टाईम है तो प्लीज़ मुझे सात बजे रेलवे स्टेशन छोड़ने आएगा क्या?मैंने उसको ‘हां’ बोल दिया और वहां से घर के लिए निकलने वाला ही था कि रश्मि बोली- ललित को पैसे के बारे में मत बताना प्लीज़!मैंने ‘हां’ बोला और मैं अपने फ्लैट में फ्रेश होने आ गया.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी इसी झटके के लिए मैंने अभी तक दीदी के कन्धों को कस के अपने हाथ से पकड़ा हुआ था ताकि दीदी दूसरे झटके से बचने के लिए आगे की तरफ नहीं निकल जाए. अच्छे नहीं है क्या? पहन के देख लो, अभी मैं यही हूँ अगर ना अच्छे हों, तो वापस करके दूसरे ले लाऊंगा.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी तो वो मना करके जाने लगीं, पर अब मैंने बिना हिचक के उनका हाथ पकड़ कर उनको अपनी ओर खींच लिया. तभी मेरे सब्र का बांध टूट गया और मैंने पिंकी को अपनी ओर खींच लिया और उसे चूमने लगा.

मम्मी ने ऊपर वाला रूम खोल दिया और उनका सामान लगा दिया, मैं वहां पर उनके लिए जो भी सामान था वो लेकर गई.

सेक्सी नंगी फिल्में ब्लू

चूत पर हाथ महसूस करते ही रेणुका भाभी को ना जाने क्या हुआ कि वो मुझसे तेज़ी से चिपक गईं. फिर मैं मुड़ा तो देखा कि रश्मि भाभी एकदम नंगी बैठी थीं और अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. खता हुआ लंड मैं जिंदगी में पहली बार देख रही थी, मुझसे रहा नहीं गया और मैं खुदबखुद नीचे बैठ के उसके लंड को प्यार करने लगी.

ग्लास ख़त्म होने के बाद वापस से कार्ड बंटे, इस बार मेरा कार्ड छोटा आया और मीना का बड़ा. शिशिर के लंड का मजा तो ले ही चुकी थी, अब मेरा मन सुनील के लंड से चुदवाने को बेकरार हो गया. मुझे एक पेट शॉप का पता है, मैं वहां से पता कर के आपको बताऊँगा कि उनके पास कोई अच्छी नस्ल का मेल डॉग है या नहीं!वो- तो ठीक है, आप मुझे अपना फोन नंबर दे दीजिए.

हम दोनों वैसे ही चिपके एक दूसरे की गर्मी को शांत करने लगे।कुछ ही देर मे मैंने अपना गाऊन ठीक कर लिया.

कुणाल हंस कर बोला- तुमने कभी किसी लड़की चुत को नजदीक से देखा है?मैंने- नहीं. लेकिन मेरी मॉम 15 मिनट तक नहीं आई तो मैं सोचने लगी कि अब मेरी चालू चुदक्कड़ मॉम किसी और से तो चुदवाने नहीं चली गई. उन्होंने मुझे लिटा दिया, औंधा कर दिया, अपनी भी पैन्ट और अंडरवियर उतार कर खूंटी पर टांग दिये.

उसने मुझे पूछा- आजकल के मॉडर्न ज़माने में भी तुम्हें ऐसे पुराने गाने पसंद हैं?मैंने कहा- मुझे तो बस इसी तरह के पुराने गाने बहुत पसंद हैं और हिंदी में मुकेश जी के गाने भी पसंद हैं. मैंने पहले ब्रा के ऊपर से ही चुच्चों पर थोड़ा सा काटा और उसकी ब्रा उतार दी।अब वो बस चड्डी में पड़ी थी और मैंने कपड़े पहन रखे थे तब, इस दौरान वो पहली बार बोली- अपने कपड़े तो उतार लो यार!मैंने झट से अपने कपड़े उतार दिए, बस चड्डी रहने दी और उसके बराबर में लेट गया, अब उसका चेहरा ठीक मेरे सामने था, मैं धीरे धीरे उसके चुच्चे दबाने लगा और हम किस करते रहे. फ़िर शिशिर ने अपनी जीभ सलमा की चुत में अन्दर पेल दी और सलमा को जीभ से फ़क करने लगा.

मैं बोली- मजदूरों को चाय देने कौन जाता है?वो मुँह बना कर बोली- मजदूर खुद ही होटल से मंगवा कर पी लेते हैं. उसके ऐसा बोलते ही मैंने अपना लंड उसकी गांड से निकाल कर उसकी चुत में पेल दिया और दो चार धक्के मारते ही झड़ने लगा.

मैं अपना हाथ पकड़े पकड़े नीचे ले जाने लगी तो अवी ने कहा कि जितनी ताकत है उतनी ताकत से दबाते हुए ले जाओ. )मैंने अब शॉट नहीं मारा, मैं रुका रहा, उसका दर्द जब कुछ कम हुआ तो मैंने धक्का मार कर लंड पूरा अंदर डाल दिया. मैं तो अपनी सभी पाठिकाओं से यही कहूँगी कि अपने भाई को पटा लो, ब्वॉयफ्रेंड से अच्छा रहता है, ना खर्चा होता और ना दिल टूटने का डर.

इस बार मैंने हाथ को थोड़ा मॉम की चूत की बगल में जाँघ के ऊपर रखा, जिससे मेरी फिंगर आगे से उनकी चूत को छू रहा था और बाकी हाथ उनकी जांघ पे था.

मैं उसे अपने केबिन में ले गया और कंप्यूटर पर बेसिक चीजें समझा कर मार्केट निकल गया. रिया का लंड मेरी सास ने दस मिनट तक चूसा और रिया मेरी चूत चाट रही थी, मुझे मजा आ रहा था कि तभी मैं चिल्लाई- आहहह… हहह… अहह… ओहहहह… मा मरर गई!और मेरी चूत ने बहुत तेजी से रिया के मुँह में चूत का गर्म गर्म पानी छोड़ दिया और रिया मेरी चूत कर सारा पानी पी गई. उन्होंने पूछा कि क्या हुआ इतनी सुबह क्यों बुलाया है आपने? क्या काम है?मैंने कहा- प्यार करना है आपको.

दोस्तो आप जानते हो कि मैं जयपुर का रहने वाला हूँ, वहां हमारे पड़ोस में एक लड़का है जो मेरा बहुत ही जिगरी दोस्त है, उसका नाम सुभाष है. थोड़ी देर के बाद मेरा लंड पकड़ कर धीरे धीरे अपनी चुत के अन्दर घुसाने लगी.

मैंने कहा- ये लो तुम्हारा दोस्त भी आ गया, एक बार और फाड़ डालो ताकि ये मेरी राजकुमारी को दर्द न दे. वो कुछ सोचने लगी, मैंने उसका हाथ अपने हाथों में लिया और पूछा- क्या हुआ? कोई प्रॉब्लम है क्या?उसने मुँह ऊपर किया और आँखों मैं आंसू लिए बोलने लगी- मैं प्यासी हूँ, मेरा पति ज्यादातर बाहर रहता है और जब आता है, तब भी कुछ नहीं करता. लेकिन जब वो दरवाज़ा खटखटा के अंदर आई तो मैं जानबूझ कर लैपटॉप में काम करने का बहाना करने लगा.

मूवी सेक्सी फिल्म दिखाएं

मगर मैं कुछ नहीं कर पा रहा था क्यूंकि मेरी अम्मी आम तौर पर उसके आस पास ही रहती थीं.

उस दिन उसे मैंने तीन बार चोदा और अब जब भी मन करता है तब उस को मेरे फ्लैट या होटल में बुलाकर चोदता हूँ. लेकिन फिर मुझे एहसास हुआ कि मैं अभी बहुत छोटी मासूम सी हूँ जिस कारण सीनियर लड़कों का मुझे चोदने के अलावा किसी बात में कोई इंटरेस्ट नहीं है. उसने बैठ कर मेरे लंड की एक किस किया और फट से मुँह में डाल कर चूसने लगी.

जैसे अमित ने चूची दबाई थी, उससे भी ज्यादा जोर लगा लगा कर चूची को चूस रहा था. फिर मैं उसकी चूत को हाथ लगाने लगा तो उसने मेरा हाथ हटा दिया और बोली- प्लीज़ तुमने दूध को टच करने का वादा किया था. बीएफ फुल हिंदी एचडीमैं अपनी कुछ पुस्तकें लेकर मुमताज के घर रुकने चला गया ताकि अकेली मुमताज को डर न लगे.

बाहर सबसे नॉर्मल बातें हो रही थीं लेकिन मॉम थोड़ी शांत सी बैठी थीं. बहुत से तो नहाते हुए भी बाथरूम में कहीं ना कहीं छेद करके देखते हैं और मुठ मारते हैं.

उसे देख कर मैं बहुत उत्तेजित हो गया और मैंने पैंट में से अपना लंड निकाल कर हिलाना शुरू कर दिया. फिर रोहण भी फ्रेश होने चला गया और मैं किचन में ब्रेकफास्ट बनाने चली गयी. अब वो दूसरी साइड जा कर खड़ी हो गईं लेकिन मेरा साथ मेरे भाग्य ने दिया, वहां मेरी दादी ने मुझे आवाज़ लगा कर बुला लिया और भीड़ ज्यादा होने की वजह से अब वो कहीं नहीं जा सकती थीं.

दोस्तो चूत रस से भीगी हुई पाव रोटी की तरह फूली हुई गुलाबी रंग की चूत, जिस पर हल्के हल्के से सुनहरे बाल मखमल की तरह लग रहे थे. वो अपने एक हाथ से मेरी पीठ सहलाने लगी और दूसरे हाथ से मेरे लंड को मरोड़ने लगी. भाभी के रसीले मम्मों को दबाने में इतना मजा आ रहा था कि मैं किस को भूल कर उनके मम्मों पर टूट पड़ा.

फिर अंकल ने मेरी गांड को चाटा, थूक लगाया और अपना लंड मेरी गांड में घुसा दिया, बोले- आरती, तेरी गांड आज के पहले कभी किसी ने चोदी है?मैंने कहा- सच बात बताऊं, अब तक दो तीन बार मेरे ट्यूशन वाले सर ने सिर्फ गांड ही चोदी, आज तुम लोग मेरी गांड चोदो!और अंकल ने जैसे ही पूरा लंड अन्दर गांड में घुसेड़ दिया, बहुत दर्द हुआ, मेरी आंख से आंसू आने लगे, मैं बोली- निकालो लंड… बहुत मोटा है अंकल आपका.

अब वे दोनों दूसरे कोने की तरफ गए, जहाँ एक लकड़ी का लम्बा कुर्सी नुमा बेंच पड़ा था जैसा रेलवे स्टेशनों पर होता है. आपको किसी चीज की जरूरत होगी तो प्लीज आप हमें फोन कर दीजिये, आपका वीकेंड हैप्पी हो.

तो मैंने सिमरन की तरफ इशारा किया तो गीतांजलि ने कहा- अगर आपका लंड इसे पसंद आया तो ये भी अपनी चूत की सील तुड़वा लेगी. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर मेरी यह पहली गन्दी कहानी है, उम्मीद करता हूँ आपको मेरी कहानी पसंद आएगी. इस के बाद मैंने थोड़ी हिम्मत कर के पूनम का सिर ऊपर करने के बहाने उस के और नज़दीक आ कर मैंने उस का सिर उठाया और अब मेरा हाथ उसके बिल्कुल नरम नरम मम्मों पर टच हुआ, मुझे तो मानो जन्नत सी महसूस होने लगी.

आपके साथ तो हमारे ये दिन कैसे हँसते हँसते गुजर गए, पता ही नहीं चला इसलिए प्लीज आप न जाओ और अगर आपका पढ़ाई का या किसी और काम का नुकसान हो रहा हो तो मैं आपको रोकूँगी भी नहीं. मैं अपनी जीभ उसके मुँह के अंदर डालता और उसकी जुबान को टच करता और उसके होंठों को अपने दांतों से काटता. अन्धेरे में मुझे उसका बदन दिख नहीं रहा था, पर ये एहसास हो रहा था कि मेरी बांहों में एक नाजुक कोमल फूल है, जिसका मैं रस पीने वाला हूँ.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी जब से आपको मैंने देखा है, तब से यही सोच रहा हूँ कि कैसे बात करूँ?मैं चुप रही. ये बात आज से दो साल पहले की है। हमारे घर पर नए किरायेदार आए थे। हमारा घर काफी बड़ा है तो हमारे घर में एक या दो परिवार किराये पर रहते ही हैं.

भोजपुरी पंजाबी सेक्सी

मैंने बोला कि अंकल यदि आपको एतराज न हो तो क्या मैं आपको किस कर सकता हूँ?वो बोले- बेटा, पहले मैं तुम्हें किस करना चाहता हूँ, लेकिन अभी यहाँ सभी लोग जाग रहे हैं. वो छटपटाने लगी थी और अपने पैर पटक रही थी, पर मैंने उसको कसके पकड़ रखा था. उनका पानी निकल गया था, मैंने लंड को चूत से निकाला, उस पर फिर से थूक लगा कर उनकी गांड में घुसाने लगा.

मैंने कहा- तुमने देखा नहीं तुम्हारा पति इसकी चूची और जांघों को ऐसे देख रहा था, जैसे चोद ही देगा तो ये छोटी कैसे हुई? वैसे भी 18 पार कर चुकी है. शिवानी भाभी आईं, उन्होंने मुझे दूसरा कंडोम दिया और किसी से फ़ोन पर बात करने लगीं कि मेडिकल स्टोर अभी बंद होने वाला है और रात को खुलेगा. सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सीमैंने कहा- भाभी, कॉलेज में मुझे कोई लड़की पसंद नहीं है, मुझे तो बस आप ही बहुत अच्छी लगती हो और सेक्सी भी.

यह जानते हुए कि भाभी को भी लंड की जरूरत है मैं कुछ नहीं कर पा रहा था.

अपने भाई के इस वार से काजल की साँसें और धड़कनें बहुत तेज़ हो गई थीं और उसने अपने हाथ से रमेश के सर के बाल जोर से पकड़ लिए. उसका फिगर 34-28-36 का होगा, लेकिन जब वो एकदम फिट टॉप पहनती थी, तो लगता था.

अब सुभाष की हालत ऐसी थी कि उसको सिर्फ़ बेड पर ही लेटा रहना पड़ रहा था. मगर एक दिन क्लास में हम दोनों पास बैठे थे, हम दोनों रोज एक साथ सबसे पीछे वाले बेंच पर बैठते थे, टीचर पढ़ाने में बिज़ी थीं. हम दोनों की साँसें और धड़कनें तेज़ चल रही थीं और अभी भी एक दूसरे से चिपके हुए थे.

फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी टीशर्ट के अंदर डाल दिया और कुछ देर में मैंने उस के बूब्स को उस की टीशर्ट से आजाद कर दिया और बूब्स को चाटने लग गया.

मैंने हंस कर कहा- फ़रिश्ते टायर चेंज करते हैं क्या?उन्होंने भी हंसते हुए कहा- हा हा हा. मेरी सिस्कारियों से सर की कामुकता और बढ़ गई और थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड मेरी चिकनी चूत से सटाया और हाथ से पकड़ कर मेरी चूत की दरार के बीच ने मेरे दाने पर रगदने लगे. मैं जब सामान उठा रहा था, तो मैंने देखा उसमें 5 अलग अलग कलर की पेंटी और सेम कलर की 5 ब्रा थीं.

एडल्ट ब्लू फिल्म वीडियोचाचा ने बोला- आरती नाम है इसका, मेरी भतीजी है, इसको कोई दिक्कत नहीं चाहे जितने लोग इसके साथ सेक्स करें, बहुत ज्यादा प्यासी है ये बहुत चुदासी है. अब मैं कभी उसकी चूची चाटता तो कभी निप्पल पर जुबान फेरता, इससे उसकी आवाज़ बढ़ती जा रही थी तो मैंने अपने एक हाथ से उसका मुँह बंद किया.

गैलरी ओपन सेक्सी वीडियो

मम्मी अंग्रेज का हाथ पकड़े और मैं अंकल की गोदी से चिपके अन्दर बढ़ गए. वो धक्कों का मजा ले रही थीं, साथ ही साथ ‘आह…’ भरते हुए बड़बड़ा रही थी- आह… चोद चोद अपनी चाची को, जोर चोद आह्… फाड़ दे मेरी चूत को… जब से तू आया है, तब से तेरे लंड की प्यासी थी मेरी ये चुत… आह… अब इसे अच्छे से चोद बेटा… इसमें बहुत खुजली होती है… आह… जब भी तुझे देखती हूँ तो बस चुदने का जी करता था मेरा… आह… अब इसे जी भर के प्यार कर ले… आह आह… ह्म्म्म आह आह… करते रह… हम्म मजा आ रहा है. मैं थोड़ी देर रुका रहा और उनकी पीठ को चूमने लगा, कुछ देर बाद वो थोड़ा शांत हुईं तो मैंने उनकी गांड मारना शुरू की.

वैसे मुझे ऐसे ही कपड़े पसंद थे और मैं पहनती भी ऐसे थी कि मेरी आधी बॉडी दिखे, तभी इस जवानी और इस जिस्म का मज़ा है. वो ड्रेस मेरे ही नीचे थी और अवी मुझ पर उसी तरह पैर रख कर और हाथ रख कर लेटा था. फिर दो पल बाद मैंने लंड हिलाया तो उसका लंड एकदम से टाइट हो गया और खड़ा होने लगा.

पैकिंग के समय उसमें स्टीकर नहीं हटाया था और जब रेट देखा तो मैं हैरान हो गई क्योंकि वो ड्रेस 8999 की थी. फिर मैंने उनकी बनियान के अन्दर हाथ डाल कर उनके दूध दबाना चालू कर दिए. उसने अपना मस्त लंड अपने अंडरवियर से निकाला और मेरी गांड के ऊपर टिका दिया.

तो मित्रो, पहली बात तो ये अच्छी तरह से समझ लें कि कोई भी सेक्स कथा किसी अन्य साहित्यिक रचना की तरह ही होती है अब ये किसी पाठक का अपना खुद का दृष्टिकोण है कि वो इन कहानियों को किस दृष्टि से देखता है. पर कोई भी भाई ऐसा नहीं होगा कि लड़की सामने नंगी हो, तो उसे चोदे ना.

अमित- नहीं मिनी तुम दिव्या से बहुत अच्छी हो वो तुम्हारे सामने क्या है कुछ नहीं, पार्टी में सब तुम्हें ही देखेंगे.

अपने उतारे हुए स्कर्ट टॉप एंड पैंटी ब्रा को उसी टाइम धो कर फैला दिया. नंगी सीन की वीडियोमैं जब भी उनको भाभी कहकर पुकारता, तो मुझसे गुस्सा हो जातीं और बात नहीं करती थीं. सेक्सी बीएफ पिक्चर देखना हैमेरा नाम मोहित है, मेरी उम्र 36 साल है, मैं शादीशुदा और दो बच्चों का पिता हूँ. मैंने उसे अपने ऊपर से उठाया, जिससे मेरा लंड भी उसकी चूत में से निकल गया.

कुछ देर बाद मैं दीदी के ऊपर से उतर गया लेकिन दीदी नहीं चाहती थी मैं ऊपर से हट जाऊँ, दीदी ने मुझे मेरी पीठ से कस के पकड़ लिया और ऊपर से हटने नहीं दिया.

जोश में वो खूब इधर उधर हुई, पर खड़े होने से लंड मोनिका की चूत में नहीं गया. मधु ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और अपने हाथ से ही मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत के छेद पट टिका कर रखा और मुझे एक झटका मारने को कहा. मैं रूम में जैसे ही प्रविष्ट हुआ तो पूनम को देख कर मेरे दिल को बहुत तसल्ली हुई, मानो जैसे प्यासे को पानी मिल गया.

उसको घर लाने से पहले ही रास्ते में मैंने कॉंडम का एक पैकेट ले लिया था. जैसे ही मैंने अपना लंड भाभी की चूत से बाहर निकाला तो मेरे लंड के साथ भाभी की चूत से खून भी निकला. मैं भाभी से सॉरी सॉरी बोलने लगा, पर भाभी ने मेरी एक न सुनी और मुझे अपने कमरे से निकाल कर दरवाजा बंद कर लिया.

खेसारी लाल यादव सेक्सी

अब उसने दोनों हाथों से मेरी चुचियों की मालिश शुरू कर दी, बहुत तेज तेज मेरे मम्मे दबाने लगा. अब उसकी चूत से खून निकल रहा था, जो प्रमाण दे रहा था कि हम अब वर्जिन नहीं रहे. सवाल- बहन को चोदना चाहता हूँ, हेल्प करो?जबाव- याद रखो बहन भी एक लड़की ही है.

मुझसे उसकी चुत को देख कर रहा नहीं गया, मैंने उसकी टांगें फैलाईं और अपनी जीभ से उसकी चुत को चाटने लगा.

बस यही एक ऐसा शिकार है जो खुद करना पड़ता है, बाकी और लौंडे तो गांड के पीछे दुर दुर करते हुए चोदने के चक्कर में पीछे पीछे लंड हिलाते हुए घूमते हैं.

मैंने कहा कि भाभी मैं इस समय तो कुछ भी कमाता हूँ नहीं, तो मैं आपको फीस कैसे दूँगा? लेकिन मैं आपसे यह वादा जरूर करता हूँ कि जब भी मैं कमाऊँगा, उस दिन मैं आपकी फीस जरूर दूँगा, ये मेरा वादा है आपसे. मैं तो उन भाभी के हुस्न पर तब से फ़िदा था जब से वे शादी होकर हमारे पड़ोस में आई थीं. बीएफ चूत की चुदाईमीना अपने चूचों को हिला कर बोली- भैया, ये बताओ ना मेरे मम्मे बड़े हैं या भाभी के.

उन्होंने मेरी चूत की फांकों में अपने सुपारे को रखा और एक ही धक्के में मेरी पनियाई हुई चूत के अन्दर कर दिया. और अपनी चूत की शेविंग कर रही थीं। शेव करने के बाद उन्होंने सारे बदन पर साबुन लगाया और फिर बिना ब्रा और बिना पैन्टी के पेटीकोट पहन लिया।फिर मैं छेद से हट गया. लड़की के पिताजी ने इस बात पर ऐतराज़ किया और कहा कि देखो साहब हमारे यहाँ फ़ैसला बच्चे नहीं, हम ही करते हैं और शादी से पहले लड़के लड़की बात तो क्या, एक दूसरे को देखते भी नहीं हैं.

अन्तर्वासना सेक्स कहानियाँ पढ़ के मजा लेने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मैं बिलकीस बानो एक बार फिर हाजिर हूँ अपनी चुदाई की स्टोरी आपके सामने लेकर. इतने में रिया और मेरी सास उठी और मुझे कुत्ते की तरह झपट लिया, मेरी साड़ी रिया ने खोल दी और ब्लाऊज सास ने, पेटीकोट भी रिया ने उतार दिया.

एसएमएस में जो लिखा था, वो बताती हूँ क्योंकि मैसेज पढ़ने के बाद मुझे शरारत सूझी और मैंने उसका रिप्लाई कर दिया था.

मेरी बीवी बेचैन हो कर अपने चूतड़ उछाल उछल कर अपनी चूत में लंड घुस्वाने को आतुर हो रही थी लेकिन मेरा दोस्त अमित उसे और तड़पाना चाहता था, और गर्म करना चाह रहा था. हमने किसी तरह टीटी को पैसे देकर अपने कम्पार्टमेंट में बर्थ का इन्तजाम किया. उसने बाजू में रखी पानी की बॉटल उठाई और खोली… फिर धीरे से वो अपने स्तनों के ऊपर पानी डालने लगी और मेरा मुँह अपनी चूचियों से लगा दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म एचडी में हम दोनों धीरे धीरे बातों में खुलने लगे और मैंने नशे में बोल दिया कि सरिता यार तू मेरी बहन है, पर क्या आज बहन के अलावा कुछ और बन जाएगी?सरिता बोली- बोलिए ना क्या बन जाऊं?मैंने कहा- यार तेरी भाभी को गए कई दिन हो गए और मुझे बहुत आग लगी है. लेकिन मैंने कानों में ईयर फ़ोन लगा रखे थे तो मुझे उसकी आवाज सुनाई नहीं दी.

तभी दीदी का फोन बज उठा, दीदी ने फोन उत्जा कर देखा और उनकी त्यौरियाँ चढ़ा गई, वो फोन लेकर अंदर चली गई, अब किसी से फ़ोन पर गुस्से में बात कर रही थी, चिल्ला कर बोल रही थी, बिलकुल बिगड़ैल जंगली घोड़ी लग रही थी. जब हम आमने सामने हुए तो हमने हाथ मिलाया और फिर हम पार्क में चले गए. मैं रेणुका भाभी को सीधा करके उनके मोटे मोटे मम्मों से दूध पीने लगा.

लैंड मोटा करने का

वो शायद साँस नहीं ले पा रही थी, जिस कारण उसके आँसू निकल रहे थे उसके. घर पर मेरा सुझाव सभी को बहुत पसंद आया और उसके आगे की पढ़ाई की ज़िम्मेदारी अब मेरे ऊपर आ गई थी. तब मैंने शीशे में अपने आपको देखा, मेरी चूचियां अभी भी हल्की लाल थीं और सूजी लग रही थीं.

भाभी और मम्मी नीचे सोती थीं क्योंकि भैया रात में 11-12 बजे तक आते थे क्योंकि आजकल उनके ऑफिस में ज़्यादा काम चल रहा था. मैंने अपनी जेब से रंग निकाला और भाभी की चुत में उंगली से डाल कर चोदने लगा.

तभी मैं अपना एक हाथ उनकी छाती के पास ले गया और दूध दबाकर देखा तो वाकयी उनके दूध औरतों जैसे थे.

उन्हें जमीन पर लिटा कर उनके दोनों पैर फैला दिए और फिर से चूत में लंड डाल कर चोदने लगा. सब फ्रेश होने के बाद नाश्ता करते वक़्त सागर ने मीना को बोला- दीदी, रात को नींद आई ना ठीक से?मीना शर्मा कर नीचे देखने लगी. उसके बाद उस दिन हम दोनों ने और दो बार पूरी मस्ती से चुदाई का मजा उठाया.

दीपिका की आँखों से आँसू बहने लगे थे, मैं उन आँसुओं को पी गया और उसके माथे पर किस करके उसके मम्मों को चूसने लगा. मैंने लेटे लेटे ही पूछा- तूने उनसे मराई?वह बेशर्मी से लंड सहलाते हुए बोला- हां मैंने दोनों से मराई. मुझे कॉलेज की हवा लगी तो मुझे भाभी की हरकतों का मतलब समझ आने लगा था.

लेकिन वो बिल्कुल भी नहीं माना और लंड घुसाता हुआ चला गया, साथ ही वो झटके देने लगा.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फुल एचडी: वो इलाका मेरा देखा हुआ था तो मैं तैयार हुआ और 15 मिनट में शीतल के घर पहुँच गया. जब उसकी बॉडी टच से मेरा बुरा हाल हो गया था और मेरा लंड लोवर फाड़ने लगा था, तो इसका भी ये ही हाल हुआ होगा.

धीरे से मैंने अपना सुपारा उसकी चूत के अंदर किया तो उसकी सिसकी निकल गयी. पहले उन दोनों में हाय हेल्लो हुई और उसके बाद उन दोनों की बात शुरू हुई और करीब उन दोनों की करीब 20 मिनट तक बात हुई जिस दौरान सिमरन ने करीब 10 बार मेरे लंड की तरफ गौर से देखा. फिर मोहन लाल के मन में कुछ ख्याल आया, वो मुस्कुराया और उसने काजल को रोका- पर रुको.

हम घर पहुँचे और जाते ही मैं मॉम को अपनी बांहों में उठा कर बिस्तर पे ले गया.

पति के साथ अंजलि दुनिया की सैर कर रही थी और अपने मदमस्त यौवन को जम कर लुटा रही थी. मेरा लंड 7 इंच का है और मैं हर रोज जिम जाता हूँ तो शरीर जिम जाने की वजह से काफी अच्छा है. आरती तू बहुत लकी है, मस्त चोदो आप तीनों! इसे रंडी बनना है, आरती बहुत बड़ी माल है, और चोदो, तीनों एक साथ जोर से डालो इसकी चूत में… बहुत चोदो!और अपना लंड हाथ में लिए ऊपर नीचे करने लगे.