सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,एचडी एचडी बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ नंगी चूत: सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई, उसने एक नाइटी पहनी हुई थी और वो बड़े ही सधे कदमों से मेरी तरफ आ रही थी.

हिंदी में देहाती बीएफ वीडियो

जब आंटी ने देखा कि ये दोनों जवान लौंडे अब गर्म हो चुके हैं तो उसने भी अपनी साड़ी का पल्लू ब्लाउज से नीचे सरका दिया. लड़कियां सेक्सवो वहीं मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी।फिर हम दोनों बिस्तर पर आ गए और नंगे ही चिपक के सो गए।सुबह जब मैं उठा तो 9 बज चुके थे।मैंने मामी को जगाया और मैं स्कूल के लिए तैयार होने लगा.

उसकी ये कामुक बातें सुनकर मैं जोश में आ गया और उसकी दोनों चूचियों को जोर जोर से चूसने लगा. यूपी चुदाई वीडियोवैद्य को दिखाया पर वो ठीक नहीं हुई।तो लाजों की माँ को किसी ने कहा कि मंदिर वाले बाबा को भी दिखा ले एक बार!कि कुछ भूत प्रेत का साया ना हो।तो वो लाजो को लेकर बाबा के पास गई.

अन्तर्वासना2 सेक्स कहानी के पिछले भागइंस्टीट्यूट में बांके जवान लड़के का लंड चूसामें आपने पढ़ा कि मैंने अपने इंस्टिट्यूट के स्टाफ के लड़के को पता कर उसके साथ सेक्स का मजा लेना शुरू कर दिया.सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई: अब उसके लन्ड की नस और उसके हाथों का मेरे सर पर दबाव धीरे धीरे कम होने लगे।उसने अपना हाथ हटा लिया.

फिर वो बोली- मैं इतनी भी बुरी नहीं जितना तुम मुझे समझ रहे हो।मैंने उनको देखा तो वो थोड़ा मुस्करा रही थी।फिर मैं भी उनको देख मुस्करा दिया.उसने बिना किसी देर के आधा लण्ड अपने मुंह में भर लिया।मैं भी जोश में आगे पीछे होते हुए दी के मुंह को चोदने लगा और धीरे धीरे दी मेरा पूरा लण्ड निगल गयी।प्रतीक ने भी अपने कपड़े उतारे और मेरे बगल में खड़ा हो गया और अपना लण्ड दी को पकड़ा दिया।मेरी दी पूरी हवस में आ चुकी थी और एक एक करके दोनों का लण्ड अपने मुंह में लेने लगी.

कुत्ते से चुदाई - सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई

दोस्तो, कैसे हो सब? उम्मीद करता हूं कि सब को ही गर्म चूत और लौड़ों का आनंद मिल रहा होगा.फिर पता नहीं कब उन्होंने मेरी चड्डी उतार दी और मेरी गान्ड को सहलाने लगे.

बलविंदर को भी मजा आ रहा था कि उसे एक ऐसे कच्ची कली मिल गई है, जिसको चोद चोद कर उसे जवान करना है और पूरा फूल बनाना है. सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई उसका एक पैर उठा कर अपना लंड उसकी चूत पर लगा कर खड़े खड़े जोरदार चुदाई चालू कर दी.

लेकिन फ़ोन उठाना भी ज़रूरी थी फिर मैंने अपनी उखड़ती हुए सांस को थोड़ा थामा और फिर फ़ोन उठाया.

सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई?

वो मेरे होंठों को चूमते हुए बोला- मेरी जान, आज बहुत मन कर रहा है तुमको चोदने का!तो मैं बोली- अरे मेरे राजा, पहले पेट पूजा!फिर उसका लन्ड दबाते हुए बोली- फिर बाद में इसकी पूजा।जब रागिनी खाना लेकर आती दिखायी दी तो साहिल ने मुझे छोड़ दिया. बेचैनी हो रही थी लेकिन मेरा शरीर, मेरे दिल और दिमाग से आज़ाद हो रहा था. उस समय उसे मर्द की मजबूती और उसके मोटे लंड का ही नशा चढ़ा हुआ होता है, तो वो उम्र या रिश्ते को नजरअंदाज कर देती है.

सबको ये भी जल्दी थी कि कहीं उनकी चुदाई खत्म होने से पहले मैं न आ जाऊँ. धीरे धीरे हम एक दूसरे से सेक्स चैट करने लगे।फिर हम दोनों सेक्स करने के लिए राज़ी हो गए।जब वो दिल्ली से आयी तो उसने मुझे अपने घर मिलने को बुलाया. मेरा नहीं!फिर वो साहिल से जल्दी से बहुत फ्रैंक हो गयी और उससे बात करने लगी।जब 6 बजे तो मैंने बोला साहिल से- मैं मार्किट जा रही हूँ, अभी कुछ देर में आऊंगी.

कभी राज के होंठ मेरे होंठों को चूसते तो कभी जय के होंठों मेरे होंठों पर आकर टिक जाते. जब मैंने इस पर ध्यान दिया तो मेरे अंदर हवस जाग गयी और उसके लिए सेक्स के ख्याल आने लगे. यह और भी ज्यादा हर्ष की बात है मेरे लिये कि मैं देसी चूतों को गर्म करने में कामयाब रहा.

उसके मुंह से जोर जोर की सिसकारियां फूटने लगीं- आह्ह … अनुज आह्ह … नो … उम्म … मत करो … ऊईई … आह्ह … नहीं … आआह आआऊऊ … म्म्म … मम्मी … आह्ह मर गयी … आह्ह आआ आ आ … रुक जाओ!ऐसी प्यारी और कामुक सिसकारियां मुझे उसकी चूत को अंदर तक जीभ से चोदने के लिए मजबूर कर रही थीं. ससुर का लंड भी उसके पति से बड़ा था और उसको ससुर से चुदने में ज्यादा मजा आया.

और मैंने एक बड़ी सी सांस ली और अपना सारा माल उसकी बुर में डाल दिया.

उसके रूम के गेट के पास गया और अंदर देखा तो मेरा लन्ड खड़ा हो गया।मेरी बहन और 2 लड़के थे अंदर.

वो मेरे इस तरह आने से एक बार को तो चौंकी, मगर अगले ही पल उसने मुझे हैलो बोल कर बैठने को कहा. घर से तैयार होकर जाते टाइम मैंने मेडिकल से एक सिरिंज ली और आगे मिठाई की दुकान से आइसक्रीम ली और सीधा होटल के पास जाकर कल्पना को कॉल लगाया. कुछ देर बाद वो औरत बाहर आई और उसने मुझसे कहा कि मोना को सही से देखना होगा, आप चाहो, तो कुछ देर कहीं घूम आओ.

मेरा दो मिनट में हो जाएगा।संतो बोरी पर अपने दोनों हाथ टिका कर झुक गयी. धीरे से मैं दीदी के कान में बोला- अब मत तड़पाओ मेरी जान … मेरे लंड को अपनी चूत में ले लो. वो नंगी ही उठ कर बाथरूम गई और उधर से नंगी ही आकर मेरे सामने अपने कपड़े पहनने लगी.

चाची मुँह फुला कर बोलीं- उस समय मैं क्या कह देती जब तुमने फोन पर कह ही दिया था कि मैं अभी आता हूँ.

मैं उसकी बांहों से लिपट कर घर आ गयी।घर आने के बाद मैं रागिनी के पास चली गयी सोने और साहिल अपने कमरे में।अगले दिन रागिनी ने मुझे सुबह सात बजे उठाया, बोली- तैयार हो जा … घर चलना है. डॉक्टर ने साफ बोल दिया कि ये कितने दिन जिन्दा रहेंगे कुछ नहीं कहा जा सकता. मैडम ने दोनों हाथों से अपने ब्लाउज को खींचा, तो चट चट करते हुए उसके ब्लाउज के सारे बटन खुल गए और ब्लाउज ब्रा में कैद चूचियों पर झूल गया.

उसने मुझे चाबी दी और मैं उठ कर निकालने लगी।जब मैं अलमारी से सामान निकालने लगी तो साइड से मेरी साड़ी का पल्लू उसी की तरफ खुला था जिस पे उसकी नज़र थी. ये देखकर हेमा चाची और घबरा गईं और फिर हम जल्दी से वहां पास में ही छत पर बने बाथरूम का गेट खोल कर घुस गए. उन्होंने इसी दर्द के चलते मेरे हाथ पर काट लिया था और उस पर अपने नाखून गड़ा दिए थे.

डर्टी सेक्स में मेरी बीवी चाहती है कि मैं उसको चोदते समय गंदी गंदी गालियां दूं और उसके हर अंग को मसल मसल कर उसे चोदूं.

मेरा दो मिनट में हो जाएगा।संतो बोरी पर अपने दोनों हाथ टिका कर झुक गयी. लग रहा था कि जैसे मेरे बदन को चिकन पीस समझ रहे हों और बस कच्चा चबा जाने की इंतजार में हों.

सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई फिर मुझे किस करने के साथ मेरी बुर का पानी अपने मुंह से मेरे मुंह में देने लगा. मैं भी ऐसी ही किसी चूत की तलाश में था जिसको चोदने का परमिट उसी की तरफ से मिला हो.

सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई मैंने अपने दोस्त को फोन किया और बुआ के लिए कोई जॉब पूछी।उसने कहा- कपड़े की कंपनी में नौकरी मिल जाएगी।मैंने कहा- ठीक है, मैं कल भेज दूंगा. इस सेक्स कहानी में मैंने अपने घर पर काम करने वाली आंटी की चूत चुदाई का मजा लिया था.

ये बात भाभी को भी समझ आ रही थी और वो भी लंड को फील करते हुए कसमसा रही थीं.

गुजराती वीडियो सेक्सी हिंदी

जब से होश संभाला है, तब से अब तक मैंने कई लौंडों की गांड मारी है और कई से मरवाई भी है. बलविंदर ने भी अपने अनुभव से अलीमा की ऐसी चुदाई की थी कि उसे लग रहा था कि उसकी बुर पर बलविंदर का ही हक हो गया है. उसके बाद मॉम ने अपना तौलिया वापस से लपेट लिया और हम दोनों बाहर आ गये.

उनके घर जाकर मैं तो एक रूम में बैठ गया मगर भाभी के घर वाले मेरे भतीजे के साथ खेल रहे थे. जैसे ही मैं उसकी छत से अंदर सीढ़ी पर गया तो मुझे आदीबा की मकान मालकिन ने देख लिया. इसके बाद वो साहिल के मुँह पर अपनी चूत रख कर बैठ गयी।कुछ देर बाद जगह बदली.

मैं एक दो दिन में जब तक सोहेल की अम्मी को फोन करके उनके हाल चाल जानता रहता था.

उसके बाद मैंने लंड चूत से निकाल कर उसके मुँह की तरफ करके लंड चूसने को बोला. अब मैं आगे बढ़ना चाह रहा था क्योंकि यही सही समय था भाभी को गर्म करने का. वो भी धीरे धीरे आगे बढ़ रहे थे और उनकी गर्मजोशी में मुझे मजा आने लगा.

उन्होंने खांसने के साथ आवाज भी लगा दी- ये क्या हो रहा है?उनकी कड़क आवाज सुनकर मेरे तो जैसे पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई थी. मैं अंदर नहीं गयी बल्कि बाहर से छुप कर देखने लगी।रानी कुछ ढूंढ रही थी, उसको मिल नहीं रहा था. सुलेखा भी लंड को देखकर घबरा गई और बोली- उई मां … आज तुम्हारा मुझे मारने का इरादा है क्या?मैंने कहा- तुम फ़िक्र मत करो … तुम जितना कर सकती हो, करो … मुझे कोई जल्दी नहीं है.

यह देख कर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और अपने लंड को जोर जोर से हेमा चाची के चूत में अन्दर बाहर करने लगा. वो दर्द भरी आह … आह … आह … की आवाज निकालने लगी।मैं थोड़ा सा रुका और उसके होंठ चूसने लगा।जब वो थोड़ी देर बाद शांत हुई तो मैंने ज़ोर से एक धक्का लगा कर पूरा लन्ड उसकी चूत में घुसा दिया।उसकी गर्म गर्म चूत में लंड गया तो मुझे मजा आ गया.

मण्डप के बाहर सभी हमारे आने का इंतजार ही कर रहे थे। सभी ने वहां फूल मालाओं से हमारा स्वागत किया. वहीं विजय ने मेरे पैरों को फैलाया और अपना मुँह मेरी चूत में लगा दिया और उसे चाटने लगा. मैंने हिम्मत करके उसको अपने आगोश में ले लिया और उसने भी मेरी कमर में बांहें डाल दीं.

मेरी आंखों के सामने उसकी बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियां सामने उछल रही थी।अब मैं बारी बारी से उसकी दोनों चूचियों को दबाने और चूसने लगा.

पूरा लंड अंदर सेट होने के बाद उसने अपनी टांगों को मेरी कमर पर लपेट लिया. मैं लगा रहा और पूरा लंड चुत के अन्दर करने के बाद मैंने उसे उसी पोज में चोद दिया. हम दोनों की जीभ आपस में टकराने लगीं और मैं उसके होंठों को बिना रुके चूसता रहा.

मैं बिस्तर पर लेट गया और वो मेरे लंड पर अपनी चुत फंसा कर कूदने लगी. तभी अचानक उसने मुझसे टोकते हुए कहा- क्या हुआ … आप ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने थरथराती आवाज में शबाना से कहा- एक सेक्सी हुस्न को देख रहा हूँ.

वो बोली- पेलो तो … मुझे कोई परवाह नहीं आज चाहे खूना-खच्ची ही क्यों न हो जाए … मगर तुम रुकना मत. इस दौरान मुझे अन्तर्वासना से जुड़ने के लिए कुछ ज्यादा ही समय मिल गया था. फिर वो तेल लगाकर अंजलि की गांड के पास आ गया और पीछे से गांड में लंड घुसाने की कोशिश करने लगा.

सेक्सी फिल्म डाउनलोड सेक्सी डाउनलोड

फिर सभी लड़कियां और औरतें वहां से जमाई राजा यानि कि हमारे भईया को देखने के लिए चली गयीं.

बीच बीच में मैं अपनी पहली उंगली और अंगूठे के बीच में उसकी चूची के निप्पल को जोर से भींच देता था. अगली सेक्स कहानी में मैं आपको अपनी अम्मी को पटा कर अपने लंड से उनकी चुत चुदाई की कहानी लिखूंगा. तो मैंने एक दिन भाभी की चुदाई करते हुए अपनी दिल की बात भाभी को बताई कि मैं उसे चोदना चाहता हूँ.

अलीमा आगे बोली- इस पर मेरे सहेलियां कहती थीं कि तुम मेरी सहेली कैसे हो गई यार … हम लोगों के इस ग्रुप में तो हम सब अपनी चूत लंड वालों को दान करती हैं … और एक तू है कि पुराने ख्यालात के बक्से में बंद पड़ी हुई है. मेरी इस बात पर उसने मेरी तरफ देखा और पूछा- क्या मतलब है तेरा?मैंने कहा- जो कमी आपकी ज़िन्दगी में है वही कमी मेरी भी ज़िन्दगी में है और जैसे आपको चुदवाना पसंद है मुझे भी वैसे ही चोदना पसंद है. बीएफ साड़ी वालाभाभी बोलीं- एक बात बताऊं … वो तो खुद तुम से बात करने के लिए पहले से तैयार है.

उसको इस बात का डर लग रहा था कि लंड चुत के अन्दर जाता है तो बहुत दर्द होता है. जब मैं लाइब्रेरी में पहुंचा, तब तक मेरी कुर्सी पर कोई और बैठ चुका था.

फिर रात में जब आंख खुली तो मैंने फिर से उनकी फुद्दी को सहलाना शुरू कर दिया. मामी ने टिफिन पैक कर दिया।फिर मैंने मामी को जमकर किस किया और स्कूल आ गया।हम दोनों रात को रोज चुदाई करने लगे। संडे के दिन हमने दिन में चुदाई की और फिर मैंने बिना कंडोम के चोदा वो मै अगली कहानी में बताऊंगा।दोस्तो, आपको मेरी कहानी पसंद आई या नहीं? कमेन्ट जरूर करें।[emailprotected]. बाद में मुझे पता चला कि मैंने अपनी पत्नी के साथ जो रूबी को याद करके जो चुदाई की मस्ती में बना दिए थे, वो निशान रूबी ने देख लिए थे.

अलीमा के लिए तो यह पहला आनन्द था और उसी बेहोशी की हालत में उसके शरीर पर बलविंदर गिर गया और दोनों को नींद आ गई. मैंने सोचा कि इससे पहले कि ये दोबारा झड़े, मैं इसकी चूत मार लेता हूं. मगर वो भूखे शेर की तरह मुझपर टूट पड़े और फुल स्पीड में मुझे चोदने लगे.

सुमन धीरे से अंदर आ गई मैं मस्त होकर लंड को धीरे धीरे हिला रहा था।उसने चुपके से गेट बंद किया और मेरे पास आ गयी.

थोड़ी देर बाद उन्होंने ही मुझसे आगे होकर पूछा- आप भीलवाड़ा क्यों जा रहे हो?मैंने बताया कि भाभी मैं यहीं रहता हूं … ओर अजमेर किसी काम से आया था. मैं बोला- क्या हो रहा है मेरी रानी … खुलकर बताओ ना … मुझे अपना ही समझो जान!वो बोली- मेरा मन कर रहा है.

रानी उसकी छाती पर निढाल हो गई और साहिल अब अपने होंठों से उसके गले को चूमता वा चाटने लगा. उसने अपना हाथ पीछे किया लेकिन ज़्यादा नहीं बल्कि अपने हाथों को रानी की कमर को पकड़ लिया. ये बहाना बनाकर निकल जाना और मैं तुमको छुपा दूंगा यहीं घर में।वो बताता रहा- पनीर हम पहले ही लाकर रख देंगे.

कैसे मैंने चुदने के लिए खुद अपने ससुर जी को ललचाया और उन्हें मुझे चोदने के लिए गर्म कर दिया. वो अपने ससुराल में थी। उसकी सबसे छोटी बेटी अभी 19 साल की हुई थी।रेखा आंटी की चुदाई की कहानीमैं आप लोगों को बता चुका हूं. हाय मैं क्या बताऊं … उसका खुरदरा हाथ … और मेरी मखमली गांड … आह्ह … मेरी नाज़ुक चूचियां ऐसे मसली जा रही थीं कि मेरा छोटा सा पिद्दी सा नूनू (अर्धविकसित लिंग) उछलने लगा.

सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई इतना बोलकर मैंने दीदी को नीचे अपने घुटनों में झुका लिया और वो दबाव देने पर बैठ गयीं. उसकी चूत में चार लौड़ों का वीर्य जा चुका था और उसके कमरे में भी वीर्य फैला हुआ था.

वीडियो में सेक्सी देखना चाहते

उसने अपने लंड को उसकी चूत के फांकों को फैला कर उसमें फंसा दिया और उसके ऊपर झुक कर उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने उसका चेहरा ऊपर किया और धीरे से उसके होंठों पर होंठों को रख दिया. अम्मी ने बाहर से आवाज देकर पूछा- राणा आज तू जल्दी कैसे आ गया … क्या कॉलेज नहीं गया था?मैंने कमरे से ही आवाज दी कि अम्मी आज कॉलेज की छुट्टी हो गई थी और मुझे बहुत तेज भूख लगी है, आप मुझे खाना दे दो.

मैं झड़ी तो उसने जमकर मेरी चूत में धक्के लगाए और कुछ ही झकों के बाद वो भी मेरी चूत में झड़ गया. घर में कोई नहीं था और घर के सभी कमरे बंद पड़े थे, सिवाय मेरे कमरे के. x वीडियो हिन्दीफिर मैंने पलट कर उसको कहा- प्लीज चोदो मुझे!उसने भी वक़्त का तकाज़ा समझा और उसका मीनार मेरी अनचुदी गांड के द्वार पर टिका दिया.

मेरा लंड बरमूडा में ही टाइट हो गया और मैं ऐसे ही अपने लंड को उसकी सलवार के उपर से रगड़ने लगा.

मैंने हॉलीवुड मूवीस का फोल्डर ओपन किया तो उसमें अलग अलग फोल्डर एक्शन, एडवेंचर, रोमांस और ऐसे कई नाम के अलग अलग फोल्डर थे. पोर्न मॉम हॉट स्टोरी में पढ़ें कि होटल के कमरे का ए सी बंद होने से मैं ओर मेरी मम्मी दोनों ने अपने सारे कपड़े उतार दिए.

कुछ देर की चूमाचाटी के बाद मैं वहीं सोफे पर बैठ गया और मामी ने झट से फर्श पर बैठ कर मेरे पैंट की बेल्ट, हुक और चैन खोल दी. जब भी मेरा पल्लू गिरता … तो उनकी मादरचोद निगाहें मेरे मम्मों को घूरने में लग जाती थी और मैं उन्हें और भी करीब से अपने दूध दिखाने की कोशिश करने लगती थी. फिर उन्होंने 69 की पोजीशन ली और आंटी ने अपने मुंह में हर्षदीप का लन्ड ले लिया और उसे चूसने लगी.

मैं आप सबका शुक्रगुजार हूँ कि आपको मेरी पहली सेक्स कहानीट्रक ड्राइवर से गांड मरवाईपढ़ कर काफी पसंद आई.

अब रानी थोड़ा सा पीछे हुई और साहिल भी एकदम आगे आ गया, अपनी कुर्सी के बिल्कुल किनारे पर बैठ गया. पापा के जाने के बाद मैं वहीं अपनी गाड़ी में बैठ कर फ़ोन में गेम खेलने लगा. वो नारीसुलभ लाजवश बार बार अपने नंगे जिस्म को छुपाने का प्रयास करती कभी दोनों हाथों से अपने मम्मों को ढक लेती कभी दोनों हाथों से अपनी पैंटी को ढक लेती.

इंडियन सेक्सी बीएफ एचडी वीडियोमैंने जानबूझकर अपना लंड हेमा चाची की गांड से थोड़ा टच कर दिया और तभी न चाहते हुए भी मेरे मुँह से ‘आह्ह. उसने मेरी कमर और पेट को चूमते हुए मेरी चड्डी नीचे सरका दिया और मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया.

सेक्सी हॉटेस्ट वीडियो

एक हाथ उसके सिर के पीछे लगाकर मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था और दूसरे हाथ से उसके चूचे दबा रहा था. [emailprotected]मेरी चुत स्टोरी का अगला भाग:बॉस के बिज़नेस पार्टनर से चुद गई- 2. उसी बीच मेरे हाथ बार बार उसके टॉप में जाकर उसकी ब्रा में जा रहे थे.

फिर उसने रानी को घुटनों पर बैठाया और अपनी पैंट उतारकर अपना 8 इंची लंड मेरी बहन के मुंह में डाल दिया. फिर तुम आराम से अपनी बहन की लाइव चुदाई देख लेना कि कैसे तुम्हारी बहन चार लंड से चुदती है. वो फिर से कुछ करने लगा कंप्यूटर में!तभी पूनम बोली- बताओ कुछ मैं भी हेल्प कर दूँ तुम्हारी?अब वो उसके सामने हो गयी और हल्का सा झुक कर देखने लगी जिससे साहिल की नज़र उनके खुले चुचों पर जा रही थी जो साहिल को सीधा आमन्त्रण दे रहे थे.

चुत चाटना पसंद करने वाले लोग समझ सकते हैं कि उस समय मुझे कैसा लग रहा होगा, खास कर महिलाएं और लड़कियों को अपनी चुत चटवाने की सोचकर ही चुत में पानी आ जाएगा. वह चाहती थी कि कोई उसकी चूत की आग को बुझाने वाला मिल जाये जो जरूरत होते ही उसकी चूत में लंड डाल दे और चोदकर उसकी चूत की खुजली मिटा दे. फिर बिना उसकी सहमति लिए या उसकी कुछ सुने, मैं अन्दर वाले कमरे में आ गया.

ऐसा पहली बार करने की वजह से मैं इसे एक यादगार सेक्स बनाना चाहता था. मैंने कहा- तो फिर रोकने को कौन कह रहा है जान … मेरी रानी … उतार दो ना अब तुम भी मैक्सी.

फिर मैंने सारा माल अंदर भरने के बाद उसकी चूत के होंठों को दबाते हुए सिरींज को बाहर खींच लिया.

अंदर कमरे का भी ताला खोल कर हम दोनों अंदर आ गए। अंदर एक बेड बिछा था और सामने सोफा था. ब्लू पिक्चर वीडियो बढ़ियाऔर जैसे ही मैंने देखा कि वो उठ रहा है तो मैं जानबूझकर अपनी गांड और निकाल कर खड़ी हो गयी।मैं हटी नहीं और ना ही उसने मुझे हटने को कहा. हिंदी सेक्स बीएफ एक्स एक्स एक्सयह बात मैं फैंक नहीं रहा हूँ, बल्कि मैंने खुद भी इस बात को कई बार परखा है. मुझे देखकर वो डांटने वाली भाषा बोलने लगी- दो दिन से कहां था … घर पर क्यों नहीं आया?मैं कुछ बोलता, उसके पहले ही जया ने मुझे गले से लगा लिया और किस करने लगी.

कुछ देर बाद उसके झड़ जाने के बाद मैं उसकी चुत का सारा रस पी गया और उससे अलग हो गया.

उसको कुछ ज्यादा ही दर्द हो रहा था, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया. मेरी बात से आंचल जी एक बार को तो शर्मा गईं, मगर अगले ही पल वो मेरे बाजुओं में समा गईं. उस गांव में जाने के लिए ना तो कोई गाड़ी थी … ना ही उस गांव का रास्ता अच्छा था.

कोई आधा घंटे की घमासान चुदाई के बाद सलमान ने मेरी अम्मी से कहा- नज़मा, मेरा निकलने वाला है … किधर लेगी?अम्मी ने कहा- मेरी चुत में ही अपना लावा निकाल दे. वो बोली- क्या बात है मधु? आज तो तुमने दरवाजा भी बंद नहीं किया?दीदी समझ गई कि आज बहन चुदाई की फिल्म बन गई है. तभी दीदी ने करवट बदली और मेरा हाथ मैक्सी में अंदर घुस गया।मुझे दीदी की चूत के बाल महसूस हुए तो मैं समझ गया कि दीदी ने पैंटी उतार दी है।मैंने अब और रिस्क नहीं लिया और बाथरूम में घुस गया.

सेक्सी वीडियो देसी हिंदी सेक्स

घर से तैयार होकर जाते टाइम मैंने मेडिकल से एक सिरिंज ली और आगे मिठाई की दुकान से आइसक्रीम ली और सीधा होटल के पास जाकर कल्पना को कॉल लगाया. उसके बाद फिर तो वो खुद ही मेरा लंड पकड़ लेती थी और मैं उसको चोद देता था. उन दोनों की बात खत्म हुईं, तो रूबी मेरी तरफ देखते हुए अपनी गांड मटका कर चली गई.

मेरे दोस्त की बीवी शबाना भाभी के साथ चुदाई की कहानी के पहले भागदोस्त की अकेली बीवी की वासनामें आपने अब तक पढ़ा था कि शबाना भाभी की अतृप्त जवानी की आग भड़क उठी थी और वो मेरे साथ चुबंन के लम्बे सीन में अपनी जीभ मेरे मुँह में दे बैठी.

मैंने शैम्पू उठा कर उनकी गांड पर टपका दिया और उंगली से गांड के छेद को रगड़ने लगा.

मैं मन ही मन खुश हो गया और मैंने बिना देरी किये खुद नीचे लेटकर उसको ऊपर आने दिया।वो टांगें फैलाकर लन्ड पर चूत सेट करके बैठ गई और बिना वक्त गंवाये फुल स्पीड में ऊपर नीचे होने लगी।उसके मुंह से आह … आह … की आवाज़ें आने लगी।पांच मिनट में ही उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं उसे गर्म करके उसकी उंगली से ही उसकी चुत को कई महीनों तक संतुष्ट करता रहा था. छोटी वाली बीएफमगर मेरी चूत टाइट थी औऱ लंड अन्दर नहीं जा रहा था इसलिए राहुल ने एक तेज धक्का लगा दिया.

अब आगे की देसी चुदाई की स्टोरी:चुदाई के बाद ठाकुर मंजू के ऊपर ही लेट गया था. थोड़ी बातचीत के बाद मैंने उसको पूछा- खाना खा लो!तो वो बोला- मैं खाकर आया हूँ. अलीमा लंड को सहला रही थी तो बलविंदर ने अपना लंड थोड़ा आगे कर दिया ताकि लंड अलीमा के मुँह से सट जाए.

हमारी पहली मुलाकात के समय हमने अपने कांटेक्ट नंबर एक्सचेंज कर लिए थे।हमारी हर रोज़ ही बात होने लगी और व्हाट्सएप्प पर मैसेज का सिलसिला चालू हो गया।कुछ दिन तक नार्मल बातों के बाद हमारी डबल मीनिंग बातें होने लगीं।एक दिन मैंने उसको चुदाई के बारे में बोला. मैंने उसका सर पकड़ कर अपना लंडा उसके मुँह में डाल दिया और वो रांड की तरह मेरे लंड को मुँह में आगे पीछे करने लगी।उसके गले से गुं … गुं … की आवाज आने लगी.

मॉम को तौलिया में देखने के बाद मुझे कल वाले चुदाई के सीन अपनी आंखों के सामने दिख रहे थे.

मैं खाना खाकर ऊपर आ गया और अन्तर्वासना की फ्री सेक्स कहानी पढ़ने लगा. शबाना- ये आपका लंड है और ये इतना बड़ा कैसे है?मैंने- क्यों सोहेल का नहीं पकड़ा था क्या कभी?शबाना- अरे यार … तभी तो कह रही हूँ कि उसका तो इतना बड़ा नहीं था. मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]देसी लड़की की चूत कहानी का अगला भाग:गांव वाली गर्लफ्रेंड की बहन को चोदा- 2खूबसूरत जवान लड़की बाथरूम में नहा रही है.

रात वीडियो में बीएफ फिल्म सिरेमिक टिंट अब सुमन उठ कर बैठ गयी और मेरे लंड को हाथ में पकड़ कर हाथ आगे पीछे चलाने लगी. सुबह जब बस चाय के लिए रुकी तो मैंने उसके पास जाकर बात करने की कोशिश की लेकिन उसने मुझे घास नहीं डाली.

वो मेरी रियल सिस्टर नहीं है बल्कि हमारे घर के सामने वाले घर में रहती थी और मैं उसको दीदी कहकर ही बुलाया करता था. बाबा उस आंटी की चूत चाट रहे थे और आंटी धीरे धीरे सिसकारियां ले रही थी. रानी कामुकता भरी ‘उफ्फ आह … साहिल मेरी जान चोदो … कब से मैं तुमसे अपनी चूत चुदवाने के जुगाड़ में थी … चोद मेरे राजा!’ की आवाज़ों से साहिल की उत्तेजना को और ज़्यादा बढ़ा रही थी।साहिल भी अपनी पूरी रफ्तार से रानी की ठुकाई करने में मगन था.

सेक्सी वीडियो बादिया बढ़िया

फिर बुआ ने मुझे एक लंबा सा किस किया और बोलीं- आई लव यू … तूने मुझे आज बहुत ज्यादा खुश कर दिया. मैंने अपने हाथों से उसकी जांघों को फैलाये रखा और उसकी चूत को जोर जोर से चाटने लगा. कुछ देर बाद मैं उसकी तरफ घूम गयी और उसको गले लगाकर फ़ोटो खींचने को बोला।ना जाने क्या हुआ फ़ोटो खिंचते खिंचाते हम दोनों इतने करीब आ गए कि पता ही नहीं चला।आगे से साहिल का मोटा लौड़ा मेरी चूत के पास टकरा रहा था.

तो भाभी अब मेरे अंडरवियर में से लंड के आकार को देख रही थी।पर उन्हें ज्यादा डर नहीं दिखा. दरअसल भाभी मेरा पूरा साथ देती थी और हम दोनों के बीच में हर तरह का मजाक होता था.

उसने मॉडलिंग का कोर्स किया हुआ था जिससे उसकी बॉडी एकदम स्लिम और पूरी शेप में थी.

आंटी के दोनों पैरों को फैला कर उनके ऊपर चढ़ गया और उनको अपनी बांहों में भर लिया. तो मालूम हुआ कि उसके बॉयफ्रेंड ने अपने दोस्त के साथ मिल कर सुलेखा की और खुद की चुम्मी करते हुए फोटो ले ली है और वो अब उसे सेक्स के लिए दबाव बना रहा है. मैंने मैडम की एक चूची को मुँह से चूमा और उनकी बात से सहमति जताते हुए कहा- क्या आप भरोसा करोगी कि ये मेरा पहला अवसर है.

फिर अचानक से वो मेरे मुँह से मुँह लगा कर मुझे चूमने लगी और मेरे मुँह में लगा खुद की चुत के रस का स्वाद लेने लगी. उस रात को मैं छत के रास्ते से चाची के घर में आ गया था और उनको नंगी करके मस्ती करने लगा था. फिर मैं बोला- कोई बात नहीं दो-चार मिनट इंतजार कर लो, क्या पता लाइट आ जाये?उसने कहा- ठीक है.

इस कहानी के पहले भागभाभी की बहन चोदकर बीवी बना ली-1में मैंने आपको बताया था कि मेरी भाभी की बहन रीति को मैंने पटा लिया था.

सुहागरात की सेक्सी बीएफ चुदाई: शालू भी ये बात जान गयी थी कि लंड चूत पर आ चुका है और अब इसे अपने जिस्म में समा कर मजा लेने में ही सुख है. मैडम पूरे मज़े के साथ लन्ड रस पी गई।उन्होंने चाट कर वीर्य की आखरी बूंद तक साफ कर दी.

उनका नाम हेमा (बदला हुआ नाम) था और उनकी उम्र यही कुछ 27-28 साल की थी. नमस्कार, आदाब, अभिनंदन और आभार! मैं प्रणव फिर से अपनी छिनाल बहन अंजलि की चुदाई की एक नयी और गर्म सेक्स कहानी लेकर आया हूं. परन्तु लड़का नहीं मान रहा था और मोना के होंठों और गालों पर चुम्बनों की बौछार सी कर रहा था.

मैंने वाशरूम से उस लड़के को आवाज देकर कहा- सुनिए जी, जो मेरे बैग में एक पैकेट है, उसको दे दो न.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?वो बोली कि मेरा तो इस खाली घर में मन ही नहीं लग रहा है. अगर आपका रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं आपके लिए आगे और भी कहानियां लिखूंगा. मैंने कहा- कैसा है?वो मुस्कुराईं और अगले ही पल घुटनों के बल बैठ कर मेरी चड्डी को नीचे करके लंड को बाहर निकालने लगीं.