बीएफ नई-नई

छवि स्रोत,छोटी लड़कियों की सेक्सी वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

रोमांटिक वीडियो बीएफ: बीएफ नई-नई, ! वैसे मैंने सिर्फ उनके सामने असली मर्द की तरह काम किया या उससे पहले भी?‘ऑफ़ कोर्स उससे पहले भी.

देवर भाभी सेक्सी चुदाई वीडियो

बंध्या तेरी गांड को तो फाड़ कर आज चोद चोद कर पूरी जन्नत का मज़ा तुझे दे दूंगा. इंसान का सेक्सहम दोनों ने 4 बोतल बियर खरीद लीं और डिनर के बाद साथ में बैठ कर बियर पी.

सोनिया- नहीं … अभी एक ही हाथ से दबाओ और एक हाथ से मेरी चूत को मसलो … बाद में मेरी चुचियों को, दोनों हाथों में भर भर कर प्यार कर लेना. आम्रपाली दुबे की सेक्सी वीडियोमैंने बाथटब में गर्म पानी भरने के लिए नल चला दिया … और सुसु करके कमरे में वापस आ गया.

अभी तो बस ये सोच रही थी कि इनको किसी तरह अपनी चुदी हुई चूत से दूर रखना है.बीएफ नई-नई: उन्होंने कहा- उई मर गई … साले दीपू अब ये तेरी ही चुत है … प्लीज धीरे धीरे चोद ना यार.

आपने मेरी कहानीगाँव की भाभी की चूत की चुदाईपढ़ी, मुझे सुझाव दिए, उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद.”शैली ने अंशू की जाँघों के बीच घुस कर मुंह लगाया, अंशु ने उसका सर पकड़ के चेहरा अपनी चूत पे दबाया और खुशबूदार धार शुरू हो गयी; शैली पीने लगी चमकता हुआ चूतामृत।पी मेरी रानी, अब तू पवित्र हो कर ससुराल जाएगी.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो भाभी का - बीएफ नई-नई

उसके चूचों को देख कर लग रहा था कि वो 36 के साइज के तो होंगे ही।रीता के चूचे देखने के बाद उस दिन मैंने मुठ मार दी.मेरी दीदी भी गांड उठाते हुए बोल रही थीं कि वाह भैया … क्या मस्त लंड है … पूरा नाभि तक जा रहा है … और मज़ा भी बहुत आ रहा है.

जैसे ही वो मूत कर खड़ी हुई और मेरी तरफ मुड़ी, मुझे देख कर एकदम से चौंक गयी. बीएफ नई-नई अब यह तय हुआ कि शाम की चाय तो अपनी अपनी कॉटेज में ली जाए और शाम को सात बजे स्वीमिंग पूल पर इकट्ठे होंगे … डिनर तो सुइट में ही लेंगे.

मेरे लंड की टोपी अन्दर चली गई और उसके साथ ही दूसरा करारा झटका लगा दिया, तो मेरा आधा लंड अन्दर चला गया.

बीएफ नई-नई?

दोस्तो, अब आगे की कहानी आप अमृता की जुबानी सुनेंगे तो ज्यादा मजा आयेगा. आखिर में मैंने उससे कहा कि ठीक है अगर तुझे यकीन नहीं है तो मैं पैसे दे दूंगा. आपका प्यार मिलता है तो मैं फिर से अपना एक्सपीरियंस लिखने के लिए मजबूर हो जाता हूं.

अब मेरा मन भी करने लगा था कि उनके लंड को पकड़ लूं लेकिन दुल्हन वाली शर्म अभी भी रोक रही थी. चार साल इंजीनियरिंग लाइफ की तमाम कहानियां आप सबसे शेयर करने का मन कर रहा है. अब नीरू फिर से चुदासी हो गयी और अपनी गांड को उठा उठा कर लन्ड को अंदर लेने लगी.

अब मुझे पैसे चुकाने में कोई जल्दी नहीं थी क्योंकि मुझे भी मजा आ रहा था. तो वो बोली- आप ब्यावर से ही हो क्या?मैंने कहा- नहीं … मैं अजमेर से हूं. सुनील आज्ञाकारी बच्चे की तरह दीपा की गोरी गोरी नाजुक उंगलियाँ दबाने लगा.

मेरी पत्नी मेरे दोस्त का तना हुआ लंड अपने हाथ में लेकर उसकी बीवी को दिखाने लगी. जीवन में पहली बार मैंने किसी फेसबुक फ्रेड रिक्वेस्ट को बिना जाने पहचाने ही ओके कर दिया.

15-20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद प्रिन्स बोला- भाभी मेरा होने वाला है, कहाँ गिराऊँ?नीता बोली- अंदर ही गिरा दो!8-10 जबरदस्त धक्कों के साथ प्रिन्स ने अपने माल नीता की चूत में गिरा दिया.

मैंने मेम को कुतिया जैसे बनाया और पीछे से उनकी गांड में लंड पेलने लगा.

जब मैं झटका देता तो भाभी की दर्द भरी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल जाती थी. … वैसे भी मैं ये सब अपने पति को बता ही दूंगी … क्योंकि वो मुझसे बहुत प्यार करते हैं और वही तो मुझसे ये सब करवाने की फैन्टेसी रखते हैं. मैं जब भी किसी महिला को देखता, तो एक बार पीछे मुड़ कर उसकी मटकती हुई गांड को जरूर देखता था.

मैं समझ गया था कि ये जितनी मस्त दिख रही है उससे कहीं ज्यादा अंदर से भूखी है. चाची बोलीं- ठीक है उसे भी जल्दी ही पटा ले … नहीं तो कुतिया जाने किधर किधर भौंक आएगी. हम दोनों कभी कभी लाइब्रेरी में, कभी कभी पार्क में, कभी कैन्टीन में मिलते रहते थे.

सोनिया- हाय … अपने लंड को अपने हाथों में होल्ड करो और सोचो कि मैंने पकड़ रखा है तुम्हारा लंड.

समुद्र की अठखेलियां करती हुई लहरें हमारी तरफ जब पहुंच रही थी तो दिल में अलग ही तरंगें सी पैदा हो रही थीं और वह नजारा बेहद रोमांचकारी लग रहा था. वो मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगी और एक हाथ में मेरा लंड लेकर मसलने लगी. ” नीलम ने अपने आप को अपने ससुर से छुड़ाकर सोफ़े पर जाकर बैठते हुए कहा।नीलम की साँसें ज़ोर से चल रही थी.

अब मैं भी थक गई और ऐसे ही उनके लंड को चूत में रख कर उनके ऊपर ही लेट गई. इतना कह कर मैंने भाभी की सलवार में से ही उसकी चूत को पकड़ कर जोर से ऊपर की ओर खींच दिया. ये कहते कहते उन्होंने मेरा एक हाथ अपने मम्मों पर रखा और मेरे हाथों के ऊपर अपना हाथ रखकर अपने मम्मों को जोर से दबा दिया.

आप लोगों ने जैसा कि मेरी पिछली कहानीतीन मर्द और मां की चुदाईमें पढ़ा था कि मेरे बेटे विराट ने तीन मर्दों को बुला कर मुझे उनसे चुदवाया था, उन तीनों ने कामोत्तेजक दवा खिला कर मेरे साथ रासलीला की थी.

उसने मेरी एक टांग अपने कंधे पर रख ली और अपने झटकों की स्पीड बढ़ा दी. तभी मेरे ‘खजाने’ से उनके ‘खजाने’ पे एक और टक्कर हुई’ फिर वही … दोनों ने झटका खाया।मामी अचम्भे से मुझे देखने लगी.

बीएफ नई-नई मैं सीधा अन्दर घुसा और दरवाजे की कुंडी लगाकर उसे बांहों में ले लिया और फिर एक बार चुदाई शुरू हो गई. चूंकि स्वभावत: मैं किसी से ज़्यादा मिलता नहीं था, इसी लिए मैंने कॉलेज के पहले दिन किसी से बात नहीं की.

बीएफ नई-नई वो तेजी के साथ भाभी की चूत में जीभ चलाता ही रहा और भाभी की चूत से पानी निकलने लगा. अब उसकी गांड थोड़ी ढीली हो गई थी, मैंने उसको बोला कि एक बार लौड़े को मुँह में लेकर गीला कर दो, जिससे आसानी से गांड में चला जाएगा.

मैं उनका इशारा और इरादा दोनों ही समझ गया और मैं भी उनको अपने पास खींच कर किस करने लगा.

सुहागरात की वीडियो बताइए

”वाह जी एक तो मुहासे ठीक करने की दवा दी और फिर हमें ही दोष दे रही हो?”और क्या?”गौरी प्लीज … पास आओ ना इतनी दूर क्यों बैठी हो?” मैंने मस्का लगाने की कोशिश की तो गौरी बोलो- आज पढ़ाना नहीं है क्या?अरे पढ़ाई लिखाई तो चलती रहेगी … थोड़ी देर बात करते हैं फिर पढ़ाई भी कर लेना. मैंने उसके सभी कपड़ों को उसके जिस्म से अलग किया और उसने भी मेरे कपड़ों को अलग कर दिया. उसका लंड 7 इंच से ज़्यादा लंबा और मस्त मोटा था, जबकि मेरा 6 इंच से थोड़ा कम है.

वही हुआ भी, विनय बॉस के लिए दारू लेकर आ गया और उसने हम दोनों को चुदाई करते हुए देख लिया. वहीं रिया किसी चॉकलेट की मशीन में एक रुपये के बदले एक चॉकलेट मिलने के बजाए पांच सौ चॉकलेट मिलें, ऐसे विस्मय में थी. सीमा कई बार ग्रुप सेक्स की क्लिपिंग्स डाल देती तो और उससे पूछतीं कब करा रही हो… बात मजाक की मजाक में ही ख़त्म हो जाती.

मैंने उसको पुनः अपने आगोश में खींच लिया और हम फिर से एक दूसरे को प्यार से चूमने लगे.

सामने देखा तो जेठजी शॉर्ट्स और टीशर्ट में अपने बेड पर सर नीचे किए बैठे थे. सुनीता मुझे देसी भाषा में गालियां दे रही थी- सास का गंडमरा … आह छोड़ दे … माँ चुद गी मेरी … मने घरा भी जानो हैं … गांव का शक करेगा कि कठे मरवा के आयी है. अब आगे:पहला पैग खत्म होते ही बहन के ससुर जी बोले- बेटी तुम्हारा भाई हम दोनों को माफ़ कर देगा … लेकिन उसकी एक शर्त है.

रोहन- आह्ह्ह आह्ह आह्ह … सोनिया … जान … आह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह … मैं गया … आ आ. उसने भी मुझे चोदने की बात की क्योंकि हमने मैनेजर को बाप-बेटी का रिश्ता बताया था. अब मैं कभी उसकी जीभ चूसता, कभी उसकी आंखों में देखता, कभी उसकी चूची को दबा देता.

पहले एक महीने तो सुबह सवेरे गुड मॉर्निंग या रात को गुड नाइट जैसे मैसेज ही होते थे. नशे के कारण उसके पैर लड़खड़ा रहे थे। मैंने उसकी कमर को थामते हुए उसे सम्हाला।उसके जिस्म की मादक खुशबू पाकर मेरा मोटा लंड एक झटके में खड़ा हो गया। उसने लोवर और टीशर्ट पहनी हुई थी।मैंने उसे कहा- देखो, आज रात तुम मेरी हो और मैं तुम्हारा! तुम अपने दिल से निकाल दो कि हम दोनों की उम्र क्या है, बस बिना शर्म के मेरा साथ दो.

तभी अभय ने आगे से मेरी चूत में पूरी ताकत के साथ अपना लौड़ा जोर से घुसाना चालू कर दिया. उसके बाद मैंने उसकी गांड को जोर से ठोकना शुरू कर दिया क्योंकि अब मेरा स्खलन नजदीक ही हो चला था. उसके अलावा सभी ने यही समझा कि मैं सील पैक हूं।अब इधर मेरे पीछे विवेक ने मेरी गांड को पकड़ कर कूल्हों को थोड़ा ऊपर उठाया और अभय को बोला- अभय भाई अब इसका मुंह आप अच्छे से बंद कर लो.

पिंकी की चूत में जितनी बार वो गया होगा, उससे ज्यादा तरह तरह के डिलडो गए होंगे.

बस फिर धीरे धीरे मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर जोर जोर से झटके मारने लगा. मैंने दिल में सोच लिया कि इसके बाद आंटी का वो हाल करूंगा कि आगे से ये स्लेव सेक्स का नाम नहीं लेंगी. मयूर ने मेरे दूध दबाते हुए कहा- अन्दर बाहर का खेल रहने भी दो, तो कम से कम इनसे तो खेलने दो ना.

साउंड धीमी करके उसने कहा- अभी सबको मालूम है कि हम क्या करने वाले हैं, मैं उस शर्म को हटाकर साफ़ कह रही हूँ कि आज हम अपने पार्टनर्स बदल कर रात रंगीन करने जा रहे हैं. उसका जवाब सुन कर मैंने कोई ऐतराज नहीं जताया, लेकिन मुझे उसके इस ब्वॉयफ्रेंड से थोड़ी दिक्कत थी.

वह चिल्ला उठी- उईईईई माँ …उसने धीरे से मेरी हथेली पर हाथ मारा और एक बनावटी गुस्सा दिखाते हुए बोली- नॉटी ब्वॉय … मुझे हर्ट क्यों कर रहे हो. मेरा ब्लाउज खुलते ही ब्रा में कसी हुई मेरी चूचियां उसकी आंखों के सामने उछलने लगी थीं. अपना सारा बोझ उन पर डाल भाभी को अपनी बांहों में लेकर बेतहाशा चुम्मों की बौछार लगा दी.

इंडियन देसी सेक्सी पिक्चर

भैया ने जैसे ही देखा कि मैं थोड़ा रिलैक्स हो गया हूं, तो उन्होंने एक और जोर का धक्का मारा और अपना पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया.

पढ़ाई का डर, रैगिंग का डर, अजनबी माहौल … इस सबको समझने में थोड़ा वक्त तो लगता ही है. अपनी प्रेमिका के मुँह से निकली हुई, रानी के मधुर मुखरस से तर की हुई खाने की कोई भी वस्तु ऐसी नशीली हो जाती जैसे उसमें अफीम मिला दी गयी हो. बहुत देर तक भाभी ने राहुल के लंड को चूसा। फिर राहुल और भाभी 69 की पोजीशन में आ गए.

विनय मेरी गांड में जीभ डाल कर दो उंगलियों को मेरी गांड में घुसा रहा था … जिससे मेरी गांड मुलायम हो रही थी और लंड के लिए रेडी हो रही थी. शान ने मुझे इशारा किया और मैंने उसके लंड को अपनी माँ की चुत में सैट कर दिया. मराठी सेक्सी व्हिडीओ देसीसंदीप ने हमें छोड़ कर जाते वक्त कहा- हम फिर मिलेंगे!मुझे ये बात समझ नहीं आई कि उसने ये बात तो हम दोनों से ही कही और सामान्य तरीके से ही कही, पर मेरा दिल इस छोटी सी बात के हजारों मायने क्यों निकालने लगा.

मैं आगे हाथ बढ़ा कर दीदी के मम्मों को भी दबा रहा था और साथ साथ उनके गले पर किस भी करता जा रहा था. मैं भी सिसकारते हुए बोली- तेरा मर्द भी तो ऐसे ही तेरे दूधों को दबा कर मजे लेता होगा न? मगर आज अपनी दीदी के हाथों से मजा ले ले छुटकी.

मुझको बहुत सारे मर्दों ने अपनी गोद में लिया है … लेकिन मयूर की गोद में जो मजा आता था ना … वो मुझे कभी किसी और की गोद में कभी नहीं आया था. सब लोगों के बीच भी मैं कभी उन्हें लाइन मारूंगा, तो कभी फ़्लाइंग किस दूंगा. ”क… क्या मतलब?”दीदी ने मुझे टेबलेट्स लाकर दी हैं?”क… कैसी टेबलेट्स?” मेरा दिल किसी आशंका से धड़कने लगा था।वो बोलती है तुम्हें कमजोरी बहुत है तो रोज यह दवाई और एक टेबलेट लिया करो.

अब आगे:अब मेरे रगड़ने में तेजी आने लगी क्योंकि ये मेरा पहला सेक्सुअल अनुभव था तो मेरा ज्यादा ही उत्तेजित होना लाजमी था। अब मैं अपना हाथ उनके बूब्स की ओर ले जाने लगा. अब आगे:हमारी जानकारी अनुसार परमीत ने भी कभी लंड नहीं देखा था और ना ही किसी से सेक्स किया था, फिर भी शर्त और नशे के कारण वो एक कामुक और पुरानी खिलाड़ी की तरह नजर आ रही थी. उसके जाते ही कुमार जल्दी से उठा और मुझे गले लगा कर मेरे मम्मों को दबाने लगा … मैंने भी उसका साथ दिया.

रात को दो बजे के करीब हम दोनों को फिर से सेक्स चढ़ गया और मैंने उसकी चूत की चुदाई रात में ही चालू कर दी.

” नीलम ने अपने ससुर से कहा।ठीक है बेटी मेरा तुम से वादा है जब तक तुम अपने मुँह से नहीं कहोगी मैं तुम्हारे साथ आगे नहीं बढूँगा मगर जितना हम एक दूसरे के क़रीब आ गये हैं उतने का तो मजा ले सकते हैं. इसके बाद तो हमारा जीवन नये उत्साह उमंग से भर गया और हमने बहुत एंजाय किया.

मेरी पिछली चुदाई की कहानीबहन की चुत चोद कर सेक्स का पहला अनुभवको लेकर आपके द्वारा दिए गए प्यार के लिए बहुत बहुत धन्यवाद. उसकी इस तरह की बातों से मुझे लगा कि हो न हो आज इसके मन में कुछ चल रहा है. मैं खुद पेड़ के सहारे टिक कर बैठ गया और सबा को अपने लंड के ऊपर अपने तरफ मुँह करके बैठा दिया.

आज तुम भी ये जान लो की परमीत पक्की सरदारनी है और सरदारनी किसी चैलेंज से पीछे नहीं हटती. फिर जब मेरी मामी को आखिर में होश आएगा … तो वो मुझे अपने से दूर धकेल देंगी और बोलेंगी कि अभी नहीं रॉकी … कोई भी देख लेगा. मैं पागल हो गयी हूं भाई की तड़प में … शायद उसकी कमी और सेक्स के लिए मेरी तड़प ने मुझे ऐसा सोचने पर मजबूर किया है.

बीएफ नई-नई मैं बॉस के कान में धीरे से बोली- आज तो आपका विनय मेरी गांड मारकर ही मानेगा. दस मिनट किस करने के बाद मैंने अपने हाथों को चादर के अन्दर से ही उसके मम्मों तक ले गया और उसके बड़े बड़े मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

बीपी पिक्चर सेक्सी बीपी

आशीष ने कहा- लेकिन तुम्हारे पिता तो मुंबई में काम करते हैं और तुम्हारा भाई भी घर पर नहीं रहता है. मैंने किसी तरह से उसको वहां से निकाला और बड़ी मुश्किल से उसे अपने घर लेकर पहुंचा. जांघों की मसाज के बाद वो ऊपर की तरफ आया और नीता के कंधों और पीठ की मसाज करने लगा तो मैं बोला- ब्रा में आयल लग जाएगा, ब्रा उतार दूं क्या?इस पर नीता बोली- नहीं, रहने दो, ब्रा नहीं उतारना.

फिर अलग होने के बाद चाचा और मेरे परिवार में खाना अलग ही बनने लगा था. पहले तो मैं उस आंटी से बात करने के लिए अपने आप को लेडी होने का नाटक किया करता था. तमन्ना भाटिया चुतक्या मैं आपके यहाँ नहा सकती हूँ? मुझे अपनी सहेली के यहाँ पार्टी में जाना है।मैंने कहा- हाँ नहा लो।पूजा अन्दर आई और मैंने दरवाजा बन्द किया.

वो पहला अनुभव मुझे आज भी याद है और वो मेरी पहली मुट्ठी मेरे दोस्त ने ही मारी थी.

कुछ देर मेरी पुसी को सक करने के बाद वे मेरी चूचियों पर आ गए और उन्हें खूब मसल डाला।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, वह बहुत बुरी तरह से गीली हो गई थी. कहानी पर अपने विचार देने के लिए नीचे दी गई मेल आई-डी का प्रयोग करें.

भाई ने मेरे बूब्स को अपने हाथों में भर लिया और उनको जोर से पीने लगा. रात को तकरीबन 9 बजे हम सब घर आए और घर के गेट से ही मयूर ने प्रतीक के सामने मुझे अपनी गोद में उठा लिया. मेरी मम्मी मेरी बीवी अंशु और उसके यार उपिन्दर को अपना दामाद कहती थी.

मैंने भी झट से अपना मुँह खोला और भैया का 8 इंच का मोटा लम्बा लंड चूसने लगा.

उसने अपनी शर्ट के बटन खोले और मेरी माँ को पकड़ कर अपने सीने से लगाया और कहा- साली रांड … खाए होंगे तूने लंड … लेकिन एक बार मेरे लौड़े का स्वाद चख कर देख तुझे मजा न आ जाए तो कहना. थोड़ी देर में मेरा निकलने वाला था, मैंने भी चुदाई की स्पीड को बढ़ा दिया और पूरा माल उसकी गांड में ही छोड़ दिया. पहले तो वो मना कर रही थी और बोल रही थी कि मुझे थोड़ा अजीब लग रहा है लेकिन जब मैंने उसको सेक्स की बातें करके गर्म किया तो वो मान गयी.

सेक्सी लड़कियों के चित्रमैंने वो चॉकलेट यशिमा को मुँह दिखाई में दे दी और उसका घूंघट ऊपर किया. तभी जॉली ने अपने हाथ से रिया के हाथ को दबोच लिया और एक सिसकारी भरते हुए उसने अपनी जिप खोल दी.

पोर्न एचडी मूवी

उसने भी मस्ती में कहा- आपका ये दीवाना थोड़ी देर में आपकी खिदमत में हाजिर हो जाएगा जानेमन. मैं इस बारे में बताने के लिए उसको कॉल किया और कहा- मुझे तुम्हारी जरूरत है और बहुत याद भी आ रही है जान. वैसे परमीत और मनु के बारे में ही सुनो तो अच्छा है, क्योंकि मेरे में बताने लायक कुछ खास था भी नहीं.

मेरी चूत से रस के छींटे यहां वहां मेरी जांघों पर और तख्त पर गिरने लगे. चोद दो मुझे जोर से… आह्हह … मेरी जान।मेरा जोश भी पूरा बढ़ता जा रहा था. कुछ देर बाद उनके ससुर ने भी अपना लंड का मूत दीदी की चुत के ऊपर डाल दिया.

उसने मेरी जांघ को पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मुझे अपने ऊपर लिटा लिया. जब तक उसमें गृहस्वामिनी न हो तब तक उस मकान को मकान कहना अनुचित होता है. भाभी ने मुझे बताया कि उनको इतना मजा आ रहा था कि वह तो फिर से राहुल के मुंह में ही झड़ गई लेकिन राहुल झड़ने का नाम नहीं ले रहा था.

झड़ने के बाद ने उसने मुझे मेरे होंठों पर एक जोरदार किस किया और बोली- मज़ा आ गया, आपने आज मुझे जो खुशी दी है, उसके बाद मेरा आपके लिए मेरा प्यार और बढ़ गया है. उसने पापा के सामने बहाना बना दिया कि वो कुछ पढ़ाई के बारे में मुझसे बात करने के लिए आया था.

मैं जल्दी से बेडरूम में गया और वहाँ से निकल के सामने आया और पूछा- कैसी रही मसाज? मज़ा आया?प्रिन्स बोला- मस्त रही … भाभी जी ने बहुत एंजाय किया और अब वो आपको बुला रही हैं.

मैंने उनकी चोटी पकड़ ली और उनके चूतड़ों पर चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना शुरू कर दी. एम आई नोट 4 4 64फिर भी मैं आप लोगों की जानकारी के लिए यहां पर उसके शरीर की बनावट वगैरह के बारे में बता रहा हूं. స్క్స్ తెలుగుमैंने उन दोनों के नंबर ले लिए क्योंकि दिल्ली में रहना था, पति ड्राइवर था. कह कर मधुर हंसने लगी।मुझे कुछ समझ नहीं आया। पता नहीं मधुर क्या बताना चाह रही है।फिर पता है सानिया ने क्या बोला?”क्या?”वह बोली- दीदी … आप मुझे भी अपने पास यही रख लो। मैं रोज घर का सारा काम भी कर दूँगी और रात को आपके पैर भी दबा दिया करुँगी.

उस दिन अमृता को पता चला कि उसकी मौसी के पेट में वो जो बच्चा है वो किसका है.

पर सच कहूं तो संदीप का साथ मुझे अच्छा लग रहा था और ऐसा ही कुछ मैंने संदीप की आंखों में भी देखा. दीदी उल्टी कर रही है, तो वो जल्दी से किचन गई और एक जग पानी लेकर आई. अपनी सेक्स स्टोरी शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में कुछ बता देता हूं.

मेरे घर वाले भी जानने लगे थे कि ये मेरे ऑफिस में काम करता है और इसी लिए मैं उसको बुलाती हूँ. वन्दना जोर जोर से सांस ले रही थी जिससे उसके चुचे ऊपर नीचे हो रहे थे. उनके जांघिए से बड़ा सा काला लंड ढेर सारे बालों के बीच से बाहर निकल आया उनका लंड लगभग एक हाथ का था.

हिंदीपोर्नवीडियो

ऐसे भी परमीत अपने झगड़ालू स्वभाव के कारण चैलेंज वाली चीजों में पीछे नहीं रहती थी, लेकिन आज की शर्त थी कि हारने वाले को एक बार में ही बीयर की बोतल पूरी पी कर खाली करनी होगी और परमीत ने खाना खाने के बाद भी ये शर्त मान ली थी. यह देखकर उनके ससुर भी जोश में आ गए और अपना लंड उनकी चुत में पीछे से डालने की कोशिश करने लगे. महीनों बाद मेरी चूचियों की नोकों पर किसी की नर्म जीभ के स्पर्श का एहसास हुआ था.

जांघों की मसाज के वक्त वो बोला- आपके कपड़ों में आयल लग जाएगा, इनको उतार दूँ क्या?वो कुछ नहीं बोली.

ये कहते हुए मैंने अपना लंड गांड से निकाल कर खूबसूरत गीली चूत में घुसा दिया.

राहुल भाभी के जिस्म को चूमते हुए उनके हाथों में अपने हाथों को फंसाने लगा और दोनों ने ही एक दूसरे के हाथों को थाम लिया. जेठजी- हम्म …मैं- खाना यहीं लेकर आऊं या हॉल में चलेंगे खाने?जेठजी- यहीं लेकर आ जाओ, साथ में खाते हैं. चौधरी के सेक्सी गानेमगर मेरी बीवी का रंग एकदम गोरा था और कूल्हे भी बड़े-बड़े। वक्षों को देख कर किसी के भी मुंह में पानी आ जाये.

उनका एक हाथ मेरे दूध को सहला रहा था और दूसरा हाथ मेरी जाँघों को!धीरे धीरे वो मेरे ऊपर आ गए और उनके सीने से मेरे दोनों दूध दब गए. मैंने पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- मैं हूँ अभिजीत।सुखविन्दर ने कहा- हाँ वहीं है!और मैंने दरवाजा खोला। सामने एक हट्टा कट्टा 45 से 50 साल का आदमी था। मैंने उसे अन्दर आने के लिए कहा और फिर दरवाजा बंद कर दिया।उसके हाथ में एक थैला था जिसमें कुछ खाने पाने का सामान था। उसने मुस्कुराते हुए वो थैला मुझे दिया और मैं उसे लेकर किचन में चली गई. ” इतना बोल कर एक और झटका मारा जिससे पूरा एक साथ घुस गया और बच्चेदानी से टकरा गया।मेरी सांस रुक गयी। मुझे चक्कर आ गया। आंखों से आंसू नहीं रुक रहे थे … मैं रो रही थी चिल्ला रही थी।कहाँ फंसा दिया छाया कुतिया कमीनी!” मैं रो भी नहीं पा रही थी.

चाची जब आईं, तो मैं नंगा लेटा हुआ था और जानबूझ कर आह … आह … चिल्ला रहा था, ताकि चाची को लगे कि मुझे सच्ची में दर्द हो रहा है. मैंने फिर उससे हाँ करके अपने प्यार का इज़हार कर दिया- तुम मुझे अच्छे लगते हो.

दोस्तो, यह मनमोहक और शानदार चुदाई की कहानी मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूं.

एक बार फिर से भाभी ने लंड की तरफ देखा, मगर अब लंड की माँ चुद चुकी थी और वो टुन्नू सा बन कर अंडरवियर में पूरा बैठ गया था. इस खुले एरिया में हम दोनों बेशर्मों की तरह एक दूसरे के होंठों को चूस रहे थे. मैं- आंटी आपको ये सब सामान कहां से मिला?हिना- ऑनलाइन से मंगवाया है … मैं किसी न किसी दिन इन सबको इस्तेमाल करने का मौका ढूंढ रही थी.

ऐप ऐप सेक्सी वीडियो मैं समझ गयी कि अब जेठजी का भी काम तमाम होने वाला है, जैसे जैसे जेठजी का टाइम नज़दीक आ रहा था, वैसे वैसे ही उनके धक्कों की स्पीड भी बढ़ती जा रही थी. मैंने कहा- दर्द हो रहा है क्या जानू?तो उन्होंने कहा- मेरी जान … तेरे लिए तो मैं सब सहन कर सकती हूँ, तू धीरे धीरे कर.

मैं बोला- यार, मैंने भी कई भाभियों के साथ सेक्स किया है, लेकिन उन सबमें से तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया. पर प्लेट उठाते समय वो मुझसे बोली- अंकल, माय मॉम इज ए ग्रेट किसर … बी अवेयर. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं उसकी आंखों में आंखें डालकर सेक्स कर रही थी.

गांड मारने वाला वीडियो

मैंने उसको वैसे ही मुट्ठी में भींच लिया और वापस से भाभी के कपड़ों के अंदर डालने के लिए गया. वो भी समझ गयी कि आज वो छूटने वाली नहीं है, तो उसने भी मुझे चूमना शुरू कर दिया. मैंने झट से उषा की पेंटी और ब्रा उतार दिया और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

उसने पूछा- तुम मुझे सारा सच बताओ, तुम्हारे कितने लोगों के साथ सेक्स संबंध रहे हैं. मैं धीरे से उनकी चुत को चाटने लगा, तो उन्हें इससे बहुत मजा आने लगा.

उसकी इस बात को सुनते ही मुझे कुछ देर पहले के उनके इशारों का अर्थ समझ आने लगा.

अब मेरा एक हाथ उसके एक दूध पर था दूसरा हाथ उसकी साफ चूत को सहला रहा था. इसके बाद मैंने धीरे धीरे से अपना लंड पूरा झड़ जाने के बाद हल्के से उनके बालों को छोड़ा. इस बार वो आई और मेरे पर जंगली बिल्ली की तरह झपट पड़ी और जोर जोर से मुझे चूमने लगी.

मैं जब उन्हें देखता था, तो सोचता था कि यार ये आइटम अगर मिल जाए, तो मजा आ जाएगा. सुबह जल्दी उठ कर मुझे याद आया कि मैंने भाई से भी सुबह चुदाई करवाने का वादा किया था. चूंकि हम वहां खड़े रह कर बातें नहीं कर सकते थे, इसलिए मैंने उसे ऑटो में बिठाया और मैं उसे नजदीक के ही अपने पसंदीदा रेस्टोरेंट में ले गई.

दीपा ने पूरे मन से मनोज का लंड चूसना शुरू किया और वो मनोज को जल्दी ही इस स्थिति में ले आई कि मनोज चीखने लगा- मेरा निकलने वाला है.

बीएफ नई-नई: उसके बाद मैंने अपने आंसर शीट नेहा को दे दी और उसकी शीट लेकर बैठ गया. वो बोले जा रही थी- ये सब गलत है … ये पाप है, किसी को पता लगा … तो बदनामी हो जाएगी.

उसने मेरे बगल में बैठते हुए मुझसे मेरे बारे में पूछा- तुम तो अभी बड़ी कम उम्र के लगते हो, इस सब काम में कैसे आ गए?मैं बोला- पढ़ाई के खर्चे के लिए कर लेता हूँ, साथ में कुछ जायका भी बदलता रहता है. मैंने प्रिन्स को इशारा किया कि वो अपनी फिंगर्स के हुनर से नीता को उत्तेजित करे. मैंने माँ की तरफ देखा, तो उन्होंने मुझसे कहा- खड़ी खड़ी क्या देख रही है साली कुतिया … चल अपने कपड़े उतार और इसके लंड को चूस … आज मैं इसकी माँ चोदती हूँ.

अब वो बार बार लौड़े को छू रही थी मानो उसको अपने में समा लेना चाहती हो.

मेरे पास में गाड़ी है, लेकिन उसका एक्सीडेंट होने की वजह से वो रिपेयर के लिए गैरिज में खड़ी है. कुछ देर मस्ती करने के बाद फिर सोचा कि कुछ नया किया जाए इसलिए मैंने सुझाव दिया कि इन दोनों औरतों को थोड़ा दूर रेत में पूर्णतया नग्न अवस्था में ऐसी जगह लिटा दिया जाए जहां समुद्र की लहरें इन दोनों के ऊपर आएं और स्वयं ही फिर बह कर उतर जाएं. ऐसा देख कर मैं एक ही बात सोच रहा था कि इस लड़की के नाम से कितने दिन मैंने लंड हिला कर अपना पानी निकाला है आज उसी को चोद रहा हूँ।करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद पूजा बुरी तरह से मुझसे लिपट गई और झड़ गई।मगर मैं अभी भी तेज़ रफ्तार से चुदाई किये जा रहा था।अब उसकी सिसकारी तेज़ आवाज में बदल गई थी- बस अंकल, रहने दो … नहीं ना! बस करो न!ऐसा ही कहते जा रही थी.