मौसी वाली सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,sex शायरी

तस्वीर का शीर्षक ,

सोनाली सेक्स वीडियो: मौसी वाली सेक्सी बीएफ, अब सबसे पहले मैं उसके ऊपर झुका और उसके हाथों को थामकर चेहरे से अलग करते हुए बगल में किए.

सेक्स करता हुआ दिखाएं

जौहरा मेरे चौड़े सीने पर हाथ फेरने लगी और मैं उसकी आंखों में आंखें डाल कर उसे आगे बढ़ने का इशारा करने लगा. एलआईसी ऐपअगर ये ऑर्डर मिल गया, तो डॉलर में पैसा आएगा … और अमेरिका, लंदन तक हमारा बिजनेस फैलेगा.

मैंने उसको कहानियां पढ़ने के लिए इसलिए दी थीं ताकि वो और ज्यादा खुल जाये. फेशियल कैसे करते हैंसुबह मैं नाश्ता करने के बाद कोचिंग चला गया और वापिस आकर लोअर और टीशर्ट पहन कर नीचे चला गया.

मैं क्या करूं? मैं उसे चोदूं या नहीं?साथियो, मैं आपको अपनी सेक्स कहानी के पिछले भागमेरी गर्लफ्रेंड को चुदाई की आदत लग गयीमें प्यार के बाद सेक्स और उसमें होने वाली विसंगतियों को लेकर बता रहा था.मौसी वाली सेक्सी बीएफ: मैं भी तब तक उसे चोदता रहा … तब तक उसके भोसड़े का पानी नहीं निकल गया.

हॉट वाइफ पोर्न कहानी मेरी सगी बीवी की चूत में मेरे दोस्त के लम्बे मोटे लंड घुसने की है.उसको मना करने के बाद मैंने खुद भी उसको कोई अपना काम नहीं बताया।मैंने खुद भी उससे दूरियां बना लीं।इन बातों को सिर्फ 10 दिन ही बीते होंगे और उससे मुझको देखे बिना नहीं रह गया।वह मुझसे मिलने के लिए घर पर आ गया।मेरे हस्बैंड जॉब पर गए हुए थे।मैंने उसे देखते ही कहा- तुम यहां क्या कर रहे हो?वो बोला- आपको देखने मिलने ही आया हूं.

इंसान और जानवर की सेक्स वीडियो - मौसी वाली सेक्सी बीएफ

तो मैंने उन्हें बताया कि मेरी सहेली पहले कभी झारखंड नहीं आई थी इसलिए वो चाहती है कि मैं उसे कुछ दिन अपने यहां रखूं.उस दिन शाम को उसने ये निश्चित कर दिया कि वो कल जा रही है अपनी मां के साथ.

वो बहुत सुखद अहसास होता है लड़की के लिए।तब मैंने प्रिया को बोला- जानू, आज की यह पहली चुदाई तुम जिन्दगी में कभी भी नहीं भूल पाओगी।उस दिन प्रिया की मैंने दो बार चुदाई की।फिर मैंने उसे एक पेनकिलर और निरोध की दवा लाकर दी।जब मैं दूसरे दिन क्लास में पहुंचा तो Xxx स्टूडेंट प्रिया मेरी तरफ देख कर मुस्करा रही थी. मौसी वाली सेक्सी बीएफ आह्ह … चोद दूंगा तुझे … फाड़ दूंगा ये छेद।इसी तरह 15 मिनट तक चोदने के बाद भाभी झड़ गयी.

ताई भी मेरे सर को अपने दूध पर दबाते हुए कहने लगीं- आह चूस ले मेरे मम्मे … ठंडी कर दे मेरी आग.

मौसी वाली सेक्सी बीएफ?

अभी तो वो जवानी की दहलीज पर पहुंची ही है और सुरेश एक खेला-खाया मर्द है. चूत का छेद भी अपने आप खुल रहा था, भीतर के गुलाबी रंग का इलाका मैं अपनी आंखों से साफ़ देख पा रहा था. उसने सीधे मेरी पैंट में हाथ डाल दिया और मेरे लौड़े को पकड़ कर हिलाना शुरू कर दिया.

जिस तरह मदहोश सी होकर वो बेस्ब्रों की तरह मेरे होंठों को चूस रही थी. जब तक रोटी नजर ना आए … तो भूखे को भूख लगी होने पर भी इंतजार करना पड़ता है. इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मैं अपने दोस्त उस्मान की बीवी अफसाना को चोदने गया था.

चूंकि आँटी थोड़ी भरे हुए शरीर की थी इसलिए उनके शरीर का हर हिस्सा कोमल और गुदाज था. हमारी गर्मी बढ़ने लगी तो मैंने आंटी के मम्मों के ऊपर हाथ फिराना शुरू कर दिया और एक दूध दबाने लगा. ”ये सुनकर रचना के चेहरे पर मुस्कान आ गयी- तो बेबी तुम्हारी आज मीटिंग नहीं है?जानू, जरूरी मीटिंग है ना … मेरे लंड की तुम्हारी चूत के साथ मीटिंग है.

शायरा भी अपने‌ घर का दरवाजा खुला पाकर हैरान थी, इसलिए वो किसी अनिष्ट की आशंका‌ के चलते धीरे धीरे और इधर उधर ही देखते हुए आगे बढ़ रही थी. मैं पीहू के पीछे खड़ा होकर हुक लगाने लगा तो मेरा खड़ा लंड उसकी गांड में टच होने लगा था.

राहुल बोला- क्या हुआ, हंस क्यों रही हो?तभी मीनू ने राहुल को बताया कि ये फार्म हाउस कान्हा ने खरीद लिया है.

मैंने कहा- हां मुझे पता है कि औरतें बैठकर मूतती हैं, लेकिन मुझे तुम्हें खड़े होकर मूतते हुए देखना है.

अब वो जब भी कपड़े सुखाने छत पर आती, तब मैं खाली पीली फ़ोन में ऐसे बात करता … जैसे उसको लगता कि मैं कोई ज्योतिषी हूँ. उसकी टांगें कांपने लगीं तो मैंने उसकी कमर में हाथ डालकर उसे सहारा दिया. रोहण को हमारे बारे में पता था और सोनी ने रोहण से बात करके मेरे आने के बारे में बता दिया था.

मैं भी भाभी के बूब्स और निप्पल्स से खेल रहा था, उनके निप्पल्स भी कड़क होने लगे थे. मुझे देर हो रही थी इसलिए मैं मरे मन से वापस लौट आया और कपड़े पहन कर घर चला गया. उसके बाद भी जब मन नहीं भरा तो मैंने उसको एक बार बाथरूम में भी चोदा.

सोनी इतनी बदहवास हो चुकी थी कि उसे पता ही नहीं था कि वो दोनों क्या कर रहे हैं?जैसे ही सोनी ने अंडरवियर का इलास्टिक लण्ड के ऊपर से उतारा तो सोनी की आंखों की पुतलियां फ़ैल गयीं.

भाभी ने बताया कि आप लोग केवल कुछ ही दिनों में यहां से चले जाएंगे, तो हमने आप से अपनी चुदास मिटाने का सोचा है. सुबह फिर से मुझे गांव आना था लेकिन आज आने का मन नहीं कर रहा था क्योंकि दिव्या का इवेंट कल ही ख़त्म हो गया था. वो बोलीं- चलो अब कैसे लोगे?मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और उनकी बड़ी सी चौड़ी गांड मेरे सामने आ गई थी.

उसे भी सोनी ने ये कह कर मना कर दिया कि घर में वो सबसे छोटा है, उसकी बात कोई नहीं सुनेगा. Xxx हिन्दी फॅमिली सेक्स कहानी एक जवान लड़के और उसकी सौतेली मॉम की आपस में चुदाई की है. मैंने मुँह खोला तो उसने चबाया हुआ निवाला मेरे मुँह में डाल दिया और मुझे किस करने लगी.

अंकल नीचे से जबरदस्त शॉट मार रहे थे और मेरी गांड का बाजा बजाए जा रहे थे.

मुझे उसकी चूत और चूत से निकलती पेशाब की धार दिख रही थी क्योंकि वो मेरी तरफ मुँह करके नीचे बैठी थी. मैं तुम्हारा साथ पूरी जिंदगी के लिए चाहती हूं मैं तुमसे सच्चा प्यार करती हूं.

मौसी वाली सेक्सी बीएफ वो मुझे अन्दर ले गईं और गेस्टरूम में बैठा कर कपड़े चेंज करने के लिए कह कर अन्दर चली गईं. मैं हंसी- तो उसमें क्या है, जब तुम किसी दूसरी चुत में अपना लंड डाल सकते हो, तो उसे भी पूरा हक़ है अपनी चुत को जैसे चाहे इस्तेमाल करे.

मौसी वाली सेक्सी बीएफ पता नहीं मैं इतनी ज्यादा चुदासी कैसे हो चुकी थी क्योंकि मैंने आज तक इतनी ज्यादा खुजली अपने अन्दर कभी भी महसूस नहीं की थी. वो एक ब्लैक कलर की फ्रॉक जैसी नाईटी में आई थीं; इसमें आंटी का गोरा शरीर क़यामत लग रहा था.

मैं मन ही मन मुस्कुराते हुए दुआ करने लगा कि आज चाची जी की चुत चोदने मिल जाए.

కన్నడ సెక్స్

अब दोनों पसीने से लथपथ होकर बिस्तर पर लेट गए।20 मिनट बाद फिर से आंटी अपने हाथ मेरे बदन पर चलाने लगी. और दूसरे ही पल आनन्द के अहसास में मैंने उसके होंठों को जज्ब कर लिया. तभी भैया ने फिर से झटका मारा और लॉलीपॉप का आगे वाला हिस्सा मेरे मुँह में चला गया.

मैंने प्रियंका की गांड में जैसे ही लंड डाला … वो मजे से कराह उठी- आह जीजू … बहुत अच्छा लग रहा है. मैंने उसे अपनी बांहों में भर चूम लिया और वापस नीचे को लेकर गया जहां मामा मामीजी हाल में बैठे अब भी बातें कर रहे थे. शायद वो योनिरस था।कब मेरे होंठ उसके योनिद्वार से चिपक गए पता ही नहीं चला.

वो दर्द से कराहती रही और मैं धीरे धीरे आंटी की गांड में लंड को धकेलता चला गया.

उस कपल में जो भैया थे … वो मार्केटिंग की जॉब में थे ओर कंपनी के काम से दूसरे सिटी जाते रहते थे. तुम हो गयी हो पहलवान!ज़ारा- क्या बात कर रहे हो? मेरा फिगर देखो कितना सेक्सी है!मैं- तुम सिर्फ बदन से लड़की हो वैसे तो पूरी गुंडी हो गयी हो!वो खिलखिलाकर मुझसे लिपट गयी काफी देर तक हम लेटे हुये बातें करते रहे. मैंने सोचा मौका है, पर जैसे वो मुझे घूर कर देखती थीं, उससे मेरी उनसे कुछ बात करने की हिम्मत ही नहीं हुई.

Xxx भाबी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक जवान भाभी अपने पति से रुष्ट रहती थी. मुझे आज आपकी सहनशीलता और बात करने का तरीका बहुत अच्छा लगा, इसलिए आई हूँ, सही बात तो यह है कि मैं पहले ही दिन से आपसे बहुत इम्प्रेस हूँ. सोनी एकदम से उछली और सुरेश के लंड का गुलाबी टोपा मेरी बेटी की चूत में फिर से गायब हो गया.

मैं भी डॉक्टर के यहां से बीमा प्रीमियम का चेक लाने जाने के लिए तैयार होने लगी. मैंने सोचा कि अगर इसने ये बात मौहल्ले में फैला दी तो भाभी की बदनामी होगी.

अदिति अपने दोनों हाथों से मेरी गांड को सहलाने लगी और साथ में अपनी उंगलियां मेरी गांड के छेद पर फिराने लगी. मेरी सगी मम्मी का देहांत अठारह साल पहले किसी बीमारी की वजह से हो गया था. यदि चाची को बैठ कर उठते टाइम देखा जाए, तो उनकी गांड की दरार कपड़ा फंस जाता है जो चाची खींच कर निकालती हैं.

पर न कोई दूसरी लौंडिया दिलवाई और न अपनी दी।मैं अभी झड़ा नहीं था पर मैंने अपना लंड निकाल लिया.

अब विपिन ने जोर जोर से मुझे आगे पीछे धक्के मारते हुए चोदना शुरू कर दिया और मेरी जोर जोर की ‘आहह … आहह … मर गई आई … मम्मी रे आई … धीरे आहह … स्सी …’ की चीखें निकलने लगी थीं. नीचे से उसको चूत में लंड का मजा भी मिल रहा था और आगे मेरे हाथ उसकी चूचियों का दूध निचोड़ने में लगे हुए थे. फिर मैं बाथरूम के अन्दर चला गया, वहां से बाहर देखने के लिए मैंने दरवाजे को थोड़ा खुला रखा.

भाभी ने मुझे देखकर स्माइल की और पूछा- गैस वाले को कॉल करके गैस मंगा लो. उन्होंने अपने दूध दिखाते हुए कहा- चल अब मेरे पैरों की भी मालिश कर दे.

मैं अब अपनी आगे की पढ़ाई का सोच रहा था और फिलहाल घर में ही रह रहा था. मैं बोला- तो आंटी, खाली समय में क्या करती हो आप, टाइम कैसे पास होता है आपका?वो बोली- बस ऐसे ही बोर हो जाती हूं. इससे पहले मैं कुछ बोलता, उन्होंने मुझे गले से लगा लिया और मेरे माथे को चूमा.

जोकर का फोटो

मेरा लण्ड आँटी की चूत के क्लीटोरियस पर अड़ा था जिससे आँटी की उत्तेजना बढ़ गई थी.

दोस्तो … इनके बीच ये नॉर्मल बात है, ये एक दूसरे को पूरा नंगा (न्यूड) देख चुके हैं. विक्रम पीठ के बल नीचे लेट गया, तो मेरे इशारे पर संजू विक्रम के लंड पर बैठ गई और अपनी चूत में लंड लेकर अपनी गांड को आगे पीछे करने लगी. सुरेश अब हिल नहीं रहा था उसने सोनी के होंठ प्यार से तीन चार बार चूमे और उसके गाल थपथपाये.

मैंने धीरे-धीरे उसका सारा योनि रस चाट लिया। जैसे ही मेरी जीभ योनिछिद्र के अन्दर जाती तो उसके नितंब स्वत ही उठ जाते थे।मैंने देखा कि योनिद्वार के नीचे एक छोटा सा छिद्र जो इस क्रिया में हल्का सा खुल जाता था. शायरा अब भी वहीं खड़ी रही और चुपके चुपके मुझे देखती रही … पर मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया और चुपचाप घर से बाहर आ गया. त्रिपाठी सेक्सीपिछले काफी समय से पाठकों को कुछ नया देने का प्रयास कर रहा था किंतु निजी व्यस्तता के कारण कुछ भी लिखना संभव नहीं हो पा रहा था।मेरी पिछली कहानी थी:वो तोहफा प्यारा साअब कोरोना और लॉकडाउन ने इतना समय दे दिया कि मैं अपने पाठकों के लिए कुछ नया और रोमांचक प्रस्तुत कर सकूं.

मैं- ये क्या है आंटी … मुझे यहां लाकर खुद अंकल से चिपक गईं?कशिश- मैं और भाभी हैं न तेरे लौड़े के लिए सन्नी. फिर वो उठ गई।मौनी बोली- जाओ अब … कही मेरी माँ न उठ जाए!वो अपनी छत पर चली गई।मैं भी उठा और लंड को अंडरवियर में डाला और जो माल छत पर गिरा था उसे पैर से रगड़ दिया और फिर अपने कमरे में आकर सो गया।फिर हम रोज तो नहीं लेकिन दूसरे या तीसरे दिन छत पर मिलने लगे.

उसके बाद मैंने कपड़े उतारे और केवल अंडर वियर पहने मैं बिस्तर पर जाने लगा तो शेखर जी मेरे चूतड़ों पर हाथ मार कर बोले- आप तो उन दोनों लौंडों सुनील और भूरा को भी मात करते हो. पर संजू फिर अपनी गांड को अपने हाथ में दबाए हुए उठी और अपनी गांड के छेद को वीर्य वाले ग्लास में सटा कर जोर लगाकर सारे वीर्य को गिराने लगी. दो मिनट बाद ही संजू की नकली सी रोने की आवाज आई- नहीं विक्रम अब नहीं, नहीं ना बाबा … अब छोड़ो ना.

मेरे ज़ोरदार झटकों से गुलजान मचल रही थी और उधर गुलजान हेलीमा की ज़ोर से चूत चाट रही थी. भाभी की दर्द भरी आवाज़ निकली- आअहहा अहहा मर गई … बहुत बड़ा है तुम्हारा. चाची ने मुझे गांड मारने का इशारा दिया, तो मैंने चाची जी की टाइट गांड में सुपारा फंसा दिया.

नेहा- ऐसे क्या देख रही है?स्नेहा नेहा की चूची की तरफ देखते हुए- इस गरीब के पेट का भी कुछ ख्याल कर लो या नाश्ते के लिए आपसे शादी करना पड़ेगी मुझे … जीजू की तरह?नेहा ने हंसते हुए- नौटंकी, थोड़ी देर रुक जा.

मेरे लोअर में लण्ड का उभार अभी भी बना हुआ था और लोवर पर चूत और लण्ड के प्रीकम के गीले निशान बने हुए थे. अब भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में सैट किया और मेरे लंड पर बैठ गईं.

फिर मैंने तीसरी बार फोन करने के लिए नहीं सोचा और अपने काम में लग गया. थोड़ी देर में नीता आ गयी और बोली- यहां क्यों बैठे हो हर्षद? चलो बेड पर आराम से बैठते हैं. कद काठी में पूरे लंबे, पूरे हट्टे कट्टे, गोरा रंग लिये।पहले ट्यूशन करते थे और फिर नौकरी लगने पर यहां आ गये थे.

अब वो मदरजात मेरे सामने नंगे थे; उनका मूसल लंड मेरे सामने लटक रहा था. मैं- सुनो!ज़ारा- हुम्म!मैं- नीचे चलें?ज़ारा- क्या जान? अभी तो बारिश का लुत्फ लेना है!मैं- बहुत ले लिया मजा! अब चलो मुझे नहाना है!ज़ारा- अरे हां! नहाना है! चलो-चलो जल्दी चलो!मुझे पता था कि अभी एक और जंग होनी बाकी थी!नहाने की जंग!इसकी तैयारी मैंने पहले ही कर ली!हम अपने कपड़े उठाकर नीचे आ गये. कुछ देर की चुसाई के बाद प्रियंका ने थोड़ी चॉकलेट अपने चूचों में गिरा दी और अनामिका के ऊपर पलट कर बैठ गई.

मौसी वाली सेक्सी बीएफ खैर … नए पुराने का फर्क हमें तो नहीं पता था क्योंकि ऐसी चीज मैं अपने जीवन में दूसरी बार देख रही थी. मैंने क्या किया?नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त विक्की शर्मा इंदौरी एक बार फिर से आप लोगों के बीच में हाजिर हूं.

ब्लू पिक्चर चलने वाली वीडियो

मॉम हॉट फ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि हम पापा के दोस्त के घर गए तो वहां सबने मिल कर कैसे फैमिली सेक्स का मजा लिया. सफ़र सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं ट्रेन से जाते समय मुझे सीट नहीं मिली. उसका हर अंग पहले से ज्यादा मादक और मांसल हो गया था।समय ने उसके जिस्म में और भी अधिक सौंदर्य भर दिया था। उसने अपनी 3 साल की बेटी को दूसरे कमरे में टी.

मैं उसको चोद कर लंडसुख दे चुका था लेकिन 7 साल से प्यासी चूत इतने में कहां मानने वाली थी. अगर यह तीनों मुझे इसके बाद बोलते कि भरे पूरे रास्ते के सामने बीच चौराहे पर अगर यह मेरी चूत चुदायी करने वाले हैं, तब भी मैं इन तीनों को मना नहीं करती. चोदा चोदी का वीडियो चोदा चोदी का वीडियोउनमें एक लेडी पियोन भी थी जो पेपर्स आदि इधर उधर देने का काम करती थी और केवल मेरा चाय आदि बनाने और पानी पिलाने का काम करती थी.

बल्कि लड़कियों की गांड मारना और उनके दूध मसलना ज्यादा पसंद हैं बजाए उनकी चूत चुदाई के.

मैं फिर धीरे धीरे अपने लंड को उसकी चूत की गहराई में ले जाने का प्रयास करने लगा. उस समय तो वो जैसे तैसे काम चला लेती थीं, पर इस बार कुछ ज्यादा समय हो गया है.

मैंने सोनल से उसके फ्रेण्ड्स के बारे में पूछना शुरू किया तो बताने लगी. मकान मालकिन- फिर किसी से झगड़ा हुआ है क्या?मैं- नहीं, ऐसी तो कोई बात नहीं है. सेक्सी लंड से चुदाई कहानी में पढ़ें कि पड़ोस में आये परिवार का एक जवान लड़का मुझे पसंद करने लगा.

ममता के ऊपर लेटकर मैंने एक बार फिर से अपना सिर उनकी जांघों के बीच घुसा दिया और उनकी चुत को‌ चाटने लगा.

उसने मेरी निगाहों को पकड़ लिया और अपने कपड़े ठीक करते हुए मुझे टोका- आपकी निगाहें कहां हैं?मैं बुरी तरह झेंप गया और वहां से उठ कर चल दिया. कभी क्लिट छोड़ कर मैं उसकी चूत के छेद में अपनी जीभ अन्दर घुसेड़ देता और अन्दर तक लगी चॉकलेट को चूस लेता. उन्होंने मेरे सामने अपने कुक भूरा और एक दूसरे युवक सुनील की गांड मारी.

भाभी को किचन में चोदाफर्क सिर्फ इतना है कि गुलाब मधुमक्खी को शहद देता है और चूत, लंड से सफेद शहद यानि वीर्य लेती है. ”ममता ने गहरी सांस लेते हुए कहा‌ और मेरे एक गाल को जोरों से चूम लिया.

मॉम की चुदाई

फिर मैं उसको अलविदा कहने लगा तो उसने एक बार मुझे गले से लगाकर थैंक्स कहा. तभी आंटी ने मेरे तने हुए लौड़े पर हाथ रखा और बोली- क्या बात है, कुछ ज्यादा ही गर्म हो रहे हो राज!मैं बोला- हां आंटी, बस आपकी गर्मी से इस गर्मी की काट ढूंढ रहा हूं. चलो अभी तो अपने कपड़े उतारो, मैं तुम्हारी चुत का पूरा इंतज़ाम करके ही आई हूँ.

उसी दिन मैंने रात को राकेश को बांहों में भर लिया और कहा कि आप टेंशन मत लो. मैंने पूछा- मगर क्या!तब उसने मुझे अपनी बांहों में भींचते हुए बोला- इस तरह से. मैंने कहा- क्या बहाना करके निकलेंगे?विपिन बोला- देखो, मैं कुछ महमानों को स्टेशन छोड़ने जा रहा हूँ, आप भी बाजार का बहाना करके साथ चली चलो.

मेरे लंड ने भी पानी छोड़ दिया और मैंने अपना माल दोनों बहनों की रसीली चुचियों पर निकाल दिया. फिर मैंने भाभी को ये बात बताई तो उसने अपनी दोस्त पूजा को अपने घर बुलाया. सरिता कहने लगी- वो तो ठीक है, लेकिन जल्दी ही कोई दूसरा जुगाड़ कर देना.

मैं काफी देर तक सुधा की चूत को चाटता रहा था, जिससे कि वो बहुत ज्यादा गर्म हो गई थी. अब वो मदरजात मेरे सामने नंगे थे; उनका मूसल लंड मेरे सामने लटक रहा था.

मैं उसकी चूत में लंड को पेलने ही वाला था कि उसने मुझे रोक दिया- रुको साहब!तो मैं बोला- क्या हुआ?मैं सोच रहा था कि शायद वो कहेगी कि कॉन्डम लगा लो.

बोला- सर! आप लौंडिया चोदते नहीं, आप तैयार हो तो दिलवाऊं? किसी को मालूम नहीं पड़ेगा. भाभी की छूटकाफी देर तक चुदने के बाद आपा झड़ गई मगर मैं अभी भी आपा को चोद रहा था. सेक्सी ब्लू दिखा दोवो इस दौरान सनसनी से पागल हो गई थी तथा उसने अपनी एक टांग हवा में उठाने की कोशिश भी की थी. अब मेरा पूरा लंड अदिति की चूत में घुसकर उसके गर्भाशय के मुँह पर दस्तक देने लगा.

हॉट आंटी बस सेक्स स्टोरी में मैंने अपनी मकान मालकिन आंटी की चूत मारी चलती बस में! आंटी को जयपुर जाना था, मैं उनके साथ गया था डीलक्स बस में!नमस्कार दोस्तो, मैं पड़ोसन चुदाई कहानी में आपके लिए मजा लेकर आया हूं.

अगले ही दिन मैंने उसे फोन लगाया और उसे अपना फैसला बता दिया।इसके एक घंटे बाद ही उसने फ्लैट की चाबी मेरे पास भेजवा दी।मैंने अपना सामान पैक किया और उसी दिन फ्लैट में शिफ्ट हो गई।जैसे ही मैंने फ्लैट का दरवाजा खोला तो देख कर मुझे मेरी आँखों को सामने के नजारे पर भरोसा नहीं हुआ. मुझे पता था कि शायरा पीछे खिड़की पर ही खड़ी है और हमारी बातें सुन भी रही है. सभी पहले से ही बुक हो चुके थे, कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या किया जाए.

मैं उसकी काली चूत चाटना नहीं चाहता था और शायद वह और इंतज़ार भी नहीं करना चाहती थी. मैंने महसूस किया कि उसकी चूत काफी टाइट थी, इसलिए मैंने उस जवान लड़की की चुदाई को कुछ आराम से करने की सोची. थकान की वजह से शायद वो सो चुकी थी तो मैंने भी उसे जगाना उचित नहीं समझा और मैं भी दूसरे कमरे में आराम करने लगा.

मियां खलीफा की फोटो दिखाओ

हम दोनों 69 पोजिशन की करीब दस मिनट तक एक दूसरे को चूसते रहे और एक साथ झड़ गए. उन्होंने मुझसे मेरी पढ़ाई के बारे में थोड़ी बहुत बातें की और कहने लगी- ठीक है. शायद शायरा से बात ना करके जैसा हाल मेरा था, वैसा ही हाल उसका भी हो रहा था.

हम तीनों करीब आधा घंटा लूडो खेलते रहे।आधे घंटे बाद शशि बोली- मुझे थोड़ा काम है। मैं घर में सब लोगों के लिए दूध बनाकर आती हूं। तुम दोनों के लिए भी दूध लेकर आऊंगी तब तक तुम खेलते रहो।यह कहकर शशि वहां से उठकर चली गई। शशि के जाते ही मेरे मोबाइल पर व्हाट्सएप के मैसेज की घंटी बजी.

जाते जाते उन्होंने मेरी गांड पर थप्पड़ मारा और बोले- रात को अपनी चूत और गांड चिकनी करने रखना.

मैंने मीना की गांड चुदाई भी की।फिर एक दिन मेरे दोस्त मोहित को मेरे और मीना के बारे में पता चल गया तो उसने मुझसे बातचीत ही बंद कर दी. मगर वो घर में सभी के साथ रहती थीं तो मुझे उनको चोद पाने का मौका नहीं मिल पा रहा था. ग्रोववचेर्स सेक्सी गर्लवो बोली- ये सब क्या है हनी!मैंने कहा- चलो तो यार … तेरे लिए कुछ सरप्राइज है.

मैं अनामिका की चुत के अन्दर पड़ा बर्फ के टुकड़ा को मुँह में भरकर खेलने लगा. ऐसे ही एक हफ्ता गुजर गया। मैंने कई और लोगों से भी बात की मगर कहीं बात नहीं बनी।अब मेरे पास दो ही रास्ते थे- या तो मैं उसकी बात मान जाऊं या नौकरी छोड़ कर अपने घर वापल लौट जाऊं, क्योंकि इतने खर्चे में तो मैं घरवालों की मदद कर ही नहीं सकती थी. एक दिन उसने कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हो?मैं बोला- इसका जवाब मैं आपको बाद में दूंगा.

मेरा लंड सटासट सटासट सटासट ललिता भाभी की चूत के हाइवे पर दौड़ने लगा. कुछ नमस्ते-वमस्ते हुई और हाल-चाल पूछने के बाद आंटी बोलीं- अमित, मेरे फ़ोन में है गूगल पे, तुम उसमें पेमेंट कर दो.

बूब्ज़ मस्त Xx कहानी शुरू करने से पहले मैं थोड़ा अपने बारे में बता दूँ कि मेरी उम्र 23 साल है.

नीचे आकर मैंने देखा कि घर के मेन‌गेट पर अन्दर की तरफ से ताला लगा हुआ था. उधर बाजू में एक बीस कमरों वाला घर भी बना था, जिसमें थोड़ी साफ़ सफाई की जरूरत थी. इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मैं अपने दोस्त उस्मान की बीवी अफसाना को चोदने गया था.

सेक्सी बीपी फिल्म ब्लू अब दूसरी बार नहीं!ज़ारा- अच्छा ये बात है? तो जाओ नहा लो!मैं- हां!ज़ारा- और सुनो रगड़-रगड़ के अच्छे से नहाना अकेले!ये सुनकर में हंसने लगा और बाथरूम में घुस गया. वो बहुत मुश्किल से अपनी टाइट जींस के बटन खोल पाई और वहीं मेरी तरफ पीठ करके मूतने बैठ गई.

बड़ी मुश्किल से रुक रुककर मैंने भाभी की गांड में टोपा घुसाया और उसकी पीठ पर लेटकर उसकी चूचियां दबाने लगा. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद उन्होंने मुझे उठाया और 69 की अवस्था में कर लिया. मैं भी तब तक उसे चोदता रहा … तब तक उसके भोसड़े का पानी नहीं निकल गया.

सेक्सी फोटो गैलरी

ममता की चुत का सारा रस पीने के बाद मैं तो उन्हें छोड़ देना चाहता था मगर वो मुझे वैसे ही अपनी जांघों के बीच दबाए पड़ी रहीं. मैं- अब क्या बताऊं भाभी … किया तो सब कुछ था और हम अलग भी उसी ‘सब कुछ. जैसे ही प्रियंका उसके मुँह से उठी, अनामिका अपने पैर खुले न होने के बावजूद बिस्तर पर उठ कर बैठ गई.

अभी तो वो जवानी की दहलीज पर पहुंची ही है और सुरेश एक खेला-खाया मर्द है. इस पर अनन्या ने कहा- भाबी दिल तो मेरा भी कई बार करता है कि किसी और का लंड ले लिया जाए, मगर बहुत डर लगता है.

वो मुझसे रानी के लिए पूछने लगी कि तुझे रानी में ऐसा क्या पसंद आ गया जो उस पर मर मिटा.

मैंने उनके सिर के साथ अपना सिर लगा दिया और उनके कान को हल्के हल्के से किस करने लगा. मैंने अपने दोनों हाथों से यामिना के दोनों हाथों को छुआ और उन्हें अपने सिर पर दबा लिया. अब वो रोज ही जब मेरे घर के पास से निकलती थीं तो मेरी उनसे हाय हैलो होने लगी थी.

मैं उसकी चूचियों को पी रहा था और जब उसकी तरफ नजर उठाकर देखता तो वो मेरी ही आंखों में देख रही होती थी. मेरी चाची रश्मि ने कोटा में मेरा रहने का इंतजाम करने के लिए अपनी बुआ की लड़की सरिता को फोन पर बोल दिया था. वहीं प्रियंका हम दोनों का खेल देख कर अपनी चूत और चूचों से खेलने लगी.

अदिति अपनी आंखों से साफ़ देख पा रही थी कि लंड कैसे चूत में अन्दर बाहर हो रहा है.

मौसी वाली सेक्सी बीएफ: विक्रम संजू के पीछे आ गया और संजू जो कि घुटने के बल बैठकर मेरा लंड चूसे जा रही थी, उसके पीछे से उसने चूत में अपना विशालकाय लंड घुसेड़ दिया. मैं अपने खड़े लंड के साथ खड़ा था और कशिश दीदी मेरे सामने की तरफ खड़ी थीं.

मैं मुस्कुरा दिया और बोला- मुझे शर्म आती है … मैं ऐसे ही सो जाता हूँ. उसने अपनी चड्डी से मेरे वीर्य को पौंछा और फिर मैं भाभी के नंगे बदन से चिपक गया. रमा ने उसे नसीहत दी- घबराना मत बेटा, हम तो हैं ही न घर में … हाँ और अंकल अगर तुझसे खुश हो गये तो तुझे कल बहुत सारे कपड़े देंगे खरीद कर.

जब उसकी तरफ से मुझे कोई प्रतिरोध नहीं मिला तो मैंने उसकी जांघ पर अपना हाथ रख दिया और सहलाने लगा.

मैंने उसकी बुर में अपनी जीभ को डाला तो वो चिहुंक उठी और लंड को बुर में डालने के लिए मिन्नतें करने लगी- मेरे राजा, जल्दी से मेरी मुनिया में अपना लंड डाल दो … आह्ह्ह मेरे राजा जल्दी से चोद डियर … आप बुर बहुत अच्छा चूसते हो … आह्ह पेल दो मेरे राजा. मैंने किसी तरह बहाना बनाया और कुछ देर के बाद सरस्वती से सारी बात कह-समझा उससे पति की बात करा दी. उसने नीचे से ब्रा भी नहीं पहनी थी और मेरी उत्तेजना एकदम से सातवें आसमान पर पहुंच गयी.