कुंवारी बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो एक्स एक्स बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

उत्तरी कोरिया: कुंवारी बीएफ सेक्स, मैं अपने हाथों को थोड़ा नीचे ले गया और उसके पजामे की डोर को खोल कर, अपने हाथ को सीधा उसकी पैंटी के अन्दर चुत पर लगा दिया.

बीएफ सेक्सी सीरियल

इस सेक्स कहानी में अब तक आपने पढ़ा कि मैं पिंकी की कुंवारी बुर में लंड पेल कर चुदाई का मजा ले चुका था. बीएफ चाहिए हिंदी में वीडियो मेंमैं बुआ की तरफ देखने लगा तो बुआ बोली कि मेरे बदन के दो अंगों को तो उस दिन तूने छुआ भी नहीं था.

साथ ही दोनों सेठ भी कहने लगे कि तेरी शादी में जितना खर्च होगा सब हम उठाने के लिए तैयार हैं. जबरदस्ती वाली सेक्सी बीएफक्या बक रही है?”इशिता कुछ नहीं बोल रही थी, अभी भी उसकी आंखें मेरे मोटे और बड़े चूचों पर ही टिकी थीं.

मगर मैं इस हालत में नहीं थी कि मैं चुदाई करवा सकूं क्योंकि अभी तक मेरी चूत और गांड की सूजन पूरी तरह से नहीं गई थी.कुंवारी बीएफ सेक्स: मुझे भी अब इस सामूहिक चुदाई में भाग लेना था, तो मैंने हनी को भी किसी भी चीज के लिए नहीं रोका.

मैंने भी आंख दबाकर कह दिया- यार मुझे पता नहीं क्यों … अब भी ठंड सी महसूस हो रही है.उनके साथ जब बैठता हूं तो बोलते हैं तू बहुत लकी है यार, तेरी तो इतनी सेक्सी साली है.

साउथ की बीएफ वीडियो - कुंवारी बीएफ सेक्स

अन्तर्वासना पर मेरी यह पहली कहानी है अगर कोई गलती हो तो दिल पर मत लेना.वो समझ गई कि यही वो रणभूमि है, जिधर लंड चूत की कुश्ती होने वाली है.

मैं सोच रहा था कि शायद कोई लड़का होगा क्योंकि आजकल हर जगह पर लड़के ही मिलते हैं. कुंवारी बीएफ सेक्स उसे इस बात का जरा भी बुरा नहीं लगा, वो बोली- इस उम्र में सेक्सी?ये बोल कर वो हंसने लगी.

फिर मैंने धीरे से दूसरी बार धक्का मारा और लगभग पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

कुंवारी बीएफ सेक्स?

मैंने उसकी जांघों पर हाथ फेरते हुए उसकी स्कर्ट उतार दी और उसके चूतड़ों को चूसने और चाटने लगा. मैंने पैग पकड़ उसकी तरफ देखा और होंठों पर ज़ुबान फेरते हुए कहा- सिर्फ पैग से ही ठंड उतारोगे क्या?वो समझ गया कि माल चुदने को मचल रहा है. ये सब इतना अनायास हुआ था कि हम दोनों अपने संतुलन खो बैठे और मैं भाभी को अपनी बांहों में लेते हुए बिस्तर पर गिर पड़ा.

हम दोनों ने एक ही कम्बल लिया था और बाहर बारिश होने के कारण हमें ठंड भी लग रही थी … तो हम दोनों जरा चिपक कर लेटे थे. वैसे मैं थोड़ी उत्साहित तो थी, लेकिन मैं उससे मिलने को ज्यादा बेताब थी. मैंने फिर से हाथ पकड़ा, उसने फिर से झटका … लेकिन वह कहीं जा नहीं रही थी और शर्मा रही थी.

लेकिन जो था, यही था और बहुत चाहते हुए भी वो खुद की कोई मदद नहीं कर सकती थी. मैंने उसके होंठों पर मेरे होंठों को रख दिया और फिर से एक ज़ोर का झटका लगा दिया. उसके मुंह से ये शब्द सुन कर मैं समझ गया था कि उसकी चेतावनी में गम्भीरता थी.

साकेत भैया- कहां जा रही हो?दीदी कुछ भी नहीं बोली, वो दरवाजे की तरफ बढ़ी, तभी साकेत भैया ने दीदी का हाथ पकड़ लिया और बोले- क्या हुआ … प्रिया कहां जा रही हो?दीदी फिर भी कुछ नहीं बोली. इसके अलावा भी बहुत कुछ पता है।मैं कुछ समझ नहीं पा रही थी कि ये कौन है।तभी वो बोला- यार, मैं रोहित हूँ। भूल गयी क्या?मैं सोचने लगी कि कौन रोहित!तभी वो बोला- यार, हम एक ही कॉलेज में पढ़े हैं।तभी मुझे याद आया कि ये तो मेरे कॉलेज में पढ़ता था और मेरा सेक्स पार्टनर था।वो फिर बोलने लगा- न जाने कितनी रात हम लोगों ने साथ गुजारी हैं। इतनी जल्दी भूल गयी?फिर मैं बोली- ओह … तुम रोहित हो!मैंने भी ख़ुशी से पूछा.

पूरा लंड अन्दर करने के बाद मैंने धीरे धीरे उसकी गांड चुदाई करने लगा.

मैं कभी उसके होंठों को अपने मुंह में भर कर चूस कर रहा था तो कभी अपनी जीभ को उसके मुंह के अंदर डाल रहा था.

कामुक स्त्री से सेक्स का सबसे बढ़िया फायदा यही है कि उसे बस गर्म करने की देरी होती है, उसके बाद वो खुल कर रतिक्रिया में साथ देती है!मैं पूजा की पेंटी के अंदर उंगली डाल चूत का द्वार खोजने लगा तभी पूजा अपनी कमर को ऊपर उठा कर चूत में उंगली जाने का रास्ता दिखाने लगी!उंगली के चूत के बाहरी परत पर लगते ही मैंने उसकी चूत को मसलना और रगड़ना शुरू कर दिया. उनकी आवाज़ भी तेज हो गयी थी और वो भी तेज स्वर में चिल्लाने लगी थीं- अअह … उहहह और जोर से … हां लगे रहो. वो मेरी आवाज सुनकर एकदम से खुश हो गई और कहने लगी कि न जाने कितने दिनों बाद तुम्हारी आवाज को सुन पा रही हूँ.

जितना मजा दीपा को दबवाने में आ रहा था, शायद उससे ज्यादा मजा दीपक को दबाने में आ रहा था. मेरा रूम थोड़ा सा अलग है, मुख्य दरवाजे पर किसी की नज़र नहीं पड़ती, तुम आम राहगीरों की तरह आना और चुपचाप मेरे दरवाजे में दाखिल हो जाना. उन्होंने दीदी के हाथ से पानी का जग लेकर थोड़ा सा पिया और वहीं पास पड़ा टेबल पर रख दिया.

मैं उसकी तरफ अपने हाथ फैलाए, तो वह मेरे गले से लग गई और मुझे ‘आई लव यू …’ बोली.

कोई 8-10 धक्कों के साथ मैंने सुनीता की चूत में पानी छोड़ दिया और उसी पर लेट गया. पहली बार गांड चुदाई करने पर मुझे अजीब सी फीलिंग हो रही थी, मगर गजब का मज़ा भी आ रहा था. मैं पाठकों से निवेदन करना चाहूंगा कि कहानी को पढ़ने के उपरान्त आप कहानी के बारे में प्रतिक्रिया अवश्य दें जिससे हमारी गलतियों का पता भी हमें साथ-साथ लगता रहे.

मौके का फायदा उठा कर मैं कभी उसके गालों को चूम लेता, तो कभी उसके भरे हुए गोल, गोरे रंग के मम्मे दबा देता. अगले दिन सुबह जब मधुर स्कूल चली गई तो गौरी नाज-ओ-अंदाज़ से चलती हुई हॉल में आ गई। उसने आँखें मटकाते हुए इशारों में पूछा- चाय या कॉफ़ी?गौरी मैं तुम्हारे लिए लीची और मैंगो फ्रूटी के पाउच और इम्पोर्टेड चॉकलेट लाया था वो तुमने टेस्ट की या नहीं?”किच्च!! तहां रखी हैं?”अरे फ्रिज़ में ही तो रखी हैं. भाई ने मेरे बूब्स को अपने हाथों में भर लिया और उनको जोर से पीने लगा.

वो बोलीं- सच्ची में अभी तक कोरा है रे तू … तो इस मोटे गुलाबी लंड को मैं अपनी चुत के रस से भिगो के सवारी करूंगी … खूब रगडूंगी और फिर चूस चूस कर इसका माल अपने मुँह में ले लूंगी.

मैं कपड़े पहन कर चाची के साथ ही सोफे पर उनकी जांघों से जांघें चिपका कर बैठ गया. मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरी नाभि को किस करने लगा और मुझे गुदगुदी करने लगा.

कुंवारी बीएफ सेक्स पापा पूछने लगे कि तुम दोनों दरवाजा बंद करके क्या कर रहे थे तो भाई ने बहाना बना दिया कि दरवाजा बंद नहीं था बल्कि अटक गया था. वाइन की बोतल को उठा कर उसने सीधे ही अपने मुंह से लगा लिया और एक बार में जितनी वाइन गटक सकती थी गटक गई.

कुंवारी बीएफ सेक्स रानी बिस्तर पर निश्चल पड़ी हुई थी, बाल बिखरे हुए थे और माथा पसीने से लथपथ था. आपको सरेआम अंग प्रदर्शन करती सेक्सी लड़कियां या फिर चूमा-चाटी करते हुए कपल्स दिख जायें तो कोई हैरानी न होगी.

सारिका बोली- बस इसी तरह चोद इसे!यह कहकर वो चली गई और इधर हम अपनी चुदाई में मस्त हो गए.

फार्म हाउस फोटो

जब लंड गांड के छेद पर जाकर टकराने लगा तो मैंने उसकी पीठ को दांतों से काटते और चूमते हुए उसकी गांड में धीरे-धीरे लंड को सरकाना शुरू कर दिया उसकी गांड धीरे धीरे लंड को लेते हुए खुलने लगी. उसको चूमने के बाद मैंने जबान निकल कर पूरी चूत को एक बार में चाट लिया. फिर अमन बोला- यार एक काम कर … वीडियो फिर से लगा दे … जैसे वो लोग करते जाएंगे, वैसे ही हम भी करेंगे.

मैं चढ़ के लेट गयी, मैंने बुर्का पहना था। वैसे भी जब भी बाहर जाती हूँ तब बुर्का होता ही है।बैग को सर के नीचे रख के मैं सोने लगी. कुछ लड़कियों ने रूम में जाकर कपड़े बदल लिए और जिसने अन्दर थोड़े बड़े कपड़े पहन रखे थे, उन्होंने वहीं पर ही अपने ऊपरी कपड़े उतार फेंके. मैं इस निकाह से खुश नहीं थी क्योंकि मुझे खूबसूरत शौहर चाहिए था पर वो नहीं मिला.

मेरे मकान मालिक करीब 38 साल के खूबसूरत और बलिष्ठ मर्द थे और मालकिन 33 साल की बहुत ही सुंदर और सेक्सी भाभी थीं.

शान ने मुझे इशारा किया और मैंने उसके लंड को अपनी माँ की चुत में सैट कर दिया. चाची मेरे लंड को जोर जोर से रगड़ने लगीं और बोलीं- मैं तो कल ही मोहित हो गई थी तेरे इतने मोटे लंड पर, मैंने आज तक इतना मोटा लंड कभी नहीं देखा … अब तक कहां छिपा रखा था इस खजाने को. उधर धीरज ने भी पिंकी से कह दिया- डांस के दौरान या तो पिंकी ही उसके साथ डांस करे, और अगर कोई और होती है और धीरज का हाथ इधर उधर चला जाए तो वो कोई शिकायत नहीं करेगी.

उसमें मैंने खुद को एक कॉल ब्वॉय बताया था और प्यासी चुत के लिए मजबूत लंड उपलब्ध है … ऐसा करके मैंने लिखा था. मेरी मां भी अक्सर मेरी नयी भाभी के यहां चली जाती थी और कभी भाभी हमारे घर पर आ जाती थी. इस पोर्न हिंदी स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि ससुर की योजना के मुताबिक बहू अपने ससुर के साथ अपने पति समीर के आने से पहले ही अपने बेडरूम में नंगी हो गई थी और जब उन दोनों के नंगे जिस्म एक दूसरे से टकराए तो ससुर और बहू दोनों ही गर्म हो गये और नीलम की चूत ने महेश के लंड से टकराते ही अपना पानी फेंक दिया.

और मैंने बाथरूम से सुमन को कॉल किया तो उसने एकदम पूछा- अरे मेघा, मेरे भैया ने तुझे चोद दिया क्या?हाँ यार … बहुत मस्त … अभी भी बाथरूम में नंगी खडी तुझे फोन कर रही हूँ. जब मैं झटका देता तो भाभी की दर्द भरी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल जाती थी.

आज तक मैंने जितनी भी महिलाओं को चोदा है, उन सबका दो बार हो जाता था और मेरा मुश्किल से एक बार हो पाता था. इस पर परमीत ने गुस्सा करने के बजाए उसका ही साथ दिया और पल भर में ही वो अपने काले टॉप से आजाद हो गई. तभी बॉस के दोस्त ने कहा- क्या यार, पार्टी में बुलाया और कुछ गाना नहीं है.

वो बोली- आह्ह … पप्पू, जब से मैंने तेरे लंड को अपने हाथ से छुआ था तब से ही मैं इस पल का इंतजार कर रही थी.

कुछ ही देर बाद पूजा ने अमित के लन्ड को छोड़ मुझे दोनों हाथों से कस लिया. मगर इससे भी ज्यादा खुशी तब हुई जब मैंने उन दोनों के खड़े हुए लौड़ों को देखा. उनको भी शुक्रिया जिन्होंने मेरी पिछली कहानी को पढ़ा और कोई जबाव नहीं किया.

मैं और बेबी रानी फिर एक दूसरे की बांहों में लिपट कर लेट गये और बहुत देर तक प्यार से भरी हुई बातें करते रहे. एक दिन मैंने उससे पूछा- तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड बना है या नहीं?उसने शर्माते हुए कहा- नहीं.

मैंने सारा पानी उसकी चूत में छोड़ दिया और वो मुझे फिर होंठों पर किस करने लगी. मैं उन्हें अपने जिस्म से लिपटा कर प्यार करने लगा, किस करते हुए उनके मदमस्त मम्मों को दबाने लगा. ” और मेरे से लिपट गयी।हाँ शैली अब न कपड़ों पे सिलवटें पड़ने का खतरा है, न लिपस्टिक बिगड़ने का!”मैंने अपनी बहन शैली का लहंगा ऊपर उठाया और उसकी पैंटी उतार दी, फिर चिकनी चूत पे एक भरपूर चुम्बन लिया।क्या दीदी बस एक चुम्मी?”मेरी बहना, नई नई दुल्हन, सुबह तेरी विदाई होगी और उसके बाद रात को तेरी सुहागरात की चुदाई होगी और अभी विदाई से पहले भी एक रस्म होगी.

लड़की लड़कों का सेक्स

जॉली रिया की तरफ पीठ करके किचन में पड़े अंडे को फोड़ कर उसे एक कटोरे में डालने लगा.

क्या ग़ज़ब कोठी थी, दोनों अंदर गये। वहां पर एक नौकरानी पहले से ही मौजूद थी. ” महेश ने इस बार अपना हाथ अपनी बेटी की जाँघ पर उसके कपड़ों के ऊपर से ही रखते हुए कहा।अपने पिता की बात सुनकर ज्योति का सिर शर्म से झुक गया और वह बगैर कुछ बोले चुप होकर बैठी रही।क्या हुआ बेटी? बोलो न … तुमने तो अपने भाई के साथ ही प्रोग्राम सेट कर लिया?” महेश ने ज्योति की जाँघ पर अपने हाथ को फेरते हुए कहा।पिता जी मुझसे गलती हो गई. उन्होंने मेरे लंड की तरफ देखा और एक कातिलाना स्माइल देते हुए अन्दर आ गईं.

मेरी पिछली चुदाई की कहानीबहन की चुत चोद कर सेक्स का पहला अनुभवको लेकर आपके द्वारा दिए गए प्यार के लिए बहुत बहुत धन्यवाद. वे बहुत प्यार से वो मेरी बुर को चाटने लगे।मेरी आँखें अपने आप बंद होती चली गई, मुझे पहली बार स्वर्ग सा आनन्द प्राप्त हो रहा था। मेरे मुँह से अपने आप ‘सी सी’ की आवाज निकलने लगी, मेरी पूरी बुर चिपचिपे पानी से सराबोर हो गई. हिंदी सेक्सी वीडियो ओपन बीएफउसकी सास ने कहा कि हम लोग तो कल ही मेहमानों के लिए सारे उपहार खरीद लायेंगे.

रोहन- ओ जान … तुम्हारी चूचियां इतनी प्यारी इतनी सॉफ्ट इतनी मस्त हैं कि क्या बताऊं. मगर मैं ये भी जानती हूं कि इस दौरान मेरी मां और उनके दोस्तों के बीच में कुछ संबंध शारीरिक भी रहे हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मेरी मां ने हमारे घर को कोठा बना कर रखा हुआ है.

खाने के बाद मोसी ने मेरे सोने की कहते हुए बोला- चल तू मेरे साथ मेरे कमरे में बेड पर ही सो जा. मुझे कुछ याद नहीं है मगर जो भी हुआ उसके लिए मैं तुमसे सॉरी कह रहा हूं. उसके होंठ मेरे होंठों में ऐसे फंसे हुए थे कि मुझे सांस लेना भी भारी हो रहा था.

वो मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगी और एक हाथ में मेरा लंड लेकर मसलने लगी. हालांकि सब पर खुमार चढ़ा था तो सभी बढ़ चढ़ कर कह रही थीं कि ऐसा कुछ नहीं है, सभी आपस में दोस्त हैं. कुछ महीनों बाद जब हमारे खेतों की फसल कटने वाली थी, तो उस समय मैंने भी गांव जाने का तय कर लिया था.

वो गर्मागर्म आहें भरते हुए कहने लगीं- आह अनिकेत प्लीज … मेरी चुत की प्यास बुझा दो.

जिस फ्रेंड के बारे में मैं बात करने जा रहा हूं वो मेरे साथ कोचिंग में पढ़ती थी. मेरी एक सहेली ने एक बार मुझे बताया था कि गांड मरवाने में बहुत दर्द होता है.

मैं बहुत दिन से तुझे चोदने के चक्कर में था, आज मौका मिला है तो पानी निकाल कर ही दम लूंगा. रात में हम दोनों रोज की तरह ही साथ में सो रहे थे और फ़ोन में फिल्म देख रहे थे. मैं नाश्ता तैयार कर लूं!मैंने आँखें झुकाते हुए कहा- जी शुक्रिया!पूजा- अब बड़ी शर्म आ रही है? रात को तो जनाब बड़ा जोश दिखा रहे थे?मैं समझ गया कि पूजा अब खुल चुकी है, उसे कोई दिक्कत नहीं है.

मैं- हां आंटी … आज वॉयलेट ने कुछ ज़्यादा पी ली है … इसलिए इसको लेकर अन्दर आना पड़ा है. अब मनोज ने भी सोचा कि कहीं बात ना बिगड़ जाए तो उसने टीवी बंद कर दिया और दीपा को मन कर उठाने की कोशिश की. वो बोला- अब हम लोगों के जिस्म पर ज्यादा कपड़े हैं भी तो नहीं, वैसे भी अब हम लगभग नंगे ही हैं.

कुंवारी बीएफ सेक्स उसकी बातें सुनकर मुझे भी जोश आने लगा और मुझे भी उससे गांड मराने की बात खुलकर करने का जी करने लगा. वो बोलने लगी- इतना मजा तो मुझे मेरे पति के साथ नहीं आया, जितना कि आज तुम्हारे साथ आया है.

पैंट शर्ट का कपड़ा डिजाइन

सुनील ने जैसे ही अपनी प्लेट हटाई तो उसमें रात वाला टिश्यू रखा था और उस पर दीपा के होंठों के लाल लिपिस्टिक के निशाँ बने थे. पर सच कहूं तो संदीप का साथ मुझे अच्छा लग रहा था और ऐसा ही कुछ मैंने संदीप की आंखों में भी देखा. सबसे ज्यादा आफत तो नायरा की थी, एक तो उसके मम्मे सबसे भारी, ऊपर से बिना ब्रा … पिंकी ने आते ही सीमा के चूतड़ों पर हाथ फिराया यह देखने के लिए कि उसने पैंटी तो नहीं पहनी.

जॉली ने रिया की जुबान से अपने लंड को हटाया और रिया के होंठों पर लिपस्टिक की तरह फेरने लगा. मैंने बॉस के लंड को चूसते हुए विनय का लंड हिलाना शुरू कर दिया और विनय पीछे से मेरे टॉप को उठा कर मेरी चूचियों को मसलने लगा था. जबरदस्ती वाली बीएफ फिल्मेंउसको भी लंड फिर से लेने का मन कर रहा था लेकिन मेरे मन में उसकी गांड घूम रही थी.

ये मेरी पहली गंदी कहानी है … अगर कोई ग़लती दिखे, तो नजरअंदाज कर दीजिएगा.

फिर मैंने टाइम देखा, तो मैंने सोचा कि दूसरा राउंड लेने की जगह अब चलना ठीक होगा … क्योंकि मुझे भी अपने काम पर जाना था और उसको भी अपने घर पर जाना था. मेरी इस हरकत पर मेरी पत्नी मुझे गुस्से से मारने के लिए पानी में ही मेरी तरफ दौड़ी.

और मैंने बाथरूम से सुमन को कॉल किया तो उसने एकदम पूछा- अरे मेघा, मेरे भैया ने तुझे चोद दिया क्या?हाँ यार … बहुत मस्त … अभी भी बाथरूम में नंगी खडी तुझे फोन कर रही हूँ. अब तुम मुझे रंडी समझो या वेश्या समझो … वो तुम देख लो! लेकिन जो भी सच था वो मैंने तुमको बता दिया है. मैंने अपने गिलास से दारू पीनी शुरू की तो उसने मेरे चेहरे पर शराब गिरानी शुरू कर दी.

आपको कहानी के बारे में कुछ कहना है तो नीचे दी गई मेल आईडी पर मेल करें.

आज सोचा कि क्यों न अपनी सेक्स कहानी भी अन्तर्वासना के पटल आप सभी के साथ साझा की जाए. ब्रा खुलते ही मेरे चूचे उछल कर सामने आ गए, जैसे कि वो न जाने कब से बाहर आने के तड़फ रहे थे और मैंने उन्हें कैद कर रखा हो. हम एक दूसरे के होंठ फिर से चूसने लगे और मैं उसकी चुचियों को दबा दबा कर, मसल मसल कर जन्नत का मजा लेता रहा.

बीएफ वीडियो सेक्सी वीडियो चोदा चोदीकुछ महीनों बाद जब हमारे खेतों की फसल कटने वाली थी, तो उस समय मैंने भी गांव जाने का तय कर लिया था. टीना मेरी सहकर्मी है, हम दोनों काफी जल्द ही बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे.

सनी लियॉन वीडियो सेक्सी

पांच मिनट तक उसने मेरे छेद को चाटा और फिर अपना लंड चूसने के लिए कहा. कुछ देर बाद वो मुझसे बोली कि ज़रा ऐसे हो जाओ, मुझे भी मूवी देखनी है. अब शायद उनका भी होने वाला था, उन्होंने मुझे ऐसी घोड़ी बने बने मेरी चूत में अपना सारा वीर्य छोड़ दिया.

मैंने कारण पूछा, तो उसने बताया कि किसी ने भी उसकी चूत आज तक नहीं चाटी थी. आखिरकार चाची का सच सामने आ ही गया था और उन पर सेक्स हावी हो ही गया था. जीजा के साथ मेरी पिछली चुदाई कहानी थीजीजा का ढीला लंड साली की गर्म चूततीन बार जयपुर में और फिर मेरे जीजाजी जब मेरे गाँव आए थे तब किया था.

मुझे देखते ही उनके बॉस की नजर सीधे मेरी जांघों पर गई लेकिन हम खाना खाने लगे. मैं ऊपर उठ गया और दुबारा से उनके होंठों पर किस करने लगा और उनके चुचे दबाने लगा. पर परमीत के ऊपर बीयर हर पल अपना कब्जा बढ़ा रही थी और कोमल ने तो शायद शकुनि से बड़ा षड़यंत्र रचा था.

मैंने मेम की ब्रा और पेंटी बड़ी नजाकत से उन्हें सहलाते हुए उतार कर बेड से दूर फेंक दी. अगर आपको सिर्फ सेक्स ही पढ़ना है तो ये मेरी यौन जीवनी आपके लिए नहीं है.

थोड़ी देर में ही सुनील ने अपना फव्वारा दीपा के मुंह में ही छोड़ दिया और उधर मनोज ने भी अपना माल दीपा की चूत में गिरा दिया.

सोनिया- हां आता तो है, लेकिन मैंने सोचा इस टाइम का फायदा उठाया जाए. हिंदी बीएफ सेक्सी भाभी कीउस वक्त मेरे मन में आया कि अब खाना क्या खाऊं … सामने इतना लाजबाव बदन है, अब तो मेरा मन मामी के लाजवाब बदन का ही भोग लगाने को करने लगा. हिंदी में बीएफ भोजपुरीजब काफी देर तक माँ ने शान को गालियां दीं, तो शान का टेलेंट सामने आ गया. फिर मैंने उसको सेक्स की बातें करके गर्म किया और वो उस लड़के यानि मेरे साथ इंजॉय करने के लिए भी तैयार हो गई.

वो बोला- अब हम लोगों के जिस्म पर ज्यादा कपड़े हैं भी तो नहीं, वैसे भी अब हम लगभग नंगे ही हैं.

मैं बोली- जीजा, अगर आपने अपना वादा पूरा करते हुए मेरी शादी आशीष के साथ करवा दी तो जो आप कहोगे मैं वो सारी उम्र करने के लिए तैयार हूं. बाहर जब पिंकी और सीमा को होश आया कि ये दोनों क्या कर रही हैं तो उन्होंने शोर मचाया कि हमें भी नहाना है. जब मैंने बॉडी में लोशन लगाने के लिए अपनी चुत और चूचों में मालिश की, तो उस टाइम हाथ फिराते ही मुझे मानो करंट सा वापस दौड़ने लगा क्योंकि एक तो मैंने डबल डोज़ दवाई ली हुई थी और डेविड और नामित ने एक एक राउंड ही चुदाई का खेल किया था.

‘सुहास … आह आह … साले एक बार में ही कितना अन्दर तक पेल देते हो … आह सुहास आह बेबी … चोदो मुझे. अमित जैसे ही पूजा के नजदीक आया, पूजा ने उसका लंड अपने हाथों से कस लिया और हिलाने लगी. इस वक्त साधना भाभी नीचे को हुईं और एक धक्का देते हुए मेरे खड़े लंड को पूरा अन्दर ले लिया.

बीपी फिल्म बताओ

”क… क्या मतलब?”दीदी ने मुझे टेबलेट्स लाकर दी हैं?”क… कैसी टेबलेट्स?” मेरा दिल किसी आशंका से धड़कने लगा था।वो बोलती है तुम्हें कमजोरी बहुत है तो रोज यह दवाई और एक टेबलेट लिया करो. उसकी इस बात को सुनते ही मुझे कुछ देर पहले के उनके इशारों का अर्थ समझ आने लगा. वो बोली- हां, मेरी चूत … आह्ह मेरी चूत … दीदी … मेरी चूत तो चिपचिपी हो चली है.

कुछ देर के बाद डॉक्टर के मुंह कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह्ह …यस … फक मी … (चोदो मुझे)मैं तेजी से डॉक्टर की गांड की चुदाई करने लगा.

मैं जीजा की बात सुन कर उनके सेठ दोस्तों के साथ चूत चुदवाने के लिए तैयार हो गई.

मैं खुद से पूछने लगी कि क्या मैंने अभी अभी अपनी बहन को सोच कर मुठ मारी? क्या हो गया है प्रीति तुझे, तू एक लड़की के बारे में ऐसा कैसे सोच रही है?इस तरह के कई विचार थे मेरे मन में, जिनके जवाब मेरे पास नहीं थे. अब आगे:गीत मुझे बताए जा रही थी कि खूबसूरती का आलम ये था कि जो भी मर्द हमें देख ले, वो हमें चोदने का ख्वाब जरूर देखता रहा होगा. बीएफ सेक्सी चलाओबंध्या तेरी गांड को तो फाड़ कर आज चोद चोद कर पूरी जन्नत का मज़ा तुझे दे दूंगा.

उसी समय उसने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर घुसा दिया. फिर मैंने अपने धक्के तेज कर दिये और उसकी चूत को तेजी के साथ चोदने लगा. राज की बहन जब आती थी तो उससे बहुत बात करती थी, दोनों साथ ही टाईम बिताती थी.

”जॉली ने रिया के गले लगते ही उसकी पीठ पर बांहें लपेट कर उसे अपने से कस कर गले से लगा लिया. ब्रा खुलते ही मेरे चूचे उछल कर सामने आ गए, जैसे कि वो न जाने कब से बाहर आने के तड़फ रहे थे और मैंने उन्हें कैद कर रखा हो.

वो उम्र में तो 30-35 की थी लेकिन उसके चूचे एकदम 22-25 साल की लड़की की तरह तने हुए थे.

दिन में मैंने हिम्मत करके ज़ायरा को अपने दिल की बात बताई, पर उसने कुछ नहीं बोला. मैं जीजा की बात सुन कर उनके सेठ दोस्तों के साथ चूत चुदवाने के लिए तैयार हो गई. मैं बहुत जोर से चीखती अगर अमन ने मेरा मुँह अपने मुंह से बंद न किया होता तो!मेरी आँखों से आंसू आ गए, मगर वो बेदर्दी से मुझे चोदता रहा जैसे उसे कोई फर्क ही न पड़ रहा हो.

बीएफ सेक्स सेक्सी वीडियो मैंने उसको बताया कि अगर आप उससे बात करना चाहती हैं तो मैं आपकी बात उस लड़के से करवा सकती हूँ. हालांकि एक दूसरे की हालत किसी से छिपी नहीं थी, फिर भी खुल के सामने आना हर किसी के वश की बात नहीं होती.

मैंने झट से उषा की पेंटी और ब्रा उतार दिया और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए. मैंने सबसे नजर बचा कर केला कमरे में छुपा लिया और अब मैं सबके सोने का इंतजार करने लगी. एक बार तो मुझे ऐसा लगा कि कहीं पड़ोस वाली भाभी ही तो नहीं है! मगर फिर सोचा कि ऐसा संयोग मेरी किस्मत में कहां कि मेरी पड़ोसन सेक्सी भाभी ही मुझे मेल करे.

सेक्स करते हुए देखना

मेरी माँ ने फुंफकार भरते हुए कहा- अच्छा तू मादरचोद भी है … साले तेरे जैसे कई लंड मैंने अपनी चुत से छील कर बाहर निकाल दिए. भाभी की चूत से गीला पदार्थ निकलने लगा था जिसकी गंध राहुल की नाक में पहुंच रही थी. उसने अपना माइक्रोवेव यहीं रख लिया था ताकि जो स्नैक्स गर्म सर्व होने हों वो हाथ की हाथ गर्म होकर सर्व हो जाएँ.

कुछ महीनों बाद जब हमारे खेतों की फसल कटने वाली थी, तो उस समय मैंने भी गांव जाने का तय कर लिया था. मैंने ससुर को इशारे से दूसरे रूम में बुलाया और हम दोनों ने एक एक ड्रिंक लिया.

अब ज्योति को अहसास हुआ कि क्यूँ वह रोज़ चुदवाने के लिए उतावली रहती है.

शादी वाले माहौल में घर महमानों से भरा रहता है … इसका मामी जी को ख्याल रहेगा. मैंने पूछा- इतना गैप क्यों?उसने बताया- मेरे ससुर पिछले 6 महीनों से बीमार चल रहे थे. … आंह … बड़ा अच्छा लग रहा है … उन्ह …उनके साथ मैं भी आवाज निकाल रहा था- आह … ले … पूरा ले लो …चुदाई के साथ साथ मैं मासी को किस भी करता जा रहा था.

कुछ ही देर में मेरी चूत से पानी निकलने लगा था … जिससे अन्दर चिकनाहट बढ़ गई थी. जब भी वो हमारे घर पर होती थी मैं अपने कमरे में ही खुद को कैद कर लिया करता था. कुछ देर मैं इतजार करता रहा कि मोसी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया तो नहीं होती है.

उसकी चूत पर हाथ रखते ही मैंने चुत की पुत्तियां मसल दीं, वो सिसक गयी और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

कुंवारी बीएफ सेक्स: ” महेश ने मौके का फ़ायदा उठाते हुए अपनी बहू को जोर से अपनी बांहों में दबाते हुए कहा। नीलम को अपने ससुर से गले लगते ही अहसास हो गया था कि उसने गलती कर दी है क्योंकि महेश से गले लगते ही उसका लंड जो उस वक्त भी बिल्कुल तना हुआ था वह आगे से नीलम की चूत पर टक्कर मारने लगा।पिता जी मुझे माफ़ कर दें. उनका नाम विक्रम सिंह है और वो शादी के लिए पंद्रह दिन की छुट्टी लेकर आये थे.

” समीर ने अपने पिता के जाने के बाद बेड पर अपना माथा पकड़ते हुए कहा।डार्लिंग, ज्यादा मत सोचो, वरना सर में दर्द हो जायेगा। सच्ची में मुझे तो आज पता चला है कि चुदाई का असल मजा क्या होता है और बापू के साथ तो मुझे इतना मजा आया कि पूछो मत। मैं तो अपने ससुर की दीवानी हो गई। असली मर्द है वह. सीधे हनीमून पॉइंट गए … वहां तो जिसको देखो चिपटाए खड़ा था … खुले आम चूमा चाटी हो रही थी. अब कभी मैं उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूस रहा था, कभी मेरी जीभ को चूस रही थीं.

तुम्हारी आंखों को देख कर लगता है कि जैसे वो हमें अपनी तरफ बुला रही हैं.

वो बोला- नहीं, मुझे कोई शिकायत नहीं होगी लेकिन जैसा मैं कहूंगा तुम्हें बिल्कुल वैसा ही करना होगा. यह कहते हुए जोर से मेरे दूधों को पकड़ कर अभय चूसने लगा और जोर जोर से अब लन्ड को रगड़ने लगा. मेरे मकान मालिक करीब 38 साल के खूबसूरत और बलिष्ठ मर्द थे और मालकिन 33 साल की बहुत ही सुंदर और सेक्सी भाभी थीं.