बीएफ हिंदी में नया

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो एचडी वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी ओपन एचडी: बीएफ हिंदी में नया, जब मैं घर पर नहीं होता हूँ, तब छोटी बहन मेरे वाले छोटे बेड पर सो जाती है.

काजल राघवानी भोजपुरी बीएफ

मैंने उसे बताया- अभी अभी हम तीनों टॉयलेट से एक दूसरे का लन्ड चूस कर और चूत को चाट कर ही आ रहे हैं. क्सक्सक्स hd videoसिर्फ पैंटी की वजह से अभी तक मेरा लंड बाहर था वरना अभी तक उसकी चुत में अन्दर चला जाता.

सच बोलूं दोस्तो, उस समय तक तो उनकी चूचियों का स्पर्श पाकर ही मेरा लंड खड़ा हो चुका था, मैं उसी समय उनकी सवारी करने के मूड में था. सेक्सी मूवी वीडियो ब्लू पिक्चरअंत में उसका लंड मेरी चूत के भीतर झटके खाने लगा और वह सारा माल चूत में ही भरकर निढाल हो गया.

मैंने दोनों दूध कसकर पकड़ लिए और एक एक करके निप्पल चूसते हुए झटके मार रहा था.बीएफ हिंदी में नया: जैसे ही मम्मी जी वाशरूम में घुसी, झट से मैं उसी नाईट गाउन में उनके कमरे में घुस गयी, अन्दर से में बिल्कुल ही नंगी थी.

अब मेरा लंड भी धीरे धीरे आखिरी मंजिल तक पहुंचने लगा और मैं लंड को धीरे धीरे चलाने लगा।बुआ साथ छोड़ चुकी थी।आंटी समझ गई और उसने बोला- राज उठो!मैंने लन्ड को बुआ की चूत से बाहर निकाल लिया.मैंने भी उनका पीछा किया और हिम्मत दिखा कर उस घर के बाहर तक चला गया.

चिकनी चिकनी चूत - बीएफ हिंदी में नया

फिर पूरा रस निकल जाने के बाद वो आराम से मेरे नीचे लेट गई और मेरी आंखों में देखती हुई मुझे किस करने लगी.इससे भाभी सिसकारियां लेते हुए कहने लगीं- अब डाल भी दो … नहीं तो बोलो फिर कल जैसी ड्रिंक पिलाऊं क्या?मैं हंस पड़ा और भाभी के पैरों को फैला कर आराम से लंड को अन्दर पेल दिया.

भाभी भी अपनी गांड उठाकर बोले जा रही थीं- आंह चोदो … और चोदो … मज़ा आ रहा है. बीएफ हिंदी में नया अब हालात कुछ ऐसे थे कि हमारे केबिन का तापमान अब बढ़ने लगा था और हमारे शरीर गर्म होने लगे थे.

मैं चाचा चाची की चुदाई देखने लगा लेकिन चाचा अपने बुढ़ापे की वजह से एक मिनट में ही चाची के ऊपर गिर गए.

बीएफ हिंदी में नया?

उनके मस्त मम्मों को देखकर तो मेरे अन्दर वासना की लहर ही दौड़ गयी और मेरा लंड मेरी पैंट में सलामी देने लगा. समता मुस्कुरा दी और कहने लगी- प्लानिंग सिर्फ हम दोनों करेंगे?तब विकास ने कहा- जी … इससे कुछ सार्थक बात सामने आएंगी. सनी हल्के हल्के से ऋतु की चूत के होंठों को हाथ से ऐसे सहलाने लगा, जैसे कि उसकी मालिश कर रहा हो.

गर्म सीने का अहसास पाते ही ऋतु की आंखें खुल गईं और वो वासना से सनी की नंगी छाती को देखने लगी. उसकी तो बहुत छोटी सी होगी, ऊपर ऊपर से मजा ले ले … कहीं लेने के देने ना पड़ जाएं. कुछ देर ऐसे चोदने के बाद मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और उनकी गांड पर चांटें मारते हुए खूब चोदा और उनके अंदर ही झड़ गया.

मैंने उसको उत्तर देते हुए कहा- कुछ नहीं होता प्रीति … इतनी आवाज भी नहीं आएगी, तो मजा कैसे आएगा. ऋतु ने उसकी नजरों का पीछा किया और जैसे ही उसकी नजर लंड पर पड़ी तो उसकी सांस फिर से अटकने लगी. कुछ देर बाद दादाजी ने मम्मी को चित लिटा दिया और अपना सिर मम्मी के पेटीकोट के अन्दर ले गए.

जब इतने पर भी मामी की तरफ से कोई विरोध होता न दिखा तो मेरी हिम्मत काफी बढ़ गई. वो हंस कर बोली- पूरी रात करने के बाद भी मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- दीदी तुम्हारी चुत इतनी मस्त है कि किसी का मन ही नहीं भर सकता.

कुछ मिनट बाद मेरा काम तमाम होने वाला था तो मैंने झटके तेज कर दिए और उनकी गांड में ही झड़ गया.

मैंने 1 घंटे तक सुमन की मालिश की।उसके बाद भी सुमन ने थोड़ी देर और करने को कहा.

उनके मुँह से निकला- प्रतीक, आज पहली बार मेरी चुत में किसी मर्द का लंड गया है. मैं जो भी करूंगा तुमको एक अलग ही मजा आएगा।” मैंने विश्वास के साथ कहा।बहुत अच्छा मालिक!” उसने एकदम मस्ती में कहा. मामी दर्द के मारे सिहर उठीं, उनके चेहरे पर दर्द के भाव साफ नज़र आ रहे थे.

कमरे में पिंकू अपनी चूत में उंगली कर रही थी, बाहर मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं उसकी चूत में लंड डाल रहा हूं. मैंने तुम्हें बचपन मैं ही बिना कपड़ों का देख लिया है और वैसे भी कल रात को तो …रेणु ने मेरे मुँह पर हाथ रख दिया और झट से अपनी टी-शर्ट उतार दी. पी लो मजे लेकर!तब मैंने दीदी से कहा- अगर आपको मेरे लंड का रस पीने में कोई प्रॉब्लम हो, तो मेरा लंड मुंह से बाहर निकाल दीजिए मैं आपके मुंह के बाहर ही झड़ जाता हूं.

एक हाथ से वह अपने बूब्स को दबा रही थी और निप्पल को नोच रही थी।यह देखकर मेरा और अभिषेक का लंड फिर से खड़ा हो गया था.

फिर अचानक से भाभी के जिस्म से उनका तौलिया गिर गया और मैं उनकी रसभरी चुचियों को देखने लगा. मुझे पता था कि एक औरत की चुत तब तक ढीली नहीं होती, जब तक कि वो मां ना बन जाए. एक बीवी के लिए उसके शौहर का लण्ड बहुत मायने रखता है।मेरा शौहर आया, मेरा घूँघट उठाया, मेरी खूबसूरती की तारीफ की और अपने मुकद्दर की सराहा।सारे रस्मो-रिवाज़ पूरे करने बाद वह मेरे कपड़े खोलने लगा और मैं उसके कपड़े!आखिर में मैं पूरी तरह नंगी हो गयी.

तो मैंने सोचा कि चलो बात आगे बढ़ाई जाए वरना सारी सारी रात मालिश में ही निकल जाएगी. सनी और ऋतु का चेहरा खुशी से खिल उठा क्योंकि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि उनका मिलन इतनी खूबसूरत जगह पर होगा. भाभी की चुत तो पहले ही गीली थी मगर मैंने फिर भी उंगली से चुत में तेल लगा दिया.

फिर नेहा की आवाज़ आई- मादरचोद कबीर मज़ा आ गया … आज दूसरी बार तेरा लंड लिया है, क्या कसके ठोकता है रे तू … आज वीर भी नहीं है.

मैं इस फिराक में थी कि जैसे मुझे मौका मिले और मैं फौरन से जाकर उस बंजारा से अपनी बात कर लूं. मीना- मस्त मजा आ रहा है … अन्दर तक घूसाओ आशु उह्ह्ह … आह्ह्ह …फिर दोनों ने एक दूसरे को जकड़ कर अपना अपने सर्वस्व एक दूसरे में गिरा दिया और निर्जीव से होकर हांफने लगे.

बीएफ हिंदी में नया मैंने चुत के करीब उंगली लगाई तो दीदी ने दोनों टांगों को आपस में चिपका दिया. सेक्स विद हॉट गर्ल की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक लड़की ने मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई में मेरी मदद की.

बीएफ हिंदी में नया उसके चुम्बनों से मुझे ऐसा लगा, जैसे वो मुझसे ज्यादा तरस रही थी; बस पहल करने का इंतजार कर रही थी. [emailprotected]गाँव की औरत की चुदाई का अगला भाग:पहाड़ी गांव में देसी चूत चुदाई के किस्से- 5.

उन दोनों मां बेटी को अपनी पत्नी बना कर एक ही बिस्तर पर चुदाई करना मुझे कोरोना की देन लगता है.

सेक्सी लौंडिया वीडियो

जिसमें दो आदमी दो गोरी लड़कियों को अपनी गोदी में बिठा कर स्मूच कर रहे थे. मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ लिया और नीचे से अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर चाटने लगा. ऐसे ही मैंने उस रात में कई बार सिस्टर की चुदाई की और नंगे ही चिपक कर सो गए.

[emailprotected]मेरी सेक्सी हिन्दी कहानियाँ … अगला भाग:जीजू और उनके दोस्त के साथ सैंडविच चुदाई- 2. अपने घर में मैं शॉर्ट कपड़े पहनती थी जिसकी वजह से मनोज की नीयत मेरे पर भी थी, लेकिन मां की वजह से वो कुछ कर नहीं पा रहा था. उसकी नंगी जवानी देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसके ऊपर चढ़ कर उसकी चुत में लंड रगड़ने लगा.

मुझे ये सब करते समय मजा भी आ रहा था और साथ में डर भी लग रहा था कि कहीं मामी जाग ना जाएं.

अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने रूही भाभी को उनके घर पर उनके पति की मौजूदगी में चोदा और उनकी आया को भी पेल दिया. बड़ी बड़ी आंखें, खिलता हुआ बदन, लम्बी गर्दन, कंधे तक आते बाल, सीने पर दो गोल तनी हुई चूचियां, उस पर उभरे हुए पिंक निप्पल और निप्पलों के साथ छोटा सा गुलाबी ऐरोला, सपाट पेट, पतली और चिकनी टांगें, भरी हुई जांघें और पैरों के बीच में त्रिभुज और अनछुआ बदन, पैंटी में छिपी और उभरी हुई बुर, पैंटी पर गीलापन … उफ्फ क़यामत सा नज़ारा था. अब मैंने कहा- फिर आपने मेरे इंदौर आने के बाद भी कोई सिग्नल नहीं दिया?चाची हंस कर बोलीं- सिग्नल तो तुझे बराबर देती रही थी लेकिन तेरी कुछ ज्यादा ही फट गई थी.

फिर मेरे कान में बोली- भाई, तुम मुझसे इतना प्यार करते हो कि तुम्हारे लिए मैं हर दर्द सह लूंगी! मैं भी तुम्हारी खुशी चाहती हूं क्योंकि तुमने आज मुझे दुनिया की सबसे बड़ी खुशी दी है. मैं बोला- ठीक है, मैं आ रहा हूँ क्योंकि मैं जयपुर आया हुआ हूँ, तो सोचा तुमसे मिल भी लूंगा. फिर मुझसे रहा नहीं गया मैंने अपने लंड को हिला कर मुठ मारी और ऑफिस चला गया.

एक दिन रात को भैया ने मेरे सामने अपना लोअर उतार दिया और एक छोटी सी फ्रेंची में अपने फूले हुए लंड को दिखाते हुए पूछने लगे- देख मेरी ये नई वाली फ्रेंची कैसी लग रही है?मैंने कहा- फ्रेंची तो बहुत ही सुंदर है लेकिन आपके उसके हिसाब से कुछ छोटी लग रही है. मैंने जरा सी भी देर ना करते हुए पोजीशन बनाई और एक ही झटके में चाची की चूत में अपना पूरा लंड घुसा दिया.

मैं अपनी गीली चुत में अपने भैया की उंगली पाकर निहाल हो गई और मेरे मुँह से तेज तेज स्वर में मादक सिसकारियां निकलने लगीं- उम्म भैया आंह मर गई आंह उम्म्म!भैया अब बहुत तेज तेज अपनी उंगली से मुझे चोदने लगे. कोई लड़की जब आपको इशारे देगी कि वो आपको पसंद करती है तो मर्द या लड़का तुरंत समझ जाएगा. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी यौन अनुभूतियों की कामुक दास्तान- 2.

मीना- देख आशु सच बोल, क्या क्या देखा … नहीं तो घर जाकर उसकी और तेरी मम्मी को सब बता दूंगी.

मेरी बहन को शायद खुद से लंड चाटने का मन था मगर वो जरा नाटक कर रही थी. मामी ने घूमकर देखा और सवालिया आंखों से देखकर बोलीं- क्या हुआ मजा आने लगा … तो तुमने निकाल लिया. देखो न मम्मी आपने कोरोना में अपना पति खोया है … और विजय अंकल ने कोरोना में अपनी पत्नी खोयी है.

”मैंने उसकी तरफ मुस्कुराते हुए कहा- क्या मेरी अच्छी पालतू मुझे खुश करना चाहती है?उसने उत्तर दिया- हाँ, मालिक, आपकी पालतू आपके पसंद किए तरीके से उपयोग करने के लिए प्रस्तुत है. मम्मी ने पेटीकोट ऊपर उठा दिया तो दादा जी मम्मी की चूत को पैंटी के ऊपर से चाटने और चूसने लगे.

मैं चाची के सामने आने में कतराने लगा था लेकिन मैं अभी भी चाची को पाना चाहता था. पेपर खत्म होने के बाद मई में चाचा की बहन की सगाई थी तो हमारा परिवार भी वहां गया था. सविता भाभी ने अपना खूबसूरत बदन बड़े ही आकर्षक तरीके से सजाया। नेट वाली साड़ी उनकी नाभि के नीचे से बंधी थी.

सविता भाभी सेक्सी व्हिडिओ कार्टून

इस बीच मैंने एक चीज़ का अनुभव और किया कि जो पहले मेरी बहन पैंटी पहनकर नहाती थी, अब वो पैंटी निकाल कर नहाने लगी और मुझे उसकी चुत के रोज दीदार होने लगे.

मामी जल्दी से उठीं और कपड़े सम्भालकर मेरी तरफ मुस्कुराती हुई चली गईं. तेज तेज …’शायद उसका रस निकल गया था मगर अब वो मेरे हमलों से चीख नहीं रही थी बल्कि निढाल सी हो गई थी. कुछ देर तक तो मैं उसकी जवानी को देखता रहा मगर जब वो खुद अपने हाथ से अपने दूध सहलाने लगी और चूत सहलाने लगी तो मैं कण्ट्रोल नहीं कर सका.

अपने उस मेल में उन्होंने लिखा कि मुझे आपकी कहानी बहुत अच्छी लगी, प्लीज आप जब भी पुणे आओ, तो जरूर बताना. मुझे दर्द भी हुआ पर मैं कुछ नहीं बोली क्योंकि मैं जानती थी हर लड़की की किस्मत ही ऐसी होती है कि पहली बार चाहे चुत हो या गांड, पहली बार दर्द सहना ही पड़ता है. भाभी की चुदाई का बीएफपहले तो वो मुझे पीछे हटा रही थीं … लेकिन कुछ मिनट बाद मौसी सामान्य हो गईं और लंड का मजा लेने लगीं.

उन्होंने मेरे मम्मों के बीच में अपने फौलादी लंड को रखा और हाथों से मम्मे दबा कर मेरी बूब फकिंग करने लगे. मुझे कुछ समझ नहीं आया कि ये क्या हो रहा है … मैं बस उन दोनों को देखता रहा.

हुआ यूं कि मेरा भाई होली में घर आया हुआ था और कुछ दिन बाद लॉक डाउन लग जाने के कारण यहीं गांव में रह गया. ” वह मदहोशी में कराह कर जैसे नशे में बोल रही थी।मैं देख रहा हूं कि तुम्हारे साथ जो होने वाला है उसकी कल्पना से चूत पहले से ही रस छोड़ रही है. उसे तो मानो बस इसी पल का इंतजार था … वो जल्दी से अपने पैरों के बल बैठ गया और धीरे से मीना की पैंटी नीचे करने लगा.

मामी मुँह में से लंड निकाल कर बोलीं- तुम सो रहे थे, तो तुम्हें उठाने का मन नहीं हुआ. मैंने कुछ पल बाद ही छवि को चित लिटा दिया और उसकी चुत को होंठों को चूम कर अपना लंड उसकी चूत में रगड़ने लगा. दीदी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर मेरे लंड के लंड को अपनी बुर के छेद के ऊपर लगा दिया.

मैं देख रहा हूं कि फर्श पर चूत रस का तालाब को … तुमने बहुत आनंद लिया है.

वहां जाने पर उसने देखा कि फ्लैट पर एक नौकर था, जिसे विकास ने बाहर आउट हाउस में भेज दिया. वहां आने के बाद उसने सबसे मेरा परिचय ये कह कर करवाया कि मैं उसकी एक और सहेली का भाई हूँ.

अब हम चारों उत्तेजित हो रहे थे इसलिए मैंने कहा- चलो मेरे रूम पर चलते हैं. मैं उस दिन अपना फोन चार्ज पर लगाने के लिए भाभी के घर गया और एक पोर्न साईट पर वीडियो चालू करके छोड़ कर घर आ गया. तभी अचानक मैंने महसूस किया कि उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाने की बजाए मेरी गांड के छेद पर लगा दिया और हल्का सा जोर लगा रहा था.

मुझे दर्द भी हुआ पर मैं कुछ नहीं बोली क्योंकि मैं जानती थी हर लड़की की किस्मत ही ऐसी होती है कि पहली बार चाहे चुत हो या गांड, पहली बार दर्द सहना ही पड़ता है. सपना का एक हाथ मेरे लंड पर था, जिसे वो लंड पर ऊपर नीचे करती और लंड मुँह में ले लेती. अब तक हमारे कपड़े भी सूख गए थे, तो सबने अपने अपने कपड़े पहने और घर चले आए.

बीएफ हिंदी में नया मीना ने भी उत्तेजनावश उसको पकड़ लिया और मेरी पैंट के ऊपर से उसे खींचने लगी. फिर उन्होंने मम्मी के चुचों को ब्रा से निकाल कर एक दूध को चूसने लगे और दूसरे को मसलने लगे.

सील तोड़ने वाली सेक्सी वीडियो दिखाएं

इतनी देर से मेरी साली और में आमने सामने बैठे थे और बातें कर रहे थे. उसकी चुदाई में मैं दो बार झड़ गई थी पर वो मुझे अभी भी चोदे जा रहा था. जब सुबह हुई तो मैंने देखा कि मेरी बहन उठ नहीं पा रही थी और चल भी नहीं पा रही थी.

चचा ने मेरे दोनों पैरों को पकड़ कर अपने कंधे पर रख लिया और अपनी स्पीड बढ़ाने लगे. फिर मैंने गर्दन हिलाकर सहमति दी और नीचे अपने दोनों चूतड़ ऊपर उठा लिए. बीएफ सेक्स वीडियो सॉन्गदोस्तो, मैं अजिंक्या एक बार फिर से अपनी देसी मामी सेक्स कहानी में हाजिर हूँ.

’‘ओके …’फिर मैंने उनके टॉप में नीचे से हाथ डालकर टॉप बूब्स तक ऊपर कर दिया और ब्रा के ऊपर से ही उनके बूब्स दबाने लगा.

थोड़ी देर में वो अक़ड़कर झड़ गई और मैं उसके कम को निकलते देखने लगा।अब मैंने उसकी चूत का कम साफ किया और उसे किस करने लगा, उसके गोरे गोरे मम्मों को खूब पिया और मसला।वो फिर से गर्म हो गई. वो मेरा पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी थीं और बीच बीच में टट्टे भी चाट रही थीं.

कुछ देर बाद दीदी ने मेरे पजामा में अपना हाथ डाला तो मेरा लंड तो खड़ा था ही. फिर कुछ मिनट बाद हम दोनों 69 की पोजीशन से वापस सीधे हुए और मैं जोया को किस किया. दस बारह धक्कों के बाद मंजू फिर से गर्मा गई और मस्ती से चुदवाने लगी.

चूत में उंगली जाने से शिल्पा दीदी सिसक उठीं और वो लड़का उनके और मजे लेने लगा.

मेरी बात सुनकर भाभी नानुकर करती रहीं, वो देने के लिए राजी नहीं हो रही थीं. अब हम चारों उत्तेजित हो रहे थे इसलिए मैंने कहा- चलो मेरे रूम पर चलते हैं. वो थोड़ा हिल-डुल रही थी … उसने मेरी तरफ करवट ली और अपना एक पैर मेरे पैर पर रख दिया.

गंदा डांस वीडियोफिर मैं मदहोशी में ही चिराग से बोली- पहले कंडोम तो लगा लो और जल्दी से पेल दो … अब और मत तड़पाओ मुझे. बेड पर बड़ी हुई सफेद चादर पूरी तरह ऋतु की चूत से निकले रस से भीग चुकी थी.

सेक्सी वीडियो दाहोद

तनु भाभी बार बार मुझे किस करने के लिए कहतीं तो मैं उनके होंठों को किस करता और मम्मों को मसल देता. मैं भी अन्दर गया तो देखा दादी अपनी चुत पर सरसों का तेल लगा रही थीं. इसके बाद हम लोग अचानक अलग हो गए और फिर एक दूसरे की ओर देखकर हंसने लगे.

शाम को उसकी मॉम आईं तो उन्होंने मुझे बुलाने दीपिका को मेरे कमरे में भेजा. भाभी बोलीं- क्या हुआ … बताओ ना, करोगे या नहीं?मैंने सर हिला कर हां कर दी. उसने बातों ही बातों में मुझसे कहा कि मेरा पहला ब्वॉयफ्रेंड जब अपना लंड मेरे हाथ में देता था तो उसकी नसें उभरी हुई दिखती थीं.

मैं- आप जैसी हॉट मामी पास में ऐसे लेटी हो, तो हल्के से कहां कुछ हो पाता है. साफिया बोली- हाँ मामूजान … मैं आपकी प्यारी भांजी हूँ , रंडी हूँ … आज से मैं आपकी रखैल हूं। आप मुझे जितना चोदना चाहते हैं चोदिए … मैं आपको कभी मना नहीं करूंगी। चाहे मुझे रंडी बना दीजिए. मैंने देखा कि भाभी ने उस दिन ग्रीन कलर का शॉर्ट कुर्ता और रेड कलर की लेगी पहनी थी जिसमें वह काफी हॉट लग रही थी.

प्रदीप ने प्रिया को अपने लौड़े के ऊपर से अलग कर दिया लेकिन प्रिया झड़ी नहीं थी तो बहुत गर्म हो थी. कहानी के पिछले भागस्टूडियो में साली के नंगे जिस्म का मजा लियामें आपने पढ़ा किफिर प्रीति बोली- अच्छा जीजू, वो ड्रेस कब पहननी है? या ऐसे ही नंगी रहूं?यह बोलकर वो हंसने लगी.

मंजू- ओह्ह आशु ये क्या हो रहा है, चींटियां से दौड़ रही हैं बदन में, मेरे कपड़े उतार दो ना.

बांधने के बाद उसने उन्हें किस करना शुरू कर दिया और उनके गदराए बदन से सारे कपड़े नौंच लिए. हिंदी चुदाई सेक्स बीएफजैसे ही धीरज कमरे में आया था उसी समय दीपक का लंड पिघल गया था और वो तुरंत मेरे ऊपर से उठ कर सामने के कमरे में चला गया. एक्स एक्स एक्स बीएफ हिंदी इंडियनमम्मी की चूचियां और गांड इतनी हॉट हैं कि कोई भी उनको देख कर मुठ मारे बिना नहीं रह सकता है. मेरे प्रिय पाठको, आपको यह हॉट न्यूड सिस्टर सेक्स स्टोरी पढ़ कर मजा आ रहा होगा.

मैंने बुआ को लंड से नीचे उतार दिया और अपने होंठ उसके होठों पर रख कर दोनों चूसने लगे.

मुझे नहीं पता कि उनका रिएक्शन क्या होगा!लेकिन इतना तो मैं समझ ही गयी थी कि मेरी नंगी मटकती गांड देखकर ससुर की आह जरूर निकली होगी।ससुर के कमरे से निकलकर मैंने अपने कपड़े पहने और रसोई में घुस गयी।एक बार फिर चाय लेकर मैं बाबूजी के कमरे में गयी. उनका फिगर तो था ही … हॉट कुर्ता थोड़ा टाइट होने के कारण उनके बूब्स साफ समझ आ रहे थे. मैं सोचने लगा कि इनके मुँह में इतना मजा आ रहा है, तो चूत में कितना मजा आएगा.

मुझसे बोलने में आपको कैसी शर्म!चाची हम्म कह कर मेरे फूलते लंड को वासना से देखने लगीं. पर तभी मेरे दिमाग में एक ख्याल आया कि क्यों ना दीदी की बुर चाटते चाटते दीदी को भी अपना लंड चुसाया जाए. कुछ देर के बाद अंकल ने मम्मी का पेटीकोट खोल दिया और उनकी पैंटी को उतार दिया.

दादा ने पोती को चोदा सेक्सी

अपने हाथों से मैं धीरे-धीरे दीदी के बालों को पीछे करने लग गया ताकि दीदी के बूब्स से सारे बाल हट जायें और मैं दीदी के टाइट बूब्स को देख सकूं. भाभी की बेताबी बढ़ती जा रही थी और वो अपनी गांड ऊपर को उठा कर लंड चुत में लेने की कोशिश कर रही थीं. उन्होंने 1-2 मिनट इधर उधर देखा और जब उनको यकीन हो गया कि मेरा ध्यान उन पर नहीं है, तो वो गौर से देखने लगीं.

प्रिया- वाह भाई … क्या मस्त बात कही तूने … अब मैं तेरी पक्की रंडी हो गई.

मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैंने सोने का नाटक करते हुए भाभी के मम्मों पर हाथ रख लिया.

वो तकिया मैं मुँह दबा कर रोने लगी और मैं उनकी पीठ पर हाथ फेरने लगा. जब मम्मी ने हाथ धो लिए, तो वो फिर से कम्बल ओढ़ कर आग सेंकने बैठ गईं. हॉट सेक्सी चुदाई बीएफअंजू की सांसें तेज हो गई थीं, एक प्रकार से उसको भी मज़ा मिलने लगा था.

जीजू ने मेरी चूत में लंड रख कर एक ही झटके में पूरा पेल दियामैं आह करके रह गई. मैं ये ऊपर कर देता हूँ।हाँ … पर आंखें बंद रखना और जल्दी करना।” वो बोलीं. थोड़ी देर बाद दोनों बाथरूम में साथ जाकर नहाये और वापस आकर कपड़े पहने.

उस वक्त तक मैं ये नहीं जानता था कि सेक्स के बारे में मेरी फैमिली काफी आगे निकल गई है. लेकिन मुझे उसका स्वाद अच्छा नहीं लगा तो मैंने उसे तुरंत निकाल दिया.

क्षिति को मुकेश का फोन आया कि वो लेट आएगा तो क्षिति बोली- मैं चलती हूं.

अब जब भी उसका या मेरा मन होता है, तो हम दोनों उसी फ्लैट पर मिल लेते हैं और एक दूसरे को प्यार कर लेते हैं. फिर हम दोनों दिन भर चुदाई करते रहे और मजे किए।उसके बाद जब भी मौका मिलता … हम खूब चुदाई करते हैं।बस ऐसे ही हुई मेरे सेक्स के ज्ञान की पूर्ति और मेरे मासी की संतुष्टि।यह कहानी आपको अच्छी लगी ही होगी, मेरा विश्वास है. मेरा लंड नाइटी के ऊपर से ही उनकी गांड में घुस रहा था, जिसे मैंने उनके चूतड़ों के बीच में सैट कर लिया और मामी की गांड के छेद के ऊपर रगड़ने लगा.

ज्यादा देर तक करने का तरीका भाभी के मोटे मोटे बूब्स साफ़ नजर आ रहे थे और बारिश में भीग कर उनकी कुर्ती उसकी गांड से बिल्कुल चिपक गयी थी, जिससे उनकी मस्त गांड का आकार एकदम साफ दिख रहा था. उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, आज फिर से एक बार आपका दोस्त विजय, एक नई सेक्सी चुदाई कहानी के साथ हाजिर है.

उसने कंडोम निकाला और मुझे बालों से पकड़ और कहा- चल साली … साफ कर लंड. तभी उन्होंने मेरे हथियार को बाहर निकाल कर कहा- सच में अमित, ऐसा लंड मैं पहली बार देख रही हूँ. बिल्कुल साफ़ चिकनी चूत थी चुत की पुत्तियां पहली चुदाई के बाद से आज थोड़ी सी फूली हुई थीं.

सेक्सी वीडियो चोदने वाला लड़का लड़की

वो बोल रहा था- मेरा बहुत मन करता है, तुम तो खेत जुताई के पैसे नहीं दोगी, तो यही दे दो ना!मम्मी कुछ नहीं बोल रही थीं. मैं भी उनकी तरफ देखकर मुस्कुरा दिया और उनको दिखा कर लंड हिलाने लगा. अब आगे होटल रूम सेक्स स्टोरी:सनी अपने दोनों हाथों को आगे बढ़ा कर उसकी चूचियों को दबाने लगा.

वो गांड मटकाती हुई किचन में गईं और पनीर की भुर्जी और परांठे बनाने में लग गईं. उसके मामा भी अपनी भांजी के बारे में जानते थे कि यह भी खेली खाई लड़की है।और वह अपने मामा से भी मजाक कर लेती थी.

मैंने कहा- मैं सब जानता हूं आप किस किससे चुदवाती हो … आप रण्डी के जैसी ये सब क्यों कर रही हो.

मैंने उनके पैर पर स्प्रे मार कर थोड़ी मालिश कर दी पर उनका दर्द कम होने का नाम नहीं ले रहा था।उन्होंने कहा- दवाखाने जाना पड़ेगा. आज मैं भी मजा ले रही थी तो शायद उसे समझ आ गया था कि मैं भी मजा ले रही हूँ. साली की चूत बहुत गर्म थी, चुदाई के बाद मेरा लंड उसकी चुत के गर्मी से जलने लगा.

अन्दर जाते ही अंजू मेरे से लिपट कर मेरे होंठ चूसने लगी और अपनी अधखिली चूचियां मेरी छाती से रगड़ने लगी. भाभी की बेताबी बढ़ती जा रही थी और वो अपनी गांड ऊपर को उठा कर लंड चुत में लेने की कोशिश कर रही थीं. फिर मैंने अपने एक हाथ को भाभी की पैंटी के अन्दर डाला और उनकी चिकनी चूत की दरार में एक उंगली डाल दी.

पापा से ये सुनकर मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ गया और मैं फिर से चुत की चर्चा करने लगा.

बीएफ हिंदी में नया: ऋतु सनी की आंखों में देखने लगी और अपनी चूत उसके लंड पर मारती हुई अपनी एक आंख ऐसे दबा दी, मानो उसे इशारा कर रही हो कि पूरा लंड चुत में घुसा दो. वो दोनों अब अपने अपने लौड़े के साथ खेलते हुए मेरे स्तनों का पान करने लगे.

ज्योति ये सुनकर एकदम अवाक रह गई और बोली- अरे तूने ये सोचा भी कैसे कि मैं विजय से शादी करूंगी?किशन बोला- मम्मी परसों जब आप सोशल मीडिया पर विजय अंकल की फोटो देख रही थीं, तो मैं समझा कि आप दोनों के बीच कुछ है, इसलिए मैंने ये बोला. सारी रात ऋतु की चूत फड़फड़ाती रही मानो अपनी सारी प्यास आज ही बुझा लेना चाहती हो. उसने अपने हाथ आगे लाकर सनी की छाती पर रखे, तो उसे अहसास हुआ कि उसकी छाती बिल्कुल ठोस और कठोर बन चुकी थी.

मतलब वो अपना काम एक दो धक्के में ही खत्म कर देता है और मैं प्यासी रह जाती हूँ.

मेरी बहन को शायद खुद से लंड चाटने का मन था मगर वो जरा नाटक कर रही थी. मैंने उसकी सलवार छोड़ दी, पर ये ध्यान नहीं रहा कि मेरा लंड खड़ा हो रहा है. प्रकाश- अच्छी … बस इतना ही? और वो क्या था, जो तुम बता रहे थे?मैं- क्या?दीपक- कुछ नहीं यार … वो तो मैं ऐसे ही मस्ती कर रहा था.