देसी बीएफ फुल वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी व्हिडिओ हिंदी सेक्सी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू बीएफ पिक्चर दिखाएं: देसी बीएफ फुल वीडियो, जब दीदी की आवाज निकली तो मैंने कहा- क्या हुआ दीदी … आवाज बड़ी मीठी निकाल रही हो … जीजा जी से चुदने में मजा नहीं आता है क्या?दीदी हंसती हुई बोलीं- नहीं रे, अपने भाई का लंड का अहसास लेते ही मेरी मुनिया मचल उठी और मेरी आह निकल गई.

ऊंट सेक्सी

चुदाई खत्म हुई तो दीदी की सास ने अपनी साड़ी ठीक की और मैं भी पैंट पहन कर बाहर आ गया. baap bete सेक्सी मूवीमेरी बहन ने भी सारी बात सुन ली थी, वो भी बहुत खुश थी और मम्मी भी खुश थीं क्योंकि अब मैं जॉब करने वाला था.

जब मैंने उसके मुँह से ये सुना कि ये भी मेरे साथ सेक्स में शामिल होना चाहती है, तो मुझे यकीन ही नहीं हुआ. चोदा चोदी सेक्सी वीडियो दीजिएअब वो लंड पर उछल कर अपनी चूत से लंड को चोदने लगी।आहह आहह ओहहह की आवाज से जोश बढ़ने लगा।मैं उसकी चूचियां, होंठों को चूमने लगा वो लंड पर उछल उछल कर पूरा लौड़ा अन्दर तक ले रही थी।थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और चोदने लगा.

मैंने कहा कि ये सब श्रेया ने तुमको बताया!उसने कहा- मैंने सब अपने तरीके से पूछा था … तो उसने मुझे सब बता दिया.देसी बीएफ फुल वीडियो: एक दिन आंटी ने कहा- तुम मेरे बच्चे को ट्यूशन देने लगो तो उसकी पढ़ाई सुधर जाएगी.

मेरे पापा के एक दोस्त राजेश हैं जो पापा के साथ ही कंपनी में काम करते हैं.उन्होंने अपने लाल होंठों पर एक प्यारी सी मुस्कान बिखेरी … और मुझे अन्दर आने का इशारा किया.

सेक्सी वीडियो लड़कियों की - देसी बीएफ फुल वीडियो

मैं लगातार 2 महीनों तक सबसे उच्चतम मैनेजर के तौर पर चुनी गई थी … और सब मेरे काम से बहुत खुश थे.जैसे ही मैंने रेखा आंटी की चूत को चाटना चालू किया, वो गर्मा उठीं और बोलीं- आह लाजवाब योगी … तुमने तो मुझे पागल कर दिया.

उसने मुझे अपनी ओर खींचा और मेरे होंठों को अपने होंठों में दबाकर किस करने लगा. देसी बीएफ फुल वीडियो दोस्तो, जब मैंने अपने हनीमून में अपनी दुल्हन समीक्षा को पूरा दम लगा के चोदा था तो कमरा आवाजों से गूंजता रहा था.

मैं उसे जाते हुए मचलती गांड को हिलते हुए देखने लगा फिर बेमन से गेट खोलने चला गया.

देसी बीएफ फुल वीडियो?

इस घटना के बाद वो मुझे अक्सर अजीब सी नजरों से देखने लगी और जब भी मैं सुसु करने जाता, वो उसी समय मेरे पास आकर मुझसे बात करने लगती और मेरा लंड देखने की कोशिश करती. मार्केटिंग में एमबीए करने के बाद मुझे दिल्ली के ही एक बड़ी कॉरपोरेट कंपनी में जॉब मिल गयी और मैं पिछले 8 साल से उसी कंपनी से जुड़ी रही. सलमा के चेहरे के भाव बताने लगे कि उसका काम हो गया है लेकिन मेरा तो नहीं हुआ था.

फिर मैंने अर्शिया की पैंटी के ऊपर से ही उसकी गांड को सहलाना शुरू कर दिया. मैं उसके करीब जाकर उसके ठीक पीछे खड़ा हो गया; उससे लगभग चिपक सा गया. लेकिन अभी तक निशा ने अपने हाथ को मेरे हाथ से छुड़ाने की कोशिश नहीं की थी.

अब मां भी सब भूल कर अंकल का साथ देने लगी थीं और अपनी गांड को ऊपर उठा कर लंड लेने लगी थीं. अर्शिया की ब्रा सिर्फ मम्मों पर टिकी थी, तो मैंने ब्रा को थोड़ा सा नीचे की तरफ खींचा, इससे उसकी ब्रा मम्मों से नीचे आ गई. उसका भी रिप्लाई आ गया- हाय जीजू … आप अभी तक जाग रहे हैं! … सिमरन कहां है!मेरी पत्नी का नाम सिमरन है.

मैंने भी साबुन उठा कर उनकी चूत पर रगड़ना शुरू किया और थोड़ी देर में ही उनकी चूत भी झाग से भर गई. जैसे जैसे डिस्चार्ज का समय करीब आ रहा था, लण्ड मोटा और कड़क होता जा रहा था.

शाम में मैं और वो दोनों बाहर जाकर खाकर आते थे … और थोड़ा बहुत शाम में साथ टहल लिया करते थे.

करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरे लंड से मेरा कामरस निकलने वाला था.

मैंने उसकी पोजीशन बदली और उसकी टांगें हवा में उठा करचुत में लंड पेल कर चुदाईकी ट्रेन चला दी. लेकिन जब मैंने उससे उसका उत्तर मांगा तो वो बोला- मुझे इसके सोचने के लिए कुछ समय चाहिए. मुझे नींद नहीं आ रही थी, मेरे दिमाग़ में सिर्फ लाल साड़ी में स्नेहा की मादक छवि ही घूम रही थी.

मैंने खुजाने के बहाने अपना दायां हाथ उठाया और बाएं कंधे पर, जहां उसका लिंग रगड़ रहा था … वहां ले जाकर कंधा खुजाने लगी. मैं शहर में रहती हूँ इसलिए मैं बहुत बार अपने पड़ोस की औरतों के साथ बाजार करने और ब्यूटीपार्लर जाती रहती हूँ. इसी धक्का-मुक्की में मेरी साड़ी सिमट कर किनारे हो गई और मेरा भरा पूरा मांसल गोरा पेट, ब्लाउज के नीचे से नाभि के 4 अंगुल नीचे तक नंगा हो गया.

आइसक्रीम खाने के बाद मैंने उससे कहा- तुम बैठो, मैं नहा कर आता हूँ … थोड़ा फ्रेश फील होगा.

मैंने कहा- क्या कर रही है यार? ये क्या हो गया है तुझे?अश्मि बोली- क्यूं, तुझे छूना नहीं है क्या इनको? उस दिन छत पर तो बहुत मजे ले रहा था इनको देखते हुए?मेरी बोलती बंद हो गयी. उन्होंने मक्खन जैसा चिकना और रूई जैसा मुलायम लौंडा शायद आज तक नहीं देखा था. इसके बाद अगली बार जब वो आए थे, तो हम एक सप्ताह के मनाली भी घूमने गए थे.

वो मेरी बात मान गयी लेकिन उसने एक बात पूछी- तुम मुझे कितने दिन में मुझे मिलोगे?मैंने उससे कहा- मैं एक कमरा किराए पर ले लेता हूँ. अब मैं रोज रात को मम्मी और पापा की चुदाई देखने लग गयी और मेरा हाथ कब पता नहीं चूत पर जाने लग गया. मैंने कहा- मैं तो तेरी अम्मा को भी चोद सकता हूं … लेकिन उससे मेरी गांड फटती है.

मुझे मालूम था तो सुबह से ही मैंने उसे बाहर घूमने के लिए मना लिया था.

देखिए न आज बादल भी लगे हुए हैं … अगर बारिश हुई तो हम दोनों बारिश का पूरा मज़ा उठाएंगे. उस दिन हमारे बीच में क्या हुआ, मैं वह सब अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगी.

देसी बीएफ फुल वीडियो वो ‘आहह आहह …’ करके चुदाई का मज़ा ले रही थी और चिल्ला रही थी- आह तेज़ तेज़ चोद बिहारी … चोद मुझे मैं रंडी हूं … आह माँ के लौड़े मेरी चूत फ़ाड़ दे आहह हहह ऊईई ईईई … और तेज़ तेज़ अन्दर तक घुसा दे. मैंने दीदी की चुत चुदाई की और उनकी चुत झड़ते ही मैंने फिर से दीदी की गांड में लंड पेल दिया.

देसी बीएफ फुल वीडियो मेरी पिछली कहानी थी:मामा की जवान बेटी की गांड फाड़ीमेरे चाचा चाची लखनऊ में रहते हैं. दीदी की चूत की पंखुड़ियां रगड़ रगड़ कर मेरे लंड को लाल कर चुकी थीं.

अब मैंने उनको कस कर बांहों में जकड़ा और मुँह में जीभ घुसेड़ कर चूसते चूत की मां चोदने में लगा था.

सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्सी सेक्स

उसने जो भी मुझे बताया था, वो एक बार में ही मैं लिख कर बता देता हूँ. जब मैं वापस आया … तब मैं भी बहुत खुश था क्योंकि मेरा सिलेक्शन एक मल्टी नेशनल कंपनी में हो गया था. मैंने मालती से कहा- मालती, मैं राज शर्मा हूं और बिल्डिंग का किराया मैं ही आंटी को पहुंचाता हूं.

Xxx ब्रदर एंड सिस्टर कहानी के पिछले भागमेरी दीदी की नंगी चूत मेरे सामनेमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी दीदी मुझे चुदने के लिए सुहागन बनी हुई थीं. मैंने उन दोनों लड़कियों की ओर देखा तो उन्होंने एक साथ स्माइल करते हुए हाय कहा. उत्तेजना के चरम उल्लास में शीना की योनि रस से डूबे, मेरे लंड ने स्पीड और बढ़ा दी.

मैं उनकी दुकान से पारले जी बिस्कुट लेने गया था जो ऊंचाई के ऊपर रखे हुए थे.

इस तरह से मालिश करते हुए एक टाइम ऐसा भी आया कि मेरी उंगली उनकी गांड में घुस गई. किस करते करते रघु ने अपना एक हाथ उसकी ब्रा में डाल दिया और उसका एक दूध बाहर निकालकर चूसने लगा. थोड़ी देर में इसी तरह की आवाजें फिर सुनाई देने लगीं, तो मुझे लगा कि दाल में कुछ काला है.

मैं समझ गया था कि दिशा की तरफ से हरी झंडी है, इसके साथ चुदाई की कोशिश की जा सकती है. उसको चूसते हुए मैंने उसकी टी-शर्ट को निकाल दिया और उसकी गर्दन और कान की लौ को चूसने लगा जिससे कोमल के निप्पल कड़े होकर मूँगफली जैसे हो गए. उसी समय मैंने साली साहिबा को दूसरे कमरे में जाते देखा तो दस मिनट बाद मैंने उसे व्हाट्सैप पर हाय लिख कर भेज दिया.

पहले तो उसने विरोध किया लेकिन फिर उसने भी मेरा साथ दिया और हम एक दूसरे को चूमने चाटने लगे. मैं आपको मिहिरा के बारे में बता दूँ कि वो एक सुन्दर, कमसिन, कोमल, हॉट एवं काफी प्यारी सी लड़की है.

मैं भी उनका साथ दे रहा था और अपने हाथों से भाभी के मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही मसल रहा था. दोस्तो, मैं मानसी रावत एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करती हूँ. क्लास खत्म होने के बाद जब कुछ और लड़कियां उसको रोकने लगीं, तब भी वो नहीं रुका और चला गया.

मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी मकान मालकिन की बड़ी बेटी मालती की चुदाई की है, जिसको उसकी सगी छोटी बहन ने ही मेरे बिस्तर तक पहुंचाया था.

उसके स्तन भी ऐसे उभरे थे … जैसे अभी अभी शादी हुई हो और उसका पति उसे हर रोज चरम सुख देता हो. आधी उंगली को और अन्दर किया, तो उंगली अन्दर जा नहीं पाई … इसका मतलब था कि उसकी चूत की झिल्ली अभी फटी नहीं थी. मैंने आगे उनकी चैट पढ़ी, तो पाया उसमें दीदी ने आशीष को लिखा था कि मुझे मालूम है कि तुम ही वो लड़के हो जो मेरी दोनों बहनों की रोज़ ले रहे हो, उन दोनों के मोबाइल में तुम्हारी फ़ोटो है.

उसके बाद मैं उनके लंड को हिलाने लगी और उनका लंड दोबारा पूरा खड़ा हो गया था. उसने आधा दरवाजा खोला और अन्दर से ही सर निकाल कर बोला- थोड़ा रुको … ज़रा जरूरी काम कर रहा हूँ.

मैं उनके दोनों मम्मों को मसलने लगा और उनकी दोनों चूचियों को बारी बारी से पीने लगा. उसने मेरे लंड को चुत में लेकर खूब उछल उछल कर चूचियां हिलाईं और मैंने दबा दबा कर चूचियां चूसीं. उसकी लंबी जीभ जब मेरे लंड पर चढ़ी, तो लंड को मानो किसी गर्म लार के कुएं में गोता लगाने लगा.

साउथ में बीएफ एचडी

मैं खड़ा हुआ और उसके पास गया लेकिन उसने कहा- थोड़ा सब्र करो यार!वो मेरे बैग लेकर अपने बेडरूम की ओर चली गयी और जाते जाते बोली- जब मैं बुलाऊं, तब आना.

हम दोनों फोन सेक्स में इतने खुल चुके थे कि हमारे बीच में अब कोई औपचारिकता नहीं बची थी. अपने बाएं हाथ में फोन लेकर उसने शायद मैसेज में कुछ लिखा और मोबाइल को तिरछा करके मेरी तरफ घुमाया. मेडिकल स्टोर से गोली और डॉटेड कॉण्डोम का बड़ा पैक लेकर आंटी के पास पहुंच गया.

जेठ जी ने कहा- आखिर मैं इस चेहरे को इतना प्यार करता हूं, इसके लिए मैं सारी मर्यादा भूल चुका हूँ. वो चुदाई के खेल की पुरानी खिलाड़ी थी और अपनी कला दिखाते हुए लंड को मस्ती में चूस रही थी. ji की चुदाई सेक्सीमैं उसकी बात से चौंक गई और हंसने लगी- ये कैसी बात … पहले गर्म फिर ठंडा!वो मेरे बदले हुए रूप से अचकचा गया और बोला- आहहां … गर्म ठंडा बाद में होता रहेगा.

उसने मेरे पल्लू को हटा दिया और मेरी पीठ और कमर को सहला कर देखने लगा. तभी पापा ने मुझसे पूछा- विवेक, तुमने अपनी पढ़ाई तो पूरी कर ली है, अब आगे क्या सोचा है?मैंने कहा- पापा बस अब मैं सोच रहा हूं कि आपकी तरह कोई जॉब मिल जाए, तो मज़ा आ जाए.

नाज की बुर के लबों को फैलाकर अपने लण्ड का सुपारा सेट करके मैंने नाज की कमर पकड़कर लण्ड को ठोक दिया. मैंने कहा- मेरा शेर अब शेरनी को दबोच कर मारने के लिए पूरी तरफ तैयार है. उस दिन मुंतज़िर ने मुझे प्रपोज़ कर दिया- फरमान आई लव यू!पहले तो मुझे मजाक लगा.

मैंने मुमताज को पीठ के बल लिटाकर चूतड़ के नीचे तकिया रखा और मुमताज पर लेटकर उसके होंठ चूसने लगा. एक घंटे बाद मैंने उसे फिर से गर्म किया और इस बार अपने लंड पर उसे कुदाया. लंड अन्दर घुसेड़ने के नाम पर वो मेरे लंड को मसल रही थी और उसकी मुठ मार रही थी.

पोर्न फॅमिली सेक्स कहानी के पिछले भागदीदी के बेडरूम में दीदी को चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि दीदी की सास को मैंने अपनी बांहों में खींच लिया था.

मेरे प्रोमोशन के ख़ुशी में उन्होंने मेरे लिए अपने घर पर एक छोटी सी पार्टी भी रखी थी जहां उन्होंने बस मुझे न्यौता दिया था. मगर मैं अभी भी उसकी बातों को अनसुनी करते हुए उसकी चुत को चाटता रहा.

दोस्तो, इसके बाद मैंने कई बार चंडीगढ़ जाकर अशी को चोदा और अब भी उससे ही प्यार करता हूँ. दोस्त बनोगी न मेरी!रानी- आपने इतना कुछ किया है मेरे लिए … तो न करने का सवाल तो है ही नहीं. अब उनके मुंह से कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह आह आह ओह याह फॅक मी हार्डर … आह ओह युवी … यु फक सो गुड.

वह कभी मेरी कमर और मेरे पेट पर हाथ फिराता तो कभी मेरी जांघों पर किस करता. उन्हीं दिनों मेरे दूर के रिश्ते की ममेरी बहन श्रेया मुंबई जॉब करने के लिए आयी थी. अब बस ये देखना रह गया था कि आशीष संजना की चुत की ओपनिंग कब करता है.

देसी बीएफ फुल वीडियो ”मैं समझी नहीं कि मुझ जैसी नाचीज़ आपके किस काम आ सकती है?”तुम नाचीज़ नहीं हो, शबाना. ”दो दिन बाद मुमताज़ बुर्का पहनकर आई तो मैं उसे अपने हरम में ले गया जहाँ गांव की तमाम लड़कियां, औरतें, मुमताज की माँ शबाना और बहन नाज मेरे लण्ड का मजा ले चुकी थीं.

बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो ओपन

आंटी की मदमस्त आहें निकलने को थीं मगर होंठ बंद थे तो बस ऊंह ऊंह करके रह गईं. मैंने एक बात नोटिस की कि वो औरत भी सिगरेट पी रही थी लेकिन उसका स्मोक करने का अंदाज़ कोई अलग सा था. वो काफ़ी गीली हो चुकी थी और यह देख कर मैंने झट से उसकी पैंटी भी निकालते हुए उसकी टांगें फैला दीं.

इससे मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई और मैंने थोड़ा जोर से बोबे दबाना शुरू कर दिए. फिर उनकी पैंटी अलग कर उसकी क्लीन शेव्ड चूत देखी तो मेरे मुँह में पानी आ गया. सनी लेओन सेक्सीये सेक्स कहानी जिसमें मैंने सेक्सी साली को चोदा, मेरी दूर की साली साहिबा और मेरे बीच हुए उस मिलन की है, जिससे मुझे एक नया एक्सपीरियेन्स मिला था.

ये सब कुछ ही क्षणों का खेल था, जितनी सी देर बस के ब्रेक से झटका लगा.

उनका एक पैर ऊपर की ओर उठाया और आगे से लंड को उनकी चूत में डाल दिया. आंटी की चूचियां आपस में रगड़ खाती हुई बड़ा ही मादक सीन पेश कर रही थीं.

भाभी- पढ़ाई तो होती रहेगी … ज्यादा पढ़ने के चक्कर में कहीं खेती ही न सूख जाए!मैं फिर से चौंक गया कि भाभी कौन सी खेती सूखने की बात कह रही हैं. रोशन को ये पता ही नहीं था कि उसका पति सोढ़ी बाहर ड्राइंगरूम में अपना लंड हिला रहा है. वो शर्म से कुछ नहीं कह पा रही थी क्योंकि मैं उसके पति की बुराई जो कर रहा था.

भाभी ने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

दूसरी तीसरी बार का मामला होता तो ऐसी मखमली चूत का रस तो मैं पहली बार में ही निचोड़ कर पीता. हाथ से अहसास हुआ कि मेरी मौसेरी बहन की चुत काफी मुलायम और चिकनी है. पहले बार मैंने आंटी की नाम की मुठ तब मारी थी, जब मैंने आंटी की चूचियों की गली देखी थी.

हॉट सेक्सी फिल्म चुदाईएक दिन आंटी ने कहा- तुम मेरे बच्चे को ट्यूशन देने लगो तो उसकी पढ़ाई सुधर जाएगी. मैंने फिर से गाड़ी चलाना स्टार्ट किया और भाभी से पूछा- पहले तो आप मुझ पे गुस्सा हो रही थी.

चाइनीस बीएफ फिल्म

मैं सुनील की कमीनगी को समझने की कोशिश कर रहा था कि साला चलती ट्रेन में क्या गुल खिलाने की जुगत कर रहा है. मैंने सुमन की बहन सरोज को उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी सलवार उतार दी. उसने पल की भी देर न की और लपक कर मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया.

सारी चीजें अपने हाथ में नहीं होती हैं ना!मुझे बाजू में खड़ा देख कर मेरा बॉस मेरे करीब आया और मुझे नाचने के लिए अन्दर खींच कर ले जाने लगा. दोस्तो, सेक्स करना था मुझे रूपा भाभी से पर उनकी जवान लौंडिया मेरे साथ मस्त होने लगी थी. अन्दर जाते ही पहले तो उसने मेरी अधखुली साड़ी उतारी और बिस्तर पर मुझे लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गया.

मैं अब रोज़ उसकी चैट पढ़ता जो कि उन दोनों के बीच होती और वो आपस में चुदाई की बातें करते. मैंने शर्ट उठा के भाभी की गांड के नीचे रख दिया और अपना लंड बाहर निकल लिया. उसको श्रेया कभी भाव नहीं देती थी क्योंकि श्रेया का पहले से एक बॉयफ्रेंड था.

जब मैंने उनको देखा, तो पूछा- अंकल क्या चाहिए?वो बोले- कुछ नहीं बस तुम्हें देखा तो आ गया. उसने रंगोली को झुकाया और अपना भी एक पैर कमोड पर रखके पीछे से रंगोली की चूत में अपना लंड डाल दिया और उसके बाल पकड़ कर उसे चोदने लगा.

दिन में शिवानी मेरे सामने चार बार आई और हर बार उसने मुझे अपने जिस्म की नुमाइश करके मुझे गर्म कर दिया था.

उसने मुझे देख कर एक स्माइल के साथ कहा- सौरभ, तुम इस समय यहाँ?मैंने कहा- जो मेरा काम बाकी राह गया था उस दिन … वो आज पूरा करना है. एचडी डाउनलोड सेक्सी वीडियोवो भी मुझे कभी एक चूसने को दे देतीं, तो कभी दूसरी चूची चुसवाने लगतीं. हिंदी पुलिस वाली की सेक्सी वीडियोउसकी चुत का रस उसकी गांड के छेद को भिगोता हुआ नीचे चादर तक आ रहा था. अब मैं अपने लंड का सुपारा मौसी की गांड पर टिका कर घिसने लगा और धीरे से धक्का दे मारा.

उसने हां कर दी और हम दोनों ने रास्ते में रुक कर साथ में ही चाट खाई.

काले लंड पर मां का थूक लगने से वो कुछ ज्यादा ही चमकीला नजर आ रहा था. निशा का अब तक रोम रोम खड़ा हो चुका था, जो उसकी तेज चलती हुई सांसों से पता चल रहा था. मैंने देर न करते हुए उसके होंठों पर होंठ रखे … हाथों को पकड़ते हुए एक के बाद एक करके 3-4 धक्के लगा दिए.

फिर मैंने अलीज़ा की चूत में आठ दस जोर के धक्के मारे और मैंने अलीज़ा की चूत में अपने लंड का पानी निकाल दिया. नील मेरी बात सुनकर गर्म होकर मेरे लंड को हिलाते हुए मेरे होंठों में अपने होंठों को डालते हुए बोला- आज ओपनिंग कर लो. मैंने सीधे लेट कर भाभी की टांगें फैलाते हुए ऊपर उठा दीं और उनकी चिकनी चुत पर लंड टिका दिया.

बीएफ भेजो सेक्सी में

भाभी ने घर के बगल वाले कमरे का दरवाजा खोला और बाहर मेन दरवाजे पर सामने से आ गईं. मेरे लंड पर आने से पहले आंटी ने मेरा लंड मुँह में डाला और चूसने लगीं. तभी निशा ने भी अपना एक हाथ नीचे ले जाकर उसने मेरा लौड़ा पकड़ लिया और उसपर मुठ मारने लगी.

दीदी मुझको बहुत ही खुश नजर आ रही थीं और मेरा भी मन बहुत ही प्रसन्न था.

भाभी ने दूध हिलाते हुए मुझसे पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं भाभी … आपका मंगलसूत्र देख रहा था.

दस मिनट तक उसकी चूचियों को चोदने के बाद मैंने उससे लंड पर बैठने को कहा और मैं लेट गया. फिर मैंने अपनी एक उंगली पर थूक लगाया और उसके दोनों चूतड़ पकड़ कर ऊपर उठा दिए. सेक्सी फिल्म हिंदीमे व्हिडिओमैं उनकी दुकान से पारले जी बिस्कुट लेने गया था जो ऊंचाई के ऊपर रखे हुए थे.

अन्दर आकर मैंने कुंडी लगा ली और सीधे ही रानी के बेडरूम में पहुंच गया. लंड का टोपा उसके मुँह में ठीक से एडजस्ट नहीं हो पा रहा था लेकिन फिर भी वो मुँह में खींच खींच कर लंड चूस रही थी. ये सिलसिला करीब एक साल चला और इसी बीच मेरी छोटी बहन संजना रावत का स्कूल भी खत्म हो गया.

यह कूल्हों से शुरू हुआ दोनों का जोड़, नीचे मेरे घुटनों तक जा रहा था और फिर उसका घुटने से मुड़ा हुआ पैर पिंडली से वापस मुझसे सटा हुआ था. उसके हाथों को ऊपर करके पूरी पीठ को और बगलों को चूमने और सहलाने लगा.

मेरा हाथ मुंतजिर के मम्मों पर कस गया और मैं उनके होंठों का रसपान करने लगा.

उसकी सांसों के साथ उसके छोटे छोटे उरोज भी ऊपर नीचे होने का अहसास करा रहे थे. हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा भी रहे थे, आंखों ही आंखों में बातें हो रही थीं. कोहनी के नीचे से लेकर कलाई तक उसका हाथ मेरे नंगे पेट पर पूरे दबाव से चिपक रहा था.

गोविंदा की सेक्सी वीडियो ऊपर से वह मेरे चौड़े सीने के नीचे दब चुका था और उसके दोनों हाथों को मैंने ताकत से पकड़ते हुए उसकी बॉडी को जाम सा कर दिया था. फिर रश्मि सोफ़े पर बैठ गई और डायरेक्टर उसे पोज देने और एक्टिंग करना समझा रहा था.

जेठजी अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे और मेरी चूत में उनका लंड चला गया. उसने अपनी गोद में बैग रखा हुआ था, तो उसके लिंग के भाव को ना तो मैं देख पा रही थी … ना ही कोई और. लंड झड़ जाने के बाद भी वो मेरे लंड को नहीं छोड़ रही थी‘अब मुझे जाना होगा.

बीएफ वीडियो सेक्सी एक्स एक्स एक्स

धीरे धीरे नीचे सपाट पेड़ू का निचला हिस्सा, एकदम दूध सा ऐसा चिकना, जैसे आज ही किसी ने पूरी फसल कटाई करके जमीन को समतल किया हो. चल मादरचोद उल्टी लेट जा साली … तुझे भी मजा आएगा और मैं भी खुश हो जाऊंगा. मैं दीदी के बाजू में ही लेटा था तो उनकी रसभरी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा.

वह मेरे नीचे लडकियों के तरह लेट कर अपने होंठों को मेरे होंठों से चुसवा रहा था. मैंने भी अपना एक हाथ बढ़ाया और उसकी कमर पर रख दिया और उसकी गांड पर लंड रगड़ने लगा.

वो बोली- मैं मेकअप करना जानती तो हूँ … पर मैंने आज़ तक किसी लड़के का मेकअप नहीं किया है.

उसके बाद बारिश में भीगती हुई मैंने अपनी बहन आरू को गोद में उठा लिया और उसने भी मुझे जोर से पकड़ लिया. दो मिनट बाद मैंने लौड़े को चूत से बाहर निकाला और चूत में भरे हुए अपने ही लौड़े के पानी को पूरा चूस चूस कर अपने मुँह में भर लिया. मुझे हर रात उनकी बांहों में सोने की आदत थी और उनके न होने से बहुत ज्यादा अकेलापन महसूस होता था, खास कर रात को.

इस बार भी हम दोनों ने एक दूसरे के होंठों को चूस चूस कर गीला कर दिया. मुझे तो इतना अच्छा लग रहा था और मैं सोच रही थी कि मेरी जिंदगी में हर समय इसी तरह की अवस्था बनी रहे. वो भी लंड की प्यासी लग रही थी इसलिए कुछ देर बाद नीचे से अपनी गांड उठाकर चूत को लंड की ओर धकेलने लगी।अब ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरा लंड उसकी चूत की चुदाई नहीं कर रहा है बल्कि उसकी चूत ही मेरे लंड को चोद रही है.

मैंने उससे कहा- अशी आई लव यू … मैं तुम्हें अब भी पहले जितना ही प्यार करता हूँ.

देसी बीएफ फुल वीडियो: आप अपने कमेंट्स और मेल करना न भूलें कि मेरी सेक्सी चुत चुदाई आपको कैसी लगी?[emailprotected]. तो मैंने रघु से कहा- अगर वो अपनी मर्ज़ी से राजी हुई है तो कोई बात नहीं … लेकिन पूरा किराया तू ही देगा.

मेरा बदन अब तपने लगा था और इस तपन में उसका सटा हुआ शरीर और अगन बढ़ा रहा था. वो मेरे लंड पर ऐसे उल्टी टंग गई, जैसे उसकी गांड में खूंटा पर टांग दी हो. हो सकता है कि लिखने में गलती हो जाये इसलिए आप उसे नजरअंदाज करना।दोस्तो, मेरा नाम महेश है.

मैं उनका लम्बा और मोटा खड़ा लंड देख कर सहम गई लेकिन चूत में चुनचुनी हो रही थी कि बस किसी तरह से इस लम्बे लौड़े से चुद लूं.

उसने इतना बोल कर मेरे मोबाइल में कुछ फोटो भेजे और बोली- इसी तरह से रहा करो, तो सब आपसे बात करेंगे. जब मैंने अशी से उसके गमन के साथ चुदाई के बारे में पूछा तो वो पहले तो मुकर गयी … लेकिन बाद में मान गयी कि वह गमन के कमरे में गयी थी. सेक्स करना है मैंने पड़ोस की भाभी से … यह इच्छा मैं काफी समय से अपने दिल में दबाये बैठा था.