अंग्रेजी बीएफ का वीडियो

छवि स्रोत,दुनिया का सबसे सुंदर घोड़ा

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सरकारी: अंग्रेजी बीएफ का वीडियो, फिर साड़ी को पूरा ऊपर कर दिया, अब मेरी कमर से नीचे पूरी नुमाइश हो रही थी.

सेक्सी व्हिडिओ मराठी

इतने में मनोहर जोर से मेरी कमर को उठाया और मेरी चूत में पूरा लंड अन्दर घुसा कर बोला- वन्द्या तेरी चूत और तू बहुत ही मस्त है. सेक्सी वीडियो फुल मूवी सेक्सीउसने बोला- वन्द्या मौसी, अब इस खेल को आगे आप ही बताओ, मुझे इतना तक ही पता है.

दो-तीन मिनट बाद मैं अपनी कमर उछालने लगी, पता नहीं दर्द कहां गायब हो गया, मुझे खुद समझ नहीं आया. गुजराती सेकसीफिर मैं अपने हाथ से मामी जी के बदन को सहलाने लगा, जिस से वो नॉर्मल होने लगीं.

लेकिन जैसे ही राहुल के होंठ मेरे होंठों से अलग हुए, मैं राहुल को धक्के देकर अपने घर की तरफ़ भाग गई.अंग्रेजी बीएफ का वीडियो: फिर अचानक से उसने मेरे सर को जकड़ लिया और अपना गर्म गर्म पानी मेरे मुँह पे निकाल दिया, जिसको मैं हल्का सा पी भी गया.

लंड की मुठ मार कर बापू सिर्फ पद्मिनी की जाँघ और पेंटी देख कर और छूकर ही खुश हो गया था.हमने ऐसा तय किया है कि सारी कहानियां हम दोनों मिलकर लिखेंगे, ताकि पढ़ने वालों का मजा दुगना हो जाए और दोनों को अपनी बात रखने का मौका मिले.

काका मटका - अंग्रेजी बीएफ का वीडियो

वासना और प्यार से परिपूर्ण यह हिंदी सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है, प्लीज़ मुझे मेल करें.अब मैंने आंटी की कामवासना की कद्र करते हुए अपना लंड आंटी की चूत में घुसा ही दिया.

राहुल अब मेरी चुचियों को छोड़कर मेरी लैग्गी को नीचे सरका कर धीरे से अपने होंठों को मेरी चूत पर ले आया. अंग्रेजी बीएफ का वीडियो एक ओर उनके रस भरे यौवन को चखने के लिए मन व्याकुल था, वहीं दूसरी ओर रिश्तों की मर्यादा का भी ख्याल था.

मुझे सेक्स में गालियां देना और सुनना, नंगेपन की हद तक जाना बेहद पसंद है.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो?

वो मुझे धीरे धीरे चोद रहा था और मैं आहें भरते हुए उससे चुदवा रही थी. इसलिए आगे से मैं तुम्हारी चूत की पूरी सेवा करूँगा और तुम मेरे लंड की किया करना. एकदम असली चुदाई की कहानी है, लेकिन अगर आप पसंद करेंगे तो ही लिखूंगा.

सेक्स तो दूर की बात है।हालाँकि अब्बू सऊदी छोड़ अब यहीं रहते हैं लेकिन घर पर उनके पांव कम ही टिकते हैं, सो जब तक समर की शादी नहीं हो जाती, पूरी सुविधा है मुनिया की खुजली मिटाने की. मैंने ऋतु के निप्पलों को पकड़ा और चूसना शुरू कर दिया, उसने भी मेरे सर को अपने बूब्स पे दबा दिया और बोली- चूसो और जोर से चूसो. कमलेश सर फिर दस मिनट बाद मुझे कुछ सवाल देते हुए जल्दी ही मेरे घर से चले गए.

लेकिन हाल ही में मैंने कुछ ऐसा अनुभव किया है, जो सभी को नसीब नहीं होता. ”मैं अपने मम्मे रगड़ते हुए बोली- ये अब तुम्हारी ही है, चाटो, मारो कुछ भी करो. फिर भी मैंने चौंकते हुए कहा- मैं?तो वो बोलीं- अरे यार, यहां कोई और भी है क्या.

अब वो मेरे ऊपर चढ़ गया और अपना लंड मेरी चुत पर लगाकर धक्का मारने लगा. मंजू की जोरदार चीख निकली- आईई… मा… नहीं… रुको प्लीज़!लेकिन राज ने तब तक स्पीड पकड़ ली थी! अब मंजू की चुत में दर्द था किन्तु हल्का!मंजू अब चुदाई में मग्न होने लगी थी, उसके मुख से ‘ओह्ह… आहह…’ की मधुर आवाजें शुरू हो चुकी थी.

उस समय सुजाता के घर में टी वी नहीं था तो वो देखने के लिए मेरे ही घर आती थी।एक दिन रविवार को वो मेरे घर टी वी पर उसका फेवरेट सीरियल देखने के लिए आई थी.

वे बोलीं- इस पल के इंतज़ार में न जाने कितने साल गुज़ार दिए दामाद जी.

जैसे ही उसने मुझको पूरी नंगी देखा तो बोल उठा- चाचा सच में तुमने क्या माल पटाया है, यह उम्र में छोटी लग सकती है, पर यह बहुत बड़ी माल आइटम है. अब मैंने शर्म हया सब त्याग दी, मेरा कण्ट्रोल खुद पे नहीं रहा था, बस अब सामने एक हट्टा कट्टा मर्द दिख रहा था जिसका लौड़ा उसके बाप से भी लम्बा था. मुझे पूरा यकीन था कि अब नौकरी तो जाएगी ही, मालिक जेल में भी बंद करा दे, तो कोई बड़ी बात नहीं होगी.

मैंने जल्दी से उठ कर बाथरूम में जाकर बुर साफ की और ब्रा पैंटी पहन कर चूचियों को सही से ब्रा में सैट किया. शायद यह एक स्टाइल था जो कि श्लोक को खुश करने के लिए बनाया हुआ था।मैंने मंत्रमुग्ध सा अपनी नंगी पड़ी सलहज को देखता रहा. रूबी बोली- मेरे जैसों को ठरकी बूढ़े ही ज़्यादा मिलते हैं, तुम्हारे जैसे जवान कम ही मिलते हैं.

इसी दौरान मेरे को लगा कि मेरे को पेशाब आने वाला है तो मैंने उसको बोला तो वह बोली- मेरे अंदर ही कर दो.

मैं धीरे धीरे उसकी नाभि को किस करते हुए उसकी जांघों तक पहुँचा और उस पर किस करने लगा लगा. अभी स्कूल में पढ़ती हूं, पर अभी से मेरे जिस्म को मर्दों की जरूरत होने लगी है. तीनों ने अपना कॉलेज और कोचिंग छोड़कर तब तक घर में रहने का निर्णय लेते हैं जब तक उनके माता-पिता वापिस नहीं आ गए और इस दौरान घर में बस चुदाई ही चुदाई चलती रही.

मैंने मंजू की सिसकारियां सुन उसके हाथों को ढीला छोड़ दिया और राज उसे अपनी गोद में बैठा कर फिर से चूमने लगा. तभी मुझे मेरे हाथों पर थोड़ी हरकत महसूस हुई तो मैंने देखा कि तुषार भैया धीरे धीरे मेरे हाथ को अपने बॉक्सर के करीब ले जाने लगे. मैंने हँसते हुए कहा- रेखा तू इतनी भोली तो न बन… तू दूध पीती बच्ची नहीं है… यहाँ होटल में बुलाया था तो इतनी तुझ में भी समझतोहै कि होटल में रामायण का पाठ तो नहीं करेंगे… पाठ तो होगा ज़रूर लेकिन कामदेव का.

करीब पौने ग्यारह बजे मैं होटल जा पहुंचा और लॉबी में बैठ कर रेखा का इंतज़ार करने लगा.

फिर वो लेट गईं और मैं उनकी बगलें चाटते हुए उनकी ब्रा के साइड में आ गया. फिर मैंने अपने मोटे हो चुके लंड को उसकी स्कर्ट के नीचे से उसकी टाइट गांड में लगा दिया.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो मैं विरोध करने लगी, तो कमलेश सर ने मेरे होंठों में अपने होंठों को रख दिया और मेरे जीवन का पहला लिप किस कमलेश सर ने ले लिया. मैंने चाची से पूछा- क्या आपका कोई ब्वॉयफ्रेंड था?उन्होंने तुरंत उत्तर दिया- हां बहुत थे.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो उसने दोनों हाथों से मेरा लंड पकड़ कर लंड का टोपा चूसना शुरू कर दिया, साथ ही अपने दोनों हाथ मेरे लंड पे भी फिरा रही थी. हमने फिल्म देखना स्टार्ट किया, कुछ ही देर में फिल्म में हॉट सीन स्टार्ट हो गए.

मैंने मम्मी को कहा कि आप लोग तो मुझसे बोली थीं कि आप लोग शाम को आ जाओगी?तो मम्मी बोली कि क्या करूँ बेटा शादी का घर है न.

नौटंकी बीएफ

पर इस वक्त इस कमरे में हम दोनों के अकेले ना होने की वजह से आंटी ने मेरे लंड को पैन्ट बाहर नहीं निकाला था. अब आगे पढ़िये:जब मैं सिसकारती हुई बुरी तरह मचलने लगी तब वह एकदम से रुक गयी और उसने अपनी उंगली बाहर निकाल ली।कुछ पल लगे मुझे संभलने में… फिर मैंने आंख खोल कर देखा तो वह उस कपड़े से, जिसे उसने दराज से निकाला था. रोने की एक्टिंग कुछ ज्यादा ही करती हैं, डेथ पर रोते हैं तो कुछ लिमिट होती है, ये तो कुछ ज्यादा ही ओवर एक्टिंग कर रही थीं.

रास्ते में मेडिकल स्टोर से से कॉण्डम का बड़ा पैकेट लिया और सेक्स टाईम बढ़ाने वाली गोलियां ले लीं. मैंने फिर उनके होंठों को छोड़ कर जोर जोर से उनके गालों को चूमना शुरू कर दिया और अपने बदन को उनके बदन पर रगड़ना शुरू कर दिया. वो जोर जोर से आआह्ह्ह अहह की आवाजें निकलने लगी और मुझे धीरे धीरे निप्पल चूसने को कहा.

उसने मेरी तरफ़ हाथ बढ़ाया मैंने रोक दिया, वो मुझे बहुत मिन्नत के साथ देखने लगा.

उस दिन सुरेश जी के ऑफिस जाते ही बाहर जाकर थोड़ा खाना खा लिया और पूरे दिन सोता रहा. एकदम सेफ भी रहूंगी और मज़े भी लूँगी और अगर ज़रूरत पड़ी तो शादी के बाद भी इसके मजे लूँगी. वो अपने बापू के सर को अपनी मक्खन जैसी नर्म चूत पर दबाए धीमी धीमी आवाज़ में तड़पती गयी.

अब हम दोनों ने एक दूसरे को कसकर चिपका लिया था, उनकी चुत ने मेरे लंड को ज़ोर से जकड़ना चालू किया. मैंने उन्हें देखा तो देखता ही रह गया लेकिन मैंने उन्हें अनदेखा किया. कमलेश सर दूसरे दिन दो पतली पतली बुक लाए और एक मैग्जीन मुझे देकर बोले- इसे अकेले में पढ़ना और समझना, फिर फोटो देखना, जो समझ ना आये मुझसे पूछ लेना.

इसलिए आप ऐसा ना सोचो, क्योंकि उसे गांड मारना मराना पसंद नहीं तो मैंने उसका मन रख लिया था. दूसरे दिन उनका बेटा मेरे पास आया और आंटी के जन्मदिन का निमंत्रण देकर चला गया, मैं शाम को जल्दी ही आंटी के घर चला गया और जन्मदिन के काम में उनकी मदद करने लगा.

मेरा लंड एक बार फिर से उसकी बुर की गहराई को नापने के लिये मचलने लगा था. अब मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने आंटी की चूत में ही अन्दर डाल दिया. मैंने जब पूरा गिलास एक सांस में खत्म किया तो वह मुझे देख कर हंस ड़ी और मुझे नमस्ते करके मेरे बाजू में बैठ गई.

उसकी बॉडी लैंग्वेज से यही लगता था कि वो किसी मध्यम वर्गीय ग्रामीण परिवार से आयी थी.

फिर आखिर में मुझे वो दिख गयी और मैं उसके पास चला गया और उसको हेलो बोला. उसके बाद हमने फोन नंबर्स एक्सचेंज कर लिए और व्हाट्सएप्प पर बातें करने लगे. दिन भर घर का काम करते करते बिल्कुल शाम तक मुरझाए हुए गुलाब की तरह काम वाली बाई की तरह लग रही थी.

मैंने जैसे तैसे नीचे बैठकर आंटी की चुत पर एक दो किस ही किए थे कि किसी के आने की आवाज हुई और मैं नीचे भाग गया. मेरा मन बिल्कुल भी नहीं लग रहा था क्योंकि मुझे अभी और चुदाई का मन हो रहा था.

दिनेश बोला- अभी तो इसको देखा भी नहीं कैसी है? कभी ध्यान भी नहीं दिया आपके घर आते थे और चले जाते थे जरा इधर घुमाइये, इसे देखें तो कैसी दिखती है यह छोकरी?चाचा मेरी तरफ आए और बोले- वन्द्या तुम बिल्कुल चिंता नहीं करो, ना इनसे शर्माओ. फिर मैंने कोमल को बेड पर लेटाया और मैं खुद उसकी टांगों के बीच बैठ गया और अपने खड़े लंड से कोमल की चूत को कुरेदने करने लगा. वो एक हाथ से मेरे एक चूचे को दाब रहा था और दूसरे चूचे को मुँह में भर कर चूसने लगा.

एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बीएफ चुदाई

रूबी की गोल गोल गांड हमारी तरफ थी, उसके बीच में पतली पैंटी घुसी हुई.

रात को 1 या 2 बज रहे होंगे, तभी नींद में मेरा एक हाथ तुषार भैया की कमर पर चला गया और मैं उनसे चिपक कर सोने लगा. एक बार रात में मुझे एक तरकीब सूझी, जब वो टॉयलेट के लिए कमरे से निकलीं, तो मैं सोने की एक्टिंग करते हुए आँखें बन्द किए लेटा था. अब आगे:अगले दिन शाम को हमारी मुलाकात हुई तो मैंने भाभी से पूछा कि फल मीठा था कि तीखा?पहले तो भाभी झेंप गईं, फिर मेरी हंसी देखकर बोलीं- अब तो ये फल खाने वाला ही जाने कि मीठा था या तीखा.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!भगवान की दया से सब ठीक होंगे और अपनी अपनी लाइफ में मज़े ले रहे होंगे. चाचा ने झटके से वह पेटीकोट मेरे बदन से मेरे हाथ से खींच दिया, मैं पूरी नंगी उन दोनों के सामने हो गई. छोटे बच्चों का सेक्सकभी कभी लंड खोल कर किताब से ढक कर बैठ जाते थे और मौका देख कर मेरे मुँह को अपने लंड के ऊपर कर लेते थे, जिससे मैं उनके लंड को चूस लेती थी.

कुछ देर बाद वो नार्मल हुई और अपने मुँह से कपड़ा निकल कर मादक सिस्कारियां निकालने लगी. तब चाचा बोले कि यह छोटी नहीं है बहुत खेली खाई है, जब मैं अभी अन्दर आया था तो यह अपनी मौसी के लड़के और बहन के लड़के से चुदाई करवा रही थी.

इस बात पे भला कौन शक करता और बाहर के लोगों के लिये तो हम शरीफजात लड़कियाँ ही थे, जो कभी भी किसी को देखना तक गवारा नहीं करते थे।फिर खुद आरिफ कौन सा शरीफ था. फिर एक प्लान तैयार करके मैंने होटल में एक रूम बुक करवाया और मुस्कान को लेने के लिए हर बार की तरह मेट्रो स्टेशन पहुंच गया. मैंने ड्राइवर को मना किया परंतु वह नहीं माना तो फिर मेरी बहन प्रीति मेरी टांगों पर बैठ गई.

अब मंजू ने राज को बिस्तर पर गिरा दिया और उसके बदन पर किस करने लगी और मेरे हाथ मंजू की चुत में जा पहुँचे! मैं उसकी चुत को सहलाता जा रहा था और उसकी पीठ पर चूम रहा था. मनोरमा ने कहा- उसकी नौकरी के लिए कोशिश क्यों नहीं करती हो?वो बोली- जितनी भी कर सकती थी, कर चुकी. मैंने अपने लंड को उसकी बुर पे सैट किया और एक झटके के साथ आधा लंड उसकी बुर में उतार दिया, जिससे वो झेल नहीं पाई और रोने लगी.

उसके बाद हम और वो मेट्रो में साथ हो लिए और पहुँच गए अपने चुदाई वाली जगह.

तो मैंने उस दिन मरने का सोच लिया था और घर की छत पर कूद कर मरने के लिए चली गई थी. पर फिर भी मैंने उनके गांड के गोलों पे के थप्पड़ बरसाये।मेरी ज़िन्दगी के मजे देख के जलन भी हो रही थी दीपक को… कि मैं पूरे मज़े ले रहा हूँ जीवन के… वो भी फ्री में!लेकिन मैं तो मज़े में था मुझे क्या करना था।लेकिन एक दिन मेरे दोस्त दीपक की बददुआ काम कर गयी, एक दिन मैं और मामी बेडरूम में चुदाई का खेल शुरू ही करने वाले थे कि उनकी बेटी आ गयी उसने हमको देख लिया और नाराज़ हो के अपनी सहेली के घर चली गयी.

अब जब भी बुआ का लड़का और मैं जब भी मौका पाते हैं, हम दोनों लोग चुदाई करने लगते हैं. मैं भी कसमसा रही थी कि ये जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मुझे चोद दे. लेकिन देखोगी तो यह कहने का कोई मतलब नहीं कि छी, ऐसा कैसे हो सकता है।”मैं समझी नहीं।”कहने का मतलब यह है कि दुनिया में बहुत कुछ ऐसा होता है जो तुम्हें मालूम नहीं, लेकिन चूँकि तुम्हें मालूम नहीं तो उसका यह मतलब नहीं कि ऐसा होता ही नहीं।”मैं अब भी नहीं समझी।”मैं एक फिल्म दिखाऊंगा तुम्हें.

’ किया तो मेरा मुँह खुल गया और कमलेश सर ने मेरे मुँह में लंड डाल दिया. मैंने और भाभी ने मिल कर ये फैसला किया और हम दोनों इस कामुकता की आग से बाहर आ गए. तब मुझे समझ में आया कि ये आंटी का प्लान था, मैं बहुत खुश हुआ, जिसे वो समझ गईं.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो मैं- प्रिय श्लोक, हम चारों नई उम्र के वैवाहिक जोड़े घर में अकेले रहते हैं, चारों को एक दूसरे से प्रेम है, एक दूसरे से दोस्ती है और एक दूसरे को पसंद करते हैं. उसने भी मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत की फांकों में फंसाया और मैंने उसी वक्त तेज ठोकर दे मारी.

बीएफ फिल्म देसी फिल्म

मैंने अपना एक हाथ पीछे से उसके लोवर में डाल दिया, उसने पेंटी पहनी थी, उंगली चूत तक गई तो मालूम हुआ कि कोमल की चूत से पानी निकल रहा था. ये कहानी कुछ दिन पहले की है, जब मैं ट्रेन से लखनऊ से गोरखपुर वापस जा रहा था. दस मिनट बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसके पीछे जा के लौड़ा चूत में डाल दिया.

वो बोली- क्यूँ लड़को, बह तो नहीं गयी गंगा?और हँसने लगी- हे भगवान, तुम लोगों का तंबू फटने वाला है, रूको मैं आज़ाद कर देती हूँ. घर आने के बाद जब भी उससे मेरी नजरें मिलतीं, तो वो एक कातिलाना स्माईल पास करतीं. हिंदी सेक्सी हीरोइनवो एक ही समय में मेरे मम्मों को भी निचोड़ रहा था और मेरे होंठों को चूस रहा था.

हम दोनों एक दूसरे से लिपट गए और फिर से अपने होंठों को एक दूसरे के होंठों में फंसा कर जोरदार किस किया.

अब वो मेरे सामने कोई अप्सरा जैसी लग रही थी केवल लाल पेंटी में… उसके खड़े 34″ के चूचे मुझे सलामी दी रहे थे, मेरे लन्ड का तो बुरा हाल था, मैंने खुद अपना लोअर उतार कर खड़ा हो गया और अंडरवियर में कैद मेरा लन्ड मेरी नंगी बहन को देखने की कोशिश कर रहा था. निक्की उसकी इस भाषा से थोड़ा सा अचंभित हुई, पर खुश भी हुई और मेरे साथ उसने भी पम्मी का एक चुचा मुँह में ले लिया और दस मिनट तक चूसा जिससे पम्मी का पानी निकल गया.

वो एक छोटा सा जिम था और मैंने भी उस जिम में सुबह के टाइम एड्मिशन ले लिया. इतना ज्यादा थक जाने के बावजूद भी शायद वो इस वक्त आराम करने के मूड में नहीं थी. वे दिलचस्प व्यक्ति लगे, बातें की, उनको देखा, जांच करवाई, उन्हें क्षय रोग निकला.

”उन्होंने कुछ नहीं कहा, मैंने उनके बदन पे हाथ फिराना शुरू कर दिया, वो तड़पने लगीं और मुझे अपनी साथ चिपका लिया.

बस करो ना मुझे कुछ हो रहा है बापू…बापू कहाँ सुन रहा था, उसने पद्मिनी को अब बिस्तर पर लेटा दिया. मैंने पूछा- क्या हुआ अंकल? आपने काल क्यों किया?तो उन्होंने कहा- विकी मैंने एक्टिवा बुक की है, आज उसकी डिलीवरी मिलने वाली है, और मुझे आने में थोड़ा लेट हो जाता है. उस पर उसकी मादक सिसकारियां मुझे वैसे ही पागल किये जा रही थी! एक कामुक आवाज के साथ मंजू की आँखें बंद होने लगी.

सेक्सी फिल्म हिंदी एचडी मेंफिर बाहर के सब लोगों के जाने के बाद हम दोनों भी सोने के लिए चल दिए. फिर मैं मेट्रो स्टेशन पर आ गया और मैं टोकन लेकर फ्लेटफॉर्म पर मेट्रो का इन्तजार करने लगा.

इंग्लिश बीएफ नई

उतने में मैंने किसी बड़े ऑफिसर आने की खबर सुनी और वहां पे ही खड़ा होकर देखने लगा. पहली बार मेरे साथ यह हो रहा था, मैं कुछ समझ नहीं पा रही थी कि किस तरह रिएक्ट करूं. मैं चड्डी में ही पड़ा था, मेरा लंड खड़ा होने लगा और दो मिनट में ही तम्बू बन गया.

खैर जब इसकी बात हो ही गयी तो मैं अपनी वर्जिनिटी लूज़िंग की कहानी से शुरू करता हूँ. इसी तरह कुछ दिन बीत गए और हम दोनों काफी अच्छे दोस्त बन गए थे, तो मैं उससे डबल मीनिंग बात भी कर लेता तो वो मेरी बात को हंसी में उड़ा देती. इस चुदाई के खत्म होने के 10 मिनट बाद मैंने भेज दिया।अब अगर आप को ध्यान दिया होगा तो मैंने कहानी के शुरू में कहा था कि ‘आपका प्यार अंधा हो सकता है, लोग नहीं।’दो बार चुदाई की भरपूर मस्ती हम दोनों को तड़पाने से बाज़ नहीं आ रही थी.

लेकिन मैं कहाँ मानने वाला था, वो भी गर्म हो गई थी और मेरी जींस के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी।मेरा लंड भी पूरी तरह खड़ा हो गया था फिर मैं उठा और अपने कपड़े भी उतार दिए और सिर्फ अंडरवियर पे आ गया और फिर उसके निप्पल चूसने लगा और काटने लगा. मैंने अपने हाथ नीचे करके उसकी दोनों चुचियों और उसके निप्पलों को धीरे धीरे अपनी उंगलियों के बीच मसलना शुरू किया, वह पूरी गरम हो गई. अच्छा, तुम्हें मेरे शरीर में सबसे सुंदर क्या लगता है?”सच कहूँगा तो आप मुझे मारोगी.

धीरे धीरे उन्होंने अपनी उछलने की स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही देर में अकड़ने लगीं. पीछे शब्बो (शबनम भाभी) खड़ी थीं… मैं उस समय एक अलग ही सुरूर में था.

अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बापू अपनीजवान बेटीके बदन से खेल रहा था और उसकी मिन्नत कर रहा था.

मैंने पूछा- क्यों हंस रही हो?तो उसने बताया कि तूने 2000 दिए तो मैं भी 2000 देकर जाऊंगी और मैं जब जाऊं तो मुझे देख लेना कि मैं कैसे जा रही हूँ. पति से नफरत कैसे करेमैं पैर फैला कर बुर चटाई का मजा लेने लगी, मुझे बहुत ही मजा आ रहा था. अंग्रेजी सेक्सी फिल्म दिखाओमैंने लंड के सुपारे को भाभी की चूत पे लगाया और उनको बैठने का इशारा किया. गरम लोहे पर पानी डाल दिया हो वैसे दोनों भी ठंडे होकर एक साथ बेड पर लेट गए.

उसने बताया कि वह बाल साफ करने वाली क्रीम से अपनी चूत को साफ रखती है.

वो मेरी शॉप पर भी आने लगी थी और हम साथ में शॉपिंग और फिल्म देखने भी जाने लगे थे. लेकिन उसे पता नहीं क्या हुआ… उसने खुद मेरा हाथ ढूंढना शुरू कर दिया. मैंने अभिलाषा से पूछा- आपने उससे क्या सेवाएं देने के लिए बोला है?तो अभिलाषा ने बताया कि वह इशारा समझ गई थी.

कभी मैं सोचता कि आज रात उन्हें अपनी बांहों में भींच लूँ, उनके रसीले होंठों को अपने होंठों में दबा कर उनका सारा रस पी लूँ, तो तभी ख्याल आता कि ये कैसे हो सकता है, आखिर वो मेरी पत्नी की माँ हैं. बीवी का गोरा बदन, उसके बड़े बड़े मम्मे बनपाव जैसी फूली हुई चुत देखकर मेरा तो लंड सात इंच का रॉड बन गया. मैंने उनकी चुम्मी लेते हुए ओके बोला और भाभी को गोद में उठा कर बेडरूम में ले आया.

सेक्सी वीडियो बीएफ एक्स एक्स एक्स एक्स

मैं भी किसी न किसी बहाने उन्हें इधर उधर छू लेता था और वो भी बिना बुरा माने मुझे नॅाटी स्माइल दे देती थीं. इधर उत्साह के मारे मयूरी ने अपने बड़े भाई के लंड से निकले एक-एक बून्द वीर्य को चाट लिया और गले के नीचे गटक कर गयी, वो अपने बड़े भाई के इस प्यार को बिल्कुल भी जाया नहीं करना चाहती थी. बातों का दौर शुरू हुआ, फिर भूख लगी सो सबने साथ में बैठकर खाना खाया, फिर सोने की तैयारी होने लगी.

इसलिए आगे से मैं तुम्हारी चूत की पूरी सेवा करूँगा और तुम मेरे लंड की किया करना.

अगले कुछ ही पलों में वो मेरी पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फेर रहा था.

उसने उसी पल अपना मुँह ऊपर उठाकर मुँह खोला और आवाज निकाली- आ… आ…हा… ओह… अम… गई…फिर वो मेरे सीने पर गिर गई, गिरते ही वो तीन बार थरथराई. ट्रेन इतनी स्पीड में जा रही थी कि मैं थोड़ा सा ही अंदर-बाहर करता तो ट्रेन की कम्पन की वजह से उंगली और तेजी से अंदर जाती. सेक्स वीडियो फुल एचडीकुछ बाइक की वजह से, कुछ मैं अपने आप ही इस तरह से उससे चिपकती थी कि उसे मेरे मम्मों का पूरा पता लगे कि वो कैसे हैं.

मैंने उसके होंठों की ओर देखा, लाल लिपस्टिक से और सेक्सी दिख रहे थे. उधर ऊपर मेरे चूचों को अपने हाथों से लाल जी जोर से दबाने लगा, नीचे पीयूष मेरी चूत चाट रहा था. लॉन में जाकर पहले तो दो कप चाय पी और फिर बाहर निकल के एक रिक्शा पकड़ा.

सैमी ने मुझे बेड के कोने पर लिटा दिया और मेरी टांगों को उठा दिया उसने अपने 10 इंच लम्बे और खीरे से मोटे लंड से मेरे चूत को सहलाना शुरू किया. उसने भी अपने भाई को 20 रूपये दिए और अपने भाई को मेरे 10 रूपये वापस करने के लिए भेजा है.

चूत पर हाथ का स्पर्श पाते ही मानो मुझे करंट सा लग गया हो, मैं आंख बंद करके बैठी रही.

सर बोले- वन्द्या, जब भी मौका मिले और कोई भी लड़का या मर्द तुमसे तुम्हारी चूत मांगे तो तुम उसे अपनी चूत देकर चुदाई ज़रूर करवा लेना, उससे तुरंत चुदवा लेना, बहुत बहुत मजा आएगा. अब गांड में दिनेश का लंड जड़ तक पहुंचने लगा, जिससे मैं बिल्कुल पागल हो गई और चिल्लाने लगी- आह. चाचा बोले- इसको भी उतार वन्द्या इसी के अन्दर तो तेरे काम का औजार है.

मैनफोर्स क्रीम मेरा पूरा जिस्म अब मचल के अकड़ने लगा, मुझे कुछ समझ भी नहीं आया और मेरी चूत के अन्दर से चूत रस की गरम गरम पिचकारी निकल पड़ी. उसके बाद वो अगले ही दिन सुबह बोली कि मैंने पानी डाल दिया है, अब देखो क्या होता है.

मैंने कहा- बाहर निकल के रिक्शा ले लेना, चार पांच मिनट में होटल आ जायगा. जबकि हमारी कॉलोनी की जितनी भी औरतें हैं, सब किटी पार्टी और कहीं इधर उधर जाती हैं, लेकिन मेरी मां को कहीं भी जाना पसंद नहीं है. कुछ दिन बाद मैंने उससे उसका फ़ोन नम्बर मांगा तो उसने देते ही बोला- क्या अब आपका भी नंबर मिल सकता है?मैंने कहा- हाँ आज शाम को एक अनजान नंबर से कॉल आएगी, वही मेरा नंबर रहेगा.

एचडी बीएफ बीएफ फिल्म

तू भोली बन रही है, मुझसे शरमाने के बजाए, मेरी प्यारी बिटिया तुमको मुझसे खुल कर सारी बातें बता देनी चाहिए. इसी बात को पकड़ कर निक्की ने चुटकी ली, निक्की ने कहा कि अब तो चैक करना पड़ेगा. उसका लंड चूत में लेने से पहले उस पर रबर चढ़वा लेना और साथ में खुद भी बचाव के लिए गोली खा लेना.

नाश्ते के बाद मैंने जूसी रानी से कहा कि मेरठ में मेरा एक दोस्त रहता है प्रदीप, मैं उससे मिलने जा रहा हूँ. मुझे समझ में आ गया कि अब पिंकी को एक लंड चाहिए, जो उसकी चूत की अच्छी तरह से चुदाई कर सके.

अतः मैंने अपनी हरकतें तेज कर दी, उसकी गर्दन पे काटते हुए मैं कान में फुसफसाया- सोचो, राज तुम्हारी चुत में उंगली डाल रहा है ऐसे!और अगले ही पल मेरा हाथ मंजू की चुत की तरफ बढ़ चला.

मैंने सारिका से पूछा- तुम्हारी सास दिखाई नहीं दे रही हैं?तो उसने कहा- वो 3 दिन के लिए किसी रिश्तेदार के यहां गई हैं, सोमवार शाम तक आएंगी. जैसे इस साईट के रुल्स रेग्यूलेशन्स में कहा गया है कि कोई वास्तविक नाम, स्थल का उल्लेख नहीं होगा तो ये बात ध्यान में रखते हुए आवश्यक बदलाव किए गए हैं. रात को तीनों को चुदाई करने का पूरा मौका मिलता और तीनों इस मौके को कभी जाने नहीं देते, बस दुःख यह था कि तीनों खुलकर उस दिन जैसा चुदाई नहीं कर पा रहे थे.

इसे मैंने बहुत मेहनत से लिखा है और इस कहानी को लिखते समय मैंने उसकी याद में दो बार मुठ भी मारी है. उसने मेरे होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और धकापेल चालू कर दी. वहां रहने को ज्यादा साधन नहीं थे, अतः मेरे साथ ही रहने लगा। हम पास के ढाबे में खाना खाते, नौकरी करते और बाहर सड़क पर थोड़ा घूम लेते.

हमारी फ्रेंडशिप को एक साल होने आया था और फिर से वैलेंटाइन डे आने वाला था.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो: स्मिता- सही में तेरी माँ चुदक्कड़ लगती है, ये बता कि अगर तेरी माँ सच में मिल जाये तो उसको चोदेगा? फट तो नहीं जायेगी तेरी?वरुण- अगर मौका मिला तो ऐसी चूत चुदाई करुगा माँ फैन हो जायेगी मेरी, खुश कर दूँगा उसको!स्मिता- अगर एक लाइन अपनी माँ के लिए बोलगे तो क्या बोलोगे?वरुण- शी इस अ हॉट फकिंग बिच! ( वो एक गर्म चोदने लायक कुतिया है. बस उसको देख कर ये लग रहा था कि कब रूम में पहुंच जाएं और कब मैं मुस्कान को पटक पटक कर चोद दूँ.

मैं उस समय मजबूर थी, कुछ नहीं कह सकी चाचा से, पर मुझे उनकी ये बात बहुत अजीब सी लगी. वो जोर से मेरे बालों की चोटी खींच कर मुझे पीछे से कमर उठा-उठा कर जोर जोर से लंड अपना डालकर चोदने लगा, साथ में गंदी गाली बकने लगा. तभी मेरा ध्यान तब टूट गया, जब देखा उसके साथ एक बहुत ही मोटा सा इंसान उसको कार में लेकर जाने लगा.

मैं भी इस बात को जानती थी कि पहली बार में दर्द होता है लेकिन मुझे ये नहीं मालूम था कि दर्द कितना होता है.

ये क्या कह रहे हैं आप?बाबा- सत्य यही है और इसीलिए मैं तुम्हें ये उपाय नहीं बताना चाह रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने मुस्कान को देखा उसके साथ उसकी 2 सहेलियां भी थीं. यह देख कर मुझे थोड़ा अजीब लगा, पर मैं बम फूटने जैसे हालत के लिए तैयार था.